बेटे बीएफ

छवि स्रोत,जापानी मूवी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

विश्व की सेक्स वीडियो: बेटे बीएफ, जब पूरे बदन में तेल लग गया, तो ताऊ जी ने कोमल का हाथ पकड़ के अपने लंड को पकड़ाते हुए कहा कि जब पूरे शरीर में तेल लगा दिया है, तो इसमें भी तेल लगा दो.

बीएफ वीडियो सेक्सी फिल्में

अब मैंने अपना मोबाइल निकाला और इमरान हाशमी की आशिक़ बनाया वाली वीडियो देखने लगा. तमिल तमिल बीएफउसके बाद मौसी ने मेरे उफनते लंड को अपने गर्म मुंह में भर लिया और तेजी के साथ मेरे लंड को चूसने लगी.

भाभी ने मेरे अंडरवियर में तने हुए लंड पर अपने होंठ रख दिये और उसको अपने होंठों से सहलाने लगी. कुत्ता के बीएफ बीएफमौसी के कोई औलाद नहीं थी इसलिए वो हम भाई-बहनों को अपनी ही औलाद की तरह मानती थी.

मैंने अपनी मोनिषा जैसी साली को जमकर चोदा है और आज भी उसके एक फोन कॉल पर मैं लंड हिलाता हुआ उसके घर पहुंच जाता हूँ और चुदाई की मस्ती करता हूँ.बेटे बीएफ: ”उसने मेरे गालों से हाथ को सरकाकर मेरी फ्रॉक के दोनों उभारों पर लाकर जो मेरे मम्मों को दबाया, तो मैं अपना सब कुछ भूलकर पीठ को सोफ़ा से टिकाकर चुपचप चूची दबवाने लगी.

दोस्तो, अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी साईट पर यह मेरी तीसरी कहानी है।मेरी पिछली कहानीमैं प्यासी भाभी से सेट हो गयापर आपके मेल मिले, आपका तह-ए-दिल से शुक्रिया और कुछ मेल मुझे ऐसे भी आये कि वो मेरी कहानी की नायिकाओं को चोदना चाहते हैं। लेकिन माफी चाहूंगा कि ये मुमकिन नहीं है। कुछ गे (समलैंगिक) लड़कों के भी मुझे मेल आए.वापिसी में लिफ्ट में रजनी ने राहुल को होंठों पर किस किया और बोली- फ्रेंड्स … इतना तो चलेगा न! बस इससे ज्यादा कुछ नहीं.

सेक्सी बीएफ एक घंटा - बेटे बीएफ

सुबह 8 बजे मेरी नींद खुली, तो मैंने सबसे पहले बाहर जाकर देखा कि अम्मी और अंकल हैं या नहीं.मैं खड़ी होकर सौरव के पास गई और उससे पूछने लगी कि मेरी बुक में तो ये लेसन है ही नहीं।तो उसने मेरे हाथ से बुक लेकर देखा और बोला- हां, आपकी बुक में नहीं है।मेरे दिमाग में आईडिया आया.

थोड़ी देर बाद उसने संगीता की बांहें ऊपर उठा कर उसके नीचे हाथ डाल कर बाँहों की एक्सरसाइज शुरू की. बेटे बीएफ मेरा लंड चाची के मुंह में था और ऊपर की तरफ मैंने चाची की गांड को अपने हाथों से फैला कर उनकी चूत को मुंह में भरने की कोशिश शुरू कर दी.

मैं बोली- हां आज ही शेव की है … तुम पैंटी भी जल्दी से खोल दो, वरना वो गीली हो जाएगी.

बेटे बीएफ?

वह उठी और मैंने अपना लण्ड लोअर से बाहर निकाल लिया और उसको बिठा लिया. उसके मुंह से आह-स्स् … आह … साजिद निकल रहा था और वो अपने चूचों में मेरे होंठों को दबा रही थी. मैंने उससे कहा- फिर आपका दिल कैसे लगेगा?इस पर वो कुछ उदास सी हो गयी.

नीना के जाने के बाद वह मेरे सामने बैठकर मेरी चूचियों को घूरते हुए बोला- निकालो क्या पढ़ोगी?उसकी बात पर मैंने बुक उसके सामने करके अपनी रानों को फैलाकर कहा- अंकल इसका ट्रांसलेशन करवा दीजिए. जब मेरी आंख खुली, तो गाड़ी जयपुर पहुंचने वाली थी, सुबह के 4 बज चुके थे. ओह्ह! अच्छा अब क्या होगा पवन?”पवन बोला- तो अभी गाड़ी को गेरेज ले जाना पड़ेगा.

मैंने मेरा शर्ट को नीचे किया और स्तनों को शर्ट के ऊपर से सहलाते हुए बोली- आह … दर्द हो रहा है … कितने जंगली हो आप. अब तक बियर की वजह से हम सभी पर नशा होने लगा था और हमें इस खेल में कुछ ज्यादा ही मजा आने लगा था. हमारे भारत में एक बात है लड़के कहते हैं कि लड़की धोखा दे गई … और लड़की कहती है लड़का धोखा दे गया.

अदिति टैक्सी में भी बात करती रही और बीच बीच में वो अपनी ही बात पे हंस देती. जिस लंड को अपने हाथ में लेने के सपने मैं देख रहा था आज वह लंड मेरे हाथ में था.

उसके बाद उसने मेरी निक्कर को निकाल दिया और मैं जीतू के सामने एक पेंटी में थी.

इस बात पर मैंने उसे जिम ज्वाइन करने की सलाह दे डाली कि पास में ही जिम है, जहां और भी लेडीज आती हैं, तो वो भी आराम से वहां जिम कर सकती है.

वो दर्द से कराहने लगी लेकिन मैंने धीरे-धीरे अपना लंड उसकी चूत में चलाना शुरू कर दिया ताकि उसकी चूत में उसको मजा आने लगा. वहां मैंने उसे किसी फूल की तरह लेटाया और उसके ऊपर खुद भी लेट कर किस करने लग गया।मैं किस करते-करते नीचे की ओर जाने लगा. मैंने कभी किसी लड़की की चूत पर ऐसे अपनी आंखों के सामने व्हीस्पर लगा हुआ नहीं देखा था.

मैंने उसको कसके जकड़ते हुए कहा- पूरा मज़ा लेने के लिए कहीं और चलते हैं. उसके गर्म हो जाने के बाद मैंने उसके पेट को चूमना तथा चूसना शुरू किया. मैंने अपनी जीभ की टो चूत के मुहाने पर लगा दी ताकि उसका वो सफेद गाढ़ा रस सीधा मेरी जीभ पर गिरे.

उसने मेरे अंडवियर के कट से मेरे लंड को खींच कर बाहर निकाल लिया और जैसे ही मेरा लंड बाहर आया तो वह मेरे तने हुए 6 इंच के लंड को कई पल तक देखती रही.

रात को सब लोग सोने के बाद मैंने छुपाई हुई मैगज़ीन निकाली और बाथरूम में जाकर पढ़ने लगी. भाभी भी एकदम से गर्म हो गईं और देखते ही देखते मैंने उनके सारे कपड़े उतार दिए. मैंने दोपहर में ही विकी को ईमेल कर दिया, पर उसने काफी देर बाद चैक किया.

फिर मैं आगे की तरफ गया और उसके उरोजों को देखा तो बस मेरे मुँह से एक आह्ह निकली. मैंने उसे देखा तो मन खुश हो गया- अरे तुम क्यों ले आयी? मैं नीचे आ जाता!नेहा- पागल … ज्यादा हीरो मत बन! कब से चिल्ला रही हूँ, सुनता ही नहीं है. वो बोली थी कि वो तन और मन से अपने प्रेमी की है, अगर मैं उसे टच भी करूंगा तो वो सुसाइड कर लेगी.

लेकिन मुझे तो अब नशा चढ़ गया था तो मैंने खड़े होकर अपनी आधी पैन्ट और अंडरवीयर सरका कर लंड उसके सामने रख दिया.

फिर वो बोली- जल्दी कर लो, वो उठने वाले हैं … भैसों को सम्भालेंगे न. मैंने एक दो बार अपने लंड को लोअर के ऊपर से सहला कर उसको शांत करने की कोशिश भी की लेकिन वो और ज्यादा तनाव में आता गया.

बेटे बीएफ उनकी बनियान में से उनकी बालों वाली छाती दिख रही थी। मां अंदर चली गई और रमेश अंकल ने दरवाजा बंद कर लिया।मां डरी हुई थी और सोच रही थी कि अब वह क्या करे. इस थका देने वाली चुदाई के बाद नींद आ गई थी और पता नहीं कितनी देर हम वहाँ नंगे ही पड़े रहे। जब हम उठे तब लगभग रात के 9 बज चुके थे। उठने के बाद पेट में बहुत ही ज्यादा भूख महसूस हो रही थी.

बेटे बीएफ मैंने तौलिये से बाहर का हिस्सा साफ किया और एक बार फिर लंड को सेट करके धक्का लगाया तो लंड आधा अंदर गया. मैंने उसकी मर्दाना छाती को अपने मम्मों से रगड़ कर एक अजीब सा सुख पाया.

वो मुझे मना करने लगीं, पर मैं नहीं माना और उन्हें किस करते हुए उनके मम्मों को भी दबाने लगा.

चाइना की सेक्सी पिक्चर वीडियो

जिस टाइम में उस टेम्पो में चढ़ा, उस समय उस टेंपो में तीन लोग और बैठे थे. उसने भी मुझे स्माइल दी और मेरे पास आकर बात करने लगा। मैंने और उसने कल रात वाली बात पर कोई बात नहीं की और ऐसे ही नॉर्मल बातें करने लगे।अब हम फ़ोन पर काफी देर तक बातें करते थे। लेकिन मैंने अभी तक उसके ‘आई लव यू’ का कोई रिप्लाई नहीं दिया था. दमदार चुदाई के बीच ही उसके पति का फोन आ गया था, जिसमें नम्रता ने अपने को भी चुदासी बातों से गरम कर दिया था और वो मुठ मारने जाने की कह कर फोन बंद करके चला गया.

वो नीचे चली गईं और मैंने भी उनके साथ ही नीचे आकर बाथरूम में मुठ मारी और अपने कमरे में जाकर सो गया. उसकी मदमस्त चूचियों को सहलाते और देखते ही मेरे लंड में सनसनी पैदा हो गई. एक गिलास ही क्यों लाये हो? तुम क्या चाहते हो कि मैं ना पीयूं?”मेरे ये कहते ही वो बोला- अरे नहीं नहीं मेडम, ये आपके लिए ही है, आप लीजिए, मैं अभी ड्यूटी पर हूँ न … तो मैं नहीं पी सकता।मैंने उसके हाथ से गिलास ली और उसमें एक पेग बनाया और पानी डालकर घूंट लेने लगी लगी, वह भी वापस बाहर कार के बोनट पर जाकर कार सही करने लगा.

अब सुचिता मुझसे बोली- क्यों जीजाजी, आप तो बड़े छुपे रुस्तम निकले, आखिर ज्योति को प्रपोज करके पटा ही लिया बड़ी हसीन मुलाकात हुई आप दोनों की.

मेरी लाल रंग की ब्रा जैसे ही उसने देखी तो वह उस पर टूट पड़ा और उसके ऊपर से ही मेरे चूचों को चूसने लगा. अब मैंने उसके पूरे मम्मे को मसलते हुए मुँह से तेज तेज चूसना शुरू किया. मैं सोच रहा था कि मधु मेरे लंड के नीचे रोज ही होनी चाहिए, वो मुझसे डेली चुदे … वो भी सभी की मंजूरी से.

जब मैंने खुद को आइने में देखा तो मन किया अपनी ही चूत में उंगली कर लूँ. मैंने अपनी जीभ से चूत के दाने को चाटना और होंठों से मसलना चालू कर दिया. मैंने अपना लिंग भाभी की योनि पर लगाकर एक धक्का लगाया … पर लिंग फिसलकर ऊपर की तरफ निकल गया.

जोर-जोर से उसकी चूत को चूसने लगा और वो जल्दी ही झड़ गई और फिर शांत हो गई. दोस्तो, आपकी कोमल फिर से हाज़िर है अपनी जिंदगी की पहली सेक्स कहानी आपको बताने के लिए।मेरी कहानी के पिछले भागों में आपने पढ़ा कि कैसे मेरे बॉस ने मेरी सील तोड़ी.

लेकिन मैंने अपनी चुदाई की स्पीड कम नहीं की, जिससे अब आंटी तड़प उठीं, वे बोलीं- रुक जा मादरचोद … थोड़ा सांस तो लेने दे … क्या मेरी जान ले लेगा इस भोसड़ी के चक्कर में. मैंने आज से पहले उसे कभी गलत नजरों से नहीं देखा था, लेकिन आज उसे देख कर मेरा मन ही बदल गया. जब उसने मेरा हाथ अपने मम्मों रखा, तो मैं खुद को काबू नहीं कर पाया और मैंने झट से उठ कर उसे अपनी बांहों में भर लिया.

उसने ब्लू कलर का पंजाबी सूट पहन रखा था जिसमें वो बहुत ही मस्त माल लग रही थी.

यह कहानी मेरी और मेरी साली के बीच की है, जो आज से करीब एक साल पहले घटित हुई थी. दिशा को अपने ऊपर किया गया कमेन्ट याद था, इसलिए उसने भी राधिका का मजा लेना चाहा. मैं मन ही मन हंस रहा था कि सीमा भाबी भी कितनी बड़ी चुसक्कड़ निकली, कहां तो लंड चूसने में कतरा रही थीं और कहां मेरे लंड का रस चाट कर साफ़ कर दिया.

यह कहते ही मेरे कंधे अपने हाथ से रोक के अपना लंड मेरे छेद पे टच करते हुए एक जोर का झटका दे मारा. अभी मैं फ़्लोरिस्ट को जय-मालाएँ लेकर पैसे दे ही रहा था कि ब्यूटी-पार्लर से वसुंधरा का मैसेज आ गया.

सोनू ने एक बार तो पीछे हटने की कोशिश की मगर मैंने उसकी गर्दन को नहीं छोड़ा. नमस्कार मित्रो … मैं बिंदू देवी आज फिर से अपनी सेक्स कहानी ले कर आई हूं. आंटी- साले भड़वे, कुत्ते … इस चुत को ठोकने के लिए लंड तो मिलता नहीं और तू गांड मरवाने की बात करता है.

हेरॉईन सेक्सी विडिओ

जिनको पता नहीं है उनकी जानकारी के लिए बता दूँ की जब कश्मीर में बर्फबारी शुरू हो जाती है तो हमारे राजस्थान में भी सर्दियों में बरसात होती है जिसे मावठ की बरसात कहते हैं.

उत्सुकता वश मैंने उसे बाहर निकाला, तो वो एक नंगी फ़ोटो वाली मैगज़ीन थी. एक दिन छत पर मैंने हिम्मत करके उसे प्रपोज़ कर दिया, पर उसने कोई जवाब नहीं दिया और वो बिना कुछ जवाब दिए वहां से चली गयी. उसकी फांकों को मैंने प्यार से किस किया और चुम्बनों की झड़ी लगा दी उसकी कोमल चूत पर.

आंटी तड़फ कर चिल्लाने लगीं- आह इ इ … मुझे और न तड़पा मादरचोद, साले अपना लौड़ा अब तो ठोक दे मेरी भोसड़ी में, बना ले इसे अपने लौड़े की गुलाम … आह मुझे ऐसे ही बिना लंड दिए शांत करेगा क्या!मैं- साली छिनाल … तेरी इस चुत में बहुत गर्मी है, इसे और तड़पने दे … लोहा जितना गर्म होता है, ठोकने में उतना ही ज्यादा मजा आता है मेरी रानी. आखिर उसके सब्र का बांध टूट ही गया, वो तेज तेज सिसकारियां लेने लगीमैं नीचे बैठा था और वो सोफे पर लेटी थी. बीएफ चोदा चोदी एक्स एक्समुझे पहली बार लंड से निकले पानी का टेस्ट मिला था जो मुझे बहुत अच्छा लगा.

करीब 10 मिनट उसे इसी स्थिति में चोदने के बाद जब मैंने लौड़ा बाहर निकाला, तो वो घूम गई. उसने एक उंगली की जगह दो उंगलियों से मेरी गांड के छेद को फैला दिया था.

वो मुझे जिम के कसरत करने के मशीन के पास ले गए और पोजीशन बना कर बारी बारी फिर से मेरी चुदाई की. बाहर मौसम और अधिक रौद्र रूप इख्तियार कर चुका था, आसमान पर काले बादलों की सेना ने आसमान में धीरे-धीरे स्थायी किलेबंदी कर ली थी, लगता था कि आज शाम ही बारिश आएगी. उसके बाजू भी बहुत मजबूत थे और उसके बाइसेप्स का आकार भी काफी सुडौल था जिसमें कट पड़े हुए थे.

मैंने कहा- हमें भी उन लोगों के साथ बैठ कर तुम्हारी शादी की विडियो देखनी चाहिए, नहीं तो किसी को शक हो जायेगा. भाभी बोली- आज जिंदगी में पहली बार सेक्स में इतना मजा आया शिव … तुमने मुझे आज वो चीज दी है, जो मुझे आज तक नहीं मिली. फिर इसी पोजीशन में मैंने परवीन को 10 मिनट चोदा और मैं भी कंडोम में ही लंड उसकी चूत के अन्दर डाले डाले झड़ गया.

हम दोनों ने बाथरूम में एक दूसरे को साफ़ किया और उसके बाद हम दोनों एक दूसरे को देख कर स्माइल कर रहे थे.

सुनीला ने मेरी पैंट के ऊपर से मेरा लंड पकड़ लिया और पैंट का हुक खोलने लगी. फिर मैंने मेरी सासूजी को फोन मिलाया और बोली- मम्मी जी, आप प्लीज हमारे घर आ जाइए.

अचानक संगीता थोड़ी ऊपर हो गयी और राहुल का हाथ उसकी ब्रा में घुस गया. अब मैं भी चरम पर आ गया था- सीमा रस कहां लोगी … मुँह में या चुत में?सीमा- अन्दर ही निकालो आह!दस बारह धक्कों के बाद मैंने सारा रस उसकी चुत में छोड़ दिया. कहानी के दूसरे भाग में आपने पढ़ा कि मेरी बहन मानसी अपनी चूत में डिल्डो लेकर मजा ले रही थी.

पर बुरा हो इस जवानी का इस निगोड़ी बुर का जो हमें इस रास्ते पर चलने को मजबूर कर देती है. पर मम्मी घर पर रहेंगी ना?”मैंने तो जैसे उनके प्लान को अपनी सम्मति ही दे दी थी. मैं उसकी टांगों के बीच आया, उसकी चूत के खुले हुए लबों के बीच लण्ड का सुपारा रखते हुए कहा- ये लो बेबी.

बेटे बीएफ कुछ ही देर में मुझे अति आनन्द की अनुभूति की प्राप्ति हुई और मैं उनसे किसी जोंक की तरह लिपट गयी और अपनी लेग्स उनकी कमर में लपेट दीं और चिपट गयी उनसे. मैंने उसे उठाया, सीधी खड़ा किया और बोला- तुम चुदाई चाहती हो न?वो बड़े उत्साह में सर हिला कर कहने लगी- हां … हां!मैं- तो आज चुदाई हम पापा मम्मी के कमरे में करेंगे.

सेक्सी फिल्म वीडियो लोडिंग

अजय ऋतु की गर्दन पर किस करने लगा और फिर धीरे-धीरे ऋतु ने विरोध करना बंद कर दिया. सबकी खुशी और मजे के लिए था। लेकिन मुझे डर था कि विक्रम मेरे और रीना के बारे में क्या सोचेगा? अगर विक्रम ने इसे सामान्य सामाजिक जीवन के नज़रिये से देखा तो उसका भाई और भाभी दोनों ही उसकी नजरों से गिर जाएंगे। किंतु मैं अब उसे क्या जवाब दूं. और बॉस ने सम्पूर्ण जिम्मेदारी मुझे दी है तो मैं तो शादी में ग्यारह दिसंबर को ही आ पाऊंगा और बच्चों के भी पेपर शुरू होने वाले हैं.

मेरी पिछली कहानीदिल मिले और गांड चूत सब चुदीमें आपने पढ़ा कि कैसे मेरे मन में लड़की जैसे भाव आते थे और मेरे एक रूममेट ने मुझे पूरा गांडू बना दिया. मैंने कहा- मुझे पता है इसीलिए तो मैंने गाड़ी बंद की और यह प्रोग्राम बनाया. सेक्सी बीएफ वीडियो चलेमैंने अपने होंठों से उसके गाल की मुलायम त्वचा को पकड़कर चूसना चालू कर दिया.

उसका नर्म-कोमल हाथ जैसे ही मेरे लंड पर लगा तो मुझे कमाल का अहसास हुआ। मेरे मुंह से इस्स्स … करके एक तेज आवाज़ निकल गई.

”फिर अंकल जी मुझे सहारा देकर वाशरूम ले गए और मुझे एक पट्टे पर बैठा कर गीजर के गुनगुने पानी से उन्होंने मेरी चूत धोई. अगर आपको मेरी सेक्स स्टोरी मजेदार लगी हो, तो आप सविता जी को मेल कर सकते हैं.

वापस लौटते समय मुझे भाभी के साथ लेटने का मौका ही नहीं मिला।घर पहुंचने के बाद जब भैया ने भाभी को देखा तो बहुत खुश हो गये. फिर मैंने एक किस उसकी गर्दन पर किया तो उसके मुँह से प्यारी सी आह्ह निकली।मैंने फिर 3-4 किस उसके कंधों और गर्दन पर जड़ दिए. वो बोली- कोई बात नहीं चन्दन, तुम्हें पूरी छूट है तुम जो करना चाहो, कर सकते हो.

वो कैसे?”थोड़ी देर में पता चल जाएगा। जा 2 पेग बना ला!”हम पीने लगे। साथ में सोफे पे ही प्यार करने लगे। चुम्मा चाटी होने लगी। मेरी कुर्ती उतर गयी। वो मेरे उभार दबाने लगी। मैंने उसकी चूत को खूब प्यार किया।फिर…कामिनी आंखें बन्द कर … और तब तक नहीं खोलना जब तक मैं न कहूं, चाहे कुछ हो जाए.

अब मैंने अपना हाथ उसकी चूत से हटा लिया और उसको गोदी में उठाकर उसी कुर्सी पर बैठा दिया और कुर्सी के हत्थे पर एक पैर को टिका कर लंड को नम्रता के नजर के सामने रखते हुए लंड को तेजी-तेजी फेंटने लगा. तो वो बोली- मुझे अब बहुत नींद आ रही है, तंग मत करो!उस दिन से पहले कभी कौसर बेगम ने मुझे ऐसा कभी नहीं कहा था. साथ ही अंतर्वासना पर सेक्स स्टोरीज पढ़ते हुए अपनी बहन की चुदाई के ख्वाब देखा करता हूं.

हिंदी बीएफ अमेरिकन” मैं ऊपर ऊपर से विरोध करने लगी, पर अंकल को मेरे मन की बात पता चल गई. मेरी उम्र 37 साल है, लेकिन कोई भी मुझे देख कर यह नहीं कह सकता है कि मैं इतनी उम्र की लगती होंगी.

सेक्सी फोटो सेक्सी लड़की

तभी मैंने नीचे से धक्का लगा दिया और लंड उसकी चुत को फाड़ता हुआ अन्दर चला गया. सुमन अभी नर्सिंग की पढ़ाई कर रही है और उसकी बड़ी बहन की शादी हो चुकी है. क्या राज यहां पर आने के लिए तैयार होगा? अगर होगा तो वह राज को किस बहाने से बुलायेगी.

मेरा मुट्ठ उसके मुंह में भर गया जिसको उसने बाथरूम में जाकर थूक दिया. मेरी बीवी नीचे से अपने चूतड़ थोड़े थोड़े उछाल रही थी। वो इतनी भारी है वासना से कि उसका तो एक बार पानी निकल भी गया होगा।फिर अचानक से अब्बू के लंड का सुपारा फिसलते हुए सीधा मेरी बीवी की चूत के अंदर चला गया क्योंकि उसकी चूत पानी से भीगी हुई थी. जब भी उसकी नजर मुझसे मिलती, तो वो एक हल्की और प्यारी मुस्कान छोड़ देती.

ज्योति नीचे से चूतड़ उठा-उठा के मेरा साथ दे रही थी और बोल रही थी- इस चुदाई को तब तक मत रोकना जब तक मेरा पानी न निकल जाये. मैंने अपनी गर्म जीभ भाभी की जलती हुई भट्टी में रख कर अंदर घुसा दी तो भाभी सिहर उठी. पर पता नहीं मुझे क्या हुआ … उससे बात करते करते मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया.

मेरे लौड़े ने उछल-उछल कर पानी छोड़ दिया था जो कच्छे पर भी लगा हुआ दिखाई दे रहा था. मैं बाइक पर आगे होने की वजह से कुछ ज्यादा ही भीग गया था, जबकि उसके कपड़े कम भीगे थे.

ऐसे तो शादी के फ़ंक्शन में वसुंधरा का जलूस निकल जाता जो मुझे मंज़ूर नहीं था.

मैं उसके कंधों और गर्दन के भागों को चूम रहा था तथा साथ में उसके उरोजों को भी दबा रहा था. एक्स एक्स एक्स वीडियो अंग्रेजी बीएफइधर मैं एक बात और बताना चाहूंगा कि भाभी का रंग सांवला नहीं था बल्कि वह गोरी थीं, किंतुट्रेन के सफरके कारण उनका रंग सांवला दिख रहा था. 12 साल लड़कियों का बीएफमैंने उसे गर्म करने के लिए सामने की दीवार पर एलईडी पर ब्लू फिल्म चला दी. काफी देर बाद जब मेरी नींद खुली … तो सब लोग खाना खाने के लिए मुझे बुलाने लगे.

उसको मैंने घोड़ी बनाकर पीछे से उसकी चूत में पूरा लंड एक बार में ही डाल दिया.

मैं बोला- मामी अभी तो मैं जाता हूँ … किसी और दिन आपको चोद कर पूरा मजा लूँगा. मेरा हाथ मेरी लोअर के अंदर अपने आप ही जाकर उसको खुजलाने और सहलाने लगा. रजनी ने इशारे से राहुल को बुलाया और मुस्कुराते हुए राहुल की ओर पंच तान कर बोली- फ्रेंड्स …राहुल भी मुस्कुरा दिया और उसने भी अपना पंच रजनी के पंच से मिलाया और बोला- यीएस फ्रेंड्स.

अब मैं अपने हाथों को ऊपर करके उसकी कमीज के ऊपर से उसके मम्मों को दबाने लगा. मेरी बगल में हाथ डाल के चूची दबाईं- ये है कामिनी, मेरी सहेली अंशु उसके आशिक उपिंदर की पत्नी!और ये है सुजाता!”सुजाता उठी और मुझे बांहों में भर के मेरे होंठ चूसे और मेरे चूतड़ मसलते हुए मुझे अपने होंठों का रस पिलाया- शोभा, ये माल तो अच्छा है, अब देखते हैं मज़ा कितना देती है. दोस्तो, मैं इमरान अन्तर्वासना का एक पुराना लेखक … मेरी 200 से ज्यादा कहानियां इस सेक्स स्टोरी साईट पर आ चुकी हैं.

देहाती वाली सेक्सी पिक्चर

किसी भी समय, किसी भी स्थान पर, किसी भी आसन में बेबी मजे से चुदवाती थी. मैंने उसको बोला- आज सेक्स की तुम्हारी हर ख्वाहिश को मैं पूरी कर दूंगा, लेकिन तुमको मेरा कहना मानते हुए शर्माना पूरा छोड़ना होगा. अगले दिन मेरा मूड तो फ्रेश था, लेकिन मैंने नोटिस किया कि कीर्ति मेरे से कम बात कर रही थी.

अब ताऊ जी जोर जोर से झटके मार रहे थे और कुछ देर के बाद वो कोमल के ऊपर ही ढेर हो गए.

राहुल इन सबसे कभी आगे नहीं गया था, वह संभला और बोला- मैम… ये ठीक नहीं है.

मैं सोच रहा था कि अगर नई दुल्हन को किसी ने इस तरह से मेरे साथ बैठे हुए देख लिया तो लोग शक करने लगेंगे. उसकी दोस्त शायद अपनी चूत चुदवाने के चक्कर में थी लेकिन मैं सोनल भाभी की चूत चोदना चाहता था. बीएफ वॉलपेपर दिखाओकिसी से चुदवाने का तो मैंने पक्का इरादा कर ही लिया था अब यक्ष प्रश्न मेरे सामने ये था कि मैं अपनी चूत दूं तो किसको दूं? किसी लौंडे लपाड़े के चक्कर में तो मैं आने वाली थी ही नहीं; इनकी हरकतें मुझे वैसे भी सख्त नापसंद थीं.

राहुल ने सीमा के चूतड़ों के नीचे एक तकिया लगाकर सीमा की चूत को अपने और पास किया और लगा अपनी बुलेट ट्रेन को चलाने. मैं पैर को झुक कर सहला रही थी, तो मेरी नजर बेड के नीचे पड़े कंडोम पे पड़ी. उसके बाद तो उन पूरे पंद्रह दिनों तक लगातार भाभी और मैं रात को सेक्स करते रहे.

मैं यहां बताना चाहूंगा कि अब मैं उसे धीरे धीरे कोड़े मारने लगा था ताकि उसे दर्द न हो. एक हल्के से झटके में ही एक फच्च की आवाज के साथ लण्ड उनकी चूत में उतर गया।अब वो मेरे लण्ड पर झूला झूल रही थी। वो ऊपर से उछल-उछल कर कर लण्ड को पूरा अपनी चूत में अंदर तक ले रही थी। मैं नीचे से धक्के मार कर चुदाई का मजा ले रहा था।वो भी पूरे मजे ले रही थी.

मैंने बोला- अगर आपको पसंद नहीं है, तो किसी और होटेल में ट्राई करते हैं.

मेरी सहेली कभी भी मेरे घर आ सकती थी, क्योंकि वो अपने घर की चाभी मुझे ही देकर गयी थी कि उसका पति अगर घर आए, तो मैं उसको चाभी दे दूँ. दीदी इसके लिए तैयार तो नहीं थी, पर उसे यह अच्छा ही लगा और वो आह भर कर रह गयी. उस रात उसने मुझसे बहुत सारी बातें कीं और फिर अगले दिन वो अपने घर दिल्ली चली गई.

बिहारी बीएफ 2020 जिस सोसाइटी में मेरा फ्लैट था, वो सोसाइटी अदिति की सोसाइटी से कुछ ही दूरी पे थी, पर उससे अभी तक मुलाकात नहीं हुई थी. जब उसने देखा कि मैं अपना मन मार रहा हूँ तो वो भी लेने के लिए तैयार हो गयी.

इसके बाद मैं अपनी अगली सेक्स स्टोरी में लिखूंगा कि नताशा भाबी, जो कि अब तक अपनी बेस्ट फ्रेंड प्रिया के घर कुछ दिन रहने के लिए गई थीं. लंड चुत के अन्दर आने के बाद 30 सेकंड हम दोनों रुके, फिर उसने धीरे धीरे धक्के देना शुरू किए. वसुन्धरा ने अपनी बायीं टांग मोड़ कर मुझे अपनी योनि छूने से रोकने की कोशिश की तो सही लेकिन चूँकि मेरी बायीं टांग, वसुन्धरा की बायीं टांग के ऊपर थी इसलिए इस बार वसुन्धरा अपनी कोशिश में कामयाब नहीं हो पायी और ऐन नाभि के नीचे पहुँचते ही अपना हाथ पैंटी के इलास्टिक के अंदर से नीचे की ओर बढ़ा दिया.

किरण यादव की सेक्सी

उस समय सुमन नीला टॉप और जीन्स पहन रखी थी, वो एकदम मस्त माल लग रही थी. उस के बदन की तमाम गोलाइयाँ, गहराइयाँ और ऊंचाइयां पहले के मुकाबिले कहीं ज़्यादा शिद्दत से उजाग़र हो रहीं थीं. उसका लंड मेरी चुत की अन्दर की दीवार पे बहुत रगड़ रहा था और मीठे दर्द के साथ खुशी ही खुशी मिल रही थी.

दमदार चुदाई के बीच ही उसके पति का फोन आ गया था, जिसमें नम्रता ने अपने को भी चुदासी बातों से गरम कर दिया था और वो मुठ मारने जाने की कह कर फोन बंद करके चला गया. मगर सारा का सारा माल नीचे बह गया था और सिर्फ दीवार पर गीलापन ही रह गया था.

मैंने उसके ऊपर झुकते हुए उसके एक दूध के निप्पल को अपने होंठों के बीच दबाया और पूरे लंड से दीदी की चुदाई चालू कर दी.

मैंने हस्तमैथुन के लिए बोला, तो वो ख़ुद ही जिप खोलके लंड को सहलाने लग गईं. मैं उसके नंगे नितम्बों को मुँह में लेकर चूसने लगा और अपने हाथों से उसके शरीर के नाजुक अंग सहलाने लगा. अब भाभी के मुँह में मेरा लंड एक मोटे और बड़े लंड में तब्दील हो गया था.

मेरा मुट्ठ उसके मुंह में भर गया जिसको उसने बाथरूम में जाकर थूक दिया. अब उसके एक हाथ की दो उंगलियां चूत के अन्दर-बाहर हो रही थीं, तो दूसरे हाथ की एक उंगली गांड के अन्दर बाहर आ जा रही थी. इसके बाद आगे हाथ डालकर हार को अलग किया और पीछे से गर्दन पर होंठ लगा दिए.

दो या तीन मिनट में ही उनका पानी निकल जाता है। मेरी शादी को 2 साल हो गए.

बेटे बीएफ: ऐसी तराशी हुई हुस्न की मूरत थी कि खुदा ने अपनी सारी सोच इसे बनाने में ही लगा दी हो।मैंने मन ही मन ऊपरवाले को शुक्रिया कहा कि ऐसी सुंदरी के दर्शन करवाए जिसे असल जिंदगी में देखना ही जिंदगी धन्य कर दे।तभी उसकी आवाज ने फिर से मेरी कल्पना की दुनिया से मुझे जगाया- यहाँ ही खड़े रहना है या अंदर भी आओगे?मेरे गले से धीमी सी आवाज निकली- हाँ जी. अब वो तेज स्वर में बोलने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… फक मी … फक हार्ड … (चोदो चोदो चोदो और तेज चोदो)मैं और तेज धक्के देने लगा.

वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी और सिसकारियाँ ले रही थी उसकी साँसें इतने में ही उखड़ने लगी थी।आहह ह ह … सीस्स सश्स स ऊम्ह्हह …”उसकी सिसकारियों से मैं और भी जोश में आ रहा था. कुछ ही देर में मेरे लंड से वीर्य का फव्वारा छूटा और उसका मुंह मक्खन मलाई से भर जिसे वो गटक गई. लेकिन मुझे इतना होश तो था कि मैं अपने आस-पास हो रही आवाजों को सुन सकूं.

मैं बोला- चाची आपके चेहरे पर उदासी देख कर मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता.

अब जब उसको पता चला कि मेरी सेक्सी बहन घर में अकेली है तो वो फिर से खड़ा हो गया. क्या मज़ा आता था दोस्तों, उसकी गांड को भी मेरे लंड की आदत हो चुकी थी. आंटी बड़े प्यार से अपनी जीभ निकाल कर लंड के टोपे को किसी लॉलीपॉप की तरह चाटने लगीं.