झारखंड का बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,छूट स्टोरी

तस्वीर का शीर्षक ,

यौन उत्तेजना: झारखंड का बीएफ सेक्सी, दीदी बोली- पर तू तो राहुल है ना!मैंने बोला- तुमको मेरा चेहरा समझ में आ रहा है क्या?वो बोली- नहीं.

চুদাচুদিবিএপ

मैंने उसको ऊपर लेते हुए अपनी छाती पर खींच लिया और उसको किस करना चालू कर दिया. सैंया जी दिलवा मांगेला गमछा बिछा केफिर रात के साढ़े दस बजे मेरे रूम की बेल बजी तो मैंने सोचा कि सिपाही ही आया होगा.

उसने जल्दी से प्रोग्राम सेट करने के लिए कहा और रोहित से मिलने की जिद करने लगी थी. वॉलपेपर वालीभाभी ने एक दो बार तो मेरे हाथ को खींचने की कोशिश की लेकिन फिर वो कसमसाने लगी.

जब हम हनीमून पर गए तो उसने अपने जिस्म को नुमाया करके होटल मैनेजर को गर्म कर दिया.झारखंड का बीएफ सेक्सी: उसने अपने हाथों को नीचे ले जाकर मेरे चूतड़ों पर रख दिया और मेरे चूतड़ों को अच्छे से दबाने लगा.

मम्मी बोली- रण्डी चाची नहीं, सिर्फ रण्डी बोलो और मुझे रण्डी की तरह चोदो।यह सुनकर तो सोनू ने मां के मुंह के अंदर लंड घुसा दिया.मेरी ब्लाउज के गहरे गले में से मेरे दोनों मम्मों के बीच की घाटी साफ दिख रही थी.

सेक्सी सेक्सी बीपी - झारखंड का बीएफ सेक्सी

मैंने इस बात पर ध्यान नहीं दिया कि मेरे फोन में ही भाभी का नहाते हुए वीडियो भी रखा हुआ है.अन्तर्वासना के मामले में पुरुष ही सदा दोषी माना जाता है कि पुरुष ही हर वक्त सेक्स के लिए लालयित रहता है.

उफ्फ … लंड के चुत पर घिसने पर जिस्म में कितनी मस्ती चढ़ती है, इसका मुझे अनुभव था. झारखंड का बीएफ सेक्सी थोड़ी देर बाद सीन बदला, हीरो ने उस लड़की को सोफे पर लिटाया और उसकी बुर पर अपना लंड घिसने लगा.

कम ऑन फास्ट … और ज़ोर से … मेरे पति का लंड मुझे संतुष्ट नहीं कर पाता है … पर आज मैं बहुत खुश हूँ कि मेरे पति ने मुझे एक पराए मर्द से संतुष्ट करवा दिया … मुझे अपने पति पर गर्व है … तुम मुझे चोद कर संतुष्ट कर दो … आह आह.

झारखंड का बीएफ सेक्सी?

थोड़ी देर बाद मैम दो कप में चाय लेकर आईं और एक कप मुझे देकर सामने ही सोफे पर बैठने लगीं. अब ये तो मामी का मानो खेल हो गया कि वो हर दस बारह धक्कों के बाद चुत से लंड अलग कर देतीं और सीड़ियों की तरफ देखने चली जातीं और देखतीं कि कोई आ तो नहीं रहा है. मरीज को देखकर उसको एक इंजेक्शन देने को बोलकर निकल ही रहा था कि सामने से इनिषा आ गई.

अब तो भाभी खुल करगर्लफ्रेंड के साथ सेक्सकी बातें भी पूछ लिया करती थी. मैंने उससे पूछा- इतना अच्छे से लंड चूसना कहां से सीखा तुमने?उसने कहा- मेरे मामा की लड़की से मेरी बहुत अच्छी बनती है. मेरा मकान काफी बड़ा होने की वजह से मैंने अपने घर का नीचे वाला फ्लोर किराए पर दे दिया था।किरायेदार का नाम मनोज शर्मा है.

थोड़ी ही देर में भाभी ने गांड को उठा कर चूत में लंड को लेना शुरू कर दिया. रानी की चुत सूज गई थी और उसमें से अभी भी हल्का हल्का ब्लड आ रहा था. मोटा लंड गांड में जाने से मैं चिल्लाने लगी लेकिन पहले वाले ने मेरे मुंह में लंड डाल दिया और मेरे हलक तक लंड को फंसा दिया.

कुछ देर बाद मैं उसको चूमते हुए धीरे धीरे नीचे आने लगा … उसके पेट पर किस करने लगा. मैंने उससे कहा कि जिधर चुत चुदाई होना है, मैं उधर की बात कह रहा हूँ.

इतने में शोभा भी आगे पीछे होने लगी। मैंने भी शोभा की सेक्सी पीठ पर अपने दांतों के निशान बना दिये और शोभा की गांड भी लाल कर दी.

उन दोनों को अपने दरवाजे पर खड़ा देख कर मुझे लगा मानो कोई फ़िल्म चल रही हो … ऐसा दृश्य मेरी नजरों के आगे था.

उस रात वो पढ़ाई से मन चुरा रही थी और और मेरी आँखों में ही देखे जा रही थी. उसने फोन उठाया और बोली- साहब जी को इतने दिनों बाद याद आई मेरी?मैं- अरे यार मैं कुछ काम में व्यस्त हो गया था और तुम भी शायद व्यस्त थीं … जिससे मुझे कॉल नहीं किया. साथ ही वो बैंक मैनेजर अंकल वालीआंटी की चुदाई की कहानीभी अभी बाकी है.

मेरी बीवी एक नम्बर की रांड है मस्त चुदवाती है।मेरी बीवी घोड़ी बन गई और मैं उसकी चूत को चाटने लगा वीडियो कॉल पर ही!10 मिनट चूत चाटने के बाद मेरी चुदासी बीवी बोली- कुछ करो … अब पेलो मुझे अपने लण्ड से!मैंने अपना लण्ड निकाला और एक ही झटके में पूरा लण्ड अपनी बीवी की चूत में जड़ तक पेल दिया. क्लास में आने के बाद उन्होंने अपना परिचय देना शुरू किया- मेरा नाम तन्वी है और एक एक करके आप सब अपना परिचय दीजिये. उस दिन उसे पार्क में घूमते देखा, तो मैं उसी के घूमने के समय पर पार्क में जाने लगा.

मैंने उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया तो उसने मुझे फिर से पीछे धकेल दिया.

उसी समय उन्होंने मुझे टोका और पूछा- कॉमिक्स पसंद आया या नहीं?मैं शर्मा गया लेकिन अंदर ही अंदर उसे देखने की इच्छा भी हो रही थी तो हिम्मत करके हाँ बोल दिया।तो उन्होंने कहा कि 1 घण्टे में आना तो दूसरा कॉमिक्स दिखाऊंगा।मैं फिर क्रिकेट खलने लगा लेकिन क्रिकेट में मन नहीं लग रहा था. मेरी माँ की चुदाई पड़ोस के एक अंकल ने कैसे की? मजा लें यह गर्म कहनी पढ़ कर!नमस्कार पाठको,मैंने अपनी पिछली कहानीमेरे चचेरे भाई ने मेरी माँ की चूत दोस्त को गिफ्ट दीमें मैंने आपको बताया था कि मैंने अपनी मां को गांव में चुदाई मेरे चचेरे भाई और उसके दोस्त के साथ करते हुए देखा था।यह कहानी उसी का अगला भाग है. मैंने भी बहुत बार सोचा कि अपने जीवन की कुछ सेक्स घटनाएं पाठकों के साथ साझा करूं.

तभी छोटी बहन ने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और अपनी चूत में लंड लेकर चोदने को बोली. इधर झाड़ियों में वे दोनों लड़के मेरे बाल पकड़ कर मुझसे बारी बारी से अपने अपने लंड चुसाने लगे. इससे पहले भी मैंने उसको कई बार देखा था लेकिन आज तो वो कमाल ही लग रही थी.

हाय राम मैं उस वक़्त क्या महसूस कर रहा था, ये तो बयान नहीं कर सकता पर आप समझ सकते हो कि आप अपने हाथ से कितनी बार भी हैंडपंप चला लीजिए, पर जब हाथ में पहली बार किसी मस्त माल के मम्मों को दबाएंगे, तो उसका नशा ही कुछ और होता है.

मैंने चाची से पूछा कि पहले उनको नहाना है या मैं नहाने के लिए चला जाऊं?चाची बोली- पहले मैं नहा लेती हूं. अगर मुझे तेरी सहेली की चूत नहीं मिली तो तू अच्छी तरह जानती है कि मैं क्या कर सकता हूं.

झारखंड का बीएफ सेक्सी मुझे पूछना तो नहीं चाहिए, पर क्या जान सकता हूँ कि क्या उम्र है आपकी और आपके पति की?आएशा- उनकी एज 35 साल है और मेरी 29 साल है. सोनू- कर क्या दूंगा … करना ही होगा! उसी लिए तो मैं उसे वहां पर ला रहा हूं.

झारखंड का बीएफ सेक्सी अंकल एक हाथ से मेरा एक रसभरा मम्मा दबाते हुए दूसरे के चॉकलेटी चूचुक को अपने मुँह में भर कर चूसने लगे. मैंने भी उसे ‘आई लव यू टू जान’ कहा और उसे एक बार चूम कर अलग हो गया.

उसके बाद मैंने ताबड़तोड़ उसकी चूत में लंड के धक्के लगाना शुरू कर दिया.

देसी चूत चूत

फिर हम दोनों कार में बैठ गए और मैंने अपनी साड़ी का पल्लू सामने से हटा दिया. उसकी ब्रा के हुक के कारण मसाज ठीक से नहीं हो पा रही थी … तो मैंने ब्रा खोले के लिए पूछा. एक दिन हम दोनों के बीच कुछ ऐसा हुआ कि … मेरी गर्म चोदन स्टोरी का मजा लें.

वो बोली- वो भी चूम लेना … लेकिन पहले मुझको भी खिलाओ यार … मुझको भूख लगी है. मैंने भी कोई ज्यादा ध्यान नहीं किया लेकिन रात 2 बजे तक वो ऐसे ही जाग कर करवटें ले रही थी. और तीसरे फ्लोर पर जाते ही जैसे मानो चमत्कार हो गया हो। मैं कमरे के पास रूका वहां से अंदर आवाजें आ रही थी.

5 इंच है जो कि किसी भी आंटी, औरत और भाभी व लड़की की प्यास बुझाने के लिये काफी है.

दो महीने के बाद मेरे पैर का प्लास्टर कटा और तब जाकर मुझे बेड से उठने की आजादी मिली. साली और कितनों के साथ चुदवाती है? मुझे पता है कि तू सबसे चुदवाती है और मेरे सामने न चुदने का नाटक कर रही है?इतना बोलकर उसने अपनी पैंट को खोल लिया. अंकल एक हाथ से मेरा एक रसभरा मम्मा दबाते हुए दूसरे के चॉकलेटी चूचुक को अपने मुँह में भर कर चूसने लगे.

खेल शुरू हो गया था और मैंने वो खेल उसको जिता दिया क्योंकि खेल का कंट्रोल मेरे हाथ में ही था. तब मैंने पति से पूछा- आपने कैमरे लगा दिये?पति बोले- सब लग चुके हैं. मुझे दर्द होने लगा और मैं अपने शौहर को गाली देने लगी- हट मादरचोद, मुझे नहीं चुदवानी गांड.

मैंने देखा कि रानी लेगिंग्स फटी सी थी, जिसमें से उसकी चूत दिखाई दे रही थी. कुछ ही देर में हम दोनों की उत्तेजना बढ़ने लगी और मैं चाची के पूरे बदन को चूमने लगा.

उसके बारे में सोचते सोचते मेरे हाथ मेरे मम्मों पर आ गए और मैं अपने मम्मों को दबाने लगी. उसने लॉन्ग कट का एकदम टाइट सूट पहना था जिसमें से चूचियों का ऊभार ऊपर से मस्त लग रहा था. अब मैं फिर से अकेला हो गया हूं और हाथ से लंड को हिला कर काम चलाता हूं.

कल रात जब आपका निकलने वाला था तो चुदाई बंद कर देते थे और फिर थोड़ी देर में शुरू!पापाजी हंसने लगे, बोले- वो तो तरीका है देर तक चोदने का!तब पापाजी ने मुझे एक गोली दी बोले- ये खा लो बहू!मैंने पूछा- ये क्या है?मेरे ससुर बोले- बहू, कल मेरा वो तुम्हारे उसमें निकल गया था.

पीछे एक हाथ लाकर उसने मेरे सिर को अपनी चूत की तरफ दबाना शुरू कर दिया. मेरे बिना पूछे ही भाभी बोली- देखो, आज जो तुमने जो कुछ भी देखा उसका किसी के सामने जिक्र मत करना. गप्प की आवाज से मामी की चूत में लंड चला गया और मामी एकदम से सिहर उठीं.

वैसे अभी तक सोये नहीं आप? क्या देख रहे हैं मोबाइल में?पापाजी बोले- बस अपनी बहू को देख रहा हूँ. इसीलिए किसी भी प्रकार की गलती होने से पहले ही आपसे माफी की बात करना आवश्यक समझता हूँ.

पापा मेरी बुर चाटे जा रहे थे … और मैं गांड उठा कर पापा को अपनी चुत में घुसेड़ लेना चाहती थी. एक दिन मैं भाभीजी के घर पर गया और मैंने उनसे वही वीडियो साथ में देखने के लिए कहा. ”उन्होंने अपना हाथ मेरे कंधे पर ही रखा था, रखा क्या … अपने पंजे से मेरे कंधे को लगभग दबोच लिया था.

चुदाई कि विडिओ

उसने कहा- रुको … पहले काजल को अच्छी तरह से चोद दो … फिर मुझे रगड़ कर चोदना.

उनका मूसल लंड मेरी चुत की दीवार को धकेलते हुए मेरे चुत के अन्दर घुसने लगा. फिर रात के खाने के बाद मैंने पति से पूछा- क्या पहन कर जाऊं यार आज?तो पति ने मुझे एक स्टॉकिंग पहनने के लिए कहा और कहा- ये पूरी फाड़ के चुदाई करवाना!12 बजे रात मैंने पापाजी को मैसेज किया और उन्हें गेस्ट रूम में बुलाया. वो पूछने लगा- ऐसे क्या देख रही हो?मैं बोली- मुझे तो यकीन नहीं हो रहा है.

रानी को चुत में मर्द के हाथ का मज़ा मिल रहा था और नशे में उसको ये मालूम ही नहीं था कि उसकी चुत से कौन खिलवाड़ कर रहा है उसे लगा कि शायद ये मैं हूँ … इसलिए उसने ब्रून का सिर पकड़ कर उसका मुँह अपनी चुत पर लगा दिया. जब मैं और प्रशांत 12वीं क्लास में आए, तो हमने पहली बार पोर्न देखी और अब हमारे अन्दर का मर्द जागने लगा था. सेक्स सेक्स वीडियो गुजरातीहम दोनों रूम में आ गए कुछ देर आराम करने के बाद जब शाम हुई, तो हमने कपड़े बदल लिए.

वो चिल्ला चिल्ला कर कराह रही थी- आह आह … मोर एंड मोर … फक मी फ़ास्ट. जब उसको ये अहसास हुआ कि मैं भी उसकी शरारत में उसका साथ दे रही हूं तो वो अपने लंड को मेरी गांड के बीच में धंसाने की कोशिश करने लगा.

मेरे पैरों की उंगलियां अपने मुँह में लेकर चूसने चाटने के बाद उन्होंने मेरे पैरों को अपने कंधे पर रखा और किस करते हुए मेरी जांघों तक आ गए. चूंकि मैंने कंडोम लगाया हुआ था इसलिए मेरी उत्तेजना थोड़ी कम प्रबल थी. मगर राजो के साथ मुझे इतना मजा आया जितना किसी और औरत की चुदाई करने में नहीं आया.

फिर हम लोग एक दिन पहले यानि कि शनिवार को ही कृष्णा मौसी के यहां पहुंच गये. उस पोजीशन में मां शायद पहली बार चुद रही होगी और अब माँ को दर्द हो रहा था. उस डिम लाइट में अजय अंकल का लंड किसी हीरे की तरह चमक रहा था जिस पर अभी अभी फिनिशिंग की हो।अब वो हीरा गुफा में डालने का वक्त आ गया था.

क्योंकि जब उसने मुझे अपने घर का दरवाजा खोल कर अन्दर बुलाया, उसी वक्त मैं उसकी ड्रेस देख कर एकदम पगला गया था.

हिंदी सेक्स स्टोरी का पहला भाग:गर्म सलहज और लम्पट ननदोई-1शादी के बाद सुहागरात पर मेरे पति मेरी चूत का कुछ ना कर सके. चूचों के ऊपर साड़ी का पल्लू कुछ इस तरह से रखती थीं, जिससे उनकी चूचियां पूरी तरह से फूली हुई दिखती थीं.

मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को उसकी बहन के घर भेज दिया और कह दिया कि मुझे ऑफिस में काम ज्यादा है. गांड थी मेरी बीवी के एकदम बड़ी उभरी हुई … मोटी गांड की बड़ी सी दरार … यह देखकर मेरा भी लण्ड खड़ा हो गया. फिर हम दोनों ने आंखें बंद किये हुए ही एक दूसरे को सहलाना शुरू कर दिया … मानो हम एक दूसरे को शाबाशी दे रहे हों.

पीछे से इस कसी हुई साड़ी में से मेरी निकली हुई गांड की पहाड़ी साफ़ दिख रही थी. मैंने दो गिलास वाइन के भरे और एक सिगरेट जलाकर उसकी आवाज का इन्तजार करने लगा. उसकी चूत एकदम से ऐसी लग रही थी जैसे अधकटी सेब के बीच में चीरा लगा दिया गया हो.

झारखंड का बीएफ सेक्सी इस पर बुआ ने मुझे आंख मारते हुए कहा- वो मैंने खाई ही नहीं थी … बाहर फेंक दी थी. चाची बोली- अगर तुम कहो तो मैं तुम्हें नहला दूं?मैंने कहा- नहीं चाची, मैं नहा लूंगा.

हिंदी में ब्लू फिल्म हिंदी में

मैंने दरवाजे पर उसका नाम पढ़ा और कन्फर्म किया कि यही वो घर है, जिधर मुझे बुलाया गया है. हाथ हटाकर वो बोली- इतनी जोर से क्यों डाला?कुछ देर भैया उसके ऊपर लेटे रहे. हम दोनों की जांघें आपस में चिपकी हुई थीं और हमारी आँखों में एक दूसरे के लिए प्यार उमड़ रहा था.

स्वरा ने पूछा- चाचा, मैं कहां पर सोऊं?चूंकि कमरे में एक ही बेड था, तो मैंने उससे कहा- बेटा, तू एक साइड सो जा … दूसरी साइड मैं सो जाता हूँ. तभी अजय अंकल ने किसी और को भी फोन मिलाया और बात करने लगे; कहने लगे- अरे भैया, एक माल है उसका काम लगाना है तो रूम मिल जाएगा?हां हां … वही है!”उसने कुछ बोला होगा लेकिन मैं सुन नहीं पाया।इसी तरीके से थोड़ा सा टाइम और भी बीत गया. फिल्मी जिला हालीवुडमैं भौचक्का रह गया, मेरी आंखें बड़ी बड़ी और मुँह खुला का खुला रह गया.

मैंने उसके पेट की मालिश फिर से शुरू की … तो वो बोली- पीठ की तो पूरी मालिश की थी … पेट की क्यों अधूरी कर रहे हो?मैं कहने ही वाला था कि ब्रा खुली हो, तभी तो मैं पूरे सामने की मालिश कर सकूंगा … पर मेरे ऐसा कहने से पहले ही उसने अपनी ब्रा का हुक खोल दिया और मेरे सामने उसके मम्मे खुल कर फुदकने लगे.

अब मैंने चाची की चूचियों पर अपने होंठ रख दिये और उनके दूधों को बारी बारी से पीने लगा. थोड़ी देर तक उसकी चूचियां दबाने के बाद मैंने उसकी चूत में एक धक्का और लगाया और पूरा लंड पेल दिया.

इसके बाद मैं अपने हाथ को उसके पीछे ले गया और उसकी ब्रा के हुक को खोल दिया … और अपने हाथों को आगे ला कर उनके मम्मों को तबियत से दबाना शुरू कर दिया. वो अपनी तारीफ़ सुनकर मुस्कुराई और आगे बढ़ कर उसने मुझे एक सॉफ्ट किस किया. ब्रून ने मेरी तरफ देखा, तो मैंने भी अपनी आंखें मूंद लीं और उसकी हरकतों को नजरअंदाज कर दिया.

सीमा के घर पर जाकर मैंने डोर बेल बजायी, पर किसी ने दरवाजा नहीं खोला.

मैंने मना करते हुए कहा- अरे नहीं मैडम, दो दिन में मेरा फोन ठीक हो जायेगा. मुझे आता देख कर चाची बोली- अरे, तू कब आया!मैंने कहा- बस अभी, वो … मां ने आपको घर बुलाया है. मैंने इस बार छोटी के मम्मे चूसते हुए उसे चोदा वो बड़ी तबियत से गांड उठा रही थी.

ग्रुप सेक्स हिंदीफिर मैंने देखा कि नर्स आई और मुझे अपने साथ एक दूसरे रूम में ले गयी. तेरी मां बोली- बस एक बार मेरी चूत चोद दे, उसके बाद मैं तुम्हें इतनी चूत दिलवाऊंगी कि तुम याद करोगे मुझे.

সেক্স ভিডিও দেখাও সেক্স ভিডিও

मैं ऊपर पंखे की तरफ देख रहा था और वो नीचे अपने ग्रीन पेंटेड नाख़ून पर आंखें गड़ाए हुए थी. मेरी लंबाई 5 फिट 8 इंच मैं साधारण और सुलझा हुआ लड़का हूँ। मेरे लण्ड का साइज 7 इंच लंबा 3 इंच मोटा है. कुछ देर के लिए हमने एक दूसरे के होंठ छोड़े और बस एक दूजे की गरम निगाहों में खो गए.

उसने जिस स्पीड में मेरी जीन्स निकाली, मुझे लगा साला सीधा मेरी चूत में अपना लौड़ा ही न डाल दे. जब मैंने तुझे सुबह देखा तो मैं तब ही समझ गया था कि तू जरूर आज किसी के अपनी चूत को चुदवा कर आ रही है. वो भी मुझे इंटरेस्ट ले रही थी क्योंकि मैं भी देखने में अच्छा हैंडसम और लम्बी-चौड़ी कद काठी का जवान था.

मैंने पूरा बोबा ज़ोर ज़ोर से चूसा और लंड को कपड़ों के ऊपर ही उसकी चुत में गाड़े जा रहा था. मेरी पहली कहानीजवानी की शुरुआत मूसल लण्ड के साथमें मैंने बताया कि कैसे मुझे पहला लण्ड मिला और मैंने चूसा।उन भैया को किसी काम से लंबे समय के लिए गांव जाना पड़ा और मेरी सेक्स कहानी रुक सी गयी थी।लेकिन मुझे क्या पता था कि मुझे एक नया लण्ड जल्द मिलने वाला था।एग्जाम का टाइम था. अगली सुबह जब मैं आने लगा, तो उसने मुझे कहा कि टच में रहना … मुझे तुम्हारी जरूरत बार बार पड़ेगी.

राजश्री भी बीच बीच में अपने मुंह से उसके लंड को निकाल कर सिसकारियां ले रही थी. अभी वो कुछ समझ पाती कि मैंने उसकी चूत में अपना लंड अचानक से ठांस दिया.

उसने अपने हाथों को नीचे ले जाकर मेरे चूतड़ों पर रख दिया और मेरे चूतड़ों को अच्छे से दबाने लगा.

मेरी मम्मी की उम्र करीब 42 साल की होगी, मगर वो देखने में 35 साल से ज्यादा की नहीं दिखती नहीं हैं. डबल डायमंडपहली चुदाई के बाद मैं कई बार उसके यहां गया और उसकी टाइट चूत चोद कर मजा लिया. ग्रामीण सेक्स वीडियोमैंने लंड बाहर निकाल कर कंडोम हटाया और उसके मुँह में लंड ठूंस दिया. कुछ देर बाद उन्होंने अपना हाथ मेरे हाथों पर से हटाया, पर मेरा हाथ अपने आप उस काले लंड की मुठ मारता रहा.

कभी मेरी गांड को सहला देते थे तो कभी मेरे बूब्स को टच करने की कोशिश किया करते थे.

मैंने उसकी बुर में पीछे से लंड ठोका और उसकी चुचियों को पकड़ कर चुदाई चालू कर दी. मैं तो पागल थी जो तुम लोगों को डांट रही थी … और जोर से करो … और जोर से!मेरी मां की सेक्सी बातें सुन कर अभिनव पागल हो गया और अपने पूरे शरीर के बदन की ताकत को झोंक दिया. और जब यह दूसरा मम्मा खुद मुंह में आता है तो किला फतह करने जैसा ही होता है.

मेरा लंड धीरे धीरे उसकी चूत में और अन्दर जा रहा था और उसकी कराहने की आवाज़ और भी ज़्यादा बाहर आ रही थी. उसने मुझसे वॉलेट लाने को बोला तो मैंने कहा- यार, मैं तुम्हारी चुदाई करके थक गया हूँ … इसलिए रिसेप्शन पर फोन करके यहीं मंगवा लो. धकापेल चुदाई के दौरान छोटी दो बार झड़ चुकी थी … लेकिन मैंने बिल्कुल स्पीड कम नहीं की.

सेक्सी भेजें

मेरा उम्र 25 साल है और मेरे लंड का साइज साधारण ही है, लेकिन ये इतना मजबूत है कि किसी भी लड़की या महिला को खुश और संतुष्ट कर सकता है. उसके आम जैसे नुकीले और रुई जैसे नरम नरम बाएं मम्मे को मैं सहला सहला कर खींचने लगा. मैंने मॉम की चुत को पैंटी के उपर से खूब सहलाया, फिर जीभ से भी पैंटी के ऊपर आ चुके उनकी चुत के रस को चाटा.

उसने रानी को लिटाया और टॉयलेट के पास आकर मुझसे कह दिया कि मैं आपकी पत्नी को रूम में छोड़ आया हूँ.

मामी की चुत रगड़ने और उनको खूब देर तक किस करने के बाद मैं ऊपर छत पर चला गया.

मैं जैसे ही वहां पहुँची, अमरीश बोला- वाव … सच में काफी हॉट लग रही हो।मैं मुस्कुराती हुई उसकी बाइक पर बैठ गयी और उसे थैंक्स बोली।फिर हम मूवी हॉल आ गए. मैंने उसको समझाया कि तुम्हारे सामने दो ही रास्ते हैं या तो सच की राह पर चलकर ससुराल में बवाल करके मायके वापस आ जाओ या किसी तरह से अगर एक बच्चा पैदा कर लो और मालकिन बनकर उस घर में राज करो. य2 मेट 2020दोस्तो, आपको मेरी ये गर्लफ्रेंड की चूत चुदाई सेक्स कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मेल करके जरूर बताना.

शालिनी के जाते ही हम भी क्लब से निकले और मैंने ज़बरदस्ती उसको एक एकांत जगह पर ले जाकर बैठाया. और माँ ने भी वचन दिया था कि माँ उसके साथ एक बर्थडे पार्टी में चलेगी. बाहर जाने के 15 मिनट बाद उसका मैसेज आया कि अल्कोहल चलेगी?मैंने हां में रिप्लाइ कर दिया.

आजकल नौकरी के चलते गुड़गाँव में रह रहा हूँ।मैं अन्तर्वासना का एक पुराना पाठक हू. उसने अपना नाम नीलिमा(काल्पनिक) बताया।उसने मेरे बारे में पूछा तो मैंने भी अपने बारे में उसे बता दिया.

कठोर चुदाई और कड़क लण्ड की वजह से उसकी चूत कराह रही थी और उसका बदन दर्द कर रहा था.

इसे ऐसे समझिए अगर आप एक ही मम्मा चूसते रहेंगे और दूसरे की तरफ ध्यान नहीं देंगे तो आपकी पार्टनर की चुदास इतनी बढ़ जाएगी कि वह खुद अपना दूसरा मम्मा आपके मुंह में देगी. इन घटनाओं में से कुछ किस्से ऐसे होते हैं कि जिनको कभी भी भुलाया नहीं जा सकता. मगर बाद में पता चला कि लड़की को पटाने के लिए एक अलग ही काबिलियत की जरूरत होती है.

देसी लड़कियों के व्हाट्सएप नंबर लिस्ट इसके बाद मैंने जाने के लिए अपने कपड़े उठाए, तो बड़ी ने मुझे पकड़ लिया. हो सकता था कि उसको बारिश के शोर में मेरी इस हरकत के बारे में पता न लगा हो.

सोनल ने पहले मेरे लंड पर किस किया और काजल की चुत के मुहाने पर एक बार रगड़ कर सैट कर दिया. एक दो लोगों से घुमा फिरा कर रात में घूमने के लिए जगह की बात की, तो किसी ने बोला कि नोएडा में रात को किसी जगह परांठे मिलते हैं. कुछ देर के बाद रानी ने कहा- मेरे राजा मुझे गांड चुदाई करवाने में ज्यादा मजा नहीं आ रहा है.

सेक्सी पिक्चर भाभी देवर की

दोस्तो, मैं विजय कपूर एक बार से आप लोगों के लिए अपनी एक नई कहानी लेकर आया हूं. अन्तर्वासना की सारी कहानियां पढ़ी हैं मैंने! मैं पहली बार कहानी लिख रहा हूँ अगर कोई गलती हो तो माफी चाहता हूँ।जो कहानी मैं लिखने जा रहा हूँ वो बिल्कुल ही सच्ची घटना है जिसमें रत्ती भर भी मिलावट नहीं है. मगर साली इतनी चुदक्कड़ थी कि आराम से बर्दाश्त कर रही थी मेरे लंड के धक्कों को।मेरा लौड़ा अब पूरी जड़ तक उसकी चूत में घुस जाता था.

गांड की चुदाई भी की लेकिन दीपा के साथ चुदाई का वो पहला आनंद सच में यादगार था. फिर मैंने उसके घुटनों से उसकी टांगों को थाम लिया और उसकी चूत पर लंड को सही से निशाने पर सेट किया.

अब मैं उत्तेजना बढ़ने के साथ ही कविता के और करीब सरक गया और उसको बांहों में कसते हुए जोर से किस करने लगा.

मैंने मम्मी पापा से कहा कि मैं छत पर सोने जा रही हूँ, मुझे नीचे गर्मी में नींद नहीं आएगी. फिर मैंने उसके पूरे शरीर पर चॉकलेट लगाई और धीरे से पहले उसके चेहरे से सारी चॉकलेट चाटी, फिर उसके होंठों से, फिर उसके क्लीवेज से और मुलायम मोम्मे चूस चूस कर साफ कर दिये. सोफे पर बैठते हुए मैंने थरथराते हुए हाथों से टीवी चालू किया, तो वो फ़िल्म फिर से शुरू हो गई.

इतना सुनते ही मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और मेरे पैंट में तम्बू बनने लगा. मैंने नोटिस किया कि पापा जी के दोनों हाथ मेरी कमर पर थे और मैं अपने बूब्स पापाजी की छाती पर दबा रही थी. पापाजी ने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और बोले- बहू, मुझे आज रात तुम्हारी चुदाई करनी है.

मैंने नीचे हाथ करके पेटीकोट का नाड़ा ढीला किया और अगले ही उनकी साड़ी और पेटीकोट को पूरा निकाल दिया.

झारखंड का बीएफ सेक्सी: तो रानी बेड से उठी और बिना पैंटी के ड्रेस ठीक करके वो खुद रिसेप्शन पर चली गई. कुछ देर बाद उसने खुद बोला- अब राजधानी दौड़ा दो … आह … मुझे पूरी दम से चोदो.

मेरी सना रानी और पीछे से पैंटी निकलने लगी जिससे उसकी बड़ी गांड दिखने लगी. हनी को बेड पर लिटाकर मैं उसकी टांगों के बीच आ गया और उसकी कुंवारी बुर चाटने लगा, मेरे हाथ हनी के संतरों का रस निकालने की नाकाम कोशिश कर रहे थे. मुझे बहुत शर्म आ रही थी कि मैं चाची की पैंटी ढूंढने में उनकी मदद कर रहा था.

टोनी ने उसकी टांगों को पकड़ कर लंड का धक्का दिया और उसकी चूत में टोनी का लंड घुस गया.

दोस्तो, मैं मन्नू शर्मा एक बार फिर अपने पाठकों के लिये एक गर्म चोदन स्टोरी लेकर हाज़िर हूं। बात अभी कुछ दिनों पहले की ही है। मेरा ट्रांसफर मेरे नज़दीक के गांव में हो गया जो मेरे घर से 25 किलोमीटर की दूरी पर है।मैं अपनी बाइक से रोज़ जाता था। रास्ते में मुझे एक टीचर मिलती थी. कुछ देर बाद मैंने अलग होकर उसी के मोबाइल की लाइट से देखा, तो उसकी चूत एकदम लाल और सूज चुकी थी. मैं मम्मी के सारे चैट और कॉल रिकॉर्डिंग सुन रहा था पर उसमें मुझे कुछ भी हाथ नहीं लगा.