व्हाट्सएप वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,लड़की की और कुत्ता की सेक्सी फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

चोदने का वीडियो चोदने का: व्हाट्सएप वीडियो बीएफ, तो अनिल ने कहा- भाभी जी, दो मिनट बैठते हैं, सुनील घर में अकेला ही है।यह सुनकर तो मैं बहुत खुश हो गई कि यहाँ पर तो बड़े आराम से चुदाई करवाई जा सकती है.

देवर भाभी का सेक्सी सेक्सी

फिर एक दिन मुझे कहीं काम से बाहर जाना था, तो उसने मुझे एक जगह छोड़ने को कहा तो मैंने उसको हाँ कर दिया. गुजराती वाला सेक्सी वीडियोमुझे उतना काफी था, जीजू ने वहीं बैठे बैठे ही मुझे उठा लिया बाँहों में और आलीशान बेडरूम में ले गए.

कि शायद यह सपना कभी सच हो जाये… गीले बालों को अपने गीले बदन पर झटक कर कामोत्तेजना में अकारण ही मैं अपनी गोलाइयाँ छूने लगी…मेरी तन्द्रा तो तब टूटी जब दरवाजे पर माँ जल्दी बाहर आने के लिए ख़टखटाने लगी. हिंदी सेक्सी देवर भाभी की फिल्म’‘गौरी, इनको तो अब आना ही पड़ेगा ना, जब भी आयेंगे, हम दोनों को चोद जायेंगे, है ना?’ राधा ने कसकती आवाज में कहा.

उसके बाद मैं थक कर उसके ऊपर ही लेट गया। उसकी चूत मेरे लंड को निचोड़ रही थी और मेरे साथ वो भी झड़ गई थी…मैंने उसे पकड़ कर बेड के ऊपर ले लिया वो मेरे सीने पर थी.व्हाट्सएप वीडियो बीएफ: उधर अनिल के चाटने से मैं भी झड़ चुकी थी।अब अनिल का लौड़ा मुझे शांत करना था।अनिल सोफे पर बैठ गया और अनिल के आगे उसी की तरफ मुंह करके उसके लौड़े पर अपनी चूत टिका कर बैठ गई। उसका लोहे जैसा लौड़ा मेरी चूत में घुस गया.

रीटा की बल खाई नागिन सी पतली कमर के नीचे रीटा के सरसराता यौवन का रस रीटा की गाण्ड को गीला करके टिप टिप कर टपकने लगा और फर्श को गीला करने लगा.शीतल ने मुझे लड़की पटाने की भी बहुत टिप्स दी। आज मेरी एक खूबसूरत गर्लफ्रेंड होने की वजह से कभी कभी शीतल को ना चोदने का मन करता है। दो औरतों को लेने जितनी मेरी सहनशक्ति नहीं है।पर क्या करूँ, आज शीतल मेरी रखैल नहीं है, बल्कि मैं उसका रखैल बन चुका हूँ।.

तुम की सेक्सी फिल्म - व्हाट्सएप वीडियो बीएफ

गन्दा लगता है !रोहित : वाह चटवाने में गन्दा नहीं लगा ? अब चूसने में गन्दा लगता है ? … चूसोमुझे रोहित का यह बर्ताव ठीक नहीं लगा ! वो जबरदस्ती सी कर रहा था !उसने मेरे मुँह में अपना लण्ड डाला, मेरे बालों को पकड़ा और चुसवाने लगा !मेरी आँखों से आंसू निकल आए.”झंडे बोला,”क्यों, क्या अभी भी कोई कसर बाक़ी है जिसे पूरी करना है…। सारा काम तो कर डाला। देखो, मुँह में तुम्हारे घुसेड़ दिया, पिछले छेद में तुम्हारे घुसेड़ दिया। योनि तुम्हारी फाड़ डाली, अब कौन सी जगह है खाली, मैं जहाँ करूंगा…”दुल्हन झंडे का हाथ पकड़ कर अपनी योनि पर ले गई और बोली,”तुम यहाँ करोगे, हाँ, हाँ ! तुम यहाँ करोगे….

यह कह कर उसने मेरा सर पकड़ा और अपने स्तनों को लगा दिया। फिर क्या मैंने उसे चोदना चालू किया।अब हर शनिवार, रविवार या फिर माँ घर पर नहीं होती तब मैं उसे चोदता हूँ। अब तक लगभग 200 कंडोम, 50 गर्भ निरोधक गोलियाँ सेक्स के लिए ख़त्म कर दी। मेरे सारे पैसे कंडोम खरीदने में जाने लगे हैं। हा हा हा हा. व्हाट्सएप वीडियो बीएफ कहानी का शीर्षक हैयह कहानी कुछ लम्बी होने साथ साथ, मनुष्य के द्वंद्व, भावनाओ, कर्मों और निर्णयों को आज़माती है.

मुझे देख कर वो उठ कर बैठी तो उसके मम्मों की हलचल ने मेरी शराब का नशा दोगुना कर दिया.

व्हाट्सएप वीडियो बीएफ?

बोलते बोलते मैंने अपने खाना लगे हुए हाथों से उसको निकालने की नाकाम कोशिश की और इधर उधर से ऊँगली डाल कर टिकेट पकड़ने की कोशिश करते हुए उसे अपने बूब्स के दर्शन करवाती रही. उसका दर्द अब कम हो चुका था… मैं साथ ही साथ उसकी चूची चूस रहा था क्योंकि उसकी चूची का कोई जवाब नहीं था, उसके चुचूक 5 रुपए के सिक्के के बराबर थे, एकदम भूरे और जोशीले…फिर मैंने अपनी गति बढ़ाई और 15-20 मिनट में मैं धराशाई हो गया. अन्दर घुसते ही दीपाली के मुँह से- आह ! मार डाला ! आवाज आई।लेकिन मुझे पता था यह तो होगा ही ! इसलिए मैंने अपनी स्पीड कायम रखी.

अचानक देखा कि कोई मेरे बेडरूम की खिड़की में चढ़ गया है, थोड़ी देर तक तो मैंने ध्यान नहीं दिया फिर कुछ हलचल हुई तो परदा हटा के देखा तो चाँदनी थी. फिर अचानक मेरा हाथ उसके उरोजों पर चला गया, मैं उनको दबाने लगा, वो सिसकारियाँ लेने लगी. उस दिन मेरे मन में अपार संतुष्टि थी…!!!कुछ पलों के लिए इस प्रेम कथा को द्वितीय विराम देते हैं !आपको क्या लगता है.

’‘जीजू, आप तो मेरे मालिक हो… बस अब मुझे लूट लो… मेरी नीचे की दीवार फ़ाड़ डालो!’ मैं जैसे दीवानी हो गई थी. फ़िर उसके बालों को पकड़ कर मैंने अपने मुंह की तरफ़ खींचा और चूसने लगी उसके होठों को. मैंने देखा तो गौरी भी अपने कपड़े उतार कर अपनी चूचियाँ मल रही थी, एक अंगुली अपनी चूत में डाल रखी थी और आहें भर रही थी.

तो उसने कहा- आपको मना किसने किया है? करो!फिर मैंने कहा- यहाँ नहीं, कहीं अकेले में. तब लण्ड रीटा के दाने को रगड़ता हुआ रीटा की बच्चेदानी से टकरा कर रीटा को गुदगुदा जाता तो हरामी रीटा मजे से दोहरी हो प्यार में अपने चूचों को राजू के सीने से रगड़ कर राजू के मुँह पर चुम्बन जड़ देती.

? स्कूल नहीं गया क्या…?बबलू झुंझला कर बोला- अन्दर भी आने दोगी कि नहीं मम्मी, मेरे सिर में जोर का दर्द हो रहा है!बोलते हुये वो अपने कमरे में जाकर बिस्तर पर लेट गया.

जी वो मुझे कमरा देखना है…”थां कि जाने कई आदत है, अतरी बार तो मिल्यो है… पिछाणे भी को नी…?”ओह क्या? आप ही छबीली हैं…?”वो जोर से हंस दी.

वैसे तो यह आम सी बात है और बहुतों की जिंदगी आपसी समझ की कमी से कुछ इसी तरह की हो जाती है और अलगाव बढ़ जाता है. उसका पति भी उसे सिर्फ तीन-चार मिनट चोदता, फिर सो जाता ! वो लम्बी चुदाई चाहती थी… उसकी चूत की प्यास कभी शांत ही नहीं होती थी…. उसकी आँखें डबडबा आई…मैं : लेकिन बोलो तो सही ऐसी क्या बात है…वो : मेरी परेशानी का कारण आप हैं…अब मेरी समझ में कुछ आया लेकिन फिर भी मैं बोली- क्या…!! मैं तुम्हारी परेशानी का कारण…वो फिर अचकचा गया.

पर उस काली रात को मैं रंगे हाथों मुखियाजी से पकड़ी गई … मुखिया जी के लोग ने मुझे एक अँधेरी काल कोठरी में बंद कर दिया … सुबह सभा बुलाई गई … मुझ पर रंडी होने का इलज़ाम लगाया गया …. ठीक है- तीनों ने माना।फिर मैंने परची डाली और पिंकी से कहा- इनमें से एक उठाओ ! जिसका नाम आयेगा वो राज लेगी…. क्या स्वाद था।बुआ मस्ती के मारे सीत्कारने लगी। उसकी आहें कमरे में गूंजने लगी- आह्हह्ह आह्ह्ह राज मैं मर जाउंगी राज आह्हह्ह….

मैंने पहले ही जालीदार कपड़े पहने थे जिसमे से मेरा पूरा बदन दिखाई पड़ रहा था और फिर मैंने अपना टिकेट भी अपने बड़े बड़े बूब्स के अन्दर ब्रा के बीच मैं डाल लिया.

अब राजू की धक्को की स्पीड बढ़ने लगी थी और ट्रेन के हिलने की वजह से मुझे भी दोगुना मज़ा आ रहा था. !तो मैंने पूछा, तो उसने बताया कि उसने ‘यह’ पहली बार देखा है, पर उसकी दूसरी सहेलियाँ उनके बॉय-फ्रेंड्स के साथ इससे खेलती हैं और बताती है कि खूब मजा आता है. तब तक में भी उसके पयजामे से उसका लण्ड बाहर निकाल चुकी थी… वो मुझे अपनी उंगलियों से काफी देर तक तड़पाता रहा… कभी अन्दर डालकर घुमा देता.

फिर शराब का सहारा किस लिए ? वैसे भी डॉक्टरों का मानना है कि शराब लिंग के लिए उत्तेजक नहीं बल्कि एक अवरोधक का काम करता है। शराब के बाद पुरुष सेक्स के बारे में बातें तो बहुत कर सकता है पर उसकी पौरुष शक्ति कमज़ोर हो जाती है और कई बार वह सम्भोग में विफल भी हो सकता है।हाँ, एक और बात…. उसने फिर से 3-4 चांटे मेरे गाल पर मारे और जल्दी से मेरे दोनों बोबों को अपने मुँह में ले लिया और उन्हें तेजी से चूसने लगा. पूरी तैयारी में थी मुझसे चुदवाने की क्या…फ़िर मैंने कहा तुझसे नहीं मेरे बॉस आ रहे है ना ! तो… फ़िर बिना कुछ कहे मैं उसका लण्ड चूसने लगी.

मैंने कहा- आंटी, ऐसा मत करना!आंटी ने कहा- ठीक है, तो मुझे बताओ कि वो कौन है?मैंने कहा- वो मेरे कॉलेज में पढ़ती है!फिर मैंने कहा- आंटी, यह बात किसी को मत बताना!तो आंटी ने कहा- नहीं बताऊँगी पर तुमको मेरा एक काम करना पड़ेगा!मैंने कहा- कैसा काम? बोलो!आंटी ने कहा- जो तुमने उसके साथ किया है, वो मेरे साथ भी करने पड़ेगा.

फिर अन्त में गाय का दूध निकालने की तरह से लण्ड दुहने लगी और बचा हुआ माल भी निकाल कर चट कर गई. मैं तो पहले ही झड़ने के करीब थी इसलिए उसका लंड आराम से झेल गई और चिल्लाते हुए झड़ने लगी,’ हाँ.

व्हाट्सएप वीडियो बीएफ सारी रात उसके बारे में सोच कर गुजार दी, मन में तरह तरह के ख्याल आए कि काश वो मेरी होती. वैसे उसको पहनने का कोई फायदा नहीं था क्योंकि उसमे से सब कुछ साफ़ नज़र आ रहा था और उससे ज्यादा मज़ेदार बात ये थी कि अन्दर पहनी हुई ब्रा और पेंटी भी जालीदार थी.

व्हाट्सएप वीडियो बीएफ मैं फिर उन दोनों की बातों में शामिल हो गया, बातों ही बातों में पता चला कि वो लड़का तो ज्योति का बॉयफ़्रेंड है. वैसे भी मेरी साली को आये चार दिन हो गये थे और मैं अपनी बीवी को भी नहीं चोद सका था.

तो वो बोली- ठीक है!और मैं एक पक्के खिलाड़ी की तरह उसको जकड़ कर उसके होंठ चूसने लगा ताकि उसकी चीख मेरे मुँह में दब के रह जाए और उसकी गाण्ड के छेद में उंगली करते हुए उसको और ज़्यादा गरम किया.

सेक्सी व्हिडिओ सेक्सी व्हिडिओ ओपन

ये सोचते हुए मैंने उसका मोटा लंड अपने मुंह में लेने की कोशिश की लेकिन मोटाई इतनी ज्यादा थी कि मेरे मुंह में लंड घुस नहीं पा रहा था. उ… आवाज ही आती रही।पन्द्रह मिनट चोदने के बाद उसने लन्ड मेरी चूत से बाहर निकाल लिया, मुझे घुटनों के बल बैठा कए लन्ड मेरे मुँह में दे दिया। उसका इतना बडा लन्ड मुँह में जाने से मैं सांस भी नहीं ले पा रही थी। उसने मेरे मुँह में चोदना शुरु किया, मैं चूत से झड़ गई थी, फ़िर भी वो मुझे मुँह में चोदता रहा।इतने में ही उसने मेरे बाल कस कर पकड़ लिये और बोला- जोर से चूसो… जोर से…. जिन लोगों को नहीं पता उन्हें मैं बता दूँ कि मिरांडा कॉलेज एक गर्ल्स कॉलेज है और वहाँ की ज्यादातर लड़कियों के लिए स्मोकिंग और ड्रिंकिंग तो आम बात है.

फिर मम्मी ने कहा- जब तक यह मर्दों के ड्रेस में है, ऐसा नहीं हो सकता… साली को साड़ी में चोद सकता हूँ मैं. रात को मेरे ख़यालों में सिर्फ चित्रा और उसके चूचे घूम रहे थे और हाथ अपने आप पैंट के अंदर जा रहा था. के पास बैठा था। अरे ? वो बारिश ? … बंगला ? वो मोनिशा… वो गाड़ी ? … वो नेम प्लेट ? वहाँ तो कोई नहीं था। तो क्या मैं सपना देख रहा था। ये कैसे हो सकता है। मेरे अंगूठे पर तो अब भी खून जमा था। वो नेम प्लेट ओह। मो-निशा पी.

वो अब वहाँ पीने लगा है…शायद दो चार अन्ग्रेज़नों के साथ हमबिस्तर भी हो चुका है पर मैं आज भी उसे चाहती हूँ.

‘सोनू, अच्छा राजेश रात को कितनी बार करता है… एक बार या अधिक…?’‘वो जब मूड में आता है तो दो बार, नहीं तो एक बार!’ बड़े भोलेपन से उसने कहा. एक छोटी सी घुंडी निकलने को आतुर हो रही थी… और उसके नीचे था कुछ दो-ढाई इंच का चीरा…छोटे-मोटे झरने की तरह बहता हुआ…मैंने नेहा के दोनों नितम्ब थामे और उस घुंडी को कुरेदने लगा…नेहा लगभग उछल रही थी… और उसी सामंजस्य में उसके दोनों घटक उछल रहे थे… कुछ देर तक योनि-कलिका को कुरेदने के बाद मैंने जीभ को पूरा चौड़ा करके दरार पे फ़िरा सा दिया. मैंने हिम्मत कर के बात छेड़ दी- चाची ! चाचा की बर्थ-डे पार्टी में खूब मजा आया !!चाची ने कहा- बहुत दिन बाद घर में पार्टी का माहौल बना था … सभी ने खूब मज़ा किया !मैंने बात छेड़ी- चाची, आपने तो पार्टी के बाद भी खूब एन्जोय किया !चाची चौंक गई- क्या मतलब?मैंने सब देखा था ! चाचा के दोस्तों के साथ खूब मजे किए थे.

एक तरफ़ मैं, बीच में शालू और दूसरी तरफ़ अमिता!थोड़ी देर बाद मैं सोने का नाटक करने लगा और शालू अमिता की चूची से खेलने लगी और अमिता शालू की चूचियों से!शालू ने अमिता से कहा- यार, अगर लण्ड मिल गए तो मजा आ जाये!अमिता बोली- अपने भाई को पटा ले तो लण्ड मिल जायेगा. मैं तड़पने लगी लेकिन उसको इससे क्या!उसने तो धक्के मारने शुरू किये तो रुका ही नहीं! दे दनादन! दे दनादन!मेरी नाजुक कमसिन चूत की धज्जियाँ उड़ गई- फच फच फच फच से पूरा कमरा गूंज उठा. थोड़ी देर ऐसा करने के बाद मैंने उसकी साड़ी और पेटीकोट उतार दिया जिससे अब वो सिर्फ पैंटी में थी। उसका फिगर बढ़िया होने से पैंटी में बहुत सेक्सी लग रही थी.

रात को अमित का फ़ोन आया- कल का क्या प्रोग्राम है?मैंने कहा- कुछ नहीं! आप बताएँ!तो बोले- कल कॉलेज बंक करो, मैं भी ऑफिस नहीं जाता! मेरे घर आ जाना, दोनों मिलकर अच्छा सा खाना पकायेंगे, खायेंगे. प्लीज…लेकिन उसने हाथ नहीं छोड़ा…उसकी हालत देखकर मुझे लगा कि वो शायद ठीक से सो भी नहीं पाया है और कुछ परेशान भी है…फिर उसने धीरे धीरे अटक अटक कर बोलना शुरू किया- मैं कुछ दिन से बहुत… परेशान हूँ, ठीक से.

पर मेरे पति का लंड बहुत छोटा है सिर्फ 6 इंच का! न ज्यादा मोटा है न ही वो ज्यादा वक़्त चोद पाते हैं. प्रेषक : राज शर्माआज मैं आपको अपनी सच्ची कहानी सुनाने जा रहा हूँ कि मैंने कैसे पहली बार चुदाई की ! उम्मीद है आप सबको यह कहानी पसंद आएगी !तो दोस्तो, बात आज से पांच साल पहले की हैं जब मैं बी. तुम हो ना मेरे बॉय फ्रेंड… क्यों क्या नहीं हो?अँधेरा हो चुका था। मैंने अँधेरे में ही सोनिया का हाथ पकड़ा और अपनी तरफ खींचा तो सोनिया एकदम से मेरी बाहों में आ गई। मैंने सोनिया का चेहरा अपने हाथों में पकड़ कर अपनी तरफ किया और चूमने की कोशिश की तो सोनिया एकदम से मुझ से छुट कर भाग गई.

और उसकी चूत से खून निकलने लगा। वो दर्द से कराहने लगी पर आज मेरा लण्ड कहाँ रुकने वाला था, मैंने उसकी एक टांग कुर्सी पर रखी और एक टांग को अपने हाथ में रख के झटके पे झटके देने लगा। उधर गार्गी दर्द से उफ्फ्फ अहह उफ़ आह्ह मर गई … और धीरे से डालो.

वा कस कस कर धक्के लगाने लगा।मेरी लाडो से रस निकल कर मेरी फूलकुमारी (गाण्ड) को भिगोने लगा था. जब मैं स्नातकी में था तब मेरी दोस्त की बहन १२ कक्षा पास करने के बाद मेडिकल प्रवेशिका परीक्षा देने की तैयारी कर रही थी. बहरहाल पीछे के दरवाजे से कमरे में घुसा तो देखता हूँ कि नीना है ही नहीं और दोनों बच्चे सो रहे हैं.

मैंने दीदी की ब्रा का हुक खोल दिया और अपना मुँह दीदी के होंठो से हटा कर उनके चूचे चूसने लगा. आह्ह्ह की आवाज आने लगी जिसे सुनकर मैं बेकाबू हो गया और फिर मैंने अपने शेषनाग को बिल में प्रवेश कराया तो आवाज आई….

करीब 6-7 मिनट के बाद मैंने अनु का सर पकड़ कर उसकी स्पीड बढ़ा दी। अब मेरा हथियार अनु के गले तक जा रहा था। अनु की आँखे बाहर आने को तैयार हो गई।फिर मैंने उसे कहा- मेरा वीर्य छूटने वाला है. बहादुर का गोरा चिट्टा तन्दरूस्त गौरखा लण्ड का सुपारा हद से ज्यादा मोटा और लण्ड केले की शेप का था. यही ना?हालाँकि नीना ने मुझे इतना ही बताया कि विनोद को नीना के गर्भवती होने का डर सताता रहता था.

सनी लियॉन बफ सेक्सी

गोमती हंसती हुई बोली- मिल गया ना घोड़े जैसा लण्ड! अब चार चार से मजा लेना रात को दीदी!’‘ओहो… मन तो अभी कर रहा है, बात रात की कर रही है?’‘दीदी, बस देखते जाओ, रात की तो बात है सिर्फ़, देखो तो घोड़े का लण्ड खड़ा हो चुका है.

एक रात को एक बजे मेरे मोबाइल पर अमित अंकल का कॉल आया- क्या कर रही हो?मैंने कहा- सो रही थी!तो बोले- मनमीत, हमारी नींद उड़ाकर तुम सो रही हो?इसके बाद रोज़ रात को हम लोगों की बातचीत शुरू हो गई. जीजू मज़ा आआ रहाआआ रहाआ है… जीजू तुम चुदाई के भी मास्टर हो। (मेरे जीजाजी सरकारी स्कूल में अध्यापक हैं) क्या चोदते हो यार ! वास्तव तुम किसी को आनन्द दिला सकते हो। एक साथ दो को संतुष्ट कर सकते हो ऊऊउ …. आप कौन ?फिर वो ही बेहूदा सवाल ?देखिये मैं फोन बंद कर दूंगा ?तुम्हारे बाप का राज़ है क्या ? ओह सॉरी डियर ….

”हाँ अकेला ही है… ”फिर तो आज हम दोनों की जमेगी… ” राहुल ने अपनी व्हिस्की की बोतल उठा ली और कार में रख ली. इस बात पर मैंने हंसते हुए बारिश का कुछ पानी उनके मुँह पर फैंका तो उन्होंने भी बदला लेने के लिए ऐसा ही किया. हॉट वीडियो हिंदी सेक्सीमेरी स्पीड भी बढ़ रही है !मैं भी अंगुली तेज कर रही हूँ !हाँ मेरा पप्पू भी बहुत जोर लगा रहा है !क्या अभी पप्पू ही है ?हाँ अभी काला नहीं पड़ा है ना पप्पू ही है बिलकुल गोरा चिट्टा ?हाय राम कितना मोटा है ?कोई १.

अगले दिन मुझे तान्या के घर पहुँचने की जल्दी थी, शाम के करीब पाँच बजे मैं तान्या के घर पहुँच गया और सीधा तान्या के कमरे में घुस गया. !” अजय ने मेरी उत्सुकता को बढ़ाते हुए कहा।मैंने अजय के हाथ को दबाते हुए दुबारा जोर दे कर पूछा- प्लीज अजय, बताओ ना.

”तू नहीं और सही… पापा प्यार की मारी औरतें तो बहुत हैं…”चल छोड़!!! अब आराम कर ले… अभी तो उसे आने में एक घण्टा है…चल लाईट बंद कर दे!”एक बात कहूँ पापा, आपका बेटा तो मुझे घास ही नहीं डालता है… वो भी मेरे साथ ऐसे ही करता है!” कोमल ने दुखी मन से कहा. राजू ने रीटा की हड्डी पसली एक कर दी थी और उसकी जवानी को चारों खाने चित कर दिया था. उस दिन उसने गहरे नीले रंग की कसी जींस पहनी थी और गुलाबी रंग का कसा टॉप पहना था। क्या मस्त लग रही थी ! मुझे तो इच्छा हो रही थी अभी बाहों में लेकर चोदना शुरू कर दूँ.

उसने पूछा- कहाँ जाना है आपको?…बोदला!उसने अंदर आने का इशारा किया और मैं चुम्बक की तरह आगे वाली सीट पर बैठ गया. वो बोली- नहीं यार…तो मैंने कहा- शर्माओ मत फिर!हम लोग बात कर रहे थे पर उसकी नज़र मेरे लण्ड पर थी और मेरी नज़र उसकी उभरी हुई चूचियों पर…मन में चल रहा था कि कूद जाओ उस पर… पर मन काबू में किया हुआ था. अन्तर्वासना के पाठकों को एक बार फिर से मेरा प्यार और नमस्कार! काफी मित्रों के ढेरों संदेश मिले, आप लोगों को मेरी जीवन की कहानी इतनी अच्छी लगेगी, मैंने सोचा भी नहीं था.

भाभी के स्तन सच में स्वाति दीदी से भी बड़े थे, प्रिया भाभी के स्तन 36′ से कम नहीं थे.

क्यूँकि मेरी चूत की प्यास मेरे भाई ने बुझा दी थी…मैंने कहा- नहीं ! मुझे नहीं चुदवाना…उसने मुझे बेड पे पटक दिया और मेरे ऊपर लेट गया मेरे दोनों हाथों को अपने दोनों हाथों से कस के पकड़ लिया ताकि मैं हिल ना सकूँ और फ़िर मुझे किस करने लगा…. । सॉरी पर मैं क्या कह कर बुलाऊं ?मुझे सिर्फ नीरू या मैना कहो ?ठीक है नीरुजी… आई मीन मैनाजी ?सिर्फ मैना ?ठीक है मेरी मैना मेरी बुलबुल !मैं तुम्हारा इंतज़ार कर रही हूँ !पर वो.

पूरा कमरा आंटी की सिसकारियों से गूंज रहा था और वो सिसकारियाँ मुझे अच्छी लग रही थी. मैंने अपना दाहिना हाथ अपनी चूत पर फेरते हुए कहा- मुनिया रानी ( चूत का यह नाम कॉलेज की लड़कियों ने रखा था) कल तुझे लंड की प्राप्ति होने वाली है! तैयार हो जा!मैं सुबह थोड़ा जल्दी उठी, अपनी चूत के आस पास के अनचाहे बालों (झांटों) को साफ़ किया, अच्छे से नहा धोकर तैयार हुई, सुन्दर सा सूट पहना और मम्मी से ‘कॉलेज जा रही हूँ’ कहकर घर से निकल पड़ी. बाकी चार लोग पीछे ही रुके थे जो भागने वालों पर नज़र रखने के लिए थे।दरवाजे के करीब पहुँचते ही एक सिपाही ने जोर से पैर से धक्का मारकर दरवाजा खोल दिया और अंदर जाते ही सोनिया बोली- कोई चालाकी नहीं… जो जहाँ है वो वहीं खड़ा रहेगा… तुम को पुलिस ने चारों ओर से घेर लिया है !गुंडों ने उनकी एक नहीं सुनी और अपने हथियार निकालकर फायर शुरू कर दिया….

आँटी ने कहा- सागर, उस दिन कौन थी वो लड़की?तो मैंने कहा- कोई नहीं…आंटी बोली- अगर तुम मुझे नहीं बताओगे तो मैं तुम्हारी मम्मी को सब कुछ बता दूंगी. अब ये आ गये- क्यों जानू? कैसा लगा मेरे भाई के साथ सेक्स?मैंने कहा- मजा आ गया! पर अब तुम्हारा छोटा पड़ेगा!मैंने ऐसे ही मजाक में कहा था. बहादुर का लण्ड भी शहर की लौंडिया की चूत पाते बुरी तरह से मस्ता के अकड़ गया था और रीटा गांव के तन्दरूस्त ताकतवर और फौलादी लौड़े को पाकर निहाल हो उठी और उसकी चूत झनझना उठी.

व्हाट्सएप वीडियो बीएफ मैंने जब मना किया तो वो बोली- अगर मैं तुम्हें यह सब सिखा दूँ तो कैसा रहेगा?मैं उसकी बातें सुन कर कुछ भी नहीं बोल पा रहा था, बात घुमा कर मैंने उसे कोल्ड ड्रिंक के लिए पूछा तो वो बोली- जैसे मैं चाहूंगी, वैसे ही पिलानी पड़ेगी!मैंने हाँ कह दी. !” अजय ने मेरी उत्सुकता को बढ़ाते हुए कहा।मैंने अजय के हाथ को दबाते हुए दुबारा जोर दे कर पूछा- प्लीज अजय, बताओ ना.

मैडम सर सेक्सी वीडियो

आंटी बोली- रुको मुझे मूतना है !तो मूतिये आंटी जी ! यह तो मेरे लिए प्रसाद है, चूतामृत यानि बुर का अमृत !”आंटी खड़ी हो कर मूतने लगी, मैं झुक कर उनका मूत पीने लगा। मूत से मेरा चेहरा भीग गया था। उसके बाद आंटी की आज्ञा से मैंने उनकी योनि का स्वाद चखा। उनकी चिकनी चूत को पहले चाटने लगा और फिर जीभ से अंदर का नमकीन पानी पीने लगा. अगली रात को मैंने उससे कहा- चल कुछ सेक्स हो जाये!तो वो बोली- नहीं!मैं- क्यों? तू तो मुझसे प्यार करती है फिर क्यों नहीं?शालू- मैं गन्दा काम नहीं कर सकती. !!!यह सुन सभा में ख़ुशी से शोरगुल होने लगा, लोग ठहाके लगाने लगे, फबतियाँ कसने लगे, भीड़ में से आवाज़ आई- आज मज़ा आयेगा! मैं अभी घर से अशर्फ़ियाँ उठा लाता हूँ!मेरी तो हवा निकल रही थी कि अब जाने आगे मेरे साथ क्या होने वाला है, इससे पहले जो हुआ वो कम था क्या…!!!कि अचानक आवाज़ आई.

मैंने घर पर फोन करके बता दिया कि मैं एक और महीने तक जयपुर रुकूँगा और भाभी उसके बाद नौकरी छोड़ देंगी और हमेशा घर पर ही रहेंगी. ” दुल्हन बांहों में कसमसाई।ठन्डे बोला,”फिर वही बात, अगर कोई देखे तो अपनी माँ को मेरे पास भेज दे…. फुल सेक्सी ओपन एचडी”कोमल के और मेरे होंठ आपस में मिल गये… उमर का तकाजा था… मुझे थकान चढ़ गई और मैं सो गया.

मैंने पहले ही बताया था कि मुझे सेक्सी किताबें, खासकर मस्त राम की किताबों का बहुत शौक है.

और तो और वो समझेंगे भी नहीं कि यह सिर्फ दोस्ती है… और इससे ज्यादा कुछ नहीं…मैं इस बात से परेशान नहीं थी की घरवालों को पता चला तो क्या होगा. यह सुन कर मुझे शर्म आने लगी और मैं कमरे से बाहर आ गया और रोने लगा क्योंकि आज तक कभी मुझे कोई भी लड़की शादी लायक नहीं लगी थी और जब लगी तो वो भी मजाक निकला.

?उसने कहा- खेल कपड़ों अदला बदली का है।मैंने कहा- इसमें ऐसी क्या बात है? ठीक है, मैं तैयार हूँ।वो मुझे अपनी मम्मी के कमरे में ले गया। वहाँ मैंने अपने कपड़े उतरने शुरू किये. और ऐसे ही अपना लंड रानी की चूत में डाले-डाले सो गया…सुबह हुई तो पहले मेरी नींद खुली. मैंने सभी के लण्ड देखे, सारे तने हुए थे।शर्मा अंकल का नंबर पहला था, मैं उठी और शर्मा अंकल को नीचे लिटा कर उनके लण्ड पर अपनी चूत टिका दी और धीरे धीरे उस पर बैठने लगी.

वो मेरे पापा के सामने कम आते थे पर पापा के चले जाने के बाद अंकल एक न एक बार जरूर आते थे.

तब अचानक जीजू उठे और उन्होंने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और अपने होंठ मेरे होंठों से मिला दिए और उन्हें बेरहमी से चूसने लगे. जीजू के चेहरे पर कुटिल मुस्कान आ गई, वो बोले- ठीक है! मैं भी यह थोड़े ही चाहता हूँ कि मेरी साली को तकलीफ हो! तुझे अगर लौड़ा नहीं घुसवाना है तो मत घुसवा! तू इसे अपने मुँह में ले ले और इसे गन्ने की तरह चूस!मरती मैं क्या नहीं करती! मैंने जीजू का लौड़ा मुँह में भर लिया और उसे चूसने लगी. प्रेषिका : अंजलिमेरा नाम सुमित है 19 साल उम्र है। चुदाई का बहुत प्यासा रहने वाला लौंडा हूँ, देखने में भी अच्छा ही हूँ।यह बात उन दिनों की है जब मैं बी.

भाभी और देवर की सेक्सी वीडियो दिखाइएउसकी जीभ अब मेरे होंठों को भिगोने लगी थी… उसकी आँखों में अब भी शरारत थी… होंठों के रसपान के बाद वो मेरी गर्दन की ओर बढ़ गया. 5 इंच मोटा है, कसरती बदन है, रंग साफ और इंजीनियरिंग का छात्र हूँ।मैं आज आपके सामने अपनी पहली कहानी पेश करने जा रहा हूँ।बात उस समय की है जब मेरे बड़े भाई की नई-नई शादी हुई थी। जब मैंने भाभी को पहली बार देखा तो देखता ही रह गया। मेरी भाभी का फिगर 34-30-36 है। वो बहुत अधिक सेक्सी लगती हैं। मगर कभी कुछ करने की हिम्मत नहीं हुई.

इंडियन सेक्सी चुदाई की

वो वैसा ही गुमसुम बैठा घास की ओर देखे जा रहा था…मैंने उसका ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने की एक और कोशिश की…मैं : देखो वेदांत ! हाथ छोड़ के …!!!!बस मैंने इतना बोला ही था और एक झटके के साथ में झूले की उच्चतम छोर से नीचे गिर पड़ी…!!वो दौड़ा दौड़ा मेरे पास आया. ब्लाउज के दोनों पल्ले खोल कर मैंने देखा अन्दर काले रंग की ब्रा है, मैंने जल्दी से उसके स्तनों पर मेरे होंठ रखे और उसके उरोजों की गर्मी महसूस की… आह्ह. इतने में हम दोनों ही झड़ गये… वो मुझे चिपक कर सो गया…मैंने कहा- अब तुम्हारा काम करो…वो बोला- नहीं हम और चुदाई करेंगे…मैंने उसे समझाया- देखो भोला, तुम बहुत अच्छा चोदते हो ! अब मैं तुम से रोज चुदवाउंगी… तुझसे गान्ड भी मरवाउंगी…वो बोला- हमारे दो दोस्त हैं, उनको भी आप मजा दोगी….

!!तीन दिन बाद उससे बस में मिली… वो बेहद शांत, चुपचाप था… मैंने उसका ध्यान दूसरी ओर करने की कोशिश की. उसकी चूत मोटी और कसी थी और वो पूरे जोश में थी- सेक्स के चरम पर।मैंने ऊँगली करना जारी रखा, वो जोर जोर से उचक रही थी और धीरे धीरे बोल रही थी- फक मी फक मी …इतने में मुझे अहसास हुआ कि कुछ गीला गीला. मैं कैसे कह सकता हूँ?तो वो बोली- अभी तो तुम मेरी पेंटी देख रहे थे और अब इतना भी नहीं बता सकते?आप शीघ्र ही इस कहानी का अगला भाग पढ़ पाएँगे.

तुम पहले मर्द हो जिसने मेरे पीछे वाले में अपना ये मोटा वाला पूरा अन्दर डाला।’‘मेरी रानी रागिनी, मैं खुश ही नहीं खुशकिस्मत हूँ जो तुम्हारी लाजवाब चूत और मस्त गांड में मेरे लंड को जगह मिली।’उसके बाद करीब एक घंटा हम दोनों वैसे ही नंगे पड़े रहे. ’ कहते हुए वो उठने लगी।मैंने उसके कान में फुसफुसाते हुए कहा- नहीं रागिनी मुझे मत रोको प्लीज़. अन्दर आते ही उसने कूप अन्दर से लाक कर लिया और मेरे करीब आ कर मुझे अपनी सुडौल बाँहों में भरता हुआ बोला- आओ.

और मैं टॉप को थोड़ा सा ऊपर कर पेट पर हाथ फ़िरा रहा हूँ ! अब धीरे धीरे ऊपर करके बूब्स को अपने हाथों से ढक लिया है ! होंठों से गले को लगातार किस कर रहा हूँ…. जितनी ज़ल्दी मुझे थी उतनी ही उसे भी थी इसीलिए वो भी पाँच-सात मिनट में ही वापस आ गया.

मुकेश ने मेरे एक बोबे को अपने मुँह में दबा लिया और उसे चूसने लगा, दूसरे बोबे को उसने हाथ से पकड़ लिया और उसे मसलने लगा.

एक शुक्रवार की बात है, घर पर भी मेरे अलावा कोई नहीं था, भाभी ऑफिस से जल्दी घर आ गई और बिना कपड़े बदले ही मुझे पढ़ाने लग गई ताकि मेरी पढ़ाई का नुक्सान ना हो क्योंकि अगले दिन हम सबका पिकनिक पर जाने की योजना थी मगर उस दिन मेरा ध्यान पढ़ाई की जगह भाभी के चूचे देखने में ज्यादा था क्यूंकि भाभी ने शर्ट पहनी थी और उसमें से उनके चूचो का आकार साफ़ दिखाई दे रहा था. मराठी मराठी सेक्सी वीडियो मराठीगन्दा लगता है !रोहित : वाह चटवाने में गन्दा नहीं लगा ? अब चूसने में गन्दा लगता है ? … चूसोमुझे रोहित का यह बर्ताव ठीक नहीं लगा ! वो जबरदस्ती सी कर रहा था !उसने मेरे मुँह में अपना लण्ड डाला, मेरे बालों को पकड़ा और चुसवाने लगा !मेरी आँखों से आंसू निकल आए. सेक्सी वीडियो चाची भतीजाक्या लग रही थी साली! क्या चूत थी कुतिया की!फिर मैं ऊपर हुआ और अपना लौड़ा जबरदस्ती उसके मुंह में दे दिया और उसकी हलक में उतार दिया और 5 सेकिंड तक लौड़ा उसके हलक में ही रखा. उसका गुस्सा शांत हुआ तो उसने भाषण देना शुरू कर दिया,”क्या कर रही थी? कैसे गिर गई?”मैं : तू सुन ही नहीं रहा था !!!वेदांत : हाँ कभी पीछे से आवाज़ दोगी और अगर कभी गलती से नहीं सुना.

मैं सिर्फ चाहती थी कि वो अपने दिल की बात बस कह दे ताकि उसके दिल में चुभती सी हुई कोई भी बात उसे और परेशान न करे…वो बस में मेरे साथ ही बैठा था.

5 इंच लम्बा है और बहुत मोटा है।मेरी चाची की उमर 31 साल है, नाम अनीता(बदला हुआ), ऊँचाई 5 फीट 5 इंच, वक्ष का आकार 38 लगभग, 38-29-38. फिर मैंने सोनम से कहा- मैं उसके साथ शादी से पहले सुहागरात की प्रेक्टिस करना चाहता हूँ!यह सुनकर सोनम हंस दी, कुछ नहीं बोली और आकर मेरे पैर छूने लगी. 30 बजे अनारकली चुपचाप बिना कॉल बेल दबाये अन्दर आ गई और दरवाजा बंद कर दिया। मैं तो ड्राइंग रूम में उसका इन्तजार ही कर रहा था। एक भीनी सी कुंवारी खुशबू से सारा ड्राइंग रूम भर उठा।उसके आते ही मैं दौड़ कर उससे लिपट गया और दो तीन चुम्बन उसके गालों होंठो पर तड़ा तड़ ले लिए। वो घबराई सी मुझे बस देखती ही रह गई।‘ओह.

मुकेश अब तेजी से मेरे होंठों को तो चूस ही रहा था साथ ही वो दोनों चूचों को भी कसकर दबा रहा था. मगर भाभी ने मुझे भरोसा दिलाया कि वो दोनों शर्तें मानेगी और मेरी शादी सोनम से ही कराएगी. साले सब के सब हवस खोर होते हैं। यहाँ एक अच्छा है कि जिसे भी इच्छा होती है चला आता है, पैसे देकर चोद कर चला जाता है। कोई नौटंकी नहीं। थोड़ी देर तू अकेली इस कमरे में बैठ कर देख कैसे कैसे लोग आते हैं.

हिंदी की सेक्सी फिल्म दिखाओ

०० बजे :हेल्लो !हाय मैं बोल रही हूँ !हेल्लो मधु ?बिल्ली को तो ख़्वाबों में भी बस छिछडे ही नज़र आते हैं ?क… कौन ??ओह लोल… भूल गए क्या ? मैं तुम्हारी नई मैना बोल रही हूँ !ओह. अलीशा! मुझे दे दो न अपनी हसीन सी चूत!ले मेरी जान! मेरे प्यार! और मैंने घूम कर अपनी चूत उसकी तरफ़ की तो कामिनी ने मेरे नरम चूतड़ पकड़ कर नीचे किये और मेरी चूत पर होंठ रखे तो मैं कांप गई- आह. मुझे नहीं मालूम था कि लण्ड का रोग लग जाने के बाद मेरी चूत चुदाने के लिये इतनी मचलेगी.

नहीं मैम आप उसे यहीं बुला लो यहाँ आपके सामने ही, बल्कि आप ही कह दो सारी बात !लो यह काम अगर मै करुँगी तो बाकी काम भी मै ही कर लूंगी उसके साथ!मैम!अच्छा बुलाती हूँ! यह कह कर मैंने रोहित को आवाज लगा कर बुलाया.

अपनी स्पीड मैंने बढ़ा दी थी … उससे बहुत मज़ा आ रहा था … बीस मिनट के बाद वो झड़ी और उसके बाद मैं भी झड़ गया.

मैंने उसके गले और छाती पर चूमना शुरु कर दिया और मेरा हाथ उसकी स्कर्ट के अंदर जाने लगा. वो कुछ देर तक वैसे ही बैठी रही और फिर अचानक मेरी हाथ को खींच के अपने नन्हे बोबों पे रख दिया. सेक्सी ब्लू पिक्चर छोडा छोड़ीमैंने उसके नर्म-नर्म होंठों को चूमना शुरू किया। यह मेरे ज़िन्दगी का सबसे यादगार चुम्बन था…….

अचानक जब मैं कमरे में आया तो मैंने देखा कि अंकल मम्मी के ब्लाऊज़ के अन्दर कुछ देख रहे हैं और मम्मी अपनी आंखे बंद कर उन्हें कुछ दिखा रही है. अब ये आ गये- क्यों जानू? कैसा लगा मेरे भाई के साथ सेक्स?मैंने कहा- मजा आ गया! पर अब तुम्हारा छोटा पड़ेगा!मैंने ऐसे ही मजाक में कहा था. इसीलिए समझे मेरे प्यारे अन्नू !मैंने कहा- ठीक है ! मैं तुम्हारा इंतज़ार करूँगा !फिर हम दोनों ने एक दूसरे से लव यू ! लव यू ! कहा, फोन पर एक दूसरे को चूमा भी, और फोन रख दिया !फोन रखने के बाद मेरे दिमाग में दूसरे दिन के लिये कुछ शरारतें घूमने लगी.

हाय … उसने नीचे चोली नहीं पहनी थी इसलिए कमीज उतारते ही उसके स्तन उछल कर सीधे मेरे हाथ में आ गए और मैंने दोनों को कस कर पकड़ लिया और जोर-जोर से दबाने लगा. मनीषा ने कमरे का दरवाजा अंदर से बंद किया और मेरे बिस्तर पर आकर बैठ गई और हम दोनों बैठ कर बातें करने लगे.

कपड़े उतारते ही मेरा तो हाल-बेहाल हो गया… चोट कहीं दिख नहीं रही थी और खून था कि बहे जा रहा था, बहे जा रहा था… टोयलेट पेपर से जहाँ तक हो सका साफ़ करती रही…पर टोयलेट पेपर भी ख़त्म हो गया… इतने में कुछ बड़ी क्लास की लड़कियाँ वहाँ आईं.

फिर उसके साथ सेक्स बहुत बार हुआ और वो मेरे जीवन से मस्त जुड़ गई और उसने अपना जिस्म मेरे सिवा आज तक किसी और को नहीं दिया. आधे घण्टे तक चली होगी यह चुदाई और अकेले अमित ही मेरी नीना की चूत गर्मी शान्त करता रहा. मेरा लंड प्रचंड हो चुका था… पूरा लोहे का गरम रॉड… असाधारण और अनियंत्रित। मुट्ठ मारने की तीव्र इच्छा हो रही थी.

चोदने वाली सेक्सी वीडियो 2020 मुझे तो डॉगी वाला स्टाइल पसंद है !”हाई मैं मर जावां !” और उसने मेरे गालों को चूम लिया।गुड … मेरा भी पसंदीदा आसन यही है !”क्या तुम पहले से ही … मेरा मतलब. औरऽऽ और ऽऽ जैसी आवाजें निकाल रही थी। मैंने और जोर लगाया और पूरा लंड अन्दर डाल दिया, वो चीखी लेकिन उन्होंने मुझे नहीं रोका। मैंने अब अंदर-बाहर, अंदर-बाहर करना शुरू किया।मैंने उन्हें 20-25 मिनट चोदा, मेरा वीर्य निकल आया और मैडम का भी.

कि कराहट से मेरा मुँह खुल गया है…तभी राजा मेरे ऊपर आया और मेरे होंठो को उसने अपने मुँह में भर लिया, काटने-खसोटने लगा…तभी पहलवान झड़ने लगा और उसने सारा रास मेरी गाण्ड में ही छोड़ दिया…उसका लण्ड छोटा होकर मेरी गाण्ड से बाहर आ गया. कांईं जात हो…?”मैंने उसे बताया तो वो हंस पड़ी, मुझे ऊपर से नीचे तक देखा, फिर वो बिना कुछ कहे भीतर चली गई. अमित को नंगा होते देख नीना मुझे प्यार से डांट पिलाने लगी और बोली- और तुम अपने लौड़े का अचार डालोगे क्या?बस सिग्नल मिलने की ही तो देरी थी.

सेक्सी फोटो सेक्सी फोटो वाली

शशांक : मैं वहीं हूँ तुम्हारे पास……अब मैंने तुम्हारे पीछे जा कर हग कर लिया है…और अब मैं तुम्हारे कान की लटकन को चूस रहा हूँ…. लगभग दो मिनट तक राजू दर्द से बिलबिलाती और करहाती रीटा को बाहों में दबाये उसकी चूत की कसावट, गर्मी और नर्मी का मजा लेता यूँ ही पड़ा रहा. तब तक तुम दोनों आपस में मस्ती करो…फिर दोनों बहनें आपस में एक दूसरे की चूत में हाथ डालने लगी…मैं पाँच मिनट बाद फिर से चोदने आ गया … फिर भाभी को झड़वा कर मीनाक्षी को मस्त चुदाई की.

मैंने अपने लौड़े पर क्रीम लगाई और कहा- सोना, घोड़ी बन जाओ… क्रीम लगा दूँ!’ सोनू मुस्करा कर झुक गई. वो शरमा गई और मैं उसके कपड़े उतारने लगा, उसका विरोध न के बराबर था पर उसने पेंटी और ब्रा नहीं उतारने दी और मैंने पेंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को चूमना चालू कर दिया.

वो रोती ही रही फिर उसे भी मजा आने लगा और वो अपने हाथ मेरी पीठ पर चलाने लगी और बोलने लगी- फाड़ दे मेरी चूत को! भोंसड़ी के! बड़ा तड़पाया है इस चूत ने आज तक! आ… आह्ह्ह ओह्ह्ह… मजे आ गया.

मैं अपने मम्मी-पापा और अपनी बड़ी बहन के साथ कोलकाता में एक किराये के मकान में रहता था. देवर ने पति से झूट बोला कि वो देवरानी के लिये बाजार से कुछ कपड़े खरीद कर दोपहर को निकल जायेगा. ”मेरी रीता… मसल डाल मेरी चुंचियां… जोर से… अ आ अह ह्ह्ह ह्ह्ह हह… ”उधर साहिल राहुल की गांड चोद रहा था.

रीटा ने शर्ट के अंदर कुछ भी नहीं पहन रखा था और उस नवयौवना की आवारा रसभरी छातियों की गोलाइयाँ व कटाव सरेआम नुमाया हो रही थी. उसकी आँखों में फिर से वही ज्वालामुखी सा गुस्सा उबाल मारने लगा…मैं : तू टेंशन मत ले ! शांत हो जा. उसके हटने के बाद मैं जैसे ही खड़ी हुई, मेरी चूत से पतला पानी जैसा उसका वीर्य टपकने लगा जिसे मैंने अपने पेटिकोट से पोंछा और उसको उसके कमरे में भेजते हुये उसको याद दिलाया कि वो फ़िर दुबारा ऐसा करने की कोशिश नहीं करेगा और किसी से इस बात का जिक्र नहीं करेगा.

रात को ही मेरे कमरे में आना !मैं अपने कमरे में चला आया और रात के ख्वाबों में डूब गया।शेष कहानी तीसरे भाग में !.

व्हाट्सएप वीडियो बीएफ: उनकी टांगों, फिर जांघों को चूमते-चूमते मैंने उनकी स्कर्ट पूरी ऊपर कर दी और अपनी उंगली उनकी पेंटी में डाल कर उसको एक तरफ़ करके पहली बार उनकी चूत के दर्शन किये. दो चार दिन में ही उनकी बातें सुन सुनकर मुझे यह एहसास हो गया कि मैं कितने पिछड़े क़िस्म के स्कूल से पढ़ कर आई हूँ.

सुन्दर रीटा मस्ती में आकर सीऽऽ सीऽऽ सिस्कारें मारती और उसी अंगड़ाती पोज़ में अपनी कमर को आगे पीछे करने लगी, तो बहादुर का लण्ड के मुँह से लार टपक पड़ी. ”मैंने देखा कि इतनी गर्म चूत तो दोनों बहनों की भी नहीं थी !छोटी छोटी झांटें हाथ में चुभ रही थी और एक मोटा सा दाना भी स्पर्श हो रहा था, मैंने कहा, पारुल जान, यह क्या है?”वो बोली,”यही तो सबसे बड़ी क़यामत है …. यही कारण ही है कि कोई भी जीजू सबसे पहले अपनी साली को चोदने की कोशिशों में लगा रहता है.

वो भी फिर से मस्ती में आने लगी और कहने लगी- बहुत मजा आ रहा है और जोर से चूस… काट कर खा जा बस!मैंने उसके कहने के साथ ही उसके निप्प्ल को हल्के से काट लिया.

दस मिनट बाद मेरा लण्ड फिर से खड़ा हो गया तो मैं बोला- इस बार भी मुँह में निकालने का इरादा है?तो वो शरमा कर बोली- नहीं! इस बार मैं तुम्हें जन्नत की सैर करवाऊँगी!और उसने मेरे पूरे बदन को अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया. आज मेरी मुराद पूरी हो गई… ऊह् ऊओह् मेरा होने वालाआ है! और ज़ोर से!मैं उनके पूरे बदन को चूम रहा था, काट रहा था. राहुल ने आते ही पूछा – कामिनी चली गयी क्या… ”कामिनी की बड़ी चिंता है… कुछ गड़बड़ है क्या ?”नहीं है तो नही… पर तुम गड़बड़ करा दो न… ”तुम्ही डरते हो… वो तो बेचारी तुम पर मरती है… ”फिर उसे आने दो… इस बार तो पटा ही लूँगा उसे.