मोती बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,मारवाड़ी लड़की सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स बीएफ चुदाई: मोती बीएफ वीडियो, उसने भी अन्दर कुछ नहीं पहना था यानि आज वो भी पूरे मन से चुदने के लिए मूड बना कर आई थी.

तमिल सेक्स मूवीस

मैंने अपनी जीन्स की पैंट की जेब से रुमाल बाहर निकाला और उसकी चूत के साथ-साथ अपने लंड को भी साफ कर दिया. सेक्सी नवीन व्हिडिओवैसे हमारे बीच बातें तो होती थीं … लेकिन मैंने कभी उससे कभी सेक्सी बातें नहीं की थीं.

इसी दौरान मैंने बातों बातों में भाभी से पूछ लिया- आज रात को कहां सोओगी?इस पर माया ने कहा- क्यों क्या इरादा है?अब मेरे दिमाग भी अच्छी तरह आ गया कि ये भी लंड लेने की फ़िराक में है. जनवरी 2022 में करवा चौथ का व्रत कब हैमैंने एक दस का नोट और निकाला और उसे दिया और किचन में से शहद लेकर आया और उसे अच्छे से अपने लंड पर चुपड़ लिया.

घर आकर मैंने डोरबेल बजाई तो मेरी प्रियतमा राशि मुस्कराती हुई दरवाजा खोलकर मुझे अंदर खींचने लगी.मोती बीएफ वीडियो: मैं ये नहीं समझ पा रहा था कि ये साली सच में ही इतनी टाइट चूत लेकर बैठी है या बेवजह नाटक कर रही है.

अब तो ऐसा मन कर रहा था कि चाहे जो हो जाए, आज तो इसकी चूत को चोद ही दूँ.मैं आगे की तरफ आकर धर्मशाला की तरफ ये सोचते-सोचते बढ़ गया कि चलो चाची का काम आज रात को ही कर देते हैं.

पुराना गोल्डन रिजल्ट - मोती बीएफ वीडियो

दस मिनट तक चुत चूसने के बाद मैंने उसे अपने लंड को मुँह में लेने को कहा पर उसने मना कर दिया.आख़िर में मैंने भी लास्ट झटके मार के नफीसा की चुत में माल निकाल दिया.

फिरर वैसे ही उठा के मुझे पलंग पर पटक दिया और कूद के वो भी पलंग में आ गया. मोती बीएफ वीडियो जब तक मैं उनके मायके के घर पर रहा, मैंने उनको बहुत बार चोदा और उनको अपनी चुदाई से संतुष्ट किया और उसके बाद मैंने उनको कई बार अपने घर पर भी चोदा और बहुत मज़े किए.

मेरे हाथ पर हाथ रखते हुए बोली- मैं कहां दूध और मलाई देने से मना कर रही हूँ.

मोती बीएफ वीडियो?

मैंने टॉवल नीचे गिरा दी और बोला- साली साहिबा, अब मुझे चड्डी भी पहना दो!ऋतु ने अपने हाथ से चड्डी पहना दी और हाथ अंदर डालकर मेरे लंड को एडजस्ट कर दिया. इसके बाद अंकल और मैं बाथरूम में जाकर फ्रेश हुए और मैं अपने घर चला गया. अच्छा, गुड़िया तेरा नाम तो बता क्या है?” अंकल जी ने मेरे सिर पर प्यार से हाथ फेरते हुए पूछा.

” अधमुंदी आँखों वाली यूनानी मूर्ती के तराशे हुए होंठों ने मेरे कानों के करीब सरगोशी सी की. जब वो अपनी गांड मटकाकर चलती थी, तो बस मैं दिल में ये ही सोचता कि इसकी लम्बी गांड जब नंगी होगी, तब कैसी लगेगी. मामी की सीत्कार बढ़ने लगी तो मैंने मामी को बोल दिया- मामी अब तो उठ जाओ, मेरी चुदासी मामी.

किसी लड़की की सबसे बड़ी कमजोरी को उसका सबसे अच्छा बता देना लड़की को भावनात्मक रूप से आपसे जोड़ देता है और हर लड़की अपनी तारीफ सुनना पसंद करती है. बाकी परिवार वाले भी होंगे वहां पर, कुछ लेन-देन या रीति-रिवाज की बातें हो रही होंगी शायद!मैंने वापस फोन पर बात करते हुए इन्दु से कहा- ओहो … तो ये बात है, लेकिन यार, जब तुम मिलती हो तो कुछ करने नहीं देती. अब में सिर्फ एक निक्कर में रह गया था जिसमें से मेरा लंड नब्बे डिग्री पर अपनी उत्तेजना से उन तीनों चुदासियों की चूतों में चीटियां रेंगा रहा था.

फिर मैंने धीरज से फोन कर कुछ इधर उधर की बात करके कहा- तुम्हारे लिए एक सरपराइज़ है. इसी के साथ मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और जोर जोर से चूसने लगा.

इधर हमें ये सब करते काफी समय हो चुका था, पर वक़्त की परवाह किसे थी.

मैं- रुक … फिर तुझे और मजा देता हूं … तू बिस्तर पर टांगें फैला कर लेट जा.

सेक्स ना होने की वजह से तुम्हारे शरीर में गर्मी बढ़ गयी है, इसलिए कभी कभी ऐसा हो जाता है. खूब चाटा, चाट चाट के बौरा गया और लौड़ा तो किसी मस्त हिरण की भांति कुलांचें भर भर के बार बार पेट में टक्कर मारने लगा. इसलिये अधिकतर समय स्टॉफ रूम खाली ही रहता था और मेरी किस्मत शायद थोड़ी अच्छी थी कि जब मेरा खाली पीरियड होता, तो उसी समय उसकी भी कोई क्लास नहीं होती थी.

मैं गाड़ी को पार्क करके भाभी को चाबी देकर जाने लगा तो भाभी ने मुझे उनके साथ कुछ वक्त रुकने के लिए बोल दिया. दरवाजे पर पहुंचते ही भाभी ने सेनेटाइजर निकाला और खुद को, मुझको और साथ लाए हुए सामान को सेनेटाइज किया. बीच में मैं था और मेरी दोनों बगलों में एक तरफ श्वेता थी तो दूसरी तरफ शुभी थी.

मैंने पूजा को अपनी तरफ खींच कर उसके होंठ अपने होंठों में दबा लिए और चूसने लगा.

मैं- फिर से शुरू करें?कल्पना ने कुछ बोला नहीं, सिर्फ सहमति में सर हिलाया. उन दोनों की धकापेल जारी थी और ताऊ ताई के सामने हाथ जोड़ रहे थे कि मेरे हथियार को मत उखाड़ देना. उसे गोदी में उठाकर मैं बेडरूम में ले गया और उसे बिस्तर पर बिठा दिया.

थोड़ी देर में मौसी भी बरामदे में आ गईं, पर अब वो मुझसे नज़रें नहीं मिला रही थीं. फिर अंकल ने कहा- बेटा आप क्या करते हो?मैंने कहा- अंकल, मैं अभी सरकारी जॉब के लिए तैयारी कर रहा हूँ. उसकी बुर अभी भी टाईट थी, जिसके कारण रूपा फिर से बोलने लगी- दर्द हो रहा है भैया, प्लीज़ धीरे धीरे से चोदो.

उसने धीरे से कान में कहा- जुल्फी तुम्हारा टाइट हो गया ना?मैं भाभी की बात पर शर्मा गया, मैंने कहा- हां.

उसके बाद एलेक्स अब मेरे तने हुए चूचों के पास आ गया और जॉन मेरी चूत के पास चला गया. मैंने प्रश्नवाचक दृष्टि से उन्हें देखा कि क्या हुआ?बेटा तेरी चूत बहुत पानी छोड़ रही है; जरा पौंछ लूं … फिर चोदता हूं तुझे!” अंकल जी बोले और नैपकिन से मेरी चूत अच्छे से पोंछ डाली और अपना लण्ड भी पौंछ कर सुखा लिया.

मोती बीएफ वीडियो मैंने उसकी चूचियों को देख कर होंठों पर जीभ फिराई और कहा- तुम कहो तो तुम्हारा भी पेट फुला दूँ. मैं एक सुंदर शरीर का मालिक हूँ और दूसरों की तरह मुझसे झूठ बोला नहीं जाता है कि मेरे लंड का साइज बारह इंच का है या इससे भी बड़ा है.

मोती बीएफ वीडियो इस इन्सेस्ट कहानी के पहले भागतलाकशुदा माँ की अगन-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी माँ और भी को सेक्स करते पकड़ा. मैंने उसकी तरफ देखा तो मेरे हाथ में नई घड़ी देख कर बोली- बहुत अच्छा गिफ्ट है, तू बहुत लकी है बंध्या.

लंड का सुपारा चूत की फांकों में जैसे ही सैट हुआ, मैंने जोर से धक्का दे दिया.

9/11 अमेरिका हमला

उस वक्त मैंने एक छोटी सी क्रीम कलर की नाईटी पहनी थी, अंदर कुछ भी नहीं!नौकर मुझे बहुत गौर से घूर रहा था. तब तक आप लोगों के मेल का इंतजार रहेगा, जिसके जरिये आप मुझे अपने विचार भेज सकते हैं. न तो मुझे कोई अदाएं या इशारे करना आते थे और न ही कुछ और अगर थोड़ा बहुत कुछ पता भी था तो वो सब करना मेरे लिए असम्भव सा था.

मैं अपने पति का चूत रस से लिपटा हुआ लंड पूरा अपने मुँह में लेकर चूसने लगी थी. उंगली करने के साथ ही अपने गोल-मटोल चूचे भी एक हाथ से दबाये जा रही थी. उसने मेरी लोअर को नीचे सरका दिया और मेरे अंडरवियर में तने हुए मेरे लंड को चूमने लगी.

वो सिसकारी लेने लगी- आहह अंकल बहुत मजा आ रहा है … और जोर से चाटिए न.

तभी उन्होंने मेरे हाथ अपने हाथ से कस कर पकड़ लिया और नीचे जाने से रोक दिया. ऊषा के मुंह से मुझे मेरे ही पति की चुदाई की तारीफ सुन कर बड़ा मजा आ रहा था. मैं वैसे तो काफी रईस परिवार से हूँ लेकिन पढ़ाई के लिए मुम्बई में किराये के मकान में रहता हूं.

तो उसने कहा- देखो ज़ुल्फी, मैं सिर्फ़ बात समझाना चाहती हूँ, तुम ग़लत मत समझो. औरत को किस तरह से चुदाई करके खुश करना है, वो मुझे अच्छी तरह से पता है. शीतल भाभी की चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी, इस पर आप मुझे जरूर अपनी राय दें.

मैंने रवि से कहा कि मैं सुषी को अपने घर ले जाता हूँ नहीं तो ये दोनों फिर से लड़ाई शुरू कर देंगी. उधर भाभी गईं और मैं सीधा बाथरूम में जा के अपने हाथ से अपना लंड हिला के शांत हो गया.

मैंने धक्का देते हुए कहा कि यह कैसे हुआ … तुम्हें किसने चोदा?उसने मुझसे कहा- मैं पहली बार तुमसे चुद रही हूँ … चूत में मैं कभी कभी डिल्डो डालकर अपनी गर्मी शांत कर लेती थी. पहले तो मैं अपने हाथों से अपने पति का लंड और नीचे झूलते अंडों को हाथों से सहलाने लगी. कभी अपना लंड पूरा बाहर निकालकर फिर से एक ही धक्के में अपना पूरा लंड चुत में घुसा देता था.

इस लहंगा गिरने वाले हादसे पर क्षण भर के लिए वसुंधरा ने अपनी आँखें खोली और मेरी आँखें अपने तन के निचले भाग (जोकि करीब-करीब निर्वस्त्र था) पर जमी पाकर फ़ौरन दोबारा बंद कर ली और जल्दी से मेरी तरफ़ पीठ कर ली.

मैंने रूपाली से पूछा- तुम ब्रा नहीं पहनती हो?उसने कहा- तुम आने वाले थे, तो नहीं पहनी. इसके लिए तुम्हारा बहुत शुक्रिया … तुम जो कहोगी वह मैं करने तो तैयार हूँपारो बोली- आमिर, तुम तो जबरदस्त चोदू हो, तुम्हारी चुदाई देख कर ही मैं कई बार झड़ गयी. मैं अपने घुटने उसकी जांघों से लगा कर, अपना हाथ उसकी जांघों पर फेरने लगा.

चाची ने भी एक स्लीबलैस मैक्सी पहनी हुई थी, जो पानी से थोड़ी भीग गई थी. आह कुत्ते … मादरचोद भोसड़ी वाले … भड़वे चोद न अपनी रण्डी को! बहुत प्यासी है ये कुतिया! वो हिंजड़ा पंकज प्यास बुझा ही नहीं पाता है मेरी!” उत्तेजना में वो कुछ भी बोल रही थी.

मैंने कहा- नहीं, उससे पहले तुमको भी वैसे ही करना पड़ेगा जैसे मैंने किया. कुछ देर बाद पूजा बोली- मुझे तुम्हारा लंड अपनी गांड में लेकर तुम्हारे ऊपर बैठना है. इसलिए कपड़े भी छोटे पहनती थी पर प्रोड्यूसर और डायरेक्टर को वो ज्यादा हॉट नहीं लगी.

करिना कपुर नंगे फोटो

मैं महसूस कर रहा था कि वे अपने स्वेटर के ऊपर से अपने मम्मों को मसलने लगी थीं.

मुझे देख कर उन्होंने एक तौलिया लपेट ली और बोलीं- मैं तुम्हारे भाईजान से बोल दूंगी कि तुम मेरे साथ गलत कर रहे थे. जब उसकी तरफ से कोई हरकत नहीं हुई तो मैंने उसके चूचों को और जोर से दबाना शुरू कर दिया. मैं- अरे मेरी रानी वो सुसु नहीं था … जब तुझे बहुत मजा आया था, तेरा भी तो नीचे से निकला था, जिसे मैंने चाट लिया था.

मार्केट पहुंच कर भाभी ने सारा सामान ले लिया और थोड़ा बहुत चाट पकौड़ी खा पीकर हम घर के लिए वापस निकल पड़े. बड़ी उम्र की औरत की चूत की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी ताई जी को अपने ताऊ जी के लंड से चुदाई कराते देखा. सेक्सी हिंदी राजस्थानमैंने चुपके से उसकी चूत पर लंड को लगा दिया और उसको बांहों में भर लिया.

जब भी वो अपना लंड मेरी चूत में डालेगा तो उसको लगेगा कि वो किसी दूसरे की चुदी हुई चूत को ही चोद रहा है. मुझे देखते ही वो फिर से हड़बड़ा गयी थीं और पास में रखा टॉवल उठा कर खुद को ढक लिया था और गुस्से में बोलने लगी- यहां क्या करने आया? और आने से पहले दरवाजा नॉक करके अन्दर आना चाहिए था ना!मैं उनकी पैंटी की तरफ इशारा करते हुए बोला- सॉरी मौसी, पर मुझे नहीं मालूम था कि आप रूम में ये करने आई थीं.

मौसी ने हमारी फ़ैमिली को भी बुलाया था, पर मैं अकेला ही मौसी के घर चला गया. मैं अपना हाथ बढ़ाकर मामी की चूत के पास ले गयी जिसे मामी ने आज ही शेव किया था. कल्पना- आज तो मेरी सच में सुहागरात हो गयी … तुमने तो आज मुझे अपना दीवाना बना दिया … क्या क्या और कैसे कैसे करते हो तुम ये सब?मैं- कल्पना जी, यही तो मेरा काम है, अगर बाकी मर्दों जैसा हम भी करने लगें, कि बस आए, डाले, हिलाये अपना पानी निकल गया बस … सामने वाला पूरी तरह से सैटिस्फाइड हुआ या नहीं … इससे मतलब नहीं रखेंगे, तो हमे पूछेगा ही कौन.

वह भी नीचे से पूरा नंगा था और उसका कड़क लण्ड मेरी चूत पर ठोकर मार रहा था. मेरे मन में एक ओर आंटी के दूध देखने की खुशी थी तो दूसरी ओर थोड़ा डर भी लग रहा था कि कहीं आंटी मेरा खड़ा लंड देख कर मुझे डांटने ना लगें. खाना खाते हुए उसने पूछा- सुबह तुम मुझे इस तरह क्यों देख रहे थे?तो मैंने भी बोल दिया- तुम लग ही इतनी सेक्सी रही थी, मैं तो क्या कोई भी खो जाता.

कॉफी लेकर बाहर आने ही वाला था कि राशि भी किचन में आ गई और उसने पीछे से मेरी पीठ पर अपने नर्म होंठों का चुम्बन देते हुए मुझे बांहों में भर लिया.

विशाल घर आ गये हैं और मैंने तुम्हारे लिये बात की थी कि तुम जॉब बदलना चाहते हो. फिर उसने एक ड्रेस ली और हम खाना खाने के लिए मॉल के फ़ूड कोर्ट में आ गए.

उन्होंने अपने मकान की पूरी देखरेख की जिम्मेदारी मुझे देखने को दी और चले गए. पहले गले पर, फिर और भी नीचे और फिर उसकी उभरी हुई छाती पर चूमने लगा. उन्होंने घुटनों के बल बूथ कर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं.

फिर मैं चाय नाश्ता करने के बाद जाने लगा, तो वो रोने लगी और मुझे जोर से किस किया. मौसी की चूत उनके बाकी शरीर के रंग से थोड़ा सांवली थी और चूत के अगल बगल झांटों का जंगल था. कई जगह पर तो गुदगुदी हो जाती है मगर एक फ्रेशनेस की फीलिंग भी आती है.

मोती बीएफ वीडियो उसका यह मादक अंदाज देखकर मुझे तो विश्वास नहीं हो रहा था और मैं मन ही मन ऊपर वाले का शुक्रिया अदा कर रहा था कि ऐ मालिक आज आपने इस दिन को रंगीन बना ही दिया. जमाई जी का तना हुआ गर्म लौड़ा हाथों में ऐसा आया कि हाथों ने मजे ही मजे में लंड को सहलाना शुरू कर दिया.

टैटू पिक्चर

सेकंड क्लास में टीसी भी जल्दी से किसी को भी जल्दी से बिना रिजर्वेशन के सीट नहीं दिलवा सकता था तो हमारा केबिन हम दोनों के लिए पूरी तरह से खाली था. फिर मैंने भी खुद को ढीला छोड़ पैर ऊपर उठा दिए मैं भी उल्टा घूमने लगा. नम्रता ने मेरी तरफ देखा, मैंने अपने हाथ झटक कर चुप रहने का इशारा किया.

मीना और मैं इसी तरह एक दूसरे को जकड़े हुए कुछ देर लेटे रहे और फिर हांफते हुए अलग हुए. मगर फ्यूज बल्ब भी भला कभी जलता है? उन्होंने मुझे आवाज दी और कहने लगे- देखो सुधा, बल्ब नहीं जल रहा है. छूट की फोटोसारा के पहले शौहर इमरान की बहन दिलिया को देख मेरा मन अब फिर बेईमान हो गया था.

वह अक्सर अपने पापा के ननिहाल में स्कूल से आधी छुट्टी या पूरी छुट्टी के बाद रात को रुक जाती थी.

जब तक मामा मामी वापस नहीं आ जाएंगे, तब तक नाना जी को अकेला छोड़ कर आप कैसे आ सकती हैं. लेकिन मम्मा के लिए मेरे अन्दर कुछ ज्यादा ही प्यार था इसीलिए मैं अपनी मम्मा सौम्या के लिए खुद को अट्रैक्ट होने से रोक नहीं पाया.

सरिता बोली- हर्षद, तुमने अब तक मुझे बहुत सारा सुख दिया है, जो मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था. अंदर जाकर वो पूछने लगी कि क्या इंपोर्टेंट बात है?मैंने हिम्मत जुटा कर सीधे ही उससे पूछ लिया कि तुम अपने बाथरूम में रात को क्या करती हो लाइट जला कर?यह बात सुन कर वो एकदम से शॉक हो गई. बुर से निकले स्वादिष्ट माल को पी जा प्यारे भाई!उसकी बुर फड़फड़ा रही थी और उसकी गांड में भी कम्पन हो रहा था.

उसको मेरे लंड का साइज बहुत अच्छा लगता था और मुझे वो पूरी की पूरी काफी मस्त माल लगती थी.

दोस्तो, अपने इस मादक रूप में तो शीतल भाभी पूरी कामुकता की कोई देवी लग रही थीं. उसके बूब्स ऐसे थे जैसे किसी ने सीने पर 32 नंबर की दो रुई की कटोरियां रख दी हों. मेरे ऐसा करने से वो पूरी तरह तड़प उठीं और नींद में होने के नाटक में ही चाची ने अपने पैरों को फैला दिया.

बुढ़िया का सेक्स वीडियोताई हंस कर बोलीं- क्यों ज्यादा गर्मी चढ़ गई थी क्या?ताऊ बोले- हां … अब जल्दी से आ जा. एक बार मैंने उसे गर्म करके चोद दिया तो उसे चुदाई में मजा आया और वो लंड मांगने लगी.

सेक्सी अंग्रेजी सेक्सी सेक्सी

सहलाते समय उसका सेक्सी बदन भी हिल रहा था तो मेरा हाथ अब सीधे उसकी चुत पर लग रहा था, जिसे मैं हटा नहीं रहा था और वो भी मना नहीं कर रही थी. मम्मा की ये बात सुनकर मेरे दिमाग में ख्याल आया कि काश मैं टाइम ट्रैवल कर सकता, तो अपनी मम्मा सौम्या को 7-8 साल पहले से ही चोद रहा होता. फिर भी मैंने कन्फर्म करने के लिए पूछा- अभी तक का कैसा अनुभव रहा आपका मेरे साथ?कल्पना ने थोड़ा सोचने के बाद कहा- जैसा कि आप जानते हैं, पहली बार किसी आदमी या दूसरे इंसान ने मेरी उस जगह को छुआ और किस किया.

थोड़ी देर बाद उसने भी मुझे सॉरी बोला और बोली- मैं घर जाना चाहती हूँ. मैं वापस मुड़ कर तीसरे स्टोर की तरफ गया तो देखा कि वो अंदर से बंद था. वो इस बात से परेशान थी कि बन्दा कुछ कहता भी नहीं, बस देखता रहता है.

मुझे पता था कि मुझे रेडी होने में टाइम लगेगा और वो लोग ऊपर आ जायेंगे इसलिए मैं बाथरूम में आ गयी थी. मैं- फिर से शुरू करें?कल्पना ने कुछ बोला नहीं, सिर्फ सहमति में सर हिलाया. अब वो खुद ही अपनी चूत में उंगली करने लगीं और धीरे धीरे मोनिंग करने लगीं … इसका आभास मुझे तब हुआ, जब मैंने पानी को बंद कर दिया और उस आवाज़ को ध्यान से सुनने लगा.

मैंने अपनी बांहें फैला कर उसको अपने गले लगने के लिए इशारा किया, तो वो मेरे गले से लग गई. सेक्स कहानी की नायिका, मेरे हसीन सपनों की रानी सुमन के साथ मेरा प्रेम शुरू हुआ.

हम दोनों ने एक ही कप में चाय पी और उसके बाद मेरा लंड काबू से बाहर हो गया.

वे दोनों गर्म हो गए और एक दूसरे को लिप किश करते हुए चुदाई में लग गए. मेला फिल्म फुल एचडीआगे जब भी उसकी चूत में उंगली डालने की कोशिश करता, तो वो चिंहुक जाती और दर्द होने के बारे में बताती. राजस्थान विलेज सेक्सदस मिनट की लगातार चुदाई के बाद मैं उसकी चुत से हट गया और अब स्नेहा को चुदाई के तैयार किया. मैं उसको चाय देकर जाने लगा तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और मेरी तरफ प्यार से देखने लगी.

साथ ही साथ कहानी के बार में आप अपने विचार रख कर भी मुझे मार्गदर्शित करें.

फिर मैंने अपनी बहन रूपा के मम्मों को मुँह में लेकर चूसना और दबाना शुरू कर दिया. ”शारदा चाची- हां-हां मुझे सब पता है कि तुम लोग क्या कर रहे हो!और एक शरारती मुस्कान आ गयी उनके चेहरे पर यह बात कहते-कहते।मैं- नहीं नहीं चाची, हम लोग तो बारात के स्वागत की बात कर रहे थे क्योंकि जो दूल्हा है वो भी हमारे ही दोस्तों में से है. जिस दिन से मैंने पम्मी आंटी को नंगी देखा, तब से तो उनको चोदने की मेरी कामना और ज्यादा बढ़ गयी.

मैं कभी उसके बालों को सहला देता तो कभी उसके नंगे बदन को छू लेता था. उसके बड़े बड़े बूब्स देखकर मेरे मन में भी चुदाई का कीड़ा कुलबुलाने लगा. मेरे हाथ पकड़े, ये सब इतना जल्दी हुआ कि मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था.

hawas जिस्म शायरी

जब वो चल कर जा रही थीं, तो उनकी गांड एकदम ऐसे मटक रही थी, जैसे दो बॉल आपस में हिल रही हों. मैंने बिना आवाज किए बाथरूम का दरवाजा खोला और लंड को हाथ में लेकर दोनों आंखें बंद करके पेशाब करने का मजा लेने लगा. वो कुछ समझ पाती, इससे पहले ही मेरा हाथ उसके लोअर के अंदर डाल दिया!उसने अपनी चूत को किसी दूसरे मर्द से न छूने देने की एक कोशिश फिर से की किन्तु इस बार मेरा दांव अनुभव से किया गया था.

मैंने पूछा- भाभी, जब मैं विशाल भाई को छोड़ने के लिए आपके घर पर आया था तो आपने बहुत टाइम लगा दिया था दरवाजा खोलने में.

मैंने उसकी तरफ देखा और पूछा- स्माइल क्यों कर रही हो?दीदी बोली- जब तू हाथ फेरता है तो गुदगुदी लगती है.

चाची कुछ ही देर में अपनी गांड उठा कर मुझसे कहने लगीं कि हाँ और ज़ोर से … मैं आज तुम्हारे लंड आह्ह्हह्ह को अपने अन्दर लेकर बहुत खुश हूँ … हाँ आईईई ईईइ … और ज़ोर से चोदो मुझे उह्ह्हह्ह माँ हाँ … और थोड़ा और अन्दर डालो. मैं- तुमको प्यार करके ही बड़ा हो गया है ये!प्रिया- भैया और कस कसके कीजिए ना … आज एकदम गहरी कर दीजिए. एचडी ओपन सेक्समुझे भी अच्छा लगता है क्योंकि यहीं से भेद खुलता है कि औरतों को क्या पसंद है और क्या नहीं.

फिर उसने मेरा लण्ड पकड़ कर बुर के छेद में लगा दिया और बोली- राजा, अब तो अन्दर घुसा दो. वो उसको लेकर चले गए और भाभी को बोल कर चले गए कि रोहन का ध्यान रखना. वसुंधरा का छोटी सी पेंटी के इलास्टिक तक सपाट और साफ़-सुथरा गोरा पेट और पेंटी के इलास्टिक के बाद जाली में से झलक दिखाती कुंदन सी साफ़-सुथरी गोरी त्वचा इस बात की चीख-चीख कर गवाही दे रही थी कि वसुंधरा ने आज प्युबिक एरिया की भी वैक्सिंग करवाई है.

तुम मुझको एक गैस सिलेंडर दिलवा दो, मैं अपने रूम पर ही खाना बनाकर खा लिया करूंगी. थोड़ी देर बाद माया भाभी रुक गयी, तो मैंने उसकी तरफ देखा तो वो आंखों ही आंखों में जैसे ये बोल रही थी कि यूँ ही देखते ही रहोगे या धक्के लगाकर चुदाई भी करोगे.

आशीष मेरे होंठों को अपने होंठों से चूमने लगा, मेरी सांसें उसकी सांसों से.

सात से आठ मिनट के जबरदस्त धक्कों के बाद मैं भाभी की चूत में ही झड़ गया और मेरे लंड ने सारा वीर्य भाभी की चूत में उगल दिया. वो सिसकारियाँ भरने लगी- आअहह … आआहह … मम्म्मम … आआ आआआ … आआआ … अह्ह।चाची सिसकारते हुए बोल रही थी- ओह भाई, ऐसे ही, ऐसे ही अपनी दीदी की चूत चुदाई कर, हाँ-हाँ और जोर से, इसी तरह से ज़ोर-ज़ोर से धक्का लगाओ भाई, इसी प्रकार से चोदो. जूली किसी अप्सरा से कम नहीं लग रही थी। उसने सिर्फ लाल रंग की साड़ी पहनी हुई थी.

ડાગલા ડુગલી मुझे अपनी ओर खींचते हुए कल्पना ने कहा- मुझे भी अपनी चूत को भोसड़ा बनवाना है, पर आज नहीं, आज के लिए मेरी बुर चूत बन गयी, वही काफी है. वसुन्धरा की जिद, वसुन्धरा का मान, वसुन्धरा का नारीत्व, वसुन्धरा का प्यार … ये सब पूर्णता को प्राप्त होने को थे और वसुन्धरा चौदह साल के जमे हुए काल-खण्ड की क़ैद से से बस … बाहर निकलने को ही थी.

सोनम अन्दर से आई और मुझसे बोली- बंध्या अब तुम चली जाओ, नहीं मम्मी कुछ बोले ना. वो मस्ती से बोले जा रही थी- आह फक मी माय डार्लिंग … अहह … अहहह और जोर से … ओहहह!मुझे भी जोश आने लगा. दिशा मेरे लंड पर खुद की चूत को घिसते हुए सीत्कार करने लगी- उह आह ओह औह आह आह जीजू … कितना कड़क हो गया है आपका.

दिलवाला मूवी

मोनी का पति बहुत अधिक शराब पीता था जिसकी वजह से वो कुछ करने की बजाय सो जाता होगा और वैसे भी मोनी अपने पति के साथ इतना रहती भी तो नहीं थी, तभी तो मोनी को अभी तक कोई बच्चा नहीं हुआ था … उसकी शादी को दो साल से भी ज्यादा का समय हो गया था मगर अभी तक उसको कोई बच्चा नहीं था. मैं हामी भरकर नफीस चाचा को रूपये देने लगा तो नवाज भाई बोले- अरे मेरी तरफ से …पर मैंने चाचा को कीमत बिल के मुताबिक दे ही दी और नवाज को अपने घर का पता बता दिया. सर बोले- हां पर क्या करूँ?मम्मी हाथ से उनको छूते हुए बोलीं- अभी तो आप जवान हैं.

हम दोनों अपनी चुदाई बहुत ही आराम आराम से पूरा मजा लेते हुए करते हैं. कुछ पल के लिए मेरी पलकें झपकना ही भूल गईं और मैं कभी उनके चेहरे को देखता, तो कभी उनके बुर को देखता.

मेरी वासना भरी नजरों को देख कर रूपाली ने अपने हाथों से अपने मम्मों को ढकने का प्रयास किया, वो शर्मा गई थी.

मैंने गुलदस्ते से एक गुलाब का फूल उठा कर उसके हाथों पर हल्के से स्पर्श किया और वह कांप कर सिमटने लगी. फिर जॉन ने मेरी ब्रा का हुक खोल दिया और मेरे बूब्स को आज़ाद कर दिया. मैंने एक बार फिर ऑफर दिया, तो थोड़ा झुँझलाकर बोली- अरे मुझे पीरिएड्स हो रहे हैं, तो उसमें आप क्या करेंगे?मैंने सॉरी बोला और किनारे बैठ गया.

आंटी- अब तू उसका दोस्त है, तू उससे बात करके देख, हो सकता है, वो तुझसे कुछ नहीं छुपाए. वसुन्धरा के गोरे और पुष्ट नितंबों से मेरी जांघें जा कर ज़ोर से टकराती, एक ‘टप्प’ की आवाज़ आती. उसी दिन उन्होंने मुझे ऐसे ही मिलने को बुलाया लेकिन मैं इतनी जल्दी मिलने से डर रहा था.

मैं ज्यादा तड़प रही थी या विलियम … यह तो पता नहीं लेकिन तड़प दोनों में जबरदस्त एक दूसरे को पाने की थी.

मोती बीएफ वीडियो: उसने मेरे परिवार के बारे में जानकारी ली और मेरे परिवार की हैसियत जानकर वो मुझसे प्रभावित हो गई, लेकिन तब भी उसने मुझसे मेरे डैड से बना कर चलने की सलाह दी. प्रिया- भैया अब और इंतज़ार नहीं होता … अब डाल कर चोदो न!मैंने अपना लंड निकाला और प्रिया को दिखाया.

मेरी पिछली कहानीचंडीगढ़ में देसी अनचुदी फुद्दी चोदीसे आगे की यह पंजाबी चूत की कहानी है. अब कल्पना भाभी की गुलाबी गांड का छेद और उनकी चूत ठीक मेरे आंखों के सामने थी. उनके इस व्यवहार से मुझे बड़ी राहत सी मिली और मेरे मन से एक अपराध बोध उतर गया.

नाईटी ट्रांसपेरेंट थी और उसमें से मेरी ब्रा-पैंटी सब कुछ साफ दिख रहा था.

सोनल- दिशा, अब तुम्हारी बारी अपने मम्मे दबवाने की है, जा बैठ जा अपने जीजाजी के लौड़े पर. दरवाजे पर कान लगा कर ध्यान से सुना तो यकीन और पक्का हो गया कि ये लोग पक्का चुदाई ही कर रहे थे. तो मैंने बोला- भाभी, जल्दी से झोटे का डंडा पकड़ कर लाइन में लगा दो.