इंग्लिश वाली बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,सेक्सी के फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

साइकिल वाले गेम: इंग्लिश वाली बीएफ पिक्चर, धीरे धीरे उनके हाथ मेरे कपड़ों के अंदर घुसने लगे और मुझे मज़ा देने लगे.

मौसी और भांजे की सेक्सी वीडियो

तभी एक दिन चित्रा ने कहा- आपने मुझे दवा नहीं दी?सॉरी, मैं भूल गया था. पाकिस्तानी झवाझवीदीदी मुझे लेटने की कह कर बाथरूम में चली गईं और दो मिनट बाद मेरे साथ लेट गईं.

मैंने पूछा- कंडोम लगा कर या बिना कंडोम के?भाभी बोलीं- चमड़ी से चमड़ी की रगड़ कर सुख अलग ही होता है डियर. योनि का चित्र दिखाइएमैंने कहा- डर किससे लग रहा है?भाभी- अपनी तन्हाई से … तुम साथ रहोगे, तो मुझे डर नहीं लगेगा.

मैं चुदाई कि मस्ती में सिसयाने लगी- आहह इस्स आह आह ओह ओह प्लीज आहह ओह धीरे धीरे.इंग्लिश वाली बीएफ पिक्चर: शन्नो बोली- हां, मैं साहिल का लंड भी चूस लूंगी … मगर वो मेरे सामने लंड खोल कर आए तो.

इसलिए मैंने सोचा आज तेरे लिए मटन बना दूँ, ताकि तुझसे ताकत बनी रहे और तू जल्दी थके नहीं.यह कितने दिन में खत्म करना है?”मैं तो चाहती हूँ कि इसे खत्म करने से पहले तुम इस बेडरूम से बाहर न जाओ.

इंडियन कामसूत्र - इंग्लिश वाली बीएफ पिक्चर

मैंने अपने हाथों को धीरे से मामी जी के चूतड़ों और गांड की दरार में फिराया और साथ ही नीचे झुकते हुए उनके चूतड़ों को चूमते हुए दबाने लगा.वो दर्द से बिलबिला उठी और उसने मुझे इतनी जोर से जकड़ा कि उसके नाखून मेरी पीठ में घुस से गए.

तो तोमर साब ने भी अपना पाजामा उतार दिया।नीचे से चड्डी में उनका लंड अकड़ा हुआ दिख रहा था।चाची खुद ब खुद घुटनों के बल बैठ गई और उसने तोमर साब का कड़क लंड अपने हाथ में पकड़ा और उसे पीछे को खींचा. इंग्लिश वाली बीएफ पिक्चर मेरे लेटने से उसकी नींद खुल गई और वो अचानक से मुझे अपने बगल में लेटा देख कर घबरा गई.

मैंने देखा कि चाची की आंखें फैल गईं और चाची कराहने लगीं- आहह ओह धीरे धीरे करो … मेरी गांड फट रही है.

इंग्लिश वाली बीएफ पिक्चर?

मगर मेरा लंड लम्बी रेस का घोड़ा है और किसी भी महिला को पूरी तरह से संतुष्ट कर सकता है. मेरी वासना की कहानी मेरी चाची के साथ दोस्ती और फिर उनके जिस्म के प्रति आकर्षण की. इतना बोल कर ममता ने अपनी मां का हाथ पकड़ कर घुमा कर पीछे से बांहों में भर लिया और उनके गाल पर एक पप्पी दे दी- भैया इज द बेस्ट.

ममता- जब से आपने घर की सेक्स कहानी सुनाई, तब से मेरी चूत में आग लगी हुई है … ये देखो. अब वो आगे नहीं जा सकती थी तो मैंने पूरी ताकत से उसकी बुर में लंड पेलना चालू कर दिया. उनका हाथ मेरी पीठ पर चलने लगा था और बीच बीच में वो मेरी जांघ पर भी अपना हाथ रख देते.

कुछ ही देर कि मस्ती भरी चुदाई के बाद मैं भी अपनी आखिरी दौर में आ गया था और झड़ने के करीब था. भाभी मुस्कुराकर बोलीं- अच्छा देवर जी … इतना प्यार करते हो मुझे!मैं- हां भाभी … मैं भैया से भी ज्यादा आपको प्यार करता हूँ. मैंने वो सारे ले लिए।मैंने उनसे पूछा- आपको मेरा साइज कैसे पता चला?इस पर उन्होंने मेरे बूब्स को घूरते हुए कहा- देख कर अंदाज़ लगा लिया.

वहां मैरिज गार्डन के सामने से हमने एक ऑटो रिक्शा लिया और स्टेशन जा पहुंचे. एक बहुत ही कामुक किस्म की औरत हूँ मैं! शादी के पहले मैंने अलग अलग तरीकों से बहुत मजे लूटे.

रोज दोपहर और रात को सोने से पहले में भाभी का दूध पी लेता था और भाभी को चोद भी लेता था.

फिर रमेश ने बड़ी स्टाइल से दीदी की नंगी चुत की एक दो फोटो ले लिए कुछ पोज उसने दीदी से खुद की चुत में उंगली करवाते हुए और दूध मसलवाते हुए ले लिए उसने मेरी दीदी की रंडी की तरह फोटो ले ली थीं.

अब उसकी गान्ड में लन्ड अन्दर बाहर होने लगा और मैं दर्द से चिल्लाती रही. कभी सोचा नहीं था कि सेक्स भी इतना रोचक, रोमांचक और कामुक हो सकता है. दादा जी- पर बेटी हम सभी को वहीं पर रहना भी होगा और उस आदमी की कुछ शर्तें भी हैं.

अब आगे भाई बहन की सेक्सी स्टोरी :अफ़रोज़- तो फिर आपा … आज रात का प्रोग्राम पक्का?मैं- चल हट … केवल अपने बारे में ही सोचता है, ये नहीं पूछता कि मेरी हालत कैसी है. एक कुंवारी चूत मेरे लंड पर कूद रही थी और दो कुंवारी चूतें लंड से चुदने के इंतजार में बैठी थीं. मुझे ऐसा लग रहा है कि मैं अपनी आपा को उसी तरह से सपने में चोद रहा हूँ … जैसे रोज़ आपको चोदता था.

मैंने उसकी तरफ अपनी बाँहें फैला दीं और वो कटी डाल की तरह मेरी बांहों में समा गई.

मामी जी ने कामुक नजरों से मुझे देखा और बोलीं- ओहो राहुल … मैं आपका कब से इंतजार कर रही थी. घुटनों और जाँघों की मसाज करते हुए मेरी ऊँगलियाँ बरखा की बुर को छू देतीं. विवेक- जब तुम चारों यहां चुदाई कर रहे थे … तब कोई प्रॉब्लम नहीं थी और हमने चुदाई के लिए कहा, तो प्रॉब्लम हो रही है.

कुल मिला कर बहूरानी की जवानी, उनके तन के जानलेवा उभार, गहराइयां, घाटियां और चोटियां किसी हर किसी के तन मन में हलचल मचाये हुए थीं. मेरा लंड उसे कुतिया बना कर चोदने लगा।अब मैंने मालती को उठाया और सोफे पर ले गया।मैंने लंड खड़ा किया तो मालती उसपर चूत रखकर बैठ गई. उस गाड़ी की लाइट में मामी की मोटी मुलायम और दूध जैसी सफेद गांड मुझे साफ दिखाई दे गयी.

कुछ घंटे बाद मैंने एक बार वापस ट्राई किया, तो उस फोन की बेल जा रही थी.

मेरे प्यारे पापा जी, कल रात से ही आपका खराब मूड देख रही थी सो मैंने अपना सारा प्लान बदल दिया है, मैंने अपनी फ्लाइट रात में ही ऑनलाइन कैंसिल कर दी थी और कल की फ्लाइट ले ली थी. इधर प्रकाशित कुछ सेक्स कहानी बहुत ही अच्छी होती हैं, उनको बार बार पढ़ कर लंड हिलाने का मन होता है.

इंग्लिश वाली बीएफ पिक्चर मैं कृति की इन बातों से अतिउन्मादित हो गया और ज्यादा ज़ोर से धक्के देने लगा. यह कह कर यामिना चली गई लेकिन मुझे फ़लक की सेक्सी बातें बता कर गर्म कर गई.

इंग्लिश वाली बीएफ पिक्चर उस दिन उसके मम्मी पापा उसके मामा के घर गए हुए थे और उसके भाई, उसकी भाभी को लेकर मायके गए हुए थे. मैंने उनके होंठों को छोड़ा और एक बार उनकी आंखों में देख कर उन्हें लंड चूसने का इशारा करते हुए उनके सर को नीचे को किया.

वो लड़का उस लड़की के बूब्स को देखकर पगला सा गया और उसके मम्मे मसलने लगा.

पुराना सेक्सी वीडियो हिंदी में

जब बिस्तर पर लेटो, तो पेटीकोट अपने आप आसानी से घुटनों तक आ जाता है और थोड़ी कोशिश से ही और ऊपर आ जाता है. मैं उठ कर चाय बनाकर गोविन्द और बिंदु को देने उनके बेडरूम में गई, तो दोनों नंगे पड़े थे. फिर एक दिन मैंने पायल से कहा- तुम मेरी अच्छी दोस्त हो, मेरी एक मदद करो.

मेरे लंड को खड़ा होते देख कर मामी मेरी गोद से उठीं और अपनी सलवार का नाड़ा खोलने लगीं. शीना भी लन्ड मुंह से बाहर निकाल कर एक लंबी सिसकारी भरती और बदले में मेरे लन्ड पर अपने दांत गड़ा देती. मैं भी पूरे ज़ोर से अपने लंड को पूरा बाहर निकाल कर ज़ोर-जोर से अन्दर पेलने लगा.

मैं फ़लक की मनःस्थिति समझ गया था और इस बात से आश्वस्त हो गया कि थ्योरी में फ़लक फेल होने के कारण मेरा लंड लेने में कोई हिचकिचाहट नहीं करेगी.

कुछ देर बाद उन्होंने कॉल उठाया तब मैंने उन्हें कहा- गुलशा आई आल्सो लव यू. अदिति बेटा, मैंने तो अभी तक कुछ किया ही नहीं फिर तू ऐसे कैसे अपनी पैंटी भिगो बैठी?” मैंने सिर झुका कर उसके कान में धीमे से हंसी करते हुए कहा. उसका लंड जोया के मुँह के बड़ी आसानी से अन्दर बाहर हो रहा था और वो लौंडिया भी बड़े मजे से लंड चूस रही थी.

उसने चालू गाड़ी में मेरे पैंट के ऊपर से लंड पकड़ लिया और बोली- मुझे भी चुदाई करनी है, जैसे तूने किंजल की चुदाई की है, वैसे ही मुझे चोद. एक दिन मुझे मौक़ा मिल गया और मैंने उसकी बुक पर अपना फोन नंबर लिख दिया. हैलो फ्रेंड्स, मैं विशाल आपको अपनी सगी मां के साथ सेक्स रिश्तों पर आधारित सेक्स कहानी सुना रहा था.

दिल भी बीवी की चुदाई की आस को लेकर बल्लियों उछल रहा था मगर मुझे अभी भी ये नहीं पता था कि क्या होगा. अब वो हॉट लड़की बोली- मैं तो पहले से ही रेडी हूँ तेरा लंड चखने के लिए.

नीतू ने भी बिना कोई सवाल किए दवा पानी से गटक ली फिर मैं दूसरे कमरे में जा कर सो गया।थोड़ी देर बाद हंसने की आवाजों से मेरी नींद टूट गई. सुमन के सोने के बाद मां ऊपर मेरे पास आ जातीं और हम दोनों चुदाई करते. मैंने बहार की टाँगें उठाकर अपने कंधों पर रख लीं और अपनी राजधानी एक्सप्रेस चला दी.

कोई पांच मिनट की चुत चुसाई में वो बुरी तरह से अकड़कर झड़ गयी थीं और उनकी चुत से नमकीन अमृत निकलने लगा.

हॉट गर्लफ्रेंड सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी गर्लफ्रेंड मेरे किराए के कमरे में सिर्फ चुदाई करवाने आती थी. ममता- क्या सोचने लगी मेरी जान?मैं- कुछ नहीं यार बस यूं ही, तो फिर ये इतने पपीते बड़े कैसे हो गए … बिना किसी के दबाये और मसले. उसके पास मेरे लिए कोई काम था … तो मैंने उसे हां कर दिया और काम के बारे में पूछा.

जोया की चूत इतनी चिकनी और गोरी थी कि उसकी चूत देख कर ही मेरा लंड जैसे फटने को हो रहा था. चाची- हे भगवान कैसे?मैं- ज़्यादा कुछ नहीं हुआ, चाची क्रिकेट खेलते वक्त बहुत बार उधर गेंद लग चुकी है, इसलिए अब जरा सा भी दबने से दर्द होने लगता है.

वो मुझे अपने घर में अन्दर ले गयी और मुझसे ड्राइंग रूम में बैठने को कह कर खुद अन्दर चली गई. उसने मुझे कुछ भी बोलने का मौका ही नहीं दिया और मुझ पर टूट पड़ी, किस करने लगी. आज तू अपनी मालकिन के पास जा … और साले सुबह कोई शिकायत नहीं मिलनी चाहिए.

सेक्सी भेजो मूवी

फिर अंकल ने अपनी टेबल की दराज से एक कागज निकाला और उस पर कुछ लिख कर मुझे देते हुए कहा कि अपने दादा से इस पेपर पर साइन जरूर से करवा लेना.

इससे वो चिल्लाने लगी- आह … और तेज चोदो … और फ़ास्ट और जोर से!वो चरम पर आ गई थी और झड़ने लगी. उस दिन रात को भाभी फिर से अपनी चुत में उंगली कर रही थीं और मेरा नाम ले रही थीं. मैंने बोला- क्यों … पिता जी का मेरे जैसा नहीं था क्या?मां बोली- तेरा हथियार तो तेरे पिता जी से लम्बाई में थोड़ा सा कम है बस, पर मोटाई में तेरा हथियार तो तेरे पिता से डबल है.

ममता एक बार फिर शर्मा गई- शर्म नहीं आती अपनी बहन को मूतते हुए देख कर हंस रहे हो … चलो जाओ यहां से मुझे नहाना भी है. इतने टाइम में चुदाई के कम से कम दो राउंड तो बड़े आराम से लग सकते हैं; पर होगा कैसे??मैंने बहूरानी की ओर देखा वो मेरे कंधे पर सिर रखे ऊंघने लगीं थीं. बीपी वीडियो डाउनलोडिंगउसके बाद वो अपने घुटनों पर बैठ गई और मेरी चड्डी दोनों हाथों से पकड़ कर उतार दी.

मैं झड़ने के बाद अपने लंड को ऐसे ही मां की चूत में डाले उनसे चिपक कर सो गया. वो मुझे निहारता ही रहा।कांपती आवाज़ में होश में आते हुए बोली- जी चाय।गुलाब- रख दीजिए, ले लूंगा।मैं काली साड़ी में क़यामत लग रही थी.

उनके लंड का स्पर्श मेरी ठीक चूत पर चुभ रहा था … ये मुझे बड़ा सुखद और अच्छा लग रहा था. पर उससे बात करने की मेरी हिम्मत नहीं होती थी क्योंकि मैं थोड़ा शर्मीला स्वभाव का हूँ. उसको तो बस यही चाहिए था … वो लंड को चूमने लगी और कुछ ही पलों में वो जोर जोर से मेरे पूरे लंड को मस्ती से चूसने लगी थी.

उन्होंने मेरे होंठों को चूमना शुरू कर दिया और ताबड़तोड़ चुदाई करने लगे. इससे शीना फिर से गर्म होनी शुरू हो गयी और अपने हाथों से अपने मम्में मसलने लगी. मैंने सोचा कि गीत को शायद कोई बात कहना है और वो कई दिनों से कहना चाहती है, पर कह नहीं पा रही है.

मैंने उनके होंठों को छोड़ा और एक बार उनकी आंखों में देख कर उन्हें लंड चूसने का इशारा करते हुए उनके सर को नीचे को किया.

पापा जी चलो चलें! और ये आपका मुंह क्यों उतरा उतरा सा है? क्या हुआ?” बहूरानी मुझे गौर से देखते हुए बोली. यह मेरी पहली कहानी थी तो कृपा करके मुझे मेरे ईमेल एड्रेस पर मैसेज करके जरूर बताएं कि आपको मेरी रियल लाइफ सेक्स कहानी कैसी लगी?मेरा ईमेल एड्रेस है[emailprotected].

मैं आपको बता दूं कि उर्वशी की फैमिली वैसे तो बहुत अमीर है, लेकिन वो उर्वशी को ज्यादा रुपया नहीं देते हैं. अभिनव के लिए नीम्बू का मीठा वाला अचार भी आप भेज देतीं क्योंकि मम्मी आपको पता ही है कि अभिनव को नाश्ते में परांठे और नीबू का मीठा अचार ही पसंद है. मां ने अपने दोनों हाथों को मेरी गांड पर रखे और मुझे जोर से धक्के मारने को बोलने लगीं.

फिर मैंने अपनी पड़ोस वाली भाभी को देखा तो उनको अब सिर्फ एक लौंडा ही चोद रहा था. मैंने जाकर पहले दरवाजा बंद कर दिया और स्टोर रूम का ज़ीरो वाट का बल्व जला दिया. कभी आंख पर पट्टी बांध कर चुदाई का अहसास करना … लंड और चुत को सिर्फ अपने मजे से मतलब होता है.

इंग्लिश वाली बीएफ पिक्चर मेरी कुतरी हुई दाढ़ी के नुकीले बाल चूत में चुभने से बहू को एक नयी किस्म की सिहरन, नयी उत्तेजना का अनुभव होने लगा जो उसे बर्दाश्त नहीं हो पा रहा था. वासना से मेरी मुँह से सिसकारियां निकलने लगी थीं- आह आह … मस्त सर्विस देता है … आह चोद माँ के लौड़े.

మదర్ సెక్స్

सविता और अशोक घर पर डिनर कर रहे थे।अशोक सविता को अपनी नई प्रोमोशन के बारे में बता रहा था कि अचानक उसके पास एक फोन कॉल आने लगा।तो अशोक ने फोन उठाया और वो हैरान हो गया कि ये उसके सबसे चहेते अंकल का फोन था।उधर से आवाज आई- क्या आप अशोक पटेल बोल रहे हैं?कौन है?” अशोक ने कहा. इस बार भाभी ने फिर से मेरे दोनों हाथों को दोनों किनारों से रस्सियों से बांध दिए. मैं उठ कर चाय बनाकर गोविन्द और बिंदु को देने उनके बेडरूम में गई, तो दोनों नंगे पड़े थे.

उसका निचला होंठ चूसते हुए मैं बहू के दोनों स्तन दबाने मसलने लगा; फिर उसके टॉप में सामने से हाथ घुसा कर ब्रा में उंगलिया घुसा दीं और नंगा स्तन मसलने लगा. दोस्तो, मैं आप सबकी चुदक्कड़ बहन आशना एक बार फिर से भाई बहन की चुदाई की कहानी में स्वागत करती हूँ. google सेक्सी वीडियोमौसी के कसे हुए बड़े बड़े चूचे, पतली कमर और सपाट पेट, चौड़ी गांड मुझे अन्दर तक घायल कर रही थी.

नीतू अपने हाथों से मेरी पीठ को सहलाने लगी।कुछ देर बाद नीतू ने अपने नाख़ून मेरी पीठ पर गड़ाते हुए कहा- हाँ ऐसे ही चोदो अपनी नई बीवी को … अब रुकना नहीं.

मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी एक टांग ऊंची करके पीछे से दिखती चूत को चोदना आरम्भ कर दिया. ऐसा लग रहा था कि वह मेरी बात ही नहीं सुन रहा था … बस अपनी कहे जा रहा था.

तो मैंने अदिति को चलने का इशारा किया और मैंने भी अपना सामान समेट कर बैग में भर लिया. पांच मिनट की चुदाई में बुआ की चुत मेरे लंड के लिए कुछ अभ्यस्त सी होने लगी थी और उनके चेहरे पर अब मुस्कराहट साफ़ देखी जा सकती थी. अदिति बेटा, ये दिल्ली नहीं है अभी तो आगरा आया है; चल परेशान मत हो, मुझे सोने दे.

अब आगे भाभी की गांड चुदाई:जेठ जी के लंड का मोटा सुपारा मेरी चूत को फाड़ता हुआ अंदर जा घुसा था.

फिर मैंने ममता को भी उठाया और मुँह हाथ धोकर हम दोनों नीचे पहुंच गए. लेकिन हम दोनों को गले मिलने के लिए कोई जगह नहीं थी तो मैंने उसको अपने कमरे में ही आने के लिए बोला. पर मैंने उनकी बात अनसुनी कर दी और नीचे की ओर खिसक कर उनके पैरों के बीच में आ गया और उनके पांव दायें बाएं फैला दिए और बहू की चूत के गीले होंठ चाटने लगा.

रेखा की चुतमैंने धक्के मारना रोक कर बहू को फिर से बांहों में जकड़ लिया और पलटी मार कर बहूरानी को अपने ऊपर कर लिया, मैंने लंड को चूत में से बाहर नहीं निकलने दिया था. कुल मिलाकर चोदने लायक सामान था और फिर इतना गजब का भुगतान कर रही थी.

छोटी सेक्सी कहानी

उन दोनों में बहुत देर तक मुझे लेकर बहस चलती रही पर शब्बो ने मंजूरी नहीं दी. आंटी मुझे बहुत पसंद करती थीं और वो अपने किसी भी काम के लिए मुझे बुला लेती थीं. अब वो सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी।फिर वो भी मेरा लंड हाथ में लेकर सहलाने लगी।उसने मेरा 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड देखा तो हैरान हो गई- हाय दामाद जी!! इतना बड़ा? नीता तो बहुत खुशकिस्मत है।मैं- आज से तुम भी हो मेरी जान।कहते हुए मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया।अब हम दोनों एक दूसरे को किस कर रहे थे.

मैंने उसे अपने से अलग किया और पूछा कि इतनी जल्दी क्या है?वह बोली- मैं बहुत दिनों से प्यासी हूँ. मां ने अपने दोनों हाथों को मेरी गांड पर रखे और मुझे जोर से धक्के मारने को बोलने लगीं. मैंने भी थोड़ा सा खिसक कर उसके लिए जगह बनाई और कहा- देख जब लड़की से हाथ मिलाओ, तो उसको ज़्यादा देर तक पकड़ कर रखो, देखो कब तक नहीं छुड़ाती है … और जब पीछे से उसकी आंख बंद करके पूछो कि मैं कौन हूँ … तो अपना केला धीरे से उसके पीछे लगा दो.

मुझे अब पक्का यकीन हो गया था कि मां भी वही चाहती हैं जो मैं चाहता हूँ. आसपास लोग होते तो एक बार पलट कर कुछ कह भी देती, पर मैं अकेली थी तो हिम्मत ही नहीं हो रही थी. चुम्बन के बाद मैं फ्रेश होने के लिए और नहाने के लिए बाथरूम में चला गया.

कुच्ची के मुँह से ये सुनते ही मेरी नज़र उन लड़कियों की भीड़ में से जमीला को ढूंढने लगी. हम दोनों उनके घर पर तो मिल नहीं सकते थे … क्योंकि मेरा दोस्त घर में था.

उसके पीछे से हिचकोले खाते चूतड़ों को देखकर मेरा दिल बेईमान हो गया और मैं पीछे पीछे बाथरूम में चला गया.

वो भी इतनी गर्म हो गई थी कि उसकी गर्म गर्म सांसें मुझे महसूस होने लगी थीं. हाउ टू सेक्समैंने मौसी की चूत को फिर से चाट कर गीला किया और अपने लंड का सुपारा उनकी चूत पर रगड़ने लगा. घर सजावट मराठीमेरी 15 मिनट तक गांड बजाने बाद उसने मुझे सीधा किया और सारा माल मेरे मुँह पर छोड़ दिया. मैंने कहा- तुम चाहती हो तो मेरा साथ दो … वरना कोई जबरदस्ती नहीं है.

मैं भाभी की चूचियों के पास अपने होंठ ले गया और उसका निप्पल अपने मुंह में लेकर जोर जोर से चूसने लगा.

लंड का पूरा माल, जो कि आज बहुत ज्यादा निकला था, मैंने भाभी के मुँह में छोड़ दिया. फिर मैंने उसे बांहों में लेकर अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और चुम्बन करना शुरू कर दिया. तभी हमें एक लैब का दरवाजा खुला मिल गया, तो मैंने सोचा कि चलो अन्दर चल कर बैठेंगे और उधर ही सिगरेट का मजा लेंगे.

मैं कभी भी अकले घर से दूर नहीं गई थी पर एग्जाम देना भी जरूरी था … तो मेरी मां ने मेरे साथ मेरे जीजा जी को जाने के लिए बोला. उस दिन के बाद जब भी हमें मौका मिलता, हम दोनों एक बार जरूर चुदाई कर लेते. मैं सिसकारते हुए चुद रही थी- आह्ह … हाय … नीलू … तूने तो लुगाई बना दिया रे … चोद भाई … जमकर चोद।मेरे बोलते ही उसकी स्पीड में इजाफ़ा हो जाता था।अब मैं उठ गई और घोड़ी बन गई.

सेक्सी सेक्सी दिखाइए वीडियो

मेरा लंड अगर खड़ा नहीं है, तो बहुत छोटा दिखता है … करीब दो इंच का बस. आपको मेरी देसी चाची चुत चुदाई स्टोरी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करना न भूलें. ये कहते हुए डॉक्टर रोहित ने मेरी स्कर्ट उठा दी और मेरी गोरी गोरी गद्देदार गांड नंगी हो गयी.

मीरा ने कहा- ओके जान, मुझे तुम्हारे आने का बेसब्री से इंतजार रहेगा.

देसी विलेज भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि लॉकडाउन में नरेगा में काम करते हुए गर्मी में एक भाभी मुझे मिली जिसकी चूत की गर्मी मौसम की गर्मी से भी ज्यादा थी.

पर इस चुदाई में वो मजा नहीं आता था क्योंकि ना हम खुल कर चुदाई कर पाते थे … और ना ही मजा ले पाते थे. मैंने भी उसे बांहों में भर लिया और उसके चुंबन का जवाब उसके बालों में उंगलियां घुमा कर देने लगी।जब जतिन ने अपनी जुबान मेरी नाभि में डाली तो मैं जैसे कामवश में होकर मदमस्त हो गई।जतिन ने पूरी मेहनत से मेरे पूरे शरीर को चूमा।अब जतिन अपने लंड पर कंडोम चढ़ा कर मेरी टांगों के बीच में आकर बैठ गया। मेरी दोनों टांगें फैला कर जतिन ने अपना लंड मेरी चूत के छेद पर रखा कर धक्का लगाया. मुंबई के रंडी खानाकुछ देर बाद मैंने उसे बेड पर सीधा लिटाया और अपना लंड उसकी चुत के मुँह पर रख दिया.

इस दौरान कुच्ची ने जमीला के ऊपर मेरा इम्प्रेशन जमा दिया था, जिसमें आखिरी कड़ी थी कि मुझे रूबरू मिलाना, जो आज हुआ था. इस तरह से करीब 10 मिनट की 69 अवस्था में लंड व चूत चुसाई में पूजा ने अपना पानी छोड़ दिया. मैं बिना कुछ कहे, अपना परिचय दिए बिना, अपनी साड़ी को घुटनों तक ले जाकर कचरा निकालने में लग गई.

यदि मीरा भी निखिल से चुदती है तो ये तो उसके लिए एक सेफ चुदाई का अड्डा बन जाएगा. शायद वो मुझसे खुल गयी थीं या बच्चों के सोने की वजह से बेफिक्र हो गयी थीं.

जब भाभी जाने लगीं तो मैंने उनसे कहा- अगली बार जब भी आप अपनी बेटी का चैकअप कराने के लिए आओ … तब मुझे संपर्क कर लेना, मैं जल्दी से करवा दूंगा.

मैंने उसका गाउन ऊपर किया और ब्रा का हुक खोल कर उसके दूध दबाने शुरू कर दिए, निप्पल दबाने लगा. वहां से मैंने खिड़की से चुपके से झांका तो देखा दरवाजे के की-होल से भाभी अन्दर हमारी चुदाई देख रही थीं. मेरी बीवी ने सादिका से फोन करके कहा- आर्यन मुझे लेने आने वाले हैं … मैं उसी के साथ में ही वापस आऊंगी.

ओपन ट्रिपल एक्स करीब दो मिनट की दर्दनाक चीखों के बाद अब मीना का दर्द आनन्द में बदल चुका था. मैंने उसे करीब 20 मिनट तक हचक कर चोदा, इसके बाद उसे घोड़ी बनाकर चोदने लगा.

दस मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद शन्नो का शरीर धीरे धीरे अकड़ने लगा और मेरा लंड उसकी चूत में फंसने लगा. बाहर के कामों से फ्री होने के बाद एक रोज़ मैं ऑफिस गया तो यामिना मुझे पानी देने मेरे कमरे में आई. मां के दूध उनके ब्लाउज से आधे बाहर को झलक रहे थे, उनकी पूरी पीठ नंगी थी और ट्रांसपेरेंट साड़ी से उनकी कमर और नाभि भी साफ दिख रही थी.

सेक्सी वीडियो फोटो नहीं वीडियो

दोपहर में जैसे रुबिका घर आई तो वो शहज़ाद को देख कर एकदम से खुश हो गयी. मामी जी की बातों से मैं जोश में आ गया और मैंने बिना कुछ बोले अपने लंड को तेज़ी से मामी जी की चूत में तेज़ी से अन्दर बाहर करना चालू कर दिया. इस बार मेरा आधे से ज्यादा लंड चुत के अन्दर पेवस्त हो गया था और उसकी सील फट गई थी, जिससे खून की गर्म धार मुझे मेरे लंड पर महसूस होने लगी.

इधर मीरा के दिमाग में रितेश के लंड से उसी की भतीजी को चुदवाने का प्लान घूम रहा था कि वो किस तरह से रीमा को रितेश से चुदवा दे और चारो लोग खुल कर चुदाई का मजा ले सकें. कुछ ही देर बाद हमारी ट्रेन के बगल से दिल्ली से आती हुई कोई राजधानी एक्सप्रेस धड़धड़ाती, हॉर्न बजाती हुई क्रॉस हो गयी.

मैंने पूछा- अंकल ये किस चीज़ के पेपर हैं?अंकल ने बिंदास कहा- बेटा, इसमें लिखा है कि तेरी मॉम अब से मेरे घर की रंडी है … और उस पर सिर्फ़ मेरा ही हक़ होगा.

तीनों राजकुमारियां दुल्हन के जोड़े में गहनों से सजी एक बड़े से आलीशान पलंग पर शरमाई हुई बैठी थीं. फिर मीरा नंगी हो गई और रीमा के होंठों को चूम कर उसे थैंक्यू बोलने लगी. मौसी कराहती हुई बोलीं- आंह मर गई मांआ … मेरे शोना धीरे कर न … सब कुछ तुम्हारा ही है.

मेरी बड़ी दीदी उतनी अच्छी दोस्त नहीं बनी थीं, पर वो छोटी दीदी से भी ज्यादा मस्त थीं. छोटी भाभी की गांड मारी मेरे जेठ जी ने! जेठ जी के लंड ने मेरी चूत को मजा दिया. मैं अपनी जगह पर आया और अपना बॉक्सर पहनने लगा, तो मौसी ने कहा- ऐसे ही सो जाओ ना.

शमा की आंखों में मस्ती छाने लगी- ऊऊओह … आह्ह्ह्ह मुझे कुचल दो राहुल … मैं बहुत प्यासी हूँ.

इंग्लिश वाली बीएफ पिक्चर: अब तक हुर्रेम मेरे पास आकर खड़ी हो गई और अपने एक हाथ से मेरे लंड को चड्डी के ऊपर से पकड़कर दबाने लगी. अब उसने सामान्य आवाज में कहा- नहीं यार आज़कल हो नहीं पाता … बीच में मैं कुछ बीमार पड़ गया था, उसके बाद मेरा लंड अब खड़ा ही नहीं होता है.

अगर तुम मेरा साथ दोगे, तो तुम्हारे घर की गरीबी दूर हो जायेगी, तेरी मॉम की वासना भी शांत हो जाएगी. घर से बाहर चलते समय मैंने कहा- चलो आज तुम्हें अपने स्कूटर से स्कूल छोड़ देती हूँ. एक पल बाद हुर्रेम ने नवीन के लंड को बाहर निकाला और उसके आंडों को अपनी जीभ से लिकलिक करते हुए लंड को मुठियाने लगी.

मैं भी काफ़ी दिनों के बाद किसी लंड से चुद रही थी इसलिए मैं भी चुदाई का पूरा मज़ा ले रही थी.

वो मेरी लटकती चूचियों को मींजने लगा, जिससे मेरी गांड का दर्द कम हो गया. ममता अपना हाथ पीछे ले जाकर नेहा की मोटी गांड पर घुमाने लगी और धीरे से एक उंगली उसकी गांड के भूरे टाईट छेद में घुसाने लगी. जिस पर वो हंस कर मेरी गोद में लेट जाती थीं और मेरे लंड को सहला देती थीं.