बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो देहाती

छवि स्रोत,ससुर ने बहु की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

मां बेटी का बीएफ दिखाइए: बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो देहाती, मैं जानता था कि ऐसा बोलने पर उनके मन में भी बात जानने की बेचैनी उठेगी और फिर वो पक्का बताएंगी.

रोने वाली डीपी

कुछ ही देर में उसका लंड फिर से खड़ा हो गया तो उसने अपना लंड चमेली की चुत में डाल दिया. बिरयानी फोटोहमारी कक्षा में कुल 38 छात्र छात्राएं थे, जिनमें 19 लड़के और 19 लड़कियां थीं.

जब करेंगे तो सोचो कितना मज़ा आयेगा!वो मेरे सीने पर मुक्का मारते हुए बोली- मुझे नहीं करना यह सब. बीपी चोदा चोदीपहले तो वह लड़की मेरे नीचे वाली सीट पर बैठी हुई थी, बाद में उठकर लोअर साइड बर्थ पर आ गई.

मैं जानता था कि ऐसा बोलने पर उनके मन में भी बात जानने की बेचैनी उठेगी और फिर वो पक्का बताएंगी.बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो देहाती: अभी मेरे लंड का टोपा ही अन्दर गया था कि उसकी आंखों में आंसू आ गए और चीख़ निकल गयी.

मैंने आगे बढ़ कर भाभी के मम्मों को उनकी ब्रा के ऊपर से ही दबाने शुरू कर दिए.हम दोनों कभी कभी चुदाई के पहले ड्रिंक कर लेते थे … फिर मजेदार चुदाई करते थे.

पीरियड का कम आना - बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो देहाती

दोस्तो, टेलर मास्टर से चुदाई की कहानी का अगला भाग शीघ्र ही आपके सामने होगा.मैंने भी अपना पूरा लंड थोड़ा रुक कर एक ही ज़ोरदार झटके में अन्दर डाल दिया.

उसने आते ही मेरी दोनों टाँगें अपने कंधों पर रख ली और मेरी चूत में लंड उतार दिया. बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो देहाती एक दिन की बात है कि मैं और विवेक घर के पीछे बने बाथरूम में एक साथ मस्ती कर रहे थे.

चिराग भी पीछे पीछे आ गया और उसको गोद में उठा कर चेंजिंग रूम में ले गया.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो देहाती?

वैसे मुझे आवाज की कोई दिक्कत नहीं थी क्योंकि घर पर कोई नहीं था … बस मुझे उर्वशी की फ़िक्र थी. मैंने सोचा कि चलो रहने दो, मां को भी अपनी जिस्मानी भूख मिटाने की जरूरत होती होगी, तभी तो वो ऐसा कर रही हैं. मीरा को थोड़ा दर्द हुआ … क्योंकि वो काफ़ी दिनों के बाद अपनी गांड मरवा रही थी.

साथ ही अब उसने धारा के गले और उसके कान की लौ को अपने होंठों से चुभलाना शुरू किया. उनकी आंखें एकदम से ऐसे चमकने लगीं, जैसे उन्हें मनमानी मुराद मिल गई हो. फिर भाभी ने एक लम्बी सिसकारी ली और बोलीं- आज मारने का पूरा प्लान है क्या तुम्हारा?मैं- नहीं अंजू.

मैंने कहा- साले बेदर्दी तुझे हंसी आ रही है, इधर मेरी गांड परपरा रही है. जब उनके होंठ मेरे काबू में नहीं आए तो मैंने भाभी के मम्मों पर किस करना शुरू कर दिया. चाची उठीं और चाचा के दोनों तरफ पैर करके अपनी चुत के छेद में उनका लंड पकड़ कर लगाने लगीं.

मैंने उसकी बात मान ली और अपने घर फोन करके बता दिया कि मैं अपने दोस्त के घर रुक गया हूँ. तभी मेरे दिमाग में दूसरे मर्द वाली बात घूमने लगी और मैं नशे में उसे दूसरे मर्द से सेक्स के लिए बोलने लगा.

शेखर को समझ में आ चुका था कि ये वही बटन है जिसके दबने या फिर सहलाये जाने के बाद बड़ी से बड़ी ज़िद्दी औरत भी अपनी चूत खोलकर विशाल से विशाल लंड अंदर ले लेती है.

कुछ देर बाद ऋतु झड़ चुकी थी, उसकी चुत से बहते रस को रुचि पीने की कोशिश कर रही थी.

फिर वह धीरे-धीरे मेरी चूत की तरफ चला गया और उसने मेरी चूत को चाटना शुरू कर दिया. मैं उन चारों को अपने बेडरूम में ले आई और उनको बिस्तर पर लेटने को बोली. फिर ऐसे ही एक दिन मैं उसके घर था तो मैं सार्थक से बोला- यार कोई जॉब हो तो बताना.

करती भी कैसे?पहली बार खुद को अपने पति के सामने दूसरे मर्द की गोद में बैठाना इतना आसान भी नहीं होता, वह भी अचानक से।मैंने हालात को देखते हुए नेहा की पीठ में चूमना शुरू कर दिया और उसकी ब्रा खोलकर उसके स्तनों को आजाद कर दिया।अब मेरे हाथ उसके स्तनों को दबा रहे थे. हॉट सेक्सी भाभी मेरे लिए चाय बना कर लाया करती थीं और मेरी भाभी से हल्की-फुल्की बात भी हो जाया करती थी. वो मेरा हाथ पकड़ कर बिस्तर पर लेकर गए और मुझे बिस्तर पर धकेल कर गिरा दिया.

उसी समय गौतम ने अपने लंड से निकली स्पर्म की एक धार मेरे होंठों पर भी निकाल दी.

उसने हामी भरते हुए कहा- हां ठीक है, रात में निकलेंगे, तो सुबह तक पहुंच जाएंगे. एक दिन हम मंडी में सामान लेने गये थे तो वहां मेरा पैर डगमगाया और समीर ने मुझे संभालते हुए मेरी चूची को दबा दिया. निखिल भी मान गया और ये तय हुआ कि रोज रात 8:30 बजे शाम से 10:30 बजे रात तक रीमा निखिल को पढ़ाने के लिए उसके घर आएगी.

मैं- आह मौसी बड़ा मजा आ रहा अह जल्दी से चूसो न!मौसी- क्यों साले अभी से गर्मा गया है क्या … मेरी चुत को चाट चाट कर झाड़ दी थी. स्नेहा- तो!नेहा- तो एक बार मैं नीचे गई तो मॉम के कमरे से आवाजें आ रही थीं … पर मैं रुकी नहीं … मैं समझ गई थी कि वहां क्या चल रहा है. मेरी मां ने मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ लिया और बोलीं- बेटा, मुठ क्यों मार रहे हो … जिसके नाम की मुठ मार रहे हो, वो तुम्हारे सामने खड़ी तो है, चढ़ क्यों नहीं जाते!मैं कुछ समझ नहीं पा रहा था कि चल क्या रहा है.

मेरी पहली सेक्स कहानीमम्मी पापा की चुदाई में मैं भी शामिलआपको काफी अच्छी लगी और आप सभी ने मुझे काफी संख्या में मेल भी किए थे.

मैं जानता था कि ऐसा बोलने पर उनके मन में भी बात जानने की बेचैनी उठेगी और फिर वो पक्का बताएंगी. हॉट भाभी की चूत स्टोरी के पहले भागसगी भाभी ने चूचियों से दूध पिलायाhttps://www.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो देहाती उनका साइज 36-32-38 का है, जो मैंने उन्हें चोदने के बाद उनसे पूछा था. थोड़ी देर इसी तरह धारा की नाभि से खेलने के बाद शेखर ने अपनी उंगलियों को धारा की कमर पर बंधी साड़ी के अंदर सरकाना शुरू किया.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो देहाती क्योंकि मैं पहली बार इसके घर आया था और यह इतनी रात को कहां चला गया?मैंने उसको आस-पास देखना शुरू किया. सुबह 8:00 बजे के करीब मेरी आंख खुली तो मैंने देखा कि चारों लड़के अभी भी नंगे ऐसे ही सोए हुए हैं.

जब शर्मा जी की वाइफ हमसे पूछने आईं कि यदि आप लोग रात रुकें, तो आप लोगों के लिए बिस्तर लगवा दूँ.

पाठवा सेक्सी

उन दोनों ने मेरी चूचियों को इतना चूसा कि चूचियां बिल्कुल लाल हो गई थीं. फिर विवेक बाहर चला गया और अनिकेत भैया ने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया. वो मेरे सारे बाल समेटते हुए और मेरी चुचियों को देखते हुए मेरे बालों बांधा और कुछ देर बाद वो वहां से चला गया.

हम दोनों एक दूसरे को देख रहे थे तो भाभी ने फिर से मेरे होंठों से होंठ लगा दिए और लम्बी स्मूच करने लगीं. मां की चूत पर काफी काले बाल थे, जिसकी वजह से मुझे उनकी चूत नहीं दिख रही थी. जैसे ही लंड को आजादी मिली, वो एकदम से झटके देता हुआ सीधा खड़ा हो गया और भाबी को सलाम करने लगा.

मैं और मयंक भी संगीता के दोनों तरफ लेट गए और संगीता की दोनों चूचियों को पीने लगे.

जब तक लड़की 19 साल की नहीं होती है, उसे लंड चुत और माल से दूर रखा जाता है. उनका दूसरा हाथ मेरे सिर पर आ चुका था, जो मुझे चुचों पर और ज़्यादा दबाव देने का इशारा कर रहा था. कभी वो अपनी उंगलियों से आगे की तरफ़ टटोलता तो कभी पीछे ले जाकर पीठ की तरफ़ बटन ढूँढता.

फ़लक की चूचियाँ शर्ट से लगभग बाहर थीं क्योंकि शर्ट के ऊपर के तीन बटन खुले थे जो बंद ही नहीं हो रहे थे. फिर ऐसे ही एक दिन मैं उसके घर था तो मैं सार्थक से बोला- यार कोई जॉब हो तो बताना. अच्छा एक बात बता, तेरी चूत में ऐसा कब से होने लगा … किसी को चुदते देख लिया क्या या किसी की चूत देख ली तूने? अच्छा बता आज तक तूने किसी की रियल में चुदाई देखी है?तन्वी- हां मैंने अपनी चाची को कई बार चुदवाते देखा है.

उसने कहा- मैंने उनसे पिछले पन्द्रह दिन से बात नहीं की है … क्योंकि मेरे पास अब समय ही नहीं रहता है. उसके स्पर्श से मेरे लिंग में तनाव आ गया जिसे देख नेहा ने पहले एक बार उसे जीभ लगा कर उसका स्वाद चखा.

एक शाम को मैं घर में बहुत बोर होने लगी थी, तो मैंने अपनी पुरानी साईकल को सही करा ली और शाम को मैं रोज़ एक घंटा साईकल चलाने लगी. इस सब बीच में मुझे ये नहीं याद आया कि इन दोनों बाथरूम की दीवार एक ही है. वो मेरी इस हरकत से एकदम से चौंक कर उठने लगा तो मैंने उसको बोला- लेटे रहो.

उसको देख कर वो बोला- हाय अब लग रहा न कि नई नवेली दुल्हन सुहागरात में पति से गांड मरवा कर बाथरूम जा रही हैं.

इतने में सनी बोला- क्या बात है मेरी छिनाल बहना … आज उन दोनों को भी अपनी जवानी टेस्ट करवा दी. शायद आज ये हरामी काफी दिनों बाद किसी को चोद रहा था इसलिए उसका जोश देखते ही बन रहा था. इंडियन आंटी सेक्स कहानी के पिछले भागअपनी चाची को चोद ही दियामें आपने पढ़ा किअब आगे की इंडियन आंटी सेक्स कहानी:मैंने कहा- चाची, कपड़े नहीं, ऐसे ही रहेंगे.

प्रिया अपनी चुत में गगन का लंड ले रही थी और रोमा गगन के मुँह पर बैठ कर अपनी चुत उससे चटवा रही थी. अंकल- ऐसा तो नहीं कि तुम्हें खुद ही लड़कियां पसन्द नहीं आती हों?मैं- नहीं अंकल, ऐसा कुछ नहीं है.

हालांकि मेरे लंड का साइज ज्यादा बड़ा नहीं है, लेकिन ये कम भी नहीं है. चूत पर जीभ पड़ते ही नीतू के बदन में झुरझुरी दौड़ गई।मैंने दोनों चूतड़ों पर एक के बाद एक कई चांटे मार कर फिर से उसके चूतड़ लाल कर दिये।जब भी मैं उसके चूतड़ों पर चांटे मारता तो नीतू मुझसे और जोर से मारने को कह कर मेरा जोश बढ़ाती।मैं अपने घुटनों पर झुका अपनी कमर और नीतू की चूत को सीध में कर लिया।आपको मेरी लड़की लड़की का सेक्स कहानी में खूब मजा आ रहा होगा, ऐसा मेरा दृढ़ विश्वास है. मेरा भी लंड खड़ा होकर अंजू भाभी की गांड में जाने की नाकाम कोशिश करने लगा.

सेक्सी वीडियो बीपी वीडियो गुजराती

वो अपनी बहन की चुदाई में इतना खो गया था कि हमारी तरफ मुड़कर भी नहीं देख रहा था.

बीच बीच में उसकी मुलायम कोमल जीभ को भी चूस लेता था जिसके आनन्द के वशीभूत होकर उसने अपना आत्मसमर्पण कर दिया और मुझे किस करने लगी. तो रीमा और टोनी ने पहले तो दीपा और अनिल की मालिश कि फिर ढेर सारा मसाज जेल अपने और उन सभी के ऊपर डाल दिया।मनीष और दीपा ने उल्टे लेटे-लेटे ही एक दूसरे को पकड़ा हुआ था. उनकी आंखें एकदम से ऐसे चमकने लगीं, जैसे उन्हें मनमानी मुराद मिल गई हो.

आप सभी ने कॉलगर्ल चुदाई कहानी के पहले भागमैं दोस्त की सेक्सी दीदी को चोदना चाहता थामें अब तक पढ़ा था कि मैंने दीदी से सीधे सीधे चुदाई की बात कर ली थी और उन्होंने एक पेशेवर रंडी की तरह अपना रेट बता दिया था. कुछ देर बाद शहज़ाद मेरे घर आया और हम दोनों साथ घर से ऑटो से बस अड्डे तक आए और बस देखने लगे. भाभी का दूधएक दिन भैया का फ़ोन आया- दीपक आप कहां हो?मैं बोला- भैया, मैं तो घर पर ही हूँ … कुछ काम है क्या?भैया बोले- हां … आप आ जाओ.

फिर अचानक से उसने अपना लंड मेरी चूत से निकाल लिया और मेरे बूब्स को काटना शुरू कर दिया. एक दिन उन्होंने किसी को कॉल करने के लिए मुझसे मेरा फोन मांगा तो मैंने अपना फोन उन्हें दे दिया.

तो दोस्तो, इस बार मैं अपने जेठ से चुद गई थी।Antarvasna Audio Story सुनें. भला कोई औरत किसी दूसरी औरत के साथ वो सारी हरकतें कैसे कर सकती है जो एक मर्द के साथ की जाती हैं?तब मैंने ये आश्वासन देकर रूपाली को मना लिया कि तुम एक बार कोशिश तो करके देखो. उन्हें ऐसे तड़पता देखकर मुझे बहुत मजा आ रहा था क्योंकि मैं जानती थी कि ये लोग जितना ज्यादा तड़पेंगे, उतना ज्यादा मुझे तड़पा तड़पा कर चोदेंगे.

जब पापा ने मेरी मां को तलाक दिया, तब मेरी मां 2 महीने की प्रेग्नेंट थीं. उसने आगे पीछे कैसे दो लंड लिए?दोस्तो, कहानी के पिछले भागसेक्सी जवान विधवा की चूत में लंडमें आपने पढ़ा कि मैं आर्यन अपने भाई मयंक के साथ एक कामातुर विधवा औरत की चुदाई कर रहा था. भाभी ने भी मेरे लौड़े का सारा रस खा लिया और चाट चाट कर लंड साफ कर दिया.

पांच मिनट बाद वह एकदम नॉर्मल हो गई और उसने अपनी गांड हिला कर मुझे इशारा कर दिया.

मैंने उससे डॉक्टर को पापा का नाम बताने को बोला और बताया कि आज मेरी मम्मी का चैकअप होना था. वो आह आह करती हुई कहने लगी- राज, मुझे कुछ हो रहा है … आह जल्दी जल्दी करो.

यहाँ एक गड़बड़ ये हो गयी थी कि साड़ी और साये की डोरी के ऊपर से हथेली डालने की वजह से साये की गाँठ और भी कस गयी थी. तो मैंने उसे पूछा- ऐसा करना तुमने कहाँ से सीखा?वो बोली- आप भी पूरे बुद्धू हो अंकल! आपकी और मम्मी की वीडियो में देखा था. दरअसल मैंने उसे कामोत्तेजक क्रीम दी थी जिसे चूत के अन्दर लगाने से औरत चुदासी हो जाती है.

मैं- अच्छा, जिधर पैंटी में तुम्हारी चूत लगती है, मुझे वो जगह देखनी है और कितनी गीली हुई है, वो भी देखनी है. मैं उनकी दुकान पर गया जो कि लॉकडाउन में कुछ ही समय के लिए खुलती थी. फिर मुझे बोली- राजू, यहां आओ, यहाँ थोड़ी बारिश की फुहार भी लग रही हैं और मौसम भी आशिकाना है, तुम्हें आज पूरा आनन्द दूँगी.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो देहाती उनकी मम्मी मुझे पहले से ही जानती थीं और उनके मन में मेरी छवि भी बहुत अच्छे लड़के की बनी हुई थी. मगर अब भी कुछ उलझनें शेखर के मन में टहल रही थीं; वो असली बात जानना चाहता था.

बुर की चुदाई सेक्सी वीडियो बीएफ

नेहा- आपने कुछ लिया या नहीं?मैं- जी आप तो थे नहीं तो कैसे लेता? अब आप आ गई हैं तो ले लूंगा. मैं फ़लक की चूचियों को काटने और चूसने लगा, नीचे से चूत में लण्ड सरासर अंदर बाहर हो रहा था. जानते हो, ललित ने तुम्हें हमारी सेक्स लाइफ़ और अनजान लोगों के साथ की जाने वाली मस्ती के बारे में जो भी बताया है वो सच तो है लेकिन आधा सच।तुमने पूछा था ना कि ये सब मेरी मर्ज़ी से होता है या फिर सिर्फ़ ललित की मर्ज़ी से, तो ये जान लो कि ये सब ललित की ही चाहत थी.

अब आगे लेडीज़ टेलर सेक्स कहानी:आप इस कहानी को लड़की की आवाज में भी सुन सकते हैं. चरम सीमा में आने के बाद उन्होंने पूरा लंड अन्दर डाल दिया और झड़ने लगे. ठाकुर की सेक्सी फोटोतो दोस्तो … मैं ज़्यादा गाली नहीं देता हूँ और ज़्यादा से ज़्यादा वो लिखता हूँ, जो सच हो.

जॉब लग जाने के बाद मैं अपनी मां को चोदने के बारे में कुछ ज्यादा ही सोचने लगा था.

मैंने टॉवेल तो लपेट लिया लेकिन वो मेरे लंड के पास से थोड़ा उभरा हुआ साफ़ दिखाई दे रहा था. मैंने उसके साथ किस करना मम्मे दबाना आदि कई बार कर लिया था, यहां तक कि उसे अपना लंड भी बहुत बार चुसा दिया था, पर चुत नहीं चोद पाया था.

दोस्तो, मैं प्रकाश एक बार फिर से तीन चुत की एक साथ अकेले लंड से चुदाई की कहानी को आगे लिख रहा हूँ. ये आपके मुलायम होंठ इतने मस्त लगते हैं, आंखें इतनी प्यारी कि कोई भी डूब जाए इनमें … आपका फिगर इतना सेक्सी है कि कौन न मर जाए देख कर!मैं इस तरह से भाभी की तारीफ भी कर रहा था और उनके जिस्म के उन हिस्सों को पहली बार स्पर्श भी कर रहा था जिन्हें छूने की ख्वाहिश मेरे मन में न जाने कबसे थी. प्रभा मुझसे दोस्ती की बात तो अलग, किसी भी तरह की बात भी नहीं करना चाह रही थी.

रीमा ने अपने पैरों से निखिल की कमर को जकड़ लिया और उसके झटकों को कंट्रोल करने लगी.

मैंने आंखें खोल दीं और हड़बड़ा कर जाग गया और अपनी मां के ऊपर से उठ गया. लंड चूत से बाहर निकालते ही वह पलट गई और लंड को जोर जोर से चूसने लगी. तभी मैंने उसकी चूची के निप्पल को अपने दांतों से पकड़ कर खींचा तो उसको दर्द हुआ और उसने उसी पल मेरी पीठ पर जोर से नाखून गड़ा दिए.

सेक्सी दिखामैं थोड़ा ऊपर उठा और लण्ड के फनफनाते सख्त सुपारे को चूत के नर्म छेद पर लगाया. वह मेरी चूत में अपनी जीभ अंदर तक डालकर अपनी जीभ से मेरी चूत को चोद रहा था.

सरदार सरदारनी की बीएफ

इसी तरह मैंने उससे धीरे धीरे चुदाई की हल्की फुल्की बात करना शुरू कर दीं. मैंने मौके का फायदा उठाया और उसको बेड पर लिटा कर उसके होंठ चूसने लगा. शेखर- मैं एकदम ठीक हूँ ललित भाई, बस सोने ही जा रहा था।धारा- अरे इतनी जल्दी सोने जा रहे हैं आप … क्या हो गया?शेखर- बस ललित भाई, आज तबियत थोड़ी नाराज़ है.

लेकिन शेखर की इस हरकत से धारा के गले में लंड का धक्का ज़ोर से लगा और वो गूँ-गूँ करती हुई पीछे हट गयी. फिर मैं उसको बोली- चल कोई नहीं, तू चूत में डाल ले!तो वो बोला- मैं आपको बिना कंडोम के चोदना चाहता हूँ. वहां मुझे रोज़ नहीं जाना होता था, बस पेपर देने के लिए जाने का सीन था.

ये बात स्नेहा को नहीं पता थी कि चिराग ने ज्योति को बुलाया है और दोनों का मिलन होने की पूरी सम्भावना है. उसके 42 इंच के चूतड़ों को देख कर ऐसा लगता है, जैसे 2 तरबूज काट कर गांड के छेद के दोनों तरफ चिपका दिए गए हों. ब्लू फिल्म देखती हुई शन्नो आंटी अपनी चूचियों को मसल रही थी और बोल रही थी- आह आहह हहह आउह हहह और तेज़ चोद … और तेज़ चोद साले आंटी को उसकी चुत फाड़ दे.

दोस्तो, मैं आपका अपना प्रकाश सिंह आपकी सेवा में अपनी एक नई और सच्ची घटना के साथ पुनः हाजिर हूँ. मैं आंख बंद करके अपनी चुत में उंगली कर रही थी कि किसी तरह चुत शांत हो जाए.

तो क्या तुम उसके साथ सेक्स कर चुके हो?गौतम बोला- नहीं दीदी, अभी तो नहीं किया है.

फिर क्या हुआ?नमस्कार दोस्तो,मैं राकेश अपनी एक और कामुक और सच्ची फ्री सेक्स स्टोरी हिंदी आप लोगों के समक्ष ले कर आया हूँ, आशा करता हूँ कि आप सब लोग मेरी इस कहानी को भी उतना ही पसंद करोगे जितना आपने मेरी पिछली कहानियों को किया. बिना सेक्सतकरीबन दस मिनट बाद उसका लन्ड फिर से टनटना गया और अबकी बार समीर उठा और उसने पहले अनामिका की गांड चाटी. भयंकर चुदाई वाली वीडियोतभी अचानक एक दिन दीदी मेरे पास आई और बोली- मधु, हम लोग अपने घर जा रहे हैं. आज वो कुछ ज्यादा ही गर्म लग रही थी … शायद ये उस दवा के कारण था, जो अमित में कोमल की बियर में डाला था.

आप सभी के द्वारा मेरी कहानियों को बहुत पसंद किया जाता है और ढेर सारे ईमेल भी मुझे मिलते हैं जिन्हें पढ़कर मुझे बहुत अच्छा लगता है.

उनके मुँह से सिर्फ ‘सी सी और आह …’ की आवाज निकल रही थी जो मुझे और उत्तेजित कर रही थी. जिस घर में हम रहते थे, वो हमारे दादा का था … मतलब उसमें चाचा लोगों का भी हिस्सा था. उसके बाद हमारे शारीरिक सम्बन्ध कैसे बन गए?अन्तर्वासना के सभी पाठक और पाठिकाओं को मेरा नमस्कार!मेरा नाम अजय है और मैं जयपुर का रहने वाला हूँ.

आकाश में अपनी उंगली पर तेल लगाया और धीरे धीरे करके मेरी गांड में अपनी दोनों उंगलियां अन्दर डाल दीं. एक दिन जब मामा मेरे होंठ चूसते हुए मेरी चूचियां मसल रहे थे, तब मां ने देख लिया था. तभी अचानक कॉफी लेकर उसका नौकर आ गया और वह हॉट बिजनेस वुमन कहने लगी- थोड़े दिन रुको, मैं तुम्हें ऐसा काम बताऊंगी जिसमें तुम बहुत पैसे कमा सकते हो!जब आशारा ने ये बात कही तो उसके नौकर ने तिरछी नजरों से मुझे देखा जो मुझे कुछ अटपटा सा लगा.

કામવાળી સાથે સેકસ

अब सुनीता शायद थक चुकी थी लेकिन मेरा लंड अभी तक सर उठाए खड़ा हुआ था और अपनी विजय पताका फहराने के लिए लालायित था. आपकी सास एक हफ्ते के लिए नहीं हैं, आपके पति 10 दिन बाद आने वाले हैं. लगभग 10 मिनट के फोरप्ले के बाद चाची कहने लगी- जैसे पहले चोदा था, वैसे ही चोदो!मैं चाची के पाँव की तरफ गया.

उसने ऋतु को डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और पीछे से लंड पेल कर उसे चोदने लगा और उसकी गांड में थप्पड़ मारने लगा.

भाभी बोलीं- बड़ी मस्ती आ रही है, अभी बताती हूँ तुझे!वे मुझे फिर से चुम्बन करने लगीं.

शहज़ाद कपड़े पहने लेटा था, तो मैंने उससे बोला कि तुम अपने कपड़े बदल लो … क्योंकि तुम कोई दूसरे कपड़े नहीं लाए हो. मैं दरवाजा बंद करने लगा तो शीना एकदम से दरवाजा खोलकर वापिस आयी और मुझे अपनी बांहों में भर लिया. चेहरे को क्लीन कैसे करेंअब मेरी शन्नो रंडी भी अपनी गांड आगे पीछे करने लगी और बोलने लगी- राज चोदो मुझे … और चोदो अपनी शन्नो रंडी को.

वरना कल तेरा सामान बाहर फेंक दूंगा और चोरी के इल्ज़ाम में जेल की हवा अलग. चाची की चूत और चूतड़ मेरे खड़े होने से थोड़ा नीचे हो गए और मैंने अपनी टांगें फैलाकर अपनी ऊंचाई को बड़े आराम से चूत में सेट किया. मैंने थोड़ा साइड में सरक कर देखा, तो मां सोई हुई थीं और मुझे गर्मी लग रही थी क्योंकि थोड़ी बारिश के कारण लाइट चली गई थी.

उसकी मम्मी काम में लगी रहती हैं, तो हम पर कोई ज्यादा ध्यान नहीं देता था. तब मैंने अपना लंड एक बार में पूरा अन्दर डाल दिया जिससे वो जोर से आहें भरने लगी.

मैं बोली- बड़े बेशर्म होते जा रहे तुम!उसी पल उसने मेरी चूचियों को पकड़कर मसल दिया और बोला- क्या चूचियां हैं दीदी.

अब मैंने फिर से एक बार उनके होंठों में होंठ लगाकर किस करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने इसमें मेरा साथ नहीं दिया. जब कविता ने मेरे लण्ड की मसाज कर दी तो मैंने उसे बेड पर लिटा दिया और उसके चूतड़ के नीचे तकिया रखकर उसकी टाँगों के बीच आ गया. फिर उसने धीरे धीरे मेरे बदन को चूमते हुए अपना मुंह मेरी चूत में लगा दिया और वो मेरी चूत को चाटने लगा.

सेक्स डॉल मेरी बस पहुंचने के समय मैंने उसे बताया कि मैं बस अड्डे पर पहुंच गया हूँ. जैसे ही पानी छूटा, उनके हाथों से मेरी पीठ पर और होंठों से मेरे होंठों पर दबाव बढ़ गया.

शायद मेरे प्यार ने ही मुझे इस खेल में अपने कदम आगे बढ़ाने को मजबूर कर दिया. मैंने उसकी आंखों में वासना से देखा, तो उसकी आंखें भी चुदास के नशे से भरी हुई थीं. मैं अपना बुल्ला हाथ में लेकर मां की चूत का छेद खोजने लगा लेकिन मुझे चुत का छेद नहीं मिल रहा था.

बीएफ देहाती वीडियो

जब तक लड़की 19 साल की नहीं होती है, उसे लंड चुत और माल से दूर रखा जाता है. मुझे उसकी चुत चाटने में मजा नहीं आ रहा था तो मैंने उसकी चूत को थोड़ा ही चाटा और उसे उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया. मेरी जीभ की गर्मी पाकर आशारा की फूली हुई चूत और भी मस्त होने लगी और सांस लेती चूत का स्पष्ट अहसास पाकर मेरी हरकतें तेज होने लगीं.

अचानक मेरी नज़र सामने की खिड़की पर पड़ी जिसकी हल्की सी ओट से नीतू हमें देख रही थी।इस वक़्त मैं नीतू को और नीतू, मुझे और रूपाली देख रही थी. तभी मुझे लगा कि वो झड़ने वाली हैं; मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और ‘उम आह.

कुतिया बनी मुस्लिम रंडी शन्नो अपनी गांड आगे पीछे करके मज़े लेने लगी थी.

संगीता लगातार मेरे लंड पर उछल रही थी और चिल्लाने लगी थी- आह चोदो मुझे और जोर से चोदो … मेरी चूत और गांड को खा जाओ … आह फाड़ डालो. [emailprotected]कॉलगर्ल चुदाई कहानी का अगला भाग:दोस्त की सेक्सी दीदी की चुदाई की कहानी- 3. इसके बाद कुछ ऐसा हुआ कि मैं जब भी सिम्मी भाभी को देखता था तो भाभी भी मुझे उसी पल नोटिस कर लेती थीं कि मैं उनको देख रहा हूं … और मुझे बरबस उनकी खूबसूरत जवानी के दीदार से महरूम हो जाना पड़ता था.

कुछ देर की चुदाई के बाद मुझे लगा कि मेरा टाइम पास में आ गया है, तो मैंने भाभी को बेड पर लेटा दिया और तेज चुदाई करने लगा. क्यूट न स्वीट गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं तब तक कमसिन और कुंवारी थी. मगर वो बोला- दीदी मैं बड़ा हो गया हूं और आप जिसकी बात कर रही हो, वो भी बहुत बड़ा है.

पर तुम्हारे पापा तुम्हारी माँ पर ही गन्दे इल्ज़ाम लगाने लगे और उन पर शक करने लगे.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो देहाती: और फिर एक दिन मेरे पति घर पर थे क्योंकि आज उनकी दुकान की बंदी रहती थी. रात में मन नहीं भरा … लगता है।अब दोनों की चुदाई की थप थप थप बढ़ने लगी।रोमिल बोला- मेरी बीवी मेरे सामने मेरे दोस्त का लन्ड लेकर कितनी खुश है।मैंने कहा- भाभी देवर का प्यार है भाई!और मैं जोर जोर से झटके लगाने लगा और उसकी गान्ड में फिर से लावा निकाल दिया।लंड निकाल कर मुंह में डाल दिया वो गपागप गपागप चूसने लगी और साफ कर दिया।हम एक-दूसरे से लिपटकर किस करने लगे.

मेरे लंड चलाने से अब संगीता की चूत को मजा आने लगा था और वो हल्की सिसकारियां लेने लगी थी. पर भाभी कुछ बोलतीं, इससे पहले ही मैंने अपनी चार उंगलियां उनके मुँह में डाल दीं. मेरी जवानी वैसे के वैसे रह गयी, जिसका मैं मज़ा न ले सकी, कहीं वैसा ही इसके साथ भी न हो.

मैं माफी मांगता हूँ अगर मैंने आपका दिल दुखाया हो तो, पर मैं उस वजह को जानना चाहता हूँ … जिसने आपको गलत रास्ते पर चलने पर मज़बूर कर दिया है.

चाची ने गैस को सिम पर करके दूध उबलना रख दिया और एक थाली में खाना ले आई और डाइनिंग टेबल पर लगा दिया. दरवाज़ा बंद करने के बाद धारा शेखर के पीछे खड़ी हो गयी और अपने दाहिने हाथ की उंगलियों को शेखर के कान के ठीक पीछे से शुरू करते हुए पूरी गर्दन और धीरे-धीरे उसकी पीठ पर इधर-उधर घुमाने लगी. एक बात तो सच है कि लन्ड चूसने में जो मज़ा मर्द देते हैं महिलाओं के अंदर वो कला कम होती है.