बीएफ फिल्म डॉट कॉम

छवि स्रोत,फुल एचडी हिंदी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी सूची: बीएफ फिल्म डॉट कॉम, मुझे मेरे बॉस ने बोला कि देख जय तेरे को परसों जाना है … तू कल हाफ डे लेकर पैकिंग कर ले और प्रेजेंटेशन अच्छे से देना.

पिकल सब्जी के फायदे

वो बोला- उठने की कोशिश करो!मैंने उठना चाहा, पर नाटक करते हुए फिर से बैठ गई और बोली- ऊंह … नहीं उठा जाता, सहारा दो मुझे. पिक्चर सेक्सी फिल्मनीरू पायल की गतिविधियां देख रही थी, उसने पायल से पूछा- यह जो कुछ हो रहा है, किसी से कहेगी तो नहीं?पायल ने कहा- नहीं, तू मेरी सहेली है, मैं ऐसी बातें कैसे कह सकती हूं.

लेकिन लंड को चूत की जो गर्मी मिली, उस अहसास को मैं शब्दों में बयान नहीं कर सकता कि कितना मज़ा आया. ओपन मराठी सेक्सी व्हिडिओअब मैंने अपने लंड की स्पीड बढ़ा दी, अब सविता चुदाई का पूरा मजा ले रही थी और नीरू उसकी गांड की दरार को फैलाकर मेरे लंड को सविता की चूत में अंदर बाहर होते देख कर मजे ले रही थी.

शीतल मयूरी की जाँघों पर लगे केक को अपनी जीभ और होंठों से चाट-चाट कर खाने लगी.बीएफ फिल्म डॉट कॉम: चूत का रस तो बहुत हेल्दी होता है, अभी तो तेरी चूत चाटनी भी है मुझे!” मैंने खाते खाते कहा.

आप सभी आंटियों भाभियों एवं लड़कियों तथा हमारे प्रिय दोस्तों से निवेदन है कि आप सभी अपने सुझाव मुझे ईमेल करके भेजें ताकि मुझे और कहानी लिखने की प्रेरणा मिल सके.सुलेखा भाभी की तड़प को देखकर अब मुझे भी समझ आ गया था कि सुलेखा भाभी पता नहीं कब से प्यासी थीं.

सेक्सी वीडियो फुल हद में - बीएफ फिल्म डॉट कॉम

मुनीर ने माइक से वो डिब्बी छीन ली और बहुत सारी क्रीम निकाल कर माइक के लिंग पर ऊपर से नीचे जड़ तक मल दी.मीता से न रहा गया और वह लन्ड अंदर लेने के लिए कूल्हे ऊपर हिलाने लगी.

मैंने तब तक कोई लेस्बियन पिक्चर नहीं देखी थी, इसलिए मुझे नहीं पता था कि कोई लड़की भी किसी लड़की को अपने तरीके से चोद सकती है. बीएफ फिल्म डॉट कॉम फिर हम दोनों साथ में नहाए और सोनाली को रेस्टोरेंट ले जाकर साथ में डिनर करके उसे उसके फ्लैट तक छोड़ दिया.

लेकिन कहीं नौकरी पसंद नहीं आई तो कहीं नौकरी देने वालों को मैं नहीं पसंद आई। अब यहां देखो क्या होता है।”यहां न बन पाये तो कह देना कि लखनऊ में करोगी। यहां मैं नौकरी की भी सेटिंग करा दूंगा, रहने की भी और लड़के की भी। रोज ही करना तब.

बीएफ फिल्म डॉट कॉम?

मैं मान गई, तो उन्होंने मुझे घोड़ी बना दिया और उसके बाद वो मुझे घोड़ी बनाकर चोदने लगे. वो गाली भी दे रही थी- आह साले, अब आया न पटरी पर … कुत्ते और जोर जोर से चोद … आह … आहह … उफ … चोद साले जोर से!दस मिनट बाद सोनल का बदन एकदम अकड़ने लगा और उसने मुझे कसके पकड़ लिया. वो बोली- लेकिन!मैंने कहा- चुप … अब पढ़ाई पर ध्यान दे, मॉम आकर देखेगी कि तूने कितना काम किया है.

उधर अपने नौकर को भी फोन करो कि बढ़िया वाली स्कॉच दारू चिकन और सब लेकर जल्दी पहुंच जाए. जिस पर उसने किस वाला स्टीकर भेजा और मैंने उससे कल के लिए बटन वाली शर्ट पहन कर आने को कहा. फिर कुछ देर बाद मैं भी नीचे आ गया और प्रशान्त को ऊपर ही कमरे के अंदर बन्द कर दिया.

रात में जब दोनों लड़कियां सोने चली गई तो सविता ने पूछा- नीरू, बता ना वह कौन है? और क्या तूने उससे चुदवाया है?तभी नीरू ने कहा- हां, मैंने बहुत बार चुदवाया है. चाची ने कांपते हुए अपने पैर खोल दिए। वो बड़ी डरपोक थी, सब कुछ सच मान बैठी।मैंने खुद अपने हाथ से उनकी पेंटी उतार दी, उन्होंने पैर खोल दिए, मैं चाची की चूत के सामने आकर बैठ गया।उह्ह्ह!! कितनी चिकनी और सुंदर चूत थी … बिल्कुल साफ़ … एक भी झांट नहीं!मैंने उंगली मुंह में डालकर गीली की और चूत में घुसा दी, फिर अंदर बाहर करने लगा, फिर जल्दी जल्दी फेंटने लगा।निकिता चाची ‘ओहह्ह … ओह्ह्ह्ह … अह्ह ह्हह… अई. नीरू ने पूछा- आपका बेटा सो गया है?मैंने कहा- वह सो चुका है और उसका रूम भी काफी दूर है, कोई आवाज उसको नहीं जाएगी.

वो भी मुझसे लिपट गई और हम लोग दस मिनट तक तो एक दूसरे को टटोलते रहे. मैं सोच ही रहा था कि जिस चूत को चोदने में इतना मज़ा आया, उसका रस कितना मीठा होगा.

श्श्शशश …” कहकर सुलेखा भाभी अब एक बार फिर से सिसकार उठीं और अपने दोनों हाथों से मेरे सिर को अपनी चूचियों पर जोरों से दबा लिया.

फिर थोड़ी देर बाद वो रजत के लंड को अपने मुँह में डालकर विक्रम के लंड को हाथ से हिलाने लगी.

फिर भाभी बोली- अब सो जा!फिर हम दोनों उसकी हालत में ही सो गए।रात को मेरी आँख खुली तो भाभी जाग रही थी और मुझे बड़े प्यार से देख रही थी।मैंने पूछा- क्या हुआ भाभी?वो बोली- तू बहुत प्यारा लग रहा है इसलिए तुझे देख रही हूँ।मैंने भाभी को किस किया और हमने फिर चुदाई की और सो गए।इस तरह मेरी पहली चुदाई खत्म हुई और चुदाई की सिलसिला शुरू हुआ।आप अपने कमेंट लिखकर मुझे बताइये आपको मेरी इंडियन सेक्स कहानी कैसी लगी. उसकी गांड थी ही इतनी सुंदर … मुझे चूत से ज्यादा उसकी गांड देखकर मजा आ रहा था. उसकी छातियां ऊपर नीचे हो रही थीं और उसके चुचे तन कर ब्लाउज को फाड़ बाहर निकलना चाहते थे.

अब मैं और रीतिका होटल के तरफ बढ़ चले, रीतिका के चेहरे पर जीत साफ झलक रही थी। मैं सबकी नजरों से बचता हुआ रीतिका के कमरे में पहुंचा, रीतिका कमरे को बन्द करते ही मुझसे लिपट गयी और मेरे होंठों को चूसने लगी. परंतु उनके हाथ में जो भी जादू रहा हो, मेरा दर्द बिल्कुल गायब होने लगा. इस सच्ची कहानी को लेकर आपकी कोई सुझाव या प्रतिक्रिया हो तो प्लीज़ मुझे[emailprotected]पर ज़रूर मेल करें.

जब हम दोनों शांत हो गए तो मैंने उसकी चूत में से अपना लंड बाहर निकाल लिया.

माइक और दबाव देने लगा, पर अभी सुपाड़े का पीछे का हिस्सा थोड़ा घुसा कि मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ और मैंने दोनों हाथों और टांगों की ताकत से माइक को रोक लिया. आप मुझे मेल कर के बतायें कि कैसी लगी आप सब को मेरी कहानी! अगली बार फिर से हाजिर होऊँगा अपनी अगली कहानी के साथ।[emailprotected]. मैं अपने बिस्तर पर आकर बैठा ही था कि तभी प्रिया ने मेरे कमरे के दरवाजे पर आकर पूछा- क्या हुआ? क्यों शोर कर रहा है?उसने नीचे स्कर्ट … स्कर्ट तो नहीं थी वो क्योंकि स्कर्ट घुटनों तक ही लम्बी होती है … मगर वो जो भी था, उसके पंजों तक की लम्बाई का था.

मैं अन्दर नहीं आऊंगा और वैसे भी अगर आ गया तो मुझे अंधेरे में कुछ दिखेगा ही नहीं. ’ कहकर पूजा मुझसे लिपट पड़ी और अपनी चूत से लंड को भींच लिया और फिर से मेरे लंड पर धीरे धीरे अपनी चूत को ऊपर नीचे करने लगी. मैंने देखा कि हॉल के अन्दर छोटे छोटे से केबिन हैं और केबिन के अन्दर एक छोटा सा बेड था, जिस पर एक ही जन लेट सकता है.

मेरे इम्तिहान सिर पर थे, तो कालेज से हमें फ़्री कर दिया और मैं अपने आपको एकाग्र करके अपनी परीक्षा की तैयारी में लग गया.

मैं यह सोच कर अन्दर ही अन्दर खुश हो गया था कि बड़ी चाची चुदाई देख कर शायद मेरी ओर आकर्षित हो जाएं. मैं अंदाज से कह सकती हूं कि उसकी लिंग की इस ढीली अवस्था में मोटाई 4 इंच के व्यास की होगी और लंबाई करीब 6 से 7 इंच होगी.

बीएफ फिल्म डॉट कॉम मैंने अपने लंड का दबाव उसके मुंह पर बनाया, दबाव ज्यादा होने के वजह से उसे मजबूर होकर मेरा पूरा वीर्य पीना पड़ा. फिर कुछ ही देर में मैं भी चरम पर पहुंच गया, मैंने प्रिया को अपनी बांहों में जोरों से भींच लिया और चार पांच किस्तों में उसकी चुत को अपने वीर्य से पूरा भरकर उसके ऊपर ही निढाल होकर गिर गया.

बीएफ फिल्म डॉट कॉम इससे पहले कि रिया भाभी और मयूरी भाभी कुछ कहतीं, एकता भाभी ने कहा- हम तुम्हें अकेले रिया को खुश करने नहीं देंगे, तुम्हें हम दोनों को भी खुश करना होगा. मैंने तब पूजा की कमर को अपने दोनों हाथों से कस कर पकड़ ली और उसकी गांड में दनादन अपना लंड पेलने लगा.

यह जानते ही मैं एकदम से बेचैन हो उठा कि कब मैं अपना लंड आंटी की चूत में डाल दूँ.

mama बीएफ

अब मैंने भी काफी तेजी से धक्का देना चालू कर दिया और इसका नतीजा यह निकला कि मैं काफी जल्दी ही झड़ गया. अब तक हिना भाभी जान चुकी थीं कि क्या खेल चल रहा है, पर उन्होंने मुझे कुछ नहीं कहा. घर में दोनों बेटे अपनी माँ को खूब चोद रहे थे और तीनों सदस्य एक दूसरे को खूब सारी गन्दी-गन्दी गालियां भी दे रहे थे पर इन सब चीज़ों से उनको बहुत ही ज्यादा आनन्द और उत्तेजना हो रही थी.

उस रात मौसम बहुत सुहाना और ठंडा हो रहा था क्योंकि बारिश का मौसम आने ही वाला था, तो हवा भी तेज़ चल रही थी. ‘बस्स मेरी जान … हो गया अब …’ कहते हुए मैंने प्रिया को सांत्वना देने के लिए उसके गालों पर एक बार प्यार से चूमते हुए कहा और फिर से तेजी से धक्के लगाने लगा. वो पागल हुए जा रही थीं, उन्होंने अपने दोनों पैरों से मेरे सर को जकड़ रखा था.

ये कहकर मैं अपने कमरे में आ गया और लगभग आधे घंटे बाद रेवती भी कोई बहाना बना कर मेरे कमरे में आ गई.

सच में भाभी की गांड बहुत अच्छी थी और ऐसे ही 2 सालों तक हफ्ते दो से तीन बार हमारी चुदाई हो ही जाती थी. भरपूर चुदाई के बाद पूर्ण संतुष्टि हुई और रात को देर से हम दोनों घर लौटे. स्पष्ट था कि यह मेरी बीवी के लिए एक बहुत ही सुखदायी और रोमांचकारी लम्हा था.

उसकी लिपस्टिक का लाल रंग स्टीव के गोरे लंड पे लग रहा था और वो बेतहाशा लंड को चूस रही थी. मीतू- तू उस दिन भी मेरे बूब्स देख रहा था ना?मैं- हां अब हैं ही इतने बड़े, तो नजर तो जाएगी ही न!मीतू- कल नहीं देख पाएगा, क्योंकि मैं नया टॉप लायी हूँ. लेकिन मैं डर गया था, मेरी तो गांड फट गयी थी कि अब क्या होगा, अब सबको ये बात पता चल जाएगी.

तभी नीरू ने पायल की सलवार में हाथ डाल दिया और उसकी चूत में उंगली डाल कर बाहर निकाल कर मुझे दिखाते हुए बोली- अरे जीजू, देखो इसकी बुर पूरा पानी छोड़ चुकी है, यह तो पूरे मजे ले रही है. फिर उन्होंने उसी बात पर जोर दिया कि गर्लफ्रेंड के बारे में बताओ न … क्या उसने इस तरह की कोई बात मॉम को बता दी है?मैंने कहा- कहा तो भाभी, कोई नहीं है.

उसकी बड़ी सी गांड को दबाने में बहुत मज़ा आ रहा था।अब मैंने धीरे-धीरे उसके पजामे को थोड़ा नीचे कर दिया और उसकी छोटी सी चड्डी में से उसकी गांड बाहर झाँक रही थी। उसकी चड्डी की इलास्टिक में मैंने हाथ डाल दिया और उसकी चिकनी गांड को सहलाने लगा।मासूम सी लड़की आज मेरे हाथ में थी. स्टोर वाले ने नीचे का गेट खोला, फिर वो गाड़ी के पास आ कर हम लोगों से बोला- आ जाइए. मैंने कहा- जब शादी हो जाती है तो पति और पत्नी आपस में प्यार करते हैं, तो उसे ही सेक्स कहते हैं.

मैं प्रिया से कुछ कहता, तब तक प्रिया भी सुलेखा भाभी के पीछे पीछे ही उस कमरे से बाहर निकल गयी.

इतने में जो अंकल मेरी चूत को चाट रहे थे, उन्होंने अपने हाथ का अंगूठा मेरी चूत में घुसा दिया और साथ में जीभ भी डाल दी. करीब 10 मिनट तक हम एक दूसरे को ऐसे किस करते रहे फिर…अचानक से किसी ने दरवाज़ा खटखटाया. मेरी ये सहेली ही एक ऐसी थी, जिसको पता था कि मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड से होटल में जाकर चुदवा चुकी थी.

मुझे बहुत पीड़ा हो रही थी, मेरी योनि के चारों दीवारों के बीच बहुत खिंचाव महसूस हो रहा था. मैंने कहा- मैं यहाँ का मालिक हूँ और दरवाजा खोल! अगर तूने अब दरवाजा नहीं खोला तो मैं दरवाजा तोड़ दूँगा.

अभी भी हल्के नशे में मेरा दिल कर रहा था कि बस अभी उनकी गांड खोल कर चाट लूँ और मार लूँ. मेरे निप्पल्स तन चुके थे और एक एक करके मेरा बेटा, जो अब मेरा पति बन चुका था, वो उन्हें दांत से काट रहा था. तभी वे मकान मालिक अंकल बोले- लालजी ने मुझसे बोला भी था कि अंकल मैं सोनू की आपको दिलवाऊंगा जैसे ही मौका मिलेगा.

सेक्सी बीएफ ओपन सेक्सी

बाकी मेरे रहने और खाने की चिंता उन्हें सता रही थी, तो मेरे दोस्तों के ये कहने पर ही कि उनके रिश्तेदार उसी जगह रहते हैं, किसी तरह की कोई समस्या नहीं रहेगी, घर वालों ने मुझे जाने की इजाजत दे दी.

एक शनिवार के दिन मैंने छुट्टी ली हुई थी और घर बैठे आराम करने का मन बनाया था. रेवती चिल्लाती जा रही थी और मैं उसे चोदता रहा, चोदता रहा, चोदता रहा और अचानक एक जोरदार आह के साथ मेरे लंड ने रेवती की चूत को अपने वीर्य से लबालब भर दिया. वो मेरी बात का मतलब समझ गयी थी, इसलिये उसके चेहरे पर मुस्कराहट आ गयी और शर्माकर उसने नजरें झुका लीं.

फिर मैंने और ज़ोर से माँ की चूत में जीभ डालनी शुरू कर दी तो माँ पागल सी होने लगी. लंड घुसा कर वो बोला- बहुत बड़ी कुतिया है तू वन्द्या … साली तू बहुत मादरचोदी है … आज तुझे रगड़ कर चोद देता हूं. बिहार सेक्स वीडियो एचडीइस तरह से बड़बड़ाते हुए रेवती अपने तकिए को मसले जा रही थी और अगले ही पल एकदम शांत हो गई.

मैंने उससे पूछा- तुम्हारे घर पर जब मेरी चुदाई होगी तो तुम कहां पर रहोगी?उसने कहा- तुम्हारे पास ही रह कर मैं भी देखूँगी कि वो तुमको कैसे चोदता है. वो बहुत प्यासी जान पड़ रही थी, मेरे होंठों को काट रही थी।मैंने अपने बायें हाथ से उसकी कमर को पकड़ा और मेरा दाहिना हाथ उसकी चूची और चूत दोनों को ही कपड़े के ऊपर से मसल रहा था। फिर वो मुझसे अलग हुयी और मेरा हाथ पकड़ कर बेड की तरफ बढ़ने लगी.

मैं समझ गई कि ये झड़ने वाला है, मैंने भी अपनी टांगों को और चौड़ा कर लिया और कुछ ही टाइम में उसने मेरी चूत को अपने माल से भर दिया. मैंने अपनी पैन्ट की जिप खोली और अपनी चड्डी से लंड बाहर निकाल कर उसको दिखा दिया. मैं कभी माइक के सवालों का जवाब देती, तो कभी उसके पीछे का दृश्य देखती.

यह कहकर वह घुटनों पर बैठकर मेरे लंड पर किस करने लगी और धीरे धीरे चूसने लगी. वो समझ गया कि उसकी बहन की चूत की खुजली मिटाने वाला लंड उसे मिल गया. कुछ समय बाद हम तीनों आपस में लगातार चुदाई करते हुए कुछ नयापन ढूंढने लगे तो एक दिन मेरी पत्नी ने नीरू से कहा- नीरु, अब पहला वाला मजा नहीं रहा अपने तीनों एक दूसरे से कई महीनों से मजे ले रहे हैं कुछ नया करो!नीरू ने पूछा- जीजी नया क्या … खुल कर बताओ ना?मेरी पत्नी ने बोला- तेरी कई सारी सहेलियां गांव में है उनमें कोई ऐसी लड़की हो जो अपनी मर्जी से चुदना चाह रही हो, उसे ले आ … तो बहुत मजा आएगा.

चाची- पूछते क्यों हो राजा, पेल दो न!चाचा- तेरी चूत को आज बहुत चोदूँगा मेरी रानी.

हम दोनों को इतना मजा आ रहा था जितना जीवन में कभी नहीं आया था।हम लोग सुशीला और मानसी को बहुत देर तक नॉनस्टॉप पेलते रहे. थोड़ी देर बाद वो बोली- अब और नहीं रहा जाता मुझसे … चोद कर तू मुझे औरत बना दे।मैंने भी देर नहीं की और उससे कहा- यार कोई क्रीम या तेल ले आ! चिकनाई लगा कर करेंगे तो आसानी से अंदर चला जाएगा.

मैंने अपने लंड को क़ाबू में रखा और तब तक पानी नहीं छोड़ा, जब तक वो पूरी तरह संतुष्ट नहीं हो गईं. मैंने थोड़ा झुक कर पूजा के होंठ अपने होंठों में लेकर उसका मुँह बंद कर दिया. ये कहकर मैं अपने कमरे में आ गया और लगभग आधे घंटे बाद रेवती भी कोई बहाना बना कर मेरे कमरे में आ गई.

फिर मेरी टांगें फैलाकर अपनी उंगली को मेरी चूत में रख कर उंगली अन्दर घुसा दी. आज मैंने उससे कहा तो उसने कहा- आज तुम अपना लंड मेरी चुत में धीरे से अन्दर डालना. उन लड़कों से उन बगावत करने वाली लड़कियों को चुदवा दूँगी और उनकी चुदाई की फिल्म बना कर नेट पर अपलोड भी कर दूँगी.

बीएफ फिल्म डॉट कॉम साथ ही मुझे अपने ऊपर गुस्सा भी बहुत आ रहा था कि ये मैंने क्या कर दिया. कुछ देर बाद मैं किचन में चली गयी खाना बनाने के लिए बाद में खाने पर मैंने जग को बुलाया.

बीएफ वीडियो देखे वाला

उसके बाद वो तीनों अंकल और मम्मी आंगन में बैठे हंस रहे थे, बातें कर रहे थे. अपनी इस महत्वाकांक्षा के फलस्वरूप मैंने अपनी दाई टांग ऊपर हवा में उठा दी और दीमा ने बाईं टांग सोफे से नीचे रख ली. मैं सोचने लगा कि अब मैं क्या करूँ? पूर्वी को जगाऊँ या ऐसे ही निकल जाऊं?यही सब सोचते सोचते पता नहीं कब मुझे भी नींद आ गयी और मैं भी सो गया.

अब जो सब्जेक्ट छेड़ दिया है… उसके बाद नींद कहां आयेगी। अब तो खुद ही दिल कर रहा है और बातें करने का।”उन लड़कों में से किसी ने शादी करने में दिलचस्पी न दिखाई?”तीनों दूसरे धर्म से थे. बची हुई कमी को रेवती की कमर, उठ उठ कर गिरती हुई उसकी गांड और उसके उछलते हुए चूचे पूरा कर रहे थे. मराठी सेक्स ओपनमैं उन्हें किस करने लगा और रात के अंधेरे में ही उनकी चड्डी भी उतार दी.

सुलेखा भाभी की एक चूची का रस पीने के बाद मैंने उनकी दूसरी चूची को पकड़ लिया और उसका रस पीते पीते अपना एक हाथ उनके चिकने पेट पर से सहलाते हुए नीचे उनकी चुत की तरफ बढ़ा दिया.

मैं बोली- ओके अंकल जैसा आपको ठीक लगे! पर मम्मी जान ना पाए कहीं कि मैं रात में बाहर गई थी. अगर किसी को यह ‘घर की चूत’ तैयार करने में कोई परेशानी हो तो वह मेल कर के पूछ सकता है कि कैसे बनायें अपने तकिये को ‘होम मेड सेक्स टॉय’यह एकदम सुरक्षित है.

” मैंने जोश जोश में उसके लोवर व पेंटी को थोड़ा जोरों से खींचते हुए कहा. मैं समझ रहा था कि उसको चुदने की जल्दी मची है, लेकिन वो भी पूरा मजा लेने के मूड में थी. मैं बस लम्बी लम्बी सांसें ले रही थी और धीमी धीमी आवाजें निकाल रही थी.

तो वो जोर से हंस पड़ी और बोली- मैंने तुम्हें दिन में ही कहा था कि तुम बहुत दिलचस्प आदमी हो.

मोबाइल पे दिखाई थी, जब से वन्द्या की सेक्सी फोटो देखी, तब से मैं इसके लिए पागल हो रहा था, आज मौका मुझे मिला. करीब 10 मिनट बाद मैंने फिर उठकर एक बार उनकी चूत चूस कर गीली कर दी और उन्होंने मेरा लंड गीला कर दिया. मैंने आंटी को बोला- आज आप लोग कहां घूमने जा रहे हैं?तो उन्होंने बताया- बेटा, हम लोग दिल्ली से आए थे.

अंग्रेज की सेक्स वीडियोफिर मैं पैंटी लाइन से चूमता हुआ उसकी जांघों को अंदर चूमने लगा और हल्का सा कहीं काट भी लेता, इससे नीता की आवाज़ और ज़ोर से निकलती।फिर मैंने धीरे धीरे उसकी पैंटी उतार दी और जो मेरे को देखने को मिला उसे देख कर मेरी आँखें खुली रह गयी। एकदम दूधिया रंग गोरी चूत और बाल का तो नामोनिशान भी नहीं। जब एक मिनट तक मैंने कोई हरकत नहीं की तो नीता ने आँखें खोल के देखा. जब मैंने ऐसा कहा तो वह डर गया और डरते हुए दरवाजा खोल दिया, दरवाजा खुलते ही मैं अन्दर आ गया और अन्दर से दरवाजा बंद कर लिया।मैंने कहा- कौन है तू? यहाँ क्या कर रहा था? दरवाजा क्यों नहीं खोल रहा था, और कौन है यहाँ तेरे साथ?इस तरह मैंने चार-पांच सवाल एक साथ कर दिये.

बीएफ नेपाली वीडियो

कुछ देर बाद मैंने भी अपने लंड से गर्लफ्रेंड का मुंह टहोका तो वो दीमा का लंड मुंह से बाहर निकाल कर मेरा लंड चूसने लगी. एक दिन मैं उसके भाई से मिलने उसके घर गया, क्योंकि उनके घर पर हमारा आना जाना रहता था. तो वह बोला- बता तो, तेरे लिए तो कुछ भी करेंगे और किसी को पता भी नहीं चलेगा.

फिर मैंने उसे घुमाया और हाथ आगे करके उसके 36″ के चुचे धीरे से दबा दिए और हाथ उसके मम्मों पर ही रखे रहा. वैसे भी मुझे अपनी बहूरानी को दिखाने के लिए कम्मो को कपड़े दिलवाने ही थे नहीं तो वो जरूर टोकती कि अपनी नातिन को फोन दिलाने ले गये थे तो उसे अपने पैसे से कपड़े तो दिला ही देते कम से कम. वो बोले- इस लाइन में कब से हो?मैं बोली- अभी बिल्कुल नई हूं … एकदम फ्रेश हूं.

मैंने अपने होंठों से उसके होंठ दबा रखे थे, इसलिये उसकी आवाज बाहर नहीं आई. तो मैंने उसे हल्का सा धक्का मारा और उसे स्टाल पर गिरा कर उसकी चुचियों को दबाने लगा. मैंने अपने दोस्त की मदद से उसका रूम ले लिया और मैडम को वहां का पता मैसेज कर दिया.

उसने लाल रंग की गहरी लिपस्टिक लगायी हुई थी, मेक-अप की उसको कोई जरूरत नहीं थी क्योंकि वो प्राकृतिक रूप से की बला की खूबसूरत थी, और वो इस वक्त एकदम माल लग रही थी. जैसे ही उसने मेरे हाथ में तौलिया दिया, मैंने चिल्लाना शुरू कर दिया- ओ मर गई … पकड़ो मुझे … पकड़ो मैं गिर जाऊंगी.

उस वक्त हम खाना खाकर टीवी देख रहे थे और हमारा बेटा दूसरे कमरे में सो चुका था.

बीच बीच में मैं उसकी चूत को खोल कर रखता और वो गोरा निशाना लगाकर अपना नौ इंच का भरकम लंड अन्दर घुसा देता और मेरी पत्नी मज़े में कोयल की तरह चहक उठती और ख़ुशी में लोटपोट हो जाती. क्या यही प्यार है फुल मूवीमैंने कहा- ठीक है … पर एक शर्त पर!कविता बोली- बोलो क्या शर्त?मैंने कहा- मेरे सामने इसको फिर से दूध पिलाओ … मुझे भी देखना है. बिहार के सेक्सी वीडियो एचडीलड़की की क्लिट को छेड़ो और वो चुदने को न मचल जाए ऐसा तो हो ही नहीं सकता. वे मेरे कंधे को जोर से पकड़ कर मुझसे लिपट गए और बेहद गर्म गर्म वीर्य अंकल का मेरी चूत में भर गया.

आओ मैं तुम्हारी इच्छा भी पूरी कर दूंगा और तुम्हें नुक्सान भी नहीं पहुँचने दूंगा.

कुछ सेकंड के बाद मनीष का माल निकलने लगा और वो भाभी के ऊपर ही लेट कर उनको चूमने लगा. वो मेरे लंड को होंठों से चूसती, ऊपर नीचे करती हुई दाँत से हल्के हल्के काट रही थी. मैंने अपने लौड़े पर हाथ फेरना चालू कर दिया, तो उसने हंस कर कहा कि मुझे कोई दिक्कत नहीं है, तुम चाहो तो उसको आजाद भी कर सकते हो.

मयूरी ने बड़े प्यार से जितना हो सके उनके अमृतरस को चाट लिया और बाकी अपने बदन पर मलने लगी. शर्म आती है?”एकदम से ऐसी स्थिति बन जाना कि जिसकी पहले कभी उम्मीद न की गयी हो, थोड़ी झिझक तो पैदा करता ही है। पहले इसे ही रहने दीजिये. मैंने कहा- जब शादी हो जाती है तो पति और पत्नी आपस में प्यार करते हैं, तो उसे ही सेक्स कहते हैं.

बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो बीएफ

मैंने स्टीव को कहा- आ जा, मेरी बीवी की फूल जैसी चूत को स्वीकार कर और अपने लंड से इसका भेदन कर. उसने कहा जो औरत एक बार में 4 मर्दों को गिरा सकती है, छोटी सी बात पे डर गयी. इस अवस्था में लिंग इतना मोटा था कि तारा के मुँह में केवल सुपाड़ा ही घुस रहा था और उसने दोनों हाथों से लिंग पकड़ रखा था.

मैंने भी एक हाथ आगे लाकर उनके चूचे पर रखकर धीरे धीरे उसे सहलाने लगा, जिससे भाभी और अधिक गर्म हो गईं.

मैंने उसे गाली देते सुना तो मैं भी गाली देते हुए बोली- अभी तो बनी ही हूं तेरी बीवी … भोसड़ी के चोद जितना दम हो … मादरचोद भोसड़ीवाले कुत्ते … फाड़ दे मेरी गांड … और जोर से धक्का लगा अपने लंड का … और तेजी से घुसा कमीने.

पर अभी भी उसे मेरी योनि ठीक से नहीं दिख रही थी, केवल उसे मेरी योनि की दरार और फूली हुई योनि का ऊपरी हिस्सा ही दिख रहा था. तुम कल क्या कर रहे हो?मनीष- मैं तो कल घर पर ही हूँ, क्या कोई काम है?भाभी- नहीं, कल मैं ऑफिस जाऊँगी तो दो बजे मेरे ऑफिस आ जाना, पिक्चर देखने चलेंगे. अंग्रेज की सेक्सीसविता की पहली चुदाई में मुझे बहुत मजा आया और हम तीनों ने खूब मजे किए.

इतने मैं मम्मी बोलीं- नहीं बेटा, हम मजबूर थे … तेरे पापा अब कुछ कर नहीं पाते और इनके पति नहीं हैं, इसलिये हम …ये कह कर वो चुप हो गईं. मगर जैसे ही मेरी उंगलियों ने उनकी गीली चुत को छुआ, सुलेखा भाभी ने अपने दांतों को मेरे होंठों में गड़ा दिया, जिससे मुझे दर्द तो हुआ था, लेकिन मैंने अपने हाथ को वहां से हटाया नहीं बल्कि वहीं पर रखे रहा. उसने पायल को अपने पास बुलाया और उससे कहा- देख पायल मेरी चूत में जीजू का लंड कैसे जाएगा!पायल का पूरा ध्यान नीरू की चूत और मेरे लंड पर ही था.

थोड़ी देर में मनीषा रूम में आई और पूछने लगी- कुछ और चाहिए?मैं टीवी देखने में मशगूल था, मैंने ना में सर हिला दिया. फिर विक्रम बोला- मयूरी, तू यही चाहती है ना कि हम दोनों भाई एक साथ तुझे चोदें… तो तेरी ये ख्वाहिश हम जरूर पूरी करेंगे… हमने अपनी पुरानी बातों पर सुलह कर ली है… और अब तुझे एक-साथ अपने दोनों भाइयों का लंड का मजा मिलेगा… अब तो तू खुश है न?मयूरी को पक्का पता था कि यही होने वाला है.

मौसी मेरे लंड के कारण छटपटा रही थीं और उनकी कुंवारी बुर से खून बह रहा था … वो दर्द से तड़फ रही थीं.

इधर का माहौल कुछ ऐसा था कि केवल एक साल में ही में लंड, चूत, चोदना, हाथ से हिलाना … इस सबके बारे में काफी कुछ सीख गया. वो लगातार बिना रुके धक्के मारने लगा, मैं समझ गयी कि माइक चरम सुख के नजदीक है. इसी बीच मेरी पत्नी ने अपनी पोजिशन बदली और वह मुझे नीचे लिटा कर मेरे ऊपर आ गई और उसने नीरू से बोला- नीरू, देख क्या रही है, अपने जीजू का लंड पकड़ कर मेरी चूत पर लगा ना!उसने ऐसा ही किया और मेरा लंड पकड़ कर अपनी जीजी की चूत पर लगाया.

पंजाबी फिल्म सेक्स चाची पूरे जोश में आ गयी थीं, वो अपने चूतड़ों को बार बार उछाल रही थीं. जब तारा ने एक हाथ से उसकी योनि को फैलाया, तो मुझे अंदाजा हुआ कि उनकी योनि की दरार बड़ी थी.

वो जोर जोर से कराह रही थी- आहह … आ … और जोर से आह … यार तुम सेक्स में बहुत ही माहिर हो!मैंने उसकी चुत पे थोड़ा सा शहद डाला और उसकी चूत चाटने लगा. कुछ पल बाद फिर से चुदास भड़क गई और हम दोनों एक दूसरे को गर्म करने लगे. क्योंकि मैंने बिना रुके दस तक गिनती गिन कर जोरों से धक्का लगा कर उसकी चूत चोदी थी.

कुमारी लड़की का सेक्स बीएफ

मैंने सोचा कि मैं देर तक सोता रहा था, इसलिए सुलेखा भाभी ऐसा पूछ रही हैं. उनके साथ वही हैंडसम सा लड़का था और ड्राइवर के बगल से आगे वाली में वह स्टोर वाला बैठ गया था. मुझे मालूम था कि चूत में लंड जाते ही ये फिर से चिल्लाएगी, इसलिए मैंने पहले ही अपने हाथ से उसकी आवाज रोक ली, जो बहुत तेज निकली थी.

फिर उन्होंने मेरा पूरा लंड अपने मुँह में भर लिया, जो सही से उनके मुँह में आया ही नहीं. आपको तो मैं रोज चोदूँगा … बस आप प्लीज आप बड़ी चाची को मेरे लंड के लिए मना लो.

अंकल ने झट से एक उंगली को मेरी चुत में घुसा दिया और बुर में आगे पीछे करने लगे.

मुझे बहुत आनन्द आ रहा था। कभी जीभ को अंदर डाल देते तो कभी मेरी क्लिट को मसल देते। अपने हाथों को मेरे कूल्हों पर ले जाकर सहलाते तो कभी कभी हल्के हल्के थप्‍पड़ से मारते जिससे मेरे कूल्हे लाल हो गए।अब मैं अपने आप पर कंट्रोल नहीं कर पा रही थी और उनसे मुझे चोदने की रिक्वेस्ट करने लगी और बेड पर लेट गयी। भैया मेरे ऊपर आ गए और बूब्स को चूसने लगे, फिर नाभि को चूमा और चूत पर लण्ड को फिराने लगे. उसके मुँह से निकल गया- तू भी …!मैंने पूछा- क्या तू भी?वो धीरे से बोली- मेरा मतलब तू भी मानेगा नहीं …मैं हंस दिया और कहा- आज मजा लेने का मन है. विक्रम- हाँ मेरे भाई… सपना ने अपनी चूत मारने नहीं दी, पर इसकी तो मैं छोडूंगा नहीं… चल!दोनों भाई कमरे से बाहर आये और मयूरी के पास पहुंचे.

मैंने तब पूजा की कमर को अपने दोनों हाथों से कस कर पकड़ ली और उसकी गांड में दनादन अपना लंड पेलने लगा. अरे … मम्मी ठीक‌ क्यों नहीं होगा? कल से ही मैं और नेहा दीदी इसे दवाई दे रहे हैं. मेरे मां बाप ने मुझे बाहर नहीं रहने दिया बल्कि मुझे कॉलेज के होस्टल में दाखिल करवा दिया.

मैंने अपना हाथ जब रखा तो वह सीधे उसके निप्पल से टकराया, तो वह मुस्कुरा कर धीरे से कहने लगी- कर लो हाथ गर्म.

बीएफ फिल्म डॉट कॉम: अब तो वो चीखने लगी थीं- आह्ह्ह अह्ह … मुझे दर्द हो रहा है नहीं नहीं अह्ह्ह … धीरे करोऊओ … नहीं अह्हह्ह आआअहह … शशि धीरे प्लीज़ मेरी जान!मगर मैं नहीं रुका. हुआ यूं कि हमारी कंपनी का एक प्रोजेक्ट खत्म होने को था, तो अगले प्रोजेक्ट के लिए क्लाइंट से मीटिंग होनी थी.

उसने मुझे कपड़ा निकाल कर दिया तो फिर मैंने पहले न्यूज पेपर बिछा दिया और उसके ऊपर स्टाल डाल दिया और सबा को बैठा दिया. उन्होंने थूक लगाकर मेरा पूरा लंड गीला कर दिया और उसे अपने हाथों से मसलने लगीं. सुलेखा भाभी की तड़प को देखकर अब मुझे भी समझ आ गया था कि सुलेखा भाभी पता नहीं कब से प्यासी थीं.

आप मुझे अपनी दुआ ज़रूर देना कि मेरा सेक्स टाइम बढ़ता जाए और मैं अपनी भविष्य की होने वाली बीवी को खूब खुशी दूँ, जी भर के चोदूँ, संभोग करूँ, खूब मैथुन क्रिया में लिप्त रहूँ और रात्रि टाइम में रति क्रीड़ा में व्यस्त रहा करूँ.

मेरा भी मन करता था कि उसकी सुन्दर चूत के गुलाब के फूल की सी मुलायम पंखुड़ियों जैसे होंठ खोल कर दूसरे मर्द का कड़क लंड घुसवा कर देखूं और अपनी बीवी को चुदता देखूं. यही कुछ 25-30 धक्कों के साथ ही मेरा रस निकल गया और मैंने उसकी बुर में रस डाल दिया और उसके ऊपर लेट गया. मगर मैं जानती हूँ कि अन्तर्वासना जैसी फेमस साईट पर इतनी अधिक रोचक और मनोरंजक सेक्स कहानियां प्रकाशित होती हैं कि आप लोग किसी एक कहानी को याद नहीं रख पाते होंगे.