मौसी और भतीजे की सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,मुस्लमान की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो जापान: मौसी और भतीजे की सेक्सी बीएफ, फिर मैंने अपना तौलिया हटा दिया ताकि उसको गर्म कर सकूं और वो कम से कम मेरे लंड को पकड़ कर हिला दे और मुझे थोड़ा चैन मिल जाये.

हिंदी आवाजात सेक्सी व्हिडिओ

विनय झेंप गया और कुशन को अपनी गोद में रखते हुए बोला- अरे नहीं सॉरी … मैं कुछ सोचने लगा था. सनी लियोन की बीपी फिल्ममैं उनके पैरों के बीच आ गया और उनकी चूत के दाने को जीभ से सहलाने लगा.

उसने जैसे ही मेरे दूध देखे वो बोला- बंध्या, तेरे निप्पल तो एकदम से पिंक हैं. हिंदी सेक्सी वीडियो भारतीयबहुत लड़के मुझ पर लाइन मारते थे लेकिन मैं किसी को ज़्यादा भाव नहीं देती थी.

मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि संजना कोई ऐसा कदम उठाएगी जिससे हम दोनों की सेक्स लाइफ में फुल मजा आएगा.मौसी और भतीजे की सेक्सी बीएफ: अब मामाजी बोले- अब ढीली हो गई!उन्होंने तेल भीगा अपना लंड मेरी गांड पर टिकाया, बोले- डाल रहा हूं, ढीली रखना, कसना नहीं, बिलकुल परेशानी नहीं होगी.

कॉलेज गर्ल की कामवासना की कहानी के पिछले भागहॉट कॉलेज गर्ल की कामुकता और सेक्स-1में मैंने आपको बताया था कि मेरे बॉयफ्रेंड राज के साथ मेरी चूमा-चाटी होते हुए काफी समय हो चुका था.मेरी सेक्स चैट कहानी आपको कैसी लग रही है, प्लीज़ मुझे मेल जरूर कीजिएगा.

सेक्सी फिल्म हिट - मौसी और भतीजे की सेक्सी बीएफ

मैंने चाची का दुःख समझ लिया और उनसे कहा- चाची, आज रात मैं यहीं पर रुकूँगा, आप चिंता न करो.जैसे जैसे उसकी हिम्मत बढ़ती गई तो उसने मेरे फोन पर डबल मीनिंग चुटकलों की लाइन लगा दी.

मेरी भी आँखों में नींद नहीं थी तो मैं वहीं बैठ कर उनसे बात करने लगा और साथ साथ मोबाइल में सर्फिंग करता रहा. मौसी और भतीजे की सेक्सी बीएफ शायद वह मेरी झिझक दूर करना चाहता था, लेकिन मेरा चेहरा लाल हो गया था.

मैंने भाभी की चुत को अपने वीर्य से भर दिया और उसी अवस्था में भाभी पर गिर गया.

मौसी और भतीजे की सेक्सी बीएफ?

मैंने कहा- सर आपने तो मुझे बिना कहे ही इतना दे दिया है कि मैं कुछ भी कहने लायक नहीं रही. तो ये तो हमेशा की बात थी कि चुदाई के बाद मैं खुद ही उसका लंड अपने मुंह में ले लेती और चूस चूस कर उसका पानी निकाल देती और सारे का सारा पी जाती।सेक्स के दौरान हम एक दूसरे को खूब गाली गलौच करते। माँ बहन बेटी तो रूटीन में चोदते एक दूसरे की। पहले तो वो मेरी फुद्दी ही मारता था, और फिर धीरे धीरे मेरी गाँड भी खोल दी. मालविका मुझसे सात साल बड़ी थी लेकिन वो मुझसे रोमांटिक होने की कोशिश कर रही थी। मैं और मालविका बार बार एक दूसरे के हाथ सहला रहे थे।हम लोगों ने कार में किस भी किया, वो मेरे लण्ड को भी पकड़ के मसल रही थी। मैं भी उसके चुचे मसल रहा था.

उसने ये कहा, तो न जाने क्यों मेरे लोवर में मेरे लंड ने सलामी देनी शुरू कर दी, जो उसके लोवर के पीछे से उसकी गांड में लग रहा था. मैंने अपने अंगूठे से वीर्य को उठाया और चाची की माँग और उनकी चूत की माँग भर दी जैसे सिंदूर से माँग भरते हैं।और बोला- लो मेरी जान … अब हो गई मुझसे और मेरे लंड से तुम्हारी शादी।इसी खुसही में चाची ने मेरा लंड चाट चाट कर साफ किया।चाची मेरे लंड से चुद के पूरी संतुष्ट थीं, वो उनके चेहरे पर नज़र आ रहा था।इसके बाद तो मैं जब चाहे चाची को चोद देता हूँ. मैं उसकी अगल बगल में टांगें फैलाते हुए उसके लौड़े पर बैठने लगी तो उसने अपने लंड का सुपारा मेरी गांड के छेद पर रख दिया.

मैंने कहा- नहीं जी … भला हमें कौन सा एतराज … बल्कि हमें आपकी सेवा करने का अवसर मिलेगा. मेरा ईमेल है-[emailprotected]आप मुझे hangout या kik पर भी मेसेज कर सकते हैं. मैंने अपने लोड़े की आखिरी बूंद तक संजना के मुंह में छोड़ दी और संजना भी उसे बड़े प्यार से गटक रही थी.

मैंने उसे चेताया- तू मोबाइल ले लेगी, तो क्या समझती है, मुझसे जीत जाएगी? मैंने उसे ड्राइव में सेव कर दिया है. मैंने अपने लंड और उसकी चूत के मुँह पर वैसलीन लगाई और लंड अन्दर डालने की कोशिश करने लगा.

मैं आंखें बंद करके अपनी चूचियों को मसल रही थी और बुदबुदा रही थी कि आह … विनय फक मी … आहह फक मी हार्डर.

अब आगे:वो तड़फ कर बोली- आअहमम्म … माय बेबी आह क्या मज़ा आ रहा है … तुमको वहां मेरी स्मेल आ रही होगी.

फिर मैंने मेरे दोस्त की फेवरट व्हिस्की मंगाई और कहा- यार, अब पीकर कुछ गम हल्का कर लेते हैं. मम्मी भी खड़ी हो गयी, वो भी और उसने मेरी कमर में हाथ डाला- चल अब बिस्तर पे! तू मुझे पसंद आ गयी है, अब तू मेरा माल है। ठीक है न?जी!”जा पेग बना के ले आ. उसने वहां से जाने का बिल्कुल भी प्रयास नहीं किया‌ बल्कि वैसे ही बिस्तर पर बैठी रही.

मैंने दोबारा से चुत पर लंड सैट करके एक जोरदार धक्का मारा, जिससे मेरा आधा लंड उसकी चुत में घुस गया. राहुल ने एक धक्का लगाते हुए अपने लंड को पिंकी की चूत में घुसेड़ दिया और अब दोनों ही एक दूसरे से ताल मिलाते हुए चुदाई करने लगे. एक दिन मैंने रेडिफ बोल में लॉगिन किया और बैंगलोर चैटरूम में प्रवेश किया.

यह सब कहानी के अगले भागों में।बहू और बेटी की गर्म जवानी की ये कहानी अगले भाग में जारी रहेगी.

‘आअहह क्या मज़ा आ रहा था … मेरी सास, जिनको मैं शादी के बाद से ही चोदने के सपने देखता था. मैं हैरान हो रही थी कि ये कहां से आ गई?मैंने दिव्या से पूछा- तुम कहां से आ गई?वो भाई की तरफ देख कर मुस्कराने लगी. ” महेश ने अपनी उंगली को थोड़ा दबाव देकर अपनी बहू की गांड में डालते हुए कहा।उईई निकालिये पिता जी, मुझे नहीं पता कुछ … मुझे वहां नहीं करवाना.

अंदर जाते ही मैंने गेट को बंद कर लिया तो प्रियंका ने अपना स्कार्फ खोल दिया और बोली- बोलो क्या बात करनी है?मैं बोला- बात करके क्या करेंगे यार … कुछ और करते हैं. दूसरे हाथ से मैंने उनकी उंगलियों में अपनी उंगलियां फंसा लीं और उन्हें सहलाने लगा. फिर उनके हाथों ऊपर उठा कर उनकी बगलों को सूंघने लगा, तो मानो वो अपना आपा ही खो बैठीं.

मैं धीरे से उसके पास गया तो मैंने देखा कि वो उस स्टोरी को पढ़ रही थी.

”नोज, टीथ, हैण्ड, फिन्गल, लिप्स, चिन, हेड, लेग, इअल, आइज, एब्डोमेन साले याद हैं. मैंने कुसुम की चूचियों को खूब मसला, दबाया और तो और उसके निप्पल भी दांत से काटे.

मौसी और भतीजे की सेक्सी बीएफ मुझे तो विश्वास था कि प्रिया अब इस कमरे में नहीं आएगी, मगर फिर भी नेहा का ये डर दूर करने के लिए मैं उसको छोड़कर अलग हो गया और जल्दी से जाकर कमरे का दरवाजा बन्द कर‌ दिया. ”फिर भैया ने कुछ नोट आधे मोड़कर (अंग्रेजी के उलटे V के आकार में) फर्श पर रख दिए।आप अपना मुंह उधर कर लो, मुझे शर्म आ रही है.

मौसी और भतीजे की सेक्सी बीएफ मेरी पैंट का हुक खुला हुआ था लेकिन खड़ा होने की वजह से लंड ने अंडवियर को तान दिया था और उसके कारण पैंट भी ऊपर ही फंसी हुई थी. पूजा- ह्म्म्म है तो … लेकिन?मैं- लेकिन क्या पूजा?पूजा- हम मिलेंगे कैसे?मैं- वो सब मैं कर लूंगा, तुम चिंता मत करो.

मैं फिर से वही करने की कोशिश करने लगा, तो वो प्यारी सी आवाज़ में बोली- पार्थ मत करो न … अभी नहीं.

बीएफ बड़े बड़े दूध वाली

पूरी तरह वेक्सड छाती, सिक्स पैक एब्स, बाइसेप्स, ट्राइसेप्स और पत्थर जितनी सख्त पीठ. अब मैंने उसे दोबारा से पीठ के बल लिटा कर उसकी टांगें छत की तरफ उठा दी और खुद बेड से नीचे उतर कर उसकी चूत में लन्ड पेल दिया. हमारे बीच में चुम्बन इतना ज्यादा मस्त हुआ कि हम दोनों के होंठ लाल हो गए.

हम दोनों की सिसकारियां कमरे में गूँज रही थीं आहहहह … हम्म्म्म … ओह्ह … यसस्स. चाचा मेरी चूत में उंगली करते रहे और मैं अब तेजी के साथ सिसकारियां लेने लगी. गे सेक्स स्टोरी के पहले भागकुलबुलाती गांड-1में आपने पढ़ा कि मैं गांडू हूँ तो मैं गांड मराना चाहता था अपने रूममेट से … लेकिन उसे मुझमें कोई रूचि नहीं लगती थी.

हम दोनों बातें करते हुए बियर पी रहे थे और थोड़ा आराम करने के बाद दोबारा से चुदाई करने में लग जाते थे.

अपने ऊपर बैठा कर उस दिन उसने बहुत देर तक मुझे ऐसे ही चोदा था और ऐसे ही हम दोनों एक दूसरे की कोली भरकर झड़ गए थे. मैंने इसकी सारी फ़रमाइशें पूरी कर दीं। फिर भी यह नहीं मान रहा और यह फिर से वही बात कर रहा है. पूजा कुछ क्षण के लिए शांत सी हो गयी मानो उसे अपने कानों पर विश्वास नहीं हो रहा हो कि मैंने ये क्या सुना? और वो भी अपने पति के मुख से!मैं जानता हूँ कि बहुत सारी महिलाएं, लड़की भी अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ती हैं, उनके मेल भी मुझे आते हैं! उनमें से कुछ महिलाएं ऐसी भी होंगी जिनके जीवन में भी ऐसा पल आया होगा जब उन्होंने अपने पति के मुख से खुद को किसी दूसरे मर्द से चुदवाने की बात सुनी होगी.

अपनी सहेली को मैंने मनोज के बारे में बताया तो उसने मुझसे कहा- आज के समय में ऐसे इंसान मिलते नहीं हैं; चाहो तो तुम उसके साथ आगे बढ़ सकती हो. प्रीति ने बिलबिला कर मेरे होंठ छोड़ दिए और मेरी तरफ सवालिया निगाहों से देखा. एक बात है कि अगर गर्लफ्रेंड कोआपरेटिव हो, तो सेक्स का मजा कुछ और ही होता है.

अब मुझे लग रहा है कि कोई तो है जो मेरा दुःख-दर्द सुन सकता है, मुझे समझ सकता है. इससे उत्तेजित होकर मर्द और ज़ोर से चुदाई का सुख महसूस करते हैं और अपने आपको खुश करते हैं.

कल अगर तुम ही मुझ पर ये गलत काम करने का आरोप लगाने लगे तो मैं कहाँ जाऊँगी बताओ?पूजा का ऐसा बोलना भी जायज़ था. मैंने अपनी बीवी और सास के साथ शाम को खाना खाने से पहले दारू पीने का मूड बना लिया. कुछ दिनों के बाद उस शहर की रंडियों ने जाकर अदालत का दरवाजा खटखटाया.

मेरी यह बात सुन कर प्रीति मुझे पागलों की तरह चूमने लगी और बोली- ठीक है, जब तक तुम कहोगे, तब तक मैं अब तुम्हारे साथ ही रहूंगी.

मैं खुद को भाग्यशाली मान रहा था कि ऐसा मस्त माल मुझे चोदने को मिल रहा है. मेरी पिछली कहानी थीमेरा फर्स्ट सेक्स बॉयफ्रेंड के साथहम सब फ्रेंड्स कॉलेज ट्रिप के लिए मनाली के लिए निकले थे. कहानी में आपको पता चलेगा कि कैसे मैंने पिंकी और रिचा की संगत में पड़कर नये-नये तरीकों से चुदाई का सुख भोगा.

ये सोचना भी जैसे मुमकिन न हो।10 मिनट का वो दीर्घकालीन चुम्बन दो जवान जिस्मों की अन्तर्वासना जगाने के लिए काफी था।अब हमने कोठरी की ओर रुख किया। कोठरी में काफी पुआल (धान का कचरा) रखी हुई थी। झटपट उसी का गद्दा बना लिया गया।एक अजीब विचार मेरे मन में आया कि मामा ने अपना सामान सुरक्षित रखने के लिए ये कोठरी बनवायी होगी. वो भी अपनी गांड को आगे उचकाती हुई मचल रही थी और अपनी चूत को मेरे मुँह से चुदवा रही थी.

वो तब भी नहीं मानी तो मैं अपना लंड उसके मुंह में घुसाने की कोशिश करने लगा. मैडम को लगा कि सब उठ न जाएं, तब मुझे उन्होंने बाहर चलने के लिए कहा. लेकिन मैंने उसको कस कर पकड़ा था तो मुझे हटा नहीं पायी।मेरी बहन की चुत की सील टूट गयी थी और उसकी चुत से खून आने लगा था।मैं कुछ देर ऐसे ही रूका रहा; थोड़ी देर बाद मेरी बहन अपनी गांड को हिलाने लगी तो मैं समझ गया कि अब वह फिर से तैयार है.

भोजपुरी xxxx video

और बस फिर हम तीनों लग गए अपनी मौज मस्ती में।सबसे पहले मैं बेड पर चली गई.

नीरू दीदी बहुत किस्मत वाली है जो जब चाहे इसे अपनी चुत और मुंह में ले लेती है. एक बार मुझे बहुत गुस्सा आया क्योंकि एक बार हमारे घर की लाइट चली गयी थी. तब उसके बाद मैंने कई बार उनके घर जाकर भी भाभी के साथ खूब मजा किया था.

मैं बेड के बिल्कुल किनारे लेटा हुआ था, फिर मामी लेटी हुई, मम्मी और बुआ बैठे हुए थे मेरी तरफ पीठ करके! और आंटी उनके बगल में चेयर लगा के बैठ गयी।मैं भी आँखें खोल के टीवी की तरफ पलट गया, सबने मुझे उठे देखा. उसने कहा- ऐसे नहीं खाते इसे!चॉकलेट का रैपर निकाल दिया उसने और आधी चॉकलेट अपने मुंह में दबा ली और मुझे खाने का इशारा किया।मैं धीरे धीरे उसकी तरफ बढ़ा और आधी निकली हुई चॉकलेट अपने होंठों में दबा ली। उसकी गर्म सांसें मेरे चेहरे पर आ रही थी जो एक अजब सी उत्तेजना पैदा कर रही थी। शायद उसने पहले से ही सौंफ या इलायची खा रखी थी।मैंने चॉकलेट खानी शुरू कर दी. ইংলিশ বিএফ এইচডি ভিডিওमैं उसके बदन को ऐसे ही निहार रहा था कि संजना की आवाज में मुझे इस ख्वाब से जगा दिया.

मैंने उसके निप्पलों को बारी बारी से मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. जब वो कॉफ़ी पीने के बाद वापस गई, उस वक्त तक वो मुझसे काफी प्राभावित हो गई थी.

संजय ने तुरंत बोला- हम दोनों शुरूआत से ही एक साथ ड्रिंक करते हैं और हम दोनों को कोई प्रॉब्लम नहीं होगी. मैंने भी उनकी जांघें खोल दीं और पेंटी के ऊपर से ही उनकी चूत को रगड़ने लगा. उसने गांड उठाते हुए मुझसे कहा- अब तड़पाओ मत … जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दो.

मैं अब रुका‌ नहीं … धीरे धीरे उसके नंगे पेट पर से चूमते और चाटते हुए उसकी चूचियों की तरफ बढ़ने लगा, जिससे नेहा मचलने लगी और उसकी सांसें और भी तेज़ हो गईं. कुछ दिनों के बाद उस शहर की रंडियों ने जाकर अदालत का दरवाजा खटखटाया. मैंने भी उनका कहना मान लिया … और उन्हें लपक कर अपने मुँह में भर लिया.

उसने चिहुंक कर मेरी छाती पर हल्की सी चपत लगा कर बहुत ही मादक अंदाज़ में मुझे नॉटी बॉय बोला.

उसने मुझे लिटाया और मेरी चूचियों पर बीयर डाल कर चाटने लगा।उसने मुझे अपने पैग में से पिला दी और अपना लंड मेरे होंठों से रगड़ने लगा। उसने मेरे चूत के दाने को रगड़ा तो मैं पागल हो गई और उसके बड़े लंड को मुंह में भर कर चूसने लगी. तो यह लो।”जड़ तक मेरे लिंग को अपनी योनि में घुसा के उसने हल्के-हल्के आगे पीछे किया, दांये-बायें घुमाया और फिर सिस्कारते हुए ऊपर हो गयी।आज जितना कुछ फिल्मों में देख कर तड़पी हूँ.

लंड का सुपारा लगते ही पूजा अपनी कमर आगे पीछे हिलाने लगी और बोली- हां, इधर पेलो मेरी चुत को. फिर कमलेश बोला- साली तुझे जब से देखा है … तब से तुझे चोदने की सोच रहा हूँ. जब उसने इसका मतलब पूछा, तो मैंने उसे समझाया कि इसका क्या मतलब होता है.

कबीर मेरे चूचों को दबाते हुए मेरी चूत में अपनी जीभ को तेजी से अंदर बाहर करने लगा. जब वो अंडरवियर में होते थे तो उनके लंड की तरफ भी मेरी नजर चली जाती थी।जब घर के लोग मुझसे लड़ते थे किसी बात को लेकर तो चाचा मेरी साइड से लड़ते थे, चाचा हमेशा मेरी सहायता करते थे. बस मैं इतना ही कह सकता हूँ कि कोई अप्सरा भी आपको देख ले, तो जलन के मारे मर जाएगी.

मौसी और भतीजे की सेक्सी बीएफ मैंने अपने दोस्त को बोला- अगर ये बात झूठ हुई तो तेरी खैर नहीं होगी. फिर मैंने एक बार और उसे अच्छे से अपनी ग्रिप में लिया और एक धक्का और … इस बार पूरा लंड जड़ तक उसकी चूत में धंस गया और मेरी झांटें उसकी झांटों से जा मिलीं.

सेक्सी वीडियो बीएफ नंगी

राहुल ने सकुचाते हुए जैसे ही उसकी चूत में जीभ लगाई तो उसे मजा आ गया. सोनिया ने अचानक मेरी गांड पर उंगली दबाते हुए कहा- तेरी यह गांड इस हब्शी को झेल लेती थी?मैं कुछ नहीं बोला, अशोक हंस पड़ा. पहले तो आप लोगों का बहुत शुक्रिया, जिन्होंने मेरी पिछली सेक्स कहानीदोस्त की मम्मी को चोदापढ़ी और सराहना की.

”आदमी ने भाभी की चूचियों को पकड़ा और दबा दबा कर लंड पेलना चालू कर दिया. नमस्कार दोस्तो, कैसे हो?आपने मेरी पिछली कहानीपापा ने अपनी सगी बेटी की कुंवारी चूत चोदीपढ़ी. किरण सेक्सी वीडियोबस मुझे कुछ अलग करना था इसलिए मैं हमेशा फोन में व्हाट्सएप ईमेल और अपनी सहेलियों के साथ बात करती रहती थी.

मेरी वाइफ मेरी टी-शर्ट उठा कर, अन्दर हाथ डाल कर मेरे निप्पलों को सहला रही थी.

मैंने भी गर्म गर्म वीर्य गांड में पाकर अपना चूत खोल दिया, जिससे उनका रस मेरी जांघों पर चूने लगा. उसने मुझसे पूछा- अम्मी जान, क्या ढूंढ रही हो?मैं उसकी बात दरकिनार करती हुई तेजी से कमरे की तरफ जाने लगी, तो रशीद बोल पड़ा- अम्मी वो पुड़िया में क्या था?मैंने कहा- मुझे नहीं पता कि कौन सी पुड़िया?बहरहाल रशीद समझ चुका था कि आज शाम को अम्मी ने अपनी बुर साफ की हैं.

मैंने पूछा- सच, बताओ फिर, वो ऐसा क्यूं कर रहा है मेरे साथ?कबीर ने मुझे उसका कारण बताते हुए एक और शॉक दे दिया कि राज में स्टेमिना नहीं है और वो ज़्यादा देर टिक नहीं पाता है. मैं रुक गया।और फिर असली प्लान शुरू हुआ। दो हाथों ने मेरे चूतड़ फैलाये और उपिन्दर का मस्ताना लण्ड मेरी गांड में घुस गया।उपिन्दर बोला- कामिनी मेरी रानी, प्रोग्राम तो तेरी गांड चोदने का ही था, ये आईडिया अंशु और शैली का था. महेश ने यह सब इतनी जल्दी किया कि नीलम को कुछ बोलने का मौका ही नहीं मिला।महेश ने जैसे ही कुछ देर तक नीलम के होंठों को चूमने के बाद उसके होंठों से अपने होंठ हटाये नीलम ने धक्का देकर महेश को अपने आप से दूर किया और खुद बहुत ज़ोर से हाँफने लगी।क्या हुआ बेटी मजा नहीं आया क्या?” महेश ने फिर से अपनी बहू के पास आते हुए कहा।बापू जी एक मिनट … मुझसे दूर रहिये, भला कोई ऐसे भी करता है.

मुझे दर्द हो रहा था। उसकी वजह से मैं जैसी थी वैसे बैठी रही। पूरा डिल्डो मेरी चूत में घुसा हुआ था.

मौका पाकर अनीता मेरे पास आई और कहने लगी कि आपसे अकेले में मिलना चाहती हूं. वो सारा पानी पी गयी और उसने मेरे लंड को भी चाट चाट कर सारा साफ कर दिया. मैंने भी बिना कुछ सोचे समझे तेज धक्का लगाया और मेरा पूरा लंड उसकी चूत के अन्दर चला गया.

कुत्ता और लेडीसमैंने दोनों हाथों में उसकी गोल गांड को भर कर मसल दिया और उसे अपनी ओर खींच कर अपने से चिपका लिया. वो बोलने लगी- मम्मी कैसे आधा अधूरा काम कर रही हो, अब जो शुरू किया है … उसे पूरा तो करो.

जंगल वाला बर्फ

उसने अपने दोनों हाथों को अपने पेंटी के इलास्टिक में फंसाया और एक झटके में अपनी पेंटी उतार कर मेरे मुँह पे फेंक दी. बात लगभग 10 वर्ष पूर्व की है, वैसे तो मेरा परिवार इंदौर का रहने वाला है. ये सुनकर भाभी जी बोलीं- क्या?मैं बोला- सॉरी … मेरा मतलब वो आपको गाली दे रहा था और आप लोगों की स्थिति खराब देख कर मुझे अच्छा नहीं लगा … इसलिए मैंने ये बोला.

एक वेटर ऑर्डर लेने के लिए आया तो मैंने उससे कहा कि मैं किसी का इंतजार कर रहा हूं. फिर दो मिनट के बाद उसकी गांड ने मेरे लंड को कुबूल कर लिया और खुद ही लंड को अपने अंदर आराम से समा लिया. इस तरह से उस रात हमने दो बार सेक्स किया और उसके बाद हम दोनों सो गये.

वो कुछ ही देर में अपना पूरा लंड मेरी चूत में जड़ तक पेल कर मेरी चूत को चोदने लगे. मैं पूरी तरह झड़ चुका था और उसके ऊपर निढाल हो कर गिर पड़ा था। मैं शांत हो गया मगर शालिनी अभी भी कराह रही थी।जैसे जैसे मैं ढीला पड़ता गया वैसे वैसे उसका भी कराहना कम होता चला गया।5 मिनट के बाद मुझे होश आया तो मैंने अपना सिर उठा कर उसे देखा, वो भी मुझे देख कर मुस्कराते हुए शर्म सी महसूस कर रही थी. तभी हम दोनों ने एना की कराह सुनी, तो पलट कर देखा, तो पाया कि एना और हेक्टर नंगे हो चुके थे.

इसी तरह से हम दोनों लोग का एक दूसरे से बात करना और उनका मेरी चूची को देखना चलता रहा. वह चेंज करने चली गयी और मैं अपनी आंखें बंद करके उन दृश्यों को फिर से देखने की कोशिश करने लगा, जो अभी अभी मैंने वेबकैम पर देखे थे.

ये औजार क्या होता है?मैंने कहा- तुमने आदमियों को पेशाब करते समय कभी उनकी छुन्नी देखी है?उसने कहा- हां, गांव में तो सारे मर्द कभी भी कहीं भी पेशाब करने लगते हैं.

खैर भाभी ने मुझे रात खाना खाने के लिए रोक लिया और उन दोनों के साथ हँसी खुशी डिनर करने के बाद जब मैं होटल वापस जाने लगा तो मुकेश मुझे अपनी बाइक से होटल छोड़ने आया और होटल में साथ रूम तक आया. पंजाबी लड़की का सेक्सीइस पर दोनों हैरान होकर एक दूसरे का चेहरा देखने लगे और थोड़ी देर में भाभीजी रुआंसी सी होकर बोलीं- प्लीज रहने दीजिये … ऐसी बातें न ही हों, तो बेहतर है. हिंदी सेक्सी पिक्चर नंगी सीनइतने में अचानक उसने पीछे से कमलेश आया और मुझे कस कर पकड़ लिया, मैंने छूटने की कोशिश की, लेकिन मैं नाकाम रही. मैंने उसे चुप कराते हुए कहा- अगर तुम ऐसे ही चिल्लाओगी, तो काम कैसे बनेगा?वो बोली- मैं क्या करूं, मुझे बहुत दर्द हो रहा था.

अंशु बोली- उपिन्दर, अब बातें मत कर, पेल हमारी औरत को!शैली बोली- हाँ जीजा जी, मारिये दीदी की, मज़ा आ रहा है.

अन्तर्वासना की कामुकता भरी सेक्स स्टोरीज के चाहवान मेरे प्यारे दोस्तो, मेरा नाम कविता है, मैं जयपुर राजस्थान से हूं. लेकिन शबनम की बातें उसको और ज्यादा उत्तेजित कर रही थी और जैसे उसका लंड शबनम की बातों से चूत के अन्दर ही बढ़ रहा था. शबनम को खुद पर हैरत हो रही थी कि वो अपने बेटे की उम्र के लड़के के साथ कैसा व्यवहार कर रही थी.

उसके बाद हमने 2 घण्टे लगातार बात की।मैंने प्रियंका को बोला- यार मिल ले!तो वो बोली- मैं नहीं मिल सकती. मैं ऊपर से उनकी गर्दन, पीठ को छूता हुआ अपने हाथों से उनकी बगलों को सहला रहा था. शबनम ने अपनी एक टांग उठा कर अंकित के ऊपर रख दी और उसके और पास खिसक कर अपनी चूत को हल्के हल्के रगड़ने लगी.

भाई बहन सेक्स व्हिडीओ

मैंने उसके गले पर हल्का सा काटा और उस कटी हुई जगह पर अपनी जीभ को फिराने लगा, वो तो इससे जैसे काँप सी गयी. कहानी शुरू करने से पहले से मैं आपको बता दूँ कि मेरी बीवी काफी सुन्दर है और एक मॉडल जैसी लगती है. उसके पिता को बताने का नतीजा निकला कि उन्होंने अपनी बेटी को किसी दूसरे शहर में भेज दिया और मेरी एक ट्यूशन जाती रही.

ये बात तब की है, जब मैं 22 साल का था और फायनेंस कंपनी में फील्ड ऑफिसर के रूप में काम कर रहा था.

फिर स्नेहा ब्रेकफास्ट करके स्कूल चली गई और जसवीर तो कल से अपने बुआ के घर ही था.

इस हरकत से मुझे महसूस हुआ कि जबकि मेरा हाथ उसके मम्मों की तरफ जरा भी ध्यान नहीं दे रहा था, तो अचानक प्रीति के हाथ के स्पर्श मात्र से मैं कैसे उसके मन की बात समझ कर उसके मम्मों को मसलने लगा. उन नकली पुलिस वालों ने अपने जांघिया उतार दिये और फिर ऋतु उनके लंड के साथ खेलने लगी. तब्बू की नंगी फोटोमैंने कहा- फिर भी मैं तुमको एक और चान्स दे रहा हूँ फैसला बदलने का … इन 24 घंटों में हर एक पहलू से सोचना, आर्थिक दृष्टि से, सामाजिक दृष्टि से, पारिवारिक दृष्टि से और शारिरिक दृष्टि से! हर तरफ से सोच समझ लेना क्योंकि अगर मैंने तुमसे दिल से प्यार कर लिया तो फिर उसके बाद तुम चाह कर भी अपने कदम पीछे नहीं खींच सकती हो.

भाभी भी मजे से ‘अहह अहह … चोदो दीपक … और अन्दर तक चोदो … अहह हम्म्म … उइईई … सीईईई. कुंवर जी भी बोलने लगे- हां बेटी ले ये ले मेरा लंड … और ले मेरा लंड खा जा पूरा … आह ले ले अपनी प्यासी चुत में. साथ ही मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत में भी डाल दी ताकि उसे दोनों छेदों का मजा आ सके.

मैंने कहा- हां बस थोड़ा और …मैंने दोनों हाथ कमीज़ के अन्दर ले जाकर उसके दोनों मम्मों को मसलने लगा. मैंने बस अपने तरीके से उसके मुंह को चोद कर छोड़ा और फिर तैयार हो गया।मैंने सोच लिया था कि अबकी बार लम्बी पारी खेलनी है.

शबनम ने अपनी एक टांग उठा कर अंकित के ऊपर रख दी और उसके और पास खिसक कर अपनी चूत को हल्के हल्के रगड़ने लगी.

तब मैंने कुछ सोचा और डिल्डो को जमीन पर खड़ा करके उस पर अपनी चूत टिका कर बैठने लगी. लेकिन इस बार मैं पक्का सोचकर ही आया था कि आंटी को किसी भी हालत में चोदना ही है. मैंने उसकी गांड को थाम लिया और फिर उसके चूतड़ों को अपनी तरफ खींचते हुए एक जोर वाला धक्का लगाया तो आधा लंड उसकी गांड को फाड़ता हुआ घुस गया.

सेक्सी वीडियो सर मेरी मां की आवाज़ आ रही थी और पता लग रहा था कि वो चुदाई में पूरी मस्त हुई पड़ी हैं. आंटी अपनी चूत खोल कर मेरे ऊपर बैठ गईं और मेरे सीने पर काटने और चूसने लगीं.

इस तरह मेरी ज़िंदगी में पहली बार एक साथ दो विदेशी गोरी लड़कियों के साथ सेक्स सम्बन्ध कायम हुए. मैंने उसे बताया कि मैं वही लड़का हूँ, जिसके लिए आपकी शादी की बात हुई थी. आह क्या मस्त फिगर था उनका … पहली बार में लंड ने हिचकोले लेने शुरू कर दिए थे और पहला मौका मिलते ही मैंने उनके घर के बाथरूम में ही जाकर भाबी की मदमस्त देह को याद करके मुठ मार ली.

ब्लू पिक्चर हिंदी बीपी

ना कोई लड़का ढंग का मिलेगा और अगर मिला तो बहुत से दहेज मांगेगा, जो घर के लोग दे नहीं सकते हैं. यह कह कर वो मुझे गाल पर किस करने लगी और फिर धीरे धीरे वो गालों से नीचे मेरी गर्दन पर आकर मुझे चूसने चाटने लगी. उसने मुझे सोफे पे बिठाया और खुद घुटनों के बल नीचे बैठ कर वो मेरा लंड चूस रही थी.

एक दिन मैंने उससे कहा- देखो मैं कल से तुम्हें पढ़ाने नहीं आऊँगी क्योंकि मैं नहीं चाहती कि मैं तुम्हारे पिता से बेकार में पैसे लूँ … जबकि तुमको पढ़ना ही नहीं है. उसकी लम्बी चुदाई में मेरा दो बार पानी निकल गया और वो कुत्ते की तरह मुझे चोदे जा रहा था.

मुझे पता था कि वो यही कहेगी तो मैंने उसकी चूत को उंगली से छेड़ना शुरू किया और दाना दबा कर हिलाने लगा.

फिर भाभी वापस मेरी गोद में आकर अपनी गांड घिसते हुए बिना हाथ लगाए पैंटी सरकाने लगीं और ऐसा करते करते उन्होंने पूरा ढक्कन उतार दिया. हमारी शादी को अब चार साल हो गए थे, तब अचानक मेरे पति ने मेरे सामने डिवोर्स के पेपर रख दिए. माँ, शिल्पा भाभी (राहुल भाई की पत्नी), रजनी बुआ, कोमल आंटी और उनकी बहु मधु खाने की तैयारी में लगे थे और बाहर आंगन में बच्चे खेलने में।और मैं छत में अपनी एक्सरसाइज कर रहा था।वैसे बता दूँ कि मेरा घर दो मंजिला है, नीचे 3 बैडरूम हाल रसोई के दो सेट हैं, एक हमारा और एक चाचा जी का।दूसरे मंजिल पे एक दो बैडरूम हाल किचेन का सेट है जो किराये पे दिया रहता है.

तो फिर अब तू ऐसे क्यों मचल रही थी?वो बोली- जब तू मुझे गर्म करेगा तो फिर गर्म तो होना ही पड़ेगा ना. मैं झट से उठ कर पूजा के पीछे आ गया और जैसा कुत्ता कुतिया की चूत सूंघता है. फिर प्रिया ने धीरे से कराहते हुए मुझे उठने का इशारा किया और मैं उसके बदन पर से लुढ़क कर उसकी बगल में लेट गया.

पहले मालविका, फिर मैं, उसके बाद सोनाली और उसके बाद सौरभ बैठे। मालविका मेरा हाथ पकड़ कर मूवी देख रही थी.

मौसी और भतीजे की सेक्सी बीएफ: यदि तुम्हारी तरह ही सब लड़कें हो तो कितना अच्छा होगा।सुमोना को मेरे साथ समय बिताना भी अच्छा लगने लगा। मैं सोचने लगा कि कुछ दिनों बाद मैं सुमोना से अपने दिल की बात कह दूंगा क्योंकि हम लोग अक्सर मिलने लगे थे. मेरी लाश थोड़ी आयी है जो इतना रो रही हो?तो वो बोली- जानू, ये खुशी के आँसू हैं.

आप लोग बने रहिये अन्तर्वासना के साथ और पढ़ते रहिये यारों का ये सेक्सी याराना. मैं और मेरे 3 साथी वहां गए, सिक्योरिटी ऑफिसर ने हमें काम समझा दिया. करीब 10 बज कर 30 मिनट हुए होंगे, मैंने साड़ी पहनी, लेसवाला ब्लाउज भी पहना.

मैंने कहा- कुछ दिन क्या कुंवर साहब … बल्कि कितने भी दिन और महीनों के लिए आ जाइए, घर आप ही का है, हम क्या … घर में सिर्फ तीन ही तो लोग हैं.

यह सुनकर वो एकदम ठंडी पड़ गई और एक दो पल मुझे घूरने के बाद मेरे पैर पकड़ने लगी. बबलू ने पिंकी को बांहों में भरते हुए कहा- कैसी हो पिंकी रानी?पिंकी बेशार्मों की तरह उसके गले में बांहें डालते हुए बोली- मस्त हूँ मेरे राजा …पिंकी का ये अंदाज़ देख कर मैं हैरान थी. चाची ने चड्डी पहन रखी थी, उसे मैंने बगल से थोड़ा हटा कर उनकी चूत को थोड़ा सहला दिया।जैसे ही उनकी चूत को छुआ, चाची ने आनंद से अपनी आँखें बंद कर ली.