बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में हिंदी

छवि स्रोत,जबरदस्त सेक्सी वीडियो एक्स एक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

खाने वाली बीएफ: बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में हिंदी, जैसे ही मैं कमरे से बाहर जाने लगी, तो वो बोलीं- नहीं जा कहाँ रही हो, अभी तो कहना मानना है ना.

जबरदस्ती वाली सेक्सी दिखाओ

एक मादक पसीने की गंध ने मेरे अन्दर एक नई मदहोश कर देने वाली ऊर्जा को रोम रोम में भर दिया. दामाद और सास की सेक्सी पिक्चरसाले ने चुदाई में निचोड़ डाला…भाभी- देखा उसका कमाल?मैं- हां भाभी काफी मजा दिया साले ने!भाभी- एक दो बार और मजा ले तब याद भूल नहीं पाएगी इस राजू की.

इस तरह से मैंने चंदर से छुटकारा पाया, जो मेरी चुत को पूरा भोसड़ा बनाने को तैयार हो चुका था. सेक्सी वीडियो नंगा नाचमैंने जींस पेंट खोली और भाभी की तरफ फिर से देखा तो मैंने देखा कि मेरा खड़ा लंड देख कर भाभी के चेहरे पर हल्की सी चमक आ गई थी.

उसके बाद हम दोनों ने अहमदाबाद में भी एक होटल में मिल कर बहुत चुदाई के मज़े लिए.बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में हिंदी: मेरा एक भाई आशीष यानि बिंदु माँ का लड़का हॉस्टल में रह कर पढ़ाई करता है.

ये कहते हुए वो लेट गया और मुझे अपनी ओर खींचते हुए अपना लंड मेरे मुँह में दे दिया.मुझे बड़ा अजीब लग रहा था, लेकिन मैंने पूरी हिम्मत करके उन्हें पूरी तरह से चूम कर, चाट कर और चूस कर चरम सीमा तक पहुंचा दिया.

सेक्सी व्हिडीओ hd - बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में हिंदी

मैं मीठे दर्द से चिल्ला उठी, लेकिन मेरी चीख उसे बिल्कुल सुनाई नहीं दी.आपके मन में ये सवाल आया होगा न कि मेरे पति आने के बाद क्या हुआ?तो मैंने मेरे पति आने के बाद कभी मुझे स्कूल ट्रिप के बाहर जाना है, तो कभी मुझे मायके जाना है, तो कभी हम सहेलियां 2-3 दिन के लिए बाहर घूमने जा रहे हैं… कह कर और ऐसे ही बहुत से बहाने बना कर मनीष से मिलती रही और उसके साथ सेक्स करती रही.

उस समय तो मैं मम्मी जी के द्वारा मंगवाया गया सामान लेकर घर पहुंच गया, पर रात भर मैं सो नहीं पाया क्योंकि भाभी के बाहर को उबलते मम्मे बार बार मेरी आँखों के सामने आ रहे थे. बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में हिंदी कामिनी ने जोर से आवाज लगाई- राहुल विवेक और मेरे लिए दो गिलास लेते आओ, साथ में कुछ नमकीन वेफर्स और नमकीन लेते आना.

मैंने अपनी जीभ को वक्षों की घाटी से निकला और प्रिया के बाएं वक्ष की ऊपरी सतह की कोमल और नाज़ुक त्वचा को चाटते-चूमते प्रिया की रोमविहीन बायीं बगल की ओर बढ़ा.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में हिंदी?

वैसे भी मुझे ही चादर धोनी पडे़गी।मैंने कहा- क्यों सर, आपके तो कपड़े धोने वाली काम करती है।सर ने कहा- अरे पगली, तेरी सील टूटने का बाद इस पर खून लग जाएगा। ऐसे ही रख दी तो तेरी आंटी को शक हो जाएगा।मैं हंस दी और कहा- आज के बाद वो मेरी आंटी नहीं रही मेरी सौतन बन जाएगी।सर भी हंस पडे़ और बोले- बिल्कुल सही कहा शिल्पा।जवान स्कूल गर्ल की चुदाई कहानी जारी रहेगी. एकदम पर्फेक्ट शेप में मेरे मम्मों को देखकर वो मदमस्त हो गया, मेरे मम्मे एकदम टाईट और तने हुए थे. वो अलमारी से टॉर्च लेकर आई और मुझे दी और फिर से टांगें चौड़ी करके मेरे सामने बैठ गई, मैंने इस बार अपने दोनों हाथों से उसकी चूत चौड़ी की और टॉर्च अपने मुँह में पकड़कर झाँकने लगा.

मुझे नेहा ने कोई बारह बजे उठाया और बोली- यह क्या हाल बना रखा है बिंदु?मैं बुरी तरह से चौंक उठी और बोली- क्यों क्या हो गया?नेहा मुझसे बोली- यही तो मैं पूछ रही हूँ, इस तरह से नंगी क्यों पड़ी हो. पूरा लंड अन्दर करने के बाद वो बिंदु माँ से बोला- अब तुम मेरे ऊपर होकर मुझे चोदो. मैंने उससे बोला कि अगर तू बुरा ना माने तो मैं भी तेरी चादर में आकर लेट जाऊं.

मैंने उनका टॉवल उतार दिया, पायल भाभी की गांड को पकड़ा और कहा- आप घोड़ी जैसे बन जाओ. और मैं आपसे बात तो कर रही हूं ना… फिर आप ऐसा क्यों कह रहे हो?उसने थोड़ा रुआँसी होते हुए कहा. मैंने सोच लिया कि अब तो संजय से अपनी प्यासी चूत की सेवा करवानी ही है.

अब मैंने अपनी ज़ुबान को आंटी की चुत में डाल दी और ज़ोर ज़ोर से चुत चाटने लगा. फिर उन्होंने अपने धक्कों की रफ़्तार तेज कर दी और अपना पानी मेरी चूत में छोड़ दिया.

अब पूरे शरीर में मेरे अकड़न और दर्द हो गया, तब आशीष मेरी चूत और गांड दोनों को चाट कर साफ किया.

थोड़ी देर बाद मेट्रो का गेट दूसरी साइड से खुलने लगा और हम दोनों दूसरी साइड वाले गेट पर चले गए, अब मैं कोने पर था और भाभी मेरे सामने.

जब मेरा दोस्त मुंबई से आ गया, मेरे दोस्त ने मुझे बताया- मेरी एक गर्लफ्रेंड यहीं पास के गाँव की है. मेरे हाथ उसके नितम्ब से होते हुए उसके पीठ पर पहुँच गए और मैं उसके पेट पर किस करता हुआ उसके दो भीगे हुए स्तनों के बीच!यह मेरे लिए एक नया अनुभव था, तो मैंने कई बार ऐसा किया, पेंटी उतार कर भी पानी के अन्दर जितनी देर चूत का मुखचोदन कर सकता था, किया. मामी की आवाज़ निकली ‘आह…’ और फिर एक और झटका मारा तो पूरा का पूरा मेरा लंड मामी की चूत में चला गया.

इधर योंग मेरे होंठ चूस रहा था और बूब्स के रगड़ रगड़ का दबा रहा था।कुछ ही देर में योंग ने सबके सामने मेरी शर्ट खोल दी और मेरी ब्रा भी फाड़ दी और वो मुझे उठा कर बिस्तर पर ले गया. ऑफिसर- तुम कहती हो तो मान लेता हूँ लेकिन मैं आकाश के सामने तुम्हें चोदूँगा. मैंने कहा- लेकिन रात को निकलेंगे कैसे?दीदी ने कहा- तुम चलने की तैयारी करो और जाने की बात मुझ छोड़ दो.

अब मुझे कोई मज़ा नहीं आ रहा था बल्कि मैं दर्द से रो रही थी,कुछ मिनट के बाद चंदर बोला- चलो अब चल कर दिखाओ.

सोनिया- भैया आपको पता भी है कि आप क्या बोल रहे हो? मैं बहन हूँ आपकी?मैं- हां पता है. वो जोर जोर से कामुक सिसकी भर रही थी और मुझे कह रही थी- अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह चूसो इसे… और जोर जोर से… साली ने बहुत परेशान किया है आदेश… फाड़ दो इसे. वह बोला- मैं शादीशुदा हूँ और मेरे पास चोदने के लिये बीवी है लेकिन आज ही सुबह उसे बेटा हुआ है इसलिये पिछले 3 महीनों से उसे चोदा नहीं है… और इसीलिये मैं अस्पताल आया हूँ… तेरी बात सुनकर ये मादरचोद लंड खड़ा होकर झटके मार रहा था और कोई दूसरा इंतज़ाम भी नहीं था इसलिये मुझे तेरे पास आना ही पड़ा.

कमरे में फच्च्च्च्च फच्च…” के साथ साथ आहहह… आहहह…” की आवाजें भरने लगीं. मैंने झट से टीवी बंद किया और कमरे में अंधेरा कर दिया लेकिन बाहर से हल्की सी रोशनी मामी के बूब्स पे जो पड़ रही थी उससे ऐसा लग रहा था जैसे चाँदनी रात में ताजमहल हो. कुछ देर बाद चाची के जाते ही मैं अपने कमरे में आया और देखा कि भाबी मैक्सी पहने मेरे कमरे में बैठी हुई हैं.

अब मैंने पीछे देखा तो पानी का प्रेशर सीधा भाभी की गांड के बीचों बीच में लग रहा था तो उनकी आँखें बंद हो गई थीं और उनके होंठ कांप रहे थे.

अब मौसी ने मुझे ऊपर खींच लिया तो मैंने मौसी के होंठों पर अपने होंठ रख दिए. तुझे सब सिखाने ही तो यहां लाई हूं, अगर तुम्हें पहले आता होता तो यहां क्यों आते, घर में कभी भी चुपके से कर लेते.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में हिंदी उसके बाद उसने फिर से मेरे मुँह से अपने लंड की चुसाई करवाई और बोला कि जब मेरा लौड़ा ढीला होगा तब तक चूस रानी. बिस्तर पर चढ़ कर मैंने धीमे से अपनी जीभ रेखा की पीठ पर फिराई, और मेरा एक हाथ उसके चूतड़ों पर जाकर उनको सहलाने लगा.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में हिंदी फिर दूसरे दिन मैंने कालेज जाने के लिए बैग उठाया और देखा कि सामने वाले भैया जा चुके है और सविता भाबी घर पर अकेली हैं. क्या भरी भरी जांघें थी उनकी…कुछ देर मौसी की नंगी चिकनी जांघें सहलाने के बाद मौसी की चूत पर हाथ रख दिया, मेरी मौसी की भट्टी की तरह तप रही थी उनकी चूत और पाव रोटी की तरह खूब फूली हुयी थी.

डांस करते हुए रश्मि ने अपनी ब्रा भी धीरे धीरे थोड़े थोड़े मम्मे दिखाते हुए उतार कर फैंक दी और अपनी दोनों बड़ी बड़ी खड़ी चूचियों को अपने हाथों से हिलाने लगी.

హీరో సెక్స్

एक बन्दे ने मुझे एक नए प्रकार के एजेंसी घोटाले के बारे में बताया है. सुन कर, अपने घर में उसको अकेले रहना पड़ेगा सोचकर वो थोड़ा घबरा गई।दूसरे दिन शाम को उसकी सासू माँ ’15 दिन बाद आती हूँ. चलिए आज आप लोग मेरे यहाँ आइये डिनर पर!मैंने कहा- जैसी आज्ञा मैडम अलका जी!अलका खिलखिला के हंसी- बॉस आप हैं और आज्ञा मेरी.

कुछ देर बाद चंदर ने आशीष से बोला- यार, तू भी कुछ योगदान दे ना अपनी माँ की चुदाई में!आशीष भी मेरे चूचों पर टूट पड़ा और मेरे मम्मों को जोर जोर से दबा दबा कर चूसने लगा. दो मिनट की चुदाई के बाद उसने मुझे अपने ऊपर से हटने का इशारा किया और घोड़ी बनने का कहा. भाबी बोली- जब तेरी शादी होगी तो जब नहीं पहनेगी क्या?मैं बोली- तब की बात और है.

अर्पिता- मैं तुम्हारी हूँ, जो चाहे करो, तुम्हारा हक़ है मुझ पर, मेरी चूत पर, मेरे मम्मों पर और मेरी गांड पर भी!मैं गांड पर लंड सेट किया और एक धक्के में सिर्फ आधा इंच ही अन्दर जा पाया, अर्पिता की आँखों में दर्द साफ़ दीख रहा था.

मैंने उससे पूछा- ये क्या हो गया तुम्हारे कपड़ों के साथ?वो बोली- जब मैं कोल्ड ड्रिंक डालने के लिए गिलास धो रही थी तो पानी की टोंटी ऊपर से निकल गई. और कुछ देर बाद ही दीक्षा की चूत ने भी काम रस छोड़ दिया।उसके बाद मेरे लंड और पोते चूसने की कमान दिशा ने संभाल ली और उसके दूध प्रीति दबाने और चूसने लगी, दीक्षा ने दिशा की चूत पकड़ ली, उसमें एक उंगली डाल कर अंदर बाहर करने लगी और चूत के दाने पर अपनी जीभ चलाने लगी जिससे दिशा भी सिसियाने लगी. भाबी इस तरह से लंड चूस रही थीं, जैसे मानो लंड चुसाई में बहुत एक्सपर्ट हों.

फिर मैंने उसी उंगली से भाभी की भगनासा को छुआ, भाभी का जिस्म एकदम से कांप उठा, भाभी के बदन में उत्तेजना की एक लहर दौड़ गई, भाभी कसमसाने लगी तो मैं उनकी चुत को चाटने लगा और एक हाथ से उनके मम्मों को भी दबा रहा था. रश्मि की चूत, मम्मे, गाल, चूतड़ चुदाई और मेरे चूसने से नीले हो गए थे. जब विवेक आता तो विवेक और कामिनी उसी कमरे में गन्दी गंदी रास लीला करते.

एक दिन सुबह मैं बैठा ऐसे ही फेसबुक चला रहा था, तब फेसबुक पर मुझे एक लड़की मिली कविता… मैं फेसबुक पर उस से बात करने लग गया, हमने नॉर्मल बात की एक दूसरे के बारे में, एक दूसरे के बारे में पूछा, उसने मेरे बारे में पूछा जो मैंने बता दिया, और जो मैंने पूछा वो उसने बता दिया. इसलिए वो मेरे दूसरी ओर रहने वाली औरत से बात कर रही थी कि आजकल जनाब मकान में ही पड़े रहते हैं, निकलते ही नहीं.

पर मेरा गाल का स्पर्श होते ही मोहन सोया हुआ लंड धीरे धीरे खड़ा होने लगा. फिर मैंने मेरा हाथ धीरे धीरे उसके ऊपर रखा और उसके करीब को खिसक गया, लेकिन उसने कोई रिएक्शन नहीं दिया. दो पल की शिथिलता के बाद अब वो भी नीचे से धक्के लगाने लगी और बोलने लगी- आह.

मैंने उससे पूछा- क्या देने का कह रही थीं?पूजा ने लंड को भींचते हुए कहा- इसको दूंगी.

पूजा ने खुलते हुए कहा- साले हरामी मेरी चुत को तेरा लंड किसके लिए लेना है तुझे पता नहीं है?मैंने ढीठता दिखाते हुए कहा- नहीं पता. उसके बाद एजेंसी वाले आपको फिर कभी फ़ोन नहीं करते और अगर आपने उनको फ़ोन किया, तो फ़ोन नहीं उठाते. पर मुझे कहां पता था कि मुझे मेरी ज़िंदगी की भयानक सजा मिलने वाली है.

यह कहते हुए अपना मोबाइल निकला और उसका चुदाई वाला वीडियो चला दिया, पूरा बीस मिनट का वीडियो था. तो फिर पैसे किस बात के लिए खर्च किये जाएं? यह सब होगा और बीच में कुछ बोलना मना है.

लंड को घुसाने के बाद चंदर मेरे निप्पल मींजते हुए बोला- बिंदु जी, लंड पर अब आपको ही धक्के मारने हैं. मगर तुम चिंता ना करो… जाओ जाकर फ्रेश हो जाओ और ठीक से कपड़े डाल लो, कहीं कोई आ गया तो ग़ज़ब हो जाएगा. फिर मैंने हाथ में और भी अबीर लिया और उनकी साड़ी के अन्दर हाथ घुसा कर उनकी चुत में रंग लगाने लगा.

ओपन सेक्सी पिक

इसके बाद भाभी ने हैंडबैग से छोटी तौलिया निकाली और हम दोनों ने साफ होकर अपने कपड़े पहन लिए.

धीरे धीरे मेरी उससे बातचीत शुरू हुई और उसने मुझे बोल भी दिया कि वो मुझे पसंद करती है. भाबी बोली- जब तेरी शादी होगी तो जब नहीं पहनेगी क्या?मैं बोली- तब की बात और है. मैंने कहा- अब दिखाओ अपनी चूत!उसने धीरे से अपना नाड़ा खोला और सलवार नीचे करने लगी, उसकी सलवार नीचे उतरते ही वो नीचे से नंगी हो गई, मैंने देखा कि उसने पेंटी नहीं पहनी हुई थी.

1-2 लोगों के बाद मेरा नंबर आ गया, मैंने अपना टिकट लिया और बाहर आ गया. मैं तड़प उठा, पर उसने पूरी अन्दर तक दोनों उंगलियां ठूंस दीं और उन्हें चलाने लगा. सैंडल सेक्सीअभी मेरा लंड सुपारे से एक दो इंच ही ही अन्दर गया था कि वो फिर से मचली, मैं उसे ज़ोर से किस करने लगा.

तभी जोश में मेरा भी मुठ मम्मी की चूत में ही गिर गया।फिर हम सभी नंगे ही सो गए, मैं मम्मी के ऊपर लौड़ा बिना निकले ही सो गया और 3 बजे सुबह में एक बार फिर से चोदा साली मम्मी को।अगले दिन काफी देर से उठे हम सब!अब घर से बाहर मैं और मम्मी पति पत्नी जैसे चलते हैं।और बहुत जल्द मेरी मम्मी मेरा बच्चा अपनी कोख में लेगी। मम्मी के गर्भवती होने पे मैं शीतल को चोद के काम चलाऊंगा. फिर हम वहां से अपनी कार लेकर फ्लैट पर पहुंचे, रास्ते में वो मेरे लंड से खेलती हुई आई.

अभी भाभी की गांड में मेरे लंड का टोपा ही घुसा था कि पायल भाभी चिल्लाने लगीं- पंकज मेरी गांड फट जाएगी. मैंने शीशे में देखा कि मेरी पूरी की पूरी चुत तो बाहर ही निकल कर आ गई है. उसने पूरा लंड अपनी चूत के अन्दर ले लिया और मेरे लंड पर जोर जोर से उछल कर मजे लेने लगी.

तभी एक बिजली का करंट जैसा मेरे टट्टों में लगा, मैंने एक सुपर पावरफुल शॉट ठोका और एक विस्फोट के साथ मैं अलका रानी अलका रानी की चीख मारता हुआ झड़ गया. मुझे देख कर मेरा दोस्त मेरे पास आया और उसने मुझसे कहा कि दोस्त इधर ऐसी जगह नहीं है कि उसे चोद सकूँ. इस बात से मैं भी खुश हो गया, मुझे खुद ऐसा लग रहा था कि दीदी की पहली चुदाई का मजा नंगे लंड से ही लेना चाहिए.

मेरा पूरा 7 इंच का लंड भाभी की चूत में घुसता चला गया और वो फिर ज़ोर ज़ोर से चीखने लगीं.

हैं मेरे पास, लेकिन दुःख की बात कि नोवोसिबिर्स्क में, जहाँ मैं पहले रहता था, मास्को में तो मैं बस अभी आया हूँ. वन्द्या को बिना कपड़े नंगी देखकर ही हर कोई अपने होश खो बैठेगा और जो इसे छू ले उसकी तो जिंदगी ही बदल जाए! बहुत सेक्सी बहुत हॉट माल है। अंकल आप बहुत लकी हैं जो आज इसको आप अपने हाथों से वन्द्या की गांड, दूध दबा रहे हैं और होठों को चूस रहे हैं.

गिड़गड़ाने लगी- राजे, अब तो बख्श दे अब इतना तो मज़ा भी बर्दाश्त नहीं हो रहा. उसके बाद चंदर बोला- अपनी टांगें चौड़ी करके लेटो, अब मैं तुम्हारी चुत को चाटूंगा और खाऊंगा. वो बेड के कोने में खड़ी थीं, मैंने उनको पीछे से पकड़ लिया और उनकी गर्दन को चूमने लगा और उनके पेट को सहलाने लगा.

मैं भी कितनी बुद्धू हूँ, मैंने अपने बारे में तो बताया ही नहीं कि मैं कैसी हूँ क्योंकि मुझे मालूम है कि अन्तर्वासना पर मेरी जवानी को जब तक आप लोग नहीं जानेंगे, आपका लंड ही खड़ा नहीं होगा और कहानी पढ़ने का मजा भी नहीं आएगा. यही बात मैंने अलका से भी कही कि सब कहानियां मेरी गर्ल फ्रेंड्स में ही घूम रही हैं. कुछ मिनट बाद मौसी अपने चूतड़ उछालने लगी, मुझे आभास हो गया कि मौसी अब झड़ने वाली है.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में हिंदी मैं ये भी सोच रहा था कि नवीन के जाने से पहले मॉम उससे ज़रूर मिलेंगी. मैंने कहा- क्यों साली जी, मजा नहीं आ रहा है?वो शर्मा गई और बोली- मजा तो बहुत आ रहा है मगर अब आपका वजन लग रहा है और आपका लंड भी बहुत मोटा है तो अब थोड़ा दर्द हो रहा है.

न्यूड फोटोग्राफी

मैं सीधा जिम में गया और दरवाज़ा बंद कर दिया और अपनी तैयारी करने लगा. साक्षी दर्द के मारे बेहोश सी होने लगी, उसकी आँखों में आँसू आ गए थे और बस वो अपने आप को मुझसे छुड़ाने की नाकाम कोशिश कर रही थी. मैं उसको 15 मिनट तक लगातार चोदता रहा। फिर मेरा वीर्य निकलने वाला था तो मैंने कहा- मेरा निकलने वाला है, कहाँ निकालूँ?तो उसने कहा- अंदर ही डाल दो!फिर मैंने तेज़ तेज़ धक्के दिए और अपने पूरा माल उसकी चूत में निकाल दिया.

लाइट नहीं आ रही थी, अँधेरा था, मौसी आगे आगे चल रही थी और मैं पीछे पीछे… थोड़ी दूर चलने पर उनका घर गांव के किनारे था, आ गया. आपको मेरी कहानी कैसी लग रही है?आपकी प्रतिक्रिया मेरे लिए बहुमूल्य है।धन्यवाद. इन्डियन सेक्सीवीरू ने मुझे अपनी गोद में खींच लिया और भाबी के सामने हीमुझे नंगी करकेचोदने लगे.

इतना कह कर मैं नीचे फर्श पर बैठ गया और रानी के सेट होने का इंतज़ार करने लगा.

मैंने मुँह खोल के पूरा का पूरा लंड मुँह में भर लिया और कोई बच्चा जैसे दूध की बोतल चूसता है, वैसे लंड चूसने लगी. मैं तो खुद जल्दी में था, तो मैंने उसकी टांगें खोलीं और लंड को उसकी चूत पर लगा कर धक्का दे मारा.

मैंने भाभी की चूत पर लंड के सुपारे को रगड़ रहा था… लेकिन मैं जानबूझ कर उनकी चुत में लंड डालना नहीं चाहता था. वो मेरे सर को अपने हाथों से सहलाने लगीं और बड़ी ही मादक ‘आआ आआहह आह आआहह. खाना तो हम शादी में खा ही चुके थे तो मौसी ने जल्दी ही दो खाट बिछा दी, दोनों खाट पास पास ही थी.

मैंने भाभी से पूछा- आपकी गांड तो चुदी हुई लग रही है भाभी?तो उन्होंने बताया कि मैं बैंगन पे कंडोम लगा कर गांड में आगे पीछे करती रहती हूँ… क्योंकि मेरे पति का लंड बहुत ही सॉफ्ट है… तुम्हारे जैसा कड़क नहीं है… इसीलिए चूत के साथ गांड भी रमा हो गई है… अब तुम फ़ालतू की बातें छोड़ो और काम पर लग जाओ.

लंड अब पूरी तरह से फूल कर तन चुका था और मॉम सप सप करके लंड को चूसे जा रही थीं; नवीन भी ‘आह आह. तभी उसका फ़ोन बजा, उसके घर से फ़ोन था, रात होने की वजह से उसे घर बुलाया जा रहा था. मोहन ने मुँह से लंड निकाल कर मेरे गाल से रगड़ कर साफ किया और पेंट में डाल कर चैन बंद कर ली.

नंगी एचडी सेक्सीआधे घंटे तक मैं नहाता रहा और फ़िर नहा कर कपड़े पहन के जैसे ही बाहर निकला, सेजल भाभी दरवाज़े के पास ही खड़ी थीं. उनकी आँख में आँसू आ गए और मैं उनके आंसुओं को पीते पीते धीरे धीरे चोदने लगा.

सुपर सेक्सी दिखाइए

जैसे ही हम फ्लैट में पहुंचे मुझसे सब्र नहीं हुआ, मैंने उसे दरवाजे से चिपका कर अपनी गोदी में उठा लिया ओर उसके गुलाबी होंठों को चूसने और काटने लगा. पूजा ने खुलते हुए कहा- साले हरामी मेरी चुत को तेरा लंड किसके लिए लेना है तुझे पता नहीं है?मैंने ढीठता दिखाते हुए कहा- नहीं पता. मैंने धीरे धीरे उस होल में अपनी जीभ डाल दी और बहुत देर गांड को तक चूसता रहा.

मैंने होंठ चौड़े किये तो पूरी तरह मलाई से भरी गुलाबी चूत के जो दर्शन हुए तो यारों मेरा क्या हाल हुआ मैं बता नहीं सकता. मोहन ने जैसे मुझे देखा, खुद झटके से मेरे सर से टोकरी को नीचे रख दिया और मुझे बांहों में लेकर चुम्बन लेने लगा. कुछ देर बाद चाची के जाते ही मैं अपने कमरे में आया और देखा कि भाबी मैक्सी पहने मेरे कमरे में बैठी हुई हैं.

ये भी ले जाके दे देना साथ में…मॉम हंसने लगीं और दरवाज़ा खोलकर बाहर चली गईं. और इतनी बात कहते कहते मेरी मौसी रोने लगी मुझे अच्छा नहीं लगा और मैं उनकी चारपाई पर जाकर बैठ गया और अपने हाथों से मौसी के आंसू पौंछने लगा. जब भी वो उत्तेजित हो जाती तो मुझे अपनी बांहों में भींच लेती और अपने को ऊपर उठा कर ज्यादा से ज्यादा लंड अन्दर लेने की कोशिश करती.

गोरा रंग, साढ़े पाँच फिट की हाइट, उसका 34-30-34 का मन को मस्त कर देने वाला फिगर था।धीरे-धीरे हम दोनों में पर्सनल बातें भी शेयर होने लगीं. लेकिन लंड कहाँ से मिलता मुझे!इस तरह कुछ दिन जैसे कैसे निकल गए लेकिन मेरी चुत में खुजली बढ़ने लगी थी, मैं बहुत मुश्किल से अपनी कामवासना पर कंट्रोल कर पा रही थी.

मैं कंबल के अन्दर उसके पाँव सहला रहा था जिससे उसकी आँखों में छा रही मदहोशी साफ दिख रही थी.

उनकी आँख में आँसू आ गए और मैं उनके आंसुओं को पीते पीते धीरे धीरे चोदने लगा. भोजपुरी में चुदाई सेक्सी वीडियोउन्होंने मुझे और खुद को नंगे एक ही बिस्तर पर एक दूसरे को लिपटे हुए पाया. डॉगी कुत्ता की सेक्सी फिल्ममैं अंदर गया तो देखा कि गुड़िया सो रही है; भाभी को देखा; कहीं नहीं दिखी, भैया भी नहीं दिखे. अगर हमने आपके लिए महिला ग्राहक भेजा तो ही आपकी कमाई से हम थोड़ा सा कमीशन लेंगे, वर्ना हम एक पैसा भी नहीं लेंगे.

ऊपर की तरफ थोड़े कम और मोटे चूचों की वजह से हल्के से लटकने का आभास देते हुए उसके गोल गोल बोबे.

मुझे चुत पर दारू बहुत ठंडी लग रही थी और साथ ही जलन भी हो रही थी, इसलिए मैं चुत इधर उधर आगे पीछे करने लगी. मेरा फिगर 36-30-38 का है, मैं आप सबको अपनी सच्ची चुदाई की कहानी बताने जा रही हूँ कि कैसे मकान मालिक ने लंड दिखा कर मुझे चोदा, मेरी चूत मारी, मेरी गांड मारी!इस कहानी से पहले मेरी कहानीचाचा ने मुझे चोदाआपने पढ़ी और पसंद की, इसके लिए धन्यवाद. खैर अब यह उनका रोज़ का काम हो गया था, मुझसे अपनी चूत चटवाना और मेरी फुद्दी चाटना.

मैं बार बार उसे देखता था, वो मेरे सामने ही बैठा था, 5-6 खाना छोड़ कर. वो दोनों हॉस्टल में रह रहे थे और इधर घर में चुदाई का नंगा डांस होता रहा. जब मैं नहा कर फ्री हुआ और पजामा पहना ही था कि दीदी ने मुझसे कहा- वीशु, अगर तुम्हारे पास समय हो तो इस संडे हमारा कूलर फिट कर दोगे?दीदी की आवाज़ सुनकर मैं एकदम से चौंक गया कि अचानक से यह कौन आ गया?मैंने सँभलते हुए अपने लंड को अपने हाथ से छिपाने की कोशिश की क्योंकि मैंने अभी ऊपर कुछ नहीं पहना था और पजामा पता होने के कारण और बिना अंदरूनी वस्त्र पहने होने के कारण पानी से भीगा लंड साफ़ दिख रहा था.

दीपिका सिंह xxx

वो काफी अन्दर तक मेरे लंड को लेने की कोशिश कर रही थी, पर ले नहीं पा रही थी. जब अशोक अपने लंड का पानी निकालने वाला था तो उसने लौड़ा चुत से निकाल कर मेरे मम्मों के बीच में रख कर मुझे बूब फक करते हुए चोदा. तेरे नीचे दब के चुदना चाहती हूँ… मादरचोद आजा ऊपर… कुचल दे मुझको अपने बदन से… जल्दी प्लीज़ज़्ज़… बस अब ज़्यादे देर नहीं बची.

मैं बार बार उसे देखता था, वो मेरे सामने ही बैठा था, 5-6 खाना छोड़ कर.

मेरे लंड का तो मानो जैसे बुरा हाल था, कब से साली की चुत देखकर तना हुआ था.

जैसे ही पानी निकलने को हुआ, उसने फिर से मेरे मुँह में लंड डाल दिया. ”ठीक है!”उह क्या होंठ है यार तुम्हारे…”उम्म्मम्म… स्सस्सस्स ये जांघें और ये नाभि. इंडियन मराठी सेक्सी बीपी पिक्चरकाफी देर तक ऐसा ही चलता रहा, फिर मेरा माल निकल गया और मैं भाभी के ऊपर निढाल होकर पड़ा रहा।जब मैं उठा तो देखा कि माल निकलने के कारण मेरी पैंट भी गीली हो चुकी थी.

मैंने मामी जी के कान में बोला- मामी जी, चलो बाथरूम में चलते हैं, वहाँ पर मज़े करेंगे. ”अजय मेरे पास आकर मुझे किस करके मेरे मम्मों को दबाने लगा और चूसने लगा. दीदी ने दो लड़कों के साथ भी दो वीडियो दिखाईं, जिसमें दीदी और वो लड़के नंगे थे.

तो साथ ही में मॉम की चुत से नवीन के लंड का ढेर सारा पानी भी बहने लगा. आज अपना पठानी लंड पेल कर मेरी कुंवारी चुत को औरत का दर्जा दे दो मोहन जी.

उसने मुझे औए दबाया और अपनी गांड मेरे मुँह के सामने लाया और बोला- चाट मादरचोद, यहीं से तेरा खाना आता है.

आज शाम कीदुल्हन की चूत की सीलटूट गयी और वो बहुत जोर से चीख उठी और पूजा और भाभी दोनों अन्दर आ गईं. भाभी- आ जा माधवी अन्दर…मैंने अन्दर आकर देखा तो सब कुछ पहले जैसे था, ऐसा नहीं लग रहा था कि यहां कोई ऐश किया गया हो. फिर मैंने आरुषि की कैपरी को उतारा तो अंदर मैंने देखा कि उसने काले रंग की ब्रा जैसी डोरी वाली पैंटी पहनी हुई थी जो सामने से गीली हो रही थी मतलब उसकी चूर कामुकता से पानी छोड़ रही थी.

सेक्सी फिल्म जंगल जैसे ही मेरे होंठ उसके गाल से टच हुए, पूरी बॉडी गर्म हो गई क्योंकि उसकी स्किन भट्टी की तरह जल रही थी. पहले तो वो मेरी दाहिनी जांघ सहलाता रहा, फिर जांघ के पीछे सहलाने लगा.

अब ये मेरा रोज़ का रूटीन हो गया था बस फर्क ये था कि हर 3 दिन बाद मेरे लंड पर वजन दुगना हो जाता था और 500 ग्राम के बाद वजन स्थिर हो गया था. पहले तो मुझे गंदा लगता था, बाद में मुझे वही बातें काफी अच्छी लगने लगीं और हम दोनों खुल कर बातें करने लगी. इसके बाद जो नज़ारा मेरी आँखों के सामने था, उसे देख कर मेरी गांड फट गई थी.

पुरी में सेक्सी

उसने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और उसके सुपारे पर जीभ फेरने लगी. ये सब तुझे गर्म करने के लिए करती हूं ताकि तेरा लंड खड़ा हो जाए क्योंकि मुझे तुझे गर्म करने में बहुत मज़ा आता है. पर उस चूतिया लड़की को लंड से प्यारी खिड़की थी, तो मैं मजबूरी में उसकी माँ के दाहिनी तरफ बैठा था.

बिंदु माँ ने उनसे कहा- इसको माहवारी शुरू हो गई है इसलिए इसे आराम करने दो, मैं सब देख लूँगी. सो दोस्तों इस तरह की कमाई के चक्कर में न रहें कि चुत भी चुदाई के लिए मिल जाएगी और रकम भी मिलने लगेगी.

चाची ने मुस्कुराते हुए कहा- तो क्या हो गया? तूने मेरी चूत की चुदाई कर डाली तो इससे मेरी चूत की साइज़ छोटी थोड़े ही न हो गई? तू ये तो बता कि मेरी चूत चोदने में मज़ा आया कि नहीं?मैंने कहा- हाँ चाची, मज़ा तो बहुत आया.

उनको दूध आता था, मैं सारा दूध पी गया, क्या स्वादिष्ट दूध था… एक को तो पूरा खाली कर दिया और दूसरा चूसने लगा. मेरा लंड उनकी इस हरकत से और ज्यादा तनतना गया, सख्त हो गया, फूल गया. वो बोली- अपनी दीदी की चूत के अन्दर मत झड़ना… मुझे भाई के लंड का रस पीना है.

मुझे बिना कुछ कहे वे अन्दर आ गईं और नाश्ता टेबल पर लगाने लगीं… फ़िर बोलीं- चलो फटाफट नाश्ता कर लो. फिर अपने होंठ उसके होंठों से मिलाएं और फिर उसकी एक चूची को अपने हाथ में लिया, उसके पैरों को अपने पैरों में लपेटा और एक हाथ से लंड को उसकी चूत पर सेट करके चूत पर सेट करके धीरे से धक्का लगा दिया. इसके बाद में मैंने एक झटका और दिया तो इस बार पूरा सात इंच का लौड़ा चूत की जड़ तक अन्दर चला गया.

अब आगे हमारी मस्तियों को कहानी मेरी जुबानी!मैं और अर्पिता एक दूसरे से बहुत करीब आ गए, रोज़ फ़ोन पे बात होना और विडियो कॉल पर सेक्स करना हमारा प्रिय शगल बन गया था.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में हिंदी: आआ स्सस्सस्स उम्म… अब तुम भी नंगे हो जाओ… और अन्दर तक चूसो इसे आआह…”उसने चुत चाटना शुरू कर दी. मैंने उससे पूछा कि यहां अचानक कैसे आना हुआ?तो उसने कहा कि यार एक प्रॉब्लम हो गई है.

”ओह्ह पिंकी मेरे पास सिर्फ यही बोतल है और तुम्हारा जूस रुकने का नाम ही नहीं ले रहा, अब क्या करूँ. मैंने रूखे स्वर में कहा- मुझे कोई बात नहीं करनी है, जाओ घर पर कोई नहीं है, बाद में आना. अब मैंने थोड़ा उसे उत्तेजित करने के लिए देखने का नाटक करते हुए उसके छेद के उपर जो दाना था, उसे छू कर थोड़ा मसल दिया.

भाभी बोली- इतना पानी आज तक नहीं निकला! कसम से देवर जी, बहुत मजा आ रहा है!मैंने काफी देर तक भाभी को चोदा, भाभी थक गई और बोली- बस करो देवर जी!मैंने कहा- मेरा तो अभी हुआ नहीं?भाभी बोली- कितना टाइम लोगे?भाभी कई बार पानी छोड़ चुकी थी.

फिर मैं उसकी लेफ्ट चुची पर आया, वहां से मेंगो पीस उठा कर उसका रस मुँह से मम्मों पे डाला. फिर मैं बहुत इनोसेंट बन कर उसके बगल में बैठ कर बोला कि आई एम सॉरी, अगर मेरी किसी बात का बुरा लगा हो तो!मैंने सोच लिया था कि अगर उसने तमाचा मारा तो चुपचाप माफी मांग लूंगा, कल से नहीं आऊंगा. मुझे देख कर बोला कि आज तो तुम पूरी इंद्र के दरबार से आई अप्सरा लग रही हो.