हिंदी फिल्म बीएफ में

छवि स्रोत,ने बहु को चोदा

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी बीएफ झवाझवी: हिंदी फिल्म बीएफ में, फिर हम तीनों ने खुद को ऐसे कर लिया कि हम एक दूसरे की गांड और लंड चूस सकते थे.

बाप ने बेटी को जबरदस्ती चोदा

अनीता ने कमल को इशारा किया- साली कमीनी … ये आज ही क्यों आ गई!कमल ने अपनी विवशता जताई. लक्जरी कारछोटी चाची मेरे वीर्य को उंगली से लेकर टेस्ट करने लगी और बोलीं- इसका टेस्ट तो बड़ा अच्छा है.

मगर संजय नहीं रुका और उसकी गांड में झटका लगाते हुए बोला- ये हमारी गांडू रांड है. लिआ गोट्टीक्योंकि ऐसा करने से सबको पता चल जाता कि सेक्स करना सूरज के बस की बात नहीं है और सब जगह बात फैल जाती.

आगे उसके मुँह से निकला- साली रंडी आज तुझे बताती हूँ कि औरत की गर्मी क्या होती है.हिंदी फिल्म बीएफ में: विजय अचानक चुदाई करते करते रुक गया और पूछने लगा- शालू किसका फोन है?लेकिन मैंने विजय को नहीं बताया सुमन भाभी ने कॉल किया है.

साथ ही में अनामिका उससे कहने लगी- यार तूने आज जो अनुभव कराया है ना … उसको मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकती.मैं संभाल लूंगा।रिया फिर बहाना बनाते हुए बोली- मगर मेरे पीरियड्स के टाइम?समस्या देख कर रमेश बोला- हम्म … उस समय तू सिर्फ एक छोटी सी पैंटी पहन लेना और उन दिनों की भरपाई तू अगले कुछ दिनों में कर देना। वैसे भी तेरे पास तेरा मुंह और गांड भी तो है, मैं उससे भी काम चला लूंगा.

टिकटोक सेक्स - हिंदी फिल्म बीएफ में

मैं बहुत गर्म हो चुका था और मेरा लंड मेरी पैंट फाड़ने को हो रहा था.अब आगे की भाभी चुदाई हिंदी कहानी:मैंने अपने तेल से सने हाथों को अपने पेट पर रगड़ दिया और भाभी के पेट के दोनों तरफ अपने घुटने रख कर बैठ गया.

स्कूल कॉलेज भी नहीं करती, कहीं घूमने टहलने भी नहीं जाती … कहीं गई भी, तो बस किसी की शादी में … या फिर बीमार हुए तो डॉक्टर … या कभी मार्केट, वो भी अम्मी या दादी के साथ ज़िंदगी बोरिंग सी है. हिंदी फिल्म बीएफ में मुझे लगा कि मौक़ा अच्छा है, मुझे इसका फायदा लेकर भाभी की चूत चुदाई कर देनी चाहिए.

मैंने नेहा से पूछा तो वह बोली- कुछ नहीं … वैसे ही मम्मी का मूड खराब है.

हिंदी फिल्म बीएफ में?

वो आनन्द के मारे उछलने लगी- आह हहहह ऊई ईई ईईई ऊईई ईहहई आहह हहह हह!ऐसी आवाज निकालने लगी. मेरे दोनों चूचुकों पर मेरा रस मलने के बाद मेरी दोनों रानों के बीच मेरे ऊपर आ गयी और मेरे स्तनों को चूमने लगी. मेरी बात सुनकर उन्होंने कॉफी ऑर्डर कर दी और हमने साथ में बैठकर कॉफी पी।फिर वे मेरे पास आकर बैठ गए। उन्होंने मेरा हाथ अपने दोनों हाथों के बीच में ले लिया और उसे जोर से दबाने लगे।वो मेरी आंखों में देखने लगे.

पर उसने मुझे क्रूर नजरों से मुस्कुराते हुए ऐसे देखा मानो उसके मन में बरसों की कोई शत्रुता छिपी हो … और अब उसे प्रतिशोध लेने का अवसर मिल गया हो. तुम्हें तो कोई भी लड़की मिल जाएगी … फिर मैं ही क्यों?मैं उनके बेड पर बैठ गया और भाभी से बोला- आप मुझसे कब तक दूर भागेंगी इधर आइए, मेरे पास बैठिए. मेरा वजन अठावन किलोग्राम है, रंग गोरा, शरीर पर बाल नहीं हैं और स्लिम हूँ.

अब मेरे सारे कपड़े तो बाहर ही थे, तो मेरे पास जो तौलिया था, मैं उसी को बांध कर बाहर आने की सोचने लगी. तुम शायद खुद नहीं जानती कि जब कोई तुम्हें चोदता है तो तुम मस्ती में कैसी प्रतिक्रिया देती हो. ये सुनकर जीजू हड़बड़ाते हुए बोले- क्या बात कर रही हो यार … कितनी मुश्किल से तो मौका मिला है … और तुम हो कि सब काम खराब करने में लगी हो.

औरत और मर्द पास पास बैठे थे लेकिन मर्द का हाथ पीछे से उसकी गांड में उंगली कर रहा था औरत मजे ले रही थी. जब चूची आधी नंगी दिख रही हों तो उनको पूरी देखने के लिए उत्तेजना कहीं अधिक बढ़ जाती है.

इस पर आंटी बोलीं- हां मैं डेली इस तरह की चुदाई चाहती हूँ और तुम्हें मैं चुदाई के और भी नये नये तरीके बताऊंगी.

उसने मुझे पलट दिया और तेज़ी में मेरी टांगें चीर कर दोनों किनारे फ़ैला दिए.

सच में शायरा की चूचियां इतनी टाईट और कसी हुई थीं कि उसके पति ने तो क्या … शायद खुद शायरा ने भी कभी उनको हाथ नहीं लगाया था. मैंने कहा- वो कहाँ से आएंगी?भाभी- किट्टी की मेरी जो फ्रेंड्स हैं, सब लण्ड को तरसती हैं, कइयों ने तो सालों से लण्ड के दर्शन नहीं किये हैं, वे तो हैं ही, किसी की बेटी को बच्चा नहीं होता तो किसी की बहू के बच्चा नहीं होता, सब चोदने को दिलवा दूंगी, लेकिन तुम मेरे विश्वासपात्र बने रहना. वो- हां ये सही रहेगा, वैसे सैलरी क्या लोगे?मैं- बस ज्यादा नहीं, अपने हाथों का बना रोज टेस्टी टेस्टी नाश्ता करवा देना.

मेरे गोल मटोल मोटे मोटे और कसे हुए मम्मे (बूब्स) दबाने के लिए हर जवान और बूढ़े के हाथ मचलते हैं. मुझसे रहा ही नहीं जा रहा था कि मौसी कब आएंगी और कब उन्हें चोदने का मौका मिलेगा. निशु ने बताया कि वो इंदौर का ही रहने वाला है, जगह न होने की वजह से वो यहां एन्जॉय करने आ जाता है.

मैंने अपनी बांहों से गीत को और कस लिया ताकि संजय के झटका लगाने की वजह से गीत ज्यादा हिलजुल न जाए और मेरा लंड जो गीत की चूत में पहले से ही है वो बाहर न आ जाये.

एडल्ट रोल प्ले स्टोरी में पढ़ें कि तीसरी न्यूज़ एंकर ने कैसे मुझे गुलाम बना मुझ पर हुक्म चलाया. आपकी कोई गर्लफ्रेंड हो तो बताओ?भाईजान बोले- तेरी फिक्र है इसलिए मैंने कोई लड़की नहीं देखी. वो- वो क्यों?मैं- अब बस में तो एक दूसरे से थोड़ा बहुत छू भी जाते हैं, क्या पता तुम कब मेरा गाल सुजा दो.

मैंने उसके होंठों को चूमते हुए कहा- साली चिन्ता मत कर, मुझे मालूम है कि माल कहां गिराना है. एक बार मैंने आंटी से पूछ लिया- आंटी, आपके बदन से ये इतनी अच्छी महक कैसे आती है?इस पर आंटी ने हंस कर जवाब दिया कि मैं रोज नहाने के बाद ही छत पर ठंडी हवा लेने आती हूँ. इसके आगे सूरज ने बताया कि इनकी बीवी यानि मेरी चाची को गुजरे 7 साल हो गए हैं, लेकिन इन्होंने फिर दुबारा शादी नहीं की और ना ही इनकी कोई औलाद है.

मौसी हम सबके साथ काफी फ्रेंडली रहती हैं, इसलिए मैं खुल कर बोल पाया.

उसकी गर्दन चाटते ही उसके मुख से निकल पड़ा- अमन प्लीज़ यार … अंदर डालो! तड़पाओ मत!लेकिन मैं कठोर बन उसकी गर्दन, उसके कंधे चाट रहा था. शाही सर ने मुझे शमा को कपड़े उतारने में हेल्प करने को कहा और अपने दोस्तों को मोबाइल पर वीडियो बनाने को कहा.

हिंदी फिल्म बीएफ में उसने एक बार तो मेरी जाँघ को अपने हाथ में भींच लिया और फिर उसका हाथ मेरी जाँघ से उपर की तरफ बढ़ने लगा. एक ही शाम में कई बार कामरस निकल जाने से भाभी थोड़ी थकी हुई सी लगने लगी थीं.

हिंदी फिल्म बीएफ में थोड़ी देर में मामी को थोड़ा आराम मिला तो मामी बोलीं- राहुल बहुत दर्द हो रहा है … प्लीज़ छोड़ दे मुझे … मेरी गांड को छोड़ दे. फोन उठाते ही बोले- मेरे बराबर वाले फ्लैट में वो जो लड़की रहती है, उसके घर आ जाओ.

थोड़ी देर बाद मैंने धीरे से अपना हाथ उसके बूब्स पर रख दिया और ऊपर से सहलाने लगा।उसने कुछ नहीं बोला और आंख बंद करके लेटी रही.

पंजाबी ब्लू पिक्चर बीएफ

वो- ये लो … पर देख लेना उसमें पैट्रोल भी है या नहीं, बहुत दिनों से ऐसे ही खड़ी है. पूजा और मेरे बीच बातचीत चलती रही और रिया अपनी किताब पढ़ने में मस्त थी. क्योंकि उसका शर्माना, मुझसे आंख ना मिलाना, उसको कमज़ोर बना रहा था … और मैं तो यही चाहता था.

ये सब इसलिए हो रहा था क्योंकि अक्सर मैं छुट्टे पैसे देते हुए उनके कोमल हाथ को छू लेता था. जब आपने मुझे आपके नीचे के कपड़े उतारने से पहले रोक दिया, तो मैं आपकी रजाबंदी के बिना कैसे आगे बढ़ सकता था!सलोनी- यार तुम इतनी सी उम्र में इतने मैच्योर कैसे हो गए हो? कितनी अच्छी अच्छी बातें कर लेते हो, तुम्हारी इन्ही बातों पर तो मैं फिदा हो गई हूँ. मैं- अब क्या हुआ?वो- तुम चलोगे या फिर इनके साथ ही जाना है?मैं- चल तो रहा हूँ.

शायरा ने पैरों को मोड़कर अपनी चुत को तो छुपा लिया था … मगर मैंने उसके पैरों पर ही किस करना शुरू कर दिया.

मर्दों को इतना मजा देती हो, मैंने आज तक किसी औरत को इतना डूब कर मजा देने वाली औरत नहीं देखी. हमने एक राउंड चुदाई का किया और फिर वो दोनों भी नहाकर अपनी पैकिंग करने लगीं और मैं भी तैयार होने लगा. पता नहीं निशु के दिमाग में क्या चल रहा था, अचानक से उसने मेरे छोटे से लंड को मुँह में लिया और चूसने लगा.

दीपिका मुझे हर घंटे दो घंटे बाद अपनी प्लम्बर, इलेक्ट्रिशियन आदि की दिक्कतें बताती रही और मैं उसकी दिक्कतें दूर करता रहा. मैं आशा करती हूं कि Bhai Bahan Xxx कहानी आप चाव से पढ़ेंगे, यदि कुछ कमी रह जाये तो मुझे बाद में बता सकते हैं. मैं बोला- क्या?अनीता- आप मुझे इस नामर्द आदमी से छुटकारा दिलाओगे … और हमेशा के लिए मुझे अपने साथ रखोगे.

मेरी योनि अब भीतर से गीली शुरू होने लगी थी और ऐसी चाहत हो रही थी कि कविता की योनि के उभार को मैं बार-बार अपनी योनि की दरारों के बीच फंसा लूं. बोल पापा Xxx करेगी?रिया- नहीं।रमेश- ठीक है मैं तुझे मालामाल कर दूंगा.

मैंने कहा- क्या?भाभी अपनी चुत की तरफ इशारा करते हुए बोलीं- तुम वादा करो कि मेरी ये नहीं चूसोगे?मैंने हंसते हुए बोला- ये. मैं अंधेरे में तीर चला कर बोला- मुझे अभी अर्जेन्ट जाना है … एक घंटे बाद मुझे जरूरत ही नहीं रहेगी. मैंने उसका जोश बढ़ाने के लिए कहा- चाचा औ भोसड़ी वाले चाचा … जरा आराम से करो! वरना 2 मिनट में निकल लोगे.

सेक्स की हिंदी कहानी में पढ़ें कि मैं पार्क में घूम रहा था कि कुछ लोग एक प्रेमी जोड़े को डांट रहे थे.

मुझे लगा कि मेरी जानेमन सुनकर थोड़ा नखरे करेगी, पर उसने तो मुझे ही सकते में डाल दिया. लंड चुत के अन्दर जाते ही वो चीख दबा कर बोली- आह मार ही दोगे क्या!उसको चुदाई किए हुए लम्बा समय बीत गया था … या कोई और कारण था … मगर उसकी चुत एकदम टाइट थी. मैंने भाभी से पूछा- भाभी भैंसा और आदमी के लण्ड में क्या अंतर होता है?भाभी- एक तो भैंसा का लण्ड आगे से बहुत पतला और बिल्कुल किसी सूखी लकड़ी जैसा होता है जो भैंस के लिए ही बना होता है.

आखिरी रात को उसकी दो बार गांड भी मारी।अब वो लखनऊ में है और मुझे और कोरोना सेक्स को याद करती है।दोस्तो, मेरी कोरोना सेक्स स्टोरी पसंद आयी या नहीं? आप कमेन्ट जरूर करें![emailprotected]. इस पर मैं बोली- दीदी ये गलत बात है … ना आपने तो बिना बताए स्वाद बदल लिया और मुझे एक ही टेस्ट वाला खाना खाने को बोल रही हो.

तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी सेक्सी गांड Xxx स्टोरी, मुझे मेल करके ज़रूर बताएं. बदले में मम्मी भी उनसे कह रही थीं- आह भड़वे साले मादरचोद … चोद दे कमीने … क्या हुआ आज तेरे लंड में बड़ी सुर्खी आई हुई है … आह चोद अन्दर तक लंड पेल दे हरामी. इस पर मैंने तुरंत अपने होंठों से एक डीप किस नेहा की चूत पर की और नेहा की चूत के अंदर अपनी जीभ घुसा दी.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ वीडियो बीएफ

जैसे मैंने नैना की चूत को पैंटी के ऊपर से ही मुँह में भर लिया था, उसने भी मेरे लंड को अंडरवियर के ऊपर से होंठों में भर लिया.

वो बाहर निकलती इससे पहले रमेश ने उसे कमरे के अंदर खींच लिया और बोला- तो तुम धंधा करने लगी हो?रेहाना- नहीं अंकल… वो वो … वो!रमेश- क्या वो-वो कर रही है, बता?रेहाना- सॉरी अंकल मुझे माफ़ कर दीजिये. मैंने कहा- क्या हुआ, अब सेक्स कैसे करोगे?सूरज बोला- थोड़ी देर में करते है, अभी ये दुबारा खड़ा हो जाएगा. वो एकदम धीरे से मेरे कानों के पास आकर कामुक सिसकारियां निकाल रही थी- आह … कितना मस्त मजा दे रहे हो … ओहह … आह इसी तरह करते रहो … ईईईस्स.

संजय अब तक हमारे पास आ गया था और मैंने संजय को गीत के पीछे जाने का इशारा किया जिसे गीत तो समझ ही चुकी थी, किंतु नेहा अब समझ गयी. वास्तव में मुझे कभी ख्याल ही नहीं आया कि तुम मुझसे प्यार भी करती हो. हिंदीxxxbfउस इंडियन मॉडल गर्ल ने पहले मुझे अपना आइडिया बताया और फिर कुछ टिप्स भी दिये कि कैसे मैं अपने वीर्य के वेग को देर तक रोके रख सकता हूं.

उसका पति मिन्नतें करने लगा, मगर अनीता गुस्से के मारे बकती ही जा रही थी. दरवाजा खुलते ही शायरा की नजर सीधा मुझ पर पड़ी, जिससे एक बार तो उसने मुझसे नजरें मिलाईं; फिर अगले ही पल उसने अपनी आंखें नीचे कर लीं जैसे कि वो शर्मा रही थी.

मैंने सलोनी भाभी से कहा- आप सिर्फ़ पैंटी पहन लीजिए, बाकी ऐसे ही रहो. फिर धम्म से लौड़े पर बैठ जाती जिससे सुपारी चूत के अंतिम छोर तक जाकर यूट्रस से चुम्बन करती. तुमको आज तक मेरे जैसा लंड नहीं मिला क्या?मुझे जितना भी मिला … सब एक जैसे ही थे.

सरोज की मम्मी ने पूछा- सरोज सोने का कैसे अरेंजमेंट किया है?भाभी कहने लगी- मम्मी, मैं तो अपने बेडरूम में ही सोऊंगी. लेकिन मैंने अपना काम जारी रखा और कुछ धक्कों के बाद आंटी की चूत अपने वीर्य की गर्म पिचकारियों से भर दी. वो तो मुझे पता था कि ऐसा कुछ करते समय बिस्तर पर दाग लग जाते हैं … इसलिए मैं पहले ही अपने साथ अपनी बेडशीट लेकर आया था.

थोड़ी देर में वो फिर से देखने लगी, तो मैंने इस बार उसे हाथ हिला कर बुलाया.

मगर मैं जानता था कि उसके लिए ये सब आसान नहीं होने वाला।मैं सोच रहा था कि किस तरह से उसकी चूत की सील तोड़ू क्योंकि चूत का छेद बहुत छोटा था और मेरा लंड काफी मोटा।अगर मैं जल्दबाजी दिखाता हूँ और जोश में आकर लंड उसकी पुद्दी में पेल देता हूँ तो पुद्दी बुरी तरह फट सकती थी।मुझे काफी सावधानी बरतने की जरूरत थी।तब मैं बिस्तर से उठा और सरसों का तेल लेकर आया. दीपिका ने मेरी आँखों में देखते हुए अपनी दोनों आंखें बंद करके सहमति दे दी.

मगर अब मैं जवान हो गया थी तो मेरा मन भी विपरीत लिंग की ओर आकर्षित होने लगा था. बलखाती कमर सुराहीदार गर्दन … सुडौलता की पराकाष्ठा को छूते स्तन … थिरकन में मयूर को मात देते उसके नितंब ऐसे कि फूल की मार भी ना झेल सकन वाले हों. ये हैं मेरे दोस्त रिजवान सुनील और प्रवीण!मैंने तीनों से हाथ मिलाया.

गीतिका ने हाथ ऊपर उठाकर उसे उंगली से मसल कर देखा और मेरी ओर देखते हुए मुस्कुरा दी. मैंने कहा- खैर … आप जो भी बोल रही हो, सही है कि किसी अजनबी से कुछ भी बोल लो, किसी भी तरह की बात कर लो … कोई टेंशन भी नहीं है. आंटी ने भी मेरी कमर में बांहें डाल ली और अपनी चूचियां मेरी जांघों में रगड़ने लगी.

हिंदी फिल्म बीएफ में ये कहते हुए रश्मि ने मेरे एक निप्पल पर अपनी जीभ चलाना शुरू कर दिया. ”यार नाश्ते की चिंता मत करो मैं बाजार से आज तुम्हारे लिए गरमा गर्म जलेबी और खस्ता कचोरी ले आऊंगा.

देसी लड़की नहाती हुई

अभी नहीं, जब तुम्हारा दिल करे, मैडम से मेरा नंबर लेकर मुझे फोन करना. उसमें से ढेर सारी क्रीम मेरी योनि में मल दी और उंगली से योनि के भीतर तक क्रीम लगा दी. मेरी बाइक स्पोर्ट्स बाइक थी, तो इस पर पैर एक साइड करके बैठना सम्भव नहीं था.

मैं भी उसके जांघों को पकड़ बिस्तर से उठा कर जड़ तक लंड पेलने लगा।हर ठाप पर भाभी कांप जा रही थी. अच्छा भाभी यह बताओ कि भैया का लंड कितना बड़ा है?”भाभी कहने लगी- बस इस खीरे जितना ही है. नई साल की चुदाईमेरे लिए सब नया था, पहली बार किसी औरत से मुझे चरम सुख की प्राप्ति हुई थी और अब मैं पहली बार किसी औरत को चरम सुख देने की सोच रही थी.

मैं बहुत किस्मत वाला हूँ।ओह्ह शालू … मैं तुम्हें अपने बच्चे की मां बनाना चाहता हूं … अपने लण्ड की निशानी हमेशा के लिए तुम्हें देना चाहता हूं.

जल्दी से मैंने दिल्ली सेक्स चैट की वेबसाइट खोली और इंडियन सेक्सी गर्ल अन्जना से सेक्स चैट करने का मन बना लिया. मेरे नौकर ने मेरे कामुक चिकनी काया को देखा, तो उसका काला नाग उसके चड्ढी में ही फुंफकारने लगा.

मैं ज़ोर ज़ोर से आंटी के मम्मों को दबाते हुए उन्हें गर्म करने की सोच रहा था. लिंक पर क्लिक करते ही मैं सीधा दिल्ली सेक्स चैट के वेब पेज पर पहुंच गया. मैं भी कुछ देर तो उसके इंतजार में खड़ा रहा, फिर शायरा के आते ही हम दोनों घर से निकल गए.

अब मैं ऐसे ही ऊपर घुटनों तक ढेर सारा तेल डाल कर सलोनी भाभी की टांगों की मालिश करने लगा.

कुछ देर की चुदाई के बाद अनीता ने अपनी गांड से लंड निकाला और तुरंत ही चूत में समाहित करके कूदने लगी. राहुल ने सोनम की गर्म चुत में लंड पेला और अपनी बहन की चुदाई करने लगा. दूसरा कंडोम लगाकर उन्होंने मुझे घोड़ी बना दिया और पीछे से लंड को चूत में डालकर चोदने लगे.

इंग्लिश नंगी फिल्म वीडियोमैंने जीभ निकाल कर उस रस को चाटा तो मेरे अंदर कामदेव साक्षात विराजमान हो गये. कुछ देर लंड और जांघ के आस-पास चूमने चाटने के बाद वो मेरी जांघों पर बैठ गयी.

राजस्थानी चुदाई वाली

उनको देखने से अंदाजा नहीं लगाया जा सकता था कि उनकी उम्र 49 साल होगी. मैंने नैना का कुरता थोड़ा सा ऊपर उठा कर उसके पेट पर चूमा, तो वो चिहुंक उठी. मेरी बीवी और साली का कमरा अलग-अलग था, पर अन्दर से एक-दूसरे के कमरे में जाने के लिए एक दरवाजा भी लगा था और रोशनदान का तो आप जानते ही हैं.

दोनों फिर से इतने गर्म हो गए थे कि एक दूसरे के मुँह से रस पीने लगे. इन्हीं हरकतों के चलते एक दिन अभिषेक का लंड तन गया जो कि मुझे उसकी पैंट से साफ साफ उभरा हुआ दिखने लगा. मैंने कहा- फिर चूस कर क्या करती हो आप!भाभी ने चाप को जोर से चूसा और बोलीं- जब चूसने वाली चीज में दम ही नहीं बचेगा, तो मैं क्या उखाड़ लूंगी.

मैंने आह करते हुए कहा- आह श्यामू … ये क्या कर रहा है?वो बोला- मालकिन अपनी जीभ से आपके ज्वालामुखी के मुँह की मालिश कर रहा हूँ. अब अगली बार मैं लिखूंगी कि मेरे यार का लंड खड़ा नहीं हुआ तो मैंने क्या किया. कुछ ही पलों में भाभी जोश में आ गईं और उठकर अपने कपड़े सब निकालने लगीं.

तभी पीछे से छोटी चाची ने मुझे देख लिया और बोलीं- यहा क्या कर रहे हो … उधर तुम्हारी अम्मी तुम्हें बुला रही हैं. अनु की चीख निकलते देख मैं कमल से बोला- कमल, इसकी साड़ी मुँह में डाल दे.

अंकल आंटी अन्दर आते हुए एक साथ बोले- अरे काम जल्दी हो गया था, तो रुक कर क्या करते!मैं कुछ नहीं बोला.

थोड़ी देर बाद सूरज का फोन आया कि मैं गाड़ी लेकर आ गया हूँ, फटाफट आ जाओ. मुस्लिम नाम बॉयमैंने भी सोच लिया कि आज आंटी को चोद ही देता हूँ, जो होगा सो देखा जाएगा. दांत दर्द का दवाइस डिल्डो में डबल साइड लंड था जिसे लेस्बियन सेक्स के टाइम पर लड़कियां इस्तेमाल किया करती हैं. मैंने डिब्बे के सभी फाटक अन्दर से बन्द करके अनीता से कहा कि अब आ जा, खुल कर तेरी चुदाई करता हूँ.

लेकिन भाभी?”” लेकिन क्या?” भाभी ने हैरानी से पूछा।मैंने धीरे से कहा- कोई सुंदर सी चूत मिलेगी तो … मैं मार लूँगा और उस बारे मैं आपके विश्वास पर पूरा नहीं उतरूंगा.

भाभी ने खीरे का थोड़ा सा हिस्सा मेरी चूत में डाला और अपनी चूत के ऊपर वाले हिस्से पर खीरे का दूसरा सिरा लगाकर अपने चूतड़ों की हरकत से खीरा मेरी चूत में घुसेड़ दिया. भाभी इस्स्स करते हुए पास आई और मेरे चौड़े फौलादी सीने को सहलाते हुए कहा- हाथ से ही पानी झड़ाओगे या मैं भी कुछ मदद करूं?दरअसल वो डबल मीनिंग बात कर रही थी. गीत को मैंने कहा- अरे अगर इतनी ही फट गयी है तो कोई बात नहीं, हमारा साथ देने के लिए तो है नेहा, तुम दूसरे रूम में जाकर आराम कर लो.

रिया उठी और रवि की तरफ घूम कर उसने उसके लंड को मुंह में भर लिया और चूसने लगी. मैंने हॉल में बैठी काव्या को आवाज लगाई और जल्दी आने का निर्देश दिया. एक दो बार मैंने उसकी पैंटी की ओर देखा और फिर अपनी चेयर पर आकर बैठ गया.

एक्स एक्स व्हिडिओ सेक्सी एचडी

फिर उन्होंने पोजीशन बदल के मुझे बिस्तर पर लिटा दिया और आकर मेरे ऊपर चढ़ गए. मेरा नाम सुमित है और मैं राजस्थान के एक पर्वतीय क्षेत्र का रहने वाला हूं. आंटी ने मुझे खड़े- खड़े बांहों में भर लिया और मेरे लौड़े को अपनी चूचियों पर लगा लिया.

अनीता तेज स्वर में बोली- पूरी रात नींद नहीं आयी … चल परे हट … अब मुझे सोने दे … और हां दुकान जाते समय बच्चियों को लेते जाना.

दोस्त सेक्स चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी पिछली कहानी से मुझे एक बहुत अच्छा दोस्त मिला.

भाभी चादर को देखकर मुस्करा कर बोली- कितना डिस्चार्ज करते हो!कुछ देर बाद भाभी एक बड़ा गिलास गर्म दूध और काफी सारे ड्राई फ्रूट लेकर आई और बोली- लो मेरे शेर, ये पी लो और बादाम खाओ. हम दोनों में एक बार मुस्कान का आदान-प्रदान हुआ और हम दोनों अन्दर चले गए. चेहरे पर मसाज करने का तरीकामैं बाथरूम गया, हाथ धोये, पेशाब किया और बाथरूम में रखे नारियल के तेल से अपने लण्ड की मसाज की और तेल की शीशी लेकर बेड पर आ गया और दादी की टांगें दबाने लगा.

मैं अब वैसे ही उसकी झूठी चम्मच को चाट चाट कर खाना खाता गया और वो मुझे देख देख शर्म से लाल होती गयी. मैं तुरंत उठ कर उसके अंडरवेयर को उतार दिया और उसके काले नाग को सहलाने लगी. नीचे गीत मेरे लंड को भी अपने ही अंदाज़ में उसके छेद पर जीभ से टच करके चूस रही थी.

मेरे शरीर पेर बहुत ज़्यादा बाल हैं, जिनमें से कुछ टूट चुके बाल सलोनी भाभी के पेट पर चिपके हुए थे. भाभी की चुत काफ़ी टाइट थी, पर उनको ज़्यादा दर्द शायद इसलिए नहीं हुआ … क्योंकि मैंने काफ़ी देर तक उनकी चुत को सुपारे से रगड़ कर गीला कर दिया था.

क्रीम, थूक और लार की चिकनाई की वजह से सुपारा तो घुस गया … पर अब भी वो मुझे बहुत मोटा लग रहा था.

मैंने आँटी की चूचियों को अपने मुँह में लिया और उन्हें चूसने, काटने लगा साथ ही उनके चूत के क्लीटोरियस पर ऊँगली अंगूठा चलाने लगा. मेरे जाते समय वो बोली- एक बात बताओ … यहां अस्पताल में पीना तो बिल्कुल मना है. मैंने सूरज के लंड को अपने कोमल हाथों से पकड़ा और हल्के से ऊपर नीचे करने लगी.

चाची भतीजा मेरी जीभ के पैंटी के ऊपर से ही चूत को छूने से शायरा के मुँह से गर्म सीत्कार निकल गयी. पूरा जोर लगा कर मैंने बिन्दू की चूत में निक्कर के ऊपर से लण्ड ठोकने की कोशिश की.

मगर मेरे मन में एक उम्मीद जरूर थी कि भाभी हमारी दुकान पर दोबारा वापस जरूर आयेगी. वो साथ में रखी एक चेयर पर बैठ गई और बोली- आप अपना ड्रिंक जारी रखें, मुझे कोई ऐतराज नहीं है. भाभी अपने कपड़े निकाल कर नंगी होकर बेड पर लेट गई और उन्होंने मुझे भी नँगा कर लिया.

बिहार की चुदाई बीएफ

मैंने उनके होंठों से अपने होंठ मिला दिए और उनके एक चूचे को अपने एक हाथ से दबाने लगा. उसी रात में सनी ने मेरी दोनों आर्मपिट में लंड फंसा कर मेरी बगलों की चुदाई की. रानी ने आते ही अपनी चूत को लौड़े के सुपारी पर टिकाया और थोड़ा सा नीचे को चूत सरकायी जिससे लंड का टोपा चूत में चला गया.

दोस्तो, मैं राकेश, बाप-बेटी के कारनामों की इस रोचक शृंखला का अगला भाग लेकर आया हूं. मेरी भतीजी की गांड चुदाई की कुकोल्ड सेक्स हॉट कहानी का रस आपको अगले भाग में कामोत्तेजित कर देगा, ये मेरी गारंटी है.

इस बीच उसके चूत ने मेरे लंड को अपनी कैद से मुक्त कर दिया और वो फिसलकर बाहर आ गया.

मैंने बोला- हां मेरी परमानेंट रंडी बन जाओ … मैं रोज इस पॉवर का मजा दूँगा. अगले रोज दोपहर को दीपिका का फोन आया- राज जी, आप आज दफ़्तर से जल्दी आ जाना, शाम को आपको डिनर पर बुलाने घोष बाबू को भेजूंगी, मना मत कीजिएगा. मैं खुद अब बारी-बारी अपने हाथों से अपने स्तनों को पकड़ उसे दूध पिलाने लगी और टांगों से उसे जकड़ लिया.

इसलिए मैं अपने दोस्तों से चैट करके अपना ध्यान वहां से हटाने की कोशिश करता था. बारिश जोरों से हो रही थी, जिससे अब रास्ते में काफी जगह रोड़ पर पानी इकट्ठा हो गया था. बूढ़े का वीर्य कुछ ज़्यादा नहीं निकला मगर फिर भी उसने मेरी फुद्दी की आग को ठंडा कर दिया.

क्रॉसड्रेसिंग ऐसी बला है कि अगर एक बार की, तो बार बार करने मन करेगा.

हिंदी फिल्म बीएफ में: दीपिका की चूची और उसकी मोटी गुदाज जांघों के बारे में सोच सोच कर ही मेरे लंड से कुछ कामरस निकल आया था जिसने मेरी लोअर को अंदर से हल्का सा गीला कर दिया था. मेरे लंड की तनी हुई नसों में चलती धमनियों के साथ मेरा लंड और कड़क होता चला गया.

ठरकी डॉक्टर की कहानी में पढ़ें कि एक दिन मुझे मेरी चूची में दर्द महसूस हुआ. अब रॉनी ने भी तेजी पकड़ ली थी और वो मेरे दूध दबाते हुए मेरी गांड मारने में लग गया. मैंने कहा- रोहन, तुम नीचे खड़े हो कर बिन्नी का इंतजार मत करना, अपने घर चले जाना, ऐसा न हो कि पुलिस वाले आस पास हों और तुम दोनों को फिर तंग करें.

मैडम ने मुझसे पूछा- आप कहां हैं?मैंने बताया- मैं स्टेशन से बाहर आ रहा हूं.

मैं अन्य किसी को भी उस फ्लैट को उस फ्लैट के मालिक द्वारा बताए गए किराये पर चढ़ा देता था. जिया ने बताया- मुझे तुमसे प्यार था, मगर जब तुमने उस दिन विनोद से कहा कि तुम्हारे मन में मेरे लिए कुछ भी नहीं है, तुम सिर्फ मेरे फ्रेंड हो. उसकी की इतनी सारी बातें सुनकर मैं हैरान और रोमांचित हो उठा और कुछ भी नहीं बोल सका, बस अंदर ही अंदर गर्म होने लग गया.