हिंदी आवाज में हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी वीडियो सन 2021

तस्वीर का शीर्षक ,

डबल सिम सेटिंग: हिंदी आवाज में हिंदी बीएफ, जब तक मंजू कुछ समझती, तब तक मैंने एक दूसरा निरोध निकाल कर लंड पर चढ़ाया और चूत में लंड उतार दिया.

सोफिया अंसारी का बीएफ

मैं मामी के कमरे में कपड़े बदल कर लेट गया और कल रात के बारे में सोच रहा था. सेक्सी नंगी बीएफ बीएफमैंने जोर जोर से चोदते हुए उसकी गर्म चुत में अपने लंड का पानी निकाल दिया और उसके ऊपर ही लेट गया.

मैं अपने कमरे में था, तभी भाभी की आवाज आई- अमित प्लीज़ मुझे तौलिया दे दो … मैं ले जाना भूल गई. बीएफ वीडियो पुरानामैंने और विकी ने पूछा- चौथा कौन?तब मां बोली- अनिकेत भी हमारे साथ आएगा.

मैंने खड़े होकर सपना को अपनी बांहों में कसकर जकड़ा और उसे चूमते हुए कहा- सपना आज तुम बड़े लंड के मजे ले लो.हिंदी आवाज में हिंदी बीएफ: दोनों के मुँह से जोर जोर से आवाजें निकल रही थीं, जिन्हें सुनने वाला वहां कोई नहीं था.

मैं अपनी वासना में डूब कर पूरे मजे से लंड हिला कर मुठ मारने में लगा था.तो उन्होंने बताया कि मेरे दो बच्चे हैं और मेरे हस्बैंड बाहर जॉब करते हैं.

ललिता की बीएफ - हिंदी आवाज में हिंदी बीएफ

जैसे ही चूत पर होंठ लगे, ऋतु की सिसकारी निकल गई और वो ‘आह आह उफ्फ …’ करती हुई गांड उठाने लगी.मगर पता नहीं उन दोनों के बीच अब तक ऐसी कौन सी झिझक थी कि वह अंदर न आके वहीं खड़ा देखता रहा।इस रगड़मपेल के दरमियान मैंने उसका टाईट लिंग हाथ में भी लिया और उसे सहलाया भी लेकिन ऐसी जोश की हालत में भी उसका साईज मुझे डरा रहा था, हलकान कर रहा था।वह वैसा ही था जैसा पोर्न फिल्मों में काले लोगों का दिखाते हैं.

उसने दरवाज़ा खोला और मैं अंदर आ गया।मेरे अंदर आने के बाद उसने दरवाज़ा बंद कर लिया. हिंदी आवाज में हिंदी बीएफ सनी ने धीरे से ऋतु के चेहरे को ऊपर उठाया, तो ऋतु की आंखें बंद हो गईं.

जब मैं एक सीट पर बैठा तो मेरे सामने की सीट पर कुछ दूरी पर एक भाभी बैठी थीं.

हिंदी आवाज में हिंदी बीएफ?

उसके साथ धीरे धीरे सामान्य बातों के बाद सेक्स के टॉपिक पर बात शुरू हो गई. कुछ दिनों बाद मेरी वाइफ अपने मायके गई तो यों ही शाम के वक्त मैंने सोचा कि चलो आज रेस्टोरेंट में कुछ खाना खाते हैं. मुझे यूं देखता हुआ पाकर मामी हंसी और बोलीं- क्या हुआ रियांशु … मुझे कभी देखा नहीं क्या?मैं हंस दिया और मामी की सुन्दरता की तारीफ़ की.

उस रात मैंने भाभी को धकापेल चोदा और उनकी चुत में अपना रस टपका दिया. वो मेरे सर पर हाथ फेरती हुई मुझे पुचकार रही थी और सिसकार रही थी- ओले मेले बेते … भुक्कू लगी है ना … आह पी ले मेरे लाल. वो मेरे कान में कहने लगी- आग लगा दी है, अब बिना बुझवाए मुझे नींद नहीं आएगी.

अब उनकी आंखें अब बन्द होने लगी थीं, मैं समझ गया कि वो झड़ने वाले हैं. ‘आह्म्म मामी आह्ह ओह्ह चूसो … कितना अच्छा चूस रही हो यार … ओह्ह ओह्ह. कुछ पल की चुत चुसाई का मजा लेने के बाद मैंने अपनी नशीली आंखों से उसे देखा, तो वो भी चुदासी दिख रही थी.

जब कभी शटल मेरे निप्पल से टकराती थी तो मुझे ऐसा लगता था जैसे अमित ने मेरे निप्पल को मींज दिया है. मैंने उनकी चूत और चूची का बुरा हाल कर दिया था, शरीर का एक एक अंग आगे पीछे चूमता रहा था.

गाँव की औरत की चुदाई कहानी के अगले भाग में मैं आपको अपनी मम्मी की चुदाई की कहानी आगे लिखूँगा.

मंजू के साथ छत पर क्या हुआ … इसको मैं विस्तार से सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा.

मैंने झट से टीवी ऑन किया और मोबाइल से सिस्टर वाली पोर्न वीडियो निकाल कर उसे टीवी से कनेक्ट करके चलाने लगा. उसकी चुदाई की रफ्तार एकदम से तेज हो गयी और कुछ मिनट में दीपक झड़ गया. ’वो- उम्म्म्म आईईई मेरी मांआ … आज में पहली बार ठंडी हुई … प्रतीक मैं फिर से आ रही हूँ … तुम्हें कितनी देर है.

जाते टाइम उस लड़के की झोपड़ी बंद थी तो मैं आगे से पार्क के चक्कर लगा कर वापस आ ही रही थी कि वो लड़का मुझे फ़िर से दिखा और वो भी पेशाब करते हुए ही!लेकिन मैं चुपचाप मुँह नीचे किए हुई आगे जाने लगी. उसकी चूत से निकलता काम रस और मेरे लंड का रस मिल कर एक चिकनाई पैदा कर रहा था. मैं उस समय बुआ के मम्मे देख कर मस्त हो रहा था और उनके मुँह से ये सुनकर कि मैंने उनकी मार दी है … मैं एकदम से गनगना गया.

तभी एक ने उसके मुँह में लंड डाल दिया और अब मेरी बहन की चूत और मुँह दोनों तरफ से चुदाई होने लगी.

मैंने उंगलियों से उनकी चूत खोली और जीभ को गोल करके उनकी चूत जीभ से चोदने लगा. दोस्तो, आगे ऐसी ही मेरी मजेदार चुदाई की कहानी के साथ फिर मिलते हैं. बाद में उसने मेरे लिए लगभग सभी कलर की ब्रांडेड ब्रा और पैंटी के सैट लिए.

फिर मैंने धीरे धीरे धक्के मारने शुरू किए और साथ साथ उसके रसीले होंठ चूमते चूसते जा रहा था. अब्बू खाला की चुचियों को ज़ोर ज़ोर से दबा रहे थे, जिस कारण उनकी चुचियों में दर्द हो रहा था. जब वो गर्म हो गई, तो उसकी चुत पूरी गीली हो गई, जिससे वो मेरी तरफ पीठ करके लेट गई.

करीब 15 मिनट बाद मैंने उन्हें घोड़ी बना दिया और अपनी स्पीड भी बढ़ा दी.

करीब ग्यारह बजे मीना की प्रेस में काम करने वाला आया और मुझसे बोला- दीदी मुझे बुला रही हैं, उन्हें कुछ सामान मंगाना है. मीना के चूतड़ जब मेरी जांघ से टकराते, तो फट फ़ट … पट पट की आवाज आने लगती.

हिंदी आवाज में हिंदी बीएफ फिर उसने मुझसे पूछा कि अब यदि तुम तैयार हो तो मैं लंड अन्दर डाल दूँ?मैंने आंखों को नीचे ऊपर करके हां कहा. इसी बीच मैंने साड़ी को खींच कर अलग कर दिया और उनके पेटीकोट को ऊपर करके उनकी पैंटी की इलास्टिक में उंगलियां फंसा दींभाभी ने भी अपनी गांड को जुम्बिश दी और मैंने भाभी की पैंटी उतार दी.

हिंदी आवाज में हिंदी बीएफ मैं उनके दोनों मम्मों को दबाते हुए बोला- यार, मेरा आपको खूब किस करने को मन कर रहा है. एक दिन रात को भैया ने मेरे सामने अपना लोअर उतार दिया और एक छोटी सी फ्रेंची में अपने फूले हुए लंड को दिखाते हुए पूछने लगे- देख मेरी ये नई वाली फ्रेंची कैसी लग रही है?मैंने कहा- फ्रेंची तो बहुत ही सुंदर है लेकिन आपके उसके हिसाब से कुछ छोटी लग रही है.

आप लोगों को मैं क्या बताऊं … जब मेरा लंड उनकी चुत में घुसा तब मुझे कैसा फील हुआ.

देसी कॉलेज सेक्सी वीडियो प्लेयर

उसकी नशीली आंखें और मासूमियत देख कर सनी का दिल धाड़ धाड़ करने लगा था. वो तुरंत से मेरे लंड के सुपारे को नीचे करके अपनी रसभरी जीभ उस पर फेरने लगी. अब मैंने अपनी तीन उंगलियों को भाभी की चुत में एक साथ पेला और अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया; साथ ही उनके मम्मों को भी चूसने और मरोड़ने लगा.

तब मुझे अहसास हुआ कि असली मजा तो हैवी लिंग का ही है।मुझे दिनेश से चुदने में जितना मजा आया था, उससे कहीं ज्यादा रमेश से चुदने में आ रहा था।अब वह भी चूंकि पहले से ही गर्म था तो धक्के लगाता ही चला गया। यह भी न कह पाया कि हमें कोई और आसन में कर लेना चाहिये. उसने मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ा और बोली- आंह कितना बड़ा है ये!मैंने कहा- खुद ही देख लो. अब आगे यंग हॉट गर्ल Xxx कहानी:उस दिन मैं जब घर वापस आया और नव्या से बात की तो उसने बहुत बार मुझे थैंक्स बोला.

और लेटते ही मैं दीदी के होठों को चूसने लग गया क्योंकि मैं चाह रहा था कि थोड़ा काम दीदी भी करें!यह बात दीदी भी समझ गई क्योंकि थोड़ी ही देर बाद दीदी ने अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर मेरे लंड के लंड को अपनी बुर के छेद के ऊपर लगा दिया.

मतलब वो अपना काम एक दो धक्के में ही खत्म कर देता है और मैं प्यासी रह जाती हूँ. जब उनकी टांगें मुझसे चिपकीं, तो मेरे तो तनबदन में मानो आग सी लग गई. उसकी इस तरह की टोन से मैं डर सा गया और सोचने लगा कि इसने पक्के में बुआ से कह दिया होगा.

उसे यकीन नहीं हो रहा था कि उसकी नाजुक सी चूत में इतना मोटा तगड़ा लंड कैसे घुस गया. उन्होंने कहा- हां यार मेरे तेरे भैया से कहती तो हूं … लेकिन उनसे नहीं हो पा रहा है. भाभी मुझे धक्का देने लगीं, पर मैं नहीं माना और लंड अन्दर बाहर करने लगा.

नव्या अपनी सहेली के पास रुक गई और मैं हम दोनों के बैग लेकर ऊपर के कमरे में आ गया. दूसरे राउंड में भी मैंने भाभी की चुदाई में रुक रुक 45 मिनट तक लंड चुत गांड में बारी बारी से रगड़ा.

शुरू में तो वो मुझे दीदी बोलता था लेकिन कुछ दिनों से उसने मुझे दीदी बोलना बंद कर दिया. आंटी इतना मस्त लंड चूस रही थी कि बस मैं निहाल हो गया और मजे में सिसकी लेने लगा- आहह आंटी … क्या मस्त चूसती हो और जोर से चूसो … आं मेरा लंड आहह हहह उफ़्फ़!थोड़ी देर बाद में मैं बोला- बस करो नहीं तो मुँह में ही निकल जाएगा, तो चुदाई कैसे करूंगा. मेरे पति 2 मिनट के लिए हक्के बक्के रह गये और हंस पड़े, फिर बोले- अच्छा बच्चू … गोवा आते ही नॉटी मूड में आ गयी हो!ये कहकर वो मेरे से लिपट गये.

वो कहानी कभी और बताऊंगा।हॉट सेक्सी भाभी की मस्त चुदाई आपको मजेदार लगी होगी.

’रचना एक जौंक की तरह मुझसे लिपटी रही और यूं ही अपनी गांड उठाती हुई चुदती रही. परिवार में सेक्स करने से एक ख़ास बात ये होती है कि बाहर होने वाली बदनामी और फ़ालतू के खर्च से बचा जा सकता है. मैंने मोनाली को गुजरात से दिल्ली की फ्लाइट की टिकट भेज दी और मोनाली से कह दिया कि वो आने से पहले अपनी पूरी बॉडी वेक्स करवा ले.

ऋतु- आंह बस मेरी जान … अब बर्दाश्त नहीं होता … ऊपर आ जाओ और मेरी प्यास बुझा दो. मम्मी की चुत किसी जवान लड़की की तरह टाईट थी क्योंकि लॉकडाउन की वजह से उन्होंने काफी दिनों से अपनी चुदाई नहीं करवाई थी.

मैंने झड़ते हुए भाभी से कहा- आह भाभी … अब सम्भालो, मैं झड़ने लगा हूँ. जब उनकी टांगें मुझसे चिपकीं, तो मेरे तो तनबदन में मानो आग सी लग गई. ’कुछ मिनट या सेकेंड तक लंड चूसने के बाद ही उसके मुँह से लार बहने लगी.

साल की लड़की का सेक्सी वीडियो एचडी

नीता बोली- आज मैं आपसे धार्मिक विषयों पर खूब चर्चा करूंगी क्योंकि मुझे बहुत अच्छा लगता है.

रविवार का यही एक दिन तो मेरा अच्छा गुजरता था … लेकिन न जा पाने से मन और खीझ उठा. इस बार कजरी ने मेरा हाथ अपने हाथ में ले लिया और एक हाथ से पानी डालने लगी. इधर मेरा भी लंड से पानी निकलने वाला था तो मैं दौड़ कर बाथरूम में आ गया और मां की चुदाई के बारे में सोच कर मुठ मार ली.

फिर मैंने तुम्हें सीधा करके तुम्हारे लंड को 20 मिनट तक चूस कर खड़ा किया. वो दोनों अब अपने अपने लौड़े के साथ खेलते हुए मेरे स्तनों का पान करने लगे. नोट द्वारा बीएफसेक्स विद हॉट आंटी में पढ़ें कि हम दोस्त के घर उसके जन्मदिन की पार्टी में उसकी गर्लफ्रेंड भी वहीं थी.

बाथरूम में भाभी के ऊपर गिरते हुए पानी को देखकर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. तभी भैया ने अपने दोनों हाथ मेरे मम्मों पर लगा दिए और कस कसके मसलने लगे.

एक हाथ से एक बूब को दबा रहा था और दूसरे हाथ से उसकी चुत को सहला रहा था. उसने बालों से पकड़ कर जोर से मेरे मुँह पर को अपनी जांघों में रगड़ दिया और मेरा एक दूध मसल दिया. लंड का टोपा ऐसे फूल गया था जैसे उसकी गांड में कुत्ते के लंड जैसा अटक जाएगा.

भाभी के तने हुए फुदकते मम्मों को देखकर मैंने एक को पकड़ा और भाभी को बेड पर चित लिटाते हुए अपना मुँह मम्मों पर लगा दिया. आधा लंड गया था कि मीना हाथ पैर पटकती हुई जोर से चीखने लगी- आअहह … ऊह्ह्ह्ह … मैं मर गईई … मांआआ … मर … गईइइ … निकालो आशु इसको, मर जाउंगी मैं … आंह निकालो प्लीज निकाल लो आशु. चिराग बोला- ठीक है … पर ये तो बताती जाओ कि रात में कितने बजे आओगी?मैं बोली- 10 बजे के बाद और कंडोम लिए रहना, मैं बिना कंडोम के नहीं करूंगी.

मैं उनके पीछे पीछे चल दिया और रूम में जाते ही मैं भाभी पर टूट पड़ा.

मैंने उनसे कहा कि अब मैं कुछ नहीं जानता हूं … मैं आज बस आपको चोदना चाहता हूं. मैंने आगे हाथ बढ़ा कर उसकी दोनों चुचियां पड़क लीं और उसकी पीठ को किस करते हुए चोदने लगा.

मेरी सांसें बढ़ गई थीं और दिव्या की गर्म सांसों को मैं महसूस कर पा रहा था. मंजू- धत …मैं मंजू को अपने ऊपर खींच कर उसके रस से भरे होंठों को चूसने लगा. पर मुझे जब भी मौका मिलता, मैं उनके साथ कोई ना कोई हरकत करता रहता था.

यह तब की बात है, जब मैं कॉलेज में पढ़ता था और भाड़े पर एक रूम लेकर अकेले ही रहता था. मैं ये तक भूल गया था कि जो मुझ पर लेटी है, वो मेरी प्यारी छोटी बहन रेणु है. मेरी कमर में उनके धक्कों से दर्द होने लगा था लेकिन वो कसाई की तरह धक्के मारते रहे.

हिंदी आवाज में हिंदी बीएफ पांच मिनट तक प्रिया की चुदाई होने के बाद प्रदीप ने पानी छोड़ दिया और कंडोम में अपने लंड का लावा भर दिया. जब दीदी अपने बाल पीछे करती हैं जब वे बाल उनकी गांड पर आते हैं जिसकी वजह से गांड और ज्यादा फूली फूली लगती है.

श्रद्धा सेक्सी फोटो

मेरे लंड को दीदी ने हाथ से पकड़ लिया और मुठ मारने के साथ-साथ चूसने भी लगी जैसे कि पोर्न मूवीस में लड़कियां करती हैं. मैंने भी समझते हुए उसकी बात को मान लिया।सुमन और मुझे बॉडी मसाज लेना पसंद था, तो हमने एक दूसरे की मालिश करने का फैसला किया।मैं सुमन को बिस्तर पे लिटा के तेल ले आया. मेरे नर्म नर्म स्तन उसके बड़े से स्तनों की गर्मी लेकर बहुत ही आनन्द ले रहे थे.

न जाने मैंने कब और क्यों … उसकी चूचियों को मुँह में भर लिया और चूसने लगा. सनी का लंड उसकी चूत को फाड़ते हुए आधा अन्दर घुस गया था, जहां आज तक इतना मोटा लंड कभी नहीं घुसा था क्योंकि मेरा लंड सनी के लंड से पतला और छोटा था. एक्स एक्स चुदाई बीएफ वीडियोफिरोज को तो मस्त तैयार हुआ माल उसकी बहन की बेटी के रूप में मिल गया था.

अब मेरी 56 साल की उम्र में मुझे कौन सहारा देगा, यही सोच सोच कर मैं घर में दिन काट रहा था.

दो बार चुत चोदने के बाद अब्बू ने खाला से बोला कि सरसों का तेल ले आओ और मेरे लंड की मालिश कर दो. कुछ देर बाद मैंने प्रिया को खड़ा करके पीछे से चोदते हुए चुचियां मींजने लगा.

नफीसा भी बहुत खुश थी क्योंकि आज उसका ही बेटा उसे चोद रहा था।अब मैंने उसके मुंह के पास आ कर अपना लन्ड होंठों पर रख दिया वो गपागप गपागप चूसने लगी और सलीम उसे रंडी के जैसे बिना रूके गपागप गपागप चोद रहा था।मैं समझ गया था कि बहुत दिनों बाद या पहली बार इसे चूत मिली है।अब सलीम ने कहा- अम्मी घोड़ी बन जाओ!नफीसा घोड़ी बन गई और सलीम ने चोदना शुरू कर दिया. ऋतु की ब्रा इस कदर टाइट लग रही थी कि चूचियां दब रही थीं और अकड़ती जा रही थीं. मैं मना नहीं कर सकी क्योंकि मेरा मुँह जीजू के मुँह में फंसा हुआ था.

उसकी अदाएं मुझे लुभा रही थीं और ऐसा कहीं से भी नहीं लग रहा था कि मेरी बहन किसी दबाव में मेरे सामने अपनी मदमस्त जवानी का दीदार करवा रही हो.

[emailprotected]पोर्न मामी की सेक्स कहानी का अगला भाग:लखनऊ वाली जवान मामी की कामुकता- 2. तभी वो बोला- अब तो बगल में भी सब सो गए होंगे?मम्मी ने चुपके से दरवाजा खोला और बाहर निकल गईं. और तभी बुआ की चूत से पानी निकलने लगा और मेरे लौड़े को गीला कर दिया.

हिंदी पिक्चर बीएफ फिल्म बीएफचुत किसी लड़की के शरीर का ऐसा अंग होता है कि अगर कोई लड़का थोड़ी देर भी चुत को छू ले, तो उसके बाद तो लड़की भी अपनी चुत को कण्ट्रोल नहीं कर सकती. वो बोली- तू पेल ना साले …मैंने जैसे ही अपने लंड के सुपारे को चुत में दबाया तो उसकी मां चुद गई.

सेक्सी करता था

भाभी- तब तो वो भी नहीं किया होगा?मैंने कहा- वो क्या भाभी?भाभी- वो जो पति, अपनी पत्नी के साथ करता है. निप्पल मसलने से मामी कराहने लगीं- आउच ओह बेबी हल्के से दबाओ ना … मैं कहीं भागी नहीं जा रही हूं. फिर उसे पाने की हसरत को जुनून बनते देर नहीं लगती।शायरा भी एक जुनून की तरह ही हो गयी थी मेरे लिए … आज उसी जुनून की बदौलत मैं उसे चोद पा रहा था।उसकी सालों से दबी इच्छा को मैंने चिंगारी दे दी थी.

उसने मेरे लौड़े को एक बार छुआ।फिर मुझसे रहा नहीं गया, मैं उसे बेड पर लिटाकर उसके बूब्स को मुंह में लेकर चूसने लगा. मैंने बोला- बस थोड़ी देर और!ये कह कर मैंने उसकी सलवार का नाड़ा थोड़ा ढीला किया और अपना हाथ अन्दर डाल दिया. मैं- बस भी करो दीपक, तारीफ करके ही मारोगे क्या? या इरादा कुछ और ही है?प्रकाश- उसका जी चले तो वो तो तुम्हारी कब से लेना चाहता है.

कुछ देर बाद मैंने दो उंगलियां की … और फिर आंटी की गांड में लंड पेला. मैंने बिस्तर के नीचे से ही उनकी चुत पर अपनी जीभ लगा दी और उनकी चूत में डाल कर चाटने लगा. जब दीदी अपने बाल पीछे करती हैं जब वे बाल उनकी गांड पर आते हैं जिसकी वजह से गांड और ज्यादा फूली फूली लगती है.

मैंने अपने दोनों पैरों से उनकी कमर को जकड़ लिया और अपनी कमर ऊपर नीचे करने लगा. कुछ दिनों के बाद मैंने नोटिस किया कि वो मेरी आंखों में आंखें डाल कर बात करती हैं.

पर मैं ठीक से दीदी की जांघें पूरी नंगी नहीं देख पा रहा था क्योंकि पजामा बीच में आ जा रहा था.

फ्रेंड्स, चुदाई की कहानी के पिछले भागदो नए जवान हुए लड़कों की गांड मारीमें आप दामाद द्वारा ससुराल के गाँव में दो लड़कों कि गांड चुदाई के बाद सास की चुदाई की कथा पढ़ रहे थे. 12 सेक्सी वीडियो बीएफमैंने भी भाभी का एक दूध अपने मुँह में ले लिया और अपनी सांसें छोड़ने लगा. हिंदी बीएफ 10 साल कीइसके बाद विकास ने कमरे में रखे फ्रिज से एक व्हिस्की की बोतल निकाली और समता से बोला- चलिए कुछ थकान दूर हो जाए. इस बीच मेरी साड़ी का एक सिरा, जो मेरे घाघरे से बंधा हुआ था, वो खुलने लगा और साड़ी घिसटती हुई हमारे पीछे छूट गई.

वो …पापा बोले- अबे कुछ नहीं है … हम दोनों के बीच में कोई पर्दा नहीं है.

वो समझ गया और बोला- ठीक है आ जा!उसने कंडोम निकाला और लंड पर लगा दिया, फिर लालटेन बंद कर दी. मैंने पूछा- क्या तुम सच्ची में रंडी बनने के लिए तैयार हो … मैं सच्ची में बोल रहा हूं. सनी ने ऋतु की दूसरी चूची को मुँह में भर लिया और आम की तरह चूसने लगा.

अपनी सगी बहेन की चुचियां मसलते हुए मैं अपने हाथ को उसके पेट पर फेरते हुए नीचे ले गया. मैंने पूछा तो उन्होंने मुझे बताया- मेरे हस्बैंड महीने में 3 बार आते हैं और उनका लंड तुम्हारे जितना बड़ा नहीं है. जब मैं शाम को घर पहुंचा तो मेरी वाइफ के साथ क्षिति पहले से बैठी थी.

फिल्म सेक्सी वीडियो दिखाओ

फिर मोहिनी स्वाति को कमरे में ले जाकर उसकी भरपूर चुदाई करके इतने दिन की कसर पूरी करेगी. मामी मेरे खड़े लंड को देखती रहीं, फिर लाइट ऑफ करके मेरे और अपने ऊपर रजाई लेकर लेट गईं. मैंने समझाया- तुझे यह सब करना था तो तुम मुझसे बताती!मैं बोला- पिंकू, मैं तुझसे बहुत प्यार करता हूं, बस एक बार हां कर दे, मैं तुझे बहुत खुश रखूंगा।मेरी बहन बोली- तुम कैसी बात कर रहे हो? तुम मेरे भाई हो.

तुम भी तो अब चुदने लायक हो गई हो … तुम्हें लंड की जरूरत तो होती ही होगी?सन्नी मेरे जीजू से बोला- अबे साले, इस मस्त लौंडिया के सामने फ़ालतू का ज्ञान मत चोद … साली को पटक कर यहीं पेल दे.

और मैंने भी दोपहर तक बार-बार किसी न किसी काम से उन्हें भरपूर नजारा कराया।दोपहर में जब पहली बार मूतने गये तो दोनों के सामान थोड़े सख्त थे और रमेश का तो मेरी हलक सुखा रहा था।दोनों ने दोपहर खाने के बाद रोज की तरह थोड़ी देर आराम किया.

मुझे बड़ी उम्र की औरतें पसंद आती हैं तो चाची मेरे दिल में बस गई थीं. दीपक ने मुझ पर लाइन मारना शुरू किया और अपने पैर से मेरे पैर को हल्के से सहलाने लगा. बँग्लादेशेर बीएफदोस्तो, मैं अजिंक्या एक बार फिर से अपनी देसी मामी सेक्स कहानी में हाजिर हूँ.

चाची की चूत में लंड से धक्का लगाते लगाते मैं उनको किस करने लगा और उनकी गर्दन को भी चूमने लगा. उन्होंने अपनी चूत मेरे मुँह पर रख दी और मेरे लंड को सहलाती हुई उसे मुँह में लेकर चूसने लगीं. जब पापा मम्मी को लगा कि मैं सो गया, तो वो धीमी आवाज में बात करने लगे.

इस बार मैं जानता था कि ये सही मौका है जब मीना और मंजू को चोद सकता हूँ. और जब तक मेरी योनि थोड़ा वक्त लेकर खुद से तैयार न हो पाई, मुझे उस हैवी चुदाई का कोई मजा नहीं आया।लेकिन हां, जब वह फिर से गर्म हो कर सपोर्ट करने लगी और पूरी तरह फैल कर रस छोड़ते उसके तीन चौथाई लिंग को गपागप निगलने लगी तब जरूर मेरे दिमाग में फुलझड़ियां छूटने लगीं और जब दर्द का नामोनिशान न बाकी रहा.

ऋतु अपने हाथ सनी के सिर के पीछे ले आई और मस्ती से उसके बालों को सहलाती हुई उसके होंठ चूस रही थी.

जो लोग मेरे बारे में नहीं जानते, उन्हें पहले मेरी पहली सेक्स कहानीउज्बेकिस्तान की चुत चुदाई का मजाजरूर पढ़नी चाहिए. इतनी देर में सब घर जाने की आवाज देने लगे तो हम दोनों भी एक एक करके बाहर आ गए. रात को जब हम दोनों सोने लगे तो उस रात बहेन ने बिल्कुल भी पढ़ाई नहीं की.

देहाती बीएफ नंगी चुदाई दीदी ने अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर मेरे लंड के लंड को अपनी बुर के छेद के ऊपर लगा दिया. मेरी आंखें फ़ैल गईं और मैं अपने हाथों से उनको दूर करने लगी लेकिन जीजू का जिस्म बहुत भारी थी.

वो न केवल लंड का पूरा पानी पी गईं बल्कि उन्होंने लंड को अच्छे से चाट कर साफ भी कर दिया. हालांकि फूफा जी इस बात से निश्चिंत थे क्योंकि उन्हें मालूम था कि बुआ का ख्याल रखने के लिए मैं गांव में था. उसका चेहरा अपने हाथों में पकड़ कर मैं उसे सॉरी कह रहा था और धीरे धीरे उसे किस भी कर रहा था.

kumari सेक्सी

दीदी ने कहा- फिर भी कुछ तो बताओ, मैं बुरा नहीं मानूंगी बस मैं तुम्हारी फीलिंग समझना चाहती हूं. मैंने मामी को चूम कर कहा- बीज की रोपाई हो गई है … और कोई हुकुम हो तो बताइए मोहतरमा?मामी खुश हो गई थीं, वो बोलीं- नहीं, बस तुम मेरे हो गए हो … मुझे और कुछ नहीं चाहिए. बजाज सर ने मेरे पास आकर कहा- तुम्हें कुछ मेकअप वगैरह करना है, तो कर लो.

मैंने धीरे-धीरे करके दीदी का पजामा उतारना शुरू कर दिया और कुछ ही देर में दीदी मेरे सामने सिर्फ पेंटी में थी. अब तक की यंग Xxx चुत स्टोरीमेरी चालू बहन की चूत लंड मांगे मोरमें आपने पढ़ा था कि मेरी बहन रेणु ने मामा जी की शादी में आए हुए तीनों लड़कों से चूत चुदवाने की बात मान ली थी और उसने उन सभी को पीछे बनी दालान में रात को बुला लिया था.

चाची मेरे सर पर हाथ फेरती हुई बोलीं- ले पी ले बेटा … अपनी चाची की चूची चूस ले और मेरी जवानी का कीड़ा मार दे.

सच में जिस समय मैं दीदी को नंगी नहाती हुई देखता था तो मेरा लंड टनटना उठता था. पोर्न देखते वक़्त लड़के द्वारा लड़की की चूत चाटना देखना आकांक्षा को बहुत अच्छा लगता था और उसे वो सेक्स का फेवरेट स्टेप कहती थी. पहले धक्के में भाभी की दोबारा चीख निकल गई और वो मुझे गालियां देने लगीं.

सनी- किसलिए, चुदाई के लिए?ऋतु का चेहरा शर्म से लाल हो गया, वो प्यार से बोली- सनी मुझे अपना जीवन साथी बनाने और इतनी अच्छी चुदाई के लिए!सनी- ओए होए तुम मेरी जान हो यार. जीजा साली सेक्सी स्टोरी मेरे अब्बू और मेरी छोटी खाला यानि मेरी मौसी की चुदाई की है. मैंने निरोध लगाया और उसके ऊपर आकर उसके होंठ चूसने लगा और कभी कभी चूची भी चूसने लगा.

अपनी गर्लफ्रेंड से जाकर ये सब कर!मैंने कहा- मम्मी आपको मेरी जरूरत है, ये मुझे मालूम है.

हिंदी आवाज में हिंदी बीएफ: अब आगे मेरी बहेन की चुदाई की कहानी:सुबह सब रोज की तरह ही नॉर्मल था, मेरी बहेन ने मुझे रात की किसी भी बात के लिए कुछ नहीं कहा. मैं और पिंकू बहुत खुश हैं।तो दोस्तो, यह थी मेरी कहानी जिसमें मैंने अपनी सेक्सी सिस्टर को चोदा![emailprotected].

सनी एक हाथ से मेरी चूची को सहला रहा था और दूसरे हाथ से मेरे चूतड़ दबा रहा था. कुछ देर यूं ही चुदाई के बाद मैंने चाची को अपने ऊपर ले लिया और उन्हें लंड पर बैठने का इशारा कर दिया. इतनी ही देर में दूसरे रूम में बैठी प्रीति रूम का दरवाजा खटखटाने लगी.

चचा लंड हिलाते हुए बोले- कैसा लगा?मैं बोला- चचा इससे तो मेरी गांड फट जाएगी, इतना मोटा मैं बर्दाश्त ही नहीं कर पाऊंगा.

उस समय मुझे अपने पैरों में एक अलग कमजोरी महसूस हुई … और रोज की तरह मेरा लंड आज सलामी नहीं दे रहा था. हर धक्के पर उसकी गांड आगे की ओर जाती, जिससे उसकी चूत पूरी तरह से ऊपर उठ जाती मानो सनी को और ज्यादा चोदने के लिए उकसा रही हो. उन्होंने मेरे मम्मों के बीच में अपने फौलादी लंड को रखा और हाथों से मम्मे दबा कर मेरी बूब फकिंग करने लगे.