और भाभी का बीएफ

छवि स्रोत,ऑनलाइन सेक्सी वीडियो बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

पेशाब करती औरत: और भाभी का बीएफ, मैं भी समझ गया कि जय भी ये काम करता है और उसको भी लड़कों की गांड मारने का शौक है.

यूपी का बीएफ सेक्सी वीडियो

इनकी एक साथी टीना को भूल गए, आप सोच रहे होंगे इसने भी मज़े किए थे, ये कैसे बच गई. गधे का सेक्सी बीएफएक दिन मेरे स्टूडियो के मालिक रॉकी ने मुझसे कहा- लॅविश सामान रेडी कर ले कल तुझे जालंधर में एक शादी की कवरेज करनी है.

चल ऐसा कर मैं तुझे गोदी में बिठा कर झूला झुला देता हूँ और तेरे सर की मालिश भी कर दूँगा. बीएफ बीएफ फिल्म देखनातो इसमें आराम रहता है और वैसे भी आज मैंने ये बहुत दिनों बाद पहनी है.

उसके मुंह में मेरा लंड था पर फिर भी उसके मुंह से एक लम्बी सिसकारी निकल गई.और भाभी का बीएफ: एक दिन खबर आई कि चाची की माँ की तबियत ख़राब है, तो चाची अगले दिन वहाँ चली गईं और चाचा अगले दिन उनको छोड़ कर वापस आ गए.

फ़िर सासू माँ ने अपनी जीभ अपने दामाद के लंड के सुपाड़े पर फिरानी शुरू कर दी.”मेरी आँखों में आँखें डाल के कहिये कि आप मुझसे प्यार नहीं करती, आप मेरे साथ ख़ुशी के दो चार पल बांटना नहीं चाहती?” मैंने फ़िल्मी स्टाइल में डायलोग बोल दिया.

बीएफ वाला बीएफ वीडियो - और भाभी का बीएफ

उफ… क्या गोरी और सख्त चूचियां थीं और उन पर गुलाबी से निप्पल भी छोटे छोटे से थे.तुम्हारी तो पसंदीदा चीज है न इतनी बड़ी चूचियां… है ना?मैंने सिर्फ हम्म्म्म कहा और दोबारा वहीं देखने लगा। मेरा लंड अब फिर से खड़ा हो रहा था और ऋतु, मेरी बहन की की गांड से टकरा रहा था.

हां राजा… अब आया ना असली दबाने का मजा… यही तो हम घर पर करना चाहते थे जो हम ऑफिस में कर रहे थे।”ओह यस भाभी… पर यह नंगा लन्ड तेरे इन खड़े चूतड़ों में तो नहीं जा रहा था. और भाभी का बीएफ मामा जी पूछने लगे- क्यों रो रही हो रिशू, कोई प्राब्लम हो गयी क्या?मैं बोली- कल से मैं आप से केवल 1 घंटा ही मिल सकूँगी, कल से मेरी लाइफ फिर से पहले जैसी ही हो जाएगी.

शायद मनीष को सिर्फ मेरा मुंह चोदना मंजूर न था, उसने अपना लंड मेरे मुँह से निकाला और वो बीच चेयर पे हम दोनों के अगल बगल पैर रख के खड़ा हुआ.

और भाभी का बीएफ?

फ्लॉरा- क्या 4 घंटे लगातार आप चुदाई करोगे हा हा हा इतना पावर है आप में?गुलशन- मेरी रानी ये तो बहुत कम टाइम है. मैंने उसके लंड के गुलाबी सुपारे से चमड़ी को पीछे की तरफ खींचा और सुपारे को अपने गर्म मुँह में भर लिया और अंदर से जुबान से उसे चाटने लगा. हमारे एक कॉमन फ्रेंड की बर्थ डे पार्टी है और मैं एक-दो दिन बाद ही लौटूंगा.

उधर टोपा घुसा और इधर सुमन भाभी के मुँह से चीख़ निकल गई- हाय माँ मर गई. उसने बिना समय गंवाए सीधा उसका लंड पीछे से मेरी चुत में डाल दिया। मेरे मुँह से चीख निकल गई. मैं भी उनमें से चुन कर एक लम्बा पतला और सख़्त सा बैंगन तोड़ लाई और चूत में डालने की कोशिश करने लगी.

उनकी गोरी जाँघों के बीच चूत पर हल्की झांटें थीं और झांटों के झुरमुट के बीच उनकी गोरी चूत चाँद के जैसे झाँक रही थी. फिर मैं उसके बूब्स को दबाने लगा और वो बहुत ही खुशी से अहह अह्ह्ह करने लगी. मैंने उसकी पैंट के ऊपर से उसकी चूत पर हाथ फिराया और फिर पैंट को खोल कर नीचे खिसका दिया.

मेरी इस दिलचस्प सेक्स स्टोरी पर आपके कमेन्ट और मेल मुझे मिलते रहने चाहियें. एक दिन कब वो कपड़े चेंज कर रही थीं, तब मैं चुपके से उनको देखने लगा था.

अब ये कपड़े चेंज करो नहीं तो मैं नाराज़ हो जाऊंगी तुमसे और जो हुआ भूल जाओ ओके.

अब तक की इस सेक्स की कहानी में आपने पढ़ा था कि गुलशन जी ने अपनी दूसरी बीवी की बेटी अनिता की सील तोड़ चुदाई की.

शीघ्र ही आपको अपनी अगली कथा प्रेषित करुँगी जिसमे पण्डित जी ने मेरे गुदामैथुन किया था. गुलशन जी काफ़ी देर तक ऐसे ही बड़बड़ाते रहे, फिर हेमा आ गई और वो अपने हिसाब में बिज़ी हो गए. अब तक जय मेरे बूब्स को मसल कर पीता हुआ अब मेरी गांड की ओर बढ़ चुका था.

अब सबीना टॉवल स्टैंड को पकड़ के पीछे को झूल गई जिससे जमीला सबीना की चुची भी चूसने लगी अभी किस करती कभी चुची दबाती कभी चुचियों को चूसती. उसे अपने दरवाज़े की तरफ सैट किया और एक लैपटॉप को अपने बेड की तरफ रख दिया. मेरी पतिव्रता नारी पूरी मस्ती में अमेरिकन कॉक के साथ व्यस्त थी जब मेरा ध्यान उसकी छोटी सी गांड की तरफ गया.

मामा ने मुझसे पूछा- क्या सरप्राइज़ है?तो मैं बोली- आपको अपने आप पता चल जाएगा.

वो मेरा लंड मुंह में लिए मचल उठी।दूसरी तरफ ऋतु की चूत पर नया मुंह लगने की वजह से वो कुछ ज्यादा ही गर्म हो चुकी थी और उसने अपने पैरों से सन्नी की गर्दन के चारों तरफ फंदा बना डाला था और अपनी चूत उससे चुसवाने में लगी हुई थी. मैं अपनी चुत की गहराई में पापा के लंड का गर्म गर्म पानी महसूस कर रही थी. तू कैसे इतने दिन बिना संसर्ग के निकाल लेती है?हेमा- अब भगवान ने जैसा बनाया, वैसी ही हूँ और फिर अपने आप से पूछो, शुरू में कैसे मुझे जानवरों की तरह चोदते थे.

नीलम उसकी गोद में सिर रखकर सो जाती थी, भाई बहन का रिश्ता दो प्रेमी वाला रिश्ता बन चुका था. योगी बस मेरे लंड को देखे जा रहा था जो कि उसकी गर्लफ्रेंड की चूत की कस के चुदाई कर रहा था. मेरा मतलब है उन्हें ख़ुशी देनी होगी, उसका आप ही कोई आइडिया बताओ ना!टीना- सॉरी यार मेरे समझने में ग़लती हो गई.

कुछ देर बाद अशोक ने नाश्ता करते हुए कहा कि आज रात को डिनर पर मेरा एक दोस्त आएगा, तुम कुछ अच्छा सा बना कर तैयारी रखना.

मेरी हमेशा से तमन्ना थी कि कोई पुरुष मेरी चूत भी चाटे!’ वो बोली और उसने अपनी चूत ऊपर उठा दी. मामा मेरे ऊपर चढ़ कर ब्रा के ऊपर से ही मेरी चुचियों को दाँत से काटने लगे.

और भाभी का बीएफ मैं जैसे ही वहां पहुंचा तो उसने कहा- अरे जीजू, यहाँ कैसे आना हुआ?तो मैंने कहा- कुछ नहीं. उसका एक हाथ अपनी चूत की मालिश कर रहा था और वो अपने होंठों पर अपनी लाल जीभ फिरा रही थी जैसे वो मेरा लंड चूसना चाहती हो.

और भाभी का बीएफ मेरे प्रिय पाठको, आप सबका धन्यवाद जो आपको मेरी पिछली हिन्दी सेक्स स्टोरीजमेरी बीवी की सहेली के साथ डर्टी सेक्सऔरबस के सफर में मिली कामुकता भरी एक अनजान भाभीअच्छी लगी. तब मज़े थे उसके बाद वो विदेश चला गया तो मैंने एक ब्वॉयफ्रेंड बनाया मगर वो ढीला था.

फिर सुमन ने भी आगे कुछ नहीं कहा, बस वैसे ही खड़ी अपने मम्मों को दबवाती रही.

बीपी वीडियो बीपी सेक्सी वीडियो

सुलेखा बोली- अरे गांड मत बोल यार, इस साली का तो चूत मरवाने से ही बुरा हाल हो गया!मनोज बोला- कोई बात नहीं, गांड अरमान से मरवा लेगी. मेरा आधा लंड उसकी चुत की फांकों को चीरता हुआ उसकी चुत में गहराई में घुस गया. मैं- ओह! ये बात थी, वैसे जमीला ने तुझे बस अपनी ही चूत की कहानी सुनाई.

तभी मेरा छूटने को हुआ तो मैं भाग के बाहर छत पे चला गया और माल वहां निकाल दिया. उन्होंने उसे इतना डांटा और उसी वक़्त बस रुकवा कर नीचे उतार दिया और उसके पेरेंट्स को उसके साथ लाने को कहा. मैं उसके होंठों को चूसने में इतना खो गया कि कब हम दोनों वहीं फर्श में लेट गये, पता नहीं चला.

जैसा कि आप सभी को पता है कि मैं घर पर ज्यादा समय नंगी ही रहती हूँ या कभी कभी ब्रा और पैंटी में ही रहती हूँ.

उसने मेरे राइट हैंड को पकड़ा और मेरे कोमल हाथ को अपने लंड पर रगड़ने लगा. पानी की तरह पैसा बहाया तूने और मुझे मस्का मार रही है?बातें करते करते हम कब टापू पे पहुंचे ये पता ही नहीं चला. मेरे कहने पर भाभी अंदर गई और अंदर जाकर एक कटोरी में अपना दूध निकाल कर ले आई.

पर आपसे एक इल्तिजा है कि आप मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें क्योंकि मैं सेक्स स्टोरी लेखिका हूँ, बस इस बात का ख्याल करते हुए ही सेक्स स्टोरी का आनन्द लें और कमेंट्स करें।[emailprotected]कॉलेज गर्ल सेक्स स्टोरी जारी है।. मुझसे सहन नहीं हुआ और मैं उसके लंड को निकालने की कोशिश करने लगा लेकिन उसने मुझे अपनी बांहों में भर रखा था इसलिए मैं हिल भी नहीं पा रहा था. क्या तुम रात में इसकी देखभाल के लिए रुक सकते हो? रात में तुम रुक जाना और फिर सुबह मैं आ जाऊंगा.

वो अपने दो बेटों के साथ ही रहती थीं, ये उन्होंने मुझे बाद में बताया था. मैं उससे मिलने गया तो गाड़ी में मैंने उसका लंड चूमा और उसने मेरे बूब्स दबाये.

फिर उनकी पैंटी को भी उनके जिस्म से अलग करने के बाद मैं उनकी चूत को पहले अच्छे से निहारने लगा. मैं बहुत दिन से तड़प रही हूँ तेरे लण्ड के लिए! इसे मेरी चूत में ही सेट कर दे… आंह. 3 इंच का है।दोस्तो, इस कहानी में मैं कोई भी असत्य बात नहीं लिखूंगा, सिर्फ़ जगह और पात्र का नाम बदल दिए हैं, उम्मीद है कि यह मेरी पहली भाभी सेक्स स्टोरी है लेकिन मेरा पहला सेक्स नहीं… आपको अच्छी लगेगी। औरत रब की एक खूबसूरत क्रियेशन है, उससे समझना मुश्किल जरूर है, पर नामुमकिन नहीं है।ये स्टोरी एक भाभी की है.

दोस्तो, कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि शिवानी भाभी की बहन आरती को मैंने कैसे चोदा.

मेरा सारा लंड उसके मुँह में घुस गया था, और मेरा माल उसके मुँह के अंदर झड़ रहा था. अगले दिन मैंने सुबह ही मां को बोल दिया कि मैं अपने दोस्त के साथ हिसार जा रहा हूँ. पहले तो वे रोहित के सामने कुछ भी नहीं कहना चाहती थीं लेकिन जब रोहित ने उन्हें अपनी दोस्ती का वास्ता दिया तो सविता भाभी ने रोहित के सामने अपनी भड़ास निकालने शुरू कर दी कि आज मैंने अशोक को किस तरह से रिझाने का सोचा था.

इससे पहले जॉन ने उसके होंठों को कस कर अपने होंठों से दबा दिया और एक जोरदार झटका दे मारा, जिससे आधा लंड बुर की सील को तोड़ता हुआ अन्दर घुस गया. फोटो सेशन के बाद मैंने बहूरानी को बैठा दिया और उनके हाथ ऊपर उठा कर कांख के बालों को भी सादा पानी से भिगो भिगो कर रेजर से शेव कर दिया.

अगर तुम चाहो तो मैं बात करूँ मनोज से, या तुम खुद ही सेट कर लो अगर तुम चाहो तो! सच! चाहत तो मुझे भी हो गई है कि मैं भी कोई अलग लिंग लेकर देखूँ. फिर नीतू को नया फ्रॉक और हाफ चड्डी पहना कर मोना ने खुद उसके बाल संवारे. मैं फिर डर गया कहीं आपने देख लिया तो आप गुस्सा हो जाओगी तो मैं सो गया.

সেক্সি বিপি হিন্দি

धीरे धीरे मेरा हाथ उस की योनि की ओर बढ़ा… तबी मुझे एकदम गत रात्री की याद आई.

अब तो वो एकदम जन्नत में पहुँच चुकी थी। वो बेइंतेहा सिसकारियां भर रही थी, वो ‘फक मी हार्डर भैया. वो दोनों अब 69 की अवस्था में आ चुकी थी और एक दूसरे की चूत की रसमलाई चाटने में लगी हुई थी. इस बार मैं उन्हें नर्मदा केनाल के रास्ते पर ले गया, वहाँ कोई भी आता-जाता नहीं था.

मैं शर्त लगा कर कह सकती हूँ वो रोज रात मेरे साथ बिताने के लिए तैयार होगी. वो डर गई और बोली- मैं प्रेग्नेंट तो नहीं हो जाऊँगी?मैंने कहा- डरो मत, ऐसा कुछ नहीं होगा. बीएफ वीडियो कॉम हिंदीअब गुलशन जी ये बात फ्लॉरा को बताते हैं या नहीं… ये तो आपको अगले पार्ट में ही पता लगेगा.

बहूरानी जी बेझिझक मेरी आँखों में आँखे डाल के मुस्कुरा मुस्कुरा के लंड चूसती फिर अपनी चूत में लंड लेकर लाज शर्म त्याग कर मेरी नज़र से नज़र मिलाते हुए उछल उछल कर लंड का मज़ा लेती और अपनी चूत का मज़ा लंड को देती और झड़ते ही मुझसे कस के लिपट जाती, अपने हाथ पैरों से मुझे जकड़ लेती, अपनी चूत मेरे लंड पर चिपका देती और जैसे सशरीर ही मुझमें समा जाने का प्रयत्न करती. मैंने भी दीदी पर थोड़ा पानी डाल दिया लेकिन वो मुझे ऐसा करने से मना ही नहीं कर रही थीं.

मेम भी जागी हुई थीं, बाहर तेज बारिश की आवाज आ रही थी।मैंने मेम से बोला- चलो बाहर बारिश में चलें।‘कहाँ बारिश में?‘हूँ. क्या लंड था मादरचोद का… नौ इंच लम्बा और 3 इंच मोटा (ये मैंने बाद मैं नापा). इस आपबीती को मैं 4 घंटों में पूरा लिख पाया हूँ, क्योंकि रीना की बुर की चुदाई की कहानी लिखते समय मैंने दो बार मुठ भी मारी थी.

मैंने अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाला तो मेरा वीर्य बाहर बहने लगा, पूजा की गांड के छेद तक मेरा वीर्य बह रहा था. मेरे पास ही एक खाली कुर्सी पड़ी थी, मुझे लगा के वो कुर्सी लेकर जाएगी पर उसने मुझे देखा और वो वहीं बैठ गई. उसे चोदने का ख्याल मेरे दिमाग़ से निकल गया था और जैसे ही तौलिया निकला, मैं डर के मारे उससे फिर से लिपट गया ताकि उससे पता ना चले.

प्लीज़, मुझे जाने दीजिए दामाद जी!”बाइ द वे, आपने साड़ी खोल कर फेंकी कहाँ?”दामादज़ी, आपको शर्म आनी चाहिए ऐसी वाहियात बाटें अपनी माँ जैसी सास से करते हुए!” मम्मी धीमे से तुनक कर बोलीअपनी बेटी दामाद की चुदाई देखते हुए आपको शर्म नहीं आई तो मुझे बोलते हुए क्यों?” जीजाजी ने खुल्लम खुल्ला बोला- मैं अभी अनु को जगाता हूँ और बताता हूँ कि आपने साड़ी खोल कर कहाँ फेंकी.

उस वक्त मैं चुदाई की पोजीशन में आ गया।पहले मैंने किस किया, उसके होंठों पर होंठ रखें। उसके बाद मैं अपने लंड को उसके चूत के ऊपर से लन्ड रगड़ने लगा। चूंकि उनके होंठों पर मेरे होंठ थे तो वे कुछ बोल नहीं पा रही थी।लेकिन मेरे लंड को अपने चूत के अंदर घुसा लेना चाहती थी. ऐसे धीरे धीरे एक दूसरे के बारे में जानते हुए हमारे बीच बहुत अच्छी दोस्ती कायम हो गई और बातें सेक्स तक भी पहुँच गई.

संजय समझ गया कि ये ठंडी हो गई है, तो उसने अपनी रफ़्तार कम कर दी और पूजा के होंठ चूसने लगा. मैंने उसके चेहरे पर उसके बहते आंसुओं को अपने हाथों से साफ़ किया और उससे कहा- बेबी, तुम क्यों अकेली फील करती हो. वो भी मेरे सपने देख कर?उसने कहा कि फिर तुम मेरे ऊपर आ गए और अपने 6″ के लंड को मेरी चुत में रख कर जोर का झटका दे दिया, मैं चिल्ला पड़ी कि राहुल धीरे डालो.

उसी दौरान नीलम के घर में निखिल नाम के युवक की आवन जावन शुरू हो गई थी. मैं- मेरे लिए कुछ मत कर, कुछ करना ही है तो अपने लिए कर या हमारे लिए. उसने मुझे बताया कि वो योगी को बहुत प्यार करती है लेकिन योगी का लंड इतना सख्त नहीं हो पाता है इसलिए उन दोनों ने सोचा कि पूजा को चुदाई का मजा कोई तीसरा ही दे सकता है.

और भाभी का बीएफ सुमन अब गुलशन जी के ठीक सामने खड़ी थी मगर उसने एक ग़लती कर दी उसे जल्दी वहां से निकल जाना चाहिए था क्योंकि चुत की जगह पे हल्का सा गीलापन था और गुलशन जी की नज़र सीधी वहीं चली गई. मैंने देखा कि लगभग आधे से ज्यादा बैंगन मेरी चूत में अन्दर जाने लगा था.

ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಬಿಎಫ್ ವಿಡಿಯೋ

अब झड़ने की मेरी बारी थी तो मैंने लंड बाहर निकाल कर उसके पेट पर माल गिरा दिया. इस समय स्मृति मेरे समक्ष केवल ब्रा पैंटी में थी, वो इतनी सुन्दर दिख रही थी कि मैं ब्यान नहीं कर सकता. आप लोग अपना मिलन शुरू करो!’ स्नेहा बोली और रानी का हाथ पकड़ कर उसे खड़ा कर लिया और मेरे पास लाकर उसका हाथ मेरे हाथ में दे दिया.

उन्होंने मुझे रिसीव किया और मुझे साथ लेकर जल्दी अपनी गाड़ी की ओर चल दी।हां … जब मैं उन्हें देखा तो मैं बहुत ही हैरान रह गया कि फोटो में वे जितनी सुंदर दिख रही थी, उससे कहीं ज्यादा सुंदर वे लग रही थी. मैंने कहा- थोड़ा और चूसो… तब बोलना!ऋतु ने भी उसे उकसाते हुए कहा- हाँ हाँ चलो थोड़ा और चूसो पूजा… देखते हैं क्या होता है. अंग्रेजी में बीएफ चाहिएमैं भी भैया भाभी दोनों से मिलने को उत्सुक था तो मैं दिल्ली पहुँच गया.

चाचा मेरे पापा से 10 साल छोटे हैं तो वो अभी काफ़ी यंग दिखते हैं और उनकी वाइफ भी काफ़ी सुंदर और यंग हैं.

शहज़ाद ने धीरे धीरे मेरे बूब्स को छेड़ना शुरू कर दिया तो मैंने भी उसके लंड को हिलाना शुरू कर दिया जिससे वो फिर से खड़ा होने लगा. शाम आठ बजे बुआ जी मुझे खाना के लिए बुलाने आई… किन्तु मैंने खाना खाने से मना कर दिया.

‘आह ह ह ह ह्हीईई आअह्ह्ह्ह… थोड़ा और डालो!’ इस तरह से सरिता बोलने लगी. मैं उसके होंठों को चूसने में इतना खो गया कि कब हम दोनों वहीं फर्श में लेट गये, पता नहीं चला. वो बोलने लगा- उई आह आह चुद चुद साली चुद गई तू मादरचोद आह आह उफ़…मनोज का काम हो गया था तो उसने अपना लंड बाहर निकाल लिया.

उधर मोना ने भी चाल खेली और गोपाल को सूखा ही रहने दिया ताकि उसकी तड़फ बढ़ जाए और वो नीतू को चोदने का पक्का मन बना सके.

हाँ, मेरी आवाज़ बहुत ही पतली और सुरीली है और शहज़ाद मेरी आवाज़ से ही प्रभावित हुए थे. ”कहीं कुछ अनर्थ हो गया तो?”मैं अन्दर नहीं निकालूँगा आप के, फिर तो कुछ नहीं होगा न!”नहीं नहीं, यह गलत है. ’तभी मैंने टीवी की ओर देखा तो पता चला कि वो मादरचोद लड़का उस लड़की की छोटी से चुत में अपना घोड़े सा लंड घुसा रहा था.

एचडी सेक्सी चुदाई बीएफलेकिन पहली बार में इतना जरूर दे दीजिएगा कि जहाँ से मैं आऊँ वहां से आपके यहाँ आने-जाने तक का खर्चा जरूर निकल आए. नेहा- मुझे पता है कि तुम क्यों नहीं आये, प्रिया से झगड़ा हुआ है ना?मैं- हाँ, और अब कभी उसके यहाँ नहीं आऊँगा.

बिहार के बीएफ वीडियो एचडी

जब चाची को चुत के अंदर वीर्य उसके बच्चेदानी में महसूस हुई तो चौंक पड़ी. मामा बोले- थोड़ी देर में तुमको पता चल जाएगा कि मैंने लंड पर कॉंडम क्यों लगाया. बस पैसा फेंको तमाशा देखो!वह गांव का किसी जमींदार का बेटा था इसलिए पैसे की कोई कमी नहीं थी उसे और वह दिखने में भी हेंडसम और जवान मर्द था तो कौन लड़की उससे चुदना नहीं चाहेगी.

मामा को बर्दाश्त नहीं हुआ, तो मामा नेअपने होंठ मेरी चूत पे रख दिएऔर जोर-जोर से चुत चूसने लगे. अपनी पत्नी की पहली रात ही मैंने चीखें निकलवा दी, क्योंकि मेरे पास 12 साल का चुदाई का तजुरबा था और मुझे पता था औरत कहाँ से और कैसे गरम होती और कैसे तड़पती है. उस रात मैंने आरती की 4 बार चुदाई की, जिसके कारण उसकी चुत फूल गई और वो ठीक से चल नहीं पा रही थी.

कामवाली की 18 साल की बेटी की गांड की चुदाईअब तक की इस चुदाई की इस गन्दी कहानी में आपने पढ़ा था कि मैंने कामवाली की लड़की की गांड चुदाई कर दी थी।अब आगे. मैंने उसको गाल पर किस कर दिया, वो थोड़ी सी शरमाई और फिर उसने मेरी गाल पर कर दिया. हाँफते हुए ऋतु ने अपनी नजर मुझसे मिलाई और मुस्कुराकर बोली- मुझे तुम्हारा लंड पसंद आया… ये अन्दर जाकर तो बहुत ही मजे देता है.

मामा गुस्सा करके बोले- ये ‘कीजिएगा…’ क्या होता है, जो बोलना है खुल कर बोलो, मुझे भी अच्छा लगेगा. जय बोला- जान … चिंता मत कर, मैं तुझे अपनी पसंद की कच्छी और कपड़े दिलवाऊंगा और तू वही पहनना.

मुन्ना सो चुका था, जीजाजी ने इशारा किया, दीदी ने बच्चे को साइड कर हाथ बढ़ाकर मूसल पकड़ लिया और सहलाने लगी… फिर धीरे से मुँह में ले लिया.

अब तक की इस गर्म कहानी में आपने पढ़ा था कि सुमन और टीना दोनों ही संजय के लंड से मजा लेने के लिए एक योजना के तहत संजय के पास पहुँची थीं. बीएफ पिक्चर हिंदी में सेक्सी वालीआप इतना टेंशन में क्यों आ जाते हो? आपकी बेटी से अगर मुझे मिलना होता, या उसे कुछ बताना होता तो अब तक बता चुकी होती. एचडी बीएफ 2022 कीप्राची भाभी ने मेरे मुँह में अपनी जीभ डाल दी और मेरी जीभ भी अपने मुँह में खींचने लगीं. एक बार उसने विनय से पूछा- मुझे कब मौसी बना रहे हो?तो विनय बोला- मैं तो तैयार हूँ पर तुम्हारी सहेली रोज मेरा सामान थेली में रख कर बाहर फेंक देती है.

मैंने कहा- मैं सिर्फ प्यार कर रहा हूँ आपको और आपको बुरा लगेगा तो हम नहीं करेंगे.

जॉन ने जल्दी से फ्लॉरा की टी-शर्ट से उसकी बुर को साफ किया और अपने लंड को भी साफ करके उस पर कोल्ड कीम लगाई. अन्दर से दरवाजा खुला तो वही भाभी थीं। उन्होंने मुझे अन्दर बुलाया, मैं अन्दर आ गया। उनके घर में कोई नहीं था और वो भाभी अभी भी साड़ी में ही थीं।फिर उन्होंने मुझे बैठने को कहा और पूछा- क्या तुम मुझे जानते हो?मैं- नहीं. मुझे भी घर पहुंचना है और तुझे अपने पी जी!इतना कहकर मैं उठकर दरवाज़े की तरफ बढ़ा.

मैंने देखा कि जीजाजी की कपड़ा लपेटी उंगली कई बार बाहर को खिंची… लेकिन जीजाजी कपड़ा छोड़ने को तैयार नहीं थे. फिर मैंने मीनल को मैसेज किया कि प्लीज़ कम ऑन फर्स्ट फ्लोर, आई वांट टू मीट यू. सुमन- नहीं आप फिर गर्म हो जाओगे तो मुझे भी आपका पानी निकालना पड़ेगा.

इंडियन ब्लू सेक्सी फोटो

ऐसा होना मुश्किल है, अच्छा ये बताओ ग्रुप के साथ तुम्हारा ये पहली बार है ना?टीना- हाँ, पहली बार है क्यों?फ्लॉरा- यार इसी लिए तो मुझे नामुमकिन लग रहा है कि तुमने ‘हाँ’ कैसे कह दी, पहली बार में तो एक ही भारी पड़ता है. लड़की को ऐसे ही खुले दिमाग़ की होना चाहिए ताकि बात करने का मज़ा आए।मोना- अच्छा जी ये बात है. अस्पताल में लंड की खोज-1अस्पताल में लंड की खोज-2आपने मेरी इंडियन गे सेक्स स्टोरीज में पढ़ा कि मैं लंड चूसने का शौकीन हूँ लेकिन मुझे जो जवान मिला वो सिर्फ मेरी गांड मारना चाह रहा है.

मैं सबीना के साथ पिछली सीट पर मस्ती करता हुआ आया और फिर आने का वादा लेकर मुझे विदा किया.

यह सुन कर उसने अपने आपको ढीला छोड़ दिया और मैंने ब्रा उसके जिस्म से अलग कर दी.

पूजा के मुँह से हल्की मादक सिसकारी उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकली और चूत में पूरा लंड जाते ही पूजा मुझसे लिपट गई. मेरे हाथ उसके स्तन तक पहुँचे ही थे कि उसने मुझे अपने ऊपर से हटाया और अपने कमरे में भाग गयी. हिंदी सेक्सी बीएफ चलते हुएमैंने मौके की नजाकत को समझते हुए गर्म लोहे पर चोट मारी।सन्नी ने कहा- इस बात की क्या गारंटी है कि ये तुम्हारी बात मान जायेंगी?मैंने कहा- मैंने बोल दिया ना बस!तभी विकास बोला- और दूसरी वाली के बारे में क्या ख्याल है… क्या वो भी चूसने देगी?मैंने कहा- उसके बारे में मैं ये कह सकता हूँ कि उससे मैं अपना लंड चुसवा सकता हूँ.

उनकी इस क्रिया की मेरे बदन में प्रतिक्रिया हुई, मैं इतनी ज्यादा उत्तेजित हो उठी कि मेरे शरीर में सुरसुरी उठने लगी, साँसें तेज हो गयीं, स्तनों और निप्पलों में सख्ती बढ़ गयी, योनि और गुदा दोनों के सुराख और कस गए और ऐसा महसूस हुआ जैसे योनि की दीवारों से पानी रिस रहा हो. अब मुझे अंदर जाने दीजिए दामादज़ी…” धीरे से कहते हुए मम्मी ने अंदर आना चाहा. सुबह जब विभूति और तिवारी अपने पास वाली चाय की दुकान पे मिले तो मलखान और टीका दोनों आपस में बतिया रहे थे.

वो जाते वक्त बोलीं- तुम मेरे सर की भी मालिश कर दोगे?मैंने हाँ बोल दिया. मैं उसे उठा कर बैडरूम में ले गया और 69 की पोजीशन में आकर उसकी गुलाबी, गोरी, चूत को चूसने लगा.

मैं वापिस आकर सो गया कि कल घर जाकर इसके मोबाइल पर चुदाई की रिकॉर्डिंग देख लूँगा.

आज उसने अपने पापा से बात भी नहीं की, शायद रात की बात से वो नाराज़ थी।गुलशन- देखा हेमा. तभी उन्होंने चूसना बंद करके मुझे थोड़ा सा उठा कर मेरी टांगों को अपनी कमर से बाँध लिया और अपना मोटा लंड मेरी चुत पर रगड़ कर कहा- अब तेरी चुत को चोदूँगा. फिर मेरा हाथ उनके मम्मों पर आ गया और मैं भाभी के मम्मों को मसलने लगा.

बिहारी चुदाई सेक्सी बीएफ पर पूजा को सीरियल अच्छा लग रहा था इसलिए उसने बोला- थोड़ी देर रुको, लास्ट तक देख लें, फिर चल देंगे. अपनी पत्नी की पहली रात ही मैंने चीखें निकलवा दी, क्योंकि मेरे पास 12 साल का चुदाई का तजुरबा था और मुझे पता था औरत कहाँ से और कैसे गरम होती और कैसे तड़पती है.

मैंने बरबस ही अपना मुंह वहाँ रख दिया और पेटीकोट के ऊपर से ही चाटने लगा. 5 मिनट तेजी से चुदाई के बाद उन्हें घोड़ी बनाया और फिर पीछे से उनकी चूत को चूमने के बाद लंड को चूत में प्रवेश करा दिया. तेरी बहन की चूत, मादरचोद ले ले चुद बहन की लौड़ी साली आह आह ले ले मेरा लौड़ा तेरी गांड चोद रहा है, रवि इस मादरचोद का अंग अंग चोद डाल आज… उई आह आह ये ले ये ले!हम तीनों ही झड़ने के करीब थे, सुलेखा ने मुझे कस कर पकड़ लिया और अपने मम्मों को मेरी छातियों पे दबाते हुए अपने होंठों को मेरे होंठों में दबा लिया, शायद वो झड़ रही थी, तभी नीचे से उसकी गांड में मनोज के लंड का फव्वारा फूट पड़ा.

कुंवारी दुल्हन बीएफ सेक्सी

” चन्दन ने सासू माँ के शरीर की तारीफ़ की तो सासू माँ एकदम किसी कमसिन लड़की की तरह शरमा गईं. कल गाँव से गोपाल की कोई रिश्तेदार आ रही है अब उसके सामने तो हम कुछ नहीं कर सकते ना. उसके बाद मैं बहूरानी की इजाजत से ही उनकी चूत के नजदीक से कई क्लोजप्स अपने मोबाइल से लिए, जैसे अलग अलग एंगल से, एक पोज में बहूरानी अपनी दो उँगलियों से अपनी चूत फैलाए हुए, दूसरे पोज में अपने दोनों हाथों से चूत को पूरी तरह से पसारे हुए इत्यादि; ताकि इन पलों की स्मृति हमेशा बनी रहे.

अब तो मेरी बिल्कुल फट गई, मैं मम्मी को सिरदर्द का बहाना करने लगा पर मम्मी ने मुझे जोर से आवाज लगा कर बुलाया तो मैं नीचे उतर कर आया. मैं उसके बाल सहला रहा था और उसके माथे को किस कर रहा था और जैसे ही वो मुझसे अलग हुई, उसकी जीन्स के बेल्ट का लूज पार्ट मेरे तौलिये में फंस गया और मेरा तौलिया नीचे गिर गया.

आगे की बात उन्हीं की जुबानी सुनो:ओह मनोज, इतनी सुबह क्यों फ़ोन कर दिया? रात को भी बहुत देर हो गई थी.

जैसे ही मैंने दीदी के एक चूचे को पकड़ा, दीदी की एक आवाज आई- सब कुछ तू ही करेगा या मुझे भी कुछ करने देगा?वो दीदी की मादक आवाज थी. ‘और क्या क्या किया भाबी जी?’ तिवारी फुल मूड में था शायद उसकी नज़र अनीता की नाईटी पर घूम रही थी, मानो के वो आँखों से ही अनीता भाबी को चोद लेना चाहता हो. उसके बाद हमारी नॉर्मल बात हुई और उसने मुझसे शादी की पिक्स माँगे जो मैंने उनको भेज दिए.

मैं अपनी जीभ उसके मुँह में डालकर घुमा रहा था, जिसमें वो मेरा पूरा साथ दे रही थी. फिर मुझे उसे मनाने में आधा घंटा निकल गया कि मैं लंड अन्दर नहीं डालूंगा. धीरे धीरे मैं उसके और नज़दीक आ गया, अब मैंने अपना हाथ उसकी छाती पर रख दिया और उसकी बालों भारी मर्दाना छाती को सहलाने लगा.

थोड़ी देर बाद उसने मुझे एक नीले रंग की बिकनी दी और उसे पहन कर दिखाने को बोला.

और भाभी का बीएफ: फिर मैंने एक और ज़ोर का धक्का दिया और मेरा आधा लंड उसकी चूत में समा गया. तेरी एज में लड़कियां शादी कर लेती हैं और चुत कितनी भी छोटी हो लंड आराम से ले लेती है.

तो वो एकदम से चिहुंक कर बोली- राज, तुम क्या कर रहे हो?मैं भी थोड़ा डर गया और बोला- कुछ नहीं. मैंने जैसे ही उसके होंठों से होंठ मिलाए तो उसने एक लंबी ‘म्म्म्ह्ह्ह्ह. मैंने आगे की बात बताना शुरु की ही थी कि कंडक्टर ऩे आवाज़ लगाई- बहादुरगढ़ की सवारियाँ उतरने के लिए तैयार हो जाओ!बस बहादुरगढ़ के स्टैंड पर पहुंच वाली थी और बस की लाइटें जला दी गई, उसने एकदम से अपनी पैंट की चेन खोलकर अपना लंड पैंट के हुक के नीचे दबाकर शर्ट के तले छिपा दिया और चेन बंद कर ली ताकि किसी को उसका खड़ा लंड दिखाई न दे।उसने मुझसे मेरा नंबर मांगा, तो मैंने अपना नंबर बता दिया.

मॉंटी- क्यों दीदी ऐसा क्यों और लूली से कैसा रस निकला था?टीना- सुन मेरे भाई.

अब हम अपना आपा खो चुकी थी। थोड़ी देर में हम दोनों के सारे कपड़े उतर गये। हम दोनों ने 69 की पोजीशन में आकर एक दूसरे की चूत खूब चाटी एक दूसरे की चूचियाँ खूब दबाई खूब पिया और एक दूसरे की चूत में उंगली डालकर कामरस निकाल दिया. भाभी बोली- शुभम बहुत दिन हो गये हैं, मैंने तुम्हारे लंड को मुंह में नहीं लिया. संगीता ने अपनी टाँगें चौड़ी कर दीं, अब चन्दन सासू माँ की चूत को अच्छी तरह देख सकता था, उनकी चूत मस्त गुलाबी, बिना बालों की एकदम फूली हुई थी, जिसमें से जमाई के लिए परिचित सी खुशबू आ रही थी.