गर्लफ्रेंड का बीएफ

छवि स्रोत,कश्मीरी चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स इंग्लिश में: गर्लफ्रेंड का बीएफ, अकेली भाभी की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मेरा दोस्त विदेश गया तो उसकी बीवी अकेली रह गयी.

मुंबईची झवाझवी

चुदने के बाद बुआ बोलीं- मेरे राजा आज खाना नहीं खाना क्या?मैंने कहा- आज खाना नहीं … आज तो बस तुम्हें ही खाना है. चूत की फोटो दिखाओउसने अपने दोस्तों के मनोरंजन के लिए चुत चोदन का रंगारंग कार्यक्रम बनाया था.

भाभी गुस्से से बोलीं- तुम्हारी ऐसा बोलने की हिम्मत कैसे हुई कि मैं तुम्हें ऐसा करने दूंगी!भाभी के तेवर देख कर मैं समझ गया कि मामला संगीन है. व्हिडिओ सेक्सी क्लीपमैं इस समय उन्हें अपनी बांहों में लिए हुए दरवाजे तक ले गया और उन्हें दरवाजे से दबा कर चूमने लगा.

मेरे दूसरे धक्के में मैंने पूरा लंड प्रिया भाभी की चूत में पेल दिया.गर्लफ्रेंड का बीएफ: हम दोनों ने अपने जन्मजात जैसे नंगे बदन मिला दिए और एक दूसरे को चूमने लगे.

इस पर साक्षी ने कहा- हां चलेगा … बस मुझे जल्दी से माँ बना दो मेरे राजा … मैं तुम्हारे बच्चे की माँ बनने के लिए बेक़रार हूं.तो मैं अपना सारा सामान पैक किया और अपनी बेटी को ले कर अपने मायके आ गयी।अब कुछ दिन तक तो ऐसे ही चलता रहा.

कलर्स टीवी कॉम - गर्लफ्रेंड का बीएफ

बाबा मंदिर में सफाई करने में लगे थे। बाबा ने उन्हे मंदिर के पीछे जाकर इंतजार करने को बोला तो वो बाबा के रहने वाले घर में आ गई।कुछ देर बाद बाबा भी आ गया।उसने पूछा- माई क्या तकलीफ है?तो माई ने पूरी कहानी सुनाई.कुछ देर ऐसे ही रहने के बाद वो उठी और मुझे पीछे वाली बेंच पर ले गयी.

उसके मुँह से नींद की गोली देने की बात सुनकर मैं समझ गया था कि शबाना भाभी को मेरे लंड का कितनी बेचैनी से इन्तजार था कि उसने सारी व्यवस्था पहले से ही कर रखी थी. गर्लफ्रेंड का बीएफ इसे मैं समझ गयी थी लेकिन मैंने जानबूझ कर अपनी गर्दन उठा कर उसे देखा नहीं.

खैर … अगली बार मैं आपको बताऊंगा कि भाभी की मदमस्त चुत चुदाई का पूरा किस्सा किस तरह से घटित हुआ.

गर्लफ्रेंड का बीएफ?

मेरी फर्स्ट किस स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने रिश्तेदार लड़के को अपनी अदाओं से उत्तेजित करके उसके साथ प्रथम चुम्बन का मजा लिया. राहुल ने उसकी चूची बाहर निकाल ली थी और उस पर केक की क्रीम लगाकर चाट रहा था. बाबा ने अपना खड़ा लंड चूत पर रखा और एक ही झटके में पूरा लंड आंटी की चूत के अन्दर पेल दिया.

सुलेखा ने लंड रस का चटखारा लेते हुए कहा- इसका टेस्ट नमकीन दही जैसा है. फिर जब सारा माल मेरे गले में अंदर जा चुका तो उन्होंने लंड को बाहर निकाल लिया. लेकिन मेरी सास अभी भी उखड़ी हुई थी क्योंकि मेरी चूत में फुल स्पीड में लन्ड घुस रहा था जिसकी फट फट की आवाज़ फ़ोन के पार जा रही थी.

मेरे हिसाब से पहले एक की गांड में लंड जाता है और फिर वो दूसरा पहले वाले की गांड चोदता है. फिर वहां से सुनील और उसकी गर्लफ्रेंड एक होटल में चुदाई करने चले गए और हम दोनों वापस आने लगे. अब आगे की आंटी की Xxx चुदाई कहानी:मैंने आंटी के दरवाजे पर नॉक किया और एक मिनट बाद दरवाजा खुल गया.

वो बोले- जब शिकायत करनी ही है तो फिर अपना काम तो पूरा करके ही जायेंगे. उसके बाद दी खड़ी हुई और हम दोनों को देखते हुए अपनी गांड मटकाते हुए ड्रेस उतारने लगी।दी की ये हरकत देखकर प्रतीक और मेरा लण्ड और ज्यादा तन गया।दी ने ड्रेस साइड में फेंकी और सोफे पर बैठ गयी।मैं अपना लण्ड हिलाते हुते दी के सामने खड़ा हो गया.

हम दोनों ने चाय ख़त्म की।फिर वो मेरे पास आकर बैठ गयी।मैं उसे किस करने लगा.

मैडम ने कहा- कितना मस्त अहसास था ये … मुझे आजतक ऐसा अनुभव पहले कभी हुआ था.

हेमा चाची के घर का बाथरूम बहुत बड़ा था, जिसमें एक कोने में एक बड़ा सा बाथटब रखा था. फिर मैं बोला- मेरा लंड अब तुम्हारी चूत पर लगा है और चूत को रगड़ रहा है. बाबा ने भी जोर जोर से चोदना शुरू कर दिया और कुसुम की चूत में वीर्य निकाल दिया.

मेरी पत्नी ने मुझसे कहा कि मैं कुछ दिनों के लिए अपने गांव जा रही हूं. दोस्तो, आप सभी को नमस्कार और सभी का बहुत बहुत धन्यवाद, जो आप लोगों ने मेरी सेक्स कहानीमामी की सहेली की चुदाईको इतना पसंद किया. इसके बाद अपने हाथों से मेरी गांड का छेद खोल कर अपना टोपा रख कर मेरे ऊपर चढ़ गया.

जैसे ही राहुल की नींद लगी, विजय ने मुझे उठाया और जल्दी से कपड़े पहनने के लिए बोला.

वो मेरी चेस्ट की निप्पल को छेड़ते हुए बोले- तुम्हारी चेस्ट तो लड़कियों के जैसी है. पहले तो जीभ घुसा घुसा कर मानो मेरी गांड चोद रहा हो अपनी जीभ से!फिर मेरी गांड के छेद में बहुत सारा सरसों का तेल भर दिया और अपने मोटे लोहे के रॉड जैसे लन्ड को भी पूरा तेल से भिगो लिया. बुआ मेरी बात सुनकर हंस पड़ीं और खुद के लिए छमिया शब्द सुनकर खुश हो गईं.

घर लौटा तो पता चला कि मेरी दादी माँ और बुआ दूसरे गांव में एक रिश्तेदार के यहां चले गए हैं।ब घर में सिर्फ मैं, रिया और चाचा और उनके बच्चे ही थे।गांव में वैसे सब ताश-पत्ते से खेलते रहते हैं. मैं तुम्हें अब दिक्कत नहीं होने दूंगा।बुआ फिर से मेरे लौड़े को सहलाने लगी और मेरा हाथ पकड़ कर बुआ ने अपने अपने मम्मों पर रख दिया।मैंने उन्हें उठाकर बिस्तर पर गिरा दिया और लंड को मुंह में डाल दिया. उसके मुंह से लगातार आनंद भरी सिसकारियां निकल रही थीं- आह्ह … हितेश … ओह्ह … चोदो … आह्ह … मेरी चुदाई करो … मेरी चूत में लंड देते रहो … आह्ह … लंड देते रहो … ओह्ह … ओह्ह … आह्ह … हितेश।उसके शब्दों से साफ पता लग रहा था कि वो कामसुख के लिए कितना तड़प रही थी.

मेरा उसकी चुत के दाने को काटने का इरादा नहीं था, वो बस उत्तेजना में ऐसा हो गया था.

मुझे बहुत गुस्सा आया कि साला इसका पति भी शायद इसकी चूचियों पर बहुत मेहनत करता है. फिर मैंने उसकी गांड में बहुत सारा तेल लगाया और अपने लंड पर भी तेल लगाकर उसकी गांड पर लंड सैट करके धीरे धीरे लंड उसकी गांड में डालने लगा.

गर्लफ्रेंड का बीएफ बातों बातों में हमारे होंठ इतने करीब आ गए थे कि मेरी गर्म साँसें उसके मुँह पर लग रही थी, मेरी उसको!उसने एक फोटो खींचने के बाद मुझे झटके से अपनी ओर खींचा और कमर को कस के दबा लिया. मैंने कहा- पहले एक बार लंड का पानी निकाल लेने दे, बाद में ये सब देखता हूँ.

गर्लफ्रेंड का बीएफ मैं इस समय उन्हें अपनी बांहों में लिए हुए दरवाजे तक ले गया और उन्हें दरवाजे से दबा कर चूमने लगा. लेकिन राजसी उसी तरह उसका लन्ड और उसकी दोनों गोलियां अपने मुंह में डाल कर तकरीबन दस मिनट तक उसका लन्ड चूसती रही।दस मिनट बाद सहिल ने राजसी को अपने लन्ड पे चढ़ाया.

दूसरी बात ये कि केवल यही एक पेशा है जिसमें लड़कियों को लड़कों से ज्यादा पैसे मिलते हैं.

लोकेशन सेक्सी

पति का साथ छोड़ देने के बाद कैसे मैंने अपनी वासना पूरी की?इस अन्तर्वासना एक्स कहानी में पढ़ें. दुकान से कोई सामान लाना होता या कुछ भी और काम होता तो अक्सर वो मुझे कहा करती थी।मैं भी रोज़ किसी न किसी बहाने से सलोनी के घर जाकर बैठ जाता था. अब उत्तेजना इतनी बढ़ गयी कि कभी वो मेरे ऊपर और कभी मैं उसके ऊपर चढ़ रहा था.

मैंने उसको दोबारा कॉल किया और उसको सारी बात बताई और कहा कि मैं साक्षी की मदद करने के लिए तैयार हूं. इसी तरह एक हफ्ते तक जब तक जीजा नहीं आये, उसने हम दोनों की रात में लगातार ठुकाई की. मैंने कहा- अरे अभी गाड़ी खाली होने में तो टाइम लगेगा, तुम जब तक नहा आओ.

हाय … हेमा चाची का नंगा गोरा बदन ऐसे लग रहा था कि जैसे मेरे सामने कोई जन्न्त की हूर नंगी पड़ी हो.

मैं झड़ने के बाद हेमा चाची के बगल में बिस्तर में चित लेट गया और वहीं पड़ा रहा. मैंने इतना सुना कि वो बोलीं- क्यों भांजे के लंड का बड़ा मज़ा ले रही थी … मैं तो तुझे अच्छा समझती थी पर तू तो बड़ी चुदक्कड़ निकली!मामी बोलीं- क्या करूं … इनसे मुझे ये प्यार नहीं मिलता … इसलिए करना पड़ा. मैंने मामी से पूछा- अभी आप क्या करोगी?मामी बोलीं- कुछ नहीं, सब काम खत्म कर चुकी हूँ … अब बस आराम करूंगी.

जैसे ही मैंने हाथ उसके चेहरे पर लगाया तो आदीबा ने कहा- जान … सोने दो. पुराने पाठकों के लिए मैं पिछले भाग का संक्षिप्त सार बता रहा हूं कि कैसे मैंने पिछले भाग में अपने गांव के दोस्त सोनू की बहन नेहा की जवानी का रस चखा. मैं- भाभी आप दवाई खाकर सो जाओ या आप अच्छे से पैर में मालिश करके सो जाओ, इससे आपको आराम मिलेगा।भाभी- सनी तुम मेरी एक बात मानोगे?मैं- हां भाभी, बोलो!भाभी- क्या तुम मेरी मालिश कर दोगे?यह बात सुनकर तो मैं अंदर ही अंदर बहुत खुश हो गया.

मैं मस्त होकर आंखें बंद किए हुए अपने लंड की चुसाई का मजा ले रहा था. उस दिन रेलवे स्टेशन पर बहुत ज्यादा भीड़ थी क्योंकि उस दिन शहर में कोई धार्मिक आयोजन था.

जब मुझे इसका आभास हुआ तो मैंने मुंह खोल दिया और उन्होंने उंगली को मेरे मुंह में डाल दिया. पूरा बॉडी लोशन और मेरा पानी मेरे लण्ड के किनारे जमा हो गया था।उसने अब पोज़ बदलने को कहा। हमने दी को साइड पोज़ में लिटाया और दी का एक पैर उठाकर मैं दी की चूत मारने लगा और किस करने लगा।प्रतीक पीछे से गया और इस बार प्रतीक ने दी को पीछे से चोदा. फिर मैंने चाची को बोला- अगर कोई सुन लेगा तो बहुत प्रॉब्लम हो जाएगी.

मेरे होंठ लगते ही उसकी आंखें भी बंद हो गयीं और वो मजे से किस करने लगी.

क्योंकि जब मैंने फ़ोन किया था तब शायद तुम फ़ोन काटना भूल गयी थी और मैंने सब सुन लिया था. पहली बार उसकी चूत देखी थी इसलिए दो मिनट में ही मेरे लंड ने पानी फेंक दिया. वो बोली: टैक्सी क्यों?अजीत: अलग अलग लन्ड पर घूमती हो न! इसलिए तुम टैक्सी हो.

मैं- साली अब तो हमेशा नंगी ही रहेगी यहां पर … कुतिया दिन रात चुदवा लेना रंडी. खैर … अगली बार मैं आपको बताऊंगा कि भाभी की मदमस्त चुत चुदाई का पूरा किस्सा किस तरह से घटित हुआ.

बिस्तर पर लेटते वक्त हेमा चाची ने अपना पल्लू हटा दिया था, जिससे हेमा चाची का ब्लाउज और सेक्सी चिकना गोरा पेट दिखाई दे रहा था. मैं उसके साथ हो ली और हम दोनों कुछ देर चलने के बाद कमरे पर आ गए।बाहर बड़ा सा गेट लगा था. लगभग 10 मिनट के बाद उसने लंड को बाहर निकाल कर बहन के मुँह में दे दिया और मुँह में पूरा माल गिरा दिया।मेरी बहन भी उसे पी गयी और फिर लन्ड चाटकर बाकी का लगा हुआ माल भी साफ कर दिया.

इंडिया साउथ आफ्रिका

लगभग 10 मिनट के बाद उसने लंड को बाहर निकाल कर बहन के मुँह में दे दिया और मुँह में पूरा माल गिरा दिया।मेरी बहन भी उसे पी गयी और फिर लन्ड चाटकर बाकी का लगा हुआ माल भी साफ कर दिया.

मम्मी बोली- इसका क्या करेगा?उनको मैंने बिना कुछ बताये एक रस्सी से उनके हाथ बांध दिये. कोई पांच मिनट बाद सलमान एकदम भभक गया और उसने मेरी अम्मी को एक रबर की गुड़िया की तरह खींचा और उनको नीचे लिटा कर उनके ऊपर चढ़ गया. इस बार मेरी तो जैसे जान ही निकल गई क्योंकि अब उसका टोपा मेरी बुर में था.

उसकी जोर से चीख निकल गई- उई मां मार दिया … आह धीरे धीरे करो यार … फ्री का माल है, तो चाहे जैसे ही करोगे क्या!मैं- सॉरी बेबी. बलविंदर ने उसके होंठों पर मदहोशी में अपने हाथ का अंगूठा फिराया और कहा- जैसे मैं तुम्हारी चूत को मुँह में लेकर चूसता हूं और तुम्हें आनन्द आता है. अन्तर्वासनावो जब उठ कर खड़ी हुईं, तो उनके ब्लाउज के बीच से जहां हुक नहीं था … वहां से उनका थोड़ा सा बूब दिख रहा था.

चाची बोलीं- तो क्या किसी से चुसवाया है तूने?मैंने मजेदार अंदाज में कहा कि नहीं चाची अब तक कभी नहीं. कहानी एक सामान्य परिवार की है जिसमें एक दम्पति और उनका एक जवान बेटा था.

दो दिन बाद संडे के दिन अमित अपना सामान लेकर आ गया और हम लोग साथ में रहने लगे. इससे पहले कि मैं कुछ बोलता उसने मुझे धकेलते हुए दीवार से सटा लिया और मेरे होंठों को किस करने लगी. गर्मी की वजह से हम दोनों पसीने से लथपथ हो गए और मेरे टॉप पर से मेरे निप्पल ज्यादा झलकने लगे.

उसकी चूत का नमकीन पानी इतना स्वादिष्ट था कि मैं मदहोश होता जा रहा था. तभी मैंने पूजा भाभी को जोरदार झटका देते हुए भाभी के हाथों को दूर हटा दिया और भाभी के नाड़े को खोलने लगा. मैंने तुरंत लंड को बाहर निकाला और कॉन्डोम में जमा वीर्य को बिना सुईं वाले सिरींज में भर लिया.

जिसके कुछ समय बाद साहिल भी मेरे मुंह में अपना मुँह घुसा कर मुझे चूमने लगा और उसका हाथ कभी मेरी कमर को सहलाता तो कभी मेरी पीठ को।हम दोनों उस तेज़ ठंडी हवा में और एक दूसरे के होंठों को इस तरह चाट रहे थे मानो शहद हो.

माय हॉट सिस्टर की ग्रुप सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरे दोस्त ने मुझे बताया कि वे एक अन्य दोस्त के जन्मदिन पर मेरी बहन की चूत उसे गिफ्ट देना चाहते हैं. अब मैंने साहिल से बोला- सेल्फी ली जाए?तो उसने अपने कुर्ते से मोबाइल निकाल कर सेल्फी लेनी शुरू की.

आंटी ने मुझे चाय नाश्ता दिया और कहा- मैं अभी आई … तुम जब तक चाय पियो. इसके बाद शाम हुई तो हम सभी ने मिल कर खाना खाया और खूब हंसी मजाक हुआ. फिर अपने धक्कों की तेज रफ्तार करते हुए ऐसे ही फिर काफी देर तक मैंने उसको चोदा.

हाय दैय्या! मैं इस रंगीन चुदाई से पूरी तरह पागल होती जा रही थी लेकिन वो रुकने का नाम नहीं ले रहा था. भाभी- हम्म!फिर मैंने उनसे पूछा, तो उन्होंने बोला कि मेरे एक रिश्तेदार की तबियत खराब हो गई है … तो मैं कुछ दिन भीलवाड़ा रहने जा रही हूँ. आंटी के मुख से बस कामुक आवाजें ही निकल रही थीं- अहह उह मर गई रे … कितना तेज चोद रहा है आई मर गई रे आह मजा आ गया रे … हां ऐसे ही खोद दे कमीने आह चोद दे.

गर्लफ्रेंड का बीएफ सच में दोस्तो … मैं अपने लंड को कई बार चुसवाया था मगर आज जैसा मजा पहले कही नहीं आया था. मैंने गमले में से चाबी निकाली और फ्रेश होकर आराम करने लगा।शाम को गोलू और दी दोनों आ गए।दी को देख कर ही मेरी हवस जाग गयी।ऑफिस की फॉर्मल शर्ट और पैंट में भी वो काफी सेक्सी लग रही थी। टाइट पैंट में उनकी मस्त गांड किसी का भी लण्ड खड़ा करवा सकती थी।दी फ्रेश होकर ढीले कपड़े पहनकर आई और फिर हमने खाना साथ में ही खाया.

शायरी सेक्सी

उसका ये कहना था कि मैंने लौड़े को चुत की फांकों को चीरते हुए अन्दर पेल दिया. सलोनी- और बताओ, तुम्हें कैसी लड़की पसंद है?मैं कुछ बोल ही नहीं पा रहा था. वो कभी उसकी चूत को देख रहा था तो कभी उसके बूब्स को।फिर हम वहां से निकल लिये.

तो शायद हम दोनों एक दूसरे की इस कमी को पूरा कर सकते हैं।मेरी इस बात पर उसने मुस्कुराते हुए कहा- तुम मुझे चाची कहते हो और अपनी चाची की ही बुर को चोदना चाहते हो?मैंने कहा- सिर्फ बुर नहीं, मैं तो अपनी चाची की बुर और गांड दोनों चोदना चाहता हूँ। आपको पता नहीं चाची कि आप क्या चीज़ हो।इन कामुक बातों से चाची की सांसें थोड़ी भारी होने लगीं. इधर बलविंदर सोच रहा था कि जिस लड़की ने आज तक अपनी बुर में उंगली भी नहीं की थी, आज वह किसी एक ऐसे आदमी के सामने नंगी पड़ी है, जो उसकी उम्र से दुगना था और उसके पापा का दोस्त भी था. प्रेग्नेंट चुदाईवो मेरे बिस्तर से उठ कर खड़ी हो गई और हंसते हुए अपने कपड़े ठीक करके चली गई.

वो मेरे लंड के नीचे कैसे आयी?हैलो, सभी प्यारे लंडधारी और चुत गांड का छेद खोले हुए लड़कियां, भाभियां और आंटियां आपको लंड उठाकर मेरा नमस्कार.

थोड़ी देर लंड चुसवाने के बाद बलविंदर तो दरिया में आनन्द के गोते लगा रहा था. मैंने जैसे ही उसकी गांड पर अपना लंड लगाया … वह एक पल को कसमसाई और कहने लगी- आराम से करना जान … नहीं तो बहुत दर्द होगा.

उसने अपनी एक हाथ से पैंट के ऊपर से ही मेरे लंड को दबाना शुरू कर दिया. मैं और सुलेखा उस दिन अकादमी की क्लास से बंक मारकर सुनील और उसकी गर्लफ्रेंड याशिका के साथ घूमने के लिए चोखीढानी आ गए. एक और भी अच्छी बात ये थी कि लॉकडाउन लगने के पहले होली का त्योहार था … इसलिए आजू-बाजू के सभी किराएदार पहले ही अपने अपने गांव चले गए थे.

फिर उनकी आँखों में देखते हुए अपना मुंह खोलकर उनके मोटे सुपारे को अपने मुंह में भर लिया और आंख बंद करके चूसने लगा.

मैं 22 वर्षीया शादीशुदा महिला हूँ। मेरी लम्बाई 5 फीट 5 इंच है और शरीर गोरा, मखमली और भरा हुआ है. इसलिए मैं किनारे बैठ कर सबको देख रही थी।अभी कुछ समय बीता ही था तभी साहिल वहां आया और अपनी मम्मी से बोला- मैं बाहर जा रहा हूँ. मेरे गर्म होंठ उसकी चूची पर लगे तो उसके मुंह से सीत्कार निकलने लगे.

सेक्स काहानीउसकी चोली डीप कट थी जिसमें से उसकी पिंक ब्रा की थोड़ी सी डिज़ाइन दिख रही थी और चूचों के ऊपर का हल्का सा हिस्सा भी दिख रहा था. कुछ देर बाद मैंने उनको बेड पर लिटा दिया और उनके ऊपर आ गया और उनको फिर से चोदने लगा.

लंगा पिक्चर

उसने सुनहरे रंग की घाघरा चोली पहन रखी थी जिस पर बहुत ही सुंदर मोती का काम किया हुआ था. अबकी बार शॉक मुझे लगने वाला था क्योंकि वो खुद लंड को पहले से ही बाहर निकाले हुए था. भानू को इतना तो मालूम चल गया कि शालू ने चुदाई वाली घटना का जिक्र किसी से नहीं किया.

फिर आंटी ने कहा- अब चोद दे मेरी चूत अपने लन्ड से … बहुत गर्म हो चुकी है ये. अब मैं पूरी जिन्दगी मोमबत्ती तो नहीं पेल सकती ना? चूत को लंड तो चाहिए ही होगा. बलविंदर अलीमा के होंठ को चूसते चूसते उसके चुचों पर आ गया और चूची को चूसने लगा.

फिर उनकी आँखों में देखते हुए अपना मुंह खोलकर उनके मोटे सुपारे को अपने मुंह में भर लिया और आंख बंद करके चूसने लगा. मोटे लंड के सुपारे को चूत पर कुछ देर रगड़ने के बाद मैं लंड पर बैठने लगी और धीरे धीरे उसका पूरा लंड चूत के अन्दर ले लिया. उन तीनों की नजर बार बार मेरी चूचियों और मेरे बदन के बाकी हिस्से पर जा रही थी.

पूरे कमरे में उनकी मादक आवाजें गूंज रही थीं जिन्हें सुनकर मैं और भी जोश में आता जा रहा था. वो तीनों मुझे देखकर खुश हो रहे थे लेकिन रूपाली अपने कपड़े देखकर परेशान हो रही थी.

ऐसा लग रहा था कि वो तो मानो आज मेरी बुर खा ही जाएगा और वो दो उंगलियों से मुझे चोदने लगा.

जल्द ही मेरी ब्रा भी निकाल दी गई और दोनों ही एक एक करके मेरे दूध को दबाते और चूसने लगे. पहाड़ी गानाउस जिगोलो वाले दौर की मेरे पास बहुत यादें हैं जो अंदर ही अंदर मेरे मन में घूमती रहती हैं. चुदाई के सीन20 मिनट तक मैंने उसकी गांड मारी और फिर उसकी चूत में उंगली करते हुए हम दोनों साथ में झड़ गये. वो बोली- हितेश, तुम्हारे घर में गेस सिलेंडर हो तो मुझे दे सकते हो क्या? मेरे घर में गैस सिलेंडर खत्म हो गया है.

बहन चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मेरे जीजा की मौत के बाद मैं दीदी की मदद के लिए उनके साथ जीजा का बिजनेस देखने लगा.

इस पर अलीमा बोली- अच्छा जी, प्यार करते हैं कि मुझे चोदना चाहते थे?बलविंदर ने कहा- वो तो तुम्हारी खूबसूरती देखकर कौन नहीं मचल जाएगा. इस सेक्स कहानी के पिछले भागजमींदार ने नौकरानी की चूत मारीमें अब तक आपने पढ़ा था कि ठाकुर ने अपनी ससुराल में आकर अपनी सास की चुदाई कर दी थी और उसके बाद ससुराल की मस्त नौकरानी मंजू की चुत चोद दी थी. मैंने भी झट से अपनी पैंट की जिप खोल दी और अपना लंड बाहर निकाल लिया.

ये बोलकर उसने फिर से मेरा लंड पूरा मुंह में लिया और उसको जोर से चूसने लगी।मेरी तो हालत खराब हो गयी. इसी के साथ मुझमें चुदाई के दौरान काफी देर तक लगे रहने के कारण आज तक मैंने सबको उनकी डिमांड से ज्यादा संतुष्ट किया है. जिससे वो उचक गई।मैंने थोड़ा सा थूक लगाया और लंड को उसके मुँह में डाल कर गीला किया और फिर उसकी चूत में डालने की कोशिश की।मेरे लंड का सुपारा चिकनी चूत में घुस गया और उसकी चीख निकल गई- आआआ आ आओह … हहांह … हहाह …हहहो!मैंने तुरंत अपने होंठ उसके होठों के ऊपर रख दिए और उसकी चीखें दबा दी।उसे बहुत दर्द हो रहा था.

सेक्सी वीडियो चोदा चोदी करने वाला

उसने कहा- तुम तो ऐसे घबरा रहे हो जैसे मैंने तुमसे गर्लफ्रेंड का नाम पूछ लिया हो तुम्हारी!अब मुझे इस बात का दुख आ गया और मैं बोला- तुम भी मज़ाक उड़ा लो. मैंने इस मौके का मजा कैसे लिया?दोस्तो, मैं आपका दोस्त सुमित एक बार फिर से अपनी पारू भाभी की ननद नन्दा की इंडियन चूत की सेक्स स्टोरी के साथ हाजिर हूँ. दीदी- पागल हो गयी है क्या! उसकी उम्र ही क्या है अभी?फिर मैं चाय लेकर अंदर चला गया.

तभी उसने मेरी चुत में अपना लंड डाल दिया और वो मुझे चोदते हुए मेरे साथ सुहागरात मनाने लगा.

हमने मिलने के लिए एक कॉफ़ी शॉप चुना।जब वो मुझसे मिलने आयी थी तो नीले रंग का सूट सलवार पहनकर आयी थी।वो उस सूट में कमाल की लग रही थी। मैं उसको देखता ही रह गया था।तब उसने मुझे हाथ से हिला कर कहा- कहाँ खो गए?मैंने कहा- कही नहीं … बस आपको देख रहा था.

मैंने उसे चूमना छोड़ा और उससे पूछा- क्या तुम्हें अच्छा नहीं लग रहा है?वो शर्म से सर नीचे करके हां में सर हिलाने लगी. अब वो और जोर जोर से चूसने लगी तो मैंने कहा- ओह्ह्ह … मेरी फ़रज़ाना दीदी … चूसो और चूसो।वो मेरे लंड के साथ मेरे आंड भी चाटने लगी।जब मुझे लगा कि मेरा निकलने वाला है तो मैंने उसे रोका और बेड पर पटक कर दीदी के नंगे बदन पर चढ़ गया. अजमेर सेक्सचिल्लाकर कह रही थी- आह्ह … चोदो मुझे … चोदो मुझे।अभय बोला- साली रंडी, आराम से … तेरा भाई आ जायेगा.

लैंड से चुदाई की कहानी में पढ़ें कि एक कमरे में चार लंड दो चूतों को चोदने के लिए मचल रहे थे. अब वो और मस्त आवाजें निकाल रहे थे- आह और जोर से मार भोसड़ी के आह और जोर से चोद दे मेरी गांड. मेरी इस सेक्स कहानी में आपको जो भी गलती दिख जाए, उसे प्लीज़ अनदेखा करते हुए मेरी देसी कहानी का आनन्द लीजिए.

तुम्हें मन था ना मेरी चूची पीने का … आह्ह … पी ले अब … जोर से।वो और जोर से सिसकारियां भरने लगी थी. मुझे ये सब देख कर बहुत गुस्सा आ रहा था … मगर मैंने सोचा कि अगर ऐसा करने से बच्चा हो जाए, तो मोना की जिन्दगी खुशगवार हो जाएगी.

राज ने अंदर लाकर मुझे बेडरूम के बेड पर बिठा दिया; जय मेरे पीछे आकर बैठ गया और पीछे से मेरे बूब्स दबाने लगा.

उसकी चूत भट्टी की तरह तप रही थी।उससे रुका न गया और उसने मेरा लंड पकड़ कर सीधा चूत के दरवाजे पर रखा और मैंने धक्का देकर लंड को सीधा अंदर कर दिया।उसकी चूत काफी बार चुदी हुई थी इसलिए लंड गच्च से अंदर चला गया. जया ने मेरा 7 इंच का खड़ा लंड देखा, तो डर गई और बोली- ये तो कितना बड़ा मोटा है … अन्दर कैसे जाएगा!मैंने कहा- आराम से डालूंगा … तो चला जाएगा. इसलिए अब कुछ ऐसा दृश्य हो गया था कि लंड अलीमा के मुँह के सामने था और बलविंदर को लग रहा था कि अलीमा लंड को मुँह में ले लेगी.

सेक्सी वीडियो गाना दिखाएं बाकी का जो वीर्य हेमा चाची के मुँह में था, उसे हेमा चाची ने पी लिया. कब सुमन के होंठ मेरे होंठों से जुड़ गए, मुझे इस बात का पता भी न लगा.

तभी वो न जाने कैसे गिरने को हुईं, तो मैंने उन्हें पकड़ कर अपनी बांहों का सहारा देते हुए सम्भाला. वो लंड को चूसते समय उस पर दांत भी मार देती थीं, इससे मेरी कराह निकल जाती थी. उसको मैंने 20 हजार की शॉपिंग करवा दी थी और मूवी देखते हुए ही मैंने उसको गर्म करके चुदाई के लिए मना लिया.

पेंटर डॉग

रंडी की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैं एक ग्राहक से चुदने गयी तो वहां पर उसके तीन दोस्त और एक नौकरानी भी थी. मुझे उस समय अन्दर से बहुत अच्छा लगा कि इसने मुझे मेरी चुत की सील टूटने की अग्रिम बधाई दी. वो तो एकदम से प्यासी लड़की की भाँति मेरे लंड पर टूट पड़ी और गपागप गपागप अपने भतीजे का लंड चूसने लगी।वो लंड को मस्त हो कर चूस रही थी.

मैंने बात बनाते हुए कहा- चाची अगर घर वाले आ गए, तो वो मुझे किसी न किसी काम में लगा देंगे … फिर मैं आपका टीवी ठीक करने कैसे आ पाऊंगा?हेमा चाची ने कहा- अरे हां भास्कर … तुम्हारी ये बात तो बराबर है. तभी चाची ने अचानक से मेरा हाथ पकड़ा और बोली- बस करो!फिर वो बोल कर नीचे जाने लगी और जाते हुए उसने पीछे पलट के मुझे देखा और नीचे अपने रूम में चली गयी।मैं समझ गया कि अब मौका मिलते ही चाची मुझसे जल्दी ही चुदवा लेगी।थोड़ी देर छत पर टहलने के बाद मैं भी अपने रूम में चला गया.

मैंने देर न करते हुए एक चूची को अपने मुंह में लेकर चूसना चालू किया.

दो मिनट बाद मैं नजर बचाकर सावधानी से उसके घर में पीछे के गेट से घुस गया. वो कुछ दूर बैठी थी और उसे ही देख रही थी पर उसको आवाज नहीं सुन रही थी।बाबा- माई को हमारी बात नहीं सुनेगी. उसको देख कर मैं छुप गयी।वो सीधे मेरी क्लास में गया।मुझे कुछ शक हुआ कि ये इस टाइम मेरे क्लास क्यों गया है.

दोनों काफी समय तक मुझसे ऐसे ही मजा लेते रहे और इस बीच मैं एक बार झड़ भी गई. ‘आआह विजय … आह कितना मजा आ रहा आआह … और करो विजय आआह तुम कितना मस्त चुदाई करते हो आआआह … मम्मीईई. उधर साहिल ने मेरी सलवार खोल कर और पैंटी किनारे करके मेरी गांड के छेद में अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया.

मैं प्रणव फिर से हाजिर हूं मेरी सिस्टर सेक्स स्टोरी लेकर!मेरी पिछली कहानी थी:रंडी बहन का एक और गैंग बैंगयह सिस्टर सेक्स स्टोरी 2 महीने पुरानी है.

गर्लफ्रेंड का बीएफ: पहले तो मैंने लंड का टोपा अपनी जीभ से गीला किया और हल्का हल्का उसका लन्ड का टोपा अंदर बाहर करने लगी।अब तक कभी मैंने इतना बड़ा लन्ड वास्तव में देखा नहीं था तो लेने की बात तो दूर है।मेरी आदत नहीं थी इतना बड़ा लन्ड लेने की क्योंकि मेरे आदमी का लन्ड 4 इंच का था बस!और कभी मैंने उनका लन्ड अपने मुँह में नहीं लिया था. कुछ ही देर में मेरा पूरा लंड उसकी गांड में समा चुका था और उसकी गर्म सांसें अब और भी तेज़ हो चुकी थीं.

इस लॉकडाउन के दौरान ही हॉट पड़ोसन रूबी ने अपनी 2 पड़ोसनें पूनम और सुनीता को, जो कि उसकी सहेलियां थीं, उनको भी मुझसे चुदवाया. सलमान बोला- यार, मैंने तो समझा था कि आज तेरी जवानी को भोगने का मौक़ा ही नहीं मिलेगा. काफी देर तक उनके साथ घूमने खाना खाने और सेक्सी बातें करने के बाद चुदाई का मूड बन गया, तो हम दोनों एक होटल के कमरे में आ गए.

फ्रेंड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि फेसबुक पर मैंने एक लड़की से दोस्ती की.

जब वह शांत हुईं, तो मैंने एक जोर का झटका लगाया तो इस बार आधे से ज्यादा लंड चूत में उतर गया. कुछ देर बाद उसने रानी को कपड़े पहनाये और फिर पास के रेस्टोरंट में ले गया. 10 मिनट के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया।मैंने रानी से बोला- रानी एक बार चूसोगी?उसने कहा- एक शर्त पर!मैंने पूछा- क्या?वो बोली- मेरी चूत को जीभ से चोदने का मजा दे दो मुझे.