बीएफ ब्लू फिल्म नंगी चुदाई वाली

छवि स्रोत,सेक्सी ओपन चूत

तस्वीर का शीर्षक ,

एचडी में सेक्सी बीएफ: बीएफ ब्लू फिल्म नंगी चुदाई वाली, उसके घर में 2 रूम थे, जिसमें से एक तो उसके भाई का रूम था और दूसरा उसका.

सेक्सी पिक्चर दिखाइए सेक्स

मैं अपना मुँह उसकी चूत पर रख जीभ अन्दर-बाहर करने लगा। पिंकी मेरी हरकत से ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करने लगी।कुछ देर के बाद मैं अपना लंड पिंकी की पिंकी के अन्दर डालने लगा. हिंदी सेक्सी हिंदी हिंदी हिंदी सेक्सीशाम को 8 बजे जब मैं घर वापस आया और फ्रेश हुआ, तो भाभी ने आवाज दी और बोली- भूख लगी हो तो खाना तैयार है.

मैं जोर जोर से चीखने चिल्लाने लगी कि छोड़ दो मर जाऊंगी, मुझे कोई बचाओ. २०२१ सेक्सीचाची- आह … निकाल ले आह … आह!मैं- आह … आह!हम दोनों जोर जोर से आह भरते हुए एक दूसरे को चोदने लगे.

मैंने कहा- आंटी मजा लेना है तो थोड़ा सहन करो यार…ये कहते ही मैंने एक जोर का झटका दे मारा और पूरा लंड एक ही बार में अन्दर चला गया.बीएफ ब्लू फिल्म नंगी चुदाई वाली: और वे दोनों फिर मुस्कुरा दिये।फिर 32 नम्बर ही दिखाइए मैडम को!” मैंने थोड़ा खुलते हुए कहा।सेल्स गर्ल ने 32 की ब्रा निकाल कर दी जिसे देखकर नीलम बोली- मैं ट्राई करके आती हूं।शायद यह नीलम ने जानबूझकर कहा होगा क्योंकि उसका साइज उसे अच्छे से पता होगा.

इतना कहकर मेरी चूत पर जगत देव अंकल ने जोर से धक्का मारा तो उनका लंड मेरी चूत को चीरता हुआ घुस गया.मुझे मालूम है कि भारत में इतने बड़े लंड नहीं पाए जाते हैं, लेकिन मुझे ऊपर वाले नेलम्बा और मोटा लिंगदिया है.

कार्टून सेक्सी इंडियन - बीएफ ब्लू फिल्म नंगी चुदाई वाली

तभी अचानक अंकित मेरे चूत में उंगली पूरी घुसा दी और उसे अंदर बाहर करने लगा, और मेरे कान में बिल्कुल पास आकर धीरे-धीरे बोलने भी लगा- वन्द्या तू बहुत मस्त माल है तेरी चूत इतनी गर्म है कि लग रहा है कि मेरी उंगली जल जाएगी, आज मैं तुझे जन्नत की सैर कराऊंगा, तू बहुत मस्त है.फिर सर मेरी टांगों से किस करते हुए मेरी गांड के पास आए और उन्होंने मेरी गांड खोली.

अपने निजी जीवन को लोगों पर जाहिर करना, वैसे भी अपने सेक्स पार्टनर की इज्जत उछालने जैसा है. बीएफ ब्लू फिल्म नंगी चुदाई वाली उसकी चूत पानी छोड़ चुकी थी और मेरी उंगली उसकी चूत में अन्दर बाहर हो रही थी.

उस रात मानो मेरे दिल और दिमाग़ पर सिर्फ़ और सिर्फ़ मनीषा ही छाई हुई थी.

बीएफ ब्लू फिल्म नंगी चुदाई वाली?

क्योंकि मैंने बड़े ध्यान से उनकी पेंटी को देखा था कि उनकी पेंटी में बहुत से सफेद दाग लगे रहते थे, जिससे ये पता चलता था कि मामी रात को या फिर दिन में ही कितनी बार झड़ जाती होंगी. तभी मम्मी मुझे लेकर शादी के 15 दिन पहले मौसी के गांव मनका चली गई, वहां शादी का माहौल था पर मेरे लिए वहां कई लोग अजनबी थे जिन्हें पहली बार देख रही थी. फिर उसने मेरी तरफ देखकर बोला- हां अब बोलो, क्या तुम्हें मेरी चुत की सीटी सुननी है और क्या तुम्हें मेरी चूत से पेशाब निकलते हुए देखना है?मैंने जब हां किया तो पूजा बोली- चलो टॉयलेट के फर्श पर लेट जाओ.

हाँ ये हो सकता है कि इसने गांड में लंड लिए हों, मुँह में लिए हों और बाकी सब किया या करवाया हो, पर यह पक्का है कि वन्द्या ने आज के पहले किसी को अपनी चूत चोदने को नहीं दी है, ये पक्की बात है. इस शानदार चुदाई के चलते इतना मजा आने लगा था कि मन कर रहा था कि यह गांड चुदाई कभी भी ख़त्म ना हो…लेकिन तभी नताशा के बोझ से दबे दीमा ने मेरी पत्नी के कूल्हे पकड़ कर उसे ऊपर की ओर उभारते हुए अपने लंड को बाहर कर लिया. उसके लिप्स पे लगी हल्की लिपस्टिक मानो मुझसे कह रही थी कि आ जाओ और होंठों के पूरे रस पी लो.

यह हुए कहते आंटी ने मेरे लंड को हाथ में लेकर ज़ोर से दबाते हुए अपनी चुत के मुँह पर रख लिया. जब रशीद अपने लंड को बाहर निकालता तो पायल एकदम से ऊपर को उठ जाती और जब अन्दर तक डालता, तब नीचे गिरके रशीद के भारी भराकम शरीर के नीचे दब जाती. मैं बिल्कुल वक्त न गंवाते हुए सीधा उसके पास गया और पूछा- क्या मैं यहां आपके साथ बैठ सकता हूँ?उसने हां में सर हिलाया और मैं उसके बाजू में बैठ गया.

उसके बाद मैंने अपने कपड़े पहन कर बाथरूम में जाकर अपनी चूत साफ़ की और मेरा भाई कुछ देर मुझसे बातें करने के बाद अपने घर चला गया. मैंने भाभी को पूरी तरह अपने नीचे दबोच लिया और होंठों को चूसते हुए धक्कों की गति बढ़ा दी.

वाकई चिकने की लुल्ली बहुत ही छोटी थी लेकिन बाकी सभी के लंड जबर्दस्त थे.

मैं जोर से धक्का मारता गया और अचानक मेरे लंड ने अन्दर उल्टी कर दी और हम दोनों एक दूसरे पर ढेर हो गए.

उनकी पूरी सहमति जानते हुए मैंने अपना हाथ टी-शर्ट के अन्दर डालकर उनके बदन को सहलाना चालू किया, तो भाभी चुपचाप अपनी आँखें बंद किये खड़ी रहीं. मौसी के घर में जितने मर्द थे, सभी मेरी तरफ एकटक देखते रहते, कोई मेरा नाम पूछता, कोई मुझे बस घूरकर देखता ही रहता, वहां बूढ़े या जवान सब … पता नहीं क्यों मेरी तरफ एक अजीब सी नजर से मुझे देखते थे, मैं भी सोचूं कि पता नहीं ऐसी क्या बात है मुझमें जो सभी बस घूरे ही जाते हैं जैसे कभी लड़की ही ना देखी हो. मौसी ने फिर टांगें सीधी की और मेरे सर को पकड़ कर अपनी चुत पर रख कर दबाने लगीं.

पर मैं उसकी किसी बात पर ध्यान न देते हुए उसको अपनी बांहों में जकड़े हुए था. उसने मुझसे पूछा- क्या हुआ?तो मैंने अपने रिलेशन के बारे में उसे बता दिया. उन्हें टी-शर्ट लोअर में देखकर मैंने कहा- आप बहुत सेक्सी हॉट लग रही हो.

मैं समाली अंकल से अपने आप ही लिपट कर उनके बदन में घुसी जा रही थी, अपनी दोनों बांहों से समाली अंकल को समेट के कस लिया और जमकर उनसे लिपट गई.

यहाँ आए हुए मुझे 10 दिन हो गए थे, लेकिन चुदाई तो दूर, अभी तक तो एक भी लड़की से हाय हैल्लो तक नहीं हुई थी. अभी मेरी उम्र 25 साल है, कैसे मैंने मेरी पड़ोस वाली भाभी को चोद कर उसकी बरसों की तमन्ना पूरी कर दी. थोड़ी औपचारिक बातों के बाद वे अदिति से बोले- अदिति, जरा चल के एक बार शादी के गहने, कपड़े और बाकी सामान चेक कर लो कहीं कोई कमी न रह जाय.

मेरा भाई जल्दी जल्दी मुझे चोदने लगा और उसके बाद कुछ देर की जबरदस्त चुदाई के बाद मैं और मेरा भाई साथ में झड़ गए. तभी मैडम ने मुझे आवाज दी- हैलो कहां खो गए!मैं डरते हुए हकला कर बोला- क … कुछ नहीं … बॉस ने भेजा है मुझे. तरुण भैय्या ने मिताली दीदी को छोड़कर उस रंडी लड़की के साथ शादी कर ली.

लेकिन पूरा मजा लेना है तो प्लीज़ एक बार मेरी पिछली कहानी का रस जरूर लीजिएगा.

फिर मामी जी ने थोड़ा सा आगे की तरफ झुकते हुए, अपनी गांड को पीछे से बाहर की तरफ निकाल लिया. दोनों ने एक दूसरे को सहज तरीके से पकड़ा और फिर संभोग की क्रिया को आरंभ कर दिया.

बीएफ ब्लू फिल्म नंगी चुदाई वाली मैंने एकदम से उसकी चुत के होंठ खोल दिए और अपनी जीभ को अन्दर-बाहर करने लगा. मैंने भी कहा- ठीक है!फिर मैंने कहा- रूम में चलें?तो रेशमा बोली- नहीं, दिन की चुदाई यहीं पर होगी; रात की चुदाई रूम में!मैंने कहा- कहीं आपकी नौकरानी आ गई तो?तो उन्होंने कहा- वो तुम जानो!तो मैं आश्चर्यचकित रह गया.

बीएफ ब्लू फिल्म नंगी चुदाई वाली तभी वो एक दम से पलटा और बोला- सम्राट, ये तुम क्या कर रहे हो?मैं हड़बड़ाते हुए कहा- कुछ नहीं, अरे वो गलती से हो गया, क्यों तेरा उठता नहीं है क्या?शौर्य- उठता तो है मगर मुझे दूसरों का लंड उठाना ज्यादा पसंद है. थोड़ी देर बाद हम दोनों ऑफिस से कुछ दूर किसी होटल में बैठे हुए थे, तब उसका फोन बजा.

मैंने लंड को निकाला और स्वाति के पास जाके उसके कान में धीरे से कहा- बेबी शुरुआत में थोड़ा दर्द होगा, संभाल लेना.

ब्लू फिल्म सेक्सी हिंदी आवाज में

अशोक- मतलब मैं उनको जाके क्या बोलूं? कि चलो अपनी बहन को चोदना है तुम्हें… वो भी एक साथ… मैं भी चोदूँगा साथ में… और ये तुम्हारी बहन के जन्मदिन का तोहफा है?मयूरी- हाँ… एकदम सही. मैंने अंकल की लुंगी को हटाया तो अंकल को बोली- यह तो आपका नुनु है … खिलौना कहां है?अंकल ने बोला कि यह नुनु नहीं यह अब लौड़ा है और इसको लंड कहते है. अरे ऐसा कोई कीमती सामान नहीं है, पर सब जगह ताला तो लगाना ही पड़ेगा न!” उन्होंने कहा और अदिति को साथ लिए निकल लिए.

हम दोनों लोग कभी कभी घर में अकेले रहते थे तो छत पर जाकर बातें करते थे ताकि हमारी बातें कोई सुने नहीं और हमने बातें करते करते कब एक दूसरे की केयर करना शुरू कर दिया, हम दोनों लोग को पता ही नहीं चला. जैसे तैसे रात हुई और सुबह भी हो ही गई, मैंने ज्योति को कॉल किया उसने बोला- 11 बजे के बाद चलेंगे. मयूरी रसोई में कुछ काम कर रही थी की रजत ने अचानक से पीछे से जाकर उसकी चूचियों को दबोच लिया.

मैं मेरे हीरो के सामने सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी अपनी आंखों को मूँदे!वो मेरी चूत को पेंटी के ऊपर से ही चाटने लगे जो गीली हो चुकी थी फिर मेरी पेंटी को भी निकाल दिया.

माइक- हाँ तारा कमाल की लड़की है, उसकी उत्तेजना मुझे हमेशा जोश दिलाती रही. घर का पिता अपने बाकी सदस्यों से छुपा रहा था उसने थोड़ी देर पहले अपनी बेटी को इसी घर में चोद डाला. मैंने फिर तीसरी मंजिल पर आकर मनीषा के रूम में जाकर देखा, मनीषा निढाल होकर सो रही थी.

सबसे पहले मैंने अपना बैग खोल कर सेक्स वर्धक गोली निगल ली; ऐसी दवा मैं हमेशा अपने साथ इसी प्रकार की इमरजेंसी के लिए रखता हूं; हालांकि सामान्य तौर पर इसकी जरूरत नहीं पड़ती लेकिन जब लड़की ‘चोदना’ हो तो अपना हथियार भी भीषण युद्ध के लिए तैयार होना चाहिये ताकि सामने वाली से अपना लोहा मनवा सके और कामयुद्ध को निर्णायक रूप से जीत सके; ऐसा न हो कि मेरे लंड के नाम पर बट्टा लगे. उस समय करीब रात के 12 बज चुके थे, रास्ते में मैंने उससे कहा कि उसे उसके रूम पर छोड़ देता हूं तो उसने मना कर दिया और बोलने लगी कि इतनी रात को घर का गेट कोई नहीं खोलेगा तो अब वो सुबह ही जा सकती हैं।अब मेरे पास भी कोई जगह नहीं थी उसे ले जाने के लिए तो मैंने उसे रात किसी होटल में गुजरने के लिए बोला और वो फट से मान गयी. देखना है तुझे?उसने मुझे अपने ऊपर से धकेलते हुए कहा- तुम लड़कों का कभी पेट नहीं भरता, सही कहा है किसी ने, तुम लोगों का दिल और दिमाग दोनों तुम लोगों के पैंट के अन्दर होता है.

मम्मी की आह निकल गई, वे लंड की शुरूआती तड़फ के बाद मजा लेते हुए कहने लगीं- आह. अंदर आकर वो रसोई में पानी पीने जा रही थी कि रास्ते में ही बाथरूम से सिसकारियों की आवाज सुनकर रुक गयी और बाथरूम के पास आकर जोर से दरवाजा बजाया.

मैंने लंड को प्रिया की चूत से बाहर निकाला और सारा माल उसकी पीठ पर गिरा दिया. पूरी तरह से भले ना हो, पर आंशिक रूप से मैं खुद भी इस खेल का हिस्सा बन चुका था. उसे चोदते हुए मैं किस करने के साथ साथ उसकी कमर को भी सहला रहा था, जिससे उसकी उत्तेजना बढ़ती जा रही थी.

रशीद पायल के मम्मे को आम समझ कर उसका रसपान करने लगा … और चूसते हुए मसलने लगा.

इस बात पे वो हंस दीं और बोलीं- बता बात क्या है?अब मैं चुदाई की बात करने में थोड़ा सा घबराने लगा. लेकिन दोस्तो जब मैं उसके साथ पहली बार सेक्स कर रहा था, तभी मैंने उससे पूछा था कि वीर्य अन्दर ही डालूँ य़ा बाहर निकाल दूँ. 11 बजे मैंने ज्योति को कोचिंग क्लास से बाइक पर बैठाया और खेत की तरफ निकल गए.

उन तीनों ने एक साथ पूरी ताकत से इतने जोर से लंड पेला और अन्दर तक घुसा दिया. वॉशरूम से बाहर आने के बाद मेरी नज़र मनीषा के रूम पर गई, उसके रूम के अन्दर की लाइट अभी भी जल रही थी.

उसके बताये टाइम पर चाची आई और हमें चुदाई करते देखकर बोली- वाह जी, यहां पर तो ये काम किया जा रहा है. उसने मेरी तारीफ़ करनी शुरू कर दी, पर वो ज्यादातर अंग्रेज़ी में बोल रहा था. मेरे दिल की धड़कन अचानक बढ़ गई और में दबे पांव मनीषा के रूम की तरफ जाने लगा.

दीपिका कुमारी

वो उसकी ब्रा भी सिर्फ निप्पलों ही मुश्किल से ढक पा रही थी, उसके बड़े बड़े मम्मे उछल रहे थे.

टॉयलेट का दरवाजा प्रीति ने अंदर से बंद नहीं किया था। और जैसे ही मैंने अंदर झांका, मैं दंग रह गयी. मैं समझ गयी कि माइक किसी रसूखदार पद पर होगा, तभी ये मिला … क्योंकि बहुत से विदेशी पर्यटक यहां आते तो हैं, पर इतनी सुविधा सबको नहीं मिलती. ऐसा नहीं है की उसने मयूरी को पहले कभी नंगी नहीं देखा था पर अभी पता नहीं क्यूँ वो बहुत ही कामुक लग रही थी और शीतल को इतनी हसीं लड़की को देखकर अपने शरीर में एक अलग तरह का गनगनाहट महसूस हुई, उसका मुँह खुला का खुला ही रह गया.

मेरा खड़ा लंड भी बाहर आने को बेताब तो हो रहा था, लेकिन मैंने उस दिन जानबूझ कर अंडरवियर पहना था दरअसल मैं उस दिन मनीषा की तड़प देखना चाहता था और शनिवार होने की वजह से हम दोनों में से किसी का भी मन पढ़ाई करने का नहीं किया. मेरे कान खड़े हो गए और ये सोच कर मेरा लंड खड़ा हो गया कि शायद चाचा चाची चुदाई कर रहे हैं. इंडियन राजस्थानी सेक्सी व्हिडीओमैंने एक सेकंड के लिए उनके होंठ छोड़े, तो वो छूटते ही हांफने लगीं और बोलीं- ये गलत है.

मैंने बोला- आपका लैपटॉप खराब हुआ है मैं उसे ठीक करने के लिये आया हूँ. वो तुरंत फोन काट कर से मेरे घर आ गया और मुझसे चिपक कर मुझे चूमने लगा.

प्रिया की हरकतों से तो नहीं लग रहा था कि वो अभी तक वो कुंवारी बची होगी, मगर जैसा उसने कहा और उसकी चुत को देखकर ये लग भी रहा था कि ऐसा हो भी सकता है. मैं अभी कक्षा बारहवीं की छात्रा हूं, पर सब कहते हैं कि मैं जवान हो गई हूं और मेरे सामने फिल्मों की हिरोइनें भी फेल हैं। यह बात मुझे भी पता है कि कुछ तो ऐसा है मुझमें जिस कारण मर्द मेरे आगे पीछे मक्खियों की तरह आस पास रहते हैं; जैसे मिठाई में मक्खियां भिनभिनाती हैं. ओयय … बहुत दर्द हो रहा है, मम्मीईईई …!,ओय्यय … महेश्श्स … बहुत दर्द हो रहा है.

मैंने उसकी बाइक अपने घर के अन्दर रखवा दी क्योंकि अगर कोई पड़ोस में उसकी बाइक देखता तो शायद कोई पहचान लेता या गलत सोचता. अंकित अपने हथेली से मेरे बूब्स को दबाने लगा सहलाने लगा, थोड़ी देर बाद अब अंकित मेरे बूब्स जोर जोर से दबाने लगा और मेरी गांड के छेद के पास अपना लन्ड रगड़ने लगा. उस रात हमने चार बार चुदाई का मजा लिया और सुबह तक मैं नंगा ही लेटा रहा.

अब मेरी बारी थी और मैंने बिना देरी किए अपना हिलोर मारता हुआ लंड रूसी पत्नि के मुंह में घुसेड़ दिया, और उसका सिर पकड़ कर उसके दांतों के बीच से जीभ के ऊपर घस्से मारता हुआ मस्ती में चुदाई करने लगा.

किस करते हुए जैसे ही मैंने पूजा की सलवार खोलनी चाही तो पूजा दूर हो गयी और बोली- बस आज के लिए इतना ही … बाकी फिर कभी।मैंने काफी मिन्नतें भी की पर पूजा के दिमाग में बड़ा प्लान चल रहा था जो मैं उस वक्त नहीं समझ सका। लेकिन तब तो मैं पूजा से गुस्सा हो गया. संपत जी ने मम्मी से बोला- रचना जी, जो खेल उस रात को नहीं हो पाया था, यहाँ पूरा कर लें?मम्मी इठला कर बोलीं- आपका क्या मतलब है जी.

मेरी आदत है कि मैं गर्मियों में अपने रूम में बिल्कुल नंगा होकर सोता हूं क्योंकि मेरे रूम में अटैच्ड बाथरूम भी है तो मुझे किसी भी काम के लिए सुबह तक बाहर नहीं जाना होता. हामी भरते हुए और डीके का मनोमन शुक्रिया अदा करते हुए मैं उन दोनों के पीछे पीछे बेडरूम में चला गया. मैं और मेरे पति बहुत दिनों से इस साईट पर चुदाई की कहानी पढ़ रहे हैं.

कभी मेरे गाल पकड़ लेते, कभी मेरी गांड पर हाथ मार देते, कभी मेरी जांघों पर हाथ मार देते. वे फूफा के लंड को पकड़ कर बोली- आज प्यार करने का मन कैसे हो गया?तभी लंड के आकार से रजनी जी को पता चल गया कि उनके साथ ये उनके पति नहीं, कोई और है. कुछ देर तक प्रिया वैसे ही पड़ी रही और फिर धीरे से उसने करवट बदल कर अपना मुँह मेरी तरफ कर लिया.

बीएफ ब्लू फिल्म नंगी चुदाई वाली इसके बाद मैं तैयार हुआ और चला गया आज मुझे बहुत बुरा लग रहा था कि पहली बार किसी से लव यू कहा और वो भी किसी और की प्रेमिका निकली. मेरा लंड फिर से ताव में आ गया और मैंने उसके चोटी पकड़ लिया और उसके मुँह को चोदने लगा.

ஷகிலா ஆன்ட்டி செக்ஸ் மூவி

उसने मुझे सिर से पकड़कर नीचे दबाया और जमीन पर बैठा दिया और प्यार से बोला- मुंह खोल मेरे गंडमरे!मैंने मुंह खोल दिया. तो मैंने उनके पास जाकर पूछा- क्या हुआ दिव्या? कुछ बोल क्यों नहीं रही हो?दिव्या जैसे मेरे इसी प्रश्न का इंतजार ही कर रही थी, अपनी मां की ओर देखते हुए मुझे बोली- मैं जानती हूँ कि मेरी माँ एक औरत है, उसके शरीर की भी कुछ जरूरतें हैं. उन्होंने पीछे से मेरे बाल पकड़ कर अपना लौड़ा मेरी गांड में सैट किया.

मेरी साड़ी उतारने के बाद उन्होंने अपना कुर्ता भी उतार दिया और मुझे बेड लिटा दिया. मेरी क्लासमेट की सेक्स की कहानी के पहले भागक्लासमेट गर्लफ्रेंड बन कर चुद गई-1में अब तक आपने पढ़ा कि मुस्कान एकदम नंगी मेरे सामने थी. कपडे काढताना सेक्सी व्हिडिओलड़की हो या भाभी … उसको पीछे से पकड़ना बहुत अच्छा लगता है मुझे!प्रिया बोली- थोड़ा आराम तो कर लो, आज तो पूरा दिन पूरी रात के लिए आपकी हूँ.

मैंने मन ही मन में कहा कि अब भाभी तुमको मैं वीडियो दिखा कर चोदूँगा.

तब अंकित बोला- मैं वन्द्या को चुदते हुए देख कर एक बार मुठ मार चुका हूं. इसके बाद मैंने भाभी की नीचे झूलती चुई चूचियों को अपने दोनों हाथों में भरा और धकापेल चुदाई शुरू कर दी.

मैं तुम्हारी मर्दानगी को अपनी योनि के रास्ते मेरे भीतर आते हुए महसूस कर सकती हूं. मैं धीरे से नीचे जाके उनके पैरों के बीच में बैठ गई और उनका सुपारे पर किस करके धीरे धीरे मुँह में लंड लेना शुरू किया. मुझे ऐसा लग रहा था कि जिंदगी में इससे ज्यादा मजेदार बात और कोई हो ही नहीं सकती.

यह मैं क्षणमात्र के लिए ही देख सका कि कम्मो ने घबरा कर अपनी सलवार झट से ऊपर कर ली और उसे कसके मुट्ठी में पकड़ लिया.

सो अब उस नजर से इसे समझने की कोशिश करने लगा।जब तक वीडियो खत्म होता, उससे पहले ही वह बाथरूम से निकल आई और उसे देख के मेरा मुंह खुश्क हो गया।उसने कपड़े उतार दिये थे और फिल्मी स्टाईल में ही एक टॉवल से खुद को लपेट लिया था। नीचे वह क्या पहने थी क्या नहीं. शायद डीके और मेरे साफ सुथरे रिश्ते की जिस्मानी रिश्ते में बदलने की यह शुरूआत थी. ये कह कर आंटी ने अब अपनी जांघें और अधिक चौड़ी करके कपड़े धोने की स्पीड बढ़ा दी.

हिंदी सेक्सी 12 साल लड़की कीअब ऐसे चिल्लर नोट ले के फोन खरीदने जाना मुझे बड़ा अटपटा सा लग रहा था तो मैंने अपनी बहूरानी अदिति को बुला कर वो नोट उसे दे दिए और कम्मो को समझा दिया कि ऐसे छोटे छोटे नोट लेकर कुछ खरीदने जाना अच्छा नहीं लगता और उसके फोन का पेमेंट मैं कर दूंगा अपने अकाउंट से. जब मैं फिर भी नहीं उठा तो वो मेरे ऊपर ही मेरी छाती पर लेट गई और मेरे लंड को सहलाने लगी.

मोटी आंटी सेक्सी फोटो

मेरा लन्ड हर चुत की संतुष्टि के लिए कामयाब है। रंग गोरा, फुर्तीला शरीर और अच्छे व्यक्तित्व वाला इंसान हूँ जो सभी की हर शारीरिक जरूरत को पूरा करता है या करवाता है।मैं अन्तर्वासना का 7 साल से पाठक हूँ और बहुत सी चुदाई तो इस साइट से पढ़कर की है और प्यासे की प्यास बुझाई है। मैंने आज तक बहुत सी चुदाई की है. मैं अब वहाँ से भागना चाहती थी कि जो मेमसाब मुझे आपके पास लाई हैं, वो मुझसे बोली थीं कि काम करोगी. मुझे ब्रा और पेंटी में देख कर भाई का लंड खड़ा हो गया और उसने मेरी ब्रा और पेंटी भी निकाल दी.

वो बहुत खुश थी और विदा होने से पहले मुझसे बोल रही थी कि दीदी आप ज़रूर पिछले जन्म में या तो मेरी माँ रही होंगी या फिर मेरी बड़ी बहन, जो कि मेरी देखभाल करती रही होंगी. इस सब से बहुत ही कम समय में हम दोनों जोश में आकर बहुत मज़े मस्ती करने लगे. मैं खुद उठ कर बाथरूम में चला गया और उसने नौकरानी से चाय नाश्ता तैयार करवाया.

तभी बाथरूम का दरवाजा खोलकर मानसी निकली, मानसी अपनी माँ को इस हालत में देख कर थोड़ा डर गयी।मानसी- क्या हुआ माँ? यह अवाज कैसी थी और तुम रो रही हो?मैं सुशीला के कान में आहिस्ता से बोला- अपनी बेटी को कुछ मत बोलना … नहीं तो सबको बता दूंगा. मामी- मुझमें क्या ख़ास लगता है?मैंने लंड पर हाथ फेरते हुए कहा- सब कुछ ख़ास है आपका. यह सुनते ही पुलिस वाले दोस्त सुनील बोला- डर मत … सोहेल ने कुछ किया तो मैं हूँ ना.

भाभी अब भी कुछ न बोलीं, तब मैं वही हाथ धीरे धीरे उनके मम्मों पर ले जाने लगा और जैसे ही मैंने उनके मम्मों को पकड़ा, वो एकदम से सिहर गईं और मेरा हाथ छुड़ाकर बाथरूम से बाहर निकल गईं. उसे भी आनन्द आ रहा था क्योंकि वह सिसकारियां भर रही थी और कह रही थी- आह … और तेज करो … मुझे बहुत मजा आ रहा है.

शायद पिंकी को आज के प्रोग्राम का पूरा पता था, इसलिए उसने पूरी तरह से चूत को साफ किया हुआ था.

पर एक शर्त होगी!विक्रम और रजत फिर एक साथ थोड़ी ख़ुशी और थोड़े आश्चर्य के साथ- क्या शर्त?मयूरी- अगर तुम दोनों मेरी इस चूत का आगे कभी भी मजा लेना चाहते हो तो…विक्रम और रजत ने उसकी बात को बीच में काटते हुए उत्साह से पूछा- तो?मयूरी थोड़ा मुस्कुराती हुई- अरे धैर्य रखो… बता रही हूँ… बता रही हूँ… मैं देख रही हूँ कि तुम दोनों भाई अपनी बहन को चोदने के लिए उतावले हुए जा रहे हो. इंग्लिश फिल्म सेक्सी बीपीतभी वह बोला- अब शोर नहीं मचाना वन्द्या, तुम क्या मस्त माल हो! जब से आई हो, मेरे ही नहीं यहां सभी मर्दों के होश उड़े हुए हैं, तुम तो मुझसे छोटी हो पर मुझसे बहुत बड़ी लगने लगी हो, यह जादू तभी होता है लड़कियों में जब वो जमकर चुदाई करवाती हैं. शिल्पा शेट्टी हॉट सेक्सीये वासना से युक्त मेरी और मेरी कामवाली की सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करें. यह सब सुन कर मुझे बहुत रोना आया और मैं अपने पति के सीने से लग कर रोते हुए बोली- तुमने मुझे कभी कुछ कहा क्यों नहीं?उसने जवाब दिया- तुम्हारी बात सुनकर मुझे ऐसा लगा था कि शायद तुम भी मुझसे अलग रहना चाहती हो.

मैंने पूछा- क्या हुआ?वह बोली- तुमने फिर से मुझे काटा!तो मैंने आंख मार दी.

मैं यह देख कर हक्की बक्की हो गई क्योंकि आज तक मैंने तो मनोज को कभी नंगा ही नहीं देखा था, फिर यह कैसे हुआ. मैंने एक बार फिर से अपना लंड चाची की चूत में घुसाया और अपने दोनों हाथों से उनकी भारी भरकम चूतड़ों को पकड़ कर चोदना शुरू किया. मयूरी- क्या आप जानना नहीं चाहते कि वो कौन लोग हैं जिन्होंने आपकी बेटी की जवान चूत का भेदन किया और उसकी सील तोड़ दी?अशोक- हाँ… जरूर जानना चाहूंगा… बताइये… कौन हैं वो लोग?मयूरी- वो दो लोग आपके अपने दोनों बेटे हैं.

और चूत में उंगली करवाने में बहुत मज़ा आता है और तुझे ऐसे झड़ने में चुदाई से ज्यादा मज़ा आता है. उसकी बालों रहित चिकनी चुत गुलाब की पंखुड़ियों सी दिख रही थी, जिसमें से जवानी का रस टपक रहा था. आपको याद होगा कि उस शाम को कैसे एक सामान्य से परिवार को किस्मत ने एक नया आयाम दे दिया था.

ಕನ್ನಡ ಚೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಪ್ಲೀಸ್

फिर मैंने भाभी की चूत की फांकों में अपने लंड का सुपारा ऊपर नीचे किया, तो भाभी ने अपनी चुत को मेरे लंड के लिए खोल दी. पर मुझे लगा कि अगर मुझे अपना हुस्न लुटाना ही है तो अपने घर के बाहर क्यूँ, अपने घर ले लोगों में ही बाँट देती हूँ… मैंने तो बस सारे घर वालों के बारे में सोचा पापा…अशोक- अ… अरे… मैं… तो वो बस जोश-जोश में बोल गया मेरी जान… मेरा वैसा कोई मतलब नहीं था. मैं देखना चाहती हूं कि कैसा महसूस होता है।”और रोशनी के लिये भी इसी वजह से तैयार हुई हो कि सारे दुर्लभ नजारे खूब अच्छे से देख सको।”या बेबी.

फिर रात मैं हम तीनों ने एक साथ बैठकर के खाना खाया और अब उसके बाद सोने की बारी आई.

कपड़े धोते समय उनके हिलते भारी मम्मे मुझे साफ दिख रहे थे, क्योंकि उन्होंने अभी भी गाउन पहन रखा था, वो भी बिना ब्रा के.

अभी दिन ढलना बाकी था और मुझे पैदल चलना था मुख्य सड़क तक पहुंचने के लिए।उन दोनों से वादा करके मैं वापिस कोटा आ गया, आफिस में बहुत डांट भी खानी पड़ी क्योंकि मैं उन दोनों के बारे में किसी को नहीं बता सकता था तो कोई बहाना भी नहीं बना पाया लेकिन मैंने सह लिया और अपने काम में फिर से व्यस्त हो गया. भाभी उठ गईं और मुझे देखकर बोलीं- दिव्येश मैं कुछ थक भी गई हूं, सो आराम कर लेती हूँ. मोबाइल सेक्सी मूवीतभी दिनेश उठा और अपना मुँह मेरी चूत से हटा कर मेरे दोनों मम्मों को पकड़ कर मसलने लगा.

गांव की मेहनतकश लड़कियों के जिस्म में मजबूती और मांसपेशियों का सौन्दर्य अलग ही छलकता है. जो मैं अपनी कुंडली दिखाऊं?वो बोलीं- हाँ जिसके चक्कर में तुम यहाँ पहुंचे, वो तो मेल मिलाप वाला आदमी ही था. क्या तेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?मैं बोला- नहीं!तो चाची बोली- कोई बात नहीं, अब डर मत, मैं तेरे चाचा को नहीं बोलूंगी.

उसकी गोरी गोरी जांघों पे मैंने हाथ फेरना शुरू कर दिया और उसके पेट पर चूमने लगा. कैसा लग रहा है तुम्हारी चूत को? क्या तुम्हारा पति भी तुम्हें ऐसे ही चोदता है रोज रात और दिन को?मेरी बातों को सुनकर पूजा मुस्कुरा दी और बोली- हाय मेरे चोदू राजा, बहुत मज़ा आ रहा है.

उस दिन उन्होंने मुझे सारी सावधानियां बताईं और कसम खिलाई कि कभी किसी के साथ जबरदस्ती ये सब नहीं करेगा.

मामी जी भी मेरे लंड को अपनी गांड की दरार में चुभन महसूस करके मचल उठीं- ओह्ह्ह राहुल. पर मैंने एक शर्त रखी कि मैं आऊंगा पर आपके घर नहीं बल्कि किसी होटल में रुकूँगा. तभी मैं उठकर बाहर के कमरे में जाकर लेट गया और वहां चाय पीने लग गया.

कपड़े की सेक्सी वीडियो फिर उसकी पिंडलियां भी चूम चाट डालीं और पांव की उंगलियां भी अपने मुंह में भर कर चुभलाने लगा, तलवे भी चाटने लगा. फिर मैंने पजामा निकाला तो अंडरवियर के ऊपर से देखा कि उनका लंड बहुत मोटा था.

मयूरी ख़ुशी और आश्चर्य से- सच रजत??रजत- हाँ दीदी… सच में…मयूरी- और क्या करना चाहते हो तुम मेरे साथ?रजत- तुम तो काम की देवी हो दीदी… तुम्हारा शरीर तो जैसे वरदान है इस संसार के ऊपर!और ऐसा कहते हुए रजत ने अपना एक हाथ मयूरी की चूची पर रख दिया और हल्के से दबा दिया. धीरे धीरे मैं लंड पर दवाब बढ़ा रहा था और लंड चुत के अंदर जा रहा था।अब मैंने लंड थोड़ा बाहर खींचा और एक जोर का झटका मारा और लंड दनदनाता हुआ चुत में चला गया। अब मैंने उसकी गांड दोनों हाथों से पकड़ लिया, उसके ऊपर लेटकर उसकी चूचियों को मुँह में लेकर चूसने लगा और धीरे धीरे लंड जूही की चुत में पेलने लगा।बार बार मैं लौड़ा जूही की चुत में पेलने लगा, बार बार मैं जूही की चुत पर झटके मारने लगा. खाना खाने के बाद पूजा ने मुझसे कहा- कि जाओ बेडरूम में आराम करो मैं काम खत्म करके आती हूं, फिर बैठ कर बात करेंगे.

माधुरी दीक्षित की सेक्सी व्हिडीओ

कभी कभी तो मेरी स्पीड तेज़ हो जाती तो चिल्ला देती- हेईई मार दिया रे तूने कमीने आह. हमने एक दूसरे को चूस कर बहुत देर तक मजा दिया, शायद भाभी का 69 का ये पहला अनुभव था. अब हम दोनों लोग एक दूसरे से अपनी सभी तरह की बातें शेयर करने लगे थे.

’उसने मेरी छाती पर चुम्मा किया और बोली- मादरचोद, बॉडी दिखाने के लिए नहीं होती, चुत की प्यास बुझाने के लिए होती है. मैंने अपने भाई के लंड को अपने हाथ में ले लिया और उसे दोबारा खड़ा करने की कोशिश करने लगी.

मैंने उसे छेड़ते हुए कहा- तेरी चूचियां तो बहुत बड़ी हो गई हैं, किसी से दबवा रही है क्या?वो चिढ़ कर बोली- हां तेरे हाथों का ही कमाल है.

एक तो ऐसी लड़की मिलती नहीं, मिली तो सेक्स के लिए आसानी से तैयार होती नहीं और हमने कुछ करने की कोशिश की तो हंगामा अलग से होने का खतरा रहता है. दीमा का लंड पहले की भांति ही मेरी धर्मपत्नि की गांड में अन्दर-बाहर हो रहा था. तुम्हें मेरी चुत की सीटी सुननी है तो टॉयलेट के बाहर खड़े हो कर सुनो.

अब ऐसे चिल्लर नोट ले के फोन खरीदने जाना मुझे बड़ा अटपटा सा लग रहा था तो मैंने अपनी बहूरानी अदिति को बुला कर वो नोट उसे दे दिए और कम्मो को समझा दिया कि ऐसे छोटे छोटे नोट लेकर कुछ खरीदने जाना अच्छा नहीं लगता और उसके फोन का पेमेंट मैं कर दूंगा अपने अकाउंट से. रात को मौसी बेड पे जसवीर की जगह सो गईं, स्नेहा बीच में, उसके बाद में लेट गया और मौसा शराब में टल्ली होकर मौसी की चारपाई पे सो गए. मयूरी ने बड़े जोश में आकर अपने एकदम आदमजात नंगे बाप को जाकर एक जोरदार चुम्बन दिया.

मैंने उन्हें कहा- पांच मिनट आराम तो कर लो!उन्होंने कहा- नहीं मेरे राजा, मैंने तुम्हें आराम करने के लिए नहीं बुलाया है.

बीएफ ब्लू फिल्म नंगी चुदाई वाली: एक पल के लिये हमारी नजरें मिलीं और फिर धीरे से उसने अपनी पलकें झुका लीं. समय के साथ अब नताशा के चेहरे की मुस्कान लौटने लगी थी और वो अपने चूतड़ों को और तेजी के साथ आगे-पीछे करते हुए दोनों लंडों को अपनी गांड में सैर करवा रही थी.

फिर मैंने उसकी उम्र पूछी तो उसने बताया कि वो 28 साल की है और अभी तक उसका को बच्चा नहीं है. ”कौन सा सवाल पापा?”वह सुबह का… कल का शो कैसा लगा?”कम ऑन पापा… मुझे नहीं समझ में आ रहा कि आप क्या पूछ रहे हो?”ओके… ओके… लीव इट … हमें तो दिखाओ कि तुम क्या देख रही थी?”पापा प्लीज… मुझे ऐसे अपसेट मत फील कराओ. जैसे ही उन्होंने अपनी चड्डी निकाली, उसका लंबा सा लंड मेरे आंखों के सामने था, मैं उसे एकटक देखे जा रही थी.

मैंने जोर से एक झटका मारा और मेरा 8 इंच का 3 इंच मोटा लंड उनकी चूत फाड़ते हुए अन्दर घुस गया, जिससे उनकी चीख़ निकलने को हुई.

ज्योति ने मुझे किस किया और पूछा- आज तुमको क्या हो गया था? मुझे इतना दर्द हो रहा था और तुम इतनी जोर से किये जा रहे थे?मैं बोला- पता नहीं क्या हुआ था यार!फिर मैंने उसकी चुत को देखा तो वह सूज गयी थी. चूँकि उस वक्त में गांव में रहता था और आगे की पढ़ाई के लिए शहर में आ गया था. फिर भी करो प्लीज यार … मैं मर रही हूँ!” पर उस कमीने को रहम नहीं आया और वो मुझे अधूरे में ही छोड़कर चला गया.