एक्स एक्स बीएफ का वीडियो

छवि स्रोत,ইন্ডিয়ান সেক্স ভিডিও ফিল্ম

तस्वीर का शीर्षक ,

चूत चुदाई हिंदी वीडियो: एक्स एक्स बीएफ का वीडियो, मोनिका के पापा रोज ड्रिंक करते थे, उनका इतना डर नहीं था, जितना मम्मी का था.

सनी लियोन पॉर्न फिल्म

मेरा मजे वाला टाइम चल रहा था, तो मैंने उसको अपने नीचे लिया और उसको पैर मेरे ऊपर करने को कहा. बीएफ बीएफ एक्स एक्स एक्सबीच बीच में उसने अपनी दो उंगलियाँ रीना की चूत में भी घुसा कर अंदर ही अंदर उंगलियाँ घुमा दीं.

जीजाजी हमेशा की तरह अपने बिजनेस के काम को लेकर लगातार टूर पर बिज़ी रहते हैं. देवर भाभी के एचडी बीएफउसने अपनी दोनों टांगें पूरी तरह खोल दी थीं और उसकी चुत के होंठ मेरे सामने थे.

उसके गुलाबी होंठ, बड़ी आँखें, फूल सा बदन और 38-30-36 की मचलती फिगर.एक्स एक्स बीएफ का वीडियो: आज मैं आपके लिए एक असलियत पे आधारित कहानी लेकर आया हूँ, उम्मीद करता हूँ कि आप लोगों को ये कहानी पसंद आएगी.

अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था, लेकिन फिर भी मैंने अपनी आँखें नहीं खोलीं.हम लोग जयपुर में रहते हैं, पर मेरी जब भी छुट्टियां होती हैं, मैं टाइम पास करने अपने चाचा के पास आ ही जाता हूँ.

गांव की गोरी को चोदा - एक्स एक्स बीएफ का वीडियो

नमस्कार दोस्तो, मैं अन्तर्वासना की कहानी काफी दिनों से पढ़ रही हूँ, मुझे यहाँ कहानियां पढ़ने में बहुत आनंद आता है इसलिए सोचा अब अपनी भी सच्ची कहानी लिख कर आप लोगों को मजा दूँ.अब वो मुझसे पूछने लगीं- क्या तुम रोज़ ड्रिंक करते हो?तो मैंने धुंआ उड़ाते हुए कहा- नहीं आंटी, कभी-कभी करता हूँ.

इस बार मुझे बहुत हल्का सा दर्द ही हो रहा था क्योंकि उसने अपना लंड मेरी चुत से बाहर ही नहीं निकाला था. एक्स एक्स बीएफ का वीडियो इसके बाद घर के नजदीक पहुँचे तो भाभी अपने कमरे में चली गईं और मैं भी अपने कमरे में आ गया.

मैंने कहा- हाँ चुदाई नहीं कर सकते पर मैं आपको नंगी देखना चाहता हूँ.

एक्स एक्स बीएफ का वीडियो?

हम दोनों ने काफी देर तक जोरदार चुदाई की और अंत में मैंने अपना वीर्य उसके मम्मों पर गिरा कर उसके ऊपर ही ढेर हो गया. एकाएक भैया बोले- का देख रहे हो बबुआ? कभी देखे नाही का?मैं पता नहीं किन ख्यालों में था, कि कोई जवाब ही नहीं निकला मुँह से…फिर उसी हालत में मेरे पास आकर मुझे कंधे से पकड़ के उन्होंने हल्के से झिझोड़ा, तब मेरी नींद खुली और तब मैंने शरमा कर नजरें उनके लौड़े से हटा कर उनकी ओर की. मैंने उनसे पूछा- आप अपनी झांटें साफ़ नहीं करती हैं?वो बोलीं- कभी कभी करती हूँ, पर इधर समय ही नहीं मिल पाया.

मेरे जिस्म के बारे में कहते हैं कि कितनी गोरी और मक्खन जैसी टाँगें हैं, टाँगें ऐसी हैं तो जाँघें कैसी होंगी और अगर जाँघों का यह हाल है तो अन्दर की जन्नत तो कैसी होगी? वो यह भी बोलते हैं कि नीता की बहन और माँ भी एकदम मस्त हैं, इन तीनों को एक साथ नंगी करके मस्ती करनी चाहिये. उसमें ताक़त नहीं बची थी कि वो उठ पाए, तो मैंने उसे कमर से पकड़ कर उठाया और दीवार से सटा के खड़ा करके फव्वारा स्टार्ट कर दिया… हम अब भी हाँफ़ रहे थे… क़िसी तरह हम दोनों ने फव्वारा का मजा लिया और बिस्तर पर आकर नंगे ही गिर गए. मैं अपने औज़ार के बारे में बता दूँ कि मेरा औज़ार 7 इंच लंबा और खीरा जितना मोटा है.

पूरी फिल्म में मेरा हाथ उनके हाथ में था हम दोनों की हथेली पसीने से तर-बतर! इस दौरान मेरा मन भटक गया, पहली बार था कि कोई पुरुष मेरा हाथ पकड़ रहा था, उसके हाथों की पकड़ उसकी मजबूत मर्दानगी की अहसास दिला रही थी. एक छोटे से कद का, मोटे पेट वाला, चश्मा पहने, भोन्दु सा दिखने वाला लड़का उसका पति था. इसी गर्मी का फायदा उठाकर मैंने चाची की पैंटी निकाल दी और चाची ने अपनी कमर उठा कर इसमें मेरी हेल्प की.

अब आगे:मुझे वो एक बड़ी सारी खड़ी कार के पास ले गया और मुझे अपने कंधे से उतारा। उसके साथ बाक़ी सब भी आ गए. फिर उन्हें बेड के किनारे पर खींच कर अपने लंड को उनकी चूत पर फेरने लगा.

अब चुदाई भी होने लगी मगर वो लड़का ढीला था, फ्लॉरा जैसीसेक्सी लड़कीको संतुष्ट नहीं कर सकता था, इसलिए उनका ब्रेकअप हो गया.

जिस दिन तेरी चुत पर झांट उग गई, उस दिन मैं तेरी गांड मारूंगा, तेरे निप्पल चूसता हुआ तेरी चुत में ये मोटा लंड डाल दूँगा.

जैसे ही मैंने उसकी नुन्नी अपने मुँह में ली, वो उठ गया और अपना चादर अलग फेंक कर लंड चुसाई के मज़े लेने लगा. अन्तर्वासना पोर्न हिंदी स्टोरीज पढ़ने वाले मेरे दोस्तो, मेरा नाम भावेश है, मैं छत्तीसगढ़ के बिलासपुर से हूँ. मगर सुमन की बात को वो टाल भी नहीं सकता था तो उसने लंड को हाथ में लिया और चुत को देखने लगा.

स्कर्ट से उसकी गोरी मांसल चिकनी टांगें मुझे खुला निमंत्रण दे रहीं थीं. सांझ के समय तथा देर रात तक सरिता और मैं बातें करती रहतीं तथा अपने परिवार एवं अतीत के अनुभवों को भी साझा करती रहती. तभी मैं अपने ऑफिस से आया था तो भाभी मुझे देखा कर बोलीं- रामू, आ जाओ, पकौड़े बना रही हूँ, आओ खा लो.

जब पप्पू को एहसास हुआ कि नीता की साँसें अब शाँत हो गई हैं तो उसने हल्के से लंड दो-तीन बार आगे पीछे किया.

उसकी बात सुन कर मेरी आँखों से अश्रु निकल आये और मैंने कहा- मुझे खुद नहीं मालूम कि मैंने कहाँ जाना है. ”मेरी छाती के बालों से खेलते हुए उसने मेरे लंड को हाथ में लिया और वह उसे हथियाने लगी. मैंने खेत में नुकसान का जायजा लिया और फिर मैं फॉर्म हाउस की तरफ पलटा.

मैंने माथे का पसीना पौंछा और उस लड़की के फोटो पर नज़रें गड़ गईं मेरी. लड़की को कैसे और किस तरीके से ख़ुशी मिल सकती है इसका उसे पूरा अंदाजा था. मैंने उसके सारे कपड़े उतार दिए,उसने बोला- तुम भी तो अपने कपड़े उतारो.

20-30 सेकंड्स के बाद जब मेरा हाथ अपने आप चलने लगा तो उन्होंने अपना हाथ वहाँ से हटाया और मेरी गर्दन पर ले गए और अपने रफ़ हाथों को थोड़े सॉफ्ट करते हुए, मेरी गर्दन को सहलाने लगे.

बात उस समय की है जब मैं 12 वीं पास करने के बाद जॉब की तलाश में इंटरव्यू देने एक कंपनी में गया. मैं बिना वक़्त गंवाए चाची की ओर लपका और एक हाथ सीधा उनकी पैंटी पर और दूसरा उनकी गर्दन पर रखता हुआ उनको गले के नीचे चुम्बन की बारिश करने लगा.

एक्स एक्स बीएफ का वीडियो रीना समझ गयी और बोली- कविता, मैं कॉफ़ी बनाने जा रही हूँ, अभी 10 मिनट में आती हूँ, तू आराम से मसाज करा, डर मत. खैर जान पहचान बढ़ी तो एक दूसरे को जानने समझने भी लगे, ऑफिस के बाहर, ट्रेन के अलावा भी मिलने लगे, कभी मॉल या फिर कभी मूवीज या कभी किसी रेस्टोरेंट में.

एक्स एक्स बीएफ का वीडियो यश ने मुझको घोड़ी बना कर पीछे से चोदा तो सच में मुझे बहुत मज़ा आया उस आसन में… क्या चोद रहा था मेरी माँ का यार… जिन्दगी का सारा मजा तो बस तभी मिल रहा था. अतः मैंने भी ज्यादा कुछ नहीं कहा और ये दो दिन बिना कुछ किये ऐसे ही निकल गए.

बहूरानी नाइटी पहने हुए सो रही होगी या नाइटी उतार के पूरी नंगी सो रही होगी? या जाग रही होगी करवटें बदल बदल के? हो सकता है अपनी चूत में उंगली कर रही हो या ये या वो… ऐसे न जाने कितने ख्याल आ आ कर मुझे सताने लगे.

करिश्मा सेक्सी

वह मेरी इस हरकत से मानो पागल सा हो गया और उस बात को भूल गया और सिसकारियाँ लेते हुए बोलने लगा- आह… आह… आह… ओह… ओओह. मांग में सिंदूर, गले में मंगलसूत्र, चूत पर झाँटे, बड़ी बड़ी चूचियाँ, आँखें बंद किए खड़ी वो साक्षात काम की देवी लग रही थी. मैं तुम्हारे हाथ पर दवाई लगा दूँगा और तुम अपने कपड़े भी ठीक कर लेना.

मेरी इच्छा होती थी की तरुण अपना लिंग को योनि में डाल कर मेरी उत्तेजना को शांत करे लेकिन ऐसा कैसे सम्भव हो यह नहीं जानती थी. ये तकरीबन एक साल पहले की बात है… मुझे किसी अनजान नम्बर से फोन काल आई. उसके मसलने से में भी पानी बिना मछली जैसे छटपटाने लगा और मैं अब उसकी छाती से लिपट गया.

वो अंकल जो लास्ट वाली सीट पर थे वो भी आगे खाली होने की वजह से नीचे जाकर बैठ गए थे.

इस वक्त सुमन अपने पापा का लंड अपनी नाभि पे महसूस कर रही थी, जो एकदम अकड़ा हुआ था. जिस पर शोभा ने उनसे कहा कि वो किसी लड़के से बात करना पसंद नहीं करती है. अब उसकी स्पीड बढ़ गयी थी वो उसकी टांगों के बीच बैठ गया था और चूत से लेकर मम्मों तक उसने जबरदस्त तरीके से मसाज शुरू कर दी.

क्योंकि मुझे पता था कि इतनी गर्मी में चाची नीचे तो सोयेंगी नहीं और मैं चुदाई नहीं कर पाऊँगा. ये देख कर पहले तो वो थोड़ी घबराई फिर उसने कहा कि तुम्हारे घर पर तो कोई नहीं है. उस तीखी गंध से उसे अच्छा लगा तो वो पूरी गांड पे जीभ फेरते हुए छेद में जीभ घुसा कर चाटने लगी.

वही मादक मरदाना गंध मुझे फिर से मदहोश करने लगी… मैंने उनको धीरे से धक्का दिया तो वो बिस्तर पर लेट से गए; मैं उनके ऊपर आ गई और उनके जिस्म पे चौड़ी छाती पर अपने कोमल हाथों से सहलाने लगी. मुझे गुस्सा आया कि फ़ोन तो कर सकते थे पर कैसे इतनी मुलाकातों के बाद भी हम दोनों ने एक दूसरे का फ़ोन नंबर नहीं लिया था.

उन के मुँह में मेरा पूरा लंड घुसा था, जिस से उन के मुँह से थूक ही थूक बाहर आ रहा था. अनामिका जी उसका लंड पकड़कर बोलीं- जरा सब्र करो, इतनी जल्दबाजी भी ठीक नहीं… तुम तो मौके का फायदा उठाना अच्छी तरह जानते हो. उन्होंने मेरे लंड पर हाथ रख दिया, तो मैंने इधर-उधर देखा और उनके दूध मसल दिए.

मेरी वजह से मेरी असिस्टेंट सुमन को भी रात के 8 बजे तक रुकना पड़ता था.

ऐसा सुकून… उफ्फ आशीष का मेरे नंगे बदन पर बिखर कर गिर जाना, दोनों की गहरी सांसों का मिलन. मैंने सिर्फ़ बीमारी के कारण वो सब किया था और तुम तो पहले ही जॉन के साथ सब कुछ कर चुकी थी. उससे सील तुड़वा ली जाए उसके बाद धीरे-धीरे बड़े से करें तो उससे फ़र्क तो पड़ता होगा ना.

तो दीदी ने कहा- आज मैं भी तेरे साथ सोऊंगी, मुझे अकेले सोने में डर लगता है. मैं पागलों की तरह उसके मम्मे मसल रहा था और निप्पलों को अपने दांतों से काट रहा था.

तबी रिया ने खुद को थोड़ा टेढ़ा किया और अपने होंठ मेरे होंठों पे रख दिये। क्या फीलिंग थी; हम दोनों की चुत लड़के चूस रहे थे और हम दोनों एक दूसरे के होंठ! हम दोनों का पानी निकल चुका था; अब दोनों को ही अपनी चुत में लंड चाहिए थे. क्या हुआ?संगीता बोली- शेखर, मेरे हाथ में बहुत दर्द हो रहा है, मुझ से मेरे कपड़े साफ नहीं हो पा रहे हैं. घर पहुंचकर मैंने कपड़े निकाले और शराब का गिलास लेकर जकूज़ी में घुस गयी.

दूध टाइट करने वाली क्रीम

मैंने भी 20-25 जबरदस्त शाट लगाकर उसकी चूत को अपनी वीर्य की पिचकारियों से भर दिया.

लंड का सारा जूस मेरी चुत में निकाल देने के बाद जब मेहता ने अपना लंड बाहर निकाला तो मैंने देखा कि उसके लंड पर भी थोड़ा सा खून लगा हुआ था. उसने अपने हाथ से चैक की- वाउ…मैं- अब मेरी बारी…मैंने उसकी गांड के सहारे घुटनों के बाल खड़ा हुआ और उसकी चूत में से उसका जूस अपने हाथों से निकाला और अपने लंड पर लगाया ताकि स्मूद हो जाए…मैं- आज ये लंड तेरी गांड में जाएगा…इतना कह कर ही मैंने लंड को उसकी गांड पे टिका दिया और धीरे-धीरे धक्के मारने लगा. दिन में जब भी मैं भाभी को देखता, तो मेरा मन उनको चोदने का करता, पर समझ नहीं आता था कि कैसे कहूँ.

वो उसको जड़ तक चूस रही थी और साथ ही साथ उसकी छोटी छोटी गोटियों को भी सहला रही थी, जिससे मॉंटी का मजा दुगुना हो रहा था. उसके गुलाबी होंठ, बड़ी आँखें, फूल सा बदन और 38-30-36 की मचलती फिगर. ब्लू फिल्में ब्लू फिल्में ब्लूअब आप लोग ही बतायें कि मुझे और आशीष को क्या करना चाहिए? आपके सार्थक और सभ्य भाषा में सुझावों का इंतज़ार रहेगा.

‘ओह्ह अह्ह्ह आशीष… यस यस यस ओह्ह्ह यस आशीष ऐसे ही… ओह्ह ओह्ह अह्ह्ह अहह आह्हः उफ्फ!’ मेरी सिसकारियां उस शरीफ इंसान को हिंसक बना दे रही थी. हम दोनों यहाँ से रात को आठ बजे निकले क्योंकि ससुर जी उस दिन दूकान से लेट हो गए.

मैंने उसके पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया और उसे निकाल कर एक तरफ रख दिया. मैं पूरी ज़िंदगी उसे याद रखूंगा क्योंकि मेरी देखी और फील की हुई पहली चुत अनुराधा की थी. मैं हल्का सा उसकी ओर मुड़ा ताकि उसके टाइट मम्मों को दबाने में आसानी हो.

उसी तरह इस बीमारी का वाइरस सेम डीएनए से दूर रहता है और अलग डीएनए के चिपक जाता है. फिर तीसरी बार उसके बोलने पर मैंने पूछा- मुझे क्या मिलेगा रोकने पर?उसने बोला- क्या चाहिए?मैंने बोला- मुझे तुमको बाथरूम करते देखना है. मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?पर वो बात को टाल गई और काम का बहाना करके चली गई.

तो दीदी बोलीं- नहीं भैया चुदाई तो नहीं हो सकती, लेकिन एक काम कर, तू मेरी चुत चूस कर मेरा पानी निकाल दे और मैं तेरा लंड चूस कर तेरा पानी निकाल देती हूँ.

वो अब बड़े बड़े आंसू रोने लगा और मेरे पैरों में गिर के गिड़गिड़ाने लगा. मैंने कहा- आधी क्यों? अब तो तुमने मुझे पूरी तरह से औरत बना दिया है.

पप्पू ने रूपा को ये बताया पर रूपा उसकी आँखों में आँखें डाल कर देखती हुई उसका लटकता और तना लंड सहलाती रही, मानो वो कुछ कहना चाहती हो पर शर्म से कह नहीं पा रही हो. एक दिन जब मैंने उससे कहा- मुझे कुछ इनाम तो दो?तो कहने लगी- बोलो क्या चाहिये?मैंने कहा- अपनी किसी सहेली की सुन्दर सीचूत दिलवा दो. आपको मेरी रियल सेक्स स्टोरी कैसी लगी, जरूर बतायें।फिर किसी से सेक्स करूँगी तो आपको बताऊँगी।[emailprotected].

आज तू उसके साथ थोड़ा मजा मार लेना, उससे पीठ की मालिश भी करवा लेना, आराम मिलेगा तुम्हें और उसको भी अच्छा लगेगा. उसने मेरा मोटा लौड़ा अपनी चूत में रखा और नीचे बैठने लगी, सारा लंड उसकी चूत में धंस गया. यह भूतिया कहानी पूर्ण काल्पनिक है अपने चुदाई के अनुभवों को कहानी की शक्ल में ढालकर लिखी गई है.

एक्स एक्स बीएफ का वीडियो सारे लोग थक गए थे तो सभी सो गए और रात मैं खाना भी बाहर पार्सल से ही आया. उसकी बुर बहुत टाइट थी, तो मैंने थोड़ा सा तेल लगाया और सुप़ारा उसकी बुर की फांकों में फंसा कर एक ज़ोर का झटका दे मारा.

शायरी jija sali

उसने मेरा कच्छा निकाल दिया और मेरे लंड को सहलाने दबाने लगी; बोली- यार, तुम्हारा बहुत मस्त लंड है. उसमें सभी सहूलियतें भी थीं, जैसे कि हीटर, फ्रिज वाटर कूलर आदि…मुझे रात में एकाध पैग लगाने की आदत भी थी तो मैं मेरा स्टफ ओल्ड मंक रम की एक बोतल साथ लेकर आया था. अनामिका के पति को दूसरे शहर में रहना पड़ रहा है, कुछ महीने पहले ही उनका तबादला हुआ था.

मुझे इससे मालूम हुआ क्योंकि खटिया हिलने लगी थी और मौसी अपने होंठों को दांतों से दबा कर सिसकियाँ लेने लगीं थीं. मैं छुट्टियों में अपने घर आया तो हमारे घर पर एक बहुत ही सुन्दर माल किस्म आइटम बैठी हुई थी, जिसकी उम्र करीब 22 साल होगी. गांव की लड़की एक्स एक्स एक्समेरे बगल वाली सीट पर 9-45 पीएम तक कोई नहीं आया था और 6-7 सीट छोड़ कर एक अंकल बैठे हुए थे.

जब वो चलती हैं तो उनकी गांड ऊपर-नीचे होती है और चुचे थिरकने लगते हैं.

मैं तो जैसे वहाँ से उड़ता हुआ अपने कमरे में पहुँचा और जल्दी से अपना बैग पैक किया और अपनी बाइक पर निकल पड़ा. मैं उससे हाय बोल कर घर चला गया और रात भर मुझे सोच-सोच कर नींद नहीं आई कि मैं कल आंटी के साथ क्या क्या करूँगा.

लंड चुसवाने में मुझे इतना मजा आ रहा था कि मैं उसको मुंह में लंड पेलने लगा; उसके मुंह में भी मुझे खूब मजा आ रहा था. फ्लॉरा- आप लाख मना करो मगर सच यही है कि आपने मुझे ऐसा बनाया है और जब तक आप मेरी इच्छा पूरी नहीं करते. पप्पू ने गुजराती भाभी रूपा की चिकनी चूत चाट कर बाहर से पूरी गीली कर दी थी.

कहानी का पिछ्ला भाग:पोर्न स्टोरी : मेरी पहली चूत चुदाई के हसीन पल-1मेरी इस रियल पोर्न स्टोरी में आपने अब तक पढ़ा हमारे घर में इंजीनियरिंग का छात्र अर्जुन किराये पर रहता था.

उसकी धीरे धीरे मुझसे दोस्ती हो गई और हम व्हाट्सैप पे बातें करने लगे और फिर ऐसे ही हमारा रिश्ता चुदाई का बन गया. भागा तो रवि को क्या जवाब दूंगा? मेरे आगे अतीत का कुंआ था और पीछे रवि को खोने के डर की अंधेरी खाई जिसकी गहराई का अंदाज़ा भी लगाने की हिम्मत नहीं थी मुझ में!लेकिन फिर थोड़ा संभला, सोचा कि जो होगा देखा जाएगा, अब आ गया तो आ गया, वैसे भी रवि मुझे मारे, पीटे या दुत्कारे, मैं पीछे नहीं हटूंगा, अगर किस्मत को यही मंज़ूर है तो यही सही. दस मिनट के बाद मैंने उनकी साड़ी का पल्लू हटाया और अपने दूध की तरफ बढ़ा.

बीएफ सेक्सी हिंदी में मूवीमॉम के मूत से मेरा पूरा शरीर गीला हो गया था, यश मेरे मूत से भरे शरीर को चाटने लगा. तब तक नेहा भी कपड़े पहन कर आ गई थी, परन्तु वो थोड़ा शर्मा रही थी और मनोज से आँखें बचाते हुए उसके पीछे खड़ी थी.

ಬಿಎಫ್ ಬಿಎಫ್ ಬಿಎಫ್ ಬಿಎಫ್

लंड की मोटाई काफ़ी अच्छी है, टोपा की मोटाई ऐसी है कि किसी भी औरत की माँ चोद दे, उसकी आऊच निकाल दे. अपनी माँ की रंगीन करतूत सुन कर नीता और गर्म हुई और वो पप्पू के गले में हाथ डाल कर पप्पू का चेहरा किस करती हुई बोली- ज्यादती तो है ही ना? आपने उन्हें डरा धमका कर सब कुछ करवाया और कोई लड़की मस्त लगे तो उसका मतलब यह थोड़े ही है कि उसको डरा धमका कर उससे वो काम करवाओ जो वो चाहती ना हो. गुस्सा मत होना, अब आपने बहुत बर्दाश्त कर लिया तो मैं आज ये राज भी ख़त्म कर देती हूँ.

मैं बोला- हाँ लेकिन अभी ये इस खड़े लंड का क्या करूँ?तो दीदी ने कहा- बाथरूम में मुठ मार लेना. तो दीदी ने कहा- आज मैं भी तेरे साथ सोऊंगी, मुझे अकेले सोने में डर लगता है. उसने मेरी पैंट खोली और जैसे ही अंडरवियर नीचे किया, नाग की तरह मेरा 8 इंच लंबा और तीन इंच मौटा लंड सांप की तरह फुंफार मार कर बाहर एक झटके से निकल आया.

कुछ हफ्तों बाद दादी के बीमार होने की खबर मिली तो मैं और माँ दादी के पास गाँव चले गए. सातवें दिन मैंने मेहता से कहा- सर, अब मैं आप को दूसरा मजा देना चाहती हूँ. साथ में मैं उसको कमर के ऊपर सहला रहा था, उसकी साँसें तेज़ हो रही थीं.

अगर मुझे तुम्हारा प्रस्ताव स्वीकार हुआ तभी यहाँ रुकूँगी और तभी अपनी आवशयकता की वस्तुओं के बारे में बताऊँगी. यह कहानी मेरी उन चाची की है, जिन्हें आप में से कोई भी पहली बार देखने पर चाची तो बिल्कुल नहीं मान सकते.

मेरा तो लंड खड़ा ही था और वैसे ही मैंने अपने लंड को फिर से आंटी की चुत में डाल दिया और उन्हें चोदने लगा.

अब आगे की कहानी नीतू की जुबानी:हैलो मैं नीतू, मैं घर पर भाई के साथ दिन में हमेशा अकेली रहती थी. हिंदी भाषा बीएफथोड़ी देर बाद वो बहुत एग्ज़ाइटेड हो गई थी, तब मैंने उसका कुर्ता उतार दिया और उसको किस करने लगा. बीएफ सेक्सी बीएफ चलने वालाफिर मैं बहुत हिम्मत करके अपना हाथ सलवार के ऊपर से ही अपनीचचेरी बहन की चूतके ऊपर ले गया. यहाँ तो मेरे कुछ फ्रेंड बने हैं और मैं उन्हें यहाँ बुलाना चाहती हूँ.

मैं उठा और बहूरानी को पीछे से पकड़ कर अपने से सटा लिया और गर्दन चूमने लगा.

आह बहनचोद… तेरे मम्मे बहुत दिनों से मसले नहीं ना किसी ने, आज देख तेरे मम्मों को कैसे नोंच-नोंच कर मसलता हूँ रंडी. वाह! कितना मजा दे रही है साली! तभी राजू बोला- चल साली टाँगे खोल! चिकनी चूत चाटने दे!वो मेरी चूत चाटने लगा. मेरी चुत ने मेहता के लंड को भी पसंद कर लिया था और उसके लंड को खून का टीका लगा कर उसके लंड से भी शादी कर ली थी.

पर रानी भी 15 दिनों के बाद आने वाली थी तो उससे मेरी फोन पर बातें हो रही थी. अब मैं किसी ऐसी ही भाभी की तलाश में हूँ जो मेरे प्यासे लंड की देखभाल कर सके. कुछ देर के बाद यश ने खड़े हुए ही मॉम की नाइटी ऊपर उठाई और मॉम की बालों वाली चूत को सहलाने लगा.

हिंदी की नंगी फोटो

मैं बहुत गोरी तो नहीं, फिर भी मेरा रंग साफ है, 34-28-34 मेरे बदन का साइज है, मैं एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम करती हूँ जो बांद्रा-कुर्ला काम्प्लेक्स में है. ऐसे अनुभव मुझे पहले भी अपनी धर्मपत्नी के साथ हो चुके थे, वो भी ऐसी ही रोई थी और रो रो कर आसमान सिर पर उठा लिया था, बाद में जब मज़ा आने लगा था तो अपनी गांड हिला हिला के लंड का भरपूर मज़ा लिया था और आज भी लेती है. जबरदस्त किस किये, फिर हाथ से पकड़ कर लंड मोनिका की चूत पर लगाया और अन्दर धक्का दे दिया.

वैसे मनोज यार बात ये है कि तुम्हारे बाद हमने प्लान बनाया है कि हम चारों आज एक साथ मज़े करेंगे.

मैंने उसे कहा कि वो भी नाश्ता हमारे साथ करे तो वो भी डाइनिंग टेबल पर बैठ गई.

”दोस्तो, ये वाक्य चुदाई के वक़्त निकलते है, इनसे जोश बढ़ता है चुदाई के दौरान!मैंने 10 मिनट धक्के लगाए और पसीने में भीग गया।फिर मैंने अपनी बहन को घोड़ी बनाया, तब देखा कि मेरे लंड पे खून लगा था। मैंने सोचा जाने दो अब तो दुकान खुल चुकी है।मैंने उसके बालों को लगाम की तरह पकड़ा, उसकी घोड़ी पे सवार हो गया मैं… मैंने लंड एक धक्के में चूत में उतार दिया. 30 बजे में अपनी छत पर बैठा हुआ ठंडे मौसम का आनन्द ले रहा था, तभी मुझे लगा कि मेरे पीछे कोई है और जब मैंने पलट कर देखा तो एक नाज़ुक सी लड़की जो बहुत सुंदर और मासूम सी है वो खड़ी हुई थी।मैंने उससे हैल्लो किया और अपना हाथ आगे की तरफ बढ़ाया और कहा- मेरा नाम राहुल है. मोटा लैंड वाला सेक्सी वीडियोबोली- एक टूटा फूटा घर है, उसमें रहती हूँ, कभी कोई आता है… चोदता है कुछ पैसे दे देता है और चला जाता है.

कद लगभग 5 फ़ीट 3 इंच, रंग गेहुँआ, बदन गठीला और फेसकट शिल्पा शेट्टी जैसा 99%. टीना ने फ्लॉरा को बेड पर लेटा दिया और उसके निप्पलों को चूसना शुरू किया. उसने पिंक साड़ी पहनी थी और अपने पति के हाथ में हाथ डाल कर सभी से मिल रही थी.

दो माह के बाद एक शुभ मुहूर्त पर हमने सामाजिक विवाह कर पति पत्नी बन गए परन्तु मेरा ध्येय तब भी पूर्ण नहीं हुआ क्योंकि तरुण ने वरुण तब तक बेटा कह कर उसको पिता का हक नहीं दिया था. मैंने कहा- जरूर, उस बहनचोद चूत को तो फाड़ेंगे ही और उसकी तो आज गांड भी फटेगी.

मैं बता दूं कि मेरे कोई मामा नहीं हैं, बस एक मौसी हैं और उनके दो लड़की और एक लड़का है.

वो हरामी लड़के सिर्फ़ उसे गर्म करना जानते थे, पर पप्पू अंकल को लड़की को गर्म करना और फिर उसे चोदना बराबर मालूम था. और मेरी साड़ी क्यों निकाल रहा है?मैंने कहा- मैं आपके साथ नहाना चाहता हूँ. दस मिनट की मेहनत के बाद उन्होंने पूरा लंड बुर की गहराई में घुसा दिया और टीना को पता भी नहीं लगा कि उसकी बुर 7″ का लंड निगल चुकी है.

बबीता की सेक्सी बीएफ यहाँ बहुत कुछ देखना बाकी है और इनकी ये हरकतें भविष्य में बहुत मज़ा देने वाली हैं. मैंने लंड फिर से चुत पर सैट किया और एक धक्के में पूरा अन्दर डाल दिया.

उसने रीना के निप्पलों पर गोली सी बनाते ही मालिश की तो रीना मुस्कुरा दी. उसके बाद मुझे और अंकित को जब भी मौका मिलता था हमदोनों खूब चुदाई करते थेकभी मेरे घर तो कभी अंकित के घर, तो कभी होटल में चुदाई करने जाते थे. शॉपिंग माल से उसको एक बार्बी ड्रेस भी लेकर दी… आख़िर उसने गिफ्ट दी थी तो मुझे भी कुछ देना पड़ेगा ना.

सेक्स स्टेप्स

उसने कहा कि उसकी सलवार का नाड़ा ढीला हो गया है, वह उस को कस आकर बाँधना चाहती है. उसे उस अहसास में मजा आने लगा और वो ये भी भूल गया कि ये चूचे किसी और के हैं, उसके नहीं. आज किसी बात की जल्दी नहीं थी, ना किसी का डर था, फ़ोन स्पीकर पर डाल कर अपने पास रखा हुआ था.

मेरी गांड फट रही थी कि साली पता नहीं कहाँ ले जाएगी, क्या करेगी, पुलिस वाली तो नहीं होगी ना. हम दोनों 15 मिनट तक एक दूसरे को ऐसे चूसते रहे जैसे एक दूसरे को खा जायेंगे.

मैं पहले कुछ दिनों तक दोपहर का खाना तरुण को खेत पर दे आती थी तथा रात को वह घर पर आ कर खाता और वापिस खेतों पर चला जाता.

मैं बाथरूम में चला गया और वहां देखा कि कल रात को दीदी ने जो ब्रा और पेंटी पहनी थी, वो वहां पे गीली लटकी हुई थी. मुझे एहसास हुआ कि मुझसे गलती हो गयी है, अब क्या करूँ…वास्तव मैं उस जवान कसरती जिस्म से लिपटकर में पागल हो गया था इसीलिए मुझसे ये गलती हो गयी थी… मैंने कहा- सॉरी यार… सर्वेश… जोश जोश मैं हो गया… मेरी दूसरी टीशर्ट पहन लेना भाई…!कहते हुए मैंने उसके लण्ड के उभार पर अपना मुँह घुसा दिया और अपना चेहरा लोवर के ऊपर से ही रगड़ने लगा. इससे रूपा को लंड और गांड चाटने में आसानी हो गई और रूपा की चूत और गांड पप्पू के मुँह के पास हो गई.

ये देख कर संगीता बहुत तेज़ रोने लगी और बोली- शेखर, ये क्या कर दिया तुमने?मैंने बोला- संगीता पता नहीं ये सब कब और कैसे हो गया, मुझे भी कुछ होश नहीं. वो नीता को बेड पर बिठा कर अपना लंड उसके होंठों पे रख कर बोला- ठीक है बेटी… मैं तुझे पूरी बात बताता हूँ पर तब तक तू मेरा लंड चूसती रह!मेरी सेक्स स्टोरी पर कमेन्ट भेजिए. कविता की टांगें ऊपर उठ गयी थीं और विनय पूरी तेजी से उसकी चुदाई में लग गया था.

वो कहर बरपाती हुई किचन में चली गई और राहुल मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछने लगा.

एक्स एक्स बीएफ का वीडियो: वो ‘आआहह…’ निकालते हुए अब नहीं रहा जा रहा है… आआआअ…मैं उसकी गर्दन चाटने लगा, मम्मों को दबाने लगा और पूरा लंड बाहर निकाल कर चुत में पूरा अन्दर घुसेड़ने लगा. मैंने लंड बाहर नहीं निकाला क्योंकि मुझको पता था कि फिर नहीं डालने देगी.

वो मेरे खड़े लंड को देखने लगी और मैं उसके पूरे बदन को निहारने लगा, भूखे शेर की तरह उसके ऊपर टूट पड़ा और सीधा उसके एक चूचे को अपने मुँह में लेकर काटने लगा और दूसरे चूचे के निप्पल को जोर-जोर से उमेठते हुए मसलने लगा. मैंने पूछा- ये तुम्हारी बहन है क्या?वो बोला- हां, मुझसे बड़ी है… इसकी शादी हो चुकी है. अदिति बेटा, जरा अपनी गांड को अन्दर की तरफ सिकोड़ो और फिर ढीली छोड़ दो.

क्या चूत थी, ऐसा लग रहा था मानो कोई अनछुई कली हो, पूरी क्लीन शेव थी.

इस पोर्न स्टोरी में आपने पढ़ा कि बेटी अपने बाप से चुदने के लिए राजी है लेकिन उसने एक दिन का समय माँगा. मैंने कहा- ठीक है, मैं पिंकी को अकेला ही लेकर चला आऊंगा, तुम शाम को क्लब चलना. वो चुत के होंठों को अपने मुँह में भरकर ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगे और सुमन का रस बह गया, जिसे गुलशन जी ने चाट कर साफ कर दिया.