बीएफ वीडियो भोजपुरी हिंदी

छवि स्रोत,ट्रिपल एक्स सेक्सी पिक्चर बीपी

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्रा पेंटी की डिजाइन: बीएफ वीडियो भोजपुरी हिंदी, मैं समझ गई कि इसने मेरी बातें सुन ली हैं मगर मैं कुछ नहीं बोली और उसे खाना देकर कमरे में चली गई.

भोजपुरी सेक्सी वीडियो सेक्सी बीएफ

मैंने भी जीजू के बदन को चाटना शुरू कर दिया और उनको चाटते चाटते उनके लंड तक पहुँच गई. वीडियो वीडियो बीएफरात को भी मेरी आंखों के सामने सेक्सी माधुरी का साड़ी वाला चेहरा सामने आया और मैं अपने बिस्तर पर लेटे लेटे ही अपने लंड को मसलने लगा.

दोपहर को मेरा काम खत्म हो गया, पर मेरी ऑफिस जाने की हिम्मत नहीं हो रही थी. बाप ने बेटी को कैसे चोदाफिर माधुरी ने कहा- तुम यहीं अन्दर रुको अभी … बाद में जब मैं कहूँ तब निकलना.

कुछ देर उसकी चूत की चुसाई करने के बाद मुझे लगा कि अब सही मौका आ गया है.बीएफ वीडियो भोजपुरी हिंदी: उसका पूरा वजन मेरे लंड पर था जिससे मेरा पूरा लंड उसकी गांड में घुसा हुआ था और इसी मस्ती में वो जोर जोर से उचक उचक कर चुदवा रहा था.

मैं आपको बता दूँ कि ये मेरी पहली सेक्स कहानी है तो कोई गलती होना लाजिमी है तो माफ़ कर दीजिएगा.वह अपनी चूची तापोश, सोनी के मुँह के पास ले जाती, पर उनको चूची चूमने नहीं देती.

লেরকি কি চুত - बीएफ वीडियो भोजपुरी हिंदी

एक दिन बाजार में मेरा एक्स बॉयफ्रेंड मिला जिससे मैं पहले भी चुद चुकी थी.बस मेरे दांत थोड़े बाहर निकले हैं, जिसकी वजह से मुझे सब देख कर भी अनदेखा कर देते हैं.

कभी-कभी मुझे ऐसा लगता कि बहुत मामूली से दचकों में भी उसके हाथ आगे-पीछे हो रहे थे. बीएफ वीडियो भोजपुरी हिंदी अब तक उसकी चूत की गर्मी बहुत बढ़ चुकी थी और मुझे समझ में आने लगा था कि वो झड़ने वाली है.

सोनी, तुम्हारी झांटें बहुत बड़ी हो गई हैं, लंड चूसते समय नाक में घुस जाती हैं.

बीएफ वीडियो भोजपुरी हिंदी?

मेरे मकान मालिक पेशे से एक ट्रक ड्राइवर थे, दुर्भाग्य से अभी कुछ ही दिनों पहले परिवार के तीन सदस्यों में से एक उनकी पत्नी का स्वर्गवास हो गया था. माधुरी ने मेरे पास आ कर मुझे गले लगा कर कहा- अरे मेरे राजा, अभी नहीं कहा है, पर बाद मैं तो दूंगी ही न. बाद में मैंने देखा कि बेड पर कुछ खून के निशान बन थे, ये मेरी बुर की सील टूटने की निशानी थी.

वो खुद को रोकने के लिए कुछ कर भी नहीं पा रही थी क्योंकि मेरी सेक्सी सिस्टर की चूत से पानी गिरने वाला था. मैंने कहा- क्या करने का मन कर रहा है?कुमकुम ने सहमते हुए कहा- आप अपने कुछ दोस्तो को बुला लीजिए ना. मगर वो सेक्स चैट करने से दूर भागती थी, मगर मुझे बेहद प्यार करती थी.

मैंने भी उसकी इस शर्त को सुन कर कहा- जानेमन, मैं उसी होटल में तेरी लूंगा भी और तू जो बोलेगी तुझे खिलाऊंगा भी. मैंने कहा- क्यों ऐसी क्या ख़ास बात हुई? तुम्हारा पति भी तो तुम्हें चोदता है न!उसने कहा कि मेरा पति महीने में 3-4 बार ही करता है और वो भी एक ही बार चोद कर सो जाता है. सोनी फ़ोन करने के बाद वापस आकर बोला- हम लोग अब खाना खा लेते हैं, कल काम पर जाना है.

शाम को फ्री होकर मैंने बुआ को फोन किया तो बुआ बोलीं- हां, छोटी का फोन आया था. a[emailprotected]X भाभी की हिंदी कहानी का अगला भाग:बुटीक वाली सेक्सी भाभी के जिस्म का मजा- 2.

चाची ज़ोर ज़ोर से चिल्लाती हुई रोने लगीं- अअह … अहह ऊऊई मां मार डाला रे!अब चाची का दर्द बर्दाश्त से बाहर हो गया था, वो अपने हाथ खुलवाने की कोशिश करने लगीं और कहने लगीं- बाहर निकाल अपने लंड को मेरी चूत से कमीने.

तुम जैसे चाहो वैसे चूत को चोद दो, लेकिन गांड से निकालो ना … बहुत मोटा लंड है तुम्हारा … मुझे दर्द हो रहा है.

वो गुलाबी चूत मुझे कुछ खट्टी नमकीन सी लग रही थी मगर मुझे उस समय होश ही नहीं था और मैं चूत चाटे जा रहा था. मैंने चाची की तरफ देखा तो वो बातों का लुत्फ़ ले रही थीं; उनकी नजरें मुझसे मिल ही नहीं रही थीं. माधुरी ने मेरे पास आ कर मुझे गले लगा कर कहा- अरे मेरे राजा, अभी नहीं कहा है, पर बाद मैं तो दूंगी ही न.

मैं वापस कोमल की नाभि पर आ गया और उसकी नाभि को चाटते हुए मैं उसकी कड़क हो चुकी चूचियों पर आ गया. फिर जब मैं अपना मुँह उसकी टांगों के बीच लेकर आया तो वो एकदम से उछल पड़ी और बोली- ओह राहुल … मैं अब कहां पहुँच गयी?‘जानेमन तुम मेरी बांहों में ही हो. अगर मैं उसका नाम बता दूंगी, तो तुम लोगों की दोस्ती की माँ चुद जाएगी.

वे काफी जोश में थी, वे अपनी चूचियों को जोर जोर से दबाने भी लगी।कुछ देर में हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए.

शाम को मैं कोमल को लेकर बाजार चला गया और तीन गोली और लेकर वापिस आ गया. विधवा हूँ, अगर मेरे बारे में ऊलजुलूल खबर फ़ैल गई तो हर कोई मेरी सवारी के लिए लंड उठाए घूमेगा. मैं वहीं रुका रहा और उसे बुर में उंगली करते देख कर खुद को भी नहीं रोक पाया.

आंटी ने मुझसे पूछा कि आज बात क्यों नहीं कर रहे हो?मैंने बताया कि आज थोड़ी तबियत खराब है, सर्दी लग रही है. जैसे ही मैंने उसकी अंडरवियर उसके पैरों से निकाली उसका 8 इंच का लंड हवा में लहराने लगा. जाते वक़्त भी मेरी नजरें उसके बदन पर ही थीं क्योंकि आज पहली बार मैंने उसे साड़ी में देखा था.

उसकी संगमरमर सी चिकनी जांघ को किस करता हुआ मैंने उसकी गीली चड्डी पर कब्जा कर लिया.

‘तेरे अंकल भी अपने करियर को ही देखते रह गए बेटा और देर उम्र में शादी की … और आज तुझे तो पता ही है कि हमारी कोई सन्तान नहीं है. कुछ देर लंड को देखने के बाद मिष्टी ने लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी.

बीएफ वीडियो भोजपुरी हिंदी उक्त कस्बे में ज्वाइन करने के बाद दो रातें मैंने लोकल के एक होटल में बिताई थीं. उसने मुझे धक्का दिया और एक पैर मेरे कंधे पर रख दिया, जिससे उसका स्कर्ट थोड़ा ऊपर को हो गया.

बीएफ वीडियो भोजपुरी हिंदी थोड़ी देर में वो भी आ गया और आते ही मेरे गले लग कर बोला- बड़े दिन बाद मिला है भाई, कैसा है?मुझे उसके गले से लगते ही पता चल गया कि वो नशे में है. इसी बेचैनी में मुझे ध्यान नहीं रहा और एक बड़ा स्पीड ब्रेकर आगे आ गया.

‘क्या बात है शबाना?’शबाना- जी कुछ नहीं बस आपको बताना था कि आज मेरा जन्मदिन है और आप शाम को थोड़ा जल्दी आएं … और हां खाना यहीं हमारे साथ खाएं.

ক্সভিডিওস

मैं वासना के भंवर में थी पर नारी सुलभ लज्जा का प्रदर्शन करते हुए मैंने उसका हाथ पकड़ लिया।मगर अगले ही पल उसके होंठ मेरी गर्दन पर आ लगे. जीजू ने मेरा सर पकड़ रखा था तो मैं लंड बाहर नहीं निकाल पा रही थी और मजबूरन मुझे लंड चूसना पड़ गया. मेरी सेक्सी वाइफ सेक्स के धक्कों से वो थोड़ा थोड़ा आगे खिसक रही थी.

जलालुद्दीन आलिम ने मेरी नब्ज टटोली और बताया कि इस लड़की की ख़ूबसूरती देखकर किसी पुराने जिन्न ने इस पर कब्ज़ा कर लिया है. मैं भी अभी तक ऐसी ही नंगी लेटी हुई थी क्यूंकि उठने लायक तो मेरी हालत थी नहीं. पुलकित ने कहा- हां बहनचोद, तू नाम बता उस बहन के लंड का … आज मैं उसके मुँह में लंड दे दूंगा.

छोटे लड़कों को कई बार देखा था और यह जानती थी कि उनके पास एक छोटी सी लुल्ली होती है लेकिन इधर तो बड़ी सी बन्दूक थी.

मुझे लगा कि जलालुद्दीन आखरी बार अपनी नगमा जान से मिलने आएँगे लेकिन वो तो बहुत बेरुखी से वहीं से वापस लौट गए. अब मेरा जब भी मन करता है, आंटी को या दीदी को चोद कर शांत हो जाता हूँ. मुझे थोड़ी थकावट महसूस हो रही थी तो मैंने चाची को दूसरी पोजिशन समझाई और मैं बेड पर सीधा लेट गया.

मैंने उसकी टी-शर्ट में हाथ डाल दिया और उसकी रसीली चूचियों को जोर जोर से मरोड़ रहा था. उधर मोम लगते ही उसकी चीख निकलने को हुई मगर वो किसी तरह बर्दाश्त कर गया. मैंने पहले से ही स्टोर रूम में अदीबा की चुदाई की व्यवस्था कर रखी थी.

[emailprotected]दोस्त भाभी की X कहानी का अगला भाग:बुटीक वाली सेक्सी भाभी के जिस्म का मजा- 3. फिर निखिल अपने कपड़े उतारने लगा, धीरे धीरे सरे कपड़े उतार दिए।अब निखिल मेरे सामने नंगा खड़ा था.

वैसे भी मैं अपने पति और ब्वॉयफ्रेंड के अलावा कई साल से किसी और मर्द से नहीं चुदी थी. वीडियो कॉल में मेरे नंगे जिस्म को देख उनका तो पहले से ही बुरा हाल था और मैं भी उनके जैसे हट्टे-कट्टे मर्द से चुदाई के लिए बेकरार थी. अब सब लड़के और लड़कियां अपना काम रोककर मुझे और मोहित को ही देख रहे थे कि कैसे मैं मोहित की माँ चोद रही थी.

कुछ ही देर मैं घर के पास के बस स्टॉप पर जा पहुंचा, जहां वो पहले से ही खड़ी थी.

भैया ने मुझे पूरी तरह से अपने शरीर से पकड़ लिया और मेरे होंठों को चूसने लगा. मैं समझ गया कि इसकी भी बुर में खुजली होने लगी है, जिसे मिटाने की बारी आ गई है. कहानी के पहले भागगाँव में मिली दो सेक्सी भाभीमें आपने पढ़ा कि गाँव में शादी थी, मैं वहां गया हुआ था.

कॉलेज सेक्स Xxx कहानी में मैंने कॉलेज में दोस्तों के उकसाने पर मस्त माल लड़की को पटाया और उसकी चूत और गांड की चुदाई उसी के घर में की. रामू की दोनों बेटियों की शादी हो गयी, वह अपने पति के साथ शहर चली गईं.

तुम मुझसे चुदवाने के लिए ही पैदा हुई हो और तुमने मुझे इसीलिए पैदा किया था कि मैं तुम्हारी चूत की आग बुझा सकूं. हालांकि उसमें अभी दरवाजा नहीं लगा है, तब भी हम दोनों मियां बीवी काम चला लेते हैं. अब आगे :फिर मैंने कहा- सब लड़के अब अपने अपने कपड़े उतार आकर नंगे हो जाओ.

टॉप 2 में जगह पक्की करने उतरेगा गुजरात

मीना ने मुझसे कहा कि अब तक कितनों के साथ चुदाई की है?मेरा‌ जवाब सुन कर मीना को विश्वास नहीं हुआ कि आजमेरा पहला सेक्स‌है.

आप भी जाने कि चुदाई के वक़्त मर्द को जब कोई लड़की औरत किस करती है या उसके लंड को मसलती है, उसके सीने के निप्पलों को चूसती है, उसके लंड के नीचे की गोटियां दबाती है, तो किसी भी मर्द के मुँह से मादक आवाजें निकलना स्वाभाविक होता है. मैंने चाची को आगे से आकर उनको अपनी बांहों में भर लिया और कहा- चाचा से कुछ हुआ ही नहीं आपका?चाची- वो कहां कुछ कर पाता है. फिर जैसे ही मैंने लंड गांड में डाला तो मेरा लंड पूरा घुसता चला गया.

माधुरी की पैंटी और लेगिंग्स को मैंने अभी तक पूरा उतारा नहीं था, सिर्फ उन्हें जांघों तक नीचे करके मैं इतनी देर से उसे चूस रहा था, मसल रहा था. दो दिन बाद तापोश ने फ़ोन पर मुझको बताया कि उसकी बीवी नीना को पोशाक और राजकुमारी का रोल प्ले करना बहुत अच्छा लगा. ऑंटी सेक्स फुलमैं उसे अन्दर लेने को बेताब होने लगी, तो मैंने दोनों टांगों को फैलाकर हारून को संकेत कर दिया कि अब मैं चुदाई करवाने को तैयार हूं.

मैं इंडियन डिफेंस के एक अंग में कार्यरत हूं, इससे ज्यादा जानकारी प्रोटोकॉल के कारण आपसे साझा नहीं कर सकता हूँ. मैं अब उसकी सफेद ब्रा में छिपे उसके स्तन को ऊपर-नीचे होते हुए देख सकता था और उत्तेजना के कारण वह जोर-जोर से सांस ले रही थी.

मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और हम एक दूसरे के होंठों को खाने लगे. काफी देर तक मेरी गांड की ठुकाई होने के बाद मेरी गांड में बुरी तरह जलन होने लगी थी तो मैंने जलालुद्दीन साहब से मिन्नतें की कि अब लण्ड गांड से निकाल कर चाहें तो मेरे मुंह या चूत में घुसा दें. सामने रखे सोफे पर मैं बैठ गया और बुआ मेरी तरफ अपना मुँह करके लंड पर बैठ गईं.

हम दोनों की उत्तेजना इतनी ज्यादा बढ़ गई थी कि हम दोनों को अपने आस पास का कुछ होश ही नहीं रहा था. मैंने डोरबेल बजायी तो उसने फ़ट से गेट खोलकर मुझे अन्दर बुला लिया और गेट को बंद कर दिया. मेरी बुरी तरह फट चुकी गांड अभी भी दुःख रही थी लेकिन गांड के अंदर बाहर हो रहे लण्ड का अहसास इस दर्द को काफी हद तक कम कर रहा था.

लेकिन पता नहीं मुझे क्या हो गया, मैं उसे देखने में इतना खो गया कि मुझे याद ही नहीं रहा कि ये मेरी बहन है.

मैं इतना ज्यादा गर्म हो गया था कि मैं साक्षी के होंठों को काटने लगा था और जोर जोर से उसकी चूची को दबाने लगा था. एक दिन उस दुकान में मुझको एक आदमी की शक्ल पहचानी सी लगी, मैं उससे बात करने लगा.

फिर मेडिकल स्टोर जाकर 5 कंडोम के बड़े वाले पैकेट लिए और सेक्स की गोलियों की एक पूरी डिब्बी ले ली. मैंने भी धीरे धीरे अपना लंड अन्दर डाल दिया, जिससे आंटी के चेहरे पर थोड़ा सा दर्द और हल्के से मज़े के भाव आ गए. उन्होंने एक बाउल में सबके नाम की चिट रखीं और एक एक चिट निकालना शुरू कर दिया.

मैंने जब एम बी ए फर्स्ट डिवीज़न में पास कर लिया और यूनिवर्सिटी में एक पोजीशन बना ली तो फिर मुझे एक प्राइवेट मैनेजमेंट इंस्टिट्यूट में असिस्टेंट प्रोफेसर की नौकरी मिल गयी।मैं वाकई बहुत खुश थी।इस कॉलेज में लड़के और लड़कियां साथ साथ पढ़ती हैं।मैं भी और टीचरों की तरह क्लास लेने लगी, स्टूडेंट्स को पढ़ाने लगी।स्टूडेंट्स भी धीरे धीरे मेरे नजदीक आने लगे. अब तो मैं और भी लण्ड पियूँगी।हर तरह की बातें, गन्दी गन्दी बातें और अश्लील बातें करती है और प्यार से न्यू हिंदी Xxx गालियां भी देती है।पाठको, कैसी लगी मेरी न्यू हिंदी Xxx कहानी? कमेंट्स और मेल में मुझे बताएं. हॉट देसी गर्लफ्रेंड चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी गर्लफ्रेंड के साथ मौज मस्ती करने शिमला गया.

बीएफ वीडियो भोजपुरी हिंदी मैंने ये कह कर एक बार फिर से रुक कर माधुरी की सांसों का अहसास किया. वो बोली- इट्स ओके, पर तुम मेरा नाम कैसे जानते हो? मैं तो तुम्हें नहीं जानती और ना तुमसे पहले कभी मिली?मैंने कहा- मैं तो आपको जानता हूं.

আমাদের জোয়ানদের একটা ঘাঁটি ছিল

मुझे 5 मिनट शॉवर में नहलाने के बाद उसने मुझे बाथटब बैठा दिया और मुझसे बोली- अपने कपड़े उतारो. माधुरी ने कहा- चलो अब और बताओ कि क्या क्या सोचते हो मेरे बारे में? मैं तुम्हें कैसी लगती हूँ?उसकी ये बात सुनकर मेरे दिमाग में हलचल मच गई कि इसका मतलब ये हुआ कि माधुरी को भी मेरे मुँह से अपनी तारीफ़ सुनने का मन है या वो भी मेरी उस सोच से खुश थी जिसमें मैंने उसे चोदने की बात कही थी. दो ही मिनट के बाद मेरा लंड अपने चरम पर आ गया था और अब लंड से रस साक्षी की गांड में कभी भी छूटने वाला था.

फिर थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि आयेशा अमन के साथ हंसती हुई आ रही थी. मैं थोड़ा काम में बिजी होने के कारण उस वक़्त बाहर जाकर उसे देख नहीं पा रहा था मतलब उसको स्माइल दे नहीं पा रहा था और न ही उसकी खूबसूरती की तारीफ कर पा रहा था. ब्लू फिल्म नंगी लुगाईफिर मैंने जैसे ही चूत को चूमा, आंटी की आह निकल गयी और वो मुझसे रिक्वेस्ट करती हुई बोलीं- विन्नी प्लीज़, अभी ज्यादा न सताओ … जल्दी से अन्दर डाल दो.

मैं- माफ़ कर देना जीजू, मैं तो बस देखना चाहती थी कि शादी के बाद मुझे क्या क्या करना पड़ेगा.

मेरी टांगें टूटी जा रही थीं, चूत के चीथड़े हुए जा रहे थे और दर्द के मारे मेरे आंसू निकल रहे थे. मेरे दिल में भी हलचल मच गई थी इसलिए मैंने भी उनके जिस्म पर हाथ फेरना शुरू कर दिया.

तभी वो चीखी, मगर मैंने एकदम से उसके होंठ अपने होंठों में लेकर उसे चीखने नहीं दिया. मेरे घर के बिल्कुल सामने ही एक दीदी रहती है, यह उसकी चुदाई की कहानी है. रोहित भी बोल रहा था- साली रंडी कुतिया … अपनी मम्मी को भी हमसे चुदवा दे … आंह ले लौड़ा खा.

कुछ दिन बाद मैंने मामी के अंडरगार्मेंट्स वाली जगह को ढूंढ लिया और मामी की सारी पैंटी और ब्रा को एक साथ निकाल कर अपने लंड से लगा लिया.

मैं हमेशा उन्हें चोदने के लिए मौके की तलाश में रहा करता था।एक दिन मैं सुबह उनसे मिलने गया था उनके घर … क्योंकि उन्होंने मुझे चाय नाश्ता के लिए बुलाया था।पर घर पर कोई नहीं था उस दिन!उनके बच्चे स्कूल जा चुके थे रोज की तरह और अंकल तो बाहर ही रहते थे।तब मैं सोफे पे जाके बैठ गया क्योंकि दरवाजा खुला था बाहर का … और कोई नजर भी नहीं आ रहा था. थोड़ी देर बाद बुआ को बिस्तर में घोड़ी बना दिया और पीछे से लौड़ा पेल कर उन्हें चोदने लगा. उस समय घर मेहमानों से भरा हुआ था और सभी ने समारोह के लिए अच्छे कपड़े पहने हुए थे.

एक्स एक्स एक्स एक्स हिंदी सेक्सीकिस करते हुए अचानक अमन को पता नहीं क्या हुआ, उसने मुझे गोद में उठा लिया और मेरी गर्दन को चाटने लगा. मुझे उसकी गांड तो मारनी थी जिसे वो साली मुझे दिखाकर मटका मटका कर चलती थी.

गुजराती सेक्स देसी

उस वक्त मेरा एक हाथ साक्षी के गले को पकड़ कर उसके कंधे को चूम रहा था. जिन्दगी में पहली बार गांड में लंड लिया था तो मेरी आंखों में आंसू आ गए. मेरी टी-शर्ट और बाक्सर देखकर वो थोड़ा सा हंसी और बोलीं- अरे निखिल मैं ये पहनूंगी क्या? कम से कम लोअर तो देते.

उधर से साक्षी भी अपनी साड़ी उतार चुकी थी और अपने पेटीकोट का नाड़ा खोल रही थी. साक्षी ने भी हंस कर कहा- हां, मैंने भी आज कुछ ज्यादा ही अपनी चूत का पानी बहता हुआ महसूस किया. अब हाल ये हो गया था कि 3 से 4 महीने हो जाते थे और हम दोनों के बीच में कुछ भी नहीं होता था.

फिर उन्होंने कहा कि अगर मैंने सवाल सही से नहीं किये तो आज वे मुझे और मम्मी को घर नहीं जाने देंगी।कुछ देर बाद मैंने देखा कि मैडम का स्तन मम्मी के स्तन को छू रहा है।यह देख मेरे हाथ से बॉक्स निचे गिर गया तो मैडम और मम्मी ने एक साथ मेरी तरफ देखा।तब मैडम मेरे पास आयी और देखा कि मैं सवाल ठीक से कर रहा हूँ या नहीं. जब हवस का तूफ़ान थमा तो मैंने देखा कि मेरी गांड मार मार कर जलालुद्दीन साहब ने उसका रंगरूप ही उजाड़ दिया था. हम लोगों ने आपस में कभी सेक्स नहीं किया था।खैर अब बात होली की करते हैं तो आयेशा को देखते ही हमारे ग्रुप के लड़के उसे ताड़ने लगे.

सोनी बहुत उत्तेजित था, उसने अपना लंड नीना की प्यारी चूत में डालना शुरू किया. कुछ तूफानी धक्कों के बाद मैं चाची की चूत में ज़ोरदार धमाके के साथ झड़ गया और उनकी चूत को अपने माल से पूरा भर दिया.

जब मैंने उसकी चूत पर हाथ रखा था तो ऐसा लगा था कि मैंने जैसे कोई अंगारा छू लिया हो!इतनी गर्म चूत थी उसकी!अब मैं उसके चूची को छोड़ कर उसकी नाभि से होता हुआ उसकी चूत तक आ पहुंचा.

कहानी के पहले भागचचेरी बुआ के साथ सेक्स की शुरुआतमें अब तक आपने पढ़ा था कि बुआ मेरे लिए खाना बना रही थी और मैं टीवी देख रहा था. हिंदी में बीएफ सारी वालीकड़क लंड देख कर दीदी बोली- इस बार मैं कितना भी रोऊं, चीखूं, तू रुकना मत. बीएफ सेक्सी हिंदी साडीवालीअब जलालुद्दीन के हिजड़े भी मुझे देख कर कहने लगे थे- नगमा बीबी, तुम जब आई तो तो कच्ची कली थीं लेकिन जलालुद्दीन की दुआओं से अब तो तुम जवान लड़की लगने लगी हो. मेरी कोल्ड वाइफ नो सेक्स कहानी पढ़कर कैसा लगा, प्लीज़ मुझे मेल से बताएं.

इसी पल मैंने अपने होंठ शबाना की नाभि पर चुम्बन के लिए सैट किया और हाथ से सलवार का नाड़ा खींच दिया.

भाभी ने थोड़ी वैसलीन मेरे लंड पर लगायी और थोड़ी अपनी गांड के छेद में लगा ली. मैं जीजू कि तरफ देखते हुए बोली- सच जीजू, आप सिखाएंगे क्या मुझे? लेकिन कैसे सिखाएंगे, घर में किसी को पता चल गया तो हम सबको जूते पड़ेंगे. अब आगे वर्जिन ऐस फक़ स्टोरी:मैंने भी कहा- हां, इस बार हम दोनों बहुत ज्यादा ही झड़ गए हैं.

रात को जब सब लोग सोने गए तो आपा मुझे आँख मार कर मुस्कुराते हुए कमरे में चली गई. चाची गिरने से बचने के लिए मुझे पकड़ने लगीं और उनका हाथ एकदम से मेरे मोटे लंबे टाईट खड़े लंड पर आ लगा. यह पहली बार था जब कोई मेरे दूध दबा रहा था तो मुझे बहुत ही अजीब सा मजा आ रहा था.

बिहारी का सेक्सी वीडियो

चाची मेरे ऊपर चढ़ गई और अपने एक हाथ से लंड को चूत पर सैट करके धीरे धीरे पूरा लंड चूत में डालकर ऊपर नीचे होकर लंड पर कूदने लगीं. मैं बाहर आ गया, पर मेरे जहन में उसकी खूबसूरती घूम घूम कर आ-जा रही थी. दोस्तो,मेरी कहानी के पिछले भागमुझे आलिम साहब से मुहब्बत हो गयीमें अपने पढ़ा कि आलिम ने मुझे दुल्हन की तरह सजवाया.

तभी अचानक से सामने गाय आ गई और मौसा जी ने अचानक ब्रेक मारा जिससे मैं एक झटके में आगे खिसक आया और मेरा लंड डिंपी की गांड से चिपक गया.

बहन काम से वापस आई तो अम्मी अब्बू ने उसे बताया कि उन दोनों को शादी में पुणे जाना है.

उसे उठाया और उसका अंगूठा अपने मुँह में लेकर बारी बारी होंठों और जीभ के साथ चूस कर बताया कि चूसने और चाटने में क्या फर्क होता है. मेरे हाथ लगते ही आंटी थोड़ी सी हिली और मैंने तुरंत अपना हाथ हटा दिया लेकिन उसे पूरी तरह से वापस नहीं लिया. एक्स इंग्लिश सेक्सी वीडियोएक बार फिर उन लोगों ने मुझे नंगी किया और मेरे बदन की मालिश शुरू कर दी.

मैं बोला- हां बताइए क्या काम है आंटी?आंटी बोलीं- पहले ये बताओ, तुम दोनों उस दिन क्या कर रहे थे?मैं कुछ नहीं बोला. बहुत लंडखोर चूत हो गई है तेरी!मैंने कहा- सब आपका करम है, आपने ही सिखाया है. आंटी- हैलो जी, मैं आशिमा बोल रही हूं बरेली से, जो आपके पास दवाई लेने आई थी … याद है न आपको?मैं अपनी खुशी दबाता हुआ बोला- जी हां याद है.

अब आगे हॉट सेक्सी भाभी न्यूड स्टोरी:मेरा जबरदस्ती सबंध बनाने में कोई मन नहीं रहता है. थोड़ी देर ऐसे ही मैं उसकी गांड के ऊपर चढ़ा रहा और अपना लंड उसकी गांड में पेलता रहा; Xxx एस सेक्स का मजा लेता रहा.

मेरी इस हरकत से माधुरी चीख पड़ी- आ आहा … धीरे से करो ना!मैंने उसे एक किस किया और किस करते करते उसकी पीठ के पीछे से ब्रा खोल दी.

लेकिन मैंने उसका हाथ नहीं छोड़ा और उससे बोला- देखो कविता डरने की कोई बात नहीं है. रास्ते में अचानक एक गड्डा आ गया और बाईक एकदम से उसमें गिर कर उछल गयी. मेरा थूक पीते पीते वो बोले- तुम्हारा थूक कितना लाजवाब है, जी करता है कि अब से पानी की जगह तुम्हारे थूक से ही अपनी प्यास बुझाऊँ.

सेक्स नंगी हिंदी दरअसल मेरी मम्मी को घर के काम में मदद के लिए कोई चाहिए था और उसी समय मेरे उन दूर के मामा ने कहा कि वो अपनी बेटी रचना को भेज देंगे. दोस्तो, कैसे लगी मेरी कुकोल्ड वाइफ की चुदाई स्टोरी, प्लीज़ मुझे बताना.

मेरे लंड पर भी खिंचाव पड़ रहा था और मेरा लंड भी पूरी मस्ती में आ चुका था. उसके स्तनों पर आकर जानबूझकर मैं उसके बाल ठीक करने के बहाने उन्हें छूने ही वाला था कि उसने बीच में पड़ते हुए खुद ही बाल वहां टिका दिए. फिर जब थोड़े टाइम बाद दोबारा देखा तो फिर से उस कपल की मेल आई हुई थी.

सेक्स वीडियो राजस्थानी एचडी

मैं उनकी छाती पर बैठ गई तो वो बोले- छाती पर नहीं बल्कि लण्ड पर बैठना है. फिर सामने खड़े होकर उसकी गांड में मेरे लंड को घुसेड़ दिया और चोदने लगा. हालांकि कभी नाप कर नहीं देखा मगर किसी औरत या लड़की की सील तोड़ने और उसको तृप्त करने के लिए काफी है.

मेरी बुरी तरह फट चुकी गांड अभी भी दुःख रही थी लेकिन गांड के अंदर बाहर हो रहे लण्ड का अहसास इस दर्द को काफी हद तक कम कर रहा था. माधुरी उस वक़्त मेरे लंड अपने हाथों में लेकर अपने होंठों पर लंड को मारती, अपने गाल से लंड को सहलाती और कभी कभी मेरे लंड के टोपे को चूसती.

सोनी- रवि तुम्हें याद है, हॉस्टल में मैं तुम्हें कहता था कि मैं तुम्हें अपनी बीवी बनाकर रखूँगा.

थोड़ी देर बाद उसे वैसे ही उल्टा उठा कर कुतिया बना दिया, अपने एक पैर को सोफे पर और दूसरे पैर को नीचे रख कर खड़ा होकर उसे चोदने लगा. वाइफ सिस्टर सेक्स को समझ कर जीजू ने उसे बेड पर चित लिटाया और उसकी चूत पर लंड का सुपारा रख दिया. वो थोड़ा रुका और उसने देखा कि मिष्टी काले रंग की लैगी कुर्ती में जमीन पर दरी बिछा कर लेटी थी और कयामत सी नज़र आ रही थी.

अगले ही पल उसने मेरे लंड को पकड़ कर टॉवल ऊपर कर दिया और मेरे लंड को मुँह में ले लिया. शर्म के मारे मेरी इतनी हिम्मत भी नहीं पड़ रही थी कि आँखें उठाकर अपने सरताज कि तरफ देख लूँ. चाची ने मुझे अपने चूचे ताड़ते हुए देख लिया और पूछा- क्या देख रहे हो?मैंने सकपकाते हुए कहा- कुछ नहीं चाची.

जलालुद्दीन आलिम ने मुझे बिस्तर पर घोड़ी बनने को कहा तो मैं बिस्तर पर घोड़ी बन गई.

बीएफ वीडियो भोजपुरी हिंदी: धीरे धीरे मेरी बीमारी बढ़ने लगी और मुझे दिन में कई कई बार दौरे से पड़ने लगे. थोड़ी देर में मैडम भी दोबारा झड़ गयी।कुछ देर तक मम्मी और मैडम एक दूसरे से चिपक की बैठी रही.

तभी मैंने उसे कमर से पकड़ा और नीचे से एक जोर का झटका उसकी चूत में लगा दिया. हवस की आग में जलते हुए मैंने छोटू के लंड को बुरी तरह चूसना शुरू कर दिया, ड्राइवर के लंड पर अपने स्तन जोर से दबा दिए और अब्दुल को अपनी टांगों में जकड लिया ताकि उसका लंड मेरे और अंदर तक समा सके. पूरी तरह नंगी होकर मैंने सामान का पैकेट खोला, तो पहले ब्रा पैंटी का पैक निकाला जिसमें एक गहरी गुलाबी रंग की और एक लाल कलर की प्रिंटेड ब्रा पैंटी थी.

इससे चाची पागल हो गई थीं; वो अपनी चूत को ऊपर नीचे कर रही थीं और मेरा सिर अपनी जांघों से जकड़ लिया था.

दस मिनट तक धकापेल बिना रुके ठुकाई करने के बाद मैंने आंटी के अन्दर अपना माल निकाल दिया. सेक्सी वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं छुट्टी वाले दिन दारू पी रहा था. जैसे ही साक्षी की गांड के छेद से मेरा लंड बाहर निकला, वो और भी ज्यादा कड़ा और तना हुआ लग रहा था.