मराठी का बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी में एक्स एक्स एक्स फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी एक्स एन एक्स एक्स: मराठी का बीएफ, दोस्तो, मेरी कहानी में मैंने जिन भी रिश्तों का जिक्र किया है वे सच हैं.

सेक्स न्यूड

अनिल ने ड्रामा करते हुए रवि से कहा- यार आज तूने मेरी पिछले पांच साल की तमन्ना पूरी कर दी. क्सक्सक्स देशीपिछले दो भागों में अब तक आपने जाना था कि मेरी रैंगिंग आदि के चलते मुझे आयशा के बारे में कुछ और जानकारी भी हो गई थी.

उसने मुझे बेड पर लिटा दिया और फिर मेरे शरीर से पूरी तरह से खेलना शुरू कर दिया. રાજસ્થાની બીપી વીડીયોमैंने कहा- चलो देखता हूँ … होटल चलोगी?वो बोली- न बाबा … उधर मुझे डर लगता है.

उसने उस क्रीम को ले लिया और कुछ देर बाद मुझे छत से वो नीचे दूसरी क्लास में ले आया.मराठी का बीएफ: दूसरे हाथ से वो ड्राइवर के लंड को जोर जोर से मसलते हुए गर्म आवाज निकालने लगी ‘उईईईई मां आअह्ह्ह मार दिया.

मुझे सामने रखी टीचर की टेबल पर उल्टा लिटा कर मेरी पूरी गांड में खूब सारी क्रीम लगायी और उंगली चलाने लगा.भाभी मुझे ऊपर हटाने का इशारा करने लगी … लेकिन मैंने भाभी को कस कर जकड़ लिया था.

बीपी सेक्स खपाखप - मराठी का बीएफ

मुझे घर पहुंचने से ज्यादा दूसरे दिन का इंतजार रहता ताकि मैं डॉक्टर से मिल सकूं.मेरे वीर्य की हर एक बूंद उसकी चुत में समा गयी और मैं उसके मम्मों को मसलते हुए निढाल हो गया.

उसके बाद मैंने एक उंगली उसकी चूत में धीरे से अंदर डाल दी।उंगली जाते ही उसे कामरस की ऐसी अनुभूति हुई कि उसकी आह्ह निकल गयी. मराठी का बीएफ संजू ने जैसे ही लंड को फुंफकारते हुए देखा, वो उसकी विशालता को देख कर आश्चर्यचकित हो गई.

मैं अपना लंड मामी की गांड में घुसा कर सो गया और मामी भी ऐसे ही नंगी सो गईं.

मराठी का बीएफ?

वो बोली- साहब जी, जब मैं डुक्कू को लेकर घर वापिस आयी तो मैंने खिड़की से देखा कि वन्दना जी आपका लन्ड चूस रही थी. तो नीरू दर्द के कारण आगे को हो गई और उसकी गांड में से मेरी उंगली निकल गयी. मैं इधर उसके शहर और जगह का नाम नहीं बता सकता क्योंकि इससे निजता भंग होने का भय रहता है.

इसके बाद से जब भी मुझे मौका मिलता, तो मैं अपनी सास कोबाजारू रंडीबना कर चोद लेता हूं. वह भी समझ गया था कि मैं जाग गई हूँ, उसने मुझसे कहा- माँ, मैं आपकी गांड मारना चाहता हूं. मैंने उन्हें बताया- यहां एक स्पोर्ट टीचर थे जोसफ सर … वे केरल के थे इसलिए कुछ काले रंग के थे.

उसने मेरी आंखों में देखा, हम दोनों मदहोश हो गए थे और एक दूसरे में समा जाने के लिए बेकरार थे. तभी अचानक अनामिका जोश में आ गई और उसने पूरा लंड गप्प से अन्दर कर लिया. हम दोनों होटल में चलें या मेरे दोस्त के कमरे पर!मतलब वो अकेले में मिलना चाह रहा था.

वो कौतूहल से पूछने लगी- तो इतना बड़ा छोटे से छेद में कैसे जाता होगा!मैं- जब किसी के साथ सेक्स करोगी, तो सब पता लग जाएगा. दरअसल मेरी कोई अपनी सगी बहन नहीं है इसलिए सोनाली और मेरे बीच बहुत प्यार था.

थोड़ी देर बाद सांसों के सामान्य होने के बाद मैंने उसकी तरफ चेहरा उठाकर देखा, वो भी मेरी नजरों में नजर मिलाकर मुस्कुराने लगा.

उसमें एक चिट भी थी, जिस पर लिखा था कि प्लीज किसी से कुछ ना कहा जाए.

मैंने कहा- तो आप मुझसे भी तो कह सकती थीं!मेरी मॉम ये सुनकर मेरी तरफ ऐसे देखने लगीं जैसे उन्हें मेरी बात समझ ही न आई हो. मेरे एक फ्रेंड की 19 वर्षीया सिस्टर है, उसने अभी 12 वीं का एग्जाम दिया है. भाभी मेरा कहने का मतलब तो कब से समझ गई थीं, लेकिन फिर भी वो अनजान बन कर मुझे तड़फा रही थीं.

अब मैंने उसे घोड़ी बना कर गांड चोदना शुरू कर दिया और उसकी गान्ड में थप्पड़ मारने लगा।वो चिल्लाने लगी- राज … आह्ह … और चोदो … आह्ह फ़ाड़ दो मेरी गान्ड।मैं बोला- भाभी … आज मैं आपको इतनी चोदूंगा कि आपकी चूत रोने लगेगी. मैंने अपने पति से इस बात को कहा … तो उन्होंने मेरे साथ सेक्स करते समय उसी को रखना चालू कर दिया था. सोशल साइट्स में आईडी बना कर देश विदेश के लोगों से मित्रता कर टाइम पास करने लगा.

फिर मैं उसको उल्टा लेटा कर उसकी कमर पर किस करने लगा … जिससे उसकी चुदास से भरी सिसकारियां निकलने लगीं.

मेरी यह आज्ञा सुनते ही शीना झपट्टा मार के मेरा लौड़ा चूसने में लग गई और बस थोड़ा ठीक लगने के बाद ही फ़ौरन संजना भी आकर मेरा लौड़ा चूसने लगी. फिर उनके जाने के कुछ देर बाद रोशिता ने पूछा- भैया, क्या इनके पास भी वो होता है जो बाकी सब लड़कों के पास होता है?वो मुझे भैया ही कहती थी लेकिन हम दोनों गहरे दोस्तों के जैसे थे. मुझे बस दो अंडरवियर खरीदने थे … जो कि मैंने अपनी साईज के हिसाब से तुरन्त पसन्द कर लिए.

मैंने पूछ लिया- पैंटी से क्या करोगे?वो बोला- उसकी महक से मुझे बहुत उत्तेजना हुई. बाहर आते ही कमल चैन लगाता हुआ बोला- थैंक्स फूफाजी, आपका अहसान कभी नहीं भूलूंगा. मैं सोच रहा था कि आखिर मेरा लंड इतना टाइट क्यों हो गया था … मुझे इतना मजा क्यों आ रहा था.

तब तक के लिए नमस्ते!मेरी माँ बेटा सेक्स कहानी पर मुझे आपके विचार जानने के लिए आपके मेल और कमेंट्स की प्रतीक्षा रहेगी.

” महेश ने अपने लंड को पूरा बाहर खींच कर एक ज़ोरदार धक्के के साथ उसे फिर से अपनी बेटी की चूत में जड़ तक घुसाते हुए कहा।उईई पिता जी … आपके लंड ने तो मेरी चूत को पूरी तरह फ़ैला रखा है. शायरा तो एक बार झड़ भी गयी थी … मगर मैं अपने आप‌को काफी देर से रोके हुए था … इसलिए मेरा चरम अब नजदीक आ गया था.

मराठी का बीएफ मैं- तो क्या ख्याल है!सुगंधा भाभी- किस बारे में!मैं- सेक्स के बारे में. मेरी ब्रा से बाहर झांकते गुंदाज उभारों को वो जीभ से सहलाने लगा और हाथों से मेरी चुचियों की गोलाई को नापते हुए ब्रा के अन्दर हाथ डाल दिया.

मराठी का बीएफ पर एक दिन मुझे पता चला कि मेरे बेटे सैम को मेरे और रवि की चुदाई के बारे में पता चल गया है. लेकिन लड़की का दिल्लीपना जाग गया था और मैं भी रुकने के मूड में कतई नहीं था।ना जाने कब मैंने उसका टॉप उतार दिया और उसने मेरा … आंख खुली तो कुछ देर के लिए उसे देखता रह गया.

मैं अंदर आया तो देखा ज़ारा के बेडरूम का दरवाजा खुला पड़ा है और लाइट भी जल रही है.

কাজল বিএফ

ये सब बातें बता कर शिवानी ने मुझको भी कह दिया कि वो निश्चित समय पर उसके घर पर आ जाए. जीजा साली की सेक्सी कहानी वहीं पर फिर से शुरू हो गई लेकिन अभी मेरे मन में भाई को लेकर डर भी था. उसकी सांसें तेज होने लगीं और वो मेरा सर पकड़ कर मेरे होंठों को चूसने लगी.

उसके मुँह से ये सुनकर मुझे ऐसा लगा, जैसे बिना मौसम के बरसात होने लगी हो. सोचा कि ये भी इसी कॉलेज में पढ़ती होगी, इसलिए अब तो‌ उसे रोज देखा करूंगा और हो सकता है आगे जाकर कभी उससे दोस्ती भी हो जाए. एक बार ऐसे ही रात को 12 बजे के करीब मैं अपने कम्प्यूटर में पोर्न वीडियो देख रहा था.

मीना के कहने पर मैंने अपनी स्पीड ट्रेन की तरह तेज कर दी।8-9 घस्से मारने के बाद उसके पैरों में कंपन शुरू हो गई और इसके साथ ही वो झड़ने लगी।5 मिनट और चुदाई करने के बाद मैं भी उसकी चूत में झड़ गया और फिर हम आराम करने लगे.

मैंने उसकी चुत से मुँह हटा लिया और अपनी चड्डी उतार कर उसके पीछे आ गया. हॉट लेडी की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे बॉस की बीवी ने मुझे अपने घर बुलाया. जब इस घर में एक से बढ़ कर एक माल हैं और वो सब तुझे पसंद भी करती हैं.

जब मोम पिघलने लगा तो मैंने उसकी छाती पर पिघलता मोम टपकाना शुरू कर दिया. तब संजना बोली- हां साली छिनाल, यह बात तो तूने बहुत सही कही है कि इसका लौड़ा है बिल्कुल मजेदार … ठुकाई के वक्त बहुत चीखें निकालता है कमीना. लंड पर कंडोम लगा कर मैंने उस पर क्रीम लगाई और उसकी गांड चुदाई की पोज़िशन में आ गया.

पहली बार के प्रयास में उसका लंड मेरी गांड के अन्दर जा ही नहीं पाया. मकान मालिक अंकल दारू बहुत पीते थे और घर पर ज्यादा पैसा भी नहीं भेजते थे.

मेरे गले पर चूमते हुए वो मेरी चूचियों की घाटी में जा पहुंचा और दोनों पहाड़ों के बीच की घाटी में जीभ से चाटने लगा. थोड़ी ही देर में मैं उसके मुँह में ही झड़ गया। फ़िर हम दोनों ही एक दूसरे के होंठों को चूमने लगे। उसके बाद नहा कर अपने कपड़े उठाये और नंगे ही ऊपर कमरे में चले गए।हम नंगे ही एक दूसरे से चिपक कर बातें करने लगे और प्लान करने लगे कि कल जब मौसी चली जायेगी तो उनके जाने के बाद क्या करना है. दो तीन बाद तेल से सनी उंगली डॉक्टर साहब की गांड में डाल कर घुमाई … अन्दर बाहर की, तो डॉक्टर साहब की गांड बिल्कुल ढीली हो गई.

मैंने उससे कहा- यहां कुछ भी नहीं करना, जो करना हो … वो शादी के बाद ही करना.

मैं- भाभी आप अपना नंबर तो दो, मैं आपको गर्भ निरोधक टेबलेट्स पहुंचा दूंगा. उनकी गांड जलाने के लिए मैंने अपनी गांड को और ज्यादा मटकाकर चलने लगी. तो मेरी भी दिली तमन्ना हुई कि अपनी पत्नी के साथ किसी कपल से इस तरह का आनंद प्राप्त किया जाए.

मैंने उसकी तरफ देखा, तो उसने चुत पर हाथ रख कर कहा कि इसी को साफ़ करने तो गई थी. पोर्न फिल्म और अन्तर्वासना की कहानियां देख पढ़कर मैं इतना समझदार हो गया था कि मुझे अपने इस ज्ञान को अब सही जगह इस्तेमाल करना था.

वो तो यही सोच रही थी कि मैं शायरा का ब्वॉयफ्रेंड हूँ इसलिए उसे वैसे ही ट्रीट कर रही थी. मुझे भी बहुत अच्छा लगा और मैं कमरे में आकर आगे के प्लान के बारे में सोचने लगा. आआह … क्या कयामत माल लग रही थीं मेरी मॉम … मानो कोई अप्सरा नंगी लेटी हो.

ஆங்கில செக்ஸ் வீடியோஸ்

फिर उसे चूमते हुए उसकी पैंटी के पास मुँह लगाया और पैंटी खींचने लगा.

मैंने उनके हाथ को अपने हाथ में लिया और धीरे धीरे सहलाना शुरू कर दिया. सुगंधा भाभी मुस्कराते हुए बोलीं- ऐसा क्या!मैं- हां भाभी मैं सच कह रहा हूँ. मुझे उनकी ये सेक्सी वाइफ की कहानी बहुत पसंद आई और उम्मीद है कि आप लोगों को भी पसंद आएगी.

मैं बोला- अगर तू भी मुझसे प्यार करती है … तो मैं रात को तेरा वेट करूंगा, अगर तू नहीं आयी तो मैं कल ही अपने घर चला जाऊंगा. मैं- अच्छा, अच्छा ठीक है … पर चलो ना … कल‌ मूवी देखकर आते है और कॉर्नर की सीट लेंगे. बाप बेटी की सेक्सी मूवीअंतिम इसलिए कह रहा हूं क्योंकि मुझे कहानी लिखने का समय बहुत कम मिलता है.

दोस्तो, इस मस्त लंड से मेरी चुत चुदाई की नंगी कहानी का अगला भाग जल्द ही आपके सामने होगा. मेरे एक मित्र ने मुझे एक ऑनलाइन सेक्स वेबसाइट के बारे में बताया, वहां पर मैंने अपना अकाउंट बना लिया.

वो दर्द और मजे के मारे अपने मुख से कामुक आवाज़ निकालने लगी और ज़ोर ज़ोर से कहने लगी- चोदो मेरे राजा … और ज़ोर से … बुझा दो आज मेरी प्यास!करीब पन्द्रह मिनट तक मैं उसको चोदता रहा … और फिर हम दोनों साथ में झड़ गए … मैंने उसकी चुत में ही अपना सारा पानी छोड़ दिया था. ये सब सोच कर पिंकी ने अपना मन अनिल से हटा लिया और रवि को सेक्स में साथ देने लगी. उसने झट से मेरे लौड़े को पकड़ लिया और मेरे अंडरवियर को खींच कर फाड़ दिया.

उसके होंठों को चूसते हुए उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को रगड़ने लगा. मैंने भी उसी हिसाब से खुद को एडजस्ट किया और दुबारा से अपने चेहरे को उनके चेहरे के पास ले गया. मैंने कहा- ओके, मुझे क्या करना होगा?वो बोला- पहले तो आप ये घर के सूट और सलवार को उतार कर योगा लायक कोई अच्छी ड्रेस पहन कर आ जाइये ताकि अभ्यास करते समय कोई परेशानी न हो.

तब उसने मुझे पहली बार अन्तर्वासना के बारे में बताया और कहा कि कुछ पढ़ कर ज्ञान प्राप्त कर ले कि केवल लड़कों के लंड में ही चुनचुनी नहीं होती है.

हम मिल दूसरी बार रहे थे, एक बार हम इस से पहले एक मॉल में मिले थे।हम घर के अंदर चले गए। उसने मुझे ड्राइंग रूम में बिठाया और चाय पानी के बाद मुझसे बातें करने लगी. दीदी- अच्छा सवाल दिखाओ तो?मैंने दीदी को अपना क्वेश्चन पेपर दे दिया और दीदी उस पढ़ने लगी.

वो फोन लाइन पर ही थी और मेरा लंड उससे बात करते करते खड़ा हो गया था. मेल ज्यादातर वही थे- मुझे भी मिलवा दो किसी भाभी से? पता दो उनका। भाभी का नम्बर दे दो. फिर मैंने उनसे पूछा- बताइए कैसे फोन किया?पहले तो उन्होंने भी मेरा हाल समाचार पूछा और हिचकिचाते हुए बोला- जब से आपकी कहानी पढ़ी है, पता नहीं क्यों आपके बारे में ही सोच रही हूं.

पर तू बता क्या प्लान है तेरा?उसने मुझसे कहा- अक्षिता, अबकी बार हम मिल कर इंजॉय करते हैं।आगे उसने मुझसे कहा- अबकी बार ऐसा करते हैं कि मैं और मेरे हस्बैंड तुम्हारे घर आ जाते हैं; हम मिलकर होली पर इंजॉय करेंगे।मैंने भी उसका यह ऑफर स्वीकार कर लिया और मैंने उसको अपने घर पर इनवाइट कर दिया।हमारा प्लान एकदम फिक्स हो गया।होली पर रंग वाले दिन वे दोनों आ गए. जैसे ही उसने मेरे लन्ड को अपने मुंह में रखा, मेरा शरीर ढीला पड़ने लगा. हमारी बेटी ही थी, जिसकी वजह से हम दोनों एक दूसरे का साथ निभा रहे थे.

मराठी का बीएफ थोड़ी देर बाद वो खुद को साफ करके अपने चुचों पर एक टॉवल लपेट कर आई और मेरे पास आकर मेरे बालों को सहलाने लगी. संजना मेरे ऊपर आ गयी और मेरे होठों को चूसने लगी और अपने दूध मुझे पिलाने लगी.

एक्स एक्स एक्स एक्स वीडियो एक्स एक्स

बिन्नी- तो फिर रोहन के बारे में आपने ऐसा क्यों कहा?मैं- जब उसका शरीर और लण्ड है ही ऐसा तो क्या कहता? तुम्हारा दिल रखने के लिए कह दिया था. मगर अब उसने मेरा लंड अपने गले गले तक ले जाकर खूब चूसा और मेरे लंड का पानी निकाल दिया. उसने बस इतना ही किया कि मेरे दोनों निप्पलों को बारी-बारी से चूसने लगा.

8 सालों की उसकी चूत की प्यास उसके बाप और भाई ने ऐसी बुझाई कि वो मन ही मन फूली नहीं समा रही थी. फिर वो बोली- आह साहब जी, मैं थक गई हूं, आप कब फ्री होंगे?तो मैंने उसकी चूत से लन्ड निकाला और फिर से उसके मुंह में दे दिया. ब्लू पिक्चर वीडियो मूवीइसके लिए हमने शनिवार रात का प्लान बनाया क्योंकि रविवार को बच्चों की छुट्टी होने के कारण उनको दादा दादी के पास भेज देते थे.

बहुत बड़ा है … मैंने आज पेशाब करने के अलावा अपनी गुलाबो के साथ कुछ नहीं किया है.

वो भी अप्सरा जैसी सुन्दर लड़की पायल की सफाचट चुत की चिपकी हुई फांकों में मेरा लम्बा मोटा लंड घुसेगा, तो उसकी चुत को फाड़ ही देगा. ”वो थोड़ा सा रुकी और फिर कुछ सोचते हुए बोली- दीदी ने तल मुझे साड़ी पहनना सिखाया था.

पैसे लिये और सीधा ज्वेलरी शॉप पर पहुंचकर एक नथ और मांग-टीका खरीद लिया!इतनी सारी खरीदारी मैंने क्यों की?क्योंकि ज़ारा का जन्मदिन आने वाला था और सुहागरात से बेहतर कोई तोहफा मैं उसे नहीं दे सकता था. वैसे मेरे पति भी अक्सर कहा करते थे कि मुझे कोई बॉयफ्रेंड पटा लेना चाहिए. उसने बिना किसी झिझक के मेरे सामने अपना टॉप उतारा, तो उसके शरीर पर पड़ी एक एक बूंद ऐसे चमक रही थी … जैसे समुद्र में पड़ा सीप के मोती हों.

मैं मोटे लंड से दर्द के मारे जोर जोर से चिल्लाने लगी थी- आह मर गई … ओह आह माह!रवि ने मेरे दोनों दूध पकड़ कर मसले और कहा- अभी तो सिर्फ आधा लंड ही गया है … अभी तो आधा बाकी है.

मैं- अच्छा, अच्छा ठीक है … पर चलो ना … कल‌ मूवी देखकर आते है और कॉर्नर की सीट लेंगे. मेरे पति को शहर की हवा लग गई थी।मेरी चूत की चुदाई ना कर पाने के कारण वो रंडियों के पास जाने लगे।और इधर मेरे घर से जाते ही पापा ने मां को चोद कर उन्हें भी गर्भवती कर दिया।कुछ महीनों के बाद मैंने एक प्यारे लड़के को जन्म दिया।उसका नाम सुमित रखा. अब तक आपने इस हॉट भाभी डबल चुदाई कहानी के पहले भागनशीली भाभी की डबल चुदाई की चाहमें पढ़ा था कि बिस्तर पर चित लेटी हुई न्यासा अपने दोनों हाथों में हम दोनों के मोटे लंड पकड़ कर सहलाते हुए एक मस्तानी रांड सी दिख रही थी.

हिंदी क्सविडोसतभी मैंने मॉम से कहा- पापा को भी कुछ नहीं पता चलेगा, आप मुझ पर भरोसा कर सकती हो. मैंने बाहर ही दोनों बियर में सेक्स पावर वाली गोली डाल दी थी।जैसे ही मीना ने दूसरी बियर पीना शुरू किया मैंने उसको गर्म करना शुरू कर दिया.

एक्स एक्स एक्स वीडियो एचडी हिंदी में

उसने झट से मेरे लौड़े को पकड़ लिया और मेरे अंडरवियर को खींच कर फाड़ दिया. आरिषा भाभी रामू से मदहोश आवाज़ में बोलीं- रामू अच्छे से करो मालिश … आह बहुत आराम मिल रहा है. मेरी उम्मीद से भी ज्यादा शिल्पा ज्यादा सेक्स की प्यासी थी और आज तक इस तरह से मैंने उसकी प्यास नहीं बुझाई थी.

लेकिन मैंने उन्हें यह नहीं बताया कि मैं विजय के घर होम आइसोलेट हो गई हूं. मगर बाप का लंड भाई के लंड से कहीं ज्यादा दमदार और शक्तिशाली साबित हुआ. मैं- वैसे वो सेल्सगर्ल भी मुझे और हमें गर्लफ्रेंड ब्वाय फ्रेंड ही समझ रही थी.

उन्होंने मुझे तुरंत अपनी गोद में उठा लिया और बैडरूम में ले गए।वहां मुझे खड़ा करके अपनी शर्ट उतार फेंकी और तुरंत मुझे अपनी बांहों में ले कर अपने सीने से लगा लिया. मैं भाभी को किस करते हुए साड़ी पेटीकोट ऊपर करके उनकी नंगी हो चुकी चिकनी जांघ को सहलाने लगा. रामू मस्ती से भाभी के नंगे कंधों के अन्दर हाथ डालता हुआ बाम लगाने लगा.

वो मद्धिम आवाज में बोली- भैया उठो ना!मैं उसकी आवाज सुन कर झट से उठा और कुछ कहने को हुआ ही था कि तभी उसने मेरे मुँह पर हाथ रख दिया. इधर संजना अपनी दूध मसलवाते हुए अपनी नाज़ुक सी मुनिया को मसल रही थी और अपनी तेज सांसों की रफ्तार के साथ मुझे अपने दूध पिला रही थी.

मामा जी- कैसी हो प्रिया, मम्मी कैसी है?दीदी- मैं ठीक हूं मामा जी, मम्मी की तबीयत ठीक नहीं है.

उसने मेरे बूब्स को मेरी ब्रा के अंदर हाथ डाल कर मसलना शुरू कर दिया जिससे मैं बहुत ज्यादा एक्साइटेड हो गई. देसी रंडी सेक्सीअब इसी तरह रात भर हमारे प्यार का सिलसिला चलता रहा और सुबह तक हम‌ एक दूसरे से प्यार करते रहे. लड़की की एक्स एक्स एक्सवो मेरी तरफ झुक कर मेरी जीएफ की तस्वीर देखने लगीं और फिर मेरी ओर देखने लगीं. लंड के ऊपर की त्वचा नीचे सरक चुकी थी और उसका गुलबी सुपारा चमक कर मेरी आंखों को चौंधिया रहा था.

कभी अपने भतीजे या भांजे से फ़ोन पर सेक्सी बातें करती, कभी अपनी सहेलियों से बात करते समय उसके सामने अपनी चुत पसारे पड़ी रहती और वो मेरी बुर चाटता रहता.

एक मिनट बाद जब मॉम का दर्द बंद हुआ, तो मॉम भी अंकल को किस करने लगीं. मगर उस दिन मकान मालकिन ने‌ मुझे रोक लिया और कहने लगीं- तुम्हारा किसी से झगड़ा हुआ है क्या?मकान मालकिन‌ ने मुझसे पूछा. गांवों में रात का खाना जल्दी होता है, सो हम सभी 8 बजे तक सो जाते हैं.

भाभी मेरे सीने पर गिर गईं और हांफते हुए कहने लगीं- आह राज … मेरी चुत में जलन होने लगी है. बहुत कम देखने मिलती है, ब्लू फिल्म में भी ऐसी चिकनी गुलाबी चुत नहीं दिखती है. जितना मैं संजना को धक्के दे रहा था, उतनी ही तेज़ी से हाथ से शीना की चूत में उंगली कर रहा था.

सेक्सी वीडियो भाई बहन

मैंने उसके दूध दबाए और बोला- ये तो बस शुरूआत है, जब तुम्हारी प्यारी चूत में मेरा लंड जाएगा न … तो तुम्हें इससे भी ज्यादा मजा आएगा. तो दोस्तो ये थी प्यासी न्यासा की नशीली चुदाई की कहानी!हॉट भाभी डबल चुदाई कहानी में कोई कमी रह गई हो, माफ़ कर दीजिएगा. दो तीन धक्के लगाए … फिर बोला- तकलीफ तो नहीं हो रही … वरना निकाल लूं?मैं चुप रहा, तो बोला- अब थोड़ा सहन करना.

और पहली बार हम सुहागरात मनाएंगे।फिर उसने मुझे दूध पिलाया और मिठाई खिलाई.

मैं- वैसे एक‌ बात कहूँ, बुरा मत मानना, तुम्हारा फिगर सच में ही कयामत है.

मैं धक्के लगते हुए झुका और उसके चुचों को चूसने लगा।वो मजे में अपना निचला होंठ को साइड से अपने दांतों से काटने लगी और मस्ती से अपनी आंखें बंद कर ली. तभी मुझे कुछ याद आया और मैंने अगले जनरल स्टोर से कुछ चॉकलेट के पैक लिए और अपने रूम पर आ गया. ससस सेक्सी वीडियोतब तक अगर परिवार वालों के साथ रही तो मम्मी, पापा भैया भाभी और हम सबके बच्चों को भी खतरा है.

लंड के ऊपर की त्वचा नीचे सरक चुकी थी और उसका गुलबी सुपारा चमक कर मेरी आंखों को चौंधिया रहा था. मैं बोला- मेरी रानी डर मत कुछ नहीं होगा … थोड़ी देर में सब ठीक हो जाएगा. वैसे भी अब कुछ बचा नहीं था, जितना भी मैंने फंतासी को लेकर सोचा था, मैंने उससे वो सब करवा ही लिया था.

दीपा उठ कर जाने लगी, मनोज ने पूछा- क्या हुआ?तो दीपा हंस कर उसके खड़े लंड की ओर इशारा कर के बोली- ये बैठने नहीं दे रहा. दोस्तो, उसका लन्ड चूसना भी क्या लाजवाब था। वो जीभ से सुपारे को छूती और फिर गले में पूरा अंदर तक डाल लेती।लन्ड मुंह में डालते वक़्त सावधानी रखती कि कहीं रगड़ न लग जाये।ये सब बातें मैं उसे बताता जा रहा था।2 मिनट में ही मुझे वह आनंद आने लगा जिसके लिए मैं 1 घण्टे से मेहनत कर रहा था।मैं चरम पर पहुंच गया और मेरा माल निकलने को हो गया.

मन तो कर रहा था कि मैं ऐसे ही इस रंडी के मुंह में लंड दिये रहूं और ये दिन रात ऐसे ही मेरे लंड को चूसती रही.

मामी ने मेरे लंड को घी में डुबोकर निकाल लिया और अपने मुँह में मेरा लंड डाल कर चूसने लगीं. फिर मेरी पैंट की जेब में हाथ डाल कर मेरा लंड पकड़ कर फुसफुसा कर बोला- बहुत सख्त है. अब आशा को भी मजा आने लगा तो वो भी अपनी गांड उठा उठा कर मेरा लन्ड अंदर लेने लगी.

हिंदी ब्लू फिल्म देखना है ऐसी मजबूरी में शुरू हुई थी सिस्टर की चुदाई … जो लड़की को बार बार चुदाई करवाने की चाहत में बदल गया था. उस नंगी लड़की ने गप्प से लंड को अपने मुँह के अन्दर ले लिया और मस्ती से चूसने लगी.

उससे बड़ी चाची भड़क गयी और बोल रही थी- तुम्हारे लंड में अब दम नहीं रहा, मुझे शांत किये बिना ही झड़ जाते हो।फिर बड़े चाचा कपड़े पहनकर बाहर चले गये. उसके लंड चूसने से मुझे ऐसा मजा आने लगा, जैसे पता नहीं मैं कहां आ गया होऊं. भाभी मुझसे आंख के इशारे से पूछने लगीं कि मैंने रोका क्यों?तो मैंने उनसे बोला कि मेरी जान को कपड़े मैं ही पहनाऊंगा.

ब्लू सेक्सी पिक्चर ओपन

अब मैं जोर जोर से सिसकारियां ले रही रही थी- अहह अंह … ओम्हा … उंहमाँ … और चूसो … मेरे बेटे … आह इतने दिन से तुझे क्यों नहीं पा सकी … आह. आप तो जानते ही हैं कि जब आदमी पी लेता है तो उसके मुंह से सब सच ही निकलने लगता है. लण्ड जब मूसल की तरह कड़क हो गया तो लण्ड पर क्रीम मलकर रेखा मुझ पर सवार हो गई.

उसकी साड़ी खराब ना‌ हो जाए … इसलिए मैं उसे निकाल रहा था, तो उसने सोचा कि मैंने उसे छेड़ने के लिए उसकी साड़ी को खींचा है. सन्नी को इशारा किया, जिससे उसने न्यासा को अपने ऊपर लेटा कर उसे जकड़ कर उसके होंठों को चूसने लगा.

बस ऊपर के दो कमरे किराये पर दे रखे थे जिसमें रोहित और उसकी मामा की लड़की रहती थी।रोहित तो मुझे देख कर बहुत खुश हो गया.

मेरे हाथ में बोतल थी और मेरा सोया हुआ सांप मेरी टांगों के बीच में लटक रहा था. उसने मेरे मम्मों को चूसना शुरू कर दिया और धीरे धीरे चोदना भी चालू रखा. वो अपनी ड्रेस बदल कर बाथरूम में सिर्फ ब्रा पैंटी में जाती थी तो मैं उसे देखता रहता था.

मैं भी पीछे-पीछे गया- यार जरूरी है!ज़ारा- तो जाओ! मैंने कब रोका है?मैं- तुम नाराज हो!ज़ारा- नहीं! किसने कहा?मैं- तुम्हारे चेहरे ने!ज़ारा- मेरा चेहरा तो ये भी कहता होगा कि आप मुझसे एक लम्हा भी दूर ना हों?मैं- जान! जरूरी है!ज़ारा- तो जाओ ना! किसने रोका है?मैं- ज़ारा प्लीज समझो!ज़ारा- मैं तो पहले दिन ही समझ गयी थी! चलो खाना लगाने दो अब!उसने खाना लगाया. चाची- अरे क्या हुआ?मैं- एक ही पोजीशन में कितनी देर तक चोदूं … अब ऊपर उठो. विजय माई लव … तुम मेरा पहला प्यार हो! मेरा शरीर छूने वाले पहले मर्द हो और मैं चाहती हूँ कि तुम्हारे सिवा मुझे और कोई न छूए.

कहानी के पहले भागमेरे यार ने मुझे अपने रूम पर बुलायामें आपने पढ़ा कि अपने बॉयफ्रेंड के बहुत ज्यादा बुलाने पर मैं उसके घर चली गयी थी.

मराठी का बीएफ: मैंने उसी उधेड़बुन में उसे एक चपत लगाते हुए कहा- क्या हुआ … पागल की तरह क्यों हंस रहे हो? कमरे पर चलो वहीं बात करते हैं. मैंने चूमना छोड़ कर अब उनके गले की त्वचा को हल्का हल्का चूसने शुरू कर दिया था.

बातचीत चल ही रही थी कि लड़की के पिता ने चाय नाश्ते के लिए अन्दर आवाज लगाई. उस पूरी क्लास में बस मेरी कामुक सिसकारियों की आवाज़ गूंज रही थी- उफ़ हहह … यस आई लाइक इट … ओह्ह फ़क मी … आह आह आह फ़क मी हार्ड अभिषेक … उफ़्फ़फ़ उफ़्फ़फ़ उई मां मैं मर गई आह उफ़्फ़!मेरी आवाजें उसे और भी उत्तेजित कर रही थीं, जिससे वो अपनी पूरी ताकत और रफ्तार से मुझे चोदे जा रहा था. मैंने अपने सारे कपड़े उतारकर सूखने के लिए फैला दिये और टॉवल लपेट लिया.

शादी के बाद हम दोनों के बीच महीने में एकाध बार ही सेक्स हो पाता थामैं उसके साथ सामान्य सेक्स ही करता था … मतलब जिस दिन मेरा मन किया, उस रात को शिल्पा के ऊपर चढ़ कर मैं उसकी चुत चोद लेता हूँ.

मैं अंदर आया तो देखा ज़ारा के बेडरूम का दरवाजा खुला पड़ा है और लाइट भी जल रही है. वहां अमेरिका में उस जानकार को हवाई अड्डे पर मिलने का समय भी बता दिया गया. शायद मेरा पानी निकलने वाला था तो मैं अपने आप को रोक नहीं पाई। और मेरा पानी निकलने लगा मेरा शरीर अकड़ने लगा.