हिंदी साड़ी वाली बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,छोटी लड़की की एक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ मराठी हिंदी: हिंदी साड़ी वाली बीएफ वीडियो, ममता ने प्रकाश से कहा- चलो चेंज कर लो, थोड़ी देर सोते हैं, कल तो छुट्टी है.

गधे का सेक्सी वीडियो

परमीत ने केक काटने के बाद सबसे पहले संजय को एक टुकड़ा केक खिलाना चाहा, पर संजय ने मना कर दिया. तीतर की आवाजममता बोली भी कि मैं सुबह ले लेती, राजन मुस्कुरा दिया और अपने कमरे में वापिस आ गया.

मैंने कोमल की खूबसूरती की खुले दिल से तारीफ़ की और अपने दिल की हालत भी बयान कर दी. व्हिडिओ फिल्मफिर वो उठी और उसने अपनी नाईटी उतार दी और पूरी नग्न अवस्था में आ गई.

मैंने अपनी गाड़ी पार्किंग में पार्क की और पार्क के अन्दर घूमने चला गया.हिंदी साड़ी वाली बीएफ वीडियो: मुझे 2 या 3 दिन लग जाएंगे, तो तू अपनी आंटी के साथ रात को घर पर ही सो जाना.

… आहाआअ … उह्ह्ह्ह्ह्ह् …कोई पांच मिनट तक चुत की रगड़ाई के बाद मैंने झटके से लंड बाहर खींच लिया.वो एक प्रेमिका की तरह मेरी गर्दन, होंठों, गाल और छाती पर किस करने लगी.

विडमेट डाउनलोड 2021 - हिंदी साड़ी वाली बीएफ वीडियो

हम कुछ बोल भी नहीं सकते थे क्योंकि अब उन चारों ये हमारे मुँह पर पट्टी बांध दी थी.अब मैं और जोर से उसके लंड पर अपनी गांड को धकेलने लगी और उसके साथ ही अपने बूब्स को भी दबाने लगी.

रवि ने उसे समझाया कि ऐसा नहीं हो सकता, बिजनेस मीना ढूंढ कर लायी थी और ऊपर से रवीना यहाँ थी नहीं तो वो क्या करता. हिंदी साड़ी वाली बीएफ वीडियो ली मादरचोद … चुद गयी … तेरी … फुद्दी … कुतिया … साली तेरी … बहन की … चूत मादर … चोद … ले मेरा … लंड और … साली … चुद … अह्ह्ह्ह … ह सीई उफ!मोनू भी उसकी गांड मारता हुआ बोला- उई ले चुद माद…र चोद अ.

नेहा- आह अमित … अब अच्छा लग रहा है … हां ऐसे ही उईईई … आह एई उह आह माई मर गई.

हिंदी साड़ी वाली बीएफ वीडियो?

मेरा रंग एकदम गोरा है, शरीर पर हल्के बाल हैं और मेरा वजन 60 किलो है. कान में धीमी आवाज़ में फुसफुसाई- राजे तू खुद ही है न इतना बड़ा तोहफा … और किसी तोहफे की क्या ज़रूरत थी राजे … वैसे मैंने अंदाज़ लगा लिया कि तू क्या गिफ्ट लाया है. इस तरह अभी आंटी के घर में कुछ और चुदाई की कहानी लिखना बाकी है, जो मैं कहानी के अगले भाग में बताऊंगा.

मुझे नींद आ रही है इसलिए तुम अच्छे से पैर दबाना … बस ज्यादा ऊपर मत आ जाना. मैंने कहा- तो फिर अब क्या इरादा है?वो बोली- कुछ दिन के बाद मेरे पति अपनी मां के साथ गुड़गांव जा रहे हैं. मैं ऊपर रूम की तरफ आ गयी और ज़ब में रूम में आयी तो मैं बहुत शॉक रह गयी.

इसमें कोई शक नहीं कि जालान आंटी की बेटी सुमन सुन्दर थी, मनीषा की अपेक्षा बहुत सुन्दर थी. कुछ ख़ास नहीं … कोई बीस-पच्चीस मिनट!”ओह … !” वसुंधरा ने अपने दोनों हाथ बढ़ा कर मेरा हाथ अपने हाथों में थाम लिया और अपने गुलनारी होंठों से मेरे हाथ की पुश्त चूम ली. नीरज- वैसे मैं लक्की हूँ कि मुझे आलिया के साथ सेक्स करने का मौका मिला.

उसने फिर भी मेरी ब्रा और पैंटी को मेरे सामने उठाया और सूंघ कर उसको अपनी जेब में डाल लिया और चला गया. मैं एक 28 साल का युवक हूँ और मेरे लंड की साइज़ भी इतनी मस्त है कि ये किसी भी लड़की या भाबी को चुदाई का पूरा मज़ा दे सके.

झट से अपने कमरे में जाकर मैंने बनियान और चड्डी पहनी और पैन्ट शर्ट उतार कर आ गया.

वसुंधरा की आखों में असीम काम-मद उतर आया था, साँस धौंकनी की तरह चल रही थी.

करीब 30 मिनट बाद कुछ आवाजें सुन कर मेरी आंख खुली, बस अगले स्टाप से सवारी चढ़ा रही थी. मैंने उसकी चुत पर एक किस किया, तो उसने अपने दोनों पैर फैला लिए, जिससे चुत पूरी खुल कर सामने आ गयी. हम दोनों को बहुत तेज दर्द हो रहा था तो इस वजह से होंठ छूट गए, हम दोनों की चीख निकल गई।मैंने नीचे देखा तो उसकी चूत से गर्म गर्म कुछ निकल रहा था.

”दोनों जोड़े मतलब?”एक हो बनियान में से दिख रहे हैं और दूसरा जब तौलिया गिरा था. अभी मेरे 12 वीं के रिजल्ट आने में पूरे दो महीने थे, तो मैंने भी अपने लिए एक इंग्लिश की कोचिंग लगा ली और मैं इंग्लिश की कोचिंग करने लगा. जो होता है अच्छे के लिए होता है!राजन की यह समझदारी उन दोनों को बचा गयी.

मैं किसी भी महिला या लड़की को देख कर बता सकता हूं कि वो चुदक्कड़ है या नहीं.

फिर मैंने नीलू को अपने सामने खड़ा किया और उसके बूब्स चुसने शुरू कर दिए अक्षय नीचे बैठकर अभी भी नीलू की चूत चाट रहा था. दीदी- हां कमीने, तुझे तो अपनी बहन चुदते देख कर मजा ही आएगा न?मैं कहा- हां और मुझे अपनी बहन चोदने में भी मजा आता है. और मुस्कान के चूतड़ों की तरफ़ अपने चूतड़ लगा कर सीमा सतीश की बांहों लिपटी हुई थी.

उन्होंने कुछ नहीं कहा और अपनी गांड फैला कर मेरे लंड को लीलना शुरू कर दिया. उल्टा … तुम्हें इतना ज्यादा हर्ट किया था कि वो दर्द मुझे खुद भी महसूस हुआ था. तो मित्रो, आप सब को मेरी यह आपबीती, गाँव की छोरी की कुंवारी चूत की चुदाई की कहानी पसंद आयी या नहीं? तो मुझे मेल करें.

भाभी के मुँह में लंड का अहसास पाते ही मुझे तो मानो जन्नत मिल गई थी.

वह बहुत बुरी तरह से तड़प रही थी और बिलबिला रही थी परंतु मैं उसे अब मझधार में छोड़ नहीं सकता था इसलिए मैंने अपने हाथ पैरों से उसे कस के जकड़ा हुआ था. मैंने जिया को कंडोम का पैकेट दे दिया और वो सेक्सी स्माइल करके कंडोम लंड पर चढ़ाने लगी.

हिंदी साड़ी वाली बीएफ वीडियो गपागप चपाचप हर प्रहार पर हंय हंय की आवाज माहौल को मदमस्त कर रहा था. मैंने सिल्क की चूत में लण्ड डाले हुए ही उसको लिटा दिया और खुद उसके ऊपर आ गया.

हिंदी साड़ी वाली बीएफ वीडियो दोस्तो, इसके बाद शैम्पेन तो छूट गई और मैं गुड्डी को अपनी गुड्डी रानी बनाने में जुट गया, उसके कौमार्य को कैसे भंग किया गया इसका वर्णन अगली कहानी में करूँगा. वो अपनी ही रौ में मस्त होते हुए कह रही थी- मैंने अपनी सहेली से पूछा कि काम में आएगा से क्या मतलब? तब उसने कहा कि मेरी चूत में आग लगी थी … तो मैंने अपने चचरे भाई से ही करवा लिया था.

और मैंने उसके लिप्स को अपने लिप्स में कैद कर लिया एक लम्बे स्मूच के बाद मैंने सिल्क को गुड मॉर्निंग बोला.

सेक्स सेक्सी चित्र

इतना बताना ठीक है ना … या आप लोगों को और कुछ जानना है?हां ठीक है भई … बताती हूँ … मैंने नीले रंग की प्रिंटेड ब्रा पहनी थी और काले रंग की पेंटी, जो मैं सामान्य ढंग से रेग्युलर पहनती हूँ. उसने अपना लंड निकाल लिया और सारा माल मीना के मम्मों पर निकाल दिया और अपना लंड मीना के मुंह में दे दिया. उसने जो टीशर्ट नीचे कर ली थी जल्दी ही अब वो ब्रा समते उसके बदन से उतर चुकी थी.

मैंने अपनी उंगलियों में ज्यादा सा तेल लिया और उसकी नाभि में डालते हुए नीचे तक टपकाता चला गया. वैसे सुरक्षित यौन संबंधों के लिए कंडोम का इस्तेमाल होना ही चाहिए, पर सुरक्षा की परवाह इस वक्त किसे थी. मैंने लाल रंग की साड़ी पहनी हुई थी और खुद को बार-बार आईने में देख रही थी.

मैं पूरी तरह से तैयार हो चुकने के बाद एकदम नई नवेली दुल्हन की तरह लग रही थी.

अंधेरे सिनेमा हॉल में लड़की की चूचियों को पीने का अलग ही मजा आ रहा था. कमरे में एक खिड़की थी और मैं उस खिड़की के पल्ले को किसी तरह साइड में करके अन्दर झांकने लगा. अब मुझे समझ में आया कि लड़के और लड़कियां आपस में क्या बात करते रहते हैं … क्यों इतनी देर तक बात करते रहते हैं.

मेरा पूरा लंड गीला हो गया था … मगर तब तक मेरा माल नहीं निकला था, तो उसने मेरे लंड से उतर कर मेरे लंड को अपनी मुँह में ले लिया. मैंने नोटिस किया कि शालिनी बार बार तिरछी निगाहों से मुझे देख रही है. वो भी हांफते हुए मुझे चोद रहा था और आह्ह … उफ्फ करके सिसकारी ले रहा था.

मैंने उसे धीरे धीरे प्यार करते हुए उसके ब्लाउज के बटन भी खोल दिए उसने अंदर एक पिंक वाली नेट की ब्रा पहनी हुई थी. व्हिस्की, सोडा, गिलास, आइस क्यूब सब उसने सलीके से लगा दिए और किचन से स्नैक्स ले आई.

उन्होंने मेरा मुँह लेकर लंड पर टिका दिया और बोले- चल कुतिया … लॉलीपॉप चूस ले. इतनी बात खत्म होने के बाद मैंने तुरंत भाभी के पास जाकर उन्हें एक किस किया. मुझसे ये भी कहते नहीं बना कि मैं अभी कुछ देर में उनसे बात करे लेती हूँ.

और मैंने साथ ही उसकी चूत और बोबे की पिक मांगी।दोस्तो, चूत को जितना ज्यादा समय तक चोदोगे, चुदाई जितनी लंबी होगी उतना ही मजा बढ़ जाता है, ठीक वैसे ही जैसे च्विंगम को जितना ज्यादा चबाओगे मजा बढ़ते ही जाता है, तो आप सब समझदार ही हैं.

फिर मैंने बुद्धा गार्डन जाने का रास्ता पता किया। हमने तय किया कि मैं थोड़ा पहले निकल कर बस से हॉस्पिटल के अगले स्टॉप पर उतर जाऊँगा और वो अपनी स्कूटी से वहीं पर मिल जायेगी. मैं नताशा की गर्दन को चूमने लगा और ज्यादा उत्साहित होकर उसकी गर्दन पर लव बाइट दे दिया. मैंने अपना लंड उसके चूत पे रखा और सहलाने लगा।तभी ध्यान आया की साला जल्दी में निरोध तो लाया ही नहीं.

मैंने वसुंधरा के काम-ऱज़ में लिथड़ी हुई अपनी उंगलियां वसुंधरा की योनि की दरार पर टिका दी. आज की शाम वसुंधरा दो बार स्खलित हुई थी और मैं भी अपनी मंज़िल से कोई ख़ास दूर नहीं था.

फिर 4 बजे तक नेहा की चुत को साफ करके मैंने उसकी गर्म पानी से सिकाई की. मैंने भी एक अच्छे दोस्त जैसे व्यवहार किया और उसकी नजरों में अपनी छवि एक अच्छे लड़के की बनानी शुरू कर दी. अंदर जाने के बाद उसने गेट बंद कर लिया और मुझे हाथ पकड़ कर अंदर ले गयी.

सेक्सी बलिये (सीक्रेट सुपरस्टार)

सी … !”वसुंधरा अपने हाथ मेरी गिरफ़्त से छुड़वाने के लिए बुरी तरह तड़फने लगी.

थोड़ी ही देर में हम दोनों चरम पे पहुंचने को थे कि मैंने उसको खींच के नीचे लिटा दिया और मिशनरी पोजीशन में उसकी चूत लण्ड उतार दिया. मैंने उस लड़के से कहा- ये आप क्या बकवास बातें कर रहे हो!इतना कहते ही उसने मेरे बूब्स को दबाना शुरू कर दिया. अब संजय ने कहा- तुम दोनों आपस में ही लगी रहोगी, तो हमारा क्या होगा?उसकी आवाज से हमारी मदहोशी टूटी और हम खड़े हुए.

अपने लंड को हाथ में लेकर मेरी नाक और माथे पर पटकते हुए वो पट-पट की आवाज करने लगा. तत्काल वसुंधरा के शरीर में एक छनाका सा हुआ और और आने वाले पल की प्रत्याशा में वसुंधरा सिहर-सिहर उठी- सी … मर गयी … ओह … सी … ईं … ईं … ईं … !!वसुंधरा के जिस्म में रह-रह कर सिहरन उठ रही थी. कैटरीना कैफ xxxमेरी भी हवस बढ़ती जा रही थी तो मैंने जीन्स के ऊपर से उसका लंड पकड़ लिया जो सच में अच्छा खासा बड़ा था.

उन दोनों के साथ उनकी चार बेटियां डोली, पूजा, सोनिया और शालू रहती थीं. इस घटना के बाद से मैं उसको कुछ ज्यादा ही घूरने लगा था और वो भी मेरे साथ बात करने का एक भी मौक़ा नहीं छोड़ रही थी.

हम सबका होटल एक ही था तो गुड नाईट बोलकर मैं जाने लगा तो मौका देखकर नीलू ने मुझे गले से लगा लिया और गाल पर पप्पी देकर भाग गई।अब मैं आपको नीलू और सरीना के बारे में कुछ बता देता हूँ, नीलू एक 24 साल की ऐसी लड़की है जिसे हर कोई अपने बिस्तर तक लाना चाहता होगा. जाते ही उसने मुझे जोर से गले लगा लिया और बोली- मत जाओ ना!मैंने उसको बोला- यार 4 दिन का ही प्रोग्राम था, अब जाना पड़ेगा. काम के तीव्र आवेश के कारण वसुंधरा के मुंह से निकलने वाली ऊँची-ऊँची काम-कराहों से सारा कमरा गुंजायमान था.

मैं- क्यों … मैं नहीं आ सकता क्या?स्वीटी आंटी- नहीं नहीं रॉकी … ऐसी बात नहीं है, अच्छा अब चलो. इस घटना के लगभग चार दिन बाद जालान आंटी आईं और बोलीं- बेटा, तेरा भाई टूर पर गया हुआ है और सुमन को डॉक्टर के यहां ले जाना है, तो क्या ले चलोगे?क्यों नहीं आंटी! आप आधी रात को कहेंगी तो भी चलूंगा. मैं उनकी लड़की पर कहीं डोरे न डाल दूं, इसलिये हर समय अपनी बेटी सुमन को मेरी बहन बनाने पर तुली रहती थीं- तेरी बहन का रिजल्ट आ गया है, तेरी बहन खाना बना रही है, तेरी बहन ननिहाल गई है.

पर आपको काल्पनिक कहानी ही पढ़नी है … तो अंतर्वासना पर हजारों अच्छी कहानियां पड़ी हैं.

नीरज ने संजू की चूत में झड़ते झड़ते उसको कसके अपने सीने से चिपका लिया, जिससे संजू की चुचियां नीरज की छाती पर छितरा गईं. धीरे धीरे मैं नीचे आता गया और उसके पैरों पे और उसके पैरों के अंगूठे को चूसा.

मगर काउंटर पर वही कलमुंहा ट्रेनर बैठा देख कर मेरा सारा प्लान चौपट हो गया. चाची को इस तरह से नंगी देख कर मेरा लंड टाइट होकर बाहर आने को मचलने लगा था. फिर मैंने बुद्धा गार्डन जाने का रास्ता पता किया। हमने तय किया कि मैं थोड़ा पहले निकल कर बस से हॉस्पिटल के अगले स्टॉप पर उतर जाऊँगा और वो अपनी स्कूटी से वहीं पर मिल जायेगी.

वो बार बार मेरे सीने को सूंघती और मर्दाना गंध को महसूस करते हुए आंखें बंद कर लेती. मैंने तेज तेज चुदाई शुरू की और उनकी चुत से बाहर लंड खींच कर मुँह से लगा दिया. तब मैं तो जरा डर गया पर उनसे कहा- कुछ प्रोब्लम नहीं ना होगी?तो वो बोली- नहीं होगी.

हिंदी साड़ी वाली बीएफ वीडियो आज चाची के पेटीकोट खुले होने के कारण से मैं उनकी गांड को अपने नंगी आंखों से एकदम साफ़ देख रहा था. उसने कहा- नहीं … मैंने उसे बोला कि थोड़ी देर पार्किंग में कार पार्क करनी है.

घोड़ा घोड़ी का सेक्सी फिल्म

मेरी चूत को चाटते हुए वो बोला- मादरचोद साली, तेरी चुदाई तो मैं बहुत दिनों से करना चाह रहा था. इतने पर परमीत ने टोका- दोस्त नहीं, सिर्फ जिगोलो कहो … और वो जिगोलो की तरह ही रहेगा भी. संजय ने गर्मजोशी से हमारा स्वागत करते हुए कहा- यार परमीत, सरप्राइज तो मैं तुम्हें देना चाहता था, पर गीत को साथ लाकर तुमने मुझे सरप्राइज दे दिया.

इसके दूसरे दिन मैं मनु और परमीत लेस्बियन करेंगे, हम दोनों में ये तय हो गया. मैंने उसके मुँह को चोदना जारी रखा और पूरा रस उसके मुँह में निकाल दिया. काफी सेक्सीवो तो ये सुन सुन के बेचैन हुए जा रही थी कि मैं उसके बदन को कुत्ते की तरह चाटूँगा.

जिसमें मैंने अपने दोस्त दीपक के घर पर जाकर उसके यौवन से भरपूर रसीली मधु भाभी के यौवन का रसपान किया.

मुझे उसकी नीयत पर कुछ शक हुआ तो मैंने उससे कहा कि अब बोट को वापस ले चले. उसने अब मुझे घोड़ी बनाया और अपना मोटा लंड मेरी गांड के अन्दर डाल दिया.

यह मन में सोचकर मैं घर आ गयी।तो दोस्तो, आप सबको मेरी चुदाई कहानी कैसी लगी? आप सब मुझे[emailprotected]पर मेल करके बता सकते हैं। मुझे आप सबके मेल का इंतज़ार रहेगा। और जो लोग मुझसे फेसबुक पर जुड़ना चाहते हैं वो मुझसे https://www. तब करीब 10 मिनट तक उन्होंने मेरा लंड चूसा पर किसी तरह का पानी नहीं निकला और लंड अभी भी तन के ही खड़ा था. जब मुझे लगा कि भाभी जी पूरी तरह गर्म हो चुकी हैं तो मैंने अपना लंड उनकी चूत पर सटा दिया और हल्का हल्का ऊपर ही रगड़ने लगा.

मैं शायद उसे दिल से पसंद करता था इसलिए मैंने उसे और लड़कियों की तरह अब तक नहीं चोदा था.

मैंने कहा- और सुलगाएगा कौन?तो उसने अपने होंठों पर सिगरेट रख कर लाइटर से जलाई. आह आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… हाय हाय … राजे ज़ोर से ठोक कमीने … उई उई … माँ … बना दे हरामी बेबी रानी को बेबी रंडी … तेरी रखैल बनी रहूंगी … अब ज़ोर से चोद ना मादरचोद. गीत … गीत … गीत … ओ मेरी गीत … आई लव यू गीत … आई मिस यू सो मच गीत … मेरे मन में ऐसे शब्दों की बाढ़ सी आ गई … और मैंने मैसेज करके उसे भी ये सब कहा.

भाभी की चुदाई साड़ीमतलब संजना प्रतीक्षा के दूध दबाने और चूसने लगी और संयोगिता ने प्रतीक्षा की चूत चाटना शुरू कर दिया. वाह … शादी और बेबी होने के बाद तो स्वीटी आंटी क्या मस्त माल बन गई थीं.

सेक्सी भिडियो हिन्दी

मीना ने अपना तौलिया लपेट लिया था और कुणाल और रवि के बीच में खड़ी हो गयी. क्यूंकि मेरे मकान मालिक के यहाँ कुछ मेहमान आये हुए थे।हमने अगले ही दिन मूवी देखने का प्लान बनाया. पहले मेरा नौकरी करने का कोई मन नहीं था, पर कुछ मजबूरियों की वजह से करनी पड़ी.

इसी दौरान मैंने मौका देख कर अपना दुखड़ा भी रो दिया ताकि उसको ये पता चल जाए कि मैं अकेलेपन से कितना दुखी हूँ।कुछ देर और बातें होती रही।उसके बाद मैंने शीराज से फोन पर बात करी।उसने कहा कि वो अपने ऑफिस के कुछ ज़रूरी काम निपटा रहा है, तो आप लोग जितनी पैकिंग हो सकती है, कर लो।मैंने ज़ायरा से कहा- शीराज को तो ऑफिस में टाइम लगेगा. कुछ ही देर में आलिया ने मेरी शर्ट उतार दी और हम दोनों मस्त होकर रोमांस करने लगे. अब उन्होंने मेरे कपड़े उतारने शुरू कर दिए और मुझे सिर्फ अंडरवियर में छोड़ दिया.

इधर रजत ने लंड डाल कर शांति बनाई रखी और उधर संजय ने हसन से सीख लेकर गांड को धीरे धीरे तैयार कर लिया. ’ करने लगीं, अपने ही उरोजों को नोंचने लगीं, निप्पलों को उमेठने लगीं. लेकिन साथ में माता जी के होने की वजह से मैं खुल के रेनू से बात नहीं कर पा रहा था.

अब तो बस मैं और सुरभि मौका ढूंढ रहे थे कि कब अकेले मिल सकें और अपनी तन की प्यास बुझा सकें. मिताली भाभी बोले भी जा रही थीं- ओ मेरे राजा … बजा दे मेरा बाजा … वाह क्या चूत मारते हो … कमाल हो गया आज जैसे मज़े कभी नहीं आए … आह … चोदो … और जोर से मारो …मैं उन्हें चोदे ही जा रहा था.

संजू ने कुछ देर सोचा, फिर बोली- नहीं भैया मैं बर्दाश्त नहीं कर पाऊंगी.

पता नहीं क्यों … जब वो पलंग से उतरी तो मैंने उसके चादर खींच ली और उसको वैसे ही नग्न बाथरूम जाने को कहा. फर्स्ट नाईट सेक्सी वीडियोपांच मिनट के अंदर ही मेरी चूत में लंड का जोश भरने लगा और मैं गांड को उछाल उछाल कर चुदवाने लगी. लौंडिया लंदन फिल्ममैं सोच रहा था कि यदि आज ये हरामी लड़के न आ गए होते, तो मैं मैडम की चूत की आग को बुझा देता. ’ की आवाज के साथ गाली भी निकल रही थी- साले हरामी मारेगा क्या … कुत्ते की तरफ चूत चाट रहा है.

मुझे देखकर वो मुस्कुरायी और बोली- कहाँ गयी ऐसे नंगी? कोई मर्द मिल गया था क्या?और फिर उसने कुछ गन्दी बातें मुझे बोली और मैं चुपचाप सुनती रही.

मेरी उँगलियों का सफ़र वसुंधरा की पैंटी के ऊपर से ही वसुंधरा के नितम्बों की फांक के निचले सिरे की ओर मुसल्सल जारी रहा और नितम्ब जहां ख़त्म होते हैं, गुदा और योनि के बीच की जग़ह पर मेरी उँगलियों ने इक नन्ही-मुन्नी सी शरारत कर दी. आंटी समझ चुकी थीं कि अब ये फिर से मेरी चुत छूने वाला है, इसलिए आंटी ने और जोर से अपने दोनों पैरों को काफी मजबूती से सटा रखा लिया, ताकि अपनी चुत को छूने से बचा सकें. तो वो मान गयी और बोली- एक बार मेरी चूत चाट ले यार … बहुत आग लगी हुई है.

दोस्तो, कैसी लगी मेरेपहले सेक्स की कहानी… आशा करता हूँ कि आपके छेद और मूसल गीले हो गए होंगे. लेकिन तू है कमाल … !” तभी बाहर आँखें चौधियां देने वाली बिजली कौंधी और ज़ोर से बादल दहाड़े और इस के साथ ही लाइट चली गयी और सर्वत्र अँधेरा छा गया. फिर सुहास ने मेरी ब्रा की लेस पकड़ कर खींच दी और मेरी ब्रा कंधे से होते हुए नीचे गिर गयी.

एक्स एक्स वीडियो सेक्सी वीडियो दिखाओ

पर रवीना ने कहा कि उसे कोई दिक्कत नहीं है क्योंकि वो भी पिछले छह माह से पीजी में रह रही है, तो देर रात आने जाने में उसे कोई टेंशन नहीं है. उसने बड़े प्यार से रवीना को समझाया कि वो घबराए नहीं, ब्रांच का पूरा बिजनेस रवीना को मिलेगा. अब उन्होंने मेरे कपड़े उतारने शुरू कर दिए और मुझे सिर्फ अंडरवियर में छोड़ दिया.

टाँगें एकदम चिकनी और सुडौल और पांव तो माशाल्लाह … क्या बात है … बेहद सुन्दर!नज़ारा देख कर लौड़ा उछल कूद मचाने लगा.

फिर उन्होंने बोला- अब और मत तड़पाओ बेटा … मेरी गांड का उद्घाटन करो … मैं तुमसे पहली बार ही डलवा रहा हूँ, तो थोड़ा प्यार से करना.

मैंने प्रीति की सलवार को खोलना चाहा तो प्रीति ने मना कर दिया और बोली- रात को करेंगे. कानुपर में अपनी शिखा मामी की जवानी को याद करते हुए उधर शिखा मामी की चुदाई की तैयारी में लग गया था. गेन यूट्यूब डाउनलोड फोटो नया सालना जाने कब प्यार हो गया मुझे पता ही नहीं चला।ऐसे करते करते एक दिन बातें सेक्स की तरफ़ चली गई।क्रिया- तुम तो बातें भी काफी अच्छी करते हो.

मेरी गांड और सिल्क की गांड एक दूसरे की लए में लए मिलाते हुए अपने अंत की तरफ बढ़ चले. ! गॉड … सी … ई … ई … ! स … स … स … ! आह … !”मेरे दोनों हाथों की दसों उंगलियां जैसे मक्ख़न मथ रही थी. एक बार मिलो तो?लड़की- पर कहां?लड़का- कल से पूजा पाठ शुरू होगा न?लड़की- हां.

आमिना को मेरे बारे में नहीं पता था लेकिन मैंने आमिना को देखा हुआ था. अपनी तारीफ सुनकर मैं और मचलने लगी और परमीत ने भी दीदी की बातों के बाद अपनी हरकतों में तेजी ला दी.

काम के तीव्र आवेश के कारण वसुंधरा के मुंह से निकलने वाली ऊँची-ऊँची काम-कराहों से सारा कमरा गुंजायमान था.

हम दोनों गले मिले, फिर चाय नाश्ता हुआ, थोड़ा आराम करने के बाद जीजू भी आ गए, वो भी मुझे देख कर बहुत खुश हुए. उसने मेरे रूम का गेट हल्का सा खोल कर देखा, तो मैं सामने ही नंगी खड़ी होकर अपने बाल सुखा रही थी और बात कर रही थी. दीदी का खुला बदन मेरी आंखों के सामने था। हर एक धक्के के साथ उनकी चूचियां ऊपर नीचे हो रही थीं। दीदी के हाथ उसके बालों में थे। उनकी चिकनी काखें मेरे सामने थीं। दीदी का वो चुदक्कड़ और कामुक रूप सच में देखने लायक था.

एक्स एक्स एक्स हीरोइन फोटो अगर उसका बस चलता तो वो वहीं पर नीचे लिटा कर उस लड़की की चूत चुदाई कर देता. हमारे यहाँ नारी के बहुत से रूप हैं एक निधि का तो दूसरा सिल्क का!फैसला आपका है कि आपको कौन सा रूप पसंद है.

मैं कविता की आपबीती तो सुन रहा था लेकिन मेरा लण्ड अपनी ड्यूटी निभा रहा था. उधर ये सब देख देख कर प्रियंका की चूत से भी पानी टपकने लगा था और वो फिगरिंग कर रही थी. आपको मेरी चुत चुदाई की कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेरी सेक्स कहानी की लेखिका को मेल करके जरूर लिखिएगा.

डॉक्टर सेक्सी एक्स एक्स एक्स

हम दोनों रूमाल के चक्कर लगा रहे थे, तभी जिया ने मुझे फ्लाइंग किस किया. उससे फ़ोन पर तो मेरी रोज़ बात हो ही रही थी, तो उसकी चिंता भी साफ़ झलक रही थी. यूँ कहना चाहिए कि चुदाई के लिए रानी के मुंह में भर भर के पानी आ रहा था.

और वो भी अक्सर अपनी हर ड्रेस में चाहे वो साड़ी हो या सूट, अपना थोड़ा सा क्लीवेज हमेशा दिखा कर रखती है।मैं और शीराज अक्सर एक दूसरे को मज़ाक करते थे. एकाएक चूमते-चूमते रोहित ने संजना की डिजाइनर साड़ी का पल्लू नीचे गिरा दिया और ब्लाउज के ऊपर से ही संजू की सुडौल एवं गदराई चूचियों पर हाथ फेरने लगा.

अचानक मेरी नजर एक पेड़ के पास पड़े पत्थर पर पड़ी मैंने एकदम अपना लंड रोजी की चूत से निकाला तो पक्क की आवाज आई और हट गया।रोजी मुझे कुछ गुस्से और कुछ विनती की नज़रों से देखने लगी कि छोड़ क्यों दिया?मैं उस पत्थर पर पीठ लगाकर बैठ गया और रोजी को इशारा किया वो खिलखिलाती हुई मेरे पास आई और पेड़ की तरफ मुँह करके मेरे लंड पर अपनी चूत सेट करके बैठ गई।अब मेरे मुँह के सामने उसके गोर तने हुए दूध थे.

आंटी की चूत जितनी गीली हो रही थी मुझे चूसने में उतना ही मज़ा आ रहा था।अब मेरा लिंग अपनी परम उत्तेजना पर आ चुका था. और डॉक्टर कह रही थीं कि अपने पति से यह दवा लगवा लेना, अन्दर तक लगानी है. मैं धीरे से अपना लंड उनकी चूत फेरने लगा तो चाची कामुक आहें भरने लगी और तड़पने लगी.

उफ्फ … क्या मस्त गान्ड थी यार!जब बार बार मैं उससे रगड़ रहा था तो अब शायद उसको भी मज़ा आ रहा था। तभी वो भी कुछ नहीं बोल रही थी. ”चल बैठ!” और मुझे बाइक पे बिठा के वो मेरे पीछे बैठ गया।बाइक चल पड़ी और पीछे वाले ने मेरी चूचियाँ पकड़ ली और दबाने लगा।भाई, आज तो मस्त चीज़ हाथ लगी है. उसने अपनी टांगें खोल दीं और साथ ही उसने मेरे लंड को अपने हाथ में थाम लिया.

मैंने जैसे ही उसके निप्पल को अपने मुँह में लिया, वो आहें भरने लगी और उचकने लगी।मैं कभी एक बूब तो कभी दूसरा तो कभी उसके बूब्स के निप्पलों के चारों ओर अपनी जीभ फिराता.

हिंदी साड़ी वाली बीएफ वीडियो: मैं भी कल रात की भूखी थी, तो मैं उसकी शर्ट के बटन खोलने लगी और उसकी शर्ट उतार दी. संजू ने उसे सहारा देकर उठाया और पूछा- क्या हुआ भाभी?वो बोली- सब आपके हस्बैंड के कारण हुआ … ऐसा भला कोई सेक्स करता है.

”और उसने कपड़े उतार दिए।मैं भी नँगी हो गयी। बाथरूम में शावर के नीचे उसने मुझे पीछे से जकड़ लिया।उसका हाथ नीचे आया, मेरी जांघों के बीच में …यहां पे चूत होनी चाहिए थी न?”हाँ डॉक्टर साहिबा, मेरी भी यही चाहत है. बस अभी हम दोनों ही बच्चा नहीं चाहते थे क्योंकि अभी हम लोग किराये के मकान में रहते हैं और जब हमारा खुद का घर होगा, तब हम बच्चे के बारे में सोचेंगे. एक दो बार चाची ने भी मुझे उनके चुचे ताड़ते वक़्त देख लिया … पर उन्होंने कुछ नहीं कहा.

इतनी चूतों की चुदाई के बाद भी लंड को देख कर कोई ये नहीं बता सकता कि इसने इतनी चूतों को खुश किया हुआ है.

उसने मेरी पैंटी को खींच कर उतार दिया और सीधा मेरी चूत में जीभ देकर चाटने और चूसने लगा. मुझे तो तैयार होने का बिल्कुल मन नहीं था, पर परमीत के सजने संवरने को देख कर मुझे भी तैयार होना पड़ा. अब मुझसे रहा नहीं गया, तो मैंने कहा- जल्दी बता ना कुतिया … और कितना तड़पाएगी.