सेक्सी बीएफ कार्टून सेक्सी बीएफ कार्टून

छवि स्रोत,मारवाड़ी सेक्सी वीडियो चोदा बाटी

तस्वीर का शीर्षक ,

थ्री एक्स व्हिडिओ कॉम: सेक्सी बीएफ कार्टून सेक्सी बीएफ कार्टून, केवल उन्हीं की चूत को चोदना है क्या? मेरी चूत की सफाई कौन करेगा?मैं बोला- कोई बात नहीं, तुम भी आ जाओ.

సెక్స్ తెలుగు మూవీ

बुआ की चूत पर मुलायम रेशमी छोटे-छोटे ऐसे बाल थे … जिन्हें देख कर लग रहा था कि बुआ ने दो दिन पहले ही साफ किए हों. तमन्ना सेक्सी व्हिडिओजउसके स्तन मेरी छाती को छू रहे थे, बल्कि ये कहूं कि एकदम से सटे हुए थे.

ब्रा के ऊपर से ही रेखा की चूची दबाते हुए मैंने कहा- तुम्हारे कबूतर बहुत खूबसूरत हैं, इन्हें आजाद कर दो. हॉट सेक्सी फोटोसएक बार तो सोचा कि काफी देर हो चुकी है और मैं लवली को फोन कर देता हूं.

लेकिन हॉल में भी कोई नहीं था, इसलिए मैं किचन में आ गया, जहां पर दीदी ब्रेकफास्ट बना रही थीं.सेक्सी बीएफ कार्टून सेक्सी बीएफ कार्टून: मैंने कहा- क्या?उसने कहा- तुम अपनी पैंट उतार दो।मैंने पैंट उतार दी.

फिर अचानक नीरव ने कहा- डार्लिंग, कल तुम कॉलेज बंक कर सकती हो क्या मेरे लिए?मैंने कहा- यार, कल तो मेरा टेस्ट है.वो बोली- क्या हुआ? अपनी भाभी की गांड की चुदाई नहीं करेगा क्या?गलती से मेरे मुंह से निकल गया- मैंने तो अपनीगर्लफ्रेंड की गांड चुदाईभी कभी नहीं की है.

16 साल लड़कियों की सेक्सी वीडियो - सेक्सी बीएफ कार्टून सेक्सी बीएफ कार्टून

मैंने उससे पूछा- ग्रुप में कौन कौन रहेगा?तो उसने कहा- मेरे 3 दोस्त और उनकी गर्लफ्रेंड रहेंगी … हम सब बहुत मस्त चुदाई करेंगे.फिर एक दिन संडे को हम मतलब मैं, मॉम और डैड डाइनिंग टेबल पर ब्रेकफास्ट कर रहे थे.

मैंने सोचा पता नहीं अब तलाक होगा भी या नहीं होगा वो तो बाद में देखेंगे, मगर अभी तो सासू मां की चुदाई करने का सही मौका है. सेक्सी बीएफ कार्टून सेक्सी बीएफ कार्टून वो जोर जोर से सी… सीई… सीईई… करके आवाज़ करती रही।मैंने उसका एक हाथ मेरे हाथ में लिया और मेरे लंड की तरफ इशारा किया। पहले तो वो पैंट के ऊपर से ही मेरे लंड को मसलने लगी लेकिन फिर तुरंत बाद जोर से दबा कर वो मेरे लंड की तरफ मुड़ गयी। वो घुटनों के बल नीचे बैठ गयी।शायना ने मेरी बेल्ट को खोला और मेरी पैंट उतार कर एक तरफ रख दी। मैं अब उसके सामने अंडरवियर में खड़ा था.

जब बबलू ने भी ग्रेजुएशन पूरी कर ली तो उसकी नौकरी भी मैंने अपने परिचित के यहां लगने में उसकी मदद कर दी.

सेक्सी बीएफ कार्टून सेक्सी बीएफ कार्टून?

जैसे तैसे मैंने एक महीना गुजारा और फिर तीन दिन की छुट्टी लेकर ससुराल की तरफ चल दिया. मैंने इधर उधर देखा तो उधर कोई दूसरी लड़की दिख ही नहीं थी, यानि ये आवाज उसने मेरी आहट पाकर शायद मुझे ही रूबी समझ लिया था. भाभी कहने लगीं- नहीं … मैंने आज तक गांड नहीं मरवाई है … बहुत दर्द होगा.

पापा बोले- कोई बात नहीं, अगर तुम्हारा देखने का मन किया करे तो तुम भी देख लिया करो. स्मृति का कद पांच फीट पांच इंच, तीखे नैन नक्श, गोरा रंग व भरा बदन मुहल्ले के सभी लड़कों के दिल में हलचल मचाये हुए था. उसके बाद मैंने भी अपनी स्लीपर का दरवाजा बंद कर लिया और मैं भी सो गया.

ये सुनकर भाभी मुस्कुरा दीं और मेरे लंड को हाथों में भर के हिलाने लगीं और अपनें होंठों से लंड पकड़कर उस पर जीभ फिराने लगीं. लेकिन उसी समय मौसा जी ने मेरी नजरों को बचाते हुए मामी जी को एक आंख दबा दी. कई बार जब पापा मेरी मां की चुदाई दिन के समय में कर रहे होते थे तो मैं और लवली भी मां-पापा की चुदाई लाइव देखने के लिए पहुंच जाते थे.

इसके बाद मैंने छिपी निगाहों से आंटी को देखा, आंटी मुझे ही देख रही थीं. वो अब दर्द से जरा भी नहीं तड़फ रही थी … लेकिन उसकी आँखों में अभी चुदाई की मस्ती नहीं दिख रही थी.

हरि मेरे नरम नरम मम्मों को सहलाते हुए बोला- शिबु क्या मस्त माल है तेरी गर्लफ्रेंड … आज ये मस्त मजा देगी.

मैंने- फिर तेरा मियां, तुझसे खुश नहीं है क्या? तू है तो सुन्दर सेक्सी भी है, मेहनत नहीं करता क्या तेरे साथ?वो हंस कर बोली- क्यों नहीं करता अभी कल रात ही तो …फिर शर्मा कर बोलते बोलते वो रुक गयी.

वो बहुत ज़ोर से चिल्लाने लगी थीं और कह रही थीं- आह सर आपको ये शौक कब चढ़ गया … कल तक तो आप बस चुत मार कर ही शांत हो जाते थे … आह आज शुरुआत ही इतनी ख़तरनाक है … क्या इरादे हैं आज हमारे प्रिंसीपल सर के. पापा ने लवली की कमर को पकड़ लिया था और वो भी नीचे से धक्कों का जवाब धक्कों से ही दे रहे थे. बुआ ने अपनी कमर को उठा उठा कर मेरे लंड को अपनी चुत अन्दर लेना शुरू कर दिया.

यहां पर दो लड़कियां आपस में बैठी हुई बातें कर रही थीं और मेरी नजर उनको ही निहारने लगी. बस वही हुआ, मौसी ने जब चार्जर की पिन को मोबाइल में खौंसा, तब पॉर्न वीडियो खुल गया और मौसी उसे देखने लगीं. मुझे पिताजी का इतना मेरे प्रति रूचि लेना तनिक भी नहीं भाया, ऐसा प्रतीत हो रहा था कि मेरी आकांक्षाओं पर अब गैर उम्मीदों का भार रखा जा रहा है व मेरे स्वछंद स्वभाव को नियंत्रित किया जा रहा है.

बलविंदर- अब क्या कार्य है यह बताओ, अन्यथा समय व्यर्थ करने से बेहतर है हम कुछ गणित का अभ्यास कर लें.

मैं आज की रात अपनी वो हवस पूरी करना चाहता था जिसके लिए मैं पिछले छह महीने से परेशान था. मगर पापा के चेहरे पर साफ दिख रहा था कि वो मुझसे नजर मिलाने की हालत में नहीं थे. दो मिनट बाद वो अमिता से अलग हुआ और बाकी सबकी तरफ देख कर इशारा किया.

अपनी कहानी के अगले अंक में मैं बताऊंगा कि कैसे मुझे इसी के चलते कई और भी मस्त मस्त चूत चोदने के लिए मिली. मैंने पानी पिया और उनसे पूछा- आंटी आपने इन पार्सलों में ऐसा क्या मंगवाया है, ये इतना भारी क्यों है?आंटी एक मिनट के लिए चुप हो गईं और मेरी तरफ देखकर कुछ सोचने लगीं. उसके बाद सलहज ने मुझसे अपनी चूत की प्यास कैसे बुझवायी?दोस्तो, आप सभी को मेरा प्रणाम.

तभी मुझे लगने लगा कि अब मेरा लंड पिचकारी छोड़ेगा, तो मैंने मंजू के सिर को अपने दोनों हाथों से पकड़ लिया और धीरे-धीरे शॉट मारने लगा.

एक दिन मेरे सर में दर्द हो रहा था, तो मैं कमरे पर ही था, काम पर नहीं गया था. छोटे वाला शहर में अपनी बीवी के साथ रहता है क्योंकि उसकी नौकरी वहीं है जबकि बड़े वाला बाहर जॉब करता है.

सेक्सी बीएफ कार्टून सेक्सी बीएफ कार्टून [emailprotected]फैमिली सेक्स स्टोरी का अगला भाग:मेरी अन्तर्वासना और मौसा से चुदाई-3. उसने मुझे भी किस करना शुरु कर दिया और लंड हल्के से अंदर-बाहर करने लगा।कुछ दस-पंद्रह मिनट के बाद वो मुझे अपनी बांहों में उठा कर कमरे में ले गया।रात भर की चुदाई के बाद मेरा जिस्म दर्द से टूट रहा था।फिर हम साथ में नहाए और कुछ खा पीकर के कुछ देर सो गये।मैं वहाँ पाँच दिन रही और इस बिना शादी के हनीमून के दौरान हमने खूब सेक्स किया.

सेक्सी बीएफ कार्टून सेक्सी बीएफ कार्टून गिलास उठाने के साथ साथ हर कोई उसके जिस्म के किसी न किसी हिस्से को सहला देता था. मेरे लंड और उसकी चूत का मिलन वाला भाग हम दोनों को ही दिख रहा था जिसको देखकर दोनों ही और ज्यादा कामुक हो रहे थे.

फिर मैंने बाथरूम में ही दीदी को कुतिया बना कर चोदा और नहाकर मैं अपने कमरे में आ गया.

सेक्सी डॉक्टर की

टिप 1- जब आप दिन में नहाने जाओ तो एक ऐसे समय पर जाओ जब आपके घर में आपके और आपके भाई के अलावा कोई न हो. उन्होंने पूछा- हितेश तू मुझे इतना क्यों घूर रहा था?मैंने उनकी तरफ देख कर कहा कि आप बहुत खूबसूरत दिख रही थीं … इसलिए. उसके बालों में हाथ फेरते हुए उसके सिर को ऊपर उठा दिया और उसके तपते होंठों पर अपने प्यासे होंठ रख दिये.

मेरे हाथों की उंगलियां बार बार ताई की बालों वाली चूत को छू रही थीं. फिर रोशन लाल ने एकदम से एक करारा झटका दिया और लंड का पूरा पानी अलीज़ा की चूत में फेंकने लगा. एक बार लंड का पानी निकल जाने पर तुरंत लंड चूसने लगती थी और जब तक लंड खड़ा नहीं हो जाता था, उसको चैन नहीं पड़ता था.

मैंने अपने एक साथी को ये कह कर मैडम के पास भेज दिया कि प्रिंसीपल सर ने आपको अपने ऑफिस में बुलाया है, उन्हें आपसे कुछ जरूरी काम है.

तो जब मैं उसके आँख मारने पर मुस्करा दिया तो उसकी हिम्मत थोड़ी सी बढ़ गई और उसने इशारे से मेरा मोबाइल नंबर माँग लिया. जिया मेम के लिए पार्टनर चुनने के लिए हमने दो पर्ची में हम दोनों के नाम लिख दिये. आखिर में मैंने उसकी पैंटी उतारने की बजाय फाड़ ही दी और उसको पूरी नंगी कर दिया.

मैंने एक जोर का झटका मार कर लंड पूरा अंदर घुसा दिया और मेरे लंड से वीर्य छूट पड़ा. आंटी की गांड टाइट होने के कारण लंड थोड़ा मुश्किल से अंदर बाहर हो रहा था और वो लगातार हाय … हाय … आह आह आह कर रही थी. फिर मेरा क्या होगा? इसलिए बेहतर है कि तुम मेरा साथ दो और मेरी गोद में सारी खुशियां डाल दो.

कोई आधा घंटे बाद जब मैं अपने घर आने लगा, तो उसने कहा- गौरव रुक जाओ … हम दोनों बैठ कर चाय पीते हैं. आप एक काम करो, सबसे पहले आप हमारी ननद को चोद कर फ्री करो, जिससे हम दोनों अपने घर जा सकें क्योंकि घर से निकले हुए हम दोनों को बहुत देर हो गई है.

फिर रोशन लाल ने अलीज़ा को फिर से सोफ़े पर सीधा लेटा दिया और जोर जोर से ठोकने लगा. मैं बहुत खुश थी क्योंकि बहुत दिनों बाद मेरी चूत ऐसे जबरदस्त तरीके से चुदी थी. कभी बीच बीच में वो मेरी चूचियों पर टूट पड़ता और उनके निप्पलों को चबा चबा कर खाने लगता.

सर का लंड मुंह में लिये हुए जिया मेम इस वक्त बहुत ही सेक्सी लग रही थी.

परिवार चिंतित था मेरी लम्बाई पिछले 3 वर्षो में केवल 2 इंच ही बढ़ी थी जो कि उचित दर से नहीं बढ़ रही थी. मेरी पिछली गांडू स्टोरीबड़े लड़के से मेरी गांड की चुदाई कहानीमें आपने पढ़ा था कि कैसे सेक्सी किताबों के लालच ने मेरी गांड मरवा दी थी चाहे आधी अधूरी ही सही. उसने अपनी चूत को मेरे मुंह के पास किया और फिर मेरे होंठों को अपनी चूत की गिरफ्त में ले लिया और जोर जोर से अपनी चूत को मेरे होंठों पर दबाते हुए सिसकारने लगी- आह्ह बेटा … ऊंह … ओह्ह … चोद दे बेटा … आज के बाद ये चूत बस तेरी है.

मैं ये देख रहा था कि आंटी की नज़रें मेरे पजामे पर मेरे लौड़े पर ही जमी थीं. मैं तो सोच कर ही परेशान हो जाता हूं कि मुझे ऐसी चालू और चुदक्कड़ लड़कियां क्यों नहीं मिल पाती हैं? काश मेरे साथ भी ऐसी ही कोई घटना हो जाये और मुझे भी नयी चूत चोदने का मौका मिल जाये.

कुछ ही पलों में वो बहुत ज्यादा गर्म हो चुकी थी और मुझे अपने ऊपर खींच रही थी. मैंने चौंकते हुए पूछा- ये क्या कर रहे हो, मामा?तुझे चोदने की तैयारी कर रहा हूँ. जैसे जैसे लंड का टोपा उसके बच्चेदानी को छूता, उसके मुख से आअह्ह ह्ह्ह्ह निकल जाती.

सेक्सी वाला गाना

जब मैं सुबह टट्टी करने जाउंगी तो टॉयलेट में मेरी गांड में अपना लंड डाल लेना.

फिर अचानक ऐसे हवा चली कि तब से आज तक मैं बहुत सारी भाभी और लड़कियों को चोद चुका हूं।कुछ ऐसे ही शुरू हुआ सफर मेरे जीरो से हीरो बनने का सफ़र।पर भाभियों में कुछ अलग ही बात होती है. उसने शॉर्टकट में थोड़ा बहुत बता दिया।मैं अब भी उसे अपनाने के लिए तैयार था। इसके लिए मैंने उससे वादा लिया मैंने उसको बोला- मैं तुम्हारे होठों को चूमना चाहता हूँ।पहले तो वो न नुकर करने लगी, बाद में उसने बोला- अपनी आंखें बंद करो।जैसे ही मैंने आंखें बंद की, मैं किसी और ही दुनिया में था. उस रिक्शा वाले ने मेरी चूत बुरी तरह से रगड़ दी थी और मेरी चाल थोड़ी लंगड़ी हो गयी थी.

मैं भाभी के निप्पलों पर जीभ घुमाता, तो भाभी के मुँह से ‘आहहहह …’ की मदमस्त सिसकारी निकल जाती. मेरा थूक सीमा की चूत पर से फिसलते हुए मेरे लंड के दोनों ओर से होकर नीचे जाने लगा. बिहारी लडकी सेक्सीमैं उनकी चुदाई की कामुक सिसकारियां और आवाजें सुन कर पागल हुआ जा रहा था.

मगर रोशन लाल ने उसके दोनों गाल दबा कर लंड को अलीज़ा के मुँह में घुसेड़ दिया. एक आदमी बिना कपड़ों के उसके पीछे से उसे धक्के लगा रहा था और साथ में पीछे से हाथ आगे लाकर उसकी चूचियों को मसल रहा था.

जब से दीदी को नंगी देखा था तब से ही उनका नंगा जिस्म मेरी आंखों के सामने नाच रहा था. वो मुझसे अलग हुआ और उसने मेरी टांगों को फैलाया और पेन्टी के ऊपर ही जीभ चलाने लगा।मेरा देवर चटखारे लेता हुआ बोला- चूत का स्वाद भी मदहोश कर देने वाला है।उसके बाद उसने अपने बैग से कुछ डोरी निकाली और मेरे बगल में बैठकर मेरी कलाइयों और पैरों को पलंग से बांध दिया. मैंने कहा- मूड बन गया है तो कौन सा मैं कहीं दूर हूँ … अभी चुदाई करे देता हूँ.

पापा ने मुझे चुदाई के प्लान के मुताबिक घर से बाहर भेज दिया और लवली को सोने के लिए बोल दिया और हमसे बोले कि मैं तुम्हारी मां की चुदाई शुरू करने से पहले तुम्हारे पास फोन कर दूंगा. वो मुझे पीछे धकेलना चाह रही थी लेकिन मैंने उसे नहीं छोड़ा और हल्का पीछे होकर दूसरे झटके में लंड अंदर कर दिया. फिर मैंने उसको थाम कर उसकी चूत में एक धक्का दे मारा और मेरा लंड उसकी चूत पर फिसल गया.

ये मुझे काफी बाद में पता लगा था कि उनके पति की उम्र उनसे काफी ज्यादा थी.

मेरी चूत को वो परम सुख मिलने लगा जिसके सपने मैंने इतने महीनों से देखे थे. मैंने मौके की नजाकत को समझते हुए साधना के पैरों को घुटनों से मोड़ा और उसकी चूत पर अपना लंड सेट करके एक करारा झटका लगा दिया.

हालांकि उसके बाद, जब तक कॉलेज रहा … तब तक वो मेरी गर्लफ्रेंड ही बन कर रही … और हम लोगों ने कई बार चुदाई भी की. वहीं पुरुषों को छेद के अलावा और कुछ नहीं दिखता।तो अगली बार जब वो मेरे बगल में बैठी तो मैंने मौका देखकर उसका हाथ पकड़ और फिर देर तक पकड़े रहा।एक सेकण्ड के लिए वह थोड़ा कसमसाई फिर मुस्कराने लगी। इससे मेरी हिम्मत और बढ़ गयी।अब मैं अपनी कोहनी से उसकी चूची हल्के से दबा देता। वह भी इतने पास सरक आयी कि मुझे उसकी चूची छूने के लिए ज़रा भी कोशिश न करनी पड़े. कैसे मैंने चंडीगढ़ जाकर उसको और उसकी सहेली को चोदा, वो आपको आगे की कहानी में बताऊंगा।आपको पंजाबन लड़की की चुदाई की मेरी कहानी कैसी लगी? और कोई गलती है तो मुझे ई-मेल करके बताइयेगा.

मामी ने पूछा- क्या हुआ? क्यों मुस्कुरा रहे हो?मैंने कहा- कुछ नहीं मामी आपके ये कपड़े आप पर बड़े फब रहे हैं. मेरा दिल धक धक करने लगा क्योंकि आज से पहले मां ने तो क्या किसी भी लड़की या औरत ने मेरे साथ ऐसा कुछ किया ही नहीं था. पापा ने मुझे चुदाई के प्लान के मुताबिक घर से बाहर भेज दिया और लवली को सोने के लिए बोल दिया और हमसे बोले कि मैं तुम्हारी मां की चुदाई शुरू करने से पहले तुम्हारे पास फोन कर दूंगा.

सेक्सी बीएफ कार्टून सेक्सी बीएफ कार्टून एक वीक के बाद मां का फ़ोन आया कि उनकी तबियत ठीक नहीं है, तो मैं उन्हें अपने पास ले आया और यहां एक अच्छे डॉक्टर से दवा दिलवाई तो उनकी तबियत ठीक हो गयी. आप मेल करके मुझे जरूर बताएं कि भाभी की चूत की सेक्स कहानी कैसी लगी.

ओपन पिक्चर बीपी

फिर मैं दूसरे दिन, पीयूष के घर गया तब मुझे लता आंटी ने बताया कि पीयूष पंद्रह दिन के बाद आएगा. अमिता उठ कर बैठ गई, उसका सर गले तक दिखाई दे रहा था और वो हमारी तरफ नहीं देख रही थी. अपने पैर मैंने उसके पैरों पर रख दिये तथा अपने हाथ से उसके स्तनों के साथ खेल करने लगा।मिनी और मैं इसी तरह लेटे बहुत देर तक बातें करते रहे।उसने मुझे अपने परिवार के बारे में बताया.

मैं प्रीति को सबक सिखाना चाहता था, तो मैंने अगली सुबह होटल जाकर अपना प्रमोशन लैटर लेकर हाफ-डे में ही वापस आ गया. उसकी चूत से निकला कामरस और मेरे लंड से निकला कामरस दोनों के ही मिल जाने से उसकी चूत काफी गीली लग रही थी और एकदम से फिसलन भरी हो गयी थी. सेक्सी वीडियो निरहुआतो रह रह कर माँ की चूत के होंठ हिल रहे थे और गाढ़ा वीर्य बाहर आ रहा था जिसने नीचे बिछी क्रीम कलर की चादर को भिगो दिया था।फिर मैं बिस्तर से उठ गया.

मगर जब प्रीति उठी, तो उसने जैसे तैसे लड़खड़ाते हुए उठ कर अपने नंगे जिस्म पर चादर लपेटी.

मैं हमेशा उनके पास रहने की कोशिश करता रहता था … कभी कभी उनको छूने की भी कोशिश करता था. इसलिए मुझसे मेरी मॉम ने कहा कि तुम 15 दिनों के लिए मौसी के पास ही रुक जाओ.

एक दिन मैंने देखा कि बुक में एक भाई बहन सेक्स स्टोरी थी जिसमें बहन की चुदाई हो रही थी. उसने कई बार तो थाणे में बंद अपराधियों के लंड से भी अपनी चुत की खुजली मिटाई है. मैं वॉशरूम के अंदर जाकर जेंट्स वाली साइड में चला गया और हल्का होने लगा.

फिर मैंने उनको उंगली दिखा कर पहले अपनी नाक से सूंघी और उंगली मुँह में लेकर चाटने लगा.

फिर बात पलटते हुए मैंने पूछा- पहले ये बताओ, मेरे हाथों से बने स्केच कैसे लगे?सीमा- स्केच तो अच्छे हैं लेकिन ये सब तू मुझे क्यों भेज रहा है? साफ-साफ बता कहीं तू मुझसे प्यार तो नहीं करता है?मैं- अगर मैं कहूं कि हां करता हूं, फिर?वो बोली- देख यार, मेरे बहुत सपने हैं जो मुझे पूरे करने हैं, वैसे भी मैं अपने पेरेंट्स का भरोसा नहीं तोड़ सकती. जिया और आकाश की गर्म सांसें एक दूसरे से निकल आपस में उनके चेहरे को छू रही थी. मैंने मनीषा बुआ से पूछा- सब लोग कहां गए हैं?बुआ ने बोला कि सब लोग आज मंदिर गए हैं.

செஸ் தமிழ் கமइसके दो दिन बाद भाभी का मेरे पास फ़ोन भी आया और हमारी नॉर्मल सी बातें हुईं. मैंने फिर उनकी ब्रा भी उतार दी और उनके 34 इंच के मोटे बूब्स उछल कर सामने आ गए.

पप्पू मामा

वो अपनी चुत में दर्द होने की वजह से दुबारा चुदने से मना करने लगी थीं. एक बार आंटी लंड को चूसतीं और एक बार उनकी सहेली मेरे लंड को चूसने लगतीं. कुछ देर के बाद ताई मेरे रूम में आई और बोली- शादी के बाद पति पत्नी एक ही रूम में और एक ही बिस्तर पर सोते हैं.

ललिता की जांघें पकड़ कर मैंने ठोकर मारी तो मेरे लण्ड का सुपारा ललिता की चूत के लबों में फंस गया. एक हफ्ते झांसी में रहकर ललिता भी पन्द्रह बीस दिन के लिए मायके आ गई और हमें चुदाई के मौके मिलते रहे. उसने भी मेरी आंखों में देखते हुए आई लव यू टू बोल दिया।उसके इतना बोलते ही मैंने उसे गोदी में उठा कर सोफ़ा पर पटक दिया और टीशर्ट उतार कर उसके ऊपर चढ गया और पूरी बॉडी को चूमने लगा।अब वो भी गर्म हो गई थी और आह … आह … की आवाज करने लगी।वो भी मेरे बॉडी को चूमने लगी.

उसने जैसे ही मुझे देखा तो उसका चेहरा मानो जैसे खिल सा गया हो और वो फौरन मेरे पास आया और बोला- यहां क्या कर रही हो?मैं बोली- मैं तो अपने कपड़े उतारने आयी थी. मैंने कहा- सक्सेना जी, आप मेरे बिजनेस को रिकवर करने में मदद करोगे तो मैं आपको खुश कर दूंगी. मगर मैं उनके ऊपर लेट गया और उनके बूब्स को दबाते हुए उनके होंठों को चूसने लगा.

मुझे पिंकी को बाइक पर बैठाने में बड़ा अच्छा लगता था, क्योंकि मुझे उसके टाईट चूचे अपनी पीठ में गड़ते हुए बड़े अच्छे लगते थे. हमने प्लान बना लिया था कि जैसे ही मौका मिलेगा वैसे ही मौका मिलते ही पहले मुझे चोदेंगे.

वो मुस्कुराया और बोला- अबे तो उस टाईम हमने उसे अच्छे से इस्तेमाल नहीं किया था.

कहानी के पात्रों के बारे में आपको सही से तब पता लगेगा जब मैं अपने बारे में आपको बताऊंगा. बबीता की सेक्सी मूवीपापा बस नयी नयी चूत मिलने की खुशी में लगे हुए थे और उसकी चूचियों को ऐसे मसलने में लगे हुए थे जैसे चुदाई के अलावा उनको दुनिया-जहां की फिक्र ही न हो. सेक्सी लड़की की तस्वीरऔर अपने कपड़े उतार कर एक झटके में निगार आंटी की चुत में लंड घुसा दिया. मैं 2 इंच तक ही अपने लंड को उसकी चूत में धीरे धीरे अंदर बाहर करता रहा.

फिर उसने पापा को किस करते हुए कहा- कोई बात नहीं, मैं तो सिर्फ आपको पाने के लिए ये रास्ता बता रही थी.

”शिलाजीत गोल्ड के दो कैप्सूल खाकर मैंने एक गिलास दूध पिया और कस्तूरी की मादक खुशबू वाला परफ्यूम लगाकर मैं रेखा के घर पहुंचा. मैंने कई बार ट्राई की कि कैसे भी उसको पूरी नंगी कर दूं, लेकिन उसने अपनी पैंटी कभी भी नहीं उतारने दी. इसके सुबूत के लिए मैंने विडियोग्राफ़ी के साथ फोटो खिंचवाने और एक स्टाम्प पेपर पर साइन करने तक सारे काम कर लिये.

वो आपसे बात करने के लिए कह रही थी और कह रही थी आप उनके पास फोन कर लें. मैंने भी अपनी स्लीपर का गेट खोल कर देखने की सोची कि आखिर माजरा क्या है. माँ की शारीरिक प्यास नहीं बुझ पा रही थी इसलिए उसने रघु के साथ ऐसा किया था। उसकी उसी प्यास को मैं अपने लंड से बुझा देना चाहता था.

लड़की का फोटो बताइए

मैंने भी अपनी स्लीपर का गेट खोल कर देखने की सोची कि आखिर माजरा क्या है. माँ ने मेरे हाथों के नीचे से अपनी कोमल बांहें डाल कर मुझे अपनी बाँहों में जकड़ लिया. मेरी हिंदी चुदाई कहानी मेरे और मेरे दोस्त की मॉम के बीच बने सेक्स संबंध की है कि कैसे मैंने अपने दोस्त की माँ को चोदा.

थोड़ी देर बाद मैंने महसूस किया कि मेरे लंड के साथ कुछ हरकत हो रही है.

एक बार मैंने लंड को निकाला और फिर से पूरा लंड उनकी गांड में ठूंस दिया.

15 मिनट तक विक्रांत ने मेरी चूत को इसी स्पीड से चोदा और फिर हम दोनों साथ में ही झड़ गये. मैं बोली- लेकिन आपके सामने?वो बोला- मेरी बाकी सभी क्लाइंट्स भी करती हैं. ಚಕ್ಸ ಕನ್ನಡ ವಿಡಿಯೋमेरी समझ में आ गया था कि मेरी बीवी को लंड लेने की आदत ने आज फंसवा दिया है.

उसने मुझे सीने से लगा कर मुझे खूब चूमा और कहा- अब्बू आपने आज गांड और चूत दोनों में खूब मजा दिया … सच कहूँ अब्बू … तो सुबह सुबह चुदने का अलग ही मजा है. उसने उसे समझाकर नीचे भेज दिया और मुझसे कंटिन्यू करने के लिए इशारा किया।लेकिन मैं तो उसकी चूत मारना चाहता था। इसी इरादे से आया था।उसको मैंने साफ बता दिया पहले तो वो न नुकर करने लगी।मैंने ज़बरदस्ती उसकी सलवार उतार दी। क्या नजारा था … नजर नहीं हट रही थी. फिर भी उनके लंड का आनंद इतना ज्यादा था कि हर तरह का दर्द बर्दाश्त हो रहा था.

मैंने उसकी चड्डी को उतारना चाहा और उसमें हाथ दिया तो अंदर भी एक कपड़े जैसा कुछ लगा हुआ था. फिर उनको सीधा करके उनकी बुर की झांटें अपने जिलैट के रेजर से साफ़ कीं और उनकी चूत पर साबुन लगा कर अंदर उंगली डाल डाल कर उनकी चूत को खूब साफ किया.

उनकी चूचियों को पकड़ कर मैंने लंड को घप्प से अंदर कर दिया और घपाघप चोदने लगा.

मेरे मुंह से सीत्कार निकल पड़े- ओह माँ … मर गयी … आह्ह।ऐसा लग रहा था जैसे कि चुदाई का आनन्द मिल रहा है चूत में. मुझे ये तो नहीं पता था कि उन दोनों का सामान कैसा है … लेकिन बस मुझे प्रीति को सबक सिखाना था. भाभी को सोये हुए थोड़ी देर ही हुई होगी कि मुझे मस्त सी फीलिंग होने लगी.

सुहागरात वाली सेक्सी मूवी माँ की शारीरिक प्यास नहीं बुझ पा रही थी इसलिए उसने रघु के साथ ऐसा किया था। उसकी उसी प्यास को मैं अपने लंड से बुझा देना चाहता था. वो थोड़ी देर में चाय लेकर आईं … जब चाची चाय देने के लिये झुकी … तो मुझे उनके मम्मों की घाटी के अच्छे से दर्शन हो गए.

ताई के मुंह से भी कामुक सिसकारियां निकल रही थीं- आह्ह पंकज, आह्ह चोद, मजा आ रहा है. मैं बोली- नहीं।वो बोले- खैर यह सब छोड़ो, मेरा दोस्त रोहित आज रात यहीं रुकने वाला है। रात काफी हो गई है इसलिए कल सुबह जाएगा। हमारे खाने और हमारे बिस्तर का इंतजाम कर दो।मैंने अपने हस्बैंड और उनके दोस्त के लिए खाना बना दिया। उनके दोस्त के लिए दूसरे रूम में बिस्तर लगा दिया. ममता आंटी मस्ती से मेरे आंड चाटते हुए मेरे लंड को फुल मजा देने में लगी थीं.

सेकसिविडिया

यह प्लान सुनकर उसने थोड़ी आनाकानी तो की लेकिन फिर बाद में सहमत हो गयी. उसी शाम मामी का फोन आया और वो बोलीं- अपने लंड की मालिश कर लो … आज तुम्हारे लंड को नई चूत का रस मिलेगा. मैंने जोरदार मुठ मारी और लगभग 15 मिनट तक लौड़े को हाथ में लेकर रगड़ने के बाद मेरे वीर्य की धार छूटी.

मेरी हॉट गर्ल की बुर चुदाई की कहानी में पढ़ें कि कैसे बस में मेरी मुलाक़ात एक अच्छे लड़के से हुई. मैडम ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थीं- राज आह … अब तो अपना लंड मेरी चूत में पेल दो.

बहुत गर्मी है तेरी चूत में! चोद चोद कर फाड़ दूँगा … आह तू बहुत बड़ी चुदक्कड़ है.

अपनी चूचियों के निप्पलों को उंगली और अंगूठे के बीच में भींचने लगी और उसकी चूत ने एक बार फिर से पानी छोड़ दिया. तभी अमन ने मेरे पैर अपने कंधे पर रख दिये और धीरे से मेरी चूत पर नीचे से अपनी जुबान डाल कर ऊपर की तरफ चलाने लगा. मैं फिर नीचे बैठ गयी और मैंने उसका लंड चूसने के लिए उसको खड़ा कर दिया.

उधर एक रूम बुक करके भाभी मेरे पास वापस आ गईं और हम दोनों उधर से उठ कर कमरे में आ गए. दीदी- वैसे तूने दिशा के साथ कभी सेक्स करने के बारे में सोचा है?मैं- बहुत बार … अब आपके साथ प्रैक्टिस कर ली है … अगला मैच उसी के साथ खेलूंगा. तुम गाजर मूली से भी ज़्यादा संतुष्ट महसूस कर सको।वो बोलते जा रहे थे, और मेरी चूत पानी छोड़ छोड़ कर पूरी तरह गीली हो चुकी थी। मेरा मन कर रहा था कि मुझे अभी वो डिल्डो मिल जाए.

40 से 45 मिनट तक उन्होंने मेरी चूत और गांड चोदी और फिर दोनों मेरे दोनों छेदों में झड़ गये.

सेक्सी बीएफ कार्टून सेक्सी बीएफ कार्टून: मैं दीदी की गोरी जांघ को सहलाने लगा, इस समय दीदी ने एक शॉर्ट और झीनी से टी-शर्ट पहनी हुई थी, जिसमें दीदी की ब्रा साफ़ दिख रही थी. मैं- विशाल मेरी गांड बहुत छोटी है … प्लीज ज्यादा जोर मत लगाओ … तुम्हें गांड मारनी ही है न तो मेरे बैग मैं एक क्रीम रखी है … वो लगा लो.

हम दोनों कब एक दूसरे के जिस्मों को भी सहलाने लगे कुछ पता ही नहीं लग पाया. मैं स्कूल में बायलॉजी की स्टूडेंट थी तो किसी भी चीज के बारे में पूरा रिसर्च कर डालती थी. मैंने कहा- मगर तुमको मेरे बारे में किसने बताया?शायना बोली- मेरी एक सहेली ने ये सलाह दी थी कि अगर मैं किसी शादीशुदा उम्रदराज मर्द को पटा लूं तो किसी को मालूम भी नहीं चलेगा और चुदाई का मज़ा भी मिलता रहेगा.

मैं- हां पता है मां, जब मैं अन्दर से दुखी था लवली की मां को भी चोदने लगा था.

मुझे माँ का हाथ हिलता हुआ दिखाई दिया और फिर रघु के हाथ भी। शायद माँ उसके कच्छे में हाथ डाल कर उसके लण्ड को खड़ा कर रही थी. अकेली रहने की वजह से उसने टाइमपास के लिए फर्जी आईडी बनाई थी।हम 2 घंटे साथ में रहे. पर उन्हें अच्छा भी लग रहा था, तो मस्त मादक सीत्कार भी करे जा रही थीं ‘अह हह … सीईई … मर गयीईई … रुक जा मत कर.