फुल एचडी बीएफ एचडी

छवि स्रोत,एक्सएक्सएमएम

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ दिखाइए अच्छा: फुल एचडी बीएफ एचडी, उसके तीनों छेद तीन लंडों द्वारा सील थे! लेकिन उसकी आँखों में फिर भी कोई भय नहीं दिख रहा था और वो धीरे-धीरे दोबारा सामान्य होती जा रही थी.

வீடியோ பிஎஃப் செக்ஸி

और फिर वह मुझे पागलों की तरह चूमने लगा और मेरी चुत में उंगली करने लगा. sexसेक्स वीडियोडायलाग तो सुनो कमीनी के: निवास जी यह गलत काम है… छोड़िये मुझे… मैं ऐसी वैसी लड़की नहीं हूँ… क्या कर रहे हैं… यहगलत है… आप जाइये अपने घर.

मैं- जी भाभी, बोलिए कोई काम है क्या?विमला भाभी- हां, तुम्हारे भैया यहां नहीं हैं और यह पंखा चल नहीं रहा है. हिंदी ब्लू पिक्चरउसने अन्दर गुलाबी रंग की ब्रा पहन रखी थी, जिसमें से उसके दूध के जैसे गोरे मम्मे फंसे से दिखाई दे रहे थे.

अब तक आपने इस कहानी में पढ़ा कि मेरी सास गीता रूपए के लालच में शराब पी कर चार जवान लौंडों के खड़े लंड अपनी चूत में लेने को राजी हो गई.फुल एचडी बीएफ एचडी: अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी बहन का लड़का पीयूष मुझे चोदने के लिए एकदम तैयार हो उठा था और उसने मेरी चूत के लिए अपने एक दोस्त को बुला लिया था.

मुझे भी अच्छा लगने लगा इसलिए मैं भी उसका साथ देते देने लगा और उसके चुची सहलाने और दबाने लगा.चूँकि काजल दीदी और कविता दोनों ही पहले से चुदी हुई थीं इसलिए उन दोनों के साथ मुझे ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी.

सेक्सी नंगे सीन - फुल एचडी बीएफ एचडी

खाना बनाने के बाद हमने खाना खाया और बैठ कर बारिश बंद होने का इन्तजार करने लगे.क्या रसीले होंठ थे! मैं कई देर तक उनके होंठ और गाल चूसता रहा, उनकी चूचियों का मर्दन करता रहा, उनकी कमर और गाण्ड पर हाथ फिराता रहा.

वैसे तो अलका इतनी खूबसूरत थी कि उसे किसी मेकअप की आवश्यकता थी ही नहीं. फुल एचडी बीएफ एचडी तभी भाभी ने अपने एक हाथ को काउंटर के साइड से मेरे खड़े लिंग पर रख दिया.

सोनिया ने साड़ी पेटीकोट ब्लाउज ब्रा, सब उतार दिए और नंगी मेरे सामने लेट गई.

फुल एचडी बीएफ एचडी?

खैर कुछ समय के बाद जूसी रानी उर्मिल दीदी से फ्री होकर आ गयी और हम लोग खाना खाने बैठ गए. बहू की चूत से फचाफच फच्च फच्च फचाक जैसी आवाजें आने लगीं और ऐसी चुदाई से बहू पूरी तरह से मस्ता गयी. उसे पता था उसे लंड को चूसना है, पर उसे मन से चूसने की इच्छा नहीं हो रही थी.

दस मिनट की चुदाई के बाद बड़ी चाची ने छोटी चाची को जोर जकड़ लिया और अपने दाँतों को भींचने लगीं. मैंने बस उसे देखा और हंस दिया!इतने में वो बोला- इधर पास आ जा, इतना दूर क्यूँ बैठा है?और उसके यह कहते ही मैं उसके पास जाकर बैठ गया और वो धीरे धीरे मेरे पास आता चला गया!उसने मुझसे कहा- चल आज मैं तुझे सेक्स करना सिखाता हूँ. किस करते वक्त मेरा लंड पेन्ट के अन्दर ही अपनी अंगड़ाईयां ले रहा था और अब तो काबू से बाहर हो रहा था.

शाम को ही कटौती हुई थी, बिजली आने का इंतजार करते करते रात बहुत हो गई. अब मेरा फ्रेंड अपना लंड मेरी वाइफ के मुँह में दे कर चुसवाने लगा और रंजीत मेरी वाइफ की चुत चाटने लगा. मैं उसको उठा कर बाथरूम में ले गया वहाँ उसके साथ नहाया और फिर उसने वहाँ भी मेरा लंड चूसा.

मेरे पापा के मौसा के घर पर शादी थी तो मेरे पापा, बहनें और मम्मी शादी में चली गईं. मेरी मौसी की चुत चुदाई कहानी पर आप अपने विचार मुझे मेल से भेजें![emailprotected].

बुड्ढे लोग, बिन ब्याहे लड़के और लड़कियों के लिए छोटे वाले बैंक्वेट में फर्श पर बिस्तर बिछा दिए गए थे.

एक दिन उसने ऊपर से एक कागज पर ‘आई लव यू!’ लिख कर भी नीचे मेरे ऊपर फेंक दिया.

अब हम दोनों उसके यहाँ करीब 9 बजे पहुँचे, उसने मुझे अपनी सहेली का भाई बताया. दोस्तो, अगर आपके मेल आते हैं तो जल्दी ही मैं दूसरी कहानी लिखूंगा और लड़कियाँ, भाभियाँ मुझे बेहिचक मेल कर सकतीं हैं।मेरी ईमेल आईडी है[emailprotected]. खैर इसके बारे में सोचते सोचते 15-20 मिनट कैसे कट गए, पता ही न चला और आखिरकार मेरा बुलावा आ ही गया.

इस घटना के बाद मैं चुप हो गई और अपने पासपोर्ट बन कर आने की राह देखने लगी. फ़िर बड़ी चाची ने मेरी टी-शर्ट को निकाल दिया और छोटी चाची का एक हाथ मेरे लंड को पजामे के ऊपर से टटोल रहा था. पद्मिनी ने आसमान की तरफ अपनी आँखों को उठाकर कहा- उफ़ बापू, आप आज मुझको देर करवा ही छोड़ोगे आप, अब क्या है बापू.

मैंने मेहमान के सम्मान में अपना लंड अपनी पत्नी के मुंह से बाहर निकाल लिया और आर्थर ने फ़ौरन अपने मोटे ढपाल को उसके मुंह में घुसेड़ दिया.

मैंने हैरान हो गया कि ये अपनी गांड मरवाना चाह रही है? मैंने उसकी आँखों में प्रश्नवाचक दृष्टि से झाँका तो उसके चेहरे पर हल्की सी मुस्कान आई और उसने ‘हाँ’ में सर हिलाया. मैं समझ गया कि काँटा सही जगह जा फंसा है, मैं बोला- ओके, उसको मैंने कई बार चोदा है, वो मुझसे बड़ी खुश रहती है, उसने मुझे कई औरतों से मिलवाया है और वे सभी मेरी चुदाई से खुश हैं. वो गांव में थी और मैं करीब एक किलोमीटर दूर खेतों में बने एक मकान में रहता था.

डॉली हाथ के बल से थोड़ी झुकी हुई थी और डॉली के हिप्स एकता की चुत के कुछ ही ऊपर रखे हुए थे. उसने किया तो मनोरमा ने देखा कि उसने चूत पूरी तरह से सफाचट की हुई थी. दूसरे दिन सुबह को मैंने उसे पिक किया और कार में बैठाते ही मैंने उसे किस किया.

फिर मैंने उसका अंडरवियर नीचे खिसकाया, उसने भी मेरा अंडरवियर नीचे खिसकाया.

बापू ख़ुश होकर बोला- वाह बेटी, तुम तो अपनी माँ से भी बड़ी चुदक्कड़ निकलोगी, क्योंकि उसके मुँह से चोदना शब्द निकालने में मुझे दो महीने लग गए थे. यह कह कर वो मुझसे आकर लिपट गया और मेरे होंठों को उसने पहली बार किस किया.

फुल एचडी बीएफ एचडी ” वह बोला।नशे का नाम सुनते ही रंजू बोली- काश यहाँ भी नशे वाली शर्बत होती!हम तीनों भी हंसने लगी।आपको चाहिए क्या?” राजेश बोला. मेरी बात सुनकर सर डर गए और उन्होंने मेरी बात मानते हुए कहा कि नहीं मैंने इसकी कोई कॉपी नहीं बनाई थी.

फुल एचडी बीएफ एचडी उसके बाद मैं उसके ऊपर आया और अपने हाथ से लंड को चूत के द्वार पर टिका कर अंदर धकेल दिया और धकापेल चोदने लगा. महिला का नाम शबनम है और उसके शौहर दुबई के किसी अच्छी कंपनी में जॉब करते हैं, सो उसका यहां आना साल दो साल में एकाध ही बार हो पाता है.

पद्मिनी मंत्र मुग्ध होकर उसके लंड और उससे निकलने वाली सु सु को देख रही थी.

भाभी सेक्स व्हिडिओ

इस बीच श्लोक और मैंने अपने पसंद के सेक्स आसन भी शेयर कर लिए थे। मुझे पता था कि जब मैं उसे अपना पसंद का सेक्स आसन बता रहा हूं तो कहीं ना कहीं मन मैं वह अपनी बहन को उसके सामने रखकर देख रहा होगा।एक दिन ऑफिस में हम दोनों बैठकर पोर्न फिल्म देख रहे थे, पोर्न फिल्म सामूहिक चुदाई की थी. तो मैं हट गया और वह बाथरूम जाकर अपनी चूत धोकर आई और कपड़े पहनने लगी. मनोहर बोला- चाचा वन्द्या की चूत को जबरदस्त चोदूंगा, चाहे फट क्यों न जाए.

मर गयी … बचा लो आज तो!” बहूरानी तड़प कर बोली और मुझे परे धकेलने लगी. वो आदमी भाभी की चुदाई कर रहा था और भाभी भी बड़े मज़े से चुदवा रही थीं. मेरी इस नजर को वो भी भरपूर एन्जॉय कर रही थी और बिना मुझे टोके वो मेरी तरफ अपने हुस्न का दीदार कराती रही.

जब मैं हाई स्कूल का पेपर खत्म करके अपने घर पर ही गर्मी की छुट्टी बिता रहा था.

मैं इससे बोल कर गया था कि 2-3 घंटों में वापिस आता हूँ… मगर इसने अपने यार बुला रखे थे वहाँ पर. उसने मौका देखा तो वो मुझे अपना जींस पेंट की चैन खोल के अपनी नुन्नू दिखाने लगा और ऐसा करने लगा कि जैसे उसको पता ही नहीं हो कि वो अंडरवियर नहीं पहने हुए है और उसकी जींस की चैन खुल गई है. फूफा जी सो रहे थे, मुझे पता नहीं था कि फूफा जी अब भी नशे में होंगे या फिर नहीं!मगर अब की बार मैंने सोचा कि अगर फूफा जी नशे में ना भी होंगे तो अच्छा ही है, उनको भी पता चल जाएगा कि कोमल उनके लंड की दीवानी है.

उसने शर्ट के बटन खोल दिया और मेरे सीने के बालों पर हाथ फेरते हुए बातें करने लगी. भाभी के लंड चूसने के अंदाज से मैं समझ गया कि भाभी पुरानी चुसक्कड़ हैं, बस जरा नखरे कर रही थीं. आज कम से कम आधा घंटा अपने मम्मों की मालिश करना और हाथों को नीचे से ऊपर ले जाना और कभी भूल कर बिना ऊपर से नीचे ना लाना.

लेकिन वो कहाँ मानने वाला था, उसे तो मेरे मम्मे इस तरह से लग रहे थे जैसे किसी बच्चे को उसका मनपसंद खिलौना मिल गया हो और वो उसे छोड़ना ही ना चाह रहा हो. मेरी गांड चुदाई की सेक्स कहानीनई जगह, नये दोस्त-3में मैंने आपको बताया कि मैं एक कस्बे में नौकरी पर गया तो मुझे वहां कैसे कैसे लौंडे, माशूक, गांडू मिले.

चुप हो जाइये।” उसने दबाने की कोशिश की लेकिन उसकी आवाज़ ने उसकी सिसकी ज़ाहिर कर दी।डरिये मत, झिझकिये मत. निशा बोली- क्या वो लड़का मेरी गांड भी चाटेगा?मैंने उसको बोला- हां वो सब करेगा, जो तुम कहोगी और उसकी फीस भी कुछ ज्यादा नहीं है. अभी तक आपने पढ़ा:हर धक्के पर मेरा टोपा धाड़ से जाकर रानी की बच्चेदानी पर धमाका करता जिसकी ठनक मुझे सिर तक महसूस होती.

वो भी बहुत खुश थी, अब हम एक-दूसरे को देख भी रहे थे और सहला भी रहे थे.

मैंने उस से पूछा- क्या देख रही हो यार?कामिनी- वो…मैं- वो क्या?कामिनी शर्माते हुए- नीचे देखो?जब मैंने नीचे देखा तो मैं बहुत शर्मा गया और जल्दी जल्दी से बिस्तर में घुस गया. मैं बोली- लालजी इतनी कम उम्र में तेरा लंड इतना बड़ा कैसे हो गया? कुछ दवाई खाता है क्या. तभी लालजी बोला- तुमनेहिंदी ब्लू फिल्ममोबाइल में देखी है?तो पीयूष बोला- सारा दिन लालजी भैया यही करता हूं.

वो झट से मान गई और जब वो मुड़ी तो उसकी ब्रा उसके शरीर से अलग हो गई और उसके बड़े बड़े मम्मों की उन्नत चोटियां मेरी आंखों के सामने थीं. सब लड़कियों की तरह रेखा रानी को भी चुदाई का कण्ट्रोल अपने हाथ में लेकर बड़ा मज़ा आ रहा था.

फिर बनवीर पर चढ़े लड़के को पकड़ा, कुछ बलवीर ने प्रयास किया उसे भी पीछे कॉलर से पकड़ा व दोनों जांघों के बीच एक घुटना मारा, वह आ आ करने लगा और भागने लगा. फिर वहाँ से निकल कर हम लक्ष्मणझूला आ गये, वहां संजू ने होटल बुक किया और मंजू को आराम करने को बोल कर हम दोनों फिर से शराब की तलाश में निकल गये!रास्ते में ही संजू को कोई फ़ोन आया उसने मुझे बताया कि उन्हें परसों सुबह ही निकलना पड़ेगा. फिर दो दिन हमने बहुत चुदाई की और मैंने भाभी को अलग अलग स्टाइल में चोदा.

औरत का नंगा वीडियो

यह उस वक्त की बात है मैं जब 12वीं क्लास में था, तब मैंने अन्तर्वासना पर कहानियाँ पढ़ना आरंभ किया था.

तो मैंने वही पुराना डायलॉग मार दिया कि आपकी जैसी हसीन मोहतरमा हमें मिली ही नहीं. तभी उसने मुझे खींच कर अपने सीने से लगा लिया और मुझे होंठों पर किस करने लगी. राज ने दरवाजा खोला, वो बाहर निकला, बोला- यार तुम? मधु कहाँ है?मैं हैरानी से बोली- मधु यहाँ नहीं आयी? मैं उसे ही ढूँढती हुई यहाँ आयी हूँ.

तब वो बोली- अब देर मत करो, मैं बहुत दिनों से इस चीज के लिए तरस रही हूँ. दोस्तो, आपको मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी कैसी लगी… मुझे मेल करके ज़रूर बताएं. देहाती सेक्सी वीडियोxxxफिर थोड़ी देर बाद वो झड़ गई, पर मैं अभी भी नहीं थका था और वैसे ही झटके लगाए जा रहा था.

मेरा लंड उसकी चूत में जा रहा था, ऐसा लग रहा था कि उसकी सॉफ्ट सॉफ्ट चूत को मेरा लंड फाड़ रहा है. जब मैं अपने मेन गेट पर आया और सीढ़ियों के पास आया तो देखा कि नीचे वाली भाभी नहा रही थीं.

पर तू अपने बापू का लंड चूस तो सकती ही है, मुझे इसमें बड़ा मज़ा आएगा और मेरा लंड शांत भी हो जाएगा. मैंने उससे पूछा- अच्छा बताओ तुम्हारा दूध इतना बड़ा बड़ा कैसे और इतना टाईट कैसे?तब उसने कहा- मेरे पड़ोस में एक दोस्त है, उसी ने मुझे एक दवा बताई, मैं वो यूज़ करने लगी, तब से मेरे ये दूध बड़े हो गए, उससे पहले मेरे छोटे छोटे दूध थे और मेरे ऊपर कोई कपड़ा नहीं सेट होता था. और ये कहके मुझसे छूटते हुए उन्होंने दरवाजा खोला और अपने फ्लैट में चली गईं.

मैंने कहा- ये तो बहुत देर से तड़फ रहा है, अब बस इसे प्यार कर लेने दो और इसे वो सब कुछ दे दो, जो ये चाहता है. मुझे बहुत अजीब लग रहा था कि मुझे पहली बार दो के साथ सेक्स करना पड़ रहा है. फिर लंड को मेरी चुत के गुलाबी छेद पर लगा कर दोनों हाथों को मेरी चूचियों पर रखा और झुककर मेरे होंठों को चूम मेरे कान में सरगोशी की.

अब सोनिया ने मेरा तना हुआ लवड़ा अपने हाथ से अपनी चूत पे लगाया और झटके से बैठ गयी.

मेरा लण्ड बुरी तरह से अकड़ने लगा।मैंने धीरे से प्रिया को अपने से दूर किया और उनके माथे पर किस किया फिर दोनों आँखों पर किस किया।प्रिया ने आँखें बंद कर ली. मैंने पूजा को बताया कि शुक्रवार से सोमवार तक ऑफिस की चार दिन की छुट्टी है.

मैं उसके पास गया और पहले उसके गाल से बालों को हटाया और उसकी चूचियों को ऊपर से दबाने लगा. तब मेरे दिमाग में कुछ और ख्याल आया और सोचा कि आज अच्छा मौका है, दीदी को अपने प्यार के बारे में बता देने का. और उनके लन्ड की खुशबू भी अलग थी, तब भी मुझमें इतना जोश आ गया कि मैं अंकल का लन्ड चूसने लगी, चाटने भी लगी.

दोनों ही झेंप गये थे जानकर।सप्ताह भर बाद दोनों अपने प्रधानाध्यापक से मिलने घर आये, दोनों की जुगलबंदी ही बता रही थी कि अब फिर से चंद्रमुखी स्टेज में आ गये हैं, पहले जो दूर दूर चलते थे अब दोनों एक दूसरे का हाथ पकड़ कर चल रहे थे, शरीर आपस में टकराते चल रहे थे और सबसे ज्यादा दोनों के चेहरे पर तृप्ति का भाव बता रहा था कि दोनों ने मन भर कर चुदायी की है।कहानी जारी रहेगी. भाभी ने पूछा- आप क्या करते हो और घर में कौन कौन है?मैंने उन्हें सारे जवाब दिए. मुझे पता चला कि खाला शादी के कुछ ही साल बाद हीजवानी में ही बेवाहो गयी थी.

फुल एचडी बीएफ एचडी तब भी मुझसे उनका रोना देखा नहीं जा रहा था, तो मैं थोड़ी देर उनके बूब्स चूसने लगा और दबाने लगा. मैंने भाभी को बिस्तर पर लिटाकर उनकी कमर के नीचे तकिया लगाया और चूत पर अपना लंड रखा.

गुजराती देसी सेक्स वीडियो

बुड्ढे लोग, बिन ब्याहे लड़के और लड़कियों के लिए छोटे वाले बैंक्वेट में फर्श पर बिस्तर बिछा दिए गए थे. अब तक इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि बेहद खूबसूरत और हसीन कामवाली पिंकी मेरे साथ ही सोने लगी. उसने और जोर से मम्मों को दबाया और गीता की और चीखें निकलवाता रहा और जल्दी से अपना लंड उसकी चुत में पीछे से ही घुसेड़ दिया.

वो मेरी चूत की खुशबू को सूंघने के बाद मेरी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा. मैंने अपने हाथ से उसकी सलवार का नाड़ा खोला और अपना हाथ उसकी चुत पे ले गया. सेक्सी वीडियो चलमैं अन्दर गया और बंगले को बड़ी गौर से निहार रहा था, तभी अन्दर से एक महिला आ रही थी.

इधर मेरा लंड उन तीनों हसीनाओं को देखकर मेरे पजामे में ऐंठ ऐंठ कर टेंट बना रहा था.

दोस्तो, मेच्यूर लेडी अगर तुम्हारे सामने नंगी हो तो कैसे लगती है, ये तुम्हें बताने की ज़रूरत नहीं है वैसे!फिर सासू माँ मेरे पास आकर मुझे किस करने लगी तो मैंने कहा- मम्मी, मेरे कपड़े उतारो!उन्होंने वैसा ही किया और मेरी निकर उतार दी. साली खेली खाई चुसक्क्ड़ लग रही थी, पता नहीं चूत की सील खुली थी या टूटी थी.

वो सिसक उठी- आह… माँ…उसकी सिसकारियों ने मुझे और जोश दिला दिया और मैं उसके खूबसूरत मम्मों पर भूखे भेड़िये की तरह टूट पड़ा और उन्हें कभी चूसता. मुझे उनकी इस हरकत पे हंसी सी आ गई क्योंकि उनके उस हाथ में डिल्डो भी था और हाथ हिलाते हुए ऐसा लग रहा था, जैसे वो मुझे अपना डिल्डो दिखा रही हों. अब तुम दोनों को सेक्स करते देख मेरे अंदर इतना सब कुछ बोलने की हिम्मत आई.

तो भाभी ने कहा- अन्दर ही झाड़ दो!मैं जोर जोर से धक्के लगाने लगा, तभी भाभी का पानी फूट पड़ा और उसकी गर्मी से मैं भी झड़ने लगा। झड़ने के बाद में भाभी के पास ही लेट गया और उनके मम्मों से खेलने लगा।भाभी को मैंने पूछा- आज सुबह आपने एकदम से मेरा लंड क्यों मुंह में ले लिया था?तो उन्होंने कहा- मैं बहुत दिनों से देख रही थी कि आप मेरे मम्मे और गांड को ताड़ते थे और मुझे भी चेंज के लिए नया लंड चाहिए था.

बस 2-3 महीने तक कभी कभार लिफ्ट में मिल जाती तो किस कर देतीं या मेरा लंड दबा देतीं. आंटी धीरे से मेरे कान में बोली- प्रशांत डाल दे अब… बर्दाश्त नहीं हो रहा…मैं आंटी के ऊपर आ गया, मैंने अपना लंड उनकी चूत में रखा और झटका दिया पर मेरा लंड फिसल गया, अंदर नहीं घुसा. मुझे तुमने एक रंडी बना दिया है, अब देखना मैं तुम्हारे घर की सभी औरतों को कैसे रंडी बनाती हूँ.

जंगल में एक्स एक्स एक्स वीडियोतभी मैंने लाल जी के होंठों को अपने होंठों में जकड़ लिया और जमकर चूसने लगी. मैं चुपचाप अपने बिस्तर में आ गया, जो लंड अभी तक फड़फड़ा रहा था, वो अब मेरी असफलता पे सर झुकाये खड़ा था!मैं चुपचाप सो गया, सुबह उठने पे मैंने मंजू को देखा… हाय, क्या सेक्सी खूबसूरत बला मेरे सामने थी!और मैं कुछ नहीं कर पाया.

एक्स वीडियो हिंदी एक्स वीडियो हिंदी

क्या कर दूं मेरी गुड़िया रानी … बोलो?” मैंने उसका चेहरा अपने हाथों में लेते हुए कहा और अपना लंड फिर से उसके मुंह में दे दिया और दो तीन धक्के लगा दिए. उधर उसका बाप अपने दोस्त के घर से आकर रघु के ठेके में गया और पीना शुरू किया. वो मेरी चूची को ऐसे चूस रहा था, जैसे वो मेरी चूची को एकदम निचोड़ ही देगा.

इस पर आंटी ने बिस्तर के नीचे से डेरी मिल्क की टॉफी निकाली और मेरे लंड पर और अपनी चुत पर रगड़ ली. रोहित ने अपना लोअर और टीशर्ट उतार कर साइड में रख दिया। अब हम दोनों भाई बहन नंगे थे।भाई ने अपनी चचेरी बहन को बांहों में भर लिया!आह क्या नज़ारा था… दो नंगे जवान जिस्म, भाई बहन के।मेरे बूब्स उसकी छाती से दब रहे थे वो मेरी पीठ पर, गांड पर, फ़ुद्दी पर हाथ फिरा रहा था। मैं पहले से ही तैयारी करके आई थी, मैंने अपनी चूत की झांटें क्रीम लगाकर साफ़ कर रखी थी और मेरी चूत चमक रही थी. मैं तुम्हें हर जगह, हर तरीके से चोदना चाहता हूं!यह कह कर पापा ने मुझे गोद में उठा लिया और बाथरूम में ले गए.

हालांकि अभी मेरा आधा लंड भी नहीं गया था और मैं वैसे ही उसे धीरे धीरे चोद रहा था. मेरे भी बर्दाश्त करने की सीमा नहीं नहीं रह गयी थी और फिर हम दोनों के होंठों का एक साथ मिलन हो गया. उनकी चुची मेरे शरीर से टच हो रही थीं और मेरा लंड फुंफकार मार रहा था.

मैं धीरे धीरे आगे पीछे लंड करने लगा, थोड़ी देर बाद बुआ का दर्द खत्म हुआ, तो मैं और तेज रफ्तार से चोदने लगा. मेरी गीली चूत से अन्तर्वासना के सभी पाठको को आपकी प्रभा का सेक्स भरा नमस्कार!दोस्तो, अपने मेरी पिछली कहानीमाँ बेटा सेक्स: बेटे ने मेरी हवस मिटाईको इतना पसंद किया उसके लिए आप सभी का अपने जिस्म से शुक्रिया अदा करती हूँ.

मैंने कहा- भाभी जी आज मैं आपकी चूत की पूरी तसल्ली करवा दूँगा और आज मैं भी इसे छोड़ने वाला नहीं हूँ.

फिर 15 मिनट के बाद हमने एक दूसरे को प्यार से देखा और बस अब हम दोनों में प्यासे मर्द और औरत की वासना दिख रही थी. गर्भवती की चुदाईवो भी जोर जोर से मादक आवाजें लेने लगा और कहने लगा- मेरी जान नेहा डार्लिंग और जोर जोर से मेरे लंड को ऊपर नीचे करो. क्सक्सक्स मराठी सेक्सअब तक मेरी मौसी के साथ सेक्स कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि आज मौसी की चुदाई का आखिरी दिन था, मौसी बहुत सज संवर कर तैयार हुई थी. ना चाहते हुए भी गीता को अपनी चुत उछालनी पड़ रही थी, क्योंकि अभी अभी उसके जिस्म का बुरा हाल हो चुका था.

उसने कहा- क्रिशु मैं तुम्हें कबसे कहना चाहती थी, पर रिश्ते की वजह से डरती थी, मैंने कभी नहीं सोचा था कि हम दोनों ऐसे करेंगे.

हैलो दोस्तो, अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है मेरे अंदर भरी हवस की … यह मेरी सच्ची कहानी है. मैं जैसे ही अन्दर घुसा, उसने दरवाजा बंद कर दिया और मुझे सीधे अपने बेडरूम में ले जाकर बोली- तुम 5 मिनट रूको. तो रोज लोकल ट्रेन में आना जाना रहता है।एक दिन मेरे साथ कुछ अजीब हुआ, ट्रेन में भीड़ बहुत थी और मैं गेट के पास खड़ा हुआ था।मुझे ऐसा लगा जैसे कोई मेरा लन्ड पकड़ रहा है.

कहानी के बारे में मुझे ज़रूर बताएं कि आपको कैसी लगी। मेरी मेल आईडी हैं. मैंने देखा कि राज सामने ही बने बाथरूम में कपड़े लेकर चला गया और मैं सामने खाट में बैठी मधु का इंतजार करने लगी. मैंने अपने लंड को थूक से गीला किया और उसकी चुत पर थूक मला, जिससे कि मेरा लंड उसकी चुत में आराम से चला जाए.

और भाभी का सेक्सी वीडियो

मगर मेरे जीजा ने सोनिया को उसके देवर के साथ चुदवाते देख लिया था और सोनिया को मार पीट कर घर भेज दिया. तब भी कोई किसी लड़की को तन से जरूर सुख दे दे, पर मन का सुख भी जरूरी है. मुझे बहुत दर्द हो रहा था और मैं चिल्लाने लगी- मुझे दर्द हो रहा है… मुझे नहीं चुदवाना है… मैं मर गयी… आह उह्ह… प्लीज तुम अपना लंड बाहर निकालो!लेकिन उसने धीरे धीरे अपना लंड मेरी गांड में डाल दिया और मुझे चोदने लगा था, मेरी चीखें निकल रही थी.

ओके लव यू जानू!इस तरह हमारी बातों का सिलसिला चल पड़ा, जब कभी वो मिस्ड कॉल करती, मैं कॉल कर देता.

मैंने नोट किया कि वह मोटर साइकिल सोसाइटी में से तो किसी की नहीं है.

उसके पैर मोड़ने की वजह से तो उसकी छोटी सी स्कर्ट और भी ऊपर उठ गयी थी. मेरे ऐसा करने से वो तड़प रही थी और मुँह से आवाजें निकाल रही थी- आआह. ब्लू सेक्स वालासवेरे जल्दी उठ कर छोटी चाची ने मुझे भी उठाया और अपने कमरे में भेजा… क्योंकि मम्मी मेरे कमरे में मुझे रोज उठाने आती है.

एक और लड़का बलवीर उनका कोई रिश्तेदार ग्वालियर से आया था, मेरी तरह स्टूडेन्ट था मेरी ही उमर का, मेरा दोस्त बन गया. फिर वो अपने स्कूल बैग को उठाने वाली थी, तब बापू ने इशारे से उसको अपने गोद में बैठने को कहा. बहू की चूत से फचाफच फच्च फच्च फचाक जैसी आवाजें आने लगीं और ऐसी चुदाई से बहू पूरी तरह से मस्ता गयी.

मेरे घर में अम्मी शाजिया 49 साल, अब्बू आरिफ 50 साल, मैं 29 साल का, मेरी बड़ी बहन सोनिया 31 साल की और छोटी बहन अफसाना 24 साल की है. दो दिनों बाद वो अधिकारी आ गया और जिस होटल में रह रहा था, मैंने भी उसमें उसके साथ वाला रूम बुक करवा लिया अपने और बिंदु के नाम से.

आइसक्रीम की ठंडक से मॉम की चुत को बड़ी राहत मिली और उन्होंने पूरी मस्ती से चुत को मेरे मुँह पर रगड़ा.

वही नज़ारा बापू के आँखों के सामने था और उसका लंड अंडरवियर से बाहर निकलने को उछल गया. पर आप लोग अभी देखना बहू कैसे हंस हंस कर मजे मजे ले ले कर चुदतीहै इसी लंड से. फिर नताशा ने सोफा चेयर पर बैठने की इच्छा जाहिर की और मैं उसके सामने खड़ा हो गया.

বাঙ্গালী হট সেক্স ভিডিও भाभी साड़ी के ऊपर से ही मेरा सर दबा कर तेज तेज सिसकारी भरने लगीं- आह ओऊऊऊ ओह आआआह और तेज…उनकी गर्मी बढ़ रही थी. डायलाग तो सुनो कमीनी के: निवास जी यह गलत काम है… छोड़िये मुझे… मैं ऐसी वैसी लड़की नहीं हूँ… क्या कर रहे हैं… यहगलत है… आप जाइये अपने घर.

मैंने कहा- मम्मी जी, एक ट्रिप तो मारने ही दो क्योंकि फिर पता नहीं कब टाइम मिलेगा. मैंने बस उसे देखा और हंस दिया!इतने में वो बोला- इधर पास आ जा, इतना दूर क्यूँ बैठा है?और उसके यह कहते ही मैं उसके पास जाकर बैठ गया और वो धीरे धीरे मेरे पास आता चला गया!उसने मुझसे कहा- चल आज मैं तुझे सेक्स करना सिखाता हूँ. अब मैंने चाची की चूत की दरार को सहलाना शुरु किया, साथ ही अपनी जीभ से उनकी नाभि से खेल रहा था.

विदेशी एक्स एक्स एक्स

इसी तरह पता नहीं कब 3 महीने निकल गए पता ही नहीं चला और भैया की शादी का दिन आ गया।शादी की पूरी तैयारी बहुत अच्छे से की थी, बहुत से कामों की ज़िम्मेदारी मुझे दी गयी थी। आलीशान फार्म हाउस बुक किया गया था जिसमें शादी होनी थी. उसको अच्छी तरह से समझा दिया था कि इसकी 4 लड़कों से अच्छी तरह से चुदाई करवा दो. अंकल अब जब भी आते तो पहले मुझे ही चोदते थे, मेरे लिए ही तोहफे लाते थे तो मेरी माँ अब मुझसे जलने लगी थी, मुझे अपनी सौत मानने लगी थी.

रेखा रानी ने मस्ती में आकर अपनी टाँगें कस के मेरी कमर से लिपटा लीं और उनको पूरी ताक़त से भींच लिया. मैं आज तक यह कला ठीक से नहीं सीख पाया, कई बार मामला बिगड़ गया, जूते पड़े सो अलग… मेरे दोस्तो, मेरी मदद करें.

पूजा ने लन्ड के बाद मेरी गोली चूसी तो मेरा लन्ड घोड़े के जैसा खड़ा हो गया.

तभी मेरी मुलाकात बघेल नाम के एक हट्टे कट्टे और मोटे लंडधारी से हुई. मेरी गांड चुदाई की सेक्स कहानीनई जगह, नये दोस्त-3में मैंने आपको बताया कि मैं एक कस्बे में नौकरी पर गया तो मुझे वहां कैसे कैसे लौंडे, माशूक, गांडू मिले. इसी दौरान बापू ने नीचे बैठ कर पद्मिनी की चूत की एक मस्त पप्पी ले ली.

मैंने उसकी इस बात पर हंस दिया और कहा कि देखा मैंने कहा था न कि तुम मेरे दिल की बात समझ गई हो कि मैं क्यों ये जानना चाहता था कि तुम कुल्फी चूसना किधर से सीखीं. मैं अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड को चोदने की दास्तान सुनाने जा रहा हूं. थोड़ी देर में मैंने भाभी को मेरा लंड चूसने को बोला, तो उन्होंने मना कर दिया.

मैं बोली- कितने गन्दे हो, छी मुझे लेट्रिन करते देखा… थू!साली की चुदाई की कहानी जारी रहेगी.

फुल एचडी बीएफ एचडी: एक दिन मैं, मम्मी और आंटी बाजार गए हुए थे, तो आंटी को अपने लिए कुछ अंडरगारमेंट्स खरीदने थे. करीब दस मिनट चुत चटाई के बाद मॉम ने नवीन का सर कस कर पकड़ लिया और तेज़ तेज़.

और वह थकी थी तो नितिन को फिर नीचे ही आना पड़ा, लेकिन उसका पीछे का छेद फिर भी बरक़रार रहा क्योंकि अब रज़िया ने मेरी तरफ मुंह कर लिया था और लेटे हुए नितिन की तरफ उसकी पीठ थी।सामने से मैंने उसकी योनि में लिंग ठूंस दिया और थोड़ा उसकी तरफ झुकते हुए अपना वज़न एक हाथ पर रखते हुए दुसरे हाथ से उसके एक दूध दबाते हुए धक्के लगाने लगा।जबकि अपने सीने से लगभग सटी हुई रज़िया के दोनों ही दूध नितिन नीचे से मसल रहा था. मैं बाथरूम में घुस गया, गर्म पानी से नहाया, अपना लण्ड अच्छी तरह से साफ किया। लण्ड की झांटें मैं पहले ही साफ करके आया था।नहा के मैं बाहर निकला तो देखा प्रिया सूट सलवार में थी। उसका फिगर 34 32 34 था, बहुत गोरी थी. जैसे ही मैंने अपनी एक उंगली उनकी चूत में डाली, उन्होंने आह की आवाज के साथ अपना मुंह खोला, मैंने अपनी उंगली बाहर निकली और अब दो उंगली साथ में डाल दी.

अब मैंने उससे 69 के लिए कहा तो उसने 69 में आ कर अपनी चूत मेरे मुँह पर दे दी और मेरा लंड अपने मुँह में लेने की कोशिश करने लगी.

खुशबू के साथ मेरे संबंध क्यों नहीं बन सके और मैंने शादी से पहले खुशबू के साथ कितना मज़ा किया. इस सेक्सी कहानी में अब तक आपने पढ़ा कि पद्मिनी का बापू उसको चोदने की नजर से देखने लगा था और वो आज रात ही पद्मिनी की चूत का मजा लेना चाहता था. एक तो बुआ इतनी हॉट और सेक्सी थीं कि उनकी कुंवारी जवानी को सोच कर ही सारा दर्द काफूर हो गया.