सेक्स बीएफ सनी लियोन की

छवि स्रोत,छोड़ि छोड़ा

तस्वीर का शीर्षक ,

छोटी छोटी बीएफ वीडियो: सेक्स बीएफ सनी लियोन की, मैं मुस्कराई और मैंने पहले पानी पीया, फिर राहुल ने मेरा झूठा पानी पिया.

बलात्कार वीडियो

मैं अपने बॉयफ्रेंड के लंड पर कूदने लगी और वो मजे से मेरी चूत में अपना लंड डाल कर सेक्स का मजा ले रहा था. सेक्सी शर्मा सेक्सीमैंने कहा- दीदी क्या मैं आपकी चुत चूस लूँ?दीदी ने कहा- हां क्यों नहीं … लेकिन तू उसे चुत मत बोल, मुझे अच्छा नहीं लगता … तू उसे बिल्ली बोला कर.

मैंने उससे कहा- अगर तू न मिलती, तो शायद ही कभी मैं ऐसी चुदाई के मज़ा ले पाता. ओपन द बीपीमैंने भी उससे मजाक में कहा- लगता है आजकल शायद देख कर ही संतुष्टि कर रहे हो.

सारा के बाद जरीना की सील तोड़ने का मदमस्त चुदाई का खेल आपकी खिदमत में अगले भाग में पेश करूँगा.सेक्स बीएफ सनी लियोन की: दोनों समय मैंने उससे सोने के लिये बोला, मगर उसका जवाब वो ही था- मुझे नींद नहीं आ रही, तुम सो जाओ.

मैं अब जल्द से जल्द चूत में उसका लण्ड डलवा लेना चाहती थी पर वो बस मुझे तड़पाए जा रहे थे।वो मेरी चूत की पंखुड़ियों के बीच अपने लण्ड को रगड़े जा रहे थे। मुझे बहुत मजा आ रहा था।अब मैंने राहुल से कहा- प्लीज … अब मुझसे बर्दाश्त नहीं होता, जल्दी से अपना लण्ड मेरी चूत के अन्दर डालो और मेरी चूत का कीमा बना दो.मेरा पड़ोसी लौंडा मेरे पीछे आ गया और मेरी गर्दन को किस करते हुए मेरी चूची को दबाने लगा.

पतासी कैसे बनाते हैं - सेक्स बीएफ सनी लियोन की

एकता ने दराज में से एक कंडोम निकाला और मेरे लंड पर दोनों मिल कर चढ़ाने लगीं.मामी बोलीं- जाओ तुम भी सामने वाले कमरे में सो जाओ, काफी रात हो गई है.

तभी राधिका आंटी कराहते हुए कहने लगी कि सौरभ करते रहो बस … आहह …मैंने आंटी से कहा- मेरा होने वाला है. सेक्स बीएफ सनी लियोन की कप रखकर वो पलटीं, तो उनके खुले नंगे कंधे, कांपते होंठ और लुंगी से बाहर आने को बेताब दोनों चुचियों को देखकर आकाश की बात याद आ गयी.

राज अंकल मम्मी से बोले- पहले कहां चलूं? साड़ी की दुकान पर चलें या इस वन्द्या के लिए जहां कपड़े मिलें, वहां चलें?तो मम्मी बोलीं- जहां साड़ी भी मिल जाए और लड़कियों का भी हो, वहीं चलो.

सेक्स बीएफ सनी लियोन की?

मैं हैरान था कि अभी-अभी कुछ देर पहले ही मेरा वीर्य निकला है मगर इतनी जल्दी मेरा लंड फिर से खड़ा होना शुरू हो गया. मेरी कहानी के पहले भागदिल मिले और गांड चूत सब चुदी-1में अब तक आपने पढ़ा कि उपिंदर ने मेरे बाद मेरी मम्मी की चूत और गांड को बजा दिया था. वो बोली- अंदाज़ा तो एकदम सही लगाया है, लगता है तुमने भाभियां चोदी हैं.

मैंने भाभी से पूछा- क्या ये बात भैया को पता है?तो उन्होंने बताया कि भैया को अभी इस बारे में कुछ पता नहीं है. मैं जब 10 बजे आफिस गया, तो मैंने मैसेज देख लिया, पर रिप्लाई नहीं दिया. इधर अब्दुल मेरी चूत में अपने हाथी जैसे लंड से मेरी चूत की बेदम चुदाई कर रहा था.

सीमा उसके बाद उठ कर बाथरूम में चली गई और अपनी चूत को धोने के बाद बाहर आयी. जब उसने कमरे की लाईट जलाई तो मैं दंग रह गई, दीवारों पर जगह जगह गंदे गंदे शब्दों के प्रिन्ट और बहुत सारी उसकी और हमारी कम्पयूटर से एडिट की गई नग्न फोटो लगी थी. मैं भाभी को जी जान से चोद रहा था और भाभी भी चुदाई में भरपूर साथ दे रही थी। काफ़ी देर चुदने के बाद भाभी ठंडी पड़ गयीं।मैं भी अपने क्लाइमेक्स पर था, मैंने भाभी को कहा- मैं छूटने वाला हूं.

ज्यादातर में साड़ी ही पहनती हूं, लेकिन कभी कभी विलायती पहनावे वाले कपड़े जैसे जींस शर्ट, लॉन्ग स्कर्ट, लॉन्ग वन पीस ड्रेस, भी पहन लेती हूं. मैं बोला- ये सरप्राईज़ क्या है?तो वो बोली- बस थोड़ी देर और … चलो पहले बियर पीते हैं.

मैंने अपने हथेली से उसकी पैंटी को एक-दो बार रगड़ा तो सुषी की सिसकारी छूट गई.

एकता की चुत का पानी मेरे पूरे लंड और गोटियों और मेरी गांड को तर-बतर कर रहा था … जिसे प्रमिला बड़े मजे से चाट रही थी.

उसने अकुलाते हुए गांड उठाई और कहा- यार अब और मत तड़पाओ … डाल भी दो. पापा बोले- वर्षा मुझे पता नहीं था कि तिवारी इतना कुटिल स्वभाव का है, मुझे माफ़ करना … मैं बस अँधा होकर मेरी बच्ची को मारता रहा. तो दोस्तो, आपको बता दूँ कि बीच में जो एक हफ्ते का गैप बात करने के लिए मिला था, उसमें हम दोनों को एक दूसरे से प्यार हो गया था.

मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरे लंड को किसी गर्म लावे की कढ़ाई में डाल दिया गया हो. पूरे लंड को सुपारे से टट्टों तक को दबा दबा कर चुदवा रही थी, मेरी बीवी की हालत इस तरह की हो रही थी, जैसे किसी मछली को गरम रेत पर छोड दिया गया हो. पेल दे अपना लंड मेरी फुद्दी में … कब से तेरे लंड के लिए तड़प रही थी.

कुछ ही देर में वो दुबारा झड़ गईं और मैंने खड़े होकर अपना लंड उनके मुँह में दुबारा दे दिया और उन्होंने भी अपने अनुभव का फायदा उठाते हुए मेरे लंड को चूस चूस कर पूरा खड़ा किया और उसे थूक से सराबोर करके तैयार कर दिया.

मैंने उसकी गांड में उंगली को डालने की कोशिश की तो उसने मेरा हाथ हटा दिया. कुछ देर सोचने के बाद मैंने भाभी से कहा- मैं तो कंडोम लेकर आया था लेकिन आपने तो मेरे पैसे बचा लिए. मैं भी उसको देख रही थी कि अचानक उसने मुझे देख लिया और मैं वहां से अपने कमरे में जाकर लेट गई.

पांच मिनट के सम्भोग के बाद अचानक कुत्ता पलट गया और दोनों पीछे से चिपक गए. दोस्तो, आपने तो मेरी पिछली हॉट चुदाई स्टोरीप्लेबॉय बनने के लिए चुत चुदाई का टेस्टपढ़ी थी, जिसमें प्लेबॉय बनने के लिए टेस्ट दिया. वो बोली- ये क्या कर रहा है?लेकिन मैं नहीं माना और चूत चुसाई करता गया.

मैं भी कभी उसको अपने सीने से चिपका लेता था, तो कभी उसकी चूचियों को चूसते हुए चुदाई का मजा लेने लगता था.

इस चक्कर में गीता का दाना डिल्डो से रगड़ा जा रहा था, तो वो भी झड़ने को आ गयी और वो दोनों गुत्मगुत्था हो गईं. मैं रोज सही समय से कॉलेज जाता और अपने आप में मस्त रहने वाला लड़का था.

सेक्स बीएफ सनी लियोन की वो बोली- कोई बात नहीं भैया! आप करते रहो ना… लंड को रगड़ो ना मेरी चूत में … बहुत अच्छा लग रहा है मुझे!जब वो दर्द सहने को तैयार दिखी तो मैंने उसे कहा- लेकिन किसी किसी लड़की को पहली बार लंड घुसवाते समय ज्यादा दर्द भी होता है. राहुल- अमित, और ज़ोर से चोद साली को, बहुत चुदक्कड़ बनती जा रही है, आज इसकी चूत को चोद-चोद कर लाल कर दे।संध्या छटपटाने लगी थी.

सेक्स बीएफ सनी लियोन की मैं थोड़ी देर बाद अपने लंड को आगे पीछे करने लगा और एक जबरदस्त चुदाई शुरू कर दी. सलोनी उसी वक्त मेरे को अपने ऊपर खींच कर धीरे से मेरे कान में बुदबुदायी- राहुल प्लीज … कुछ करो, मेरा पूरा बदन तुमको चाह रहा है.

मैक अब मेरे ऊपर पूरा चढ़ गया और उसके लंड से तेजी से बहुत गरम गरम लावा पिचकारी की तरह मेरी चूत में भरने लगा.

बूर क्सक्सक्स

मैंने किशोर को चाय का थरमस दिया और धीमे से कहा- फ्री हो क्या?वो बोला- अभी नहीं कल. भैया बोले- काहे की सुहागरात, साले ले जाएंगे आज शाम को … बहनचोद साले, साला शादी किए ही क्यों थे. और मैं खुद को तभी जाहिर करूँगी, जब मुझे आप पर भरोसा हो जायेगा। बाकी मेरी कहानी अब यहीं खत्म होती है।समाप्तअब एक बात मेरी इमरान की तरफ से: मैंने यह कहा था कि अगर आपके पास कोई ऐसी कहानी है जो अलग है, हट कर है, मन में दबी गांठ जैसी है जो आप कह डालना चाहते हैं लेकिन कह नहीं पा रहे किसी वजह से तो मुझे बताइये.

मैंने अजय की तरफ देखा, जो वहीं बैठा, अपने लंड को लोअर के ऊपर से मसल रहा था. पहले मैं इतनी चुदक्कड़ नहीं थी लेकिन वक्त के साथ-साथ मेरी वासना की आग बढ़ने लगी थी. दर्द तो करीब दस दिन तक बना रहा, पर शुरू के 3 दिन तो मैं बिल्कुल भी नहीं उठ पा रही थी.

उसके जाने के बाद मैं और वाणी बैठ कर उस शाम के बारे में बात करने लगे.

उन्होंने भी कई बार ऐसे घूरते हुए मेरे को नोटिस कर लिया था, लेकिन मैंने इस बात की कभी कोई परवाह नहीं की थी. भाभी कहने लगी- राज! अब आप अपने कमरे में चले जाओ, बहुत देर हो चुकी है. उसे नर्म बिस्तर पर लिटा कर, मैंने उसके पैरों से उसे किस करना स्टार्ट किया और जांघों से होते हुए कमर पर किस करने लगा.

मयूर ने मुझे एक प्यारी सी और लंबी सी किस की और मुझे अपनी बाहों में भर लिया. मेहरा जी की बीवी से कोई लड़का अक्सर मेहरा जी के जाने के बाद मिलने आता है. मैंने फोन लगा कर उसकी छोटी बहन से कहा- तुम प्रीति को छत पर भेज दो, मैं यहीं हूँ.

अब मुझे चेंज करने के लिए मेरे कपड़े चाहिए थे तो मैंने रिंकी से अपने कपड़े माँगे तो उसने कहा कि वो अभी काम कर रही है, मैं खुद ही उसके बैग से निकाल लूँ. मेरे पास लगभग एक घंटा तो था ही, मैं बिंदास होकर एकदम प्यार से भाभी को चूमने लगा और धीरे धीरे उनको निर्वस्त्र करने लगा.

भैया भी मेरे पास आ के खड़े हो गए और मुझे और मेरे पूरे नंगे शरीर को देखने लगे. चूचों की त्वचा पर सीधे मेरे हाथ का सपर्श पाकर पहली बार प्रिया उछल सी पड़ी और कराहने लगी. उसने मुझसे हाथ मिलाया, मेरा वेलकम किया, अंदर आने के लिए बोला तो मैं उनके पीछे-पीछे हॉल में आया.

पास के एक गांव में एक घर किराए पर लेकर 3 और साथियों के साथ रहने लगा.

आंटी गर्म होने लगी और मेरे होंठों को चूसने में अपना पूरा सहयोग देने लगी. ’ करते हुए कराहती, तो मैं झट से अपनी जीभ को उसकी चूत में डाल कर पूरा घुमा देता. मैंने उनको अपना तौलिया देते हुए कहा- आप ये तौलिया ले लो और बाथरूम में चली जाओ, मैं तब तक आपके लिए चाय बनाता हूँ.

लेकिन टीना ने मना कर दिया, वो बोली- अभी वक़्त नहीं है, मैं फिर कभी तुमसे मिलूंगी. नैना ने मेरी कमर पे किस करते हुए मेरे जॉकी को नीचे कर दिया, जिसमें से टाइट हो चुका मेरा लंड बाहर आ गया.

मेरी सहेली की बातों पर मेरे घर वालों को विश्वास हो गया और मैं अपने बॉयफ्रेंड के साथ होटल में चली गयी. मैंने उसकी टांगें पूरी तरह से खोल कर चुत फैलाई और लंड के सुपारे को बुर की फांकों में डालने लगा. उसके बाद मैंने कहा- ठीक है, जैसे तुम पहले हाथ से कर रही थी वैसे ही कर दो.

साडी वाली लडकी की चुदाई

एक बात है कि जितना मज़ा पूरे कपड़ों के साथ आता है, उतना मज़ा नंगे हो कर नहीं आता है.

इसके बाद मैं मामी के ऊपर आ गया और अपने लंड को उनकी चूत की फांकों में रख कर चुदाई के लिए तैयारी करने लगा. अब उसने मुझे बेड पर लिटाया और मेरी दोनों टांगें अपने कंधों पर रख लीं. अब उसकी चूत का मंथन अपने लंड से करने के लिए मेरे सब्र का बांध भी मेरे सेक्स के आवेग को ज्यादा देर संभालने में नाकाम दिखाई देने लगा था इसलिए मैंने एक धक्का और मारा जिसके साथ ही पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया.

मैं एकता की पीठ पर चुम्मा चाटी करने लगा और दोनों आपस में किस करने लगीं. उनके बॉब कट घुंघराले बाल थे, स्लीवलेस ब्लाउज में उनकी बड़ी-बड़ी खड़ी चूचियां और साड़ी में कसी हुई उनकी भरी हुई गांड किसी भी आदमी को अपनी तरफ आकर्षित कर लेती थी. सेक्सी पिक्चर खुल्लम खुल्लाजैसे ही बाथरूम से बाहर आई और दरवाज़ा बंद किया, तो उसकी आवाज़ से जग की आंखें खुल गई.

खैर उस पोजीशन में गांड मारना तो आसान नहीं था, तो मैंने ऐसे ही उंगली से ही उसे मज़ा दिया. इस कहानी के पिछले भागचचेरी बहन की चुदाई-1में आपने पढ़ा कि मैं अपनी चचेरी बहन के जिस्म को कई बार छेड़ चुका था और एक दिन मुझे उससे आगे बढ़ने का मौका भी मिल गया.

उसने आगे बोला- मुझे पता है कि तुमने अब तक सिर्फ अपने पति से और नामित से ही चुदाई करवाई है. इधर अब्दुल मेरी चूत में अपने हाथी जैसे लंड से मेरी चूत की बेदम चुदाई कर रहा था. मैंने भी उसकी कमर पर अपने बांहों का घेरा बना दिया और उसके आगोश में खो जाने को मजबूर सी होती चली गई.

अगले 3 दिन बाद क्या हुआ और मैंने क्या गिफ्ट दिया सलहज को … और उसने मुझे कैसे खुश किया, वो सब अगली कहानी में बताऊंगा. कोमल दीदी ही मुझसे ज्यादा बात करती थी और मुझे चाय के लिए भी पूछ लेती थी. उसने मेरी चूत पर जीभ को लगाया, तो मैं एकदम से चीखने लगी उम्म्ह… अहह… हय… याह… क्योंकि मुझे बहुत मजा आ रहा था.

सभी पाठकों को हिमांशु बजाज का हृदय से प्रणाम! गुरू जी और अंतर्वासना पाठकों के साथ सम्बंध इतना गहरा हो चुका है कि ज्यादा दिन अब दूर रहा नहीं जाता.

इससे मेरी बीवी को बहुत दर्द हो रहा था, पर नशे की हालत में उसको पता नहीं लग रहा था. रात को करीब 8 बजे व्हाट्सएप पर मुझे कल्पना का हैलो लिखा हुआ मैसेज मिला.

सबसे पहले वो मेरे माथे को चूमने लगे, मेरे गालों को चूमने लगे, मेरे कानों की लड़ी को अपने होंठों से चूसते तो कभी मेरी नाक को चूसते. वो चिल्लाती रही- नई तईते फौजी भाई, साका… (दर्द हो रहा है फौजी भाई, बस करो). चार दिन तक में चल बैठ नहीं सकी, सात दिन तक मेरी प्यारी बाहर निकली मक्खन जैसी गांड ने खूब दर्द किया.

मैंने उससे पूछा- ये क्या स्टाइल है?तो वो बोली- मैं टाइम खराब नहीं करना चाहती क्योंकि मुझे आज घर जाना है, मेरे घर पर कुछ मेहमान आ रहे हैं. इसके बाद हम में से किसी के भी उठने की हिम्मत नहीं थी, तो हम करीब आधा घन्टा ऐसे ही लेटे रहे. क्योंकि गर्मी के कारण लण्ड के आस-पास पसीना आने लगता था और मुझे खुजली होती थी.

सेक्स बीएफ सनी लियोन की उसने मेरी गांड के सुराख़ के पास से शुरू चाटना करके मेरी गोटियों और मेरे लंड की टोपी तक जो जुबानी चांटा लगाया. अबकी बार गांड पर लंड लगाने के बाद मैं उसके ऊपर लेट गया और लंड को थोड़ा थोड़ा आगे पीछे करने लगा.

हिंदी सेक्सी बीएफ एचडी सेक्सी बीएफ

फिर मैंने अपने लंड से कंडोम निकाल दिया और एकता को प्रमिला के ऊपर डॉगी स्टाइल में सैट कर दिया. तो शायद इससे वह समझ गया कि मुझे यह अच्छा लग रहा है इससे वह अब सीधे लहंगे के ऊपर से मेरी जहां चूत थी, वहां मुट्ठी से पकड़ कर निहाल दबाने लगा. मैं राहुल के सिर को अपनी चूत पर दबाते हुए अपना पानी छोड़ने लगी और अपनी चूत को झटकों के साथ राहुल के मुँह पर रगड़ना शुरू कर दिया।मैंने सिसकारते हुए अपना सारा पानी राहुल के मुंह में छोड़ दिया.

तो मैंने तुरंत उसके कपड़े उतार दिए और साथ ही अपने भी कपड़े निकाल फेंके. मैं बोली- क्या सच में? मैंने कुछ नहीं देखा … ना मुझे कुछ समझ आया, शायद इसलिए कि मैं अपने में ही मस्त हो गई थी. जापान की चुदाईशंकर जी- क्या कौशल्या … कुछ भी बोलती हो, ठीक है सर मैं शाम को आपके घर आता हूँ.

आरती के पड़ोस में एक लड़का प्रसंग रहता था जिसकी शादी तो हो चुकी थी मगर उसकी बीवी किसी दूसरे शहर में रहा करती थी.

मैंने मुड़ कर देखा कि वो बिलकुल नंगी थी और उसके हाथ में बियर की दो बोतलें थीं. मैंने पूछा- तुम्हारा खाना?उसने कहा- मैं पैंट्री में खा कर आ जाता हूँ तब तक तुम खा लो.

किशोर को तुमसे कभी प्यार था ही नहीं और दीदी आपको भी कभी उससे सच्चा प्यार नहीं था. मैंने उसकी कमर को अपने दोनों हाथों से पकड़ रखा था और ‘दे दनादन …’ अपना लंड उसकी चूत में दिए जा रहा था. अत: मैंने अपने दोनों हाथ उसके पैरों के नीचे से ले जाकर उसके दोनों पांव ऊपर उठा लिए, जिससे उसकी बुर ऊपर की ओर उठ गई तथा लंड उसकी बुर के बिल्कुल सामने आ गया.

अब मैं उसके ऊपर लेट कर अपने मुँह से उसके होंठों को किस किया और उसकी चूत में लंड रगड़ने लगा.

राहुल ने झट से मुझे जमीन पर बिछे गद्दे पर गिरा दिया और मेरे ऊपर आ गए. पहले एक एक उंगली फिर धीरे से दो और फिर कुछ देर बाद मेरे दोनों हाथों से उंगलियों को अन्दर बाहर करने लगा. मैंने उसकी चूची दोनों हाथों से पकड़कर दो आखिरी धक्के लगाए और अपना सारा माल उसकी चूत में ही गिरा दिया.

मां मनसा मेरीमैंने उसको कोई शक ना होने दिया और उसके बाद वो औरत भी अपने घर चली गई. वो मुझे कुदरत की तरफ से मिली एक बख्शीश है, इसे देख कर सिर्फ लड़कियां ही मुझसे जलती हैं, बाकी सब इसे चाहते हैं.

ठोकाठोकी बीएफ

जैसा कि मैं हर बार लिखता हूँ कि मैं घर में लोअर के नीचे अंडरवियर नहीं पहनता हूँ, भाभी की बात सुन कर मेरा लौड़ा मेरे लोअर में तन चुका था. उन्होंने ज़ोर से सिसकारी मारी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’अब हमारे बीच शर्म ख़त्म हो चुकी थी. मैंने भी पानी से उसकी चूत को साफ़ किया और बड़े से बाथटब में उसको लिटा कर उसकी चूत को चाटना चालू कर दिया.

मैं उसके लंबे 7 इंच के लंड पे टूट पड़ी और सुपारे पर जीभ फिराना शुरू करते हुए उसके बड़े और मोटे लंड को जोर जोर से चूसने लगी. आह्ह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह्ह्ह …मैंने भाभी की आंखों में देखा तो उनकी नज़रों में सेक्स भर चुका था. फिर एक दूसरे को बाय बोला और अपने-अपने घर पर आ गए।दो-तीन दिन बाद उसने दोपहर में फोन किया कि मैं घर पर अकेली हूँ.

इस तरह से उसने लंड रस मेरी चूत में भरते हुए मुझे अपनी बांहों में कस के भर लिया और धक्के मार मार कर अपने लंड का लावा मेरी चूत में भरने लगा. इस घुटन से ज्यादा अच्छा है मैं अपने दिल की बात कोमल को बता ही दूँ।मैंने मन ही मन सोच लिया और कह दिया- हाँ प्यार तो हो गया है. इसके बाद मैं भाभी की ब्रा को फाड़ कर अलग करते हुए उनके मम्मों को चूसने और दबाने लगा.

पर मुझमें चुदने की ललक थी इसलिए मैं कमरे में चलती हुई अन्दर चली गई. जिससे सेक्स का मज़ा और ज़्यादा आता है, फिर मैंने उसकी भीगी चूत पर अपना लिंग रखा और धीरे-धीरे अंदर करने लगा.

दस मिनट तक मेरी गांड बजाने के बाद राजिंदर ने मेरे चूतड़ों के बीच में सफेद फव्वारा छोड़ दिया.

मैंने उससे पूछा- क्या तुम्हें तकलीफ़ हो रही है?उसने दबी सी आवाज में कहा- आप अपना काम कर लो. बलात्कार वीडियोमैंने पूछा- अब नहीं है मतलब? तो पहले था क्या!उसने कहा- हाँ, कॉलेज में तो था. हिंदी कव्वालीपहले दिन तो उसने मुझसे ज्यादा कुछ नहीं पूछा, लेकिन उसके तेवर बता रहे थे कि वो हम दोनों की चुदाई की कहानी पूरी तफ्सील से सुनना चाहती है. उसके बाद मैं भाभी को घर पर छोड़कर अपने दोस्तों के साथ कहीं चला गया.

उसने मुझसे हाथ मिलाया, मेरा वेलकम किया, अंदर आने के लिए बोला तो मैं उनके पीछे-पीछे हॉल में आया.

उसको गुदगुदी होने लगी, तो मैंने उसको डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और पीछे से उसकी गांड में सुपारा लगा दिया. मैं इस तरह चिल्लाती रही, लेकिन वो सांड की तरह का गेंडा ठाकुर एक पल के लिए नहीं रूका. आज अपने लंड का पूरा जलवा उसको दिखा कर ज़रा भी सांस ना लेने देना ताकि सुबह उसे लंगड़ा के चलना पड़े.

राहुल का लण्ड ज्यादा बड़ा नहीं था लेकिन एकदम सख्त लोहे की रॉड की तरह तना हुआ खड़ा था. मैं यहीं खड़े खड़े ही डाल दूंगा, तू समझ ले तेरा भी तो मूड बन गया है. मेरे पति भी मुझे चोदते हैं, लेकिन इस लड़के से चुदवाने में अलग ही मजा था.

हिंदी में ब्लू फिल्म भेजें

शीला बोली- आप आराम से बैठो, हम दोनों आपके लंड को आराम से प्यार करती हैं. हालांकि मैं पहले चुद चुकी थी, लेकिन इस बार मेरी चूत में काफी दिनों बाद किसी का मोटा लंड घुसा था. उसके चेहरे पर दर्द झलक रहा था लेकिन उसकी जिज्ञासा ने उसके दर्द पर काबू कर लिया था.

भाभी मुझसे कहने लगी- राज! कई साल पहले मुझे ऐसा ही दर्द हुआ था, तब प्रोफेसर साहेब ने मुझे पीछे से भींच कर दो-तीन बार ऊपर उठा दिया था, जिससे मेरी कमर में से एक चट की आवाज़ आई थी और मुझे आराम आ गया था, परन्तु अब उनका पेट आगे निकल आया है और उनमें ताकत भी नहीं है, क्या तुम मुझे वैसे ही उठा सकते हो?मैंने कहा- भाभी! पहले दरवाजा बंद कर लो.

मैंने उसी पॉजीशन में भाभी की टांगों को अपने कंधों पर उठा लिया और धकाधक चुदाई जारी रखी.

अब तक आपने पढ़ा था कि शादी के माहौल में मेरे मौसेरे भाई निहाल ने मेरे साथ हरकत करनी शुरू कर दी थी. दो पल बाद निक ने अपना लंड मेरी चूत से बाहर खींचा तो मेरी चूत भोसड़ा बन चुकी थी. सेकसी नंगी फोटोटाइट भी हैं। फिर उन्हें सहलाते हुए, खेलते हुए मेरे चूचकों को मसलने लगे.

अपनी पेंटी ले लो और कुछ बातें हमारी मान लोगी, तो हम लोग किसी से कुछ नहीं बोलेंगे. ऋतु ने फिर से अपनी मॉडलिंग पे ध्यान देना शुरू कर दिया था और जिम भी जाने लगी थी. कुछ देर उसके होंठों की चुसाई झेलने के बाद जब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने सुषी को वहां से उठा दिया और पलंग पर लेटा दिया.

मैं चमोत्कर्ष पे पहुंची या नहीं, मुझे मज़ा आया या नहीं … इन बातों का उसका कोई लेना देना नहीं है. करीब 15 मिनट तक उसने मेरी चुदाई की और बाद में वो मेरी गांड में ही झड़ गया.

मैंने उसके साथ अभी तक किस के अलावा और कुछ नहीं किया था, रात को जब वो सभी के सो जाने के बाद मेरी बुलाई जगह पर आई तो हम दोनों में बातें होने लगीं.

पहले मेरे एक दो फ्रेंड्स थे, बाद में सभी से लीनियर हो गया और बहुत सारे फ्रेंड्स बन गए. मैं उसके गर्म माल से चूत की परपराहट से स्वर्ग का आनन्द महसूस करके शांत हो गयी थी. लेकिन मुझे कन्नड़ नहीं आती थी और वो दोनों कन्नड़ में बातें करने में लगी थीं.

चोदने वाले वीडियो इस पर उन्होंने कहा- किसी और के पास जाना होता तो मैं तुम्हारे पास क्यूँ आती. पापा ने उठकर मम्मी की टांगों को मोड़ा और अपना लंड मम्मी की सुंदर चूत के अंदर दे दिया और ऊपर नीचे अपने चूतड़ों को करते हुए मम्मी को चोदने लगे.

मैंने गली के बाहर से ही कहा कि अपने घर का चैनल खोल कर रखो, मुझे अन्दर आना है. मेरी हालत सुनकर मुझे सहारा देने की जगह मुझे कहा जाने लगा कि अकेली हो, जवान हो, मज़े लो सेक्स के. वो मानो पागल हो गयी थी और मुँह से ‘आय यस स्श्ह इह्ह उऔऔ इह्ह उऔ ऊया औ उहिही उहू.

बीएफ एचडी बीएफ एचडी बीएफ सेक्सी

समय बर्बाद न करते हुए मैं आता हूँ अपनी कहानी पर।वो कहते हैं न कि प्यार कहीं भी किसी से भी हो जाता है वैसे ही मुझे भी प्यार हो गया था. मैंने उसकी भावनाओं का ध्यान रखते हुए घर वालों से शादी की मना कर दी. जब आकर मैंने उसको मोबाइल में डाल कर देखा तो पूरी ब्लू फिल्म निकली उसमें से जिसकी हिरोईन आरती थी और हीरो उसका पड़ोसी प्रसंग … जब मैंने यह सब देख लिया तो मेरी चूत में भी कीड़े दौड़ने लगे क्योंकि उस समय धीरज घर पर आ चुका था इसलिए मैं अगले दिन का इंतज़ार करने लगी.

मैंने थोड़े लड़खड़ाए शब्दों में शंकर से कहा- झा जी, थोड़ा मिलियेगा शाम को … आपको किसी से मिलवाना है. यह कहानी सत्य घटना पर आधारित है इसलिए इस सेक्स कहानी के रूपांतरण में कुछ चीज़ें बदल दी गयी हैं, जिससे कि गोपनीयता बनी रहे.

अबकी बार मैंने थोड़ी सी क्रीम अपनी उंगली पर लगाई और उसकी गांड में उंगली डालकर अंदर-बाहर करने लगा.

इंदु स्वेटर पहन कर मेरे पास आ गयी मैंने पूछा- कैसा है?वो बोली- थोड़ा कस रहा है. पापा जोर से रोने लगे और कहने लगे- हे भगवान मैंने तेरा क्या बिगाड़ा था, जो तूने मुझे पागल बेटा और ऐसी चुदक्कड़ बेटी दी, हे भगवान ऐसी बेटी किसी को मत देना. कई चक्कर लगाने के बाद भी जब काम ना मिला, तो एक दिन मैं उदास हो कर यूं ही फरीदाबाद स्टेशन के पास बैठा था.

मैंने ऐसा करते हुए अपना लंड उसकी चूत से बाहर नहीं आने दिया और उसको बेड पर लेटा कर किस करने लगा. थोड़ी देर बाद उसने मेरे दूध को पकड़ा तो मैंने भी अपने इस दूध के चूचुक को उसके मुँह में ठेल दिया और वो अपने होंठों से दबाता हुआ मेरे दूध को चूसने लगा. वह आदमी बोला- तुम अगर मना करोगी, तो मैं चलकर सबको तुम्हारी पूरी करामात बता दूंगा कि तुमने झाड़ी के पीछे क्या क्या किया है.

कुछ दिन बाद शौहर के यहाँ से फोन आया, पता चला कि अब वो विदेश ही रहेंगे और उन्होंने किसी के साथ नया जीवन बसाने का इरादा कर लिया है.

सेक्स बीएफ सनी लियोन की: मेरी इस सेक्स स्टोरी पर कमेन्ट जरूर करें, पर कोई नम्बर आदि मांगने की कोशिश न करें. पापा ने पलंग के नीचे देखा, फिर पलंग को हाथों से उठा कर उल्टा कर दिया.

क्या मैं जान सकता हूँ कि आप क्या करती हो?वो बोली- मैं अपने ऑफिस में काम करती हूँ. उसने बातों बातों में कई बार बताया था कि उसे किस प्रकार का सम्भोग करने पसंद हैं और किस तरह से औरतें उसे रोमांचित करती हैं. मैंने उसे नीचे किया, उसकी दोनों टांगों को फैलाया और अपने लंड से जोर जोर से उसकी चूत पर चाबुक चलाने लगा.

मैंने अपना लंड उसकी गांड के फूल पर सेट किया और दोनों हाथों से उसकी चूचियां पकड़ ली और एक जबरदस्त धक्का मारा.

उनका वो धक्का बहुत ज्यादा तेज था।राहुल ने धीरे से अपने लंड को बाहर निकाला और फिर जोरदार धक्के के साथ अपना लंड मेरी चूत में पेल दिया. मैंने देखा था बाहर एक ट्यूबवेल है और वहीं एक हौदी भी बनी हुई है, वहाँ चलते हैं, पानी में करेंगे. उफ्फ … स्सस … अमित … आह्ह … क्यों इतनी देर लगा रहे हो?” मैंने मिन्नत भरे स्वर में अमित से गुजारिश की.