बीएफ एक्स एक्स एक्स मूवीस

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी भाई बहन का

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी हीरोइन के सेक्स: बीएफ एक्स एक्स एक्स मूवीस, लेकिन बैकुंठ धाम से पहले ही उसने एक जगह बाइक रुकवा ली, जहाँ से नीचे उतर कर गोमती के किनारे जाया जा सकता था।यहाँ!” मुझे चौंकना पड़ा- यहाँ क्या कोई मिलने आने वाला है?नहीं.

हिंदी बफ हिंदी बफ

किसी ने लिखा कि कहानी बिल्कुल बेकार और बकवास है… कुछ ने मुझे धंधा करने वाली तक कह डाला. सेक्सी ब्लू सेक्सवो उसको चूमने लगा, उसकी चूचियों को चुसकने लगा और उसके पूरे जिस्म को चाटने लगा.

जैसे ही मैंने अगला धक्का लगाया और मेरा लंड सबा की चूत में गया, आपा कमरे के अन्दर आ गईं. तेरी सेक्सीमैंने उन्हें सलाम-वालेकुम कहा जोकि मैं अंकल-आंटी से तो कभी कभार तो करता था लेकिन शबनम भाभी से कभी नहीं.

मुझसे भी रहा नहीं गया, तो मैंने एक एक कर उसके सारे कपड़े निकाल दिए और उसकी कमर को मेरे मुँह की तरफ ले लिया.बीएफ एक्स एक्स एक्स मूवीस: हर झटके पे उनकी हिचकी सी निकलती, लेकिन फिर भी वो मुझे देखे जातीं और मैं उन्हें.

मैंने बहुत सी भाभियों को अपने जाल में फंसाया है और उनका फायदा भी उठाया है.मैंने कहा- भाभी मेरी कोई गर्लफ्रैंड नहीं है सो ऐसे ही टाइम पास के लिए एन्ड एडवेंचर के लिए.

सनी लियोन का सेक्सी वीडियो दिखाइए - बीएफ एक्स एक्स एक्स मूवीस

फिर कुछ देर बाद भूख लगी तो लॉज के सामीप ही एक ढाबा था, वहां जाकर भीगे कपड़ों में हम तीनों ने खाना खाया.एकता ने डॉली को बोला- यार इसका लंड इतना मस्त है तो मैं उसे मुंबई जा के उसका सजाना संवारना करूँगी.

उसने अपनी टांगों को फैला दिया और चूत चुसवाते हुए खूब ‘आआआह आआआह अयाया. बीएफ एक्स एक्स एक्स मूवीस मैंने बस उसे देखा और हंस दिया!इतने में वो बोला- इधर पास आ जा, इतना दूर क्यूँ बैठा है?और उसके यह कहते ही मैं उसके पास जाकर बैठ गया और वो धीरे धीरे मेरे पास आता चला गया!उसने मुझसे कहा- चल आज मैं तुझे सेक्स करना सिखाता हूँ.

दर्द से परेशान वो चिल्ला उठी, परंतु मैं भी उसके मम्मों को दबाता रहा और हल्के हल्के झटके मारता रहा.

बीएफ एक्स एक्स एक्स मूवीस?

उनको मैं शुरूआत से ही मतलब अपनी शादी के बाद से ही पसंद करता हूँ क्योंकि वो मेच्यूर फिगर की औरत हैं और मुझे मेच्यूर उमर वाली औरतें बहुत पसंद हैं. आख़िर जब पूरा लंड चुत के अन्दर घुस गया तो फिर वो बिंदु से बोला- आज इसको पूरा फाड़ कर रख दूँगा. इतना कह कर उसने व्हिस्की की बॉटल और सोडा निकाल लिया और बोला- लीजिए आपकी सेवा में हाज़िर है.

पहले ही काफी पी चुके आर्थर पर अब अल्कोहल ने अपना रंग चढ़ाना शुरू कर दिया था और उसने बहुत सख्ती से पेश आते हुए मेरी पत्नी को सोफे पर चित लिटा कर उसकी पीठ के पीछे से अपने लंड को उसकी गुलाबी, सुगन्धित चूत से सटा कर अन्दर घुसेड़ना शुरू कर दिया. मैंने उसका हाथ पकड़ा और जैसे ही मैंने खुद अपना हाथ रखा, वह पैन्ट के ऊपर से ही बहुत बड़ा सा लगा. इसके आगे की कहानी आप बिंदु की जुबानी ही सुनेंगे तो आपको ज्यादा मजा आएगा.

यहाँ एक बात मैं आप लेडीज को बता दूँ कि ज्यादातर मर्दों का लण्ड पहले डिस्चार्ज के बाद और भयानक हो जाता है मतलब चुदाई में लगने वाले समय में इजाफा हो जाता है. आज मैं जो आज आपको कहानी सुनाने वाला हूँ वो मेरी एकदम सच्ची घटना है मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं ये भी कभी कर सकता हूँ. तब मैंने जीभ को चुत की फांकों के ऊपर ही फेरने का मन बनाया और उंगली अन्दर से नहीं निकाली.

मैंने उसे पकड़ के किस करना शुरू कर दिया, उसने भी किस करने में मेरा साथ दिया. फिर मैंने उनका टॉप उतारा और ब्रा को ऊपर करके एक दूध को पीने लगा, दूसरे को दबाने लगा.

लेकिन मुझे वो आज ज्यादा ही हसीन लग रही थीं, क्योंकि आज वो मेरे लिए सजी थीं.

थोड़ी देर बाद दीदी को मजा आने लगा और दीदी भी चूतड़ उठा उठा कर लंड लेने लग गई.

जब उसमें एक सेक्सी सीन आया तो आपा बोलीं- मुझे नींद आ रही है, मैं सोने जा रही हूँ. एक दिन मैंने भी सोचा कि इससे मिल ही लेती हूँ और सब कुछ इसको बता देती हूँ कि मैं उससे सेक्स नहीं कर सकती हूँ, मेरे घर वाले मुझे बाहर नहीं निकलने देते हैं. इज ईट स्पंजी?मैंने कहा- ओह माय गॉड आई एम स्पीचलेस।मैंने दूसरा हाथ उसके पेट पर फिराया तो उसकी हल्की सी सिसकारी निकल गई- आह ह ह!जैसे आज कुदरत ने अपनी सारी मेहरबानी इकट्ठी करके मुझ पर लुटा दी थी।मैडम का हाथ पैन्ट के अंदर से मेरे लिंग को सहला रहा था जिसमें उसे शायद परेशानी हो रही थी, मैंने दूसरे हाथ से पैन्ट को खोल दिया.

सिर्फ जवान लड़के ही नहीं बल्कि सभी मर्द की नज़र पद्मिनी की जांघों पर और उसकी चाल पर ही होती थीं. कुछ देर धीरे धीरे चुदाई होने के बाद उसने स्पीड बढ़ाने के लिए कहा- जोर जोर से करो. थोड़ी देर बाद दीदी को मजा आने लगा और दीदी भी चूतड़ उठा उठा कर लंड लेने लग गई.

उस दिन पति नहीं बचते तो मैं कैसे सुहागन की जिंदगी जीती और बच्चों की परवरिश कर पाती.

हम तीनों के पास बाहर के गेट की चाभी रहती थी ताकि मॉम को दिक्कत न हो. मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागमेरा नौकर राजू और मैं-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैं अपने पति के साथ सेक्स से वंचित थी और अपने जवान नौकर के साथ चुदाई के सपने देखने लगी थी. मैंने माल निकाल कर उसकी बेड पर पड़ी एक ब्रा से साफ किया ही था कि माँ पीछे से आ गयी.

मैं तो उसे चोदने का चान्स ढूँढ रहा था, पर एक दिन अचानक खुद उसी ने मुझे अपने घर बुला लिया. उसने मुझे कहा वापस आने के लिए!और मैं गया और फिर उसने मुझे किस करने दिया. तब मैंने उसे कहा- बेबी मेरा लोलीपोप तो चूस कर तैयार कर ले!वो मेरा लंड पकड़ कर फिर से चूसने लगी, करीब दस मिनट मेरा लंड चूसती रही, जब मेरा लंड पूरे लोहे की तरह कड़क हो गया तब उसे मैंने घोड़ी बनने को कहा, वो तुरंत घोड़ी बन गयी, मैं उसकी बुर देख कर हैरान हो गया, क्या बुर थी उसकी… एकदम नर्म कोमल गुलाब की पंखुड़ी की तरह गुलाबी और खूब फूली हुयी!मैं देख कर पानी पानी हो गया.

हम दोनों ने बहुत ही लूज टॉप खरीदे थे, जिससे ज़रा सा भी झुकने में पूरे मम्मे घुंडियों सहित नज़र आ जाते थे.

साली के चूचे कस कर जकड़ लिए और दोनों पंजे अकड़ा कर उँगलियाँ अंगूठे उनमें गाड़ कर ऐसे मसलने लगा जैसे सचमुच में उनका कीमा बनाना हो. मेरा लंड देखकर अभिलाषा की आंखें फटी की फटी रह गई, वह मुझसे बोली- राज! जूली के साथ आपने रात भर इसी हथियार के साथ किया है?मैंने उसे बताया कि सारी रात जूली इस लंड से अपनी चूत मजे से चुदवाती रही और उसने उफ़ तक नहीं किया.

बीएफ एक्स एक्स एक्स मूवीस जैसे तैसे शाम हुई तो भाबी का फोन आया कि आ जाओ, लेकिन पीछे के दरवाजे से आना. तब प्रेरणा अचानक बोली- मुझे एक्स्ट्रा सर्विस लगेगी, आपको एनर्जी ड्रिंक की जरूरत पड़ सकती है.

बीएफ एक्स एक्स एक्स मूवीस तो वो बोली- मुझे पता है, तुम लोग आपकी गर्लफ्रेंड के बारे में बात कर रहे हो… मुझे उसके बारे में सब कुछ पता है. अब हमारी बातें लगभग रोज ही होती थीं, पर बातें अभी भी नार्मल ही एक दोस्त की तरह थीं.

अगर मेरी सेक्स की कहानी मस्त लगी ना? तो मुझे मेल कीजिएगा, मैं वेट करूँगा.

इंग्लिश गर्ल्स बीएफ

एक दिन मैं ऑफिस जा रहा था, तभी मैंने मौका देखा और उनके कमरे में घुस गया. मैंने भी देर करना ठीक नहीं समझा और भाभी के ऊपर चुदाई की पोजीशन में आ गया. मेरे सामने तरफ पीयूष बैठ गया और पीछे लाल जी दोनों मेरे बदन से चिपक गए.

इतना कह कर चाची मुस्कुराने लगीं और बोलीं- प्लीज़ कैफे वाली बात किसी को नहीं बताओगे तो मैं तुम्हें एक गिफ़्ट दूँगी. साली छिनाल एक बार तो बोली थी कि मुझे पांच हजार चाहिए, कैसे भी एक घंटे के अन्दर ला कर दो. अब उन्होंने खुद अपने हाथों से मेरे लंड को छेद पे सैट किया और बोला- अब करो.

भाभी लंड रस पीने के बाद चटखारा लेते हुए मेरी तरफ देख कर कहने लगीं- सच में तुम्हारे साथ तो बहुत मज़ा आ गया.

ये कहते हुए मैंने ज्योति आंटी को को वहीं सोफे पर धक्का देकर उनकी चुची को ब्रा के ऊपर से ही जोर जोर दबाने लगा. बस फिर एकदम से सैलाब निकल गया और हम दोनों शांत होकर एक दूसरे से चिपक गए. वो हंस कर बोली- यार मेरी ग़लती थी कि मैंने तुमसे उसका लंड शेयर नहीं किया.

कुछ देर लेटने के बाद मैंने अपनी बहन की गांड पे हाथ रख दिया, ये देखने के लिए कि वो जाग रही हैं या सो गईं. जैसे ही उसके पापा को कमरे में बंद किया, वो फिर मेरे गले लग गयी और रोते हुए थैक्स बोली. यह बहुत तड़पती है… फाड़ो इसे…रत्नेश भैया भी बहुत गर्म हो चुके थे और अब उन्होंने अपने लन्ड पर कॉन्डम लगाया… क्या मस्त लन्ड लग रहा था… ऐसा लग रहा था कि ये कॉन्डम लन्ड को झेल नहीं पायेगा और फट जाएगा.

पद्मिनी को आँखों को खोलना पड़ा, जब उसने सुना कि उसका बापू कितना तड़प रहा है. मैंने उसके दोनो बूब्स पकड़े और लंड उसकी गान्ड में पूरा घुसा कर बहन की गांड मारनी शुरू कर दी.

रीना अपना पारदर्शी गाउन उतार कर नंगी हो गई, उसने ब्रा चड्डी कुछ नहीं पहन रखा था. फूफा जी ने कहा- तुमने भागने की कोशिश नहीं की?मैंने कहा- भागना तो चाहा था मगर आपने अंदर से दरवाजा लॉक कर दिया और दरवाजे के पास खड़े होकर अपने सारे कपड़े उतार फेंके और जब मैं दरवाजे खोल कर भागने लगी तो आपने मेरी सलवार का नाड़ा तोड़ दिया और वो नीचे गिर गयी फिर आपने एक एक करके मेरी कमीज़, ब्रा और पेंटी भी उतार दी. खाना खाने के बाद वो सोने चली गयी हॉल में!फिर मैंने सोनू से कहा- बेटा, तुम अंदर के कमरे में चिकन लेकर जाओ, मैं अभी आती हूँ!सोनू अंदर चला गया, घर का सारा काम कर के मैं भी अंदर कमरे में आयी.

सच कितने अच्छे हैं मेरे बारे भाई, जो अपनी छोटी बहन का इतना ख्याल रखते हैं.

वो अपनी चुत को इतनी तेज रगड़ रही थीं कि मेरा एक बार तो ऐसे ही निकल गया और वो भी पैंटी में ही झड़ गईं. पूरी मस्ती से मेरे लण्ड को सुकन्या रानी खाये जा रही थी … मैं एकाध बार उसके मुंह पर ही कुछ देर के लिए बैठ जाता था जिसकी वजह से उससे सांस लेना भी दूभर हो जाता था … लेकिन इसीमें तो मज़ा है … उसकी मुंह की गर्मी और इस उत्तेजना भरे माहौल में मेरा लण्ड भी चरम पर पहुँचने लगा … मैंने उसके मुंह में झटके मारने की क्रिया को लगभग दोगुनी कर दी और आँखें बंद करके वीर्य को उसके मुंह में ही छोड़ दिया. यह मजाक उस वक्त भी हुआ करता था जब चाची भी हम दोनों के साथ होती थीं.

ये सुन कर मैं डर गई और बोली- तुम दोनों को शर्म नहीं आती, मैं अभी अपने हज़्बेंड को बताती हूँ. एक दिन मैंने उससे पूछा कि तुम्हारा कोई ब्वॉयफ्रेंड है क्या?वो ‘नहीं.

भाभी का फिगर तो ऐसा जानलेवा था कि बस जो एक बार देख ले, तो उसका लंड खड़ा न हो जाए तो कहना. वो एक तरफ जाँघ चाट रहा था और अपनी उंगली पद्मिनी की चूत पर पेंटी के ऊपर से ही धीरे धीरे रगड़ रहा था. वे उसे हैरान देख कर बोले- मेरा थोड़ा बड़ा है पर दूसरे को तकलीफ न हो इसका ख्याल रखता हूं।वे खड़े खड़े ही मेरी मारते रहे, मैं मस्ती से आंख बन्द किये चूतड़ हिलाहिला कर गांड मरवा रहा था।जीजाजी बोले- इस बार तो मजे ले रहे हो, उस बार तो तुम बहुत फड़फड़ाए थे.

सेक्स बीएफ फुल वीडियो

मैंने कहा- आपका कमरा मैंने नहीं देखा, कैसे आऊं?उसने मुझे एड्रेस दिया और कहा कि इस एड्रेस पे आओ, मैं तुम्हें घर के बाहर दिख जाउंगी.

बस अकेले होने का जी चाह रहा था। हमारे नसीब में अकेला होना कहाँ नसीब… आज मौका था तो सोचा कि थोड़ा वक़्त यूँ भी सही। घर पे तो बोल के ही चले थे कि शाम हो जायेगी कल की तरह, तो कोई परेशानी भी नहीं।”पर यहाँ यूँ अकेले बैठना सेफ रहेगा भला? और यहाँ से वापस कैसे जायेंगी. मैं चुपचाप अपने बिस्तर में आ गया, जो लंड अभी तक फड़फड़ा रहा था, वो अब मेरी असफलता पे सर झुकाये खड़ा था!मैं चुपचाप सो गया, सुबह उठने पे मैंने मंजू को देखा… हाय, क्या सेक्सी खूबसूरत बला मेरे सामने थी!और मैं कुछ नहीं कर पाया. मैंने उसकी चूत में लंड डाला तो उसकी जोर की चीख निकला गई और चूत से खून बहाने लगा.

मैं भी एकता को झुक के किस करने लगा और डॉली एकता की गांड पर हाथ फेरने लगी. लालजी ने रजाई को लाकर वहीं फर्श पर बिछा दिया और मुझसे बोला- चल वन्द्या, तू रजाई में लेट जा, आज तुझे चोद चोद कर पागल कर दूंगा. ब्लू सेक्स सेक्स ब्लूइतना सुनते ही मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया और मैं वहां से चला गया और रात का इंतज़ार करने लगा.

करीब 5 मिनट तक लंड चाटने के बाद जब लंड सीधा खड़ा हुआ तो पूरा साढ़े छह इंच का हो गया. मेरी पिछली कहानीविधवा दीदी ने मेरा लंड चूसामें अब तक आपने जाना था कि विधवा दीदी काजल ने मेरा लंड देख लिया था और मेरे को चूस कर अपनी चुत चुदाई का वायदा ले लिया था.

इसके बाद उसके और उसकी सहेलियों के साथ मेरा सेक्स चलने लगा और मुझे अब भी मजा मिल रहा है. मुझे इसकी आशा बिल्कुल भी नहीं थी कि सुकन्या जैसी लेडी को भी इतना डर्टी होना अच्छा लग रहा था. मैंने खड़े लंड को हाथ से छूकर मज़ा लेने के लिए धीरे से उसके लंड पर हाथ रख दिया तो उसने आराम से अपनी टांगें अच्छी तरह सीट पर फैलाकर मेरा हाथ अपने तने हुए लंड पर रखवा लिया.

अब कोई 15-20 मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों झड़ गये और एक दूसरे को नहला कर वापिस कमरे में आ गये. नमस्ते दोस्तो, मैं आप सबका दोस्त अभिषेक गुप्ता, आपकी सेवा में हाजिर हूँ. उसके मम्में मेरी छाती पर झूल रहे थे जिन्हें मैंने पकड़ कर झूलने से रोक दिया और उन्हें दबाते हुए बहू के धक्कों का आनन्द लेने लगा.

फिर उसने अपने ढपाल लौड़े को दोबारा मेरी बला की खूबसूरत रूसी वाइफ की गांड में घुसेड़ दिया.

थोड़ी देर आराम करने के बाद मैंने चॉकलेट सॉस उनकी चुत पे डाल के चूसने लगा. पद्मिनी ने आँख खोल कर बापू की आँखों में देखना चाहा तो देखा कि बापू की दोनों आँखें बंद थीं और वह पद्मिनी के जिस्म को भोगने जैसा मजा ले रहा था.

झड़ते ही उसने अपनी छाती नीचे बेड पर रख ली और पूरी चूत मेरे लण्ड की टक्कर में अड़ा दी. उनके साथ क्या हुआ इसका पूरा पूरी मज़ा लेने के लिए मेरी अन्तर्वासना की कहानी को पढ़ें. तो उसने बोला- कैसे मिलें यार?मैंने कहा- तुमको कॉलेज के बहाने से ही मिलना पड़ेगा.

फिर धीरे धीरे उन्होंने बताया कि अब उनके पति ज़्यादा सेक्स नहीं करते, वे हमेशा काम में बिज़ी रहते हैं. अब आगे:उसने सीमा के घर के पास में ही गाड़ी खड़ी की, मैं गाड़ी से उतरी, वह पीछे से बोला- मैं आप को सात बजे लेने को आऊंगा. मैंने अपने दिमाग़ पे कंट्रोल किया, मन ही बोला ‘सी इज़ राइट!’ (ये सही कह रही है!)[emailprotected].

बीएफ एक्स एक्स एक्स मूवीस मैं तुम्हारी स्माइल का दीवाना हूं और ये स्माइल बनी रहने के लिए जो हो सके वो करने के लिए तैयार हूं. मैंने पीछे से पकड़कर उनको हग करते हुए चूमा और हम दोनों इसी अवस्था में खाना खाने लगे.

बीएफ सेक्सी एचडी में ब्लू

मुझे उसकी आवाज़ से और जोश आ रहा था, मैं उसे चूमते हुए नीचे आने लगा, उसकी नाभि पे किस किया तो उसने अपने नाखून मेरी पीठ पे चुभो दिए. आपको देखकर मैं तो दीवाना हो गया हूँ!मैंने हल्की सी आवाज में बोला- आई लव यू खाला! आपको मालूम नहीं है मेरी क्या हालत है. लेकिन बहरहाल जब एक पोज़ीशन में देर हो गयी तो मैं नीचे हो गया तो नितिन ऊपर से उसकी गांड मारने लगा।लेकिन एक पोजीशन तो रज़िया की भी थी और वह भी थकनी ही थी.

हमने एक दूसरे की जानकारी ली और इसके बाद हम सीधे सेक्स मैटर पर आ गए. तीसरा विकल्प है आत्महत्या… ऐसा करना कायरता है। आखिर मज़बूरी में मैं किसी भी तारीके से खुद को बहला रही हूँ, परन्तु ऐसा मैं कब तब करूंगी? क्या विवाह का सुख इतना ही होता है? पापाजी, अब आप ही बताइये कि मैं क्या करूँ?पूजा की बातें सुनकर मुझे अपने बेटे अंकुश पर बड़ा गुस्सा आ रहा था. भोजपुरी एक्स एक्स व्हिडीओमैंने उनकी इस हाथ सहलाने वाली हरकत से गरम होते हुए बेझिझक कह दिया- आपकी जैसी सेक्सी लड़की मिली ही नहीं.

काफी लम्बी चुदाई के बाद मैं झड़ने वाला था तो मैंने उनसे पूछा कि कहाँ झड़ाना है?वो बोलीं- तेरा जहाँ मन करे.

वो मेरे लंड को बड़े आश्चर्य से देख रही थी और उसे हिला कर जोर से पकड़ कर देख रही थी. मैं जान गई कि लालजी का लंड खड़ा हो गया है, पर इतना बड़ा कैसे हो गया.

जैसे ही मैंने अभिलाषा के नाजुक और नर्म उँगलियों वाले हाथ पकड़े, मेरा 8 इंच का लंड मेरे लोअर में तन कर खड़ा हो गया. मैंने आफिस से छुट्टी ली और उसने कॉलेज बंक करके घर पर आने का मन बना लिया था. मैंने अपनी वाइफ से बोला- साली… कितने लंड लेगी अपनी चुत में… एक लंड ने तो तेरी चुत फाड़ दी.

फिर मैंने छोटी चाची को बड़ी चाची के बाजू सोफे के ऊपर खड़ा करके उनके सर को बड़ी चाची की मुँह के पास करके झुका दिया, जिससे छोटी चाची की चुत मेरे मुँह के सामने आ गई.

तो वो बोली कि मुझे मूवी देखनी है इसलिए मैं भूपेन्द्र भैया के पास सोऊंगी. तभी दूसरा वाले ने भी अपना लंड मेरी चुत में डाल दिया और अब वे मुझे दोनों एक साथ चोद रहे थे. मैंने बिंदु को फोन किया ही था और अभी एक मिनट भी नहीं गुजरा था कि वो पूरी नंगी ही मेरे कमरे में आ गई.

देहाती सेक्सी ओपनइसी तरह पता नहीं कब 3 महीने निकल गए पता ही नहीं चला और भैया की शादी का दिन आ गया।शादी की पूरी तैयारी बहुत अच्छे से की थी, बहुत से कामों की ज़िम्मेदारी मुझे दी गयी थी। आलीशान फार्म हाउस बुक किया गया था जिसमें शादी होनी थी. तो इस प्रकार मेरा हँसी मज़ाक कब प्यार में बदल गया, पता ही नहीं चला.

हिंदी देसी सेक्स वीडियो बीएफ

पर मैंने सोचा कि अगर आज अकेले हैं तो आज उसे भी कोशिश करके इस खेल में शामिल करूंगी. गगन मेरे पीछे-पीछे आया और बोला- सॉरी यार… लेकिन वैसा कुछ भी नहीं है जैसा तू सोच रहा है. मैं समझी थी कि वो धीरे धीरे चुदाई करेगा, मगर उसने अपनी गोद में लेते ही मेरी चुचियों का हाल बुरा कर दिया.

हम दोनों इस बारे में सोच ही रहे थे कि इतने में उन्होंने कहा- मैं नहाने जा रही हूँ, तुम वहाँ आ जाना, हो सके तो वहीं कर लेंगे, नहीं तो बेडरूम में आकर कर लेंगे. मगर लंड की अपनी ही महानता है, इसके बिना चूत भी अधूरी रहती है और उसको पाने के लिए रोती है. हम गरीब घर से हैं, ज्यादा पैसा नहीं है मेरे मम्मी पापा के पास, मेरे पापा एक साल के लिए मुंबई चले जाते हैं.

तभी शायद उस लड़की को भी शक हो गया था कि मैं उसे देख रहा हूँ, तो वो मुँह बनाते हुए उठ कर वहाँ से चली गई और मैं देखता रह गया. दूसरे दिन ऑफिस से भाभी को फोन किया कि रात को कल जैसा खाना रेडी रखना… आज मेरे घर पे खाएंगे. मैं दीदी के मम्मों को मस्ती से चूसता हुआ उनकी चुत में लंड की ठोकरें दिए जा रहा था.

उनकी चूचियों की मनमोहक खुशबू मेरे नाक से होते हुए मेरे पूरे जिस्म में फैल गई. मैंने अपनी इन दोनों बहनों को पहली बार इस हालत में नहीं देखा था जब हम काफी छोटे छोटे थे, तब हम तीनों साथ साथ नंगे नहाते थे.

चाची की इसी अदा से मुझे लगने लगा था कि चाची मुझे मजा लेना चाहती हैं.

कुल मिला कर करीब 9 घंटे में हमने 3 बार चुदाई की और एक बार गांड भी मारी. क्सक्सक्स वीडियो नईमैंने ध्यान देना शुरू किया तो समझ आया कि वो बाइक हफ्ते में दो बार सोसाइटी के बाहर खड़ी रहती थी. नई नवेली भाभीमैंने तेज झटके के साथ अपने वीर्य से उसका मुँह भर दिया, साली जंगली बिल्ली मेरा पूरा पानी पी गई. हमारे कमरे का दरवाजा खुला ही पड़ा था, तभी मुझे ऐसा लगा कि कोई दरवाजे पर खड़ा था और मेरा लण्ड डर के कारण सिकुड़ गया.

रानी ने सारा वीर्य पी लिया था और फिर उसने मेरे लौड़े को चाट चाट कर अच्छे से साफ किया, नीचे से ऊपर तक.

वो भी मेरे गले लग गयी थी और बोल रही थी- जानू आई मिस यू… मैंने तुमको कितना मिस किया. बस 8-10 शॉट मारने के बाद मैंने अपना सारा मालभाभी की चूत में भर दियाऔर उनके ऊपर गिर गया. मैं उसे जल्दी से उसके होटल छोड़ने निकल गया, रास्ते में हमने किस किए.

कुछ देर बाद वो फ़ोन से बात करते हुए गेट पर आई और कहा कि मैं गेट पर हूँ. मैंने देर न करते हुए उसकी चूत पर किस कर दिया, इसके लिए वो तैयार नहीं थी, पर उसे मज़ा आया, उसने कहा- बस किस ही करना. जैसे ही लगा कि उनका होने वाला है, रुक गया… और दो पल बाद फिर से चुत चूसने लगा.

बीएफ फिल्म डायरेक्ट

यह बात तीन महीने पहले की है जब मुझे मेरी सास के घर रात रहने के लिए जाना पड़ा क्योंकि मेरे ससुर नहीं हैं, सिर्फ़ मेरी सास और मेरा साला ही है. मैंने कहा- किधर चली छम्मक छल्लो… अभी से भाग रही हो?छोटी चाची ने सिगरेट का सुट्टा मारा और बोलीं- अभी तेरे लिए एनर्जी का इंतजाम करके आती हूँ. [emailprotected]कहानी का अगला भाग: मुख चोदन कहानी:दूध वाला राजकुमार-5.

पद्मिनी इन्कार कर रही थी, मगर बापू ने समझाया कि जैसे उसने उसकी चूत को चाटा और चूसा था, वैसे ही उसको भी लंड को चाटना चूसना चाहिए.

जब नहा कर आया तो चाची बोलीं- तैयार हो जाओ और शहर के स्टेशन पर चले जाओ, मेरी सहेली की लड़की सिमरन आई है.

मेरी गीली चूत से अन्तर्वासना के सभी पाठको को आपकी प्रभा का सेक्स भरा नमस्कार!दोस्तो, अपने मेरी पिछली कहानीमाँ बेटा सेक्स: बेटे ने मेरी हवस मिटाईको इतना पसंद किया उसके लिए आप सभी का अपने जिस्म से शुक्रिया अदा करती हूँ. तो नूरी खाला ने कहा- आमिर, मेरे दूल्हे, धीरे करो, बहुत दर्द होता है. ब्लू फिल्म एचडी में वीडियोफिर वो दोनों चले गए, मैं पूरे दिन यही सोचती रही कि क्या होगा, कैसे होगा.

मैंने उसे लंड चूसने के लिए कहा, पहले उसने मना किया पर कई बार कहने पर मान गई. अब इन्तजार है कि कोई और ग्राहक मिले और आशा करता हूँ कि कोई औरत ही मिले. आंटी ने कहा- ठीक है ठीक है… अब इस तरह की बातें मत करो, मैं तुम्हारी आंटी हूं.

मैंने लंड पलते हुए ही कहा- साली कुतिया, अब लंड का मजा लेने लगी उस वक्त तो मुझे भोसड़ी के बोल रही थी. अंत में भाभी ने मेरे माथे पे किस किया और बोला- तुमने मुझे आज बहुत खुश किया.

वह सिसकारियाँ लेने लगी और मेरे लंड को जल्दी जल्दी आगे पीछे करने लगी.

मैंने उनसे उनके परिवार के बारे में जाना, तो पता चला वो 5 साल से अपने पति से अलग रह रही हैं. फिर मेरा मंतव्य समझ कर चेहरा घुमा लिया। यहां भी उसने चेहरा कवर कर रखा था और मैं बस उसकी आंखें देख सकता था।कैसे जानते हैं आप आरिफ को?”फेसबुक से. क्या उसे लंड लेना पसंद नहीं है या किसी और का लंड उसे पसंद आ गया था?वो बोला- नहीं साली बहनचोद मुझ पर शक़ करती थी, जब कि मैं किसी और के पास गया भी नहीं.

अंग्रेजी चुदाई सेक्सी तब बो बोलीं- वो क्यों?तो मैंने बोला- इसलिए कि वो थोड़ा समझदार दिखतीं हैं और होने वाली गड़बड़ को संभाल सकती हैं. उन्होंने मुझे अपना मोबाइल नंबर देकर कहा- अगर ग्वालियर में कभी फ्री हो तो याद जरूर करना!और चली गईं.

फिर मैंने उससे कहा कि तुम पूरी जानकारी इकट्ठी करो कि उस अधिकारी की फैमिली में कौन कौन है और क्या करते हैं आदि इत्यादि. रीना ने बाथरूम का दरवाजा खोला तो देखा रमेश पूजा को अपनी बाँहों में पकड़ कर किस किये जा रहा था और अपने लन्ड को पूजा की चूत पे रगड़ रहा था. सससस…मैंने नेहा की टांगों को फैलाया और घुटनों पर बैठकर लंड उसकी चूत पर रखा, वह चुदने बेताब थी.

साड़ी वाला बीएफ साड़ी वाला

फिर एक दिन हम सब घूमने गए, जहां से हमारी दोस्ती आगे परवान चढ़ने लगी. दोनों लैम्पों के शेड भी नीले थे, इसलिए रौशनी हल्का सा नीलापन लिए थी, वातावरण को बहुत कामुक बना रही थी. और थोड़ी देर बाद जब लंड महाराज फिर से टाइट हो गये तो मैंने आरुषि को बेड के सहारे झुका कर खड़ा करके पीछे से लंड उसकी फुद्दी के मुँह पर लगाकर मैं एक बार थोड़ा पीछे को हुआ और एक झटका लगाते हुए लन्ड को फुद्दी में धक्का मारा तो लंड थोड़ा सा उसके अंदर घुस गया.

ये सुनकर मेरी वाइफ बोली- नहीं उनका नहीं, कोई तुम्हारा फ्रेंड हो जिसका लंड भी तुम्हारे जैसा लंबा मोटा हो तो उसको बुला लो. अब कुछ नज़र नहीं आ रहा था, बस बाप के चूतड़ हिल हिल कर आगे पीछे हो रहे थे.

एक पेग ख़त्म होने के बाद मैं दूसरे पेग उठाने के लिए उठी तो सोनू ने अपने सारे कपड़े खोल दिए और अपना खड़ा लन्ड मेरी स्कर्ट के ऊपर से ही मेरी गांड के छेद पर भिड़ा दिया.

लेकिन राशिद ने उसे हाथ से सहलाया तो वह एकदम टाईट हो गया। डेढ़ इंच की मोटाई रही होगी और छः से सात इंच के करीब लंबाई थी।देखो. जैसे ही मेरे पास आया, वह मुझे घूरने लगा और बोला कि वन्द्या तुम बहुत सेक्सी लग रही हो. ना चाहते हुए भी गीता को अपनी चुत उछालनी पड़ रही थी, क्योंकि अभी अभी उसके जिस्म का बुरा हाल हो चुका था.

उसकी सिसकारियों से मुझे और जोश आ गया और मैं पागलों की तरह उसकी चूत चाटने लगा. उसने मुझे अपने ऊपर बिठाया, मैं भी उसके केले के ऊपर बैठ गई, उसका लंड मेरी चूत में घुसता चला गया. मैंने पूछा- सच बोल रही हो?वो ये सुनकर तुरंत ही मेरे होंठों पर टूट पड़ी और बोली- मेरी जान.

उसका फोन आता रहा, मगर मैंने कोई जवाब नहीं दिया और फिर फोन का सिम ही तोड़ दिया.

बीएफ एक्स एक्स एक्स मूवीस: उधर वो इस कदर तड़फ रही थी कि मुझे समझ ही नहीं आ रहा था कि साली लंड चूसने में तो माहिर लग रही थी, लेकिन अभी तक सील पैक निकली. वो उम्र में उन दोनों से छोटी और एक लाजबाब हुस्न की मालिका थीं तो मेरा लिंग उन्हें 6-7 सेकेण्ड देखने पर ही खड़ा होने लगा.

मेरी कोशिश हालाँकि कामयाब नहीं हो सकी क्योंकि चूत के अन्दर पहले से ही आर्थर का ताकतवर लंड उछल-कूद मचाए हुए था. दो तीन साल में एक बार। कुछ मुख़्तसर वक़्त के लिये।”ऐसी बात नहीं।” वह एकदम बुझे और हल्के स्वर में बोली जैसे खुद से हार रही हो।मेरी बात होती है आरिफ से. और कल मैं कुछ अलग इंतजाम करती हूँअब तक सुबह के 4 बज चुके थे तो वो जाने लगी.

चल बस कर नवीन…मॉम की बात सुन कर नवीन साड़ी से बाहर अपना मुँह पौंछता हुआ निकला.

मैंने भी मौके की नज़ाकत को समझते हुए ज्योति की चूत से अपनी जीभ हटा दी और काजल दीदी को उसके होंठ चूसने को कहा. पन्द्रह मिनट तक लंड चुसवाने के बाद मैंने दोनों को उठाया और दोनों को आपस में किस में लगा कर उनकी कमर में हाथ डाल कर, उनके 36 साइज़ के चारों मम्मों को मसलते हुए चूसने लगा. मैं समझ गया था ये लड़की पहले से ही खेली खाई है, खूब चुदी चुदाई है, चालू माल है इसलिए मैं बिस्तर पर आया, अपनी बहन के नंगे बदन पर लेट कर उसे पूरा ढक लिया और उसके होंठों पर होंठ रखा कर प्रगाढ़ चुम्बन करने लगा.