हिंदी सेक्सी बीएफ हॉट

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर नंगा पुंगा

तस्वीर का शीर्षक ,

मालवा का सेक्सी वीडियो: हिंदी सेक्सी बीएफ हॉट, फिर मोतीलाल ने अपने कपड़े उतार दिए और इब्राहीम से बोला- इस साली रांड के भी कपड़े उतार कर इसे पूरी नंगी कर दे.

दिल्ली की लड़की की सेक्सी वीडियो

उसने दरवाज़ा खोला और मैंने देखा कि वो सिंपल सूट में पतली सी लड़की मेरे सामने खड़ी थी, जिसके चुचे और गांड का उभार अभी उठने शुरू ही हुए थे. काजल नाटकउसके जाते ही मैंने अपने लौड़े की सफाई की और नहा धोकर भाभी को फोन लगाया.

अब आगे गरम औरत की गांड मारी:वो मेरे लंड को ऐसे चूस रही थी, जैसे उसे बहुत दिनों बाद लंड चूसने को मिला हो. बिलासपुर सेक्स‘फिर?’भाभी- फिर मां ने विस्तार से पूछा, तो मैंने उन्हें बता दिया कि तुम्हारे भैया का खड़ा ही नहीं होता है.

भाभी मेरी बात का मर्म नहीं समझ सकी और बोली- क्या ज्यादा हो जाएगा बाबू?मैंने धीरे से कहा- मेरा औजार …अभी मैंने इतना ही कहा था कि भाभी ने मेरी बात काटते हुए कहा- बाबू अब आपसे क्या शर्माना … सिर्फ एक बार आपको छू लेने दो न!मेरे मन में भी तो लड्डू फूट रहे थे.हिंदी सेक्सी बीएफ हॉट: और राहुल अपने कमरे में चला गया।आंटी मेरे पास बाथरूम में आयी और मुझसे बोली- बेटा, अब तुम्हें अपने घर जाना चाहिए.

मैं उसके दोनों मम्मों को बारी बारी से पिए जा रहा था और वह मेरे लंड पर गांड उछाल रही थी.उसकी पैंटी को मैंने नीचे किया तो मुझे उसके कमसिन सी चुत के दर्शन हो गए.

देसी भाई बहन की चुदाई - हिंदी सेक्सी बीएफ हॉट

मैं बड़ी बेसब्री से दीदी के आने का इंतज़ार कर रहा था लेकिन दीदी की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं थी.कुछ देर बाद मैंने उनकी जींस के बटन को खोला और चैन खोलते हुए जींस नीचे सरका दी.

दुकान बंद होने का समय हो चला था तो सभी दुकानदारों ने धीरे धीरे अपनी दुकान बढ़ाना शुरू कर दिया. हिंदी सेक्सी बीएफ हॉट जल्दी ही मैं अपनी रफ़्तार पर आ गया और ताबड़तोड़ लंड अन्दर बाहर करने लगा.

इसलिए मैंने अपना दिमाग लगाया और रात को ही मौका देख कर घर में उन जगहों पर स्पाई कैमरे लगा दिए, जिधर चुदाई होना सम्भव थी.

हिंदी सेक्सी बीएफ हॉट?

फिर नवीन ने मेरी अम्मी की गांड पर थप्पड़ लगाया और बोला- साली मस्त गांड है मादरचोदी की. मेरे स्तन खिंचने लगे। फिर रोज मेरे स्तनों में घंटों तक ब्रेस्ट पंप लगाए रखने से मेरे स्तन थोड़े बड़े हो गये. वैसे तो इस मैक्सी में उनका कोई भी अंग नहीं दिख रहा था, पर दूसरी साइड उजाला था, तो दीदी की टांगें साफ झलक रही थीं.

कुछ 4-5 लहसुन की कलियां छीलने के बाद वो बोली- बेबी, मुझे लग रहा है कि भीगने की वजह से मुझे ठंड चढ़ गई है. मैंने नीचे से गांड उठा दी, तो मेरा लंड सट्ट से अन्दर घुसता चला गया. मैंने एक उंगली दोस्त की मम्मी की चूत में डाल दी और आगे पीछे करने लगा और उनकी चूत चाटने लगा.

मैंने कहा- बहुत खुजली हो रही है क्या?वो मेरी बात से डर गया और बोला- सॉरी मेम … मैं सच कह रहा हूँ. भाभी बहुत देर तक बिना कपड़े के ही खड़ी खड़ी अपनी चूत को सहला रही थीं और दीवार के पास खड़ी होकर अपने मम्मों को दीवार से चिपकाकर बहुत ज़ोर से दबा रही थीं. कुछ देर के बाद मैंने सासू माँ को पूरी नंगी कर दिया और अपने भी सारे कपड़े उतार दिए.

अब इसी पोज़ में मैं भाभी को 15 मिनट तक चोदता रहा और भाभी सिर्फ उम्म्ह ह्म्म्ह कर रही थी. वो- इसका मतलब तुम तो आज मुझे बोर ही कर दोगे … और हां बाबू कल रात जो भी बातें हुईं, उनको सीरियसली मत लेना.

उस टाइम मेरे एग्जाम का एक पेपर बचा था तो मैंने जाने से मना कर दिया.

दीदी ने मेरा लंड पकड़ कर अपने पूरे चेहरे पर फेरा, फिर मेरे लंड का टोपा होंठ गोल करके अपने मुँह में ले लिया.

फिर एक दिन मैंने बाल्कनी से देखा कि मेरी मॉम भिखारी से कुछ बात कर रही थीं. जब पूरा डिल्डो जेनी की चूत में समा गया तो मैं उसके ऊपर लेट गयी, उसके होंठ चूसने लगी।फिर उसके स्तन दबाने और चूसने लगी।जेनी को बहुत मज़ा आ रहा था. मैं- क्यों!वह बोली- आपको मेरी चुत देखनी है ना!मैंने कहा- हां मुझे देखनी है.

उसी वक्त कार्लोस ने पूछा- मैडम, ये पैंटी बीच में आ रही है और मालिश ठीक से नहीं हो पा रही है. अब रोज वैक्सिंग के बाद मोहिनी मेरे स्तन पर ब्रेस्ट पंप लगाकर दो तीन घंटे रखती. मैं किसी अच्छे से लड़के की खोज में थी अपनी कुंवारी बुर में लंड डलवाने का मजा लेने के लिए.

उनका दर्द मीठी कराहों में बदल गई थीं- अहह उहह और जोर से गांड मारो मेरी … मुझे मजा आ रहा है विकी … आह मेरी गांड फाड़ दो अहह् सीई ईईई अहह्ह आज पहली बार इतना मजा आ रहा है आह.

मैं पास में ही था, तो मैं दौड़ कर गया और थोड़ा सा बचा पानी उनके चेहरे पर छिटक कर उन्हें होश में ले आया. मेरे ससुर बोले- कोई बात नहीं, मैं भी रहने देता हूं जाने का, सुमन तुम खाना बनाना रहने दो. लेकिन मुझे डर ये भी था कि अब हो सकता है कि वो मुझे कोई भाव ही न दे.

मैं बहुत खुश हो गया और समझ गया कि मेरी बहन को अपनी चुत चटवा कर मजा आया है. मैं समझ गया कि जब दीदी इतना कर रही हैं, तो पीछे रहने से मेरी मर्दानगी पर दाग लग जाएगा. इस बार मैंने ढेर सारा थूक अपने लंड पर लगा कर उसकी चुत की फांकों में फंसा दिया, तो उसने अपने हाथ से लंड को पकड़ कर छेद में सैट कर दिया.

उन्होंने मेरी पीठ पर हाथ फेरते हुए कहा- मैं तुम्हें पैसे भी दे दूंगा.

’भाबी एकदम से उछल पड़ीं और खुद को आगे को करती हुई गांड में लंड निकालने की चेष्टा करने लगीं. दो मिनट में ही उसकी हालत इतनी बुरी हो गई थी कि उससे बात तक नहीं हो पा रही थी.

हिंदी सेक्सी बीएफ हॉट [emailprotected]बेस्ट ओरल सेक्स कहानी का अगला भाग:प्रीति से लगाई प्रीत- 4. हम दोनों ने एक दूसरे से वादा किया कि हम दोनों एक दूसरे की पसंद नापसंद का ये राज किसी को नहीं बताएँगे.

हिंदी सेक्सी बीएफ हॉट मेरे बहुत पूछने के बाद उन्होंने बताया- हमारी शादी को 9 साल हो गए हैं और बच्चा नहीं हो रहा है. मैंने पूछा- क्या हुआ बे?वह बोला- मैं यहीं बैठ जाऊं क्या?मैंने उसकी तरफ देखा और उसे प्यार से बैठने के लिए हां बोल दी.

एक दिन मैं भाभी के घर कुछ काम से गया था तो भैया भाभी किसी बात पर झगड़ रहे थे.

सेक्सी फिल्म 18 साल

मैंने उसकी गांड के छेद पर उंगली फिराते हुए कहा- अभी तो और मज़ा आएगा, इसका मज़ा भी लेना है. ससुर बहू Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरे ससुर ने मेरी लंड की जरूरत और मैंने अपने कामुक ससुर जी की ठरक को कैसे पूरा किया. कुछ ही पलों बाद मैं उमैय्या की कच्छी को वहां से चाटने लगा, जहां उसकी चूत और गांड का छेद लगता था.

उसने हल्की सी मुस्कान के साथ कहा- मुँह में ही डाल दो जानू … मैं भी तो इसका स्वाद चख लूं. फिर दो तीन मिनट की चुत चुसाई में ही राखी मैडम ने अकुलाहट दिखाई और उठ कर मेरी चड्डी खोल दी. हां, मेरी मौसी भरे पूरे शरीर की मालकिन हैं और इस उम्र में भी उनका पेट भी एकदम सपाट है.

मैं भी तो देखूं कि तुम्हारी कैसी चॉइस है!यह सुनकर प्रीति हंस कर दुकान में चली गयी.

मैंने साई की तरफ देखा तो उसने मुझे आंख मारी और मुस्कुराते हुए बोला- चूसता जा भोसड़ी के!आंख से मैंने सोमू के होने का इशारा किया. वो जब भी मेरे सामने आती थीं … तो उनके थिरकते बदन को देख कर मेरे पूरे शरीर में ऊपर से नीचे तक आग सी लग जाती थी. फिर मैंने नफीसा आंटी को बिस्तर पर उल्टा लिटा दिया और ऊपर से चोदने लगा.

मेरी दीदी ने मेरी तरफ देखा, तो मैंने अपनी आंख बंद करके उन्हें हां कर दी. फिर मैंने उससे पूछा- तेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड है या नहीं?उसने कहा- नहीं भैया, अभी तक तो कोई भी नहीं है. मैम की टाइट होती जांघों और मांसपेशियों से साफ पता लग रहा था कि थोड़ी देर में वो अपनी चुत से पानी छोड़ देंगी.

उसने मेरी आंखों में देखा और अपना हाथ बिंदास मेरे दूध पर रख कर पूछा- किधर … इधर?मैंने नशीली आंखों से उसे अपनी रजामंदी देते हुए कहा- नहीं सेंटर में. मैं बस यही सोच रहा था कि जब वो मेरी बीवी को छुएगा तो मेरी बीवी अपने आपको कैसे रोकेगी.

तो मैंने कल्पना भाभी को सब कुछ सच-सच बता दिया- अमित कई सारी लड़कियों से फोन से बात करता है. मगर मेरी सासू मां ने अपने उभारों को न तो ढकने की कोशिश की और न ही किसी तरह की लज्जा दिखाने की चेष्टा की. कुछ देर सोचने के बाद वो मान गई और मेरे से कुछ दूरी पर बैठ कर चुपचाप खाना खाने लगी.

मेरी साली मुझे पीछे धकेलते हुए बोली- जीजू, कोई आ न जाये? चलो छत वाले स्टोर रूम में चलते हैं.

मैं कुछ देर बाद झड़ गयी … मगर अन्दर से मेरी चूत एकदम गर्म हो गयी थी. उधर मॉम को बहुत दर्द हो रहा था, वो विकी से रिक्वेस्ट कर रही थीं कि अपना लंड बाहर निकाल ले. कुछ देर बाद वो दीदी को धकापेल चोदने लगे और दीदी भी अपनी गांड उठा कर चुदाई के मजे लेने लगीं.

मैं बहुत खुश हो गया और समझ गया कि मेरी बहन को अपनी चुत चटवा कर मजा आया है. उसकी आवाजों से न मधु उसकी गांड मारना छोड़ रही थी और न मैं उसकी चुत चोदना छोड़ रहा था.

एक दिन मैं कॉलेज से जा रहा था तो देखा कि मैम ऑटो का इंतज़ार कर रही हैं. दीदी की चुत बिल्कुल ऐसी चिकनी थी, जैसी आज ही उन्होंने अपनी झांटों को साफ किया हो. वो बोली- हां यार … बहुत सारी सफाई भी करनी पड़ेगी और वहां काक्रोच भी बहुत हो गए होंगे.

एक्स एक्स जबरदस्ती सेक्सी वीडियो

मैं रुक गया।थोड़ी देर बाद मैंने फिर से हरकत शुरू कर दी अब मेरे लौड़े पर आंटी के हाथ सख्त होने लगे थे।मैंने उंगली चूत में घुसा दी और अंदर-बाहर करने लगा.

चाचा जी ने कहा- मैं उसे चोद चुका हूँ बस अब तुम दोनों को एक साथ चोदना है. मैंने कहा- फिर?भाभी- फिर जब तुम मेरे अन्दर झड़ कर सो गए तो कुछ देर बाद मैंने भी हिम्मत करके तुम्हारे लंड को अपने हाथ में लेकर उसे हिलाना शुरू कर दिया. मुझे भी अच्छा लगता है कि इतना हट्टा-कट्टा आदमी मेरी अम्मी का बॉयफ्रेंड है.

दोस्तो, ये हमारी सच्ची हॉट गर्लफ्रेंड की फर्स्ट सेक्स कहानी है, आपको कैसी लगी मुझे मेल करके जरूर बताएं. ‘सोनू बेटा, तुम जैसा सोच रही हो, वैसा बिल्कुल कुछ भी नहीं हो रहा है. ललिता भाभी कीबहुत सारे खेल खेलने का इंतज़ाम भी था।रेसॉर्ट में हम बेंच पर बैठे और हल्की फुल्की बातें करने लगे.

मैंने कहा- मुझे आप दोनों को बिल्कुल नंगा देखना है और आप दोनों के अंग छूकर देखना है. उनके एक मम्मे के निप्पल को अपने होंठों में दबा कर जोर जोर से चूसने लगा.

मैंने उसका एक हाथ पकड़ा ही था कि उसने खुद ब खुद अपना हाथ मेरी जींस के ऊपर से ही लंड पर रख दिया और लंड को दबाने लगी. मैंने भी आराम से लंड को चूत में डालना चालू कर दिया और धीरे धीरे करके अपना पूरा मोटा लंड सासू मां की चूत में जड़ तक पेल दिया. मामीजी- अरे तो नखरे नहीं करेगी क्या? इतनी आसानी से वो तेरे लौड़े के नीचे आने वाली नहीं है.

मैंने तेल की शीशी अपने हाथ में ली और सुपारे पर तेल टपका कर लंड अन्दर सरका दिया. तभी मैंने नोटिस किया कि वो भी जगी ही है, लेकिन फिर भी मैंने कुछ देर उसे नोटिस करके कन्फर्म किया कि वो भी जाग रही है या नहीं. इसके बाद मैं दीदी को कई बार अपने साथ बाइक पर लेकर बाज़ार या किसी काम से लेकर गया.

मैं ये सुनकर हैरान हो गया कि मैंने ऐसा तो कभी नहीं कहा, तो भाभी भैया से ऐसा क्यों कह रही हैं?फिर भैया ने भाभी के कपड़े उतारना शुरू किए.

माधवी ने सोनू से कहा- सोनू बेटा, यदि तुमको हमें चुदाई करते देखना हो … तो भी हमें कोई आपत्ति नहीं है. मैंने पूछा- तुमने उसको इतना सब करने क्यों दिया?वो बोली- वो लड़का बहुत अच्छा था, मेरी बहुत केयर करता था, मेरी हर जरूरत पूरी करता था और मेरे घरवालों की भी बहुत हेल्प करता था.

खड़ा लंड देखते ही वो लालची लोमड़ी की तरह उस पर झपटी और अंडरवियर के ऊपर से ही लंड चूसने लगी. कहीं रंडियों के चक्कर में पड़ गया, तो कहीं किसी बीमारी में न फंस जाए. मैंने कहा- मौसी, मुझे आप गिफ्ट दोगी, तो मैं भला आपको मना क्यों करूंगा.

उनकी चुत में रसधार बहने लगी थी, इसलिए अब चुदाई की फच फच की आवाजें तेज सुनाई देने लगी थीं. मैं थोड़ा पीछे को हुआ, उमैय्या की कमर को एक हाथ से पकड़ा और पीछे से अपना लंड उमैय्या की चूत पर रगड़ने लगा. मगर मैं नहीं चाहता था कि वो अभी झड़े, तो मैंने पोजीशन चेंज करने की कोशिश की.

हिंदी सेक्सी बीएफ हॉट दीदी की कमर के नीचे उनकी गदरायी गांड ऐसी मानो कह रही हो कि आओ और मुझसे खेल लो. अब हम उनके घर पहुंच गए, वो अपने घर में घुस गयीं और मैं अपने घर चला आया.

सेक्सी वीडियो दीजिए चोदा चोदी

मैंने उसकी गालों पर अपना हाथ फेर कर पूछा- कैसा लगा?तो वो बोली- ओह जीजू … पूछो मत! आपने तो फोरप्ले में ही मेरी तसल्ली करवा दी. ये सुनकर मैंने उसकी छूट को कच्छी के ऊपर से ही चूमा और आंख मारकर उसकी कच्छी उतारने लगा. उसने अपने मूत की एक एक बूंद मेरे मुँह में गिरा दी और बोला- अब उठ जा और जाकर साफ़ कर ले.

मैं मोबाइल में सेक्स वीडियो देख रहा था, मेरा लंड एकदम टाइट हो गया था. फिर कुछ देर बाद मम्मी की आआह आह आवाजें आने लगीं और मम्मी की कमर भी चलने लगी. कैटरीना xxxउसने एक दिन चुदाई के वक्त मुझसे कहा कि जानू मैं अब सिर्फ तुम्हारी हूँ … मुझे लेकर अपने मन में किसी भी तरह की बात मत सोचा करो.

उन दोनों ने दस मिनट तक यूं ही लेट कर अपनी आंखें बंद कर लीं तो मुझे लगा कि अबचुदाई का खेलखत्म हो गया और ये दोनों सो गए हैं.

भाबी अब भी उसी तरह से अपने मुँह और चुत में उंगलियां रगड़ने में लगी पड़ी थीं. मैंने कमरे की खिड़कियां खोल दीं, ताकि किचन से मामी को नजारा दिख सकें.

उसकी बातें सुन कर मुझे और जोश आ गया और मैं ज़ोर ज़ोर से उसके दोनों मम्मों को बारी बारी से चूसने लगा. मेरे साथ मेरे दोस्त अमित की … और कई सारी अन्य दोस्तों के साथ की फोटो भेजीं. पहले कार में जगप्रीत ने मेरी अम्मी को बहुत कसके जकड़ा और उन्हें किस किया.

चाचा जी बोले- आह चूस पंकज मादरचोद … चूस मेरा लंड मेरे बीवी से भी अच्छा चूसता है तू!मैंने उनका लंड अपने मुँह में अन्दर तक डाल लिया.

इधर मैंने भी कल्पना भाभी से जानना चाहा कि उनकी अमित के साथ शुरूआत कैसे हुई. मैंने बनकर पूछा- किस चीज का मजा?वो बोली- जो रात को आप मेरे साथ कर रहे थे. मैं- ठीक है मां, तू कहती है तो मैं पी लेता हूँ … पर मैं आपके सामने नहीं पी सकता.

यू डिक्शनरी ऐपभाभी को मैंने गले पर चूमा तो वो तुरंत मेरी गोद से उतरकर मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर कण्ठ में धारण करने की कोशिश करने लगी. उसका असर यह था कि मेरे अन्दर एक अजीब सी सिरहन दौड़ने लगी जिसके कारण मेरे कूल्हे आपस में चिपक जाते थे.

बहू ससुर का सेक्सी वीडियो

वह एचआर विभाग में थी।मैंने अगले हफ्ते मोहिनी से घर के बाहर मिलने की अनुमति उनके परिवार से मांग ली. फरीना ने एक टांग मेरे कंधे पर रख कर अपनी चुत को और खोल दी और मेरे लंड को आगे जाने का रास्ता दे दिया. मैंने मोहिनी से खेल के बारे में बात शुरू की। मैंने बताया कि मैं फ़ुटबाल खेलता था.

वो खुद भी अपने हाथ से अपना दूध पकड़ कर मुझे चुसवा रही थीं और सिसिया रही थीं. मेघा- आह … आह … चोदो अमित चोदो और तेज चोदो अपनी मेघा की चूत को फाड़ दो … आह बस चोदते रहो. एक दो पल चूत को सूंघने के बाद मैंने जैसे ही अपनी जीभ से चूत को स्पर्श किया, तो भाभी सिहर उठी और उसने अपने पैरों को बंद करते हुए चूत को ढक लिया.

हमारी सांसें किसिंग की वजह से बहुत फूल चुकी थीं और अब मामला अपनी चरम सीमा पर पहुंचने को था. भिड़े की नजरें अपनी बीवी की चुचियों पर टिक गईं और उसका मूड बदलने लगा. मैं समझ गया था कि भाभी खुद प्यासी हैं और आज तो मेरे लंड के लिए एक नई दुल्हन बन कर चुदाई के लिए सुहागसेज पर बैठी हैं.

शाम को अम्मी से मैं बाहर खाना खाने की बात कह कर जगप्रीत की छत पर चला गया. मुझे खुद भी होश नहीं था कि मैंने पहली बार में भाभी के साथ क्या क्या किया था.

दिन भर घूमने के बाद जब हम सब वापस घर आए तो सब लोग बहुत ज्यादा थक चुके थे.

जैसा कि मैंने पहले बताया था कि साई को लौड़ा चुसवाना बहुत पसंद है, इसलिए उसने मुझे अपनी टांगों के बीच घुटनों के बल बैठने को बोला. नवरा बायकोची झवाझवीउसके पापा केन्द्रीय सरकार की सेवा में हैं तो उनका स्थानान्तरण होता रहता है. गूगल पागलमेरी मम्मी बोलीं- राज सो गया क्या?नफीसा आंटी बोलीं- नहीं दीदी, अभी तो उन्होंने एक ही चैप्टर कंम्पलीट किया है. सफाचट चुत को देख कर मुझसे रहा ही न गया और मैंने अगले ही धीरे से भाभी की चुत पर अपना हाथ रख कर चुत को सहला दिया.

लंड घुसते ही भाभी के मुँह से जोर की चीख निकली- आआंआह … हाय बेदर्दी ने मार डाला … आंह साले तू इंसान के भेष में क्या खच्चर है माँ के लवड़े … जो इतना बड़ा लंड लगा रखा है.

फिर जब मैं सेकंड ईयर में आया, तब मेरे घर के दो तीन मकान छोड़कर एक भाभी रहने आईं. दोनों चूचियों को एक साथ सटा कर मैं दोनों निप्पलों को एक साथ चूसने की कोशिश कर रहा था और लंड उनकी चूत पर रगड़ रहा था. इस बार वह इतनी जोर से चीखी कि उसकी चीख से पूरा कमरा गूंज उठा … लेकिन मैंने उसकी चीख पर कोई खास ध्यान नहीं दिया और मैं धक्के लगाता रहा.

मैंने धीरे से उसकी ब्रा उतार दी और दोनों मम्मों को बारी बारी से रसीले संतरों की तरह चूसने लगा. उन्होंने मेरे साथ ऐसा बहुत बार किया और अब मुझे गांड मरवाने में बहुत मजा आने लगा. अब नफीसा आंटी भी अपनी गांड आगे पीछे करके लंड चुत की गहराई में लेने लगीं.

ब्लू फिल्म सेक्सी हिंदी में देहाती

इधर मैंने अपनी दो उंगलियां गांड में डाल कर अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया था. मुझे वो सब याद आ रहा था जो मोनिका मुझसे बोली थी कि आह और ज़ोर से बेबी … और जोर से चोदो. वो- अन्दर की खुजली भी शांत करवाना चाहती हो?मैं हंस कर बोली- तुम सिर्फ उतना करो, जितना कहा है.

एक दो दिन में ही मैं पीयूष के करीब बैठने लगी थी और वो भी मुझे समझाने के बहाने मेरे कंधे पर रख देता और कंधे को सहलाने लगा था.

मैंने बोला- फिर?वो बोली- फिर क्या? फिर कभी-कभार मैं भी उसके साथ पी लेती थी.

मैं काशिफ से बोली- साले धीमे से अन्दर करना … पहली बार इतना बड़ा ले रही हूँ. मैंने भी मॉम की चुत में झटके देते हुए कहा- हां मॉम, अब तो मैं आपके लिए लंड की लाइन लगा दूंगा. मम्मी पापा की चुदाई का वीडियोनफीसा आंटी ‘आहह आहहह आहह …’ करके गांड आगे पीछे करके चुत में लंड लेने लगीं.

अब शाजिया जब भी अपने रिश्तेदार के घर आती, तो मौक़ा देख कर मुझे बुला लेती औऱ मैं उसे चोद देता. अम्मी हंसने लगीं और बोलीं- हां, अभी तक खड़ा है क्या … चल बता आज कैसे याद किया … आना है क्या?धीरज- हां आंटी … लेकिन मेरा साथ एक बन्दा और भी है. मैंने भी अपने कपड़े पहने और प्रीति से कहा- तुम आराम से कपड़े पहनो, मैं नीचे जाता हूं.

मैं बेशर्मों की तरफ दीदी की चूचियों को देख रहा था और वो अपनी चुचियों को हिलाती हुई दिखा रही थीं. मुझे इस तरह का आनंद कभी नहीं आया था।थोड़ी देर बाद बिना कुछ कहे, हमने एक दूसरे के कपड़े उतार दिये, अब हम दोनों पूरी तरह नग्न थीं.

वो लंड की छुअन पाकर फिर से गांड सिकोड़ने लगी थी मगर मैंने फिर से उंगलियों को उसकी गांड में चलाना शुरू कर दिया.

जब तक निक्की ने सबके सामने कुछ नहीं कहा था, तब तक मेरे दोस्तों को मेरे इस रिलेशन के बारे में नहीं पता था. उन सबकी बातों को अनदेखा करके … और एक दो को गाली देते हुए सुबह का नाश्ता कराकर मैं सबसे पीछे वाली सीट पर सिर झुका कर बैठ गया और सो गया. अब उसे अपनी दो उंगलियों से मेरे एक निप्पल को मसल दिया और बोला- क्या इधर कुछ गड़ रहा है?मैं मुस्कान बिखेर कर कहा- आह … हां बड़ा अच्छा लग रहा है.

लेटेस्ट सेक्सी वीडियो पहले तो वो कुछ रेस्पोंस नहीं कर रही थीं, पर थोड़ी देर के बाद वो भी मेरा साथ देने लगीं. सेक्सी गर्ल हिंदी स्टोरी में पढ़ें कि मैं बीवी के साथ ससुराल गया तो वहां उसकी बुआ की माल बेटी से मुलाकात हुई.

कुछ पल बाद पीयूष ने मेरी अम्मी को कुछ इशारा किया, तो मेरी अम्मी ने अपना सलवार सूट उतार दिया और वो एकदम नंगी हो गईं. मनीषा- अरे आप इतना क्यों परेशान हो रहे हो … आपको कंडोम ही लेना है ना?मैं उसकी तरफ हैरानी से देखने लगा. जब वो उठने लगी तो उसे चूत और टांगों में बहुत दर्द हो रहा था, जिससे वो चल भी नहीं पा रही थी.

इंग्लैंड का सेक्सी पिक्चर

मैंने देखा कि मोहिनी सुन्दर जवान लड़कियों की तरफ देख रही थी; लड़कों की तरफ उसका ध्यान नहीं था. एक पैग खत्म होने के बाद उसने अपना गिलास नीचे रख दिया और खुद मेरे खाली गिलास में रम भरने लगी. ‘बाबा क्या मैं इसे छू सकती हूं?’जैसे ही सोनू ने अपने बाबा के लंड को छूने के लिए हाथ बढ़ाया, तब माधवी ने उसे ऐसा करते हुए रोका.

धीरे-धीरे मेरी चूत ने भी हार मान ली थी, ससुरी गीली होना शुरू हो चुकी थी।लेकिन अभी तक बाबूजी ने चूत के अन्दर उंगली तक नहीं डाली थी।फिर उन्होंने मुझे घुमाया और उसी तरह से अपनी उंगलियाँ मेरी पीठ से गांड की दरार तक चलाने लगे. उनकी बात से मुझे लगा कि वो खुद अपने आपको मेरे सामने लेटने की बात कह रही हैं.

इधर मेरा लंड शिवानी की चूत के मुंह पर खड़ा हुआ अन्दर घुसने का इंतजार कर रहा था.

नवीन ने सबीना के चूतड़ों पर हाथ फेर कर कहा- साली तूने पहले कभी गांड में लंड नहीं लिया क्या?मेरी बहन धीमी आवाज में बोलीं- नहीं लिया … आह दर्द हो रहा है. मालिश करते करते जब मैं मोहिनी की चूत की तरफ आया तो चूत को ध्यान से देखने लगा।मैंने चूत पहली बार देखी थी; चूत पर बाल नहीं थे।मैंने मोहनी से पूछा- मैंने वीडियो में देखा है कि लड़कियां चूत में बड़े लंड आसानी से ले लेती हैं. सेक्स कहानी की शुरूआत यहां से हुई कि भाभी पूरे घर को साफ करके और घर के बाहर बरामदे को साफ करके पौंछा मारती थीं और वो ये रोज़ करती थीं.

मैंने भी देर नहीं की और उसकी क़मर को टाइटली पकड़ कर उसके होंठों को अपने होंठों के बीच जकड़ लिया. अगली सुबह 4 बजे ही फोन आया ‘फ्रेश होकर आ जाओ, मैं भी फ्रेश होकर आती हूं. अब तक इतनी लौंडिया चोदने के बाद मैंने ये अंदाजा तो लगा ही लिया था कि दीदी की चूचियों का साइज़ 36 से 38 के बीच ही होगा.

मेरा लंड तना हुआ था, तो मैं दीदी से बोला- आप चलिए, मैं किराया देकर आता हूं.

हिंदी सेक्सी बीएफ हॉट: मैंने अब तक चार बार मुट्ठ मार चुका हूँ मगर तुम्हारी अम्मी जैसी माल औरत मैंने आज तक नहीं देखी. तुम कहो तो मैं शायला भाभी से हां बोल दूँ!ये सुनकर मैं बहुत ही ज्यादा खुश हो गया.

शिवानी- हां बोलो, यहां क्यों बुलाया मुझे?मैं- मामीजी ने बताया होगा ना तुम्हें. फिर कब हमारे होंठ एक दूसरे के होंठों से मिल गए और हमारी जीभें आपस में लड़ने लगीं, इसका अहसास ही नहीं हुआ. पहले भी तू पिया है, मैं सोमू के सामने नहीं पिलाना चाहता क्योंकि मैं नहीं चाहता तू मेरे अलावा किसी और का मूत पिए.

मकान मालिक के पास भी एक चाभी रहती थी तो उसने दूसरी चाभी लगा कर दरवाज़ा खोल लिया.

मैंने देखा कि कमरे का दरवाजा खुला था … दीदी बिस्तर पर नंगी लेटी हुई थीं और चूत रस बिस्तर में टपक रहा था. आखिरकार भिड़े ने माधवी के सामने घुटने टेक दिए और सोनू को उनकी चुदाई देखने के लिए स्वीकृति दे दी. दूसरे दिन वे ऑफिस आईं, दिन का पूरा काम निपटा कर चली गयी किसी से कोई बात नहीं हुई.