पति-पत्नी की बीएफ

छवि स्रोत,चमार की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

लॉकडाउन की सेक्सी वीडियो: पति-पत्नी की बीएफ, मुझे बहुत मजा आ रहा था और मेरा मन अब उंगली की जगह लंड लेने के लिए कर रहा था.

देसी सेक्सी वीडियो एचडी देहाती

अब मैं आपको बता दूँ … मैं राजस्थान से लगे हरियाणा के एक शहर में रहता हूँ. ब्लू पिक्चर सेक्सी हिंदी फोटोनहाकर एक तौलिया लपेटकर जसविंदर बाथरूम से निकली और बोली- मेरे पास तो गर्मी दूर करने का यही एक तरीका है कि नहाते रहो, अब सबकी किस्मत हनीप्रीत जैसी तो होती नहीं.

और जब ट्रेन किसी छोटे स्टेशन से हॉर्न देती हुई पटरियां बदलती हुई क्रॉस होती तो वो खटर खटर जैसी जादुयी आवाज हमारे जिस्मों में नया जोश जगा जाती. खड़े-खड़े चोदने वाला सेक्सी वीडियोमैंने उसके कान में कहा- अरे ये क्या कर रहा है … मेरा ब्लाउज ख़राब हो जाएगा.

उसके गाल कश्मीरी सेब की तरह लाल थे और उसका फिगर लगभग 34-28-36 का रहा होगा.पति-पत्नी की बीएफ: अरे यार जरा सी बात के लिए मैं इतनी दूर जाऊं? बहू से कह दे मार्केट से खरीद ले या ऑनलाइन मंगवा ले!” मैंने टालते हुए कहा.

उसका मोटा लंड था और अंदर आते ही चूत में तीखी चीस उठी; मगर मैं बैठती गई.उन्होंने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और बोलीं- जल्दी आ जाओ और लंड चुत में पेल दो.

सेक्सी फिल्म सेक्सी फिल्म बताओ - पति-पत्नी की बीएफ

तो अभय को आज ही पता चला कि उसकी मां की चूचियों का साईज 38″ है और बहन का 32″ है.उनको अहसास करवा रही थी कि मेरी चूत को भी चाटो।कामुक अंदाज में लंड चूसा तो उसमें तनाव तो बढ़ा लेकिन मगन के मुकाबले लंड छोटा था.

मैं उनकी चूची मसली और इशारा किया, तो चाची कुतिया बन गईं और बोलीं- सोहेल अब तुम मेरी गांड की प्यास बुझाओ. पति-पत्नी की बीएफ मैं बस यही सोचता रहता था कि किस तरह से अपनी मॉम का कष्ट दूर कर सकूँ.

दादा जी- सुन बहू, अब ये शर्म छोड़ दे और जो रोहन बोल रहा है, वो ही कर.

पति-पत्नी की बीएफ?

पहले तो आप सभी से मैं माफी चाहूंगी कि आप सबकी रिक्वेस्ट के बाद भी मैं कोई नई सेक्स कहानी नहीं लिख पाई. एक भी लड़के से बात नहीं करती है, जबकि इनके युगांडा में सेक्स को कोई गम्भीर विषय नहीं मानते, कोई भी, कभी भी, कहीं भी, ऐंवई. उस मस्त लौंडे ने बड़ी नफासत से धीरे-धीरे करके मेरी चूत में लंड डाल दिया.

उसने उसी समय मुझे चाय पीने आने के लिए न्यौता देते हुए कहा- यदि आप एक कप चाय पीने मेरे घर आएंगे, तो मुझे ख़ुशी होगी. कुछ देर बाद मैंने कहा- हां तू मेरे प्यारे भाई अब बता तेरे सपनों की रानी कौन है?अफ़रोज़- आपा, आप बुरा मत मानिएगा पर मैंने आज तक जितनी भी मुठ मारी है, सिर्फ़ आपको ख़्यालों में रखकर मारी है. अदिति ने भी झड़ते हुए मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया और उसकी चूत मेरे लंड को दबा दबा कर सिकुड़ने लगी और वीर्य की एक एक बूंद दुहने लगी.

एक घंटे बाद वो शाम के 5 बजे का समय था जब मैंने गीत के घर की बेल बजा दी थी. इस काम में भी बुआ ने कोई देर नहीं की और अपना मुँह खोल कर मेरे लंड को अपने मुँह में अन्दर तक भरना शुरू कर दिया. इसलिए जब भी पानी आता, तो पानी के बहाने मैं रीना के दर्शन भी कर आता.

भाभी फिर से हंसी और बोलीं- और मुझे लगता है कि तुम मुझे टैं बुलवा दोगे. यह बोल कर मैंने शीना की बुर को चूमा और अपने लन्ड मुंड को उसकी बुर के मुंह पर लगाया.

मैंने जोर देकर पूछा- बिंदु क्या बात है?तभी राजेश बोला- यार यह सब किस्मत का खेल है.

इस पोजीशन में मैं उसकी बुर चाट रहा था और उसके मुँह में लंड डाल कर धक्के देने लगा.

काफी बार उन कहानियों को पढ़ कर मैंने लंड हिला कर रस टपकाया था और अब भी ये मेरा पसंदीदा शगल है. जैसे ही मैंने एक सांस में पैग खींचा, भाभी जी ने दूसरे पैग में दारू डाल दी और फिर से गिलास में चुतामृत निकाल दिया. राजकुमारी से रानी बन चुकी कृति की आवाजें मुझे और भी ज्यादा मदांध कर रही थीं- आह … चोदो मुझे मेरे राजा जी … उम्मह मेरे स्वामी … आह चोदो अपनी इस रंडी रानी को … मैं आपके लंड की दासी हूं … आह फाड़ डालो इस रानी की चूत को … आह.

यह कह कर उन्होंने मुझे पहली बार अपने साथ बिठा कर दारू पीना सिखाया था. जेठ जी से चुदाई के बाद अब मुझे मेरे शौहर से चुदाई में वो मजा बिल्कुल नहीं आता था. कोई पांच मिनट बाद मैंने भाभी की टांगों को चौड़ा कर दिया और भाभी की गुलाबी चिकनी चूत को जोर-जोर से चाटने लगा.

मैं- अच्छा मतलब बहुत मज़ा आया रात में!अफ़रोज़- हां आपा इतना मज़ा ज़िंदगी में कभी नहीं आया.

मुझे भी दीदी की मुँह की गर्मी ने बेहाल कर दिया और मैंने उनकी एक चूची पकड़ कर मसलते हुए उनकी जीभ को चूसना शुरू कर दी. नमस्कार दोस्तो, हिन्दी सेक्स कहानी के इस वैश्विक पटल पर आपका स्वागत है. मेरे पुरुष पाठक समझ सकते हैं कि जब वो गर्म होते होंगे तो प्री-कम आता है।मैं भाई का लंड लेकर आगे पीछे करने लगी.

भाभी ने दर्द और उत्तेजना के मारे कूकना शुरू कर दिया- आह आह हई मम्मी इस्स … मम्मी!उनकी दोनों टांगें मेरे चूतड़ों के पीछे कसके जकड़ी हुई थीं, तब भी मैं भाभी की चुत में कस कसके धक्के मार रहा था. उसकी इस बात पर मेरी जान में जान आयी और मैं उसी पल अपनी बांहों में भरकर उसे किस करने लगा. मॉम फोन पर बोलीं- अपने यार से चुदवाने आई हूँ, आप तो अब मुझे चोद ही नहीं सकते ना.

देखते ही देखते दीदी ने मेरे लंड को मुँह में ले लिया और उसे चूसना आरम्भ कर दिया.

वो पूरा लंड मेरे मुँह में डालकर मेरे ऊपर लेट गए। उनका लंड मेरे गले तक घुस गया और मेरा चेहरा उनके पेट से चिपक गया और मेरा दम घुटने लगा. हम तुम्हारे दोस्त विजय से चुदवाने जा रहे हैं, जेन्टलमैन है यार, ऐसे जेन्टलमैन से सील तुड़वाना हमको अच्छा लगेगा.

पति-पत्नी की बीएफ मैंने पूनम बुआ को आश्वस्त किया और बराबर के कमरे में जाकर उनके बेटे को चॉकलेट दी, जो मैंने रास्ते में उसके लिए ही खरीदी थी. आज तक तूने अपने लंड का पानी तक नहीं निकाला?वो बोला- नहीं दीदी!मैंने कहा- चल मेरे पास आ.

पति-पत्नी की बीएफ अगली गलती पर जब उन्होंने मेरी गांड पर हाथ मारा, तो बहुत तेज़ से चट की आवाज़ आयी. वो अपनी बच्ची को कई बार दूध पिलाते पिलाते अपने मम्मे खोलकर ही सो जाती थीं और उनके बड़े चूचे देखकर मेरे लंड में करंट दौड़ जाता था.

यह सुनकर दीदी ने कहा- रमेश अब बस करो इतनी फोटो काफी हैं … क्या तू मुझे पोर्न ऐक्ट्रेस समझ रहा है! अब बस करो … मैं कपड़े पहन रही हूं.

बीएफ चुदाई वाली चाहिए

उसने मुझे कुछ भी बोलने का मौका ही नहीं दिया और मुझ पर टूट पड़ी, किस करने लगी. कहानी के पिछले भागमौसी की जेठानी की मालिश करके चोदामें आपने पढ़ा कि मैंने मौसी की जेठानी की मालिश करके ओरल सेक्स किया फिर उसकी चूत चोदी. धीरे धीरे रोज़ाना आना जाना शुरू हुआ और देखते ही देखते पूनम बुआ से मेरी निजी बातें भी होने लगीं.

वो शायद ये सोच रही थी कि आज उसे अपने चैटिंग वाले का लंड चूसने को नहीं मिलेगा. फिर बहूरानी अपने फोन से किसी का नंबर डायल कर बात करने लगीं; अंग्रेजी में हुई उस वार्तालाप का सारांश इतना है कि अदिति ने किसी होटल में रूम भी ऑनलाइन बुक किया हुआ था और उसी होटल के कस्टमर केयर से अपने पहुंचने की सूचना दे रहीं थीं. ’ की धीमी आवाज ही उसके मुँह से आ रही थीअभय भी थोड़ी देर ऐसे ही पड़ा रहा और अपने एक हाथ से ममता की चूची सहलाता रहा.

सुम्मी बेड पर जोर जोर से सिसकारियां भर रही थी और हरीश का नाम ले लेकर चिल्ला रही थी.

मेरे लंड के नीचे के काले आंड उसके होंठों को टच हो रहे थे और मेरा लंड पूरा के पूरा उसके मुँह में था. फिर मैंने अपने लंड का सुपारा गांड में डालने की कोशिश की पर लंड अन्दर नहीं जा रहा था. मैंने चाची के ऊपर चढ़ कर चुदाई की पोजीशन बनाई और उनकी चुत में लंड पेल दिया.

फिर मैंने अपने लंड को मां की चूत से बाहर निकाला और कंडोम को उतार दिया. धीरे धीरे रोज़ाना आना जाना शुरू हुआ और देखते ही देखते पूनम बुआ से मेरी निजी बातें भी होने लगीं. अचानक कृति के मुँह से मेरे होंठ हट गए और उसकी दर्द भरी आवाज़ से वे दोनों सिहर गईं.

वो अपने दोस्त के साथ एक मैडम से पढता था और उसे दो घंटे लग जाते थे क्योंकि दोनों दोस्त ट्यूशन के बाद बाहर ही खेलने लगते थे. आपकी सराहना, प्यार, स्नेह और आपकी दोस्ती के लिए मैं दिल से शुक्रगुजार हूँ.

अब मेरी सिसकारी निकलने लगी- आह … ससस्स … म्म्म्म मम … आआस्शह … चूस रंडी चूस मेरा लंड!वो भी मस्ती से लौड़ा चूसने में लगी रही. आयुषी ने अपनी गांड मेरे मुँह पर रख दी और हम 69 पोजीशन में एक दूसरे के गुप्तांगों को चाटने लगे थे. मां मुझसे बोलने लगीं- अरे बेटा ये सब क्या है … ऐसा भी होता है क्या?तो मैं बोला- हां मां, ये सब करने से चुदाई का मजा बहुत बढ़ जाता है.

पापा अक्सर रात में मम्मी की नंगी करके चुदाई करते थे, बाद में उनकी गांड चुदाई भी करते थे.

मैं- तो क्या तुझे अपनी बहन को चोदकर भैनचोद बनने का कोई अफ़सोस लग रहा है!अफ़रोज़- नहीं आपा ये बात भी नहीं है, मुझे तो बड़ा ही मज़ा आया भैनचोद बनने में … मन तो कर रहा है कि बस अब सिर्फ़ अपनी आपा की जवानी का रस ही पीता रहूँ. रोज दोपहर और रात को सोने से पहले में भाभी का दूध पी लेता था और भाभी को चोद भी लेता था. मैं सोच रहा था कि दीदी का ये कैसा कहना हुआ कि खुले मम्मों पर रमेश हाथ रख दे … जबकि कमरे में तो सिर्फ रमेश और दीदी ही हैं … तो शर्म कैसी आनी है … और दीदी खुद अपने मम्मों पर अपने हाथ क्यों नहीं लेती हैं.

मैंने कमरे के बाहर रखे अपने कपड़े उठाये और उसमे से चड्ढी पहन कर वापस बेड पर लेट गया।कुछ देर बाद रूपाली ने रसोई से आवाज़ लगा कर कहा- हाथ मुंह धो लीजिय खाना बन गया है!मैंने भी प्रतिउत्तर में कहा- रूपाली, एक ही प्लेट में खाना लाना, साथ में खायेगें. अब ममता ने अपने भाई का लंड किस तरह से चूसा वो सब आपको माउथ सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगी.

करीब 11 बजे मैं टीवी देख रहा था कि चित्रा और जया की मम्मी आईं और मुझे छुहारे वाला दूध पिलाकर बोलीं- जाओ बेटा, जया अपने बेडरूम में है. मैं भी नीचे से अपने हाथों से उसकी गांड को सहारा देते हुए अपनी गांड हिला हिला कर कृति का साथ देने लगा. मैंने अपनी गर्दन ‘न’ में हिलाते हुए यामिना को बताया कि फ़लक पढ़ाई-लिखाई में तो बिल्कुल जीरो है बाकी मैं उसे कुछ प्रैक्टिकल ट्रेनिंग देकर तैयार करने की कोशिश करूंगा, शायद बात बन जाये.

पुणे का बीएफ

मैं सबके सामने तेरी मॉम को चोदकर अपनी रखैल बनाऊंगा, ताकि कल को किसी को कोई दिक्कत न हो.

मैं लौड़ा चूसती रही और एक बार फिर से मेरा मन किया कि गांड में लंड ले लूं. कुछ देर बाद मेरे घर की डोर बेल बजी तो उस भाभी ने मुझसे कहा- ये वही होंगे … तू रुक, मैं जाकर दरवाजा खोलती हूं. वहां मैंने मां को अपने हाथों से नहलाया और मां की झांटों के बाल व बगलों के बाल भी साफ कर दिए.

भाभी- आरुष अभी जो तुमने गलती की थी कपड़े पहनकर, उसकी सजा तुम्हें जरूर मिलेगी. आज तुम्हारा लण्ड लेने के बाद मुझे महसूस हो गया कि मेरी गोद अभी तक क्यों नहीं भरी. తమిళ్ సెక్స్मेरे दिल में यह ख़्याल आया कि कल से यह लड़का मुझसे शर्माएगा और बात करने से भी कतराएगा.

प्रभा- मैं उस समय तुम्हारा दर्द सह लूंगी … और तुम्हें अपने बच्चे का पापा भी बना दूँगी. उसने शाम को करीब 7:00 बजे मुझे फोन किया और बोली- आज मेरे घर पर मैं और छोटी मेरी बहन रहेगी, तो आप आज 9:00 बजे तक आ जाओ.

वो मेरे पास एकदम करीब आकर बैठ गईं और मेरा हाथ पकड़ कर बोलीं- कल रात के बारे में सोच रहे हो न!मैंने हां में सर हिलाया और कहा- सॉरी मौसी … वो मुझसे गलती हो गई थी. मौसी दो बार झड़ गई थीं और वो मुझसे कहने लगीं कि जल्दी आ जाओ … मुझे जलन हो रही है. तो क्या मैं आपसे कुछ व्यक्तिगत बात पूछ सकती हूँ?मैंने सोचा कि होगी कोई बात … मैंने कहा- हां पूछो?गीता बोली- आपकी कितनी गर्लफ्रेंड हैं या थीं?मैंने कहा- आज तक पत्नी के अलावा मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

मैं अभी भाभी की तरफ ही देख रही थी कि तभी मेरे वाले लड़के ने मेरी पैंटी को मेरी चूत से अलग कर दिया. चुम्बन के बाद मैं फ्रेश होने के लिए और नहाने के लिए बाथरूम में चला गया. फ़ातिमा- तुमने तो मेरी जान ही निकल दी … ऐसे भी कोई पेलता है क्या? थोड़ी देर ऐसे ही मेरे ऊपर सोये रहो.

वो उसी हालत में मुझे पकड़ कर किस करने लगी जिससे मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

मेरे शौहर नौकरी के लिए सऊदी चले गये तो मेरी चूत ने मुझे परेशान करना शुरू कर दिया. उन रस भरी चूचियों के ऊपर दो भूरे रंग के कड़क निप्पलों को देखकर मैं पागल सा हो गया.

ये मेरी सेक्स लाईफ में पहली बार हुआ था कि मैं और गीत एक साथ स्खलित हुए थे. मैंने उसे खड़ी करके लंड चुसाया और लंड खड़े हो जाने पर उसे डॉगी स्टाइल में चोदने लगा. पहले तुम ये तो बताओ तुमें गर्लफ्रेंड की ऐसी भी क्या जरूरत और जल्दी है … अभी तुम अपनी पढ़ाई और फ्यूचर पर ध्यान दो.

वो भी मेरा खूब साथ दे रही थी चुदने में!उसकी 36 की चूची खूब बाउंस कर रही थी. इस उम्र में आकर पति पैसे के पीछे भागते रहते हैं और औरतें घर में तड़पती हैं. जब भी चूत में घुसता है तो पूरी तरह संतुष्टि करवा के ही बाहर आता है.

पति-पत्नी की बीएफ मैं मुस्करा कर उनके बदन से लिपट गयी और हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूमने लगे. पूनम बुआ- ये गाना तुमने ख़ास चलाया है क्या?मैं- एफएम चल रहा है बुआ जी.

हेमा मालिनी बीएफ

वो मुझसे 5 साल बड़े हैं। दिखने में हैंडसम और हट्ट कट्टे हैं। टूर एंड ट्रैवल्स कंपनी में मैनेजर हैं और काम के सिलसिले में उनका राजस्थान से बाहर आना जाना लगा रहता है।मेरे ससुराल में मेरे सास ससुर और मेरी एक ननद है लेकिन ननद की शादी मेरे आने से पहले ही हो गई थी इसलिए वो अपने ससुराल में रहती है. मंजू- तूने मुझे पूरी नंगी देख लिया?ममता मुस्कुराते हुए बोली- तो क्या हुआ मां आपके पास भी तो वही सब है, जो मेरे पास है. बहार ने अपनी टाँगों से मेरी कमर को जकड़ लिया और चूतड़ उचकाकर पूरा लण्ड अपनी बुर में ले लिया.

वो कराहती हुई बोली- आह खुदा के लिए मुझ पर रहम कर … मुझे दर्द हो रहा है. मैंने बाइक के लिए इसलिए कहा क्योंकि बाइक पर ब्रेकर और गड्ढों में उनसे चिपकने का मौका मिलेगा. और जानवर की सेक्सी वीडियोइतना कहकर वो मेरे ऊपर से उठ कर अपना मुँह मेरे लंड की तरफ और अपनी चूत मेरी तरफ करके लेट गई.

मैं चाहती थी कि इससे पहले कि मेरी चुत लंड के लिए बेचैन हो … वह ख़ुद मेरी चुत में अपना लंड डालने के लिए गिड़गिड़ाए.

दीदी जब लेट गईं, तब उनकी दोनों चूचियां एकदम कड़क हो चुकी थीं और लेटने पर भी ऊपर की तरफ तनी हुई खड़ी थीं. मैं बिना कुछ कहे, अपना परिचय दिए बिना, अपनी साड़ी को घुटनों तक ले जाकर कचरा निकालने में लग गई.

उसी समय भाभी ने एक मादक अंगड़ाई ली और अपने मम्मों को एक कामुक अदा से हिला कर मुझे ललचाया. उसकी चुत की फांकों से रस टपकने लगा और उसे भी लंड अन्दर लेने की चुल्ल होने लगी. मगर मुझे तो मामी की चूची पीने में इतना मजा आ रहा था कि मैंने लंड को जरा सा भी भाव नहीं दिया.

जोया ने कहा- नहीं, अब बहुत हुआ … मैं तुम्हारा लंड नहीं चूसूंगी … मुझे जाने दो.

मेरे कॉलेज खुले होने की वजह से मुझे वहीं अपने कस्बे में ही रुकना पड़ा. शायद वो मुझे पसंद करने लगी थीं, वो मजाक मस्ती के समय कभी कभी मेरा कभी हाथ पकड़ लेतीं और कभी कभी मैं भी अपना हाथ उनकी जांघ पर रखने लगता था. ’ करके चीख उठी लेकिन इस बार एक ही बार में पूरा का पूरा लंड पूजा की चूत को चीरते हुए बच्चेदानी से जा टकराया था.

निरहुआ की सेक्सी वीडियोऑफिस Xxx हिंदी कहानी में पढ़ें कि मेरी लेडी पियोन अपनी जवान बेटी को जॉब पर रखवाने के लिए ऑफिस में लेकर आयी. अब 12 बज रहे थे, कूपे की लाइट बंद थी और मैं अपने जीजा जी के साथ एक ही कंबल में थी.

बीएफ सेक्सी फिल्म बिहार

मैंने सोचा कि आज तो जिंदगी में पहली बार चुत चोदने को मिल रही है … मजा आ जाएगा. फिर हम अलग हुए और मैंने उसे चाय पानी के लिए पूछा तो उसने मना कर दिया. सभी टीचर्स छात्रों को बसों में बिठाने में व्यस्त थे क्योंकि बस में जितनी सीट थीं, उतने ही छात्र बैठे जा सकते थे.

चाची- पर तू पहले ज़रा मधुमक्खी का जहर चूस कर निकाल दे!मैं हैरान हो गया चाची की इस बात से … फिर भी मैंने अपने होंठ चाची की जांघ पर लगा दिए और उसे चूसने लगा. मस्ती इतनी चढ़ गई थी कि मैं पागलों की तरह गप गप लंड चूस रही थी; आँखें वासना के नशे में डूबी हुई थीं; रांड की तरह सब भूल बेफिक्र नंगी उनके नीचे पड़ी हुई सिसकारियां भर रही थी. अफ़रोज़- ओह आपा ये कैसे होगा?मैं- घबरा मत, इसका पूरा इंतज़ाम मैं कर दूंगी.

हम लोग एक बार फिर से कैंटीन में देखने के लिए चले गए कि कोई सीट खाली हुई या नहीं. ये बात सुनकर मेरी मम्मी की चुत में शायद पानी आ गया था तो वो अपनी साड़ी के ऊपर से ही अपनी चुत मसलती हुई चाची की बात सुनकर हां में सर हिलाने लगीं. इतना कहते कहते जसविंदर ने दरवाजे की कुण्डी लगा दी और अपने शरीर से टॉवल हटाते हुए बोली- वैसे मैं हनीप्रीत से कम नहीं.

उन भाभी ने एकदम से मेरा चेहरा पकड़ कर मुझे लिपकिस करना शुरू कर दिया. मां की चुत से पानी निकलने की वजह से मेरी और मां की चुत का इलाका पूरा भीग गया था.

दुबई में सारे भारतीय धर्म आदि को भूलकर मिल कर हर त्यौहार मनाते हैं.

उसे कुछ देर बाद जब मेरी बात समझ में आई, तो उसके लंड में थोड़ी जान आ गई और वो लंड को मेरी चुत पर रगड़ते हुए बोला- ओह आपा यू आर ग्रेट. सेक्सी वीडियो मूवी प्लेतू एक काम कर … मेरी अलमारी से एक मेरी एक चुन्नी ला दे। मैं उसको लपेटकर ही बारिश में नहा लूँगी और कपड़े तुझे दे दूँगी. ब्लू फिल्म सेक्सी ब्लू वीडियोमैं आईने में खुद को देख रहा था कि किस तरह से भाभी के काटने से मेरे पूरे शरीर पर जंगली बिल्ली के पंजों के निशान बनकर लाल दिखने लगे थे. मैंने देर न करते हुए अपना लंड प्रभा की चूत की दरार पर रखा और लंड बुर में पेलने से पहले एक बार उससे पूछ लेना ठीक समझा.

फिर सिसकारते हुए सुरजन बोला- उफ् … संतरे की फाड़ जैसी दिखती है तेरी मस्त चूत भाभी!मैं- तो इस फाड़ी का रस चूस लो मेरे राजा! आह्ह … निचोड़ लो इसके रस को!उसने मेरी चूत पर जीभ से कुरेदा तो मैं तड़प उठी- उफ … सुरजन … खा जाओ मेरी चूत को!सुन्दर बराबर मेरे दूधों को मसल रहा था, दबा रहा था.

ये इंडियन रंडी देसी कहानी उस वक्त की है, जब मैं और हिना साथ में मजा करते थे. मेरे मुंह से ‘सेक्सी’ शब्द सुन कर तो जैसे उनके मुंह से लार टपकने लगी।उन्होंने खुश होकर वो चारों अंडरवियर ले लिए और पेमेंट कर दिया. रमेश- आह साली, रंडी बन गई है तू और अब तेरी सील फट गई है तू मस्त औरत बन गई है.

चाची- हे भगवान कैसे?मैं- ज़्यादा कुछ नहीं हुआ, चाची क्रिकेट खेलते वक्त बहुत बार उधर गेंद लग चुकी है, इसलिए अब जरा सा भी दबने से दर्द होने लगता है. क्योंकि हम दोनों ऐसा करते, तो यूं समझो हम दोनों उसके साथ जबरिया सेक्स करते … और मेरे भाई ये हरगिज सही नहीं रहता. महारानी मीना जोर से चिल्लाते हुए मजा लेने लगी थी- आह … पेलो मुझे स्वामी … उम्म्मह … और जोर से पेलो अपनी छोटी रानी को … आह ….

मोटी लड़की का बीएफ सेक्सी वीडियो

जल्दी से ससुराल भेज दे।फिर मैंने हौसला कर लिया और चुपचाप इस शादी के लिए हाँ कर दी।एक दिन मौसी आई और मुझे अकेली साइड में ले गई. आह … उफ्फ … ऐसे मत करो मेरे राजा; कोई देख लेगा तो मैं तो डूब मरूंगी!” बहूरानी अपनी गांड हिलाती हुई बोली. तभी रोहन अंकल ने कहा- देख बेटे … तेरी मॉम बिल्कुलजवान गदरायी हुई मस्त मालहै.

मेरे हाथ से मम्मी की चूचियां दब रही थीं तो मम्मी के मुँह से मादक सिसकारियां निकल रही थींवो अपना चेहरा नीचे किए हुए थीं और वासना से गर्म होती जा रही थीं.

पहले तो स्वागत हुआ फिर मृणालिनी बाहर चली गयी, वो मेरे लिए बाजार से कुछ नाश्ते का सामान लेने गयी थी.

तभी किसी बात को लेकर मेरे मुँह से किंजल का नाम निकल गया तो उसने उसकी ही बात पकड़ कर चालू कर दी. फिर उसने शर्माकर आंखें बंद करके धीरे से अपना लंड मेरी चुत में डाल दिया. बीपी इंडियन सेक्सी वीडियोउसने आगे कहा- क्या सोच रही हैं आप? यही कि आपके स्तनों का दूध प्रसाद में प्रयोग हो सकता है या नहीं.

‘हाईई ईईई मांआआ उहुहुह उम्मह राहुउम्मम्म हाय … बड़े जालिम हो आप … ऊहूहूह और आपका ये ज़ालिम शैतान जैसा लंड … आह मार ही डाला मुझे …’यह कहते कहते मामी जी ने फिर से अपनी बांहों को मेरी पीठ पर कस लिया. मां मेरी छाती पर हाथ घुमाने लगीं तो मैंने उनसे मैक्सी निकालने को कहा. जब मैंने उसकी गांड को चुदाई के लिए तैयार देखा, तो बॉडी टू बॉडी मालिश के बहाने उसकी पीठ पर अपने शरीर को रगड़ने लगा.

अचानक से उसने कहा कि मैं अभी सेक्स नहीं कर सकती हूँ, ये सब ग़लत है, ये सब शादी के बाद करते हैं. एक मिनट के लिए तो वो घबरा गई लेकिन समझ गयी कि आज मुहब्बत करने की बेला आ गयी है.

जब गांड में अब बिल्कुल भी बर्दाश्त न हुआ तो मैंने लंड को चूत में डालने के लिए कहा.

मैंने दीदी की ब्रा पैंटी को खोल कर उनके तन से अलग दिया और दीदी को पूरी नंगी कर दिया. मैं पढ़ाई में शुरू से ही होशियार हूँ और गणित तो मेरा मनपसन्द विषय है. कुछ देर बाद मैं भी अपनी चरम सीमा पर आने वाला था, मैंने शीना के बाल पकड़े और धक्के लगाकर उसका मुंह चोदने लगा.

𝓼𝓮𝔁 𝓿𝓲𝓭𝓮𝓸𝓼 𝓬𝓸𝓶 ममता- और बता … कोई बीएफ बनाया या अभी तक अपना हाथ ही चला रही है?मैं- नहीं यार … मैं इन चक्करों में नहीं पड़ती. उसने मुझसे कहा कि तुमको जब भी पैसों की जरूरत हो, मुझसे मांग लिया करो … मैं दे दूंगी.

उसने सासू जी को उठाया और साथ में गुलाब भी आ गया, सबने मिलकर सहारा देकर गाड़ी में बिठाया।मैं भी बैठने लगी तो मां बोली- बहू तुम रहने दो. मैंने पूछा- इस बात पर तुम्हारे घर वाले मान जाएंगे?वो बोली- मुझे नहीं पता … हां मैं आपकी बात अपने घर में कह सकती हूँ. फिर देखते ही देखते हम लोगों के बातचीत का सिलसिला अच्छा चलने लगा था.

एक घंटा का बीएफ

अब मेरी दीदी ने धीरे-धीरे झुक कर अपनी पैंटी उतारना शुरू किया तो रमेश भी पीछे से झुकता गया और वो मेरी सेक्सी दीदी की खुली गांड पर अपना फूला हुआ लंड रगड़ कर मजा लेने लगा. अभय ने ममता के मुँह पर हाथ रख कर मुँह हटा लिया और बोला- बस मेरी बहन, हो गया जितना दर्द होना था. पहले पहल तो मैंने अपना पुराना रुटीन आजमाया, पर चाची की तरफ से कोई सकारात्मक भाव नहीं था.

मैंने थोड़ा सा लंड बुर में डाला और उसको भींच लिया; उसके मुँह पर जोर से अपना हाथ दबाया और उसी पल पूरी ताकत लगा कर लंड को धक्का मारा. अफ़रोज़- लेकिन आपा ख़्यालों में लेने से क्या होता है?मैंने कहा- तो इसका मतलब है कि तू उसकी असल में लेना चाहता है.

बस मुझे ये लग रहा था कि अभी खिड़की से कूद कर अन्दर चला जाऊं और अपना लंड दीदी के मम्मों के बीच रख कर लंड का माल दीदी को पिला दूं.

वो मेरी चुप्पी देखती हुई बोलीं- कोई जवाब तो दो?फिर मैंने हिम्मत करके कह दिया कि मैं आपको लाइक करता हूँ. एक मेरे पास आया और मेरी टांगें फैला कर मेरी टांगों के बीच में बैठ गया. हां जब चुदाई का मौका कभी मिलता है तो चुदाई के मामले में अदिति से बड़ी खिलाड़ी शायद ही कोई स्त्री हो.

कोई भी उनको देखकर सपने में भी नहीं सोच सकता कि वो एक बच्ची की मां हैं. वो मेरी तरफ आंख मार कर उठी और जैसे ही उसने एक कदम आगे रखा, वो लड़खड़ाने लगी. वो इतनी अच्छी तरह से लंड को चूस चाट रही थीं कि मेरा लंड एकदम सख्त हो गया.

मौसी कराहती हुई बोलीं- आंह मर गई मांआ … मेरे शोना धीरे कर न … सब कुछ तुम्हारा ही है.

पति-पत्नी की बीएफ: मैं बेड से उतर कर एक साइड हो गया।नीतू ने अपने पैर बेड से लटकाए और जैसे ही खड़ी होने को हुई तो वो लड़खड़ाने लगी. मगन का नंबर भी नहीं था क्योंकि फोन मुझे इन्होंने लेकर दिया था।टाइमपास के लिए टीवी देख लेती।सासू मां को इल्म था कि उनका बेटा शराबी है और बहू बेहद जवान है। इसलिए वो मुझे दायरे में रखती थी।शादी के बाद एक रात ऐसी नहीं थी जब इनके लंड से मैं झड़ी होऊं।4-5 महीनों बाद सासूजी बोलने लगीं- बहू … पोते का मुंह दिखा दे।तब तक मैं भी सलीके से रहने लगी थी.

मैंने मिहिका की चूत में लंड डाल कर फिर से जोर का झटका मारा तो मिहिका की हल्की चीख निकल गयी. ये एक बड़ा कारण था, जिस वजह से मेरी मॉम रोज रात को अपनी चुत और गांड में कुछ ना कुछ डाल कर खुद को शांत करती थीं. मैंने अपनी गाड़ी वहीं एक पार्किंग में छोड़ दी और उसके साथ उसकी गाड़ी में बैठकर चला गया.

उसका लंड था कि झड़ने का नाम नहीं ले रहा था।ऐसा ही लंड पसंद था मुझे जिसके साथ मैं कुछ देर तक खेल सकूं.

न्यूड वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं कई बार अपने पति के दोस्त से चुद चुकी थी लेकिन मन नहीं भरा था। मैंने अगली रात को फिर से ताश की बाजी लगवायी और …यह कहानी सुनें. बहूरानी का बाहर जाने का मन नहीं था तो हमने रूम सर्विस से डिनर का मीनू आर्डर कर दिया और डिनर साढ़े नौ तक लाने को कह दिया. मेरे दिमाग़ में सिर्फ़ उसकी चूचियों की गोलाई और उसकी चुत ही घुसी रहती थी.