दिवाली बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,फुल एचडी सेक्सी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्यूटीफुल बीएफ वीडियो: दिवाली बीएफ वीडियो, मेरे पास कोई जवाब नहीं होने पर मैंने कहा- मैं दीपक बोल रहा हूँ दीदी, सौम्य से बात करनी है।उस पर उसने चौंकते हुए कहा- सौम्य या सौम्या?मैंने जवाब में कहा- सौम्य, दीदी मैं उसका मैनेजिंग डायरेक्टर बोल रहा हूँ, वो मेरे यहाँ ही जॉब करता है।सॉरी रॉंग नंबर!” ये बोल कर उसने फ़ोन काट दिया.

किन्नर सेक्सी मूवी

मैंने कहा- कुक्कू शर्म मत करो … यहां मेरे और तुम्हारे सिवा और कोई नहीं है. सेक्सी पिक्चर हिंदुस्तानीकुछ देर बाद मैंने लंड चुत से निकाल लिया और बुआ को अलग करके प्रीति की चूत में लंड घुसा दिया.

मैं बोली- तू अंकल के साथ नहीं जा सकता … क्या मैं अकेली सोऊंगी?मैं अकेली नहीं सो पाती थी. जापान ट्रेन सेक्समैंने कहा- हां मम्मी आपके मस्त जिस्म से खेल कर मुझसे रहा नहीं जा रहा है.

मैंने देखा कि मेरी मॉम की आंखों में नशा छा गया था और मोटे लंड का दर्द खत्म हो गया था.दिवाली बीएफ वीडियो: मैंने कहा कि हां मैं आपसे बात करने के लिए तैयार हूँ, बताएं कब करनी है?भाभी ने पहले मेरा नाम पूछा.

उनकी गर्दन, होंठ, गाल, चूची, पेट, कमर चूत शायद ही कोई हिस्सा छोड़ा होगा.मैंने कहा- यहां पर मेरे और तुम्हारे सिवा और तो कोई है नहीं, मेरा फर्ज बनता है कि मैं तुमको कोई परेशानी ना होने दूँ.

तेरी जिंदगी सवारी - दिवाली बीएफ वीडियो

हम बस खाना खाकर रात को टहलने और थोड़ी बहुत मस्ती करने निकलते थे क्योंकि ऊपर के माले पर सुंदर सुंदर नर्स रुकी हुई थीं और हम सभी लौंडे नर्सों को देखने के लिए निकलते थे.मैंने उसकी चूत में उंगली डालने की कोशिश की तो मेरी उंगली अन्दर जा ही नहीं रही थी.

मैं उससे पूछने लगा- कहां तक पढ़े हो?वो- साब कॉलेज में पढ़ता हूँ, पर अभी लॉकडाउन के कारण घर पर ही रहता हूँ. दिवाली बीएफ वीडियो मैंने अपने होंठों को उसके कान से हटाया और दाहिना हाथ फिर बेफिक्री से उसकी टीशर्ट के अंदर घुस गया और उसके वक्षों की गोलाई मसहूस करने लगा.

’चाचा- मैं भी तुम्हारे कमसिन, कामुक और मदमस्त बदन के लिए कब से तरस रहा था जानेमन … आज मैं तुम्हारा पति बनकर तुम्हारे साथ संभोग कर रहा हूं.

दिवाली बीएफ वीडियो?

वो बोले- उम्र से कुछ नहीं होता … मैं तुम्हें हमेशा खुश रखूँगा और तुम्हें किसी चीज़ की कोई कमी नहीं होगी. मैंने उसको अपने रूम में छोड़ दिया और नहाने चली गई और वहां से तौलिया लपेट कर बाहर आ गई।उसके सामने ही मैं अपने हाथ पैरों में लोशन लगाने लगी. मैं मन बना लिया था कि आज मैं अपनी बीवी हेमा की चुदाई का लाइव शो देखूंगा.

दोस्तो, कैसे हैं आप लोग … जाहिर सी बात है कि अच्छे ही होंगे और आपने मेरी कहानीकमसिन लड़की की चूत की खुजलीपढ़कर खूब मजा किया होगा. आह … मेरी बुआ की गांड सलवार से पूरी तरह ऐसे चिपकी थी और इतने बड़े बड़े गोल गोल चूतड़ थे कि बुआ की सलवार से 7 से 8 इंच बाहर को निकले हुए थे. कुछ देर बाद मैं रुक गया और मैंने उसको डॉगी स्टाइल में होने को बोला.

सुनील ने फिर से अपना लंड मेरे मुंह में डाल दिया और मेरा मुंह चोदना शुरू कर दिया. सलीम ने मुझसे पूछा- मेरी जान कैसा लगा मेरा मूत पीकर?मैंने कहा- सच में बहुत मज़ा आया. पहले भागट्यूशन वाली दीदी को शादी से पहले आखिरी बार चोदामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने कोमल दीदी की शादी के पहले उन्हें एक बार फिर से दो दिन तक चोदा था.

सुबह मैंने मामा से ये सब बोला कि मेरे साथ ये हुआ और उसने ये ये कहा. ‘अइइया इइया … अइया आहया … इयाआह आइया … इया आह आइ…’कुछ पल बाद मम्मी चाचा के सर को अपनी चुत से पीछे हटाने में कुछ सफल हो गईं- अइइ … उह … देखो मान भी जाओ … रहने दो ना … नरेश उधर अपनी जीभ मत लगाओ … अहह … अपना मुँह हटा लो वहां से!चाचा चुत को चाटते और सूंघते हुए कहने लगे- तुम्हारी चुत में एक अलग ही स्वाद है मेरी जान.

फिर मैंने उसकी नाइटी में हाथ डाल दिया और अपनी बहन के नर्म गर्म दूध दबाने लगा.

उनकी चुत में इतना मजा या स्वाद है कि चाचा अभी तक उनकी चुत को चूसने में लगे हैं.

इस वजह से मेरे मम्मों से निकलने वाला दूध पूरा न निकल पाने के कारण मम्मों में दर्द देता है. इस बार तूफान की तरह दोनों एक-दूसरे के होंठों को चूम रहे थे क्योंकि हम दोनों पूरी तरह उत्तेजित हो चुके थे. मैंने जैसे ही उनके ब्लाउज के बटन को हाथ लगाया, उन्होंने मेरी शर्ट को ऐसा खींचा कि सारे बटन टूट गए.

चाचा- अरे मेरी जान क्यों मना कर रही हो?मम्मी- देखो नरेश, तुम कुछ भी कर लो … पर ये मत करो. जावेद जी ने मेरे लंड को एक हाथ से दबाया, जिससे मुझे थोड़ा दर्द हुआ क्योंकि मेरा लंड पूरा खड़ा था. मैं हैरान था कि इतना कुछ होने के बाद भी उसे चुदवाने का मन क्यों नहीं हुआ?खैर मुझे क्या … मैं तो शांत हो चुका था इसलिए सो गया.

मुझे इस हालत में देख मेरी साली साहिबा मुस्कुरा दी और बोली- जीजू, जल्दी से तैयार हो जाओ, तो नाश्ता लगा देती हूँ.

ये मस्त नजारा देख कर मुझसे रहा नहीं गया, मैंने तुरंत ही अपना मोबाइल निकाल कर उसके फोटो निकाल कर सेव कर लिए. [emailprotected]देसी वाइफ सेक्स कहानी का अगला भाग:मम्मी का चाचा से पुनर्विवाह और गर्मागर्म सेक्स- 3. उसकी बात सुनकर मैंने मेरे दोस्त को बता दिया कि मैं आज रात नहीं आ पाऊंगा.

ऐसा सेक्स आज तक मैंने नहीं किया था, क्या गजब का सेक्स हो रहा था नैना के साथ. जबकि मैं तो ये सोचता था कि जिस औरत का बेटा 22 साल हट्टा-कट्टा, लंबा चौड़ा दाढ़ी वाला हो और शादी के लायक पूरा जवान हो रहा हो रहा हो, उस और का कहां संभोग करने का मन करता होगा?पर आज मैं ये समझ चुका था कि शारीरिक सुख भी बहुत जरूरी है, इसकी कोई उम्र नहीं होती है. हॉट नर्स सेक्स कहानी में पढ़ें कि हमारे हॉस्टल में डॉक्टर्स का क्वारनटीन सेंटर बना तो एक नर्स मुझे पसंद आयी और मैंने उससे दोस्ती कर ली.

मैं लेकिन कहां मानने वाला था … मैंने फिर से अपना लंड बाहर करके एक और जोरदार स्ट्रोक दे मारा.

मैं मौका देखते ही जल्दी से ऊपर प्रिया के रूम की ओर भागा और उसके खुले हुए रूम में घुस गया. मैंने पूछा- अब दर्द कैसा है?ज्योति मायूस आवाज में बोली- हां, पहले से तो काफी ठीक है.

दिवाली बीएफ वीडियो मैंने चारों तरफ देखा, कहीं अकेली लड़की के पास बैठने की जगह दिखी ही नहीं. बस इसी वजह से मेरा मन बन गया और मैं आज आपको अपनी देसी वर्जिन Xxx कहानी लिख रही हूँ.

दिवाली बीएफ वीडियो मैंने गीला हाथ बाहर निकाला और उसके नमकीन जूस वाले हाथ को उसके ही मुँह में डाल दिया. मैंने कोई न देख ले, इस बात का ध्यान रखते हुए उसके सामने हाथ जोड़ते हुए कहा- तू कुछ और मांग ले.

वो बात अलग है कि पर्दे के पीछे ज्यादातर लोग अपने रिश्तों में चुदाई करते हैं और बहुत सारे रिश्तों में चुदाई की चाह भी रखते हैं.

बीएफ वीडियो अंग्रेजों का

मैंने उसे बताना शुरू किया कि जब किसी लड़की की चूत में पहली बार लंड जाता है, तो चूत के अन्दर एक झिल्ली होती है, जो लंड पेलने से फट जाती है और उसे ही सील टूटना कहते हैं. ऐसे में उसकी खाल नीचे हो रही थी और अंदर से एकदम चिकना लंड बाहर झाँक रहा था. मैंने उसकी चुत से अपना लंड बाहर निकाल लिया और बुआ को बिस्तर पर लिटा कर बुआ की चूत में लंड घुसा दिया.

मैंने एक प्लान बनाया और उनसे बोला- दीदी, मुझे भूख नहीं लगी है, लेकिन मुझे बहुत जोर से प्यास लगी है, प्लीज थोड़ा पानी पिला दो. फिर मैंने उसी वक्त निर्णय लिया और कोशिश की कि विभा भाभी को इशारा दे दूँ. मैं जैसे ही रूम में गया तो उसने मेरे हाथ में स्प्रे दे दिया और कहा- लो लगा दो.

वो मेरे होंठों को चूसने में अपना ध्यान बंटाने लगी और उसी पल मैंने एक तेज झटके से पूरा लंड चुत में पेल दिया.

मैं जोश में आ गया और अपने लंड की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से गपागप गपागप अंदर बाहर करने लगा।अब मैंने चाची को घोड़ी बना दिया और उसकी गान्ड में और लंड में थूक लगाया और गांड़ के सुराख को उंगली से खोल दिया।मैंने लंड को चाची की गांड के छेद पर रख कर झटका लगाया. मैंने दर्द से चिल्लाने की कोशिश की मगर मामा ने अपने होंठों से मेरे होंठों को दबाया हुआ था. उसके हाथों की हरकत मेरे सीने के निप्पलों को कड़क कर रही थी और अब धीरे धीरे मेरे लंड में तनाव आने लगा था.

मैं- बोलो क्या?अनन्या- तुम मुझे पसंद करते हो क्या?मैं- हां … करता हूं. तुम उधर ही रहते हो न!मैं- हां मैं मुखर्जी नगर में ही उसी दुकान के पास रहता हूँ. फिर इसके बाद हम हर दो से तीन दिनों पर हर रात अपनी गर्मी ठंडी करने लगे थे.

मैंने कुक्कू के पूरे शरीर पर चुम्बन का बौछार कर दी और उसे उल्टा करके उसकी गांड के छेद को भी चाट चाट कर लाल कर दिया. ठीक उसी प्रकार जब कोई पुरुष/स्त्री कॉल ब्वॉय या कॉल गर्ल को बुलाते हैं, तब उन्हें आशा से भी अच्छा मज़ा देना तुम्हारा काम है.

उसकी उंगली मेरी चूत में बोरिंग कर रही थी और उसके होंठ मेरे होंठों का रस पी रहे थे।मैं चुदाई के सागर में गोते लगाने लगी।उसने मेरा नाड़ा खोल दिया, मैंने फटाक से अपना पायजामा खोल दिया. तकरीबन दो मिनट इस छोटी सी लड़ाई के बाद चाचा ने मम्मी के दोनों हाथों को अपने हाथों से पकड़ा और उनकी टांगों को अपनी टांगों से जकड़ लिया. भैया ने उनसे कहा- मुझे ड्यूटी जाना है, सो मैं यहीं से निकल रहा हूँ.

अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था, मैंने तुरंत अपनी अंडरवियर निकली और रिशू के ऊपर बिना किसी डर के लेट गया।लेकिन रिशू जाग गई और जब उसने देखा कि वो बिना कपड़ों के है तो उसने कहा- भाई, ये क्या कर रहे थे तुम मेरे साथ?मैंने कहा- यार रिशू, तुम इतनी हॉट और सेक्सी हो.

[emailprotected]बहू ससुर सेक्स कहानी का अगला भाग:मुट्ठ मारो ससुर जी- 5. अब मम्मी को भी शायद अच्छा लगने लगा था और वो अपने मुँह से आवाज निकालने लगी थीं- आह हाय जोर से … आह … क्या कर दिया नरेश … आह मैंने अब तक कभी ऐसा मजा नहीं लिया था … आह मत करो … यह गंदी जगह है. पिछले भागमम्मी और चाचा की सुहागरातमें अब तक आपने पढ़ा था कि चाचा जी मेरी मम्मी की नाभि में अपनी जीभ घुमा रहे थे और मस्त आवाजों के साथ कमरे के माहौल गर्म हो रहा था.

चूंकि रात में वहां अंधेरा रहता था और पेड़ के पीछे होने के कारण कोई देख भी नहीं सकता था. सुहानी दीदी आंखें बंद करके ‘श्ह इस्ह हम्म अम्म आह इश …’ की आवाजें निकाल रही थी.

मेरे दोनों हाथ खुले थे तो मैंने उसके दोनों मम्मों पर हाथ जमा दिए और सहलाने लगा. आज मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे मैं कोई तपस्वी हूँ, जिसकी तपस्या भाभी रुपी मेनका ने भंग कर दी थी. हेमा सुबह 7:00 बजे ऑफिस जाने के लिए बाथरूम में नहाने जा रही थी तो मैंने उससे कहा- जरा अपना फोन मुझे दे दो, मुझे कॉल करनी है.

बीएफ फिल्म का

उसकी टांगों को चूमते चूमते मैंने उसके निप्पलों को मसलना और चाटना शुरू कर दिया.

मैंने उनकी टांगों के नीचे तकिया लगाया और उनकीचूत में उंगलीकी, जिससे उनकी चूत खुल जाए और उन्हें और मुझे ज्यादा परेशानी न हो. ये कह कर उन्होंने मुझे अपनी गोद में उठा लिया और वैसे ही टॉयलेट में जाकर नंगे ही कमोड पर लैट्रिन करने बैठ गए. कमरे में जाते ही वहां का नजारा देखा तो किसी सुहागरात वाले कमरे की तरह सजा हुआ था.

उनने थोड़ी देर मेरा लण्ड चूसा और कहा- अब चोद दे गोलू … बुझा दे इस चूत की तड़प … बहुत प्यासी है ये!मैंने कहा- हां, अब तो मैं इसकी प्यास रोज ही बुझाऊंगा।उनकी दोनों टांगें मैंने फैला दी और लण्ड को चूत पर सेट किया और एक झटका मारा. ‘आउम्म … आउउम्म … हाह्ह्ह … ओह रेखा … मुह्ह्ह … मुह्ह … तुम्हारा ये गर्म बदन का स्पर्श मुझे बावला सा कर रहा है, मैं तुम्हारे बदन के आगोश में पूरी तरह से समा जाना चाहता हूं मेरी जान. नया सेक्सी वीडियो हिंदीफिर मैं भी अपना आपा खो बैठा और जोरदार पिचकारी से अपना पानी उसकी गर्म चूत में भर दिया.

कुछ देर बाद राहुल ने मॉम को उठा कर कुतिया बना दिया और पीछे से उनकी चुदाई करने लगा. देसी बुर चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी गर्लफ्रेंड ने मुझे उसके पड़ोस की एक नै जवान हुई लड़की की चूत दिलाने के लिए अपने घर बुलाया.

मैंने पूछा, तो बोली- आज हमारे बॉस दिल्ली से बाहर गए हुए हैं तो आराम से ऑफिस जाऊंगी. उसके बाद मैं धीरे धीरे धक्के मारने लगा और भाभी चुदाई का मजा लेने लगीं. नीरज हमें बस चुदाई करता हुआ देख रहा था और एक हाथ से अपना लंड सहला रहा था.

नमस्कार दोस्तो, मैं समर शर्मा हाजिर हूं अपनी कहानी लेकर!यह कॉल गर्ल पोर्न कहानी उन दिनों की है जब मैं कोटा में रहकर अपनी पढ़ाई कर रहा था तो अपनी गर्लफ्रैंड से मिल नहीं सकता था जो जयपुर रहती थी. फिर अंकल ने देखा कि मेरा दर्द कम हो गया तो वो अपनी गांड आगे पीछे करने लगे और मुझे चोदने लगे. जवानी में मेरे स्तन उभर चुके हैं जो हर किसी भी लड़के को अपनी ओर आकर्षित करते हैं.

मैंने ड्राइवर से कह दिया था कि मेरी बहन को डबल वाली सीट देना क्योंकि उसमें आराम मिलता है.

मैंने उससे कहा- मैं तुम्हारी पूरी बॉडी को दबा कर मसाज दे दूं?उसने हां कहा तो मैं उसके बदन को दबाने लगा, उसकी गांड को भी दबाने लगा, उसकी पीठ को भी दबाया. मैं अपना लंड हिलाने लगा पर मेरे लंड में तो मानो कुछ भी नहीं हो रहा था, बस मैं लौड़ा हिलाए जा रहा था.

आपको कुछ चाहिए क्या?मेरी सास ने कहा- हां फैसल, मुझे तुम्हारे चाचा की दवाई नहीं मिल रही है और नाजिया न जाने किधर चली गई है. मैंने चूत को लंड से कुछ ज्यादा घिसा तो उस्ताद जी ने मेरी चूत के छेद पर लंड सैट कर दिया और एक धक्का दे मारा. फिर मैंने पूछा- ये आप क्या कर रहे हैं?वो बोला- कुछ नहीं, बस मुझे मन में आया तो मैंने ऐसे ही किया.

कुछ देर की चूमाचाटी के बाद पापा ने दीदी को डॉगी स्टाइल में करके उनकी कमर के नीचे तकिया लगा कर उन्हें झुका दिया. फिर वो लड़के धीरे धीरे मेरे घर में भी बहाने बना कर मेरी बुआ के लिए आने लगे थे. कुछ देर बाद भाभी की चुत में मैंने अपने लंड का एक जोरदार धक्का मारा तो मेरा लंड उनकी चुत को चीरते हुए सीधा अन्दर चला गया.

दिवाली बीएफ वीडियो मैंने उनकी टांगों के नीचे तकिया लगाया और उनकीचूत में उंगलीकी, जिससे उनकी चूत खुल जाए और उन्हें और मुझे ज्यादा परेशानी न हो. मैंने बोला- दरवाजा बाहर से बंद कर लेना, जब मैं फ़ोन करूंगा, तब खोलना.

बीएफ एचडी वीडियो मूवी

बामुश्किल दो मिनट उसने मेरी चूत को चाटा होगा कि मैं खुद बा खुद उसके लंड को अपने मुंह में ले गई. वो बैठते ही अपने आपको भुलाकर स्टियरिंग पर अपने हाथों को फेरने लगी थी और उसके होंठों पर एक मधुर सी मुस्कान थी. उसके बाद हम दोनों ने एक बार और चुदाई का मजा लिया और तैयार होकर वापस आ गए.

मेरे टांग बुआ के चूतड़ों के ऊपर होने के कारण मेरा लंड बुआ की गांड की दरार में पूरी तरह फिट हो गया था. जब पानी छोड़ कर वो जब नीचे आती, तब सभी रूम को चैक करती थी कि कहीं पानी खराब तो नहीं किया जा रहा है. सेक्सी पंजाबी मेंमैं एक दिन बाज़ार से एक छोटा स्पाई कैमरा ले आया जो फोन से कनेक्ट हो जाता था.

मम्मी के दोनों हाथ चाचा के सर पर जम गए और अपनी उंगलियों से चाचा के लंड से चुदने का मजा लेने लगीं.

अपनी जॉब की वजह से मैं मुंबई में अकेला रहता हूं और मेरी फैमिली एक छोटे से शहर में रहती है. मेरी इस छोटी सी चूत में कैसे जाएगा!मैं बोला- मेरी जान नैना, तुम इसे छोटी बता रही हो.

अब महेश सर ने मेरी मम्मी को लेटा दिया और उनकी ब्रा के ऊपर से उनके मम्मों को मसलने व चूमने लगे. उसने भी आंखें खोलीं और दांत पीसती हुई बोली- अब जो होगा सो देखा जाएगा … आप मुझे चोद दो अंकल. मैंने कहा- कुछ नहीं हुआ है जान, तुम पहली बार चुद रही हो इसलिए खून निकल रहा है.

मैं उसकी गर्दन चाटते हुए नीचे आया और उसके एक मम्मे को मुँह में ले लिया.

फिर तुम्हारा पसंदीदा शगल तो चुत और चूतड़ चाटना ही है … और बुआ के पास ये दोनों भी बहुत बड़े हैं … वो एकदम गोरी भी होगी. रवीना- तो यार मुझे पहले ही बता देते … मैं भी तुमसे काफी प्यार करती हूँ. मैंने उससे कहा- दोस्त आज मुझे कुछ ज़्यादा दूध चाहिए, मिलेगा?वो बोला- साब अभी तो नहीं है, पर आप बोलो तो मैं बाद में दे जाऊंगा.

rashmika mandanna सेक्स वीडियोवो तो शादीशुदा थी, तो वो रोज़ अपने पति के साथ अपने सेक्स की कहानियाँ मुझे सुनाती. मेरी हॉट दीदी Xxx चुदाई कहानी में आपको कितना मजा आया? आप मुझे मेल और कमेंट्स में बताएं.

नौकर मलकिन की बीएफ

[emailprotected]देसी सिस्टर सेक्स कहानी का अगला भाग:चचेरी दीदी की दमदार चुत चुदाई का मजा- 2. मैंने जैसे ही भाभी की ब्रा खोली, उनके दोनों गुम्बदनुमा दूध मानो किसी कैद से आजाद हो गए. मैंने कहा- अच्छा तो ये बता कि तुझे मेरे में क्या अच्छा लगता है?विशु भी मेरे इशारे को समझने लगा था.

उसने कहा- क्यों सता रहे हो … जल्दी से पेल दो न!मगर मैं लंड चुत पर घिसता रहा. मैंने मोनिका के टॉप को उतरना चाहा तो उसने खुद मेरी हेल्प की और बहुत जल्दी ही हम दोनों बिना कपड़े के बेड पर चढ़ गए. आखिर में हम दोनों बाथरूम में जाकर फिर से नहाये और बाद में सबके साथ टूर में लौट आए.

उसे देख कर ऐसा लग रहा था कि जैसे कोई नव नवेली दुल्हन अपने पति का इंतजार कर रही हो. मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया, वो मुझसे चिपकी रही और मैं उसकी चूचियां सहला कर उसे मज़ा देता रहा. और चाचा ने मम्मी के गालों को सहलाते हुए एक ही झटके में अपना पूरा लंड मम्मी की चुत में सरका दिया.

दीप्ति- उह आह ओह उहह उहह आहह अह …उसकी कामुक आवाजें सुनकर मैं और ज्यादा उत्तेजित हो गया और पूरा लंड बाहर खींच कर मैंने अचानक से जोर का धक्का लगा दिया. वैसे मेरे मन में अब तक कभी भी मेरी साली को लेकर कोई बुरा विचार नहीं आया था.

तो वो आंख मारती हुई बोली- मेरे सर में दर्द है … और डैड ने आपको मेरा ख्याल रखने को बोला है ना!मैं चुपचाप बेड पर बैठ गया, रश्मि मेरी गोदी में सर रख कर लेट गई.

बस किसी को भी पता नहीं चलना चाहिए, बदले में तुम जब जितना चाहो मजे कर सकते हो और मुझे भी मजे दे सकते हो. सेक्स फुल पिक्चरमैंने मैडम से कहा- अब मेरा गिफ्ट?तो वो बोलीं- वो मैं बाद में दूँगी. अंग्रेजों का वीडियो सेक्सरात होते ही उसने सब खाना टेबल पर रख दिया और बोली- जीजू शुरू करें?मैंने भी कहा- हां … लो पैग उठाओ. फ़िर उन्होंने मम्मी की नाभि में उंगली डालकर घुमाई, शायद वो नाभि की गहराई नाप रहे थे.

तभी प्रसाद सो गया तो मैंने आंखें खोलीं और अपने स्तनों को अपने दुपट्टे से ढक लिया था.

मैंने उनके मम्मों पर हाथ फेरा और मजाक करते हुए कहा- मम्मी जी आपके दूध तो बड़े सख्त हैं. मेरे पीठ घिसने तक उसने चड्डी नहीं उतारी तो मैंने ही उसकी चड्डी उतार दी. मोनिका ने बोलना शुरू किया- शिव, आज तो तुम बहुत स्पीड में थे, साले तूने मेरी चूत फाड़ दी.

होली का इंतजार मैं पूरे साल सिर्फ तुमको छूने और अपनी बांहों में भरने के लिए ही करता था. मैं कालीन पर घुटने मोड़ कर उसकी गोरी गोरी चूत पर केक लगा कर चूत को चाटने लगा. सुहानी दीदी अब और पागल होकर ‘अहं आह उहह यस्स …’ की आवाज़ें निकालने लगी थी.

मकई खेत वाला बीएफ

मैंने अपना मुँह भाभी की चूत पर रख दिया और अपनी जीभ भाभी की चूत के अन्दर तक डाल कर उनकी चूत को चाटने लगा. थोड़ी देर रुक कर मैं उसके मम्मों को दबाता सहलाता रहा और उसके होंठों को पीता रहा. पल्लवी के साथ चलने की बात सुन कर मैं बहुत खुश हो गया क्योंकि मैं उसको बहुत पसंद करता था.

मैंने उनके चूचे और दबाए और धीरे धीरे उनकी पेंटी के ऊपर से चूत को मसल दिया.

तो मम्मी ने शर्माते हुए कहा- मुझे भी आप …मम्मी के इतना कहते ही, चाचा ने मम्मी पर लगभग झपटते हुए अपने होंठ मम्मी के नीचे वाले होंठ पर लगा दिए और बुरी तरह से चूसने लगे.

हम दोनों नंगे ही कार से बाहर निकल कर आए, डिक्की से अपना सामान लिया और अन्दर चले गए. मैंने कहा- जब तुम सामने हो तो मैं मुठ क्यों मारूं? तुम अपने हाथों से ही शांत कर दो न इसे!इतना बोल कर मैंने अपना पैंट नीचे कर दिया. मणिपूर सट्टामेरे पास स्मार्ट फोन था जिसे मेरी बहन रवीना बड़ी उत्सुकता से लेकर देखती थी.

उनका सहारा बस दारू का नशा था, जिस वजह से मॉम चुदाई का मज़ा ले रही थीं. मैं जोर से उसका हाथ हटाकर बोली- तुम जबरदस्ती से करोगे तो मजा नहीं आएगा. कहानी के पिछले भागभतीजे की पत्नी की चूत चोद दीमें आपने पढ़ा किअब आगे बहू ससुर सेक्स कहानी:वो कमरे से बाहर मटक कर चल दी।पर मेरे दिमाग में और कुछ था।उसके निकलते ही मैं बाहर टहलने के लिये गया और कोई करीब 10 मिनट बाद फिर वापिस लौटा.

दोस्तो, चाचा की इस रगड़न ने मम्मी में इतनी आग भर दी थी कि वो ऊपर की ओर उठती हुई पीठ के बल उठती हुई लगभग धनुष सी हो गई थीं. लेकिन मेरा अभी न तो हुआ था और ना ही जल्दी होने वाला था क्योंकि ये मेरी पिछले आठ घंटे में ये तीसरी चुदाई थी.

उसने बोला- मेरी भी एक फंतासी है कि तुम मेरे स्लेव डॉग बनो और मैं तुम्हारी मालकिन बनूंगी.

इसका लौड़ा मेरे मन का है, खूब धकाचक चोदने वाला है इसका लौड़ा, तुम बताओ तुमको लूसी की बुर कैसी लगी?मैंने कहा- अरे बड़ी टाइट, बड़ी सेक्सी और बड़ी हॉट है लूसी की बुर. कल्पेश ने पूछा- क्या मैं बाहर जाऊं?मीरा ने इशारे से अपनी पैंटी उतारने में मदद की बात कही. मेरे पास स्मार्ट फोन था जिसे मेरी बहन रवीना बड़ी उत्सुकता से लेकर देखती थी.

गली दिसावर का सट्टा मैंने फिर से चूत को चाटना शुरू किया तो वो भी मादक आवाज़ निकालने लगी- आआह ईईई ईईहह ईई मर गई ईईईइ आह गोलूऊऊ ऊऊऊहह ऊऊऊ!फिर मैं उठा और घुटनों के बल खड़ा हो गया. वो भी मस्त लग रहा था मगर मैंने चूत की खाज को उस्ताद के लंड से मिटवाने की ठान ली थी तो मैंने भिखारी को खाना दिया और उसको बाद में आने का कह दिया.

मेरी चूत से खून निकलकर बह गया और अंकल का वीर्य, जो उन्होंने मेरी चूत में डाल दिया था, वो भी बह गया. मैंने सुमन डार्लिंग को बेड पर लेटा लिया और उनकी एक एक चूची को मुँह में लेकर कर पीना शुरू कर दिया. मैंने उसकी टांगों के बीच में हाथ लगाया, तो उसकी चुत के पास गीला हो गया था.

बीएफ ब्लू बीएफ पिक्चर

मैंने चिढ़ते हुए कहा- कुछ ज्यादा गंदा नहीं हो गया?वो मेरी गांड को अपने दोनों हाथों से दबाते हुए बोला- अभी तो मैंने शुरू किया है भोसड़ी के … आगे आगे देख, मैं क्या क्या करता हूँ. फिर उसने मुझे पलंग पर पटक दिया और मेरे सर को उठाकर अपनी चूत को मेरे पूरे चेहरे पर रगड़ने लगी. मैंने देखा कि अम्मी फिर से गहरी नींद में सो गई हैं तो मैं उठ कर अम्मी के पैरों के पास आ गया और धीरे धीरे से अम्मी की साड़ी ऊपर खिसकाने लगा.

ठण्ड लग रही है ना, तुम ऊपर बेड पर आ जाओ!” सौम्या मेरे कंधे से हटते हुए पलंग के सिरहाने की तरफ जाते हुए मुझे आदेश कर रही थी या रिक्वेस्ट, पता नहीं चला. मैं एक बार को तो चौंका कि भाभी को भैया ने क्या एक बार भी नहीं चोदा, जो ये कह रही हैं कि उन्हें लंड चूत में जाता है, तो कैसा लगता है.

कुछ देर बाद प्रियंका मेरे करीब आ गयी और उसने अपना पैर मेरे पैरों के बीच में फंसा दिया.

दीप ने बिना तेल लगाये, नीता की गांड में अपना पूरा लंड उतार दिया और दोनों बड़े मज़े से गांड चुदाई के मज़े लेने लगे. मैंने समय ना गंवाते हुए फ़ौरन से भाभी को पलंग पर लिटा दिया और एक हाथ से एक कबूतर को और दूसरे को मुँह में लेकर चूसने लगा. ये जानते ही मैंने उससे पूछा- अब तेरे रूम पर कौन है?तो उसने कहा- रूम नहीं, वो हमारा घर है … और वहां मैं ही रहता हूं.

फिर उन्होंने बोतल में से कुल्ला किया, मुँह धोया और सीधी होकर बैठने लगीं. फिर एक दिन शीना भाभी के फोन में कुछ हो गया, तो उन्होंने अपना फ़ोन अपने 5 साल के बच्चे के हाथ भेजा और कहा कि मेरे फोन में कुछ हो गया है, आप ठीक कर दोगे क्या?मैंने कहा- ठीक है. मैंने झट से उनकी कमर में हाथ डालकर मैक्सी कमर तक कर दी तेल डालकर अच्छे से कमर की मालिश करने लगा.

तभी मिक्की ने जोर से अपने घुटने से मेरे आंडों पर झटका मारा, मेरा लंड सुन्न पड़ गया और मैं नीचे गिर गया.

दिवाली बीएफ वीडियो: वो चुत उठाने लगी थी तो मैं धीरे से उसकी चूत मैं जीभ डाल कर चाटने लगा. आप एक नौकर साथ कर दो, जो बैलगाड़ी हांक भी लेगा और तीर्थ में मेरी मदद भी कर देगा.

परन्तु दक्षा कद में काफी छोटी थी और वजन भी 55-56 से ज्यादा नहीं था।हालांकि उसके चूचे बड़े थे और नितम्ब भी बड़े थे।मैंने दक्षा का अपनी गोद में बिठा लिया और उसके होठों पर अपने होंठ रख दिए।मैं उसके होठों को चुभलाने लगा, वह भी मेरे होठों को चूस रही थी।मैंने उसके मुंह में थूक दिया तो उसने उसे निगल लिया. हॉट मॉम लेस्बियन सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी मम्मी मेरे पापा से अलग रहती थी. ये सोच कर मैंने लंड पर खूब सारा थूक लगाया और उसकी चूत में डालने की तैयारी कर ली.

दीप ने मेरी और नीता दोनों की ब्रा खोल दी और हम दोनों के मम्मों से दबा दबा कर खेलने लगा.

मगर मैं गर्म होकर तुम्हारे सोने के बाद तुम्हारे कमरे में आकर ये सब करने वाली थी. वो ऐसे चोद रहा था जैसे कोई कुत्ता कुतिया चोद रहा हो।मेरी दोनों चूचियों को मसलने लगा और थप थप थप करके अपनी पूरी रफ्तार से चोदने लगा।अब मैं भी जोश में आकर अपनी गांड चलाने लगी और आगे पीछे करने लगी. मैं मंदिर के बाहर प्रांगण में खड़ी थी, तभी किसी ने मुझे पीछे से आकर अपनी बाँहों में लिया.