जयपुर बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,सनी लियोन बीएफ वीडियो सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

इंडियन देशी सेक्स: जयपुर बीएफ वीडियो, मेरा लण्ड अब भी अपने हल्के उभार से मेरे लोअर में काफी हिलता हुआ दिखाई दे रहा था जिसे चोर नजरों से नेहा देखकर अंदर ही अंदर खुश हो रही थी.

सेक्स हिंदी बफ

मैंने राहत की सांस ली और डरते डरते उनको सारी बात बता दी कि मुकेश की वाइफ निशा के पेट में जो बच्चा है, वो मेरा ही है … और परासिया में कोई बाबा नहीं है. एक्स एक्स एक्स नई नईएक दिन मैं उनके किचन में उनके पीछे खड़ा हो गया था और उनके साथ मस्ती करने लगा था.

मैंने गीत के सिर को अपने हाथों में पकड़ लिया और अपने लंड को उसके मुंह में घुसाने लगा. 2021 की नई ब्लू फिल्महम दोनों एक बार थक से गये थे और लंड डिस्चार्ज होने की वजह से अभी चूत चोदने के लिए लंड में इतनी जल्दी तनाव आना कठिन था.

जावेद हंस दिया- भाई पूरा पेल कर मजा लो … नीचे वाले को मजा आ रहा है.जयपुर बीएफ वीडियो: इस बार एक और रिकॉर्ड टूटने जा रहा है, वो है दिसंबर जनवरी में रिकॉर्ड बच्चे पैदा होना और दूसरे जून में रिकॉर्ड गर्भपात.

नेहा के हाथ पीठ के बगल से होकर मेरे सीने तक आ रहे थे और मेरा लंड पानी के भीतर भी जोर मारने लगा था.चूंकि यह मेरा पहला अनुभव होने वाला था इसलिए मैंने वीडियो चैट का विकल्प चुना.

बीएफ गांव की - जयपुर बीएफ वीडियो

अब ये रोज अपने मोहल्ले में जायेगी, इन लोगों के पास कोई ज्यादा बड़ा मकान तो होता नहीं.घर पर रहते हुए अन्तर्वासना की कहानियों का आनंद लें और मुझे ईमेल करके जरूर बताना कि कहानी कैसी लगी।मुझे मेरी ईमेल पर मैसेज करें अथवा कमेंट बॉक्स में कमेंट डालें.

वो एकदम मदहोशी में बदहवास हो चुकी थी।मैंने उसे अपने नीचे दबा लिया और अपने शरीर को उसके नंगे बदन से रगड़ने लगा. जयपुर बीएफ वीडियो भाभी ने खीरा अपने हाथ में लिया और तेजी से 10-12 बार आगे पीछे करते हुए और जोर जोर से आहें भरती रही.

मैंने उसके एक दूध को मेरे होंठों से दबाते हुए चूसना चूमना शुरू कर दिया.

जयपुर बीएफ वीडियो?

फिर वैभव ने जैसे ही दूसरी लड़की की ओर अपना रूख किया, जो लैगीज सूट पहन कर आई थी. मैंने महसूस किया तो पाया कि कोच सर बाकी लड़कियों के मुक़ाबले मुझ पर कुछ ज़्यादा ध्यान दे रहे थे. रवि बोला- अभी नैन्सी आंटी आकाश से कह रही थीं कि अंकल को कमर में मोच आ गयी है.

बाप बेटी का सेक्स पढ़ें कहानी के इस भाग में! दो दोस्तों ने होटल में रात रंगीन करने के लिए एक कॉलेज गर्ल की चुदाई का प्लान बनाया. मैं भी नंगी थी, मेरी नाईटी बाहर हाल में सोफ़े पर रखी थी और एक गाउन शाही सर के लिए भी था कि अगर कोई आ गया तो पहन सकें. भाभी अपनी चूत में उंगली कर रही थीं … और ननद के चुचों को मैं अपने हाथों से मसल रहा था.

बहुत ज़्यादा हसीन है ना! इसलिए नखरे तो उसके स्वभाव में बने रहना तो आवश्यक ही है. फिर वो बोली- ठीक है, जा रही हूं रूम में।मैंने कहा- अरे मेहमान जी, इतनी रात को कहां जाओगे, यहीं सो जाओ।वो बोली- अच्छा? यहां छोटा सा रूम है और सिंगल बेड है, ऐसे सुलाओगे क्या अपने मेहमान को? वैसे भी मुझे अकेले सोने की आदत है. आकाश ने कुछ ना नुकुर की तो नैन्सी बोली- घबराओ मत, मैं सिर्फ तुम्हारी हूँ, पर रवि को चुप करना जरूरी है.

कुछ ही धक्कों के बाद उसकी चिकनी चूत में वो डिल्डो मलाई की तरह अंदर बाहर होने लगा. अब इसके बाद की जीजा साली सेक्स कहानी मैं फिर कभी सुनाऊंगा कि मैंने अपनी साली की चुदाई में और क्या क्या मजा किया?इस जीजा साली सेक्स कहानी पर आप अपनी राय देना न भूलें.

रिया एक रांड की तरह सारे वीर्य को जीभ निकाल निकाल कर चाट गयी और जहां जीभ नहीं पहुंची वहां उंगली पर वीर्य पोंछ पोंछ कर चाट गयी.

मैंने तेरे दादा जी को बोला है अब इसे दफा करो और जवान भैंसा रखो, पर वे सुनते ही नहीं.

गुड्डी रानी का जवाब था कि बेबी तू तो अनगिनत बार चुदाई का मज़ा ले चुकी. पर पहली चुदाई की बात ही अलग होती है।आप सबको मेरी और कुंवारी लड़की की चुदाई कहानी कैसी लगी, मुझे जरूर लिखें। आप मुझे[emailprotected]पर ईमेल कर सकते हैं।मुझे आपकी कमैंट्स का इंतज़ार रहेगा।मेरी अगली कहानी तक सभी अपना ख्याल रखें और मुट्ठी मारते रहें, चूत खोजते रहें, लण्ड वालों को तड़पती रहें, चुदाई कराती रहें और मुझे दुआओं में याद रखें।. मैं जोर से चिल्ला पड़ी- आह मर गई … छोड़ो मुझे … साले ने मेरी गांड फाड़ दी … हट जा कुत्ते छोड़ दे मुझे!मैं छटपटाने लगी.

फिर अचानक से ही मैंने एकबार ही आधे से ज्यादा लंड भाभी की चूत की गहराई में उतार दिया. नाखूनों पर लाल रंग की नेल पोलिश मेरे पहनावे के साथ मैच करके कहर बरपा रही थी. जो मुझे बेहिसाब उत्तेजना से भर रहा था।अब किट्टू पुरे होश में आ चुकी थी और अब अपनी होती चुदाई का भरपूर आनंद ले रही थी।किट्टू के होंठों पर हल्की मुस्कान थी.

मैंने भी सोचा कि कहीं भाभी को पता लग गया तो वह मुझे आज ही बाहर निकाल देगी और सारा खेल खत्म हो जाएगा.

इतने में ही रवि का लंड तनाव में आ गया और उसने रिया को ऊपर उकसाते हुए उसकी चूत में लंड रगड़ना शुरू कर दिया. मैंने दरवाज़ा खोला, तो वेटर ने मुझे पूरा ऊपर से नीचे तक बड़ी वहशी नज़रों से घूरा. ठीक है जीजू, ये लास्ट बात मान के लेटती हूं सिर्फ दो तीन मिनट के लिए; आपका हो जाय तो ठीक नहीं तो आप जानो!” निष्ठा ने तिक्त स्वर में कहा.

मैंने उसकी गांड के छेद को मसाज किया और धीरे से उसमें उंगली करने लगी. इसके अलावा कहानी के बारे में कुछ विशेष राय साझा करना चाहते हैं तो भी आपका स्वागत है. प्रीति है ना?”कौन प्रीति?”ओहो … आपको बताया तो था? वो मेरी भाभी की छोटी बहन है ना?” उसने मेरे इस भुलक्कड़ और अनाड़ीपन पर थोड़ा चेहरा सा बनाते हुए कहा।ओह … हाँ तुमने बताया था जिसके सके कई सारे बॉयफ्रेंड हैं? … वही ना?” मैंने बॉय फ्रेंड वाली बात पर ज्यादा ही जोर दिया था।हओ.

क्योंकि मैं तुम्हारे सच्चे प्रेम को शब्दों की जादूगरी नहीं दिखाना चाहता … और ना ही कोई वादा करना चाहता हूँ, क्योंकि मुझे पता है कि मैं किसी भी वादे को पूरा करने में समर्थ नहीं हूं.

आलू के परांठे और टमाटर की चटनी तो मेरे मोस्ट फेवरेट हैं, बट रहने दे निष्ठा, अभी नहीं. आपको मेरी ये अंतर बासना सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल जरूर करें.

जयपुर बीएफ वीडियो आप अन्दर तो आईये देवर जी!”अच्छा भाभी … लो आ गया अन्दर … अब बताइये?”भाभी ने मुझे कमरे के अंदर बुलाया और दरवाजा बंद कर लिया. मैं तुम्हें चाहती हूँ, आज पहली बार मैं किसी के सामने अपने प्रेम की खातिर खड़ी हूँ.

जयपुर बीएफ वीडियो मैं- अरे भाभी, आदमी का दिमाग़ ऐसा ही होता है … कितना भी विश्वास हो, लेकिन कुछ भी सोच सकता है. तो जब चुदाई के लिए चूत न मिली तो मैंने घर में पानी वाली एक बोतल उठा ली।आपके घर में भी होगी, प्लास्टिक की बोतल, चौड़े मुंह वाली, जिसमे पानी भरके फ्रिज में रखते हैं।मैंने तो थूक लगा कर उसमें ही अपना लंड घुसेड़ दिया। उस दिन पहली बार चुदाई का मज़ा आया.

लगभग तीन मिनट बाद भाभी ने मुझे अपने हाथ से थोड़ा सा धकाते हुए साइड में लिटा दिया और अपना सिर मेरी छाती पर टिका लिया.

होली गाना डाउनलोड

वो मेरे कहने पर बिस्तर पर बैठ गई और मैं तौलिया लपेटकर बाथरूम में जाकर जल्दी से फ्रेश हो गया. फिर मैंने अपने अंगूठों से उसके नितम्बों को फैला दिया और बोला- रजनी, तुम्हें नहीं पता कि इस खूबसूरत कली और इसकी खुशबू को मैंने कितना मिस किया है. मैं नहाने चला गया।जब मैं नहा रहा था तो मैंने सुना कि भैया भाभी से बोल रहे थे- जान आज साथ नहायेंगे.

उसकी साड़ी को खोल कर उसके पेटीकोट समेत सब नीचे करते हुए उसने रति को नंगी कर दिया. का मतलब बताओ मुझे, क्या होता है ये और हिलाना क्या है?” उसने जिद की. फिर रमेश ने झुक कर रिया की गांड और चूत में मुंह लगा दिया और मस्ती में चूसने लगा- सपड़.

निष्ठा की गांड की मांसपेशियों का कसाव मेरे लंड को असीम सुख दे रहा था.

मैंने मां से पूछा- किसका फोन था अदिति?मां ने कहा- तेरे पिताजी का था. देखो तुम्हारे पास बैठा हूँ।रति उठ कर जाने को हुई तो रमेश ने उसका हाथ पकड़ लिया. वो मुझे बाहर लेने आयीं।दोस्तो, मुझे अपनी आंखों पर यकीन नहीं हुआ और किस्मत पर भी … वो रूप की रानी लग रही थी।उसने बैंगनी रंग की वन पीस पहन रखी थी जो उसके घुटने के ऊपर तक थी.

अब मैं उन्हें योग बताने लगा, पर वो जानबूझ क़र मुझसे चिपकते हुए समझने की कोशिश कर रही थीं. मैंने एक बार फिर चुदाई रोकी और अपने दोनों हाथ आगे बढ़ा कर भाभी के मम्मों को मसलने लगा. शांति की चुदाई के दौरान उसकी चूचियों से खेलते हुए मैंने उसके निप्पल कचोटे तो चिंहुक गई.

इसके बाद मम्मी ने मेरे लंड को अच्छे से साफ किया और नाईटी नीचे फेंक दी. अब तक की मेरी इस सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मैं तीन साल बाद फिर से गांव आया था और इत्तेफाक से सलीम से मिला.

मैं खुश था कि आज तो ऐसी चूत मिलने वाली है, जिसका सपना हर कोई देखता है. और उसने अपना हाथ मेरे अंडरवियर पर रख कर मेरे लंड को डरते डरते पकड़ लिया. उसके भरे पूरे दूध देख कर कपड़ों के ऊपर से ही दबाने के लिए हाथ मचल रहे थे.

उनकी उम्र 45 साल है और वो अपने घर पर अकेले ही रहते हैं। उन्होंने भी कई बार कहा था कि मेरी किसी से दोस्ती करवा दो।उसकी ये बात सुनकर मेरी समझ में नहीं आया कि मैं क्या जवाब दूँ।फिर मैंने सोच कर बताने को बोल दिया।कई दिन ऐसे ही निकल गए और मैं वैसी ही सेक्स की भूखी रही। कई बार उसकी कही बात याद करती.

वह मुझे बोली- क्या तुम मेरा मजाक उड़ा रहे हो? अगर ऐसा होता, तो आज तक मेरी शादी न हो गई होती?मैंने कहा कि शायद देखने वालों की आंखों में कुछ कमी रही होगी. मैंने शांति का हाथ अपने लण्ड पर रखते हुए कहा- शांति, यह लण्ड तुम्हारा है, इसे अच्छे से प्यार करो, इंज्वॉय करो. अब इस उम्र में जवान लड़कियों को चोदना आसान बात नहीं, उनमें दम ही कहाँ बचा होगा अब?रिया की इस बात का रमेश पर उल्टा असर गया.

रमेश ने रिया का मुंह पकड़ा और अपना लंड उसके मुंह में जोर से घुसा दिया. दोनों ही एक दूसरे से चिपके हुए पीठ के बल रेत के टीले पर लेट गए और ऊपर आसमान में तारों को देखने लगे.

नेहा ने खुद को साफ किया और मैंने भी खुद पर पानी डालकर स्नान को अंतिम रूप दिया. इस समय उनको पूरी ताकत से लंड अन्दर लेना था, इसलिए वो खुद अपनी गांड उछालते हुए धक्का लगाने लगीं. मेरी भतीजी नीचे को सरकी और मेरी चादर के अंदर घुस कर मेरा लंड अपने मुंह में ले लिया।अब कहाँ तो साली भोंसड़ी देखने को नहीं मिलती थी.

सोनाली बेंद्रे की सेक्सी वीडियो

उसने मोबाइल रखा और मेरी जंघा पर थाप देते हुए कहा- चलो, तुम्हें कुछ खास चीज दिखाता हूँ.

दिया ने मुझे आवाज करके उठाया और बोली- खाना बनाने का टाइम हो गया है, कुछ सामान सब्जी लाना होगा ना?मैंने देखा तो वो हंस रही थी. क्या हम दोनों लंबे समय तक दोस्त रहेंगे या फिर आज रात के बाद तुम भूल जाओगी?”मैंने भी अब कुछ खुलते हुए कहा- नहीं ऐसा नहीं है. मैं- तुम ये क्या बोल रहे हो विक्की?वो बोला- ओह्ह चलो भी यार, मैं जानता हूं कि तुम्हें एक गुलाम पार्टनर की इच्छा होती है.

उस दिन वो बहुत खुश हो गयी और कहने लगी कि कभी मुझे अपने से अलग मत करना. ”उसने मेरे दोनों हाथ थाम कर अपने दूधों पर रख दिये और सिसकी ली- दबाओ ना इन्हें … और अपना हाथ नीचे ले जाकर लण्ड थाम कर अपनी चिकनी मस्त चूत के छेद पर रखा तो जैसे उसके जिस्म में करण्ट दौड़ गया हो।आह कपिल …”और वो उसे अपनी चूत की चिकनी और गर्म फ़ांक से सटा कर ऊपर नीचे करने लगी. एक्स एक्स एक्स बीएफ वीडियो मेंएक सच्चाई और भी है कि मैं इसी बहाने अपने मंगेतर की जानकारी में भी तुम्हारे पास रह सकती हूँ, तुम्हें देख सकती हूँ तुम्हें महसूस कर सकती हूँ।अब मेरे पास खुश होने के बहुत से कारण थे.

दसवें दिन जब मित्र का फोन आया, तब हम तत्काल कार द्वारा बैंगलोर पहुंचे. इस पोजीशन में चुत चोदना मुझे पसंद है … ये मेरा पसंदीदा आसन है, तो बस चुत गीली करके कुछ ही देर में मैंने स्पीड बढ़ा दी और लगातार चोदने लगा.

नैना चिल्लाने लगी- आह … चोदो और जोर से चोदो … दो … याह … ह … ह … मज़ा आ रहा है ऐसे ही चोदो मेरी चूत को … आज इसकी सारी भूख मिटा दो अ…याह. ”अब तो तुम खुश हो ना?”हओ!” सानिया पता नहीं किन सुनहरे सपनों में खो सी गई थी।सानूजान … मैंने तुम्हें इतनी अच्छी खुशखबरी सुनाई और तुमने तो कुछ बोला ही नहीं?”ओह … हाँ थैंक यू सल!” सानूजान तो कहते हुए अब शर्मा भी गई थी।सानू अब दर्द तो नहीं हो रहा ना?”किच्च …”सानू … बस एक बार थोड़ा सा दर्द और होगा फिर देखना तुम्हें बहुत अच्छा लगने लगेगा. ये सुनते ही हम दोनों के चेहरे की मुस्कान बढ़ गई और आज रात मां की चुदाई का मस्त खेल होना तय हो गया.

मेरा लंड क्रीम निकालने वाला था, तो भाभी जी बोलीं कि अन्दर ही डालना. कॉन्डम को मैंने उसके लंड के सुपाड़े पर रखा जो कि मेरे मुंह की लार से चिकना हो चुका था. मेरी उंगली अंदर जाते ही वो जोर से चीखी- आह … ओह्ह!मैं धीरे धीरे अपनी उंगली अंदर बाहर करने लगा.

मुझे होटल वाली सुंदरी अपने पीछे वहीं ले गई।आगे बढ़ने पर पता चला कि वो बड़ा हॉल था जहाँ कार्यक्रम होते होंगे.

मैंने इस सेक्सी इंडियन लड़के के लंड को हाथ में ले लिया और उसको खींचने लगी. मैं आपको देखकर और सादगी को जानकर आप पर मोहित हो गई और कई बार तो मुझे खुशी दीदी से भी जलन हो जाती है.

उसके बाद उसे चूमते हुए बाकी बची हुई पैग मैंने पी ली।मैंने उससे पूछा- कैसा लगा?इस पर वो धीरे से मुस्कराई. उस लड़की ने कहा कि वो किसी और के साथ डेट पर चली गयी है और वो तुमसे ब्रेकअप कर रही है. जीजा साली सेक्स से घर की बात घर में ही रहेगी और किसी को शक भी नहीं होगा.

पंकज … क्या तुम मुझे और टाइट हग कर सकते हो ताकि तुम्हारे जिस्म की गर्मी मेरे जिस्म में आने लगे?ये कहते हुए रिंकी ने सेक्स डॉल को अपनी पीठ से कसकर सटा लिया. मैंने उसकी भाषा को समझते हुए मन में सोचा कि अभी लंड और दारू का नशा ज्यादा चढ़कर बोल रहा है. ये समझते ही उन्होंने अपने दोनों हाथों को मेरे आगे कुछ इस तरह से रख लिया कि जिससे अगर मैं आगे होउन, तो मेरे चूचे उनके हाथों से टच हों.

जयपुर बीएफ वीडियो थैंक्स मुझे जिताने के लिए … सारी मेहनत वसूल कर लो मुझे चोद चोद के।सुनील भी बोल रहा था- आहह … आहह … सुहानी … आहह. सेक्स चैट में उसने बताया कि वो अभी तक कुंवारी है और सेक्स करना चाहती है.

सेकसी पिचार

गीतिका ने स्लीवलेस टॉप और नीचे पटों में फंसा हुआ प्लाजो पहन रखा था. इस बार मैंने बालकनी में फिर से देखा, तो बहुत सारे लोगों के बीच खुशी और आंचल को खड़ा पाया. मैं तुम्हें अपने घर तो ले जा सकती हूँ अगर तुम बुरा न मानो तो?तो वो थोड़ी न नुकुर करने के बाद तैयार हो गया.

उधर मेरे हर धक्के से मम्मी के मुँह से जोर से सिसकारियां निकल रही थीं. कोमल- तो जिया क्या ख्याल है?जिया- किस बारे में?कोमल- सेक्स के लिए तैयार हो न?जिया मेरी ओर देखकर सेक्सी स्माइल करके शर्मा दी- क्या भाभी आप भी ना!कोमल- अब इसमें क्या शरमाना. बीएफ वीडियो चुदाई कीमुझे मेल करके बताएं कि मेरी गांडू सेक्स कहानी कैसी लग रही है?आपका आजाद गांडूकहानी जारी है.

मैं मेरे कॉलेज के साथी आर्मी में जाने के कम्पटीशन की तैयारी में लगा था.

मैं बार बार यही सोच रही थी कि क्या जुगाड़ लगाया जाए कि सर मुझे चोद दें. जो भी मुझ कम समय में ज्यादा गर्म करेगी, मैं उसी की ही चुदाई करूंगा.

शीला के गोर चिकने पांवों में पतली सी पायल थी पर नीचे तलुवे गंदे हो रहे थे. तो दोस्तो, आपको भी एक बार दिल्ली सेक्स चैट की वेबसाइट को विजिट करके देखना चाहिए, मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि ऐसा मजा आपको और कहीं नहीं मिलेगा. फिर मैंने फोन की नोटिफिकेशन चेक की तो देखा कि गर्लफ्रेंड के नम्बर से 23 मिस्ड कॉल आ चुकी थी.

तो मालिकन ने मुझे उसका ध्यान रखने को बोला और दो बजे वो सब चले गये।अब मैंने मालकिन की दी हुए एकदम सेक्सी सी नाईटी पहन लिया.

जब भाभी जी की चुत से मैंने लंड निकाला, तो वीर्य की धार बाहर निकल आई. उसका 48 इंच का सीना आज भी कसाव लिए हुए है और जब वो मदमस्त हथिनी की तरह चलती है, तो एक दूसरे से रगड़ खाते कूल्हों को देख कर लंड फुंफकार मारने पर मजबूर हो जाता है. प्लीज़ संजय, प्रॉमिस करो कि तुम हमेशा मुझे और मेरी फैमिली को सेफ रखोगे.

एक्स एक्स एक्स indianकुछ देर लंड चुसवाने का मजा लेकर रमेश ने रति को अलग किया और बेड पर लिटा दिया. मैंने उस बून्द को एक उंगली से उठाने की कोशिश की तो बून्द का लेसदार धागा बन गया.

सनी लियोन की ब्लू वीडियो

वहां जाकर हमने आराम किया और 4 बजे बाइक से जैसलमेर घूमने का प्लान किया. मेरा लंड क्रीम निकालने वाला था, तो भाभी जी बोलीं कि अन्दर ही डालना. मैं अपने दोस्त की बीवी की चुदाई करने के लिए उसे वहां से लेकर निकल गया.

जल्द ही दुबारा चुदाई का मूड बन गया और इस बार पम्मी ने मुझसे पूछा- तुम मेरे बड़ी बहन को चोदना पसंद करोगे?मैंने एकदम से ना कह दिया. अपनी बात खत्म करते हुए सुरेश ने कुछ मेडिकल पेपर वैभव को दिखाए, जो कि उन लड़कियों के थे. मैंने अपने लंड को उसकी चुत में बिना हिलाए डाले रखा और उसे मज़ा देने लगा.

चाचा गांठ खोलने में जुट गये, जब ऊंगलियों से नाड़े की गांठ नहीं खुली तो चाचा अपने दांतों से कोशिश करने लगे. फिर मैंने कहा- ठीक है, आपकी बात भी सही है, मैं अकेला क्या खाना बनाऊंगा, यहीं पर आपके साथ ही खा लूंगा. मैंने कहा- अबे, ये क्या कर रही हो?उसने जैसे खुश होकर मुझे अपने ऊपर खींच लिया और बोली- कब से बोल रही हूँ … रुक जाओ रुक जाओ … तुम्हें समझ नहीं आ रहा था क्या?मैंने कहा- तो इसका मतलब क्या हुआ … तुम मूत दोगी?उसने हंस कर मेरे चेहरे को पकड़ लिया और मुझे गाल पर माथे पर होंठों पर खूब चूमा.

फिर मैंने उसका टॉप उतारा और देखा कि रेशमी जालीवाली ब्रा में उसके दोनों दूध उठ बैठ रहे थे. मुझे इसे खुशी के प्यार का उपहार समझ कर ग्रहण कर लेना चाहिए।अब तक बहुत सी बातें स्पष्ट हो चुकी थी.

अब मैंने उसके दोनों गाल बारी बारी से कई कई बार चूम डाले और उसके होंठ चूमते हुए निचला होंठ चूसने लगा साथ ही उसका बायां स्तन कुर्ते के ऊपर से ही धीरे धीरे सहलाने लगा.

धर जब तक वो मुझे अच्छे से मसल कर मेरे चूचे नहीं चूस लेता, बाहर ही नहीं निकलता था. लड़की की ब्लू फिल्म दिखाओइंडियन लड़के अपनी मां को असल जिन्दगी में बहुत कम ही चोद पाते हैं इसलिए कल्पना का सहारा लेना पड़ता है. हिंदी में नंगा सेक्सीरोटियों के साथ ही उसकी चूचियों को देख कर मैं अपनी आंखें भी सेंक रहा था. फिर तुम दोनों एक एक करके मेरे मुंह में चूची दो और मेरे होंठ चूसो … मैं बता दूंगा कि कौनसी चूची किसकी है और यह भी बता दूंगा कि किसने होंठ चूसे … उसके बाद दोनों एक एक करके मुझे थोड़ा सा अमृत पिलाओ … मैं बता दूंगा कि कौनसा अमृत किसका है.

अपने दोस्त को मैंने दिल्ली सेक्स चैट के बारे में बताने के लिए धन्यवाद किया.

उसकी चूत को देखकर लग रहा था कि डॉक्टर साहब ने ज्यादा कष्ट नहीं दिया इसे. उसकी गांड को अपने हाथों से दबाते हुए बोला- जानेमन, क्या हो रहा है?रमेश का लंड रिया की चूत से सट गया था. मेरे लिए वो बिल्कुल शॉर्ट मिडी ले कर आया और बोला- जल्दी से आप इसको पहन कर तैयार हो जाओ.

यह कहते हुए मैंने अपनी जैकेट की पॉकेट से वोडका की बोतल निकाली और पास में रखे गिलास उठाये. मैंने जानकारी की, तो मालूम पड़ा कि यह पूरी गाड़ी पैसेंजर (धीमी रफ्तार से चलने वाली) ट्रेन है. रति- क्या बात है? आज बड़ा प्यार आ रहा है?रमेश- जिसकी बीवी इतनी सुन्दर हो, उस पति को अपनी बीवी पर प्यार तो आना ही है।रति- अच्छा अब क्या रखा है इस उम्र में मुझ में?रमेश- हाय ज़ालिम, ऐसा ना बोलो.

ओपन चोदा चोदी

वीकेंड में मैं अपना सारा स्ट्रेस निकालना चाह रही थी (उसके साथ ही कुछ और भी)।मैंने अपने कई दोस्तों के पास फोन किया लेकिन कोई भी उस रात को फ्री नहीं था. मेरे पेरेंट्स की गैरमौजूदगी में मैं एक पब में गयी और मुझे मेरे तनाव को दूर करने का एक खूबसूरत साधन मिल गया. तो वो हैरान होकर बोली- अजय, यह क्या है? सिर्फ एक ही पेग क्यों?मैं- इस शराब की बोतल में वो नशा कहाँ है जो तुम्हारें में है.

बहुत ज़्यादा हसीन है ना! इसलिए नखरे तो उसके स्वभाव में बने रहना तो आवश्यक ही है.

तुम्हारे अन्दर प्रतिभा है और मेरे अन्दर प्रतिभा दास!उसकी बात पर हम दोनों ही खिलखिला उठे और तभी उसके मोबाइल पर किसी का कॉल आ गया.

वैसे ही वो चिपक कर बोली- जाने क्यों मन नहीं भरा … अभी नहीं जाना है. मैंने उनसे कहा- जल्दी ही मुझे घर आना है, क्या आप मुझसे मिलना पसंद करोगी?भाभी जी ने हामी भर दी. सरदारों की बीएफमेरा भाई लंड ठोकता हुआ बोला- ले साली … और अन्दर ले … तू तो मेरी रंडी है ही साली.

मैं बोली- अब मेरी पैंटी को उतार कर अपनी मालकिन की गांड को भी चाट।उसने मेरी काली पैंटी को अपने दांतों से पकड़ कर एक ही बार में नीचे कर दिया. इस सोच से कि चलो मेरा लंड न सही, मेरा वीर्य तो भतीजी की चूत को छू गया।उसके बाद मैं जा कर सो गया।[emailprotected]मेरी भतीजी की चूत की कहानी जारी रहेगी. जैसे ही झुकी उस सेक्सी गर्ल की टीशर्ट के अंदर मुझे अंदर तक उसके बूब्स के दर्शन हो गये.

तो मैंने उसकी साड़ी ऊपर की और खड़े खड़े ही उसकी एक टांग बेड पर टिका कर चुत के मुँह में लंड ठूंस दिया. रिंकी अब बेड पर दूसरी करवट लेकर लेट गयी और उसने सेक्स डॉल को अपनी पीठ से चिपका लिया जैसे उस डॉल ने रिंकी को पीछे से अपनी बांहों में ले लिया हो.

वो कुछ ही धक्कों में फिर से चार्ज हो गई और हम दोनों मूड के फिर से चरम सीमा पर पहुंच गए थे.

मैं- इतनी जल्दी क्या है?जिया- अभी मन नहीं भरा साले … तुम कहो तो गांड भी तुम्हारे लिए खोल देती हूँ. मेरा लंड क्रीम निकालने वाला था, तो भाभी जी बोलीं कि अन्दर ही डालना. मैं तेजी से धक्के मारने लगा और वह बोलने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… और जोर से!करीब 20 मिनट तक मैं उसे इसी आसन में चोदता रहा.

बीएफ देखने से क्या होता है अंकिता भाभी जैसी अप्सरा मुझे चोदने को मिलेगी … मैंने सपने में भी नहीं सोचा था. मैं उसको अपनी गीली हो चुकी चूत की खुशबू देना चाह रही थी ताकि वो और ज्यादा तड़प जाये.

आकाश उठा, उसने पेग एक तरफ रखा और नैन्सी की गर्दन को मसाज देना शुरू किया. अब आगे की हाउस मेड सेक्स स्टोरी:आह … सर … क्या कर रहे हो? आह … उईइ … मैं मर जाऊंगी. अभी मैं सम्भलती कि उसने एक जोरदार झटका दे मारा और एक ही झटके में मेरे भाई के लंड ने मेरी बच्चेदानी की पप्पी ले ली.

अनन्या पांडे xxx

ये सोच कर उस रात मुझसे रहा नहीं गया और मेरा हाथ नीरजा के टॉप के ऊपर उसके मम्मों पर चला गया. पर इस चीस का भी अपना ही मज़ा है यारों।मेरा मन तो एक और राउंड का था, पर शायद किट्टू के लिए ये आसान नहीं था। जैसे ही मैंने थोड़ी सी गति पकड़नी चाही, जाने किट्टू में कहाँ से ताकत आयी कि उसने मुझे खुद से दूर धकेल दिया. फिर अचानक से ही मैंने एकबार ही आधे से ज्यादा लंड भाभी की चूत की गहराई में उतार दिया.

दो मिनट का विराम देकर एक बार से दोनों लौड़े मेरे छेदों को खोलने लगे. इस टीचर सेक्स स्टोरी के अगले भाग में मैं आपको अपने रंडी बनने की कहानी को आगे लिखूंगी.

जैसे जैसे दिसंबर का महीना नजदीक आ रहा था, मेरे दिल की धड़कनें बढ़ रही थीं.

अब आगे की हाउस मेड सेक्स स्टोरी:आह … सर … क्या कर रहे हो? आह … उईइ … मैं मर जाऊंगी. ”कैसे?” उसने रहस्यमयी ढंग से मुस्कुराते हुए पूछा।मैं अपने इस प्रेम मिलन की बात कर रहा हूँ।”हट!”अच्छा तुम एक चुम्बन मेरे होंठों लो और फिर अपनी आँखें बंद करो. मैंने नेहा से कहा- नेहा, तुम सच में हेरोइनों से भी बढ़कर सुंदर हो, मैं तुम्हें पाने के लिए बेचैन था परंतु तुम मुझे घास ही नहीं डाल रही थी.

रिंकी ने मुझे एक सेक्स डॉल दिखाई जिसके अंदर कुछ ऐसा मेटीरियल भरा गया था कि वो अन्य सेक्स डॉल के मुकाबले ज्यादा अच्छी लग रही थी. मैं- मेरी तरफ घूमो मेरी जान … मुझे तुम्हारे उछलते हुए चूचे देखने दो. उसने दूर से ही मुस्कुराहट बिखेरी और हाथ जोड़कर मेरा अभिवादन करते हुए कहा- आइये संदीप जी, आपका ही इंतजार हो रहा था।मैंने भी हाथ जोड़कर अभिवादन स्वीकारा.

आप अन्दर तो आईये देवर जी!”अच्छा भाभी … लो आ गया अन्दर … अब बताइये?”भाभी ने मुझे कमरे के अंदर बुलाया और दरवाजा बंद कर लिया.

जयपुर बीएफ वीडियो: फिर मैंने आंटी को लिटा दिया और उनकी टांगों को फैला कर उनकी चूत की चाशनी को चाट कर चखा. मैंने एकदम से एक हाथ से उसकी गांड को थामा और एक हाथ से चुत के ऊपर नीचे की तरफ दबाव बना कर चुत के होंठों को जकड़ लिया.

सरोज- ठीक है आज इसे आराम करवाओ और कल ठीक से तेल की मालिश करके रखना. लेकिब उसने मुझे कोई भाव नहीं दिया तो मैंने उसकी जवान बेटी गुरजीत पर नजर गड़ाई और वो मेरे लंड का ग्रास बन गयी थी. मनजीत को खड़ी करके उसका एक पैर मैंने कमोड पर रखा और अपने लण्ड का सुपारा उसकी चूत के मुखद्वार पर टिका दिया.

जिससे पायल थोड़ी हड़बड़ा गई, क्योंकि वो भूल ही गई थी कि हम किस काम से आए हैं.

फिर माथे पर और फिर मेरे सीने और गले को सहलाते हुए मेरे होंठों को चूसने लगी. मैं ऐसे बात कर रही थी जैसे मेरे बॉयफ्रेंड में मुझे धोखा दे दिया हो. लंड से चुदते हुए उसके चेहरे पर आनंद के भावों के साथ एक तृप्ति के भाव वाली मुस्कान तैर रही थी.