xxx.iii फिल्म बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ देहरादून

तस्वीर का शीर्षक ,

कॉलेज सेक्सी ओपन: xxx.iii फिल्म बीएफ, इससे सरिता भाभी को कुछ आराम मिला, पर रोमी ने अभी अपना लंड भाभी की गांड से निकाला नहीं था.

जाणवला बीएफ

मेरी जिंदगी की पहली चुदाई पूरी हो चुकी थी मगर अभी तो शुरुआत थी, अभी तो सारी रात बाकी थी. सेक्सी बीएफ खुली सेक्सीजब उससे रहा नहीं गया, तो वो मेरा लंड पैंट के ऊपर से दबाने लगी और साइज का अंदाजा लेने लगी.

विजय ने मन मारकर हामी भर दी और उन दोनों ने मिल कर खाना खाना शुरू कर दिया. आलिया सेक्सी बीएफचाची बोलीं- क्या रे ऐसा कैसे हुआ? पूरा दिन घूमता रहता है, छुट्टी के दिन भी घर पर नहीं रहता … तो बदन तो दर्द करेगा ही न.

वो कहने लगी- आह … मस्त आह … यार चोद दो अच्छे से … आह बहुत टाइम से चुदाई नहीं हुई है … आह बहुत प्यासी है ये चूत … आह युवी मेरी चूत की सारी खुजली मिटा दो आह ओह्ह मां चुद गई मेरी.xxx.iii फिल्म बीएफ: पहले उसने यहां रहकर पढ़ाई की और उसके बाद यहीं पर जॉब भी करने लगी थी.

मैंने कहा- तो उससे चुद लेगी क्या?वो बोली- अभी तो आप ही मेरे सब कुछ हो … अगर आप परमीशन दोगे, तो ही मिलूंगी … वर्ना नहीं.मैं खुद से सत्यम के लंड पर अपनी गांड उठा उठा कर कूद कूद कर उससे चुदने लगी थी.

बीएफ वीडियो में बताइए - xxx.iii फिल्म बीएफ

उसी समय भाभी ने मुझे अपनी चूचियों की नंगी फ़ोटो भेज दी और पूछा- बताओ मेरे मस्त हैं कि इस पोर्न ऐक्ट्रेस के!मैंने कहा- वाह भाभी, आप तो बहुत ही हॉट हो.उन दिनों मैंने 12 वीं का एग्जाम दिया था और कुछ काम ढूँढ रहा था, जिससे मैं भी घर पर कुछ पैसे दे सकूं.

वो हंस दी और उसने मेरे हाथ से हाथ छुड़ाते हुए कहा- क्या पीना पसंद करेंगे?मैंने उसी झोंक में कह दिया कि दूध पीना पसंद करूंगा. xxx.iii फिल्म बीएफ बार डांसर की कहानी में पढ़ें कि पैसे के लिए मैंने जुआ शराब के अड्डे में नौकरी की.

दोस्तो, उस लड़की को सिलेबस वाली इंग्लिश नहीं सीखनी थी, वह इंग्लिश स्पोकन इंग्लिश सीखना चाहती थी.

xxx.iii फिल्म बीएफ?

कुछ दो मिनट बाद ही सोनू मेरी गांड में ही झड़ गया और उसने अपने कपड़े पहने और मुझे भी बोला कि बस कर अब तू भी कपड़े पहन ले. जेठानी के मुँह से ये सब सुनकर मैंने मन में सोचा कि चलो यह तो अच्छा हुआ कि जेठानी को पता चल गया और अब तो उनकी मर्जी भी है कि मैं उनके पति से चुदूं. हालांकि मैं इसके लिए किसी कपल के साथ भी बीवी की अदला बदली के लिए भी प्रोग्राम बना रहा हूँ.

राज़ ने मेरी गांड पर क्रीम लगाई और उसने मेरी गांड के छेद में उंगली डालकर उसे खूब चिकनी कर दिया. कुछ देर तक पेट और नाभि को चूमने-चाटने के बाद उसने मेरे नीचे के कपड़ों को खोलना शुरू कर दिया. तो सोते हुए हम दोनों एक दूसरे से चिपके हुए थे।आयशा ऐसे सोने में असहज महसूस कर रही थी तो उसने अपना मुंह दूसरी तरफ घुमा लिया.

चुदाई के दौरान जब मैं उससे अपनी पसंद की बात कहता हूँ, तो वो हंस कर मुझसे कहती है- यार तुम्हें गर्म करने के लिए ही तो मैं अपना सामान दिखाती हूँ. इसलिए ये सब जानकर मैंने उसको पाने का खयाल अपने दिल से निकाल ही दिया. मैं अपनी वाइफ को लेकर, शादी के 10 साल बाद फिर से हनीमून पर गोवा गया था.

मेरे निपल्स को कार्तिक आटे की गोली की तरह मींज रहा था, जिससे वो एकदम खड़े हो गए थे. अब मेरा मुंह उसकी चूत की तरफ था और उसका मुंह मेरे लंड के बिल्कुल सामने था.

पहले तो मुझे उबकाई आने लगी … क्योंकि उसका लंड इतना मोटा था कि मेरे गाल मानो फटने लगे थे.

मेरे सहलाते ही चाची बोली- आह्ह … हमराज इसको जल्दी से चोद दे … आरिफा और जाकिरा कभी भी आ सकती हैं, नहीं तो फिर मैं प्यासी रह जाऊंगी.

फिर मैं भी 69 में हो गया और अपनी बीवी की चुत को चाटने के लिए अपनी जीभ बढ़ा दी. उस समय मैंने वर्षा भाभी से पूछा- भाभी आप इतनी उदास क्यों रहती हो?भाभी ने मेरे सवाल का जवाब नहीं दिया और मुझसे पूछने लगीं- क्या आपकी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- नहीं भाभी … मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. धीरे धीरे वो एक दूसरे की चूत में उंगलियां डाल कर सिसकारियां निकाल रही थीं.

फिर जीजू में अपने कपड़े उतारे और मेरी तरफ देख कर मुझसे कपड़े उतारने की कहने ही वाले थे कि तभी किसी ने जीने का दरवाज़ा बजा दिया. अब मैंने बहुत सारा साबुन उसकी पैंटी पर लगाया और उसकी गांड को साबुन से चिकनी कर दी. मैंने अपना लौड़ा उसके मुँह में दे दिया और मैं उसकी चूत को चूसने लगा.

मैं थोड़ा सा आगे हुआ और अपने होंठों को मायरा के होंठों के पास ले गया.

जितना हो सकता था, मैंने कोमल की जांघों को फिर से चौड़ा किया और लौड़े को चुत के छेद पर घिसकर थोड़ा सा अन्दर कर लिया. मेरा ब्लाउज आगे से और पीछे से दोनों तरफ से काफी खुला सा रहता है, जिसमें मेरे मम्मे अच्छे ख़ासे दिखते हैं और सभी को कामुकता से भर देते हैं. फिर जेठजी ने आलिंगन को ढीला किया और मेरे सर को अपने दोनों हाथों में पकड़ कर मेरे होंठों पर अपने होंठों को पूरी तरह घेर कर चुम्बन करने लगे.

अपने घर पर सत्यम को लाने के बाद मैंने उसको अन्दर बिठाया और उसके लिए पानी लेकर आई. तुम यही सब अपनी कॉमर्स की क्लास में सीखती हो!नेहा हंस पड़ी और मेरे सीने से लग गई. मेरे पूछने पर प्रिया ने मुझे बताया था कि तेरी बहन और पंकज एक ही क्लास में पढ़ते हैं.

वो मेरा सिर अपने मम्मे पर दबा कर बड़बड़ाने लगी- आह रॉकी खा जा साले मेरे मम्मे … आह चूस जोर से मादरचोद … आह आह आह … साले तेरा लंड बहुत मजेदार है मेरी जान … अब मैं हमेशा तेरा लंड खाऊंगी … आह!थोड़ी देर बाद सुहैला शांत हो गयी और अपनी कमर मेरे लंड पर गोल गोल घुमाने लगी.

वो देखने में इतनी सुंदर थीं कि जो भी उन्हें एक नजर देखे, उनका दीवाना हो जाए और उसी समय वो भाभी की चूत और गांड मारने के सपने देखने लगे. गर्लफ्रेंड Xxx स्टोरी में पढ़ें कि मेरे दोस्त की उसकी गर्लफ्रेंड से अनबन हो गयी.

xxx.iii फिल्म बीएफ जैसे ही उसने अपने होंठों को मेरे लंड पर चूमा, तो मुझे लंड पर ऐसे लगा, जैसे उसके होंठ नहीं … कोई गुलाब के फूल से मेरे लंड को सहला रहा हो. उसका जिस्म सफेद दूध की तरह है, उस पर गुलाबी निप्पल्स … मेरे ऊपर क़यामत ढा रहे थे.

xxx.iii फिल्म बीएफ आखिर मेरी बहन ने मानते हुए कहा- ठीक है … सिर्फ एक बार होगा … फिर कभी नहीं कहोगे. उसने कहा- वो सब बाद में कर दूँगा, पहले मुझे इनाम तो दे दो, इतनी मेहनत से मैंने तुम्हारी वीडियो बनाई है.

ये सेक्स कहानी आज से दो साल पहले उस समय की है जब मैंने इंटर पास किया था.

गोंडवाना वॉलपेपर फोटो

शहर से 60 किलोमीटर दूर एक काफी सुनसान हाइवे के किनारे मैंने अपनी कार लगाई और ब्रा पैंटी उतार कर नंगी ही गाड़ी से बाहर आ गयी. अब आगे माँ बेटे की चुदाई कहानी:रोहन को समझ में आ गया था कि आग दोनों तरफ से बराबर लगी हुई है. मैं मामी के साथ अब थोड़ा खुलने लगा था क्योंकि घर में भी कोई नहीं था और हम दोनों अकेले ही थे.

कमल की समझ में नहीं आ रहा था कि नशे में उसने कैसे चुदाई कर ली?अब सारा ने आखिरी दांव मारा कि तुम रात में बार बार रीना डार्लिंग का नाम ले रहे थे. चुदाई से पहले भोसड़े को चूसना, गांड को चाटना मेरा सबसे प्रिय शगल है. जब मैं वापस उसकी क्लास में गया, तो उसकी एक फ्रेंड प्रिया मेरे पास आई और मुझसे बोली- तेरी बहन कहां है … कुछ पता चला … तुमको कहीं मिली क्या?मैंने कहा- नहीं मिली.

वो मेरे थोड़ा पास आया और उसने मेरी नंगी कमर पर पीछे से हाथ डाल कर मुझे अपनी ओर खींचा और बोला- जब पसंद हूँ … तब बात करने में क्या दिक्कत है.

भाभी जिद करने लगीं कि नहीं आज आप चाय पीकर ही जाना उस दिन मैं आपसे पूछना भूल गई थी. पर थोड़ी देर तक ही खेला … आज पता नहीं क्यों हम दोनों को खेलने में मजा नहीं आ रहा था. मुझे ऐसा लग रहा था कि रानी मेरी इस मालिश से उत्तेजित हो रही थी क्योंकि उसकी सांसें तेज चलने लगी थीं और बार बार वो अपने हाथों से चादर को भी मुट्ठी में भर रही थी.

उसकी चड्डी को चूमते हुए मैंने अपने होंठों का जोर और बढ़ाया, जिसके कारण उसकी चुत भी चड्डी के साथ साथ मेरे होंठों में आने लगी. मैं राज़ एक बार से एक गर्लफ्रेंड सेक्स चुदाई की कहानी लेकर हाजिर हूँ. मैं उसका सिर पकड़कर अपने मम्मों पर दबा रही थी और मस्त होकर उससे अपने दोनों चूचे चुसवा रही थी.

मुझे जब पता चला तो मेरा हाथ उनके सिर के नीचे दबा हुआ था और मैंने मामी को उठाना ठीक नहीं समझा. अगले दिन रात को मैंने रिया से बोला- कल तो तुम लंड मुँह में लेने को मना कर रही थीं, फिर लंड कैसे चूस कर रस खा लिया?वो हैरानी से मेरी तरफ देखने लगी और बोली- भाई, ये सब क्या कह रहे हो?मैंने उसे रात की पूरी बात बताई कि कैसे मजे में उसने मेरा पूरा लंड चूसा और वीर्य पी गई.

मैंने आने के लिए टाइम पूछा, तो वो बोलीं- आप दोपहर को कभी भी आ सकते हैं. अगले दिन तेईस तारीख की देर शाम को मैं बहन को लेकर वापस इंदौर पहुंचा. मेरी जान अब नीचे से बिल्कुल नंगी हो चुकी थी और मैं जोर जोर से उसकी चूत को चूसने लगा था.

पर आपने रोना शुरू कर दिया, तो मुझे कुछ सूझा नहीं और मैं ये सब कर बैठी.

आज मैं आपके लिए एक हसीन प्यार का लम्हा, सेक्स से भरपूर चुदाई की कहानी लेकर हाजिर हूँ … मजा लीजिए. कार्तिक अपने लंड को हाथ में पकड़ कर मेरी गीली चूत पर धीरे धीरे रगड़ने लगा और चूत की फांकों में लंड का सुपारा रख दिया. अब मेरी सहेलियां कहने लगीं कि कल ही तू उसको घर पर बुला ले और जब तू यहां से निकलो ना, तो उसको साथ में ले लेना.

उसकी चड्डी निकलते ही उसका तना हुआ काला लंड मेरी आंखों के सामने आ गया. मैंने वापस अपने हाथों से उसके चेहरे को मेरी तरफ घुमाया और कहा- जान, आज हमारी सुहागरात है.

उधर मामा के यहां बाथरूम के गेट के ऊपर एक जंगला था, तो मैंने आइडिया लगाया कि उस जंगले से उसको नहाते हुए देखा जा सकता है. लेकिन उसने अपना पैर हल्का सा हिलाया तो मैंने अपना पैर वापस कर लिया।मुझे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं हो रहा था और मेरा लंड भी मेरे पैंट में खड़ा हो रहा था और मुझे दर्द महसूस हो रहा था. उन्होंने अपने होंठों से मेरे होंठ चूम लिए और मुझे 5 मिनट तक फ्रेंच किस किया.

इंग्लिश सेक्सी इंग्लिश

जब वो लंड के साथ खेल रही थीं तो मैंने कहा- लंड को मुँह में लेकर चूसो न!निशा भाभी- नहीं, गंदा है ये.

दोनों का गोरा बदन, रसीले स्तन, हल्के हल्के बालों से छिपी गुलाबी चूत … आह आह करते हुए मैं झड़ गया और मेरी आंखें खुल गईं. उसने अपने रसभरे होंठों पर लाल लिपस्टिक लगाई हुई थी और हाथों में लाल चूड़ियां पहनी थीं. लगभग दस मिनट तक नवाब ने मेरे मुँह की चुदाई की और अपने लंड का पानी मेरे मुँह में ही छोड़ दिया.

उधर बस एक गली जैसी थी, वहां पर सब जाकर पेशाब करते थे और लेट्रिन के लिए खेतों में जाना पड़ता था. मेरा नाम निशु तिवारी है और मैं उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले की रहने वाली हूँ. बीएफ हिंदी 16 साल कीमैं आहिस्ता आहिस्ता चलते हुए कोमल के पास आ गया और अपने दोनों हाथों से उसके दोनों कंधों को पकड़ कर थाम लिया.

फिर उतरते हुए ही उसने मुझे फ़ोन पर मैसेज किया कि आप टॉयलेट के पास मिलिए, मुझे आपसे अकेले में काम है. मेरे मोहल्ले के कई अंकल लोगों की नजर मुझ पर लगी हुई थी और वो लोग अक्सर मुझे घूरते रहते थे.

सब बात होने के बाद रिट्ज अंत में मेरे गले लग कर मुझे धन्यवाद बोली और फिर वो मेरे साथ घर आ गयी. इस बीच जेठजी मेरे दोनों स्तनों को अपने दोनों हाथों में लेकर हल्के हल्के सहला रहे थे. पीयूष बोला- दिखाओ जरा!शीना बोली- नो भैया, वो दिखाने वाली जगह नहीं है.

अब राज़ की नज़र मेरी गांड पर थी क्योंकि मेरी गांड बहुत सेक्सी है एकदम गोल फुटबॉल की तरह. यही सोचते सोचते कुसुम का चेहरा लंड पर झुकने लगा और उसने अपने बेटे के लंड के सुपारे को अपने मुँह में ले लिया. फिर मैंने पूजा से पूछा- ये सब तेरे को अच्छा लगता है?मेरी बहन ने कहा- नहीं.

हम दोनों इस तरह लिपट कर चोदने में लगे थे जैसे दोनों के जिस्म एक हो गए हों.

मेरी बीवी बोली- आपा, सिर्फ एक रात साथ बिताई थी, तो सात दिन तक सही से चल भी नहीं पाई थी. मैंने उसको कंधे से पकड़ कर ऊपर उठाया और कहा- कोमल, तुम्हारी जगह मेरे पैरों में नहीं … बल्कि मेरे दिल में है.

कुछ देर बाद नवाब ने मुझे बेड पर लेटा दिया और खुद भी बेड पर घुटने के बल बैठ गया. मेरे धक्कों की रफ्तार धीरे धीरे बढ़ने लगी और उसके पूरे बदन पर मेरे हाथ और होंठ घूमने लगे. हम लोग सोने से पहले मोबाइल में एकता, उसका छोटे भाई और मैं हम तीनों लूडो खेलते थे.

समीक्षा ने कहा- अरे यार मुझे यहां सोफे पर नहीं, बेड पर आराम करना है. इसी तरह बात चलती रही और मैंने समीक्षा से नजदीकियां बढ़ानी शुरू कर दीं. वो बोला- और फकिंग में कैसा था?मैंने हंस कर कहा- उसमें भी आप मेरे ब्वॉयफ्रेंड से चार गुना अच्छे निकले.

xxx.iii फिल्म बीएफ रोमी खूब जोर जोर से मम्मे दबा रहा था और सोनू खूब जोर से चुत चाट रहा था. इस बार वो मेरी जांघों पर घूम कर बैठ गयी और वापिस जोर जोर से मेरा लंड लेने लगी.

हॉलीवुड सेक्सी वीडियो फिल्म

तब जय बोला- नहीं, उधर नहीं … वर्ना इकबाल डायरेक्टर को बोल देगा, तो मेरा भांडा फूट जाएगा. इधर लवली ने मेरे दोनों हाथों को अपने दोनों दूधों पर रख लिया और मेरे दोनों हाथों को दबाने लगी।लवली का इशारा था कि मैं अपने दोनों हाथों से उसके दोनों दूधों को दबा दबा कर सहलाने की कोशिश करूँ जिस से उसे कुछ अलग सा मजा आये।तभी मैंने अपने एक हाथ को हटाकर अपने होठों को लवली के दूध के निप्पल से लगा दिया और चूसने लगा. मैंने उसकी कुतिया बनाया और उसी पैंटी के छेद से लंड बहन की गांड के छेद पर लगाकर दबा दिया.

धीरे धीरे करते हुए मुझे 15 मिनट हो गये थे और अब मुझसे रुकना लगभग नामुमकिन हो गया था. उसकी बड़ी बड़ी मोटी छाती और कूल्हे दिखाकर वो मुझे चुदाई के लिए उकसाती थी. चाची का बीएफ सेक्सीतब मैंने अपना लंड एक ही धक्के में लवली की चूत में पेल दिया।मैंने धीरे धीरे धक्के लगाए तो लवली मजे से बड़बड़ाने लगी- हाँ विशु, ऐसे ही थोड़ा तेज़ … और तेज़ … हाँ इसी तरह धक्के लगा!और लवली का शरीर ऐंठने लगा और वो फिर से एक बार झड़ गई.

दीदी ने मुझसे पूछा कि ये मैं क्या कर रहा हूँ?तो मैंने अपने प्लान के बारे में दीदी को सब बता दिया.

शेखर ने बोला कि हम दोनों को जो भी करना है, हम कर सकते हैं, बस ये सब इस दुनिया से छुपाकर ही करना है. चाची ने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मैं फिर से चाची की चूत में धक्के लगाने लगा.

उसने अपना पूरा शरीर मेरे ऊपर छोड़ दिया और मैं उसे लिए हुए बेड पर लेट गया. मैं लंड चुत में पेल कर थोड़ा रूक गया और आराम आराम से अन्दर बाहर करने लगा. तो मैं बार बार उनके होंठों को पकड़ कर इमरान हाशमी की तरह किस करने लगा.

वो बस अपनी नौकरी में दूसरी रंडियों को चोदता फिरता था और रात को दारू पीकर मस्त होकर आता और बीवी को प्यासी रख कर सो जाता था.

उसने एक गिलास में जूस निकाला और खुद मेरी चूत के नीचे अपनी जीभ निकाल कर बैठ गया. नीचे उसकी मिनी टाईट स्कर्ट में उसकी मोटी गांड तो मानो कहर बरपा रही थी. जब वो अपनी चुदाई की कहानी सुना रही थी, उस दौरान मैं उसकी चूचियों को चूसता रहा और उसकी चूत में उंगली डाल कर कभी उसकी भगनासा को रगड़ देता, जिससे वो चिल्लाने लगती.

ईरान की सेक्सी बीएफमैंने तेल की शीशी अपने हाथ में ली और उसके गांड में ढेर सारा तेल टपका कर लंड लगा दिया. मेरी पिछली कहानी थी:अनजान आंटी और उनकी सहेली की चुत चुदाईआज मैं आपको एक सच्ची ट्रेन Xxx कहानी बताने जा रहा हूँ, यह घटना कुछ समय पहले ही मेरे साथ हुई थी.

इंडियन इंडियन सेक्सी व्हिडिओ

मैंने हल्के हाथ से उसकी ब्रा उतार दी और उसके मम्मों को आजाद कर दिया. जैसे ही मैंने उसकी जींस खोलने लगा, उसने मुझे रोक दिया और आगे बढ़ने से मना कर दिया. रोहन का लंड कुसुम की चूत पर चुभ रहा था और रोहन की छाती से कुसुम के मम्मे पिसे जा रहे थे.

मैंने अब अपना जो वास्तविक काम था, उस पर आगे बढ़ने का निश्चय किया और हौले हौले उसके चिकने पेट को सहलाने लगा; साथ ही साथ उसके एक हाथ को अपने दूसरे हाथ से थामे रखा. मैंने भी झट से उसका लंड अपने मुँह में ले लिया और आइसक्रीम की तरह चूसने लगी. वो कभी कभी लंड की खाल को पीछे खिसका कर सुपारे को खोल देती और नंगे सुपारे को अपनी जीभ से चाटने लगती।ऐसा उसने करीब 10 मिनट तक किया।हम दोनों उसके बाद 69 की पोजीशन में हो गये।हालांकि हम दोनों ही सैक्स में नये थे लेकिन उसे मुझसे कुछ ज्यादा ही ज्ञान था क्योंकि वो अक्सर अपनी भाभियों से बात करने से थोड़ा बहुत सीख गई थी.

चार दिन बाद अनिकेत चला गया और मैं फिर से भाभी की चुदाई का मजा लेने लगा. शीना की चुत में एलर्जी की खुजली तो ठीक हो गई थी, लेकिन लंड लेने के लिए खुजली शुरू हो गई थी. तीसरा आदमी बोला- अरे मस्त माल है इससे इशारे से पूछ कि कुछ पैसे लेगी?पहले वाले ने पैसे देने का इशारा करके मुझसे पूछा, तो मैं हां कर दी.

मैं अभी कुछ समझ पाती कि उसी समय कार्तिक मेरे ऊपर कर आ गया और मेरे होंठों को किस करने लगा. जब मैं उसके ऊपर से उठा तब देखा कि लंड और चूत के पानी से रूपाली की पैंटी भीग गई थी.

उसने मुझे किस करने के बाद हल्का सा पीछे की ओर झुका दिया और मेरे रसीले मम्मों का रस दबा दबा कर पीने लगा.

मैंने उसकी पूरी बात को ध्यान से सुना, तो समझ गया कि एक छेद लंड के लिए उपलब्ध हो सकता है. सुहागरात वाला बीएफ हिंदी मेंसारा ने उसे दिखावटी गुस्सा दिखाते हुए झिड़क दिया और कहा कि मैं ऐसा वैसा कुछ नहीं करुँगी. 2021 का बीएफ फिल्मफिर मैंने अपना हाथ कल्पना की पैंटी में डाल दिया और बुर को प्यार से सहलाने लगा. चुदाई के बाद मैंने जल्दी से जाकर दीदी के साथ वाला कमरा बुक कर लिया और सुनील और सुरीली को भी परसों वहीं बुला लिया.

मेरा वहां पर बैठना ठीक नहीं था क्योंकि मेरे मन में दीदी के लिए सेक्स के ख्याल आ रहे थे इसलिए मैं वहां से आ गया.

हमारी बात कैसे हुई और चूत चुदाई तक कैसे पहुंची?दोस्तो, मेरा नाम जय कुमार पटेल है. मेरी बहन को बहुत दर्द हो रहा था तो बहन ने बोला- आह पंकज जरा रुको, मुझे बहुत दर्द हो रहा है. मैं बोली- नासिर जी हिम्मत रखो, वैसे वो तुम्हारा ग्राहक है कौन?नासिर जी- जी वो रमेश गूज़र है.

मैं अवनी आपके सामने एक बार फिर से अपनी नई होटल Xxx स्टोरी लेकर हाजिर हूं. वो मेरी गांड पर हाथ फिराते हुए मेरे लंड को पूरे जोश में चूस रही थी. इसके बाद पंकज ने मेरी बहन को बेंच पर लिटा दिया और उसको किस करते हुए उसके चूचे दबाने लगा.

वीडियो सेक्सी फिल्म इंग्लिश

ये सेक्स कहानी मुझे निधि शर्मा ने भेजी है, उसी के शब्दों में सुनें. और अब उसकी मंद-मंद सीत्कार आह्ह … आह्ह … ऊह्ह … जैसी जोर जोर की आवाजों में बदल गयी थी- हां अनुराग … आह्ह … ऐसे ही चूसो … खा जाओ … आह्ह … मेरी चूत को खा लो … मेरी चूत प्यासी है।मैं- मेरी प्यारी नैना … आज तुम्हारा सारा जूस पी जाऊंगा. भाभी महीने में दो तीन बार मुझे अपने पास एक दो रात के लिए बुला लेती थीं.

अब भाभी भी फुल एन्जॉय कर रही थीं और मेरा पूरा साथ दे रही थीं- आह आह उह आह राजा … अह उम्म अह चोदो मुझे … और ज़ोर से … आह औरज़ोर से चोदो मेरी जानआह आह.

बहुत दिनों बाद मुझे ऐसी कसी हुई चुत चोदने मिली थी; मैं इसका भरपूर मजा लेना चाहता था.

मैं उसे किसी ना किसी बहाने से छूने की कोशिश करता रहता था और वो भी मेरी इन हरकतों का मजा लेती थी. मैं खुद अपनी गांड ऊपर नीचे कर करके अपनी चूत में लंड के मजे देने लगी. इंडियन बीएफ सेक्स वीडियो हिंदीजिस समय इसकी चुत को चीर कर लंड अन्दर घुसेगा, तब इसे अहसास होगा कि लौड़ा किसे कहते हैं.

मुझे तो मालूम था कि ये इतना मेहरबान मुझपर इसलिए थे क्योंकि इनको मेरी चूत लेनी थी. मन ही मन सोचने लगा कि रूप इतना यौवना है तो चूत कितनी रसीली होगी।थोड़ी देर में नैना भाभी किचन से 2 प्लेट खाने की लेकर आई. फिर आंटी ने मेरे लंड की दोनों गोलियां अपने मुँह में ले लिया और किसी ऑरेंज टॉफी की तरह कुछ देर चूसती रहीं.

मैंने हरदीप को बोला कि चलो यार अभी कमरे में चलते हैं।हरदीप और मैं दोनों कमरे में आ गए।कमरे में आते ही मैंने हरदीप को पकड़ा और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये। मैं उसके होंठों का रस चूसने लगा।वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी क्योंकि आग दोनों तरफ बराबर की लगी हुई थी. पिछली चुदाई से जो जेठजी ने मेरे स्तन पर दांतों से चबाया था, उस वजह से अब जब मेरे स्तन में मुझे दर्द का अहसास भी हो रहा था.

फिर एक दिन मम्मी पापा कुछ काम से दो दिनों के लिए घर से बाहर चले गए.

शाम को 7 बजे सब लड़कियां एक एक करके चली गईं और मैं लगभग 9 बजे बिल्डिंग का गेट लॉक करके अनीषा मैडम की फ्लोर पर आ गया. उस दिन रात को मैं साढ़े बारह बजे घर से ब्रा-पैंटी पहन कर पापा की कार लेकर निकल गई. कुछ समय बाद मैंने फिर अभय से बात की, लेकिन वो था कि मेरी कोई बात सुनने को तैयार ही नहीं था.

हिंदी फिल्म बीएफ एचडी बीएफ पहले तो वो अपने कपड़ों का ध्यान रखती थी लेकिन अब वो कई बार घर में ब्रा में ही घूमती रहती थी. सीमा ने मेरे पैंट की चैन खोली और मेरी चड्डी में से लौड़ा बाहर निकालकर अपने मुँह में डाल लिया.

जब वह थोड़ी सामान्य हो गयी, तो मैंने ड्रेसिंग से क्रीम निकाली और खूब अच्छी तरीके से उसकी चूत में लगा दी. यही सब सोचते और देखते हुए मैं उनके साथ गुब्बारे लगवाने में उनकी मदद कर रहा था. मुझे तो ये सोच कर ही चुदाई का सुख आ रहा था कि मैं जेठजी यानि मेरे पति के बड़े भैया से चुदवा रही हूँ जो कि मुझसे करीब 11 साल बड़े हैं.

एचडी सेक्सी व्हिडिओ मराठी

मैं चला रहा था, पहले बीच में रिट्ज बैठी और उसने अपनी टांगें दोनों तरफ डाल ली थीं. अब पीयूष का हाथ शीना के मम्मों को जोर से दबाने लगे थे और शीना न चाहते हुए भी उसको मना नहीं कर पा रही थी. वो बोली- आप 7 दिन से खिलौने लेने आते हो … और देखते कहीं और हो, चक्कर क्या है?मैंने कुछ नहीं कहा.

[emailprotected]जबरदस्त चुदाई कहानी का अगला भाग:मेरे यार के लंड की महिमा अपरम्पार- 3. मैंने कहा- सेकंड राउंड का टाइम है?वो बोली- नहीं, अभी कुछ देर बाद मम्मी आने वाली होंगी.

सत्यम ने मुझसे पूछा- कैसा लगा मेरी जान?मैं उसके होंठों को चूमते हुए बोली- क्या बताऊं यार … आज मुझे जीते जी स्वर्ग मिल गया और तुम्हारे जैसा फौलादी मर्द मैंने अभी तक नहीं देखा.

मैं- और बताएं, सब काम ठीक शुरू हुआ या नहीं!नासिर जी- नहीं अनीसा, ठीक नहीं हुआ. उसने मेरी आंखों में देखते हुए मुझे बड़े प्यार से चुम्बन किया और बोली- मेरा पति मेरे साथ नहीं रहता. उनको भी मेरे बारे में सब पता चल गया कि मैं यहां रहता हूं और जॉब करता हूँ.

ये भाई बहन Xxx कहानी 22 मार्च 2020 की है, उस दिन जनता कर्फ़्यू लगाया गया था. चंचल मुझे देख कर बोली- जीजू आप मेरे कमरे में इतनी लेट नाईट … अगर दीदी ने देख लिया, तो गजब हो जाएगा. मम्मी की तनी हुई चूचियां और उठी हुई गांड मुझे बार बार गर्म कर रही थी.

मैंने शर्म से दोनों हाथों से अपनी आंखें बंद कर लीं क्योंकि मेरी गांड का छेद ऊपर आ गया था.

xxx.iii फिल्म बीएफ: कोई दस मिनट बाद मेरा काम होने वाला था तो मैंने और तेज़ धक्के देना शुरू कर दिया. आसिफा की अम्मी ने अब्बू का जो डर दिखाया था, वो सब हमने दरकिनार कर दिया था.

मेरी चूत पूरी तरह फैल कर जेठजी के लंड के साथ साथ उनकी चार मोटी मोटी उंगलियों को अन्दर समेटे हुई चुदाई का मजा ले रही थी. मैंने अपने दोनों हाथों से जेठजी के चेहरे को पकड़ा और मेरे बाएं स्तन की घुंडी को ऊपर करके उनके मुँह में रख दी. उन्होंने अन्दर ब्लैक पैंटी पहन रखी थी भाभी के गोरे जिस्म पर काली पैंटी देख कर मैं और पागल हो गया और चुत को ऊपर से ही मसलने लगा.

जब मैं ट्रक के पास पहुंची तो उसमें से चार लोग उतरे और मुझे ट्रक के बगल ले जाकर मुझसे पूछताछ करने लगे.

मैं भी सुरेश की जगह बसंत की मर्दानगी की कायल हो गई थी और उसी की जीएफ बन गई. पहले मेरे होंठों का रुख उसकी नाभि पर हुआ, फिर मेरे होंठ एकदम से उसकी जन्नत घाटी को पार करते हुए सीधे जांघों पर अपना प्यार लुटाने लगे. मतलब मुझे अभी अभी पता चला था कि मेरे कोई चाचा भी थे, पर वो अब इस दुनिया में नहीं रहे थे.