खून निकलता हुआ बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी पिक्चर फिल्म खुदा गवाह

तस्वीर का शीर्षक ,

सुहागरात वाली फिल्म: खून निकलता हुआ बीएफ, तुम्हें थोड़ा दर्द भी होगा क्योंकि मेरा लौड़ा थोड़ा मोटा ज्यादा है.

डॉक्टर की सेक्सी वीडियो फुल एचडी

वो भी मेरा साथ देने लगीं और हम दोनों एक-दूसरे को पागलों की तरह चूमने लगे. सेक्सी मूवी हिंदी सेक्सीफिर मैं उसकी एक चूची को मुंह में भर कर दूसरी चूची के साथ खेलने लगा.

थोड़ा सोचने के बाद मैंने हां कर दी और जाकर भाभी से मजाक में पूछने लगा- भाभी आपकी कोई बहन तो है न मेरे लिए?भाभी ने भी मेरे साथ मजाक करते हुए कहा- जब मैं हूँ तेरे साथ, तो मेरी बहन की क्या जरूरत?ऐसा बोल कर भाभी खिलखिला कर हंसने लगीं. दुर्गा मां का पति कौन हैदोनों हिजड़े जब कूल्हे लचकाते हुए उधर से जाने लगे तो मैंने पूछा- आखिर मुझे कौन सा जिन्न लगा है जो मेरा बदन मसलने पर भाग जाता है?एक हिजड़ा हँसते हुए बोला- नगमा बीबी, ये चुदास का जिन्न है चुदास का!दूसरा बोला- इस उम्र मैं तो सबको चुदास का जिन्न लगता है पर कुछ तुम्हारे जैसे भी होते हैं जिनको ये चोदू जिन्न सारा सारा दिन परेशान करता है.

मैंने कहा- क्या मतलब?‘वो बोल रही थी कि जब तुम वापस आओगे, तो उसे भी तुम्हारे लंड का मज़ा चाहिए.खून निकलता हुआ बीएफ: पैरों में पायल पहनने के बाद मैंने सलवार कमीज पहनने के लिए उसका पैकेट खोला तो उसमें से एक सिल्की लाल कलर की प्रिंटेड सलवार और कुर्ती निकली जो उन्होंने टेलर से मेरे नाप की बनवाई थी.

फिर उन्होंने दोनों हाथों से मेरा घूँघट उठाया और मेरा चेहरा देखा तो देखते ही रह गए.सोमवार को प्रोजेक्ट सबके सामने पेश होने वाला है, इसलिए आज कैसे भी कर के प्रोजेक्ट के सारे मसले हल करना थे.

मोर्टार क्या है - खून निकलता हुआ बीएफ

पैंटी का सामने का हिस्सा इतना छोटा सा था कि मेरी चूत पूरी तरह से ढक भी नहीं पा रही थी और बगल से चूत का हिस्सा बाहर दिख रहा था.मैंने मेनगेट को बाहर से लॉक कर दिया और पीछे के रास्ते से अन्दर आ गया ताकि कोई हमें बाहर वाला डिस्टर्ब न करे.

कुछ सेकेंड तक चाची के मुँह की अंधाधुँध चुदाई के बाद मैं बहुत बुरी तरह अकड़ गया और चाची के मुँह में ही झड़ गया. खून निकलता हुआ बीएफ ‘आह बहन जोर से चूसो उह आह चूस ले प्रीति … आज चूस साली सारा रस खा ले … बहुत दिन से इसी पल का इंतजार था आह …’ऐसे ही सिसकारियां लेते लेते मैं उसके मुँह में ही झड़ गया और अपना सारा माल उसके मुँह में ही डाल दिया.

गे फक का मजा लेते लेते मेरा टाइम आ गया था, मैं उसके नंगे जिस्म को सहलाने लगा, उसकी जांघों को सहलाता.

खून निकलता हुआ बीएफ?

उनकी आंखों में एक चमक सी आ गई और उन्होंने खुद अपने हाथ से मेरा लंड अपनी चूत पर सैट कर लिया. उसके बाद शर्त के हिसाब से 5 दिन बाद बुआ ने मुझे घर बुलाया और बुआ की सहेली को बुआ के घर में उसके सामने चोदा, उसकी गांड की सील भी तोड़ी. फिर मैंने मजा लेते हुए धीरे से एक निप्पल को काट लिया तो उसके मुँह से आउच निकल गया.

पर क्या कर सकता था क्योंकि कुछ बात करने से पहले वो अकेली हो तो बात बनती. जैसा कि आप‌ लोग जानते ही होंगे कि शादी ना होने पर भी आपके शरीर की यौन आवश्यकताएं तो पूरी करनी ही पड़ती हैं और जब वो ना पूरी ना हो रही हों, तो खुद से ही उन्हें शांत करना पड़ता है. मेरी नज़र नीचे गयी तो मैंने देखा कि उसके पेट का वो हिस्सा जो कमर के नीचे होता है, मुझे दिखने लगा.

फिर क्या था … रोहित ने मंजू की चूची पकड़ कर अपना लंड घचाक से चूत में डाल दिया. जलालुद्दीन थोड़े संजीदा होते हुए बोले- मेरी पहले ही चार बीवियां हैं जिनमें से तीन तुम्हारी ही तरह मरीज बन कर इधर आई थीं. करीब 15 मिनट तक चूत चाटने के बाद वो झड़ गई और मेरे मुँह पर ही उसने अपना सारा पानी छोड़ दिया.

जीजू का लंड मेरे होंठों से टकराया तो मुझे लगा कि लंड का स्वाद इतना भी खराब नहीं है. अब मेरी चाची को भी मुझसे चुदवाने में मजा आने लगा है और वो खुद कोई भी चुदाई का मौका जाने नहीं देती हैं.

थोड़ी देर बाद उसे वैसे ही उल्टा उठा कर कुतिया बना दिया, अपने एक पैर को सोफे पर और दूसरे पैर को नीचे रख कर खड़ा होकर उसे चोदने लगा.

डांस के दौरान उसने फिर से अपना मुंह वंदना के कान के पास लाया और कुछ फुसफुसाया।वंदना ने अपना सिर हिलाया और दोनों हॉल के एक अंधेरे कोने में जाकर नाचने लगे।अब वंदना के मोबाइल की घंटी बजी और वो बात करने लगी.

वो बोली- अरे अब कहीं मत जाओ … जो कुछ भी खाने का मन होगा, वो होटल से ही मंगा लेंगे. मैंने कहा- सुन, हमारे पास 4-4 गोटी हैं, खेलते हुए जिसकी भी गोटी कटी, वो अपने शरीर से एक कपड़ा उतारेगा. उसकी गोरी गोरी मांसल टांगें देख कर मेरी जीभ उन्हें चाटने के लिए लपलपाने लगी थी.

जलालुद्दीन साहब ने मेरी बिना बालों वाली चमकती चूत देखी तो उनको मानो नशा छा गया और उन्होंने मेरी चूत को बेहताशा चाटना शुरू कर दिया. जलालुद्दीन आलिम का बड़ा सा घर था जिसमें कुछ हिजड़े खादिम का काम करते थे. मैंने पूरे दस मिनट तक मॉम की चूत चूसी और उनकी प्यासी चूत से रस झड़वा दिया.

फील्ड से मैं सीधा शाम को ही ऑफिस आया और आते ही मैंने माधुरी की दुकान पर नजर डाली.

मीना मदहोश होकर सीत्कार करने लगीं- आंह और चोदो बेटा और जोर से चोदो. मैंने भी उनको अपने छिले हुए लंड की पिक भेजी और बोला- मेरा भी वही हाल है. तापोश नीना के साथ सम्भोग करने की अनुमति देने के लिए तुम्हारा धन्यवाद.

कितना सारा खून निकला है उसका!दोनों हिजड़ों ने मेरा खून से भरा बदन साफ़ किया और कमरे की साफ़ सफाई करके मुझे साफ़ बिस्तर पर लेटा कर चले गए. मेरे बाहर आते ही उस लेडी ने मुझे देखा और अर्चना से बोली- यही है क्या वह, जिसके बारे में तुम मुझे बता रही थी?अर्चना ने हां में सर हिला दिया. जब उसने पूछा कि मैं शादी क्यों नहीं करना चाहती तो मैंने रोते रोते बता दिया- मेरी सहेलियां कहती हैं कि अब मैं फट जाऊंगी, मुझे पलंग पर कुश्ती खेलनी पड़ेगी और केले से मलाई निकालनी पड़ेगी.

मैंने चाची को दीवार के सहारे सटा दिया और उनके होंठों पर होंठ रख दिए.

जैसे ही दरवाजा खुला, मेरी टांगों के बीच में मेरी घंटी बजना शुरू हो गई. मैंने चाची की गांड में तेल डाला और लंड को गांड पर लगा कर घुसेड़ दिया.

खून निकलता हुआ बीएफ मेरा नाम है अंकुर … इस Xxx Hindi Com वेबसाइट पर मैंने पहले भी कई कहानियाँ लिखी हैं।यह Xxx हिंदी कॉम हॉट कहानी आज से करीब 3 महीना पहले की है. एक तरफ मुँह में दूध से भरी चूची थी और नीचे लौड़े पर साक्षी की गर्म गर्म कसी हुई चूत मजा दे रही थी.

खून निकलता हुआ बीएफ मुझे उससे बात करने में थोड़ा अजीब सा लग रहा था इसलिए मैंने उससे ज्यादा बात नहीं की. मैंने दोपहर में अपने बेडरूम को अच्छे से साफ किया, बिस्तर पर नई मखमली चादर बिछाई.

फार्म हाउस में आने से पहले मैंने अपने शरीर के अनचाहे बाल इलेक्ट्रोलिसिस से हरदम के लिए साफ़ कर दिए.

ऑनलाईन सेक्स

हारून ने थोड़ा ऊपर उठकर अपने लंड का टोपा मेरे होंठों पर लगा दिया, जिसे वो मेरे मुँह में धक्के से डालने की कोशिश करने लगा. मैं उस सैट को अपने साथ ले जाना चाहता था मगर फिर न जाने क्या सोच कर मैंने उसे उधर ही वापस रख दिया. वैसे भी मैं अपने पति और ब्वॉयफ्रेंड के अलावा कई साल से किसी और मर्द से नहीं चुदी थी.

कई साल इसी तरह मिर्गी का इलाज करते करते डॉक्टर ने बर्बाद कर दिए लेकिन मेरा मर्ज ठीक हो नहीं होता था. कहानी के पहले भागनर्स चाची को होटल के कमरे में चोदामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं अपनी चाची की चूत में लंड पेले हुए उनकी चुदाई कर रहा था और वो झड़ चुकी थीं. मैंने एक हाथ से साक्षी की कमर को पकड़ा और एक हाथ से अपने लंड के सुपारे को साक्षी की गांड के छेद पर दबाने लगा.

इसका मतलब वो मेरे से दोस्ती रखना चाहती है और साथ ही साथ किसी को पता न चले, इस लिए लड़की के नाम से सेव कर लिया था.

कुछ मिनट्स में ही वह और दूसरी औरतों के साथ बात करते करते वहां से मंदिर निकल गयी. मैं उठ कर खड़ी हुई तो मेरी चूत में भरा हुआ उनका वीर्य बहने लगा और मेरी दोनों जाँघों से होता हुआ घुटने तक पहुँच गया. जब तक आप अपना पानी नहीं निकालोगे तब तक मैं अपना पानी भी नहीं निकलने दूंगी.

सुबह जब मेरी आंख खुली तो शुभी बिल्कुल नंगी होकर मेरे बगल में बैठी थी. आज उसकी दुकान में उसका पति और माधुरी की दुकान के बगल में रहने वाली उसकी दो सहेलियां थीं. मैं- मैं दिन भर काम करके जब घर आता हूँ, तो घर का अकेलापन मुझे खा जाता है.

फिर जैसे ही मैंने लंड गांड में डाला तो मेरा लंड पूरा घुसता चला गया. दोस्त- हां, अब बता तू मेरी चाची को देख कर क्या सोच रहा था?मैंने कहा- तू बता न भोसड़ी के कि तू मेरी मामी को देख कर क्या सोच रहा था?दोस्त ने हंस कर आंख दबा दी.

जलालुद्दीन बोले- हाँ मेरी जान, आज तो इतना पानी निकालूंगा कि तेरे पेट में जगह कम पड़ जाएगी. मैंने सुरेंद्र जी को ये बात बता दी और उन्होंने भी मुझसे मिलने के लिए तैयारी कर ली. मैंने समझ लिया कि चाची को लंड चाहिए और ये अपने मुँह से कह नहीं पा रही हैं.

दोनों ने मिलकर एक सरप्राइज बर्थडे पार्टी का आयोजन किया है।पार्टी में दोनों लड़कियां स्कूल यूनिफार्म में हैं.

मैं और भी ज्यादा अपसैट हो गया कि अब तो अगले महीने से माधुरी की जवानी को चखना तो दूर, अब तो देखना भी नसीब नहीं होगा. और फिर अपने बचे हुए लंड को अंदर करने के लिए उसने ज़ोर से एक झटके के साथ अपनी कमर को हिला दिया।अब दीदी ओह्ह हआ हहऊ आह हो की आवाजें निकालने लगी. [emailprotected]Xx भाभी की हॉट कहानी का अगला भाग:बुटीक वाली सेक्सी भाभी के जिस्म का मजा- 4.

लेकिन मैंने उसकी एक न सुनी और जोर से एक झटका उसकी गांड में दे मारा. काफी देर तक मेरे बदन पर लेप लगाने के बाद उन्होंने मुझे जमीन पर लेटाया और एक हिजड़ा मेरे चूत के बाल साफ़ करने लगा.

दरअसल वो पतले से कपड़े का क्रीम कलर का सलवार समीज पहनी हुई थी, जिससे उसकी कच्छी की कट दिख रही थी. मेरा लंड एकदम से आगे की तरफ आड़ा हो गया था, जिससे टॉवल आगे से 6 इंच उठ गया. शादी के कुछ सालों बाद जब मैं इंटरमीडएट में आया, तब मेरे मन में छोटी चाची के लिए धीरे धीरे कामुकता बढ़ने लगी.

इंडियन सेक्स वीडियोस

उनके साथ कोई और भी था जो दिखने में उनके जैसा ही था पर वो काले रंग का आदमी था.

फिर मैंने चाची को गले लगा लिया और मैं उनके पीछे पीठ पर हाथ फेरने लगा. भैया अब अपनी जीभ मेरे होंठों के चारों तरफ घुमा कर मुझे उत्तेजित करने लगा. दोस्त ने जैसे ही चाची को पकड़ कर उसकी चुम्मी ली और कहा- मान जाओ मेरी जान.

ठीक ही होंगे, उम्मीद है आपको मेरी पिछली सेक्स कहानीगर्लफ्रेंड की चुदाई की अधूरी तमन्नापसंद आई होगी. बाद में वो मेरी गांड से लंड हटा कर अलग हुआ, तब मैंने देखा कि मेरी गांड से खून निकल रहा था. हीरोइन सेक्सी हिंदीमैंने भी माधुरी की चूत को पूरा मुँह में भर लिया और उसे जोर जोर से अपने मुँह में लेकर अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने अपना हाथ उनके शरीर से हटाया और सर को खुजाने का बहाने करने लगा. मैं थोड़ी देर रुका रहा फिर मैंने हल्के से मम्मी के दोनों बूब्स बाहर किए और उन्हें हल्के से दबा कर चूसना शुरू कर दिया.

वो मेरी हालत को लेकर पूछने लगी, मैं चक्कर आने की एक्टिंग कर रहा था. दोस्तो, अब आँख पर पट्टी बाँधने के बाद हम लड़कियों के साथ क्या होने वाला था, वो मैं आपको सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूँगी. मैंने कहा- अब एक बार शाही नवाबी शौक पाल लिया है न, तो तेरी गांड आए दिन लंड के लिए मचलेगी.

जैसे ही मेरे होंठ उसके होंठों को छुए, उसकी टॉप निकालने की गति मंद पड़ गयी. अभी तक भाभी के पांव भारी नहीं हुए थे, शायद भैया-भाभी परिवार नियोजन कर रहे थे. यह सुनकर शेखर ने टेक्सी में से एक मोटा कम्बल निकाल कर घास पर बिछाया और मुझे लेटा दिया.

फिर मेरे अम्मी अब्बू मेरे कमरे में आये तो में अपनी अम्मी से लिपट कर रोने लगी.

समीर की बात सुनकर मैं मान गई और मेरा दूसरे दिन शाम को हिना के घर मिलना तय हो गया. उस सोसाइटी में मेरे कुछ दोस्त भी थे तो उन्होंने मुझे अपने साथ उस फंक्शन में बुला लिया.

इस समय उनका सामना मेरी तरफ था और मैं उनकी गर्दन और कंधे पर किस कर रहा था. मम्मी मेरी पैंट में हाथ डालकर लंड को सहलाने लगीं और मैं उनके बूब्स को चूसने लगा. इसका सीधा सा मतलब ये था कि मेरी चचेरी बहन कुमकुम भी अब एन्जॉय के मूड में आ गई थी.

आंखें बंद कर माधुरी की चूचियां, उसकी भरी हुई जांघें और गोलमटोल गांड दिखती. आलिम साहब- देखो नगमा जान, समझने की कोशिश करो, मैं तुमको इधर हमेशा के लिए नहीं रख सकता. मुझे चूसते चूसते काफी देर हो गई तो जीजू ने खुद ही अपना लंड बाहर निकाल लिया और बोले- अब बस कर नहीं तो मलाई वाला केला खाना पड़ जाएगा तुझे.

खून निकलता हुआ बीएफ इस बार चाची ने कुछ नहीं कहा, वो सो सी गई थीं शायद, या उन्हें भी मजा आने लगा था. मैंने गरिमा से कहा- यार ये निशा डर रही है कि किसी को पता ना चल जाए.

गोल्डन नवरत्न

मैं कोमल को बाइक पर लेकर मार्किट चला गया और वहां से कामवर्धक गोली ले आया. वो एकदम लंबे चौड़े और बहुत हैंडसम थेउनके पढ़ाते समय मैं उनके पैंट की तरफ देखता रहता था. इतनी देर तक चोदने के बाद भी मैं भूखा था जबकि मेरा लंड दर्द करने लगा था.

सब शॉप वाले अपनी शॉप खोले होंगे और मेरी अकेली शॉप बंद दिखेगी, तो शक हो जाएगा. सुबह तापोश ने मुझसे हाथ मिलाकर कहा- धन्यवाद रवि, तुम्हारे कारण मैं शादी के इतने सालों बाद नीना की गांड मारने में सफल रहा, हम दोनों को बहुत मजा आया. मुलींचा सेक्स व्हिडीओवो भी झटके से मेरे सीने पर अपने दोनों हाथ रख कर प्यासी चुदक्कड़ की तरह बैठ गई.

भाई की गर्लफ्रेंड के साथ एक और लड़की आई थी, उसको देख कर मेरा दिल धड़कने लगा था.

आज मैं अपने से उम्र में बड़े एक हट्टे-कट्टे मर्द के सामने अपने आपको समर्पित करने जा रही थी. मैं महसूस कर सकती थी कि सारा का सारा लंड मेरे अंदर समा चुका है और मेरी बच्चेदानी से जा टकराया है.

फिर मैं उससे चिपक कर बैठ गया और दोनों जांघों के बीच में हाथ डाल कर सहलाने लगा. उसने रंग लगाने के बहाने से मेरी गर्दन पर किस कर दिया फिर तो मुझे सब्र करने नामुमकिन हो गया था. और मैं उसके मुंह को फिर से चोदने लगा और उसके मुंह में ही मैंने अपना पानी छोड़ दिया।उसके बाद हम दोनों किस करते हुए सो गए.

जब भी दोनों की आंखें एक दूसरे टकराती थीं तो मानो ऐसा लगता कि चाँद को बादल अपने आगोश में लेकर ही मानेगा.

लेकिन पिछले दूसरे शनिवार और रविवार की छुट्टी में सोने व बैंक के कुछ काम निपटाने के बाद मैंने थोड़ी देर खुली छत पर बैठकर धूप सेंकने का काम भी किया था. अब आगे हॉट सेक्सी भाभी न्यूड स्टोरी:मेरा जबरदस्ती सबंध बनाने में कोई मन नहीं रहता है. कुछ देर मैंने भाभी की तरफ ध्यान दिया कि देखें इनका क्या रवैया रहता है.

अंग्रेज लोगों की सेक्सी वीडियोमम्मी हंस कर बोलीं- क्या हुआ? कोई बुरा सपना देख रहा था क्या?मैंने बोला- नहीं. उन्होंने अपना लंड मेरी चूत के मुंह पर रख कर एक धक्का मारा तो लंड फिसल गया.

उड़िया सेक्स वीडियो

अभी करीब छह महीने पहले मेरा ट्रांसफर दूर दराज एक छोटे कस्बे में हुआ था. रात के एक बजे मैं बाथरूम में गया और देखा कि उधर मामी की नाइटी रखी हुई थी और उनके उतरे हुए ब्रा पैंटी भी थे. अचानक हुए इस हमले के लिए आयेशा तैयार नहीं थी तो वो एकदम चीख पड़ी लेकिन पुलकित ने उस पर कोई रहम नहीं दिखाया.

क्या कभी बियर नहीं पी है?और मैंने सही में कभी नहीं पी थी मगर भाभी के सामने मेरी हेटी ना हो जाए, इसलिए मैंने भाभी के हाथ से बियर कैन लेकर कहा- नहीं नहीं, वो मैंने आपके साथ पीने के बारे में यह सोचा ही नहीं था. आप मुझे मेल करें कि आपको इस देसी गर्ल बर्थडे सेक्स कहानी पर क्या कहना है. बुआ मेरा लंड पकड़कर सहलाने लगीं और बोलीं- हां, वहां हमें अलग अलग सोना पड़ेगा.

कुछ मिनट की ज़ोरदार धक्का पेल चूत चुदाई के बाद चाची की चूत ने फिर से रस छोड़ दिया. वो मेरे कान में बोली- मेरी चूत में पूरी उंगलियां पेल डालो और जोर जोर से चोदो मेरी चूत को. हम सब लड़कियों ने अपने अपने डिल्डो को लड़कों की गांड में सहलाना शुरू कर दिया.

मुझे चूत में फिर से दर्द हुआ लेकिन इस बार दर्द बहुत काम था और मजा बहुत ज्यादा आ रहा था. मैंने कहा- क्या खाला आप भी ना!तो वो बोलीं- वैसे तेरे हाथ काफ़ी सॉफ्ट हैं और उन्होंने मेरा एक हाथ अपने हाथों में ले लिया और उसे सहलाने लगीं.

किस करते करते एक दूसरे के जिस्म पर हर जगह चुम्मियां करते चलते चले गए और कब दोनों गर्म हो गए, कुछ पता ही नहीं चला.

मैं समझ गया कि चाची ऐसे नहीं मानेगी, इसे पहले चूत मरवाने के लिए तड़पाना पड़ेगा. देखा है पहली बार साजन की आंखोंमैंने देखा कि मेरी पूरी उंगली चूत में जा चुकी है और वह एक बार झड़ कर फ्री हो चुकी है. తమిళం సెక్స్कुछ देर तक घिसने के बाद उन्होंने धीरे धीरे जोर लगाया और लण्ड मेरी गांड के अंदर दबाने लगे. चाची दर्द से ‘आहहह आह आहहह …’ करने लगी और मैं लंड को अन्दर बाहर अन्दर बाहर करके धक्के लगाने लगा.

अब तो कोई रुकावट नहीं थी और न ही हम दोनों में रुकने की क्षमता बची थी.

उसने अपनी आंखें बंद की हुई थीं, वो आज कोई हूर की परी से कम नहीं दिख रही थी. मैंने मॉम की दोनों टांगें मोड़ कर उन्हें कुतिया बना दिया था और मैं बहुत तेज तेज उनकी गांड में धक्के लगा रहा था. क्या मस्त चूत थी उनकी … चूत पर हाथ फेरते ही मेरा लंड लोहा हो गया था.

उसने अलग अलग पोजीशन में 20 मिनट तक मेरी चुदाई की और अपना वीर्य मेरी चूत में ही छोड़ दिया. मुझे भी मजा रहा था तो मैंने उसकी चूत पर एक हल्का सा चुम्बन दे दिया जिससे उसके शरीर में एक करंट से दौड़ गया और वो थोड़ी ऊपर खिसक गई. वो दिन भी अब करीब आ रहा था जब वो दोनों एक दूसरे के साथ संभोग सुख ले लेते.

डॉग सेक्स वीडियो

काकी के मुँह से एक मीठी सी आह निकली और उनके हाथ ने मेरे बापू के सर को अपने मम्मे पर कस लिया. दोस्तो, मैं विक्रांत शर्मा, उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ शहर का रहना वाला हूँ. पैर पूरी तरह से खुल जाने से चाची की चूत भी खुल गई थी और लंड सीधा अन्दर बच्चेदानी तक मार कर रहा था.

फिर ये कहकर मैंने उसके हाथ खोल दिए तो वो भाग कर बाथरूम में घुस गया.

[emailprotected]मेरी पिछली कहानी थी:उत्तराखण्ड की कुंवारी चुत का मजा.

मैंने सोचा कि आज जलालुद्दीन मेरी खूबसूरती देख कर बेहोश ही हो जाएंगे. इस समय मौका भी अच्छा है, तो तुम्हें भी पहली बार सेक्स का मजा मिल जाएगा. मस्तराम की सेक्स कहानीअचानक जीजू गुर्राने लगे और मेरी आपा की चूत पर बुरी तरह से दबाव डालते हुए अपने कूल्हे नचाने लगे.

कुछ देर बाद मैंने उनकी चूत में उंगली डाल दी और धीरे धीरे उंगली को चूत में आगे पीछे करने लगा. चाची ने मुझसे कहा- मुझे ये काम रोज़ रात को, सुबह-शाम और जब भी समय मिल जाए, तब चाहिए है. पर यह बात अब तक भाभी समझ चुकी थी कि मैं नाटक कर रहा हूँ तो उसने खुद ही मेरे कपड़े उतारने शुरू कर दिए.

मंजू किचन की तरफ नाश्ता बनाने आ गई तो मैंने उससे पूछा- मंजू तुम्हारा तो सुबह भी चुदाई कार्यक्रम चल रहा था?वह बोली- हां बुआ. उसके लिए बहुत बहुत धन्यवाद।मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी यह नई कहानी भी पसंद आएगी।मेरी पिछली कहानी पढ़ने के बाद एक पाठिका, जिसका नाम अंजलि है, उनका मुझे मेल आया कि उनको मेरी कहानी पहुत पसंद आई।धीरे धीरे हमारी मेल पर बात होने लगी फिर हम हैंगआउट पर चैट करने लगे।उन्होंने बताया कि वो शादीशुदा 2 बच्चों की माँ है.

फिर मैं और डैड, मॉम को उनके बेडरूम तक ले आए और हमने उन्हें उनके बेड पर लिटा दिया.

‘क्या हुआ, नहीं करूं?’मैंने फिर पूछा, उसने कहा- ऐसा नहीं है … पर दर्द होगा. उसके स्तन इतने अच्छे आकार के हैं, जिन्हें देखकर कोई भी उन्हें हाथों में भरना चाहे. उसके चुचे टाइट होने लगे और दबाने की वजह से लाल हो गए, चूचुक तन गए मतलब फिर से चुत से दूध देने के लिए अदीबा तैयार हो गयी.

sexy विडियोज वह इस तरीके से सोई हुई एकदम मासूम हिरनी लग रही थी मेरा मन तो कर रहा था कि मैं तुरंत जाकर उस पर चढ़ जाऊं!लेकिन फिर मुझे लगा कि रम्भा कहां है।मैंने देखा कि बाथरूम की रोशनी जली हुई है. मेरे मम्मों पर हाथ फेरते हुए उनको दबाया और फिर नीचे ले जाकर मेरी चूत के बालों में अपने हाथ फिराने लगे.

ये सुनते ही पुलकित मेरे पास आने लगा तो मैंने कहा- रुक जा चूतिये तुझे और ज्यादा मज़ा देती हूँ. इस बार जैसे ही उसने चूत को लंड पर टिकाया और नीचे को बैठने की कोशिश की. मुझे नहीं पता था कि चाची यह सब देख रही थीं क्योंकि चाची की तरफ़ मेरा पिछवाड़ा था.

ಇಂಡಿಯನ್ ಶೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ

मैंने और नीना ने तापोश और सोनी के हाथ पांव पलंग के चारों कोनों में बांध दिए. मैं हर वक़्त अपने आस-पास की औरतों की कामुकता की नज़रों से देखने लगा था, अपने लिए हर वक्त किसी नयी चूत की खोज करने लगा था. मैंने पॉर्न फिल्म में अक्सर देखा था कि बड़ी गांड के छेद को बहुत चाटते हैं.

लंड अन्दर बाहर अन्दर बाहर तेजी से होने लगा मैं बुआ की चूत को धकापेल चोदने लगा. Xxx क्यूट गर्ल की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी दोस्ती अपने से दोगुने उम्र के अंकल से हो गयी.

मैं अंदर गया तो भाभी ने दरवाजा बंद कर लिया और अपना गर्म जिस्म मेरे हवाले कर दिया.

फिर वो वापस पलट कर जाने लगी तो मैं उसकी पीछे से उठी हुई गांड को देखता रह गया. इतनी देर के रोमांस से उसकी सुर्ख गुलाबी रसीली छोटी सी मुनिया बस लंड से मिलने के लिए रोए जा रही थी. छोटू मजे लेते हुए मुझे गाली देने लगा- ले रंडी मादरचोद, चूस ले मेरा लंड.

कुछ ही देर बाद वो मेरे मुँह से अपनी चूत थोड़ा उठा कर बोली- भाई, अब आप अपनी जीभ बाहर निकालो. वैसे वो मुझसे बहुत खुली हैं तो मेरे सामने बिना दुपट्टे के ही रहती हैं. मैं आगे भी अपनी कहानियां लाती रहूंगी जिसमें मैं अपने आगे के अनुभव आपके साथ साझा करुँगी.

जीजू बोले- सकीना, आज तुमने सेक्स का सबक सीख लिया है, अब अपने पति के साथ करने पर तुमको ज़रा भी दर्द नहीं होगा और तुम हर रात उसके साथ मजे करोगी.

खून निकलता हुआ बीएफ: रवि को अपने विवाहित जीवन में कभी शांति नहीं मिली थी, यौन सम्बन्ध भी मजेदार नहीं था. मैंने और सोनी ने अलग जाकर आपस में बात की और तापोश को बता दिया कि एक महीने में कमरा बन जाएगा.

मैंने चूत में तो तेरा लंड जैसे तैसे करके ले लिया, पर मुझे नहीं लगता मेरी गांड तेरे इस लंबे मोटे लंड को ले पाएगी. मोहित ने लगभग घिघियाते हुए कहा- यार बस कर … अब और ज्यादा बर्दाश्त नहीं कर सकता. ये सुनकर आंटी थोड़ी परेशान सी हो गईं और बोलीं- तेरे अंकल भी अब अपने ऑफिस पहुंच गए होंगे और अब शाम‌ को ही मुझे वापस लेने आ पाएंगे.

कुछ देर बाद मैं भी वहां पहुच गया, तो मैंने भी उसे मुठ मारते देख लिया.

लड़कों की गांड अच्छी तरह से फट चुकी थी, यह देखकर हम लड़कियों को बहुत मज़ा आ रहा था. अब उसका जोश कुछ कम हो गया था, मगर मैंने उसकी चूत को चाटना चालू रखी. हम डिस्को हॉल में गए। वहां पर मैंने अपनी बीवी का एक अलग ही रूप देखा.