अल्लो सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,हॉट सेक्सी चूत चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

लड़कियों सेक्सी फोटो: अल्लो सेक्सी बीएफ, कंचन मैम ने लंड को मुँह से चचोरते हुए ही इशारे से कहा कि मेरे मुँह में ही झड़ जाओ.

नंगी सेक्सी पिक्चर भेज दो

इसके बाद तो हमारी रोज़ घंटों फ़ोन पर बातें होने लगी और मुझे भी उससे बातें करना बहुत अच्छा लगता था. सेक्स सेक्स सेक्सी भोजपुरीअब मुझमें इतनी भी हिम्मत नहीं बची थी कि मैं उठ कर बाथरूम में जाकर अपनी चूत को साफ़ करके अपने कपड़े पहन सकूं.

बस एक मिनट में मुझे जोर जोर से रगड़ने के बाद अनवर के लंड का गरमा गरम लावा छूटने लगा और मेरी चूत में पूरा रस भर गया. सेक्सी वीडियो हिंदी में चलने वालामैंने भी कई बार हल्के से दांत से दबा उसकी चूची काटी, तो वो कामुक सिसकारियां लेते हुए ‘आह्ह …’ कर देती.

मेरा नाम विक्रम है, लोग प्यार से विक्की बुलाते हैं, मैं आगरा का रहने वाला हूँ, मैंने अब तक बहुत सारी कहानियों को पढ़कर उनके मज़े लिए हैं जो मुझे बहुत मजेदार लगी और आज मैं अपना भी एक सच्चा सेक्स अनुभव आप सभी को सुनाने के लिए यहाँ पर आया हूँ.अल्लो सेक्सी बीएफ: मेरी इस हरकत से वो बहुत गर्म हो गयी और मुझे कहने लगी- साले मादरचोद … अगर प्यासी छोड़ दिया तो घर जाते ही तेरी गांड टूटेगी.

क्योंकि जो डिल्डो आपकी मीता की चूत में पूरा फँसा हुआ था, वो काफ़ी मोटा था और इसलिए जब मालती ने उसको निकाला तो चूत का मुँह पूरी तरह से खुल चुका था.ललिता से मिलने के बाद मैं कहता हूँ कि…चैत में चिड़ियाकातक में कुतियामाघ में बिलाई औरशादी में लुगाईरिफली रिफली हांडा करती है.

सेक्सी वीडियो दिखाओ ब्लू फिल्म - अल्लो सेक्सी बीएफ

अब वो हल्की गर्म सांसों के साथ सिसकारियां लेते हुए पूरी उत्तेज़ना में आ गई थी.मेरे देवर ने बहुत देर तक मेरी चूत को चोदा और हम दोनों लोग सेक्स करते करते झड़ गए.

मुझे उसकी चूत इतनी मस्त लगी कि मैं खुद को रोक न सका और तुरंत 69 की पोजीशन में आकर मैंने अपना खड़ा लंड उसके मुँह में दे दिया और खुद उसकी चुत का दाना चाटना शुरू कर दिया. अल्लो सेक्सी बीएफ अब कोई भी मेरी उम्र की लड़की के साथ ऐसे हरकत करें, तो भला वह कैसे अपने पर कंट्रोल रख सकती है.

भाभी बोली- ठीक है, तुम उसके बाजू में ही सो जाओ!मैं तो झट से मान गया.

अल्लो सेक्सी बीएफ?

लेकिन नीरू अभी भी जब मायके आती है तो मुझसे खूब चुदवाती है, हम तीनों साथ एक साथ ही मजे करते हैं. मैँ एक गठीले बदन का मालिक हूँ। इसके पीछे का राज़ भी आपको बता देता हूँ। मैं नियमित रूप से जिम जाता हूँ। मैं एम. मैं तुझे बोला था ना कि दस मिनट बाद तू खुद इतना चुदवाएगी कि यह लोग भी कहीं ढेर ना हो जाएं तेरे सामने.

उन्होंने मेरी एक टांग उठाकर अपने हाथ से साधी और अपने लंड को धीरे से मेरी चूत में पेल दिया. करीब चार-पांच मिनट तक ऐसा लगा कि मैं अभी मर जाऊंगी … दर्द के मारे जान निकल रही थी. उस ब्रा में क़ैद उन कबूतरों को देखकर मेरे मुँह से एक लार टपक कर उसके पेट पर आ गिरी.

उसको सर के हाथ मजबूरी में भी अपनी छातियों पर गंवारा नहीं हुए और वह घबराकर अपना पूरा ज़ोर लगा कर उठ बैठी और अगले ही पल खड़ी हो गयी,छोड़ो मुझे … मुझसे नहीं होगा ये सब …”तो चूतिया क्यूँ बना रही है साली … अभी तो पूछ रही थी कि क्या करना है … अब तुझसे होगा नहीं … तुझे तो मैं कल देख लूँगा …” सर ने कहा और अपनी खीज मुझ पर उतार दी. मगर फिर भी उसको तड़पाने के लिए मैं ऐसे ही अपनी उंगली की हरकत करता रहा. वो पास में ही यानि दो स्टेशन छोड़ के ही उसका ऑफिस था, इसलिए वो सुबह मेरे लिए भी लंच बनाती थी.

वो अजीब अजीब सी आवाजें निकालने लगी- ऊई आआआईई … उम्म्ह … हह …मैं उसकी टांग उठा कर घमासान चुदाई करने लगा. बजाए उसके उसने मुस्कुरा कर कहा- आप में तो बहुत दम है, मुझे लगा जवानी के साथ जोश भी चला गया होगा.

मैं अंकल की बात सिर्फ सुन सकती थी, मम्मी के बैठे होने के कारण कुछ बोल नहीं सकती थी.

उसने एकदम से लौड़ा बाहर निकाला, तो मैंने बचा हुआ माल उसके चेहरे पर गिरा दिया.

तुझे चुदना ही पड़ेगा आज …” सर ने कहा और मेरी जांघों को फैलाकर फिर से मुझ पर झुकने लगे. उसने मेरी चूत को चाटने के बाद मेरी गांड को बहुत देर तक मसला और उसके बाद उसने मुझे दीवार की तरफ कर दिया. उसके मम्मे उसके ब्लाउज से बाहर निकलने के लिए उतावले दिखाई दे रहे थे मुझे.

दस बजे पूजा का फोन आया और उसने बताया कि मैं ट्रेन सही समय से है और मैं आधा घंटे में पहुंच जाऊंगी. लेकिन उसके मन में तो अभी भी उस मसाजर अभिषेक से मसाज करने का मन चल रहा था. दोस्तो, मैं अर्पिता एक बार फिर हाजिर हुई हूँ मेरी जवानी की प्यास की कहानी लेकर.

पर तुम 15 मिनट तक नहीं रुके … यू आर अमेजिंग!यह सुनकर मेरे चेहरे पे थोड़ी खुशी आयी.

रोजी ने हल्की सी सिसकारी ली ‘उस्स्स उस्स्स्स … स्स्स्स!दो चार हल्के हल्के धक्के लगाने के बाद मैंने उसकी टांगों को अपने कन्धों पर रखकर अगला धक्का थोड़ा तेज लगाया तो पूरा लंड उसकी चूत में चला गया. इस मकान में नीचे कई कमरे थे, जिनमें से एक में सिर्फ मैं ही रहता था. नानाजी चारों तरफ टॉर्च की रोशनी से देखने लगे, लेकिन वे हमें नहीं देख पाए.

लंड की चुभन ने भाभी को कुछ अहसास दिलाया और उन्होंने मेरी ओर प्यार से देखा. चूंकि अब तो गाहे बगाहे मैम के फोन आते रहते थे और मैम से मेरी हंसी मजाक होती रहती थी. लेकिन थकान के कारण इस बार हम दोनों ने ओरल सेक्स करने का मजा लेना तय किया था.

तभी उसने टोकते हुए मुझे रोका और बोली- रुको!मैंने देखा कि वो थोड़ी गुस्से में लग रही थी.

क्योंकि मैं अभी भी ठीक तरह से नहीं चल पा रही थी जिसका कारण था कि मालती ने पूरे 5 मिनट तक एक मोटा सा डिल्डो मेरी चूत में फँसा कर रखा था. हाँ आजकल इंटरनेट पर तस्वीरें देखी जा सकती हैं, लेकिन साक्षात् देखने का उन्हें छूने का और उन्हें लेने देने का आनन्द ही अलग होता है.

अल्लो सेक्सी बीएफ वो एक मम्मे को चूसता और दूसरे को अपनी मुठ्ठी में भर कर मसलता … तो कभी दूसरी चूची की चौंच को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगता. खाना खाने के बाद भाभी बोली- तुम यहीं ड्राइंग रूम में 10 मिनट बैठो, मैं आती हूँ, तुमने अन्दर नहीं आना है.

अल्लो सेक्सी बीएफ नूपुर बोली- आप मेरा मजे ले रहे हो?मैंने कहा- ऐसे मौके बार बार भी तो नहीं आते हैं. बुड्ढे मियां ने अपना लंड मेरे कूल्हों को चौड़ा करके गांड के छेद में फिट कर दिया.

अब उसने अचानक अपने हाथ कंधे पर लिए और अपना सर शॉल के अन्दर ढक लिया.

दुबई की सेक्सी मूवी

मैंने आगे बढ़ते हुए उसकी जीन्स को उतार दिया, लेकिन ये ध्यान रखा कि पेंटी न खुले. जैसा कि वह खेतों के पास बना हुआ फार्म हाउस था इसलिए ज़्यादातर सामान अस्त व्यस्त पड़ा हुआ था. अपनी दोनों उंगलियों से चाची की चूत को दबाया और फिर मैंने अपनी दोनों ही उंगलियों को चाची की चूत में डाल दिया.

चाची को छोड़कर मैंने इन सबके साथ वो किया है, जो चाची ने नहीं किया था. मालिनी के पास कोई आप्शन नहीं था, वो मेरे पास आई और एक पत्नी की तरह मेरे पांव छुए. लेकिन उसके मन में तो अभी भी उस मसाजर अभिषेक से मसाज करने का मन चल रहा था.

सच में मेरे देवर ने आज मेरी चूत को चोद कर मेरी प्यास को शांत कर दिया था.

जब घर आया तो यही सोचने लगा कि भैया कब न आ जाएं और मुझे घर से निकाल दें. पैरों को सहारा देने के लिए पीछे से हाथ डालकर मैंने अपने पैर फैलाकर रख लिए. दोस्तो, मैं बता नहीं सकता कि वो कैसा मंज़र दिख रहा था और मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

मैंने उसे रिक्वेस्ट सेंड की तो 2 दिन बाद उसने उसे एक्सेप्ट कर लिया. अनु भी पूरी मस्ती में ‘आआह … आऊऊहह … आआआह …’ करती हुई मजे से चुदवा रही थी. वैसे तो चूत में धक्के मारते टाइम बूब्स ही मसलते हैं … किंतु मैं थोड़े अलग अंदाज में उनकी गांड मसल रहा था.

”अपना लंड डालो मेरी चूत में मास्टर जी, लंड पेल दो मेरी प्यासी चूत में. अंकल ने कहा- रेशमा, लंड का पानी छोड़ने वाला हूँ, कहाँ छोड़ूँ?मामी बोली- साली रंडी की चूत में ही छोड़ दो.

जिस गांड को मैं हमेशा कपड़ों के ऊपर से देख देख कर तरसता था, आज वह गांड मुझे चुदाई के लिए मिल ही गई. नहीं आएगी वो … वो तो अपनी सहेली के घर गयी हुई है …” मैंने खिड़की की तरफ देखते हुए ही कहा. मेरे घर में जब कोई नहीं रहता था, तो मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ होटल में जाकर चुदवा पाती थी.

मकान मालकिन का मायका थोड़ी ही दूर पर था, तो वो भी कभी कभी अपने मायके चली जाती थी.

फिर मेरे देवर ने मेरे पेटीकोट को निकाल दिया और मेरी काली रंग की पेंटी के ऊपर से ही मेरी चूत को सहलाने लगा. यह सुनकर वो चौंक गयी और कहने लगी- नहीं आप सो जाओ, मुझे आपकी मदद नहीं चाहिए. दोस्तो, मेरा लंड का साइज़, तो वो ही बता सकती है, जिसने इसकी सेवा ली है.

भले ही पहले जेठ जी ने मेरे साथ थोड़ी जबरदस्ती की हो, पर उनकी चुदाई मुझे इतनी पसंद आ गयी कि पति के आने तक मैं उनके नीचे ही लेटी रही. इस लिए तुम मेरे घर मुझसे जब पहली बार मिलने आयी, तो मैंने कहा भी था कि नीलू मेरे विचार तुम्हारे बारे में बदल रहे हैं, तुम मुझसे मिलना बंद कर दो, नहीं तो मेरे अन्दर का जानवर, जो कई दिनों से भूखा है, जाग जाएगा, फिर जो तूफ़ान मेरे और तुम्हारे जिन्दगी में आएगा, वो ना तुमसे संभलेगा … न मुझसे.

हम्म …”फिर मैंने पूछा कि आप लड़की वालों की तरफ से हैं या लड़के वालों की तरफ से?वह बोली- लड़की वालों की तरफ से हूँ और आप?मैंने बताया. शायद मेरे मन में ऐसा चल रहा था कि सन्नी ने मुझसे बहुत बड़ी बेवफ़ाई की है. मेरा रूम, मकान की चौथी मंजिल पर था और मेरे घर के सामने वाले घर में एक आंटी रहती थीं, जो इस कहानी की नायिका हैं.

सेक्सी पड़ोसन

वो बुरी तरह से थक गई थी तो मैंने उसे घोड़ी बनने को कहा और पीछे से जोरदार चुदाई करने लगा.

रूम में जाकर मैंने अजय से कहा कि वो थक गये होंगे तो थोड़ा आराम कर ले. यह घटना कुछ इस प्रकार हुई थी कि मैं उस समय अपनी बीए की पढ़ाई कर रहा था. मम्मी पलट कर मुड़ीं, मम्मी के सीट के जस्ट पीछे थी, तो मम्मी को सिर्फ मेरा चेहरा दिखाई दिया.

वो इतनी बड़ी चुदक्कड़ है साली कि मुझे ये भी नहीं पता चलता था कि वो कब किस ब्वॉयफ्रेंड से चुदवाती है. मैंने घर पर फोन मिलाया- मम्मी, मैं कुछ देर बाद घर पर आऊंगी क्योंकि मैं अपनी एक सहेली के साथ मॉल जा रही हूँ … उसको अपनी बहन के लिए कोई गिफ्ट खरीदना है. सेक्सी वीडियो मुस्लिम काआजकल दो तीन दिन से मेरे पति ऑफिस के काम से दूसरे शहर गए थे, तब से मैं डर डर कर ही रह रही थी.

दोस्तो, मेरे ग्रैंडफादर की सेक्स कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके बता देना. उसकी उम्र कोई 27-28 के करीब होगी। उसका फिगर ऐसा था कि जैसे ऊपर वाले ने बिकुल फ़ुर्सत में बनाया हो। वो खूबसूरत इतनी अधिक थी कि मैं तो बस उसकी खूबसूरती में खो ही गया।उसने मुझे ‘हैलो’ कहा.

मैं उनकी चूत को अपनी जीभ से चोद रहा था, जिससे वो थोड़ी ही देर में झड़ गईं. मैं अभी खड़ा रहा सोच रहा था कि क्या करूं, अन्दर जाऊं या नहीं … गेट बजाऊं या नहीं … ऐसे सोचते-सोचते काफी देर हो गई. तुमने शायद पॉर्न मूवी में बड़ा देखा होगा?उसने कहा- हां यार, वो मोटे लम्बे लंड की मूवी देखकर मेरा तो आज कई बार पानी निकल गया.

साथ ही मैं बोल रही थी- आह … जरा जोर जोर से करो मालती रानी … मुझे बड़ा मज़ा आ रहा है … आह … और जोर से और जोर से. तब मामी बोली- अन्नु चूत कैसी है?मैंने मामी से कहा- मामी, दर्द हो रहा है. ईई … ईईई …” सिसयाते हुए उसने‌ मुझे रोकने की कोशिश तो की, मगर तब तक मैंने उसको बिस्तर पर गिरा लिया था.

भाभी मुझे चूमते हुए गालियाँ भी दे रही थी- साले तड़पा मत मुझे, मेरा मर्द तो साला काम पर जाता है, बच्चे निकाल कर कमीने ने मुझे चोदना ही छोड़ दिया.

लेकिन कुछ दिनों के बाद वापस भाभी का कॉल आया- आप कहां हो? मैं अजमेर के रेलवे स्टेशन पर खड़ी हूँ. प्रमिला के लिए गांड चाटना शायद पहली बार था, तो वो थोड़ा संकोच कर रही थी.

गुड़िया मेरी क्लासमेट थी, पर हमने कभी बात नहीं की थी और ना ही मैंने कभी उसकी तरफ ध्यान दिया था. मैं अकेला खड़ा होकर, बड़ा अजीब सा महसूस कर रहा था, लेकिन कर भी क्या सकता था. मैंने उससे जानना चाहा कि रोज चूत का इंतजाम कैसे होता है?तो उसने मुझे बताया कि वो अपनी भाभी को भी चोदता है.

कामरस से गीली होकर नेहा की मुनिया अब चिकनी हो गयी थी, जिससे मेरी उंगलियां उसकी मुनिया पर अपने आप‌ ही फिसलने लगीं और नेहा के मुँह से हल्की हल्की सिसकारियां फूटनी शुरू हो गईं. मैंने उससे पूछा- क्या तुम पहले भी किसी के साथ सेक्स कर चुके हो?उसने बताया कि वो अपनी बहन की एक और सहेली को भी चोदता है. वो दर्द के मारे रोने लगी और मुझसे लंड बाहर निकालने के लिए कहने लगी.

अल्लो सेक्सी बीएफ मेरी इस हरकत से वो बहुत गर्म हो गयी और मुझे कहने लगी- साले मादरचोद … अगर प्यासी छोड़ दिया तो घर जाते ही तेरी गांड टूटेगी. फिर कुछ देर के बाद उन्होंने अपना काम खत्म करके मुझे दही लाकर दिया और उसी समय उनका नर्म हाथ मेरे हाथ से टकरा गया जिसकी वजह से मैं मचल गया और मैं उनकी तरफ मुस्कुराता हुआ अपने घर आ गया.

कोलकाता का सेक्सी वीडियो दिखाइए

उसी ने मुझे बताया कि मेरी मॉम उससे काफी खुल गई हैं और जल्द ही उनके साथ सेक्स की स्थिति बन जाएगी. मैं पूरी मस्ती में था, तो मैंने उसका सिर पकड़ा और आधा लंड उसके मुँह में घुसेड़ दिया. लगभग 20 मिनट की घमासान चुदाई के बाद अचानक उसने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और पागलों की तरह किस करने लगी.

मैंने जो भी देखा था, मुझे उस पर विश्वास नहीं हो रहा था … पर सब सच था. मैंने भी चाची को जोर से दबोच लिया और उनके बदन को अपने बदन से रगड़ने लगा. सेक्सी हिंदी में कहानीमुझे याद है, जब पहली बार तुम मेरे बेडरूम में आयी थीं, थोड़ी शर्मायी सी, घबराई सी थीं.

मेरी सेक्सी पन्द्रह दिन की वाइफ वन्द्या!वे बिल्कुल नहीं माने और अपनी मर्जी करने लगे.

वह एकदम से कुतिया बन गई और फिर उसकी गांड मेरे सामने हिलने लगी जिसके कारण मेरे लंड से पानी निकलने को तैयार हो गया. पब में दोनों की कुछ फ्रेंड्स भी मिलीं, उन्होंने भी फूहड़ कपड़े ही पहने हुए थे.

हालांकि उसकी उम्र पैंतालीस साल के आसपास है, वो ढल गई है, पर गजब चुदवाती है. जीभ से तो सूजन नहीं होगी न?इस बात पर अपने नैन कटार से वार करते हुए नीना बोली- ओह हो … तुम मुझे यह बात बता रहे हो. सुबह में फिर से एक बार मस्ती भरी चुदाई हुई और मैं फिर हॉस्टल में वापस चली गई.

मुझे नींद खराब होने पर गुस्सा तो आया, लेकिन उसकी खूबसूरती और उसकी 32-26-34 की मादक फिगर को देख कर मजा भी आ गया.

इस कारण से जो भी हमें बात करनी थी, थोड़ा बहुत इशारे में ऐसे ही बात होने लगी. ‌ मुझे पता था कि स्खलित के‌ बाद भाभी तो अब कुछ करने‌ से रहीं, इसलिए मैंने‌ अब खुद ही कमान‌ सम्भाल‌ ली. और उसको उल्टा करके उसके चूतड़ों पे हाथ फेरते हुए जोर जोर से मारने लगे, इस बार मुझे थोड़ा गुस्सा आ गया, पर मैंने देखा मेरी बीवी ने आंखें बंद कर ली हैं और वो मजे ले रही है.

सेक्सी गांव का सेक्सी वीडियोमैं नीचे से धीरे धीरे हिल रहा था और चुचियों को गूंथते हुए चूस रहा था तो वो बोली- यार काट कर चूसो न!मैंने कहा- दर्द होगा. धीरे धीरे सोनल के होंठ दादाजी के लंड को आगोश में लेना शुरू कर दिया और लंड को चूसने लगी.

छत्तीसगढ़ी सेक्सी हिंदी

लंड चूत में घुस गया और मैं अब हल्के हल्के से नीचे से झटके लगाने लगा. मेरा तो क्या, सामने ऐसा सीन देख कर किसी का भी लंड सिर्फ हाथ से ही झड़ जाए, यहां तो नेहा आंटी इतनी सेक्सी मदमस्त तरीके से लंड अपने मुँह से चूस रही थीं. मैं भी अपना लंड उसकी सेवा में हाजिर कर देता था और उसकी चूत में वीर्य की धार मारकर उसको गोली खिला देता था ताकि गर्भ धारण जैसी कोई समस्या में न तो वह फंसे और न ही मेरे ऊपर कोई आफत आए.

फिर धीरे-धीरे वो अपना हाथ मेरी गांड पर ले गए तो मैंने कहा कि सब्र कर लो. उस एहसास को महसूस करके मेरे पूरे शरीर में कामवासना की लहर दौड़ रही थी. मैं बोली- नहीं, यहां मुझे सिर्फ आप ही करो, उनसे मैं बाद में मिल लूंगी.

मैं उसके गालों को सहलाने लगा, मैं महसूस कर रहा था कि सोनू की सांसें तेज होने लगी थीं. उसके चूचुक तो मानो जैसे उसकी ब्रा से बाहर आकर मेरे होंठों से उलझने की इच्छा व्यक्त कर रहे हों. मेरी सहेली मेरा भरपूर साथ देती थी और मैं भी उसका भरपूर साथ देती थी.

करण पाल ने संजीदा होकर कहा- ऐसा मजाक मुझे बिल्कुल पसंद नहीं है, दोबारा ऐसी वाहियात बात मत करना. ऐसे में प्रशांत ने बाइक को आगे गेट पर ही छोड़ दी और अपने फ्लैट में आने के बाद वाशरूम की राह पकड़ी.

मैंने उसे उसी मेज़ पर उसे उल्टा लिटा दिया और उसके पूरे बदन को नीचे से ऊपर तक चाटने लगा.

फिर मैंने भाभी का पेटीकोट भी उतार दिया और उसकी काली पैंटी को किस कर दिया. मां बेटे की चुदाई की कहानियांअब आगे:चल … टेबल पर झुक जा … पहले तेरा रस पी लूँ …” सर ने कहते हुए मेरी कमर पर हाथ रख कर आगे दबा दिया और ना चाहते हुए भी मुझे झुकना पड़ा. पति पत्नी का प्यार दिखाइएमैं हां कर दी तो उसने तुरंत अपने पति को फोन लगाया जो ओमान में किसी कंपनी में काम करता था. दोस्तो! जिस प्रकार आदमी यह सोचता है कि मुझे किसी कुंवारी लड़की की चूत मारने को मिले, उसी प्रकार औरत भी यह चाहती है कि उसे भी बिल्कुल कुंवारा लड़का मिले, जिसने पहले कभी चूत न मारी हो.

चार पांच बार ऊपर नीचे करने के बाद आखिरकार दादाजी का पूरा लंड सोनल की चूत के अन्दर चला गया.

वो दर्द से चिल्ला उठा- आहाह …मेरा लंड मोटा होने की वजह से ठीक से नहीं घुस रहा था, सो मैंने खूब सारा तेल उसकी गांड में और अपने लंड पे लगाया और फिर एक जोर का धक्का दे मारा. शान्ति चाची की झांटों से भरी चूत मुँह खोले लंड लेने कि लिए बेताब थी. सोनू की इन बातों ने मेरे मन में एक नया जोश भर दिया और मैंने उसकी जांघें पकड़ कर एक शॉट दे मारा.

‌ मुझे पता था कि स्खलित के‌ बाद भाभी तो अब कुछ करने‌ से रहीं, इसलिए मैंने‌ अब खुद ही कमान‌ सम्भाल‌ ली. एक कस्टमर, जिसका नाम बिरजू (बदला हुआ नाम) है, उसने मेरी कंपनी से एक 1109 ट्रक फाइनेंस करवाया था. फिर भी उसे कोई अफसोस नहीं था, क्योंकि चूत के रास्ते उसके पूरे शरीर में मस्ती समाई हुई थी जिसे वह भूल नहीं पा रही थी.

चाइनीस लड़की की सेक्सी वीडियो

मेरी कोई हरकत ना देखते हुए उसने मेरे बाल पकड़ कर अपनी चुत मेरे मुँह पे रगड़ना शुरू कर दिया. मगर जैसे ही मेरा हाथ उसकी मुनिया के करीब पहुंचा, उसने मेरे होंठों पर अपने दांतों से काट लिया और तुरन्त जांघों को भींच कर अपनी मुनिया को छुपा लिया. फिर जीजा जी ने अपने बड़े लम्बे लंड को अपनी पेन्ट में से बाहर निकाल दिया.

ठाकुर अंकल ने मेरे सर को फिर से दबाया और जबरदस्ती मेरे मुँह में लंड घुसाने लगे.

मुझे कॉलेज के बाद जॉब के लिए 6 महीने दिल्ली जाना पड़ा, फिर अचानक उस लड़की की शादी हो गई और उसने मुझे बताया तक नहीं.

फिर वह उठी और उसने मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया और मजे से चूसने लगी. थोड़ी देर बाद स्कूटी की आवाज़ सुनाई दी, मैं समझ गया कि भाबी आ गयी है. bhai के सेक्सी वीडियोमैंने अन्तर्वासना की देसी सेक्स स्टोरी में पढ़ा था कि चूत कैसे चाटते हैं, वैसे ही मैं उसकी गुलाबी चुत चाटने लगा.

इस बीच जब-जब प्रशांत से नीना की आंखें चार हुर्इं, तो दोनों ने अपनेआप में अजीब तरह का बदलाव पाया. मैंने अब एक उंगली चाची के मुंह में डाल दी और चाची मेरी उंगली को लंड समझ कर चाट रही थी. मैं उसके मम्मों को दबा रहा था और धीरे धीरे उसके मुँह को चोद रहा था.

मैं दिखने में ठीक ठाक हूँ, मेरी उम्र 28 साल है और मैं अच्छी सेहत का मालिक हूँ. मुझे उसके लंड घुसने से एकदम से दर्द सा हुआ, पर कुछ ही पलों बाद मेरी चूत ने इस मीठे दर्द को जज्ब कर लिया और मैं उसके लंड से चुदने का मजा लेने लगी.

अब क्या है? हाथ छोड़ मेरा … मेरे पास क्या है? जा उसी के पास …” प्रिया ने जोर से गुस्सा करते हुए कहा, मगर मैं भी उसके‌ हाथ को‌ पकड़े‌ रहा.

जीजा जी मुझे चोदने के साथ में गालियां निकालने लगे- आह तेरी चूत का माँ का भोसड़ा. बिना कपड़ों के क्या माल लग रही थी वो … एकदम रसगुल्ले की तरह गोलू मोलू. इतनी जल्दी कहां जा रही हो?” मैंने सुलेखा भाभी को अपनी बांहों में भरकर उनके मखमली गालों को चूमते हुए कहा.

बीपी ओपन सेक्सी इंडियन मैंने कहा- मैं बाद में चेंज कर लूंगा लेकिन भाभी मैं खाना खाने से पहले 2-3 पैग लगाता हूँ ताकि थकान मिट जाए. सलोनी- आअह्ह आह … आह … आह … उफ्फ … सी … आह्ह … मत करो ना!मैं अभी भी अपनी जींस में था.

अब उसके निप्पल कड़क हो गए थे और मैं निप्पलों को चाटने चूसने के बाद उसकी चुचियों की घाटी से किस करते हुए उसकी नाभि पर पहुंच गया और अपनी जीभ डाल कर नाभि को चाटने लगा, जिससे गुड़िया सिहर गई. धीरे-धीरे मैंने भाभी को बेड पर लेटा लिया और फिर उसकी साड़ी को खोलना शुरू कर दिया. भाभी- अच्छा और अभी क्या कर रहे हो?मैं- आपसे बात कर रहा हूँ … और आपसे बात करके मुझे बहुत अच्छा लग रहा है.

दीपिका कपूर सेक्सी वीडियो

पति देव अपना पूरा लंड मेरी गांड में डालकर फिर से पूरा लंड बाहर निकाल लेते थे, सिर्फ सुपारा ही मेरी गांड में रहता था. कुछ ही देर में मैं पूरे जोश में आ गया, मुझसे अब बर्दाश्त कर पाना मुश्किल था … तो अपनी ठरक मिटाने पड़ोसन के कमरे में चला गया. एक बार जब सब घूमकर आने बाद शाम को सबको पूल में उतर कर मस्ती कर रहे थे तो पियू सर दर्द का बहाना करके कमरे में सोई थी और मैं भी ठंड का बहाना कर के कमरे में चला गया था.

मुझे ये समझते देर नहीं लगी कि यह प्रिया है क्योंकि उसने ही लाल रंग की टी-शर्ट पहनी हुई थी. प्रिया की तरह नेहा की मुनिया भी अन्दर से किसी भट्ठी की तरह सुलग रही थी.

तब मैंने उसका पैर और ज्यादा उठाया, लेकिन तब भी नहीं जा रहा था, तो मैंने पूजा के दूसरे पैर को भी उठा कर अपने लंड पर टांग लिया.

मेरे देवर ने मेरी चूत में उंगली करने के बाद अपना लंड चूत में डाल दिया और चूत चुदाई होने लगी. ये बात मैंने उससे कही- अब देर न करो, मेरी चूत में अपना लंड पेल कर मेरी आग बुझा दो. जैसे ही पूरा डिल्डो मेरी चूत में तो अन्दर जाता था तो उसका जिस्म मेरे जिस्म से लगता था.

मैं गाड़ी भगा रहा था और बाइक को एक सुनसान रास्ते से ले गया, जहां किसी का आना जाना नहीं होता था. सब कुछ सही जा रहा था, सारी तैयारी पूरी हो गयी थी कि जाने के कुछ दिन पहले पता चला कि मेरे दोस्त के कजिन की बैंक की परीक्षा उसी वक़्त है और उसे अटेंड करना ज़रूरी है तो उसका जाने का प्रोग्राम रद्द हो गया. नेहा अपने मुँह से ‘इईईई … उईईईई … इश्श् … अह्हह …’ की जोरों से किलकारी मारते हुए मुझसे किसी बेल की तरह चिपट गयी और उसकी मुनिया रह रह कर मेरे लंड को अपने प्रेमरस से नहलाने लगी.

मेरी वैसे इच्छा हुई कि कुछ देर खेलूँ उसके साथ, फिर सोचा कि आज इसे पहले तड़पाती हूँ, फिर बाद में कभी खेल लूंगी.

अल्लो सेक्सी बीएफ: रास्ते में मैंने मेडिकल स्टोर से कंडोम का पैकेट और वियाग्रा की गोली ले ली. मैं एक पल के लिए ये सोचने लग गया कि इतनी कामनीय काया की स्वामिनी सलोनी पर किसी ने डोरे क्यों नहीं डाले?सलोनी मेरे सामने सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी.

मैं सोचने लगा कि देखो तो साले अनिल को क्या मस्त सुन्दर सी चूत चोदने को मिली है. राहुल- तुम दोनों हर रविवार आती हो क्या यहाँ?मैं- नहीं, बस आज पहली बार ही आए हैं हम दोनों तो।अमित- तुम दोनों बैठो, मैं कुछ खाने के लिए लेकर आता हूँ।मैं- नहीं, कोई ज़रूरत नहीं, हमें हॉस्टल जल्दी जाना है।अमित- हम हैं न, छोड़ देंगे तुम दोनों को।अब मैं कुछ बोलती उससे पहले वो निकल गया।हम वहीं बैठ गए. फिर थोड़ी देर बाद भाभी नॉर्मल हुईं तो मैंने फिर से भाभी की चुत में एक झटका दे मारा.

उसने जैसे ही यह बात मुझसे कही, मैं हैरान हो गया कि कोई सच में मुझसे अपनी चुत की चुदाई करवाना चाहती है.

घर पर अकेली देख मैंने उसे बातों-बातों में कह दिया- आजकल लडकियाँ शादी के बाद भी दूसरों के साथ सम्बन्धों में रहती हैं. बहुत देर तक लंड चुसाने के बाद करण ने मेरी बीवी को घोड़ी बना लिया और अपना विशाल लंड अनु की चूत में अन्दर तक डाल दिया. वैसे मुझे लड़कियों से ज्यादा भाभी टाइप की औरतों को चोदने में ज्यादा मजा आता है.