बीएफ में नॉमिनी कैसे बनाएं

छवि स्रोत,भाभी देवर की सेक्सी वीडियो दिखाओ

तस्वीर का शीर्षक ,

বাংলা চটি বাবা: बीएफ में नॉमिनी कैसे बनाएं, मैं- तो क्या बात है?वो- बस थोड़ी तबीयत सी ठीक नहीं हैमैं- चलो तो फिर डॉक्टर के पास चलते हैं.

सेक्सी वीडियो इंडिया 2020

उसकी गोरी और मोटी गांड में जब धक्का लगता था तो वो पूरी हिल जाती थी. नौकरानी की चुदाई सेक्सी फिल्ममैं उसको वीडियो कॉल पर ही प्रियंका की चुत का पानी निकलवाने में लग गया.

फिर मैं धीरे-धीरे उसकी बुर में शॉट पर शॉट लगाने लगा और वह भी मादक सिसकारियों के साथ मजे लेने लगी. हिंदी में सेक्सी जबरदस्तीमैंने उससे पूछा- तू साइकिल तो चला लेती है न?वो बोली- हां साइकिल तो चला लेती हूँ.

वो अपनी गांड हल्का उठाते हुए प्रियंका से बोली- आह साली और तेज से चोद … जल्दी से मेरी चुत ला पानी निकाल दे … आह बस मेरा रस आने वाला ही है.बीएफ में नॉमिनी कैसे बनाएं: जैसे ही वीर्य से पहली पिचकारी छूटी तो उसने लंड को झट से मुंह में भर लिया और मेरे चूतड़ों को अपने मुंह की ओर दबा लिया.

वो- अब इतनी रात में क्या बनाऊं?मैं- कुछ भी बना लो, कहो तो चलो मैं भी‌ कुछ हेल्प कर देता हूँ.अपने बॉयफ्रेंड के साथ भी उसने दो या तीन बार ही सेक्स किया था शायद। इसलिए उसकी चूत टाइट ही थी.

शाळा सेक्सी - बीएफ में नॉमिनी कैसे बनाएं

फिर तीसरे दिन जब हम सब घूमने निकले, तब हमारा आज का बदला हुआ ऑटो ड्राइवर हमसे बात करने लगा.मेरे बालों को सहलाती हुई मेरे होंठों को चूमती हुई वो बिस्तर पर चित लेट गयी.

साथ ही मेरे द्वारा लिखी इस ब्यूटीफुल वाइफ सेक्स कहानी का एक और भागमैंने अपनी पतिवत्रा बीवी को जवान लड़के से चुदवायाको भी आप लोगों ने पसंद किया और आप सभी के हजारों की तादाद में ईमेल भी आए. बीएफ में नॉमिनी कैसे बनाएं हमारे बीच अब कोई पर्दा बाकी नहीं रह गया था।मैंने जैसे ही उसकी चूत पर जीभ फिराई तो वो सिहर उठी और अपने हाथ मेरे बालों में घुमाने लग गई.

उसके सामने भी एक कमरा था और उसी की दीवार की तरफ भी एक छोटा सा कमरा था.

बीएफ में नॉमिनी कैसे बनाएं?

इतना सुनते ही वो खुश होकर बोली- क्या सच में?मैंने कहा- बिल्कुल सच … डॉक्टर ने अनुमति दे दी है कि जब तक इच्छा हो, तब तक आप यहां रुक सकते हैं. मगर फिर भी नीचे आकर मैंने एसी को फुल पर कर दिया क्योंकि हमारे प्यार की गर्मी से उस कमरे का तापमान अब बहुत ज्यादा बढ़ने वाला था. तो वह धीरे से दबी आवाज़ में बोली कि उसके पापा-मम्मी और दो साल का छोटा भाई सब साथ में ही लेटे हुए हैं.

मैंने पूछा- कौन सी दो बातें!वो बोली- एक तो मुझे गांड मरवाने में जो दर्द होगा, उससे डर लगता है और जानू फिर मैं आपका लंड कैसे चूस सकूंगी, वो तो मेरी गांड के अन्दर जाने से गन्दा हो जाएगा. उसने कुछ सेकेंड्स तक डिल्डो को गले में ही रखा और उसकी आंखों में पानी आने लगा. तो मैं बाहर आया और बाथरूम के दरवाजे पर खड़ा हो गया और लंड को हिलाने लगा। ताकि मेरा लंड चाची को दिख जाए और उसे लगे कि मुझे ध्यान नहीं.

प्रत्युत्तर में उसने अपनी जीभ निकाल कर मेरे होंठों को अपने मुँह में ले लिया. दोनों ने एक दूसरे के साथ चुदाई की ताल से मेल मिला लिया और दोनों ही एक दूसरे को चोदने लगे।उसकी चूत को चोदते हुए गजब का मजा आ रहा था. मैं- अब क्या हुआ?वो- तुम्हारे जवाब ऐसे अजीब क्यों होते हैं?मैं- क्योंकि मैं झूठ नहीं बोलता, जो दिल में आता है, वो बोल देता हूँ.

अब प्रिया भाभी ट्विंकल के बूब्स चूस रही थीं और मैं धीरे धीरे अपना लंड ट्विंकल की चुत में अन्दर-बाहर करने लगा था. भाभी मुझसे काफी घुल गई थी और मुझसे आज अपने करीबी जैसा व्यवहार कर रही थी.

जिसका अनुभव ऐसा रहा कि मैंने छह महीने तक उसको अपने साथ बड़े शहर में रखा.

मैंने उससे कहा कि मैं तेरी बड़ी बहन हूँ, तू भी चाहे तो ये सुख ले सकती है.

फिर अन्दर ही अन्दर अपनी उंगलियां अनामिका की चुत में घुमाने लगी, जिससे अनामिका पागल हो उठी और जोश में प्रियंका के चूचों पर काटने लगी. दोनों ने हमें मिलने के लिए जयपुर में अपने होटल में बुलाया … और अपना पता भेजा. उस रात के बाद मुझे दोबारा इतना प्यार नहीं मिला।सेक्स तो बहुत हुआ लेकिन वो रोमांच और वो रोमांस धीरे-धीरे कम होता चला गया.

हम दोनों एक दूसरे को असीम आनंद देने में लगे हुए थे।क्या मजा आ रहा था यार उससे लंड और आंड चुसवाने में. मैंने उसे अपनी बांहों में ले लिया और चूमते हुए कहा- क्या तुम्हें नहीं मालूम कि आज गर्मी कैसे बढ़ने वाली है!वो मेरी आंखों में आंखें डालकर बोली- हां, आज हम दोनों की कुश्ती से गर्मी बढ़ने वाली है. मैंने फिर भी सायरा को मुँह हटाने के लिए कई बार बोला, लेकिन सायरा ने मेरी बात नहीं मानी.

अब वो जल्दी से चूत में घुसना चाहता था और उधर भाभी की चूत में भी आग लगी थी.

मैं स्टेज पर आ चढ़ा और अश्लील डांस करने लगा जैसा कि वो बाकी लड़के भी कर रहे थे. अगर रवि कहता कि चलो आज दो दो लंड से तेरी चुदाई करते हैं, तो पिंकी जवाब देती कि इस रबर के लंड में क्या मजा रखा, कोई असली वाला हो, तो मजा आए. मैंने बाहर आकर एक कार टैक्सी से बात की उसने मुझे कालका स्टेशन छोड़ दिया.

अनामिका पागलों की तरह प्रियंका की चूत को ऐसे खा रही थी, जैसे उसके लिए खाने को प्रियंका की चुत ही दुनिया की आखिरी चीज बची हो. मैंने कहा- चलो न यार … मेरा तुम्हारी चूत चाटने का बहुत मन कर रहा है. वो बाथरूम में चला गया, तो मेरी फ्रेंड मुझसे मज़ाक में बोली कि ऐसी गंदी नज़र से मत देखा करो उसे, वो मेरा ब्वॉयफ्रेंड है.

तुझे जो भी करना हो, कर लेना लेकिन अभी बड़ी आग लगी है, प्लीज़ पहले तू अपना मेरे अन्दर डाल दे.

इससे मेरे पूरे जिस्म में सिरहन सी दौड़ गयी और मुझे पहली बार एक असीमित आनन्द आया. मैं भी पूरी रफ्तार से उन्हें चोदने लगा और वह थोड़ी ही देर में झड़ गई.

बीएफ में नॉमिनी कैसे बनाएं मेरे साथ पहले दिन हर कंवारी लड़की ऐसे ही कहती है और मैं भी उसे ऐसे ही आश्वस्त करता हूँ. मैं- दोस्त तो होते ही है सर खाने को!वो- तुमसे दोस्ती किए दो दिन नहीं हुए हैं और तुम तो ऐसे बात कर रहे हो, जैसे की मुझे सालों से जानते हो.

बीएफ में नॉमिनी कैसे बनाएं मैं उसके ऊपर लेट गया।थोड़ी देर बाद मैंने अपना लन्ड बाहर निकाल लिया. असल में जोर से करने में बहुत से लौंडे मेरे लंड घुसते ही चिल्लाने लगते हैं.

उसके बाद मैंने भाभी की साड़ी को खोल दिया और उनकी ठोड़ी पाकर कर उन्हें किस करने लगा.

सेक्सी ग्रैंड

पर उसकी पत्नी पिछले 3-4 माह से अनिल के पेरेंट्स के पास ही थी, क्योंकि अनिल की मां का बड़ा ऑपरेशन हुआ था. मैं उनकी नंगी टांगों को चूमते हुए ऊपर की ओर बढ़ा और उनकी चूत के अगल-बगल के एरिया को अपनी जीभ से आइसक्रीम के जैसे चाटने लगा. उस समय मैं भीगी हुई थी और उसने मेरी ड्रेस के नीचे से मेरी गांड देख ली और तुरंत बोला- ओह! सॉरी … सॉरी। लॉक खुला हुआ था और मैंने आपको देखा नहीं.

वो कहते हैं ना दोस्तो … कि किसी महिला की जितनी ज्यादा तारीफ़ करो, वो उतनी ही जल्दी फ्रेंड्ली हो जाती है. नील, रोनित, कमल, जैक, अरुण और रोनी पता नहीं क्या प्लान बना कर बैठे थे. वो- तुमने बात करने से मना किया ना … तो अब क्या है डाल तो रही हूँ खाना.

आपको मेरी बीबी की चुदाई कहानी कैसी लग रही है, इसके बारे में अपनी राय जरूर देना.

रोहिणी, निशि और मेरे चेहरे की चमक लंड मिलने की खुशी को बयां कर रही थी. हमारे समाज में स्त्रियों का यौन आग्रह या यौन उत्तेजना प्रदर्शित करना वर्जित ही है और ऐसा करने वाली औरतों को कुचरित्र औरत की संज्ञा से नवाजने में हमारा समाज गर्व समझता है. मैं अन्दर गया, तो भाभी ने मुझे देखा, तो बिना कुछ बोले तुरंत उठ कर बाहर की बढ़ गईं.

मैं भाभी की चूत पर अपना हाथ रखकर सहलाने लगा और उसमें साबुन लगाकर साफ करने लगा. फोन पर उन आंटी ने मुझे बातों बातों में सेक्स का मजा कैसे दिया?नमस्कार दोस्तो, मैं भावेश. इसलिए मैंने अब जैसे ही धक्का मारा तो शायरा के मुँह से आवाज निकल गई.

अब आगे क्या हुआ … क्या उस लड़के ने मेरी जवानी की बहती नदी में डुबकी मारी और मुझे चुदाई का मजा दिया. मेरी उम्र अभी 32 वर्ष की हुई है, मेरी लंबाई 5 फुट 10 इंच की है तथा वजन 79 किलोग्राम है.

चूंकि मैं घर में अकेला था तो मैंने इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया और सोचा कि कोई नहीं आयेगा इस वक्त।मैं अपने रूम में था और अपने कमरे के बेड पर लैपटॉप लेकर पड़ा हुआ था. उसने मेरा खड़ा मोटा लम्बा हॉट लंड एकदम से सीधा अपने मुँह में गप्प से अन्दर कर लिया … और मजे से लंड चूसने लगी. बिन्नी ने मेरी ओर देखा तो मैंने नीचे झुककर उसके गर्म होंठों पर अपने होंठ रख दिये और नीचे से लण्ड पर दबाव बढ़ाने लगा.

मेरे मन में तुरंत ख्याल आया कि मैं अपनी नौकरानी की चुदाई तो नहीं कर पाया लेकिन शनाया के माध्यम से मैं नौकरानी की चुदाई की कल्पना तो कर ही सकता हूं.

वो मुँह बनाती हुई बोली- पता नहीं क्या कह रहे हो … मुझे तो बस स्कूटी चलाना सीखना है. उन्होंने मुझे नंगा देख कर पूछा- क्या हो रहा है?मैंने कहा- कुछ नहीं, भाभी जी की सेवा कर रहा था. मौसी अपनी गांड की चुदाई से खुश होकर बोली- आज मालूम पड़ा कि पीछे से करवाने में उतना ही मजा है, जितना आगे करवाने में.

अनामिका ने पूरी मदहोशी के नशे में अपनी गर्दन प्रियंका की तरफ घुमाई और नशीली निगाहों से प्रियंका की तरफ देखने लगी. मैं भी जैसे वहीं खड़ा खड़ा उसकी चूत में कपडों के ऊपर से ही लंड घुसाने को आमादा हो रहा था।मेरी गांड बार बार आगे होकर उसकी चूत वाले भाग में लंड को धकेल रही थी.

तभी ट्विंकल तेज़ी से अकड़ने लगी- आह्ह्ह … मैं तो गई!वो अपनी चुत उठाते हुए झड़ गई. वो भी मेरे लन्ड को हाथ से सहला रही थी।हमारी जाँघें एक दूसरे से लिपटी हुई थीं और हम फिर से एक दूसरे को चूमने लगे।मैं उसके होंठों को काट रहा था और वो मेरे होंठों को काट रही थी. उन दोनों में ये तय हुआ कि कर्नल साहब और बच्चों के ऊपर जाने के बाद अनिल चुपके से आएगा और थोड़ी देर बाद चला जाएगा.

मराठी व्हिडिओ सेक्सी दाखवा

तो मैं उसी होटल के बाहर आकर बैठ गयी क्योंकि सामान लादे लादे होटल देखने के चक्कर में मैं थक गई थी.

वो- तुम … तुम पागल हो‌ क्या?मैं- लो … अब इसमें क्या पागलपन लगा?वो- अरे तो … इतने सारे का मैं क्या करूंगी?मैं- क्या करोगी मतलब! तुम्हारे ही तो यूज के हैं, यूज करती रहना. वो गांड को उस पर नीचे और ऊपर करते हुए रगड़ने लगी; उसकी गांड की दरार में फिराने लगी. मैंने तुरन्त अपने बैग से एक तौलिया निकाल कर बांध लिया, जो कि बहुत ही छोटी नाप की थी.

इससे न्यासा की मदभरी कामुक आवाज कमरे के माहौल को गर्माने लगी- ओह ओह ज़ोर से दबाओ उखाड़ ही लो इन्हें … आह निचोड़ लो!उसकी वासना से भरी आवाजें हम दोनों को मदहोश करने लगीं. लंड को आजाद करने के बाद वो महीनों से भूखी औरत उसको अपने हाथों से प्यार से सहलाने लगी. वीडियो सेक्सी वीडियो फुलअन्दर जाते ही मैंने भाभी की खूबसूरती और उनके घर की नफासत को देख कर निहाल हो गया.

मामी किसी पोर्नऐक्ट्रेस की तरह अपनी दोनों टांगें चौड़ी करके चूत को खोल कर लेटी थीं. तो मैंने बिना सोचे समझे कहा- आहह … अरे चाचा जी, आप जो चाहे चोद लो आज तो … आहह … स्सी … चाचा जी और ज़ोर से चोदो … आहह …चाचा जी ने सूरज से बोला कि जा सूरज बाहर से वैसलीन क्रीम ले आ.

उसी कारण वो हमें सुबह मिलने वाले हैं, तो आज रात हम लोग वहीं हवेली में हमारे लिए बुक किए गए कमरों में रुकेंगे … और कल सुबह ही हम उनसे मिल सकते हैं. थोड़ी देर के बाद हम बातें करने लगे।किरण ने मुझसे पूछा- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रैंड है?मैंने तुरंत जवाब दिया- नहीं।मैंने उससे पूछा तो उसने भी बोला कि वो भी सिंगल है।मैंने उससे कहा- तुमको तो बहुत सारे प्रोपोज़ आये होंगे आज तक?उसने बताया- आये हैं लेकिन किसी को हां नहीं बोला मैंने। मुझे किसी की झूठी बातों पर ऐसे भरोसा नहीं होता जब तक कि मैं किसी को अच्छे से जान नहीं लूं. हॉट लड़की की वासना की कहानी में आपको कितना मजा आया? मुझे कमेंट्स में बताएं.

मैंने विमला से पूछा- क्या खाना पसन्द करोगी?वो बोली- अगर बियर साथ होगी, तो चिकन चलेगा … पर रात ग्यारह बजे खाना गर्म आना चाहिए, तभी मैं खाऊँगी और बियर नौ बजे होगी तो चलेगी, अन्यथा आप अपनी पसन्द का खाना मंगवा लो. मैंने कहा- एक बार तो यह दर्द हर लड़की को सहना ही होता है, अभी ठीक हो जाएगा. मैंने लंड से चुदाई की की रफ्तार बढ़ा दी और टाइट चूत के अंदर-बाहर करने लगा.

स्नैक्स की प्लेट खाली थी, तो पिंकी और भर लायी और रवि से चिपक कर बैठ गयी.

रात की के सलाह है?चाची बोली- बावला हो रहा है के? रात न त बुरा हाल कर देगा तु! डर लागै है मनै त!मैं बोला- र लागता तो चुत ना देती तु!चाची बोली- रात न जब सही टाइम होगा तब बता दुंगी. धीरे धीरे मेरे दोनों निप्पल को गुलाबी से लाल करते हुए उसने नीचे का रुख कर दिया.

मैं उठ कर बाहर आया तो देखा कि अनु और कमल दोनों बैठ कर पैग जमा रहे थे. अपने मम्मों पर हाथ महसूस करके उसने भी मेरी शर्ट में अन्दर हाथ डाल दिया और वो भी मेरे सीने पर हाथ फेरने लगी. मैं जानता था कि ये अभी गर्म है और इसकी भी बुर में जोर की खुजली हो रही होगी।मैं उससे बात करते हुए उसके चेहरे की ओर बढ़ता गया।मैंने अब आखरी दांव खेला और बोला- देखो प्रिया, हम दोनों के बीच जो हुआ, वो हम दोनों तक ही रहने वाला है.

गांड में लंड का सुपारा जाते ही मेरी गांड ने हिम्मत कर ली और धीरे धीरे एक एक दो झटकों को फील करते हुए मानवेन्द्र ने कुछ नब्बे सेकंड में पूरा लौड़ा अन्दर कर दिया. तभी पंकज ने मुझसे पूछा- कहीं अनिल गुस्सा तो नहीं होगा?मैंने अपनी टांग उसपर फेंकते हुए कहा- गुस्सा क्यूँ होंगे … वही तो मुझे भी मनाकर ले कर आए हैं और तुम्हें भी बुलाया है मेरी चुदाई करने के लिए. इतना सुनते ही वो खुश होकर बोली- क्या सच में?मैंने कहा- बिल्कुल सच … डॉक्टर ने अनुमति दे दी है कि जब तक इच्छा हो, तब तक आप यहां रुक सकते हैं.

बीएफ में नॉमिनी कैसे बनाएं 5-7 मिनट तक मैंने हेतल की गांड चोदी और फिर रागिनी की गांड पर लंड लगा लिया. मेरी इस बात पर भाभी हंस दीं और बोलीं- हां न तू छोटा है और न तेरा!इतना कह कर वो चुप हो गईं, मैं समझ गया कि भाभी मेरे लंड के लिए कह रही थीं.

सेक्सी फिल्म नंगी में

अब शनाया, उस डिल्डो पर अपनी गांड को जोश में पटकने लगी और जोर से सिसकारियां लेने लगी. गोवा की देसी वेबकैम मॉडल शनाया ने अपनी कई सेक्सी और उत्तेजक, नंगी फोटो पोस्ट की हुई थी. उस डॉक्टर ने मेरा इलाज कैसे किया?साथियो, मैं शरद अपनी सेक्स कहानी में आपको बता रहा था कि एक लड़की की चूचियों को बड़ा करने को लेकर परेशान थी.

तुम किसी को पटा क्यों नहीं लेतीं? तुझ पर तो वैसे भी हजारों लड़के मरते होंगे. उसका कमरा इस तरह से था कि अगर मैं थोड़ा सा दरवाज़ा खुला रखती, तो उसके कमरे से मेरा बेड साफ दिखता. छक्कों की वीडियो सेक्सीवो मुझसे बर्ताव भी अच्छा करता था लेकिन वो मेरे बॉयफ्रेंड जैसा बिल्कुल नहीं था.

हॉट देसी भाभी की कहानी में पढ़ें कि लॉकडाउन में मेरे पड़ोस की भाभी ने मुझसे सामान मंगवाने के बहाने मुझसे दोस्ती की.

फिर चाचा जी ने अपना लंड मेरे मुँह में दे दिया और मैं गप्प गप्प करके लंड चूसने लगी. हम दोनों की आंखें नशीली हो गयी थीं और मदमस्त तरीके से हम एक दूसरे के अंगों को सहलाते दबाते हुए सम्भोग का आनन्द लेने लगे.

आगे बढ़ने से पहले मैं आपको बता दूं कि न्यूड भाभी की मस्त चुदाई कहानी के पहले भागशहर में आकर चूत की तलाशमें आपने जाना कि कैसे मैं नये शहर में आया और यहां के अनजान वातावरण में खुद को मैंने धीरे धीरे ढाला. अब मेरा गोरा बदन सिर्फ ब्रा और पेंटी में रह गया था जो उनके सामने बेड पर पड़ा था।उन्होंने शेरवानी निकाली और उसको एक तरफ डाल दिया. मुझको आपका लंड बहुत पसंद है, उसे पेलो न!वो इस पोजीशन में मेरे कानों को कभी कभी काट भी ले रही थी.

रोहित ने मेरे निप्पल पर अपने होंठ रख दिये और फिर जीभ से उनको सहलाने लगा.

मैंने कहा- सब कुछ क्या?वो बोली- मुझे सब पता है कि तुम दोनों के बीच में दो बार सेक्स हो चुका है. अनिल को रवि ने स्पष्ट कहा कि उसकी दीपा में कोई रूचि नहीं है, वो तो बस दीपा का साथ इसलिए चाहता है कि फिर अनिल को उनके यहां मस्ती करने में कोई रुकावट नहीं होगी. वह मेरे बाल पकड़कर मेरा मुँह अपनी बुर पर दबाने लगी और जोर जोर से सिसकारी लेने लगी.

बड़े बड़े दूध की सेक्सीमेरी चुदाई की तमन्ना पूरी हुई या नहीं?यही कहानी लड़की की आवाज में सुनें. उसने महीनों से अपनी चूत के झांट साफ नहीं किए थे।मैंने जैसे ही उसकी चूत में उंगली डाली तो वो उछल पड़ी- ऊईई … ईईई … ईईई.

देसी नौकरानी का सेक्सी वीडियो

मैं उठ कर बाथरूम में गया और वापिस आकर देखा कि वो दोनों लेस्बियन सेक्स में मशरूफ थीं. मैं उसके उरोजों और निप्पलों को मींजते हुए उसकी पीठ पर अपनी जीभ फिरा रहा था. अगर किसी औरत की अच्छे से चूत चूस दी जाए, तो वो पांच मिनट के अन्दर झड़ जाएगी.

मैं पहली बार उसका स्पर्श पा रहा था इसलिए मेरे अंदर भी प्यार उमड़ रहा था।अब मुझे वो दोस्त की गर्लफ्रेंड नहीं बल्कि एक प्यार की भूखी लड़की लग रही थी. अब मैं अपने ब्लाउज का बंधन बांधने लगी लेकिन पीछे हाथ करके मुझसे बंध ही नहीं रहा था. इससे पहले रस सूखता, उसे वापस उसी तरह अंदर धंसा दिया। इस बार पहले की अपेक्षा कुछ आसानी से गया और अपने हाथ उसकी जांघों पर टिका कर बड़ी आराम से धीरे-धीरे अंदर-बाहर करने लगा।योनि एडजस्ट हो गयी और तो उसने अपना हाथ हटा लिया और अब आंखें बंद कर के धीरे-धीरे सिसकारने लगी।जोर-जोर से पेल न बे! शिवम ने उकसाने की गरज से कहा।शुरुआत में ऐसे ही ठीक है.

वो कहने लगा कि अगर मुझसे शादी करना चाहती हो तो चार साल इंतजार कर लो. नहीं … तुम चिंता मत करो बेबी … मैं यहां पर तुम्हारी इच्छाओं को पूरी करने के लिए ही हूं. फिर धीरे धीरे वो मेरे लंड को सहलाने लगी और मैं चूत को।दस पंद्रह मिनट की चूमा चाटी के बाद मेरा लंड फिर से तनाव में आने लगा और पुण्या भी दोबारा से गर्म होने लगी.

उनका लंड किसी सांप की भांति फड़फड़ा रहा था और करीब 7 इंच बड़ा होगा और 2 इंच के लगभग मोटा. असलम भाई भी मुझसे इतने विस्तार से और इतनी सहजता से सलीम भाई से अपनी गांड मराई का किस्सा सुनने की उम्मीद नहीं करते थे.

तो मैं बाहर आया और बाथरूम के दरवाजे पर खड़ा हो गया और लंड को हिलाने लगा। ताकि मेरा लंड चाची को दिख जाए और उसे लगे कि मुझे ध्यान नहीं.

चाचा जी का लंड मेरी चूत के खून से सना हुआ था और बेड की चादर पर भी खून की बूंदें गिर गयी थीं. देसी रोमांटिक सेक्सी पिक्चरकुछ देर निप्पलों को पीने के बाद फिर पेट के रास्ते नीचे जाकर उसकी लोवर को एक झटके में नीचे खींच दिया और उसका मनपसंद खिलौना उसके सामने था. सेक्स सेक्सी वीडियो सुहागरातशायरा को भी अब मजा आने लगा था इसलिए वो भी अब आंखें बन्द करके मेरे धक्कों को महसूस कर रही थी और अपने दिलो दिमाग़ में इस चुदाई को फिट करने की कोशिश रही थी. दोस्त की चुदासी बीवी की कहानी के दूसरे भागसेक्स में फंतासी की इन्तेहा- 2में अब तक आपने पढ़ा था कि रवि और पिंकी आपस में सेक्स करते हुए अनिल को शामिल करने की बात कर रहे थे.

वो गांड को उस पर नीचे और ऊपर करते हुए रगड़ने लगी; उसकी गांड की दरार में फिराने लगी.

मैंने कहा- अरे यार, मैं भी उसी जगह में हूँ, तुम किससे हो … मतलब किसी गाड़ी से हो?वो बोला- हां मैं ऑडी-ए3 कार से हूँ. मानो मेरी चूत के अन्दर हजारों चींटियां चल रही हैं और अन्दर ही अन्दर काट रही हों. कहते हुए मैं उसके चेहरे के एकदम पास आ गयी और उसकी आंखों में आंखें डालकर देखने लगी.

इस बार उसकी इस हरकत से मैंने अपना धैर्य खो दिया और सीधे अपने हाथों से उसका लंड बाहर निकाल कर चादर के नीचे सहलाने लगी. किरण की चूत एकदम लाल और चिकनी थी।मैं उसका रस पीने लगा।चूत पर जीभ लगने से वो जोर जोर से सिसकारियां निकाल रही थी- आह्ह भावेश … स्स्स … आईई … ओह्ह … आराम से यार … ओह्ह … बहुत अजीब लग रहा है … आह्ह … आईई मां … ओह्ह … मेरी चूत में कुछ हो रहा है … आह्ह जान … ओह्ह … मेरी चूत।उसकी सिसकारियों से रूम का माहौल और भी गर्म होने लगा था. मैंने बिन्नी की दोनों जाँघों को पकड़ते हुए उसकी गुदाज़, चिकनी और रस से गीली चूत को अपने मुँह में भर लिया.

मर्द मर्द का सेक्सी वीडियो

वो बोली- जान लोगे क्या भैया?मैंने मन ही मन कहा- नहीं, तेरी गांड लूंगा साली! तुझे चोदने आया हूं. मैं तो उसके घर से आ गया मगर मेरे जाने के बाद भी शायरा सोचती रह गयी. मैं- ठीक है तो जैसा तुम चाहो, पर मैं तुम्हें हमेशा प्यार करता रहूँगा.

मेरा लंड जैसे ही थोड़ा सा चुत के अन्दर गया तो भाभी की कराह निकल गई और उनकी आंखों से आंसू बहने लगे.

थोड़ी देर बाद मैंने सोचा कि अगर मां को अच्छा नहीं लगा होता … तो वो अब तक पापा के हाथों मेरी पिटाई करवा चुकी होतीं.

शनाया ने मजे में चिल्लाते हुए कहा- आह्ह … प्लीज … ओह्ह … आराम से … आह्ह … धीरे।शनाया अपनी गांड को उस डिल्डो पर नचा रही थी और ये नजारा देखकर मैं अपने लंड की मुठ मारता जा रहा था. सच में दोस्तो, पहली बार के मिलन की बात ही निराली होती है।मीनू मेरे गले से लग गई और फिर पागलों की तरह मुझे किस करने लगी. ब्लू फिल्म सेक्सी वीडियो में बताएंअजय ने गिलास का सिप भरते ही मनीषा की ओर देखा तो मनीषा ने आँख मार दी.

वैसे भी मैंने तुम्हारे लिए उसको बोल दिया था कि जब वो आएगा, तो हम दोनों एक साथ आगे पीछे से करेंगे, तो बोली थी कि ठीक है. सिनेमा हॉल में गर्लफ्रेंड और उसकी सहेलीगर्लफ्रेंड की सहेली और थ्री-सम चुदाईगर्लफ्रेंड के बिना उसकी सहेलियों संग थ्री-सममेरी कहानियां आपको पसंद आएं तो तारीफ … और नापसंद आएं तो उनकी शिकायतों के लिए मेरी ईमेल आईडी पर आप मेल कर सकते हैं. फिर उसका एक हाथ मेरी जैकेट के अन्दर घुस गया और वो मेरे मोटे मम्मों को मसलने लगा.

उसने हां में सर हिलाया और बोली- अब आएगा … मेरे बेबी को मज़ा!मुझे पता था कि अब सच में मुझे मज़ा आने वाला है. अब तक हमारे लंड मूली से मूँग हो चुके थे और उधर लड़कियां एक दूसरे की चूत चाट कर साफ कर चुकी थीं.

अपनी इसी प्यास के चलते मैं आपको एक चूत की सीलतोड़ चुदाई की कहानी आज बताऊंगा.

और लिस्ट और पैसे दे दिएआंटी चली गई।थोड़ी देर बाद भाभी अपने कमरे में चली गई और जब वो वापस आई तो मेरी आंखें खुली रह गई।भाभी ने पीले रंग की छोटी सी नाईटी पहन रखी थी।वो आकर मेरे आमने झुक कर खड़ी हो गई. इधर मेरी चूत भी उसकी जीभ को अपने समीप पाकर फड़फड़ाने लगी और नाभि से लड़ने लगी कि हट जा साली मेरी सौत … मेरे प्यार को अपनी गिरफ्त से आजाद कर … ताकि वो मेरे पास आ जाए. मैंने पंकज से सीधे ही पूछ लिया- मेरी बीवी सुमन तुम्हें कैसी लगती है?पहले मेरे इस प्रश्न पर वो हैरान हो गया.

हिंदी में सेक्सी चुदाई चुदाई मैं अपने दोनों हाथ उसके हाथ पर रखकर उसे सिखा रहा था, इसलिए मेरा जिस्म उसके शरीर से एकदम से चिपका हुआ था. मैंने तो केवल चूत का क्लोजप मांगा था और इन्होंने पूरा कॉम्बो पैक दे दिया.

सूंघने के बाद मैंने सायरा से कहा- महक तो अच्छी है … थूक लगा-लगा कर चाटने में बड़ा मजा आएगा और मुझे लगता है लंड को भी महक अच्छी लगी और वो अन्दर घुस कर आनन्द लेना चाहता है. संजू का शरीर झुनझुना गया क्योंकि गले लगाने के बाद मैंने नोट किया कि संजू की चुचियों की घुंडी कड़क हो गई थीं. मेरे घर में मेरी भाभी खाना बनाती है … इसलिए होटल वाला मेरे लिए तो भाभी ही हुआ ना, मगर उसकी मूंछ होती है न … इसलिए वो मूंछों वाली भाभी हो गयी.

उल्लू वेब सीरीज वीडियो

मुझे कुछ पांच मिनट बाद ही पैरों में दर्द होने लगा तो उसने मेरी गांड को खींच कर बेड के किनारे पर लिया और मेरी जांघों को पकड़ कर जमीन पर खड़ा होकर मुझे लंड पर चढ़ाने लगा. उधर हर्ष भी चुदाई के मजे में डूब गया था और सिसकार रहा था- आह्ह … जान … मजा आ रहा है ना … आह्ह … तेरी चूत तो बहुत गर्म और टाइट है … आह्ह … मेरी रानी … तू पहले क्यों नहीं चुदी … आह्ह … तेरी चूत … ओह्ह।इस तरह से करीब 20 मिनट तक हम दोनों चुदाई करते रहे. जब मैं हंसती हूं तो मेरे गालों पर डिम्पल दिखाई पड़ते हैं, मगर अंदर से मैं बहुत ही चतुर और शरारती औरत हूं और मुझे मर्दों को सजा देना और तड़पाना बहुत पसंद है.

पराए मर्द के लंड का माल अपनी चुत में लेने के बाद पिंकी घबराई कि ‘ओ गॉड … ये मैंने क्या कर लिया. वो दिन मैं कभी नहीं भूल सकता, क्योंकि मैंने अपने सपनों की रानी को किस किया था.

उसका टॉवल पूरी तरह से खुल गया था और उसकी चूचियां खुले मैदान में आ गयी थीं.

इसलिए मैंने अपनी‌ जरूरत वाला सामान नहीं लिया, बस जल्दी से उसे फोन‌ करने के पैसे दिए और चुपचाप वहां से सीधा अपने कमरे पर आ गया. क्योंकि उसको अभी सेक्स का ज्ञान नहीं था इसलिए उसका लंड जल्दी निकल गया. फिर मेरा माल भी निकलने वाला था; मैंने पूछा- कहां निकालूं?तो वो चूत में निकालने को ही बोली.

जैसे ही मैं दूसरे वार्ड में पहुंचा, डॉक्टर और राजेश इस समय मौजूद उधर सभी लेडीज स्टाफ के साथ बैठे वाइन सेलीब्रेट करने में मशगूल थे. अब मैं अपर्णा की दोनों टांगों के बीच आ गया और उसके पैरों को अपने कंधे पर रखा. दूसरे दिन अनु ने सारी बात बताई और साथ में ये भी बोली कि उसने अविना को सच्चाई बता दी है कि किस तरह शादी होने के बाद भी वो प्यासी रह जाती थी.

मैं अपने दोनों हाथ उसके हाथ पर रखकर उसे सिखा रहा था, इसलिए मेरा जिस्म उसके शरीर से एकदम से चिपका हुआ था.

बीएफ में नॉमिनी कैसे बनाएं: मगर अफसोस! दो हफ्ते के बाद ही एक दिन मेरी मां के सारे प्रयास विफल हो गये. मनीषा अजय के पास आई और उसे चूमकर बोली- तुमने आज प्रिया का मन भर दिया.

उसको थोड़ी परेशानी हुई लेकिन फिर चूसते चूसते उसको मजा आने लगा और वो मस्ती में लौड़ा चूसने लगी. मुझे कोई ऐतराज नहीं था … क्योंकि मैं जानती थी कि जो मैं कर रही हूं, सिर्फ और सिर्फ मोहित को पाने के लिए कर रही हूं. सेक्स का मैं बहुत शौक़ीन हूँ औरत चाहे किसी उम्र की हो गोरी हो या साँवली हो सबकी चुत की पूजा करता हूँ बहुत इमानदारी से।मैं गांव से हूँ लेकिन कुछ समय दिल्ली रहा हूँ तो थोड़ी अंग्रेजी भी बोल लेता हूँ.

मैं सिसकती, कराहती मादक आवाजें निकालती हुई अपनी गांड उछालने लगी और फिर एक सुर में झड़ने लगी.

मैं- कहीं कल तुम्हारी सहेलियों ने मुझे तुम्हारा हज़्बेंड कहा, इसलिए तो मेरे साथ जाने से मना नहीं कर रही हो?वो- नहीं … ये बात नहीं है. अजय को प्रिया का संकोच था, तो प्रिया भी बोली- अब शर्माने को रह क्या गया है. अब चाची के शरीर पर ऊपर सिर्फ एक साटन की लेसी ब्रा और नीचे थोंग पैंटी थी, जो पहनने या ना पहनने के बराबर थी.