गाना पर के बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म ब्लू प्रिंट

तस्वीर का शीर्षक ,

जोधपुर वाली सेक्सी: गाना पर के बीएफ, वो मेरी चूत को चाटने लगा और पहले वाला अब दूसरे वाले के लंड को चूसने लगा.

बीपी के सेक्सी वीडियो बीपी

गर्लफ्रेंड- आज मेरे बाबू का जन्मदिन है तो उसे गिफ्ट मिलेगा ना … और ये तो ट्रेलर था … अभी पूरी फ़िल्म बाकी है. गाना गाते हुए सेक्सी वीडियोवो- वो क्यों?मैं- मूवी देखना और वो भी तुम्हारी जैसी हॉट लड़की के साथ, फिर तो कॉर्नर की सीट ही लेनी पड़ेगी ना, इतना अच्छा चांस कोई कैसे मिस करेगा!वो- अच्छा तो ये चल रहा है तुम्हारे दिमाग़ में!मैं- अरे नहीं … मैं तो‌ मजाक कर रहा हूँ.

वहां पर मेरे परिवार में मेरे ससुर के छोटे भाई के बेटे यानि मेरे एक देवर की शादी थी. सेक्सी पिक्चर मास्टरये कंसल्टेंसी वाले साले चूतिया बनाते हैं और मेरे जैसे नये लड़के इनके चंगुल में फंस जाते हैं जिनको जॉब की सख्त जरूरत होती है.

चोर को चोरी करते रंगे हाथ पकड़ लिया ज़ारा ने!मेरी प्यार सेक्स की कहानी पर अपने विचार लिखें.गाना पर के बीएफ: मैंने भाभी को अपनी बांहों में भर कर उसकी चूत की जड़ में पिचकारी मार दी.

फिर सीमा ही बोली- अब बर्दाश्त नहीं होता मयंक!मैं बोला- जो भी दिल में हो साफ साफ बोल दो भाभी, मैं वादा करता हूँ कि यह बात हम दोनों के बीच ही रहेगी।सीमा ने मेरी आंखों में देखा और उसे ये विश्वास हो गया कि मैं वाकयी भरोसे के लायक हूँ।थोड़ा सोचने के बाद सीमा बोली- वो मुझे शारीरिक संतुष्टि नहीं दे पाते.उसको इस हमले की आशंका न थी और वो जोर से चिल्ला उठी- आह्ह … मर गयी ….

न्यूड सेक्सी मूवी - गाना पर के बीएफ

जब उसकी नजर कंप्यूटर के मॉनीटर पर पड़ी, तो वो ध्यान से चुदाई की फिल्म देखने लगी.वह सेक्सी चुटकुले भी बोल देता, सेक्स की बातें भी करता था।मैं उससे बात करती हूँ ये बात मम्मी को नहीं पता थी.

मेरे मन में तमाम ख्याल पल रहे थे … शायद देविका भी यही सोच कर मेरी मदद कर रही थी. गाना पर के बीएफ मैं चुपचाप वैसा ही करता गया और उसकी ब्रा का हुक खोल करके पीछे से कुर्ती वापस एक सी कर दी.

मैंने उसकी गांड को पकड़ा और उसकी चूत चाटने लगा।मैंने यास्मीन को बोला- मेरा बेल्ट खोल कर लण्ड तो देख लो.

गाना पर के बीएफ?

एक बात का एहसास तो मुझे पहले ही हो गया था कि वह अपनी इस बेबी डॉल टाइप की नाइटी के नीचे कुछ नहीं पहनी होंगी. मैंने भी सीधे उसकी गांड में उंगली डाल दी ताकि उसकी गहरायी पता लग पाए. मेरे दोस्तों के उनकी गर्लफ्रेंड के किस्से भर सुने थे कि कैसे किया जाता है.

लंड को चूत में फिट करने के बाद मैंने उससे ऊपर नीचे करते हुए चुदाई करने को कहा. अगर मेरी योजना सफल होगी तो मैं वो कहानी आपके सामने जरूर लाऊंगा।मेरी टीचर एंड स्टूडेंट सेक्स स्टोरी पर आपकी प्रतिक्रियाओं का इन्तजार रहेगा।मेरी मेल आईडी है[emailprotected]आप मुझे https://www. मैंने देखा कि उस शिल्पा लोवर और टी-शर्ट पहनकर सोफे पर बैठकर टीवी देख रही थी.

हम दोनों ने एक अनजाने से सुख की कामना करते हुए एक दूसरे को देखकर ख़ुशी जाहिर की थी. तीसरे दिन सुनील को आना था दोपहर को … तो यह तय हुआ कि मनोज अपने ऑफिस से सुनील को लेता हुआ घर आ जाएगा और लंच कर के वो सुनील को लेकर ऑफिस चला जाएगा. मैं न्यासा की चुत पर अपना लंड घिसने में लगा था, पर अन्दर नहीं डाल रहा था.

शीना को तेज दर्द हुआ, वो चीख पड़ी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ और उसकी आंखों में बहुत आंसू आ रहे थे और मैं संजना की तरफ अचंभे की नजर से देख रहा था. जितनी सुन्दर वो अपनी फोटो में देखने में लग रही थीं, उससे कहीं ज्यादा वह सामने से देखने में लग रही थीं.

इसका मतलब ये हुआ कि जिस दिन मैं उसकी चुदाई कर लेता हूँ, उसके बाद राहुल का नंबर आता है ताकि मुझे कुछ पता ना चले.

खैर मैं तो यही कहूँगी कि गलती तो दोनों की होती है।इस तरह से प्यार करते करते हमें दो साल हो गए थे.

वो ज्यादातर बाहर ही रहता था, इस वजह से भी भाभी असंतुष्ट थी और अपने पति से परेशान रहती थी. बस अपनी गति से चल रही थी और अभी तक हम मुंबई शहर से बाहर निकले नहीं थे. उसकी नाईटी जो कि काफी खुले गले वाली थी, उस वजह से उसकी आधे से ज्यादा चुचियां बाहर निकलू हुई थीं.

चाची के लंड चूसने की वजह से लंड खड़ा हो गया और चाची लंड के ऊपर बैठ गईं. न्यू सेक्सी स्टोरी में पढ़ें कि मकानमालिक की बेटी की चुदाई करते समय उसकी बड़ी बहन ने देख लिया. पूजा जवान थी, कमसिन थी और अभी अभी अपने पति से चुदते हुए स्खलित नहीं हुई थी लिहाजा इस समय उसके जिस्म की गर्मी भी बाहर निकलने को आतुर थी.

फिर मैं अपने घटनों पर बैठकर भाभी की चुत चूसने लगा, जिससे अचानक ही भाभी की आवाजें मदहोश हो गईं और वो मेरा सिर अपनी चुत पर दबाने लगीं.

उसने हंस कर कहा- अच्छा जी, कौन सा गाना याद आ गया … ज़रा मुझे भी सुनाओ. फिर कुछ देर बाद वो मेरे बालों को सहलाने लगी, उसकी चुदास फिर बढ़ गयी, वो अब खुद धीरे धीरे अपनी गांड उठा कर लन्ड अंदर लेने की कोशिश करने लगी. उसने मेरे पीहर से थोड़ी ही दूर पर मकान किराए पर ले रखा था जिसमें वह अकेला रहता था और जोधपुर में ही रहकर जॉब करता था.

दोनों नंगे हो गये और दादी मेरा लण्ड पकड़ कर खाल आगे पीछे करते हुए बोलीं- हम दादी पोती की चूत ठण्डी करते रहना विजय. मैं अपनी बीवी को जितना शरीफ समझता था, वो उतनी ही ज्यादा कमीनी निकली. भले ही कुछ दिन के लिए ही सही … मगर मैं थी।शुरू में लगा कि ये दिन आराम से निकल जायेंगे.

अगर आप जबरदस्ती किसी के साथ ऐसा करते हैं, तो यह न आपका हक है और न ही उसकी सहमति है.

कुछ देर बाद हमारे मामा जी, जो मम्मी के इकलौते भाई हैं … उन्होंने मम्मी के नंबर पर फोन किया. मैंने उंगली की रफ्तार बढ़ाई तो वो जोर जोर से आवाज करने लगी और मुझे किस करने लगी और मेरे बदन पर काटने लगी।फिर मैंने उसके और मेरे बचे हुए सारे कपड़े उतार फेंके और उसका हाथ पकड़कर मेरे पूरे तने हुए लंड पर रखवा दिया.

गाना पर के बीएफ ऐसा नहीं था कि भाई साहब केवल मेरे लंड से ही गांड मरवाते थे, वे मेरी गांड भी मारते थे. संजू ने हंस कर आंख मारी और बोली- तुमने भाभी कह दिया है वर्ना तो मैं खुद को रंडी जैसा ही फील कर रही थी.

गाना पर के बीएफ ”देख … ग़ालिब चचा ने बी बोला हे गांड मरवाने से कोई नई मरता ग़ालिब, बस चलने का अंदाज़ बदल जाता है. उसके बदन पर सिर्फ एक लटकी हुई ब्रा थी, जो कि चुचियों से अलग लटकी हुई थी.

इसी बीच मैंने अपना एक हाथ उसके लहंगेनुमा लम्बे स्कर्ट में घुसा दिया.

ब्लू फिल्म दीजिए सेक्सी

उसके अगले दिन मेरा काम खत्म हो चुका था और मैं वापिस दिल्ली आ गई थी. मल्लिका की मम्मी चिल्लाती रही, रोती रही, गिड़गिड़ाती रही लेकिन उसकी दोनों चूचियों को अपने हाथों में दबोचकर मैं धकाधक उसकी गांड मारता रहा. मैंने अपनी कामवाली को कह दिया कि अभी तो केवल हम दोनों ही हैं, तो कुछ दिन की छुट्टी ले ले.

पायल- आह आप पहले क्यों नहीं मिले … आआहह कितना मजा आता है रे चुदाई में … आह आज पता लगा. उसको भी मैंने अपने जाल में फंसाया और उसे भी अपनी चुत चाटने वाला बना लिया. मेरा हाथ अब उनकी कमर और पेट के बजाये उनकी टांगों पर था और उनके घुटनों के ऊपर की त्वचा को सहला रहा था.

आज छुट्टी का दिन है और तुम फोन करके घर पर बोल दो कि किसी सहेली के साथ हो, शाम को ही वापिस आओगी.

मैंने उसकी चूचियों को छोड़ा और पेट से चूमते-चूमते नीचे की ओर जाने लगा तो वो एकदम पागल सी होने लगी. दस-पंद्रह मिनट की चुदाई के बाद मेरा वीर्य निकलने वाला था तो मेरे पूछने पर उसने कहा- मेरे मुंह में ही गिराना अपना माल. बिन्नी मेरा सहारा लेते हुए नीचे उतर कर बाहर आई और वीर्य से सनी चूत और टांगों को बिना साफ किये ही बेड पर जाकर पसर गई और बहुत देर तक टाँगे चौड़ी करके नंगी पड़ी रही.

उसके बाद वो मेरी चूत की ओर मुंह को ले गया और चूत पर मुंह रखते ही मैं पागल सी हो गई. प्यार सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मेरी प्रेमिका मुझसे सेक्स तो हरदम चाहती ही थी लेकिन वो मुझे दिलोजान से मुहब्बत भी करती थी. वो सिसकारी लेने लगी, उसकी आंखें बंद हो गई थीं और चेहरे पर परम सुख का भाव दिखने लगा था.

” ज्योति अपने चूतड़ों को उछालते हुए अपने पिता के लंड को अपनी चूत में जड़ तक अंदर घुसवाते हुए बोली।हाँ बेटी मेरा लंड बहुत मोटा है और इसी वजह से तुम्हें इतना मजा आ रहा है क्योंकि लंड जितना ज्यादा लम्बा और मोटा होता है वह औरत की चूत को उतना ही ज्यादा मजा देता है. विक्रम ने संजू की दोनों टांगों को थोड़ा चौड़ा किया और उसकी मस्त चूत को बड़ी ध्यान से देखने लगा.

मैं ब्लाउज के ऊपर से ही उनके कड़े निप्पल को महसूस कर सकता था और चूसने की कोशिश कर रहा था. अब ऐसे में मकान मालकिन के अचानक ये पूछने से मैं घबरा गया और मेरी नजरें तुरन्त शायरा पर चली गईं. वो भुनभुनाते हुए निकल गई- मैं नाश्ता बना रही हूं, जल्दी तैयार होकर नीचे आ जाना.

मैं पिंक कलर की नाइटी के नीचे लाल कलर की जालीदार ब्रा पैंटी पहन कर आई थी.

इस पर संजू बोली- बेड गंदा हो जाएगा ना!विक्रम बोला- नहीं होगा … मैं सब पी जाऊँगा. मुझे ये तो पता था ही कि शायरा का‌ पति पैसे वाला है, ऊपर से शायरा भी बैंक में काम‌ करती है … इसलिए उसके पास कैश, नहीं तो एटीएम कार्ड तो पक्का ही होगा. दस मिनट तक गांड मारने के बाद मैंने लंडरस कंडोम में निकाला और अलग हो गया.

सेल्सगर्ल- यस सर, वैसे तो मैम‌ का रंग फेयर है इसलिए इन पर कुछ भी सूट करेगा … मगर ब्लैक और भी ज्यादा बैटर रहेगा. उसको भी अपना पानी जल्दी निकालना था ताकि वो मेरे लंड का मज़ा दर्द से नहीं बल्कि एन्जॉय करते हुए ले सके‌.

आज मुझे भी पता नहीं क्या हो गया था?शायद मैं भी ये तीन दिन खुलकर जीना चाहता था. वो लंड को पहले चुत के मुहाने तक खींचता था, फिर उसी तेज़ी से जड़ तक समाहित कर देता था. मेरी साली राखी की उम्र 55 के ही करीब होगी और अभी तक उसके मन में एक बेटा पैदा करने की इच्छा थी.

सेक्स सेक्स बीएफ वीडियो

मैंने जवाब में लिखा- हां हां … क्या बात है बोलिए?उन्होंने बोला- यहां लिखने में हिचकिचाहट होती है.

कुछ देर तक लंड रगड़ने के बाद उसकी चुत से योनिरस का तेज़ प्रवाह होने लगा, जिसे मैं चखता चला गया. मेरी नजरें चिपक गयी उसकी चूचियों पर।उसने अचानक मेरी तरफ देखा और वो समझ गयी कि मैं क्या देख रहा हूँ, वो मुस्कुरायी और अपने टॉप को थोड़ा खिसकाया और लिखने लगी।अब उसकी चूचियों का दीदार नहीं हो रहा था तो मेरी नजर उसकी गांड पर गयी।टाइट जीन्स पर उसकी गांड की गोलाई ने मेरे लंड को खड़ा कर दिया. बहुत मिन्नत करने के बाद चाचा ने भी दिव्या को हमारे साथ जाने के हामी भर दी.

मैं अगले दिन घर से ऑफिस के लिए निकला और ऑफिस में बोल दिया कि जरूरी काम से बाहर जा रहा हूँ, तो ऑफिस नहीं आ पाऊंगा. तो मैंने अनु उर्फ अनिता की मौसी सास वीणा को दो दिन के लिए मुंबई आकर रुकने का बोला. ब्लू सेक्सी पिक्चर वीडियो सेक्सआमतौर पर मैं अपरिचित नंबर लेता नहीं हूँ … लेकिन उस संकट की घड़ी में किसी का भी फोन हो सकता था.

तभी मैंने मॉम से कहा- पापा को भी कुछ नहीं पता चलेगा, आप मुझ पर भरोसा कर सकती हो. उसने आधा वीर्य मुँह के अन्दर छोड़ दिया और आधा मेरे मुँह के ऊपर छोड़ दिया.

दो मिनट बाद अनीता ने उसे खींच कर हटा दिया और मुझे बांहों में जकड़ लिया. उस पोजीशन में चुदाई करवाते हुए एक दो बार मेरी और उसकी नज़रें एकाध बार टकराईं. उसको देखकर मैं भी लंड निकालकर मुठ मारने लगा।फिर उसके बाद मैं सोच रहा था कि इसकी चूत में इतनी ही प्यास है तो मैं ही जाकर चोद दूँ क्या?फिर मैंने सोचा कि आखिर वो मेरी बड़ी चाची है.

मैं घर चला गया और अपनी लाइफ में बिजी हो गया क्योंकि मैं कॉम्पटीशन की तैयारी कर रहा था. ” ज्योति ने अपने पिता के मोटे लम्बे लंड को अपनी चूत में अंदर बाहर होता हुआ महसूस करके ज़ोर से सिसकारते हुए अपने चूतड़ों को उछालते हुए कहा।अब ज्योति को दर्द से ज्यादा मजा आ रहा था और वो अपने चूतड़ उछाल उछालकर अपने पिता से चुदवाने लगी।आह्ह्ह … पिता जी बहुत टाइट और मोटा है आपका लंड. कॉलेज पहुंचा ही था मैं … कि‌ गेट पर ही एक‌ लड़के‌ ने‌ मेरे पैरों में पैर फंसा दिया, जिससे‌ मैं धड़ाम से‌ वहीं गिर गया.

अगर तू पहले ही हाँ बोल देती तो!भाभी, दूसरों के पसंद का लण्ड लेने में और खुद पसंद करके लण्ड लेने में बहुत फर्क होता है.

शायरा का फिगर तो अच्छा था ही … ऊपर से सेल्सगर्ल का तो काम ही ये होता है कि कैसे भी ग्राहक को खुश करना है. अनिल ने भी दिखावे को उससे ये वादा किया कि तूने आज बरसों की तमन्ना पूरी की है.

मैं उसके पास गया, मैंने उसको कहा- आप मुझे जानती हैं क्या?उसने कहा- सर, मैं आपकी कम्पनी में इंटरव्यू देने के लिए आई थी … मैंने आपको वहाँ देखा था. अभिषेक ने अपने होंठों से पहले तो मेरे होंठों को चूसा, फिर अपने मुँह से मेरे दोनों होंठों को कस कर दबा दिया. मैं अपने यार के पूरे लंड को मस्ती से चूसने लगी और आगे पीछे करने लगी.

हमने उठ कर अपने कपड़ों को ठीक किया और आस-पास ध्यान से देखा कि कोई हमें देख तो नहीं रहा था. साली जब से बड़ी हुई है, तब से जीना खराब कर रखा इसने … आज पूरी कसर निकालूंगा. चूंकि भाबी अभी मेरा लंड हिला रही थीं, तो मुझे बड़ा सुकून मिल रहा था.

गाना पर के बीएफ वो एकदम नंगी मेरी गोद में थी और बहुत ही प्यार भरी नजरों से मुझे देख रही थी. मुझे चलने में थोड़ी दिक्कत होने लगी थी … क्योंकि मेरी आज ही गांड और चुत दोनों फटी थीं, तो अभिषेक ने मुझे रिक्शा करवा के घर भिजवाया.

बीएफ पिक्चर चूत की चुदाई

मैं एक छोटे गांव से था और मेरा कॉलेज गांव से कुछ दूर एक बड़े शहर में था. पिछले दो भागों में अब तक आपने जाना था कि मेरी रैंगिंग आदि के चलते मुझे आयशा के बारे में कुछ और जानकारी भी हो गई थी. मैं और जोर से चुदाई करते हुए चाची के चूतड़ों पर थप्पड़ मारने लगा, उनके चूतड़ एकदम लाल हो गए थे.

कुछ देर में वो हटी और एक छोटी सी प्लेट में एक छोटा सा चॉकलेट केक लेकर आयी जिसके एक किनारे पर उसका और एक किनारे पर मेरा नाम लिखा था और बीच में एक दिल बना हुआ था. नीरू अब बिल्कुल ठीक हो गयी थी, उसकी गांड का दर्द अब ना के बराबर था. सेक्सी रोमांस की वीडियोमैं आइसक्यूब को ठीक उसके होंठों के ऊपर से छुलाता हुआ घुमा रहा था, जिससे लंड की गर्मी से पिघलती बर्फ का पानी उसके होंठों पर जाने लगा.

बाथरूम में मैं सीट पे बैठ गयी, वो सामने खड़ी थी लेकिन आज उसने चूत मेरे होंठों से नहीं जोड़ी। थोड़ा दूर से ही चमकती हुई धार शुरू हो गयी। मेरा चेहरा भीगने लगा और कुछ खुले होंठों से अंदर मेरे गले को तर करने लगा।उसके बाद हम सो गए।सुबह देर से उठे, आराम से नहा धो के नाश्ता किया। फिर सोचा पता करें कि वहां क्या हुआ।मैंने मम्मी को फोन किया, फोन उपिन्दर ने उठाया।मम्मी कहाँ है?”वो नहा रही है.

मुझे काम है।मैं कुछ बोल पाता उससे पहले उसने कॉल काट दिया।मैंने फटाफट कपड़े पहने और उसके घर पहुंचा तो देखा कि वो घर पर अकेली थी।उसने पिंक कलर की हाफ नाईटी पहन रखी थी।मैंने कहा- भाभी क्या काम है?वो बोली- अंदर चलोगे या सब कुछ यहीं गेट पर ही बता दूं?फिर हम दोनों अंदर आ गए. तभी अनुवादक ने कहा- भाभी जी मैं आपके लिए दवाई लेकर आता हूं वरना आपकी तबियत खराब हो जायेगी.

जिस तरह वियाग्रा मर्द के लिए काम करती है, उसी प्रकार ये गोली लेडी के ऊपर काम करती है. काफी देर तक ट्राई करने के बाद मैंने सोचा कि शायद इसने भी मुझे चूतिया बना दिया. ऐसा कहकर मॉम हंसने लगीं और बोलीं- ले डाल दे अपनी मॉम की चुत में अपना लंड.

मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था तो मैंने उसको बिस्तर पर लेटाया और उसकी कमर के नीचे तकिया लगाया.

अब तक आपने पढ़ा था कि मैं शायरा को छेड़ रहा था और वो मेरी बात पर हंस रही थी. भाभी तो कपड़े पहने हुए थी और उसको लगभग एक महीने से लंड मिला भी नहीं था. फिर धीरे धीरे उसकी कमर पर हाथ चलाने लगा, जिसमें वो भी मेरा साथ देने लगी.

घोसी सेक्सीफिर मैंने उसकी बहन से अपना लंड चुसवाया और उसकी गुलाबी चूत को भी चूसा. शायरा की इस उत्तेजना को और अधिक बढ़ाने के लिए मैंने अब अपनी जीभ को सीधा चुत की गहराई में उतार दिया.

बिहार के एक्स वीडियो

वो हँसते हुए मेरे पास आए और मेरी कमर में हाथ डालकर मुझे अपनी तरफ खींचा और मेरे होंठों से अपने होंठ मिला दीए. मैंने उसके लन्ड को देखा तो वह मेरी गांड के खून से सना था।यह कहानी सेक्सी आवाज में सुन कर मजा लें. फिर मैंने अपना लंड हाथ से पकड़ कर उसकी गांड की दरार में ऊपर नीचे करते हुए रगड़ना चालू कर दिया.

इसलिए तुरंत उसकी गोद से उठ खड़ी हुई और उसको बोली- विजय तुम्हारे सवाल के लिए मुझे थोड़ा वक्त चाहिए. सील टूटते ही सरनी एकदम से छटपटाने लगी, उसके मुँह से तेज चिल्लाने की आवाज निकलने को हो रही थी, मगर मुझे पहले से ही मालूम था, इसलिए मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा रखा था. मैंने उससे पूछा- अब दर्द तो नहीं हो रहा?वो बोली- थोड़ा थोड़ा हो रहा है! पर अब आप चोदो.

फिर मेरा लंड हाथ में लेकर बोला- आपका हथियार मस्त है … चुदाई में मजा बांध दिया. मैं बस चुपचाप एक‌ हाथ से‌ अपना‌ गाल‌ पकड़कर … कभी उस औरत को देखता रहा, तो कभी उस लड़की को. हैलो फ्रेंड्स, मैं दीपाली पाटिल एक बार फिर से अपनी चुदाई की कहानी में आप सभी का स्वागत कर रही हूँ.

तो उसने काफी की जगह अगर ड्रिंक संभव हो तो उसकी इच्छा जताई।मैंने फ्रिज खोलकर देखा तो उसमें कुछ व्हिस्की रखी हुई थी। मैंने लाकर योगेश के लिए पेग बना दिया और उसके सामने बैठ गई।योगेश ने मुझसे भी ड्रिंक लेने का अनुरोध किया।अब मैं समझ गई कि यह आज भी मेरे साथ संभोग करना चाहता है. फिर उस कुतिया ने एक गैर मर्द के लंड को मुँह में ले लिया और उसे चूसने लगी, जिससे राहुल मदहोश होने लगा.

” ज्योति अपने चूतड़ों को उछालते हुए अपने पिता के लंड को अपनी चूत में जड़ तक अंदर घुसवाते हुए बोली।हाँ बेटी मेरा लंड बहुत मोटा है और इसी वजह से तुम्हें इतना मजा आ रहा है क्योंकि लंड जितना ज्यादा लम्बा और मोटा होता है वह औरत की चूत को उतना ही ज्यादा मजा देता है.

मैं सोचने लगा कि पैसे तो जरूर लगे, पर इस Xxx रंडी ने पूरी रात रंगीन कर दी. सेक्सी कॉमेडी सुनाओहाय मेरे प्यारे साथियो, मैंने मेरे यार के लंड को अपने हाथ में लेकर सहलाया और मुँह में भर के चूसने लगी. सेक्सी वीडियो चाहिए बीपी वीडियोमैंने अपने दोनों हाथ अब संजना की कमर पर रख दिये और उसकी कमर को जकड़ के पीछे से तेजी से धक्के देने लगा जिससे संजना की सिसकारियां चीखों में बदल गई थी. वो छटपटाने लगी, उसकी आवाज मेरे होंठों के ढक्कन के कारण बंद हुई पड़ी थी.

मैंने अपना पर्स निकालकर झूठमूठ में एक‌ बार तो पर्स की तरफ देखा, फिर जल्दी से शायरा के पर्स को खोलकर देखने लगा.

अब मैं कोई चौंतीस-पैंतीस का होऊंगा, मैं हट्टा-कट्टा फिट बॉडी वाला एक गठीला वयस्क मर्द हो गया था. विक्रम मेरी बीवी संजू के होंठों को बड़े प्यार अपने होंठों में दबा कर बेतहाशा ऐसे चूसने लगा, जैसे आज वो साल भर की प्यास मेरी संजू के होंठों से बुझा लेगा. वो कहने लगे- मुझसे इतनी दूर क्यों खड़ी हो मेरी जान, हम दोनों में तो ऐसी शर्म वाली बात नहीं होनी चाहिए.

उस दिन के बाद से भैया और मेरी बीच चुदाई का ये सिलसिला अभी भी चला आ रहा है. लग रहा था … जैसे उसकी नजरें मेरी आंखों के पार देखना चाह रही थीं और मैं भी उसको देखे जा रहा था. मेरी मां ने मेरे आगे हाथ जोड़ते हुए कहा- बिटिया तू क्या गई … घर की सारी खुशियां ही चली गईं.

राजस्थानी chudai

मुझसे ये बर्दाश्त नहीं हुआ इसलिए मैंने पहले तो एक बार अपनी गर्म जीभ को बाहर निकाल कर उसके रसीले होंठों को चाटकर देखा, फिर धीरे से उसके नीचे के एक होंठ को अपने मुँह में भर कर हल्का हल्का चूसना शुरू कर दिया. जिसे मैंने अपनी पैंटी में लेकर बहने से रोका।लेकिन रोहित के वीर्य से मेरी पेंटी पूरी सराबोर हो गई और अब इतनी गीली पैंटी पहनना मेरे लिए संभव नहीं था।अत: मैंने पैंटी को रुमाल में लपेट कर अपने पर्स में रख लिया।अब मैं और रोहित स्क्रीन पर चल रही पिक्चर को देखने लगे।चुदाई कैसी लगी डॉली?” रोहित मेरे कान में धीरे से पूछा।एक अलग किस्मत का मजा आया रोहित!” मैंने अपना सिर रोहित के कंधे पर रखते हुए कहा. आपको देसी लड़कियों की चुदाई कहानी का ये भाग कैसा लगा, प्लीज़ मुझे मेल करना न भूलें.

राहुल का लंड दिखने में मेरे लंड जितना ही था … शायद इसलिए मुझे कभी शिल्पा की चुत चोदते हुए पता नहीं चल पाया कि इस चुत में मेरे अलावा और किसी का लंड भी घुस रहा है.

मैं टीवी देखते समय और वैसे भी काफी बार शायरा के कंधे पर अपना हाथ रख लेता था … इसलिए शायद उस दिन भी शायरा ने उस पर इतना ध्यान तो नहीं दिया.

उसके बाद जब कामवाली काम खत्म करके चली गयी तो मैं भी उसके होंठों पर किस करके वहां से आ गया. भाभी ने मेरे लंड के उभार को देखते हुए कहा- क्या हुआ राहुल … आओ अन्दर, ऐसे क्या देख रहे हो. सेक्सी पिक्चर चलने वाली वीडियो सेक्सीवो इस समय घुटने के बल बैठकर मेरी बीवी की नाभि और कमर को चाट और चूस रहा था.

मैंने उसकी जींस उसकी पैंटी के साथ निकाल दी और वो मेरे लंड को बिना बाहर की हवा लगे सीधे अपने मुखपाश में ले गयी, जिससे मेरे जिस्म में एक करेंट सा दौड़ गया. अब उसकी स्पीड सच में तेज हो गयी थी और मुझे मेरी गांड में दर्द सा होने लगा था. जब मैंने देखा कि सरनी की फुद्दी गीली हो चुकी है और मेरे लंड को अन्दर जाने में ज्यादा दिक्कत नहीं होगी, तो मैंने किस करते करते अपने लंड को सरनी की फुद्दी पर सैट कर दिया.

उसके शरीर पर पानी की बूंदें थी और उसने अपने शरीर पर तौलिया लपेटा हुआ था. कुछ देर बाद मैंने शावर बंद किया और कैंची से झांटों को काटने लगी।झांटें काटने बाद मैंने क्रीम लगायी और फिर अपनी चूत मसलने लगी.

उसके शरीर पर पानी की बूंदें थी और उसने अपने शरीर पर तौलिया लपेटा हुआ था.

लड़कों के चेहरे पर लिपस्टिक के निशाँ थे, शर्ट के ऊपरी बटन खुले थे और शर्ट पैंट से बाहर निकली ही थी. वो खुल कर बोलीं- जब मैं रात में तेरे सर को अपनी तरफ खींच बूब्स में दबा रही थी, तो तुमने कुछ किया क्यों नहीं!मैं भाबी की बात सुनकर हैरान रह गया. उसके झड़ते ही मुझे भी बहुत ज्यादा देर नहीं लगी और मैं भी उसकी चुत में ही झड़ गया.

बीपी सेक्सी मराठी बीपी सेक्स मेरी बीवी के घोड़ी बनते ही राहुल ने पीछे से आकर उसके कूल्हे को चूमा और पीछे से ही लंड सैट करके अपनी चुदाई की पोजिशन ले ली. कुछ देर बाद मेरी ननद और मनोज ने एक दूसरे के मोबाइल नंबर एक्सचेंज कर लिए थे.

वो कहती रही कि इतने मोटे लंड से मुझे नहीं करवाना है लेकिन मैंने उसकी बात नहीं मानी. ज़ारा- ऊई! क्या कर रहे हो?मैं- क्यों तुमने मेरे गाल पर नहीं काटी थी?ज़ारा- बदला ले रहे हो?ये कहकर उसने मेरे कान पर काटा तो मेरे हाथ में उसका निप्पल आ गया और मैंने उसे मरोड़ दिया. तो उसको क्यों ना विजय के साथ भेज दें! विजय का घर बड़ा है और शालू को वहाँ कोई तकलीफ नहीं होगी रहने में, इससे हमारे बच्चे भी सेफ रहेंगे और अगर शालू यहां रहेगी तो रात में बच्चे भी हमारे साथ सोएंगे.

સેક્સ ફિલ્મ હિન્દી

इसके एक साल बाद एक दिन अचानक पुराने कपड़ों में कुछ ढूंढते हुए रवि के हाथ पिंकी की एक डायरी लग गयी जिसमें उनके घर और होटल के सेक्स का जिक्र था. चूंकि मैं महीने में एक बार ही शिल्पा को पेलता हूं, तो तब तक तो उसकी चुत फिर से टाईट हो जाती है. अब मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी बुंड और फुद्दी को चाटने लगा.

मैंने सोचा कि अगर इसको दर्द होने के कारण मैंने लंड निकाल लिया, तो ये दोबारा नहीं डालने देगी. मुझे और भाई को तो घर से निकलने में कोई परेशानी नहीं थी क्योंकि भाई और मेरा रिश्ता तो भाई-बहन का था.

मेरी चूत के आस-पास ही उसकी उंगलियां चल रही थीं और उसकी जीभ मेरी नाभि पर आ गई थी.

इस माँ बेटा सेक्स कहानी में मैं आपके सामने यह स्वीकार करते हुए बता रही हूँ कि मैं अपने ही बेटों से कैसे चुद गई. दोस्तो, मुझे मेल करके और कमेंट्स करके बताना कि आपको कहानी में मजा आ रहा है या नहीं?[emailprotected]लड़की की चूत की कहानी का अगला भाग:कोरोना काल में मिला अंकल के लंड का सहारा- 2. मैंने अपने ऑफिस के एड्रेस पर कुछ हाई सेंसर वाले स्पाई कैमरा ऑर्डर कर दिए.

कुछ ही देर में सीमा को होश आने लगा तो मैं उसकी ओर झुककर उसकी चूचियों के निप्पल्स से खेलने लगा और उसके होंठों पर अपने होंठ रखकर चूसने लगा. उसके अंगों में इतनी मादकता है कि काली होने बावजूद वो मर्दों को अपनी तरफ आकर्षित किया करती है. उसका इंतजाम मुझे पहले से करना ही पड़ेगा, नहीं तो मामला गड़बड़ हो जाएगा.

गोवा के माहौल और वहां आस-पास मौजूद सेक्सी कपल्स की वजह से हमारी वाली दोनों बीवियां भी थोड़ी बिंदास हो गई थीं और ऐसा लग रहा था कि खुले जिस्म पर गोवा की ठंडी हवा का उन पर असर होने लगा था जिससे अब वह थोड़ी खुल रही थी और बेबाक भी हो चली थीं.

गाना पर के बीएफ: मेरी हाइट 5 फीट 10 इंच है और मेरे लन्ड का साइज़ 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है. अंकल ने मॉम का ब्लाउज़ खोल दिया और मेरी मॉम की पिंक ब्रा के ऊपर से चूचों को दबाने लगे.

थोड़ी देर में मेरे शैतान ने जहर उगलना चालू कर दिया और वो बड़े मजे से सारा जहर पी गयी. उनके इतना कहने की देर थी, मैंने उनके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और एक लम्बी किस देने के बाद धीरे धीरे उनके सारे अंगों को चूमता चाटता नीचे की तरफ बढ़ने लगा. मुझे मालूम था कि आप किस ट्रेन से आ रहे हैं, तो मैं आपकी ट्रेन की लोकेशन अपने मोबाइल से चैक कर रही थी.

अब आगे पढ़ें कि कैसे मैंने मैरिड गर्लफ्रेंड की गांड मारी:मैं बोला- देखो जानम, थोड़ा तो दर्द होगा ही … और जब ये जैल तुम्हारी गांड में लगाऊंगा, तो तुम्हें उतना ही दर्द होगा … जितना पहली चुदाई में तुम्हारी चूत की सील टूटने में हुआ था.

वो छटपटाने लगी, उसकी आवाज मेरे होंठों के ढक्कन के कारण बंद हुई पड़ी थी. मतलब वन्दना की नौकरानी की!तो आशा मेरी तरफ पीठ करे खड़ी थी मैं कुर्सी पर बैठा उसकी गांड देख रहा था. सुगंधा भाभी- यार मेरी बात का बुरा मत मानो … समझो अभी हम दोनों बस में है और आसपास लोगों को पता चल सकता है … और ऊपर से प्रोटेक्शन के बिना!मैं- पूरी बस में आपको कोई नहीं जानता, तो आप चिंता मत करो.