देसी सेक्सी बीएफ चाहिए

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ एचडी ओपन

तस्वीर का शीर्षक ,

मारवाड़ी सेक्सी भेजिए: देसी सेक्सी बीएफ चाहिए, मॉम डैड का नाम लेकर कह रही थीं- आह … राजू मेरी जान … चोद दे अब तो जोर से … चोद दे डैड …डैड भी लंड पेले जा रहे थे.

सेक्सी बीएफ बड़े लंड

मैं धीरे-धीरे उसकी चुत की तरफ बढ़ने लगा और नीचे बढ़कर मैंने उसकी चुत को चूम लिया जिससे उसके पूरे शरीर में एक सरसराहट सी पैदा हो गयी। करीब 15 मिनट की चुत चूसने के बाद उसकी चुत ने मेरे मुंह में पानी छोड़ दिया, मैंने सारा पानी पी लिया।मुझे बहुत ही मजा आया. जबरदस्त बीएफ सेक्सी वीडियोमैंने आंखें फाड़ फाड़कर देखा कि पूजा की गोल गोल और तनी हुए चुचियां उसकी लाल रंग की ब्रा में क़ैद देख रही थीं.

मैं मूतने के लिए अपनी सीट पर उठ कर बैठा था, तो मेरी निगाह उस लड़की की कमर पर गई. हिंदी में ब्लू फिल्में बीएफजहां तीन लोग नंगे हों वहां एक आदमी कपड़े पहन कर उनकी इंसल्ट करता है। है कि नहीं बे?”हां हां मालकिन.

यदि मंजूर हो तो आगे बात करेंगे।वो बोली- क्या?मैं बोला- ये बात किसी और के सामने नहीं आनी चाहिए और दूसरी तुम मुझे उस दौरान किसी बात के लिए रोकोगी नहीं।वो मान गई.देसी सेक्सी बीएफ चाहिए: छुट्टी के दिन अपने गाँव जाती थीं, जिसके चलते उन्हें अकेले ही रहना पड़ता था।मैं उनके घर पहुँचा.

या गांड पर हाथ फेर देता था। वो भी मेरे लंड पर आते-जाते सबसे नजर बचा कर हाथ फेर देती थी।एक दिन सब घर वालों को किसी काम से मामा जी के घर जाना पड़ा, मैंने सिर दर्द का बहाना बना दिया और मैं नहीं गया।मम्मी-पापा सुबह ही चले गए और अब घर पर मैं और कोमल ही रह गए थे। उसने खाना बनाया.वो मैंने आपको इतनी आसानी से कैसे कह दी? मेरे अतीत में जो कुछ भी हुआ वो मैंने आपको बता दिया.

बीएफ सेक्सी वीडियो चूत - देसी सेक्सी बीएफ चाहिए

थोड़ी देर में जब उसके लंड से वीर्य का भंडार छूटा तो माँ ने उसके सारे वीर्य को पी लिया.साथ ही मेरा लंड 7″ का है। मैं राँची का रहने वाला हूँ।मैं आपका ज्यादा वक्त ना लेते हुए सीधे स्टोरी पर आता हूँ।यह बात उस समय की है.

मैं भी काली ब्रा और पैन्टी में नंगी लेटी थी और फिर मैंने उसको ऊपर से नीचे तक अपनी जीभ से चाटा और किस किया, फिर उसकी ब्रा और पैन्टी भी उतार दी. देसी सेक्सी बीएफ चाहिए पर मुझे भी तुम्हारे साथ और पूजा के साथ सेक्स करना है।तो वो बोली- अभी मैं स्कूल के लिए लेट हो जाऊँगी.

क्योंकि उसकी चूत पूरी कसी हुई थी और मेरा लण्ड बड़ा और मोटा भी था। मेरा लौड़ा अभी उसकी चिकनी और गुलाबी चूत देख कर कुछ ज्यादा ही फूल गया था।खैर.

देसी सेक्सी बीएफ चाहिए?

यदि तेरी मम्मी ने किसी के साथ सेक्स कर लिया है, तो अब तो तू कुछ नहीं कर सकता है. अपनी चूत की गर्मी को चुदाई करवा के ठण्डा करो।सलोनी बोली- तो फिर आ जाओ ना प्लीज. इससे अब कुछ ही देर में मेरा लंड अकड़ कर फूल गया और मेरे सुपाड़े से प्रिया का पूरा मुँह भर गया.

जब राजेश अपनी जीभ से मेरी गाण्ड का छेद चाटने लगा।मैंने हाँफते हुए कहा- यह क्या कर रहे हो?उसने कहा- अपनी जीभ से भी तुम्हारी गाण्ड मारना चाहता हूँ।मैंने कहा- लेकिन वह जगह तो गन्दी होती है।उसने कहा- बिल्कुल नहीं. अगर कोई आदमी ज़रूरत से ज़्यादा परेशानी और उत्पीड़न सह रहा हो और उसके बाद भी अपनी चाहत पूरी ना कर पा रहा हो. अब बारी थी चुदाई की।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !उसका लंड ज़्यादा बड़ा तो नहीं था.

तो वह मुझे प्यार से सहलाने लगा। मैं पलटा और उसकी तरफ पीठ करके लेट गया। धीरे से मैंने अपने कूल्हे उससे सटा दिए। उसने मुझे बाँहों में भर लिया और मुझे सहलाने लगा। मैंने धीरे से अपनी लुंगी ऊपर को की. तारा ने लिंग को चूसते हुए अपना सिर ऊपर उठा कर मुनीर को देखा और मुस्कुराते हुए लिंग के सुपारे पर अपनी जीभ फिराने लगी. तो लोग उसके चूतड़ों के दोनों मटकते उभारों को देखकर लार टपकाते थे।मेरा उसके परिवार से अच्छा संबंध था.

निगाहों से उसके द्वारा मेरी तरफ फेंके गए सवालों के जाल को अपनी निगाहों के जवाब से सुलझाते हुए मैंने हामी भरी. काफ़ी देर तक भाभी मेरा लंड चूसती रही और अचानक मुझे लगा कि मैं बेड में सूसू कर रहा हूँ.

लेकिन साथ में थ्रिल और मज़ा दोनों मिल रहा था।वो पहले ही बहुत गरम हो चुका था और अब जल्दी-जल्दी धक्के लगाने लगा। मेरी गाण्ड में उसका आधा ही लंड घुसा था और उसका पानी निकल गया। जैसे ही पानी निकलने को आया.

’और उसने मेरे सिर को कस कर दबा दिया और चूत ने पानी छोड़ दिया।हाँ, उसकी चूत ने ढेर सारा उसकी मचलती जवानी का रस छोड़ दिया.

पर डर लगता था।मेरे घर में में मेरी विधवा चाची और मेरे बूढ़े बाबा रहते थे। मेरी चाची की उम्र करीब 29 साल की होगी। बाबा घर के बाहर बरामदे में सोते थे. तीसरी निगार और चौथी थी तस्लीमा।जमील मियाँ चूत चोदने के मामले में काफी तंदुरुस्त थे, एक बार में उसे चोदने के लिए दो-दो औरतें लगती थीं। कभी-कभी निगार और रोशन नंगी सोतीं और सलमा लंड चूसती. तभी मैं तेरी चूत की सारी गरमी को चोद कर ठंडी कर दूँगा… बोल मेरी जान.

मैंने आंखें नहीं खोली तो अंकित मेरी आंखों को चूमने लगा और बोला- मुझे पता है कि तू जग रही है मेरी डार्लिंग, बस आंखें खोल, तू भी अपने मन की बातें बोल!और मुझे हिलाने लगा. और हम दोनों साथ में ही झड़ गए। फिर कुछ देर में मेरा लंड उसकी चूत में वैसे ही डाल कर पड़ा रहा।हम दोनों एक-दूसरे से चिपक कर सोए रहे।कुछ देर बाद वो मेरे लंड के साथ खेलने लगी, हमने फ़िर से सेक्स किया, उस दिन हमने 4 बार सेक्स किया।उसके बाद फ़िर हम दोनों शाम को मुंबई घूमने चले गए।हम मरीन ड्राइव पर बैठे रहे. तो मैं आपके योनि छिद्र अर्थात चूत का समग्र दर्शन कर उसका चूषण कर सकता हूँ.

मैं अभी कुछ देर पढ़ाई करूँगा।मैं उसके बिस्तर के बगल में नीचे बैठकर पढ़ने लगा और अनु सोने लगी।ठीक जैसा मैंने उससे कहा था.

शीतल बहुत गोरी थी और बिना कपड़ों के वो किसी हीरोइन से कम नहीं लगती थी. प्रीति ने मीठानंद के माथे पर, गालों पर और फिर होंठों पर चुम्बन जड़ दिये. पर तभी मैंने महसूस किया कि पिंकी की साँसें काफ़ी तेज़ी से चल रही हैं और मेरी भी.

कुछ मिनट बाद उन्होंने मुझे आवाज दी- चंदा उठो! सो गयी हो क्या?मैं सीधा हुआ, मैंने कहा- अंकल, मेरा नाम चंदा नहीं चंद्रप्रकाश है. मेरी गांड की खुजली भी मिटने लगी थी इसलिए मैंने अपनी गांड को हल्के हल्के हिलाना शुरू कर दिया. थोड़ा तेल लगा दो।अनु अपने कमरे में पढ़ रही थी और मौसा जी को आने में अभी देर थी।मौसी बोलीं- बेटा मेरे कमरे में जा कर बैठ.

उसे श्यामा ने ही कहा हुआ था कि सारे कपड़े उतार कर बैठे सिवा चड्डी के.

आखिरकार वासना की अग्नि में जल रही ममता ने वो हिंदी शब्द बोल ही दिया. और इधर मेरा लंड अपने पूरे शवाब पर था।मैंने एक हाथ से उसकी सलवार को खोला.

देसी सेक्सी बीएफ चाहिए हर शादीशुदा औरत को जो चीजें चाहिए होती हैं और जो उसकी इच्छाएं होती हैं. मैंने अपना हाथ उसकी पेंटी से बाहर नहीं निकाला, बस चूत को सहलाता रहा.

देसी सेक्सी बीएफ चाहिए फ़िर मैंने उसे झुकाया और उसका पैन्ट और पैन्टी थोड़ी नीचे की और पीछे से अपना लन्ड उसकी चूत पर रख कर रगड़ने लगा।उसकी चूत भी गीली हो चुकी थी. वो भी मुझे बहुत सम्मान देती थी और शायद वो मुझे अपनी हवस मिटाने के लिए लाइन देती थी.

जब वो लड़की अपना सामान सीट के नीचे रख रही थी, तो उसकी गोल गांड बिल्कुल मेरे चेहरे के सामने थी.

जापानी सेक्सी फुल मूवी

तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड तो होगी ही।मैंने कहा- हाँ भाभी मेरी गर्लफ्रेंड है. मैं जानता हूँ कि असली मज़ा लंड की साइज़ का नहीं, पर सेक्स का होता है. भाभी जोर जोर से चिल्लाने लगीं और मुझे मुझे गंदी गंदी गालियां देने लगीं.

और क्या चलेगा।मैंने पूछा- ऐसा भी क्या हो गया कि आप इतनी उदास हो।तो वो बोली- यह तो मेरी किस्मत ही खराब है. फिलहाल तो मैं इस उपलब्धि से बहुत खुश था।फिर से मुझे सेक्स के आनन्द के लिए एक ज़रिया मिल गया था। उस दिन के बाद से मैं हमेशा स्नेहा को जल्दी घर भेज देता था और निलय से अपने लंड को खुश करवाता था। पहले-पहले तो मैंने भी उसके लंड को भी सहलाया. मैं अभी होटल से लेकर आता हूँ।फिर मैं होटल से बटर चिकन लेकर 10 मिनट में घर पर आया.

और मैंने ये जाना है कि चोदने से कहीं ज्यादा मज़ा और एक्साइटमेंट किसी लड़की को चुदते हुए देखकर आता है.

वैसे मेरे पति तो मुझे चोदते ही हैं लेकिन मुझे और ज्यादा चुदवाने का मन करता है. पर उसने मुझे वहीं से एक ‘टाटा’ किया और गेट से बाहर चली गई।वो कौन थी. ऐसा लगा मानो वो मरने वाली हो।थोड़ी देर बाद वो नॉर्मल हो गई और मज़े से गाण्ड चुदाने लगी।‘आआआआहह.

दादा जी भी मेरी पतली कमर में से अपने हाथ डाले हुए मेरे बदन को मसलने लगे और अपने चेहरे को मेरे चुचों के ऊपर रगड़ने लगे. तो मैंने लंड को हल्का सा बाहर निकाला और पूरे दम से धक्का मारा।सोनी की चीख फिर से बहुत जोर से निकली ‘आआआ. जिससे उसकी आँखों से आंसू भी आ रहे थे और वो मज़े में सिसकारियाँ भी ले रही थी।जब लंड पूरा अन्दर चला गया.

यहां पर रुक कर पहले मैं आपको मेरी भतीजी के बारे में बता देना चाहता हूँ. थोड़ी देर तक चुप रहने के बाद पूजा फिर बोली- मुझे आज बहुत शरारत करनी है.

इस पर वो नाराज़ होकर बोली- अच्छा है तब तक खेती का काम बंद हो जाएगा, फिर मम्मी भी यहां ही रहेंगी. मेरा नाम विकी है और अब तो मैं शादीशुदा बच्चों वाला एक गृहस्थ आदमी हूँ. लड़की और चिपक गई और लण्ड को अपनी नाभि के नीचे पेट से रगड़ने लगी।रगड़ से लण्ड उफान मारने लगा।लड़के ने समय का लाभ लेने की सोचा कि इस वक्त इस को चोद लिया जाए.

चाची साधारण दिखने वाली 35-36 साल की होंगी। थाईराइड की समस्या से उनका वजन कुछ सालों से बहुत बढ़ गया है।उनका फिगर 36-32-38 का है.

मुझे थोड़ा अकेलापन तो लगता है, पर तुम सबको खुश देखकर मैं बहुत खुश होता हूँ. पर जल्दी से उठे और दोनों ने कपड़े पहन लिए और खराब चादर को बाथरूम में रख दिया।पिंकी ने टेबल पर खाना रख दिया. वैसे मेरे पति तो मुझे चोदते ही हैं लेकिन मुझे और ज्यादा चुदवाने का मन करता है.

मैं ज्योति को बचपन से जानता था, उसका अब तक किसी के साथ कोई अफेयर नहीं रहा था. उस दिन की घटना बता दूँ कि सबसे पहले जब मैंने रिया भाभी को प्रपोज़ किया, तो मुझे एक पल के लिए भी उनका जबाव पाने का इन्तजार नहं करना पड़ा.

फिर मैंने बाहर घूमना भी कम कर दिया और घर के पास ही टहलता रहता था कि कहीं मुझे दिख जाए या मिल जाए।एक दिन ऐसे ही मैं अपने बिल्डिंग की छत पर खड़ा कुछ सोच रहा था कि तभी वो वहाँ सूखे कपड़े रस्सी पर से उतारने के लिए आई।मैंने उसे देखा तो वो मेरे पास आई और बोली- थैंक्स. मुझे यह सुनकर बहुत अजीब हुआ कि मेरे जीजू मेरी दीदी से ज्यादा अपनी भाभी को चोदते हैं. पर हमारा प्यार और बढ़ गया था।आज भी मैं उससे बहुत प्यार करता हूँ।[emailprotected].

ಸೆಕ್ಸ್ ಪಿಚ್ಚರ್ ಗಳು

मैंने उसे कॉफी बना कर दी।मैंने सोचा था कि आज अगर जबरदस्ती भी करनी पड़ी तो करूँगा.

हमें क्या पता वो हर दिन अपनी गाड़ी में ऑयल डाल रही है।सब हँसने लगे।तब सलोनी ने पूछा- अब बताओ तुम लोगों ने मेरा वीडियो क्यों बनाया?तब संतोष बोला- ताकि तुम कभी भी हमसे चुदने को मना ना कर सको।सलोनी ने कहा- मतलब?‘जिस दिन तुम हमें चोदने नहीं दोगी. क्योंकि मामा के ससुर जी बीमार थे।गाँव वालों से दुश्मनी के कारण मामा किसी को अपने घर नहीं बुलाते थे, अगर वे कहीं जाते हैं तो बस मेरी माँ को ही बुलाते हैं. दोस्तो, मेरा नाम निशा है। मैं 40 साल की हूँ, मेरा फिगर 38सी 36 40 है और मैं दिखने में बहुत ही हॉट और सेक्सी हूँ। आप लोगों ने मेरी पिछली कहानियों को पढ़ा, काफी सराहा और काफी कमेन्ट भी दिये इसलिये एक और सच्ची कहानी लेकर आई हूँ आपके के लिये कि कैसे मैंने अपने छोटे भाई की पत्नी के साथ मनाली में लेस्बीयन सेक्स किया।अब मैं कहानी पर आती हूँ.

इस बात पर मैंने कहा कि इसके लिए पोर्न वीडियोज भी तो हैं, उन्हें देख लिया करो. कि भाभी पूरी की पूरी पानी से नहा चुकी थी और यह देख कर मैं हँसने लगा।सकीर्ति- हँस क्या रहे हो. बीएफ फिल्म चोदने वाली हिंदी मेंनायर मेरी धकापेल चुदाई करके और मेरी बुर को वीर्य से भर दिया। अब वो निढाल होकर मेरी बगल में लेट गया और मेरे चूतड़ों को सहलाते हुए बोला- जानेमन वाकयी आप एक गरम और जबरदस्त चुदक्कड़ माल हो.

और पता नहीं सुबह अपने पैरों से उठ कर अपने कमरे पर जा पाऊँगी या नहीं. अपनी निक्कर उतार कर मेरे चेहरे पर डाली।उसकी निक्कर से उसकी चूत के रस एवं उसके मूत की मिली-जुली महक आ रही थी।मैं उस खुशबू से बौरा गया।जैसे ही वो मेरे पास आई.

इतना कहकर सन्नी स्पीड से निधि की ठुकाई करने लग गया, वो 10 मिनट तक उसकी ज़बरदस्त चुदाई करता रहा।निधि- आ. बहुत ही दर्द हो रहा था। वो नरक के दो घंटे में कभी भी नहीं भूल सकती. उसके बाद तू चुदाई के लिए एकदम पक्की हो जाएगी… फिर चाहे आगे डालो या पीछे.

उस दिन शाम को थोड़ी हल्की बूंदा बूँदी हुई थी और इसलिए मौसम सुहाना था. इसलिए मैंने वहाँ से जाना ही बेहतर समझा।दूसरे दिन पिताजी को लेकर मैं स्कूल में गया, पिताजी टीचर से मिल कर गुस्से में ही घर चले गए।दिन भर मैं जैसा-तैसा स्कूल में बैठा रहा, स्कूल छूटा. तो दोस्तो हुआ यूं कि एक दिन भाभी ने मुझे फोन किया कि वो अपने पति के शराब पीने की आदत से काफी परेशान हैं, इसलिए उन्होंने अपने पति को थोड़े दिन के लिए उनके दोस्तों के साथ शिखरजी, जो कि राजस्थान में एक धार्मिक जगह है, वहां भेज दिया.

मादरचोद, साली, रांड, छीनाल, चोदीचे तुझ्या गांडीत पहिले मी लंड घालणार आहे, नंतर मी तुझी पुच्ची झवीन.

तो मैं उसे देखता ही रह गया, उसकी उम्र करीबन 18 साल होगी, उसकी अभी मूछों के बाल आने लगे थे और वो एकदम दूध सा गोरा था. साफ़ शब्दों में कहूँ तो वे एक माल थीं और मेरे डैड को अपने बिजनेस से फुर्सत नहीं होने के कारण उनकी जवानी का रस बह रहा था।खैर.

मैं आपकी बहन हूँ।भाई ने लौड़े को गाण्ड पर टिकाया और प्यार से छेद पर लौड़ा रगड़ने लगा।भाई- अरे दीदी डर मत. थोड़ी देर बाद मुनीर भी तारा की योनि के पास आ गयी और अब वो माइक के साथ बारी बारी से तारा की योनि चूसने और चाटने लग गई थी. जो मुंबई में रहती थी।हम दोनों एक-दूसरे से रोज रात में बातें करने लगे। वो काफ़ी खूबबसूरत और गोरी थी.

तो दो दिन के बाद आऊँगा।मैं घर से बाहर निकला और रात को मामी के घर आ गया।मामी मुझे देख कर बहुत खुश हुईं और उन्होंने मुझे गले से लगा लिया।पहले हम दोनों ने चाय पी और बातें करने लगे।मामी उस दिन बहुत सुंदर लग रही थीं, मैंने धीरे से एक हाथ मामी के मम्मों पर रख कर उनको मसलने लगा और उनको किस करने लगा।मामी भी मेरा साथ दे रही थीं।मामी ने सलवार और कमीज़ पहना हुआ था. एकदम क़यामत लग रही थी।मैंने उसे बाँहों में जकड़ा और चूमने लगा, चुम्बन करते-करते उसके दूध दबाने लगा. ये कहानी है आपके अपने सरस और सरस के सामने वाले फ्लैट में रहने वाली तीन लड़कियों की.

देसी सेक्सी बीएफ चाहिए फिर मीशू ने मुझको जोर से पकड़ लिया और नाखून गड़ा दिये और झड़ते हुए वो मुझको दूर करने लगी. मुझे नहीं पता, मगर मेरी चूत मुझ से बहुत कुछ कह रही थी कि काश आज मैं मालती की जगह होती तो यह मज़ा मुझे मिल रहा होता.

साली जीजा का सेक्सी

मैंने उससे पूछा कि क्या चक्कर है?उसने तब बहुत देर बाद मुँह खोला और बोला कि वो लड़की, जिससे आप मसाज़ करवाती थीं. जहाज भी समय पर आ चुका था। सभी सवारियाँ बारी-बारी से अपनी अपनी सीटों के क्रमानुसार अपनी-अपनी जगह पर बैठ रहे थे. मैं अपने मोबाइल में किरण और पूजा की लेस्बियन क्लिप को देखने लगा और मेरा लण्ड फिर से कड़ा हो गया।कुछ देर बाद किसी ने मेरा दरवाजा नॉक किया.

और हाँ मैंने इसी रात उसकी गाण्ड भी मारी, वो पहले से ही गाण्ड मरवाने की शौकीन थी।मैंने उसकी गाण्ड कैसे मारी. फिर ज़ोर ज़ोर से चूसना शुरू कर दिया।वो भी चूचे चुसवाती हुई मेरे लंड को ज़ोर-ज़ोर से मसलने और दबाने लगीं।फिर मेरा रस गिरने वाला था. लंड की बीएफऔर कुछ ही देर बाद हम दोनों के शरीर के सारे कपड़े हमारे बदनों से दूर कहीं पड़े होते और हम दोनों के उत्तेजित बदन एक दूसरे के अहसासों को संतुष्ट कर कहीं खुद को तलाश रहे होते.

मैंने उससे छेड़खानी करते हुए कहा- बड़ी जानकारी है … क्या पहले भी इधर आ चुके हो?रवि मुझ पर झपटने को हुआ तो मैं दूर भाग गई और मैंने उससे कहा- प्लीज़ दरवाजे को अन्दर से कुण्डी भी लगा दो.

00 स्टार्ट हो जाती थीं जिसके लिए मुझे 5 बजे घर से निकलना होता था।मेरे फ्लैट में एक ही बाथरूम था। मेरा और मेरी मॉम का उठने का टाइम एक साथ था. वो ब्रा-पैन्टी में बहुत सेक्सी लग रही थी। काली ब्रा और पैन्टी में उसका बदन गोरा होने के कारण उसके ऊपर काली ब्रा और पैन्टी बहुत मस्त लग रही थी।फिर मैं उसकी सेक्सी जाँघों को चाटने लगा और किस करने लगा। मैंने उसे उल्टा किया और उसकी ब्रा को खोल दिया और उसकी कमर पर किस करने लगा।अब मैं उसके चूतड़ों पर किस करने लगा.

कुछ 2-3 मिनट जीभ ऐसे घुमाने के बाद मैंने अपनी जीभ उसकी फुद्दी में अन्दर डाल दी और फुद्दी के अन्दर आगे की तरफ़ पूरे दबाव के साथ 2-4 बार रगड़ी. तो दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरी कहानी, आशा करता हूँ आप सब 2 बार जरूर झड़े होंगे. उधर प्रीति को भी कुछ समझ में नहीं आया और वह मीठानंद की बांहों में जाकर उनसे चिपक गई.

वो उठी और बेड पर टांगें फैला कर लेट गई और मुझे ऊपर आने का इशारा करने लगी.

तभी मैंने एक जोर का धक्का दे मारा और मेरा दो इंच लंड चुत के अन्दर घुस गया. साला कैसे अपने लौड़े को पैंट पर से ही मसल रहा है। साली तू तो जान लेकर रहेगी एकाध की. अब क्या आप मेरी योनि अर्थात चूत में लंड को डुबकी लगाने की आज्ञा देंगे?’‘अवश्य बालिके.

सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ चाहिएऔर उसकी ब्रा खोलने की कोशिश में उसका हुक टूट गया और उसके रसीले संतरे बाहर आ गए।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !हम दोनों की एक बार आँख मिली. हाय, क्या दिलकश माल थी।मैंने उसके एक निप्पल को चूसना शुरू किया और दूसरा हाथ उसकी योनि पर फेरने लगा।उसने पानी छोड़ दिया था।मैं समझा कि उसका यह पहली बार है.

सेक्सी पिक्चर बॉलीवुड में

उसने मुझे चिढ़ाते हुए कहा- अबे झल्लाती क्यों है? हम दोनों मिलकर कचूमर निकालेंगे न उसका. मैंने उसकी बात सुनते ही उसके लहँगे को ऊपर किया और देखा तो जो मैं लाल रंग की पैंटी और ब्रा लाया था प्रिया ने वही सैट पहना हुआ था. उन्होंने अपने छेद को थोड़ा एडजस्ट किया और धीरे से लंड को अपने अन्दर समां लिया।दोस्तो.

अब मुझे अकेलापन महसूस नहीं होगा क्योंकि अब मेरे साथ मेरी बहू भी है और पत्नी भी है. किसी का लंड अपनी चूत में लेने से! अगर मेरे ससुराल वालों को पता चल गया तो कितनी बदनामी होगी. मेरी भाभी की 5 फुट 3 इंच हाइट की थीं और वे ज्यादा पतली नहीं थीं, पर मोटी भी नहीं थीं.

देवर ने मेरी पेंटी को निकाल कर मुझे एकदम नंगी कर दिया और मुझसे बोलने लगा- भाभी, मैं आपको बहुत पहले से पसंद करता था लेकिन आपके साथ ये सब करने की हिम्मत नहीं होती थी. तो उस वक़्त पति की ये ड्यूटी है कि वो पत्नी का डर दूर करे और सेक्स इस प्रकार आराम से करे कि पत्नी को दर्द ना हो. फिर एकदम से उसका जिस्म टाइट होने लगा और उसने अपने हाथों से मेरे सिर को अपनी चूत पर दबा दिया और अपना पानी छोड़ दिया।मैं उसका पूरा पानी पी गया और उसकी चूत को चाट-चाट कर साफ़ कर दिया।अब उससे रुका नहीं जा रहा था.

पिंकी ने मुझे अपनी बाँहों में लिया और 2 मिनट लंबा चुम्बन किया।फिर मैंने पिंकी से पूछा- आज रात में तो आओगी ना. प्रीति ने अपने होंठ मीठानंद के बालों से भरी छाती पर फिराई और नाभि को चूमने लगी.

मेरे लौड़े से ढेर सारा पानी निकला और वो सारा पानी पी गई।अब मैंने कहा- अब मेरी बारी है.

अब लन्ड पूरा अन्दर जा चुका था और उसे भी मजा आ रहा था।मुझे ऐसे लग रहा था कि जैसे मैं एक छोटी सी गुड़िया को चोद रहा हूँ। मैं लगतार 15 मिनट तक उसकी चूत में लन्ड के झटके मारता रहा।तभी वो अकड़ी और सिसका पड़ी- उई. हिंदी मे बीएफ पिक्चरतो वो मुझसे चुदने का तैयार हो जाए।एक तरह से देखा जाए तो मैं अपने लिए परमानेंट चुदाई का जुगाड़ करना चाहता था और मैं जानता था कि ममता को अच्छे से संतुष्ट कर दिया. मामी और भांजे की बीएफमैंने अपनी सीट ढूंढी, एक पे अपनी चादर बिछाई और दूसरी सीट जो सामने वाली थी, उस पे अपना सामान रखा और लेट के मोबाइल पे गाने सुनने लगा. उसने अपने कपड़े ठीक से पहने और मुझसे बोली कि तुम्हें शर्म नहीं आती अपनी बहन के साथ ऐसा करते हुए?मैंने कहा- सॉरी मुझे माफ़ कर दो … अब से ऐसा कुछ नहीं होगा सॉरी.

ऐसा लगा मानो वो मरने वाली हो।थोड़ी देर बाद वो नॉर्मल हो गई और मज़े से गाण्ड चुदाने लगी।‘आआआआहह.

पूरा डाल दो।मैंने चूसना छोड़ दिया और अपना खड़ा लण्ड चूत के मुँह पर लगा दिया। एक ज़ोरदार धक्का मारा. ’‘अरे वाह, मेरे कुत्ते के लंड में एकदम जान आ गई, देख साला कैसे इतरा रहा है भैनचोद. मादरचोद, साली, रांड, छीनाल, चोदीचे तुझ्या गांडीत पहिले मी लंड घालणार आहे, नंतर मी तुझी पुच्ची झवीन.

ये तो 3000 दे रहे हैं।पर बाद में उस आदमी ने साक्षी की जवानी के दाम 5000 रूपए लगाए. मैंने अपना लौड़ा उसकी चूत में पेल कर मैंने उसकी चूत के परखच्चे उड़ाने शुरू कर दिए. उस पर बहुत से लड़के लाइन मारते थे लेकिन वह किसी को घास नहीं डालती थी.

ফ্যামিলি সেক্স ভিডিও

अब वो नीचे से अपनी गांड इधर उधर हिलाने लगी और छूटने की कोशिश करने लगी. नहीं तो मैं मार जाऊँगी।मैंने उसकी चूत पर लण्ड रखा और ज़ोर का धक्का मारा। उसकी चीख निकल गई और बोली- ओह्ह. ’ कहते हुए उन्होंने मेरे होंठों को हल्के से काट लिया।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैंने भी उनके होंठों को हल्के से काटा.

वो तो पूरी तरह से छटपटाने लगीं।अब मेरा भी लंड पूरा खड़ा हो चुका था.

जिससे उसकी चूत और उभर आई। मैंने उसके दोनों पैर फैला दिए और उसके बीच में आ गया.

फिर हम दोनों साथ-साथ झड़ गए। मेरे वीर्य से उसकी बुर भर गई। हम दोनों थोड़ी देर निढाल पड़े रहे. उसकी चूत में उंगली डाली वो नीचे से पूरी तरह गीली हो चुकी थी। उसने भी मेरा मोटा लण्ड अपने कोमल हाथों में ले लिया और उससे खेलने लगी।मैंने कहा- अपने मुँह में ले लो।उसने मना कर दिया।अब मैंने उसको कपड़े उतारने के लिए कहा. सन्नी लियोन बीएफमैंने कहा- अभी आपने मेरी बदमाशी देखी ही कहाँ है।वो बोलीं- अच्छा जी.

अन्दर के माल को सहलाने लगा।इतने में ही मैडम इतना ज्यादा गरम हो गई कि उसने मुझे सोफे पर गिरा दिया और मेरे ऊपर लेट गईं, मेरी आँखों में आँखें डाल कर देखने लगीं. उसने मेरे लोवर के नीचे के हिस्से से लंड को बाहर निकाला और फिर उस से खेलने लगी. मुझे इतना प्यार तो मेरे बॉयफ्रेंड ने भी नहीं किया था जितना प्यार जीजू मुझे कर रहे थे.

यदि तेरी मम्मी ने किसी के साथ सेक्स कर लिया है, तो अब तो तू कुछ नहीं कर सकता है. प्रिया बोली- इतनी भी जल्दी क्या है?मैं बिना कुछ बोले ही उस पर टूट पड़ा और पीछे से दोनों हाथों से उसके चूचों को पकड़ कर दबाने लगा और उसकी गर्दन को चूमने लगा.

हिनको जवान लड़कियों के साथ सेक्स का चस्का था या जिनकी पत्नियों की मौत हो गई होती थी.

वो भी मेरा साथ देने लगी।मैंने एक हाथ से उसकी ब्रा का हुक खोल कर ब्रा को अलग कर दिया।क्या चूचे थे उसके. क्या मज़ा आ रहा था।वो बोल रही थी- इतनी मस्त चुदाई मुझे पहले नहीं मिली. मेरे फ्रेंड दिनेश ने अपने क़जन को साथ लिया और दोनों को पिक कर लिया.

बीएफ ब्लू पिक्चर चोदा चोदी मैंने लंड बाहर निकाल लिया और वो उठकर बैठ गई और चूत को जांघों के बीच में दबाकर दर्द से कराहने लगी।मैंने कहा- सॉरी यार… ज्यादा दर्द हो रहा है क्या?वो रोने लगी. ताकि उनको कोई शक न हो।घर से मैं बाहर चला गया और उनके आने के बाद आकर बताया- सुबह से दोस्त के साथ था।कोमल भी यह सुनकर मुस्कुराने लगी। ऐसे ही जब भी मौका मिलता.

तो बस मन करता है कि अभी इनकी गाण्ड में अपना लण्ड डाल के चोद डालूँ।मामी के दो बच्चे हैं जो अभी छोटे हैं और उनके पति यानि मेरे मामा की मृत्यु दो साल पहले हो चुकी है क्योंकि वो ड्रिंक बहुत करते थे।मामा की मृत्यु के बाद मामी थोड़ा सा उदास रहने लगीं. हमारे मन में बांछें खिल रही थीं। मैंने अपने रूममेट को दूसरे कमरे में एडजस्ट किया और अपने कमरे में ‘कैंडल-लाईट’ डिनर का इंतज़ाम किया।हमने दिन में एक केक मंगवाया था. क्योंकि मेरी भाभी बड़ी ही प्यारी और सीधी किस्म की औरत हैं लेकिन वो तो मेरी प्यार भरी चुदाई का ही असर है कि वो मेरे साथ सब कुछ भूल जाती हैं और चुदाई के लिए तैयार हो जाती हैं।यह बात भी मुझे उन्होंने ही बताई थी। मेरी उनके साथ चुदाई में सिर्फ वासना ही नहीं थी.

देशी सेक्सी विडियों

तभी उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया तो मैं उसका सारा पानी चाट गया, उसका रस बिल्कुल हॉट कॉफी जैसा लग रहा था।फिर मैं खड़ा हुआ और उसे किस करने लगा और उसके मम्मों को दबाने लगा वो भी सिस्कार रही थी- मुझे भी लण्ड चूसना है।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैंने अपना लण्ड उसके हाथ में दे दिया. फिर जीजू सोफे पर आए और रवि ने कुछ पल मेरी चूत चाटी और उसने लौड़े को गीला कर मेरी चूत पर रख झटका दिया, मोटा लंबा लौड़ा मेरी चूत फाड़ने लगा. अभी घर में कोई नहीं है और कितने दिनों से मेरे लंड का पानी अन्दर ही सूख रहा है। मेरा लावा अपनी चूत में ले लो मौसी।उन्होंने कहा- प्लीज़.

वो हंसने लगी और बोली- एक साथ कैसे चूस सकते हैं?उसको 69 की जानकारी नहीं थी, तो मैंने उसे समझाया. अब वो नीचे से अपनी गांड इधर उधर हिलाने लगी और छूटने की कोशिश करने लगी.

बस एक इन्तजार था और भरोसा भी था कि इसकी चूत मुझे पक्का मिलेगी लेकिन कब मलेगी ये नहीं मालूम था।इतनी सेक्सी मैडम.

अब हम दोनों बहुत आगे बढ़ चुके थे, हमारे बीच अब ज्यादातर सेक्स की भी बातें ही होने लगी थीं. रेल के आने का वेट कर रहा था और अपने फोन में इयरफोन लगाकर आँखें बन्द किए. ए कर रहा हूँ। मैं एक जॉइंट फैमिली में रहता हूँ। मेरी हाइट 5’9″ है और मेरा रंग एकदम गोरा है।दोस्तो, मेरी इस कहानी में मैंने कुछ गाली युक्त शब्दों का इस्तेमाल किया है जिसके लिए मैं पहले ही माफ़ मांग रहा हूँ।मेरे साथ जो घटना घटी है.

नीलम ने मुझसे पूछा- आज आप क्या करने वाले हो?तो मैंने उससे कहा- आज तेरी आराम चुदाई होगी।‘मतलब?’‘मतलब की आज तेरी सील टूटेगी. छुट्टियां चल रही थीं, इसलिये मैं भी अपनी मस्ती में मस्त था, पढ़ाई लिखाई कुछ नहीं. यह जान कर उसने मुझे बाँहों में भर लिया और बोला- उस बुढ्ढे के साथ अपनी जवानी क्यों बरबाद कर रही हो मेरी जान.

फिर करीब दस मिनट की लंड चुसाई के बाद रजत के लंड ने वीर्य छोड़ दिया तो शीतल उसके वीर्य को पी गयी और अपना मुँह पौंछ कर रजत की तरफ देखकर मुस्कुराई और कमरे से बाहर चली गयी.

देसी सेक्सी बीएफ चाहिए: मैं बुआजी के ऊपर उल्टा लेट कर उनकी चुत चाट रहा था, जबकि मेरा लंड उनके मुँह की तरफ था. इसलिए इस बार मैंने अपने दोनों हाथों से उनकी गांड को थोड़ा चौड़ा किया और एक जोरदार झटका दे मारा, जिससे मेरा लंड आधे से ज्यादा उनकी गांड में घुस गया.

सामने एक नाटे कद का काला सा लड़का खड़ा था। मैं चुदाई के कारण कुछ हांफ सी रही थी और मेरी जाँघ से वीर्य गिर रहा था।कहानी कैसी लग रही है. तभी एक और झटके के साथ अंकल ने अपने लंड के कुछ और हिस्से को मेरी चूत में डाल दिया. ऐसा लगता है कि आप पर कोई सांड का साया चढ़ जाता है।मैंने कहा- अनु डार्लिंग.

तो देखा मेरी सहेली दो लन्डों के बीच में सैंडविच बनी पड़ी है।हमने उन्हें उठाया और उन्हें भी साथ चलने को कहा।मेरी सहेली ने कहा कि वो बाद में आएगी, अभी तुम जाओ। हमने कैब बुक की और सारे निकल पड़े चुदाई के अगले सफर पर.

भाभी जोर जोर से चिल्लाने लगीं और मुझे मुझे गंदी गंदी गालियां देने लगीं. यहाँ तक कि पेशाब करने के बाद भी पानी से धोती हूँ।इस पर वो मुस्कुराए. मुझे भी अपनी प्यासी चूत में लंड चाहिए था और जीजू तो मुझे चोदना ही चाहते थे.