बीएफ लगाइए बीएफ

छवि स्रोत,ಪ್ರಿಯಾಮಣಿ ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ ब्लू वीडियो हिंदी: बीएफ लगाइए बीएफ, आहा हा हा … क्या रसीले होंठ थे उसके!कभी मैं उसके मुंह में अपनी जीभ देता तो कभी वो मेरे!20 मिनट के इस लंबे चुम्बन के बाद हम अलग हुए और एक दूसरे की तरफ देखकर बस हंस पड़े।मैंने मौक़े का फायदा उठाया और उसको फिर से ‘आई लव यू’ बोल दिया और उसका जवाब ‘आई लव यू टू’ सुनकर मैं खुशी से झूम उठा और उसके होंठ फिर से चूसने लगा.

गधे और लड़की की सेक्सी

वो हंस कर बोली- ठीक है मेरे जानू …अनमोल ने मेरी बहन की इच्छा के जैसा ही किया. हिंदी सेक्सी इंडियन सेक्सीअब मेरे शादीशुदा दोस्त और महिलाएं समझ गए होंगे कि मैं किस आसन की बात कर रहा हूँ.

मगर अब एक बात ध्यान से सुन लो कि जब तक तुम यहां हो, तुम सिर्फ मेरे हो. घोड़ा घोड़े वाली सेक्सीमैंने उससे धीरे से कहा- मेरी जान, मैं तो तुम्हारा दीवाना हो गया हूं.

मेरे लंड की साइज़ नॉर्मल ही है, मगर ये इतना मस्त और लम्बा चलने वाला है, जितने में औरत का दर्द बाहर आ जाता है.बीएफ लगाइए बीएफ: उसने अपने काले से लंड को मेरे मुंह में दे दिया और मुझे अपना लंड चुसवाने लगा.

थोड़ी देर के बाद उसने अपना लण्ड बाहर निकाला और मां के पेट पर ही झड़ गया.लेकिन शालू …आंटी बोली- बस अब ना-नुकर मत कर, मैं टोनी को बोल देती हूं कि तुझे ये रिश्ता पसंद है.

सेक्सी भाभी वीडियो सेक्स - बीएफ लगाइए बीएफ

कुछ दिन तक हम लोग पार्क में जब आमने सामने आ जाते थे तो बातें हो जाती थीं.पापा के जाने के बाद मेरी मॉम ने अपनी जिस्मानी भूख मिटाने के लिए एक आदमी को सैट कर रखा था.

उसकी चूत से मैंने लंड को बाहर खींच लिया और सिर्फ लंड के टोपे को ही अंदर रखा. बीएफ लगाइए बीएफ मैं उसके इतराने पर एकदम से चिढ़ गया और उसकी तरफ मैंने थप्पड़ मारने का इशारा किया.

उधर ब्रून किसी दानवी ताकत के अंदाज में रानी की चुत में लंड अन्दर बाहर करने लगा.

बीएफ लगाइए बीएफ?

मेरा लंड भी चिकना होकर सरपट सरपट उसकी चूत में गच गच अंदर जा रहा था. मुझे पहले से ही पता था कि रमेश नामर्द है इसलिए कोमल की जवानी को भोगने के ख्याल से ही मेरा लंड बार बार खड़ा हो जाता था. वे चूंकि लंड की प्यासी होती हैं, इसलिए खुल कर चुदाई का मजा देती हैं.

मैंने कहा- ठीक है, आप तैयार रहना फिर!अगले दिन दोपहर में जब वो सामने आई तो ऐसा लग रहा था जैसे मानो मेरे लिए ही सज कर आई हो. दोस्तो, मैं प्रेम फिर से अपनी कहानी लेकर आया हूँ। इसमें मैं अपनी गांड की सच्ची कहानी बताने जा रहा हूँ कि इसका उद्घाटन कैसे हुआ. एक दिन ऐसे ही मौके पर मैंने कह दिया- चाची मुझे चारपाई पर नींद नहीं आती, मुझे भी बिस्तर पर सोना है.

दीपा ने मुझे अपने कमरे में बुलाया और मेरे सामने ही अपना टॉप उतार दिया. मैं घर आ गया और चाची को कह दिया कि आज रात में ही निकलेंगे।रात के करीब 8:00 बजे थे और हमारी पैकिंग पूरी हो चुकी थी। 9 बजे के करीब हम लोग गाड़ी से नागपुर के लिए निकल गए। मेरा मूड ऑफ था क्योंकि चाची साथ में ही बैठी थी. कट लगने के साथ ही मैं लुढ़कता हुआ उससे चिपक गया तो अगले ही कट में वह मेरे ऊपर ही आ गई.

मेरी कामुकता भरी आवाजें कमरे में गूंज रही थी- ऊम्म्म्म अमरीश … आह धीरे!अमरीश- सुकृति यार, तुझे चोदने में मजा आ गया. मैंने इससे पहले कोई सेक्स कहानी नहीं लिखी है इसलिए अगर कुछ कमी रह जाये तो माफ करें.

जब मेरा रस निकलने वाला था, तो इस बार मैंने शालिनी से बिना पूछे ही उसकी चूत को अपने लंड के रस से लबालब भर दिया.

मैंने महक को बेड पर लिटा दिया और उसकी गीली चूत पर अपना गर्म लंड रख दिया.

मैंने उससे कहा- हां मुझे मालूम है … पहली बार की चुदाई के समय दर्द होता ही है. मैं अपनी अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा कि मैंने कैसे कैसे दीदी को चोदा. इस समय अंकल बाथरूम में थे और मैं उनके हॉल में बैठ कर ब्लू फिल्म देख रही थी.

उस वक्त जो लड़का मुझे घूर रहा था उसमें ये सारी क्वालिटी मुझे दिखाई पड़ रही थी. वो बोली- ये कहने में तुमको बड़ी देर लग गई … अगर आज तुम मुझे प्रपोज़ नहीं करते, तो मैं तुम्हें प्रपोज़ कर देती. मैंने अपने कपड़े निकालते समय एक पल के लिए उसको नजरअंदाज नहीं किया था.

घुटनों तक पैंटी करके मैं उनकी जांघों पर चाटने लगा, इससे वो एकदम मचलने लगीं और अपनी टांगें हवा में उठाने लगीं और चादर को और भी जोर से दबोचने लगीं.

मैंने देखा तो उसे आते समय भी था, लेकिन तब मेरी नजरों में उसकी ये छवि नहीं बन सकी थी. मैंने अपना सारा माल मामी की चूत में ही डाल दिया और ऐसे 10 मिनट तक लेटे रहे. फिर पापा जी बोले- हमारे लाडले साहब जायेंगे या नहीं?मैंने कहा- पापा जी, मैं कॉल करके पूछ लेती हूँ.

उस वक्त शोर शराबा बंद हो जाता था और मैं ज्यादा ध्यान से और मन लगाकर पढ़ पाती थी. उनके होंठों को चूसते हुए मुझे भाभी के मीडियम साइज के बूब्स दबाने में काफी मजा आ रहा था. कोई 5 मिनट तक चूत चूसने बाद मैंने मॉम से बोला- मैं आपको चोदने वाला हूँ.

कभी कभी मां हम दोनों के सामने ही कपड़े भी बदल लेती थीं … क्योंकि हम दोनों अभी छोटे थे और मां का हमारे सिवा कोई और नहीं था, इसलिए वो हम से बहुत फ्रेंक थीं.

उसने मुझे कस कर पकड़ लिया और पूरी चूत का रस मेरे लंड पर निचोड़ दिया. मगर क्या राजश्री उसकी सहेली पूनम की चूत चौकीदार से चुदवाने में कामयाब हो पाती है या नहीं, इसके बारे में मैं आपको अगली कहानियों में बताऊंगा.

बीएफ लगाइए बीएफ मैंने लंड पर कंडोम पहन लिया और कंडोम पर ही कुछ खोपरा का तेल लगा लिया. मैंने उसके कान को चूम लिया, तो उसने घूमकर मुझे कसकर पकड़ा और मुझे किस करने लगी.

बीएफ लगाइए बीएफ मैंने धक्कों की स्पीड बढ़ा दी जिससे दिशा चिल्लाने लगी- राज स्लो डाउन, सो हार्ड, आहह ओह मा, राज दर्द हो रहा है, स्लो डाऊन!मैं दिशा की बात को अनसुना करते हुए चोद रहा था, बल्कि उसके चिल्लाने की आवाज सुनकर मैं ओर स्पीड से चोदने लगा। दिशा ने दर्द के मारे मेरी पीठ को जोर से पकड़ लिया और मुझे धीमे करने को बोलने लगी. उस लड़के ने कहा- चल कोई बात नहीं, मैं तुझसे मिलने के लिए तड़प रहा था.

फिर मेरी बारी आई तो मैंने उमेश को लिटाकर उसके होंठों को चूमा, फिर गर्दन पर चूमा … उसकी छाती पर … और धीरे धीरे नीचे आती गयी.

सेक्सी चित्र दिखाओ

काको मस्ती में मेरे लंड को चूस रही थी और रानी अपनी चूचियों को सिसकारियां लेते हुए दबवा रही थी. इसके बाद उन दोनों ने जो कहानी कही, वो विश्वास करने लायक नहीं थी कि क्या ऐसा भी हो सकता है. इससे मैं उससे एकदम चिपक गया।उसने मेरे होंठों को चूम लिया और फिर उसे चूसने लगा.

पहले तो मैंने कभी भी उसके बारे में ऐसा नहीं सोचा था लेकिन एक दिन जब मैं घर के अन्दर गया तो वो झुककर झाड़ू लगा रही थी. अगली सुबह मैं मामी को लेकर अपने घर चला आया … क्योंकि उनको आपने मायके जाना था. चूत से पुच-पुच की आवाज आ रही थी जो मुझे और ज्यादा जोश में भर रही थी.

एक दिन भाभी ने मेरे पास फोन करके कहा कि उनके पापा की तबियत अचानक खराब हो गयी है.

चूत चाटने से हनी गर्म हो गई थी, मैं भी देर नहीं करना चाहता था इसलिये मैंने अपना लण्ड निकालकर उस पर तेल लगाया और हनी की चूत में ठोंक दिया. मैंने गौर किया कि भाभी ने जो गाउन पहना था, उसमें न पेटीकोट था … न पेंटी की धार दिखी … न ब्रा का आकार था. खाना वैसे तो प्रिया ही बना रही थी, लेकिन पीछे से हां हां ऐसे करो, हम दोनों भी बोले जा रहे थे.

तभी मामी ने मेरे मुँह के पास अपनी चूत कर दी और मैं उनकी चूत को कुत्ते की तरह चाटने लगा चप-चप चप-चप … चपड़ चपड़ …मामी के मुख से कामुक आवाज निकलने लगी- चाटो मेरे प्यारे भांजे … अपनी मामी की बुर चाटो! अह्ह्ह ज्जज्ज … उह्ह्ह … अह्ह … चाटते रहो उह्ह … अह्ह … उफ्फ … उह्ह्ह … मह्ह … मर गई … मम्मम!मैं भी उनकी इस कामुक आवाज से मस्त होने लगा. साराह की चुत की गहराई में मेरा लंड समाया हुआ था और निरंतर ठापों से उसका पूरा बदन हिलने लगा था. फिर कुछ देर ऐसे ही रुका रहा, तो लंड ने चुत में जगह बना ली और भाभी का दर्द कम होने लगा.

उससे मैंने पानी के लिए पूछा, तो उसने मना कर दिया, वो बोली- पहले दरवाजे की कुण्डी लगा दो. थोड़ी देर में मेरा गर्म लावा फट कर उसकी चूत में चला गया और मैं उसके ऊपर ही गिर गया.

सुबह मैं 5 बजे निकला और 6-7 घंटे के सफर के बाद मैं गांव पहुंचा। मुझे देखकर सब घर वाले खुश हो गये। गांव के घर में मेरी दादी, चाचा, चाची और उनके दो लड़के रहते हैं।चाची को देखकर ऐसा लग रहा था जैसे कोई काम की देवी साक्षात इन्सान का रूप लेकर मेरे सामने उतर आई हो. फिर मैंने अपनी बॉडी पर सेंट लगाया और अपनी लाल ब्रा और पेंटी पहन ली. पहले तो वो घबरा रही थी, मगर जब मैंने उसे भरोसा दिलाया कि किसी तरह की कोई समस्या नहीं होगी.

फिर मैं उठकर वॉशरूम गया और मुंह हाथ धोकर बाहर आया तो देखा कि उसने अपने कपड़े पहन लिए थे.

जिस अस्पताल में ऑपरेशन हुआ, वो मेरे घर से बहुत करीब था और मेरी ससुराल से काफी दूर. इंस्पेक्टर मेरे पास आ गया और मेरे दोनों स्तनों को अपने दोनों हाथों में पकड़ कर सहलाने लगा. मुझे आता देख कर चाची बोली- अरे, तू कब आया!मैंने कहा- बस अभी, वो … मां ने आपको घर बुलाया है.

अगले दिन शाम तक भाई अस्पताल में भर्ती हो गए और भाभी उनके पास वहीं रुक गईं. अचानक मुझे अपनी हालत का अंदाजा हुआ और मैंने अपने हाथों से अपने स्तन छुपाने की कोशिश की.

मेरी फ्रेंड ऋचा मुझसे बोली- यार ये क्या मस्त आदमी है … क्या नाम है इसका?मैं आंख दबाते हुए बोली- उमेश. आहा हा हा … क्या रसीले होंठ थे उसके!कभी मैं उसके मुंह में अपनी जीभ देता तो कभी वो मेरे!20 मिनट के इस लंबे चुम्बन के बाद हम अलग हुए और एक दूसरे की तरफ देखकर बस हंस पड़े।मैंने मौक़े का फायदा उठाया और उसको फिर से ‘आई लव यू’ बोल दिया और उसका जवाब ‘आई लव यू टू’ सुनकर मैं खुशी से झूम उठा और उसके होंठ फिर से चूसने लगा. उस समय बाथरूम में मैंने उनकी चुत की झांटों के बाल रेजर से अच्छे से साफ़ कर दिए और चुत को एकदम चिकनी चमेली बना दिया.

police सेक्सी पिक्चर

कुछ देर बाद उसने अपनी दो उंगलियां चुत में डाल दीं और तेजी से रानी की चुत को फिंगर फक करते हुए चोदने लगा.

लेकिन अब अनीश से मेरी फिर से बात चालू हो चुकी है। अनीश मेरा भविष्य है और रजत शादीशुदा इंसान जो दूर का भाई भी है।मैं दोनों को एक दूसरे की बात बता नहीं सकती. मामी ‘आआहा हाहा हहा आह हाह … और जोर से … और जोर से …’ चिल्ला रही थी. मोटा लंड गांड में जाने से मैं चिल्लाने लगी लेकिन पहले वाले ने मेरे मुंह में लंड डाल दिया और मेरे हलक तक लंड को फंसा दिया.

एक दो बार तो उसने छूटने की कोशिश की लेकिन फिर वो गर्म होती चली गयी. तो मेरी सास ने कहा- एक तो पोते का मुंह नहीं दिखा रही, ऊपर से जबान चलाती है. एक्स सेक्सी राजस्थानीमुझे थोड़ी तसल्ली हुई कि उसने घर पर इस घटना के बारे में कुछ नहीं बताया था.

मेरे दिल में उस सेक्सी नर्स के लिए वासना के भाव थे, इसमें भी कोई शक नहीं था. दरअसल उनके घर के आसपास भी कोई ऐसा घर नहीं था कि किसी को कुछ दिखायी दे जाये क्योंकि पीछे वाली दीवार काफी ऊंची बनी हुई थी.

मैं ब्रा के उपर से ही मॉम के निप्पलों को अपने दांतों से दबाते हुए चूस रहा था. क्या मामला है, इनका परिवार कैसे बनेगा? पति पत्नी एक साथ नहीं रहेंगे तो गृहस्थी कैसे बनेगी?मेरी पत्नी हमेशा एक ही जवाब देती- मुझे खुद समझ नहीं आ रहा और मम्मी से पूछती हूँ तो उनका भी ऐसा ही जवाब होता है. मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?उसने बताया कि उसके भैया ने उसे, उसके बीएफ को एक साथ में देख लिया और भैया ने उस लड़के की बहुत पिटाई कर दी.

मैंने फिर से मम्मों को दबाना शुरू कर दिया और अपने चेहरे को उसके चेहरे के पास ले जाकर उसके होंठों को धीरे से चूम लिया. वहां पहले से ही काफी लड़कियां थीं इसलिए मुझे पता नहीं चला कि मेरी होने वाली भाभी कौन सी हैं. थोड़ी देर में पापाजी बाहर आये तो वो ट्रैक सूट पहने थे और मुझे नंगी देखकर पापाजी बोले- बहू अपने कपड़े पहन लो और अपने रूम में जाओ.

तभी मैंने यह कहकर बात घुमा दी कि तुम पढ़ाई भी करते हो या सिर्फ ऐसी फिल्में ही देखते रहते हो?वह शर्माते हुए कहने लगा- नहीं यार मैं तो बस संडे को ही देख लेता हूं.

नेहा से मैं पहले उतना घुला मिला नहीं था क्योंकि वो थोड़ी शांत सी थी. क्या कोई महिला भी किसी पुरूष का फायदा उठा सकती है?जवाब है- हां, उठा सकती है.

इस बार लंड अन्दर जाने में ज्यादा जोर नहीं लगाना पड़ा लेकिन थोड़ी तकलीफ जरूर हुई. तभी शोभा ने पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?मैंने शर्माते हुए झूठ कह दिया- वक़्त ही नहीं मिलता ये सब के लिए!विअसे आफिस में मेरी 1 गर्लफ्रैंड बन चुकी थी. मैं बोलती, इसके पहले शुभम ने मुझे लिटा दिया और मेरी कैपरी और पेंटी दोनों साथ में उतार दी और मेरी टांगें फैला कर मेरी फूलीनंगी चुतचाटने लगा.

सहेली के पापा के साथ सेक्स स्टोरी के पहले भागसहेली के पापा बने मेरे चोदू यार-1में अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी सहेली के पापा ने मुझे अपनी वासना में उलझा लिया था और वो मेरी चुत में उंगली करके मेरी अन्तर्वासना को जगा चुके थे. ”उम्महह … मस्त चोदते हो आप … जिंदगी भर ऐसे ही चुदने का मन कर रहा है … ओह … जोर से … और जोर से. उसकी शादी यह सोचकर कराई गई कि शादी के बाद सुधर जायेगा लेकिन ऐसा हुआ नहीं.

बीएफ लगाइए बीएफ पापाजी का लंड अभी पूरी तरह से खड़ा नहीं था मगर फिर भी बहुत मोटा और बड़ा लग रहा था. पापाजी बोले- ये कैसी बातें करते हो तुम दोनों?मैंने कहा- आपका बेटा ही करता है.

पेला कैसे जाता है

मैंने अपने होंठों के बीच में दबा कर उसकी चुत के दाने को दबाते हुए चूसा और अपनी जीभ से चुत को अन्दर तक चाटा. मैंने उसके पीछे से जाकर लंड को सही जगह पर सैट किया और लंड अन्दर पेल दिया. उसकी सुन्दर शक्ल और आकर्षक बनावट से तो मैं पहले ही इम्प्रेस हो चुका था.

कई बार जब सब लोग साथ में बैठे होते थे तो मैं खाने की मेज पर सबके साथ होते हुए भी अपने पैर के अंगूठे से उसकी सलवार को छेड़ने लगता था. अगले दिन मेरी चुत दर्द कर रही थी, लेकिन रात के मजे के आगे यह दर्द कुछ नहीं था. नंगा सेक्सी वीडियो हॉटदो तीन घण्टे बाद मेरी नींद टूटी तो देखा कि उसका लण्ड मेरे गांड में घुसा हुआ था और वो धीरे धीरे मेरा गांड बजा रहा था.

आपके छोटे भाई को बोलिये न बाबूजी को कुछ दिनों के लिए ले जाये!मैंने सोचा कि ‘गयी भैंस पानी में’ कहाँ मैं शोभा को चोदने के सपने देख रहा था और ये तो अपने माँ के घर जा रही है.

सिसकारते हुए बोली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… इतने प्यार से चोदो, इतनी जोर से चोदो, इतनी देर तक चोदो कि मैं दुनिया भूल जाऊं. पिछले 6 महीनों से मैं इस बात को लिखने के लिए मेहनत कर रहा था कि कैसे मैं अन्तर्वासना पर भाभी के संग अपनी चुदाई की कहानी लिखूँ.

क्या मेरी प्यारी बहना अपनी चुदाई मुझसे करवाएगी?पीहू ने कहा- भैया, आप मेरे साथ कुछ भी कर सकते हैं. मैंने ध्यान बंटाने के लिए पूछा- तुम्हें तो काफी एक्सपीरियंस है शायद. उससे बात करने के बाद पता चला कि यह काम वे लोग काफी समय से कर रहे हैं.

दिव्या जी ने पूछा- इससे पहले आपने किसी के साथ सेक्स किया है?संकोचवश मैंने कहा- कभी नहीं किया मैम.

रूम में 50 से 60 की उम्र के आदमी थे, जिसमें अधिकतर आदमी रानी के हुस्न को देख रहे थे. एकदम अच्छी पोजीशन में चुदाई चल रही थी … पीछे सोनू मां की चूत को मार रहा था, बीच में मां के झूलते चूचे और अंत में उसके मुंह में अभिनव का बड़ा सा लंड देख कर मेरा मन तो एकदम तरोताजा हो गया था. फिर मैंने उसके बारे में पूछा तो उसने बताया कि वो वहां पर अकेली ही रहती है.

देसी सेक्सी वीडियो भाई बहनवो मेरी पीठ पर दोनों तरफ टांगें करके चढ़ गई और मेरी पीठ पर बैठ कर बोली- हां चल मेरे घोड़े टिक टिक टिक … चालू कर. कुछ देर रुकने के बाद अब भैया धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर करने लगे थे.

दूध पीने का फायदा

मैं अपने ऑफिस में बैठा हुआ काम कर रहा था, तभी एक हेड कांस्टेबल आया और अपने साथ दो लड़कियों को अन्दर लाया. क्रिकेट मैच के दौरान मेरी मुलाक़ात दूसरी टीम की सेक्सी मेनेजर से हुई. मैंने उन दोनों के फोन के अंदर एक ऐप इंस्टॉल कर दिया था जिससे कि मैं उन दोनों लोगों की कॉल रिकॉर्डिंग सुन सकता था.

चाची के इतने बड़े बड़े मम्मों को पकड़ने से मुझे महसूस हो गया कि चाची के पूरे मम्मे मेरे हाथ में नहीं आ सकते थे. मैंने दो चार धक्कों के बाद ही भाभी की चूत में गर्म गर्म वीर्य छोड़ दिया. अंततः फिर सासु की शरण में पहुंच कर बिना झिझक के उनसे पूछा- तो आपके ये दो लाल कहां से टपके?इस पर वो हंस दीं और बोलीं- मेरी सास ने मेरी मदद की और कह दिया- और कहीं दे ले लो.

इतनी खूबसूरत सी महिला मेरे सामने थी और मेरे पास मानो जवाब देने के लिए ही कुछ नहीं था. मुझे अपनी तैराकी की क्लासेज के लिए बात करनी थी और फीस का भी पता करना था. उसके बालों को सहलाते हुए मैंने कहा- सच कहूं तो तुम्हारे चूतड़ों ने पहले दिन से ही मेरी हालत खराब कर रखी है.

बस ऐसे ही पेलते रहो … ये लम्हा रुके नहीं और तुम अपनी मामी को अपने लण्ड से मुझे मज़े देते रहो. चूचों के ऊपर साड़ी का पल्लू कुछ इस तरह से रखती थीं, जिससे उनकी चूचियां पूरी तरह से फूली हुई दिखती थीं.

मेरे चाचा बीमा कंपनी में बीमा एजेंट है जिसके कारण वह कई बार शहर से बाहर रहते हैं। मेरी चाची एक हाउसवाइफ है और उनकी बेटी अभी पढ़ रही है.

मैं उन्हें अपनी गोद में उठा कर उनके कमरे में ले गया और बेड पर सीधा सुला दिया. सेक्सी ब्लू फिल्म चोदा चोदी वालीपापाजी का ऐसा फोरप्ले बर्दाश्त नहीं हुआ और मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया. செக்ஸ் மூவி தமிழ்परंतु एक बार फिर से बिजली कड़की और उसने मुझको कस के पकड़ लिया और गले लगा लिया और उसके मोम्मे मेरी छाती से बिल्कुल सट गए और हमें एक दूसरे के बदन की गर्मी महसूस होने लगी।सर्दी के दिन थे तो एक दूसरे के बदन की गर्माहट हमें भा गयी और हम यूं ही सटकर बैठे रहे. 7-8 मिनट के बाद मां झड़ गई और उनका सारा माल अभिनव की उंगली पर लग गया जिसे अभिनव ने चाट लिया और बाकी बचे माल पर अभिनव ने जीभ लगाकर मां की चूत को साफ कर दिया.

अभी ने अपने एक दोस्त को कॉल कर दिया और बोला कि वैनिला फ्लेवर वाला हुक्का ले आओ.

मैंने दो मिनट तक उसकी चूत पर लंड से सहलाया और फिर उसकी चूत में लंड को घुसाने लगा. मैम के मम्मों को दबाते ही उनके मुँह से एक सिसकारी फूट पड़ी, जो मेरे होंठों में ही दब गयी. उस वक्त तो उसके मम्मे बाहर को निकले पड़ रहे थे, जब उसने मुझे झुक कर पानी का गिलास दिया था, उसी समय मैंने समझ लिया था कि आज लंड के लिए बड़ी जोरदार चुत का जुगाड़ हो गया है.

उससे आज भी मेरा सेक्स चल रहा है उसके साथ आगे हुए सेक्स कहानी को मैं अगली बार लिखूँगा. जब मेरा रस निकलने वाला था, तो इस बार मैंने शालिनी से बिना पूछे ही उसकी चूत को अपने लंड के रस से लबालब भर दिया. हालांकि कुछ दिन बाद मैं भी उसके सामने कसरत करते हुए उसे अपना जवान जिस्म दिखाने लगा था.

गर्ल्स फोटो डाउनलोड

मैंने बहुत कंट्रोल किया लेकिन जब रहा न गया तो मैंने उस हॉट गर्ल की गर्दन पर पीछे से एक गर्म किस कर दिया. कहानी को शुरू करने से पहले मैं आप लोगों को अपने बारे में बता देता हूं. मैंने चाची को बिस्तर के किनारे घोड़ी बनाया और नीचे खड़ा होकर चूत में लंड पेलने लगा.

मैंने उससे कहा- तुम बहुत कयामत बिखेर रही हो … और तुम्हारी इस मैक्सी के तो क्या कहने.

वो मेरे मसल्स देखती और कभी कभी मेरे एब्स पर हाथ फेरते हुए मुझसे मजाक करने लगती.

वैसे तो पहले दिन ही हमने टेक्निकल काम कर लिया था और अब बस डेटा एंट्री और सिग्नेचर लेने बाकी था. मुझे भी कोई परेशानी नहीं थी बल्कि मजा आ रहा था कि एक गैर मर्द मेरी गांड का दीवाना हो गया है. देहाती भाभी सेक्सी पिक्चरयश ने मुझे उठाया और रूमाल से मेरी आंख भी बंद कर दीं और सोफे पर सीधा लिटा दिया.

जब बात यहां तक आ पहुंची तो मेरी सलहज कृति की मां हमारे घर आई और मेरी पत्नी के सामने रोने लगी. पापाजी बोले- बहू, बस एक सेक्स ऐसी चीज है जिसके बिना इंसान रह नहीं सकता है. मैंने सोचा कि यार मामी बगल में लेटेगी मज़ा आ जाएगा।मै जाकर लेट गया.

जैसे ही ममता ने उसका लंड देखा था तो वह उसके लंड से चुदने के लिए ललायित हो गई थी. दूसरे दिन जब उसका पति आया, तो उसने उससे भी चुदवा लिया ताकि किसी को शक ना हो.

मेरे लंड का सुपारा रानी की खुली हुई चूत पर लगा हुआ था और मैं उसकी चूत में मूत की धार छोड़ रहा था.

प्रशांत मम्मी को पकड़े पकड़े बोला- सॉरी मम्मी, मैं आपको सरप्राइज देना चाहता था. मैंने एक टाप और शॉर्ट पहना क्योंकि टॉप बिना कंधों और बांहों का था तो मैंने ब्रा भी उतार दी. फिर मैनेजर ने हमारी टेबल पर आकर रानी और मुझे थैंक्स कहा और अपना परिचय दिया.

स्कूल की लड़कियों की सेक्सी मूवी मेरे ससुर के धक्के मेरी चूत में तेज होते चले गए और थोड़ी देर में उनका माल भी मेरी चूत में निकल गया. मैंने अपनी गांड को थोड़ा सा ऊपर उकसाया और अपने अंडरवियर को अंदर ही अंदर नीचे कर लिया.

मां ने राहत की सांस अभी नहीं ली होंगी कि अजय अंकल ने मां को घोड़ी बनाया और उनकी चूत में लंड लगा दिया. जैसे ही उसका हाथ मेरे गर्म से सोये हुए लंड पर लगा तो लंड में करंट सा दौड़ गया. उसके बाद मैंने जोर से काफी देर भाभी की चूत को चूसा और भाभी सिसकारियां लेने लगी.

सेक्सी गाना सेक्सी पिक्चर

मगर जब तक हम खंडहर में पहुंचे उसके बदन को बारिश ने गीला कर दिया था. मैं बोली- आप जाओगे?वो बोला- जी हां … क्यों आप नहीं जाओगी क्या?मैंने बोला- मैं अकेली इतनी दूर कैसे जाऊंगी?वो बोला- अरे मैं आपको ले चलूंगा … ठीक है!मैंने हां में सर हिलाते हुए कह दिया कि देखूंगी. उसके बाद से मुझे सेक्स से बहुत ज्यादा लगाव हो गया था और अब तक मैं अनेकों लोगों से चुद चुकी हूं.

मैंने कहा- ठीक है … लेकिन घर जाने से पहले …उसने कहा- जाने से पहले क्या?मैं उसकी तरफ को हुआ और अपने होंठों को उसके होंठों पर रखकर एक डीप किस किया. वो बोल रही थीं- आह और तेज चोदो मुझे … और तेज चोद बेटा … पूरा लंड पेल्ल्ल …मॉम लगभग 17-18 मिनट बाद झड़ गईं.

मैंने जैसे ही बुक का पेज पलटा मेरे होश उड़ गए। उसमें एक मर्द एक औरत का गांड में अपना लंड घुसाए हुए था।मैं शर्मा गया.

5 इंच का लण्ड देखते ही शोभा ने कहा- तुम्हारा इतना बड़ा होगा, मैंने सोचा नहीं था।और मैंने अपना लण्ड सीधा शोभा के मुख में डाल दिया।शोभा के कोमल होंठ मेरे लण्ड पर बहुत अच्छे लग रहे थे. जल्दी ही रोहित का पूरा 8 इंची लंड ममता की चूत में फिट हो चुका था और उसकी चूत को अंदर तक तृप्त करने लगा था. बस फिर तो मैंने अपनी टांग उठाकर उसकी जांघों पर रख दी और मेरे हाथ उसकी चूचियों पर पहुंच गये.

मेरे लंड का साइज भी औसत ही है जो किसी लड़की को संतुष्ट करने के लिए काफी है. मैंने चलती कार में टाप उतार कर कार की खिड़की पर रखा और पीछे मुड़कर घर के कपड़ों की पन्नी देखी तो सन्न रह गयी. जब कभी मेरी वासना ज्यादा उफान पर होती तो मैं अपनी उंगली चूत में लेकर चूत की गर्मी निकालने की कोशिश करती थी.

फिर वो दिन भी आ गया, हम सभी संजय भैया के लिए लड़की देखने दिल्ली चल दिए.

बीएफ लगाइए बीएफ: नीले रंग के ब्लाउज पर काले रंग की साड़ी में उसका बदन काफी गोरा लग रहा था. उसने मेरी तरफ देख कर कहा- यार तुम तो पूरी जवान हो चुकी हो … एकाध बार मजा तो ले ही चुकी होगी.

तब उसकी मम्मी ने कहा- यहाँ पास में कहाँ कोई अच्छा कॉलेज है।मैंने उसकी मम्मी से कहा- पीहू को बाहर भेज दो पढ़ने के लिए!तो वो बोली- अकेली लड़की को कैसे बाहर भेज सकते हैं।मैंने उसकी मम्मी से कहा- आप परेशान क्यों हो रही हो? आप पीहू को वाराणसी भेज दीजिये. मैं बोलने- माँ के लौड़े हरामी साले … आज तू पूरा बेटीचोद बन गया … तू मेरा राजा और मैं तेरी रानी … चोद मेरे राजा … आह्ह्ह. अक्सर मां रात को सोते हुए भी साड़ी ही पहनती थीं और सोते समय मां की साड़ी उनके घुटनों के ऊपर सरक जाती थी.

मुझे तो डॉक्टर ने चुदने से मना किया हुआ है वरना मैं तो अभी जाकर टोनी के सामने नंगी हो जाती और उसके लंड से चुद कर मजा लेती.

मैंने पूछा- अब कैसा लग रहा है?वो बोली- बहुत अच्छा… तुम तो सॉलिड हो यार… ऐसे ही चोदो. वो मुस्कराती हुई मेरे पास आई और बोली- मैं अभी बाहर से नाश्ता करके आ रही थी तो सोचा आपके लिए भी कुछ ले चलूं. अगर आपको मेरी चचेरी बहन की चुदाई की यह स्टोरी पसंद आई हो तो मुझे बतायें.