बीएफ उत्तराखंड

छवि स्रोत,कॉल गर्ल्स बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सिंह राशि लकी नंबर 2020: बीएफ उत्तराखंड, मैंने कपड़े लेने के लिए उससे कहा, तो उसने कहा- इन्हीं कपड़ों में लेट जाओ.

मराठी में बीएफ वीडियो

काफ़ील खुद भी शायद यही सोच रहा था, वो झट से मान गया और अपनी बीवी आफ़िया भाभी से बोला- ओके हनी, तुम इधर एन्जॉय करो, मैं उधर जाता हूँ. बीएफ हिंदी में देसी बीएफ हिंदी मेंफिर हेतल मेरे मुंह की ओर आयी और उसने मेरे मुंह पर अपनी चूत टिका दी.

मैंने पहले वाली सेक्स कहानी में भी आपको लिखा था कि मीना बुआ ने मुझे किसी से शेयर नहीं करना चाहा था. सोई हुई लड़की का बीएफबॉयफ्रेंड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरे क्लासमेट यार ने मेरे ही घर में मेरी अनचुदी बुर की सील तोडी.

वो सिसकार उठी- आह्ह … ओह्हो … हम्म … ओह्ह … उफ्फ … ओह् गॉड … फक मी हैप्पी … आह्ह … चूस जा इसे … चोद दे … आह्ह … तुम कितना मजा देते हो … ओह्ह … ओह्ह … मेरी चूत.बीएफ उत्तराखंड: वो मेरे मम्मों को अपने मुँह में पूरा भरके बारी बारी से दोनों आमों को चूसने लगा.

स्कूल सेक्स की हिंदी कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी सहेली के बॉयफ्रेंड को अपने सेक्सी बदन से रिझाने की कोशिश की.फिर मैंने एक हाथ से उसकी चूचियों को दबाना शुरू किया जिनको मैं बहुत पहले से दबाना चाहता था.

बीएफ सेक्सी भाई और बहन - बीएफ उत्तराखंड

वो- अब तुम्हें कैसे बताऊं, तुम पीछे पड़ गए, तो वो मैंने ऐसे ही बोल दिया था.एक बार दबाते ही उसको सेक्स चढ़ गया और वो फिर दोनों हाथों में दोनों चूचियों को दबाने लगा.

मैंने बिन्नी को हाथ से थोड़ा धकेलते हुए बेड पर लिटा लिया और उसके ऊपर चढ़ गया. बीएफ उत्तराखंड फिर वो पलटा और दबी हुई आवाज में मुझसे बोला- और आपसे डिनर के बाद!ये कहते हुए वो कमरे से चला गया.

मेरे निप्पल तन चुके थे और डॉक्टर अपनी जीभ से मेरे निप्पल को चाटे जा रहा था.

बीएफ उत्तराखंड?

कुछ देर बाद मेरी आंख लग गयी और जब कुछ समय बाद मैं अचानक से जाग गई, जिसकी वजह ये थी कि उस लड़के ने मेरी चूची को कसके दबा दिया था. इसी क्रम में एक रात मुझे नींद नहीं आ रही थी, तो मैं यूं ही टहलने के लिए अपने कमरे से बाहर आ गया. मैंने बिन्नी से कहा- इसके साइज से मत घबराओ, अभी तुमने रोहन की पतली डंडी देखी है, लेकिन तुम्हारी चूत बहुत जवान और पकी हुई है, आराम से ले लेगी.

अस्पताल के प्राइवेट रूम में मैं एक बढ़िया पर विधवा लेडी की चूत का मजा लिया. साथ में ये भी सोच रही थी कि मेरे बॉयफ्रेंड के साथ मेरी लाइफ कितनी अलग होती. मैंने भी भाभी की चूत पर अपना लंड सैट करने के बाद धीरे से धक्का दिया, तो भाभी की चूत में मेरे लंड का टोपा अन्दर चला गया.

तो फिर मैंने भी ज्यादा ज़िद नहीं की और उसको नीचे बिठाकर लन्ड चुसवाने लगा. अपनी लपलप करती जीभ के साथ अपनी लंबी उंगली को मेरी चुत में उतारने लगा, जिससे मैं एक अलग ही दुनिया में जाने लगी. दस बारह धक्के बाद मामी को मजा आने लगा और वो चुदाई का मजा लेने लगीं.

यह कहानी एक साल पहले की है जब मैं अपने 12वीं के एक्जाम देने वाली थी. क्योंकि मैम बोल कर गयी थी कि वो ऑफिस में कुछ काम से जा रही हैं … तो वो देर से यही कोई पौना घंटे में ही आ पाएंगी.

(सेक्स करने का)मैं बोली- तू पागल है क्या? क्या बोले जा रहा है? ऐसा कुछ नहीं हो सकता.

वैसे वो थी भी इतनी खूबसूरत की कोई एक बार देखे, तो‌ बस उसे देखता ही जाए इसलिए तो मैं भी उस पर फिदा हो गया था.

लेकिन फिर अगले मैसेज में उन्होंने अपने दोनों कबूतरों की एक सेल्फी भेजी, जिसमें उनके बड़े-बड़े चूचे जिनमें से एक को उन्होंने अपने एक हाथ से दबाया हुआ था. उसने मुझे हल्का सा धक्का देकर बाथरूम की शॉवर वाली कांच की दीवार से सटा कर एक जबरदस्त स्मूच किया. लेकिन जब से लंड ने तेरी गांड की खुशबू सूंघी है, उसका मन अन्दर जाने को कर रहा था.

पुण्या की मम्मी यानि कि मेरी चाची और उनका बेटा दोनों ही ननिहाल जाने लगे. अफसाना ने अपने मुंह से तुरंत लंड को बाहर निकाल लिया और बोली- हां अम्मी … क्या हुआ?उसकी सास अंदर से ही बोली- मेरी पीठ को रगड़ दे आकर, मेरी आंखों में साबुन चला गया है।अफसाना बोली- राज तुम चले जाओ अंदर बाथरूम में, उसको पता भी नहीं चलेगा और तुम्हारा काम हो जायेगा. तो तुम भी इसे अपना दोस्त बना लो न!”मेरी तरफ देखते हुए बोली- मतलब!बस ज्यादा कुछ नहीं … थोड़ी देर मुँह में ले लो, तो फिर ये कोई शरारत नहीं करेगा.

वो बोल रहा था- बोल तू मेरी रंडी है कि नहीं?मैं मदहोशी में बोली- नहीं.

इससे पहले आपने मेरी‌ पिछली सेक्स कहानीखामोशी: द साईलैन्ट लवको पढ़ा और उसको हद से ज्यादा पसन्द किया, उसके लिए आप सभी का धन्यवाद. दोस्तो, मैं एक महिला में सबसे पहले उसके चुचे देखता हूँ और सेक्स में वहीं से स्टार्ट करता हूँ. ये एकदम सच है कि जब औरत को मालूम हो जाता है कि अब उसकी कारगुजारी को देखने वाला या रोकने टोकने वाला कोई नहीं है, तब वो बिंदास हो जाती है.

उसने 10 मिनट तक इसी पोजीशन में अपनी सेक्सी चाची चुदाई की, फिर मुझे उल्टा होने को बोला. उन्होंने मेरे पैन्ट के अन्दर हाथ डाल दिया और वो अपने हाथों से मेरे लंड को खूब जोर जोर से दबाने लगीं. वो जानता था कि इतनी हाइ क्लास चूत उसको अपनी जिन्दगी में कभी नसीब नहीं होगी इसलिए उसने अपना सारा हुनर लगा दिया मेरी चूत को खुश करने के लिए।उसने मेरी चूत में जीभ डाली और प्यार से ऊपर नीचे करते हुए मेरी चूत में चलाने लगा.

इससे पहले आपने मेरी‌ पिछली सेक्स कहानीखामोशी: द साईलैन्ट लवको पढ़ा और उसको हद से ज्यादा पसन्द किया, उसके लिए आप सभी का धन्यवाद.

उधर सूरज भी साइड में पड़ी कुर्सी पर बैठ गया और उसने अपनी पैंट कच्छे सहित उतार दी. मेरी योनि से पानी अभी भी सूखा नहीं था और वो दोबारा से गीली होनी शुरू हो चुकी थी.

बीएफ उत्तराखंड मैंने इशारा समझते हुए गेट पर कुंडी लगायी और उसके सर को हाथों से पकड़ कर उसके मुँह को अपने सीने में दबा दिया. आपसे सहयोग की उम्मीद रखता हूं और आशा करता हूं कि कहानी आपको पसंद आयेगी.

बीएफ उत्तराखंड लेकिन फिर मैंने इसका कैसे मजा लिया?दोस्तो, मैं सारिका कंवल एक बार फिर से आपके सामने अपनी लेस्बियन सेक्स कहानी का भाग लेकर हाजिर हूँ. पांच दिन में एक भी दिन तुमने उन्हें देखा मेरे साथ सोते हुए?मैं समझ गया कि मामी की चुदाई नहीं हो रही है.

उसका बदन अकड़ने लगा था तो मैंने उसको उसको नीचे लिया और खुद ऊपर आ गया.

कुमकुम भाग्य xxx

तुम यह बताओ कि अपने गुप्त स्थान के बाल रिमूव करती हो या नहीं?”जी? मैं समझी नहीं. फिर मैं झुका और मैंने उस गीली चूत पर एक किस करके अपनी जीभ से उस पर लगे पानी को चाट लिया. कोई बात नहीं … मैं भी अपनी चूचियों को ऐसा शेप दूंगी कि मोहित मेरे पीछे पागल रहेगा और फिर मैं अपनी मनमानी करूंगी.

एक बार भाभी ने मेरे लंड का मजा ले लिया था, तो आगे की उनकी प्यास मेरे लंड से बुझने लगी. मानवेन्द्र भी इशारा समझ गया और अपना चश्मा हटाते हुए भूखे शेर की तरह मेरी तरफ देखा. बाल काटे और उन्हीं की तरह फ्रेंच कट करके एक शानदार सी फोटो खींचकर उन्हें भेज दी.

मैंने तेल हाथ में लिया और उसकी पीठ से लेकर उसकी कमर तक मालिश की शुरूआत कर दी.

मैं आप लोगों को बता दूं कि मेरा जिस्म थोड़ा सा भरा हुआ है।मेरा भरा हुआ जिस्म देखकर वह तो मेरे जिस्म पर टूट पड़े और मेरे बूब्स को मेरी ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगे. मनीषा ने उसको डीप किस दिया और उसके लंड पर बैठ गयी और अपनी चूत में कर लिया. दो दिन बाद सुबह से ही विक्रम का फोन आ गया- हैलो यार, मैं आज तेरे घर आ रहा हूँ.

चाची Xxx कहानी में पढ़ें कि मैं जॉब के लिए दिल्ली गया तो अपने अंकल के यहां रहने लगा. मगर उसकी‌ खूबसूरती व लम्बाई से मैं इतना‌ प्रभावित था कि मेरी नजरें तो उस पर से हट ही नहीं रही थीं. मैंने उसके लौड़े को अपने मुँह में भर लिया और एक ही झटके में उसके सुपारे से लेकर लौड़े की जड़ों को अपने थूक से भरकर लौड़े को पूरा मुँह में भर लिया.

मैं उसकी जांघों के बीच में आ गया और अपनी गांड कुतिया की तरह पीछे करके उसके लंड पर मुंह झुका कर चूसने लगा. नंदिनी का एक बेस्ट फ्रेंड मोहित था, जिसको वो मन ही मन प्यार करता था.

फ्रेश हुए चाय नाश्ते के बाद करीब आठ बजे हम लोगों ने स्टार्ट किया था. इतने में प्रियंका अपने मुँह में गया, मेरा वीर्य थूक कर बोली- क्या जीजू आप भी ना … अन्दर ही निकाल दिया. इसमें मैं बताऊंगी कि कैसे मैंने अपने एक सहकर्मी और इंस्टाग्राम मॉडल को कामोत्तेजित कर अपने झांसे में लिया.

गांड में लंड का सुपारा जाते ही मेरी गांड ने हिम्मत कर ली और धीरे धीरे एक एक दो झटकों को फील करते हुए मानवेन्द्र ने कुछ नब्बे सेकंड में पूरा लौड़ा अन्दर कर दिया.

मामी झट से बोलीं- तो आप इसे खोल कर तौलिया लपेट लीजिए न … क्या हो ज़ाएगा. उसके कॉलेज में पढ़ने वाले जितने भी लड़के-लड़कियां है, वो इसको बहन जी, बहन जी कहकर पुकारते थे. क्योंकि अयान मेरे पति के बड़े भाई का लड़का है और मेरे बेटे से सिर्फ 2 साल बड़ा है.

भाभी बोलीं- थोड़ा जल्दी करना यार … मोहित आ जाएगा, तो उसको बुरा लगेगा. उसे देख कर मैं मुस्कुरा कर बोला- आखिर तेरी जवानी तुझे मेरे पास ले ही आई.

उसने हाथ पैरों को सिकोड़कर अपने नंगे बदन को छुपा लिया और अपने कपड़ों को ढूँढने लगी, जो सब इधर उधर बिखरे पड़े थे. वो मेरे निप्पलों के चारों ओर जीभ फिरा रहा था और मेरी चूत गीली हो गयी थी. एक हाथ से वो मेरे एक मम्मे भींचता, तो दूसरे हाथ को मेरी नाभि के आस-पास सहलाते हुए उंगली को नाभि के अन्दर चलाने लगता.

एचडी सेक्सी जानवर वाला

खड़े खड़े मैंने बिन्नी की टांगों को थोड़ा चौड़ा किया और अपने लण्ड का सुपारा उसकी गीली हुई चूत पर अड़ा दिया.

मैंने अपनी टी शर्ट निकाल दी और उसकी टी शर्ट को ऊपर किया तो उसकी गुलाबी कलर की ब्रा दिख गयी. शायद पसीने और परफ्यूम के मिले जुले होने से गंध कुछ ज्यादा ही चुदास भड़का रही थी. बिन्नी की सांसें फिर तेज हो गईं और उसके मुँह से सिसकारियाँ निकलने लगीं.

दर्द के कारण मेरे आंखों में आंसू आ गए थे, लेकिन उस मीठे अहसास के कारण मैं यह दर्द भी बर्दाश्त कर रही थी. उसके बाद मैंने, निशि और रोहिणी ने व्हिस्की के दो दो पैग और लगा लिए. इंडियन भोजपुरी सेक्सी बीएफमुझे थोड़ी शर्म आयी और मैंने अपने दोनों हाथों को क्रास करके अपने पिलपिले से मम्मों को छुपा लिया.

मगर मैं उससे बहुत बार चुसवा चुका था इसलिए मैं ज्यादा देर टिक पाता था. बिन्नी ने मेरी ओर देखा तो मैंने नीचे झुककर उसके गर्म होंठों पर अपने होंठ रख दिये और नीचे से लण्ड पर दबाव बढ़ाने लगा.

पहले तो एक दो बार उसकी कोहनी मेरी चूची से लड़ी, तो मैंने जाने दिया … क्योंकि जगह कम होने की वजह से मैंने कुछ नहीं बोला. अपनी गांड को चौड़ी करके दिखाते हुए उसके चेहरे पर शर्मिंदगी के भाव थे. पता नहीं कितनी बार … और बीसियों किस्म के आसनों में हम तीनों ने सेक्स किया.

इसके बाद मैंने सलोनी से कहा- अपनी बुर के लबों को फैलाकर मेरे लण्ड पर बैठ जाओ, तुम जैसे जैसे नीचे की ओर दबोगी यह तुम्हारी बुर में घुसता जायेगा. इस बीच अयान ने मुझे लेटने का इशारा कर दिया और बातें करते करते मेरी पीठ से नीचे बिंदास जाने लगा. मैंने उसकी तरफ देखा तो उसने गांड उठा कर चुदाई शुरू करने का इशारा दे दिया.

मैं आप लोगों को बता दूं कि सनी की एक बहन है विन्नी … मस्त माल है साली और सनी उसे चोदना चाहता था.

मौसी को लंड चूसने की कह दिया और अनु को छाती पर लेकर उसके होंठों से होंठ मिला कर चुंबन लेने लगा. हुआ कुछ यूं कि मुझे इनका एक मेल आया, जिसमें लिखा था- हैल्लो, मैं जोहरा हूँ.

मैंने अनामिका की फोटो देखीं और जबाव दिया- हम्म … माल सी तो लग रही है … और इसके चूचे भी कुछ अलग ही दिख रहे हैं … ऐसा क्यों!प्रियंका- मैं आपको अनामिका की ब्रा की पिक भेजती हूँ. मैं- शायद तुम्हारी किस्मत में यही लिखा हो!वो- पता नहीं क्यों मेरी किस्मत ऐसी है!मैं- तुम्हारा हज़्बेंड यहां नहीं है … तो भूल जाओ कि तुम शादीशुदा हो और अपनी लाइफ को एंजाय करो. वो बोल रहा था- बोल तू मेरी रंडी है कि नहीं?मैं मदहोशी में बोली- नहीं.

बार बार शहद टपका कर सलोनी की बुर चाटने से उसकी बुर ने पानी छोड़ दिया. वो भी मेरी तरफ देख कर हंसने लगी और बोली- बताओ तो आज गर्मी कैसे बढ़ने वाली है. वो लंड को फिर से चूसने लगी।अफसाना ये देखकर मुस्कराते हुए उठी और अपनी मैक्सी पहन कर चली गयी.

बीएफ उत्तराखंड मां की लौड़ी तुझे मैंने अपनी रंडी नहीं बनाया … तो मेरा नाम भी राहुल नहीं. उसने मुझे अपनी बांहों में कस लिया और मेरी कमर को पैरों से जकड़ लिया!जब नॉर्मल हुये तो हम दोनों ने एक-दूसरे को साफ किया और हाथ-पांव धोकर, कपड़े पहन किचन में चले गये.

लकड़ी सेक्सी वीडियो

पिछले भागगर्लफ्रेंड की सहेलियों संग रासलीला- 2में अब तक आपने पढ़ा था कि प्रियंका ने अनामिका को मुझसे चुदने के लिए लगभग पटा लिया था. मैंने अपने सपने के राजकुमार के साथ बिताए पलों को याद करते हुए धीरे धीरे उंगलियां अपने बदन पर घुमाईं और बदन को मसलने लगा. मैंने सिगरेट का कश खींचते हुए लंड सहलाया और उससे कहा- जान, मेरा मन तेरे पीछे से करने को है.

मेरीचाची की चुदाई की कहानी का लिंकआपको अन्तर्वासना पर ही मिल जाएगा. उनकी चुम्मी से मेरा लंड तो बस लोअर फाड़ कर बाहर आने को बेताब हो गया था. सेक्स बीएफ रोमांसलगभग पांच मिनट बाद वो भी चुदाई का मजा लेने लगी और फाइनली उसकी सिसकारियों में मुझे आनन्द के स्वर सुनाई देने लगे.

सुबह मैं सोच रहा था कि शायरा आज मुझसे दूर रहे मगर अब शायरा को छोड़ने का मन नहीं हो रहा था.

मैं फिर से उसकी बुर चाटने लगा और अपनी दो उंगलियां बुर में डालने लगा. उसकी मोटी गांड एकदम से चौड़ी फैली हुई थी और मेरा मन कर रहा था कि नीचे से इसकी चूत और गांड में लौड़ा घुसा दूं और इसे अपने लंड पर उछाल उछाल कर चोदूं.

हम लोग चुत चोदे जा रहे थे और दोनों लड़कियां एक दूसरे के बोबे चूस रही थीं, तो कभी किस कर रही थीं. मैंने कहा- कोई नहीं, आप चोदो, चाहे मैं कितना भी रोऊं, गिड़ागिड़ाऊं, पर रहम मत करना और चोदना चालू रखना. शाम के समय शायरा को किस किया था मगर लिखते लिखते मुझे शाम से रात हो गयी.

चाचा जी बोले- तो ये ले फिर!और घपक करके अपना पूरा लंड एक झटके में ही मेरी चूत में घुसा दिया.

आधा लण्ड सलोनी की बुर में जाने के बाद मैंने सलोनी के हाथ अपने कंधों पर रख दिये, मैंने उसकी कमर पकड़ ली और उसे अपने लण्ड पर फुदकने के लिए कहा. मैं- दोस्त होते ही हैं हंसाने के लिए … और तुम ना, हंसते हुए और भी खूबसूरत लगती हो. ये करूं कि वो करूं, इस वजह से मैं उसके साथ कुछ भी नहीं कर पा रहा था.

इंडियन सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी मेंअहहह … इसमें अपना कामरस गिरा दो जीजू … लंड के रस से मेरी चुत की प्यास बुझा जाओ. हाथ में उसका लंड पकड़ कर मैं एकाएक अनिल को दिखाते हुए बोल उठी- सच में लंबा है यार!मेरे ऐसा बोलते ही अनिल भी वीडियो बनाते हुए ही अपना लंड निकाल कर सहलाने लगे.

पोर्न सेक्सी चुदाई

मेरा लंड उसके मुँह के हिसाब से काफी बड़ा है, तो वो पिछली बार की तरह पूरे लंड को मुँह में लेने की नाकाम कोशिश करने लगी. मैंने हंस कर कहा- अरे यार साफ़ साफ़ बोला करो … मैं जोरदार लगती हूँ यही बोलो न … मुझे भी अच्छा लगेगा. मैं कभी भी अपनी भाभी के बारे में गलत नहीं सोचा था … और न ही उनके लिए मेरे मन में कभी कोई खराब ख्याल ही आया था.

पर अगले ही पल वो मेरे ऊपर से उठी और फिर उस थैली से दूसरा डिल्डो निकाल लिया. मुझे बहुत मजा आ रहा था और अब मैं गांड उठा उठाकर चूत में लंड ले रही थी. वो अब मुझे रिझाने की कोशिश करने लगी थी ताकि मेरा ध्यान उनकी बेटी से हटकर उन पर आ जाये.

चाचा जी मुँह खोल खोल कर वहशी की तरह ज़ोर ज़ोर से चूसते हुए मुझे किस करने लगे. मेरी जिगोलो सेक्स स्टोरी के पहले भागचुदक्कड़ चूतों ने किया मेरा गैंग बैंग- 1में आपने पढ़ा था कि डॉली और अन्नू भी एकता के पास आ गयी थीं. आखिर जब हमें आराम करते हुए 10-15 मिनट हो गए तो चाचा जी बोले- जाओ बेटा सुहानी, बाथरूम में जा के खुद को साफ कर लो.

मैं उसकी चूत को चाटने लगा क्योंकि मेरा माल निकल चुका था और लंड भी सिकुड़ चुका था. सेक्सी चाची चुदाई कहानी में पढ़ें कि मुझे जवान लंड लेने की चाहत हो गयी थी.

पर अब भी जब वो आते हैं, मैं उनसे अपने मन की सारी बातें बताता हूँ।और वो अभी भी मेरे सबसे अच्छे दोस्त और सेक्स पार्टनर भी हैं।तो दोस्तो … यह थी कहानी रोनी और उसके चाचा जी की। मुझे आपके कमैंट्स का इंतज़ार रहेगा.

मैंने बोला- यार मैं कोई पैसे वाला नहीं हूँ एक साधारण सा जिम ट्रेनर हूँ. बीएफ वीडियो बहन भाई कीपंकज के लंड को उसने तब तक अपने मुँह में लिए हुए चूसना जारी रखा जब तक कि वीर्य का एक एक कतरा निकलता रहा. एक्स एक्स एक्स बीएफ इंडियाक्योंकि शायरा को मैंने आज वो सुख दिया था, जिसका उसको ना जाने कब से इंतज़ार था. मेरी चूची, जिसके बढ़िया शेप के चक्कर में अपना इलाज कराने आयी थी, उसको वो संयमी डॉक्टर अभी भी अपने हाथों से रौंद रहा था.

मैंने नासमझी की ऐक्टिंग की और उनसे कहा- मां, मेरे पाजामे में कुछ तो हो रहा है.

”ये कहते हुए उसने मुझे उल्टा किया और मेरी गांड में अपना मुँह दे दिया. रात में ही मैंने निर्णय ले लिया कि अब चाहे कुछ भी करना पड़े, मैं मोहित को अपना बनाकर ही छोड़ूंगी. आगे मिलते हैं तब चुत चुदाई के मजे से लबरेज इस हॉट कॉलेज गर्ल सेक्स स्टोरी में आपको भरपूर मजा आएगा.

उसकी गांड बड़ी और चिकनी होने से टोपा अंदर गया और हेतल ने अआह्ह्ह … की आवाज़ से लंड जाने का इशारा बाकी दोनों को भी दिया. और डॉक्टर शक्ति मेरे दो मासूम सी कलियों को अपने होंठों के बीच दबा कर चूस रहा था. लगाने के पांच मिनट बाद गांड अन्दर से सुन्न हो जाती है और इससे पार्टनर को ज्यादा दर्द भी नहीं होता है.

चोपड़ा की सेक्सी मूवी

एक दिन उसका फ़ोन आया कि वो कुछ काम से मुम्बई आ रही है और वो मेरे साथ ही रहेगी 2-3 दिन तक!मेरे मन में लड्डू फूटने लगे. मैं बोली- हां, मैं चुदी तो बहुतों के लंड से हूँ लेकिन तेरे जैसा कोई नहीं है. मैंने तुरंत पूछा- नहीं देखी का क्या मतलब है? तुमने कभी किसी लड़की को अभी तक नहीं चोदा क्या?अयान ने मेरे मुँह से चोदा शब्द सुना तो वो गनगना उठा.

उसने चूत चाट चाट कर पिंकी को गर्म कर दिया और फिर उसके ऊपर चढ़ कर उसकी चूत में अपना लंड पेल दिया.

मनीषा उसका मतलब समझ गयी और नीचे लेटकर उसका लंड अपने मुंह में ले लिया.

मुझे बहुत मजा आ रहा था और अब मैं गांड उठा उठाकर चूत में लंड ले रही थी. कोई 5 मिनट तक हम इसी पोजीशन में चुदाई करते रहे और उसके बाद मैं उठा और साइड में लेट गया. बीएफ हिंदी गानालखनऊ में मैंने जो फ्लैट खरीदा, उसके सामने वाले फ्लैट में एक परिवार रहता था.

अभिषेक ने बेल्ट उतार कर बैग में रखा और उसने अपने जूते मोज़े भी उतार दिए. उसकी पैंटी के ऊपर से मैं उसकी चूत को तेजी से मसलने लगा और उसने एक टांग उठाकर मेरी कमर पर लपेट ली. इसलिए मैंने अब जैसे ही धक्का मारा तो शायरा के मुँह से आवाज निकल गई.

मुझे पता है तुम ठीक से खाना नहीं खा रही, तभी तो ऐसी हालत हो गयी है. सेक्स प्रिया भी विजय के साथ कम नहीं करती थी, पर विजय इतना जिंदादिल नहीं था.

उसने भी मेरे लंड से निकले वीर्य के बूंद के एक-एक रस को अच्छे से चाट लिया.

उसने अपनी चूत मेरे मुँह पर दबा दी और आह उफ्फ करके मेरे मुँह पर झड़ गयी. मैं- अब तो मैंने पैड भी ला दिए फिर क्या दिक्कत है?वो- ठीक है चलूंगी. कुछ औरतें तो अपने पति से भी ऐसा सामान नहीं मंगवाती हैं और मैं तो उसके लिए अंजान था, फिर भी शायरा ने हिम्मत से काम लिया.

भाभी देवर की बीएफ पिक्चर यह न्यू स्टोरी ऑफ़ सेक्स आपको कैसी लगी मुझे कमेंट्स में बताना न भूलें. उन्होंने अपने थूक से मेरी गांड को पूरा गीला कर दिया था।वे अपनी उंगली से धीरे धीरे मेरी गांड को चोदने लगे।चाचा जितना अपनी उंगली मेरी गांड के अंदर डालते … उतना ही मैं उनका लंड मुँह में निगल रहा था।काफी देर तक लंड चूसने के बाद उन्होंने मुझे अपने ऊपर लिटा लिया.

रश्मि के मुंह से आह्ह … आह्ह … की आवाज करते हुए कहने लगी- साले दम नहीं है क्या? और जोर से चोद. फिर उसके बाद मैं भाभी के घर गया, तो देखा भाभी कोई कपड़ा सिलाई कर रही थीं. सायरा एक बार फिर पूरी तरह पेट के बल लेट गयी और मैंने उसके ऊपर हल्के से अपना वजन रख दिया.

हिंदी में सेक्सी भाषा

नीबू के साइज की सलोनी की चूचियों के निप्पल्स टाइट होकर मेरे सीने में चुभ रहे थे. इन तरंगों के मध्य मेरे मन में तो अभी भी वही भूचाल चल रहा था, जो मानवेन्द्र की चुम्मियों से उभर आया था. फिर उन्होंने सूरज से पूछा- तो बेटा जी क्या सीखा अपने चाचा से आज? कुछ समझ आया कि चुदाई कैसे करते हैं.

मैंने शीतल की मम्मी को भी चोदा, वो भी उन्हीं के बाथरूम में चुदाई की थी. इसके बाद धीरे धीरे करके मैंने थोड़ा बहुत समझने के बहाने हिलना शुरू कर दिया.

अब मेरे मन में ख्याल आने लगे थे कि चाची अब चाहे न चाहे मगर अब मैं इसको नंगी करके चोद ही दूंगा.

उसकी जीभ लगते ही मैं गुदगुदा गयी और सोची- मार दे बहनचोद … मैं सही में तेरी रंडी ही हूं. मैंने मादक आवाज निकल रही थी- उफ्फ आह आह चोदो मुझे … और ज़ोर से उफ्फ उफ्फ … फ़क मी … आह फाड़ दो मेरी चूत. खैर … तब तक उस दुकान‌दार ने खाना‌ खा‌ लिया था और वो‌ अब काउन्टर पर आकर खड़ा हो गया था.

’ निकला, पर शायरा ने कंट्रोल करते हुए उस लाइन को बीच में ही रोक लिया और एक दो लम्बी लम्बी व गहरी गहरी सांसें लीं. कुछ देर तक ऐसा करने के बाद मानवेन्द्र ने मेरी गांड के छेद को चौड़ा करना चालू किया. फिर मैंने उसकी गांड को पकड़ लिया और फिर से उसकी चूत में लंड को धकेल दिया.

उसने नीचे जाकर ऊपर मेरी खिड़की की ओर देखा तो मैंने उसे हाथ को चूम कर किस का इशारा किया.

बीएफ उत्तराखंड: मेरी बात पर वो चहकते हुए बोली- इतना विश्वास हो गया है मेरे ऊपर?मैंने जवाब दिया- विमला इस दुनिया में मैं बहुत सी औरतों से मिल चुका हूँ. वो बोला- यार, एक बार फिर से कोशिश करके देख लेते हम … शायद अंदर चला जाये?मैं बोला- नहीं रोहित, सॉरी यार, मेरी हिम्मत नहीं है.

तुम शादीशुदा हो और मैं पूरा हरामखोर हूँ … तो मेरे लिए ज्यादा प्यार मत दिखाओ. वो चाहता था कि ऊपर ऊपर से चाहे सब कुछ हो जाए मगर चुत नहीं चुदना चाहिए. वे बोलीं- क्या कर रहे हो?मैं बोला- मां ये कुछ तो चिपचिपा सा लग रहा हैं, क्या मैं इसे टेस्ट करूं?वे दबी हुई सांसों में बोलीं- जैसे स्तन को चूसा … वैसे ही इसे भी चाट ले, पूरा पानी पी जा!बस फिर क्या था … मैं मां की चुत पर टूट पड़ा और चुत का पानी चूसने लगा.

अब वो अपनी चुत गांड की चुदाई के लिए कहने लगी- बस अब मुझसे सब्र नहीं होता, प्लीज़ जल्दी मेरी चूत में लंड डाल दो.

पन्द्रह मिनट बाद रोहिणी अपने बेटे और बहू मीनाक्षी बेटे की सास विमला के साथ मेरे सामने वाले कमरे में आ गई थी. मैंने कैमकॉर्डर में उसका नंगा जिस्म देखा जिसको वो रगड़ रगड़ कर साफ कर रही थी. उसकी गोरी चूचियों पर उसके भूरे रंग के खूबसूरत निप्पल मटर के दाने के समान उठे हुए थे.