सेक्सी वीडियो फुल एचडी वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी पढ़ाई

तस्वीर का शीर्षक ,

तमिल बीएफ तमिल: सेक्सी वीडियो फुल एचडी वीडियो बीएफ, मैं समझ गया कि दीदी गर्म होने लगी हैं, मैंने कहा- दीदी, मुझे आपसे किस करके बहुत अच्छा लग रहा है.

चोदने वाला बीएफ वीडियो

अन्त में मैंने उन्हें बता दिया कि मैं उसके साथ सेक्स करना चाहता था इसलिए वो मुझसे नाराज हो गई और मुझसे बात करना बन्द कर दिया. चिकनी चिकनी चूतफिर मैंने ज्यादा समय न लगाते हुए सीधा अपने होंठों को उसके होंठों पर रख उन्हें चूसने लगा.

हमने कमरा साफ़ किया, एक दूसरे को किस किया और फिर रुबीना ने मुझे घर छोड़ने के लिए कहा. ब्लू पिक्चर सेक्सी नंगी वालीउसने मेरे दोनों हाथ अपने गले में पकड़ने को कहा और उसी तरह पकड़ा दिया.

उसने मुझे बोला- घर वाले दो दिन तक शादी में जा रहे हैं तो तुम घर पर आ जाना.सेक्सी वीडियो फुल एचडी वीडियो बीएफ: अब मैं अपने शरीर पर के कपड़े निकालने से पहले देख लेना चाहती थी कि इस बैग में क्या क्या है.

मन कर रहा था कि अभी बहू के लबों को चूम लूं मैं… लेकिन मैंने सब्र किया… मन में मैंने सोचा कि अभी कुछ देर मैं इन लबों को चूम लेने की लालसा को मन ले लिए तड़पता रहूँगा, इस तड़प में मुझे और ज्यादा आनन्द मिलेगा.मानवी भाभी शरमा रही थी, उसने जल्दी से तौलिया उठाया और बाथरूम में वापिस चली गई.

नंगी से नंगी पिक्चर - सेक्सी वीडियो फुल एचडी वीडियो बीएफ

इधर मेरा लंड बम्बू की तरह खड़ा होकर उनकी मोटी गांड को भेदने के लिए व्याकुल हो रहा था.मैंने कहा- मैं जानना चाहता हूँ कि जो आपके पति ने कहा, उसमें आपकी भी मर्जी शामिल है?उसने कहा- जी हां.

पलट कर मेरे पीठ पर, चूतड़ पर, फिर मुझे पलट देते, कभी मेरी चूची को चूसते तो कभी चूची का आटा गूंथते. सेक्सी वीडियो फुल एचडी वीडियो बीएफ दीदी ने एकदम से ऐसा किया तो मैं थोड़ा घबरा सा गया था लेकिन एक ही पल में दीदी के साफ़्ट लिप्स का एहसास अपने लिप्स पर पा के मुझे भी खुमारी चढ़ने लगी और मैंने भी दीदी की किस को उन्ही के अंदाज़ में रेस्पॉन्स देना शुरू कर दिया.

इसी तरह दिन बीतते गए और एक महीने में तो संजय हमारी फैमिली में काफी एडजस्ट हो गया.

सेक्सी वीडियो फुल एचडी वीडियो बीएफ?

https://thumb-v3.xhcdn.com/a/MuZ6GpmF-0kUviGJWA0IHQ/009/779/733/526x298.t.webm. रज़ाई एक ही थी काफ़ी बड़ी थी। रात को सोने से पहले मैंने सबको फोन करके बता दिया कि हम दोनों होटल में रुके हैं. तभी वीडियो में विक्रान्त बाहर चला जाता है!हट यार… यह तो चला गया।”सिमरन- कुछ भी बोल, बेचारी ईशा की हालत देखने वाली थी। लगता है कि उसने पहली बार इतना बड़ा लंड देखा है.

उस पूरी रात को मैं सो नहीं पाया, बस दीदी को यहाँ वहाँ छूता रहा और मेरा लंड तन कर लोहे की रॉड जैसा हो चुका था और पानी सा छोड़ रहा था. इतने मैं उस आदमी ने मुझे हिलाया और हंसते हुए कहा- कहाँ खो गए करण? मैं विनोद. अब मैं चाची की चुची को नाईटी के ऊपर से चुसकने लगा और उनके निप्पलों को काटने लगा.

बिटिया के विदा होने के बाद तीसरे दिन की बात है शायद, रात के साढ़े ग्यारह से ऊपर का टाइम हो रहा था. जैसा कि मेरी पिछली सेक्स स्टोरीसेक्सी भाभी को चोदा तड़पा तड़पा करके अनुसार मुझे पायल भाभी कोई सरप्राइज़ देना चाहती थीं और मैं भी उन्हें एक सेक्सी सरप्राइज़ देने की सोच रहा था. पहले तो राज को देख कर बहुत ज्यादा गुस्सा आया मुझे… पर उन दोनों को देख कर मेरी चुत भी गीली होने लगी.

क्योंकि जब मुझे खाने के बुलाने आई थीं, तब सलवार-कमीज में थीं और अब एक पतली सी नाईटी में गजब ढा रही थीं. जोया सारा पानी पी गई और उसका लंड भी अच्छी तरह से चाट कर साफ कर दिया.

मैं उनके कान की लौ को मुँह में लेकर चूसने लगा और भाभी की गर्दन को चूमते हुए उनकी नाइटी उतार दी.

क्योंकि कमरे में मेरी बीवी मादरजात नंगी बैठी हुई थी और उसके सामने तीन मर्द खड़े थे.

सबसे पहले आप सभी को थैंक्स कहना चाहती हूँ कि आप लोगों ने मेरी पिछली हिंदी सेक्स स्टोरीपड़ोसी ने मुझे फंसा कर मेरी चूत की पहली चुदाई कीलवर के दोस्त के बड़े लंड से चुद कर मजा आयाको इतना पसंद किया और मुझे आप लोगों की मेल भी मिली. फिर आनन्द ने मोना को दीवार के सहारे खड़ा किया और उसके स्तनों को पकड़ लिया. जैसी आशा थी, थोड़ी देर में भाभी का फोन आया कि किसी ने बाहर से कुंडी लगा दी है.

एक दिन उसका फ़ोन आया कि घर वाले सभी मार्केट गए हुए हैं, पता नहीं कब तक आएंगे. मेनका- अतुल, आइ लव यू सो मच…मैं- आइ लव यू टू जान…मेनका- तेरा लंड तो फिर से खड़ा हो गया? और इस बार तो यह और भी बड़ा लग रहा है… ला इसको सेकेंड राउंड के लिए तैयार करती हूँ. मैं भी उनसे बात करता रहा और कभी कभी मेरी नज़र उनकी चुची पर चली जाती थी.

तो मम्मी ने कहा- बेटा, हम औरतें, अगर वहाँ चोर आयेंगे तो क्या कर लेंगी? कोई तो पुरुष होना जरूरी है.

शहजाद- हल्लो नसीम!मैं धीमी और कांपती आवाज में बोली- हां शहजाद कहिए?शहजाद- क्या हुआ संजय खाना खाने के लिए नीचे उतरा या नहीं?मैंने सुकून की सांस ली कि शहजाद को कुछ पता नहीं चला था. उनका एक पैर ड्रेसिंग टेबल पर रखा और एक नीचे को थोड़ा सा झुकाया और शीशे में देखते हुए उनकी चूत में लंड पेल दिया. मैंने सबको अपने हाथों से केक खिलाया और उन सबने भी मुझे अपने हाथों से खिलाया.

चिंटू और परीक्षित तो उनका वीर्य निकलते ही रानी के साथ लिपट कर सो रहे थे, रवि भी फर्श पर बेसुध होकर सो रहा था तो मैं भी रवि के सा फर्श पर हो सो गई।[emailprotected]. मुझे कई बार चाची की हरकतों से लगता था कि वो भी वही चाहती हैं जो मैं चाहता हूँ. उन्होंने मुझे एक लेडी डॉक्टर का नाम बताया और कहा कि उन से बात करके देखो.

अंजलि का कद कोई 5 फीट 3 इंच, एकदम गोरी अपनी मम्मी की तरह, दुबली पतली फीगर होगा कोई 32-26-30, वो अपने शहर में बी ए की पढ़ाई कर रही थी.

फिर करीब एक बजे मैंने उसकी चूत पर हाथ फिराना शुरू किया, एक हाथ से उसके दूध दबाने शुरू किये. सभी दोस्तों को रौनक का नमस्कार! यारो, मैं अन्तर्वासना की कहानियां कई सालों से हमेशा पढ़ता आया हूँ.

सेक्सी वीडियो फुल एचडी वीडियो बीएफ पर जब उनकी ब्रा की स्ट्रिप दिखती, तो मैं उसको पकड़ कर खींच कर छोड़ देता और उन्हें इससे ज़ोर से लग जाती. एक दिन दिव्या के मोबाइल से मैंने अमित से मेसेज से बात की और उससे पूछा- क्या हुआ अब तो मिनी को गले से लगाने का मन नहीं करता है क्या?अमित- करता है यार… पर अब वो दूसरे की अमानत है और उसे अब वो भी गले लगा चुका होगा.

सेक्सी वीडियो फुल एचडी वीडियो बीएफ मैंने अपने दोस्तों से सुना था कि काम वाली बाई भी दे देती है, यदि उसको सही से पटा लिया जाए. कुछ दिन ऐसा ही चलता रहा और कुछ लोगों को मेरी सोसाइटी में पता चल गया था कि मैंने और रोहण ने शादी कर ली है.

मैं इधर अकेली बच रही थी तो उसके पापा ने कहा कि तुम भी अपने एक जोड़ कपड़े रख लो, आज चली चलो, कल वापस चली आना.

देसी सेक्स इमेज

रजनी ने जल्दी से नाइटी का बेबी फीडिंग हुक खोला और चिंटू को दूध पिलाने लगी. रविवारीय बैठक में निर्णय लिया गया कि उन सीडी को नष्ट कर दिया जाए, पर एक बार उन्हें देख लिया जाए. इस वक्त हमें बहुत भूख लगी थी, तो स्वाति ने रूम सर्विस से खाने को स्नैक्स मंगवाये और बोल दिया कि खाना दरवाजे के बाहर ही रख दें, क्योंकि वो अभी नहाने जा रही है.

इतना लंबा और मोटा लंड मेरी चूत में आज तक नहीं गया था, मुझे कसम से सचमुच बहुत दर्द हो रहा था, मेरे आंसू निकल रहे थे, कुछ बोल भी नहीं पाती थी, मुझे मेरी जान से भी प्यारे आशिक की कसम थी, मैं दर्द सह रही थी. अब उसका नंगा जिस्म मेरी बांहों में था और वो मेरी बांहों में यूं मचल रही थी, जैसे जल बिन मछली हो. वैसे तो मेरा लंड पहले से ही टाइट था लेकिन माँ का हाथ पड़ते ही और टाइट हो गया, लग रहा था कि लंड की नसें बाहर हो जाएँगी.

तो मैंने भी जिद नहीं की लेकिन उसे कहा- यार तू मेरा लंड चूस कर ही इसे शांत कर दे.

आज मेरी क्लास में कुल 10 लड़कियां और 20 लड़के पढ़ने आते हैं और सभी की झांटों पर वी तथा एल का शेप भी बना हुआ है. कभी कभी वो मेरे खाने की और मेरी खूबसूरती की तारीफ़ कर देता, खासकर जब मैं ब्लैक सूट पहनती. मेरी साली की जवान बेटी के चोदन की कामवासना से परिपूर्ण हिंदी पोर्न स्टोरी के पिछले भागस्त्री-मन… एक पहेली-4में आपने पढ़ा कि प्रिया मेरे घर में मेरे साथ अकेली मेरे बेड पर नग्न वक्ष है.

थोड़ी देर इंतज़ार करने के बाद मुझे लगा कि शायद सोनी नहीं आने वाली है. कुछ हफ्तों में हमने सिलेबस कंप्लीट किया, पर उस दिन लिप किस वाली घटना का जिक्र दोबारा कभी नहीं हुआ. दीदी ने मेरी तरफ देखा और शरबत उठाते हुए बोलीं- चाचा को बताना पड़ेगा.

एक घंटे की बाद मुझे फिर से जोश आ गया और मैं फिर से उसकी मारने को तैयार हो गया. मैं उससे बोला- मेरे लीवर जिगर फिगर में हो तुम, वक्त बे वक्त आए फीवर में हो तुम.

उसका तना हुआ लंड मुझे अपनी गांड के छेद में गड़ता सा महसूस हो रहा था. उनके 5 मिनट बाद ही दूसरा दोस्त भी झड़ गया, उसने अपना माल मेरी बीवी के स्तन पर निकाल कर हाथ से चारों ओर फैला दिया. मैंने एक हाथ से धीरे धीरे ड्रिंक लेना चालू किया और दूसरे हाथ की मुठ्ठी बनाकर हल्के से उनकी पीठ पर मारने लगा.

और अब वो दोनो खड़े हो गये, वो औरत उसकी मुठी मारने लगी और थोड़ी देर में उसका लंड फिर से खड़ा हो गया और उसने उसे अब अबकी बार लेटा दिया और उसके ऊपर लेट कर अपने हाथ से लंड उसकी चूत पर सेट करके फिर से अंदर बाहर करने लगा और लगभग दस मिनट तक चोदता रहा और उसने उसकी चूची पर जोर से काट लिया और झड़ कर खड़ा हो गया.

थोड़ी देर में ही मैं झड़ गया, मेरा पानी सारे फर्श पर गिर गया और थोड़ा दीदी के ऊपर भी. उसी बीच भाभी का हाथ मेरे लंड से टकराया तो लंड ने एक तुनकी सी मार दी, जिससे भाभी हंसने लगीं. मैंने नोट किया कि प्रिया का इकहरा शरीर आकर्षक रूप से थोड़ा भर गया था, वक्ष थोड़े ज्यादा सख़्त और ज्यादा उभर आये थे, फ़िगर भी शायद 34-26-34 हो चला था.

अब ब्रायन ने मम्मी को बेड से नीचे उतारा और एक सोफे के सहारे खड़ा करके एक टांग उठा कर चोदने लगा. उसका रंग एकदम दूध सा गोरा, काले लंबे बाल, गुलाबी होंठ, बड़ी बड़ी कजरारी आँखें, उसे देख कर बस ऐसा लग रहा था, जैसे धरती पर कोई स्वर्ग की अप्सरा उतर आई हो.

अब मैं उनकी में फंसे हुए मस्त रसीले मम्मों पर टूट पड़ा और उन्हें ज़ोर से दबाने लगा. भाभी की चुत पर बिल्कुल छोटे छोटे बाल उगे हुए थे, जो कि पकड़ में भी नहीं आ रहे थे. मैं थोड़ी देर रुका, थोड़ी देर बाद वो भी गांड उछाल कर मेरा साथ देने लगीं और हम लोग सब भूल कर काफी देर तक चुदाई करते रहे.

कुत्ते वाली सेक्सी पिक्चर

हम सब रात को देर तक टीवी देखते रहे, फिर एक एक करके सब जाकर सो गए, अब मैं और अंजलि ही रह गए थे टीवी वाले कमरे में…अंजलि टीवी देखते देखते उस कमरे में ही सो गयी.

वो मुझसे भी पूछने लगीं कि तुम क्या करते हो?मैंने बोला- मैं एस एम एस हॉस्पिटल में काम करता हूँ. इस पर मीना जी ने अपने दोनों हाथों को जरा सा खोल दिया ताकि मैं अच्छे से मालिश कर सकूँ. चोद लेना।”क्या चोदने दोगी?”जो तुम अब चोद रहे हो।”क्या चोद रहा हूँ?”मधु मेरी कमर पर चपत लगाते हुए ऊउऊ.

कामिनी काफी गरम हो चुकी थी, विवेक एकदम नीचे चले गया और उसने कामिनी की चूत में अपनी जीभ घुसा दी. भाबी ने मेरी तरफ नशीले अंदाज में देखा और कहा- पूरी रात बाकी है, पहले खाना तो खा लो. सेक्सी पिक्चर बीएफ हिंदी मेंमैंने और जोर से शॉट लगाया तो आधा लंड मामी की चूत को फाड़ता हुआ चला गया.

तो वो मुझे बहुत अच्छी लगती थीं, पर उनको मैंने कभी गलत नजरिए से नहीं देखा था. फिर उसने मेरे गालों को थपथपाते हुए अपना लंड मेरे मुँह में देना शुरू कर दिया था.

हैलो दोस्तो, अन्तर्वासना सेक्स कहानी के आप सभी पाठकों को मेरा प्यार, नमस्कार!जैसा कि मैंने आपको पहले की कहानीरात को आ जाना. मैंने मौके का फ़ायदा उठाते हुए थोड़ा सा ज़ोर लगा कर सुपारा अन्दर किया तो भाभी छटपटा गई और कहने लगी- आराम से पेल भैनचोद. प्लेट उठाते वक़्त भाभी के गोल गोल मम्मे दिख रहे थे, जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया और वो पैन्ट के ऊपर से मेरे लंड को देखने लगी.

”अब तक हम थोड़ी दूरी बनाकर बैठे थे पर कहानी सुनने के लिए उसे नजदीक आना पड़ा. ”मेरे खुले शब्दों पर भाभी हँस दीं, फिर गहरी सांस लेने के बाद बोलीं- अगर न बताऊँ तो?मैंने कहा- भाभी जैसा आपको अच्छा लगे, मैं तो पहले ही कह चुका कि इस बारे में किसी को कुछ नहीं कहूँगा. मेरा कभी झूठी कहानियाँ लिखने का मन करता मग़र अनुभव न होने के कारण लिख नहीं पाता था.

वो मेरे लंड को लगातार छेड़ रही थी और अब मैं दोबारा फुल जोश में था, मुझसे रहा नहीं जा रहा था.

जब भी कोई मुझसे फेसबुक पर चैट करता है और वो मेरी पिक देख लेता है तो मुझसे मिलने के लिए बेचैन हो जाता है. थोड़ी देर जीभ चुसाई करवाने के बाद किड ने दोबारा अपना खड़ा हुआ बैंगन जैसा लंड नताशा की मुंह रूपी सुरंग में घुसेड़ दिया, जिसे वो जोर जोर से कराहते हुए चूसने लगी.

जब मुझे लगा कि मेरा लंड छूटने वाला है तो मैंने उसे हटाना चाहा, परंतु वो नहीं हटी. तो तभी मैंने अपना सुपारा घुसेड़ दिया और अन्दर-बाहर करने लगा और उसे भी मजे आने लगे।मैंने जैसे ही झटके से अन्दर डाला तो वो छटपटाने लगी और लण्ड निकालने को कहने लगी।जब वो चुप हुई तो मैं फिर से डालने लगा. और मयूरी ने मोहन लाल के स्थिति का लगभग बिल्कुल सही अंदाजा लगाया था.

मैंने पीछे से लंड उनकी चुत पर थोड़ी देर रगड़ा और फिर लंड को चुत के अन्दर घुसा कर उनकी कमर पकड़ कर धक्के मारने लगा. मेरी चुदाई बाकी थी, लेकिन इन लोगों ने मुझे बुरी तरह गर्म कर दिया था. बहुत रात हो गई है।मैंने भी उसकी बात पर खुद के बारे में सोचा कि एक तो मैंने ग्रीन कलर का कमीज़-सलवार पहना हुआ था और मैं एकदम दुल्हन की तरह सजी हुई थी। जब मैं चलती.

सेक्सी वीडियो फुल एचडी वीडियो बीएफ यह सुनते ही पापा ने लंड की स्पीड बढ़ा दी और मेरी दोनों टांगों को ऊपर कर दिया और जम के लगे चोदने ‘आहह हउंह हह ओहह हहह मेरे राजा… और चोदो मुझे… फाड़ दो मेरी चूत को… पूरा डाल दो!और जोर से चिल्लाई मैं, मेरी चूत पूरी गीली हो चुकी थी, पूरे कमरे में फच फच की आवाज चुदाई की गूंज रही थी. खैर, अमित सर ने कहा है कल से पूरे हफ्ते आपको बिना ब्रा पेंटी के ही ऑफिस आना है.

अंग्रेजों का सेक्सी वीडियो फिल्म

उनका हंसना मुझे समझ नहीं आया, मैंने कहा- अगर ऐसी कोई बात है तो मुझे भी बताओ, मैं भी हंसूँ?तब उन्होंने हिचकते हुए कहा कि वो हमेशा मेरे सर की बाम से मालिश कर देते हैं. बहूरानी के मायके वाले हमें रिसीव करने आये थे, सब लोगों से बड़ी आत्मीयता से हाय हेलो हुई और हम लोग अपने ठहरने की जगह की ओर निकल लिए. दोस्तो, यही वो पल था, जहां से पहली बार मेरे और मेरी बहन सोनी के रिश्ते ने कुछ अलग रास्ते को पकड़ लिया था.

मैंने उनकी साड़ी पेटीकोट को जैसे ही ऊपर किया तो देखा कि जैसे उन्होंने मुझसे चुदने की पहले से तैयारी कर रखी थी. मैं उस वक्ष के बादामी घेरे पर अपनी जीभ निप्पल को बिना छूए दाएं से बाएं और फिर बाएं से दाएं फ़िरा रहा था और बेचैन प्रिया अपने एक हाथ से अपना वक्ष पकड़ कर निप्पल मेरे मुंह में देने का बार बार प्रयास कर रही थी लेकिन मैं हर बार साफ़ कन्नी काट जाता था. सेक्स ऑंटी सेक्स ऑंटीफिर राजधानी एक्सप्रेस के प्राइवेट केबिन में डेढ़ दिन यानि पूरे 36-37 घंटे वासना और चोदन का नंगा धमाल होना तय था.

उसने मेरा लंड इतनी बार आगे पीछे किया होता, तो अब तक पिचकारी छूट जाती, पर विवेक एक नम्बर का सॉलिड चुदक्कड़ था.

उन्होंने बोला- जान तुमने मुझे आज वो सुख दिया, जिसकी मुझे ज़रूरत थी. उस वक्त मेरे बड़े पापा(ताऊ जी, पापा के बड़े भाई) के लड़के की शादी हुई थी.

बताओ?अमित- तुम्हें 15-20 दिन तक एक लड़के की गर्लफ्रेंड होने का नाटक करना है बस. वैसे उनकी शादी को 4 साल हो चुके थे लेकिन वो अपनी बीवी को कभी भी अच्छे से संतुष्ट नहीं कर पाए क्योंकि उनका लंड काफी छोटा था… बस यूं समझिए कि एक छोटे बच्चे की लुल्ली की तरह था. जब भी वो आ जाती थी तो उनके लिए प्यार से कुछ कुछ लाता रहता था, कभी हॉट-डॉग तो कभी चाऊमीन.

अब मैंने चाची की टांगें उठा कर अपने कंधों पर रख लीं और अपना लंड चाची की चूत पे सैट करके हल्का सा धक्का लगाया ही था कि चाची की चीख निकली- उई अम्मी.

इतनी चुदाई के बाद भी मेरे लंड का कड़कपन कम नहीं हुआ तो वो फिर से चुत में डाल कर दनादन चुत चोदने लगा. फिर हम सभी मिलकर पार्टी की तैयारी करने लगे और तैयारी पूरी होने के बाद सभी फ्रेश होकर पार्टी के लिए तैयार होने लगे थे. अब उसकी शर्म चली गई थी और वो बिंदास हो कर मेरे लंड को अपने हाथों से मसलते हुए मुठ मार रही थी.

आई लव यू बीएफमेरे द्वारा बलपूर्वक किये गए इस दुःसाहंस से सनी लियोन भी बुर देने से इन्कार कर दे, वो तो ठहरी गंवई सुकुमारी भौजी. फिर माया आंटी ने सबके लिए खाना परोसा और बोलीं- चलो खाना ख़ा लो!आंटी- क्या कल्याणी.

इंडियन लव सेक्स

कुछ समय बीतने पर अपने लिए बुरा लगने लगा कि पुराने दिन न जाने कहाँ चले गए. सोमवार तो उसका व्रत हमेशा ही रहता है इसके अलावा एकादशी, प्रदोष और साल में एक बार आने वाले व्रत जैसे जन्माष्टमी, शिवरात्रि, नवदुर्गा इत्यादि न जाने कितने; सब पूरे विधि विधान से ही करती, निभाती है. फिर हम दोनों स्टेशन जाने के लिए तैयार हुए, जाने से पहले स्वाति ने अपने बैग में से एक गिफ्ट पैक निकाला और मेरी तरफ बढ़ा दिया.

पर मैं ये नहीं समझ पा रहा था कि दीदी कैसे उन सभी पर जुल्म करती हैं, जिसे वो सहते हैं. मैं कुछ समझ पाता तब तक इरशाद भाई ने मेरे गले में हाथ डाल कर मेरे गाल पर एक जोरदार चुम्बन जड़ दिया और उनका खड़ा लंड मेरी पीठ से टकराने लगा. उसके बाद कमल ने मुझे अपनी गोद में उठा लिया और मेरे दोनों कूल्हों को अपने हाथों से पकड़ कर मेरी चूत में अपने लंड को जड़ तक पेल दिया और मुझे उछालते हुए चोदने लगा.

वो तो अच्छा हुआ कि उनके मुँह में ब्रा थी… नहीं तो उसकी इस बार बहुत तेज चीख निकलती. मैंने एक पल की भी देर नहीं की और अपना मूसल लंड दीदी की चूत में पेल दिया. उसके बाद उसका हाथ मेरी पेंटी पे गया और एक ही झटके में उसने मुझे जन्मजात नंगी कर दिया.

लंड चूसते हुए मैंने देखा, रिया ने अब एक जगह बैठ कर शराब की बोतल अपनी मुँह से लगाई हुई थी और वो तीनों उसके बदन को नोच रहे थे. अब मेन डोर लॉक नहीं था,मेरी बेवफा बीवीभी बिस्तर में खूब थकी सी लेटी हुई थी.

आँगन में खड़े दोनों बहन भाई अब प्रेमी बन चुके थे, और एक लंबे और प्रगाढ़ चुंबन में लिप्त थे.

जब वो शांत हो गईं, तब मैंने फिर से घोड़ी बनाते हुए एक और झटका मारा. indian क्सक्सक्सअब सुरेश और मयूरी भी दरवाजे की तरफ खड़े अपने पिता और ससुर को देखने लगे. ब्लू सेक्सी फिल्म चोदा चोदीरात को वो थोड़ा नार्मल हुई तो मैं उससे माफी मांगने लगा तो उसने कहा कि इसमें तुम्हारी कोई गलती नहीं. और सो गई। मैंने अपनी पीठ रवि की तरफ की हुई थी।थोड़ी ही देर बाद रवि ने मुझे पीछे से कस कर चिपका लिया। मैं एकदम शॉक सी हो गई.

अब ममता भी धीरे धीरे उत्तेजित होने लगी और मेरे बालों को सहलाने लगी.

उसने मेरी तरफ देखा भी नहीं, वो मम्मी से बोली- मम्मी, हम फ़िल्म देखने जा रहे हैं, दोपहर का खाना भी रेस्टोरेंट में खायेंगे. उन्होंने खुद मेरे लंड को अपने हाथों से अपनी चुत के छेद पर सैट किया और मुझसे बोली- अब लगाओ धक्का. रविवार के दिन हम अभी लोग इकट्ठा होते, जिसमें औरतों की किटी पार्टी बच्चों का खेल कूद मनोरंजन प्रोग्राम आदि होता.

उम्र के हिसाब से काफ़ी बड़ा और लंबा था, उसके लण्ड पर अभी तक एक भी बाल नहीं था. अब मैं आपको मेरी कहानी बताती हूँ जो मेरी सच्ची चुदाई की कहानी है कि कैसे चाचा ने मुझे चोदा. वो गुस्से में बोली- क्या है?तब मैं बोला- भाभी आप जो चाहती हो वही होगा.

कॉलेज वाली सेक्सी वीडियो

उस दिन कमल ने मुझे 3 बार और चोदा, मैं पूरी तरह से संतुष्ट हो गई थी. मैंने हथेली का एक कप सा बनाया जिस में मेरी उंगलियाँ नीचे की ओर थी और उससे प्रिया की योनि को पूरा ढाँप लिया. खैर अब मैंने उसकी पेंटी भी उतार दी और अब वो और मैं बिल्कुल नंगे थे.

शादी के 2 दिन बाद जब पग फेरे की रस्म में हम लोग गए, तो वो गेट पे ही हमारा मतलब मेरा बेसब्री से इंतज़ार कर रही थी.

उन्होंने मुझे एक लेडी डॉक्टर का नाम बताया और कहा कि उन से बात करके देखो.

मैंने उसके हाथों को हटा के सीधा उसके निप्पल को अपने मुँह में लिया और पागलों की तरह चूसने लगा. मेरे लंड की लंबाई 6 इंच मोटाई 2 इंच है जो कि किसी भी लड़की भाभी या आंटी को चुदाई का भरपूर सुख देने के लिए काफ़ी है. सेटिंग्स बीएफमैंने अंजलि के होंठों को अपने होंठों में दबाया और अपनी उनकी उसकी चूत में फिराने लगा, उंगली से उसकी चूत कुरेदने लगा.

मैंने पहले तो उसकी चुची पर बड़े प्यार से हाथ फिराया और फिर उन्हें हल्के हल्के दबाने लगा. उन्होंने फिर अपनी आँखें बंद कर लीं और मैं आगे बढ़ कर उनको किस करने लगा. पाठकगण! वैसे तो यह कोई ऐसा छुपा राज़ नहीं… लेकिन फिर भी बता देता हूँ कि इन जनाना लैगियों में नाड़ा नहीं होता, इलास्टिक होता है जिस कारण जल्दी से लैगी उतारना और पहनना बहुत सुविधाजनक होता है और गाहे-बगाहे हाथ अंदर सरका कर स्त्री की योनि से खेलने और भगनासा सहलाने में बहुत सुविधा रहती है.

मैंने अपना हाथ उसकी पैंटी में रखा तो महसूस हुआ कि पेंटी उसकी चूत के रस से भीग गई थी. इसके बाद मैं फिर से उठा और कोल्ड ड्रिंक फिर से भाभी की नाभि में भर कर बर्फ के दो टुकड़े उठा लिए.

कुछ देर बाद चाचा का लंड फिर से मुझे चोदने के लिए तैयार था, चाचा ने मुझे घोड़ी बना दिया और वो अपना लंड पीछे से मेरी चूत में डाल कर मुझे पीछे से चोदने लगे.

भैया इन्फ़ोसिस में सॉफ्टवेयर इंजीनियर थे और भाबी जी एक अच्छी हाउसवाइफ थीं. भाभी मेरी जांघ पर हाथ फेरते हुए कहने लगीं- पूरे बदन में सबसे अच्छा क्या लगता है?अब मुझसे रहा नहीं गया और मैंने एक हाथ उनकी गर्दन पर रख के उन्हें अपनी तरफ करके होंठ पर होंठ रख दिए. तभी खुद सोनी ने भाई से कहा- मुझे बीच में बैठने दे क्योंकि मैं लड़की हूँ, पीछे बैठने में मुझे डर लगता है कि कहीं गिर ना जाऊं.

हिंदी बीएफ ओपन चाची तो पागल हो कर तड़प उठीं और मादक सिसकारियां भरते हुए मेरे लंड को हिलाने लगीं. पुलकित ने मंजरी के दोनों बोबे पकड़े और खूब ज़ोर ज़ोर से दबाये, जैसे नींबू में से रस निकाल रहा था.

कमल ने मेरे दोनों टांगों को जोड़कर पकड़ लिया और अपने लंड से मेरी चुदाई करने लगा. चाचा जब भी मेरे घर आते थे, वो मुझसे मजाक करते थे और हम दोनों लोग कभी कभी एक दूसरे के साथ खेलते भी थे लेकिन मैं चाचा के बारे में कुछ गलत नहीं सोचती थी. मैं वापस अन्दर गई और अपने आपको देखा कि मेकअप सही है या नहीं और सब सही है, देखने के बाद मैं जल्दी जल्दी से भाग कर कार में बैठ गई.

सुन्दर लड़की

मैं बोली- तुम समझ नहीं रहे, मुझे फर्क पड़ता है, तुम सब कुछ कर सकते हो, तुम को हक़ है मुझे चोदने का क्योंकि मैं तुमको प्यार करती हूं, तुम्हें शर्म नहीं आती यह कहते हुए… वो मेरे बाप जितना है. मैंने उससे नहीं पूछा कि उसने क्या सोचा, बस उससे इधर उधर की बातें करता रहता, जब तक वो रहती. रीना जाने लगी तो उसके मटकते चूतड़ों को देखकर दीपक भैया अपना लंड मसलते रहे.

मुझे मारना है क्या?मैं बोला- तुम एक बार डलवाओ तो सही, कुछ नहीं होगा. वो बच्चों के साथ हंसी मजाक करता था, जिसमें कभी कभी मैं भी शामिल हो जाती थी.

मैंने अपनी ताकट बटोर कर खुद को थोड़ासा ऊपर उठाया, उठ कर सिराज की मजबूत बांहों का सहारा लेकर उसकी गर्दन के ऊपर अपने हाथों की माला बना कर सहारा लिया और सीधे अपने होंठ उसके होंठों पे रख दिए.

मैंने उन्हें करीब दस मिनट तक लगातार किस किया, उसमें मुझे काफी मजा आया. सपना ने ख़ुशी से कहा- चलो, मैं तुम्हें अपना गांव दिखाऊंगी… नासिक भी घुमाऊँगी. मेरे लंड से रस की फुहारें छूट छूट कर बहूरानी की चूत को तृप्त करने लगीं.

उसकी चुचियां और गांड का शेप देख कर तो मन कर रहा था कि बस उस पर अपना हाथ फिराता ही रहूँ. मेरी खुशी उसे मेरे चेहरे पर साफ दिखाई दे रही थी, जिसे देख कर वो भी बहुत खुश थी. बिटिया की शादी में मैं पिछले महीने भर से चकरघिन्नी बना हुआ था, अब कितने काम होते हैं, लड़की के पिता को क्या क्या देखना होता है ये तो आप पाठक गण सब जानते ही हैं.

कुछ देर ऐसे पड़े रहने के बाद, एक बार फिर से चुदाई का कार्यक्रम शुरू हो गया.

सेक्सी वीडियो फुल एचडी वीडियो बीएफ: मैं एक बार में ही अपना सुपारा डालना चाहता था और ये जानता था कि इससे इसे बहुत दर्द होगा. मैदान साफ देख मैंने रीना को बेड पर पीठ के बल लिटाकर उसकी चुत पर सवार हो एकदम से मस्त चुदाई करने लगा.

बोलो न?मैं- क्या आप आज की रात मेरी गर्लफ्रेंड बनेगीं?मामी- अगर तुम ज्यादा बदमाशी नहीं करोगे तो ही बोलो. एक दिन मेरी कोचिंग क्लास की छुट्टी थी तो मैं दोपहर में भाभी के घर चला गया और हमेशा की तरह सोनू के साथ खेलने लगा. मैं फिर रुक गया, कमरे में गया, मैंने देखा कि कामिनी विवेक की बांहों में बेशर्मों की तरह लेटी थी, उसने अलग होना भी ठीक नहीं समझा.

उन्होंने मुझे हटाया और अपनी टाँगें फैला कर किसी भूखी कुतिया की तरह मुझे देखने लगीं.

अब मेरा एक हाथ उसकी जाँघों से होता हुआ उसकी चूत की तरफ बढ़ने लगा और दूसरा हाथ उसकी चूचियों को दबाए जा रहा था. पापा एक मल्टी-नॅशनल कंपनी में काम करते हैं इसलिए वो घर पर ज़्यादा नहीं रह पाते थे. मैंने अब उसे चित लेटाया और अपना लंड उसकी चुत पर रख कर उससे बोला- यार प्रिया, थोड़ा दर्द होगा तुम्हें… तो सह लेना.