बीएफ फॉरेन

छवि स्रोत,कोठे वाली रंडी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी पिक्चर नंगे सिन: बीएफ फॉरेन, अब मैं ज्यादा देर खुद को रोक न पाया और बिना बताये ही मैंने प्रिया के मुंह में वीर्य छोड़ दिया.

सेक्स ब्लू फिल्में

निशा भाभी- मतलब फुद्दी लंड का मिलन!मैं- वो तो है ही … अभी फुद्दी चूसने का मज़ा भी बाकी है जान. देहाती चाची की चुदाई वीडियोफिर उन्होंने मेरे लोअर को भी नीचे खींच दिया और मेरे अंडरवियर को भी खींचकर उतार दिया.

अगले दिन आकृति आंटी ने मुझे करीब शाम को साढ़े आठ बजे अपने घर जाने को बोला और ये भी बताया कि उसने रिट्ज को भी ये बोला है कि मैं दो दिनों के लिए बाहर जा रही हूँ, तो तुम अकेली रहोगी. भाई बहन का सेक्सीअमित ने पहले ही एयर कंडीशनर चालू कर दिया था … जिससे कमरे में काफी ठंडक आ गई थी.

मैंने मामी की ओर देखा, तो उन्होंने कहा- तुमसे मिलने की आस में सब कुछ रेडी करके आई हूँ.बीएफ फॉरेन: हम दोनों की आहह आहह आहह के साथ पानी छोड़ दिया और चिपक कर लेट गए।मैंने उसे बताया कि मैं पहले कभी पुलिस वाली को नहीं चोदा इसलिए डर रहा था।फिर वो बोली कि उसने पहले से कंडक्टर से पूछा तो कंडक्टर ने बताया कि ये लड़का आपके लिए ठीक रहेगा।मैं समझ गया कि ये सब उसकी चाल थी.

चुदाई के मैंने उससे पूछा- तुमको अपनी चूत और गांड मरा कर कैसा लगा?उसने खुश होकर मुझे गले लगा लिया और बोली- आकाश, आज से मेरी इस गांड पर अब सिर्फ तुम्हारा हक है.दीदी को भी लंड का मजा मिल रहा था और वो मेरे पूरे बदन पर हाथ फिराते हुए चुदने का मजा ले रही थी.

बफ भोजपुरी में - बीएफ फॉरेन

मेरे पूरे घर में मेरी ‘उफ़ उहह … यस आई लाइक इट … ओह्ह जान फ़क मी आह आह आह.उनके लंड पर अपना हाथ फिरा आ रही थी और उनके लंड की लंबाई और मोटाई को महसूस करके लज्जत महसूस कर रही थी.

फ्री चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं एक नयी अपार्टमेंट बिल्डिंग में सिक्योरिटी गार्ड था. बीएफ फॉरेन शिकायती अंदाज में सारा बोली- आग लगा कर बुझाई क्यों?कमल बोला- चलो कोई बात नहीं, फिर कभी दोबारा बुला लेंगे उसे!उस रात सारा और कमल का वैसा सेक्स हुआ जैसा शादी के शुरूआती दिनों में होता था.

करीब 15 मिनट तक ऐसे ही मैं आयशा की चूत चाटता रहा और नाजिया मेरा लंड चूसती रही.

बीएफ फॉरेन?

मेरा मन आगे भी कुछ करने को हो रहा था लेकिन मैं डर रहा था कि कहीं रूपाली इस बात का बुरा न मान जाये. सुहैला बहुत ही प्यासी आवाज़ में बोली- मुझे ये बहुत पसंद है, साला रवि कभी नहीं करता था. फिर मैंने धीरे से उनके हाथ को अपने हाथ से थोड़ा सा नीचे की ओर सरका दिया.

तो हिम्मत जुटा कर मैंने उसकी पैंट पूरी निकालने का फैसला लिया और उसके पैरों के पास बैठ कर उसकी पैंट दोनों तरफ से पकड़ कर धीरे धीरे घुटनों तक कर ली. मैंने उसे जाते हुए देखा, तो उससे ठीक से चलते नहीं बन रहा था मगर वह आराम आराम से चल रही थी. उसने मुझसे कहा कि भाभी मैं आपके लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हूं … बस आप एक बार मुझसे बात कर लीजिए.

तब मैंने अपना लंड एक ही धक्के में लवली की चूत में पेल दिया।मैंने धीरे धीरे धक्के लगाए तो लवली मजे से बड़बड़ाने लगी- हाँ विशु, ऐसे ही थोड़ा तेज़ … और तेज़ … हाँ इसी तरह धक्के लगा!और लवली का शरीर ऐंठने लगा और वो फिर से एक बार झड़ गई. कुछ देर बाद रोहन ने अपनी मॉम को पलट दिया और उसे डॉगी पोजिशन में ले आया. मगर उन दोनों ने दोनों तरफ से मेरे लंड पर अपने हाथ रखे और उसको सहलाने लगीं.

मैं उठा और उसकी छाती पर बैठ गया और लन्ड को उसके होंठों पर रगड़ने लगा. मैं एक हाथ से उनके एक दूध को दबाता और दूसरे वाले दूध को मुँह से लगा कर पीने लगा.

मैंने भाभी से पूछा- आपके घर में कौन कौन रहता है?उन्होंने बताया कि मेरे शौहर दुबई में रहते हैं.

दूसरे हाथ से मेरे बूब्स को भी दबाए जा रहा था।कुछ समय बाद सागर ने मुझे खड़ा किया, मुझे हल्का सा झुका के मेरे होठों पर अपने होंठ रख कर चूसने लगा.

लड़की की पहली चुदाई की कहानी में पढ़ें कि कॉलेज में आने के बाद मेरी चूत को लंड की जरूरत लगने लगी. मामी एकदम से सिसकारने लगी- आह्ह … अमन … आह्ह … स्स … आह्ह … चूस ले … पी जा … इनको।मैं जोर जोर से मामी के बूब्स का दूध निचोड़ता रहा. सीमा मेरे 8 इंच लम्बे और मोटे लौड़े की छुअन अपनी चुत पर पाकर हिनहिनाने लगी.

उसने कुछ देर बाद उठ कर अपनी जेब से एक सिगरेट निकाली और सुलगा कर पीने लगा. और मैं उनमें ऐसा खोया कि पता ही नहीं चला कि हम दोनों कब बिल्कुल नंगे हो गये।जब हम दोनों ने एक दूसरे को देखा तो हमारे शरीर पर एक कपड़ा नहीं था।उसकी नजर मेरे लंड पर गई तो अनायास ही उस ब्यूटीफुल Xxx गर्ल के मुँह से निकल गया- हाय दैय्या … कितना बड़ा और मोटा है तेरा लंड!और उसे अपनी हथेली में भरकर सहलाने लगी. करीब शाम आठ बजे आंटी का फ़ोन आया और वो बोलीं- बेटा तुम हमारे घर आ जाना.

कुछ देर में आंटी का फ़ोन आया तो मैं बोला कि मैं आपके घर के बाहर खड़ा हूँ.

समीर मेरी चूत में लंड को पेलता ही जा रहा था।दस मिनट तक मैं दर्द में कराहती रही और वो मुझे चोदता रहा।फिर मुझे भी मजा आने लगा. पढ़ने में मैं बहुत अच्छा हूँ तो इसी के चलते मेरी दोस्ती खुशी से जल्दी हो गयी और उसने एक दिन मेरा नंबर मांग लिया. उसी सेक्स कहानी को मेरी बीवी मेरे पूछने पर मुझे बता रही थी कि उसने अपने जेठ से अपनी चुत किस तरह से चुदवा ली थी.

मैंने अपना नम्बर दे दिया और भाभी ने उसी समय अपने नम्बर से मेरा नम्बर डायल कर दिया. मेरे मोहल्ले के कई अंकल लोगों की नजर मुझ पर लगी हुई थी और वो लोग अक्सर मुझे घूरते रहते थे. अपनी जीभ निकाल कर मैं उसके घुटनों से लेकर उसकी चूत के नज़दीक तक जीभ फिराने लगा। मेरे इस तरह करने से वो कामुक आवाज़ें निकालने लगी।उसने अपने हाथों से मेरे सिर को पकड़ा और चूत की तरफ खींचने लगी।मैं जानबूझकर उसको सता रहा था।छोटी अब कंट्रोल से बाहर हो चुकी थी। उसने मुझे बेड पर लेटने को बोला।मैं बैड पर लेट गया.

इस बार वो मेरी जांघों पर घूम कर बैठ गयी और वापिस जोर जोर से मेरा लंड लेने लगी.

पिछले भागचूत चुदाई के लिए पापा के दोस्त को पटायामें अब तक आपने पढ़ा था कि ओमी अंकल किचन में आकार मेरे साथ सेक्सी हरकतें करने लगे थे और मैं उनका साथ दिए जा रही थी. मैंने अपनी पकड़ थोड़ी ढीली की, लेकिन जेठजी ने मुझे जोर से जकड़ रखा था.

बीएफ फॉरेन अंजलि दर्द से कराहने लगीरमेश ने अंजलि से पूछा- भाभी जी, आप तो पहली बार नहीं ले रही हैं. मैंने बारी बारी से एक एक बोबे को मुंह लगाकर पीया और मामी मेरी पैंट को खोलने लगी.

बीएफ फॉरेन मैंने उसकी पैंटी नीचे कर दी और उसकी छोटी सी कमसिन चूत मुझे दिख गयी।मैं तो उसकी कुंवारी चूत देखकर पागल सा हो गया।मेरी भतीजी की चूत एकदम से चिकनी थी और उस पर एक भी बाल नहीं था।कुछ देर तक तो मैं उसकी चूत को देखता ही रहा।उसकी चूत को सूंघने और चाटने का बहुत मन कर रहा था मेरा!मगर अभी मैं कुछ नहीं कर सकता था क्योंकि श्वेता के उठ जाने का डर था. कुछ देर तक मैं उसके मम्मे मसलते हुए उसे अपने लंड पर झूला झुलाता रहा.

सामने वाली भाभी अपने पैर की उंगलियों से मेरी उंगलियों को टच कर रही थी और मेरी तरफ अलग ही नज़र से देख रही थी.

सेक्सी मारवाड़ी राजस्थान

मेरी जांघें अपने आप कांपने लगीं, मेरा सीना अपने आप हवा में उठ गया था. मैंने कहा- रुक जा मेरी जान … मैं आज तुझे पूरा मजा देने वाला हूं, आज तेरी चूत को चोद कर लाल नहीं कर दिया, तो मेरा नाम राहुल नहीं. यह इंडियन गर्लफ्रेंड की चुदाई स्टोरी मेरी क्लासमेट के साथ पहले सेक्स की है.

फिर मैंने कुछ देर बाद आकर उसको बुक दे दी और जाने लगा, तो भूल ही गया कि खाना लेकर जाना है. पोर्न एक्ट्रेस स्टोरी में पढ़ें कि दूसरे पति की मौत के बाद मुझे फिर से जुआ के अड्डे में जाना पड़ा. जहां हमने एक दूसरे से सामने दूसरे पार्टनर से सेक्स किया, ग्रुप सेक्स किया, सड़क पर सेक्स किया, बीच पर सेक्स किया।ज़िंदगी का असली मज़ा तो अब आया.

चाची हाँफते हुए बोली- आह्ह … हमराज … तेरा लंड तो बहुत मजे देता है रे … मैं तो तेरे लंड की कायल हो गयी.

आप इसे मेरे किसी भी छेद में जब चाहें, जैसे चाहें इस्तेमाल कर सकते हो. ऊपर व्हाइट कुर्ता पहना था, वो मलमल का था जिसके अन्दर से उन्होंने काले रंग की ब्रा पहनी थी, जो साफ़ दिख रही थी. मगर अपने मम्मों पर पड़े नील के और लव बाईट के निशान को कहाँ ले जाती?सब ठीक करके वो एक हल्का पेग मार कर नंगी ही सो गयी.

आज झड़ने पर कुसुम को जो संतुष्टि मिली थी, वो उसे शेखर से सेक्स के दौरान भी नहीं मिलती थी. उसने मम्मी की ब्रा मेरे हाथ में थमा दी और साथ ही अपनी कुर्ती निकाल दी. दस मिनट बाद उसने मुझे अपनी बांहों में समेटा और बिस्तर पर लाकर पूरी उल्टी लेटा दिया.

मैं खुद से सत्यम के लंड पर अपनी गांड उठा उठा कर कूद कूद कर उससे चुदने लगी थी. ये सब होते हुए काफी देर ही गयी, तो मैंने जोया की गांड पकड़ कर उठाया और लंड पर बिठा लिया.

साथ ही भाभी मुझे महीने में पांच हजार रूपए खर्चे के लिए देने लगी थीं. उसमें से उसकी फूली हुई गोल गांड ऐसी लग रही थी कि जैसे किसी ने पीछे कपड़ा ठूंस कर गांड फुला दी हो. सारा भी कमल की नज़र बचा कर बेडरूम में गयी और लिपस्टिक ठीक करके डिनर लगाने चली.

फिर एक दिन मैंने कार्तिक को फोन पर मैसेज कर दिया कि मुझे तुमसे मिलना है.

मैं उसे प्लान बताने लगा- जब घर पर कोई ना हो, तो तू उसे घर बुला लेना. (तुम सबसे अच्छे पति हो)कमल भी निहाल हो गया कि उसे इतनी अच्छी बीवी मिली है जो उसे दूसरी औरत के साथ चुदाई करने को उकसा रही है और अपने लिए इतनी जरा सी चीज मांग रही है. फिर मैंने उसे लंड के ऊपर बैठा कर, घोड़ी बना कर, टांग उठा कर, लेटा कर काफी पोज़ में चोदा.

मैंने अचानक क्लास में उसके गाल को टच कर दिया, तो वो कुछ बोली नहीं, बस मुस्कुरा दी. भाभी मुझे बहुत प्यार करती थीं इसलिए वो मेरी शादी से खुश नहीं थीं … क्योंकि वो मेरी लाइफ में किसी और लड़की का आना पसंद नहीं करती थीं.

जब शाम को रिट्ज का मेरे पास फ़ोन आया, तो वो बोली- क्या बात हुई मम्मी से?मैंने बोला- आपकी मम्मी बोल रही हैं कि आप किसी और के साथ चली जाओ, लेकिन उन स्कूल के दोस्तों के साथ नहीं जाओ. जब मैंने पूछा कि क्यों काटा, तो वो बोली कि मुझे भूख लग रही है, इसलिए तुमको खाने का मन कर रहा है. एक हफ्ते बाद रोहन ने अपनी मॉम को बोला कि मॉम मैं दो दिनों के लिए अपने कॉलेज के दोस्त के घर जा रहा हूं.

सेक्स मूव्ही व्हिडिओ

आंटी बोली- राज अंदर पानी छोड़ना!और उसने मुझे कसकर अपनी बांहों में भर लिया और हम दोनों जोर जोर से झटके मारने लगे.

उसके साथ मैंने कैसे अपनी सुहागरात की शुरुआत की?दोस्तो, आज मैं आपको अपनी एक नई कहानी बताने जा रहा हूँ।वैसे तो आप कहानी के नाम से ही समझ गए होंगे कि कहानी किसी दूसरी शादी के बाद होने वाली सुहागरात की है. मेरे पूरे शरीर को चाटते हुए आंटी ने मेरे लंड को भी कुछ देर चूसा और खुद सोफे पर सामने के तरफ से टांगें फैला कर इशारा करने लगीं. मैं उनकी चुत को फिर से चाटने लगा और अपने हाथों से उनके मम्मे दबाने लगा.

मेरे बड़े मामा मुम्बई में जॉब करते थे इसलिए वो अपने परिवार के साथ काफी समय से वहीं मुंबई में ही रह रहे थे. अब मैं खुद चाहने लगी थी कि अंकल मेरी चूचियों को और जोर देकर भींचें. देवर भाभी के नंगे फोटोपांच मिनट की चुदाई के बाद उन्होंने लंड को बाहर निकाल लिया और मेरे मुंह में दे दिया.

प्रिया कहने लगी- अमन … बस अब ऊपर आओ … और अन्दर डाल दो।मैं भी तैयार था. मैंने करीब 4 घंटे अच्छे से नींद ली और जब उठा, तो उस समय रात के एक बज रहे थे.

रमेश ने और 15 मिनट मेरी गांड मारी और लंड का पानी मेरी गांड में छोड़ दिया. दो दिन बाद भाभी जी के लड़के के किसी खिलौने में कोई प्रॉब्लम आ गई थी. आंटी की सेक्स स्टोरी के पिछले भागसेक्सी लेडी को चोदने की ख्वाहिशमें अब तक आपने पढ़ा था कि आंटी और उनकी बेटी मुझे अपना मानने लगी थी और मेरी उन दोनों से नजदीकियां बढ़ने लगी थीं.

अमित ने एक हाथ से अपने लंड को चूत पर रगड़ा और चूत के छेद पर लंड के सुपारे को सैट कर दिया. वो बोली- क्रीम लगाने से कैसे हो सकती हैं?मैंने उसे क्रीम के इस्तेमाल के बारे में सब बता दिया. भाभी को मैं जब भी देखता था, तो मेरा मन उनको उसी समय चोदने को करने लगता था.

मैंने अभय से पूछा कि तुम दोनों के क्या मामले हैं, बार बार लड़ते रहते हो.

तब भाभी ने इठला कर कहा- ओहो … तो जाओ आप अपनी जीएफ से ही बात करो, मैं अपना काम खुद कर लूंगी. सुहैला ने अपनी दोनों जांघें किसी रंडी की तरह फैला दीं और आंख मारते हुए मुझे आमंत्रित किया.

मैं जल्दी से मम्मी की नाइटी पहन कर कमरे से बाहर आयी और कमरे का दरवाज़ा भेड़ कर मेन गेट पर आ गई. पहले तो उन्होंने मेरी चूत के दाने को अपनी उंगलियों से रगड़ा और फिर मेरी गीली चूत में एक उंगली डाल दी. मैंने एक पल मॉम की आंखों को ताड़ा और अपने रूम में आकर आराम करने लगा.

रिया मेरा लंड बहुत ज़ोर से चूस रही थी शायद वो नींद में ये सोच रही होगी कि अब इसमें से दूध निकलेगा. फिर मैंने अपनी बीवी को फोन लगाया कि इधर एक ही टॉयलेट है और लोग ज्यादा हैं, तो हमें कुछ देर लग जाएगी. अब फिरंगी और इंडियन मतलब जॉन और रॉय मेरे मम्मों को दबाने लगे और मुझे किस करने लगे.

बीएफ फॉरेन मैंने सोचा था कि मामी चुदना चाह रही है और मैं भी मौके का फायदा उठा लूं लेकिन यहां तो सारी बात ही उल्टी पड़ गयी थी. वो कुछ पटियाला टाइप की लोअर पहनी हुई थी और ऊपर एक टी-शर्ट थी, जो काफी ऊपर सरक चुकी थी.

झंडू शायरी

उसने जैसे ही मेरी अंडरवियर निकाली, उसके चहरे पर अजीब सी ख़ुशी नजर आने लगी. जब तूफान शांत हुआ तो जेठजी मेरे ऊपर से उठ गए और अपने कपड़े पहनने लगे. सेक्स की जरूरत की कहानी में पढ़ें कि पत्नी की मौत और अपंग होने के बाद मेरी सेक्स लाइफ खत्म हो गयी.

हम दोनों की सांसें बहुत तेज चल रही थीं, मैंने उसे गले से लगा कर चूम लिया. अब हम दोनों दुकान पर पहुंचे, तो अंकल ने मुझे डिक्की से सामान निकालकर सामने वाली दुकान पर जाने को बोला. नंगी वीडियो सेक्सी पिक्चरभाभी बोलीं- तुम मुझे ऐसे क्यों घूरते हो?तो मैंने जवाब दिया- आप आप इतनी हॉट हो कि आपसे नजर ही नहीं हटती.

इसके बाद मैंने दीदी की चुदाई की और उनके साथ सामूहिक चुदाई की चर्चा करने लगा.

जब मैंने उससे कहा कि ये मेरा पहली बार होगा, जब मैं किसी के साथ सेक्स करूंगा. तb मैंने लवली की चूत को कई बार हाथ फिराकर देखा था।तभी लवली बोली- यार, अब चोद भी दे ना!तो जैसे जैसे मुझे लवली ने मुझे बताया था, वैसे ही मैंने सबसे पहले अपने लंड का सुपारा खोला और लवली की चूत पर घिसने लगा.

उसका विशालकाय मोटा लन्ड मेरे हलक के पार चला गया और मेरी तो सांस ही रुक गई थी. मेरे लंड को चूसते हुए ही प्रिया ने मेरी जीन्स को मेरी टांगों से बिल्कुल ही खींचकर अलग कर दिया था. मैं जीजू को देख कर वापस नीचे जाने लगा तो जीजू ने मुझे आवाज दी और ऊपर बुला लिया.

मैंने उनकी तरफ देखा तो मामी ने कहा- ये नहीं … अपना स्पेशल इंजेक्शन लगा दो.

इसके बाद वो मेरा दूसरा हाथ भी अपनी कमर पर रखवा कर मेरे सीने से अपनी मोटी मोटी चुचियों को चिपका कर हिलने लगीं. तीसरा आदमी बोला- अरे मस्त माल है इससे इशारे से पूछ कि कुछ पैसे लेगी?पहले वाले ने पैसे देने का इशारा करके मुझसे पूछा, तो मैं हां कर दी. इसलिए उसके मुँह में मैंने अपना अंडरवियर ठूंस दिया, जिससे उसकी आवाज़ बाहर ना निकल पाए.

एक्स एक्स इंग्लिश सेक्सीकुछ देर बाद कार्तिक चूमते हुए ऊपर मेरे नाभि पर आ गया और उसको चूमते हुए मेरे एक स्तन पर आ गया. उधर मुझसे पहले मेरे ससुर जी और सासू जी मिले, उन दोनों ने मुझे बिठाया.

घोड़ों की सेक्सी पिक्चर

चाची और उनकी बेटी को मालूम था कि मैं उन दोनों को चोदता हूँ मगर उन दोनों को इससे कोई दिक्कत नहीं थी. मेरे दोनों हाथ उसके बूब्स पर थे और वो लंड के घोड़े पर सवार होकर जन्नत पहुंच गई थी. मैं बगल मैं ही बैठा था, तो उसने मुझसे पूछा- अरे राहुल, तुमने मेरी पैंटी देखी क्या?मैंने कहा- मुझे क्या पता?वो बोली- अरे वो जो मैंने परसों के दिन पहनी थी ब्लू कलर की.

कुछ पलों बाद मेरे लंड ने चुत को अपनी मोटाई के हिसाब से फैला लिया और धकापेल चुदाई शुरू हो गई. मैंने उसे दिलास दी- मैं तुमको प्यार करता हूँ … तुम्हें दर्द होते नही देख सकूँगा. दीक्षा मामी ने घर की इज्जत बनाये रखने और अपनी बेटी की वजह से दूसरी शादी नहीं की थी.

वो चुत पर हाथ रखते हुए बोली- डरो मत … चूत की सील टूटती है, तो खून निकलता ही है. मैं हमेशा से बहुत खुले और एकदम सेक्सी कपड़े पहनती हूँ, जिसमें मेरा फिगर पूरी तरह से उभर कर दिखता है. मैंने उसकी पैंटी के उसी छेद में से लंड घुसा कर गांड के छेद पर सुपारा लगा दिया.

उसी समय कुसुम को अपनी गांड पर कुछ अहसास हुआ, तो वो अचानक से घूम गई. वो मुँह से मेरे पेट और नाभि को छेड़ रहा था और हाथों से मेरे मम्मों को मसले जा रहा था.

जेठानी का आने का समय हो गया था, तो मैं जल्दी से उठी और कपड़े पहन कर बाथरूम गई.

कुछ दिन तक बस यूं ही हम दोनों एक दूसरे को देख कर मन भर लिया करते थे और हल्की सी स्माईल देकर घूम जाते थे. அத்தை செக்ஸ் வீடியோलंड चुसवाने के बाद सत्यम उठा और उसने मेरी मम्मी को बेड से नीचे खड़ा करके उनकी एक टांग उठा कर बेड पर रख दी और पीछे से मम्मी की चुत को चोदने लगा. सेक्सी बुर वीडियोसाले कॉलेज के लौंडे थे भैन के लौड़े … फुच्छ फुच्छ करके निकल गए … मेरी चुत की झांट भी टेड़ी नहीं कर पाए. उसने मेरे करीब आते हुए मुझसे इठला कर कहा- चलिए न जीजा जी, मौत का कुआं देखते हैं.

देसी आंटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस की एक सेक्सी आंटी चुदाई करना चाहता था.

जेठजी अपनी उंगलियों से मेरी चूत की फांक को दोनों तरफ से फैला रहे थे, जिससे मेरी चूत पूरी तरह फैली जा रही थी. वे अपने दोनों हाथों से मेरी कमर को पकड़कर धक्का लगा रहे थे, मुझे पीछे अपनी तरफ खींच रहे थे. उसने सारे कपड़े उतार लिए और अपनी पैंटी को जैसे ही उतारना चाहा, उसे गीलापन महसूस हुआ क्योंकि वह तो मैंने ही गीली कर दी थी.

पहले तो उसने पेमेंट के लिए मना किया मगर मैंने कहा- एकाध दिन की बात होती तो मैं भी नहीं कहता, पर ये तो रोज का मामला है, इसलिए आप मेरी बात मान लीजिएगा. मैंने उसको ये खिड़की वाला तरीका बताया और बोली- तुम मेरा नंबर ले लो, जब आ जाना … तो मुझे फ़ोन कर देना. छत पर जब तक वो कपड़े सुखाने डालती रहती, तब तक मेरा लौड़ा पूरे शवाब पर रहता.

भारतीय ग्रामीण सेक्स वीडियो

मैंने जेठजी की आंखों में आंखें डाल कर मुस्कुरा कर इशारे से सर को हां में ऊपर से नीचे करते हुए उनको चोदने का इशारा किया. मैंने उससे कहा- बसंत तुम ये क्या कर रहे हो … छोड़ दो, जाने दो मुझे!बसंत- निधि तू अपने दिल की बात मुझसे कह सकती हो. उसके होंठों को चूमने के बाद मैं नीचे की ओर उसकी गर्दन से होते हुए उसके मम्मों पर आ गया.

वो अपनी एक उंगली मेरी चुत में धीरे धीरे अन्दर बाहर करता और मैं उसे ज़ोर से पकड़ लेती.

उसकी गोलियों में पहले से ही बहुत सारा रस भरा पड़ा था, तो उसको मैं अपने मुँह में रख कर चूसने लगी और हाथ से मसलने लगी.

लड़की या महिला के होंठ, गला, कान की लौ, उसके निपल्स और उसकी चूत का भगनासा बहुत ही सेन्सिटिव पार्ट होते हैं. फिर भाभी ने मुझे एक कोल्डड्रिंक पिलाई और हम दोनों की चुदाई का दूसरा दौर शुरू हुआ. सेक्सी लेडीजमैं उसे कहना चाहती थी- मुझे चोदो!मैं अपनी इस सेक्स कहानी के अगले भाग में आपको बताऊंगी कि कैसे मेरी चुत चुदी और मेरी वासना पूर्ति हुई.

एक बार मैंने भी सोचा कि मुझे भी अपने साथ बीते हुए मादक पल आप सभी के साथ साझा करना चाहिए. इतना कहने के बाद मैंने उसके होंठ पर अपना होंठ रख दिए और उसे चूमने लगा. मैंने भी मौके का फायदा उठाकर भाभी से बोला- भाभी आपके साथ होली अभी खेल लेता हूं … आपको भी गीला कर देता हूँ, आप बोलिए तो सही.

इधर भाभी लंड से चार बार चुदने के बाद भी मजे से नहा रही थीं और मेरे ऊपर पानी छिटक रही थीं. वायरस का काफी जोरदार प्रकोप चल रहा था, इसलिए एक महीने के लिए मुझे कंपनी ने अपना ऑफिस का गेस्ट हाउस दे दिया था.

भाभी जाने को हुई तो विजय ने उसका हाथ पकड़ लिया और कहा- मैं तो अभी भी प्यासा हूँ … तुम्हारी चूत तो मैंने चोदी ही नहीं.

कुछ देर बाद मैंने उसको उल्टा किया और उसके मुँह में अपना लौड़ा दे दिया. मैंने कुछ सोचा और जानबूझ कर ऐसे रिएक्ट करके बाथरूम से आवाज मारी, जैसे वो बाथरूम के बाहर नहीं, अपने रूम में हो. मैंने फिर से अपने दोनों हाथों से स्तन को चारों तरफ से घेर लिया और ज़ोर से भींचते हुए ऊपर की ओर उभार दिया.

desi girl एक्सएक्सएक्स उसने अपनी अदाओं में कमल को ऐसा लपेटा कि कमल को रात को बिना सेक्स के नींद नहीं आती थी या यूं कहिये कि सारा बिना सेक्स किये उसे सोने नहीं देती. पीयूष बोला- दिखाओ जरा!शीना बोली- नो भैया, वो दिखाने वाली जगह नहीं है.

उसे देख कर मैंने उठ कर रूम का डोर लॉक किया और उसकी तौलिया खींच कर उसे नंगी कर दिया. उस वक्त मैंने अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए दिल्ली में दाखिला लिया था. अब आगे इंडियन सेक्सी चुदाई कहानी:अगले दिन कमल के ऑफिस जाने के बाद सारा ने लकी को फोन मिलाया.

देसी सेक्स story

मैं तुरंत ही बोला- अपने पति की तरह नामर्द समझी हो क्या? जब तक तू आह आह से बाप बाप तक नहीं बोलना शुरू नहीं करेगी, तब तक छोड़ने वाला नहीं हूँ. क्या आप मुझसे दिल्ली में मिल सकती हैं!चूंकि हमारी बातें रोज ही होती रहती थीं और मुझे कभी भी ऐसा नहीं लगा कि वे बुरे व्यक्ति हैं. इस तरह का साथ देने वाली लड़की मिल जाये तो चुदाई में हर तरह का मजा मिल जाता है.

ओ के!और तुरन्त ही रिसीवर रख दिया।और वो किसी बहाने से एक्टिवा लेकर मेरे घर आ गई तो मैं उनको बिल्कुल तैयार मिला।उन्होंने मुझसे कहा- अभी तो तेरी तबियत खराब थी? इतनी जल्दी ठीक भी हो गई?तो मैंने उनसे कहा- मैं आपसे सिर्फ मजाक कर रहा था. मैंने भी अपने कपड़े पहने और दोनों चिपक कर सो गए।सुबह जब भोपाल आ गया तो एक सवारी बोली- उठ जाओ, भोपाल आ गया।फिर जल्दी से प्रिया बाथरूम से साड़ी पहन कर आ गई मैंने दोनों के बैग उतार लिए।मैंने उससे पूछा- कहाँ जाओगी?वो बोली- कहां ले चलोगे?मैंने पूछा- होटल चलें?तभी उसकी मां का फोन आ गया.

इतने में मेरी मम्मी ने बाहर से आवाज़ लगाई- ज्योति बाहर आ जा … अन्दर गर्मी है, बाहर ठंडक है.

मैंने फट से मधु की टांगों को चौड़ी करते हुए फैलाया और अपने अंडरवियर को खोल दिया; थोड़ा सा थूक उसकी चूत पर लगाया और गप्प से पूरा लंड उसकी चूत में डाल कर उसे जोर जोर से चोदने लगा. मुझे मुठ मारते समय कुछ ऐसा लग रहा था, जैसे मैं चंचल की चूत को रगड़ रहा था. पहले दिन का डांस का समय पूरा हुआ और मैं कमरे में साड़ी पहनने आई तो इकबाल मुझे अपने कमरे में ले गया.

कभी मैं उसके ऊपर चढ़ कर चुदाई करने लगता, तो कभी वो मेरे लंड के ऊपर बैठ कर चुत चुदवाने लगती. भाभी ने मुझसे बोला कि आप तो इतने स्मार्ट और अच्छे दिखते हो, आपकी गर्लफ्रेंड क्यों नहीं है … आप झूठ बोल रहे हो. मैं जान गई थी कि जेठानी अपने कमरे के पर्दे के पीछे से ये सब देख रही थी.

वो उसी किनारे बने एक छोटे से पूल में मुझे ले गयी जो बिल्कुल खाली था.

बीएफ फॉरेन: उसका बदन गोरा, चेहरा गोल, छाती पर फूले और कसे हुए दो हाहाकारी मम्मे थे. भाभी के नंगे मम्मों को देखते ही मैं उन पर टूट पड़ा और पागलों की तरह मम्मों को काटने लगा.

मैं उम्मीद करता हूं कि मेरी हॉट लेडी सेक्स कहानी आप पसंद करेंगे और मुझे मेल करेंगे. उसने दोबारा हाथ निकालने की कोशिश की लेकिन मैं उसे और अंदर डाल उंगलियां ऊपर नीचे करता जा रहा था।उसने अपना सिर मेरे कंधे पर रख दिया।मैंने चूत से उँगलियाँ बाहर निकालीं और उसकी बाजू ऊपर करके अपने गले के गिर्द डाल दीं।एक बार फिर मैंने चूत पर हाथ फेरते हुए दो उँगलियाँ अंदर डाल दीं और अंदर बाहर धीरे से करने लगा।वो ‘आ. तभी मेरी बहन ने अपने बैग से रूमाल निकाला और अपनी चूत को पौंछते हुए नीचे रूमाल लगा दिया.

क्या काम है?उसने कहा- मैंने तुमसे इंग्लिश सिखाने के लिए कहा था न तो क्या तुम अभी मेरे रूम में आकर मुझे थोड़ा इंग्लिश की ग्रामर के बारे बता सकते हो?मैं हां कह दिया और उससे उसका कमरा पूछ कर आने को बोल दिया.

मैं उसके लिए हमेशा कुछ न कुछ गिफ्ट लेकर जाता था जिसे देख रूपाली बहुत खुश हो जाती थी. मुझे तुम पहली बार में ही पसन्द आ गई थी, तुम्हारा कोई और ब्वॉयफ्रेण्ड है क्या?उसने कहा- है नहीं, पहले था. उसका लंड अपनी मॉम को देखते ही खड़ा हो गया था … और जब वो अपनी मॉम के गले लग कर मिला था, तब तो उसे लगा था कि उसका लंड पैंट फाड़कर ही बाहर आ जाएगा.