हिंदी वाला बीएफ दिखाइए

छवि स्रोत,सेक्स बैटरी

तस्वीर का शीर्षक ,

स्टडी बीएफ: हिंदी वाला बीएफ दिखाइए, इंडियन चुत सेक्स चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैं एक 60 साल की औरत की यौन संतुष्टि के लिए गया.

जंगल वाली सेक्स वीडियो

मेरी गर्लफ्रेंड्स भी बनीं लेकिन सेक्स के बारे में बोलने में मेरी फटती थी इसलिए मैं कभी सेक्स नहीं कर पाया था. ब्लूटूथ ओपन सेक्समोनिषा ने टीवी का वॉल्यूम कम कर दिया और बड़ी गौर से चुदाई देखने लगी.

उसने अपने कपड़े उतार कर एक तरफ फेंक दिए और जिन हील्स को पहन कर वो बाहर से आई थी, उन्हीं हील्स में आगे बढ़ कर उसने मेरी चड्डी पर हाथ फेर दिया. पंजाबी प्लाजो सूटमैंने सोचा कि मैंने तो अभी तक चूत भी नहीं मारी है, मैं बिना चूत चोदे नहीं मरना चाहता हूं.

ये कहानी मैं इसलिए बता रहा हूं क्योंकि किसी कॉल गर्ल के साथ ये मेरा पहला सेक्स था.हिंदी वाला बीएफ दिखाइए: जिस दिन तू उसके साथ रात में घर रुकी थी उस रात के बारे में मुझे सब पता है.

अब वो मस्त होकर चुद रही थी जैसे कि बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड पूरे खुलेपन से चुदाई का मजा लेते हैं.वो जोर से चिल्लाई- आईई … अम्मी … मर गयी … ऊऊह … ईईईस्सस … ऊईई … आईई … अल्लाह … मर गयी। लंड को बाहर निकालो अंकल! नहीं बर्दाश्त हो रहा … उफ्फ … ओफ्फो … नहीं … बाहर निकालो अभी … प्लीज!मुझे पता था कि अब लंड बाहर निकालने का कोई फायदा नहीं होगा.

सेक्सी फनी वीडियो - हिंदी वाला बीएफ दिखाइए

कोई दस मिनट की मस्त चुसाई के बाद मुखिया ने सुमन को घोड़ी बना लिया और मज़े से उसको चोदने लगा.मैंने उसकी पैंटी में हाथ देकर उसकी बुर को सहलाना शुरू कर दिया और तब तक रवीना ने उसकी पूरी नाइटी उतरवा दी.

आज तक मैंने पारिज़ा को कई बार चोदा है लेकिन आज भी पारिज़ा की चूत एकदम कसी हुई मुलायम और मस्त है. हिंदी वाला बीएफ दिखाइए थोड़ी देर बाद भाभी एकदम से अकड़ गईं और उन्होंने अपने दोनों पैरों को मेरी कमर में बांध दिया.

हाय दैय्या, मौसी जी कैसे झेल पाती होंगी इतना बड़ा सारा?यह सोच कर मैं चकित हो रही थी और अब डर भी रही थी कि अब मेरा क्या होगा, कल सुबह मैं अपने पैरों पर खड़ी होकर चल भी पाऊँगी या नहीं?संध्या रानी, इसे थोड़ा अपना प्यार दीजिये न.

हिंदी वाला बीएफ दिखाइए?

रघु- माफ़ करना बाबूजी, कभी किसी ने ऐसे छुआ नहीं ना … तो ये खड़ा हो गया. उसने अपने घुटनों के बल बैठ कर मेरे लौड़े को मुँह में ले लिया और चूसने लगी. किस करते हुए मैं उसकी सेक्सी जांघ को सहलाने लगा क्योंकि पारिज़ा ने इस समय एक शॉर्ट पहनी थी, जिससे वो उत्तेजित होने लगी.

मुझे थोड़ा दर्द भी हो रहा था, पर लंड के स्पर्श से मजा भी बहुत आ रहा था. मैंने भी पहले उसे रोने दिया, जब वो थोड़ी ठीक हुई, तो मैंने पूछा- आखिर बात क्या है बेटी तुम क्यों रो रही हो?वो बोली- पापा मैं तो आज भी लंड को तरसती ही हूँ. मैंने सर से पूछा- क्या हुआ सर … कुछ गलत है क्या?मुझे समझ तो आ रहा था, तब भी मैंने उनका ध्यान बंटाने के लिए ऐसा पूछा था.

उसने अपने लंड को मेरी चुत की फांकों में रगड़ा और छेद पर सैट करके अचानक से धक्का दे दिया. मैं उसके चूचों को दबाता रहा और अब वो गर्म होकर खुद मेरे लंड की मुठ मारने लगी. सुरेश- अच्छा तुम्हारी पत्नी की उम्र क्या होगी और ये बताओ कि तुमने आज से पहले कभी किसी के साथ सेक्स नहीं किया था?रघु- मीनू अभी कुछ दिन पहले 18 की हुई है.

पारिज़ा- क्या बोल रहे हो … क्या तुम्हें इस समय मजाक सूझ रहा है?मैं- मैं मजाक नहीं कर रहा. मैंने महक को गुलाब से लेकर चॉकलेट तक सब कुछ दिया और वैलेंटाइन के दिन मैं एक प्यारा सा गुलाब और एक गिफ्ट लेकर उसके पास गया.

कुछ दिन के बाद फिर केस भी फाइनल हो गया और फैसला हमारे पक्ष में आया.

भाभी ने मुझसे कहा कि मैं रवीना को एक रूम दिलवा दूं ताकि उसको वहां रहने में परेशानी न हो.

नमस्कार पाठको और पाठिकाओ, मैं पिंकी सेन फिर से आपको चुदाई की दुनिया में ले जाने आ गई हूँ. आप तो जानते ही हो कि गर्लफ्रेंड्स वगैरह के साथ सेक्स और कामुक चीजें करने में हमें इतनी झिझक नहीं होती है क्योंकि हम जब किसी लड़की या लड़के के साथ रिलेशन में होते हैं तो उसको अच्छी तरह से जानते हैं. खैर उसका फोन आ गया था, तो मैंने ट्रेन पकड़ी और मैं अपनी गर्लफ्रेंड के घर के लिए निकल गया.

दोस्तो, आप अच्छे से होंगे … आपको मेरी बहन की चूत चुदाई आपको पसंद आई, ये मेरा सौभाग्य है. वो बोला- इस गांव में हम दोनों ही अपनी मां को पेलकर मादरचोद बन चुके हैं. उनकी तरफ से कोई भी प्रतिरोध न पाकर मैं उनके मम्मों को भी दबाने लगा.

मैंने उससे पूछा- आ जाऊं?वो हां बोल कर गांड उठाते हुए लंड को तेजी से अन्दर लेने लगी.

एक दिन कॉलेज में …मेरे प्यारे दोस्तो, मेरा नाम वासु है। वासना से भरा हुआ वासु। मैं दिल्ली से हूँ. मेरे मुँह से मादक आवाजें निकल रही थीं- ओह्ह जान … और जोर से चाटो न …ये बड़ी मस्त बात थी कि मैं फ़ोन पर जो राहुल को करने को बोलती, वो यहां मेरे साथ राज कर रहा था. मैडम … क्या मजा दे देकर चूस रही थीं लंड … मुझे तो बहुत मजा आ रहा था.

फिर उसको बिना बताए ही एक ही बार में पूरा लंड घुसेड़ते हुए गांड में पेल दिया. मैंने उसकी पैंटी में हाथ डाल कर गीली चूत पर हाथ फेरते हुए कहा – हां भाभी, मैं कितने ही दिन से आपकी चूत चुदाई के ख्वाब देख रहा था. रोज़ी अंदर आने की बजाय बेडरूम के गेट पर खड़ी होकर तेज़ी में फुसफुसाते हुए बोली- अंकल बाहर निकलिए!! कोई देख लेगा!मैंने उसका हाथ पकड़ा और उसे अंदर खींच लिया। वो बुरी तरह डर गई और मुझसे भाग कर दीवार से जा सटी और रिक्वेस्ट भरी आवाज में बोली- अंकल प्लीज़, प्लीज़ अंकल, जाइये न।मैं बेड पर बैठ गया और समझाते हुए बोला- आ जाओ जल्दी, कोई नहीं आने वाला.

जब मैं अपनी बाहरवीं की परीक्षा दे रही थी तो एक दिन अपनी सहेली सुमन के साथ रात में बैठकर पढ़ाई कर रही थी.

मैंने मई 2017 में एक वकील के पास मुंशी यानि क्लर्क का काम शुरू किया. फिर पापा ने मम्मी के ब्लाउज को निकाल कर उनके दूधों से खेलना शुरू कर दिया.

हिंदी वाला बीएफ दिखाइए उसके लंड का सुपारा मेरी चूत में जा फंसा और मैं दर्द में बिलबिला उठी. मेरी बाकी की डिटेल आप मेरी पहले प्रकाशित सेक्स कहानीस्कूल टाइम की फ्रेंड ने सेक्स के लिए उकसायामें पढ़ सकते हैं.

हिंदी वाला बीएफ दिखाइए इंडियन फॅमिली सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरे साले की बीवी बहुत हॉट है. मगर वो जानबूझ कर अनजान बनी रही और उनको चाय का कप देकर वहीं सामने बैठ गई.

दोस्तो, मैं विकास अपनी गर्लफ्रेंड की चुदाई हिन्दी में कहानी का अंतिम भाग आपके लिये लेकर हाजिर हूं.

सेक्सी ब्लू पिक्चर सेक्स ब्लू

मैं- ऐसा नहीं होता यार … दिखाने के लिए तो टैटू बनवा लूं … लेकिन तुम बोल तो सही रही हो कि बीएफ खुश हो जाएगा. उसके हाथ की पकड़ मेरे लंड पर इतनी कसी हुई थी कि मानो वो मेरे लंड को जड़ से उखाड़ना देना चाहती हो. फिर मैंने निशु को फोन किया तो वो मुझे लेने आई और मैं उसको देखता ही रह गया.

5 मिनट बाद मैंने उसे बेड से नीचे उतारा और उसको दोनों हाथों से बेड का कोना पकड़ने को बोला और पीछे से उसकी चूत मे दोबारा लंड डाल कर चोदने लगा।उसके बाद फिर मैं उसको बाथरूम में ले गया. जल्दी से मैंने उसकी गांड पर तेल लगाया और थोड़ा तेल अपने लंड पर लगाया. कुछ देर सोच कर वो मान गईं … लेकिन दीदी ने कहा कि ये बात किसी को पता नहीं चलना चाहिए.

फिर मैंने देखा तुमने मुझे इंजेक्शन लगाया है और मुझे बेहोशी होने लगी थी.

हम दोनों की दोस्ती बहुत गहरी थी और कोई बात हम दोनों में छुपी नहीं रहती थी. मैंने उसकी जांघों को चूमना शुरू किया और पैर फैला कर उसकी चूत चाटने लगा. मीता कुछ कहती, तभी कोई फिर से आ गया और सुरेश उसको देखने में लग गया.

उसने अलग होना चाहा लेकिन मैंने उसे कमर से पकड़ लिया। मैं उसकी पीठ को चूमने लगा और उसकी चूचियों को जोर जोर से भींचने लगा. मैंने उसका हाथ पकड़ा और बगल में सोफे पर बिठा लिया और उसके होंठ चूसने लगा. मैंने उसे देख कर स्माइल दी तो वो भी मुस्कराकर गेट से बिल्कुल सटकर खड़ी हो गई और मुझे देखने लगी.

राहुल के सीने में गड़ते मेरे बूब्स के निप्पल्स खड़े खड़े से हुए महसूस हुए. मैं- अच्छा … कितनी याद आ रही है और तुमने ही मुझे धोखा दिया … साथ नहीं आए.

फिर मैं दरवाजे पर खड़ी होकर देखने लगी तो तुम्हारा लंड रेशमा की चूत में था. मैंने लंड उनकी चूत से निकालकर उनके मुँह में डाल दिया और उनके बालों को पकड़कर उनके मुँह को चोदने लगा. मैंने सुनयना भाभी के कंधों को पकड़ा और उनकी पीठ पर अपने होंठ रख दिए.

कुछ पल उसने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मेरा लंड अपनी चूत में डालने लगी.

जैसे वो फिर से चुदने के लिए तैयार हुई, मैंने उसको घोड़ी बनने का इशारा कर दिया. मगर वो कहते हैं कि भगवान के घर देर है, अंधेर नहीं। एक दिन उसने बताया कि वो किसी काम से अमीनाबाद जाएगी तो रास्ते में कुछ जुगाड़ हो सकता है। जब मुझे ये पता चला तो उस रात में मारे खुशी के मुझे नींद नहीं आई।हम लोगों का गाँव रेलवे स्टेशन के नजदीक पड़ता है तो हम लोगों का आवागमन ट्रेन से ही होता है. क्योंकि वो मैडम देखने में एकदम किसी सेक्सी मॉडल से कम नहीं लग रही थीं.

मैंने हंसते हुए लंड हिलाया और कहा- क्या करूं … मेरा ये जाग जाता है. मुझे लग रहा था कि मौसी जाग गयी है और बस सोने का नाटक कर रही है क्योंकि मौसी की चूचियों पर मेरी पकड़ काफी मजबूत हो चली थी और इतना भींचने के बाद कोई नींद में नहीं रह सकता था.

ठीक है?वो बोली- तुम पता नहीं क्या खाते हो? इतनी बार भी कोई करता है क्या? मेरा क्या हाल कर दिया? मेरे से चला भी नहीं जाता. मैं उसके दोनों बूब्स को अपने हाथों से पकड़ कर भींच रहा था और उन्हें दबा रहा था. समझी … अब जल्दी से सलवार नीचे करो, नहीं तो तुम्हारी मां से मुझे बात करनी पड़ेगी.

बंजारा सेक्सी ओपन

सुरेश- अरे ऐसे जल्दबाज़ी में मत बता, ठीक से देख कर बता ना … एक काम कर अन्दर से समझ नहीं आएगा, रुक जरा … तू बाहर से देख कर बता ठीक है ना!सुरेश अब गीता के मज़े लेना चाहता था.

उसके हाथों की पकड़ मेरे अनारों पर पहले से दोगुनी हो गयी और मैं जैसे मदहोशी की तरफ चलने लगी. वो बोला- प्रियंका, बस एक बार मैं तुम्हें पूरी नंगी देखना चाहता हूं. उसके बाद रवीना ने एक बार पीछे ही मार्च के महीने में मेरे पास फोन किया.

मैडम भी एकदम से ऊपर को उठीं … तो उनसे कैचप की बोतल मेरे ऊपर पूरी ही गिर गयी थी, जिससे मेरे सारे कपड़े गंदे हो गए थे. कुर्ती की आस्तीन एकदम छोटी सी थी, जिससे उसकी गोरी बांहें नुमायां हो रही थीं. छोटे बच्चे का सेक्सी वीडियोतुझे पेशाब करते हुए। उस समय मैं भी वहीं छत पर ही थी और प्रेरणा की हरकत देख कर फिर मैंने भी तेरा लंड देख लिया था.

अब हम पांच लोगों का ग्रुप बन गया था, जिसमें मैं, आदी, दिशा, संजय और मेरी जान महक थे. साथ ही मैंने सोचा कि जब चुदना ही है तो मज़ा लेकर चुद लूं, क्या हर्ज है.

उस वक्त हुआ यह था कि मैं और मेरा दोस्त अमित एक घर में किराये पर रहते थे. कभी लंड के नीचे लटकती गोटियों को चूसती, जिससे कुछ ही पलों में मुखिया बहुत ज़्यादा उत्तेजित हो गया. अब मेरे लंड को सुरेखा की बुर का स्वाद लग चुका था तो जब भी मुझे टाइम मिलता, मैं सुरेखा की बुर चोद देता.

परंतु अब मैंने रूम में अंदर जाने का मन बना लिया था। पहले बस से उतरते ही मैंने मूत कर अपने टैंक को खाली किया और हम रूम की तरफ़ निकल पड़े. मैंने बाथरूम में ही लंड उनकी गांड में लगाकर बोला- चाची वीट से क्या होता है?वो लंड का स्पर्श पाकर एकदम से घबरा गई और बोलीं- कुछ नहीं … शैम्पू है. कुछ देर चूची दबाते हुए उसको चोदा और फिर मैंने चूची को छोड़ कर उसकी गांड में उंगली डाल दी.

मैं अपने घर से गर्लफ्रेंड के घर मिलने के लिए जाने वाला था और मैंने उसकी कैसी गंदी चुदाई की और बहुत हार्ड चुत चोदी, जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते.

मैं रोहन से बोली कि चलो मैं अपने हज़्बेंड को कमरे में सुला देती हूँ … तुम जरा मेरी मदद करो. मुझे भी ये अच्छा लगता था कि वो कविता के साथ मेरा रिश्ता जोड़ रही है.

मैंने भी अपनी आंखें बंद कर लीं।फिर धीरे-धीरे करके वह मेरे कपड़े उतारने लगा। मेरे हस्बैंड एक अलग कुर्सी पर बैठे यह सब देख रहे थे।कुछ देर के बाद रोहित ने मुझे पूरी नंगी कर दिया. विभा भाभी को बहुत मजा आ रहा होगा, ऐसा मुझे उनके चेहरे से लग रहा था. अब मुझे परेशानी होने लगी कि अगर किसी की नजर मेरे तने हुए लंड पर चली गयी तो बड़ी शर्मिंदगी झेलनी पड़ेगी.

इतने में पहले वाले ने मॉम को पेट के बल ऊपर कर लिया और मेरी मां के चूचे उस आदमी के सीने पर दब गये. उसने कुछ नहीं कहा, तो मेरी हिम्मत बढ़ गयी और मैं उसके करीब होकर होंठों से होंठों को लड़ाने लगा और हम दोनों ने अपना आपा खो दिया. मेरे लंड का सुपारा अभी उसकी चुत में घुसा भी नहीं था कि वो पागल सी हो गयी और मुझे जोरों से काटने लगी.

हिंदी वाला बीएफ दिखाइए मैंने उनसे इस विषय में ज्यादा बात नहीं की क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि इस समय माहौल कुछ दूसरा बने. सुरेश को कुछ समझ नहीं आया, तो वो भी बाहर देखने लगा और बाहर नज़र पड़ते ही उसके लौड़े ने फिर अंगड़ाई ली.

भीम बाबा फोटो डाउनलोड

उसकी पसंद को ध्यान में रखकर ही मैं ब्लैक पैंट और व्हाइट शर्ट डालकर गया. मैंने उसकी चूत के नीचे एक तकिया रखा और उसके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रखवा कर लंड को उसकी चूत के मुंह पर लगा दिया. बड़े भाई गुड़गांव स्थित एक बहुराष्ट्रीय कम्पनी में जॉब करते हैं और डेली आते जाते हैं.

वैसे आपके बारे में क्या आपके बच्चों को पता नहीं है?मुखिया- अरे कैसे पता होगा. अन्तर्वासना की सेक्स कहानियों में लोग लिखते हैं कि लेडीज बहुत आराम से लंड चूस लेती हैं. पिकल सब्जी कैसे बनती हैराज- ओह्ह सॉरी … वो मैं जल्दी जल्दी में भूल गया … औऱ तुम्हारे फ़ोन के कारण हम किस तो कर ही नहीं सकते थे न!मैं- ओह हां ये तो मैं भूल ही गई … कोई बात नहीं.

फिर चाची की चौड़ी गांड में मैंने अपना लंड एक जोरदार झटके के साथ पेल डाला.

अन्दर आते ही दिशा ने आदी को गले लगा लिया और पूछा- गुरू क्या कर रहा है?‘तुझे याद करते हुए ही अपने रूम में पड़ा होगा … जा चली जा उसके पास. पूछने लगी- क्या हुआ अंकल?चॉकलेट मैंने उसकी तरफ बढ़ाई तो उसने हंसते हुए लेने से मना कर दिया.

आंटी, अंकल और भैया ने मुझे बड़े हक से कहा तो मैंने भी 1 फरवरी 2019 से अपना काम कम कर दिया और दीदी की शादी के कामों में अपना समय देने लगा. वो मेरा हाथ पकड़ कर मुझे बेड पर ले गया और मेरे बालों को हटाकर मेरी गर्दन पर किस करने लगा. ‘महक पता नहीं मैं कैसे कहूँ … लेकिन मैं आज अपने दिल की बात कहना चाहता हूँ, पता है तुम्हें, उस दिन जब हम दोनों का एक्सीडेंट हुआ था … तो तुम गुस्से में चली गयी थीं.

मेरी इस चूत चुदाई से चाची भी मस्त हो गईं और उनके मुँह से कामुक सिसकारियां बाहर आने लगीं.

उफ्फ … चाची के चूतड़ भले गीले थे, पर किसी दहकती हुई भट्टी से कम नहीं दिख रहे थे. फिर मैंने उससे पूछा- अरे सुन ना, वो तेरा ब्वॉयफ्रेंड अभी भी तुझसे कांटेक्ट करता है क्या?सविता- हां, मैंने उसे बहुत मना किया कि अब मुझे परेशान मत किया कर, शादी के पहले जो था … सो था, लेकिन अब नहीं. थोड़ी देर बाद जब मुझे होश आया, तो मैंने सुनयना भाभी की ओर देखा, उनके चेहरे पर भी एक सुकून सा दिख रहा था.

पंजाबी सेक्स वीडियो कॉमइसके बाद मैंने लाइट को मेन स्विच से ऑन से ऑफ कर दिया ताकि मोनिषा को ये लगे कि लाइट गई थी इसलिए टीवी बंद हो गया. मैंने उसको शीशे के दोनों साइड हाथ करके उसको सामने खड़ा किया और पीछे से अपना लंड उसकी चूत में फिर से पेल दिया और उसको अच्छे से चोदने लगा।कुछ देर बाद मुझे लगा कि मेरा भी अब होने वाला है तो मैं उसे उठा कर बेड पर ले गया और उसे घोड़ी बना कर पीछे से चोदने लगा.

राजस्थानी हॉट सेक्सी पिक्चर

एक बार में मेरे घर के बाहर से निकला, तो देखा कि हिना दीदी अपने घर के बाहर अकेले चबूतरे पर बैठी थीं. 5 मिनट बाद फिर पापा भी झड़ने लगे और पापा ने सारा माल मम्मी की चूत में छोड़ दिया. उसने अलग होना चाहा लेकिन मैंने उसे कमर से पकड़ लिया। मैं उसकी पीठ को चूमने लगा और उसकी चूचियों को जोर जोर से भींचने लगा.

’ हमेशा सक्रिय रहती है, जिसे हम भिन्न भिन्न तरीक़ों से व्यक्त करते हैं. बस आप ये बताएं कि आपको पैसे कब चाहियें?उन्होंने अपनी आवश्यकता तुरंत की बताई. मैं समझ गया था कि मैं अब अपनी बहन मोनिषा को रोजाना ऐसे ही चोद सकता हूं.

मैंने मैडम को वहीं पर कुतिया बनाया और तेजी से लंड को उनकी गांड में अन्दर-बाहर करने लगा. करीब पन्द्रह मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों एक साथ स्खलित हो गए और उसने झड़ने के समय मुझे गर्दन पर जोर से काट दिया, जिसका गहरा निशान पड़ गया. मैंने बोला- अभी तो मैंने छोटी उंगली डाली है … फिर बड़ी उंगली फिर अंगूठा और लास्ट में लंड डालूंगा.

मैंने उनकी चूत में उंगली डाली और चूत के पानी को लेकर उनकी गांड पर फिराने लगा. मैं जोर जोर से उसकी चूत में जीभ से चाटने लगा और वो जैसे मोम की तरह पिघलने लगी.

उस टेलर मास्टर ने मुझे क्या बताया, इसका खुलासा अगले भाग में लिखूंगी.

कुछ ही पलों में वो फिर गर्म हो गई और सिसकने लगी- सी … आ … आ … आह … अब मत तड़पा कुत्ते … चोद दे मुझे … फाड़ दे इस रंडी की चूत को मां के लौड़े … आह … अब नहीं सहा जाता … प्लीज फाड़ दे भोसड़ा बना दे रे … आह. চুদাই ওয়ালি ফিলমवो भी मेरे बालों में हाथ डालकर सर को दबाते हुए अपनी चूत को उठा कर चुसवाने के लिए जोर दे रही थीं और लगातार कामुक सिसकारियां भर रही थीं ‘आह … चाटो मेरी चूत को … उम्म … बहुत मजा आ रहा है. ऊपर से कैमरा निकलने वाला मोबाइलदेसी बुर कीचुदाई स्टोरी में पढ़ें कि चाची ने मुझे चुदाई के लिए गाँव बुलाया था. मैंने घर में सब को मिठाई खिलाई और अपने पति से एकाउंट वाली बात बताई और चेक और कैश उनको दे दिया.

हम दोनों ने कम्बल ओढ़ रखा था और छत पर अंधेरा होने के कारण उसको दिखाई नहीं दिया.

मेरे मुंह से उत्तेजना में आवाजें निकल रही थीं- आह्ह … फास्ट बेबी, यू सक् सो गुड … (कितना अच्छा चूसती हो तुम) ओ बेबी।मैंने उसका सिर पकड़ा और उसके मुंह को पेलना शुरू कर दिया. आगे मस्ती भरी गोवा सेक्स स्टोरी इन हिंदी का मजा बदस्तूर लिखने का प्रयास करूंगी. जबकि बेटे की चाह में उसने काफी बाद तक अपनी बीवी की चुदाई की थी और नतीजे के रूप में उसका सबसे छोटा बेटा दो साल का था.

[emailprotected]देसी चुत स्टोरी का अगला भाग:कमसिन कुंवारी लड़की की गांड- 3. मैं तो उसका मैसेज देखकर हैरत में पड़ गया कि रात को दो बजे तुली का मैसेज क्यों आया है. मेरा एक पैर राज के ऊपर आ गया और एक हाथ मेरा अपनी पैंटी के अन्दर चला गया.

किन्नर और आदमी का सेक्सी वीडियो

मैंने उसको कहा- मिकी जान … आज मैं तुम्हें अपने लिंग का वीर्य पिलाना चाहता हूं और तुम्हारी योनि का रस पीना चाहता हूं. उसे ऑफिस में ही चार्ज में लगा कर जा रहा हूँये बोल कर मैं बाहर निकल गया। बाहर गया तो देखा रोज़ी के मेन ग्रिल में अंदर से ताला लगा हुआ था. कल सुबह जल्दी उठकर तुझे मेरे साथ कार्ड बाँटने चलना है इसलिए तू बेशक अभी सोजा लेकिन सुबह 5 बजे तैयार हो जाना.

वो कमरे में आकर मेरे बिस्तर पर किनारे की तरफ बैठ गई और 5 से 6 मिनट तक उन्होंने इधर से उधर देखा और सुनिश्चित करके कि कोई नहीं आयेगा फिर उन्होंने मेरी रजाई में हाथ डाल दिया.

हालत पतली हो गई। मैंने फोन नहीं उठाया।फुल रिंग होने के बाद मैंने तुरंत मोबाइल ऑफ कर दिया। डर के मारे मेरा लंड भी मुरझा गया.

ये सुनते ही मैं खड़ा हो गया और महक को कसकर अपनी बांहों में जकड़ लिया. ये सोचते ही मैंने आगे बढ़ कर उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उनके रसीले गुलाबी होंठ चूसने लगा. वीडियो मारवाड़ी सेक्सी पिक्चरजैसे ही सुमन उनके नज़दीक से गुज़री, एक लड़के ने उसकी गांड और जांघों को सहला दिया.

फिर उसने कहा- मालविया नगर में मेरी एक सहेली रहती है, हम वहां चलते हैं. मेरा पूरा लंड उसके मुँह में घुस गया और वो मजे से लंड को चूस रही थी. इस तरह से मैंने अपनी भतीजी के जवान जिस्म और उसकी टाइट कुंवारी चूत के खूब मजे लिये.

शाम को उठा तो पेट में थोड़ा दर्द हो रहा था।फिर शाम को मैंने सुनीता को फ़ोन किया और मेरी क्लाइंट का हाल पूछा तो वो बोली कि उसकी चूत में बहुत जलन हो रही है।मैंने उससे दवाई लेने को कहा तो वो कहने लगी कि ले चुकी हूं. अनवरी चाची बोलीं- हां ऐसे ही … पेल साले ऐसे ही चोद कमीने … आहह और तेज़ ओह अहह मैं गई … उफ़!तभी उन्होंने मुझे बहुत तेज़ जकड़ लिया और झड़ गईं.

फिर मैंने अपना एक हाथ उसके पेट के ऊपर रख दिया और धीरे धीरे उसे ऊपर ले जाने लगा.

पांच मिनट तक लगातार चुम्मी करने के कारण सुनयना भाभी की सांसें तेज होने लगीं. इस सेक्स कहानी में सभी पात्रों के नाम भले ही काल्पनिक बता रही हूं, लेकिन जो मैं आपको बताने जा रही हूं, वह किस्सा एकदम सच है. मैंने उससे पूछा- क्या हुआ भाई … तू क्यों खुश है?उसने बोला- भैया, मैंने इतनी सुंदर जोड़ी पहली बार देखी है.

टिक टॉक दाखवा पंकज- कैसा लगा मेरी रंडी तुम्हें मेरा लंड?मैं- यह तो बहुत बड़ा है, बहुत मज़े देगा। मन कर रहा है कि कच्चा खा जाऊं इसको!पंकज- खा ले कुतिया, आज ये तेरी चूत को कुतिया की तरह ही चोदेगा. उन्होंने लरजती आवाज में बोला- टीना आज मुझे मत रोको, मैं तुम्हारे दिन रात सपने देखता आया हूँ.

फिर मैंने दराज ओपन की और उसमें से कंडोम निकाला और अंकल का हाथ पकड़कर अंकल को बेड के पास ले गया. उसका जिसम भी कसा हुआ था और लंड 7 इंच लम्बा और काफी मोटा था, जो मंगला की गांड देख कर हिचकोले खा रहा था. मैंने एक ब्लैक और रेड कलर की ट्रांस्पेरेंट साड़ी डाली हुई थी जिसमें मेरा गोरा बदन एकदम साफ चमक रहा था। लेडीज़ वाला मेरा परफ्यूम पूरे रूम में महक रहा था। मुझे इस तरह तैयार हुई देखकर रोहित की आंखों में तो जैसे चमक आ गई थी।फिर रोहित मेरे पास एक पानी का गिलास लेकर आया और मुझसे पानी पीने के लिए पूछा.

anushka कपूर xxx

शायद वो यही देखना चाहते थे कि पराये मर्द के सामने मैं कैसे चुदाई करवाती हूं. मैंने कहा- मैडम आप कुछ परेशान लग रही हैं?इस पर सुषमा मैडम रोते हुए कहने लगीं- मेरी मां बीमार हैं और उनको पैसों की बहुत जरूरत है. दस मिनट की चुदाई के बाद मेरा निकलने को हो गया और मैं तेजी से उसकी चूत में धक्के लगाने लगा.

आठ इंच का है या उससे भी बड़ा है?मैंने कहा- लंड का नाप लेने का काम चुत के ऊपर छोड़ दो. एक बार फिर से मैंने अपनी श्वेता को अपनी बांहों में लेकर चूमा और बाजार निकल गया.

कुछ समय बाद जब मैंने उनके स्टेटस देखे, तो ऐसा लगा जैसे इनका ब्रेकअप हो गया हो.

एक दिन 12 फरवरी को सभी लोग भात नौतने के लिए गए तो आंटी ने मुझे अलग से बुलाया कि हम लोग भात नौतने जा रहे हैं इसलिए तू अपनी दीदी का ख्याल रखना. मैं राज के मुँह से ऐसे शब्द सुनकर गर्म होने लगी थी- ओह्ह … मतलब कल तो पक्के में किसी को बुलाना पड़ेगा. इतने में ही उसने मुझे जोर से भींच दिया और अपना लंड एकदम से कसकर मेरी चूत में ठोक दिया.

यदि आकाश उसके साथ चुदाई के पूरे मजे ले रहा होता तो वो अभ्यस्त हो चुकी होती. नंगी गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि पड़ोस की एक दीदी मुझे भाई जैसा मानती थी. रूम में पहुंचते ही विनी रूम का दरवाजा बंद करके मुझसे लिपट गई और मुझे छेड़ने लगी और मुझे बिस्तर पर गिरा कर मेरे ऊपर चढ़ गई.

फिर पारिज़ा ने मेरे निक्कर की इलास्टिक में अपनी उंगलियां फंसाईं और उसे भी निकाल दिया.

हिंदी वाला बीएफ दिखाइए: सीमा जी के काले और मोटे भोसड़े को चोदने के बाद हम दोनों सुस्ताने लगे थे. मुखिया ने अपने होंठ गीता की छोटी सी चुत पर टिका दिए, जो हल्के रोंए से घिरी हुई थी.

मैंने पारिज़ा को घुमाकर पीछे से उसकी प्रिन्टेड ब्रा का हुक खोला और उसे निकाल कर अलग कर दिया. मैंने अपना एक हाथ दिशा की गांड की दरार में लगाया और एक उंगली दिशा की गांड के छेद में घुसा दी. जैसे ही उसको अपनी गांड में गर्म लावे का अहसास हुआ, उसने भी ‘आह आह सी सी.

मुझे धक्का लगा कि इस दूसरे आदमी को वीडियो के बारे में कैसे पता है!मैंने कहा- आप मुझे ब्लैकमेल कर रहे हैं?योगेश जी बोले- ब्लैकमेल नहीं कर रहा हूं.

गांव के कई लड़कों की नज़र उस पर थी, मगर शायद उसकी किस्मत में मुखिया का बूढ़ा लंड ही लिखा था. लो यारो, फिर से उसकी याद आ गयी, जिसको मैं अभी अभी पीछे छोड़ कर आया था. मैं उठा और उसकी चुत में उंगली करने लगा और उसकी चुत के दाने को जोर से मसलने लगा.