तमन्ना भाटिया बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,बीपी पिक्चर दिखाएं

तस्वीर का शीर्षक ,

भाभी की चुदाई की बीएफ: तमन्ना भाटिया बीएफ वीडियो, मैंने देखा कि आंटी अपने किसी काम में बिजी थी तो मैंने सोचा कि इमरान के आने तक ब्लू फिल्म देख लूं.

माँ कमबख्त

एक दूसरे को कामुक नजर से देखते हुए मैं अपना कड़क लंड हिला रहा था और अम्मा जोर जोर से खीरा चुत में डाल रही थीं. અમેરીકા સેકસી વીડિયોशायद मैं भी ट्राय करूंगा … मैं सब कर सकता हूं, जान तुम्हारे लिए मेरा मन मचला जा रहा है.

आज से आप मेरे जीजा जी नहीं, मेरे पति हो! मेरे राजा और ज़ोर से चाटो मेरी चूत को! अपना लंड डाल के फाड़ दो मेरी चूत को! बहुत मज़ा आ रहा है. वैलेंटाइन डे मतलबवैसे मुझे जहां तक लग रहा था कि वो भी मेरे मन की इच्छा को जान चुकी थी लेकिन कुछ कह नहीं रही थी.

मैं उनके पास गया, तो आंटी ने बताया- गुड़िया को तुमसे कुछ काम है और तुमको कुछ देर के लिए अपने साथ ले जाना चाहती हैं.तमन्ना भाटिया बीएफ वीडियो: मैं इतनी तेज झड़ रही थी कि अपनी योनि सोफे के कोने पर आगे को धकेलने लगी थी, जिसकी वजह से कमलनाथ बार-बार मेरी कमर पकड़ कर पीछे खींचते हुए धक्के मार रहा था.

मैंने उसके निप्पल को अपने उंगली से पकड़ कर कसके खींचा, तो वो कराह उठी.उसके कोमल हाथों में जाकर मेरा लंड फिर से तनतना गया और मुझे मजा आने लगा.

भाभीयो की चुत के फोटो - तमन्ना भाटिया बीएफ वीडियो

किसी को ये सब बात कोई बताता है क्या?कमलनाथ- क्या सब बात?राजेश्वरी- वही.बात करने के बाद द्वारका के सेक्टर 12 वाले मैट्रो स्टेशन पर मिलने के लिए समय तय किया गया.

निर्मला इधर हाय हाय करती रही और फिर कराहते हुए बोली- हो गया … मजा आया न?कांतिलाल ने अपनी सांस छोड़ी और ढीले बदन से अपना लिंग उसकी योनि से निकाल कर सोफे पर बैठ गया. तमन्ना भाटिया बीएफ वीडियो आपको मेरी क्सक्सक्स स्टोरी अच्छी लगी या नहीं … प्लीज मुझे मेल कीजिए.

तू इधर उधर की बातों पर ध्यान मत दे और अपना काम कर, अपनी नौकरी पर ध्यान दे साले.

तमन्ना भाटिया बीएफ वीडियो?

उसका लंड उसकी जांघों के बीच में ऐसे तना हुआ था जैसे बिल से निकल कर सांप फन उठाये खड़ा हो. आंटी फिर कहने लगी- तुम इतना शरमाते क्यूं हो?मैंने कहा- बस ऐसे ही, मैं बचपन से ही ऐसा हूं. चाची से मेरी निगाह मिली, तो उनकी कामुक आँखों ने मुझे काफी कुछ बता दिया था कि ये माल चंचल है और लंड ले सकती है.

अमन चुत में झड़ गया था और सुरेश ने मेरी बीवी के मुँह को पकड़ कर लंड के झटके देते हुए उसे रस पिला दिया था. मैंने कहा- मैं तो तुमको पहले ऐसी नजर से नहीं देखता था लेकिन उस दिन जब तुम बाथरूम में अपने कपड़े बदल रही थी तो पहली बार मेरे मन में तुम्हारे लिये ऐसी फीलिंग आई. मगर सच में करना कल्पना को निभाते हुए उसका परस्पर निदान भी करना होता है.

उसने मुझसे कहा- प्लीज़ अब अपने लंड को मेरी बुर डाल दो … मुझे जल्दी से चोद दो … आह मुझसे अब और नहीं सहा जा रहा है … मुझसे बर्दाश्त नहीं हो पा रहा है. वो टी-शर्ट में थे, ब्लाउज जैसी दरार नहीं दिख रही थी, फिर भी मस्त लग रहे थे. जब भाभी को लंड से मजा मिलने लगा, तब उनकी गांड हिलने लगी और वो भी अपनी गांड उठाते हुए लंड का जवाब देने लगीं.

ये पैंटी इतनी ज्यादा छोटी थी कि सिर्फ़ मेरी चुत के ऊपर ढक्कन सा बना रही थी. मुझे इस तरह वेश्या का किरदार करने से खुद निर्लज्ज स्त्री की भांति जिज्ञासा जागने लगी थी.

उसके बाद मैंने अपनी चूत में किस किस के लंड लिये और शादी से पहले मैं और किन लंडों से चुदी वो सब मैं आपको अपनी अगली कहानियों के माध्यम से बताऊंगी.

वो भी समझ गया कि मैं उसके लंड को बाहर निकाल कर हाथ में लेना चाह रही हूं.

जब भी किसी की इच्छा होती थी तो वो मुझे बुला कर अपना काम पूरा करवा लेती थी. उस पर से कंडोम हटाया और उसको सोफे पर लिटा कर उसके मुँह में अपना पूरा लंड डाल दिया. ऐसे ही एक दिन मेरे एक रिश्तेदार ने मुझसे कहा कि मेरी नजर में एक लड़की है, काफी अच्छी है पर अभी बारहवीं का एग्जाम दे रही है.

मैं फ़ेसबुक की अपनी प्रोफाइल पर हमेशा सेक्सी भाभी या लड़कियों की तस्वीर डाला करता था. कुछ देर के बाद देखा, तो कांतिलाल कविता के पास जाकर उसे छूने टटोलने लगा था. मुझे तो बस बुआ की चुदाई करनी थी, मेरी ये भी हसरत पूरी हो रही थी।मैंने झटके लगाने शुरू किए.

मैंने अपनी माँ की चूत नंगी देखी तो मेरा मन माँ की चुदाई को करने लगा.

यहां तक कि मैंने उसकी चूत को भी नहीं देखा था क्योंकि वो तौलिया के नीचे से अपनी चूत पर साबुन लगाती थी और वो छेद थोड़ा सा ऊपर की तरफ था. मैंने दूसरा धक्का मारा और अबकी बार मेरा लंड पहली ही बार में आधा घुस गया. मेरा एक बेटा होने के बावजूद भी मैंने अपने आपको बहुत संवार कर रखा हुआ है.

उसका लिंग सरसराता हुआ मेरी योनि में आ जा रहा था और मुझे कराहने पर विवश करे दे रहा था. तब तक आप अन्तर्वासना पर गर्म गर्म कहानियों का मजा लेते रहें और सभी लड़कियां अपनी चूतों को सहलाने के लिये तैयार हो जायें और सभी चोदू मर्द अपने अपने लौडो़ं को हाथ में थाम लें. वो चिल्लाई उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मैं उसके मुख पर हाथ रखकर तेजी से अंदर बाहर करने लगा.

उसके पूरे बदन को ऊपर से नीचे तक किस करने लगा और वो भी सिसकारियां लेते हुए मजा लेने लगी.

मैंने नजरें नीचे कर लीं और न जाने क्या समझ आया कि जेब से पेन निकाल कर एक कागज़ के टुकड़े पर अपना फोन नम्बर लिखा और कागज को अपनी मुट्ठी से मरोड़ कर फेंक दिया. कुछ देर तक दोनों ने भाभी के नंगे जिस्म को खूब चूसा चाटा और अपना लंड भी चुसवाया.

तमन्ना भाटिया बीएफ वीडियो रोज रोज पति के उसी लौड़े को लेते लेते सब कुछ ही दिन में थक गयी थीं. मेरी बातें सुन कर रमा भी एक तरह से बहुत खुश थी, मगर वो अपनी ख़ुशी बाहर नहीं दिखने दे रही थी.

तमन्ना भाटिया बीएफ वीडियो जब वो अपनी बीवी से बात कर रहा था, मैं काव्या के पीछे खड़ा होकर चुपके से अपना लंड उसकी गांड पर रगड़ रहा था. स्तन और गांड के सुडौल होने के कारण उसका स्लिम फिगर कहर बन कर टूटता है.

तभी मैंने अपनी उंगली उसकी चूत में डाली तो वो दर्द से उछाल गई और बोली- उंगली डालने से दर्द हो रहा है तो लंड कैसे झेलूँगी?मैंने कहा- डरो नहीं मेरे जान, मैं उंगली से तुम्हारी चूत को सहलाउँगा तो वो थोड़ी गीली हो जाएगी और शुरू में थोड़ा सा दर्द होगा.

ইন্ডিয়ান সেক্স মুভি ভিডিও

फिर मैंने डॉली की चूत के छेद पर अपना रखा हुआ लौड़ा खूब तेज धक्का दे मारा. इसलिए आप सभी को इस ग्रुप के साथ सेक्स कहानियों का भरपूर मजा मिलने वाला है जिसमें सेक्स के साथ-साथ मस्ती और रोमांस ही नहीं बल्कि रोमांच भी होगा. मैं जल्दी आकर विशाखा से हंसी मजाक करके उसको पटाने के चक्कर में रहता था.

हां यह बात अलग है कि हर कोई मुझे एक बार देखता है, तो देखता ही रहता है. कपड़ों के ऊपर से ही जब बल्लू का लंड भाभी की गांड पर लगा तो भाभी मचल सी गई. मेरा लंड प्रिया की चूत में घुसने ही वाला था कि तभी उसने मुझे अपने से अलग कर दिया, वो बोली- अंदर चलो कमरे में.

उसने भी मेरा पूरा साथ दिया और हर धक्के की वापसी, मुझे अपनी जांघों पर महसूस होने लगी.

लगभग 5 मिनट के बाद उसने मुझे एक बहुत ही जोर का धक्का मारा और मैं चीख पड़ी- ओह्ह … म म. चूंकि अंगिका से बातें करते हुए मुझे तीन दिन हो गये थे इसलिए मुझे भी मजा आ रहा था. मगर जब मेरी बीवी ने व्हाट्एप पर तुम्हारी फोटो देखी थी तो उसको यकीन नहीं हो रहा था कि तुम कोई 34 साल के युवक हो.

प्यासी चूत की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने पढ़ाई के साथ साथ मैंने एक पार्ट टाइम जॉब कर ली. अंदर देखा तो उसकी जांघों के बीच में सफेद पैंटी के पीछे काली सी चूत बाहर आने के लिए जैसे तड़प रही हो. कुछ देर की ना नानुकुर के बाद जब मैंने अपना लम्बा लंड खोल कर मॉम के सामने लहराया, तो मेरी मॉम मेरा लंड देख कर हैरान रह गईं.

तू इधर उधर की बातों पर ध्यान मत दे और अपना काम कर, अपनी नौकरी पर ध्यान दे साले. उसकी काली ब्रा में उसका रंग गोरा लग रहा था और ब्रा उसके चूचों में ऐसे फिट हो रखी थी जैसे इस ब्रा को सिर्फ इन्हीं चूचों के लिए बनाया गया हो.

लेकिन मैंने जैसे ही उसकी चूत में हल्का सा लंड अंदर किया तो मैं झड़ गया।उसने कहा- क्या हुआ?मैंने कहा- लगता है कल की कमज़ोरी है. मैंने भी उसकी जिद मान ली क्योंकि मेरा भी मन हो रहा था कि सनी मेरे मम्मों को जोर जोर से चूसे. मामी ने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और फिर मैंने उनको दीवार के सहारे लगा कर उनकी चूत में लंड को पेल दिया.

वो बोली- नहीं जीजाजी, लड़के बहुत हरामी होते हैं। कोई गर्लफ्रेंड बन जाए तो सारी दुनिया में बताते घूमते हैं.

फिर उसने बताया कि मेरी यहां शादी हुई है, मेरा पूरा दिन इसी घर में गुजर जाता है. फिर कमरे में ला कर मैंने दीदी को पेनकिलर गोली दी, ताकि ज्यादा दर्द ना हो. बातों-बातों में मैंने देखा कि उनकी आंखों में एक मादक और उत्तेजक निमंत्रण दिख रहा था.

उसने मुझसे कहा- बाकी लोगों के बगैर कोई मजा नहीं किया जा सकता क्या? जब सब लोग आएंगे, जब उन्हें समय मिलेगा … तब तक हम साथ में थोड़ा समय बिताते हैं. मैंने ये भी नोटिस किया कि चुदाई के वीडियो देख कर फरजाना के चेहरे पर भी रंग बदल गया था.

यहां पर एक बात और बताना चाहूंगी कि जब भी कोई लड़की इस ग्रुप में कहानी भेजेगी तो वह अपना परिचय खुद ही दे देगी। दोस्तो, आप लोगों से बस इतना निवेदन है कि आप लोग किसी भी प्रकार के संदेश हमें न भेजें क्योंकि किसी भी संदेश का जवाब हम लोग नहीं देंगे।आपको हो सकता है कि हमारी यह बात थोड़ी अजीब लगे लेकिन हम सब शादीशुदा हैं और थोड़ा हद में रहना भी जरूरी होता है. मैंने उसको लंड चूसने के लिए कहा लेकिन उसने लंड चूसने से भी मना कर दिया. वो मेरी चूत में उंगली करने के बाद मुझे अपना लंड चूसने के लिए बोलने लगा.

सेक्सी चुदाई मराठी

मैंने भी हंस कर कहा कि मुझे भी नहीं मालूम है मगर मैंने साइज़ की जानकारी देने वाली फ़िल्में देखी हैं.

इस बीच चार लड़कों का एक गैंग आया और उसमें से एक ने पूछा- ओए रंडी … कितना लेगी … बड़ा मस्त लग रही है. मैं और ज्यादा जोश में आकर सिसकारियाँ भरने लगी उम्म्ह … अहह … हय … ओह … और उसके बालों में अपनी उंगलियाँ घुमाने लगी. जब भी किसी की इच्छा होती थी तो वो मुझे बुला कर अपना काम पूरा करवा लेती थी.

सोनू अपना लंड पूरा बाहर निकाल कर ज़ोर से धकेलता था, जिससे अंतरा की चीख निकल जाती थी. ऐसा इसलिए था ताकि घर की बात घर में रहे और देवरानी को भी रोज रोज की संभोग क्रिया से थोड़ा आराम मिल सके. सेक्सी पिक्चर सेक्सइससे पहले चूत में मेरा वीर्य तो निकल ही चुका था इसलिए अबकी बार इतनी जल्दी गांड में वीर्य नहीं निकलने वाला था.

खैर … कुछ देर बाद उसने सारा काम खत्म कर दिया और मेरे लिए और अपने लिए भी चाय बना कर ले आयी. मैंने उसको जाकर बोल दिया कि अपने कपड़े ठीक कर लो, कोई भी कुछ भी कमेंट कर रहा है.

मैंने बोला- तौलिया की जगह उसे तुम अपनी साड़ी खोल कर दे दो … उसी से पौंछ लेगा. वो कोई और नहीं बल्कि शोभा ही थी और मुझे और युक्ता को देख कर हंस रही थी. वो मेरे पास आईं और अपना पैर मेरी छाती के ऊपर रख कर इशारा करने लगीं.

इस तरह से वीर्य निकलने का मजा मैंने जिन्दगी में पहली बार ही चखा था. उधर से मैं धीरे धीरे अपने हाथ, उसके मम्मों के और पास ले जाता और उन्हें दबा देता. जब चूत पूरी तरह गीली हो गई तो मैं बोला- आओ मेरी जान … अब हम दोनों एक हो जाएँ.

मैंने तुरंत ही उसको चित लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ कर उसके मम्मों को फिर से मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

मैंने उसकी जांघ पर अपने पैसे से सहलाना शुरू किया, तो वह मुझे देख कर मुस्कुराने लगी. नमिता के चूसने से मेरे लण्ड का सुपारा फूलकर संतरे के आकार का हो गया.

आखिर रविवार को मेरी बड़ी बहन ने प्रीति के नोट्स वापस करने के लिए मुझे उसके घर भेजा. भाभी के हाथ में लंड आते ही बल्लू की हवस और ज्यादा भड़क गई और वो भाभी को बुरी तरह से काटने लगा. मैंने सनी से पूछ लिया- क्यों सोये नहीं हो क्या? जब से आए हो, रूम में ही हो.

मैंने मां को ये इच्छा बताई तो वो कहने लगी- मैंने कभी गांड नहीं मरवाई है. वैसे भी आजकल अधिकतर सीजेरियन विधि द्वारा ही बच्चे का जन्म होता है तो कम से कम तीन महीने तो टांकों पर कोई जोर नहीं पड़ना चाहिए. तभी उसने ने मुझे कुतिया बना दिया और मेरी चूत में लंड लगा कर मुझे रगड़ने लगा.

तमन्ना भाटिया बीएफ वीडियो फिर भाभी बोली- लेकिन इतने पैसे देगा कौन?मैंने कहा- वो सब बात मैंने कर ली है. उसने अपनी ब्रा और पैंटी को उतारा और अपने जिस्म में फंसा कर पहनने लगी.

सेक्स movie.com

उसकी गुलाबी पैंटी को नीचे खींच कर उसकी चूत को नंगी कर दिया और उस पर हाथ फिराने लगा. अपनी कहानी बताने के चक्कर में मैं आप लोगों को अपने शरीर के बारे में तो बताना भूल ही गया. भाबी ने धीरे से पट्टी खोल दी और बोली- अब रात में लोवर उतार दो और इसको ऐसे ही खुला छोड़ दो.

वो कुछ नहीं बोली, मैं समझ गया कि ये राजी है … आज मजा नहीं लिया, तो कभी नहीं मिलेगा. अब मैंने भी मां की नाइट ड्रेस को निकलवा दिया और उसकी चूत में उंगली करने लगा. हिंदी सेक्सी गानाफिर मैंने ऑनलाइन सेक्स चैट करनी शुरू की, जिसमें एक लड़की से मेरी चैट शुरू हुई.

वो हंस कर बोली- ये क्या कर रहे हो यार?मैंने बोला- तेरे हुस्न का दीदार.

उन्होंने मुझे फर्श पर लेटने को कहा तो मैं फर्श पर लेट गई, दरअसल मैं भी चुदासी हो चुकी थी. फिर कुछ देर बाद मैं दोस्तों के साथ घूमने निकल गया और जब घर वापस आया, तो देखा वो मेरे घर आयी हुई थीं.

ये दोनों इतने अधिक झीने थे कि उनमें से उसकी ब्रा और पेंटी का रंग भी दिख रहा था, उसने काले रंग की ब्रा और काले रंग की पेंटी पहनी हुई थी. दो मिनट बाद उसने खुद अपनी पैंटी को उतारा और मुझे धक्का देकर बिस्तर पर सीधा लिटा दिया. अब इसके बाद बाकी के मर्द ये सोच में पड़ गए कि कैसे अपनी अपनी योग्यता साबित करें.

उस पुलिस वाले की बात सुनकर मेरी गांड फट गई कि अब अपर्णा का क्या होगा.

अब मैं उसके ब्लाउज को खोलने ही वाला था कि तभी मुझे लगा कि कोई हमें देख रहा है. कमलनाथ कोई नौजवान तो था नहीं कि इतनी देर तक धक्के मार सके … हालांकि वो इतना अनुभवी तो था कि संभोग को लंबे समय तक खींच सके. फिर मैं थोड़ा नीचे आकर उनके पेट पर किस करते हुए उनकी चूत तक पहुंच गया.

बड़े लंड का फोटोबुआ भी नीचे से चूतड़ उठा उठा के मेरा साथ दे रही थी।फिर मैंने बुआ को नीचे खड़ी करके चारपाई पर हाथ रखवा कर घोड़ी बना लिया और पीछे से लंड बुआ की चूत में घुसेड़ दिया।अब मैं जोर जोर से बुआ की चूत की चुदाई करने लगा. उन्होंने मेरे बालों को सहलाया और फिर मेरी गर्दन को हल्के से उठा कर मेरा माथा चूम लिया.

चूत चुदाई सेक्स वीडियो

कभी मैं उनके थोड़े से उभरे हुए पेट पर हाथ फिराता, तो कभी बोबों को मसल देता. अब तो मैं जिसकी भी बड़ी चुची या गांड देखता हूँ, उसका दीवाना बन जाता हूँ. अमन ने मेरी बीवी के बाल पकड़े और अपने हाथों से उसके गाल दबाते हुए उसका मुँह खोल दिया और अपना लंड उसके मुँह में डालने लगा.

शायद भाई बीच में सोया था इसलिए वो मुझे ऐसा नहीं करने देना चाहती थी. म्म्म … मुंअअ … गप्प् गप्प की आवाज के साथ वो मस्ती से मेरे लंड को चूस रही थी. फिर जैसे ही वो झड़ने वाली थी, उसकी अकड़न को महसूस करते ही मैं समझ गया था कि इसका दूसरी बार झड़ना होने वाला है.

मैंने फिर से उनको अपनी बांहों में लिया और होंठों को चूसते हुए उनके मस्त बोबे दबाने लगा. मेरे ख्याल से अब तक रमा अनगिनत बार झड़ चुकी होगी … क्योंकि उसकी योनि के इर्द-गिर्द झाग सा बनना शुरू हो गया था. डॉली जोर से अपनी चूत उठाकर कामुक आवाजें करने लगी थी ‘उन्ह … सीई … अह … ऊँऊँ.

पहली बार मेरे ब्वॉयफ्रेंड ने जब मेरी चुत में लंड डाला था, तो मुझे बहुत दर्द हुआ था. करीब 10 मिनट उसने मुझे यूँ ही बिना रुके धक्के मारे और फिर वो रुक गया.

आंटी से थोड़ी बाते होने लगी और शाम करीब 8 बजे उन्होंने खाना खाया और दवाई ले कर सो गयी.

मम्मी ने बताया कि उन्होंने मेरे खाने का इंतज़ाम शीमा के घर पर ही कर दिया है. र्पोन क्या होता है २०२०मैंने कहा- तो क्या तुम्हें मजा आया?वो बोली- हां सर, अब मुझे समझ आया कि वो लड़की हमारे कॉलेज के ड्राइवर से ऐसे मजे लेकर क्यों चुदाई करवाती है. 10 साल के बच्चों का सेक्सआज भी उसका लिंग पहले की ही तरह ताकतवर और अच्छे खासे मोटाई और लंबाई में था. इस पर भाभी ने बोला कि मुझमें ऐसा क्या ख़ास है?मैं बोला- भाभी सब कुछ तो ख़ास है आपमें … सच में भैया बहुत किस्मत वाले हैं, जो उनको आप जैसी वाइफ मिली है.

अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी पसंद करने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मैं एक कहानी लेकर आया हूँ.

मैं रुक गया और उसकी चूत की गर्मी से अपनी लंड की फुंफकार को शांत करने लगा. मेरी उम्र में और मेरे जैसे स्मार्ट से लड़के की कोई गर्लफ्रेंड न हो तो किसी के मन में भी ये सवाल पैदा हो सकता था. अब मैं आपका ज्यादा समय न लेकर आपको सीधे कहानी की तरफ लेकर चलता हूं.

पर मैं कुछ नहीं बोल सकती थी क्योंकि मेरे किरदार के हिसाब से मालिक कमलनाथ था और मुझे हर कष्ट बर्दाश्त करना था. राजेश्वरी धक्कों के शुरू होते ही एक सुर में बकरी की भांति मिमियाने और उम्म्ह… अहह… हय… याह… सिसकने लगी. क्या चुदाई की … साली चूत सहला रही होगी।वह मुस्कराया।मैं चित लेटा था.

ब्लु फिल्म

मगर जैसा कि असल जीवन में होता है, कांतिलाल भी उसे अपनी बांहों की पकड़ से मुक्त नहीं होने दे रहा था. उसकी गर्म गर्म सांसें और उसके बदन का स्पर्श, मेरे लंड पर सहलाना और मेरा हाथ अपने हाथ लेकर अपने बूब्स के बीच में रखना!लेकिन मैं चुपचाप सो गया क्योंकि मुझे अंदर से कमज़ोरी लग रही थी।खैर अगली सुबह जब मैं सो रहा था तब वो नहा कर आई. मैंने दीदी के कान के पास अपने होंठ ले जाकर फुसफुसाते हुए पूछा- डाल दूं क्या अंदर?दीदी ने मेरी पीठ पर अपने नाखून गड़ा कर अपनी मंजूरी दे दी.

क्योंकि मेरा लंड ही ऐसा है कि सब इस बेजोड़ लंड से अपनी चूत चुदवा कर इसकी दीवानी और मस्तानी हो गई हैं.

सभी के बात व्यवहार और कपड़ों के पहनावे से लग रहा था कि वे सब काफी उच्च घराने से थे और काफी अमीर थे.

मै- तुम्हें कैसे पता?राज- मुझे उनकी आवाज़ें आ रही थी … तो मैं समझ गया कि क्या चल रहा था. मुझे फ्लर्ट करते देख कर भाभी हंस दीं और बोलीं- अब ये मसखरी छोड़ो और जल्दी चलो. लिंग का साइजइसलिए आज मैंने जब सफाई करके चूत को चिकनी करके लंड डाला तो लंड सट से अंदर सरक गया.

आंटी एक पल के लिए तो सकपका गईं, फिर उन्होंने अपनी ननद को कमरे में आने को कहा, वो गर्म लौंडिया कमरे में आ गई. उतने में भाभी सिसकारियां लेते हुए बोलीं- विशाल अब इतना मत तड़पाओ … चूस लो … खा जाओ मेरे चूत को … ये मुझे बहुत परेशान करती है … साली को लंड ही नहीं मिलता. हम दोनों बातें करते हुए जाते थे और छुट्टी वाले दिन भी मैं शकूर के रूम में ही आ जाता था.

इस पर राजशेखर ने पहले हां किया और सामने मेरे आकर घुटनों के बल बैठ गया. मैंने उसे अपने नीचे लिटाया और लंड को बहन की चूत की फांकों पर रखकर लंड सैट कर दिया.

मैं कई बार उससे बात करने की कोशिश करता था मगर अपने संकोची स्वभाव के कारण बात नहीं कर पाया था.

इधर मेरे लंड को गरम गुफा का अहसास हुआ, तो मैं पूरे जोश में आ गया था. मैंने आंटी की चूत में कई पिचकारी मारी और फिर मैं आंटी के ऊपर ही लेट गया. मैंने कहा- क्या मैं अभी आपको नाम से बोल सकता हूँ?अम्मा ने कहा- हां … क्यों नहीं … लेकिन मैं अम्मा ही सुनना पसंद करूंगी, तू ऐसा समझ मेरा नाम अम्मा ही है, तुम मुझे अम्मा ही बोला करो.

विडमेट डाउनलोड 2017 निर्मला ने मेरे चूतड़ों पर थपकी मारी और मुझे रवि के लिंग के ऊपर बैठने बोलने लगी. बाकी के समय तो बदन में इतनी ताकत रहती है कि अपनी योनि की मांसपेशियों को अपने मन मुताबिक सिकोड़ और ढीली कर सकूं.

इधर कमलनाथ और रवि की नजर मुझ पर पड़ी, तो उन्होंने कहा कि आज की रात हम तुम्हारे साथ बिताएंगे. कई मिनट में मां संभली और मुझे पीछे धकेलने लगी लेकिन तब तक मैंने पूरा लंड गांड में घुसा दिया था. उसने जैसे ही अपना लिंग घुसाया, पल भर के भीतर ही उसने 20-25 धक्के मार दिए.

தமிழ் செக்ஸ் திரைப்படம்

रमा- कांति ने तुम्हें सोने दिया या नहीं?मैं- हां सोने तो दिया, पर उससे पहले मुझे निचोड़ कर रख दिया. उसको लेकर मैं सोचता रहता था कि काश इस हॉट गर्ल चोदने का मौका मिल जाए … तो मजा आ जाए. उसी समय सोनाली ने मुझे रोक लिया और मुझसे पूछने लगी कि तुम मेरे लिए ही रोज मेरे पीछे आते हो ना!तो मैंने भी टाइम नहीं गंवाते हुए उससे बोला- हां … मैं तुम्हारे लिए ही आता हूं.

उन्होंने नीचे से अपने चूतड़ उचकाये कि लंड अंदर घुस जाए लेकिन ऐसे कैसे लंड अंदर घुस जाता… जब मैंने ऊपर से एक झटका अंदर को मारा तो गीली चूत में मेरा लंड ऐसे घुस गया जैसे मक्खन में गर्म छुरी. थोड़ी देर संभोग के बाद शायद रवि को वो लय मिलती हुई शायद नजर नहीं आई.

मैंने एक हाथ उसके सूट के अन्दर डालकर उसके नंगे मम्मों को पकड़ लिया और धीरे धीरे सहलाना शुरू कर दिया.

फिर मैंने अपना दूसरा हाथ गर्दन से हटा कर उसकी बेबी (चूत) पर रख दिया. क्योंकि जिस तरह अन्दर का माहौल अब बन चुका था, किसी को न थकान महसूस हो रही थी, न नींद आ रही थी. लंड का चुसाई समारोह शुरू हुआ तो मैं तो सातवें आसमान में पहुंच चुका था.

मैंने कामुकता से भरी एक जवान लड़की की चुदाई उसी के घर में उसके उकसाने पर की. उसकी तड़प देख कर मैंने बिना देरी किये अपना लौड़ा उसकी चूत में घुसा दिया. चाची की गोरी मांसल जांघों को तो मैं पहले ही देख चुका था और अब उनके नंगे कूल्हों ने मुझे मानो वहशी बना दिया था.

तब तक आप अन्तर्वासना पर गर्म कहानियों का मज़ा लेते रहें और दूसरों को भी मज़ा दिलवाते रहें.

तमन्ना भाटिया बीएफ वीडियो: मैंने कहा- मम्मी, आप हमें इतना प्यार करती हैं, तो थोड़ा सा प्यार तो हम भी कर सकते हैं. तुम्हारे मन में क्या चल रहा है, मुझे इसके बारे में कोई अंदाजा नहीं था.

कुछ देर के लिए हम ऐसे ही चिपक कर लेटे रहे और एक-दूसरे की जुबान को चूसते रहे. इस कामुक सेक्स कहानी के तीसरे भागखेल वही भूमिका नयी-3में अब तक आपने पढ़ा कि मैं अब तक नेता और कमलनाथ के अलावा रवि से सम्भोग करके बहुत ज्यादा थक चुकी थी. मुझे लगा कि शायद आज ट्रेन में सेक्स की मेरी ख्वाहिश पूरी हो जायेगी और मेरी यह ट्रेन सेक्स स्टोरी बन जायेगी.

हम दोनों यूं ही हंसते हुए अन्दर रेस्टोरेंट में आ गए और एक टेबल पर बैठ गए.

उधर मैंने देखा राजशेखर ने थोड़ी देर कविता को चूमने के बाद खड़े खड़े में ही उसकी स्कर्ट उठाकर उसकी पैंटी उतार दी और खुद घुटनों के बल खड़े होकर उसकी टांगें फैला उसकी योनि को चूमने लगा. मैं खुश होता या दुखी कुछ समझ में नहीं आ रहा था क्योंकि मम्मी ने मुझे उसका भाई बना दिया था।अब पूजा ही खाना बनाती, हम साथ में बैठ कर खाना खाते लेकिन मैं उससे नज़र नहीं मिलाता. मैंने तुरंत उसके चूचों को अपने हाथों में भर लिया और उसके चूचों को अपने हाथों में लेकर जोर से दबाने लगा.