सेक्सी बीएफ एचडी ब्लू पिक्चर

छवि स्रोत,भाभी को चोदा सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

मालिश करते हुए चुदाई: सेक्सी बीएफ एचडी ब्लू पिक्चर, उसने दो कदम चल कर मुझे बेड पर लेटा दिया और अपनी पैंट की चैन खोलकर अपनी पैंट को अपने शरीर से अलग कर दिया.

भाभी और देवर के सेक्सी वीडियो

मैंने उसे किस करना शुरू कर दिया और उसे सहलाने लगा, उसके मम्मों को दबाने लगा. चूत में सेक्सीशायद उसने भी इस बात को नोटिस कर लिया था और मुझे लगा कि वो इस बात से थोड़ा असहज हो गयी है.

अब मैंने उसे खड़ा करके अपनी बांहों में भर लिया और हाथ पीछे करके उसकी गांड दबाता रहा. देसी घाघरा वालीरात में हम दोनों एक ही कमरे में सो गए क्योंकि अकेले चलने में उनको दिक्कत आती थी.

थोड़ा देर में ही उसको मज़ा आने लगा और वो अपनी गांड उठा उठा के मेरा साथ देने लगी.सेक्सी बीएफ एचडी ब्लू पिक्चर: मैंने अच्छे से वो तेल उसके दोनों छेदों में लगा दिया, अपने लंड पर भी काफी सारा तेल लगा लिया जिससे मेरा लंड चिकना हो गया.

फिर आशिमा दीदी ने वापिस लंड को मुँह से बाहर निकाला और लंड के चीरे पर अपनी जीभ लगा दी.एक दिन मेरे दोस्त भावेश का फोन आया कि उसे एक मीटिंग के लिए कुछ दिन के लिए बाहर जाना है, तब तक मैं उसके घर रह कर उसके पापा का ध्यान रख लूं.

ब्लू पिक्चर सेक्सी सेक्सी ब्लू पिक्चर - सेक्सी बीएफ एचडी ब्लू पिक्चर

फिर मैंने उसकी पैन्ट और अंडरवियर उतार दिया और जय ने अपनी शर्ट उतार दी और पूरी तरह से नंगा हो गया.मैं अब जोश में आने लगा और मैंने अपनी मॉम से पूछा- मॉम आपने होंठ इतने लाल कैसे हैं, लिपिस्टिक के चलते हो गए हैं या शुरू से ऐसे हैं.

दोस्तो, जैसे जैसे लंड में रक्त प्रवाह प्रबल होता जाता है, वैसे वैसे मर्द की वासना भी बेकाबू होती जाती है. सेक्सी बीएफ एचडी ब्लू पिक्चर तो मिनी ने मुझसे पूछा- चुसवाने में मजा आता है क्या?मैंने उसे बताया- मुझे चुत चोदने से ज्यादा मजा लंड चुसवाने में आता है.

मैं देखने में सामान्य हूं, लम्बाई 5 फुट 6 इंच की है और बॉडी भी मस्त है.

सेक्सी बीएफ एचडी ब्लू पिक्चर?

निशा- तो आप मुझे जाते हुए घर से बुला लिया करो, मैं भी आपके साथ चला करूंगी. मुझे खुशी हो रही थी कि आज मैंने भाभी की सील तोड़ दी … वो भी इतनी मस्त भाभी की. तभी मेरे दिमाग़ में एक आइडिया आया और मैंने मेडिकल स्टोर से कुछ दवाएं ओर कंडोम ले लिए … और घर आ गया.

तो मैंने भाभी से पूछा- फिर क्या हुआ?भाभी- फिर मैंने भी गुस्से में आके एक दिन उनकी सारी पोर्न कलेक्शन डिलीट कर दीं, तो उन्होंने मुझे बहुत डांटा. मैंने बोला- अन्दर जाकर किसी और से भी दिल्ली के रिश्तेदारों के बारे में पूछ लो. मैंने देर न करते हुए उसके चूचों को अपने कब्जे में किया और एक निप्पल को अपने मुँह में ले लिया.

मैं काम में अति व्यस्त था लेकिन मामी के बोलने पर आने को तैयार हो गया. इतना कह कर मैंने अपनी साली के गाउन को उतार दिया और वह सफेद ब्रा सामने आ गई. मुझे बहुत मजा आने लगा और मैं उसके मुंह में झटके मारने लगा।5 मिनट तक यही सब चलता रहा और वह झड़ गई.

सरिता बारी बारी से मेरे दोनों निपल्स सहला रही थी, बीच बीच में वो अपनी दोनों उंगलियों में पकड़कर निप्पल को दबा देती तो मेरे पूरे शरीर में बिजली के करंट जैसी लहर उठ जाती थी. शॉवर लेकर मैंने नैना को टॉवल के लिए आवाज दी तो वो भी शॉवर लेने के लिए तैयार थी.

जैसे ही मोबाइल ठीक हुआ, मैंने घर आकर दीदी को मोबाइल दे दिया और अपने कमरे में चला गया.

उसने ज़ोर से उहन्न किया और उसी पल मैंने ज़ोर से लंड को गांड में भेद दिया.

कुछ देर बाद चाची ने कहा- अपनी चाची को ऐसे ही तड़पाओगे या अपने लंड का भी दर्शन करवाओगे. उनके रसीले लाल लाल गुलाबी होंठों को देख कर मैं सोच रहा था कि काश इनमें से कोई भी मिल जाए तो सारा रस पी जाऊं. वो मेरे ऊपर अपना सर रख कर लेटी हुई थी और बिल्कुल किसी बच्ची की तरह मुझे कसके चिपकी लेटी रही.

इससे पहले कि सौम्या कुछ समझ पाती मैं बेड के नीचे से निकल आया और सौम्या को देख कर बोला- सरप्राइज़. सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा कि दीदी और नीरजा ने कैसे मेरे लंड से एक साथ चुदने का मजा लिया. रास्ते में जो भी नजर आता, मैं उसके बारे में उसे बताने लगता!कभी उसके साथ थोड़ा हंसी मजाक भी कर लेता, तो वो भी मुस्कुरा देती.

मेरा लम्बा लंड देखकर वो मुस्करा रही थी और कह रही थी- आज तो बहुत मज़ा आने वाला है.

उसने मुझे बोला- बेबी धीरे धीरे डालना।मैंने उसकी दोनों टाँगों को खोलकर धीरे-धीरे लंड डालना शुरू किया आधा लंड डालकर मैंने झटके मारने शुरू किए।उसकी चूत गीली होने के कारण आधा लंड अंदर चला गया. लेकिन विलियम ने मेरा हौसला बढ़ाया और बोला- कुछ नहीं होगा, तुम रूम बुक कर लो!उसने मुझे अपने पर्स में से पैसे निकाल कर दिए. इस बार चाची ने एक मैक्सी पहनी हुई थी, जिसमें से उनके निप्पल साफ़ दिख रहे थे.

मॉम का एक हाथ मेरी पीठ पर था और दूसरे हाथ से वो मेरे लंड को पकड़ कर सहला रही थीं. चाची को भी काफी मजा आ रहा था, हम दोनों साथ मे कामुकता भरी अवाजे निकाल रहे थे, पूरा कमरा आह … ओह्ह … उई … उम्म … आह से गूंज रहा था।मैंने अब अपनी रफ्तार बढ़ाना शुरू किया. अब आप लोगों के लंड को और इन्तजार ना करवाते हुए मैं अपनी फ्री फैमिली सेक्स Xxx कहानी में आती हूँ.

मैंने पूछा- फिर कैसे हिम्मत हुई?वो- जब तुमने मुझे बिना कपड़ों के देखा, तो मेरे मन में भी यही बात चल रही थी कि तुमको सब बताऊं या नहीं.

जैसे ही मैंने उसको उठाया, मेरा लंड पूरा अन्दर तक शिल्पा की चूत में चला गया जिससे शिल्पा को एकदम से तेज दर्द हुआ. वो दर्द से कराहीं और ऊपर की तरफ सरक गईं, जिससे मेरा आधा लंड भी अन्दर नहीं जा पाया.

सेक्सी बीएफ एचडी ब्लू पिक्चर उसके जिस्म पर ठंडा पानी गिर रहा था जिससे उसके मम्मे और भी टाइट होते जा रहे थे व मेरी छाती में गड़े जा रहे थे. मैंने भी उसकी टांग को पकड़ कर नीचे की तरफ खींचा और उंगलियों को अन्दर बाहर करने लगा.

सेक्सी बीएफ एचडी ब्लू पिक्चर तभी उसमें से एक लड़का बोला- क्यों हल्ला मचा रहे हैं भैया, आप भी कर लीजिए न!कुछ देर बाद वह भी मान गया और बोला- इसको किसी ने अभी चोदा है?सबने न बोला. मैंने देखा कि विलास मेरी तरफ मुँह करके सोया था और उसका एक हाथ लुंगी के ऊपर से ही मेरे लंड पर था.

हालांकि फ़ोन पर बातें हुआ करती थी लेकिन मिलना कभी नहीं हुआ था उस कॉलेज वाले कांड के बाद से।मीनल की शादी का कार्ड और उसकी डेट देख मैंने सीमा को फ़ोन कर बताया कि कुछ खुराफ़ाती करने को मन मचल रहा है और उससे मिलना भी चाहती हूँ.

महात्मा की सेक्सी वीडियो

उसे तब तक चोदता रहा, जब तक उसकी गांड से गंदी बदबू के साथ उसका मल बाहर नहीं आ गया. खाला ने कहा- तुम हो तो काफी सेक्सी, तुम्हारे दूध भी कड़क हैं और पिछवाड़ा भी निकला हुआ है. मैं चाची के पैरों के पास बैठ कर उनके पैरों को अपने सीने से लगा कर उन्हें चुप होने की मिन्नतें करने लगा.

मौसी मेरे कपड़े उतारने लगीं और साथ साथ मेरे सारे बदन को भी चूमने लगीं. आर्थिक रूप से मैं ही अपना घर चला रही हूँ और अगर मेरी जिस्मानी ज़रूरतें भी पूरी हो रही हैं, तो मैं शादी क्यों करूँ. मैंने कॉल उठाया और कहा- क्यों आंटी नींद नहीं आ रही है क्या?उन्होंने मुझसे कहा- तुम भी तो नहीं सोए.

अब मैं मिनी की ब्रा को खोल कर उसके चूचों को हल्के हल्के दबाते हुए चूसने लगा.

कभी कभी उसका भी ध्यान मेरे फूले लंड पर जाता था मगर साली इग्नोर कर देती थी. ये सुनकर रेखा ने अपने दोनों हाथों से मेरे गालों को सहलाते हुए कहा- हर्षद कैसे बताऊं तुम्हें कि मैं आज कितनी खुश हूँ. सरल शब्दों में कहूँ, तो अब हम अच्छे नहीं, बहुत अच्छे दोस्त हो गए थे.

उसने मुझे रोकने की कोशिश की जिसमें मेरा फ़ोन नीचे गिर गया और टूट गया. फिर क्या था … मैंने भी उसको सताने के लिए अपना हाथ वापस ले लिया और करवट लेकर सोने की एक्टिंग करने लगा. मैं अन्दर गया और उसके सामने बैठकर पूछा- आपको कैसे पता चला मैं बाहर हूँ?तो उसने कहा- बाहर कैमरा लगाया है, इसलिए मैं बाहर का सब देख लेती हूँ.

तभी अचानक भाभी ने मुड़ कर देखा मुझे और मुस्कुराती हुई बाथरूम में चली गईं. मैंने वीना से पूछा- क्या हुआ?वीना- कुछ नहीं चाचा, बस थोड़ी चोट लग गयी है … और बहुत दर्द है.

अब तक वीना के कहे अनुसार मुझे मालूम चल गया था कि वो एक अनछुई कली थी इसलिए मैं अपने काम को अंजाम आराम से देना चाहता था. बीस धक्के मारने पर मेरा भी निकलने वाला था, मैंने रेखा से पूछा- वीर्य कहां लोगी?रेखा बोली- तुम अपने लंड का अमृत मेरी चूत में ही छोड़ दो. अजीब सा मजा था!जेठ जी पागलों की तरह चूस रहे थे मेरी चूत को!सी … ऊं … उई मां … ओह … आह!”मैंने उत्तेजना से बेड को कस के पकड़ लिया.

किस करते करते मैंने उनका ब्लाउज और पेटीकोट भी निकाल कर अलग कर दिया.

मैंने अपनी पत्नी को फ़ोन करके बताया और उसने भी अपने पति को कि वह बच्चों को स्कूल छोड़ने जा रही है. मैंने भी विलियम की बरमुडा में हाथ फंसाया और एक ही झटके में बरमुडा और उसकी अंडरवियर को साथ में ही नीचे कर दिया. उसके होठों के अहसास से मेरे बदन में बिजलियाँ सी दौड़ने लगी, मानो मैं किसी जन्नत में पहुंच चुका था।यह अहसास बहुत ही खास और सबसे अलग था.

अगले दो दिन तक टीना मेरे रूम पर नहीं आई मगर मेरा उसको चोदने का मन बन रहा था तो मैंने उसे फोन पर बहुत ज़ोर दिया. उनको हंसती देखकर मेरी हिम्मत एकदम से बढ़ गई और मैंने उसी पल आगे बढ़ कर उनके होंठों पर किस करना शुरू कर दिया.

सौम्या पहले तो ना नुकुर करती रही लेकिन बाद में वो भी मेरे होंठों का रस चूसने लगी. तब मैंने कहा- रंडी साली मादरचोद … तू पहले नीचे तो बैठ!उसके नीचे बैठते ही मैंने उसके बाल पकड़ लिए और जोर से खींचे और कहा- जल्दी से ले इसे अपने मुंह में … इसे चूस और मुझे आराम दे जल्दी!मेरे गुस्सा करने के बाद वह मेरे लोड़े को चूसने लगी. शिल्पा बोली- ना जी ना … तुम तो मेरी पूरी ही जान निकालने में लगे हुए हो … अब नहीं.

हॉलीवुड सेक्सी डांस

मैंने पूछा- फिर कैसे हिम्मत हुई?वो- जब तुमने मुझे बिना कपड़ों के देखा, तो मेरे मन में भी यही बात चल रही थी कि तुमको सब बताऊं या नहीं.

मैंने उसके गालों को चूमते हुए कहा- साली साहिबा, जितना दर्द होना था, हो गया … अब बस जिंदगी भर मजे ही मजे आएंगे. मैं उसको देखकर अचानक से डर गई कि इतनी जल्दी पति का फोन कैसे आया है?और जब मैंने फोन रिसीव किया तो मेरे पति ने कहा- मैं अभी उदयपुर के लिए बस पकड़ चुका हूं क्योंकि आज शाम को उदयपुर में एक मीटिंग रखी हुई है. फिर हम दोनों ने प्लान बनाया कि दो दिन बाद रात के 1:00 बजे के बाद उसी के घर में कमरे में मिलेंगे.

मैं बोली- मैं भी मम्मी के रूम में जाऊंगी और बोलूंगी कि मुझे यहीं तुम दोनों के साथ ही सोना है. मैंने उसे नीचे लिटाकर उसकी ब्रा पैंटी निकाल दी और नीचे को होकर उसकी चूत देखी. xxx.com वीडियोदरवाजा खुला तो सामने मेरी खूबसूरत मम्मा यानि मेरी अभी की जान सौम्या खड़ी थीं.

उन्होंने कहा- ऐसे मत तड़पाओ … सीधा डाल दो न!मैंने कहा- मुझे मेरी तरह से मजे लेने दो. उसके बाद चुदाई का सिलसिला कैसे चला?दोस्तो, मेरी पहली स्टेप मॉम Xxx स्टोरी का यह अगला भाग है.

मुझे ये तो पता ही था सौम्या मुझे पसंद तो कर लेगी, मगर तब भी मुझे जल्दी से जल्दी उसके नोटिस में आना था. साथ ही मैं उसके कड़क निपल्स को भी सहला रहा था तो रेखा मुँह से कामुक सिसकारियां लेने लगी. टीना और नव्या भाभी दोनों की चूत पूरी गुलाबी थीं लेकिन टीना की कुंवारी चूत मैंने चोदी थी तो उसकी चूत एकदम गुलाब के फूल की पंखुड़ियों जैसी मुलायम थी.

फिर याद आया कि आज तो भैया जाने वाले हैं तो मैं भाग कर नीचे आया तो मालूम हुआ कि भैया जा चुके थे. भाभी- क्या जरूरत ऐसी नौकरी की, वैसे ही तो एक महीने में एक बार कर पाते हैं. कुछ देर बाद वो एकदम से आह आह करने लगी और उसके मुँह से आंह राज और जोर से करो … मुझे मजा आ रहा है.

उस वक़्त उन्होंने मुझसे कहा- बेटा, तू बुरा न माने तो बात बोलूं?मैं बोला- हां बोलो न अंकल जी?वे बोले- तू बिल्कुल भावेश की मां जैसा है.

सौम्या डार्लिंग ने बोला- अंकित स्कूल चला गया है और मुझे भी 9:30 बजे तक निकलना है. मैं उनके पैरों के बीच में आ गया और उनकी नाभि को अपनी जीभ से चाटते हुए नीचे आने लगा.

तब उसने दूसरा धमाका करते हुए बताया- वह लैटर उसने मेरे लिए नहीं बल्कि तुम्हारे लिए भेजा है. थोड़ी देर मनाने के बाद उसने मेरी तरफ मुँह करके हल्की सी मुस्कान दे दी. उसकी गांड का फूला हुआ छेद और फूली हुई लाल चूत देखकर मेरा लंड फड़फड़ाने लगा.

वो बोले- बेटा थोड़ा तकलीफ दूंगा, पर मेरा पैर बहुत दर्द कर रहा है, जरा बाम लगा दो. मैंने कहा- सोनाली, तुम पहले ही आगे क्यों नहीं बैठी?उसने कहा- मेरे सास ससुर थे इसलिए मैं पीछे बैठी थी. नई भाभी की चुदाई बार बार की मैंने उसी के घर में! भाभी को लगा कि मेरा दोस्त उसे बच्चा नहीं दे पायेगा तो उसने मुझसे गर्भधारण में मदद मांगी.

सेक्सी बीएफ एचडी ब्लू पिक्चर शिल्पा ने भी अपने दोनों हाथों को मेरी गर्दन में डाल कर मुझे पकड़ लिया था. फिर एक दिन मेरी मां ने मुझे बताया कि तुम्हारे ताऊ की तबियत अचानक खराब हो गयी है तो मैं और तुम्हारे पापा उनको देखने जा रहे हैं.

स्कूल गर्ल सेक्सी डॉट कॉम

मैंने अपने होंठों को रेखा के होंठों पर रख दिए और जोर से धक्का मारकर आधे से अधिक लंड रेखा की चूत में पेवस्त कर दिया. वो पल … जब उसके नाज़ुक से हाथ मेरे होंठों से टकराए, ऐसे गोरे हाथ और मासूम से हाथ मेरे होंठों को … आह तो बस यही अहसास आया कि ये पल यहीं रुक जाए. सर पढ़ाने के साथ साथ मेरे जांघ भी सहलाने लगे, फिर मेरे पीछे हाथ ले जाकर पीठ सहलाने लगे.

हर्षद मैं भी एक औरत हूँ, आखिर कितने दिन ऐसा करती? भगवान ने मेरी सुन ली और तुम मुझे मिले. उसकी चूत के छोटे छेद में लंड सैट करते करते मैंने धीरे से एक धक्का दे मारा. ಬಿಎಫ್ ಪಿಚ್ಚರ್पर हम दोनों ही कल की चुदाई से थके हुए थे … तो मैंने कुछ करना सही नहीं समझा और बस किस करता रहा.

तभी उसमें से एक लड़का बोला- क्यों हल्ला मचा रहे हैं भैया, आप भी कर लीजिए न!कुछ देर बाद वह भी मान गया और बोला- इसको किसी ने अभी चोदा है?सबने न बोला.

अब मेरे सामने लैपटॉप पर चुदती हुयी एक लड़की इतनी पास से दिख रही थी जैसे उसकी चूत मेरे बगल में हो. कुछ पल बाद उसने मुझे पानी पिलाया और बाथरूम में खुद को साफ करके आ गया.

ऑनलाइन कैम सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक लड़की ने अपनी मर्जी से मेरा लंड चूसा. वो अपने इलाज के लिए एक डॉक्टर के पास गयी तो वहां क्या हुआ?यह कहानी मेरी मम्मी की है. मैंने अपनी बीच वाली दो उंगलियां चुत में डाल दीं ओर आगे-पीछे करने लगा.

मैंने उसके लंड पर अंडरवियर के ऊपर से हाथ रखा, तो उसने मुस्करा कर हाथ हटा दिया.

हालांकि दूसरे कमरों में घर के अन्य लोगों की मौजूदगी होती थी इसलिए हमेशा किसी के आने का डर तो बना ही रहता था. मैं आपको एक बात बताती हूँ कि मेरा बॉयफ्रेंड है … पर आप किसी को मत बताना. वर्जिन स्कूल गर्ल X कहानी में पढ़ें कि एक दिन मैंने स्कूल की लाइब्रेरी में अपने क्लासमेट को मुठ मारते देखा.

सेक्स ब्लू मूवीइतना कहने के बाद उसने फिर से मोमबत्ती जलाई और वापिस रोटी बनाने में ध्यान देने लगी. फिर मैंने अपने एक हाथ की उंगलियों से उसकी चुत की फांकों को फैलाया और अपने लंड का सुपारा चुत के मुँह पर रगड़ने लगा.

हिंदी सेक्सी चुदाई नंगी वीडियो

देखते ही देखते उसका लंड असली आकार में आ गया, काफी लम्बा और मोटा था. आआ आआह … जब मखमली होंठों में लंड को लेकर भाभी ने चूसना शुरू किया तो उस मजे का कहना ही क्या … सच में भाभी ने मस्त लंड चुसाई की. मैं एक काम करती हूँ … कल मेरे घर के सब लोग पड़ोस में मौसी के घर जा रहे हैं, तो मैं कल अपने घर पर ही ठहर जाऊंगी.

उन्होंने कहा- साले दो चुतों से तेरा मन नहीं भरा क्या?मैंने कहा- मैं जहां से निकला हूँ, उसमें लंड घुसेड़ना चाहता हूं. मैंने सोचा कि अब देर करना ठीक नहीं है, वर्ना चाची का पता नहीं क्या हाल होगा. मैं समझ गया कि चाची ने मुझे नींद में अंकल समझ लिया होगा और लंड को हाथ लगाने के बाद ध्यान में आया होगा कि मैं कोई और हूँ, तो लंड छोड़ कर बाहर आ गई होंगी.

मैंने भी मौके की नज़ाकत को याद किया और उससे कहा- जान अब तुम मेरे लंड को चूसो. हैलो फ्रेंड्स, मैं युवराज एक बार फिर से आपको अपनी परिचित रीटा के साथ अपनी सेक्स कहानी को लेकर हाजिर हूँ. गर्म पेशाब की धार सरिता सह नहीं सकी तो चिल्ला पड़ी- ऊंई मां ऊं अहाहा हं हं ऊंई!उसकी कामवासना भड़क चुकी थी, उसने आंखें बंद कर लीं.

बर्थडे के दो दिन पहले प्राची ने मुझसे कुछ शॉपिंग कराई, जिसमें कुछ सामान उसने नई चूत के लिए खरीदा था. उसका लंड औसत लंबा था मगर उसके लंड की मोटाई ग़जब की थी जिसने मेरी चुत में एक जबरदस्त खिंचाव पैदा कर दिया था.

उन्होंने कहा- मुझे खुद बड़ी चुदास लग रही हैं … चल जल्दी ही कुछ सोचती हूँ.

जो लोग नए नए जुड़े हैं, वो मेरी पहली वाली कहानी पढ़ लें, उन्हें मैं समझ आ जाऊंगी. ব্লু ফিল্ম দেখব ব্লু ফিল্মदोस्त को मैंने पहले से ही सब समझा रखा था तो वो हमें चाभी देकर बाहर चला गया था. ब्लू फिल्म इंग्लिश सेक्सऔर उस दिन शायद मैं उसे अपनी चूत भी दिखा देती लेकिन मेरे जेठ की बीवी यानि अंकेश की मम्मी कंचन आ गई और मुझे खुद को रोकना पड़ा. कुछ देर की इस लन्ड चुसाई के बाद मैंने मेरा सारा माल उन दोनों के मुंह पर छोड़ दिया, दोनों एक दूसरी के चेहरे पर लगा मेरा वीर्य चाटने लगी.

उत्तेजना में अपना आधा लंड सरिता के मुँह में डाल दिया तो सरिता कसमसाने लगी.

मैंने फिर से चाची को बेड पर पटक लिया और उनके 34 बी के चूचे दबाते हुए उनकी चूत पर हाथ फेरने लगा. हैलो फ्रेंड्स, मैं गौरव आपको देसी आंटी सेक्स कहानी में अपनी पड़ोसन पम्मी आंटी की चुदाई की कहानी सुना रहा था. गीली चूत और गीला लंड होने के कारण, दोनों की घर्षण की कामुक पचा पच फच पचा पच की आवाजें निकलने लगी थीं.

वहां मामा की बेटी, मेरी साली अंगिका कुछ ज्यादा ही मेरा ख्याल रख रही थी।मुग्धा का एक बेटा भी है जो उस वक़्त स्कूल में पढ़ रहा था।शाम का वक़्त था और ठंड के मौसम के कारण अंधेरा जल्दी हो जाता था।घर पे सिर्फ मैं और मुग्धा थे, अंगिका अपने दोस्त के घर गई थी और मामा जी आये नहीं थे।मुग्धा मामी छत पर से कपड़े उतारने गयी थी कि तभी मैंने सीढ़ियों की लाइट बन्द कर दी।मैं ‘मामी जी … मामी जी …. मैंने उनके ऊपर लेट कर अपना लंड दोबारा से आंटी की चूत में डाल दिया और उन्हें हल्के हल्के से चोदते हुए मजा लेने लगा. जैसे ही दरवाजे से अन्दर गया तो मुझे डाक्टर रेखा ने अपनी बांहों में कस लिया.

देसी देहाती सेक्सी वीडियो हिंदी

उसकी जीभ मेरी चुत पर चल रही थी और कभी चुत के अन्दर चली जा रही थी तो कभी चुत के दाने को चाटने काटने लगती थी. फिर मैंने उसे कहा- अब तुम नीचे बैठ जाओ और मेरा लौड़ा चूसना चालू करो!तो वह कहने लगी- नहीं नहीं, मैं यह सब नहीं करूंगी. अभी 5-6 धक्के ही मारे होंगे कि वो रोती हुई आवाज में बोली- प्लीज़ अपना लंड बाहर निकाल लो.

उसके बाद जब वह तड़पने लगी और बोली- प्लीज अब डाल भी दो न इसको मेरी चूत में … ठंडा कर दो मेरी चूत को … बहुत आग लगी हुई है.

अपनी चुत पर मेरी जीभ का स्पर्श पाते ही शिखा उचक पड़ी और उसके मुँह से एक गहरी सांस के साथ ‘आह्ह्ह …’ निकल गई.

भाभी के मुँह से एक दबी दबी सी सिसकारी निकली- आह मर गई!मैंने लंड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया और एक जोरदार धक्का फिर से लगा दिया. इसीलिए सौम्या ने उन दोनों से बोला कि उसका पेट ज्यादा खराब है, तुम दोनों नीचे चली जाओ, मैं आ जाऊंगी. ब्लू सेक्सी देहाती हिंदीकिस करने के बाद वापिस गर्दन चूमते हुए क्लीवेज पर आकर चूमने लगे और जीभ फेरने लगे, मेरी टी-शर्ट खींचने लगे.

वो मुझे जब भी आता जाता देखता, तो उसके साथ वाले लोग हमेशा गंदे कमेंट्स पास करते थे. मैंने भी उसकी टांग को पकड़ कर नीचे की तरफ खींचा और उंगलियों को अन्दर बाहर करने लगा. मैंने तो जोर जोर से झटके मारना चालू कर दिए और अपनी बहन की गांड पर चमाट मारना शुरू कर दिया.

अब मैं अपनी प्यारी पत्नी का एक निप्पल चूसते हुए उसकी चुदाई कर रहा था. मतलब चाचा जी इतने दुबले पतले दिख रहे थे जैसे कि पंखा चलने पर ही उड़ जाएं और कद में भी चाची के जितने ही थे.

भाभी के जाने के बाद मेरा मूड फिर से बना मगर टीना अपने कपड़े पहन कर मेरे कमरे से चली गयी.

शायद इसलिए भी मुझे उनमें दोस्त नहीं दिखा क्योंकि मुझे लोगों की परख है. उनकी बड़ी बड़ी चुचियां मेरे सामने ब्रा में कैद थीं और बड़ी ही मोहक लग रही थीं. मेरी बहन मुझे देख कर चौंक गई और अपने आप को ढकने लगी और कहने लगी- तुम यहां पर कैसे?तो मैंने कहा- बहना, आप यह सब क्या कर रही थी?वो घबरा कर इधर उधर देखने लगी, कुछ बोली नहीं.

ब्लू पिक्चर दिखाओ ब्लू ब्लू मैंने भी अब उनके दोनों पैरों के बीच थोड़ी दूरी बनाई और सीधे जांघों पर अपने होंठों से चुम्बन करने लगा. [emailprotected]यंग गर्ल सेक्स कहानी का अगला भाग:कामवाली जवान लड़की की चुत गांड चुदाई- 2.

तो मैंने सौम्या डार्लिंग को बताया कि मैं उसी का बेटा हूं … अब अगर वो मेरे पापा से शादी नहीं करेगी, तो मैं पैदा कैसे होऊंगा. मैं पी नहीं रहा था, उसने मेरे दोनों पकड़ कर मेरे लंड को उमेठ दिया तो मैं माल गटक गया. मैं चूचियों को दबाने लगा, तो चाची बोलीं- क्यों गर्म कर रहा है, फिर तू मुझे संभाल नहीं पाएगा.

खुराना की सेक्सी पिक्चर

दीदी मुझे जगा देख बोली- उठ गए? और सो जाओ आराम से … अब कुछ काम नहीं है. खाना सच में लाजवाब बना था, मैंने फ़ौरन फ़ोन निकाला और खाली बर्तन की फोटो ली और लिखा कि खाना सच में बहुत स्वादिष्ट था. मेरा दर्द धीरे धीरे कम होने लगा तो मैंने उसे अपनी टांगों को फैलाकर इशारा दे दिया कि वो उसे छू सकता है.

जैसे ही मैंने उसको उठाया, मेरा लंड पूरा अन्दर तक शिल्पा की चूत में चला गया जिससे शिल्पा को एकदम से तेज दर्द हुआ. मैं टैक्सी के बाहर निकला तो देखा कि पास की एक छोटी सी गली में एक बुरका पहनी औरत घर में घुस रही थी.

पर मैं अभी उसे और तड़पाना चाहता था तो उसकी चूत पर अभी बस एक किस किया था.

जिस लड़के ने अपनी गोद में दीदी को बैठाया हुआ था, वो दीदी की बुर में उंगली किए जा रहा था. मैं चिल्लाने लगा- उईई अम्मी मर गया … आह अम्मी बचा ले … मर गया … आह मेरी फट गई आह!उसने एक हाथ से मेरा मुँह भींच लिया. वो बाहर गई तो मैंने भी थोड़ा कंट्रोल किया और कपड़े पहन कर नाश्ते के लिए आ गया.

फिर कमरे में आकर अंदर से दरवाजा बंद किया, बत्ती बुझाई और पंखा चला दिया।मैं उसकी तरफ बढ़ा और उसके होंठों को चूसने लगा. उन्होंने कहा- अब तू बड़ा हो गया है और तेरा वो भी!ये कह कर दीदी हंसती हुई बाहर चली गईं. अब आंटी भी अपना काबू पूरी तरह से खो चुकी थीं और मेरे सर को पकड़ कर अपनी चूत पर दबाने लगी थीं.

मैंने सोचा कि थोड़ा टाइम पास कर लेता हूँ, तब तक भैया भाभी का गेट भी बंद हो जाएगा और थोड़ी रात भी हो जाएगी.

सेक्सी बीएफ एचडी ब्लू पिक्चर: मैंने सौम्या डार्लिंग से पूछा- मैं अपनी मलाई कहां गिराऊं?तो उसने बोला- तुम्हें पता है मेरे राजा. थोड़ी ही देर में मेरा लंड डंडे जैसे हो गया तो विलास ने बोला- यार, एक बार मैं फिर तेरा मोटा लंड अपनी गांड में लेना चाहता हूँ.

इतने में सरिता अपने दोनों हाथों से मेरी गांड को दबाकर मुझे रोकने लगी और लंड को अन्दर खींचने लगी. मगर मैं कहां मानने वाला था … मैंने मॉम के दोनों हाथ अपने हाथों में ले लिए. अब मैंने चाची के होंठों को चूसना शुरू किया और धीरे धीरे उसकी चूत में लंड के धक्के लगाने लगा.

बल्कि वो सोफे पर पूरी तरह लेट गईं और उन्होंने दोबारा से अपनी आंखें बंद कर लीं.

उधर वीडियो में जैसे लड़के ने अपना लंड लड़की की चूत में घुसाया, उसने भी मेरी चूत ने घुसा दिया. मेरी चीख निकल गई तो पापा ने मेरे मुँह को अपने हाथ से बंद कर दिया और धीरे धीरे मुझे चोदने लगे. कुछ देर बाद उसने मेरे ब्रा की स्ट्रिप पीछे हाथ डालकर खोल दी और नीचे से मेरे पेटीकोट के नाड़े को भी खोल दिया.