प्रीति जिंटा के बीएफ

छवि स्रोत,फॉरएवर 21

तस्वीर का शीर्षक ,

नहाती लड़की का वीडियो: प्रीति जिंटा के बीएफ, रात में हम दोनों रोज की तरह ही साथ में सो रहे थे और फ़ोन में फिल्म देख रहे थे.

भाभी जी की सेक्सी पिक्चर

यशिमा के साथ मेरे किस तरह के सम्बन्ध आगे बढ़े … उसी की कहानी का मजा लीजिएगा. सासु मां की सेक्सी” सानिया ने हंसते हुए मेरा धन्यवाद किया।यह ‘थैंक यू’ तो ठीक था पर उसका मुझे अंकल संबोधन बिलकुल अच्छा नहीं लगा। मैंने ध्यान दिया इस आपाधापी में उसके होंठों पर लगी लिपस्टिक भी थोड़ी फ़ैल सी गयी है और गालों पर भी जो रंग रोगन किया हुआ है वह भी फ़ैल सा गया है।मेरे लिए तो यह सुनहरी मौक़ा था।मैंने सानिया को अपने पास आने का इशारा करते हुए कहा- अरे सानिया, यह तुम्हारी लिपस्टिक तो लगता है खराब हो गई है.

इससे उनके शरीर में जैसे करंट दौड़ गया, उन्होंने एकदम से ‘आई … आह … करके मादक सीत्कार भरी. महिला के जननांगफिर मैंने सोचा कि जब प्रतीक का मूड एकदम खुशनुमा होगा, तब उनको बताऊंगी.

कुछ देर बाद मैंने अपना लंड गांड से बाहर निकालकर गांड में थूक दिया और फिर से लंड को गांड में डाला, तो मेरा आधा लंड आराम से अन्दर चला गया.प्रीति जिंटा के बीएफ: वो झट से राजी हो गया … क्योंकि जब वो अजमेर आता है, तो मैं भी उसे किसी लौंडिया को चोदने के लिए उसको अपना रूम दे देता हूं.

मैं गया और साधना भाभी ने मुझे अपने पास बिठाकर कहा- तेरी भाभी ने सब कुछ बता दिया न?मैंने हां कहते हुए कहा- सब कुछ बताया, पर पहले मुझे यह बताओ कि आप अपने पति से क्यों नहीं … और मुझसे ही ये सब क्यों चाहिए.संजू लंड के ऊपर ही उठक बैठक करने लगी और आंख मूंदे अपने होंठों पर दांत फेरते हुए कसमसाने लगी.

औरत की सूची - प्रीति जिंटा के बीएफ

मुझे देख कर वो मुस्कराई और कहने लगी- इतनी देर से पीछा कर रहे हो, क्या बात है?इससे पहले कि मैं उसको कुछ जवाब देता हमारे पास वेटर आकर खड़ा हो गया.मैं- उसे तो बुलाओ, वो अपनी गलती है ऐसा सोच कर वहीं का वहीं हॉल में खड़ा है.

इस बच्चे की चाहत के चलते हम दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार भी करने लगे थे. प्रीति जिंटा के बीएफ ये कहानी तब की है, जब मेरी मासी हमारे घर कुछ एक सप्ताह के लिए रहने आई थीं.

” (नहीं दीदी, मेरी तबियत कुछ ठीक नहीं लग रही है)चल उठ जा, मैं राधा को निम्बू पानी लाने को बोलती हूं.

प्रीति जिंटा के बीएफ?

मेम मेरे साथ पहले भी कई बार बाइक पर बस स्टॉप तक जाती थीं, तो इस बात से ऑफिस के बाकी के लोगों के मन में कोई अन्य विचार नहीं आते थे. माँ- आ जा तू भी इसके लंड से चुद ले … साले का बड़ा मस्त लंड है … तेरी पसंद मुझे भी पसंद आ गई. संजू रोहित के लंड को पागलों की तरह चूस रही थी, शायद उसने किसी भी कीमत पर उसे खड़ा करने की ठान ली थी.

मैं धीरे धीरे उनकी चुत पर हाथ फेरने लगा और वो बिन पानी के मछली की तरफ तड़फने लगी और जोर जोर से सिसकारियां लेने लगीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… ह्म्म्म … अमन्न आह अआआह आह. मुझे जब होश आया तो मैंने उसकी गांड से लंड को बाहर खींचा और देखा तो मेरे लंड पर खून लगा हुआ था. आप लोगों को पता होगा कि महिलाएं आम तौर पर जब पौंछा लगाती हैं, तो अपना पीछे के हिस्से का सूट उठा लेती हैं.

फिर कुछ पल हॉट भाभी मादक अंगड़ाई लेते हुए उठ बैठीं और मेरा सर अपनी चूत में जबरदस्ती डालने लगीं. कुछ देर के बाद डॉक्टर के मुंह कामुक सिसकारियां निकलने लगीं- ओह्ह …यस … फक मी … (चोदो मुझे)मैं तेजी से डॉक्टर की गांड की चुदाई करने लगा. सच यार उनकी आंखें इतनी लाल हो रखी थीं और एक अलग सी वासना दिख रही थी उनकी आंखों में.

नायरा और सीमा तो संयुक्त परिवार में हैं अतः उनके घर तो धमाचौकड़ी ज्यादा नहीं होती पर पिंकी के घर तो बेशर्मी की हर हद पार हो जाती है. अब हम आठों ने तय किया कि इस पैसे का उपयोग हम स्कूल के सभी छात्रों के साथ पिकनिक करने में करेंगे.

आपके पड़ोसी कोई कुछ बोलेगा तो नहीं?उसने कहा- तुम 8 बजे तक इधर उधर टाइम पास कर लेना … फिर 8 बजे तक सभी लोग अपने घर में चले जाते हैं.

मैं अपने ही शरीर को सहलाने लगी और आंखें कब बंद हो गईं … उंगलियां कब चूत में घुस गईं, कुछ पता ही नहीं चला.

एक दूसरे के साथ तो काफी दिनों से थे ही, अब एक दूसरे के अन्दर भी हम दोनों घुस चुके थे. फिर उसने दीदी से पूछा- क्या हुआ चादर क्यों लपेटी हो?दीदी कुछ नहीं बोली, पर श्वेता दीदी सब समझ गई और वो मुस्कुराने लगी. पर मैं नहीं माना, मैं उन्हें किस करते हुए बोला- जान और थोड़ा सा सहन कर लो.

तुम्हारी आंखों को देख कर लगता है कि जैसे वो हमें अपनी तरफ बुला रही हैं. मेरे साथ एक लड़का भी रहता है, जो मेरे से उम्र में बड़ा है लेकिन हम दोनों साथ में ही नए एप्लिकेंट का इंटरव्यू लेते हैं. मैंने आहिस्ते से हाथ अपने मम्मों पर फेरा और रंडियों की तरह मुस्कुराते हुए शर्ट के बटनों को खोलने लगी.

जब मैंने आँखें खोली तो देखा कि वो धीरे से दुबारा टीवी की ओर घूम रही हैं, उनका हाथ अभी तक मेरे लंड पे था। पर वो उसे पकड़ नहीं रही थी और मेरा हाथ उन्हें वहां से हटने भी नहीं दे रहा था।उन्होंने हार मान कर हाथ हटाने की कोशिश बंद कर दी।अब तक तो मेरा ‘हो’ जाना चाहिए था.

थोड़ी देर शांत रहने के बाद भाभी कहने लगीं- तुझे उनको यह सुख देना चाहिए़. उन्होंने मेरे मदमस्त नयनों की वजह से मेरा नाम मृगनयनी रख दिया, जो वो मुझे मेरे ना रहने पर कहते थे. थोड़ी देर इंतजार करने के बाद मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसे कॉल कर दिया.

”अच्छा जी … मेरे लड्डू को इतने दिनों बाद इन होंठों की याद आई? मुझे तो लगा वह तो मेरे होंठों को भूल ही गया है. शायद जेठजी के लंड को फिर से मेरी चूत की गुफा में सैर करने के एक और मौके का आहट मिल गई थी. मैं राज को सुनाने के लिए जोर से बोला- उषा कपड़ों को धो दो, राज 2 घंटे में आएगा.

फिर पैंट की चेन खोलकर उसने अपना लंड बाहर निकाला और मेरे हाथ में दे दिया.

वो मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगी और एक हाथ में मेरा लंड लेकर मसलने लगी. विक्की- नहीं … कोई नहीं देखेगा, तुम मेरे लिए इतना नहीं कर सकती हो?मैं- अच्छा ठीक है … मैं तुम्हें रेडी होकर कॉल करती हूं.

प्रीति जिंटा के बीएफ दोस्तो, कैसी रही मेरी चुदाई की कल्पना … अच्छी है न … इसी प्लानिंग और इरादे के साथ मैं अप्रैल के महीने में अपने नाना के भाई के छोटे बेटे यानि की दूर के मामा के घर कानपुर शादी में जा रहा हूं. इसके बाद भैया ने हम दोनों के ऊपर अपने मूत की बारिश कर दी और हम दोनों को अपने गर्म गर्म मूत से नहला दिया.

प्रीति जिंटा के बीएफ उसने उनको देखते ही अपने हाथों में लेकर ऐसे दबाया जैसे उनका सारा रस एक ही पल में निचोड़ कर रख देगा. मेरे माथे पर पसीने की बूंदें थीं … आंखों में काजल था, जिससे मेरी आंखें तीखी और नशीली लग रही थीं.

यह आइडिया शबनम का था जिसने अपने साथ चारों के लिए वाइब्रेटर, सिगरेट और बियर रखनी थीं.

हिंदी सेक्सी बीएफ भोजपुरी वीडियो

उनके मुँह से ये सुनकर मेरा भेजा समझ गया कि आज मेम मस्ती के मूड में हैं. गांड चुदवाने में उसे काफी मजा भी आया और मोटे लंड वाले मर्द से चुदाई का एक नया अनुभव भी मिल गया. आपने अब तक की मेरी इस सेक्स कहानी में पढ़ा कि दीदी को उनकी सहेली श्वेता ने कहा कि साकेत भैया उनसे अकेले में मिलना चाह रहे थे.

मेरे रूम मेट ने भी कह दिया- राज एक बार चूस ले इसका!मैंने विकास का लंड चूसना शुरू कर दिया. उसकी चूत से पानी निकलने के कारण उस आंटी की चूत बिल्कुल गर्म और चिकनी लग रही थी. तभी वो झड़ गई और उसका पानी उसकी जांघों से होता हुआ फर्श पर गिरने लगा।मगर मैंने उसे अभी छोड़ा नहीं था क्योंकि मुझे अभी उसकी गांड मारनी थी।मैंने उसे गोद में उठा लिया और बिस्तर में ले जा कर पेट के बल लेटा दिया और झट से तेल की बोतल ले आया और उसके गांड के छेद में तेल लगा दिया।वो समझ गई थी कि मैं क्या करने वाला हूँ.

वैसे तो मैं पटना में सोशल मीडिया एक्सपर्ट के रूप में एक कंपनी में कार्यरत हूँ.

वो बोला- नहीं, मुझे कोई शिकायत नहीं होगी लेकिन जैसा मैं कहूंगा तुम्हें बिल्कुल वैसा ही करना होगा. मैंने भी ये सोच कर गोली खा ली कि किसी तरह तो इस चिंता से छुटकारा मिले. मेरा पानी छूटने के बाद मैं तो इतना मजा नहीं ले पा रहा था लेकिन उसकी चूत में उंगली जा रही थी तो उसको बहुत मजा मिल रहा था.

महिलाओं को नया लंड का स्वाद मिल जाता है, तो मुझे कुछ पैसे मिल जाते हैं. उन्होंने लंड का पूरा पानी गटक लिया और बहुत अच्छे से लंड चाट कर साफ कर दिया. मैं नए शहर में आ गयी थी, ये शहर मेरे लिए नया था, तो पापा ने मुझसे मामा-मामी के यहां रुकने को कहा.

मैंने वासना से मारी जा रही थी, चाहर रही थी कि ये दोनों मुझे चोद चोद कर अधमरी कर दें. मैंने उसके चूत में ढेर सारा थूक लगाया और सीधा हो कर उसकी चूचियों को चूसने लगा.

फिर मैं उठा और अपना लंड देखकर उनको दिखाते हुए बोला कि इसका क्या होगा?वो आंखों में रंडियों जैसी चमक लाते हुए बोलीं- ला इसे … मैं अभी इसे ढीला करती हूँ … पूरा सबक सिखा दूंगी. इस वक्त साधना भाभी नीचे को हुईं और एक धक्का देते हुए मेरे खड़े लंड को पूरा अन्दर ले लिया. जब भी अंकित का शरीर उसके शरीर से छू जाता, वो महसूस करती जैसे इसी वक़्त वो उसको जोर से पकड़ ले.

जॉली के लंड आगे की चमड़ी नहीं थी … जिस कारण उसका मोटा टोपा रिया के होंठों के चंद इंच दूरी पर था.

कुछ देर आराम करने के बाद हमने अपने कपड़े ठीक किए और चलने के लिए जैसे ही तैयार हुए, तो मैंने देखा कि सबा ठीक से चल भी नहीं पा रही है. वरना आज मैं आसानी से आपके लंड से अपनी गांड चुदाई का मजा ले रही होती. दिन भर की थकान थी, दीपा ने डिनर का आर्डर कर दिया था, जिसकी डिलीवरी रात को होनी थी.

आपको कहानी के बारे में कुछ कहना है तो नीचे दी गई मेल आईडी पर मेल करें. मैंने भी अपने बैग से सुहास की पसंद का रेड ब्रा पैंटी का सैट निकाला.

मैंने देखा कि वो ब्रा और पेंटी पहन कर आई थी … पर मैं अभी भी नंगा खड़ा था. कुछ देर बाद उसने खुद काल करके कहा कि मर मत … मैं आ रही हूं!मैं खुश हो गया. सोनिया- आह्ह्ह आह्हह आह्ह्ह … जानू, अपने लंड को और तेज तेज आगे पीछे करके उसकी आवाज सुनाओ ना मुझे.

railways सेक्सी बीएफ

मैं जीजा की बात सुन कर उनके सेठ दोस्तों के साथ चूत चुदवाने के लिए तैयार हो गई.

मैं डर कर बोली- सर, आपने मुझे क्या काम से बुलाया था?वैसे मुझे भी पता तो लग चुका था कि टीचर भी मुझे चोदेंगे. वो जोर जोर से करहाने लगी- आंआह … कम ऑन … ऊंह … करते रहो … मैं झड़ रही हूँ. अब मुझे पानी के निकलने का डर नहीं था और मैं पूरी ताकत के साथ उसकी चूत की चुदाई करने लगा था.

मैं- तो अब क्या करूं?कुमार- तुम क्या करना चाहती हो … उसके साथ रहो या मेरे साथ?मैं बोली- अच्छा … तुम मुझे थोड़ा टाइम दो … मैं उसे सब बता दूंगी. कुछ देर ऐसे लेटे रहने के बाद चाची नंगी ही उठ कर रसोई में गईं और मेरे लिए बादाम वाला दूध लेकर आईं. जापान की सेक्सी फिल्मेंहम रूम से बाहर निकल ही रहे थे कि अमन ने मुझे पकड़ कर फिर से रूम में ले गया और मेरी टीशर्ट उतार दी और फिर जीन्स भी उतार दी.

अब नाम तो लिखवा लिया, पर हमारी फट रही थी क्योंकि स्कूल को रिप्रेजेंट करना था. बॉस बहुत जिद करने लगे, तो मैंने अपने और विनय के लिए भी गिलास ला दिया.

सभी ने ये भी तय किया कि कपड़े छोटे से छोटे रखने हैं और अपने अपने शौक के हिसाब से सामान रख लेना है. आज रात का खाना मैं उनके साथ ही खाऊंगी … प्लीज!मेरे काफी मनाने के बाद माँ मान गईं. कुछ देर यूं ही मम्मे मसलने और उसे किस करने के बाद वो मेरी तरफ घूम गई.

वो ‘आह … उह … ओह … आह …’ करके आवाज निकालती रहीं और मैं भी ‘आह … आह …’ करके उनको पेलता रहा. जब भी अंकित का शरीर उसके शरीर से छू जाता, वो महसूस करती जैसे इसी वक़्त वो उसको जोर से पकड़ ले. फिर महेश ने ज्योति के चूतड़ों को पकड़ कर चौड़ा किया और अपनी बेटी की गांड के छेद के चारों ओर जीभ फेरने लगा.

उसने नंगी ही मुझे गोद में उठाया और बिस्तर पर लिटा दिया और खुद मेरे ऊपर आकर मुझे चूमने लगा.

मेरे गुल्ले भी नीचे से उसकी जांघों से टकराते हुए आवाजें निकाल रहे थे. उस बीच में मैंने अपने लिए एक पैग बनाया और बिना कुछ मिक्स किए मैंने भी वो पैग नीट ही मार लिया.

कहानी का पहला भाग:बीवी को गैर मर्द से चुदाई के लिए पटा लिया-1और मेरी फेंटसी पूरी हुईऔर फिर शनिवार का वो बहुप्रतीक्षित दिन आ गया. यह बोलकर मैंने रानी को जकड़ के उसके चेहरे पर चुम्मियों की बरसात कर डाली. तभी पिंकी ने मुझे धक्का देकर सोफे पर पीछे कर दिया और बोली- अभी आई!और मुझे एक गहरा चुम्बन देते हुए, मेरे लंड को मसल कर चली गयी.

आज भी हम मिलते हैं तो उसके बोबों को मसलने में अत्यंत ही आनन्द आता है. उसने बालों को पॉलीथिन कवर लगाया और फिर हम दोनों फव्वारे के नीचे चले गए. जैसे ही उनकी चड्डी निकली, उनका काला मोटा लंड मेरी तरफ होकर मुझे सलामी देने लगा.

प्रीति जिंटा के बीएफ मैं बोला- क्यों?वो बोलीं- फिर से बाथरूम में वही कर आया, मैंने मना किया था ना और वो भी मेरा नाम लेकर … तुझे शर्म नहीं आती, मैं तुम्हारी चाची हूं बेटा और तू मेरा ही नाम ले कर ये कर रहा था. पहले हम हॉस्पिटल गए फिर कुछ देर रुकने के बाद हम दोनों एक होटल में खाना खाया।हमारे शहर से 12 किलोमीटर की दूरी पर एक फॉरेस्ट टूरिस्ट स्पॉट है, वहाँ हम गए जैसे हमने खाना खाते वक़्त डिसाइड किया था।अक्सर काफी जोड़ियाँ वहीं जाती है मजे करने.

बीएफ एचडी वीडियो भेजिए

इसलिए मैं उसके सामने कुछ नहीं बोलती थी क्योंकि मुझे पता था कि अगर मैंने उसकी मर्जी के खिलाफ उस किरायेदार लड़के से बात की तो वो घर पर मेरी शिकायत कर देगा. एक हाथ में चाबुक ले लिया … मतलब वही जो जानवर को मारने के लिए इस्तेमाल करते हैं. मैं बोली- क्यों नहीं, अगर आपको अच्छा लगता है तो मुझे कोई प्रोब्लम नहीं!बॉस खुश हो गए और मेरे होंठों पे एक चुम्मा किया और कहा- तुम कितनी अच्छी हो यार!सब लोगों को बॉस ने वहीं रोका और सबके लिए एक एक गिलास वाइन और बनाई और अब इस बार बॉस सोनम के पास चले गए, अपने हाथ से उसको वाइन पिलाने लगे और उनका दोस्त मेरे पास आ गया और मुझे वाइन पिलाने लगा.

चूंकि उनका लंड बहुत मोटा था इसलिए उनको मेरी सील टूटने के बारे में कुछ नहीं पता चला. शबनम पतली पर लम्बी थी … उसे अपनी लम्बी गोरी काया पर गुमान था और वो खुल कर जिस्म दिखाती पोशाक पहना करती थी. श्रद्धा कपूर सेक्सी फोटोउसके दूध के निप्पल एकदम गुलाबी थे, लग रहा था किसी ने आज तक छुआ तक नहीं!अब बॉस से रहा नहीं जा रहा था, वो तुरंत उठे और सोनम को अपनी गोद में उठाकर अपने रूम की तरफ चल दिए!ऐसा देख उनके दोस्त बोले- क्या हुआ? कहाँ चल दिए?बॉस बोले- ये बेचारी अभी कली है, इसको आराम से रूम में फूल बनाऊंगा!ऐसा सुनकर उनके दोस्त ने भी मुझे गोद में उठा लिया और बॉस से बोले- तुम उसको कली बनाओ और मैं इसकी चूत का भोंसड़ा बनाता हूँ.

उसका घाघरा उठा कर उसकी चूत में फिर से लंड पेल दिया और शॉट मारने लगा.

मैं भी हामी भरते हुए कह दिया कि तो फिर पक्का रहा, मैं यहीं पर उसकी सील भी तोड़ दूंगा और आपकी भी चुदाई करूंगा. मैंने उसे कुतिया बनाने के लिए कहा, तो वो अपने सिर को नीचे तकिये में फंसा कर अपनी गांड उठा कर लेट गई.

यह सब तब शुरू हुआ जब मैंने अपनी कॉलेज की पढ़ाई शुरू करने की प्लानिंग करनी चालू कर दी थी. इतने में ही दूसरा धक्का भी लग गया और लंड बुर को फाडता हुआ पूरा अन्दर तक चला गया. उठ के कुहनियों के बल हो गयी और शिकवे के अंदाज़ में बोली- राजे मैं अब तेरे से नाराज़ हूँ … तूने मेरे साथ भेद भाव किया मादरचोद!मैंने मुस्कुराते हुए पूछा- क्या हुआ मेरी जान? क्या गुस्ताखी हुई इस ग़ुलाम से रानी जी की शान में?साले … सब रानियों को चुदाई के बाद चूत चाट के सफाई करता है … लंड चटवा के साफ़ करवाता है … बहन के लंड मेरी चूत को तौलिये से क्यों साफ किया? न ही हरामज़ादे ने लंड साफ़ करने का मौका दिया.

मैंने उसको मना कर दिया- अभी रात में चुदाई करना ठीक नहीं है क्योंकि पापा अभी देर तक जगे हुए हैं.

कुछ ही देर में उन्होंने अपने दांतों से पकड़ कर मेरी पेंटी भी उतार दी और फिर खुद भी पूरे नंगे हो गए. फिर उन्होंने अपने घर फोन किया और अपनी मेड से अपने बेटे को लेकर बात करके उसे नानी के घर जाने को बोल दिया. तब साकेत भैया ने अपने पैर फैला कर बीच में दीदी को बिठा लिया और दीदी का सर को पकड़ कर अपने लंड के तरफ झुकाया.

गांव की महिला सेक्स वीडियोमैंने अपनी स्पीड को बढ़ा दिया और लंड का पूरा गर्म गर्म पानी उनकी चुत में छोड़ दिया. मेरी बीवी रोहित की ओर मादकता से देखते हुए उसके सारे वीर्य को पी गई.

बहु ससुर के बीएफ

मेरी चूत को अभय जोर से रगड़ने लगा। मेरे बदन में अजीब सी अकड़न आने लगी और मैं अभय से चिपक गई. मेरी बीवी के नंगे चूचों को देख कर अब मेरे डॉक्टर दोस्त को भी यही शरारत सूझी और उसने भी अपनी बीवी की ब्रा को निकलवा दिया. कसम से बड़ा कोरा सा लंड है तेरा … मन करता है कि चूस के इसका रस निकाल दूँ.

कुछ देर में ही उसके लंड से सुनामी की धार निकली और तब जाकर वो शांत हुआ।उसने सीधे उठकर पैंट ठीक की और बाइक के पास जाकर खड़ा हो गया. उसे तो तूने पटा लिया है, लेकिन तुमसे नहीं भी पट पाती और तुम मुझसे उसके लिए कहते, तो मैं खुद उसे पटा कर तुम्हें देती. बड़ी गर्माहट है तेरी चूत में, बंध्या तेरा जीजा कह रहा था कि बहुत देर में खाली होती है.

सुहास भी रेडी हो गया, उसने अपने बैग से एक रेड कलर की फ्रेंची निकाली और पहन ली. तो बॉस उठे और होम थिएटर में मस्त तेज़ संगीत लगा दिया और हम सबको डांस करने के लिए कहा. सामने से मेरा टीशर्ट भी गीला हो गया था क्योंकि पापा के कपड़ों का पानी मेरी टीशर्ट पर भी आ गया था.

पर पीछे से नज़र रखे मेरे देवर ने हमारी बात सुन ली। उसने घर में बता दिया और सुना भी दिया जो हमने बात की. मेरे द्वारा लिखे गये पूर्व प्रकाशित लेख-सेक्स में सनक या पागलपनबीवी की सेवा दिलाएगी मेवालड़कियां सुरक्षित हस्त मैथुन कैसे करेंऔर सेक्स फेंटेसी जैसे बहुत से लेख आप लोगों ने काफी पसंद किये हैं.

उधर मैंने देखा कि राहुल रीमा के मम्मों को जोर से दबा बैठा, जिससे रीमा तड़प उठी.

कॉल कट दो गई और वो दीदी से बोली- वो दरवाजे पर हैं, मैं उन्हें अन्दर लेकर आती हूं. सेक्सी वीडियो मराठी एचडीफिर मेरे हस्बैंड हम सबके लिए कुछ ठंडा लेकर आए और हमने फिर आराम किया. वसा के प्रकारमैंने अपनी फेसबुक की नकली वाली आई-डी पर महिला का ही नाम लगा रखा था. उसे इस बात का जरा भी बुरा नहीं लगा, वो बोली- इस उम्र में सेक्सी?ये बोल कर वो हंसने लगी.

” कहकर महेश ने अपनी बेटी की पेंटी को नीचे करके निकाल दिया और बेड पर बिठाकर अपनी बेटी ज्योति की गीली चूत को चाटने लगा.

शिखा मामी की कमर दबाते हुए मैं कहूंगा कि हॉल में तो कोई भी देख सकता है. फ्रेश होने के बाद हल्के फुल्के कपड़े पहनकर सेंट लगा कर बार बार मामी के पास जाकर मैं उनसे बात करने की कोशिश करूंगा. मैं राज को सुनाने के लिए जोर से बोला- उषा कपड़ों को धो दो, राज 2 घंटे में आएगा.

मैंने विक्की और कुमार से ब्रेकअप कर लिया था … तो अब मेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड नहीं था. फिर मैंने उनकी पटों यानि रानों पर चुम्बन करना शुरू किया और हल्के से काटने लगा. मैंने भाई की निक्कर की जिप को खोल कर उसका लंड बाहर निकाल लिया और उसको मुंह में लेकर मजे से चूसने लगी.

महाराणा बीएफ

असल में उन सभी के मर्दों ने ऐसा कभी उनसे जिक्र भी नहीं किया था, तो बिना बात किये ग्रुप सेक्स का प्रश्न ही नहीं उठता था. मैं कभी उसके होंठों को अपने मुंह में भर कर चूस कर रहा था तो कभी अपनी जीभ को उसके मुंह के अंदर डाल रहा था. वो मुझे अब ज़ोर से पकड़ कर मेरे सीने पर काटने लगीं और ज़ोर से चीख कर झड़ने लगीं.

जो लोग मेरी पिछली कहानी पढ़ चुके हैं, वो मेरे बारे में जानते हैं और जो पहली बार पढ़ रहे हैं, उन्हें मैं बता दूँ कि मेरा नाम प्रतोष सिंह है और मैं एक मध्यम वर्गीय परिवार के साथ कोलकाता में रहता हूं.

मैंने भाभी के मम्मों की घाटी को निहारते हुए पूछा- भैया कहां हैं?उन्होंने बोला- बस वो कुछ सामान लेने गए हैं … आते ही होंगे.

मैं उसके गालों पर, गर्दन पर और उसके चेहरे को चूमते हुए नीचे की तरफ बढ़ने लगा. जब मैंने इस बारे में अपने बॉयफ्रेंड आशीष से बात की तो उसकी मां ने मेरी मां को रंडी बता दिया. भोजपुरी गाना डीजे रीमिक्स 2020अब वो खुल के नीता के हिप्स जांघों और बूब्स की साइड से मसाज कर रहा था और ‘भाभी जी अच्छा तो लग रहा है ना?’ बोल रहा था.

मैं चाय लेकर उनके कमरे में गयी तो पापा अभी तक वैसे ही नंगे होकर सो रहे थे. सिनेमा हॉल में हमकों कोने वाली सीट भी मिल गयी और हम दोनों मूवी देखने लगे. मैंने उसकी आंखों में झांका, तो उसकी शरारत भरी मुस्कान ने मुझे अन्दर तक गर्म कर दिया.

उसकी इस तरह की बातों से मुझे लगा कि हो न हो आज इसके मन में कुछ चल रहा है. मैंने कहा- चाची प्लीज अब ये शर्म को छोड़ कर मजा करो, क्यों अपने आप पर और मुझे पर इतना जुल्म कर रही हो.

अब भाभी ने देर न करते हुए मेरी चड्डी में से लंड महाराज को आजाद कर दिया.

फिर उन्होंने आकर टिश्यू से मेरा चेहरा और बूब्ज़ साफ किये और साथ लेट गए मेरे!थोड़ी देर बाद मैंने अपने कपड़े पहने और उन्होंने मुझे मेरे घर छोड़ दिया. अचानक से भाबी ने मुझसे पूछा- आरव तुम्हारी कोई जीएफ नहीं है?मैंने बोला- भाबी अभी तो इस शहर में मैं खुद नया हूँ … इसलिए अभी तक कोई नहीं बन सकी है. उसे थोड़ा आगे करके मैं पीछे बैठ गया और धीरे धीरे उसकी चूत की सिकाई करने लगा। उसको मजा आ रहा था और उसकी चूत जो किसी संतरे की फांक जैसी थी अब वह फूल कर पाव रोटी की तरह हो गयी थी। हल्की सी सूजन थी जो शायद रात भर चुदाई के खेल से जाती।मैं उठ कर बाहर गया और खाना ऑर्डर कर दिया। अमृता भी उठ कर अपने आप को साफ करने लगी थी.

सेक्सी वीडियो गांव की छोरी ऐसे भी परमीत अपने झगड़ालू स्वभाव के कारण चैलेंज वाली चीजों में पीछे नहीं रहती थी, लेकिन आज की शर्त थी कि हारने वाले को एक बार में ही बीयर की बोतल पूरी पी कर खाली करनी होगी और परमीत ने खाना खाने के बाद भी ये शर्त मान ली थी. मैं रुक गया और थोड़ी देर मैंने उसकी दूध दबाए … उसकी गांड के छेद को सहलाया और उसे चाटा भी.

आपको मेरी सच्ची दास्तान कैसी लगी अपनी प्रतिक्रियाओं से अवगत अवश्य कराइयेगा. सुनीता मुझे देसी भाषा में गालियां दे रही थी- सास का गंडमरा … आह छोड़ दे … माँ चुद गी मेरी … मने घरा भी जानो हैं … गांव का शक करेगा कि कठे मरवा के आयी है. धीरे-धीरे अब गोवा के खुले माहौल की गर्मी हम चारों पर हावी होने लगी थी.

बीएफ ब्लू फिल्म सेक्सी चुदाई

मैंने माँ से कहा- मैं अपनी सहेली के घर जा रही हूँ और अभी अभी रात में भी खाना खाने का प्लान बना है, तो मैं रात का खाना खाकर ही आऊंगी. विनय शायद ज्यादा नहीं पीता था, इसलिए उसको 3 पैग में ही दारू चढ़ने लगी. जब लंड गांड के अन्दर जाता और गांड की गर्मी लगती, तो मुझे काफी मज़ा आने लगता था.

हम दोनों मर्दों ने भी अपनी टी-शर्ट उतार दी और उन्हें भी बिकनी पहनने के लिए बोला जो वो दोनों ख़ास गोवा के लिए ही लायी थीं. वो कई महीनों के बाद घर पर आते हैं और इसी कारण मेरी मां ने अपने कुछ दोस्तों को मदद के लिए रखा हुआ है.

जब भाभी रसोई में गई, तो पिंकी बोली कि अंकल आपके होंठ को क्या हो गया?मैंने बोला- हां … लगता है शायद किसी कीड़े ने काट लिया.

मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ उम्म्ह… अहह… हय… याह… क्योंकि मैं काफी दिन बाद चुद रही थी. वो आहें भरने लगीं- उम्म्ह … अहह … हय … ओह …मोसी की चुदासी आवाजें निकलने लगीं, तो मैंने उनकी पैंटी निकाल फेंकी. मैंने प्यार से उसके टोपे को पीछे किया और उसके गुलाबी से सुपारे पर जीभ लगा कर देखा तो टेस्ट बिल्कुल पसंद नहीं आया.

)अच्छा … वह मेरी … पूपड़ी कब से हो गई?” कहते हुए मैंने गौरी को अपनी बांहों में भर लिया। गौरी तो उईईइ … करती ही रह गई।अब हम दोनों सोफे पर बैठ गए।ओहो … रुको … आपके लिए पानी लाती हूँ. पता नहीं चार साल में ही इतना बड़ा कैसे हो गया।मैंने कहा- इतने दिन कहाँ थे?वो कहने लगा- हॉस्टल में।मुझे मेरे मायके का जान पहचान का कोई मिल गया था इसलिए अब सफर का मजा आने वाला था. जाते जाते मम्मी ने चाची को बोल दिया था कि दीपू घर पर ही है, जब तुम फ्री हो जाओ, तब उसके लिए खाना बना आना और देख लेना कि वो ठीक से पढ़ रहा है या नहीं.

उनके ससुर सेजल की चुत में लंड डाल कर सेजल के ऊपर आ कर उन्हें चोदने लगे.

प्रीति जिंटा के बीएफ: मैं- तुम्हारी चूत तो फिर से टाइट हो गई।नित्या- उस दिन की चुदाई के बाद रोज चूत की मालिश करती थी तो शायद हो गई।मेरा लन्ड जोर से बार बार नित्या के बच्चेदानी से टकरा रहा था। जिससे नित्या की जोर से सिसकारियां निकलने लगीं और जोर जोर नित्या बोलने लगी- कम ऑन फक मी … हार्ड फक मी. पूजा- आ … ओहह … राज तुम्हारा लन्ड तो बहुत मोटा है, मेरी चूत फाड़ देगा ये तो!उसके ये शब्द मेरी हवस को बढ़ाने के लिये काफी थे.

जब मैं झटका देता तो भाभी की दर्द भरी उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल जाती थी. आस पास किसी को ना देखकर मैंने धीरे से आवाज दी, उसने दरवाजा खोल दिया. वो मेरा फ़ैन था तो हमने नंबर एक्स्चेंज किया। कुछ दिन बाद मैं उस लड़के से फोन पे बात करने लगी.

वो पहला अनुभव मुझे आज भी याद है और वो मेरी पहली मुट्ठी मेरे दोस्त ने ही मारी थी.

संजू ठहाका मारके हंसी और बोली- कमीना कहीं का … निकाल ली ना अपनी भड़ास …संजू ने एक दिखावटी चांटा उसके गाल पर मार दिया. पहले तो उसने मना किया, लेकिन दुबारा कहने पर थोड़ी देर लौड़ा भी चूसकर गीला कर दिया. उसके चेहरे के भावों से यह पता लग रहा था कि वह नील की इस चुनौती को स्वीकार करके विजयश्री का स्वाद चखने के लिए जैसे तैयार लग रही है.