हिंदी पिक्चर इंग्लिश बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो हीरो का

तस्वीर का शीर्षक ,

लङकी फोटो स्टेटस: हिंदी पिक्चर इंग्लिश बीएफ, दिन भर मैं अपने दोस्तों के साथ था, पर जब मैं शाम को घर पर आया तो देखा कि बड़े पिताजी के बेटे आए हुए हैं.

छोटी से छोटी लड़की की सेक्सी

उस चुम्बन वाली घटना को काफी दिन हो गए थे मगर मुझे किशोर से मिलने का कोई मौका नहीं मिल रहा था. गोरे लोगों की सेक्सी मूवीमैडम को थोड़ा आराम मिलने के बाद मैंने फिर से एक जोरदार झटका दे दिया.

मेरी बीवी ने जब मुझसे ये बात कही, तो मैं बोला- छुट्टी तो ले सकता हूं, पर मेरा नया नया जॉब है. सेक्सी चुदाई सेक्सी वीडियो चुदाई सेक्सीअगले भाग में मैं फौजिया की चुत की सीलतोड़ चुदाई की कहानी का मजा लिखूँगा;मेरी जवानी का सेक्स कहानी के इस भाग पर मुझे आपके मेल का इन्तजार भी रहेगा.

हॉट साली Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरी बीवी की तबीयत खराब हुई तो उसने अपनी बहन को बुला लिया.हिंदी पिक्चर इंग्लिश बीएफ: वहां आयशा भाभी की साइज़ का सूट नहीं मिल रहा था जिस वजह से भाभी ब्रा और पैंटी में ही अन्दर आने को राजी हो गई.

उसके लंड अहसास पाते ही मैंने उसके लंड को पकड़ कर अपने छेद पर सैट कर दिया.तभी नीलिमा ने बुआ का मुँह पकड़ा और उनके होंठों पर किस कर लियाफिर उसने अपना एक हाथ से बुआ के एक बूब को पकड़ लिया और मसलने लगी.

शिक्षक सेक्सी बीपी - हिंदी पिक्चर इंग्लिश बीएफ

मैंने पूछा- क्या हुआ स्वाति?इस पर स्वाति ने कहा- मैंने आज तक किसी भी लड़के को अपने शरीर को छूने नहीं दिया है और न ही किसी के साथ चुम्बन किया है.चाची बोलीं- क्या सच में!मैंने चाची को छोड़कर अपने पैंट की जिप खोली और अपना मूसल सा लंड बाहर निकाला.

शायद उस लड़के के लंड में इतनी ताकत ही नहीं थी कि उसकी चूत खोल सकता शायद पतला सा लंड ही रहा होगा. हिंदी पिक्चर इंग्लिश बीएफ फिर थोड़ी देर बाद भाभी पुनः मेरे पिछले सवाल की ओर आ गईं, जिसमें मैंने पूछा था कि भाभी आपको मेरी इतनी फिक्र क्यों रहती है.

मैंने उसके चूचे दबाते दबाते कहा- हां सीख लो जानेमन, कल को तुम भी चूत लंड बोलोगी, तो सेक्स में और ज्यादा मजा आएगा.

हिंदी पिक्चर इंग्लिश बीएफ?

मैं बोली- मां के लवड़े … तू मेरी नंगी फोटो नेट पर डालेगा, तो मैं तेरी बहन गरिमा को चोदते हुए तेरी फोटो तेरे अस्पताल में बांट दूँगी. उसकी लेस वाली और ट्रांसपेरेंट पैंटी को मैं हाथ में लेकर अपने लंड पर रखने लगा और लंड हिलाने लगा. मैंने जोर से किस करना चालू कर दिया और उनके मम्मे दबाने लगा, तब जाकर चाची की आंख खुली.

बहन की गांड की भाई से चुदाई करवा दी मेरी चतुर बीवी ने! पहले उसने मेरी बहन की चूत मुझसे चुदवा दी थी. उन्होंने हाथ से मुँह में केला लेकर चूसते हुए लंड काटने का इशारा किया. मैंने भी कह दिया- भाई यहां है नहीं मैं क्या करूंगा यहां रुक कर … अकेले में मेरा मन ही लगेगा.

फर्स्ट सेक्स के बाद मैं अब वर्जिनिटी खो कर अलग अलग लंड से चुदने लायक हो गई थी. तो मैंने पूछा- कैसा स्वाद लगा?वो आंख दबाती हुई दो उंगलियों के इशारे ‘बढ़िया था …’ कहने लगीं. इससे पहले संजय और नीलू से हुई चुदाई की दास्तान वो ध्यान से सुन रहे थे।ऐसे ही बातें करते करते पता नहीं चला कब 9 बज गये।तो मैंने कहा- ठीक है दोस्त, आप अब आपस में करो बातें, मैं अपने रूम में जा रहा हूँ.

इधर राजेंद्र का लंड भी मेरी गांड को छूने लगा था और मुझे अहसास हो गया था कि यह लंड भी इमरान के लंड जैसा ही लंबा और चौड़ा है. जब बुआ कपड़े पहन रही थीं तो मैंने कहा- बुआ अब जब तक हम घर में अकेले हैं, हम कपड़े नहीं पहनेंगे.

मैंने उसके ऊपर आकर उसके स्तनों को चूमा और अपनी एक उंगली में थूक लगा कर उसके मुँह में दे दी.

कहीं घूम कर आने से मन बहल जाएगा और हम दोनों थोड़े रिलॅक्स भी हो जाएंगे.

जब मैं उसकी नाभि देख रहा था, तो उसने मुझे यह सब करते हुए देख लिया था. नीतू- क्या भैया मुझे चोदने को तैयार हैं?कोमल- हां, उनको मैंने रात में ही मना लिया था. अब मेरी गांड की ठुकाई हो रही थी और मैं मस्ती से अपनी गांड मरा रही थी.

मैंने उसे डांटा- हरामी साले क्या कर रहा है … मैंने बस चाटने के लिए बोला है, काटने के लिए नहीं मादरचोद … हट दूर साले कुत्ते. मैंने उनके चूचों पर चांटे मारने शुरू कर दिए जिससे उनके चूचे लाल होने लगे. मुझे हालांकि हल्का हल्का दर्द भी हो रहा था, पर चुदाई का जुनून मुझे मस्ती दे रहा था.

कुछ देर बाद अंकल भी कपड़े पहन कर बाहर आ गए और मुस्कुराकर बोले- कैसा लगा ललिता?मैंने कहा- बहुत दर्द हुआ.

बेड का गद्दा बहुत मुलायम और जंपिंग वाला था, जिससे चाची इतनी जोर से ऊपर ऊछलीं कि उनकी गांड और मम्मे मस्त सीन दिखाने लगे. वो आह आह आह की मादक आहें निकालती हुई कमरे के माहौल को गर्म किए जा रही थी. सिमरन लौड़े के पूरा अन्दर जाते ही सर इधर उधर पटकने लगी और रोने सी लगी.

वह बार-बार मुझे मैसेज करे जा रहा था, पर मैंने कोई रिप्लाई नहीं दिया. उसकी जकड़न इतनी कसी हुई थी मानो वंदना मुझे अपने आगोश से कभी नहीं छोड़ेगी ही नहीं. इससे भाभी और ज्यादा उत्तेजित हो गईं और मेरे बालों को नौंचने लगीं; मेरे माथे को जोर से दबा कर अपनी चूत में दबाने लगीं.

मैंने तुझे और उस रंडी डॉक्टरनी को कितनी बार चुदाई करते देख चुकी हूँ.

मेरी बीवी ने जब मुझसे ये बात कही, तो मैं बोला- छुट्टी तो ले सकता हूं, पर मेरा नया नया जॉब है. अब मैं उनकी मैक्सी को धीरे धीरे ऊपर करने लगा और उनकी चिकनी जांघ दिखाई देने लगी.

हिंदी पिक्चर इंग्लिश बीएफ यह सुनकर मुझे समझ आ गया कि बच्चा न होने की कमी मेरे ही भैया में है और भाभी प्यासी रह जाती हैं. वो जोर जोर से चिल्लाने लगीं- आंह मार दिया कमीन ने … आंह बड़ा दर्द हो रहा है.

हिंदी पिक्चर इंग्लिश बीएफ मैंने कहा- भाभी, आप प्लीज़ किसी से ये सब मत कहना … आप जो बोलेंगी, जैसा बोलेंगी, मैं करूंगा. आंटी ने पूरी जीभ से कमर और सुडौल टाइट मिल्की हिप्स को चूसना शुरू कर दिया, बीच बीच में हल्के हल्के से वो मॉम के हिप्स को काट भी रही थी.

मैं भी उस समय तक सब जानने समझने लगी थी कि वो लोग ऐसा क्या देखते थे.

एक्स एक्स एक्स बीएफ फुल सेक्सी

वो मेरी तरफ देखती हुई अपने घुटनों पर बैठ गई और मेरे लंड को अपनी जीभ से चाटने लगी. तभी मैं उठ गया और दीदी से पूछा- दीदी पानी कहां रखा है?मैंने पूछा, तो दीदी डर गईं और उन्होंने झट से अपने बदन पर एक चादर लपेट ली. फिर उन्होंने वैसे ही लेटे हुए ही दूध की बोतल बगल से उठा कर डुग्गू के मुँह में लगा दी.

फिर रणवीर झड़ गया और मेरे ऊपर से उतर कर बोला- राजीव, तूने आज मुझे खुश कर दिया. और आपके मेरे बीच जो कुछ भी होगा, वो सबके लिए एक राज ही रहेगा आपकी और मेरी दोनों की समाज के सामने इज्जत के लिए!इतना सुन कर वो खुश हो गयी और बोली- मैं एक अच्छे और अमीर घर से ताल्लुक से रखती हूँ. अब आगे देसी गर्ल हॉट चूत कहानी:उस रात चार बजे तक मैंने तीन बार रिया की चूत चुदाई की थी.

मैंने मना किया लेकिन उसके एक बार और बोलने पर, मैं उसके घर के अन्दर आ गया.

मेरे शरीर को अकड़ता देख कर किशोर ने अपनी जीभ की रफ्तार तेज कर दी और तेजी से मेरी चूत को फैलाकर चाटने लगा. तुम जिस तरह से मेरी उदासी और मेरा पूरा ध्यान रखते आ रहे हो, तभी तो मैं तुम्हारी तरफ आकर्षित होती चली होती गई. पर मैंने मैंने उसकी चूत के सारे बाल साफ किए।उसकीचिकनी चूतको देखकर मेरा लंड फिर खड़ा हो गया.

चाटने और सूंघने के बाद मैं अपने भाई के अंडरवियर को अपनी चूत में रगड़ लेती थी. लगभग दस मिनट की जोर आजमाइश के बाद आखिरकार विश्वेश्वर जी का पूरा लंड अन्दर घुस गया. थोड़ी देर बाद मैंने कहा- आंटी, चलो अब खड़ी हो जाओ, कमरे में चलते हैं.

उस दिन मैंने अपनी स्कूटर सर्विसिंग के लिए दी थी इसलिए मुझे ऑफिस से बस से जाना पड़ा. तो मैंने ज्योति को चूतड़ों से पकड़ा और अपने लंड से उठा कर रोहित के लंड पर बिठा दिया.

फिर उन्होंने मेरी सलवार भी उतार दी अब मैं केवल उनके सामने पैंटी में थी वह मुझे बेहताशा चूमे जा रहे थे. मैं भी उसके सीने से चिपक गई और किशोर बिना रुके मेरे होंठों को चूमने लगा. मुझे छोटे साइज़ के लंड से मज़ा नहीं आता है, कम से कम लंड 5 इंच से ज्यादा होना ही चाहिए.

अब आगे पुसी लिक हिंदी स्टोरी:मैंने चाची से कहा- चाची आपकी ख्वाहिश पूरी हो गई.

इससे पहले मैं कुछ समझ पाती, उनके लंड ने गर्म गर्म वीर्य मेरे चेहरे पर गिरा दिया. दीदी बोलीं- अब अपना लंड मेरी चूत में डाल कर मुझे अच्छी तरह से चोदो. थोड़ी देर बाद मैंने उनके चूचों पर ही माल छोड़ दिया और आंटी उसे मसलने लगीं.

मैं अन्दर आई तो मैंने देखा कि मेरा भाई शानू मेरे कामुक बदन को निहार रहा था. शिखा मुझसे बोली- साली यहां तुझे लंड कैसे मिलेगा?मैं शिखा से- मेरी जान, रूक तुझे दिखाती हूँ कि यहां कितने सारे लंड ही लंड हैं.

मैडम की निगाहें मेरे उभरे हुए पैंट पर थीं, जो कि मेरे पैंट के अन्दर से झांकते हुए लंड को देख रही थीं. शायद वो पहले से ही इसकी शौकीन थी तो उसने बिना झिझक के कह दिया- ठीक है. हॉट भाभी फक़ स्टोरी में पढ़ें कि मैं दादी के घर गया तो वहां ताउजी के बेटे के घर गया.

बीएफ हिंदी में साड़ी वाला

मैंने लंड रोक कर तेल टपकाया और लंड के सुपारे से तेल को अन्दर डालने लगा.

ऐसे ही दिन बीतते गए, मेरी बहन 23 साल की हो गयी परन्तु शादी के लिए कोई ने उसे पसंद नहीं किया. मैं अपनी बहन की चिकनी चूत चूसने लगा और वो मेरे सर को अपने पैरों से चूत में दबाने लगी. करीब आधा घंटा कीदमदार चुदाईमें वो दो बार झड़ चुकी थी, पर मेरा अभी भी झड़ना बाकी था.

मैंने उसे आदेश दिया- गुलाम, मेरे लंड को अपनी जन्नत ए जहां का रास्ता दिखाओ. कुछ देर में राजेंद्र को देख कर इमरान और प्रकाश ने भी बीयर के झाग से मुझे नहलाना शुरू कर दिया. हिंदी सेक्सी कहनीउसके एक दिन पहले ही मैंने अपने गुप्तांगों की साफ सफाई की और तीन बार लंड की मालिश की.

मेरे सामने भाभी की भरी हुई एकदम दूध सी सफ़ेद जांघें थीं और उन संगमरमर सी चिकनी जांघों में लाल पैंटी फंसी देख कर मेरे मुँह में पानी भी आने लगा था. चाची बोलीं- हां मेरे जानू, कोई बात नहीं … वैसे भी हम दोनों थक गए हैं.

उसके बाद हम दोनों ने रात के 3 बजे तक हर स्थिति में चार बार चुदाई की. कोई पांच मिनट बाद मैंने अपने लंड का पानी अपने भाई की बीवी की चूत में निकाल दिया. ‘आंह विवु काश मैं तुम्हारी बीवी होती अअह तो कितना मज़ा आता … दिन रात चुदाई चुदाई बस और कुछ नहीं आआआह विवेक प्लीज़ मेरी चूत में अपना लंड जल्दी से डाल दो … अब नहीं रहा जाता प्लीज़.

मेरे मुँह के अन्दर इतना अन्दर लंड घुसा हुआ था कि लंड की पिचकारी सीधे मेरे गले में उतर गई. चूंकि एक्जाम भी थे तो तय यह हुआ कि सुबह से शाम तक हम लोग अपने घरों में पढ़ेंगे और शाम से सेक्स की शमा रोशन करेंगे. उसने मॉम का सिर अपनी चूत में ज़ोर से दबा दिया और बोली- आंह थैंक्यू बेबी … तुमने मुझे वो सुख दिया, जो एक मर्द नहीं दे सकता.

वो ज़ोर से चिल्लाई- ऊऊई मम्मी रे … मर गई आह फट गई मेरी चूत … आंह साले लंड बाहर निकाल मादरचोद.

मुझे उन पर हंसी आ रही थी और अन्दर से चार लौड़ों से चुदने की उत्तेजना भी भरती जा रही थी. मैंने अपने एक हाथ चाची के मुँह को पकड़ कर पूरा लंड मुँह में डाल दिया.

एक रात कुछ ऐसा हुआ कि तकरीब 12 बजे मैंने फोन देखा, तो उसका मैसेज आया हुआ था. यह आंटी की पेंटी सेक्स कहानी उस समय की है … जब मैं 12वीं कक्षा में पढ़ता था. वो पूरा का पूरा लंड गले तक लेकर चूसतीं और बाहर अपनी जीभ से लंड को ऊपर से नीचे तक गीला करने लगतीं.

तभी नीलिमा ने बुआ का मुँह पकड़ा और उनके होंठों पर किस कर लियाफिर उसने अपना एक हाथ से बुआ के एक बूब को पकड़ लिया और मसलने लगी. मैंने उन्हें गुस्से में देखते हुए कहा- मुझे तो आप लोगों की सारी प्लानिंग पहले से ही पता चल चुकी थी, गुस्सा तो केवल इसी बात का है कि पहले ही बता देते तो ज्यादा अच्छा होता. मगर मेरी इस बात के जबाव में उसका जो रिप्लाई आया, उसे पढ़ कर तो लंड ने तूफान खड़ा कर दिया.

हिंदी पिक्चर इंग्लिश बीएफ वंदना इस बात से थोड़ा गुस्सा हो गई और बोलने लगी- तुम्हारा मतबल है कि मैं एक वेश्या हूँ, अगर चाहती तो तुमसे भी सुंदर-सुंदर लड़के मेरे मोहल्ले में कई एक पड़े हुए हैं. यह पार्टी मेरी बचपन की सहेली शिखा के चचेरे भाई संदीप की शादी की थी.

बीएफ पिक्चर सेक्सी मूवी

स्वाति मुस्कुरा कर बोली- तुम ठीक से दरवाजा बंद नहीं कर सकते थे?मैं बोला- मैंने दरवाजे की कुंडी लगाई थी, शायद कुंडी ठीक से बंद नहीं हुई होगी. कोमल बोली- तुम शरीर के बाल साफ नहीं करती हो क्या?नीतू- साफ तो हैं भाभी!कोमल- कोई बात नहीं, चलो कपड़े पहन लो … फिर हम दोनों पॉर्लर चलेंगे. अब हम दोनों पूरी रात विज्ञापन में बताई गई एक्सरसाइज करते हुए लंड से खेलने लगे.

हॉस्पिटल सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने गाँव के अस्पताल में डॉक्टरनी की चूत और गांड मारी. पर दिव्या की कामुक सिसकियां औरटाइट चूत की चुदाईके मज़े में मैं ये सब इग्नोर कर गया।दिव्या का चेहरा चुदते हुए इतना कामुक लग रहा था कि मेरी रफ़्तार कम होने का नाम नहीं ले रही थी।करीब 15 मिनट की ताबड़तोड़ ठुकाई के बाद मैंने अपना पानी उसकी चूत में ही छोड़ दिया. बफ सेक्सी हिंदी वालीऔर उसका दुल्हा भी!कहानी के पहले भागरिश्ता तय होने के बाद चुदाई की बेचैनीमें आपने पढ़ा कि पिंकी और विजय की शादी तय हो गयी थी.

उसने अपने बच्चे को अपने पड़ोसी के बच्चे के साथ खेलने को बोला और घर से बाहर भेज दिया.

मुझे भी लगा कि यार मैंने इससे कुछ ज्यादा मांग लिया था; शायद एक किस मांगता तो ये दे भी देती. मैं थोड़ा रुका और कुछ मिनट तक ऐसे ही गांड के अन्दर लंड डाले चाची को बांहों में भर कर उनकी चुम्मी लेता रहा.

मैंने उस टाइम सोचा कि इससे सही बात करनी होगी और अपने ऑफिस की सैटिंग भी मिलानी पड़ेगी. वो लिख कर बोला- अगर तुम वीडियो कॉल करना चाहती हो तो पहले तुम अपनी चूत और चूची दिखाओ. इन्स्टाग्राम सेक्स कहानी शुरू हुई जब मैंने इस ऐप पर अपनी प्रोफाइल बनाई.

उनका नाम विश्वेश्वर था और मैं उनका बहुत ज्यादा कृपा पात्र था, जिस वजह से मेरा कोई काम रुकता नहीं था.

उसकी पतली कमर और कमसिन जवानी मेरा लण्ड को खड़ा कर चुकी थी।मैं किस करता हुआ नीचे गया और उसकी लोअर को नीचे खींच दिया।सोनी ने अंदर भूरे रंग की पैंटी पहनी हुई थी।उसने खुद से अपने लोअर को अपनी टांगों से निकाल दिया और फिर मेरा टीशर्ट खोल दी।वो अब मेरे शरीर को चूम रही थी. अब आगे गैंग बैंग Xxx स्टोरी:थोड़ी देर बाद एक वेटर आया और दरवाजा खटखटाया- मैडम जी … खोलो. कुछ देर बाद मेरा भाई भी मेरा साथ देने लगा और हम दोनों एक दूसरे को चूमने लगे.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो हिंदी 2021अपनी चूत पर मेरे होंठ लगते ही उसके मुँह से आवाज निकलने लगी ‘आईई ईई सीईईई ईई …’मुझे चूत चाटना पसन्द नहीं था पर सेक्स की मदहोशी में उसकी चूत को चाटने और चूसने लगा. उनके मुँह से मुझे वासना से लबरेज सिसकारियां निकलती सुनाई देने लगीं.

सेक्स करो सेक्स करो सेक्स

अब कॉलेज में हैलो हाय की जगह दिल से दिल मिलने लगा और हम दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ने लगीं. मैंने भी दीदी से पूछा कि आज मां ने आपसे मेरे लंड के लिए क्या बात की थी और कैसे की थी?दीदी ने हंस कर कहा- मेरे ब्वॉयफ्रेंड के साथ मैंने और मां ने एक साथ चुदाई का मजा लिया था, जिस वजह से मां मेरे साथ खुली थीं. मेरे भैया भाभी ने मेरी दास्तान सुनकर ख़ुशी जाहिर की और मुझे चोदने के लिए बिस्तर पर खींच लिया.

मैं अपने हाथ उसकी नंगी पीठ पर फेरते हुए नीचे ले गया और उसकी लैंगिंग्स उतार दी. मेरी पिछली सेक्स कहानियों की अच्छी सफलता और आपके प्यार की वजह से मुझसे रुका नहीं गया. इस हॉस्पिटल मेरा घर जरा दूर था, इसलिए मैंने सुनील जी से बोल कर हॉस्पिटल के स्टाफ क्वार्टर में एक कमरा ले लिया था.

इन्स्टाग्राम सेक्स कहानी शुरू हुई जब मैंने इस ऐप पर अपनी प्रोफाइल बनाई. उसने मेरे लंड को फिर से अपने मुँह में ले लिया और वो तब तक लंड चूसती रही, जब तक लंड वापस खड़ा नहीं हो गया. [emailprotected]अगर आपने मेरी पिछली कहानीखेत में भैया और उसके दोस्त ने चोदानहीं पढ़ी है, तो इसे भी पढ़ कर मजा लें.

अब घर में कोमल और बहन नाइटी या नंगी ही रहती थीं क्योंकि मेरा घर चारों तरफ से ऊंची दीवारों से घिरा हुआ है. ये समझ कर मेरी चूत में चींटियां रेंगने लगी थीं, साथ ही एक डर सा भी लग रहा था कि मैं तो पिस कर रह जाऊंगी.

हमें साईट में विज्ञापनों के जरिए लंड की साइज बढ़ाने के लिए कुछ तरीके मिले.

मैंने उनकी साड़ी को ऊपर करना चालू कर दिया, जो कि पहले से आधी उठी हुई थी. ब्लू सेक्सी पिक्चर फुल मूवीकुछ देर बाद भाभी का दर्द कम होने लगा और वो भी चुदाई का आनन्द उठाने लगीं. ब्रदर सिस्टर का सेक्सी वीडियोएक दिन मैंने चाची से कहा- मैं आपके साथ एक दोस्त के रूप में रहना चाहता हूँ. उस वक्त भी उसका लंड उसके पैंट के अन्दर था, बस उसके पेट से छूने से लंड का अहसास हो रहा था.

काफी देर तक किस करने के बाद मैंने आंटी के चूचों पर बॉडी लोशन लगाया और उनको दबा दबा कर पीने लगा.

गांव में कोई बड़ा स्कूल ना होने के कारण हम सभी भाई बहन अपने बड़े चाचा और चाची के साथ कस्बे वाले घर में रहते हैं. तो मैंने भी सोचा कि मैं भी सो जाता हूं लेकिन लंड से पानी अभी भी निकला नहीं था इसलिए पानी तो निकालना ही पड़ेगा. मुझे देखते ही किशोर मेरे पास आ गया और बोला- बताओ क्या सोचा तुमने?मैं- सोचना क्या है, तुम भी मुझे पसंद हो … मगर ये बात कभी किसी को पता नहीं चलनी चाहिए.

मैंने एक साल पहले कभी सोचा भी नहीं था कि एक साल बाद में ऐसे एक होटल में सुबह सुबह चाची की गांड मार रहा होऊंगा. पायल सिर्फ सीत्कार कर रही थी- आआह निखिल … और ज़ोर से चूसो ना … आह पी लो मेरे जोबन को. चूंकि गांव के लोग जल्द आठ बजे तक ही सो जाते हैं मगर उस समय तक हम लोग नहीं सोए थे.

भाभी की चूत बताओ

मैंने पूछा- भाबी, लंड चूसने में मजा आ रहा है?भाबी ने कहा- हां यार, मुझे लंड चूसना बहुत पसंद है. उसका 7 इंच का मोटा और काला कड़क लंड देखते ही मेरे मुँह से लार टपकने लगी. फिर धीरे से लंड को चूत के अन्दर ऐसे सरका दिया … जैसे कोई सांप अपने बिल में प्रवेश कर रहा हो.

वैसे भी चुदाई का तो मैं इतना अनुभवी था कि प्रिया को आज मैं जन्नत की सैर करवाने वाला था.

बीवी- हां मुझे नींद वाली गोली भी दे देना कल मुझे नींद अच्छे से नहीं आई थी.

उसने अपने खड़े लंड को हाथ में लिया और मुझे उठकर लंड पर बैठने को कहा. मैंने देखा आंटी के घर में कोई नहीं है, तो मैंने आवाज लगाई- आंटी जी, कहां हो?बाथरूम से आवाज आई- आशु, खाना गर्म करना पड़ेगा, तुम बैठ जाओ. न्यू चुदाई सेक्सीमेरी चूत खुल चुकी थी तो घर में ही भाई सेक्स करने में कोई डर नहीं था.

ट्रेनर ने सभी को 5 बार बेल्ट से पीटा, दर्द से सबने चीखने की कोशिश की, पर गॅग के कारण आवाज़ कम निकली. हालत ये थी कि सारा समय सिर्फ लंड और पैसों को सोचते ही बीतने लगा था. जब मुझे पता चला कि नेहा दीदी घर आ रही हैं तो मैं मां से बोला- आप कुछ ऐसा करना कि मेरा लंड नेहा दीदी की चूत का स्वाद जरूर चख ले.

मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा दीदी … देखो न मेरा ये लंड दर्द कर रहा है सॉरी सॉरी. मॉम ने तुरंत आंटी को बेड पर चित लिटा दिया और टांगें बेड के नीचे नीचे कर दीं.

उसका एक पैर ऊपर की ओर उठाया और आगे से लंड को उसकी चूत में डाल दिया.

बीच बीच में आवाज निकाल रही थीं- ओ यस ओम … और जोर से पेलो मजा आ गया. मैंने कहा- जो कुछ करना है, यहीं करो क्योंकि मैं बाहरी व्यक्ति से चुदकर कोई रिस्क नहीं लेना चाहती हूँ. उस समय भाभी के दोनों बड़ी बड़ी चूचियां ऐसे तनी हुई दिख रही थीं … मानो वो भाभी की नाईटी को फाड़ कर बाहर आ जाना चाह रही हों.

पठानकोट सेक्सी वीडियो दोस्तो, ये मेरी सच्ची मोटी गांड की चुदाई कहानी है इसलिए सब सच बात लिख रहा हूँ. उसने अपने दोनों हाथ मेरी पीठ पर रखे हुए थे और बड़े प्यार से सहला रही थी.

फिर दादा जी के दोस्त ने एकदम से मुझे अपनी बांहों में कस कर पकड़ लिया और पलट गये. मुझे इसके बाद ये समझ आया कि मम्मी ने उस दिन महेश सर के साथ चुदाई की अपेक्षा पापा के साथ की चुदाई में ज्यादा एन्जॉय किया और वो काफी सन्तुष्ट भी लग रही थीं. दोस्तो, ये मेरी Xxx वाइफ की चुदाई की कहानी आप लोगों को मस्त लग रही होगी.

इंडियन गर्ल फर्स्ट टाइम सेक्स

मैम ने पैंटी उतरवाने में लिए अपनी गांड उठा दी और मैंने पैंटी उतार का अलग रख दी. वो शर्म के मारे तुरंत ही चादर खींचने लगी मगर मैं चादर हटाकर उसके पैरों के पास बैठ गया. सिगरट पीने के बाद हम दोनों हल्के हल्के नशे में होने लगे और हम दोनों ही उस वक़्त एक दूसरे को नशे में हवस की नजरों से देखने लगे.

रणवीर ने मुझको एक गिलास पानी देकर कहा- अभी आराम से बैठो और पानी पियो. जोगी सर ने एकदम से अपना होश सम्भाला और मेरे ऊपर से उठ कर मुझे बैठा दिया.

ये भाभी मॉडर्न थीं और अपना रंडी रोना मेरे सामने जानबूझकर कर रही थीं ताकि वो मुझे अपने साथ सेक्स के लिए राजी कर सकें.

जो झड़ जाता था, वो हट कर अपने कपड़े पहनने लगता था और ड्राइंग रूम में बाकी का इंतज़ार करने लगता था. भाभी भी अपने निप्पल को अपनी दो उंगलियों में फंसा कर अपने बेटे के मुँह में दे रही थीं और वो बार बार भाभी के निप्पल से अपने मुँह हटा लेता था. पहले माले पर एक कमरा, एक बाथरूम और रसोई।आंटी नीचे रहती थीं, हम लोग पहले माले पे!हमारे यहां टीवी नहीं थी, मुझे टीवी का बहुत शौक रहा है बचपन से।मैं नीचे टीवी देखने चला जाता था।आंटी रोज शाम को झाड़ू लगातीं, फिर नहाती.

पर मैंने उसकी एक न चलने दी और दुबारा मुंह में लंड पेल दिया और धक्के लगाने लगा. ये एक्स एक्स एक्स भाभी सेक्स कहानी पिछले ही महीने उस समय की है जब मैंने एक नया नया रूम लिया था. मैंने सोचा कि आज काफी लम्बा फोरप्ले करना पड़ेगा, तब जाकर बीवी को सन्तुष्ट कर पाऊंगा.

मैं जोर जोर से धक्के देने लगा और उनके चूचों को पकड़कर चूत को फाड़ता रहा.

हिंदी पिक्चर इंग्लिश बीएफ: भाई मेरी चूत में उंगली करने लगा और अपनी जीभ से मेरी चूत को सहलाने लगा. वो मुझे देख कर कुछ भी ऐसा रिएक्ट नहीं करती थी जिससे लगे कि वो भी मेरे बारे में ऐसा कुछ सोचती हो.

मैं- भाभी इसमें मैं क्या कर सकता हूं?भाभी- हर लड़की को एक जगह बहुत ज्यादा खुजली होती है. मैं- आआह मर गई निकाल लो शानू … चूत दर्द कर रही है और पेट भी दर्द कर रहा है, मुझे पानी पी लेने दो. मैंने लंड चूत की फांकों में लगा कर दबा दी तो वो बोली- चूतिया नंदन गलत छेद टारगेट कर रहे हो.

नदी में नहाने के बाद मेरी बाकी सहेलियां तो अपने घर चली गईं मगर मैं और मेरी एक अन्य सहेली ने कुछ और देर तक नदी में रुकने का मन बनाया.

उसे बस किसी ऐसे की तलाश है जो उसकी शारीरिक जरूरत को पूरा कर सके और सब कुछ राज ही रखे. एक आदमी उसके मुँह को चोद रहा था और दूसरा शायद उसकी गांड मार रहा था. अरुणिमा चार दिन तक घर में नंगी ही घूमती रही पर मैंने उसकी हालत को समझते हुए उसे परेशान नहीं किया.