एचडी बीएफ वीडियो एचडी

छवि स्रोत,सेक्सी गर्ल सिल्होउएत्ते

तस्वीर का शीर्षक ,

एनिमल सेक्सी वीडियोस: एचडी बीएफ वीडियो एचडी, जब मेरी आंख खुली, तो गाड़ी जयपुर पहुंचने वाली थी, सुबह के 4 बज चुके थे.

अनीता की चूत

दोस्तो, उन्होंने लगातार 10 मिनट तक मेरा लंड अपने मुँह में रखा, इसके बाद लंड गर्म होके पिचकारी छोड़ने लगा, तो उन्होंने लंड को मुँह से निकाल के अपने हाथ में भींच लिया और सारा वीर्य लंड के सुपारे में दबा दिया. चुटकुला मजेदारये थी मेरे साथ घटी सच्ची घटना, जिसे मैंने आपके सामने प्रस्तुत किया.

उसमें आखिर में लिखा था कि अब हमारी कोई बात नहीं होगी और हम दोनों के लिए अच्छा नहीं होगा. गाने डाउनलोड करोमैं कॉलेज में पढ़ रही थी और मेरी सभी सहेलियां रोजचुदाई की बातेंकिया करती थीं.

मेरी बात सुन कर भाभी शर्म से लाल हो उठी। वो बोली- तुझे शर्म नहीं आती। मुझे तो ऐसा लगता है कि शायद तेरी नीयत भी खराब हो गई है.एचडी बीएफ वीडियो एचडी: मैं अमित की शर्ट में लगे परफ्यूम की हल्की हल्की खुशबू को एंजाय कर रही थी.

कुछ दिल्ली में, कुछ रोहतक में … लेकिन गांव की इस चुत की बात ही सबसे अलग थी, क्योंकि बहुत मेहनत से जो मिली थी.मैं- चाची, आप हो ही इतनी सेक्सी कि आपको देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया.

डब्ल्यूडब्ल्यूई का सेक्सी - एचडी बीएफ वीडियो एचडी

मैंने तुरंत उनके पास जाकर वापिस घुटनों के बल बैठकर उनकी साड़ी ऊपर कर दी और उनकी चुत में उंगली डालकर अंदर बाहर करने लगा.और उसके बाद से मैंने अपनी बीवी को कभी भी अकेली नहीं रहने दिया।आपको मेरी बीवी की चुदाई की यह सच्ची कहानी कैसी लगी? अपने विचार और सुझाव मुझे कमेंट्स में बता सकते हैं।.

मैंने एक दो बार अपने लंड को लोअर के ऊपर से सहला कर उसको शांत करने की कोशिश भी की लेकिन वो और ज्यादा तनाव में आता गया. एचडी बीएफ वीडियो एचडी फिर उसने दूसरा कप मेरी तरफ बढ़ाते हुए मुझसे कहा- अरमान मामा, ये आपके लिये.

मैंने अपनी एक टांग को उठा कर उसकी टांग पर इस तरह रख दिया कि मेरा घुटना मुड़ कर उसके लंड के ऊपर जाकर टच हो गया.

एचडी बीएफ वीडियो एचडी?

लेकिन मैं कुछ कर नहीं पाया, क्योंकि मैं अभी उन्हें किस का जबाव देने लायक स्थिति में नहीं था. वह भाभी की चूत में जाने के लिए जैसे भीख मांगने लगा था मगर भाभी थी कि उस पर जरा भी दया नहीं कर रही थी. कुछ देर टीवी देखते हो गई तो मानसी मौसी के लिए दूध गर्म करके ले आई थी.

वो बोली- लंड बाद में रगड़ लियो … आज पहले डाल के चोद दे … इसके बाद सारा दिन पड़ा है बाद में मजा ले लियो. फिर उसकी आंखों में देख कर उसे बताता रहा कि मैं तेरे जिस्म का रसपान कर रहा हूंवो भी खेल में घुस चुकी थी. कुछ देर तक कूल्हों पर मसाज देने के बाद वो मेरी जांघों की तरफ नीचे आ गया.

क्यूं तड़पा रहे हो मुझे मेरे जानू … मगर भाभी की चूत में उंगली करके मैं भाभी को तड़पाने का आनंद लेता रहा. मैंने उसकी गांड को कस कर पकड़ लिया उसकी गांड में धीरे-धीरे लंड को उतारना शुरू कर दिया. मैंने लगभग एक मिनट तक उसकी चूत को ऊपर से नीचे तक चाटा और फिर मैं 69 में हो गया.

वह भले ही बदन से मोटी थी लेकिन उसके अंदर सेक्स कूट-कूट कर भरा हुआ था. पर मैंने अपनी इस सोच को दिमाग से निकाला और आँख मूंदे दर्द का बहाना किये कराहती हुई सी इस पहली पहली चुदाई का भरपूर लुत्फ़, मज़ा उठा रही थी.

उसने एकदम से चौंक कर कहा- देवर जी, ये आप क्या कर रहे हैं, यह सब ठीक नहीं है.

औसा प्रतीत हो रहा था कि इस साली छिनाल, हरामजादी की भोसड़ी में यदि आलू डाल दूँ, तो वो भी उबल कर बाहर आ जाएगा.

फिर मेरे पूरे जिस्म को चूमते हुए नीचे की तरफ आयी और मेरे लंड को अपनी मुट्ठी में भर लिया और मुठ मारने लगी. कुछ टाइम बाद मैंने उन्हें कुतिया के पोज में बनाया और उनके पीछे से चुत में लंड पेल कर चुदाई शुरू कर दी. मैं आपको बता दूँ कि यहां हरियाणा में हमारी जात बहुत बहादुर मानी जाती है.

उसे देख कर मेरे मन में विचार आया कि आज से सुमन को अपने वश में रखूँगा. अंकल बोले- शादी तो मैं कर लेता, मगर जो आएगी, वो आप जैसा इतना अच्छा खाना कहां बना पाएगी. फिर मैं उनकी चूत में धकापेल चुदाई करता रहा और बाद में भाभी भी अपनी गांड उठा-उठा कर मज़े लेने लगी थीं.

मैंने पूछा- तो क्या मर्द भी अपनी बीवी पर ऐसे ही चढ़ता है?भाभी बोली- चुप कर … बदमाश!मैंने कहा- ओह, अब मैं समझा कि रात को भैया आपको क्यों बुलाते हैं.

भाभी की चूत भी काफी दिनों से चुदी ने होने के कारण काफी टाइट हुई पड़ी थी. नेहा के माथे पर इतने ठंडे मौसम में पसीने की बूंदें दिखाई दे रही थी. मेरे घर में मेरे पिताजी और चाचा का परिवार है, हम सब एक साथ रहते हैं.

मैंने मस्त नमकीन पेशाब को पिया और फिर उनके लंड अपने फेस पर लगा लिए. अब उन्होंने मेरी मां को गद्दे पर लिटाया और खुद उसके ऊपर लेट गए। कभी बूब्स मसलते-मसलते वह मेरी मां की गांड और चूत सहला देते।अब कुछ देर मेरी मां को गर्म करने के बाद उन्होंने अपने मोटे लंड का सुपारा मेरी मां की चूत पर रखा और दबाने लगे. थोड़ी देर में खाना आया, वो बाथरूम में चली गई मैं तौलिया बाँध कर वेटर से खाना अन्दर लिया और उसको विदा कर दिया.

ऐसा कहते कहते उन्होंने एक शॉट लगाया और अपना सुपारा मेरी मां की टाइट चूत में डाल दिया.

मैं गांड में मूसल लिए चिल्लाता, उससे पहले सनी जी ने मुझे डॉगी (कुत्ते वाली) स्टाइल में बिठा दिया. उसके लंड पर उछलते हुए मैंने अपनी स्पीड तेज कर दी और मेरे मुंह से आनंद की आवाजें निकलने लगीं.

एचडी बीएफ वीडियो एचडी पर थोड़ी देर बाद ही उसने अपने दोनों हाथ जमीन पर टिका दिये और थोड़ा झुककर अपने मम्मे को बारी-बारी से मेरे मुँह में देकर उसको पिलवाने लगी. मैंने उसकी चूत पर हाथ फेरते हुए पूछा- रानी साहिबा को कुछ आराम मिला?मेरा लण्ड मुंह से निकाल कर डॉली बोली- हाँ, अब काफी आराम है.

एचडी बीएफ वीडियो एचडी मैंने उसको जोर से अपनी बांहों में भींच लिया और उसको गर्दन पर काटने लगी. मैं जब भी सामने होती, तो उनकी नजरें स्कर्ट के नीचे से मेरी जांघें देखतीं या फिर मेरे सीने को निहारतीं.

अब देर करना उचित ना लगा, मगर तब भी मुझे समझ नहीं आ रहा था कि आगे बात कैसे बढ़ाई जाए.

घोड़े के साथ सेक्सी बीपी

मुझे मधु को माँ तो बनाना ही था, साथ ही साथ उसे अपनी रंडी और रखैल भी बनाना था. और वो मेरे लम्बे मोटे लण्ड को आइसक्रीम की भान्ति चूसे जा रही थी। उसकी चूत बहुत टाइट थी. ’उसने इशारे से पूछा- क्या है मेरी सजा?मैंने कहा- मैं तुम्हें बेड पे नहीं चोदूंगा.

चूंकि मेरी रूचि भी लड़कियों वाले कामों में थी तो मैं गे सेक्स स्टोरी पढ़कर मजे लेता रहता था. एक तो उसके हाथों में मेहँदी लगी हुई थी, ऊपर से लहंगे का नाड़ा रेशमी. अगले दिन मैं जब गांव में बोर हो रहा था, तो सोचा क्यों ना जोधपुर जाकर कोई मूवी देखी जाए.

वो मेरे ऊपर मेरे लंड पर बैठने लगी और धीरे धीरे दर्द से आंखों में आंसू और दांतों को भींचते हुए लंड पर बैठ गयी.

तेरी उम्र में मेरा भी हाल कुछ ऐसा ही था मगर खुद पर थोड़ा काबू करना भी सीख. बस फिर क्या था, तने हुए लंड को होल को और खोदना था, सो लंड अपनी स्पीड से बुर चोदने लगा. रश्मि- आहआह … कितना मस्त चोदते हो यार …धकापेल चुदाई में मैंने रश्मि को कुतिया बना कर भी चोदा उस वक्त भी मेरे दिमाग में लंड के नीचे मधु की ही चूत थी.

अगली रात को फिर पंखे के बहाने आ गया और वह मेरी चूची और चूतड़ों को कपड़ों के ऊपर से ही सहलाता रहा. कुछ देर तक मेरे पूरे बदन को चूसने और चाटने के बाद उसने नीचे हाथ ले जाकर अपने पजामे का नाड़ा खोल दिया और वह नीचे से नंगा होकर फिर से मेरे ऊपर लेट गया. मेरे अंदर शादीशुदा भाभी की चूत मारने की इच्छा हमेशा बनी रहती है।एक दिन मेरी ये इच्छा जब पहली बार पूरी हुई तो वही वाकया आज मैं आपको बताने जा रहा हूँ.

तो मैं आपको कहना चाहता हूँ कि प्लीज ऐसे फालतू के विज्ञापनों के चक्कर में पड़कर पैसे बर्बाद मत करना. उसके लंड की गोलियां भी इतने मस्त लग रही थीं, जैसे चोदने के लिए ही बनी हों.

वो खेलने लगी मेरी चुचियाँ से।एक और बात बोलूँ, तुम गुस्से तो नहीं होंगे?”हाँ बोल न!”तुम घर में ब्रा पहना करो, इनकी शेप अच्छी बनी रहेगी. तेजी से उसकी चूत में जीभ को अंदर-बाहर करते हुए मैंने उस हसीना को फिर से गर्म कर दिया. एक दिन की बात है जब भाभी मुझे पढ़ा रही थी और भैया अपने कमरे में लेटे हुए थे। रात के दस बजे का समय हो रहा था। इतने में भैया ने आवाज दी- कंचन और कितनी देर लगेगी? जल्दी आओ न!भाभी भी मेरे पास से जाना नहीं चाहती थी लेकिन भैया के बुलाने पर उनको जाना पड़ा।भाभी उठते हुए बोली- बाकी पढ़ाई कल करेंगे क्योंकि तुम्हारे भैया आज ज्यादा ही उतावले लग रहे हैँ.

बार-बार सलहज के शरीर से छूने के कारण मैं उसकी चूत चुदाई का मन बना चुका था लेकिन मैंने बस में इस तरह की कोई मंशा जाहिर नहीं होने दी.

वहां उन्होंने मुझे बिठाया और कहा कि हमने कभी ये नहीं किया, आपको जो करवाना है … वो हमको बता दो. अब सासु मां को कौन समझाए इसने निगोड़ी चूत के लिए रात भर जागना पड़ा और आप के बेटे ने मुझे चोद-चोद कर निहाल कर दिया. फिर जब वो थोड़ी सी नॉर्मल हो गई तो मैंने एक जोर का धक्का दिया और पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया.

मैंने नैना को अपने ऊपर से हटाया और एक टिश्यू ले कर जब उसकी चूत को देखा, तो वो फूल के अब भी मेरे वीर्य को उगल रही थी. मैं बोला- अरे यार तुम पादती नहीं तो मुझे तुम्हारी गांड मारने का ख्याल भी नहीं आता.

दोनों डिनर कर ही रहे थे कि तेज बादल गड़गडाने लगे और बिजली चमकने लगी. मैंने उन्हें छोड़ा तो वो नंगी ही रसोई में चली गईं और मेरे लिए कुछ मिल्क चॉकलेट ले आईं. मैं भी 2 मिनट चोदने के बाद झड़ने वाला था, मैंने कहा- अन्दर ही निकाल देता हूँ.

एचडी वीडियो न्यू सेक्सी

जब मैंने अपनी नौकरी से कुछ दिनों की छुट्टी घर पर समय बिताने और मौज मस्ती करने के लिए ली थी.

टेंपो से उतरते ही वो औरत बोली- तुमने मुझे टेंपो से उतरने को क्यों कहा?मुझे अब तक अपने हरामीपन के अंदाज में आ चुका था. मैं सेहत बनाने नहीं बल्कि आंखें सेकने के चक्कर में सुबह सैर पर जाने लगा. जितना प्यार उसने मुझे दिया है … उसका 10 गुना प्यार उसे अपनी बीवी से मिले.

मैंने उसकी गांड को जीभ से चाटते हुए दीक्षा को पीठ के बल कर दिया और अब मैं उसके नंगी फूली हुई चुत को हाथ से सहलाने लगा. उसने स्पीड बढ़ाई तो मैंने कहा- बीच बीच में मुंह लगाकर गीला कर लिया करो और जब मैं कहूँ मुंह में ले लेना, मैं तुम्हारे मुंह में डिस्चार्ज करुंगा, उसे गटक जाना, यह सबसे अच्छा पेनकिलर है, कानपुर पहुंचते पहुंचते ठीक हो जाओगी. इंग्लिश में चुदाई वाली पिक्चरहम घर क्यों आये हैं … कुछ रह गया क्या?” वसुंधरा ने कार से उतरते हुए उलझन भरे स्वर में पूछा.

अजय ऋतु की गर्दन पर किस करने लगा और फिर धीरे-धीरे ऋतु ने विरोध करना बंद कर दिया. कुछ पल बाद लंड में कुछ सुरसुरी सी हुई तो मैंने लंड अन्दर बाहर करना चालू किया.

मुस्कान भी बहुत खुले विचार वाली लड़की थी, इसलिए मेरी और उसकी गहरी दोस्ती हो गई. जब उसने मेरा हाथ अपने मम्मों रखा, तो मैं खुद को काबू नहीं कर पाया और मैंने झट से उठ कर उसे अपनी बांहों में भर लिया. फिर उस रात जब वो मुझे पढ़ाने के लिए आई तो मैंने देखा कि उन्होंने एक सेक्सी सी नाइटी पहन रखी थी.

मैं एक अच्छे घर से हूँ, मैंने कभी किसी के साथ रोमांस तो दूर की बात, कभी पराये लड़कों से बात भी नहीं की थी. वो बोली- मेरा एक अर्जेंट काम है, तुम कर सकते हो क्या?मैं- हां क्यों नहीं. एक्स्ट्रा ट्यूशन की स्पेशल क्लासेज की वजह से रोज शहर तक आना जाना मुश्किल था.

इसके ठीक बाद ताऊ जी ने चाची के पैर पर अपना हाथ फ़ेरना शुरू कर दिया और धीरे धीरे चाची के कपड़ों को ऊपर उठाना शुरू कर दिया.

उधर के जोड़े किस कदर एक दूसरे से लिपट कर रोमांस करते हैं कि आपको अच्छी खासी डबल एक्स ब्लू फिल्म का लाइव शो देखने को मिल जाएगा. वो खुद अपने हाथ से अपनी चुचियां दबाते हुए मुझे उकसा रही थी और अपने होंठ काट रही थी.

क्योंकि मेरी कॉलोनी में एक औरत अपने आशिक के साथ होटल में पकड़ी गयी थी, इसलिए मैं होटल में ये सब नहीं करना चाहती थी. मैंने शावर बन्द कर दिया और विक्की को कहा कि चोदना है तो चूत में डालो, गांड में दर्द होता है. वो सिसकारी भरने लगी और बड़बड़ाने लगी- ओह चाचू मत करो … ये ग़लत है स्सस आह चाचू प्लीज़ रुक जाओ.

वो बोली- कोई बात नहीं चन्दन, तुम्हें पूरी छूट है तुम जो करना चाहो, कर सकते हो. जब उसने मुझे लंड हिलाते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया तो मैं शर्म के मारे मरा जा रहा था कि अब क्या होगा. तकिया रखे जाने से ऋतु की गांड ऊपर उठ कर आ गई और बिल्कुल सटीक पोजीशन में हो गई.

एचडी बीएफ वीडियो एचडी फिर जल्दी से नीचे आकर उसकी पैंटी को भी नीचे करके पूरी पैंटी उतार दी. सच में दोस्तो, एक दोस्त जो कर जाएगा, वो कोई और दुनिया में कभी नहीं करेगा.

सास और बहू की सेक्सी पिक्चर

मैंने अपना फोन जेब में डाला और घर के बाहर लगे पाइप से चढ़ने की कोशिश करने लगा. बिल्कुल फिट स्पोर्ट्स कैपरी में उसके उभरे हुए चूतड़ और गदरायी हुई जांघें तो क़यामत लगती थीं. अभी तक सोनू के बारे में मैं कुछ ज्यादा आश्वस्त नहीं था कि उसके मन में मेरे लिए किस तरह की भावनाएं हैं लेकिन मैं तो उसको बहुत पसंद करने लगा था.

मैं नीचे की तरफ ही था कि उसने मेरी गर्दन को पकड़ा और अपना लंड मेरे मुंह में दे दिया. माथे पर, गर्दन पर, बगलों में, पेट पर, जांघों पर, घुटनों पर सब जगह से पसीने की गर्मी महसूस होने लगी. सौतेली मां की कहानीमुझे जैसे ही यह बात समझ आई कि चाची ने मेरी इस हरकत को समझ लिया है, मुझे बहुत लज्जा आई.

जब उसके हाथ में मेरे फुदकता हुआ लंड पकड़ में आ गया, तो रेखा उसे उमेठने लगी और मेरे चूचुक को दांतों से काटने लगी.

फिर हम दोनों विक्की के दाएं बाएं लेट गए और उसकी छाती पर हाथ फिराने लगे. अब तुझे जो करना है सो खुद कर, मैंने तुझे सही रास्ता दिखा दिया है बस!” डॉली ने बात ख़त्म की.

हमने तो अभी प्लान ही नहीं किया, लेकिन वो बहुत बार ट्राय कर चुकी है. मैंने रश्मि की चुत पर अपना लंड लगाया और एक बार में ही पूरा अन्दर डाल दिया. उन्होंने मेरा हाथ पकड़ा और फिर सनी जी को कुछ इशारा किया, तो सनी जी पीछे से आ गये.

संगीता भाभी के बारे में बता दूँ कि वो हमेशा लाल रंग की लिपस्टिक लगाकर रहती थी, जिससे उसकी सुंदरता और बढ़ जाती थी.

भाभी- चल झूठा, मैं कोई हूर की परी हूं क्या जो तू ऐसे मुझ पर लाइन मारने की कोशिश कर रहा है?मैं- भाभी आप सच में बहुत मस्त और एकदम सेक्सी हो, जब से आपको देखा है मेरी नींद गायब हो गई है. तो मैंने उठा लिया और बोली ‘हेलो’तो उधर से किसी महिला की आवाज़ आयी, वो गुस्से से बोली- कौन है?मैंने अपना नाम बताया और कहा- मैं इनकी ऑफिस स्टाफ हूँ कोई काम है तो बतायें!इस महिला ने गुस्से में फोन कट कर दिया. फिर मैंने धीरे-धीरे अपनी गति बढ़ाई और तेजी के साथ उसकी चूत की चुदाई करने लगा.

मियां खलीफा एक्सतो वो बोली- फिर क्यों रोक रहे हो?मैंने बोला- तू प्रेगनेंट हो जाएगी तो. एक हाथ से मेरे बाल पकड़ लिए और दूसरे हाथ से मेरी गांड पे ज़ोर ज़ोर से मारने लगा.

सेक्सी बीपी ब्लू ब्लू

मैंने कमल के लंड के बारे में सोच कर अपनी लुल्ली को सहलाना शुरू कर दिया. उन्होंने मुझे देखा और हैरानी से पूछा- अरे तुम … आज जॉब पर नहीं गया क्या?मैंने अन्दर आते हुए कहा- नहीं मुझे बैंक में काम था. अब मैंने भाभी को बता दिया कि मेरा लंड अब उनको चोदने की सोचते ही खड़ा हो जाता है और मुझे हस्तमैथुन करना पड़ता है, जो ज़्यादा मुझे पसंद नहीं.

अगर वो दो मिनट भी मेरे लंड को इतने प्यार से हिला देती तो मेरा लंड पिचकारी उसके सिर के बालों तक फेंक देता. फिर वो धीरे से अपने होंठों को मेरे होंठों के पास लाई और अपने होंठों को मेरे होंठों पर रखते हुए उनको चूम लिया. न … न करो … नई … ईं … ईं … ईं … ईं … तुम्हें मेरी कसम … सी … ई … ई … ई! हा.

विक्की ने जैसे ही अपना लंड चूत पर रखा, तो निहारिका पेलने से मना करने लगी. दीदी अब काफ़ी गर्म हो गई थी, मैंने आराम से दीदी की ब्रा का हुक खोल दिया और उसकी चड्डी भी उतार दी. अगले दिन सुबह…हम तीनों एक ही डबल बेड पे सोये थे।अंशु नाइटी में, उपिंदर सिर्फ अंडरवीयर में और मैं पूरी नंगी।मेरी नींद खुली। वो दोनों चिपके हुए थे और बातें कर रहे थे। मैं बातें सुनने लगी।मम्मी को बुला तो लिया पर मुझे डर है कही सारा मज़ा किरकिरा न हो जाए?”मज़ा ज्यादा आएगा.

वहां हमने 4-5 घण्टे बिताये, फिर अँधेरा होने लगा था और मौसम भी खराब था. मैंने एक बार मंजे हुए तरीके से नम्रता की गांड का अवलोकन किया और सेन्टर लेकर कई बार लंड को गांड में रगड़ता और बाहर कर लेता.

डिनर करके दोनों सीमा के फ्लैट के आधे रास्ते में ही पहुंचे ही थे कि एक साथ तेज बारिश शुरू हो गयी.

दोस्तो, ऐसे ही कुछ बातों के बाद मैंने अगले दिन बात करने का बोल कर उससे बाय बोल दिया. एक्स एक्स एक्स पुणेमैंने उसको बोला- आज सेक्स की तुम्हारी हर ख्वाहिश को मैं पूरी कर दूंगा, लेकिन तुमको मेरा कहना मानते हुए शर्माना पूरा छोड़ना होगा. मोटू पतलू की जोड़ी मोटू पतलू की जोड़ीमैं भाबी के सामने निक्कर के ऊपर से लंड को एड्जस्ट करते हुए कहने लगा- नहीं भाबी, ये तो बस आपकी रेस्पेक्ट में खड़ा हुआ है. मैंने अब ज्योति को बेड पर बैठा दिया और फूलों को उठाकर उसके चेहरे पर फेंका, तो उसने चेहरा घुमा लिया.

मैंने चार उंगलिया पेल दीं, उसने लौड़ा मुँह से निकाला और चीख उठी- आह आहह आहह …उसका एक हाथ मेरे लौड़े पे अभी भी चल रहा था.

मैंने उसके निप्पलों को अपनी एक उंगली और अंगूठे के बीच में दबा कर मसला तो वो उसके मुंह सिसकारी निकल गई. अब राहुल से भी बर्दाश्त नहीं हो रहा था, उसने ताकत लगा कर सीमा को नीचे धकेला, उसकी टाँगें चौड़ायीं और अपना फनफनाता लंड उसकी गुलाबी चूत में एक ही झटके में कर दिया. मैंने अपने आपको इतना पीछे की तरफ खींचा कि सुपारा भर उसकी सुराख में फंसा रहा.

” मैंने हल्का सा उच्छश्वास लेते हुए नोट किया कि ऐसा सुनते ही वसुंधरा की आँखें चंचल हो उठी और होंठों के कोरों पर हल्की सी मुस्कान आ गयी थी. बहुत कम समय में हम दोनों इतनी अच्छी सहेलियां बन गई कि अब मुझे उसके बिना जी ही नहीं लगता था. मैंने कहा- हां यार आज तुमको नाइटी में देखा, तो कण्ट्रोल नहीं हो रहा.

मराठी आवाजात सेक्सी व्हिडिओ

फिर उसने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ कर अपने चुत के मुँह पर सैट किया और मुझे आंख मार दी. कुछ देर बाद उस औरत की नजरें मुझसे टकराईं और उसने महसूस किया कि मैं उसे घूर रहा हूँ. जो मज़ा मुझे उन तीनों के सेक्स को देखकर आया था, उससे कई गुना ज्यादा मज़ा मुझे अब आ रहा था.

मैंने उसके कपड़े निकालने शुरू किये तो उसने मना कर दिया, कहा- दीदी यहीं है, अभी नहीं, मैं रात को आऊँगी.

मैं सामने खड़ा होकर उनको निहारने लगा, तो वो शर्मा कर अपने हाथ से चेहरा छुपाने लगीं.

मेरे गांव से पानीपत सिटी में पहुंचने के लिए 25 तो 30 मिनट लगते हैं, मैं ऑटो से जाती हूँ. अब शुभम जी ने अपनी स्पीड बढ़ा दी, जिससे मैं समझ गयी कि अब इनका भी होने वाला है. क्सक्सक्स २००२ फिल्मआज पहली बार मैंने उसको सपने में किस किया, उसको नंगी किया और उसको चोदा.

क्यूं तड़पा रहे हो मुझे मेरे जानू … मगर भाभी की चूत में उंगली करके मैं भाभी को तड़पाने का आनंद लेता रहा. बैंक अधिकारी कंप्यूटर में देखते हुए- हाँ सर, आपका लोन पूरा पे हो गया है. क्योंकि ज्यादातर लोग काम धंधे के चक्कर में बाहर अन्य शहरों में कमाने चले गए थे.

लगभग पंद्रह मिनट तक तो हम एक-दूसरे के साथ चुम्मा-चाटी में ही लगे रहे. अभी तक आपने पढ़ा कि मेरी रंडी बहन मुझे चुदाई के खेल में खेल रही थी मैं उसके साथ वाइल्ड सेक्स कर रहा था, जोकि उसी की पसंद थी.

कभी मैं धक्के बंद करके सिर्फ उसको किस करता, कभी उसके चुचे को ब्लाउज के ऊपर से ही दबाता था.

अब वह खुद भी नंगा हो जाता था और अपना लंड मेरे हाथ में थामकर मुझे कहता था- इसे सहलाओ. राहुल ने सीमा के चूतड़ों के नीचे एक तकिया लगाकर सीमा की चूत को अपने और पास किया और लगा अपनी बुलेट ट्रेन को चलाने. जब मैं अपना हाथ उसकी पैंटी पर ले गया, तो पैंटी पूरी गीली हो चुकी थी.

सेक्सी सेक्सी वीडियो साड़ी वाली ”मैंने उन्हें अंदर बुलाया, सोफे पर बिठा के उन्हें पानी दिया, दोनों लगभग नितिन की ही उम्र के थे।” सॉरी भाबीजी … आप को खामखा तकलीफ दी. मेरा मन तो कर रहा था कि उसके लंड पर दो चार थपेड़े मार कर उसको चोद दूँ.

मैं तो चूचियों से मजा ले रहा था और वो बार बार अपने चूतड़ पीछे खिसकाकर चूत को लण्ड से छुआना चाहती थी. हम दोनों ने बाथरूम में एक दूसरे को साफ़ किया और उसके बाद हम दोनों एक दूसरे को देख कर स्माइल कर रहे थे. फिर मैंने ज्योति के पीछे से जाकर उसके बालों को एक हाथ से हटाकर उसके गले के हार को खोला.

सेक्सी मूवी ब्लू फिल्म ब्लू

भाभी भी एकदम से गर्म हो गईं और देखते ही देखते मैंने उनके सारे कपड़े उतार दिए. वह हंसने लगी और बोली- भाग यहां से!मैंने अंगड़ाई सी लेकर आंटी के सीने पर हाथ रख दिया और सीधे ही अपने होंठ उसके होंठों पर रख कर चूसने लगा. आप एक मिनट! ज़रा अंदर आयें … प्लीज़!” वसुंधरा की धीमी सी इल्तज़ा मुझे सुनाई दी.

उसके बाद सोनू ने आखिरकार मेरे लंड को खींच कर बाहर निकाल लिया और उसको अपने हाथ में लेकर टोपे को आगे-पीछे करने लगी. अन्तर बस यह है कि उस दिन तुमने टॉयलेट में मेरे लिए हस्तमैथुन किया था.

अंदर जाकर मैंने वहां देखा कि आंटी की सफेद ब्रा और काली पेंटी पड़ी थी। क्या सेक्सी ब्रा-पेंटी थी! मैं तो देखता रह गया।उनको देखकर तो मेरा लण्ड पूरा का पूरा 8 इंच का हो गया। मैंने ब्रा को हाथ में लेकर सूंघा और पेंटी को भी नाक से लगाकर उसकी खुशबू लेने लगा.

उन्होंने अपने हाथ से जोर से पकड़ के मेरा पूरा मुँह उनकी गांड की दरार पर घुसा दिया और बोले- चूस जोर जोर से चूस भैनचोद. मैं अन्दर आकर यही सोच रहा था कि क्या मस्त लड़कियां है, पट जाएं तो मजा आ जाए. रूम में आते ही वो मेरे को देख कर चौंक गई और बोली- तुम यहाँ?मैंने उसे अन्दर बुलाया और रूम बंद कर दिया.

मेरी ज़ेहनी हालत की बाबत वसुंधरा को सब कुछ ठीक-ठीक पता था और वो मेरी हालत पर मन ही मन आनंदित हो रही थी. ऐसा कहते-कहते उसने मेरी मां को कस कर पकड़ लिया और किस करके मेरी मां की गांड साड़ी के ऊपर से दबाने लगा. बीच बीच में वो अपने पे माथे पे आ रहे बालों को पीछे करती तो और भी सुन्दर लगती.

अगली कहानियों में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मेरी गांड चुदाई की शुरूआत हुई.

एचडी बीएफ वीडियो एचडी: करीब दस मिनट मेरा लण्ड ज्योति ने चूसा और साथ में वो अपनी एक उंगली चूत में डालती जा रही थी. अम्मी अंकल से बोलीं- आपने तो मेरी ब्रा ही फाड़ दी, ये ब्रा उस्मान के पापा ने दी थी.

बीच में ब्रेक लगाने पे वो मेरे ऊपर आ जाती थी, जिससे उसकी चूचियां मेरी पीठ से दब जाती थीं और मैं इसका पूरा मजा ले रहा था. दीक्षा का मैसेज आया- क्या कहना हैं बोलो?मैं- तुम बुरा तो नहीं मानोगी?दीक्षा- अरे बोलो तो सही … क्या बात है, मैं पक्का नहीं बुरा मानूंगी. मुस्कान अपनी ऑफिस की सहेली की शादी में गयी थी, मुझे मालूम था कि उसको वहां ज्यादा देर नहीं लगने वाली है.

अब कॉलेज में मैं सलवार सूट पहनती थी, जीन्स पहनने की हिम्मत नहीं हुई.

इधर मेरे मुहांसे भी बढ़ रहे थे जिससे मुझे खुद अपना चेहरा देखने की इच्छा ही नहीं होती थी. भाइयों बताओ … कैसा लगा मेरा गांड चुदाई का किस्सा, ये सच्ची कहानी है. ”अंकल टीवी देखने में व्यस्त हैं, ऐसा दर्शा रहे थे, पर मुझे पता था कि वो ये मौका नहीं छोड़ने वाले.