एचडी बीएफ व्हिडिओ सेक्सी

छवि स्रोत,नंगी बीएफ हिंदी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी सेक्सी हद: एचडी बीएफ व्हिडिओ सेक्सी, वो चिपक कर बैठी थीं तो उनके बड़े-बड़े चूचे मेरे पीठ पर रगड़ रहे थे.

फुल एचडी की बीएफ

उसने सुमन की प्रशंसा की और उन दोनों में गुलशन जी को लेकर कॉलेज जाते हुए बातचीत होने लगी. सेक्सी बीएफ मुस्लिम लड़कीमैंने तेरी माँ को जब सहारा दिया, जब उसके पास कोई चारा नहीं था और तुझे अच्छे स्कूल में पढ़ाया.

मैंने भी वक्त की नजाकत समझते हुए एक स्तन पर दांत गड़ा दिए, निप्पल भी काट लिए … और प्राची भाभी थीं कि दर्द से बिलबिलाने के बजाए मुझे शाबाशी देने लगीं. बीएफ हिंदी फिल्म एचडीकोमल- सच? मैं नहीं कहूँगी, पर अभी हम दोनों स्काइप पर नंगे हैं, तुम क्या कर रहे हो?मैं- मैं अभी जगा हूँ यार, 12 बजे तक तो चुदाई की, फिर थोड़ा रिलेक्स होने के लिए सो गए थे, बस अभी जगा ही हूँ.

संजय- वाह टीना कमाल कर दिया तूने अब जैसा हमने प्लान किया था, बस वैसे ही करना ताकि सुमन खिंची चली आए.एचडी बीएफ व्हिडिओ सेक्सी: जमीला ने मुझे पूछा- किसका फोन है?तो मैं बोला- कोमल का है, तेरी चूत के हाल पूछ रही है.

अब मैं उसे देखता हुआ सीढ़ियाँ चढ़ रहा था और उसे देखकर मेरा लंड तन चुका था.अचानक हुए इस हमले से मैं पूरी तरह से हिल गई और ‘आआआईईई भोसड़ी के मार डाला… मादरचोद आआह्ह ह्ह्ह्ह…’ ही बोल पाई.

पंजाबी बीएफ सेक्सी एचडी - एचडी बीएफ व्हिडिओ सेक्सी

मैं बाथरूम में नहा रही थी, मुझे ऐसा लगा कि कोई रोशनदान से झाँक रहा है.ये सब बताते हुए सविता भाभी पुरानी यादों में खोकर बताने लगींबाद में शाम को सविता भाभी ने डिनर की सब तैयारी की.

नीतू- दीदी, ऐसे कौन सा खेल होता है?मोना- तुझे लंड चूसने में घिन आ रही थी ना. एचडी बीएफ व्हिडिओ सेक्सी उसने कहा- अच्छा… मुझे भी तो बता ज़रा कैसे प्यार किया उसने तुझे… कौन है वो और कहाँ का रहने वाला है, क्या नाम है?इतने में ही बस के चलने के आवाज़ सुनाई दी और हम दौड़कर बस में चढ़ गए.

मैं- मैं आपकी कुछ हेल्प कर सकता हूँ?भाभी- ओके वो जैल लगा कर थोड़ी कमर की मालिश कर दो प्लीज़.

एचडी बीएफ व्हिडिओ सेक्सी?

साफ पता लग रहा है कि वहाँ सेक्स की ही बातें हो रही हैं और वो बार-बार पैर इधर-उधर कर रही है. मैंने अपना लंड उनकी चुत पर रखा और एक धक्का लगा दिया तो आधा लंड भाभी की चुत में सरसराता हुआ अन्दर चला गया. कुछ देर बाद भाभी बोलीं- तुम्हारे हाथों में तो जादू है, मेरे सर का दर्द एकदम गायब हो गया.

मैं बुरी तरह से चौंकी, तभी मैंने देखा कि ये कोई और नहीं मेरे अपने पापा हैं. हम लोग फिर से एक दूसरे को प्यार करने लगे तभी कुछ देर बाद दूसरे पण्डित भी नीलम के साथ आ गये, हम दोनों जल्दी से हट गये।सब कुछ सामान्य सा दिख रहा था ऐसा लग रहा था जैसे कुछ हुआ ही नहीं था. उस कमरे की लोकेशन ऐसी थी कि उसका एक गेट बाहर खुलता था, एक ड्राइंग रूम में, तथा एक अटैच्ड बाथ रूम था जो सुमन के कमरे के साथ कॉमन था.

अबकी बार दीदी ने मेरे ओवर पर पानी डाला तो मैंने उन पर पूरी बाल्टी ही डाल दी. मगर वो अंकल अजीब ही थे, मेरे पापा से उम्र में बड़े थे मगर उन्होंने शादी नहीं की थी, बस अपनी ही मस्ती में रहते थे. दोस्तो, मैं मिहिर बड़ौदा (गुजरात) से हूँ, मेरी हाईट 5’8″ है, उम्र 25 की है.

मैंने भी app इनस्टॉल किया और जयपुर का सर्च लगाया तो मुझे कुछ लड़कियाँ आई सर्च में. अब पापा एकदम नंगे थे, उनका लम्बा मोटा गुलाबी लंड हवा में लहरा रहा था.

देख मेरा लौड़ा तेरी बच्चेदानी तक ठोकर मार रहा है कुतिया आह आह उई उफ़ सी सी…वो दोनों जोर जोर से एक दूसरे को चोद रहे थे और तभी रुचिका की एक जोरदार धार अरमान के ट्टटों पे निकली मानो ऐसा लगा जैसे वो पेशाब कर रही है.

अब मैंने मोर्चा संभाल लिया, पण्डित जी चित लेट गए और मैं धीरे धीरे ऊपर नीचे करते हुए सम्भोग का मजा लेने लगी.

मैं तो भाभी के मम्मों को मस्ती से दबाने लगा और उनकी ब्रा खोल कर एक निप्पल अपने होंठों से दबा कर चूसने में लग गया. अब उनके जिस्म पर बस एक ही अंत:वस्त्र बाकी था जो उनकी काले रंग की डिज़ाइनर पैंटी थी, जिसमें से उनकी चूत उपर तक उभरी हुई नज़र आ रही थी. फिर मैंने एक हाथ से उनकी टांगें चौड़ी की, जो उन्होंने पूरी ताकत से चिपकाई हुई थीं.

जैसे तैसे दिन बीत गया पर मेरे दिमाग़ में तो बस एक ही बात घूम रही थी कि क्या मेरी बहन पहले भी किसी से चुद चुकी है?बस उस दिन से दीदी को देखने का मेरा नजरिया बदल गया, अब तो मैं भी उसे एक माल की तरह देखने लग गया और सोचने लगा कि जब मेरी दीदी दूसरों की प्यास बुझा सकती है तो मेरी क्यों नहीं!अब मैं उसे एक जवान लड़की की तरह देखने लगा. मैंने उसे अपनी तरफ खींचते हुए अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और चूमने लगा. मैं इस फ्लोर के पूरे 30 कमरों में घूम लिया था लेकिन यहाँ पर कोई भी नहीं मिला लेकिन मैंने हार नहीं मानी थी आभी मैं सीढ़ियों से होते हुए छत पर पहुँच गया.

उसने अचानक से मुझे दबोच लिया और अपनी मजबूत भुजाओ में भर लिया, मैंने भी उसे जकड़ लिया.

दोस्तो यहाँ भी अब कुछ बताने को नहीं है, तो चलो फ्लॉरा से मिल लेते हैं वैसे भी बहुत दोस्तो की शिकायत है कि मैंने फ्लॉरा को कहाँ गायब कर दिया, तो आओ उसी को देखते हैं. मेरे मुँह से जोर-जोर से चीख निकलने लगीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह…तभी मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया, पर मामा रुकने का नाम ही नहीं ले रहे थे. उसे मैं अक्सर सोसाईटी में बड़े टाइट कपड़ों में सुबह सैर करते हुए देखता था.

मैंने उससे कहा कि जब खाना परोसते टाइम तुम मेरे चुचे देखते हो, तब तुम्हें सही लगता है? जब तुम योगा करते टाइम मेरी चुत देखते हो तो तुम्हें सही लगता है?ये सब सुन कर वो डर गया और मुझसे कहने लगा कि अम्मी प्लीज़ ये बात अब्बू को मत बताना. ‘तुम नल्लों को किसने काम पे रख लिया बे… ज़रा हम भी तो सुने!’ तिवारी ने कटाक्ष करते हुए पूछा. खैर मेरा नाम आर्यन सिंह है, मैं उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में रहता हूँ, मैं 21 साल का हूँ, मेरी लम्बाई 5’8″ है, मेरे लंड की लम्बाई 7 इंच है.

फ्लॉरा अब भी टेंशन में थी, नहाने के बाद उसने एक लोंग फ्रॉक पहना था और नीचे सिर्फ़ चड्डी थी.

हम एक दूसरे से बात कर रहे थे, बातों बातों में मैंने उनसे गेट वाली बात का ज़िक्र किया कि उन्होंने मुझसे झूठ बोला, वो बोली- झूठ तो मैंने बोला है पर तुमसे नहीं. उसकी दोनों बाहें मेरे सर के दोनों तरफ थी और ऋतु के दोनों मोटे मोटे मम्मे मेरी आँखों के सामने झूल रहे थे औरमेरी बहन की रसीली चूतमेरे खड़े हुए लंड को छू रही थी.

एचडी बीएफ व्हिडिओ सेक्सी मज़ा लेने में तेरा क्या जाता है?सुमन- मगर जोश में उन्होंने आँख खोल दीं या फिर मेरी चुत में लंड घुसा दिया तो?टीना- मैं किस लिए हूँ ऐसा कुछ नहीं होगा. मैंने भी नीचे से मस्ताना की स्पीड बढ़ा दी तो जमीला बकने लगी- बहनचोद साले, फाड़ दे मेरी इस चूत को! बहुत आग लगी हुई है इसमें आहह… ओह्ह… मादरचोद साले आज 3 तीन दिन से तेरे मस्ताना के लिए तड़प रही हूँ.

एचडी बीएफ व्हिडिओ सेक्सी वैसे आपके साथ बहुत मजा आया अगर कुछ भी रिश्ता होता तो शायद बात कुछ और ही होती. वहाँ पहुँच कर मैंने देखा कि वो उसकी बीवी, और एक लड़की जो उसके चाचा की लड़की थी, साथ रहते थे.

यार मनोज! क्या होता होगा तुम्हारा इस सर्दी में बिना सेक्स के? ये बोले.

धंधे वाली लड़कियां

!भाभी- अच्छा जी, आपको फ्रेंडशिप का बड़ा शौक है!मैं- हाँ मुझे न्यू फ्रेंड्स बनाना बहुत पसंद है. मैंने उसे दर्द की वजह से लंड को बाहर निकालने को बोला, वो दो मिनट के लिए रुक गया. वो हमारा काफी लम्बा किस था, किस करते हुए मैंने उसके बूब्स भी दबा दिए थोड़े.

भाभी की इस नाराजगी भरे कमेंट्स से मुझे ग्रीन सिग्नल सा मिला, मैंने धीरे से कहा- तो हम क्या मर गए हैं भाभी?यह सुन कर भाभी एकदम से सर घुमा कर मेरी आँखों में देखने लगीं. कल दही बड़े बना दूंगी आप ले जाना!” पत्नी जी मुझसे बोलीं और चली गयीं. पांच मिनट तक हम लोग ऐसे ही पड़े रहे, फिर जब थोड़ी सांस आई तो मैंने उससे पूछा- मजा आया?वह बोली- बहुत!मैंने कहा- तूने बहुत शोर मचाया, कहीं तेरा बेटा जाग जाता तो अपनी रंडी माँ को चुदते देख कर उसे कैसा लगता?वह बोली- तेरा लंड जब मेरे अंदर गया तो फिर मुझसे रुका ना गया.

मगर हमारे काम का कुछ वहाँ नहीं हुआ तो चलो हम लोग भी सीधे पॉइंट पे चलते हैं.

शायद अब उसे इतना दर्द नहीं हो रहा था तो उसने भी मुझे नहीं रोका और हमारी चुदाई अब स्पीड में चलने लगी. फिर उसकी लंड चूसने की ललक उसको नीचे ले गई और वो मज़े से लंड को चूसने लगी. दोस्तो, मेरा नाम राज है… मैं हरियाणा का रहने वाला हूँ… मैं भी आप लोगों की तरह अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ.

चाय मैं बाद में पी लूँगा, पहले तुम थोड़ी देर मेरे पैरों की मालिश कर दो. उन तीनों के बीच बहुत खुलापन भी था, मसलन विनय रीना को चिपटा कर किस कर लेता था या और कुछ, पर कभी भी उसने कविता से एसा कुछ नहीं किया जो कविता को बुरा लगे. फिर पता चला कि भाभी अपने शादीशुदा जीवन से खुश नहीं हैं क्योंकि उनका पति उनसे बहुत लड़ाई करता था.

फिर अपने होटों की सुलगती सिगरेट मेरे होटों में फंसा कर पूछा- बोल ना जान, चलना है थाईलैंड? मजा आएगा।मैंने दिखावटी गुस्से से उसकी तरफ देखा तो उसने कहा- देख, अगर हां कहेगी तो तेरे लिए दो तोहफे हैं. खाते हुए जब सविता भाभी की सहेली ने उनसे मजाक करते हुए कहा कि मॉल का सेल्समैन आपको कैसी कामुक नजरों से घूर रहा था जैसे वो आपके कपड़े उतार रहा हो.

तो मैं अपने लिए प्लेट लेने चला गया, मैं प्लेट ले रहा था तो वहाँ दुल्हन की बहन भी प्लेट लेने आई तो मैंने उन्हें प्लेट उठा के दी और उस हादसे के लिए माफी माँगी तो उन्होंने भी इट्स ओके कहा और कहा- अगली बार ध्यान से, आज तुम्हारे मस्ती में मुझे चोट लग सकती थी. कुछ ही धक्कों बाद भाभी भी कहने लगीं- आह मजा आ रहा है…भाभी को अच्छा लगने लगा और वो सिसकने लगीं- आअहह एमेम नहीं… बस ऐसे ही राजा और चोदो मुझे… ओफफ्फ़ प्लीज़ फास्ट हाय… क्या मजा आ रहा है. माँ ने भी अपने पैरों को फैला दिया और मेरे सिर के बालों पर हाथ फेरते हुए मेरे चेहरे को अपनी चूत पर दबाया.

इस समय तक स्वान बार्बी डॉल के नीचे से निकल कर अपने घुटने गद्दे पर टिकाए उसके पीछे पोजीशन बना चुका था.

मैंने उसके मम्मे चूसने शुरू कर दिए और एक हाथ से उसकी गांड सहलानी शुरू कर दी. मैंने भी एक टेबल पकड़ कर बियर के लिए बोल दिया और बियर पीते पीते व्हाट्सऐप पे मेसेज चेक करने लगी. ड्यूटी रूम में कोई फर्नीचर नहीं था अतः मैं खुद खड़ा हो गया। एक पलंग था व मात्र एक चेयर भाई साहब को बैठने को पलंग पर कहा। पर वे खड़े ही रहे.

मेकअप वगैरा होने के बाद हमने एक दूसरी को निहारा तो अनजाने में ही एक दूसरी से हम जल उठी. कैसे उन दोनों ने मुझे चोदा और कैसे उन्होंने मेरी जवानी के रस का आनन्द लिया.

उसकी मादक सिसकारियाँ और तेज़ हो रही थीं और वो लगातार बोले जा रही थी- और जोर से. वो बोली- अरे आपको हिम्मत की ज़रूरत, आप चार हो, हिम्मत तो मुझे चाहिए, मैं तो अकेली हूँ. मैं बोला- तुम्हारे घर के सब लोग कहाँ गये?तो बोली- भैया की तबियत खराब हुई रात में, तो मम्मी अस्पताल गयी हैं, भाभी है बस, वो तो दूसरे रूम में सो रही हैं.

पाकिस्तानी बीपी पिक्चर

तुम मेरे दूध दबा रहे थे।फिर मैं बोला- वो तो गलती से दब गया था।‘अच्छा.

सुमन- थैंक्स दीदी, मगर इससे पापा कहीं मेरे लिए गंदा सोचने लगे तो?टीना- वो तो उसी दिन उन्होंने सोच लिया, जब पहली बार तेरे चिपकने से उनका लंड खड़ा हुआ था. उसने कहा- ठीक है, मैं इससे ज्यादा लंड अंदर नहीं डाल रहा हूँ, इतने में ही चोद दूंगा!क्योंकि उसको भी डर था कि कहीं दर्द के कारण मैं पूरा लंड बाहर ना निकाल दूँ जो बड़ी मशक्कत के बाद अंदर गया था. मैं अपने घर गया तो माँ किचन में थी, मैं बाथरूम में घुस गया और नहा लिया.

टीवी देखते देखते अचानक से मामा ने मेरे टॉप में हाथ डाल कर मेरी ब्रा के ऊपर से मेरे चूचों को दबाने लगे. गुलशन- क्यों फ्लॉरा हो गई तसल्ली? अब तो तैयार हो ना मेरे अजगर को लेने के लिए?फ्लॉरा- तैयार तो इसको देखा था, तभी हो गई थी मगर ऐसे डाइरेक्ट ही घुसाओगे क्या. लेडी सेक्सी बीएफमामा का लंड का सुपारा मेरी चूत में रगड़ मार रहा था, मामा भी पीछे से मेरी गांड को पकड़ कर ऊपर-नीचे कर रहे थे.

मेरी रात में उससे बात हुई, उसने बताया- मैंने ड्रेस पहन कर देखी है, मुझ पर बहुत अच्छी लग रही है… थैंक्स. फिर मेरी बहन और पूजा दोनों मेरे रूम में आ गई और हम सब टी वी देखने लगे, पूजा और मेरी बहन बेड में लेट गई और मैं साइड में बैठ गया.

अब मुझे समझ में आ चुका था कि आज मुझे कोई जवान मर्द नहीं मिलेगा और मेरी लंड की प्यास अब नहीं बुझेगी. कुछ मिनट बाद मनीष ने अपनी स्पीड बढ़ा दी और मेरी चूत में जोर से पिचकारी मार कर अपने वीर्य से मेरी चूत को गीला किया. फिर मैंने एक हाथ से उनकी टांगें चौड़ी की, जो उन्होंने पूरी ताकत से चिपकाई हुई थीं.

उसके थोड़ी देर बाद वही लड़की दो और लड़कियों के साथ और उन दोनों के साथ दो हट्टे कट्टे पहलवान टाईप के आदमी, जिसमें से वो एक भी था जो दो बार कमरे में आया था और उनके साथ-साथ एक बहुत ही खूबसूरत औरत और एक लम्बा सा आदमी जो बहुत ही हैंड्सम था. उस दिन उन्होंने नेट का एग्जाम देने का बहाना करके पूरे दिन का समय निकाल लिया था हमारे मिलन के लिए और मुझे भी बुला लिया था. आपने मेरी कामुकता भरी हिन्दी सेक्सी कहानी में पढ़ा कि मैं अपने बेटे के घर में हूँ, मेरी बहु पूरी खुल कर चुद कर अपनी प्यास और मेरी कामुकता का इलाज कर चुकी है.

मेरे पास ही एक खाली कुर्सी पड़ी थी, मुझे लगा के वो कुर्सी लेकर जाएगी पर उसने मुझे देखा और वो वहीं बैठ गई.

अब उसकी चूची और चूत नंगी थी, उसने अपनी टांगों को थोड़ा खोलने की कोशिश की और मेरे फनफनाते लंड को अपनी चूत पर खड़े खड़े अड़ा लिया. पापा ने मेरी चुत की घुंडी पर अपना लंड रगड़ा और तभी पापा का लंड मेरी चुत में एकदम से समा गया.

उसने बातों-बातों में मुझसे पूछ लिया कि तुम मुझे देखते क्यों रहते हो?यह सुनते ही मेरे तो तोते उड़ गए. हम जैसे ही पानी में उतरे, रिया को राजीव, मॉन्टी और राहुल ने घेर लिया और मनीष और यश ने मुझे अपनी ओर खींच लिया. मैंने कुर्ती के पीछे की ज़िप खोलना चालू की, लेकिन टाइट थी तो थोड़े झटके लगे लेकिन ज़िप खुल गई.

फिर थोड़ी देर बाद वो खड़ी हुयी और मेरा लंड अपने मुख में लेकर साफ़ कर दिया. उन्होंने अपनी साड़ी उतार दी और वे सिर्फ़ ब्लाउज और पेटीकोट में मेरे सामने औंधी लेट गईं. उन्होंने मेरे अकाउंट में रूपये भी डाल दिए थे ताकि मैं आराम से आ सकूँ और रहने के लिए होटल का इंतजाम भी कर लूँ अच्छे से.

एचडी बीएफ व्हिडिओ सेक्सी वैसे तो गुलशन जी कपड़ों के ऊपर से मज़ा ले रहे थे, मगर उनका मन था कि वो सीधे सुमन के नंगे चूचों को मसल कर मजा लें और सुमन भी यही चाहती थी. दो घंटे के सफर के बाद हम सब चंडीगढ़ नहीं, बल्कि पंचकुला गए, वहाँ पे हमारा एक और दोस्त था, जिसे हमने सारी ज़िम्मेवारी सौंपी थी.

देवर भाभी के सेक्सी पिक्चर

मैंने भाभी को किस किया और अपनी पोजीशन लेकर एक जोर का धक्का दे दिया. कई बार मन में आया कि ये मंगलवार का व्रत नहीं करते और बहू रानी की जवानी का भोग लगाते हैं. बस मौका मिलना चाहिए फिर नहीं देखते कि सामने कौन की चुत है।संजय- क्या बात कर रही है साली पूरा लंड ले सकती है.

वो स्कूल से आते ही सीधे मेरे रूम में घुसी और मुझसे लिपट गई और मुझसे पूछा- तुमने देखा… कैसा लगा… मजा आया या नहीं… बोलो?मैंने कहा- अरे हाँ, मैंने देखा और बहुत मजा आया. मैंने अपनी जीभ को उस क्लिट के ऊपर हल्के से फेरा तो माँ का पूरा बदन कंपकंपा गया. बीएफ वीडियो गांव की लड़कियों कीसुनो, मैं जब स्कूल में थी, तब मुझे अंकल का व्यवहार अलग सा लगने लगा.

”मैं टीशर्ट के ऊपर से ही उसकी गर्दन और क्लीवेज पे किस कर रहा था और नाभि को सहला रहा था.

मगर वो कुछ बोली नहीं और बस देखती रही।आदमी चाहे कितना नशे में हो मगर एक कच्ची कली के हाथ का स्पर्श लौड़ा भली-भाँति समझता है और उसके बाद आपको तो पता ही है ना. मैंने सबीना को बीयर की बोतल दी और उसको अपनी चुचियों पर बीयर डालने को कहा.

मेरी दोनों टांगें ऊपर कंधों पर रखीं और फिर से अपना लंड मेरी गांड में डाल दिया. अब मैं उसे देखता हुआ सीढ़ियाँ चढ़ रहा था और उसे देखकर मेरा लंड तन चुका था. यह सब देखकर मुझे भी थोड़ी हिम्मत आई और मेरी जान को सुकून आया कि मुश्किल से ही सही लेकिन लंड मिलने की उम्मीद तो जागी.

लेकिन जब वो दोपहर को सो रही थीं तो मैंने उनकी पैरों में गुदगुदी की, लेकिन जब कुछ हलचल नहीं हुई तो कुछ आगे बढ़ा और दीदी की जाँघों तक पहुँच गया, पर वहीं रुक गया.

ऐसा क्या करोगे तुम?अतुल- जाने दो नहीं तो बुरा मान जाओगी और वैसे भी बीवी के सामने साली को छेड़ना अच्छी बात नहीं है. अब वो अब अपनी पूरी आन बान और शान से फहरा रहा था रानी बहू रानी की चूत के सामने!‘वाओ… ग्रेट!’ रानी चहक कर बोली और मेरा लंड थाम लिया अपने हाथ में फिर इसे ऊपर नीचे कर के चार पांच बार मुठियाया और इसे मसल कर दबा कर इसकी कठोरता को परखा और संतुष्ट होकर मेरी तरफ मुस्कुरा के देखा. मैंने पण्डित जी के हाथ को थोड़ी देर में अपने दायें स्तन पर महसूस किया.

हिंदी बीएफ सेक्सी देहाती गांव कीसांचे में ढला हुआ बदन, गोरा गुलाबी रंग जैसे दूध में केसर घोल दी हो! वासना की अगन में जलती हुई नवयौवना का मादरजात नंगा बेदाग़ जिस्म मुझे जैसे चीख चीख कर पुकार रहा था कि आओ और रौंद डालो मुझे…उसके दोनों पुष्ट स्तन भी अभिमान से जैसे सिर उठाये मुझे चुनौती देने के अंदाज़ में तने हुए थे. मैं वापिस आकर सो गया कि कल घर जाकर इसके मोबाइल पर चुदाई की रिकॉर्डिंग देख लूँगा.

पंजाबी एक्स व्हिडीओ

जब हम दूसरी मंज़िल पर गए तो वो लड़की मुझे फिर से दिख गई और मैं नज़रें झुका कर तीसरे कमरे में चला गया. इसके बाद हम ससुर बहू के सेक्स सम्बन्ध बन जाते हैं और मैं उसे कई बार और चोदता हूं. तभी मैंने अपनी जुबान उनके मुंह में डाली और वो मेरी जुबान को चूसने लगी.

आपने कभी किसी पे पैसे का रोब नहीं झाड़ा। मेरी जैसी अटेंडेंट को भी सहेली बनाया। आपने यहाँ जो भी किया, वो खुलकर किया, ना कि पैसे वसूलने के लिए किया। रिसोर्ट मैंनेजमेंट भी आप दोनों की कायल हो चुकी है. मगर तू करेगी क्या? कुछ तो तेरे दिमाग़ में होगा ना!सुमन- नहीं दीदी मेरे दिमाग़ में कुछ नहीं है. हेमा ने सुमन की तरफ गुस्से से देखा- तेरे दिमाग़ में ये बात आई कैसे?सुमन- माँ बस ऐसे ही ख्याल आ गया अगर आप नहीं बताना चाहती तो कोई बात नहीं.

मैंने उसकी चुत को पेंटी के ऊपर ही किस करके उसकी जाँघों को चाट कर टाँगों को चूमा. रात को मैं अपने कमरे में लेटा हुआ था और आज मैंने सोच ही लिया था कि आज तो कैसे भी करके कुछ जरूर करूँगा. मैंने कहा- नहीं भाभी, मैं आपके सिवाय किसी और की चूत में अपना लंड नहीं दूंगा.

वे बहुत प्रसन्न दिख रहे थे।उन्होंने बताया- वे जिस लड़की अपनी बहन की सगाई करने तब आए थे आज उसी की शादी है. गुलशन जी ने उसे धमकी दी कि अगर वो उसके खिलाफ गई तो वो उसकी माँ का इलाज बंद करवा देंगे, फिर वो कभी ठीक नहीं होगी और उसको भी घर से निकाल देंगे.

दोस्तों अब विदा लेती हूँ, आगे की गांड मराने की कहानी अगले भाग में लिखूँगी.

फिर भी वो कोई 5 इंच का दिख रहा था मगर उसकी मोटाई वैसी ही थी जिसे देख कर सुमन बस उसमें खो गई. सेक्सी बीएफ चुदाई बीएफतू कह तो रहा है उन्होंने तेरी भी मारी। चलो मेरी भी मार दी कोई बात नहीं।फिर वह- बोला सर, पर मुझे चैन नहीं पड़ेगा. सनी लियोन का बीएफ एक्स एक्स वीडियोऔर फिर मेरी किस्मत से एक बार इस बूढ़े को टाइफाईड हुआ और उसे अस्पताल में भरती किया गया. मैंने भी करवट ली और अपनी जांघ उसकी दोनों जांघों के बीच में फंसा दी, और उसकी चूत पर अपनी जांघ रगड़ी.

भाभी एकदम मदहोश हो गई और झट से मुझे नीचे पटक कर मेरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगी.

आआ स्स्स्स स्स्स्स… समीर आआआअ धीरे… काटो मत आआआ स्सस्सस्स… इतनी जल्दी क्यों मचा रहे हो, यार मनोज कभी भी आ सकता है… आआआअ आआअ चूत पे लगाओ लंड… आआआअ धीरे चोदो… उम्म्मम्म आआआ स्सस्सस्स आआआअ!”आआआ आआआ स्स्स्सस्स्स्स चूसो मेरा लंड!”आआह टेस्टी है… मैं सारा पानी पी जाऊँगी. उनसे किसी ना किसी बहाने चिपक, तेरे जिस्म की गर्मी उन्हें महसूस करा. तो मैंने उससे बात नहीं की, क्योंकि मैं नहीं चाहता कि मेरी वजह से उसे कोई तकलीफ हो.

भाभी के मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं और वो बोलने लगीं- अब मत तड़पा रे. उनकी नंगी गुदाज चूचियों को मैं अपने हाथों से दबाते हुए उनके होंठों से अपने होंठों को अलग किया. आज की कहानी विनय और रीना की है, जिनकी शादी छह महीने पहले ही हुई है.

बीपी एक्स एक्स एक्स हिंदी

लाल रंग की साड़ी और नीले रंग का ब्लाउज, माथे पे डाला हुआ वो उनका पल्लू और उनका वो बोड़मपना उसको और भी कामुक बना रहा था. मूवी शुरू होने के थोड़ी देर बाद उसने मेरे कंधे पर सर रख लिया और मूवी देखने लगी. जॉय और ममता अब जॉन के आ जाने से बहुत खुश थे और फ्लॉरा भी स्कूल से आकर बस जॉन के साथ ही ज़्यादा से ज़्यादा समय बिताती थी, भाई-भाई की रट लगाती रहती और नई-नई फरमाइशें करती.

कहाँ पे मिलना है, बोलिए?उन्होंने अपने घर का एड्रेस दिया और बोलीं- आधे घंटे में आ जाओ।उसके बाद क्या था.

” चन्दन ने सासू माँ के शरीर की तारीफ़ की तो सासू माँ एकदम किसी कमसिन लड़की की तरह शरमा गईं.

मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा लिया और लंड डाल कर रुक गया. मैंने उसके मुँह पर हाथ रख कर एक झटका और लगा दिया इस बार पूरा लंड अन्दर हो गया था. सेक्स बीएफ अंग्रेजों कीफिर मैंने उसके एक बूब को मुँह में डाल लिया और वो मदहोश हुए जा रही थी…फिर उसने अपना हाथ पैन्ट के ऊपर मेरे लंड पर रख दिया और लंड को सहलाने लगी, उसने मुझसे कहा- मुझे आपका देखना है.

कॉलेज के बाद सब अपने अपने घर की तरफ़ निकल लिए मगर आज सुमन और टीना के साथ फ्लॉरा भी आ गई और ये तीनों टीना के घर में आ गईं. बाहर जा के मैंने मेरे और बहूरानी के रिश्ते के बारे फिर से गहराई से ऐ टू जेड सोचा; मेरे दिल ने भी गवाही दी की ‘जाने दो जो हुआ सो हुआ’. रास्ते में मेरा भाई मेरी स्कर्ट के नीचे से मेरी चुत में उंगली कर रहा था.

इसके अलावा ऐसी जगहों पर सेक्स करने की जगह भी मिल जाती है और रात में तो अस्पताल में ज्यादातर लोग फ्री ही होते हैं, उनको कोई काम भी नहीं रहता और अकेले मर्द मिल भी जाते हैं जिनको फंसा सको… दिन में तो यह असंभव सा ही होता है. मैं पिछले 5 सालों से चैटिंग कर रहा हूँ लेकिन कोई लड़की मुझसे पटती ही नहीं थी.

मैं पेपर लिखने बैठा, वो पीछे से कभी मेरे पैर को धक्के मारती तो कभी मेरी पीठ को हाथ लगाती.

उसको कहने की ज़रूरत नहीं पड़ी, मेरे बैठते ही उसने मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ा और मेरे लंड के टोपे को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. मैं कल तुझे तेरी चड्डी सुखा कर दे दूँगा ठीक है ना!पूजा ने एक बार फिर संजय को हग किया और भागती हुई वहाँ से चली गई।संजय ने उसकी पेंटी को अपनी अलमारी में रखा और खुद भी रेडी होकर निकल गया।ये सब टीना बड़े ध्यान से सुन रही थी।संजय- अबे साली पहले तो बहुत चपर-चपर कर रही थी. मेरे लंड का सुपारा उसकी मुनिया में जा फंसा, थोड़ी तकलीफ तो उसे हुई, पर उसने कोई परवाह नहीं की.

बीएफ सेक्सी दोस्त फिर उसने मेरी तरफ देखकर कहा- निकी, एक काम करते हैं!मैंने कहा- क्या, बोल?फिर उसने नजर घुमा कर खिड़की से बाहर देखते हुए कहा- जब हम घर पहुंचेंगे तो तू अपने बैडरूम में सोना, मैं और पीटर मेरे रूम में सोएंगे. दोस्तो, आपकी पिंकी आ गई है आज का पार्ट लेकर या ऐसा कहूँ तो ज़्यादा अच्छा लगेगा कि इस कहानी का आख़िरी पार्ट लेकर आई हूँ.

यहाँ का हर कमरा काफी सुरक्षित भी था क्योंकि यहाँ पर कोई आता जाता नहीं था. ”हाँ, मन तो चोदने का है पर धीरे धीरे… कुछ कपड़े पहन लो ताकि मैं खुद एक एक कर के तुम्हारे कपड़े उतारूँ, तुम्हे नंगी करूं, फिर तुम्हारी चूत चोदूं!”तो मैं अपने कपड़े पहन कर आती हूँ. इस दौरान अनिता छुट्टियों में घर आती मगर गुलशन जी उससे कम ही बात करते थे.

गपा गप वीडियो

अब मैं उसके पेट पर किस करने लगा और धीरे से सलवार का नाड़ा भी खोल दिया. खैर मैं लंड को चुत के मुँह पर लगा कर चाची के पेट के तरफ झुकते हुए कमर को दबाया, इस बार लंड पर तेल लगे होने के कारण लंड चुत के अंदर होने लगा. साले मादरचोद तुझको भी तो मजा आ रहा होगा? और ज़ोर से पेल अपने लंड से मुझे, साले भड़ुए हरामी, और ज़ोर से मार, अपना पूरा लंड अपनी माँ की चूत में घुसा कर चोद.

6 फिट का जवान मर्द… गांव वाला मस्त बदन चौड़ी हथेली वो भी कड़क… बदन पर नर्म कपड़े वाली कॉटन की महंगी शर्ट जिसके खुले हुए बटन से दिखती हुई छाती और मोटी बाजू जो शर्ट में अलग ही अपनी जगह बना रही थी. मैंने जल्दी से उसकी ब्रा भी खोल दी और अब उसकी चूचियों को मैं जोर जोर से दबाने लगा वह बस आहें भर रही थी ‘आअह रोहित… उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ और बार बार ऊपर की तरफ देख रही थी कि कहीं उसका बेटा देख तो नहीं देख रहा.

इस घटना के बाद सविता की फ्रेंड्स को मालूम हो गया था कि सावी ने एक बार स्कूल की पिकनिक में भी रवि से चुदाई करवाई थी.

आपने चोद चोद कर मेरी हालत खराब कर दी, तब कहीं आपका पानी निकला और वो भी इतना ज्यादा कि जैसे किसी घोड़े का पानी हो. अभी तू ऐसे ही चली जा और चुपके से दूसरी पहन लेना, किसी को बताना मत ओके. माँ तुम्हारी चूत बहुत मजा दे रही है और इसने मेरे लंड को अपने अंदर कस लिया है.

आपके लंड के बिना मुझे सुकून कहाँ मिलता है, अब तो मैं उसकी आदी हो गई हूँ।संजय- अच्छा ये बात है. हम पांच दोस्त हैं, हम सबका दिल आ गया दोनों पे! तुम दोनों बहुत सेक्सी हो यार!रिया और मुझे अच्छा खासा झटका लगा. ’ओह वाउ क्या मज़ा आ रहा था। उनके चूचे ही ऐसे थे, जिसे देखके कोई भी मर्द का खड़ा हो जाएगा।उसके बाद मैंने भाभी को बिस्तर पे लिटाया और उन्हें किस करने लगा। पहले गले पर और फिर से उनके मम्मों को चूसने लगा, चाटने लगा। इतना ज्यादा चाटने लगा कि मेरे थूक से उनके चूचे पूरे गीले हो गए।मैं- भाभी कैसा लग रहा है?काजल- चूसते रहो प्रिंस.

मस्त लग रहा था यार वह… जवान गाँव वाला मर्द… नया माल… हट्टा कट्टा, ऊंचा पूरा जवान जमींदार अपने मूसल हथियार जैसे लंड के साथ मेरे सामने खड़ा और चोदने को तैयार…अब मैंने हिम्मत की और सोचा कि ऐसा मौका किस्मत वालों को ही मिलता है, मैं इस जमींदार की औलाद से मस्त आनन्द जरूर लूँगा.

एचडी बीएफ व्हिडिओ सेक्सी: वो दिन मैं कभी नहीं भूल सकता कि कैसे मैंने अपनी गर्लफ़्रेंड को चुदाई के लिए मनाया था. ये सब यहाँ क्यों रख दिया तूने? ये सब अन्दर ले जा।सुमन- अन्दर क्यों.

मैं चाची की मस्त जाँघों पर बिल्कुल झुक गया था और एक किस उनकी जांघों पर किया. तो मैंने कहा- फिर मैं दूध कैसे पीऊंगा?बोली- सिर्फ़ ऊंचा करके कर लो. एक दिन मैं जॉब पर से रात को 10 बजे घर आ रहा था तो रास्ते में एक खूबसूरत लेडी खड़ी थी जो शायद बस का वेट कर रही थी.

सासू माँ जमाई के सर को जोर-जोर से अपनी चुत पर दबाने लगीं और जमाई भी जोश में आकर सास की चूत को चूसने लगा.

वो थोड़ा सोच कर बोली- कोई दिक्कत तो नहीं होगी?मैंने कहा- अगर मैं तुम्हारा नाम मंजीत भी लिख दूँ, तो हिंदुस्तान में कितनी मंजीत हैं, किसी को क्या पता, चंडीगढ़ की जगह, दिल्ली, मुंबई कुछ भी लिख दूँ, किसी को क्या पता!वो बोली- आप ऐसा करो, पहले आप आज हम सब ने जो किया है, उसकी कहानी लिख कर छपवाओ, जब वो कहानी मैं अन्तर्वासना पर पढ़ लूँगी, तो फिर आपको अपनी कहानी बताऊँगी. दोस्तो मैं वहीं खड़े होकर उन्हें झाँक कर देखता था और मुठ मार लिया करता था. दोस्तों, आप मुझे मेरी इस बाप बेटी सेक्स स्टोरी पर कमेंट्स कर सकते हैं.