बीएफ मौसम

छवि स्रोत,हार्ड सेक्स वीडियोस

तस्वीर का शीर्षक ,

नहाने सर्दी जोक्स: बीएफ मौसम, ये मुझे उसके पैंट में बने तम्बू से साफ़ समझ आ रहा था।फिर वो मेरे पैरों पर हल्के से मालिश करने लगा।मैंने कहा- देवर जी हां.

ब्लू फिल्म भेजिए हिंदी में

मैंने कहा- धन्यवाद अंकल जी…कह कर मैं आने जाने वालों से रेलवे लाइन पूछता हुआ उसके बताए रास्ते पर चलने लगा. ಎಚ್ಡಿ ಬಿಎಫ್उसने देखा कि ऋतु ने मुझ से कुछ कहा और कुछ मिनट बात करने के बाद ऋतु का भाई झटके से अलग हुआ और अपने हाथ हवा में उठाकर मना करने के स्टाइल में कुछ बोलने लगा.

नीचे से चंगेज़ हौले-2 अपने लंड को जड़ तक गांड में चढ़ाता जा रहा था, तो ऊपर से रुस्लान छोटी सी झिर्री को चौड़ा – और – चौड़ा करते हुए अपने विकराल लंड को आधे से अधिक गांड में पेलने लगा था और मेरी पत्नी मेरी तरफ देखते हुए शानदार मुस्कराहट के साथ दो भारी-भरकम लंड अपनी गांड में पिलवाते हुए गर्व का अनुभव कर रही थी. रानी के सेक्सी वीडियोआज की कहानी मेरी फ्रेंड प्रियंका त्यागी की है, जो मेरी रूममेट भी है.

मैंने चूत पर नीचे हल्का सा दबाव महसूस किया और इतने में लंड फच से चूत के अन्दर घुस गया.बीएफ मौसम: अनिता झड़ गई मगर गुलशन जी का लंड चुदाई में लगा रहा, पता नहीं उस लंड में कितना पॉवर था, वो एक ही स्पीड से चुत की माँ चोदने में लगे हुए थे.

जान!वो भी ‘ऊऊ ऊउऊ ऊऊ’ की आवाज के साथ चूसती जा रही थी, मेरे लंड में खिंचाव आने लगा था, वो अंतिम छोर तक खड़ा हो चुका था.मुझसे अब रहा नहीं जा रहा था, मैंने अपने होंठ उसके सूखे होंठों पर रखे और चुम्मा लिया, फिर होंठों को चाटने लगा.

बांग्ला में सेक्स वीडियो - बीएफ मौसम

मैंने सोचा था कि जब शालू के साथ ऐसा चुदाई का कोई मौका मिलेगा तो उसको ज़रूर गिफ्ट करूँगा.अपने नये दोस्तों को बता दूँ, मेरा नाम जाह्नवी है, मैं दिल्ली में रहती हूँ उम्र 25 है, सेक्सी हूँ, मस्त हूँ.

आपको यह शक कैसे हुआ कि मैं मुंबई में किसी से सम्भोग करता था?चाची ने मेरा मुख चूमते हुए कहा- मेरे राजा, तुम्हारा यह राज मैं किसी को नहीं बताऊंगी यह मेरा वादा है तुमसे. बीएफ मौसम मैंने पूछा- क्या हुआ भाई?सुमित बोला- यार क्यामस्त चूत है साली की, नर्म, गरम, गीली और टाईट.

तभी फ़ौरन गुलशन ने उसके मुँह पे हाथ रखा और आधे लंड को फँसाए हुए ही उस पर लेट गए.

बीएफ मौसम?

अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि मोना को एक साधु की वजह से कुछ चिंता हो गई थी और वो काका से इस समस्या के बारे में कुछ जानना चाह रही थी।अब आगे. क्योंकि ऐसा मुझे पहली बार महसूस हुआ है इसलिए मैं नहीं जानती कि उस झुरझुरी एवम् हलचल को क्या कहूँ आनन्द या संतुष्टि या फिर दोनों?मैंने चुटकी लेते हुए मुस्करा कर माला से कहा- ऐसा करो, इसके बारे में अम्मा जी से पूछ लो. नेक्स्ट टाइम करेंगे।तो वो बोलने लगे- फिर इस खड़े लंड को नेक्स्ट टाइम तक कैसे रोकेंगे?तो मैंने कहा- तुमको और मज़ा चाहिए?उन्होंने कहा- हाँ।तो मैंने कहा- जैसा मैं बोलती हूँ वैसा करना, कुछ एक्सट्रा करने की ज़रूरत नहीं है।उन्होंने कहा- ओके बेबी.

मैंने उसे चाटकर साफ कर दिया।फिर मैं उसके पैरों के बीच में बैठ गया और अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा। उसने मेरे लंड को पकड़ा और मुझे कुछ देर रोक दिया। मैंने कुछ देर के बाद लंड को चूत के मुँह पर सैट किया और एक झटका मारा लेकिन लंड ऊपर की तरफ़ फिसल गया. हम सबने एक साथ मस्ती करने का प्लान बनाया था मगर लास्ट मोमेंट मेरे पीरियड की वजह से सब चौपट हो गया।संजय- टीना हद है यार. फिर उसने हिला-हिला कर मेरा पानी निकाल दिया और उसको हाथ में लेकर चाट गई.

फिर मैंने सीमा दीदी की कुर्ती उतार दी और ब्रा का हुक भी खोल दिया और सीधे कर उसकी ब्रा से उसके चूचों को आज़ाद कर दिया. लेकिन उसने तुरंत अपना हाथ हटा दिया। मैंने दोबारा से उसका हाथ लंड पर रख दिया. बहुत सेक्सी लग रही थीं। मैंने झट से आंटी को हग कर लिया और अपने होंठों उनके होंठों पर रख कर किस करने लगा। मैं एक हाथ से चूचे और दूसरे हाथ से उनकी गांड दबाने लगा। आंटी मादक सिसकारी निकालने लगीं- ऊओह साहिल कम ऑन.

उसकी चूत बिल्कुल गुलाबी रंग की थी, उस पे बाल नहीं थे, उसने आज ही साफ किये थे और उसकी चूत बिल्कुल मुलायम थी. मगर उम्र और हाईट से कुछ नहीं होता, पसंद सबकी अलग होती है और वो इतनी दूर से आई है तो क्या अपने कपड़े नहीं लाई होगी?गुलशन- अरे तू तेरी पसंद के ले.

तो देखा कि वो लड़की 12 से 15 cm लम्बे लंड को आसानी से चूत में ले रही है।फिर मामा ने वीडियो बंद कर दिया, अचानक से मेरी नज़र मामा के लोवर पर गई। मैंने देखा लोवर के अन्दर से मामा का लंड तन गया है.

मेरे पास इनके फ्लैट की डुप्लीकेट चाबी है, सोचा कि तुम लोग आओगे, तब तक नहा लूंगी और दिन भर दोनों ननद भाभी तेरे मस्ताना का मजा लेंगे.

ये कुछ ज़्यादा वलगर हो रहा है।फ्लॉरा- कोई बात नहीं यार सच कहूँ तो ऐसी वलगर बातें पार्टी में होती हैं तो उसका अलग ही मज़ा आता है।सबकी नज़रे बस फ्लॉरा को घूर रही थीं. माँ ने कहा- अशोक, कहाँ जा रहा है?मैंने कहा- माँ चाची को सूई देना है, बस दे के आ जाता हूँ. वो औरत हल्के से हंसी और बोली- वो लड़की से साथ गया है, अब वो एक डेढ़ घंटे बाद ही बाहर आएगा बाबू!तो इसलिए आपने मेरी हंसी उड़ाई है, मैं समझ गया.

उसने बताया- इससे एक तो सफाई रहेगी, दूसरे करते वक्त तुम्हें तकलीफ़ नहीं होगी, तीसरा तुम्हारा लिंग लम्बा तथा मोटा हो जाएगा. मेरी चूत तो पहले से ही गीली थी इस लिए लंड का 4 इंच का मोटा सुपारा मेरी चूत के दोनों होंठ खोलता हुआ अंदर घुस गया. जैसे उस वीडियो में वो आदमी चाटता है, फिर तो विश्वास हो जाएगा न?’ मैंने कहा.

लड़कों में?ये बात सुनते ही वो मेरा मुँह देखने लगा।मैंने कहा- बता बता.

घर आकर शाम को जब मेरे पति आये तो उन्होंने आते ही पूछा- चुद आई?तो मैंने मुस्कुरा कर मना कर दिया- मैं तो गई नहीं!तो वो बोले- मैं मान नहीं सकता कि तुम ना गई हो, तुम्हारी चाल ही बता रही है कि आज जम कर चुदाई हुई है. यह इंडियन सेक्स की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!फिर उसने कहा कि जल्दी से ज्योति को फोन लगा और उसे बोल कि राजे से तुरंत बात करेगी. मानसी- ऐसा भी कुछ नहीं है जस्सी, तू तो ऐसे बात कर रहा है जैसे मैंने तुझे कितने ताने मारे हों.

बस मेरे पति मेरा घाघरा ऊंचा करके ही लंड पेल देते हैं और मम्मों को सिर्फ ऊपर से मसल लेते हैं।मैं काफी सेक्स के मामले में संतुष्ट महिला हूँ. अरे बोर मत हो दोस्तो, ये तो सिर्फ हमारी इंट्रो थी, बस कहानी अब शुरू होने जा रही है. मैं बहुत खूबसूरत लग रही थी।फिर भैया मेरे पास आए और काम के बहाने से मुझे छत पर ले गए। छत पर पहुँचते ही वो मुझे पीछे से पकड़ कर मेरे मम्मों को मसलने लगे। मैंने काफ़ी कोशिश की.

एक दिन चाची की तबीयत खराब हो गई, सीमा ने मुझे फोन पर बताया, तो मैंने उन्हें क्लिनिक लेकर आने के लिए कहा, सीमा चाची को लेकर क्लिनिक पर लेकर आ गई.

तू तो बड़ी होशियार है रे, वैसे बात तेरी सही है उसको डराना नहीं है, मज़ा देना है। एक काम कर तू. वो मेरी बातों से और जोश में आकरमेरी चूत की चुदाईकरता जा रहा था। काफी देर बाद मेरा पानी निकल गया। मैं रिलेक्स फील करके चिल्लाने लगी- बस बस कर.

बीएफ मौसम मैंने भी पूछा- क्या मैं आपकी पार्टनर के साथ डांस कर सकता हूँ?तो उसने कहा- वो अगर हाँ कहे तो कर सकते हो. आपको ये भाई बहन की चुदाई स्टोरी पसंद आई या नहीं, मुझे जरूर मेल करें.

बीएफ मौसम मैंने अपना पैंट और शर्ट उतार दी और निधि दीदी को मेरा लंड चूसने को कहा तो वो मना करने लगीं. तुम सब ऐसे वहशी बनोगे तब तो समझो स्कीम फेल ही हो गई।साहिल- यार सब लोग चुप हो जाओ.

तो मॉम ने उसको मना किया और अपने साथ ले गईं।पूजा की बात सुनकर संजय के दिमाग़ में शैतानी प्लान आ गया.

असली चुदाई बीएफ

कुछ देर बाद लेटे हुए चंगेज़ ने नतालिया की गांड को अपने लंड के ऊपर पहनाते हुए चोदना चालू कर दिया जबकि सामने खड़े हुए रुस्लान ने आराम के साथ अपने सांवले लंड को उसकी खुली हुई चूत में घुसेड़ कर धक्के मारने शुरू कर दिए. तभी उन्होंने कहा- कहाँ खोए हुए हो?तो मैंने कहा- कहीं नहीं… सॉरी!और चाबी लेकर चला गया. ऋतु हाँफते हुए मुझे गाली देती हुई बोली- साआआअले बड़े मजे ले रहा था!वो शायद दोपहर वाली बात कर रही थी.

जैसा मैंने बताया कि मेरा कोई दोस्त नहीं है तो मैं वहां भी एक टेबल पर अकेला ही बैठता था, अकेला ही आता जाता और सिर झुकाकर चलता था. की आवाजें गूंजने लगी थीं। मगर राजू इस तूफान को झेल नहीं पाया, राधा की कुँवारी चुत की गर्मी उसको पागल बना रही थी। वो जोर-जोर से मोन करने लगा।राजू- आह आह राधा तेरी चुत बहुत मस्त है आह. मैं धीरे-धीरे लंड चूसती रही और भाई का लंड देखते ही देखते 7 इंच लम्बा और काफी मोटा हो गया। भाई ने एक बार फिर मेरे पूरे शरीर पर किस किया और मेरी बुर को चूसने लगे।मैं फिर से पागल होने लगी। भाई ने अपने थूक से मेरी बुर को एकदम गीला कर दिया। फिर भाई ने अपने लंड के ऊपर भी थूक लगा लिया और मेरी बुर के ऊपर अपने लंड को रगड़ने लगे।मुझे बहुत मजा आ रहा था लेकिन तभी भाई ने अपना लंड मेरी बुर में डालने की कोशिश की.

अब आप खुद भूल गई क्या हा हा हा?दोनों खिलखिला कर हंसने लगीं।थोड़ी देर बाद दोनों घर से निकल गईं। रात का सन्नाटा और दो लड़कियां सड़क पे चुपचाप चली जा रही थीं। तभी कोने में एक शराबी एकदम टुन्न होकर पड़ा था.

उसमें मैंने बताया था कि कैसे सपना आंटी ने, जब मैं मात्र 18 वर्ष का था तो मुझसे चुदवा कर मुझे चोदने में ट्रेंड किया था. मैं और अरमान एक दूसरे की तरफ देख रहे थे कि मनोज बोला- अरे देखते जाओ आज क्या क्या होने वाला है!तभी मनोज बोला- आओ, सभी एक साथ पहले केक काटेंगे और आज की महफ़िल की शुरुआत करेंगे. फिर देखो!मैं उस पर झपटा तो वो बचने के लिए इधर-उधर भागने लगी। मैं उसको पकड़ने के लिए दौड़ता रहा, मेरा ड्राइंग रूम फुटबाल का मैदान बन गया था। कभी वो सोफे के पीछे तो कभी फ्रिज के पीछे.

मैं दो बार झड़ चुकी थी मगर मेरा देवर मुझे लगातार चोदे जा रहा था, मुझे बहुत मजा आ रहा था. या ऐसे ही दोनों प्यासे और हिलाते घूमते रहे?सुधीर को सोचता देख मोना ने फिर पूछा- क्या हुआ सब ठीक तो है ना?मोना की बात सुनकर सुधीर अपना लंड एड्जस्ट्स करने लगा, जिसे मोना ने भी देख लिया और मुस्कुराने लगी।सुधीर- नहीं नहीं सब ठीक है. शराब का सुरूर छा रहा था और पीटर की उंगलियाँ मेरी चुत और गांड में भूकंप मचा रही थी.

मैंने जल्दी ही झड़ना शुरू कर दिया और अपने गर्म वीर्य की धारें ऋतु के गले में छोड़ने लगा. वाकयी मुरुगन मुझे जबरदस्त तरीके से चोद रहे थे और मैं भी अब उनका बड़ा लंड लीलने में अभ्यस्त हो गई थी तो मुझे भी इस मूसल लंड से चुदने में मजा आ रहा था.

क्या तुम मेरी इच्छा पूरी कर सकते हो?मैंने पूछा- वो कैसे?आंटी ने एकदम से चुदक्कड़ों टाइप भाषा इस्तेमाल करते हुए कहा- मेरी गांड चूस कर. फिर एक दो और झटकों के साथ फूफा जी ने अपना सारा माल मेरी चूत में भर दिया और आखिरी झटका तो उनका ऐसा था कि उनका लंड गोटियों समेत मुझे अपनी चूत में घुसा महसूस हो रहा था. प्लीज़ टीना बुरा मत मानना मगर तुम संजय की गर्लफ्रेंड हो किसी और की?टीना- गर्लफ्रेंड तो मैं संजय की हूँ मगर हम सब अच्छे दोस्त भी हैं तो सभी मेरे ब्वॉयफ्रेंड हैं.

थोड़ी सी बातों के बाद उसने फ़ोन काट दिया पर मैंने भी उसको फॉरवर्ड मैसेज भेजना शुरू कर दिया.

मैंने बड़े ही प्यार से उसकी चूत को छुआ, जिससे उसके शरीर में कर्रेंट सा दौड़ गया. अब वह मेरे लंड को मुख में लेकर चूसने लगी, उसके मुख में लेते ही मैं जोर से चीखा- ओहईई ईई जान क्या कर रही हो… अहह हह…वो मुख में लंड लेकर चूसने लगी, मैं आनन्द में विभोर होता जा रहा था. मैंने देखा कि शालू और मेरा भाई विक्की दोनों नंगे थे और विक्की का लंड शालू की चुत में घुसा हुआ था.

बाथरूम में कदम रखते ही अंदर का नज़ारा देख कर मेरे पाँव आगे नहीं बढ़ पाये और दो क्षण के लिए माला को देख कर उल्टे पाँव वापिस कमरे में आ गया. उसने हरे रंग की सूती साड़ी में अपना पूरा बदन छुपा रखा था और घर में घुसते ही मुझे बैठक में अख़बार पढ़ते हुए देख कर दोनों हाथ जोड़ कर प्रणाम किया.

अब तक की इस चुदाई की कहानी में आपने पढ़ा कि अनिता ने अपनी माँ के दूसरे पति गुलशन के साथ चुदाई करने के लिए अपना मन बना लिया था और इस वक्त वो बिस्तर पर चुदाई के लिए गुलशन जी की अंकशयिनी बनी पड़ी थी. मैंने उसके अनुरोध पर अचंभित होते हुए कहा- अम्मा, आप यह क्या कह रही हो? एक अविवाहित पुरुष के घर में उसके साथ एक अकेली विवाहित स्त्री का रहना ठीक नहीं है. मेरा मस्ताना और कड़क हो गया वो फिर वापस मस्ताना के टोपा को चाटने लगा.

हिंदी इंग्लिश बीएफ वीडियो

समझी मेरा नाम मोना है मेरा मगर तू सिर्फ़ दीदी बोलना समझी!मोना ने एक घंटे तक नीतू से बातें की और उसका विश्वास जीत लिया.

‘मेरी प्यारी बुलबुल, असली लंड ही है ये, और तू डर मत कौन सा तेरी चूत में घुसने वाला है ये?’ मैंने उसके गाल पर चिकोटी काटी और उसे मेरे सामने फर्श पर बैठने को बोला. मुझे देखने दे कि अन्दर खुजा-खुजा कर तूने क्या हाल किया हुआ है।मॉंटी- नहीं दीदी, ऐसे ही तेल लगा दो, मुझे शर्म आती है। मैं आपके सामने पूरा नंगा नहीं हो सकता।टीना- ओये होये. फिर मौसी ने अपना कमीज़ ऊपर उठा कर अपने दोनों बोबे बाहर निकाल दिये और मेरे हाथ पकड़ कर अपने बोबों रखे, मैंने उसके दोनों बोबे हल्के से दबाये तो मौसी ने अपने हाथ मेरे हाथों पर रख कर ज़ोर दबाये और मेरे कान में फुसफुसाई- ज़ोर से दबाओ इन्हें, मसल डालो.

तभी इसी सुहाने आनन्द को उठाते हुये मेरा वीर्य भी उसकी चूत में भरने लगा. एक बार तो मेरी जान हलक में आ गई कि आज मर ही जाऊंगी, इस साले बुड्ढे का बड़ा लंड तो मेरी चुत का भुरता बना देगा. सेक्सी ब्लू नंगी फिल्मतो आंटी खुलते हुए बोली- मुझे वाइल्ड सेक्स बहुत पसंद है, मतलब मेरी एक अलग ही फैन्टेसी है.

फिर मामा ने मुझे स्लैब की ओर मोड़ कर झुका दिया, मैंने दोनों हाथ से स्लैब को पकड़ लिया, मामा फिर मेरे चूतड़ के पीछे से मेरी चूत सहलने लगे, मेरी चूत दोबारा से सूख चुकी थी, मामा जी ने नीचे झुक कर अपने दोनों हाथ से मेरे चूतड़ फैला कर गांड के पीछे से मेरी चूत चाटने लगे, मैंने भी और ज़्यादा झुक कर अपनी गांड फैला दी ताकि मामा आसानी से चूत चाट सकें और मज़ा लेने लगी. जब पांच फुट तीन इंच हाईट की गोरी सुंदर लड़की जिसके ऊपर की ओर उठे हुए उरोज हों, चिकनी खूबसूरत टांगें हों, हर अंग तराशा हुआ, आँखों में नशा हो, वो लड़की सिर्फ ब्रा और पैंटी में सामने खड़ी हो तो किसी का भी मन बेइमान हो उठेगा.

अब भी ऐसे ही बैठूंगी। आप मेरे प्यारे मामू हो ना।संजय- अरे उस टाइम तू छोटी थी अब मोटी हो गई है हा हा हा हा. मैं तड़प गई, मैंने दीदी को कहा- मत करो ना दीदी!पर दीदी रुक नहीं रही थी. फिर उसकी चुत को पूरी तरह से चाट कर ऐसे साफ कर दिया, जैसे कुछ हुआ ही ना हो.

फिर मैंने लंड को बाहर खींच कर फिर लंड को उसकी चूत के छेद पर रखा और एक झटका मारा तो मेरा आधा लंड उसकी चूत के अन्दर चला गया, उसके मुँह से आवाज निकली- ऊऊईई आआह्ह आआह्ह्ह आऔऊउ मर गई रे आआह्ह आआह्ह ईईआअ!मैं थोड़ा रुका और फिर एक झटका मारा तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया था. कभी उसकी चूत का कसाव ढीला पड़ता कभी फिर से कस लेती लंड को; इस तरह उसकी चूत ने मेरे लंड से वीर्य की एक एक बूँद निचोड़ ली. पहले कुछ तैयारी करनी होगी। चल अब बिस्तर पे आ, वहीं तुझे सब समझा दूँगा।पूजा बिस्तर पर लेट गई और संजय उसके पास लेट गया। अब वो पूजा को किस करने लगा, उसके मुलायम होंठों का रस पीने लगा। वैसे तो पूजा अनाड़ी थी मगर वो संजू का साथ देने की पूरी कोशिश कर रही थी।संजय पर अब हवस हावी हो गई थी। वो पूजा के छोटे चूचे दबाए जा रहा था.

उसको ये सबका पता भी नहीं होगा तो तुम सेफ रहोगे।मोना की बात सुनकर गोपाल के शरीर में एक करंट सा लगा.

रोज की तरह मैंने अपने सारे कपड़े निकाले सिर्फ़ एक पतला सा बरमूडा पहना और लेट गया।टीना- सारे कपड़े मतलब. अब हम तीनों दोस्त जूते उतार कर गद्दों पे आ गये, बैठ कर बातें करने लगे.

अब मैंने जोर लगा के खुद को पलटा, अब रिया नीचे और मैं ऊपर थी, मैंने तो मेरे साथ हुई जबरदस्ती का बदला लेना था. और अपनी चूत मेरे सामने खोल दी। मैं समझ गया कि वो अपनी चूत चटवाना चाहती है।मैंने उसकी चूत को चाटना चालू कर दिया। मैं धीरे-धीरे उसकी चूत को चाट रहा था. आपने भगवान की कसम खाई है अभी अभी कि मेरे साथ सेक्स नहीं करोगे आप!’ उसने विरोध किया.

तुम्हारी मेडम ने तुम्हारे बारे में बहुत कुछ बताया तो हमने भी सोचा कि क्यों ना आजमा के देखें. मैं- भाभी चुत चिपचिपी है।भाभी बोलीं- तो कपड़े से साफ़ कर ले ना।मैंने पास में पड़े रूमाल से भाभी की चुत साफ़ की और दुबारा उनकी चुत में घुस गया।भाभी की चुत की अजीब सी महक ने मुझे मदहोश कर दिया और मैं जीभ से भाभी की चुत चाटने लगा। पहले तो मुझे गंदा सा लगा, पर थोड़ी देर में ब्लूफिल्म स्टाइल में मैं चुत को भरपूर चाटने लगा।निशा भाभी पूरी अकड़ गईं. साथियो, आप मुझे मेरी इस हिंदी पोर्न स्टोरी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें.

बीएफ मौसम जिसकी उम्र 25 साल की है और उसकी शादी तय हो चुकी है। उसका फिगर 36-32-36 का है, उसका रंग बिल्कुल गोरा है वो एकदम सेक्सी लगती है। उसको पहली नजर में कोई भी देखे तो उसका बस मेरी बहन को चोदने का मन करने लगे।ये बात उस छः साल पहले की है. मोना ने कुछ कपड़े पसंद किए और कुछ जरूरत का सामान लिया फिर वो नीतू को लेकर घर आ गई.

सेक्सी बीएफ वीडियो भोजपुरी में

मैं पहले उसकी दोनों टांगों को फैला कर अपना मुँह चूत पर ले गया और मैंने उसकी चूत को चूमा, फिर चूत के बालों को होंठों में दबा कर ऊपर खींचने लगा, फिर उसके योनि-लबों को अपने होंठों में दबा लिया. ज्वाइन किया, वहां रेगिंग हुई। उसमें नए फ्रेशर लड़कों को तरह-तरह से परेशान किया जाता था। अकसर हम चार-पांच लड़कों के ग्रुप को नंगा करके परेड होती। उनमें सीनियर की अकसर मेरे लंड पर निगाह जाती, तो कहने लगता कि साला कितना बड़ा लंड है।इसी बात से मुझे लंडधारी की उपाधि दे दी गई। बाद में साथी भी चिढ़ाने लगे. उसका लंड अभी भी उसकी पैंट में ही तना हुआ बाहर निकला हुआ था और बाइक एक कोठरी की तरफ बढ़ रही थी जिसके अंदर एक धीमी सी रोशनी थी.

उसके 5 मिनट बाद भीगते-भीगते ही आई और मेरी गाड़ी में आकर पिछली सीट पर बैठ गई. जब रिया मेरे बदन से उतर गयी तो मैंने कोहनियों के बल उठकर अपनी चूत को देखा तो वो ऐसी हो गई थी जैसे किसी बिना चुदी चूत पर पहली बार में 10 लड़कों ने चढ़ाई कर दी हो. ससुर के साथ सेक्स वीडियोपूजा ने सोचा कि शायद मैं नहीं आऊँगा और कुछ बोलने के लिए अपना मुंह खोला ही था कि उसे दरवाजे पर हल्की सी खटखट सुनाई दी.

पीटर ने बैठे बैठे ही तूफानी धक्के लगाने शुरू किये, वो भी देर से हिला रहा था और मैं भी कुछ ज्यादा ही चुदास हो उठी थी तो पांच ही मिनट में हम दोनों ने लगभग साथ ही पानी छोड़ दिया.

मैं चल भी नहीं पा रही हूँ, मुझे चुत में बहुत दर्द हो रहा है और पैर भी दुख रहे हैं. उसके पास जाकर मैं झुका और उसकी टांगों पर हाथ रखकर उन्हें ऊपर उठाया और उसे पीछे की तरफ धक्का दिया.

जब उसने महसूस किया कि पूजा एकदम बेजान पड़ी है, तो एक बार तो संजय भी डर गया कि कहीं बुर फट तो नहीं गई. जिससे मेरी हाफ बॉडी भीग गई थी। अचानक मेरी नज़र साथ वाली छत पर पड़ी. इसमें 10 भी हो तो बड़ी बात नहीं।मेरे प्यारे साथियो, आप मुझे मेरी इस सेक्स स्टोरी पर कमेंट्स कर सकते हैं.

मामा मेरे हाथ में अपना हाथ रख कर आगे पीछे करने लगे जिससे मामा का लंड मेरे हाथ में रगड़ खाने लगा.

उसके गाल बिल्कुल लाल हो चुके थे और उसके गुलाबी लरजते होंठ देखकर मेरा बुरा हाल हो गया… वो उन पर जीभ फिरा रही थी और उसकी लाल जीभ अपने गीलेपन से उसके लबों को गीला कर रही थी. ’मैंने पीछे से ब्लाउज का हुक खोल कर उसके मम्मों को आजाद कर दिया और उसके निप्पलों को मसलने लगा. लड़के के आनन्द का ठिकाना न रहा… वो कभी मेरी तरफ देखता और कभी अपना सिर सीट से लगाकर लंड चुसाई का आनन्द लेने लगता.

सेक्सी मुसलमानीइसलिए मैंने मौसी के सर पे हाथ मारा, उसने मेरी तरफ देखा मैंने पहले उसके चूचे पर अपना पाँव लगाया और फिर उसके मुँह में अपनी उंगली डाल कर उसे इशारा दिया कि मैं उसके चूचे चूसना चाहता हूँ. मैंने कहा- ठीक है मैडम!मैडम ने चार इंजेक्शन लिखे थे और कुछ दवाइयाँ भी.

बिहारी बीएफ एचडी

इसके बाद पूजा भाभी ने मुझसे कहा- चल पायल, तू अभी इस समय चल बाथरूम में… मैं तेरी भी मदद कर देती हूँ. मैं तुझे पूरी बात बताता हूँ, जिसकी वजह से ये सब हुआ ओके!ओ हैलो आप लोग भी कन्फ्यूज हो ना. फिर मैंने उनकी दूसरी टांग भी उठा कर कंधे पर रख ली और उन पर थोड़ा झुक कर अपनी पूरी ताक़त से उसकी चुत मारने लगा। इस बार चुदाई का साउंड ज़्यादा तेज़ था.

‘तो फिर हम यहाँ क्यों आये हैं?’ मैंने पूछा तो सुमित ने बताया- अभी थोड़ी देर में जिन लड़के लड़कियों की शराब ज़्यादा हो जाएगी, या जो नशे में अंदर गलत हरकतें करेंगे, बाउंसर उन्हें उठा कर बाहर फेंक देंगे. अब उनका लंड चुत में बराबर अड्जस्ट हो गया था और अनिता को भी होश आने लगा था. दोस्तो, हम तीनों आपस में राजदार हैं इसलिए हम बेझिझक अपने खाली पलों का मज़ा वटसएप पे लेते हैं.

वो मेरी बातों से और जोश में आकरमेरी चूत की चुदाईकरता जा रहा था। काफी देर बाद मेरा पानी निकल गया। मैं रिलेक्स फील करके चिल्लाने लगी- बस बस कर. वो रिंग लेकर उस शराबी के पास जाकर बैठ गई। सुमन को कुछ भी समझ नहीं आ रहा था।सुमन- ये आप क्या कर रही हो. क्या नमकीन सा स्वाद था…वो भी मेरी इस हरकत से चिहुँक उठी- उह उफ्फ्फ ईईईई क्या कर रहा है बाबू… ईईई!वो सातवें आसमान की सैर कर रही थी!मैं अपनी जीभ उनकी चूत में डाल कर उसे रगड़़ने लगा था! मैंपहली बार किसी की चूत चाट रहा था, उसकी चूत का खारा पानी! आह.

मैंने धक्का लगया तो इस बार एक बार में ही लंड चुत के अन्दर घुसता चला गया. मैं भाभी के होंठ को चूसने लगा और दस मिनट बाद भाभी गर्म हो गईं, उनके मुँह से ‘उह उह आह.

मेरे उभार उसके सीने में गड़े हुए थे, उसके हाथ मेरे पीठ को सहला रहे थे। वो नीचे था, मैं ऊपर थी और हम ऐसे ही लेटे रहे, और फिर उसका सीना सहलाते हुए मैंने अपनी चुप्पी तोड़ी.

पर अभी तक कुछ नहीं हुआ। इसके लिए ससुराल वाले उसी को ज़िम्मेदार मानते हैं और अब उसके साथ अच्छा सुलूक नहीं होता। उसे कहीं ले कर नहीं जाते और उसे बांझ कहते हैं।मुझे उनकी सोच बहुत घटिया लगी और बहुत गुस्सा आया। फिर मैंने उसको चेकअप के लिए बोला. ಮುಸ್ಲಿಂ ಸೆಕ್ಸ್फिर अचानक उनकी टांगें एकदम से अकड़ उठीं और वो अपनी चुत से रस छोड़ने लगीं. राजस्थानी देसी बीपी वीडियोमैंने देखा कि शालू और मेरा भाई विक्की दोनों नंगे थे और विक्की का लंड शालू की चुत में घुसा हुआ था. काका ये अपने क्या कर दिया, मेरी चुत को फाड़ दिया। हे राम कितना खून निकला है आह.

साथ में वह लड़की जो खुद अभी तक माँ नहीं बनी हो उसे तो पता ही नहीं होगा कि गर्भावस्था में एक जच्चा को क्या खाना पीना है.

नर्म हाथों में आते ही मेरा लंड अपनी औकात पर आ गया और फूल कर कुप्पा हो गया. मुझे खुद से चिपकाया और लंड का जोरदार धक्का दिया। अब उसके लंड का सुपारा मेरी गांड में अन्दर हो गया था। मेरी फिर अनचाहे में चीख निकल गई. और चूचियाँ आम के जैसी नुकीली हैं।मेरी यह सेक्सी स्टोरी सन 2014 की है.

फिर अपने थूक से भीगी उंगली मेरी गांड में घुसेड़ दी।मैं हल्के से कराहा- आह. मैंने उनके पैर पकड़ लिए और गिड़गिड़ाने लगा- प्लीज चाची, प्लीज! गलती से बाहर निकाल दी! इतनी छोटी गलती की इतनी बड़ी सजा मत दो. वो मेरी बातों से और जोश में आकरमेरी चूत की चुदाईकरता जा रहा था। काफी देर बाद मेरा पानी निकल गया। मैं रिलेक्स फील करके चिल्लाने लगी- बस बस कर.

बॉलीवुड सेक्सी बीएफ

जो उसने नहीं कराया था।मैंने कहा- मैं एक अच्छे डॉक्टर को जानता हूँ, तुम जीजाजी से बात कर लो तो तुम दोनों चेकअप फ्री में हो जाएगा।फिर मैं अपने घर वापस आ गया।दो दिन बाद मुझे जीजाजी का फोन आया और मुझसे डॉक्टर के बारे में पूछने लगे। मैंने उन्हें डॉक्टर अग्रवाल के बारे में बताया, जो कि शहर के बड़े डॉक्टरों में से थे। उनके यहाँ 2 दिन तक अपायंटमेंट नहीं मिलता था। जीजाजी के घर वाले बड़े कंजूस किस्म के हैं. देखो न कितनी मस्त हवा चल रही है’‘ठीक है जैसे आप चाहो!’ वो बोली और जीने का दरवाजा छत की तरफ से बंद कर के आई और मैक्सी उतार के फेंक दी और नंगी होकर मेरे सामने खड़ी हो गई. मैं सोच रही थी कि यह कब नंगा करके मुझे चोदेगा। मैंने सोचा यह तो ऐसे कुछ कर नहीं पाएगा.

संजय को अब अहसास हो गया था कि पूजा की चुत रिसने लगी है और उसका पानी वो अपने लंड पर महसूस कर रहा था। उसको भी कच्ची चुत पर लंड रगड़ने का अलग ही मज़ा मिल रहा था।तो मेरे दिलजले साथियो… जवानी की दहलीज पर आई हुई एक नई और कच्ची चुत का मजा मिल रहा है न.

मैंने जब उसको कॉल किया तो वो दूसरे कॉल पर व्यस्त थी, मैंने सोचा शायद घर से फ़ोन होगा पर इतनी रात को?मैं यह सोच ही रहा था कि उसका फिर से कॉल आया और उसने कहा- प्रतीक, सोना मत, मैं थोड़ी देर में आती हूँ, बॉयफ्रेंड से बात कर रही हूँ, यार तुम मेरे लिए बहुत लकी हो, आज तुम आये और देखो आज उसका फ़ोन कितने दिन बाद आया.

मेरा मुँह उनकी चुत में लगते ही उन्होंने अपना सर तकिया में दबा लिया. तो वो बोला- मेरा नाम आकाश है, और आप अपना नाम बता दो तो जान पहचान हो जाएगी!मैं उससे कुछ बोले बिना वहाँ से आगे चल दी और वो मेरे पीछे पीछे लगा रहा, मैं जहाँ जाती वो भी मेरे पीछे वहीं आ जाता. बीपी के सेक्सी वीडियोउसकी पेंटी के पास आ गया और पेंटी के ऊपर से ही उसकी चुत को सहलाने और किस करने लगा। फिर मैंने उसकी पेंटी उतार कर एक साइड में फेंक दी और उसकी चुत पर एक प्यारा सा चुम्बन किया और उसकी चुत के दाने को चाटने लगा।वो- आआहह.

लंड घुसा के कुचल दो इस चूत को आज!’‘ठीक है गुड़िया… फिर से सोच लो, बाद में मुझे दोष मत देना!’‘ओफ्फो, सोच लिया है सब. वही मॉंटी को भी हो रही थी। वो जोर-जोर से वहां खुजा रहा था।टीना- अरे रुक पागल. मैंने अपना ध्यान वापिस कटरीना पर लगाया और उसकी चूत को जोर से चूसने और चाटने लगा.

चाची तो दर्द के मारे चिल्ला उठी- कुत्ते अईई… कमीनेएए… मादरचोद… अईई… ईईईई… छोड़ मुझे!बोल कर मुझे धकेलने लगी पर मैं चाची के कमर को कस कर दबा रखा था, मैंने उसको नहीं छोड़ा, मैंने फिर जोर से लंड अंदर बाहर कर चोदना चालू कर दिया. अभी तो छोटी है।टीना समझ तो गई थी मगर वो मॉंटी के मज़े ले रही थी।टीना- अच्छा कैसे बड़ी होती है.

उन्होंने मुझे थैंक्स बोला लेकिन मुझे कुछ चोट लग गई थी और खून निकल रहा था.

तो एक बार हम रंडी के पास गए, पहली बार था तो उसे चोदने में बहुत मज़ा आया। मगर रोज जाने लगे तो धीरे-धीरे मज़ा कम होने लगा और गोपाल ने भी कहा कि इनरंडी की चुदाईमें मज़ा नहीं आता. बस सेक्स ही सेक्स, आपको चाहिए भी यही था। चलो यहाँ थोड़ा ब्रेक लग गया है, मगर आपकी दोस्त आपके मज़े को बनाए रखेगी तो चलो मेरे साथ दूसरा सीन दिखाती हूँ।टीना और मॉंटी अपने अपने बिस्तर पर सो रहे थे मगर मॉंटी को नींद नहीं आ रही थी। वो इधर-उधर करवट बदल रहा था।टीना- क्या हुआ मेरा सोना. अब हम जब भी किसी महिला से मिलते हैं तो पहले उसका एच आई वी टेस्ट करते हैं, फिर उसकी सहायता करते हैं।दोस्तो, इस कहानी में शायद सेक्स से भरपूर शब्द न हों लेकिन भावनायें बहुत हैं।आगे और भी बहुत कहानी हैं, आपके प्रोत्साहन के बाद लिखूँगा।अन्तर्वासना का बहुत बहुत धन्यवाद.

एक्स एक्स वीडियो क्या क्या सपने देख चुका था मैं इतनी देर में… पिछले एक साल से इस खिचड़ी को पकाने में लगा था और अब हाथ भी आई तो इसके नखरे पूरे नहीं हो रहे. ’‘ये का बात कर रहे है आप सक्सेना जी? हमारे लड्डू के भैया ऐसे बिल्कुल नाही हैं.

मैं अपनी बीवी की महानता के सामने नत मस्तक हो गया और फिर यथार्थ के धरातल पर उतरते हुए प्यार की देवी की मुस्कुराती, बल्कि अब तक तो खिलखिलाती हुई चूत को उसके ऊपर अपनी हथेलियाँ टिका कर चोदने लग गया. जब मैंने उसकी और देखा तो उसके कमीज़ के गले से उसके बड़े बड़े गोल गोल बोबे बाहर को आ रहे थे. तू… इतनी सुबह… और यो के हाल बना रखा है… या बुशट कुकर पाट गी(ये शर्ट कैसे फट गई)उसके होठों से मेरा नाम निकलते ही मेरी पलकों में बंधी आंसुओं की झड़ी चेहरे पर धार बनकर मेरी फटी-शर्ट को भिगोने लगी.

सेक्सी वीडियो बड़े लंड की चुदाई

कुछ ही मिनट में आंटी चाय बनाकर और एक गाउन पहन कर वापस आई और अपनी मोटी गांड टिकाते हुए सोफे पर बैठ गई. एक कमरे से दूसरे कमरे में जाते हुए बेडरूम के पास पहुँची तो देखा परदा गिरा हुआ था और अन्दर एक लाईट जल रही थी।मैंने सोची दीपा होगी. भावना ने मुझे बताया कि वो कबसे तड़प रही थी चुदवाने के लिए, उनके पति ने उन्हें एक साल से छुआ भी नहीं है.

फिर मैंने फूफा जी के कच्छे से अपनी चूत को साफ किया और फूफा जी का सोया हुया लंड अपने मुँह में लेकर चाट चाट कर साफ करने लगी. मज़ा आ गया उफ़ कितना अलग टेस्ट है।साहिल की बात सुनकर वीरू और विक्की ने उसको धक्का दिया- साले अकेला ही पिएगा क्या.

थोड़ी देर के बाद मैंने उसकी चड्डी उतार दी, अब उसकीफूली हुई चूतसामने थी, आंटी की चुत पूरी साफ थी.

अब आगे:थोड़ी देर के बाद दोनों जवानों ने अपने लंड बाहर निकाल लिए और… नताशा के नीचे लेते हुए चंगेज़ ने अपने लंड को चूत से बाहर निकाल कर दो बार झटकते हुए, रुस्लान के लंड से खाली हुई गांड में घुसेड़ दिया. गोरी रशियन लड़की के चेहरे के परेशान लक्षण बता रहे थे कि उसे दो मोटे-मोटे लंडों को अपनी गांड में घुसवाते हुए काफी दर्द हो रहा था लेकिन वो किसी तरह से दर्द को बर्दाश्त करते हुए बीच-बीच में दांत फाड़ते हुए मुस्कुराती जा रही थी!मेरी प्यारी सी गुड़िया ने अपना बाईं हथेली सोफे पर टिका रखी थी और दाएं हाथ से उसने सोफे को कस कर पकड़ रखा था. लेकिन थोड़ी देर बाद भैया न समझा कि मैं सो चुकी हूँ तो वो मेरे पेट को सहलाने लगे।मुझे उस टाइम अजीब सी फीलिंग होने लगी, लेकिन मैंने उन्हें कुछ नहीं कहा।फिर थोड़ी देर बाद उन्होंने अपना एक हाथ मेरे चूचे पर रखा और दबाने लगे। मुझे ये अच्छा तो लग रहा था लेकिन डर भी लग रहा था। मैंने सोचा इससे अगर ज़्यादा हुआ तो में भैया का विरोध करूँगी।जबकि हुआ इसका उल्टा, उनके चूचे सहलाने से मैं मस्ती में आ गई.

मेरा लंड रुचिका की चूत की पूरी गहराई तक चोट कर रहा था, उसकी चूत पूरी तरह से पानी पानी हुई पड़ी थी, उसका पानी मेरे ट्टटों को भिगो रहा था. वो हर धक्के का मजा ले रही थी और हमारी चुदाई का मजा हर धक्के में साथ बढ़ता जा रहा था. उसने कोई रिएक्शन नहीं दिया और पानी वाले के पास पानी की बोतल लेने लगा.

इतनी सुन्दर तस्वीर देख कर मेरे अन्दर जंगली वासना जग उठी और मैं अपना लंड हाथ में पकड़े नताशा के ऊपर चढ़ गया, अपने तपते हुए लंड को एंड्रयू के ठस्सेदार लंड से भरी हुई अपनी पतिव्रता बीवी की गांड में घुसेड़ दिया.

बीएफ मौसम: काका कुछ नहीं बोले और बसगांड को उंगली से चोदने लगेवो बार-बार उंगली पे घी लगाते, फिर गांड में घुसा देते। ऐसे उन्होंने मोना की गांड को घी से तर कर दिया। फिर अपने लंड पे अच्छे से घी मसला और सुपारे को गांड पर सैट करके हल्के से दबाया मगर सुपारा फिसल कर ऊपर निकल गया। फिर उन्होंने उंगली से गांड को खोला और सुपारे को अन्दर फँसा दिया।काका- हाथ मजबूत कर ले मेरी रानी. आधा एक ही झटके में अंदर… उफ्फ… एकदम से मुझे शॉक लगा और मैं कसमसा गई.

फ्लॉरा के दर्द की उस जालिम को कहाँ कुछ परवाह थी, वो तो बस मज़े लेने में लगा हुआ था. उधर सबीना ने थोड़ी आइसक्रीम जमीला की चूत पर डालकर खुद भी खाने लगी तो मैं बोला- साली कमीनी सबीना की बच्ची, कुछ आइसक्रीम मुझे भी तो छोड़! मुझे भी तुम दोनों की चुचियों और चूत पर डाल कर आइसक्रीम खानी है. सुमन अब किसी रंडी की तरह बर्ताव कर रही थी, उसने पूरे पैरों को फैला दिया और चूत को मॉंटी के सामने कर दिया ताकि वो उसको आराम से चूस सके.

मेरा तो पहले ही बुरा हाल हो रहा था और उसकी कामुक सिसकारियाँ और गर्म साँसें मुझे और भी उत्तेजित कर रही थीं.

मुझे लगा कि मामा मेरी चूत तो अभी ज़रूर चाटेंगे और रात की चुदाई का मामा के लंड और मेरी चूत का रस तो मेरी चूत में ही लगा होगा, मैंने सोचा कि मैं अपनी चूत धोकर आती हूँ, मैं मामा से बोली- मैं आती हूँ थोड़ी देर में!तो मामा बोले- मुझे चुदाई करनी है, अभी मत जाओ. हिम्मत ने अपने हाथ को टॉवल में घुसाया और योगिराज को हाथ में लेकर बोला- यार राजेश, हर बार तेरे योगिराज की साइज थोड़ी बढ़ जाता है, मोटा होता जा रहा है. हैलो दोस्तो… एक गांड की गे सेक्स स्टोरी भेज रहा हूँ।इस शहर में मैं चार वर्ष और रहा मैंने बी.