बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,बॉलीवुड में सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

ٹرپل ایکس پکچر: बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी बीएफ, जब कुछ समय बाद मुझे फिर से भूख लगने लगी तो मैं कुछ खाने के लिए बाहर जाने लगा, मैं अपने केबिन से बाहर निकला तो उसने मुझसे बोला कि उसे भूख लग रही है.

बीएफ सेक्सी पंजाबी हिंदी में

इतना कहकर उन्होंने मेरा एक हाथ पकड़ कर रज़ाई के अन्दर से ही अपने मम्मों पर रख दिया और मेरी तरफ देखते हुए मुस्कारने लगीं. हिंदी सेक्सी बीएफ बीएफ सेक्सीवो भी मस्ती से लंड का अहसास करते हुए आराम से अपनी स्कूटी चला रही थी.

वो सच में बहुत जोर जोर से धक्के मार रही थी, वो बहुत ज्यादा कामुक हो चुकी थी और उसे मजा भी बहुत आ रहा था. बीएफ का वीडियो देखना हैतेरे मुंह का क्या है, बस हिलना ही तो है।”अरे भाभी मैं तो …”क्या मैं तो … ज्यादा डॉक्टर न बन। रेजर या वीट वगैरह न लगाती अपने अंडर आर्म पे। आई बात समझ में!”जी में आया कि गंदी-गंदी गालियां दे दूं दो चार, लेकिन बेबसी से देखता रह गया।यह बारिश मेरे पैर रोक सकती है लेकिन मुझे नहीं रोक सकती। मुझे शाम को किटी में जाना है तो जाना है.

रात को 12 बज रहे थे, अचानक आंटी की कॉल आयी और मुझसे बोलीं- तेरे अंकल सो रहे हैं.बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी बीएफ: बाहर जाते समय उसने अपने कमरे का दरवाजा बंद कर दिया था ताकि मयूरी आराम से अपने कपड़े पहन सके.

पर बाद में जैसे जैसे गपशप होने लगी, कहानियों का, पॉर्न का और सेक्स का जिक्र होता गया, माहौल अपने आप बनता गया.हम दोनों एक दूसरे से बातें करते करते थोड़ा खुलने लगे, वो भी अपनी पर्सनल बातें मुझसे शेयर करने लगा.

जानवर लेडीस के बीएफ - बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी बीएफ

पता नहीं क्यों उस समय उन्हें देखकर थोड़ा गन्दा तो लगता था, लेकिन फिर भी देखते थे.लेकिन मैंने अपने मन को मारा और अपने लन्ड को कंट्रोल करते हुए चुपचाप पूजा को रसोई के पास उतार दिया.

तभी उन्होंने मेरी चड्डी भी उतार दी और मेरा लंड अपने हाथ में ले लिया. बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी बीएफ शायद हम दोनों लोग एक दूसरे से प्यार करने लगे थे और एक दूसरे को चाहने लगे थे.

उसने कोई हरकत नहीं की तो मैं धीरे धीरे अपना लंड उसकी गांड से रगड़ने लगा.

बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी बीएफ?

वो अपनी दोनों हथेलियों से मेरे दोनों दूध पकड़ के कस कर दबाता तो मेरी चीख निकल जा रही थी. वो मुझे किस कर रहा था और मेरी चूत में अपना मोटा लंड डाल कर मुझे आराम से चोद रहा था. भाभी भी सोने का नाटक करते हुए अपनी चूत उठाकर मेरे मुँह पर हिलाने लगी और अपनी चूत से पानी छोड़ने लगीं.

फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से उसकी चुत में अपना लंड अंदर बाहर करने लगा. उसने मुनीर के होंठों को चूमा और उससे अंग्रेज़ी में पूछा कि क्या वो झड़ गयी? मजा आया?मुनीर ने उत्तर दिया- हाँ बहुत मजा आया, तुम ही वो इंसान हो, जो समझता है कि मुझे क्या चाहिए. मैंने उनके पेटीकोट के अन्दर अपना हाथ डाल दिया तो पाया कि मामी ने पेंटी नहीं पहनी हुई थी.

मैंने डॉक्टर से पूछा कि इसका इलाज़ क्या है?डॉक्टर ने मुझे बताया कि जिसे यह याद करता है. भाभी साड़ी या गाउन पहनती थीं लेकिन उनको देख कर तो किसी का भी लंड खड़ा हो जाए. मेरे पिता बचपन में ही गुजर गए थे और माँ भाई के पास रहती थीं, जो ऑस्ट्रेलिया में ही बस चुका था.

थोड़ी औपचारिक बातों के बाद वे अदिति से बोले- अदिति, जरा चल के एक बार शादी के गहने, कपड़े और बाकी सामान चेक कर लो कहीं कोई कमी न रह जाय. सर मुझे नहीं पता कि वो कहां से आया, लेकिन वो कह रहा है कि वो उसे मेरे घर पर दे देगा.

कुछ देर के बाद मैंने देखा कि उनकी नौकरानी भी उंगली चोदन से झड़ चुकी थी.

मैंने नीचे से उनकी गांड को हाथों में पकड़ कर ज़ोर का झटका लगा दिया.

फिर मैं एक कदम और आगे होंठों तक पहुंचता तो मामी भी जम कर साथ देतीं. फिर मैं झड़ने वाला था, मैंने स्पीड बढ़ाई और जैसे ही निकलने को आया, मैंने लंड बाहर निकाला और गांड के ऊपर छोड़ दिया. मुझे देखते ही चाचा ने मुझे बैठने को कहा, मैं चाचा के पास बैठ गया और इधर उधर की बातें करने लगा.

अंकित नहीं हटा और मेरी सू-सू छूट गई, अंकित बिल्कुल मुंह नहीं हटाया मेरी चूत से और पूरी मेरी सू-सू गटक गया. मुझे चूंकि तुमसे मिलना था तो मैंने बहाना बना दिया और रिश्तेदार के यहां नहीं गई. मुझे पता लगा है कि उसका पैसा पुरखों का है और इसमें उसके बेटे मनोज का पूरा हक़ बनता है.

अच्छा पहले बत्ती बुझा दो फिर जल्दी से!” वो अपना फैसला सुनाती हुई सी बोली.

जैसे ही लंड डालने लगा तो पता नहीं क्या हुआ मैं ठीक से अन्दर नहीं डाल पा रहा था. रशीद पायल के मम्मे को आम समझ कर उसका रसपान करने लगा … और चूसते हुए मसलने लगा. ये कहते हुए गर्म हो चुके संपत जी ने मम्मी जी के पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया और पेंटी को भी खींच कर उतार दिया.

अब मयूरी को अपनी गांड मरवाने में मजा आने लगा और उसका दर्द आनन्द की आहों में परिवर्तित हो गया- आ… ह… आह… पापा…अशोक झटके मारते हुए- हुम्म्म… हुम्म्म… हुम्म्म…मयूरी- मजा आ रहा है पापा… आह… मुझे पता नहीं था कि गांड मरवाने में इतना मजा आता है… आह. बस मेरी प्रमोशन होने वाली है क्योंकि जितनी भी रिपोर्ट मैंने लिखी है, वो सबकी सब बहुत ही अच्छी मानी गई हैं. एक तो वो समझ नहीं पा रही थी कि किसी स्त्री के प्रति उसका ये आकषण इतना तेज़ क्यूँ है… और वो भी अपने खुद की बेटी के ऊपर… पर जो भी हो, आज उसको मयूरी के पीठ की मालिश करने में एक अलग ही मजा आ रहा था.

वो मेरी तारीफ करने लगा और उसके बाद उस लड़के ने मुझे किस करना शुरू कर दिया.

इधर मुझसे भी रहा नहीं जा रहा था … क्योंकि मेरा लंड भी बहुत गर्म हो गया था. वो लड़का बोला- मैं आपके घर आ जाऊं?तो मैं बोली- आ जाओ!तो वो लड़का कुछ देर के बाद अपनी बाइक से मेरे घर आ गया.

बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी बीएफ थोड़ी देर लंड चूसने के बाद मैंने उन्हें बेड पे सीधा लेटाया और उनकी पेंटी को उतार कर उनकी फुद्दी को चूसने लगा. वो उसके शरीर में कुछ नयी भावनाओं और तरंगों को जागते हुए महसूस कर पा रही थी.

बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी बीएफ मेरे मुँह से चीख निकलने ही वाली थी कि मेरे पति ने अपने होंठों से मेरे होंठ बंद कर दिए और मेरी चीख मुँह में ही दब कर रह गई. अभी दिन ढलना बाकी था और मुझे पैदल चलना था मुख्य सड़क तक पहुंचने के लिए।उन दोनों से वादा करके मैं वापिस कोटा आ गया, आफिस में बहुत डांट भी खानी पड़ी क्योंकि मैं उन दोनों के बारे में किसी को नहीं बता सकता था तो कोई बहाना भी नहीं बना पाया लेकिन मैंने सह लिया और अपने काम में फिर से व्यस्त हो गया.

वो मेरी इस पहली चुदाई की एक एक बात के बारे में बड़ी गहराई से पूछ रही थी.

हिंदी बीएफ चुदाई का

जैसे ही वो स्खलित हुईं, मैंने अपना लंड तैयार किया और उनकी रस छोड़ती हुई योनि में लगभग तीन इंच तक घुसा दिया, जिससे वो एकदम फड़फड़ा उठीं, वो कराहते हुए बोलीं- अबे भोसड़ी के,मादरचोद. मैंने कहा- डर किस बात का? अभी तक तो जो मजा आया है, वो कुछ भी नहीं है. पर अब पेटीकोट खराब होने का डर था तो मैंने साड़ी के साथ पेटीकोट ऊपर कमर तक उठा दिया, पर जैसे ही ठंडी हवा लगी.

सच बता कितने लोगों से अब तक में चुदवा चुकी हो? कितने लन्ड ले चुकी हो वन्द्या? बताओ वन्द्या?यह कहते हुए अंकित जोर-जोर से मेरी चूत को चाटने लगा. इतनी कामुक रंडी या कॉल गर्ल पहली बार मिली थी जिसे जितना चोदो मन नहीं भरता था. डॉक्टर ने बताया कि इसको कोई दिमाग में किसी सोच ने असर किया है, जिससे यह बेहोश हो गया है.

उन दोनों की किसिंग अब इतनी चरम सीमा पर पहुँच गयी थी कि बार बार दोनों के गाल मेरे होंठों को अनायास ही छू रहे थे.

अंकित ने मेरे कूल्हों को अपने हाथ से फैलाया और थोड़ा सा मेरे पैर को और किनारे किया, वो भी अपने हाथ से … अब उसका लौड़ा पूरी तरह मेरी गान्ड में सेट हो चुका था. मैं इतनी तरसी हुई हूँ कि सिर्फ इसी सब से आर्गेज्म तक पंहुच सकती हूँ।” काफी देर बाद उसने मेरे ऊपर से हटते हुए कहा।मुझे यकीन है. मयूरी- पापा… मैं आपसे से शुरू से ही चुदना चाहती थी… आपको हमेशा माँ को चोदते हुए देखकर अपने चूत में उंगली करती थी और सोचती थी कि काश मैं आप से चुदवा पाती… आपका लंड अपने चूत में वैसे ही डलवा पाती जैसे आप माँ की चूत और गांड में डालते हैं.

हां फर्स्ट टाइम थोड़ा दर्द होगा, वो तो वैसे भी तुम्हारी रियल सुहागरात है, तो दर्द तो होगा ही. तब मैं वापिस लौटा और उनके बेडरूम में आ गया, वहां वो अकेली बैठीं कुछ सोच रहीं थीं. जिसका मैंने विरोध किया तो उसने कहा- सफ़र की गन्दगी को साफ कर नहा धोकर तैयार होकर कुछ खा लेते हैं.

मैं सर का लंड पन्द्रह मिनट तक चूसता रहा, फिर अचानक वो अकड़ने लगे और सर ने लंड से अपने वीर्य की ज़ोरदार पिचकारी मेरे मुँह ही निकाल दी. सभी जवान लड़कियों भाभियों और आंटियों को मेरे खड़े लंड की तरफ से प्रणाम.

लेकिन शादी के बाद मैं पहली बार अपने पति के अलावा किसी और से चुदवा रही थी. उसके 2 दिन बाद पूर्वी ने मुझे फिर से अपने घर पर बुलाया और हमने पूरी रात भर सेक्स किया, जिसमें पूर्वी ने खुद से मुझे उसकी गांड फिर से मारने को बोला. उसकी चूत की खुशबू और स्पर्श जैसे ही पापा की मुँह और नाक पर पड़ी, वो मदहोश हो गए, एक क्षण के लिए उनको एक अलग ही रोमांच का अनुभव हुआ.

वैसे तो मैं कुछ ऐसी वैसी हरकत करता नहीं हूँ, पर दूध की तरह सफेद स्किन देखता हूँ तो मन में कुछ कुछ होता है.

फिर कुछ दूर आगे जा कर मुझे एक होटल दिखाई दिया और मैंने गाड़ी रोक कर उस होटल में रूम के लिए बात की और हमें रूम मिल गया।मैं उसे रूम में ले गया और उसे सुला कर वापस नीचे लॉबी में आ गया, कुछ देर बाद मैं रूम में गया तो वो जग रही थी, मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?तो उसने मुझे और बियर पीने के लिए बोला. उसने सबसे पहले अपने पापा के बारे में सोचा पर वो बहुत ही मुश्किल काम लगा. मैंने लंड फंसा कर रशीद को आँख मारी तो रशीद ने पायल की गांड में लंड का झटका लगा दिया.

मैंने सोचा कि किसी भी लंड पर विश्वास करना बेवकूफी ही होगी, इसलिए मैंने उससे कहा- जब तक भैया कोई तारीख निश्चित नहीं करते, हम लोग कोर्ट मैरिज कर लेते हैं. स्वाति का ये पहली बार था तो उसकी चूत कसी हुई थी और मेरा भी पहला ही था.

थी तो ऐसी हसीन कि हमेशा मेरे मन में ख्याल आता था कि काश इतनी बुरी न होती।अंदर आ जाओ।” वह रूखे स्वर में बोली तब मैंने गौर किया कि उसके शरीर पर घरेलू कपड़े ही थे, यानि वह तैयार नहीं हुई थी अभी।कोई जवाब दिये बिना खामोशी से मैं नीचे उतर कर उसके पीछे चल पड़ा।इस बारिश ने भी मुसीबत कर रखी है. मेरी बातों को सुनकर पूजा तिलमिला उठी और मुझसे बोली- अरे अगर मैं छिनाल हूँ तो साले तुम क्या हो? तुम भी तो अपनी बीवी की चूत छोड़कर दूसरी औरत की चूत में मुँह दिए पड़े हो? अच्छा चलो. मृदुला मेरे पास आई और बोली- बुरा लग गया?मैंने कहा- हाँ मुझे बहुत बुरा लगा.

रंडी की सेक्स

अब मैंने उनके पैरों से चूमना शुरू किया और उनकी जांघों व नाभि को किस करता हुआ दोनों स्तनों तक पहुंच कर उन्हें मुँह में भर कर चूसा, चूमा और जीभ से चाटने के साथ-साथ हाथों से भी दबाया, सहलाया व मरोड़ा.

फिर अंकल ने मेरे एक हाथ को अपने हाथ से पकड़ कर लंड से सटाते हुए पकड़ने के लिए कहा. थोड़ी औपचारिक बातों के बाद वे अदिति से बोले- अदिति, जरा चल के एक बार शादी के गहने, कपड़े और बाकी सामान चेक कर लो कहीं कोई कमी न रह जाय. उसने मुनीर की टांगें फैलाईं और मुनीर के ऊपर चढ़ कर मुनीर को चूमने लगा.

माइक के धक्के किसी मोटर के चलने के समान थे, तारा उसके हर धक्के पे हिलती और उसके सुडौल स्तन झूलने लगते. तो अगले दिन सवेरे क़रीब नौ बजे मैं और कम्मो मार्केट जाने के लिए तैयार थे. बीएफ सेक्सी हिंदी में सेक्समैं उनके नाक से छोड़ी गयी सांसों को अपने सीने में भरने का जतन कर रहा था.

उसके मम्मे बिना ब्रा के भी एकदम तने हुए लग रहे थे और उसके एक एक कदम चलने के साथ ऊपर नीचे हो रहे थे. मैं उसको अपनी बाजुओं में लेकर उसके साथ प्यार का पूरा अहसास कराती रही.

फिर अगली सुबह रमेश और सुरेश अपने ऑफिस चले गए और घर में मोहनलाल ने अपनी बहू मयूरी और बेटी काजल को अकेले में फिर से बहुत चोदा. मैंने उससे कहा- तुम वकीलों की तरह से मेरे शब्दों को ना लो वरना मैं तुमसे शादी से पहले मिलना ही बंद कर दूँगी। तुम जानते हो कि जब मैंने तुमसे कहा था ‘कपड़ों को उतारे बिना’ तो इसका मतलब यह नहीं था कि तुम अपना हाथ कपड़ों के अंदर डालकर जो चाहो करो।तब वो बोला- ठीक है, मगर मुझे डराओ नहीं कि तुम मुझे शादी से पहले मिलोगी भी नहीं. रह रह कर बातों ही बातों में अपनी शादी शुदा सहेली की चुदाई के पहले दर्द और उसके बाद के मजे बारे में बात करके वो उत्तेजित हो जाती, जिसको वह अपनी उंगलियों से शांत कर लिया करती थी.

और तेरी गांड का तो कहना ही क्या, अब मैं तेरी गांड को चोदने जा रहा हूं. तभी पापा ने पीछे से अपने हाथ से अपनी बेटी की गांड को धीरे-धीरे सहलाना चालू कर दिया. इसके बाद भाभी ने रुकने को बोला और कुछ देर तक हम दोनों यूँ ही चूमते चाटते रहे.

अब समाली अंकल ने मेरे बालों को पकड़ लिया और थोड़ा पोजीशन बदल कर मेरी गांड को चोदने लगे.

वह अपने आपको छुड़ाने लगी और बिस्तर पर इधर उधर भागने लगी लेकिन मैंने छोड़ा नहीं … मैं बस उसको चोदे जा रहा था. मैं धीरे से नीचे जाके उनके पैरों के बीच में बैठ गई और उनका सुपारे पर किस करके धीरे धीरे मुँह में लंड लेना शुरू किया.

पूरी तरह से भले ना हो, पर आंशिक रूप से मैं खुद भी इस खेल का हिस्सा बन चुका था. उस लड़के को शायद इस बात का अंदाजा था कि किस जगह पर कार रोक कर चुदाई का मजा लिया जा सकता है, तो कुछ देर बाद कार रुक गई और वे दोनों भी अपनी मस्ती में लग गए. जब करवाचौथ के चार दिन बाकी रह गए तो सभी सुहागिन औरतें तैयारी में लगी हुई थी कि तभी उस पड़ोसन भाभी ने मुझे फ़ोन किया। अनजान नंबर था इसलिए मैंने एक बार में नहीं उठाया.

मेरी पहली कहानी को छाप दिए जाने के बाद मेरे आशिकों की संख्या में बहुत बढ़ोतरी हो गयी. मैंने उसी दिन सोच लिया था कि अब तुम से चुदने के बाद ही वे चोदेंगे!उसके बाद मैंने बाकी लंड जोर से धक्के के साथ डाला और उनके मुंह से चीख निकल गई और चेहरे पर दर्द का भाव भी आया. मामी को बेडरूम में ले जाकर कुंडी बंद करने के बाद मैंने वहीं पर पीछे से मामी को बांहों में जकड़ लिया और उनके उभारों पर हाथ रख कर एक बूब को दबा दिया, साथ ही गले पर किस भी करने लगा.

बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी बीएफ उसके तने हुए गुलाबी निप्पलों को मैं ओने होंठों में दबा दबा कर चूस रहा था और गोले दबा कर उसकी चूची का रस निकालने की कोशिश कर रहा था. उसके बाद मैं पूर्वी मैडम को अन्तर्वासना साइट परलड़कियों की गांड मारने की कहानीपढ़ने को बोलता या वो सब कहानियाँ पढ़ कर सुनाता था ताकि उन्हें भी ये मालूम चले कि गांड मराने में भी मज़ा आता है.

हार्ड बीएफ

फिर ऐसे ही एक दिन वो मुझसे मिलने आया और हम लोग उसी मूड में घूमने चले गए. मुझे दो तीन महीने पहले एक बार लाल जी ने बताया था कि अंकित का लंड बहुत मोटा और बड़ा है. अब नताशा का चेहरा मेरे सामने था, और दीमा के चेहरे के सामने उसकी कमर.

थोड़ी देर बाद वो व्यक्ति भी उठा और माइक की तरफ देखते हुए बोला कि आपकी पत्नी मुनीर कमाल की औरत है, काश उसकी पत्नी भी वैसी ही होती. उसने मेरे लंड का सारा माल चूसके पी लिया और लंड को चाट कर साफ कर दिया. सेक्सी बीएफ फुल एचडी केमैंने हिमानी को बेड पर लिटाया और उसकी टांगों को खोल कर चूत को चौड़ी करके देखा.

मैंने अपने लंड पर भी थूक लगा लिया और फिर से उसकी गांड में अपना लंड डाल कर मुस्कान की गांड मारना चालू कर दिया.

फिर मैं उसको नंगा ही अपनी गोद में उठा कर कमरे में बेड पर ले गया और उसको लेटा दिया. दुनिया का कोई भी इंसान मेरे हुस्न को दीदार करने के बाद मुझे चुदाई के लिए मन नहीं कर सकता था.

मामी मेरे ऊपर गुस्सा हो गईं और बोलीं- अब मैं तुम्हारे मामा को बताती हूँ. मैंने कहा- क्यों?तो उसने बताया- मैं शादीशुदा हूं और मेरी एक बिटिया भी है, अगर रात को मैं बाहर रहूंगी तो मेरे पति को मुझ पर शक हो जाएगा. कुछ बोले बिना उन्होंने अपने मोबाइल की लाइट से सब देख लिया और अपने मोबाइल से विडियो रिकार्डिंग भी कर ली अंकित जब लन्ड मेरी गान्ड में डाले था.

फिर मैंने भाभी को उल्टा लेटा दिया और उनकी गांड को सहलाने लगा, बिल्कुल गोल मांसल कूल्हे जैसे इन्हें संगमरमर के पत्थर की तरह तराशा गया हो.

मैंने भी उन्हें बोल दिया कि आपके जैसे सेक्सी कोई मिले, तब तो कुछ सोचूं. मगर यह रिश्ता तभी पक्का हो सकता है जब तुम्हारे माँ बाप इसके लिए राज़ी हों तो!धीरज ने कहा- ठीक है, मैं कल या परसों ही बुलवा लेता हूँ. मैं 5 फुट 11 इंच की हाइट का एक बहुत ही गोरा और एथलीट बॉडी का मालिक हूँ.

अंग्रेजी बीएफ दिखाइए वीडियो मेंमैंने शबाना आंटी से बोला- हम इनके घर वाले को नहीं जानते, हम तो बतायेंगे नहीं, आप जानती हो तो आप भी मत बताना प्लीज।शबाना आंटी बोली- ऐसी बात बताई नहीं जाती।शबाना आंटी ने स्मिता आंटी से कहा- मिल लो यार, बहुत दूर से आये हैं। कौन तुम्हें अंदर आकर देख रहा है।आखिर थोड़ा ज़ोर देने पर स्मिता आंटी मान गई और मेरा दोस्त उनको अंदर लेकर चला गया. ये सब सिर्फ लैटर्स और बातों तक ही चल रहा है या कि इससे आगे भी जा चुकी हो?वो ना में सिर हिलाते हुए बोली- नहीं सर ऐसा कुछ नहीं है.

देहाती बीयफ

मैंने एक लड़की से पूछा कि इस तरह की छानबीन किस तरह से करनी होती है?वो लड़की शादीशुदा थी, मगर उसका जवाब सुन कर मैं हैरान हो गई. उसे पता है कि तुम बिना जाने यह सब कर रहे हो, मगर वो बेचारी तो कई बार शरम करते हुए कोई कपड़ा अपने ऊपर करती थी, जिस से उनका नंगापन किसी को नज़र ना आए. चाची की मोटी मोटी गदरायी हुई जांघों के बीच मोटी और झांटों से भरी चूत में मेरा लंड घुसता और निकलता साफ़ दिखाई देने लगा था.

उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या मैं तेरे लंड को देख सकता हूँ?मैंने हां में सिर हिला दिया और उन्होंने मेरी पैंट की ज़िप खोल कर लंड बाहर निकाल कर उसे अपने हाथों में ले लिया. शादी के पहले मैं सिर्फ उसके बोबे दबाता था और चूमाचाटी होती थी, सुहागरात में भी यही सब कुछ हुआ, बस मैं उसे चोद नहीं पाया. वे मुझे धीरे-धीरे किस करते करते नजदीक बड़े सोफे पर ले गई और मैं उनकी चूची को एक हाथ से दबाने लगा.

उसकी बुर में जोर जोर से धक्का लगने से अब वह अजीब सी आवाज के साथ झड़ने वाली थी, और साथ में मैं भी अजीब सी आवाजों के साथ झड़ने को था. अंकित मेरे पैरों तरफ से आया और सबसे पहले मेरे मेरे पैर के अंगूठे को अपने मुँह में भर कर चूसने लगा और फिर उसने मेरी टांगों को चूमना शुरू किया. हमारी निकटता कुछ कुछ कहने लगी थी, जो कि हम दोनों को ही बेहद पसंद आने लगी थी.

कभी उनके बूब्स दबाता, कभी उनकी मोटी गांड सहलाता और फिर मुठ मारके सो जाता. मैंने पूरा लंड पेला और कहा- दीदी, आप चली जाओगी तो मेरा काम कैसे चलेगा.

मैंने हिमानी को बेड पर लिटाया और उसकी टांगों को खोल कर चूत को चौड़ी करके देखा.

थोड़ी ही देर में उसने अपना दूसरा हाथ, जो बेटी की गांड के छेद में व्यस्त था, को वहां से आजाद कर उसको मयूरी की चूचियों पर लगा दिया, इस तरह से अशोक अब पूरी तरह अपना ध्यान उन विशाल और बहुत ही आकर्षक गोरी चूचियों को चूसने और मसलने में व्यस्त हो गया. सुशीला बीएफपर मैं जानती थी कि वो ज्यादा देर शांत नहीं रुकेगी, जब तक उसके सामने मर्द गिर ना जाए. सेक्स बीएफ बढ़िया-बढ़ियामैं अपने लंड को अपने हाथ से छिपाने लगा तो मौसी ने कहा- क्या हुआ??मैंने बोला- कुछ नहीं मौसी. मुझे लगा था कि आपके पिता ने मेरी शादी आपसे करने के लिए चाचा से कहा होगा.

जब मैं लंच में उनके पास मोबाइल लेने गया तो उन्होंने मुझसे पूछा- क्या तू गे है?मैं एकदम से सकपका गया, मैंने कहा- नहीं सर, वो तो बस ऐसे ही पढ़ रहा था.

मेरे पति का जॉब विदेश में होने के कारण वे मुझसे अलग बाहर ही रहते हैं. अब उसने भी अपने पूरे कपड़े उतार लिए थे मगर उसका लंड खड़ा तो हुआ मगर इतना सख्त नहीं हो सका था कि वो किसी कुँवारी चूत को खोल सके. मैं भी इसी मौके की तलाश में था मैं धीरे धीरे उसके ऊपर आ गया और अपने आपको उसकी टांगों के बीच सैट कर लिया.

कामदेव ने अपना पुष्पबाण चला ही दिया और कम्मो अपनी एड़ियाँ रगड़ने लगी. मैंने धीरे से उनके सिर को मेरी एक चूची पे लगाकर एक निप्पल उनके मुँह में डाल दिया. मैंने एक हार्ड रबर का लंड रखा हुआ है, जो मुझे चोदता है या जिस से मैं खुद को चोदती हूँ.

नंगा सेक्सी बीएफ वीडियो

तभी मैं हॉल की दूसरी तरफ बनी खिड़की के पास दबे पांव गया, ऊपर वाली खिड़की खुली हुई थी. मैंने उसकी टांगों को फैला कर उनके बीच में खुद को सैट किया और लंड को अपने हाथ से पकड़ कर उसकी चुत की फांकों में लगा दिया. बस फिर उन सबसे बुजुर्ग अंकल ने मेरी चूत के रस को चाटना शुरू कर दिया.

इस दबाव को मेरा लौड़ा सहन नहीं कर पाया और झटके मारता हुआ उसकी चुत में खाली हो गया.

फिर मैंने भाभी की चूत की फांकों में अपने लंड का सुपारा ऊपर नीचे किया, तो भाभी ने अपनी चुत को मेरे लंड के लिए खोल दी.

दिनेश के बदन में कुछ कपड़े थे, वह भी उसने पूरे उतार दिए और पूरा नंगा हो कर मेरे सामने तरफ आ गया. आठ दिन अपनी अपनी बीवियों से छुटकारा मिलेगा तो कौन पागल ना बोलेगा? सभी मर्द झट से मान गए. छत्तीसगढ़ी बीएफ दिखाओवो बोला- तू किसी से कुछ नहीं बतायेगी क्योंकि तू अंदर से चुदासी है, मैं तुझे चोदूंगा जरूर वन्द्या … चाहे कुछ भी हो जाये!इतना बोल कर चला गया।मैं एकदम उसी की बात सोच रही थी बिस्तर पर लेट कर कि क्या क्या बोल रहा था और उसकी बात सोचकर सच में जाने कैसे गर्म हो गई और मेरा मन करने लगा कि काश अभी आकर अंकित मुझे मसल दे; मुझे अपनी बांहों में भर कर रगड़ डाले!ऐसा सोचते सोचते मेरी पैंटी गीली हो गई.

मेरा पूरा मेकअप करने के बाद उन्होंने मेरे साथ एक सेल्फी ली और बोले- चलो अब तुम बेड पर बैठ जाओ. कमर अभी भी पतली जैसे किसी 30 साल की महिला की होती है, बाल घने और लम्बे, होंठ पतले और रसभरे, चूचियां तनी हुई, गांड ऐसी की पीछे से कोई भी मर्द देखे तो बस देखता ही रह जाये. कुछ देर बाद आंटी ने वो पूरा लंड बाहर निकाल कर एकदम से फिर अपनी गदरायी चुत में ले लिया और अपनी गदरायी गोरी गांड को गोल गोल घुमाने लगीं.

वह मेरी कमर पर टिक गई और मैंने उसे कस कर अपने सीने से लगा दिया और दोनों एक दूसरे के होंठों का रस पीने लगे. उसने टी-शर्ट के नीचे जालीदार ब्रा पहन रखी थी जिसमें उसके मम्मे बहुत ही सुंदर लग रहे थे.

पराई लड़की का भी कोई लिहाज नहीं आपको तो?”कम्मो मेरी जान, अब तू पराई थोड़े ही है.

लेकिन मेरी मजबूत पकड़ के नीचे दबी होने के कारण अपने प्रयास में कामयाब न हो सकी. हाल ही में पहली बार सेक्स करने के बाद मैं इस घटना को शर्म और संकोच के कारण किसी से बता नहीं सका, तो आप सबसे इस मंच पर साझा कर रहा हूं. तुम्हें बहुत बहुत धन्यवाद… नहीं तो तुम्हारा ये मखमली जिस्म मुझे भोगने और चोदने को कैसे मिलता.

बीएफ पिक्चर कॉमेडी अब मैंने अपना लंड पायल के चुत में फिट कर दिया और पीछे रशीद ने पायल की गांड के छेद पे अपना लंड रख दिया. कुछ देर के बाद मैंने देखा कि उनकी नौकरानी भी उंगली चोदन से झड़ चुकी थी.

मयूरी- मुझे भी बहुत सुख की अनुभूति हुए है पापा… आपको भी धन्यवाद… पर अभी तो आपको बहुत कुछ करना है… मेरी गांड की सील अभी भी खुली नहीं है… आपको इसको भी खोलना है और मुझे अब रोज़ चोदना है. सही भी था वो अपने फोन लेने, देखने, छूने, महसूस करने की जल्दबाजी स्वाभाविक भी थी. मेरी मम्मी और उसकी मम्मी बहुत अच्छी दोस्त थी इसलिए मेरे भाई को मेरे घर आने में कोई दिक्कत नहीं होती थी.

बीएफ एचडी पोर्न

मैं तुरंत तैयार तो नहीं हुआ, पर दो चार बार के वार्तालाप के बाद में उस लड़के को बस एक नजर देखने को तैयार हो गया. मैंने पूछा- डिल्डो कितना लेती हो?उसने बताया- अभी जितनी उंगली की है. पर एक दिन सुबह की बात है, वो पानी भरने बाहर आईं और तब वो शायद उठकर ही आयी थीं.

मामी मेरे नीचे पड़ी ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थीं लेकिन मैं बिना रुके उनकी चुत को चोदता चला जा रहा था. मुझे पता है औरतों को ऐसा पसंद नहीं है कि कोई उन्हें इतना घूरे, पर अब हम और कर भी क्या सकते थे.

इसलिये मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ फिक्स किए और एक जोरदार झटका दे दिया.

नींद में उसकी नाइटी ऊपर की ओर खिसक गई थी और नीचे उसने पैंटी पहनी हुई थी. उसे एक झटका सा लगा था और उसने अपनी अवस्था का ज्ञान अपनी कमर हिलाकर करवाया. आज तो मुझे पूरा अधिकार है तुमसे पूरी तरह से मिलने का … मेरा हर एक अंग तुम्हारे अंग अंग तो भेदता हुआ आज तुमसे मिलेगा.

फिर मैंने उसके पेट पर चुम्बन किया और जीभ फेरने लगा, कभी चूमता तो कभी जीभ फेरता और वो मदहोश हो जाती. धत्त, कैसे कैसे गंदे बोल बोलते हो आप भी ना, लाज शरम तो है नहीं आपको. मैंने कपड़े देने से पहले एक छेद में से देखा कि भाभी एकदम नंगी थीं और वे एक हाथ से अपनी चूत में उंगली कर रही थीं.

उसका एक हाथ मेरे लंड पर था और उसने एक झटके में मेरा अंडरवियर उतार दिया.

बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी बीएफ: दोस्तो, मेरा नाम दिव्येश मिश्रा है और मैं जामनगर गुजरात का रहने वाला हूँ. भले ही वो मेरे घर के नहीं थे, फिर मेरे घर में उनकी सब रेस्पेक्ट किया करते थे.

इस लिए लॉजिक को एक तरफ डाल कर कहानी पढ़ें!एक दिन घर पर कुछ लोग दीदी के रिश्ते की बात करने आए और उन्होंने दीदी की सुन्दरता देख कर दीदी को पसंद कर लिया. कम्मो ऐसे नहीं रुक सकते यहां, गोलगप्पे भी खा लेंगे अभी बाद में!” मैंने कहा. महीने में दो तीन बार बुआ जी की चुत ज़रूर चोदने मिलती है, लेकिन अनु ने शादी के बाद कभी भी चुदाई नहीं करने दी.

मैंने भी फिर जोश में एक और झटका मारा और इस बार पूरा लंड अन्दर घुसेड़ दिया.

मैंने उसके कंधे पकड़कर थोड़ा जोर लगाया तो लण्ड आधा अंदर घुस गया और हिमानी की जोर से चीख निकल गई- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गयी मैं!भाभी के कमरे की तरफ की कुण्डी नहीं लगी थी, हिमानी की चीख सुन कर भाभी अन्दर आ गई और हमें उस पोजीशन में देख कर बोली- देवर जी! जरा धीरे, कहीं ऐसा न हो कि चूत बिल्कुल ही न फट जाए. वो मेरे चूत को चाटने लगे, मुझे अलग ही नशा चढ़ने लगा, वो फिर अपनी उंगली को मेरी चूत में अंदर बाहर करने लगे, मैं सिसकारियां लेने लगी. मैंने उसे तेजी से चोदना चालू कर दिया और फिर एक बार उसकी चुत में ही झड़ गया.