हिंदी बीएफ चलने वाली बीएफ

छवि स्रोत,ऑस्ट्रेलिया की बीएफ फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

पीके मुंबई सट्टा: हिंदी बीएफ चलने वाली बीएफ, कुछ पल मैं इस स्वर्गिक आनन्द का मज़ा लेता रहा और फिर प्रिया ने मुझे टहोका तो मैंने फिर से काम-क्रीड़ा शुरू की.

एक्स एक्स एक्स चुदाई बीएफ सेक्सी

मेरी मकान मालकिन आंटी 37 साल की मोटी सी कम हाईट की एक शानदार माल है. बीएफ चोपड़ानैना को पता था कि मैं ऑफिस में कंप्यूटर पर काम करता हूँ और मुझे कंप्यूटर की जानकारी है, तो वो मुझसे कहने लगी कि उसको भी कंप्यूटर सीखना है.

तभी वो बोली कि आज वो घर से निकली ही इसलिए थी कि किसी ना किसी को ढूँढेगी, नहीं तो किसी जिगोलो की मदद लेगी. बीएफ सेक्स अंग्रेजमुझको कुछ गड़बड़ लगा, फिर दिल मानने को तैयार नहीं हुआ, मैं गाड़ी के पीछे पीछे चलने लगा.

मैंने लंड उसकी गांड से निकाला और एक टांग हाथ में लेकर उसकी चुत में शॉट लगाने लगा.हिंदी बीएफ चलने वाली बीएफ: कमरे में दोबारा मस्त ध्वनि गूंजने लगी ‘पच पच पच पच… आह आ आ आई ईईई… पच पच पच पच!सोफाचेयर पर बैठे हुए मैं खुद को किसी शो का दर्शक समझ रहा था… और मुश्किल से ही खुद को प्रेमी जोड़े की शानदार परफॉरमेंस पर तालियाँ बजाने की इच्छा से रोके हुए था.

अब जवान लड़की ऐसे मेरी बांहों में सोएगी और ऐसे मेरे लंड को टच करेगी तो यार कैसे खुद को रोकूंगा.रानी मस्त होकर चिल्ला चिल्ला रही थी- हाय… हाय… हाय… ऐसे ही राजे ऐसे ही कुचल दे मुझको… आह आह राजा राजे आह… और ज़ोर से ठोक कमीने… हाँ हाँ हाँ कुत्ते अब चूचे को चटनी बना दे मादरचोद… आह आह आह… हाँ हाँ हाँ ये ठीक है… हाँ हाँ हाँ!मैंने दस बारह खूब तगड़े धक्के ठोके, तो वो पागल सी होकर मेरी बाँहों को नाखूनों से खुरचने लगी.

शिल्पा शेट्टी का बीएफ सेक्सी वीडियो - हिंदी बीएफ चलने वाली बीएफ

चूंकि मैं एक लेखक भी हूँ तो मैंने इसमें कुछ मसालेदार शब्दों का प्रयोग किया है, जिससे आपको इसे पढ़ने में और भी मजा आएगा.उस दिन मेरी ताई जी ने मुझसे कहा- एक पंखा अपनी नई भाभी के कमरे में लगा दे… और मैं मन्दिर जा रही हूँ.

सुबह मेरी आँख देर से खुली, तब देखा तो मॉम के चहरे पे संतुष्टि थी लेकिन शायद शर्म के कारण मां मुझसे कुछ बात नहीं कर रही थी. हिंदी बीएफ चलने वाली बीएफ तभी मुझे भी लगा कि मैं भी झड़ने वाला हूँ तो मैंने भाभी की गांड को ज़ोर से भींच लिया और चाटने लगा और भाभी के मुख में ही झड़ गया और भाभी ने सब गटक लिया।अब हम शांत हो गए और फिर से बिस्तर पर आकर लेट गए।भाभी का सिर मेरे सीने पर था और मैं उनके सिर को सहला रहा था और वो मेरे लंड को हाथ में लेकर ऊपर नीचे कर रही थी.

वो भी अपनी माँ की जैसी नाटी यानि 4 फीट 8 इंच की साइज़ पर ही रूक जाएगी.

हिंदी बीएफ चलने वाली बीएफ?

मेरे तो होश ही उड़ गए… पर उसने कुछ कहा नहीं और मुस्कुराती हुई अपने घर में अन्दर चली गई. रुचिका मुझसे चिपक कर काफी रोई और बोली- सर मैं कालेज को और आपको हमेशा मिस करूँगी. उसने नेहा से हाथ मिलाते हुए उसको किस किया और उसके मम्मों को भी दबा कर चुत पर हाथ मार दिया.

उसकी कमर को किस करने के बहाने मैंने अपना लंड उसकी गांड पर टिका दिया और उसे कमर के ऊपर किस करता रहा. मेरा गदराया हुआ चूतड़ों की घाटियां तथा दोनों जांघों के बीच में दबी सिकुड़ी हुई मेरी चूत उनको लुभाने लगी थी. मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ और मुझे भी गांड मारने और मरवाने का शौक है.

धीरे धीरे मेरे हाथ उसके पेट से होते हुए उसकी कमर पर चले गए और फिर उसकी गांड पर हाथ घूमने लगा. ऐसे धीरे धीरे मेरा आना जाना उनके घर में काफी बढ़ गया था हमारे फोन नंबर भी एक्सचेंज हो गए थे. ड्रेस, विग मेकअप सब उसके पास था, बस मुझे वैक्स करवाना था, जो कि बहुत मुश्किल काम था क्यूंकि इस बार मुझे फुल बॉडी वैक्स करवाना था.

अब मैं आपको सबके सामने माँ जैसा आदर दे भी दूँ मगर आपको अकेले में आपके नाम से ही बुलाऊंगी और आपको अपनी फ्रेंड मानूँगी ना की माँ. फिर मैंने अपने पतिदेव को कॉल किया और उनसे हालचाल पूछा और बोला- आई मिस यू.

अब जीजा एक हाथ से मेरी फ्रॉक को ऊपर करके मेरे सीने तक कर दिया, तो पैर से लेकर सीने तक पूरी नंगी हो गई बीच में सिर्फ पैंटी बची बदन में!जीजा एक दम ललचाई आंखों से मुझे देखकर बोले- वन्द्या, क्या मस्त चिकनी माल हो! मुझे तो यकीन ही नहीं हो रहा है कि मैं तुम्हारे ऊपर चढ़ा हूं, दुनिया की सबसे सेक्सी लड़की को चोदूंगा।यह कहते हुए जीजा ने मेरी पैंटी के अंदर हाथ डाल दिया.

चिंटू का लंड मेरी चूत के रस से गीला हो रहा था तो उसके लंड को चूसने में अलग ही स्वाद आ रहा था, पर मज़ा भी आ रहा था.

अब तक की सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि मैंने अपनी चुत की खुजली मिटाने के लिए अपने ड्राईवर को चुना और उससे हम मां बेटी ने काफी समय तक अपनी चूत की सेवा करवाई. मैंने कहा- मैं क्यों किसी से कहूँगा, मैं तो यहाँ से दो तीन दिन बाद चला जाऊंगा. मैं जल्दी से उठा और नहा कर कपड़े बदल कर होटल से निकल गया और ऑटो लेकर मधु के बताए पते पर पहुँच गया।वो घर क्या.

प्रिया के रेशम-रेशम जिस्म की कल्पना करते ही मेरे लिंग समेत मेरे जिस्म का रोयाँ-रोयाँ खड़ा हो गया और उस रात बिस्तर में मैंने सुधा की हड्डी पसली एक कर के रख दी. ”और ठीक इसी वक़्त मैंने अर्पिता की जांघ पर हाथ रख दिया और अर्पिता की भी साँसें तेज हो गयी।अर्पिता- उसके बाद?उसके बाद मैंने उसके टीशर्ट में हाथ डाला नीचे की तरफ से और पेट पर हाथ फेरने लगा. मैंने भाभी को अपनी बांहों में लेकर किस किया और खूब प्यार करके वहां से निकल गया.

मुझे लगा कि वो मेरी चुदाई से संतुष्ट नहीं हुई थी और शायद जॉब के कारण उसने शहर भी छोड़ दिया है, तभी कॉल नहीं लग रहा था.

उस गिलास में शायद उसने वियाग्रा या उसी तरह की कुछ दवा को मिला दिया गया था, जिससे धीरे धीरे मेरी उसे चोदने की इच्छा बढ़ने लगी और मैं न चाहते हुए भी उसको चोदने का ख्याल अपने दिमाग में लाने लगा. और फिर मैं भी भाभी की चूत चाटने लगा। मैंने जैसे ही भाभी की चूत पर जुबान लगाई तो भाभी मचल गयी और भाभी की चूत पहले से ही गीली थी। हम दोनों 69 की पोज़िशन में थे, उधर भाभी मेरा लंड मुंह में लेकर चूस रही थी और मैं यहाँ भाभी की चूत चाट रहा था।थोड़ी ही देर में मेरा तो माल निकल गया जो भाभी ने पूरा चूस लिया. मैं- क्या हम बेस्ट फ्रेंड बन सकते हैं?माँ- फ्रेंड्स तो हम हैं ही!मैं- ऐसे वाले नहीं… बेस्ट फ्रेंड्स जिनके साथ हम कुछ भी शेयर कर सकें… अपनी प्रॉब्लम्स, अपनी फीलिंग्स… चाहें वो कैसी भी हों!माँ- कैसी भी फीलिंग शेयर करने के लिए तुम अभी बच्चे हो.

उसके मुँह से मादक सिसकारियां निकल रही थीं, जो वो भैया और भाभी के डर की वजह से निकलने से बचा रही थी. फिर मैंने भाभी जी का ब्लाउज और पेटीकोट भी खोल दिया, अब वो मेरी सामने ब्रा और पेंटी में थीं. उन्होंने मुझको कालर से पकड़ लिया, एक ने मेरी बाइक वहाँ पोल एक खम्बे के साथ खड़ी करके लॉक कर दी और चाभी अपने पास रख ली और बोला- साले देख के नहीं चलता?मैंने भी कहा- मेरी चाभी दो!वो बोला- साले बहुत ज्यादा चर्बी चढ़ गई है?और उन्होंने मुझको अपनी गाड़ी में खींच के डाल दिया और गाड़ी आगे बढ़ा ली.

धीरे धीरे उसने मेरे टॉप को ऊपर उठा दिया और मेरी ब्रा के ऊपर से ही मेरी चुचियों को दबाने लगा.

विनय ने मेरे एक निप्पल को मुँह में ले लिया और दूसरी चुची को जोर से दबाने लगा. स्मिता एक खूबसूरत नाम ही नहीं, बल्कि एक खूबसूरती का एहसास और कामदेव का पूरे आशीर्वाद या प्रसाद थी.

हिंदी बीएफ चलने वाली बीएफ उसका फिगर भी इतना कमाल का है कि इतनी उम्र की होने के बावजूद वो लगती 30 की ही थी. तभी मुझे सामने सरकारी अस्पताल दिखाई दिया और दिमाग ने तुरंत समस्या का हल ढूँढ लिया और अचानक ही किसी जवान मर्द के मोटे ताजे लन्ड की तलाश में मेरे कदम अस्पताल की तरफ़ बढ़ने लगे.

हिंदी बीएफ चलने वाली बीएफ फिर उसने एक कंडोम निकाला और अपने लंड पर चढ़ा कर मेरी बुर के ऊपर लंड रख दिया. अपनी जीभ कभी चुत के अन्दर डालता, तो कभी उसके भगनासा पर ऊपर से नीचे तक जीभ फेर देता था.

जब उसके उंगली और घुसाने की कोशिश की तो मुझे दर्द होने लगा और मैंने डर कर उसे अपने ऊपर से हटने को कहा.

सऊदी अरब जाने का किराया

ट्रेन में कुछ देर बाद टीसी भी आ गया, टिकट देखने के बाद टीसी चला गया और चिंटू और परीक्षित थकान की वजह से जल्दी सो गए. हम दोनों ने एक दूसरे को बांहों में भर लिया, हम दोनों लिप किस करने लगे. दोस्तो, इस कहानी के बारे अपनी प्रतिक्रिया मुझे इस ईमेल पते पर भेजें और बताएं कि सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है.

हैलो मेरी प्यारी भाभी, आंटी… आपको राज़ा का प्यार भरा नमस्कार… कैसे हैं आप सब कुछ काम की वजह से मैं अपनी अगली कहानी लाने में लेट हो गया, जिसके लिये माफ़ी चाहता हूं. उसकी गांड मेरे लंड को ऐसे ठोक रही थी, जैसे मैं उसको नहीं बल्कि वो मुझको चोद रही हो. उनकी चुत फिर से गरम हो गई थी और अब वे भी पूरी मस्ती से चुदाई का मजा ले रही थीं.

मैं यह कह कर सीधा हो गया और मेरा लंड पूरा खड़ा हो कर छत की तरफ देखने लगा.

यह स्टोरी मेरी चाची की है, वो बहुत ही सुडौल और सेक्सी शरीर की मालकिन हैं. माँ- ऐसा तो कुछ नहीं है, तुम्हें ऐसा क्यों लगता है?मैं- बस ऐसे ही लगता है कि आपसेक्स की भूखीहैं और आपके पति आपको समय नहीं देते हैं. मेरे लगातार प्रयासों के बाद भी माँ ने कुछ प्रतिक्रिया नहीं दी तो मेरी हिम्मत बढ़ गई और मैं अपने काम में आगे बढ़ने का प्रयास करता रहा.

अगले 15 सेकंड में वह किसी वार्ड में घुस जाता या फिर आगे बरामदे में लगी भीड़ में चला जाता… और उससे पहले मुझे उसे रोकना था. मुझे नींद नहीं आ रही थी तो मैं बेड पर करवट लेकर लेटा हुआ माँ बेटे की चुदाई स्टोरी पढ़ रहा था. उसका रंग जरा सांवला था, पर क्या कटीली स्माइल थी उसकी, मैं तो देखता रह गया.

वो मुझे समझाने लगीं लेकिन मैं कुछ नहीं बोल रहा था और ना नहीं मेरे ऊपर उनकी किसी बात का कोई असर हो रहा था. वो बस मज़े मज़े में सिसकारियाँ लेती जा रही थी उम्म्ह… अहह… हय… याह…”ऊपर ऊपर से चूसने के बाद मैंने उसकी ब्रा को खोलना चाहा.

मैं अपने बारे में मधु को सच बताऊँ कि मैं उसके साथ पढ़ा था। मुझे अब ये डर था कि कहीं ये जानकर वो मना न कर दे। मना कर दे. उन लोगों के आगे बढ़ते ही मैंने अपनी छाती उनकी पीठ पर सटाते हुए कस कर अपने बाहुपाश में जकड़ लिया, मेरी दोनों चूचियाँ उनकी पीठ से दब कर उन्मुक्त होने के लिए छटपटा रही थीं. मैंने धीरे से उसका कुर्ता उतार फेंका और उसको गोदी में उठा कर बेड पर ले गया और उसको बेड पर चित लिटा दिया.

मेरी साँसें तेज़ी से चलने लगीं और अचानक मेरी चिकनी गांड पर उसका हाथ फिसलता हुआ मेरी गांड के छेद पर आ गया.

आप कहानी पढ़ कर अपनी प्रतिक्रिया मुझे मेरे ई-मेल[emailprotected]अवश्य दें. ऊपर नीचे दो हाई क्वालिटी मटेरियल से बनी बर्थ थीं, नीचे वाली बर्थ सोफे में भी कन्वर्ट हो जाती थी; कोच में बड़ी सी खिड़की, पर्दे और बड़ा सा शीशा लगा था, साथ में ऐ सी का टेम्प्रेचर अपने हिसाब से कंट्रोल करने के लिए स्विच थे, फर्श पर बढ़िया मेट्रेस बिछी थी. दोनों उरोजों के बीच की घाटी को चूमा-चाटा पर सब्र कहाँ?हम लोग बड़ी ही असुविधजनक स्थिति में बैठे थे लेकिन परवाह किस को थी.

हम तीनों लड़कियों में से एक तो मैरिड थी और हमेशा अपने बच्चे के बारे में बात करती थी. ये असली चुदाई का मेरा पहला मौका था तो मैं देखना चाहता था कि एक पूरी तरह से तैयार लड़की या औरत की चूत कैसी लगती है.

खैर रात भर वो लंड से तो कुछ ना कर पाया मगर ना तो उसने मुझे सोने दिया और ना ही खुद सोया. अचानक ही प्रिया जैसे होश में आयी और मेरी सख्त पकड़ से खुद को छुड़ा कर प्रिया ने मुझे ठीक अपने ऊपर, अपने आगोश में ले लिया और मेरे सर के बालों में अपनी उंगलियाँ फेरने लगी. मैं किस तरह से इस बात का सामना करूँ।तभी उन्होंने आँख मारते हुए कहा- कब मरवाओगी बताओ?उनके द्वारा मुझे मुस्कुरा कर आँख मारने की बात से मुझमें भी थोड़ी हिम्मत आई और मैंने अपने मन में सोचा कि चलो जीवन के अनुभव का मजा भी ले ही लिया जाए।मेरे पति भी चार दिन के लिए कहीं गए हुए थे.

कॉल गर्ल लड़की

इस तरहकुंवारी बुर की सील सगे भाई ने तोड़ी… मेरी बहन मेरी चुदाई की पार्टनर बन गई, हम दोनों मौका मिलते ही चुदाई का मजा लेने लगे.

’इतने मैं मैंने एक और तेज धक्का लगाया और पूरा लंड उसकी चुत में पेल दिया. यह सुन कर मैं जोश में आ गया और मैंने जोर जोर से आंटी के मम्मों को दबाना चालू कर दिया. मैंने अपनी चुदाई की जो कहानियां कुंवारी उम्र में सोची थीं, आज वो आस इस लोहे के लंड से पूरी होने वाली थी.

इस वक्त मां की चूत एकदम रसीली हो रही थी क्योंकि रमेश अंकल के दोस्त के लंड से चुदने के कारण मां की चूत ने मलाई छोड़ दी थी. अंदर जाते ही मैंने उसे दबोच लिया और उसके पूरे शरीर पर किस करने लग गया. इंग्लिश बीएफ मेंफिर कुछ मिनट बाद दर्द कम हो गया, तब तक अवी मुझे बांहों में लिए लेटा रहा और बातें करता रहा.

उसके भरे हुए मम्मे इतना मस्त मजा दे रहे थे कि हाथों को अब तक उनकी मुलायमियत का अहसास हो रहा है. मैं बोला- मेरा एक फ्रेंड है, तुम उसके साथ सेक्स करोगी?मेरी बीवी बोली- उसे कोई प्राब्लम तो नहीं होगी?मैंने कहा- मुझे नहीं पता वो मानेगा या नहीं.

कुछ देर बाद मैं उसके ऊपर चढ़ गया और कभी उसको किस करते हुए, उसकी चुचियां चूसते हुए उसको चोदने लगा. मेरी बीवी बोली- पहले खाना खा लीजिएगा जनाब!खाना खाने के बाद हम तीनों रेडी थे. खिड़की खुली थी और बाहर ठंडी हवा चल रही थी, जिससे पत्तियों के सरसराने की आवाज के बीच एक चुप्पी सी छाई थी.

नीला ने अपने हाथों का दबाव बढ़ाया और पूछा- तुम पानी में देर तक साँस रोक सकते हो तो तुमको ये मजा अभी मिल सकता है. अगर नौकरी चली गई तो करेंगे क्या… और खाएंगे क्या??उठो मयूर… तुम मेरे दोस्त जैसे हो. और फिर मैं मैं उसको अपने साथ बाथरूम में नहाने के लिए ले गया, वहाँ जाते ही मैंने हम दोनों के कपड़े उतार दिए.

यह पहली बार था कि जब इस तरह से दो लंड मेरी चूत और गांड को चोद रहे थे.

इस जोरदार ओरल सेक्स से तो वो पागल सी हो गई और दो मिनट में ही मेरी चूत चूसाई से वो झड़ गईं. अब ये मुझे मेरे पहले एक्सपीरियेंस में ही पूरा पता चल चुका था कि औरत का मजा क्या होता है.

कुछ ही दिनों में हम दोनों अपने बारे में अपने परिवार के बारे में एक-दूसरे को बताने लगे. मैंने जी भरके उसकी चूचियों के निप्पलों को चूसा था, फिर भी दूध मेरे नसीब में नहीं था. छोड़ो ना… कल रात को इतनी जोर से बजाने के बाद भी तुम्हारा दिल नहीं भरा क्या??मैं- जान, तुम चीज़ ही ऐसी हो कि दिल नहीं भरता.

मैं चित होकर पड़ी थी।कुछ देर वो मुझे किस करने के बाद बोले- अब आपकी नथ भी उतार दूँ सासु जी?मैंने कहा- क्यों नहीं… उतार दो मेरी नथ जमाई जी… कर लो अपनी हसरत पूरी!फिर उन्होंने मेरी दोनों टाँगों को हवा में करके मेरी चूत को खोल दिया, फिर अपने लंड को उसमें धांसने लगे. अलका रानी का रेशमी साटिन जैसा बदन मेरे बदन से चिपक के मेरी वासनाग्नि को अंधाधुंध भड़काए जा रहा था, मेरी सांस तेज़ हो चली थी, माथे पर पसीने की बूंदें उभर आई थीं. उसकी आँखें बंद थीं, जैसे ही उसको उसकी बुर में मेरे होंठ के स्पर्श का अनुभव हुआ, वो तो जैसे उछल पड़ी और शरीर को खींचने लगी.

हिंदी बीएफ चलने वाली बीएफ इतना सुन कर मैंने अपना हाथ आंटी की कमर में डाल दिया और कहा- आप बताइए आपको क्या चाहिए?सेक्सी वीडियो देख कर आंटी गरम हो गई थीं, इसलिए आंटी ने मुझे कुछ नहीं कहा. उधर पंकज कभी रेखा के होंठों को चूमता कभी उसके निप्पलों को चूसता, कभी उसकी कान की लौ को चूसता तो कभी उसकी हाथ की बगलों को चाटता, जिसे लोग कांख भी कहते हैं.

सेक्सी ऐप कौन सा है

मैं समझ गया कि मीशा में अभी शर्म बाकी थी, यदि वो खुद से ही मेरा लंड चूसने लगती तो शायद मुझे लगता कि साली बिल्कुल रंडी है, जो आते ही मेरा लंड चूसने लगी. मैंने एकदम से आवाज निकाली, तभी आर्मी वाले अंकल फिर मेरे होठों को चूसने लगे, मैं भी उनसे लिपट गई और बहुत एक्साइटेड हो चुकी थी. मैंने थोड़ा सा ज़ोर लगाया, तो मेरा लंड का सुपारा मॉम की चुत में घुस गया.

जैसे ही उसने मेरी जीन्स को उतारा, मेरा लंड एकदम खड़ा था तो चड्डी में तम्बू की तरह तन गया. उसने नीचे से अपने लंड से राजधानी एक्सप्रेस चला दी और चुत की धज्जियाँ उड़ानी शुरू कर दीं. बीएफ सऊदीतो मैंने एक सैलून में फ़ोन किया तो उन्होंने कहा कि फुल बॉडी वैक्स के बारह सौ लगेंगे, मैं तैयार हो गया.

उसने ये सब शर्तें मान लीं और पहले लीगल डाक्यूमेंट्स के लिए मुझसे कुछ समय माँगा.

फ़िर एक थप्पड़ जोर से उनकी चूत पर मारा, इस बार वो कुछ नहीं बोलीं, सिर्फ उनके मुँह से एक दर्द भरी आहह निकली. निप्पल चुसवाते ही मीशा की मस्ती बढ़ गई और वो मेरे मुँह में अपनी चूचियां ठेलने लगी.

मेरी पिछली सेक्सी कहानीऑफिस में बॉस से गांड चुदाई करवाती पकड़ी गईमें आपने पढ़ा कि कैसे मैं अपने बॉस से उनके केबिन में गांड मरवा रही थी कि ऑफिस स्टाफ का एक लड़का अंदर आ गया और उसने हमें गांड चुदाई करते देख लिया. आप सभी को नमस्कार और उन सभी पाठकों को बहुत धन्यवाद, जिन्होंने मेरी पिछली कामुकता भरीगर्म सेक्स स्टोरीको सराहा और मुझे मेल किए. ये सब इस तरह से करना कि हम दोनों का फेस ना नज़र आए मगर उस हरामी का चेहरा पूरा साफ़ नज़र आना चाहिए.

मैंने चुत पर हाथ फेर कर कहा- अब मैं आ गया हूँ ना प्यार करने के लिए.

वो मेरी कमर में हाथ डाल कर डांस करने लगा और फिर मेरी पीठ पर हाथ फेरने लगा. !!!” एक लम्बी सिसकी प्रिया के मुंह से निकल गयी लेकिन हर चीज़ अभी कंट्रोल में ही थी, मैंने थोड़ा सा ज़ोर और लगाया, अब लिंग-मुंड प्रिया की जलती धधकती योनि के अंदर था. जब कि वो साली जगत का मूसल लंड भी मज़े ले गई थी, वो तो इसके लंड का बाप था.

साले बीएफ सेक्सीrajveermidh[emailprotected]रोमांटिक सेक्स स्टोरी का अगला भाग :स्त्री-मन… एक पहेली-3. तभी एक लड़की जो कि उनकी बुआ थी, उन्हें ढूँढते हुए हमारे पास आई और उन्हें कहने लगी कि बिना बताए कहां चले गए थे.

सेक्सी वीडियो चोदा चोदी ना

मेरी बहन से कामिनी ने कहा- दीदी, आज आप पिंकी को लेती जायेंगी? मुझको ऑफिस जल्दी जाना है. उसने अपने ऊपर के होंठों से मेरे नीचे के होंठों को चबाना शुरू किया और साथ ही में मेरे कड़ियल और मजबूत बदन पर हाथ फिराने लगी. मॉम ने भी नवीन की तरफ तरफ मुड़कर नवीन के गले में बंधा हुआ गमछा पकड़ लिया और नवीन की आँखों में ऑंखें डाल कर कहने लगीं- नवीन फ़क मी फ़ास्ट… फ़क मी.

हां ड्रॉइंग रूम में ड्राइवर तुम्हारा इंतज़ार कर रहा होगा तुम उसको जहाँ बोलोगी, वो वहीं छोड़ कर आएगा. मैंने उससे कहा- बिंदु कोई फिकर ना करो तुम्हें भी उसके लंड का स्वाद मिलेगा. वे एक आंटी हैं, आंटी का नाम मीना है, मैं उन्हें मीना आंटी कह कर बुलाता हूँ.

मैंने उससे पूछा- क्या तुमने पहले भी किसी का लंड चूसा है?वो बोली- हां इनका लंड कभी कभार चूस लेती हूँ… पर मज़ा नहीं आता. मैंने उसकी चूत की लकीर को दोनों अंगूठों से फैलाया, फिर अपनी उंगली से ऊपर की परत को अलग किया. अब सब शर्म और तकल्लुफ एक तरफ रख दीजिएगा और बाथरूम में जाकर अपनी नेचुरल ड्रेस में मतलब की पूरी नंगी होकर आ जाइएगा.

मैंने रोशनी को रोज 10 बजे से 12 बजे तक उसके घर अंग्रेज़ी पढ़ाना शुरू कर दिया. तो अब मैं क्या अकेले पीता? कोई साथ में हो तो पीने का मजा है, अकेले पीने में मजा नहीं आता.

फिर कुछ देर बाद मैं एकदम से तेज हो गया और उनकी योनि के अन्दर ही अपना पूरा रस छोड़ दिया.

तब तक विदा!!!राजवीरआपको मेरी कहानी कैसी लगी?मुझे आप सब पाठकों की प्रतिक्रिया की आतुरता से प्रतीक्षा रहेगी. हिंदी कार्टून बीएफये बात लगभग 7 साल पुरानी है, भाभी की उम्र उस समय 32 साल की थी, मैं जब 23 साल का था. सेक्स करने का बीएफमुझे बहुत से पाठकों के मेल मिले हैं और उसमें से कुछ ने चुदाई भरी चैट करने की भी कोशिश की है. रात होते ही मैं अपनी वाइफ से बोला कि मेरा एक दोस्त आ रहा है, उसका लंड बहुत लम्बा और मोटा है, मैंने उससे बात की है.

मैंने भाभी को पूरा भरोसा दिलाया कि भाभी मैं आपको माँ बना कर ही छोडूंगा.

जब मेरे पति आएंगे, उस महीने में हम दोनों सेक्स करके बच्चा पैदा कर ही सकते हैं. मैंने आव देखा ना ताव, अपने मुँह से उसके एक चूचे को भर लिया और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा. टीवी की आवाज़ तेज थी जिससे कोई आवाज ही नहीं आयी, मेरी आंखों से आंसू बहने लगे और बालू को देखा तो वो अपनी आंखें बंद किये फुल जोश में पसीना पसीना हुआ जा रहा था.

जैसे ही मुझे लगा कि अब ये उंगली से ही मज़े ले रही है, मैंने उंगली निकाल ली और चूत के मुँह पर लंड लगा दिया. आज मैं आप लोगों को जो कहानी बताने जा रहा हूँ वो मेरे को एक मेरे चैट फ्रेंड ने लिखने का आग्रह किया है, यह उनकी जिंदगी की ट्रू सेक्स कहानी है. मां के इस ब्लाउज का गला बहुत गहरा था, जिससे उनकी चूचियां आधी से ज्यादा दिखाई डी रही थीं.

हॉटेल सेक्सी

मैंने चूमते हुए उसकी ब्रा का हुक खोल दिया और उसकी नंगी हो चुकी पीठ पर फिर से जीभ फेरने लगा… और चूमने लगा. मैंने आंटी की साड़ी का पल्लू नीचे गिरा दिया, जिससे उनके चुचों की लाइन साफ दिखने लगी. पहले तो मैंने इन दोनों के लंड को चूमा और तुरन्त ही लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी क्योंकि मुझसे अब सब्र नहीं हो रहा था.

मेरी वाइफ भी मस्त गांड उठा उठा कर चुदवा रही थी और मुँह से आवाज़ निकल रही थी ‘और तेज़ आहआआ ऊऊऊओह मैं गई.

खैर जैसे ही मैं उनके घर पहुँचा, उन दोनों ने बड़ी ही गर्मजोशी से मेरा स्वागत किया.

फिर वो और गरम हो गई और मुझको अपने साथ चिपकाने लगी तो मैंने उसकी पेंटी उतारी, उसकी चुत पर अभी रोयें से ही आये थे और चूत के होंठ आपस में चिपके पड़े थे. वो बोले- मुझे आपके साथ सुहागरात मनानी है।मैं बोली- होश में आओ जमाई जी… क्या बकवास कर रहे हो?वो बोले- सासू जी, मैं होश में ही हूँ. यूक्रेन की बीएफ मूवीवहां दीदी अपनी ही मस्ती में फोन डिसकनेक्ट होने से बेखबर अपनी चुत में उंगली अन्दर बाहर करके चोदे जा रही थीं.

वो मुझे सहारा दे कर गाड़ी से रूम तक ले गया और मेरे बिस्तर पर लिटा कर मुझे चादर उढ़ा दी. उस बहन की चुदाई कहानी में मैंने आपको बताया था कि मैं अपनी दोनों बहनों को चोदता हूँ. वहीं चिंटू ने अपने लंड को मेरी गांड के छेद पर लगाते ही दो करारे धक्कों में मेरी गांड में पूरा उतार दिया.

काव्या के भाई का नाम भी रवि था तो उस से भ्रम की स्थिति पैदा हो गयी थी. मैंने अपने होंठ उनके होंठों पर रख दिए और अगला धक्का मार कर अपने मोटे लंड को भाभी की चूत की गहराई में बैठा दिया.

आंटी की चुत में एक साल से लंड नहीं गया था, इसलिए उन्हें दर्द हो रहा था.

कुछ देर बाद वो चुत के होंठों को खोल खोल कर दिखाने लगी, जो मुझे भी दिख रहे थे. जब सारा कार्यक्रम समाप्त हुआ, तो मैंने अपना लंड जो कि मेरे अपने ही वीर्य से सना हुआ था, उसे साफ किया और लैपटॉप एंड कैमरा पैकअप करने लगा. पहले जब मैं हस्तमैथुन करता था तो मैं हर बार बहुत जल्दी ही झड़ जाता था, पर पता नहीं आज क्या हो रहा था.

वीडियो फिल्म बीएफ एचडी हम लोग कार से निकले और कार में रोमांटिक गाना लगा कर मस्ती से कार चलाने लगा. पर दीदी से गले तो लग सकता हूँ।”कहते हुए एक हाथ उसकी कमर में और गर्दन में डालकर सीने से लगा लिया। मधु की लम्बाई लगभग मेरे ही बराबर थी.

मैं पिंकी को बाथरूम में लेके गया, उसका चेहरा और उसकी टी-शर्ट के ऊपर की सु सु को पानी से साफ़ किया. जब सब जमा हो गए, अजय ने मुझे नंगा कर दिया… बिल्कुल नंगा, यहाँ तक की मेरी चप्पलें भी उतरवा दीं और सब सामान बैग में रख दिया. कुछ देर बाद वह एक महिला के साथ बाहर आया और बच्चे के बारे में बात करने लगा जिसे सुनकर मुझे समझ आया कि वो जवान मोटे लंड वाला चोदू आदमी अपनी दमदार चुदाई से अपनी बीवी को माँ बना चुका था.

सेक्सी क्राइम अलर्ट

’ करने लगीमैंने लगभग दस मिनट तक उसके दोनों चूचियों को खूब चूसा, काटा और निचोड़ा. वो उम्म…आह… हाय… हाँ… अह… बोल बोल कर चुत चुदाई का पूरा मजा ले रही थी. पर क्या करोगे पेंटी का?विनय- रोज तुम्हारी पेंटी को सूँघ कर अपने लंड को शांत कर लिया करूंगा.

मेरा वीर्य कंडोम में निकल रहा था और इतना ज़्यादा माल आज पहली बार निकला था. जैसा कि अस्पताल के बाहर मिले तीन जवान लौंडों ने मेरे दिमाग में हवस और गान्ड़ फाड़ू लंड की भूख भर दी थी जिससे रह रह कर मेरी आंखों के सामने उन जवान लड़कों का कातिलाना जिस्म घूम रहा था और मेरे दिमाग में उन तीनों के अलग अलग साईज़ के मोटे ताज़े लंड और मस्त चुदाई की काल्पनिक कहानी चल रही थी जिससे मेरा लंड भी खडा होकर झटके मारने लगा था.

मैंने कहा- दरवाजा खुला ही है…माँ रूम में आईं… मेरे रूम में रोमांटिक लाइट ब्लू कलर की लाइट रोशन थी.

यार तू लकी है प्रीति… घर में भी चुदती है… बाहर भी चुदती है…” यह कहकर दीदी ने अपने आप को ठीक किया और अपना फोन लेकर गांड मटकाते हुए किचन से बाहर चली गईं. मैंने अपनी चुदाई की जो कहानियां कुंवारी उम्र में सोची थीं, आज वो आस इस लोहे के लंड से पूरी होने वाली थी. मेरी पिछली कहानीचचेरी भाभी का खूबसूरत भोसड़ाआप में से कई लोगों को याद होगी और मुझे उम्मीद है कि उस कहानी से आप सभी पुराने पाठक मुझे जानते होंगे.

दीदी ने इतनी तेज़ करेला चुत में घुसाया कि दीदी की चीख निकल गई ‘ओह ओह… आह…’दीदी कसमसाने लगीं और अपनी गांड को चेयर पे रगड़ने लगीं. पर जल्दी ही उसे एहसास हुआ कि हमारे पास टाइम नहीं है तो उसने जल्दी से मेरा मेकअप, फाउंडेशन, लिप ग्लॉस. तो सबसे पहले एक लीगल डॉक्यूमेंट साइन होगा, जिसमें अगर तुम मुझे डाइवोर्स देते हो तो मुझे हर महीने पांच लाख रुपये और बीस प्रतिशत प्रॉपर्टी मेरे नाम करोगे.

अब तो लंड महाराज काम्या की चूत के अन्दर जाने के लिए बड़े बेचैन हो रहे थे.

हिंदी बीएफ चलने वाली बीएफ: अब मेरी नज़र उस के लंड पर थी, उसकी नजर मेरी चुत पर थी या नहीं वो अभी मैं नहीं कह सकती. मैंने देर न करते हुए उनके अधखुले ब्लाउज को उनके शरीर से अलग कर दिया.

अब मैंने विनय की चड्डी को नीचे कर दिया और उसका 7 इंच का भूरे रंग का लंड मेरे सामने आ गया. तो उन्होंने बिल्कुल भी देरी ना करते हुए मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया और मुझे अपने ऊपर आने को कहा. रोशनी ने कहा- ये चूत का पिक्चर सही से नहीं बनाया है, यहाँ दो नाम दिए हैं.

पर मैं जानता था कि इस पोज़ में डायरेक्ट जी-स्पॉट पर लंड टकराता है, जिस वजह से महिला को असीम आनन्द की प्राप्ति होती है.

अपने हाथों से दीदी को अपनी ओर खींचा और उन्हें धीरे धीरे चूमना शुरू कर दिया. मैं बाथरूम में गया, एक टावल गीला करके वापस आकर सेजल भाभी के जिस्म को साफ़ करने लगा. मैं भी उसको पसंद करती हूँ लेकिन वो मुझसे उम्र में बड़ा है इसलिए कभी उसको इस बारे में मैंने हां नहीं कहा.