सेक्सी बीएफ फिल्में बीएफ

छवि स्रोत,ভিডিও সেক্স ভিডিও

तस्वीर का शीर्षक ,

मौसी की चूत चुदाई: सेक्सी बीएफ फिल्में बीएफ, फिर मैंने कल रात को तेरी आइसक्रीम में नींद की गोली मिला दी थी और तेरी गांड को नंगी करके चाट भी लिया था.

गुजराती ब्लू सेक्स फिल्म

अजय ने सामने से आकर मेरे मुँह में पूरा लौड़ा डाल दिया और लंड को मेरे गले तक ठांस दिया. फुल एचडी एक्स एक्स एक्स वीडियोभाबी पर हुए इस तरह के वार को भाबी ने भांप लिया और उन्होंने पीछे से मेरे लोवर में उभरे हुए लंड को पकड़ लिया.

अब आगे:राजेन्द्र अंकल के जाने के बाद मैं भी हॉल में आकर उनके बाजू में बैठ गई. ब्लू वाली ब्लूएक क्षण का अटपटा मौन रहा, फिर प्रश्न आया- कैसे हैं आप?अच्छा हूँ। आपसे बात करके और अच्छा हो गया हूँ।”वह शायद लजा गई। मुझे लगा मुझे अपना उत्साह कम करना चाहिए।आप कैसी हैं?” मैंने पूछा.

मैनेजर बोले- तेरे चूचे तो बहुत बड़े हैं … कितनों से दबवाये हैं?मैंने कहा- सर मैं वर्जिन हूँ लेकिन छोटे से ही रोज तेल से चूचियों की मालिश करती हूँ, तभी इतने बड़े हो गए हैं.सेक्सी बीएफ फिल्में बीएफ: वो भी मान गए और बोले- बहू वैसे वो तो मान जाएगा, पर मैं उससे कैसे बोलूं?वनिता बोली- बाबूजी वो जब घर आए, तो आप बस बाहर चले जाना, आगे का काम मैं सम्भाल लूंगी.

एक तो मुझ पर प्रिया की शादी के कामों की जिम्मेवारी, तिस पर प्रिया के मुझ से सदा के लिए दूर चले जाने का सदमा, ऊपर से इस वाहियात औरत के मुतवातार उलाहनों ने मेरा काफिया तंग कर रखा था.दर्द होगा ही, खीरा मेरे लौड़े से भी मोटा था ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो टांगें चौड़ी करके गांड उचकाए स्लैब के सहारे झुकी थी.

ससुर बहू की सेक्सी हिंदी में - सेक्सी बीएफ फिल्में बीएफ

निहारिका अपनी भाभी के साथ घूम रही थी और मैं मेरे दोस्तों के साथ था.मैंने लंड काजल की चूत पर से हटा दिया और जैसे कि किसी ने उसका प्यारा खिलौना ले लिया हो.

बड़ी लड़की पूरी जवान ही चुकी थी, उसका नाम सरिता था, वो 20 साल की थी और छोटी लड़की अभी कमसिन 18 साल की थी, उसका नाम नीना था. सेक्सी बीएफ फिल्में बीएफ मैंने उसके बोबे अपने हाथ में लिए और उसकी नंगी पीठ से बिल्कुल चिपक गया।मेरे ऐसा करने से वो वासना में डूब गयी। मैं उसी अवस्था में उसके कंधों पर चूमने लगा। उसके मुंह से कामुक सिसकारी निकली- आहह!मैंने चुंबन जारी रखा.

मैं जानता था कि दीदी मुझे देखने तो नहीं देगी मगर मेरी बात पर गुस्सा भी नहीं करेगी.

सेक्सी बीएफ फिल्में बीएफ?

मैंने देखा कि रानी के चूचुक पर मेरे हाथों के लाल लाल निशान पड़ गए थे. हमने एक दूसरे को अपना फोन नंबर दिया और फिर धीरे धीरे लेट नाइट चैटिग चालू हो गई और फिर बाद में आगे बढ़ने लगी. मुझे भी उस इतना भरोसा था कि वो मेरा लाईफ में कभी मेरा साथ नहीं छोड़ेगी.

हमने एक दूसरे को अपना फोन नंबर दिया और फिर धीरे धीरे लेट नाइट चैटिग चालू हो गई और फिर बाद में आगे बढ़ने लगी. उस दिन की चुदाई के बाद हम दोनों लोग रोज सेक्स तो नहीं करते हैं लेकिन हम दोनों लोगों को जब भी मौका मिलता है तो हम अपनी प्यास बुझा लेते हैं. लण्ड का सुपारा बेबी की चूत के लबों के बीच रखकर मैं उसकी चूचियों से खेलने लगा और वो लण्ड को चूत के अन्दर लेने की जोर आजमाइश कर रही थी.

अपने दोनों पैरों को फैलाते हुए उसने कहा- अब शुरू हो जा मेरे हरामी भाई … अपने लंड से अपनी दीदी की प्यास को बुझा दे. फिर हम दोनों ने एक दूसरे को साबुन लगाकर अच्छे से मलने के बाद फिर शॉवर के नीचे नहाने लगे. हाथ-मुंह धोकर मैंने जल्दबाजी में खाना ठूंसा और निवाले निगल-निगल कर फटाफटा पेट भर लिया.

पांच मिनट की चुसाई में ही मैंने भी अपना माल उसके मुंह में निकाल दिया और कुछ देर तक लंड को उसके मुंह में ही फंसा कर रखा. उसका यौवन और ज्यादा निखरने लगा था लेकिन जवानी का असली रंग तो लंड लेने के बाद ही चढ़ना शुरू होता है.

वो मेरी चूत को चोदते-चोदते अपनी स्पीड बढ़ाने लगा और कुछ ही देर में हम दोनों का पानी निकल गया.

फिर कुछ देर भाभी और मैं बातें करने लगे और नैना अपने कमरे में चली गई.

वे लोग भी काफी रईस थे और काफी बड़ा घर था और घर के साथ एक बहुत बड़ा मैदान था जहाँ हम खेल रहे थे. उसने पूछा- फिर कब मिलोगे?मैंने कहा- फिर कभी किस्मत में तुम्हारी संगत होना होगी, तो हम दोनों जरूर मिलेंगे. मैं उसके पैरों को किसी कुत्ते की तरह चूमने लगा। मुझे इतना मजा आ रहा था कि मैं कुछ भी बता नहीं सकता। मैं उस समय सातवें आसमान में उड़ रहा था।फिर लगभग 5-7 मिनट लण्ड चूसाने के बाद मेरा शरीर अकड़ने लगा और मेरे लण्ड ने गर्मागर्म लावा छोड़ दिया और लण्ड से लावा की पहली पिचकारी उसके मुँह में ही गिर गई.

उसकी चीख इतनी तेज निकली थी … मानो किसी ने उसकी चुत में गरम सरिया डाल दिया हो. यह सोच कर ही मन रोमांचित हो रहा था। मैं लेटे-लेटे सोचने लगा कि अब कल क्या होगा? अब तो ये खेल शुरू हो गया है. मैंने मैगज़ीन तो फर्श से उठाकर वापिस टेबल पर रख दी लेकिन दुबारा से आँखें हरी करने का विचार टाल दिया.

मैं अपने कपड़े पहनकर रूम से बाहर आ गया, जहां डाइनिंग टेबल पर नाश्ता तैयार था.

पर तुम अपने पड़ोसी और रिश्तेदारों से कैसे छुपाओगे मुझे?कुछ देर सोचने के बाद एक जोरदार सा आइडिया मेरे दिमाग में आया और मैंने कहा- मैं सब संभाल लूंगा, तुम बस आ जाओ. उसके बाद उन्होंने पूनम को छोड़ दिया और उन्होंने मुझे दूसरे केबिन में चलने के लिए कहा. हम सब लोग पार्टी कर रहे थे और उस दिन उन्होंने एक मेल एस्कोर्ट को भी बुलाया हुआ था.

धोने के बाद जब मैं वापस रूम में आई तो भोला ने वह गंदे वाला बिस्तर साफ करवा दिया था और चादर को वहां से हटा दिया था. मेरी इस हरकत पर वह थोड़ी सहम सी गई और उसने मुझे अपने से अलग कर दिया. यूं वीरवार को वसुन्धरा के शिमला वाले घर में होने की संभावनाएं अत्यंत क्षीण थी लेकिन फिर भी मैंने हामी भर दी.

मैंने तुरंत उसकी गांड पर थूक लगाया और पूरा लण्ड अंदर करने की कोशिश करने लगा।जैसे ही गांड में लंड ने रास्ता बनाना शुरू किया तो हर के सेंटीमीटर की गहराती हुई गहराई के साथ गीतू की दर्द भरी चीखें उसके भीतर को फाड़ कर बाहर आने की कोशिश करती मगर मेरी प्यारी गीतू उन चीखों का अंदर ही गला घोंट दे रही थी.

मेरे ससुर ने पूछा- बेटा तुम कैसे जा रहे हो? साथ में इनको भी ले जाओ. मैं उसका लंड गले तक ले रही थी और वो मेरी चूत और गांड को अपनी जीभ को नुकीली करके अन्दर तक चाट रहा था.

सेक्सी बीएफ फिल्में बीएफ मैं औंधी लेटी थी, इसलिए मुझे पता नहीं चल रहा था कि वो क्या कर रहा है, पर थोड़ी देर बाद मुझे मेरी गांड पर कुछ गर्म गर्म एहसास हुआ. नम्रता- ठीक है तुम फोन बंद करो, मैं भी अपनी चूत में उंगली डालकर माल नहीं निकालूंगी, बस मुझे परसों का इंतजार रहेगा.

सेक्सी बीएफ फिल्में बीएफ अब आगे:पैंट और चड्डी नीचे करते ही मेरा लंड उछल कर बाहर आ गया, लंड की हालत देखकर लग रहा था जैसे कि वो एकदम गुस्से से लाल हो गया है. उसकी गांड एकदम हाहाकार मचा रही थी, इस पोजीशन में मुझे उसकी गांड का भूरा छेद दिख रहा था, जो बहुत दिलनशी लग रहा था.

मां बोली- तो मैं भी चल पड़ती हूं तुम्हारे साथ, मुझे भी बाजार से सामान लाना है.

कॉलेज की न्यू सेक्सी वीडियो

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मौसेरे भाई बहन के साथ थ्रीसम सेक्स-2. मैं बेड पर जाकर टांगें फैला कर बैठ गया और सायमा मेरे केक लगे लंड को मुंह में भर कर फिर से चूसने चाटने लगी. मैं उसकी इस बात पर हैरान हो रहा था कि आज तो खुशी का दिन है और ये रो रही है.

मौसी ने मुझे पास के एक कमरे में बुलाया और जल्दी जल्दी चुदाई का काम ख़त्म करने को बोलने लगीं. मेरे सवाल का बड़े ही चटक अंदाज में जवाब देते हुए उसने कहा- हां, मैं तो बहुत शॉपिंग करती हूँ, मुझे भी काफी शौक है शॉपिंक करने का, लेकिन मैं अपनी सहेलियों के साथ ही जाती हूँ. आपको एक बात बता दूं कि मुझे गालियां देते हुए सेक्स करने में बहुत मज़ा आता है.

उसके बाद मेरे घर से फोन आ गया और हम दोनों को वहाँ से मजबूरन निकलना पड़ा.

मैं एक और तेज झटके में अपना पूरा लंड शायना बुआ की चूत में ठोक दिया. मेरे दो बेटे हैं जो ग्रेजुएशन के बाद बाहर कहीं उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं. नैना ने लॉन्ग स्कर्ट पहनी हुई थी और ऊपर ब्लाउज़ जैसा टॉप था, जिससे उसका पेट नजर आ रहा था.

पैंट उतारने के बाद मेरे अंडरवियर में तना हुआ लंड देख कर उसने चैन की सांस लेते हुए कहा- आ जाओ मेरे पास …मैं सोफे पर उसके मुंह के पास जाकर खड़ा हो गया. अन्दर बाहर करते करते अब वो समय आ गया कि अब पैसेन्जर ट्रेन को राजधानी बनाने की इच्छा होने लगी. मैंने अंकल से कहा- अंकल, आपका लंड तो अम्मी के नाम से ही खड़ा हो गया है.

कसम से मॉम के वो बड़े बड़े मम्मे और उनके ऊपर वो काले चूचे देखकर ऐसा लगता है कि बस उनको पकड़ कर चूस लो. मैंने उसके चूचों पर तेल की बूंदें डाल दीं और उसके चूचों को मसाज देने लगा.

उसने मुझे बेड पर फेंक दिया और खुद मेरे ऊपर चढ़ गया और फिर से अपना लोड़ा मेरे मुंह में घुसेड़ दिया, कुछ धक्के मारने के बाद उसका छूट गया और पूरा मैंने रस पी लिया. उम्म्ह… अहह… हय… याह… मुझे लगने लगा कि जैसे मैं किसी और ही दुनिया में चली गई हूँ. मैं और गर्म हो गया और लंड चूत से निकाल कर तुरंत उसकी गांड में डाल दिया.

मेरी गांड की चुदाई पूरी होते होते मुझे गांड मराने में बेहद मजा आने लगा था, भैया ने मेरी गांड खोल दी थी और मुझे खुद के लंड का प्यासा भी बना लिया था.

मैं भी इस मस्त चुदाई के लिए अपने साजन निक का आभार मन ही मन मान रही थी. मेरी यह सेक्सी स्टोरी कैसी लगी, इसके बारे में अपने बहुमूल्य विचार रख कर कहानी को सार्थक बनायें. एक दिन मेरे भैया घर पर नहीं थे और रिदम ने मुझे मैसेज करके बोला कि आज कहीं घूमने चलते हैं तो उसके बहुत कहने पर मैं भी मान गयी.

तीसरे फ्लोर को 2 परिवारों को किराये पर दिया हुआ है … जिसमें दो बहुत ही खूबसूरत भाभियां रहती हैं. जीजा जी के इस प्रहार को दीदी बर्दाश्त नहीं कर पा रही थी लेकिन मेरे चोदू जीजा ने मेरी दीदी के कूल्हों को अपने हाथों में पकड़ रखा था.

घबराहट के कारण दिमाग ने काम करना बंद सा कर दिया था इसलिए आगे बात बढ़ाने का रास्ता सूझ नहीं रहा था. मैंने अंजलि के नंगे चिकने बदन के हर अंग को अच्छी तरह से मसला और उनको तेल पिलाया. मैंने किसी तरह खुद पर काबू किया और उससे पूछने लगा कि पढ़ाई कैसी चल रही है … वगैरह वगैरह.

हिंदी फिल्म की सेक्सी पिक्चर

जींस उतारते ही मुझे उसकी खूबसूरत टांगें और पेंटी में कैद रोती हुई फूली सी चूत दिखी.

मैंने भी पीछे से उसे पकड़ लिया और उसके बूब्स दबाते हुए उसकी गर्दन में किस करने लगा. मेरा लंड तन कर पैंट में झटके देने पर मजबूर हो चला था और मन कर रहा था कि काजल का हाथ पकड़ लूं लेकिन अभी तो वह मधुर अहसास केवल स्वप्न तक ही सीमित था. मैं उसकी गर्दन को चूमने लगा और मेरी गांड दीवार की तरफ धक्के लगाती हुई उसकी चूत में लंड को अंदर-बाहर करने लगी.

मैं ‘आअह्ह हहह बेबी … मजा आ रहा है … मेरी जान फ़क मी हार्ड … मेरे भाई चोद दे आज अपनी इस रंडी बहन को आअह्ह्ह. आज मेरा ख्वाब पूरा होने जा रहा था, उसकी जिन चूचियों को मैं पिछले कई दिनों से सपनों में देख कर मुठ मारा करता था, आज वो साक्षात मेरे सामने उछल उछल कर अपनी रंगीनी बिखेर रही थीं. सुहागरात xnxx2 मेरी दूसरी मित्र सुहानी ने पूछा है: मैं मात्र 19 साल की हूँ और मेरा ब्वॉयफ्रेंड हर बार मुझे सेक्स करने के लिए कहता है परंतु वह सेक्स के मामले में अनाड़ी है और मेरा मत है कि मैं एक परिपक्व व्यक्ति के साथ पहला सेक्स करूँ। अगर आप समय दे पायें तो मैं आपसे मिलना चाहूँगी.

मुझे भी चूत चाटने की ऐसी लत लगी कि मैं अब जब भी किसी को भी चोदता हूँ, तो पहले चूत चाट कर उसे 2 से 3 बार झड़ा देता हूँ, तभी लंड लगाता हूँ. उसने मेरे लंड को हाथ में लेकर ज़ोर से दबा दिया और फिर लंड के ऊपर एक के बाद एक कई किस कर दिए.

मैंने उसके चेहरे की तरफ देखा, उसकी आंखें तृप्त होने जैसी अवस्था में बंद थीं. जीजू का लंड मानसी के चूतड़ों पर रगड़ खा रहा था और वो जीजू को बेतहाशा चूमने में लगी हुई थी. जब मैं झड़ने को होता तो मैं रुक जाता था क्योंकि मैं उसकी चूत की चुदाई के आनंद को ज्यादा देर तक भोगना चाहता था.

अगर तुम मेरी जिंदगी में नहीं आए होते, तो जो मुझे अब मिलने जा रहा है, कभी नहीं मिलता. लेकिन इतना जरूर था कि जीजा जी के साथ मेरी रंगरेलियों की शुरूआत तो यहाँ से हो ही चुकी थी. उसके बाद उन्होंने दीदी की चूत को कुत्तों की तरह चाटना शुरू कर दिया.

उन्होंने मेरे दोनों बड़े बड़े दूध को दोनों हाथ से सम्हाला और मेरे गुलाबी निप्पल को चूसने लगे.

मानसी ने पूछ लिया- लेकिन दीदी तुमने राज के साथ शुरूआत कैसे की, बताओ तो, मैं तो सुनने के लिए बहुत उत्साहित हो रही हूं. फिर हम दोनों ने जल्दी से अपने कपड़े वापस पहन लिए और मैं भाभी को बाइक पर लेकर निकल गया.

यूं समझिये कि शहर में जहाँ शाम को चाय का वक्त होता है मेरे नाना के गांव में उस वक्त डिनर का टाइम हो जाता था. अब आगे:उत्तेजना के वश मैंने ये सब कर तो दिया था मगर मुझे अब अपने आप पर पछतावा सा हो रहा था कि मैंने ये क्या कर दिया. इस पर उन्होंने मेरा सिर नीचे कर के अपना पूरा का पूरा लंड मेरे मुँह में दे दिया.

फिर मैंने उसके पेट को जहाँ तहाँ चूमा और नाभि पे किस करने के बाद उसकी नाभि में अपनी जीभ घुसेड़ दी. यह बात अलग है कि मैं किसी के साथ ग़लत नहीं करता … तो मेरे साथ भी कुछ ग़लत नहीं होता. मैंने रजाई एक तरफ हटाई और भाभी की टांगों को एक हाथ में उठा कर उनकी चूत पर लंड को सेट करके उनकी चूत में लंड को धकेल दिया.

सेक्सी बीएफ फिल्में बीएफ जैसे ही शर्ट उतार कर फेंकी तो मैंने देखा कि भोला सिंह की छाती बहुत चौड़ी थी. कहानी पर अपनी राय देने के लिए आप कमेंट जरूर करें और अपने विचार मेल के द्वारा भी साझा कर सकते हैं.

hard सेक्सी वीडियो

मैंने सोचा कि ये लोग शादी में अपनी खुशियां मनाने आए हैं और मेरी वजह से ये पूरे 2 या 3 दिन मुँह लटकाये रहेंगे, तो अच्छा नहीं लगेगा. मैंने दूसरे धक्के में पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में जड़ तक घुसा दिया और उसके होंठों को चूसने लगा. चूंकि मैं कई बार कई किस्मों के लंड से चुद चुकी थी इसलिए मुझे उसका लंड लेने में कोई दिक्कत नहीं हुई.

अलका- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैं- नहीं … अब तक तो कोई भी नहीं है. मैं जल्दी से घोड़ी बन गई और उसने पहले कुछ पल मेरी गांड चाटी और अपना लंड लहराते हुए मेरी गांड में डाल दिया. मौसी की चुदाई वीडियो हिंदीहम दोनों का ही मूड खराब हो गया था लेकिन किया भी क्या जा सकता था, इसलिए दोनों ने अपने कपड़े पहन लिये.

मैं उसकी बुर चाट रहा था और वो ऊपर मस्ती से चिल्ला रही थी- आह … प्लीज़ मन्नी … डोंट बाईट हार्ड … डू इट सॉफ्टर … आई लव इट.

जब मैंने उसे छोड़ा, तब उसने आखिरी घूँट गटक कर चिहुँक के ऐसे सांस ली, जैसे उसकी जान में जान आयी हो. एक औरत ने जिम्नास्टिक जैसे उलटते हुए अपनी चुत मेरे मुँह के सामने कर दी.

हेतल अपने चूचों के निप्पलों को मसलने लगी और इस तरह तीन-चार मिनट के बाद ही मेरे लंड ने उसकी गांड में पिचकारी छोड़ते हुए अपना वीर्य गिरा दिया. नम्रता बोली- चलो पहले मूत के आते हैं, या फिर अगर मेरी मूत पीने का मन है तो मैं तुम्हारे मुँह में ही मूत दूँ. जितनी प्यासी मेरी बहन थी उतनी ही प्यास मेरे अंदर भी लगी हुई थी उसकी चूत को चोदने की.

उसने मेरी गर्दन को चूमना शुरू कर दिया और अपनी टांगों को मेरी गांड पर लपेट लिया.

तभी उसने मुझे धक्का देकर बेड पर गिरा दिया और मेरे सारे कपड़े उतार कर मुझे पूरा नंगा कर दिया और मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी. मैंने पूछा कि तुमको कैसे पता कि इससे अच्छा नहीं लगता? क्या तुमने कभी ऐसा किया है?आतिशा हड़बड़ा कर बोली- नहीं. जब भाई का लंड मेरी चूत की जड़ तक गया, तो मेरे मुँह से एक जोर की आआअह्ह निकल गयी.

हिंदी सेक्सी बीपीकंडोम अंकल के पूरे लंड पर फिट नहीं हुआ था, पीछे से अभी भी कभी जगह थी. मैं बोली- यस हनी ही कहना … मम्मी नहीं … बल्कि तू मुझे कविता डार्लिंग बोल.

सेक्सी वीडियो हिंदी में बुर चुदाई

वो दोबारा से लेट गये और मानसी ने एक बार फिर से जीजू की पैंट के बीच में पीसा की एक तरफ झुकी मीनार के समान खड़े लंड को अपने मुंह में भर कर चूसना शुरू कर दिया. वो भी उसके बालों को सहलाते हुए मस्ती में अपनी गांड को आगे-पीछे करते हुए उसको अपना लंड चुसवा रहा था. उसके हाथ कुर्सी पर रखकर मैंने उसको कुत्ता बना दिया और उसके चूतड़ सहलाने लगा.

मुझे लग रहा था कि उसको भी मजा आ रहा था और वो बार-बार मजे लेने के लिए ब्रेक मार रहा था. बियर खत्म होने तक मैंने बियर की धार टूटने नहीं दी और नम्रता ने भी पूरे मजे से बियर को पिया. वो फिर जानवर की तरह मुझे चोदने के साथ मेरे जिस्म को काटने लगा और मेरी चूचियों को जोर से भींचने और दबाने लगा.

फिर हम दोनों ने एक दूसरे को साबुन लगाकर अच्छे से मलने के बाद फिर शॉवर के नीचे नहाने लगे. काफी दिन से लोड़ा ना मिलने के कारण मेरा मन बस उस पर ही अटका रहा।2 बजे छुट्टी होने पर मैंने उसे कॉल कर बुलाया और रास्ते में बहुत सी बातें हुईं और उसने मुझे मेरे घर ड्राप कर दिया और मैंने उसे आने जाने का टाइम बता दिया।अगले दिन भी वो टाइम पर आ गया. मैं इससे पहले कुछ समझ पाती, मुझे गांड में उम्म्ह… अहह… हय… याह… इतना दर्द हुआ कि मैं रोने लगी.

दिशा- आप अब दीदी के साथ चुदाई का दंगल खेलो, हमें थोड़ा आराम करना है. मैंने कई बार उसको फोन करने की कोशिश की लेकिन उसने जो नम्बर दिया था वो हमेशा ही स्विच ऑफ रहने लगा था.

मेरा बड़ा लंड भी खड़ा हो गया, मैंने जल्दी से हाथ से उसको अडजस्ट किया.

उसकी कसी हुई गांड को चोदते हुए दस मिनट बाद लगातार झटके देते हुए वह रीना की गांड में ही झड़ गया।रीना को अपने कॉलेज के दिनों का यार मिल गया था और विक्रम को अपने कॉलेज के दिनों का प्यार मिल गया था. ब्लू पिक्चर फिल्म सेक्स वीडियोटीना आंटी अपनी चुत में लंड लेने को बैचेन लगती थीं और मैं आंटी को चोदने को बैचेन था. मोटे लंड की सेक्सी वीडियोकुछ देर बाद वे दोनों लड़कियां अपने कपड़े पहनने लगीं तो मैं चुपके से नीचे खिसक आई. मेरे कॉलेज के एग्जाम आने वाले थे, इसलिए मैं अपने दोस्त के घर पढ़ाई करने जाता था.

मैं आंखें बंद करके महसूस कर रही थी कि वो अपना लंड लेकर मेरे सामने ही खड़ा है.

कोई दो मिनट की खामोशी के बाद वो मेरे बराबर में आकर बैठी और मेरे गले में हाथ डालकर बोली- मेरे भोले राजा, आओ मेरा स्वाद चखो!और वो मेरे होंठों पर अपने होंठ रख कर चूसने लगी. मैं अपने टीवी की तार निकाल देती हूँ और उसको टीवी देखने के बहाने भेजती हूँ. बड़ी देर बाद जो झड़ा तो मैं तो उसके वीर्य की बरसात से सराबोर होने लगी.

ऐसा चोदू मर्द मुझे मिल गया था जिसकी चुदाई पाकर कोई बांझ भी बच्चा जन दे. जैसे तैसे स्कूल की छुट्टी की घंटी बजी, मैं तेज़ तेज़ साइकिल दौड़ाता हुआ घर गया और कपड़े बदल के तुरंत रानी के बंगले की तरफ चल पड़ा. मैं हौले हौले से उसकी चुत पर हाथ घुमाने लगा और धीरे धीरे करके मैंने अपने पूरे लंड को उसकी चुत में घुसेड़ दिया.

सेक्सी ब्लू पिक्चर फिल्म सेक्सी ब्लू

मैं बिस्तर पर नंगी होकर बैठी थी और वो भी नंगा होकर मुझे किस करने लगा. उसके बाद मैंने आसानी से उसके गर्म चूत में लंड पेल दिया और चोदन प्रक्रिया करने लगा. किन्तु लड़की को चोदने का मैं कच्चा खिलाड़ी था और अब तक यह जान चुका था कि गांडू लौंडों की गांड मारने और लौंडियों को चोदने में बहुत फर्क होता है.

जीजा जी ने कुछ देर तो मुझे देखा और बैठ कर मुझे अचानक से ही अपनी बांहों में भर लिया.

एक दिन अनुषी का फोन आया कि कल मेरे पति व ससुर सास तीनों देवर के लिए कल सुबह यूपी में लड़की देखने जाएंगे, लगभग दो दिन में आएंगे.

मैं दोनों टांगें डाल कर बाइक पर बैठ गई और उससे बिल्कुल चिपक कर बैठ गयी. इससे आपके पार्टनर को ये अहसास होता है कि आप उससे बहुत प्यार करते हो. सेक्सी चोदने वालीकभी तो सुबह-सुबह ही मेरे लंड को चूसकर मेरी नींद तोड़ देती थी और टांगें फैलाकर चुद जाती थी.

मैं गुलाबो को देख कर दीवाना हो गया था और उसकी एक झलक के लिए बेकरार था. मैंने लपक के रानी को उठाया और गोदी में उठाए हुए भागता हुआ बैडरूम जा पहुंचा. मैंने उसी समय फिर से एक झटका दे मारा, जिससे कि मेरा पूरा लंड उसकी छोटी सी चुत में चला गया था.

मैंने उसके हिलते-डोलते चूचों को अपने हाथ में बारी-बारी से भर कर दबाना शुरू कर दिया और कुछ ही मिनट के बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. फिर वो बोली- नहीं ऐसी बात नहीं है, स्टॉफ रूम में सब लोग थे, सो मैं बाहर आने के लिए ऐसा कर रही थी.

मैंने पूछा- क्या हुआ?तो वो बोलीं- बस वैसे ही मैसेज किया है … क्योंकि बड़ा बोर हो रही थी.

किस लिए?” मैंने पूछा, हांलाकि मुझे बिल्कुल ठीक-ठीक अंदाज़ा था कि वसुन्धरा किस बारे में बात कर रही थी. उसने मेरे लंड को खा लिया था और टांगें उठा कर मुझसे पूरा अन्दर आने को कह रही थी. भाबी भी अपनी दोनों टांगें खोल कर अपनी भारी गांड मेरे लंड पर लगा देतीं, जिससे मेरा मूसल भाबी की गांड फाड़ता हुआ अन्दर बाहर होकर उनको चोदता जा रहा था.

क्सक्सक्स ंक्स भाभी की गुलाबी चूत देख कर मेरी लार टपक गई … उनकी चूत पे एक भी बाल नहीं था. लगभग 20 मिनट के बाद मेरा पानी निकलने वाला था, तो मैंने उसको कहा- हिना जी, मेरा पानी निकलने वाला है, कहां निकालूँ.

पता नहीं मोनी ने कभी अपनी चूत चटवाई ही नहीं थी या फिर शर्म के कारण वो मुझे अपनी चूत को चाटने नहीं देना चाहती थी? उसके खींचने के बाद मैं उसके ऊपर तो आ गया था लेकिन अभी तक मैंने कॉन्डोम‌ नहीं पहना था इसलिये कॉन्डोम‌ पहनने के लिये मैं अब फिर से उठने‌ लगा. उसका मैसेज आया- कैसे हो भाई? क्या हो रहा है? इतनी रात को ऑनलाइन क्या कर रहे हो?उससे ऐसे ही नॉर्मली बात होने लगी, तो मैंने बताया कि यार तेरी भाभी मायके गई हुई है, सो कोई शिकार फंसाने की कोशिश कर रहा हूँ … हाहाहा. सिर्फ रानी को बाथरूम में चुदना पसंद नहीं था उसका कहना था कि बाथरूम में चलते हुए शावर में एक दूसरे की जीभ और बदन के संपर्क का लुत्फ़ गायब हो जाता है.

हॉट अमेरिकन सेक्सी

तभी पारो गुलाबो का हाथ पकड़ कर वहां ले आयी और बोली- आमिर, ये लो तुम्हारी गुलाबो … आराम से करना. मानसी ने वो कप देख कर पूछा कि फ्रिज में पहले से ही दो कप रखे हुए हैं तो मैंने कह दिया कि आज मेरा मन ज्यादा खाने का कर रहा था. उसकी ऐसी कोई जगह मैंने नहीं छोड़ी होगी, जहां मैंने अपनी जीभ ना लगाई हो.

मुझे मेरे फ्रेंड्स के और मेरे फैमिली के मैसेजस आए हुए थे कि मेरा फोन नहीं लग रहा और उन्हें चिंता हो रही है. उसके बाद जब मैं उसके रूम पर गयी, तो उसने बताया कि आज वह मुझसे शादी करेगा.

मैंने कहा- आप बनाती रहो, मैं कब मना कर रहा हूँ?दीदी खाना बनाने लगी और मैं पीछे से दीदी की चूची को दबाने लगा। थोड़ी देर में खाना तैयार हो गया।दीदी बोली- चलो पहले खाना खा लिया जाए, फिर तुम अपनी इच्छा पूरी कर लेना।मैं बोला- दीदी मैं पहले नहा लेता हूं.

आकर कहने लगी- जो तेल तुम लेकर आये उससे मेरी मालिश कर दोगे क्या? आपके दादा जी ने इसी तेल से मालिश करने के लिए कहा था. मैं वापस नीचे आई, पर दोनों को नंगी चूचियों को दबवाते देखने में मुझे मज़ा आ गया था, इसलिए मुझसे रहा नहीं गया और मैं वापस ऊपर जाकर फ़िर से खिड़की से अन्दर देखने लगी. मैं वापिस बैड की ओर लौटा और मैंने बेड पर बैठी आँख भर कर वसुन्धरा को देखा.

आह … क्या माल लग रही थी, वो साड़ी में थी … लेकिन तब भी एक नंबर का कांटा माल लग रही थी. मैंने अपनी चुटकी में उसके निप्पलों को पकड़ कर मसला और वो चिहुंक गई- आह्ह … आराम से करो … दर्द हो रहा है. कई बार तो वो एक ही सवाल को दो बार ले आती थी जिससे मुझे उसकी चोरी के बारे में पता लगने लगा था कि यह जान-बूझकर ऐसा करती है.

उसने कहा- मेरा रूम यहीं पास में ही है लेकिन अभी मेरी ड्यूटी खत्म नहीं हुई है.

सेक्सी बीएफ फिल्में बीएफ: मैंने बोतल बेबी को पकड़ाई और बाथरूम की तरफ इशारा करते हुए कहा- बाथरूम इधर है. उसकी चूत पर नीचे के बाल कुछ ज्यादा बड़े थे जबकि मैंने अपनी चूत के बाल बिल्कुल साफ किये हुए थे.

मुझे नहीं पता कि उसके पति ने उसकी चूचियों को कभी पीया भी था या नहीं मगर जिस तरह से मोनी व्यवहार कर रही थी उससे मुझे ऐसा लग रहा था कि कोई मर्द उसकी चूचियों को जैसे पहली बार पी रहा है. उसके मुंह से कामुक सिसकारियाँ निकलने लगीं और मेरे माथे से पसीना बहना शुरू हो गया. उसी मालिश के दौरान एक बार मैंने उसकी फड़फड़ाती चूत को चूस कर झाड़ दिया था और उसका रस चाट लिया था.

जब ब्लू फिल्म की कामुक सिसकारियां सुनीं तो मेरा लंड और ज्यादा टाइट होकर फड़कने लगा और मेरी पैंट में ही अलग से तना हुआ दिखाई देने लगा.

खिड़की की झिर्री से मैंने धीरे से अंदर झांक कर देखा तो बेड पर बुआ जी लेटी हुई थी और ताऊ जी अपना कुर्ता निकाल रहे थे. इसके बाद क्या हुआ … ये जानने के लिए आप सब अपने विचार मुझे मेल से भेजिएगा. प्रिया की शादी के बहुत दिन बाद तक मैं अनमना सा रहा लेकिन धीरे-धीरे हमारी जिंदगी भी अपने ढर्रे पर वापिस लौट आयी.