बीएफ सेक्सी 4 वर्ष

छवि स्रोत,फिल्म शादी में जरूर आना फुल मूवी हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

সানি লিওন ভিডিও এইচডি: बीएफ सेक्सी 4 वर्ष, मेरी सहेली सोनम मेरी मम्मी से बोली- चाची बंध्या यहीं रहेगी मेरे साथ.

papa सेक्सी

सामान के साथ बैठते हुए उन्हें थोड़ी दिक्कत हो रही थी अतः उन्होंने सभी थैलों को अपनी गोद में रखा और बैठते हुए मेरा कन्धा पकड़ लिया. बिल्लो सेक्सी पिक्चरआँखों में आई ब्रो, आई लाईनर और काजल लगा कर हम दोनों लंच करने जाने के लिए तैयार हो गए.

तो मैं उसके कंधों को मसाज देते हुए धीरे धीरे एक एक करके उसकी नर्म मुलायम चुचियों को अपने मुँह में लेकर चुसकने लगा था. सैक्स करने के फायदेउससे कैसे बचूं, मैं दिनभर कभी ये सोचती रही, कभी ये सोचती कि अपने शरीर की प्यास मिटाने का साधन मिल गया.

अब मैं उसकी चुत को चाटते हुए उसकी गांड पे उंगली भी घुमा रहा था, जिससे वो और उत्तेजना में आ गयी.बीएफ सेक्सी 4 वर्ष: मेरे हाथ ने महसूस किया कि उसने सिर्फ फ्रॉक पहनी हुई थी जो सिर्फ दो डोरियों से बंधी हुई थी और ब्रा नहीं पहनी हुई थी.

उस समय मेरी जवानी निखरनी शुरू ही हुई थी कि जब मैंने पहली बार अपनी बुर में 6″ से बड़ा और 2.मैंने कहा- घर पर कोई नहीं है क्या?वह बोली- हम सब लोग मुम्बई गए हुए थे मेरे भाई के यहाँ.

મહારાષ્ટ્ર સેક્સ વીડિયો - बीएफ सेक्सी 4 वर्ष

जब मैंने चोदना शुरू किया तो उसको आनंद आने लगा और वह अपने मुंह से कामुक आवाजें निकालने लगी जिन्हें सुनकर मुझे और ज्यादा जोश चढ़ रहा था.मैंने तुम्हारे लिए फुल बॉडी वैक्स, मैनीक्योर, पैडीक्योर सब करवाया है और अपनी चूत के बालों को दो बार साफ करवाया है.

कुछ देर बाद वो फिर नीचे बैठ गईं और बिना हाथ लगाये मेरे लंड को मुँह में ले कर चूसने लगीं. बीएफ सेक्सी 4 वर्ष मैंने जानबूझ कर मजा लेने के लिए पूछा- कहां चला जाता था मामी मुझे याद नहीं है?मामी- कहीं नहीं … और अब चुपचाप सो जा.

देखने लगी, भाभी ऊपर अपने कमरे में चली गयी, मैं चाचा जी के साथ गप्पें लगाने के लिए गेस्ट रूम में रुक गयी। अक्सर हम बहुत देर तक गप्पें मारते रहते हैं।बात करते करते 11 बज गए, भाभी ने आवाज मुझे लगाई- कोमल, आज सोना नहीं है क्या?पर मेरा मन चाचा जी के साथ लगा हुआ था, मैंने उनको मना कर दिया कि मैं यहीं सो जाऊँगी.

बीएफ सेक्सी 4 वर्ष?

मैंने कहा- सारा काम बीच में ही छोड़ कर जा रही हो?सोनू कहने लगी- कोई बात नहीं, फिर कर लेना. इस तरह से उसने मेरी बुर को दुबारा से चाटना शुरू कर दिया और बहुत देर तक चाटता रहा और तब मैं पूरी तरह से गर्म ह कर अपनी बुर को उसके मुँह के आगे ऊपर नीचे करने लग गई. तो मैंने भी हिम्मत जुटाकर बोल दिया- वह कैसे?यार मेरे मंझले भैया की शादी होने वाली है, जिसमें मैं छुट्टी लेकर घर जाने वाला हूं.

ये थी मेरी मामी की चुदाई की सेक्स स्टोरी, अच्छी लगे तो मुझे जरूर बताना. माला की आंख बंद थीं, तो विजय ने उसकी टाँग उठाकर उसकी तड़फती चुत में अपना लंबा लंड पेल दिया. आज मैं छब्बीस साल का हो गया हूं, दिल्ली में नौकरी करता हूं और मैंने मामी के बाद चार चूत और चोदी हैं, लेकिन मामी की चूत चुदाई का मजा ही कुछ और था.

यहां की आंटियाँ और भाभियाँ सेक्स की कुछ ज्यादा ही प्यासी लग रही थीं मुझे. मैंने भी मौके की नजाकत को समझते हुए मीना के स्तनों को चूसना चालू कर दिया. काफी देर ये गहन चुम्बन लेने के उपरान्त मैडम ने जीभ बाहर निकाल ली और फुसफुसाकर बोलीं- राजे तेरी मर्दानगी बहुत ज़ोर मार रही है … जवानी का भरपूर जोश है ना … देखूं तेरे लंड कैसा है.

हम दोनों ही एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं और हमारी सेक्स लाइफ भी बहुत ही अच्छी है. हम दोनों बेताबी से किस करने लगे और एक दूसरे की लार को चाटे जा रहे थे.

जब तक उसने गैर मर्द का स्वाद नहीं चखा था, तब तक वो अपने पति से ही खुश थी लेकिन … अब क्या होगा?मैं आज नौकरी छोड़ के हमेशा के लिये गाँव में आ गया हूं.

मैं भी जोर जोर से इंदु की चुत को चूसता चाटता, उसमें उंगली डाल के अंदर बाहर करता.

जैसे कि मुझे क्लब से बोला गया था कि जाते ही ग्राहक से खुल जाना और फ्रेंडली हो जाना. चूंकि हमारा समाज रूढ़िवादी है और एक समय के बाद कामक्रीड़ा को अपराध की तरह देखता है. मैंने एक डॉटेड का पॅकेट उठाया और जल्दी से पे करके उसके अपार्टमेंट पहुँच गए.

कोमल के गीले कपड़ों के ऊपर से उसकी गीली चूत को रगड़ने में जो मजा मुझे आ रहा था वह बहुत ही कमाल का था. फिर अचानक उसने मेरा मुँह अपने मम्मों पे गाड़ने की कोशिश की और मेरे सर के पीछे से एक हाथ से हलके से दबाया. तो मैंने भी हिम्मत जुटाकर बोल दिया- वह कैसे?यार मेरे मंझले भैया की शादी होने वाली है, जिसमें मैं छुट्टी लेकर घर जाने वाला हूं.

मैंने उसकी चूत पर हाथ रखा, तो उसने भी मेरी टांगों के बीच में हाथ डाल दिया.

अब मैं भाभी का गाउन खोलने लगा, तो वो बोलीं- अमित कपड़े मत खोलो, जो करना हो ऊपर ऊपर से कर लो. जैसे ही मेरा लंड मामी जी की गांड से बाहर आया … तो मामी जी सीधी हुईं और उन्होंने घूम कर मुझे चूम लिया. थोड़ी देर बाद जब मैं सीढ़ियों के पास खड़ी हुई तो फिर से आया, वो बोला- प्लीज अपना नाम बता दो, नहीं तो मैं खाना नहीं खाऊंगा.

मैंने दीदी की पीठ को सहलाना चालू किया और उसके चेहरे की खूबसूरती को निहारा. मैं उसके एक मम्मे को दबा रहा था और एक को चूस रहा था। वो मेरे सिर पर अपना हाथ घुमाने लगी और एक हाथ पीठ पर फिराने लगी।थोड़ी देर बाद वो मेरे ऊपर आ गयी और मेरे लंड को चूसने लगी. कुछ देर बाद मैंने चुदाई की गति बढ़ा दी और वो भी एक छिपकली की तरह मुझसे चिपक गयी.

थोड़ी ही दूर चले थे कि एक बड़ी सी गाड़ी बगल से निकली उसमें कुछ लौंडे बैठे थे.

फिर मैंने उसकी पेंटी पर हाथ फिराना शुरू कर दिया तो उसने मेरा हाथ फिर से हटा दिया. वो कामवासना में कह रही थी- आह … मेरी योनि को मसलो … उसे प्यार करो …लेकिन मैं उसे और तड़पाना चाहता था.

बीएफ सेक्सी 4 वर्ष मैं भी समझ गया कि एक बार फिर वो चरम की ओर है,मैं भी अपने जोर पर था. ‘हाँ जीजा जी, आप वो मम्मी के अगले प्रोग्राम का कुछ बता रहे थे, वो फिर से यहाँ आएंगी?’‘नहीं रानी, वो जालंधर जाएगी.

बीएफ सेक्सी 4 वर्ष मैं आशीष से बोली- आशीष मैं अब सिर्फ तुम्हारी हूं … तुम मुझे जो भी कहोगे मैं करूंगी … आई लव यू. उन्होंने मेरी पैंट को खोलकर ज़मीन पर गिरा दिया, मेरे अंडरवियर को खींच कर उतार दिया और मेरे लंड को मुंह में भर लिया.

अब मैं हर रोज़ जॉगिंग के बहाने उनके सोफे पर बैठ जाता और जैसे ही चाची नहाने जातीं, दरवाज़े की छोटी सी झिरी में से नंगी चाची नहाते हुए देखता रहता.

कॉलेज स्टूडेंट सेक्सी वीडियो

मुझे दर्द तेज हुआ, मैं चीख पड़ी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ मैं उछल गई जिस कारण लन्ड फिर घुस नहीं पाया।तब दीदी ने कहा- क्या बात है रचना? ठीक से क्यों नही चुदवा रही?मैंने कहा- दीदी दर्द बहुत हो रहा है।दीदी- लन्ड घुसवाना है या नहीं? साफ बोल?मैंने कहा- हां घुसवाना है. और आखिरी बात, आप अभी ये तो बिल्कुल मत समझिए कि मैं आपके लिए कोई अनजान व्यक्ति हूँ. इस कहानी के पिछले भागचचेरी बहन की चुदाई-2में आपने पढ़ा कि मेरी चचेरी बहन मेरा लंड चूसा कर मजा ले रही थी और मुझे भी बहुत मजा आ रहा था.

तब आशीष बोला- सच बोल रही है?मैं बोली- हां तुझे बहुत प्यार करती हूं. 3-4 मिनट तक अपनी उंगलियों से मेरी गांड को ढीली करने के बाद उसने कम्बल हटाकर मेरे चूतड़ों को अपने हाथों से चौड़ा करके देखा. इसलिए उसके गीले कपड़ों के ऊपर से ही उसके गर्म बदन को भोगने में मुझे असीम आनंद मिल रहा था.

एक दिन हेमा भाभी ने मुझसे पूछा- राज भैया! आपको स्कूटर चलाना आता है?मैंने कहा- जी हां आता है.

मैं तो किसी भूखे की तरह लंड पर झपट पड़ा और तुरन्त लंड चूसने की पोजिशन बनाते हुए घुटनों के बल नीचे बैठ गया. उसे घर से बाहर निकलने का बहुत ही कम मौका मिलता था इसलिए वो खूब खुल कर मस्ती कर रही थी. मगर उसका लंड तो अभी मस्ती में था, उसने मुझे साँस लेने का भी मौक़ा नहीं दिया और धक्के पर धक्के मारता रहा जब तक कि उसका पानी ना निकल गया.

उसी कामवासना के वशीभूत हो मेरी बीवी ने हमारे पड़ोसी को अपने हाव भाव से, अंग प्रदर्शन करके उसे आकर्षित किया और एक दिन बारिश हो रही थी और वे दोनों अपनी अपनी कामुकता शांत करने के लिए आपस में भीड़ पड़े थे. जैसे जैसे उसकी कमर नीचे आ रही थी, उसकी चुत की मादक खुशबू मेरे नथुनों में भर रही थी. अपनी दोनों कुहनियों से मैंने सोनू को अपने शरीर के नीचे साइडों से दबाया और लंड पर थोड़ा दबाव और डाला.

आशीष बोला- रुक थोड़ी देर … मेरा चोदने से ज्यादा मन तेरी चुत चाटने का है. कुछ देर आराम करने के बाद मेरा लंड फिर खड़ा होने लगा, फिर सुचेता उसे पकड़ कर सहलाने लगी, कुछ देर बाद उसने उसे चूस चूस कर फिर से खड़ा कर दिया।इस बार मैंने उसे घोड़ी बनाया और लन्ड उसकी चूत में डाल दिया.

मेरे शरीर में भी रेस के कारण और अधिक मजबूती और गठीलापन आ गया, जिससे मैं और आकर्षक बन्दा बन गया था. अब मैंने अपना चेहरा उनके गले से हटा कर उनके कान के पास लाकर उनके कान के लौ को चूमने लगा. मैं कई सालों से अन्तर्वासना पर कहानी पढ़कर अपने लंड की प्यास बुझाता हूँ.

मैंने उसे अपने पास खींचा और उसके गले में बांहें डाल उसकी आँखों में देखते हुए पूछा- ऐसा क्या है मुझमें, जो प्रीति में नहीं है?सुखबीर ने उत्तर दिया- वो आपकी तरह खुले विचारों की नहीं है और न ही उसे कामक्रीड़ा का कोई अनुभव है.

मैं उसके पास गया तो वो मुझसे चिपक गयी और बोलने लगी- ये तुमने क्या कर दिया. आपको मेरी गर्लफ्रेंड की खुली सड़क पर चुदाई पर क्या कहना है, प्लीज़ मेल करके जरूर बताएं. अगले ही पल मैंने उसकी पैंटी को भी निकाल दिया और निकालते समय मुझे ये पता चला कि उसकी पैंटी थोड़ी गीली हो चुकी थी.

अब मैं बोला- भाभी, आप ये क्या कह रही हो?भाभी बोली- ज्यादा बन मत … तूने रेनू का नम्बर मांगा है ना … भैया ने बताया था कि उसको नम्बर दे दियो, वो हर काम करता है … और रेनू ने भी बताया था कि दीदी तेरी शादी में मेरी सुहागरात ही गई … तेरे पति के किरायेदार के लौंडे ने क्या चोदा था. ऑफिस के बाकी लोग कल आने वाले थे और हम दोनों लोग एक दिन पहले ही आ गए थे.

मैं स्कूटर थोड़ा तेज़ चला रहा था और कोई सामने आ जाता था तो एकदम ब्रेक मारते ही भाभी मुझसे लगभग सट जाती थी. दोनों की ही 26 साइज़ एकदम पतली बलखाती कमर और 32 इंच की तोप सी उठी हुई मस्त गांड के पहाड़ थे. फिर उसने मेरी नाइट पेंट को मेरे घुटनों तक उतार कर मेरी चूत में अपनी जीभ डाल कर मेरी चूत का सारा पानी निकाल दिया.

गूगल भाई साहब

मैंने बेड में लगे शीशे में देखा कि मेरे पति पीछे खड़े होकर अपने कपड़े उतार रहे हैं.

तभी भाभी चुटकी बजाती हुई बोली- क्या बात है, ऐसे क्या देख रहे हो?मैंने कहा- नहीं … कुछ तो नहीं, बस ऐसे ही।बस ऐसे ही?” मधु भाभी ने कहा।मुझे लगा कि कहीं भाभी नाराज़ हो जाये, मैंने तुंरत बोल दिया- भाभी आप बहुत खूबसूरत हो। आपके लिप्स कमाल के हैं. ’इस तरह मैं भी मोनिका के सामने खूब रोया और वो भी अपनी बातें बता कर रोई. क्या ग़जब की चूत थी … ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने पाँव रोटी में चाकू से दो इंच का चीरा लगा रखा था.

नमस्कार दोस्तो, मैं आपकी प्यारी कविता, सभी सेक्सी माँ और बेटों को मेरा प्रणाम. मैंने उसके दोनों हाथ पकड़ लिए, जिससे वो ऊपर खिसक न सके और दूसरा जबरदस्त धक्का देकर पूरा लंड चूत में उतार दिया. सेक्सी वीडियो हार्ड हार्डजैसे कि ‘अभी क्या पता चलेगा बच्चू, जब दिन भर ऑफिस में क़लम घिसने के बाद रात में बीवी की धान कुटाई करनी पड़ेगी, तब समझोगे.

अब्बू ने अम्मी को, भाई ने भाभी को और बैडमैन ने मेरे को!अब्बू ने अम्मी के कपड़े सीधे उतार दिए और उनकी ब्रा में हाथ डाल कर उनके चूचे दबाने लगे और उनके गले में और कान में किस करने लगे. अगले 5 महीने बाद तीन जून को आशीष को सतना आना था … क्योंकि पालिटेक्निक के उसके सेमेस्टर एग्जाम एक जून को खत्म होने थे.

मस्त चूचियां, पतली कमर, गदराया बदन, गांड भी पीछे से बहुत ही सुन्दर. ऐसे तो मैं उसे बहुत बार न्यूड देख चुका लेकिन जब वो सुसु करती है, तब उसे देखने का मज़ा ही कुछ और होता है. मैंने कहा- मैडम, मैं किसी को भी इस बात के बारे में नहीं बताऊंगा, पर प्लीज कम्पनी से मत निकालो.

वो मेरे सामने बैठ गयी और थोड़ी बहुत बातें की हमने!फिर रितिका ने मेरी गोद में सिर रख लिया और मैं उसके बालों को सहलाने लगा और उसके चिकने गालों पर हाथ फिराने लगा. आज अभी तू है ही मेरे पास … मैं तेरे भैया से बस मिली हूं, तब से ही सोच रही हूँ कि बस ऐसा होगा. मैंने जरूर कुछ अच्छे कर्म किए होंगे पिछले जन्म में जो उसकी चूत के दर्शन मुझे हुए.

मामी जी भी जोर जोर से सिस्कारियां लेते हुए उतनी तेजी से गांड आगे पीछे करके मेरा पूरा साथ दे रही थीं.

नीचे जाकर मैंने दीदी को आवाज दी तो शिखा ने बताया कि वह घर पर नहीं हैं. कुछ देर उसी पोजीशन में चोदने के बाद मैंने भाभी को घोड़ी बनने के लिए कहा.

भाभी एकदम मस्ती से अपने सिर को इधर-उधर मारने लगी और बोली देवर जी- करो … ज़ोर … ज़ोर … से करो … ठोको!मैंने भाभी की चूत में पीछे से लंड चलाना जारी रखा, कभी मैं उनको कमर से पकड़ता, तो कभी उनके चूतड़ों पर हाथ रखता, कभी उनके चूचों को पकड़ता, तो कभी उनकी जांघों में हाथ डालकर ज़ोर ज़ोर से चुदाई करने लगा।सारा कमरा फच … फच … की आवाज़ से गूंजने लगा, यहां तक की हर धक्के पर बेड आवाज़ करने लगा था. स्कूटर पर हेमा भाभी मेरे साथ बेफिक्री से बैठी थी, उनके पट, चुचे और शरीर बार बार मुझसे टच हो रहे थे जिससे मेरा शरीर रोमांच से भर गया था. मैंने पूछा- क्या हुआ?तो बोली- जल्दी जाओ … नहीं तो मैं वापस जा रही हूँ.

थोड़ी देर के बाद वो नार्मल हुई तो मैंने लंड को एक बार अन्दर बाहर किया, तो उसने गहरी साँस भरी. उसने अपनी सास से उस दूसरे फ्लैट को साफ करने का बहाना किया और घर से निकल गई. बात कुछ ऐसे शुरू हुई कि एक दिन मैं सो कर उठा और जॉगिंग के लिए तैयार होने लगा कि अचानक मेरे पैर में दर्द सा होने लगा, तो मैं चाची के रूम के बाहर सोफे पर बैठ गया.

बीएफ सेक्सी 4 वर्ष वह मेरे सिर को अपने सीने पर दबाने लगी और उसके मुंह से कामुक आवाजें उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकलने लगीं. दीदी ने अजय से पूछा- खाना लगा दूँ?अजय- नहीं, खाना तो मैं खाकर आया हूँ। आप लोग परेशान न हों.

हिंदी सेक्सी हॉट

भाभी मुझसे पूछने लगी- तुम्हारा कितनी देर में छूटता है?तो मैंने भाभी से कहा- यह मेरे हाथ में है और मुझे औरत को चोदना और उसको संतुष्ट करना अच्छी तरह से आता है, आप चिंता न करें, जब तक चाहें आप मेरे लंड का मजा लेती रहें. वो बोली- बोलो अंकल क्या करना है?करना वही है, जैसे मैं करूँ, तुम्हें भी वैसा ही करना है और मना नहीं करना है. वाह क्या मस्त मजा था … उसके मुँह में लंड लेने से मेरी तो बांछें खिल गई थीं.

तेरी पैंटी गीली हो गई बहुत मस्त है तू!आशीष ने वहां फूली हुई जगह पर फिर से जोर से अपने होंठों को रख दिया. मैंने उसके बालों को कस कर पकड़ लिया और उसके मुँह पर जोर जोर से थप्पड़ मारते हुए उसे लंड चूसने को बोला. राजा बाबू सेक्सी वीडियोखैर उसने शाम में मुझे अपने फ्लैट में बुलाया और मैंने भी उसको तड़पाने की सोची.

मैं पीठ के बल जा गिरा और उन्होंने बेड ही पर खड़ी होकर अपना पेटीकोट भी निकाल दिया.

दोस्तो, आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद जो आपने मेरी कहानी के पहले भागसीनियर मैडम की बड़े लंड से चुदाई-1को इतना प्यार दिया. मैं- कल्पना जी, जब आपने इतना बड़ा कदम उठा लिया है, तो अब झिझकिये मत … और खुल कर लाइफ के मज़े लीजिये.

ऊपर से इंदु की सिसकारियां … बहुत मजा आ रहा था मुझे … मन ही नहीं कर रहा था कि इंदु की चुत से लंड निकालूं. यह सब तुमने कहां से सीखा?मैंने कहा- भाभी जी! अब आप खड़ी होकर खाना बनाओ, यह बात मैं फिर किसी दिन बताऊंगा. इसलिए डर के कारण बात को संभालने के लिए प्रिन्सिपल मैडम के ऑफिस में पहुंच गई और वहां पर मेरी तलाशी की बात मैडम ने कह दी.

उसकी दोनों बड़ी लड़कियां कहीं बड़ी कोठियों में घर का काम करती थीं औऱ वहीं पर कोठी के सर्वेंट क्वाटर में रहती थीं.

अब मैं भाभी का गाउन खोलने लगा, तो वो बोलीं- अमित कपड़े मत खोलो, जो करना हो ऊपर ऊपर से कर लो. लगभग पांच मिनट बाद उन्होंने मुझे हिलाया और कहा- देखते ही रहोगे या कुछ करोगे भी. मैं उनके पीछे जाकर खड़ा हो गया और उनकी कमर में हाथ डालकर खड़ा हो गया.

செக்வீடியோउसने बोला- प्लीज बता दो!मैं चुप रही तो उसने आगे कहा- मैं सागर से पॉलिटेक्निक कर रहा हूं. उस दिन चिन्टू के जाने के पश्चात मीना काफी देर तक चिन्टू के बारे में ही सोचती रही कि आखिर चिन्टू क्या चाह रहा है.

गली दिसावर का सट्टा किंग

अब आगे:चूमाचाटी के साथ ही मैं अपने हाथों से मिसेज पाटिल के कपड़े उतारने लगा. थोड़ी देर बाद उनका पूरा बदन अकड़ने लगा और उन्होंने फिर से मेरे सिर को अपने चूत पर और कस के दबा लिया, वो झड़ गईं. सासू माँ- तू अपने तरह से तैयारी कर, मैं अपने तरह से तैयारी करती हूं.

मैंने गांड के छेद के ठीक पास में दोनों तरफ अपने दोनों अंगूठे लगाए और छेद को चौड़ा कर जीभ नुकीली कर अन्दर घुसा दी. सोनू कहने लगी- वह तो है ही, तभी तो मेरे पापा मम्मी के ऊपर चढ़े रहते हैं. मैंने पूरा शांत हो कर मामी जी के कंधे पर अपना सर टिका कर उनको कस के पकड़ लिया.

मेरा मन कर रहा था कि वो अभी इसी वक्त अपने लंड को मेरी चूत में डाल के मेरी आग को बुझा दे. विजय का माल निकलने वाला था कि माला ने उसके लंड से कंडोम हटा कर लंड अन्दर कर लिया और कहने लगी कि आज मेरी चूत आपके माल का नज़ारा लेना चाहती है. उसको अपने कमरे में बैठा कर मैं उसके लिए पानी लाया और कंप्यूटर पर ट्रिपल एक्स मूवी चला दी.

वोह बहुत चुस्त कपड़े पहन के आयी थी और बहुत स्माइल कर कर के बात कर रही थी. मुझे तो जैसे लोटरी ही लग गई, मैंने सीधा ही कह दिया- मुझे भी रूम ज़रूरत है, तो मैं ही तुम्हारा पार्टनर बन जाता हूँ.

बैडमैन मेरे कपड़े उतारने लगा, मैं भी उसके शर्ट की बटन खोल के उसके कपड़े उतारने लगी.

मैंने उसको अपने ऊपर से कुछ इस तरह से नीचे लिया कि मेरा लंड उसकी चूत में फंसा रहा. स्टोरी वाली सेक्सीमैंने दरवाजा खोला तो देखा, अपने इंस्टिट्यूट की यूनिफॉर्म में सोनू दरवाजे पर खड़ी थी. देहाती छोरी सेक्सी वीडियोबताओ न?मैं गरमा गया था उसके दूध पर अपना सीना दबाते हुए बोला- साली आज बहुत ही तेवर दिखा रही है … जरा हाथ तो छोड़ … फिर दिखाता हूँ. एक दिन उन्होंने मुझे सुबह कॉल किया कि आज बच्चे दादी के घर जा रहे हैं अपने डॅडी के साथ और रात में लौटेंगे.

मैं इंग्लिश में थोड़ी कमजोर थी, तो मम्मी को लगा कि उनकी ट्यूशन का मुझे फायदा होगा.

उन्होंने मेरे कान पर चुम्मा दिया और यह करते वक़्त वो धीरे धीरे पीछे होके और अपनी कमर हिला कर, मेरे लंड को अपनी गांड के अन्दर बाहर करने की कोशिश कर रही थीं. उससे चला नहीं जा रहा था, तो मैं उसे अपनी गोद में उठाकर बाथरूम ले गया. वो पहले पहले तो मुस्कुरा के बात कर रही थी लेकिन जब मैंने कुछ नहीं किया तो थोड़ा नाराज़ सी होने लगी और उसको छिपाने के लिये बहुत क्यूट सी कोशिश करने लगी.

उसने जल्दी ही मेरी चूत से उंगली निकाल दी और अपने लिंग को मेरी चूत के मुंह पर लगा दिया. उन्होंने गुलाबी कलर का ही ब्रा को पहना था, जो उनके गोरे बदन पर एकदम जंच रही थी. मैंने भाभी से पूछा- यह हर रोज पहनती हो क्या?तो भाभी ने बताया- नहीं, पता नहीं क्यों आज मैंने सोच रखा था कि आज मैं तुम से चुदवा लूंगी और यह मैंने तुम्हारे लिए ही पहनी है.

फॉरेन सेक्सी पिक्चर

मुझे चुत को चाटने की इच्छा बचपन से थी और ब्लू फिल्मों से बहुत कुछ सीखा है. पति के साथ इधर रहते हुए महीना भर होने को आया, तो अगल बगल एक दो औरतों के साथ जान पहचान भी हो गयी. और अगर तुम खुश हो जाओ तो फिक्स कर लेना इसी के साथ हर महीने की एक चुदाई … ताकि अपना प्यार बना रहे।मैंने कहा- ये तो और भी अच्छी बात है जी!उसके बाद हम उस के फ्लैट पर आ गए। उसका फ्लैट काफी अच्छा था, वो दोनों लिव-इन में रह रहे थे।जैसे ही घर पर पहुंचे, उसने पूछा- क्या लोगे? चाय या बियर चलेगी?मैंने कहा- बियर तो लेंगे पर बाद में … अभी पहले चाय ले आओ।हमने चाय पी.

तो उसने कहा- हां तुम्हारे साथ कल बात करके मैं सीधे पार्लर चली गई थी.

फिर उसने बताया कि वह कई बार अपने मम्मी और पापा को सेक्स करते हुए देखती है और अपनी चूत की गर्मी को उंगली से शांत करने की कोशिश करती है.

उसने लाल रंग की ही ब्रा पहन रखी थी, जिसमें उसके बूब्स बहुत सेक्सी लग रहे थे. जैसे ही मैं कमरे में गई तो मैंने जाते ही उन दोनों की नंगी 3-4 फोटो खींच ली. हिंदी सेक्सी ब्लू ओपनकुछ देर बाद वो खड़ा हो गया और मुझे घुटनों के बल बैठा कर मेरे मुंह में अपना लंड डालने लगा.

मैंने अपने लंड को सीमा की तरफ कर दिया और मेरा लंड उसके मुंह के पास जा पहुंचा. अंकल बोले- क्यों?मैंने कहा- मैं अभी टीवी देखूंगा, उसके बाद यहीं सो जाऊंगा. मीना सोचने लगी कि आखिर चिन्टू उसके यहां क्यों आता है, इतना ज्यादा आने जाने का क्या कारण हो सकता है?22 साल का चिन्टू दीखने में ठीक ही था, अभी तक उसकी शादी नहीं हुई थी.

फिर मैं उनके मम्मों को दबाने लगा और साथ ही मैं भाभी के गले पे लगातार किस कर रहा था. खैर … स्वाभाविक सी बात थी कि 2 सालों से रवि मामा कोई बिना किसी को चोदे तो रहे नहीं होंगे, उन्होंने भी चूत का जुगाड़ कर ही लिया होगा.

तभी मेरे लंड से गर्म गर्म वीर्य की मोटी मोटी पिचकारियां निकलने लगीं.

तभी मैं आशीष से बोली- मुझे उठने दे, मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा … मैं नहीं मर जाऊंगी, मेरी हालत को तूने बहुत खराब कर दिया है. मैंने शरमाते हुए कहा- शायद वह अपने दोस्तों के साथ बातों में लगे होंगे. जीजा जी ने मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया और मेरी चूत को चोदते रहे.

सेक्सी सेक्सी सेक्सी ब्लू बीपी फिर एक ने रिया को घोड़ी की पोज़िशन में करके अपने लंड को उसकी गांड के छेद में लगाया और हल्का सा झटका दे दिया. ”रहने दो … अगर मैं ना होती तो किससे लिपट के सोते … बहाने बना रहे है लिपटने के!”अगर तुम ना होती तो तकिये का सहारा लेते … पर अब तो तुम हो … और नींद तुम्हें भी नहीं आ रही … तो तुम ही लिपट जाओ शायद नींद आ जाए.

वो कहने लगी- आह बस करो डार्लिग … क्या आज ही मेरी चूत का भोसड़ा बनाओगे?इतने मैं ही उसके ब्वॉय फ्रेंड अविनाश का फोन आ गया. मैंने फिर से थोड़ा सैट करके एक जोरदार धक्का मारा, तो भाभी के मुँह से उनकी घुटी हुई आवाज निकली. मगर वह तेजी से अपने चूतड़ों को आगे की तरफ धकेल रहे थे और पूरा लंड दीदी के गले में उतार रहे थे.

चेहरे के लिए सबसे बेस्ट क्रीम कौन सी है

किसी में कोई लड़की पूरी नंगी थी और किसी में कोई अपनी बुर को खोल कर दिखा रही थी. संजीव ने मेरे बारे में उनको बताया और उन दोनों ने भी मुझसे हाथ मिलाया. बनाने वाले की कृपा से और पोर्न मूवीज देख कर लगातार लंड हिलाते रहने की बदौलत मेरे लंड का साइज़ भी काफी ठीक हो गया है.

लंड को चाटना, चूमना, सहलाना, जांघों को प्यार करना, बॉल्स को चूमना चाटना. आशा को मैंने इतना एक्साइटेड पहले कभी नहीं देखा था, पर शायद दूसरे लंड के बारे में सोचने से वह ज्यादा गरम हो रही थी.

वो एक दम से मुझे धक्का देने लगी लेकिन मैंने उसे पकड़ रखा तो वह हिल नहीं पाई और चिल्ल्लाई- ओ … ओ … माँ … मर गयी।वह रोने लगी। आंसूं आने लगे उसकी आंखों में.

दोस्तो, आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद जो आपने मेरी कहानी के पहले भागसीनियर मैडम की बड़े लंड से चुदाई-1को इतना प्यार दिया. तो मैंने वैसे ही करा लिए।अगले दिन हम दोनों सीधे मेरे मामा के घर पहुंचे तो सभी ने हमारा बहुत स्वागत किया. मैंने फिर कोशिश की तो उसने हाथ बाहर निकाल दिया और गांड से लगा दिया.

थोड़ी देर उंगली अन्दर बाहर करने के बाद फिर चुत के दाने को छेड़ती रहती. अपनी बीबी या गर्लफ्रेंड की गांड के उभारों को, जिन्हें जीन्स में देख कर आप जोश खाते हैं, उन्हें चूम कर, चाट कर भी तो देखिये … फिर बताना आपको कैसा लगता है, कितना मज़ा आता है. भाभी ने गिफ्ट देखा बहुत खुश हुई, बोली- मेरी तमन्ना थी ऐसी पैंटी पहनने की … आपने मेरी अंदर की बात जान ली.

कल्पना की आपबीती सुनने के बाद सच में मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि मैं क्या बोलूं क्योंकि उनकी कहानी सुनने के बाद मुझे भी फील हुआ कि उनके साथ धोखा किया गया है.

बीएफ सेक्सी 4 वर्ष: अब मुझे गांव के किसी बुजुर्ग या पहलवान किस्म के आदमी के लंड की तलाश थी. उनको भी इसमें मजा आता है।दोस्तो, ये थी मेरी आपबीती। आप लोगों को कैसी लगी? इसके बारे में अपने सुझाव एवं राय मुझे अवश्य भेजें। जिससे मैं प्रेरित होकर आप लोगों के लिए और भी नयी कहानी लिख सकूं।[emailprotected].

वो पानी ले कर आई और मेरे सामने वाले सोफ़े पर बैठ गयी और मेरे बारे में पूछने लगी. फिर उन्होंने अपने दूसरे हाथ से फोन में ओयो रूम्स की साइट खोली और मेरे हाथ में फोन थमा कर रूम बुक करने का इशारा किया. मैं- कुछ किया भी या नहीं?वो- क्या करना था … घूमे फिरे औऱ वापस आ गए.

वह बोली- इतना बड़ा?मैंने कहा- क्यूँ, इससे पहले तुमने लंड नहीं देखा क्या?वह बोली- मैंने तुम्हें बताया तो था कि मैं वर्जिन हूँ.

वो मुझसे छूटने के लिए कसमसाने लगी, लेकिन मैंने उसको छोड़ा नहीं, मैं उसको गोद में उठा कर बेडरूम में ले गया. भाभी बोली- कुछ और बात करना चाहते हो क्या आप?मैंने कहा- नहीं, कोई बात नहीं है. प्रीति को मैंने बोला कि उसके पति का तुम से विश्वास उठ गया है कि तुम किसी तरह का अनोखी या प्रभावशाली रतिक्रिया कर सकती हो.