बीएफ दीजिए वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,बिहार का सेक्सी वीडियो भेजें

तस्वीर का शीर्षक ,

पेशाब करते दिखाओ: बीएफ दीजिए वीडियो बीएफ, करीब 5 मिनट वो चूत चाटता रहा और मैं उन 5 मिनट किसी जन्नत की सैर करती रही.

कॉलेज बीपी सेक्सी वीडियो

फिर वो बोली- जनाब कब तक ऐसे ही दीदार करते रहेंगे आप?तो मैंने कहा- कि अगर मेरे बस में हो तो कयामत तक. செஸ் வீடியோ ஹிந்திफिर 4-5 ऐसे ही चलता रहा और धीरे-धीरे वो भी मेरे से कंफर्टबल होने लगीं.

मैंने नितिन से फिर पूछा- छोटू, तूने बैटरी चार्ज नहीं की थी?तो वो बोला- एक बैटरी तो फुल चार्ज है भैया और दूसरी चार्जिंग पर सिर्फ 10-15 मिनट ही लगाई थी. सर की सेक्सी वीडियोतभी उसने मेरे बाल खींचकर मुझे खड़ा किया। बाल खींचे जाने से मेरे मुँह से एक घुटी सी चीख निकल गई.

हम दोनों के पास आकर नेहा ने अपनी चूत को मनोज के मुंह पर रख दिया, मनोज नेहा की चूत चाट रहा था और नेहा ने अपने होंठ ऊपर से नीचे को मुंह करके सुलेखा के होंठों से मिला लिए.बीएफ दीजिए वीडियो बीएफ: चाची ने मुझे लिटा दिया और अपनी साड़ी ऊपर की फिर अपनी दोनों टांगें मेरी कमर के दोनों तरफ करके मेरे ऊपर बैठ गईं और अपनी चूत मेरे खड़े लंड पर रगड़ने लगीं.

अब तक कितने लोगों से मैं सेक्स कर चुकी हूँ, कैसे कैसे लोग मुझे मिले, सब बताऊँगी.‘और क्या क्या किया भाबी जी?’ तिवारी फुल मूड में था शायद उसकी नज़र अनीता की नाईटी पर घूम रही थी, मानो के वो आँखों से ही अनीता भाबी को चोद लेना चाहता हो.

மலையாள செக்ஸ் ஆடியோ வீடியோ - बीएफ दीजिए वीडियो बीएफ

उसने टाइट टीशर्ट और बहुत ही छोटी टाइट, बदन से चिपकी हुई पतली सी निक्कर डाल रखी थी, जिसमें से उसकी चूत के उभार साफ दिखाई दे रहे थे.सारा दिन वहाँ वक्त बिताने के बाद शाम को डिनर के टाइम पर ही वापस आया.

शायद उसने आज अपनी चूत के बाल साफ़ किये थे… मेरे तो मुंह में पानी आ गया. बीएफ दीजिए वीडियो बीएफ रस के रिसाव से योनि के अंदर स्नेहन हो जाने से मेरा लिंग बहुत तेज़ी से उसके अंदर बाहर जाने लगा और कमरे में फच फच का स्वर गूंजने लगा.

मैं भी मामा के लंड को मसलने लगी, लंड एकदम लोहे की रॉड जैसा कड़ा हो गया था.

बीएफ दीजिए वीडियो बीएफ?

उन्होंने डरते हुए अपना एक हाथ सुमन के एक चूचे पे रख दिया, मगर उन्होंने कोई हरकत नहीं की, बस चूचे पर हाथ रखे हुए सुमन के चेहरे को देखते रहे. तब मैंने उसके पैन्ट में बना तंबू देखा तो मैं और जोश में आ गई और धीरे-धीरे अपनी कमर को हिलाने लगी. तो मैंने उसका लंड अपने हाथों में ले लिया और पैन्ट के ऊपर से ही हिलाने लगी.

जीजाजी ने भी आवाज के कारण खिड़की की तरफ देखा, उनके चेहरे पर भी चौंकने के भाव आए. उसी दौरान नीलम के घर में निखिल नाम के युवक की आवन जावन शुरू हो गई थी. थोड़ी देर ये खेल चलता रहा, फिर सुमन ने अपने पापा को एक्सट्रा मज़ा देने की एक तरकीब लगाई.

सीधे उसी की जुबानी मजा लीजिएगा।मेरी शादी जुड़वें भाइयों में बड़े वाले लड़के से हो गई। मैं अपनी शादी को लेकर बहुत खुश थी। दोनों भाइयों की सूरत और बदन एक जैसे ही हैं। पहली बार में देखने से पता लगा पाना मुश्किल था।खैर. कहाँ जा रहे हो?मैं शरमाते हुए उनके पास गया तो वो बोलीं- आओ तुम भी यहीं लेट जाओ न. मैं अब उनके सम्पर्क में नहीं हूँ पर उनके साथ बिताए वो चुदाई वाले पल बहुत मजेदार थे.

अब ऋतु ने मस्ती में बड़बड़ाना चालू कर दिया- ऊफ्फ आह्ह्हा उम्म्ह… अहह… हय… याह… और चोदो सालो… फाड़ दो मेरी चूत गांड… मेरे बूब्स दबाओ… फ़क मी हार्ड… यस ऊह्ह्ह!राहुल उसकी गांड में और मैं उसके स्तनों को जोर जोर से थप्पड़ मार रहे थे और उसके साथ ही धक्के भी मार रहे थे. जीजाजी ने बच्चे की मालिश के लिए रखी तेल की कटोरी से दीदी की गांड के छेद पर तेल डाला और फिर अपना लंड गांड की मुहाने पर रखकर ज़ोर लगाने लगे.

मैंने धीरे धीरे मानसी के दोनों चूचों पर अपना पूरा अधिकार जमा लिया था और उनका खुल कर मर्दन कर रहा था.

अब मैंने उसके एक चूचे को अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगा और एक हाथ से उसके दूसरे चूचे को पकड़ कर दबाने और मसलने लगा.

तो मनीष बोला- लंड निकाल कर साली की मुंह में डाल और वहीं निकाल!मेरे मुंह में तो पहले से ही दो लड़के का वीर्य था, उसने वैसा ही किया, लंड निकल कर मेरे मुंह में घुसा दिया और चोदने लगा और 5-7 मिनट बाद मेरे मुंह में फिर से एक बार वीर्य की बाढ़ आ गयी, वीर्य निकल रहा था और वो मुझे गालियों के साथ चोदे जा रहा था, उसने अपने वीर्य की एक एक बूंद वीर्य मेरे मुंह में निचोड़ी और मेरे ऊपर ही निढाल होकर गिर गया. घर का दरवाज़े पर पहुँचते हुए अपने हाथो को जोड़ कर ‘भाबी जी घर पे हैं?’ ऐसा बोल के अनीता से घर में प्रवेश के लिए उनकी अनुमति मांगी. क्या मस्त समा था, एक तरफ़ टीवी पर काला लंड चुत को चोद रहा था और इधर पापा का लंड मेरी बुर को भोसड़ा बनाने में लगा था.

”सविता मेरा लंड चूस चूस कर पानी निकाल कर पी गई और मैंने भी उसकी चूत चाट चाट कर उसका पानी निकाल दिया. ’पापा ने चुत पे लगी पेशाब की बूंदों को पी लिया और फिर से उसको बुरी तरह से चूसने लगे. वैसे तुम्हारे कितने बड़े हैं?तो वो शरमा कर बोली- तुम यकीन नहीं करोगे.

संजय- प्लीज़ एक मिनट सूसू रोक ले और सुन, पहली बार लंड जब चुत में जाता है तो अन्दर से लाल रस निकलता है.

चांदी से चमकते बदन पर पेटीकोट जैसा वस्त्र मुझे काफी अखरने लगा इसलिए तुरंत ही उनके पेटीकोट को भी निकाल दिया. रंग बहुत गोरा, बदन पतला मगर फिर भी भरपूर गदराया हुआ, सपाट पेट, पेट के ऊपर दो उन्नत, गोल मम्मे, पेट के नीचे कटावदार कमर, मजबूत दिखने वाली जांघें. तभी किसी शेर की तरह दहाड़ते हुए चंगेज़ ने झड़ना शुरू कर दिया… उसकी मोटी, सफ़ेद वीर्य की बूंदें सुन्दरी की जीभ पर टपकने लगी, और फिर उसके होंठ, गले और छाती पर गिरते हुए उसे पूरी तरह से ढक दिया.

मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा लिया और लंड डाल कर रुक गया. करीब 10-15 मिनट के लंबे चुम्बन के बाद मैंने धीरे-धीरे उसका टॉप उतार दिया. तो सबीना बोली- ये वही है ना जिनकी चुदाई तुम जूनागढ़ में करके आ रहे हो? फिर से उसकी चूत में खुजली मचने लगी क्या?जमीला बोली- मुझ से बात करवाओ.

उसकी कमीज और सलवार उतारने के बाद मैंने उसको अपनी तरफ करते हुए निहारा तो मेरे होश ही उड़ गए.

मैंने सुमन भाभी को किस किया और उनके एक चूचे को मुँह में भर कर चूसने लगा. एक रोज मैं अपनी कार से घर जा रहा था तो सड़क के किनारे एक महिला को ऑटो वाले से बातें करता देखा, वह ऑटो में बैठी नहीं और ऑटो चला गया.

बीएफ दीजिए वीडियो बीएफ मम्मी के आने के बाद चाची अपने घर में चली गईं, पर मैं मौका देख कर वहाँ भी उनको चोद देता. 00 बजे फ़ोन करके रूबी के घर पहुँच गया; दरवाजा खुला था, मैं अंदर चला गया.

बीएफ दीजिए वीडियो बीएफ उसी दौरान नीलम के घर में निखिल नाम के युवक की आवन जावन शुरू हो गई थी. वैशाली छटपटाने लगी, दर्द से करहाती हुई बोली- एक बार बाहर निकालो, बहुत बड़ा और मोटा है, लगता है अंदर कुछ फट गया है.

अच्छा कर लूँगा अब जल्दी कर, इसका पानी निकालने के बाद तुझे नाश्ता भी रेडी करना है और खुद को भी रेडी करना है.

सेक्सी वीडियो डॉट कॉम ब्लू पिक्चर

और अगर उन्होंने हमें पैसे देकर खरीद लिया तो रात भर वहशी बन के नोचेंगे सब हमें! हम नहीं जाएंगी, चल वापिस चल!मगर रिया टस से मस ना हुई, उसने कहा – ठीक है ना यार, जिंदगी में एक बार वेश्या बनना भी मंजूर है. उधर घूमते-घूमते मैं ब्रा-पैंटी के स्टॉल के पास पहुँच गया और वहां वो सब कुछ देखने लगा जिससे लंड को तसल्ली सी हो जाती है। वहां से बहुत सारी औरतें गुजर रही थीं. मैं समझा नहीं तुम ठीक से बताओ वरना मैं फिर कोई ग़लती कर दूँगा।मोना- हा हा हा तुम बहुत स्वीट हो यार.

मैं अब भी भाभी का हाथ पकड़े हुए खड़ा था और मुझे लगा कि उनको खड़े रहने में बहुत दिक्कत हो रही थी. वह बोली- कहाँ?मैंने कहा- ट्रेन आने में अभी वक्त है, चलिए थोड़ा जहाँ कोई ना हो वहाँ चलते हैं. जब दोनों की चुदाई का कोटा पूरा हो गया तो वो सो गए और रात को घर वालों के आने के बाद किसी को शक भी नहीं हुआ क्योंकि सोकर उठने के बाद संजय ने पूजा को सीढ़ियों के कई चक्कर लगवाए ताकि उसकी चाल ठीक रहे.

रिया बोली – मैंने कहा था ना निकी कि हम दोनों रण्डियाँ ही दिखेंगी? तो उसने पूछ लिया होगा.

मैं छूने या ना छूने की कशमकश में ही था कि तभी चाची सीधी हो गईं और अपनी दोनों टांगों को मोड़ कर ऊपर कर लिया. मैंने भाभी से ऐसी बेहूदगी इसलिए दिखाई क्योंकि वही एक ऐसी महिला थीं, जो मुझे शुरूआत से पसंद नहीं आ रही थीं. अब वो अब अपनी पूरी आन बान और शान से फहरा रहा था रानी बहू रानी की चूत के सामने!‘वाओ… ग्रेट!’ रानी चहक कर बोली और मेरा लंड थाम लिया अपने हाथ में फिर इसे ऊपर नीचे कर के चार पांच बार मुठियाया और इसे मसल कर दबा कर इसकी कठोरता को परखा और संतुष्ट होकर मेरी तरफ मुस्कुरा के देखा.

‘इह्ह्ह ओह्ह्ह ह्ह्हह्ह ओह्हह्ह आआ ओ ओ ओ इ इ’ कहते हुये सरिता ने रमेश के हाथ को पकड़ लिया. दस मिनट तक हचक कर चोदने के बाद गुलशन जी ने फ्लॉरा को घोड़ी बना दिया और पीछे से उसको चोदने लगे. रात के प्रसंग के बारे में सोचते ही मेरे लिंग में चेतना आने लगी और पूरे शरीर में एक रोमांच की लहरें उठने लगी.

अब उसकी जांघों के बीच में उसके लंड वाला भाग मेरी आंखों के सामने था। एक तो पुलिस वालों की वर्दी ही इतनी मोटी होती है और दूसरी ओर उसकी जांघें मोटी होने की वजह से जिप वाले भाग पर तंबू सा बना हुआ था जिससे ना तो उसके लंड की पॉजिशन का पता लग पा रहा था और ना ही उसके साइज़ का… क्योंकि मर्दों के दीवाने उनकी चैन के पैकेज को देखकर ही अंदाज़ा लगा लेते हैं कि सामने वाले का औजार कितना बड़ा है. मेरी चीख सुनकर पूल में चुद रही रिया ने कहा- निक्की, मुझसे पहले दो दो लंड डलवा लिए तूने कमीनी… अब देख मैं इन तीनों के लंड निचोड़ती हूं.

पर हमने तय किया कि हम सिर्फ उसी दिन एक दूजे को देखेंगे जिस दिन हम सेक्स करेंगे उससे पहले कोई फोटो तक नहीं देखेंगे. मैं वह पूरे फ्लोर पर नज़र दौड़ाने लगा और सोचने लगा कि आज किस मर्द का लंड लिया जाये और कैसे?घूमते हुए आगे गया तो वहाँ इक्का दुक्का नर्स दिख रही थी और कुछ कुछ वार्ड बॉय दिख रहे थे. वो लगभग 25 साल की कमसिन जवानी से लबरेज, एकदम हॉट और सेक्सी माल थीं.

वो भी गांड उछाल-उछाल कर चुदाई में साथ दे रही थी।करीब 15 मिनट बाद वो झड़ गई और मुझसे लिपट गई, अब वो मुझसे कहने लगी- ऐसा मेरे साथ पहली बार हुआ है.

जरूर मानेंगे, अगर हम उनकी तड़प को इतना बढ़ा दें कि बिना सेक्स किए वो रह ना पाएं, तो वो मान जाएँगे. टीना ने शुरू से सारी बातें बताईं, जिसे सुनकर गुलशन जी का पारा चढ़ गया- उस कमीने की ये मजाल वो मेरी बेटी को रंडी बनाएगा. मैं अपना परिचय एक बार फिर से दे देती हूँ ताकि नए पाठकों को भी पढ़ने में मजा आए.

फिर धीरे से कान के पास अपना मुँह लाके बोलीं- कब तक खुद ही हिलाता रहेगा?ये बोल कर चाची मेरा लौड़ा हिलाने लगीं और साथ में मुझे किस करने लगीं. मैंने कहा- भाभी मैं उतावला नहीं हूँ … आप पहली बार घर आयीं हैं, तो आपका स्वागत भी ना करूं क्या?तो भाभी झट से अन्दर आईं और दरवाजा बंद करके मेरे लंड को पकड़ कर चूसने लगीं.

अब मैंने अपनी जीभ को उनकी चुत के बिल्कुल पास ले गया और चुत को सहलाते हुए बड़े प्यार से होंठों से चुत पर एक चुम्मा धर दिया. मैं बोला- हां चाची सुबह से ये ऐसे ही है इसी लिए तो मैं आपसे बोल रहा था तो आप गुस्सा हो गई थीं. उसकी चुत फूल कर लाल हो गई थी और उससे उठा भी नहीं जा रहा था… इसलिए मैं रसोई से थोड़ा पानी गर्म करके लाया और एक कपड़े को पानी में भिगोकर उसकी चुत सेंकने लगा, जिससे उसे बहुत आराम मिल रहा था.

ब्लू फिल्म सेक्सी एचडी ब्लू फिल्म

वो इठला कर बोली- अभी इसमें से दूध कैसे निकलेगा?मैंने कहा- वो तुम मुझ पर छोड़ दो.

इतने में एक सयानी सी आंटी उधर आ गईं, तो मैंने बहाना बनाया- पागल इतनी छोटी बात के लिए नाराज नहीं होते, चल अब घर चल मेरी चंदू प्लीज. तुम तीन दिन की कह रहे हो, मुझे जिंदगी भर याद रहेंगे।सुकांत- अरे सर बहुत दिन नहीं. तो उसने उसका चाय का कप लिया और मेरे लंड के सामने लगाकर पूरा वीर्य चाय में डलवा लिया.

बस इसे ही देखते-देखते मजा ले रहा था।तभी वहां सामने से एक औरत गुजर रही थी. उसी दिन शाम को मैं जिम जा रहा था तो वो रास्ते में मिल गई।मैंने कहा- देख, ये पेन किलर की गोलियां हैं. सेक्सी फिल्म बढ़िया वाली हिंदीउसके बाद मैंने उसे पूछा- क्या अब भी दर्द महसूस हो रहा है?तो वो बोली- अब ज्यादा नहीं है.

उन्होंने मेरा चेहरा ऊपर करते हुए मुझे बदमाश बोला, मेरे लिप्स पर किस करने लगी और हल्के से काट खाया. जैसा कि स्नेहा ने उसके हुस्न के बारे में बताया था वो उससे बढ़ कर निकली.

जैसे ही मैंने जोर लगाया तो लंड का सुपारा अंदर जाने लगा, वैशाली घबराने लगी, उसने अपने दोनों हाथ मेरी छाती पर अड़ा दिए ताकि मैं जोर न लगा सकूँ. थोड़ा होश आया तो पाया कि रिया सबको उनके कपड़े निकलने के लिए मदद कर रही थी. फिर हमारी बातें उसके लव लाइफ की तरफ गई क्योंकि उनको कोई बच्चा नहीं था तो मैंने उनसे पूछा.

तभी मेरी नजर खिड़की के बाहर गई जहाँ एक लड़की खड़ी थी और वो मेरे खड़े लंड को देख रही थी. वो पूरा दिन अकेली बोर होती रहती है।तो मैंने बोला- हाँ ये तो है, पर मैं क्या कर सकता हूँ?राजेश ने बोला- कुछ नहीं, अगर तुम बुरा नहीं मानो तो तुमसे एक रिक्वेस्ट है।मैंने बोला- हाँ बताओ. लेटे हुए चंगेज़ ने अब उसका लंड गांड में घुसए हुए ही उसके पेट के ऊपर लेटी नताशा के पैर आपस में जोड़, अपने हाथों द्वारा, बाईं तरफ ऊपर की ओर उठा दिए, जिससे अब लड़की को अपनी गांड में घुसे हुए दोनों लंड साफ़ नजर आने लगे!मेरी पत्नी को इस पोज में अपनी गांड मरवाते हुए बहुत मजा आ रहा था और वो इठलाते हुए अपनी जीभ पतली कर, अपने होठों पर फेर रही थी.

यह सुनकर मनोज बोला- अरे अरमान तो रुचिका को संभाल चुका है, वैसे भी पहले तो भाग कर रवि के पास आई हो तुम खुद ही!यह सुनकर रुचिका बोली- अरे आपको नहीं कह रही, आप अपना काम करो, बात हम दोनों के बीच की है.

वहाँ का हर कमरा सेक्स के लिए परफेक्ट था बस कमी थी तो जवान मर्द की जो मस्त चुदाई कर सके. दोस्तो यहाँ भी अब कुछ बताने को नहीं है, तो चलो फ्लॉरा से मिल लेते हैं वैसे भी बहुत दोस्तो की शिकायत है कि मैंने फ्लॉरा को कहाँ गायब कर दिया, तो आओ उसी को देखते हैं.

मैं 5’10″ का स्मार्ट हैंडसम लड़का हूँ और किसी भी लड़की को सेक्स में संतुस्ट करने में एकदम सक्षम हूँ. जॉन अब सारा दिन यही सोचता रहता कि कैसे इसे पटाऊं और इसकी कमसिन जवानी को मसलूँ. चंदन ने देखा कि पहला चूचुक काफ़ी देर तक चूसने के कारण काफ़ी फूल गया था.

अब मैंने सोचा कि मैं पूरे अस्पताल मैं घूमूँगा, कोई तो मिलेगा जिसका मस्त लंड मेरे गले की प्यास बुझाएगा. मैंने झुककर रिया के होटों पे किस करके उसे जगाया और फिर हम दोनों ने सभी लड़कों को लिप किस करके जगाया. मैं अपनी आखें बंद करके झांटें सहलाने में मस्त थी और चुत को खुजला रही थी कि तभी मैंने देखा कि कोई मेरी प्यारी चुत पर हाथ फेर रहा है.

बीएफ दीजिए वीडियो बीएफ थोड़ी देर में उसे भी मज़ा आने लगा, वो कहने लगी- चोदो मेरी जान, मेरी चूत फाड़ दो. उसने बताया कि वो एक मैरिड औरत है और उनके पति आउट ऑफ़ इंडिया जॉब करते हैं और वो इधर एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करती है.

हंसिका मोटवानी की सेक्सी फोटो

एक दिन घर में कोई नहीं था, मॉंटी पड़ोसी के यहाँ खेलने गया हुआ था और माँ काम के सिलसिले में बाहर गई हुई थीं. उसके चूचे साफ नज़र आ रहे थे और वो जानबूझ कर अतुल के ठीक सामने बैठी थी. गहरे काही कलर की कॉटन की साड़ी और मैचिंग ब्लाउज में उसका सौन्दर्य खिल उठा था.

उन्होंने कहा- आप सारी पिक्चर मेरे मोबाइल पे भेज दें!मैं बोला- मेरे पास तो आपका नंबर नहीं है?तो उन्होंने मुझे अपना नंबर दिया और सारे पिक्चर सेंड करने बोला. उसके मिल्की वाइट, टोंड जाँघें, जिनके नीचे उसके पैरों पर एक भी बाल नहीं था. देसी सेक्सी वीडियो स्कूल गर्ल्समैंने उसे कैसे चोदा, ये मैं इस बुर की चुदाई की कहानी के अगले भाग में बताऊंगा.

घर में अन्दर तो आ जाओ।मैंने एक कातिल मुस्कुराहट दी और मैं अन्दर गया और भाभी से पूछा- आपके घर में कोई नहीं रहता क्या?तो उन्होंने कहा- मेरे पति बंगलोर में रहते हैं, वे महीने में एक बार आते हैं और महीने भर मैं सेक्स से भूखी रह कर तड़पती रहती हूँ।मैं- कोई बात नहीं अब आपको और नहीं तड़पना पड़ेगा.

वैसे संजय जी को क्या काम है?टीना ने सुमन को बताया कि इन दिनों माँ की तबीयत की वजह से उसने पढ़ाई पर ध्यान नहीं दिया और आज प्रॉजेक्ट्स सब्मिट करना है. मैं कोने वाली कुर्सी पकड़ कर बैठ गया और अपने नम्बर का इंतजार करने लगा.

मैं उसकी चूत के होंठ खोल कर अंदर तक चाट रहा था, मुझे बहुत मजा आ रहा था. रिया ठहाके मार के हंस पड़ी मगर तभी यकायक उसकी हंसी कही बिखर गयी, चेहरे पर कड़वापन छा गया. फिर जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैंने धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू कर दिए और कुछ देर बाद उसको भी अच्छा लगने लगा और वो मुझसे क़हने लगी- फाड़ दो मेरी चूत को… चोदो मुझे, और ज़ोर से चोदो मुझे!मैं तो उसकी यह बात सुनकर पागल ही हो गया और ज़ोर ज़ोर से धक्के लगाने लगा और वो भी गांड उछाल उछाल कर मेरा साथ देने लगी.

मैं घबरा कर वापस आने लगा तो मैंने देखा कि वो केवल पेटीकोट और ब्लाउज़ में थीं और उनका क्लीवेज साफ मुझे दिख रहा था.

फिर मैंने रेज़र में नया ब्लेड लगा कर धीरे धीरे चूत को अच्छे से शेव कर दिया और टिशू पेपर से चूत अच्छे से पौंछ दी. एक दिन की बात है, सुबह 9 बजे रमेश आँगन में सिर्फ लुंगी पहन कर नहा रहा था. ऋतु ने कहा- इतना दूर नहीं… यहाँ हमारे पास आकर खड़े हो जाओ और फिर हिलाओ.

सेक्सी विडियो hotअचानक से मुझे अहसास हुआ कि मेरी चुत में किसी ने 50 ग्राम मोम पिघला कर डाल दी हो. मैंने चड्डी को एक ही झटके में उतार दिया और पूरे जोश में आकर चूत चूसने लगा.

தமிழ் செஸ் வீடியோ பிலிம்

साथियो, आप मुझे मेरी इस सेक्स स्टोरी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें. मैं पापा का लंड पकड़ कर चूसने लगी और इस तरह पापा के लंड ने मुझको एक बार फिर अपना दीवाना बना दिया. मैं थोड़ा और गिड़गिड़ाया और बोला- चाची मैं, मैं… मुझे माफ कर दीजिए चाची… आप माँ को नहीं बताना.

उसके बाद भाभी रसोई में गईं और वहां से वो फ्रिज से डेरीमिल्क सिल्क लेकर आ गईं. तो भैया ने साफ़ मना कर दिया और मेरा बिस्तर अपने बेड के पास ही लगा दिया. संगीता ने फ़ौरन चन्दन के लंड को पकड़ कर अपनी खुली चूत को और खोल कर उसमें रखवा लिया, उसी वक्त जमाई राजा ने एक जोर का झटका मारा और लंड का सुपाड़ा फक्क.

इसी वजह से मेरा लंड फिर से पूरी तरह खड़ा हो गया और कैप्री में तम्बू बन गया. मैं भी झड़ने वाला ही था इसलिए चिल्ला कर बड़बड़ाया- साली छिनाल कुतिया, लंडखोर, माँ, मैं अपनी माँ को चोदूँ आह सीईईसीईई मेरा भी निकलेगा अब, ज़रा इन्तजारर कार्रररओ स्साली लिइईई’ मगर तभी मेरे लंड ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया. मैंने उसकी टांगों को अपने कन्धों पर रख कर लंड पर दबाव दिया, लंड चूत के छेद में घुसता चला गया.

मुझे भी अच्छा मौक़ा लगा तो मैं सविता को लेकर अपने साथ दूसरे कमरे में चला गया. तूने इतना कैसे कंट्रोल किया?सुमन- ओह दीदी प्लीज़ चुप रहो ना… वो बात दोबारा याद मत दिलाओ.

टीना- अरे अब जाने दे, तू जब उठ गया था तो कुछ बोला क्यों नहीं, बस इसी लिए मुझे गुस्सा आया और सुमन जो कर रही थी, मैंने ही तो इसे कहा था ताकि तुझे आराम मिले.

उनकी इस कामुक आवाज से मैं और जोश में आ गया और उन्हें जम कर चोदने लगा. शर्मा सेक्सी फिल्मकब नींद आयी, पता नहीं चला, जब आँख खुली तो मैंने देखा कि ऋतु मुझसे चिपकी पड़ी थी और राहुल ऋतु के पीछे से!उसके बाद से ऋतु मैं और राहुल साल भर तक मजे करते रहे! फिर किसी कारणवश मुझे घर देहरादून लौटना पड़ा. ಎಚ್ ಡಿ ಕನ್ನಡ ಸೆಕ್ಸ್उस हलब्बी लंड को देख कर मैं अपने आप घुटनों के ऊपर आ गई और बिना कुछ सोचे समझे उसे अपने मुँह में ले लिया।पीटर के मुँह से सिसकारियां निकलने लगी, उसका सिर्फ आधा ही लंड मेरे मुँह में जा रहा था. मैंने सोचा अब फाइनल शॉट दुबारा पीछे से करते हुए लगाया जाये, मैंने दुबारा उसको डॉग पोजीशन में लिया और चढ़ गया लंड लेकर उसके ऊपर… मैं उसको फुल स्पीड में चोद रहा था, पूरे कमरे में पच पच की आवाज आ रही थी, उसके और मेरे चिल्लाने की आवाजें आ रही थी, ऐसे लग रहा था कि कमरा नहीं रंडीखाना है.

मैंने अपने दोनों हाथों से उसके चूतड़ों को पकड़ रखा था और झूला झूला कर लंड की ठाप मार रहा था.

नेहा- ऐसा क्यों बोल रहे हो, मैंने उससे बहुत बोला, तुम आ जाओ, तुम्हें मेरी कसम!मैं- ठीक है, आ रहा हूँ. मैं थोड़ी देर रूक गया और जब वो नार्मल हुई तो धीरे धीरे धक्के मारने स्टार्ट किये. मैंने अपने कॉलेज की 7 लड़कियों और 1 प्रोफेसर को भी चोदा और ऐसा चोदा के वो मेरी गुलाम बन गई.

मैं अभी उसकी चूत चाटने में व्यस्त ही था कि वही हट्टा कट्टा आदमी अन्दर आया और उस लड़की की चूची को दबाते हुए बोला- क्यों रोहिणी, अभी तक फिजिकल नहीं हुआ?जवाब में वो लड़की बोली- बॉस, ये लड़का अभी नया है तो बस अभी इसको सिखा रही थी, दो-तीन मिनट रूको, मैं इसको फ्री करती हूँ. मैं रोना चाहता था, चीखना चाहता था मगर जय का लंड अभी भी मेरे मुँह में था तो मेरी चीख अंदर ही दब गयी. यह कैसे हुआ?आइए बताता हूं आपको उसके सच की कहानीशुरुआत के दिनों में उससे मेरी काफी बात हुई तो धीरे-धीरे उसने खुलते हुए बताया कि उसकी माँ बहुत ही अय्याश किस्म की औरत है, उसका अफेयर तो नहीं है किसी से लेकिन बहुत से मर्द को वह घुमाती है.

पंजाबी का सेक्सी व्हिडीओ

मैं आपको अपने कुछ कपल्स के साथ हुई शानदार सेक्स की घटनाओं में से एक पुणे के अविवाहित कपल के साथ किए गए सेक्स की घटना बता रहा हूँचुदाई की कहानी पसंद आई या नहीं, मुझे[emailprotected]पर मेल करेंइस कहानी में झूठ या कुछ मिलावट का अंश मात्र भी नहीं है. नीलम ने मेरी ही मौजूदगी में निखिल को राखी बाँधी थी जिसने मुझे यह मानने के लिये प्रेरित किया था कि दोनों के बीच भाई बहन का रिश्ता था. जहाँ ये सब कुछ हुआ था।टीना- ओ माय गॉड संजू यार तेरी बातें सुनकर मेरा जिस्म जलने लगा है। अगर पीरियड्स ना होते कसम से मैं अभी तेरा लंड चुत में घुसा लेती।संजय- साली हालत तो मेरी भी खराब है मगर क्या करूँ, अब तू ही बता मैंने जो किया वो सही था या ग़लत?टीना- देख संजू जो उम्र पूजा की है वो अब बच्ची नहीं रही है.

कुछ देर बाद उसका हाथ मेरी पैंट की ज़िप पर पहुंचा और ज़िप खोल कर बड़ी मुश्किल से उसने मेरे लोहे की छड़ की तरह तने लंड को दोनों हाथों से खींच कर बाहर निकाला और बोली- हाय राम, इतना बड़ा लौड़ा!मेरे लौड़े को वह दोनों हाथों से सहलाने मसलने लगी.

मैंने फोन जमीला को दे दिया तो सबीना ने जमीला को स्पीकर ओपन करके बात करने का इशारा किया.

रीना के तो हाथ और पैर की उँगलियों पर सुर्ख लाल रंग का नेल पेंट लगा था. अब मैं और सरिता ही जगे हुए थे, दूसरी तरफ रोहन ऊपर की सीट पर सोने का नाटक कर रहा था और उसने अपने मुंह पर चादर ढकी थी. इंग्लिश वीडियो सेक्सी फुलमैं करीब पूरा मानसी के ऊपर चढ़ चुका था और मानसी की तरफ से अब नाम मात्र का भी विरोध नहीं था.

जब मैंने उनकी चूत पर हाथ रखा तो उस वक़्त उनकी चूत भट्टी के माफिक तपी हुई थी. ’तभी मैंने टीवी की ओर देखा तो पता चला कि वो मादरचोद लड़का उस लड़की की छोटी से चुत में अपना घोड़े सा लंड घुसा रहा था. कहानी से सम्बन्धित शहर और अस्पताल का नाम तो मैं नहीं बता पाऊँगा बस ये मान लीजिये उज्जैन के पास का ही कोई शहर है, वो और मैं उस अस्पताल में एक पूरी रात रुकने वाले थे.

मैंने उसकी कमर के इर्द गिर्द अपनी टाँगें लपेट कर उसे अपने साथ चिपका लिया. तभी मैंने माँ के हाथ को पकड़ कर अलग किया और अपने चेहरे को उनकी कांख में घुसेड़ दिया.

रूबी तो तैयार हो चुकी थी, झट से नंगी होकर बेड पर बैठ कर उसकी चूचियों पर हाथ फिराने लगी.

मेरे पापा ने उन्हीं के साथ जॉब की थी और काफी दूर के रिलेशन में भी हमारे अंकल यानी चाचा जी भी लगते थे. मामा जी पूछने लगे- क्यों रो रही हो रिशू, कोई प्राब्लम हो गयी क्या?मैं बोली- कल से मैं आप से केवल 1 घंटा ही मिल सकूँगी, कल से मेरी लाइफ फिर से पहले जैसी ही हो जाएगी. आप लोगों को मैं अपना परिचय दे दूं, मैं 24 साल का स्लिम बॉडी वाला युवक हूँ.

हिंदी सेक्सी वीडियो छोटी लड़की पण्डित जी बोले- ठीक है बुशरा, अब परेशान मत हो, पैसों की मुझे कोई ऐसी जल्दी नहीं जब हों तब दे देना. उसने नीतू के सर को कस के पकड़ लिया और अपना सारा रस उसके हलक में उतार दिया.

मेरी उत्तेजना की सिसकारी उन्हें बता रही थी कि मुझे ऐसा किया जाना अच्छा लग रहा है. ”वो चाय लेकर आई तो मैंने उसे अपने पास बिस्तर में दीवान पर बैठा लिया- बहूरानी, आज तो तेरी पिंकी का मुंडन संस्कार है न?मैंने कहा. शायद भाभी भी वैसे ही निढाल पड़ी रहीं।कुछ देर बाद जब मैं उठा तो देखा रात के 11 बज चुके थे और भाभी मेरे सामने बैठीं मेरे लंड को सहला रही थीं।भाभी- थैंक्स प्रिन्स.

সেক্সি গেম

मेरे कहने पर भाभी अंदर गई और अंदर जाकर एक कटोरी में अपना दूध निकाल कर ले आई. मैं- पर मैं तुम्हारी चूत चुसना चाहता हूँ!ऋतु- कोई बात नहीं तुम मेरी चूत चूसो और मैं तुम्हारा लंड… हम 69 की पोजीशन ले लेते हैं. चुत के पानी छोड़ने से अन्दर तक चिकनी हो गई थी, इसलिए लंड आराम से पूरा अन्दर चला गया.

सुमन पीछे मुड़ी और उसने अपने पापा के गाल पे जोरदार किस कर दी और साथ ही साथ अपनी चुत को जल्दी से एक-दो बार लंड पे अच्छे से रगड़ भी दिया- आई लव यू पापा. तब मुझे लगा आप जाग रही हो और आपकी कोई फ्रेंड मेरे साथ कुछ कर रही है.

उसकी चूचियों पर कोई जगह ऐसी नहीं थी जहाँ मेरे दांतों के निशान ना हों.

उन्हें खूब मजा आ रहा था, जो उनकी कराहों और कामुक सीत्कारों से समझ आ रहा था. अभी तक तो कुछ फ़र्क नहीं लगा, हाँ टीना ने बताया तू अब फास्ट हो गई है. मेरा लंड हंस हंस कर चूसा था और मेरी आँखों में आँखें डाल के उछल उछल के मेरा लंड अपनी चूत में लिया था.

इस बात को सविता ने भी ताड़ लिया था कि प्रेम मेरी चूचियों में खो रहा है. एक गर्ल फ्रेंड थी उसे मैंने छोड़ दिया क्योंकि वो मुझ पर हर टाइम शक करती रहती थी. उसने भी अपना हाथ मेरी चड्डी में डाल कर मेरा लंड पकड़ा हुआ था और ज़ोर ज़ोर से सहला रही थी.

इसलिए मुझे थोड़ी परेशानी होगी लेकिन मैं काम को पूरा करके ही रहूंगी.

बीएफ दीजिए वीडियो बीएफ: दो दो लंड से चोद आज चोद… अह उई!मैंने उसकी चूत को छोड़ा, उसकी टांगों को ऊपर उठाया और उसकी चूत पे लंड का निशाना लगाकर लंड को अंदर डाल दिया, बोला- उफ़ ले साली चुद. गुलशन जी ऊपर से नीचे तक फ्लॉरा को चाट रहे थे, उसकी चुत को चूस रहे थे और वो जल बिन मछली की तरह तड़प रही थी.

उसकी माँ को उसके हवाले कर दिया और फ्लैट बंद करके चाभी गुलशन जी ने ले ली. उन्होंने मेरे सीने के हर हिस्से को चूमा और जब वो शुरू हुईं, तो पूरा सीना समझो चाट ही लिया. बाहर जा के मैंने मेरे और बहूरानी के रिश्ते के बारे फिर से गहराई से ऐ टू जेड सोचा; मेरे दिल ने भी गवाही दी की ‘जाने दो जो हुआ सो हुआ’.

जब गोपाल ने नीतू के पैर उसे चोदने के लिए फैलाए, तभी पीछे से मोना ने गुस्से में आवाज़ लगाई- ये क्या हो रहा है?जिसे सुनकर गोपाल की सारी वासना हवा हो गई.

किन्तु अब स्मृति ने मुझे रोका, बोलने लगी- यार, काफी दर्द हो रहा है. उसके वो शब्द कि ‘अभी तो तू मेरा लंड बड़े मजे से चूस रहा था और अब कह रहा है कि तू रवि के अलावा किसी के बारे में सोचता भी नहीं…’मैं सोचने पर मजबूर था कि क्या मैं रवि से सच में प्यार करता हूँ या यह सिर्फ उसके मजबूत सेक्सी जिस्म और उसके लंड की तरफ मेरा आकर्षण ही है. भाभी फेसबुक के हिसाब से 26 साल की थीं और उनका नाम नीलम (बदला हुआ नाम) था.