हिंदी में हिंदी में बीएफ हिंदी में बीएफ

छवि स्रोत,xxx.iii सेक्सी एक्स एक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ नंगी लड़कियां: हिंदी में हिंदी में बीएफ हिंदी में बीएफ, हिदायत के तौर पर मैंने उसे भी कह दिया कि प्रिया को भी हमारे मालदीव के जाने के बारे में पता न लगे.

विदेशी भाभी की सेक्सी

आप मुझे मेल करके बताना जरूर कि आपको प्रिया की प्यार की चुदाई की कहानी कैसी लगी. कोठे वाली रंडी की सेक्सीउँगलियों के बढ़ाये हुए नाख़ून चला चला के मेरी पीठ पर अनगिनत खरोंचें मार डालीं थी.

फिर मैंने 1 घण्टे तक उनकी किसी हरकत का इंतजार किया मगर जब उनकी तरफ से कोई हरकत नहीं हुई तो मुझे यह भरोसा हो गया कि ये दोनों सो चुके हैं. साड़ी में देसी सेक्सी वीडियोअब आगे:मैं काफी खुश था और स्वीटी आंटी के तैयार होकर आने का इंतजार कर रहा था.

आलिया- हां अब याद आया, जिसमें एक बहन अपने भाई के लंड पर सवार होकर चुद रही थी.हिंदी में हिंदी में बीएफ हिंदी में बीएफ: मैंने कैसे अपनी वासना ठंडी की जीजू के साथ?हैलो फ्रेंड्स, मैं आप लोगों की प्यारी चुदक्कड़ लेखिका मधु जैसवाल एक बार फिर आप सभी का साली के साथ सेक्स कहानी में वेलकम करती हूँ.

मेरी टांगों के बीच गीली पैंटी की ठंडक मुझे मेरी चूत और जाँघों पर महसूस हो रही थी.पानी निकलते ही पूरे हॉल में पच-पच की आवाज होने लगी मगर ज्ञान किसी इंजन की तरह मेरी चूत में लंड को चलाते रहे.

सपना चौधरी सेक्सी वीडियो बीपी - हिंदी में हिंदी में बीएफ हिंदी में बीएफ

नीतू ने बड़ी दिलकश अदा से मेरे गिलास से गिलास टकरा कर चियर्स बोला और बियर का एक घूंट भरा.मैंने उसे अपनी गोद में उठाया और बाथरूम में ले जाकर शॉवर चालू कर दिया.

मैंने अपने लंड पर तेल को चुपड़ लिया और फिर शीशी लेकर वापस बाहर आ गया. हिंदी में हिंदी में बीएफ हिंदी में बीएफ मैंने सभी की तरफ़ ध्यान देकर मुस्कान को मुखातिब होकर कहा- साली मुस्कान की सलवार तो मैंने उतारनी थी.

अपने लंड को सहलाते हुए मैंने भाभी को दिखाया और कहा- मान जाओ न भाभी, बहुत मन कर रहा है.

हिंदी में हिंदी में बीएफ हिंदी में बीएफ?

फिर उन्होंने अपनी एक टांग मेरे ऊपर रख ली। लेकिन मैं फिर भी एक ऐसा नाटक कर रही थी जैसे मैं सोई हुई हूं। लेकिन शायद वे जानते थे कि मैं जगी हुई हूं. ये सुनते ही उसने मुझे ज़ोर से सीट पर लेटा दिया … और अपना निक्कर पूरा निकाल दिया. जब मैं उनके मम्मों पर दांतों से काटता था … तो वो मेरे बालों को अपनी मुट्ठी में भींच लेतीं.

नीरा की पैन्टी उतारने के लिए मैंने हाथ बढ़ाया तो उसने रोक दिया और मेरा लोअर नीचे खिसकाकर मेरा लण्ड चूसने लगी. दोस्तो, आप सभी कैसे हो? आप लोगों ने मेरी पिछली कहानीगर्लफ्रेंड की गांड की पहली चुदाईको बहुत प्यार दिया. जब मुझे मजा आया तो मैंने अपने दांत उनकी गर्दन पर और मेरे नाखून उनकी कमर पर गाड़ दिए।और मैं उनकी बांहों में ही सिमट गई.

रुकैय्या को तेजी से चोदते हुए मैंने अब्बू को भी स्पीड पकड़ने का इशारा किया तो बोले- पड़ा रहने दे, मुन्ना. हालांकि मैंने पति से अलग होने के बाद अब तक कई बार कॉलबॉय बुला कर या उसके साथ कहीं जाकर अपनी चुत की खुजली मिटवाई है और मैं नये नये जवान हुए लौंडों के साथ सेक्स एन्जॉय करती रहती हूँ. चूत में लंड को धकेल कर वो रुक गया और उसके बूब्स को जोर से दबाते हुए पीने लगा.

उधर शीना भी मेरा लौड़ा पूरी तरह से अपने गले तक ले जाकर चूस रही थी जैसे मुझे दिखा रही हो कि वह आज इसको थोड़ा सा भी अपने से अलग नहीं करेगी और पूरा का पूरा खा जाएगी. गांड में पानी छोड़ूँ?” मैंने पूछा।हाँ छोड़ दो … आपके गर्म वीर्य से गांड सेक लूंगी.

उस समय उसका मुँह देखने लायक था क्योंकि वो बहुत ज्यादा उत्तेजित हो रही थी.

मैं लंड चूत में घुसाये बिल्कुल बिना हिले डुले कुछ क्षणों के लिए पड़ा रहा.

इसलिए हम चाहते हैं कि तुम दोनों हमारी फैंटेसी पूरी करने में हमारी मदद करो. उसने ऐसी बातें करते करते फिर से दूसरा धक्का दे दिया और पूरा लंड मेरी चुत के अन्दर तक डाल दिया. मुझे देख वो औरत मेरे ससुर जी को धक्का देकर हट गई, पर ससुर जी के लंड ने अपना कामरस छोड़ना शुरू कर दिया था.

वह झड़ने वाले थे तो उन्होंने लंड निकालकर मम्मी के मुंह में डाल दिया जिसे मम्मी बहुत जोर जोर से चूस रही थी. रमेश को रोकते हुए रिया बोली- नहीं डैड अभी नहीं, प्लीज बाद में … इस वक़्त तो मुझे तुम्हारा लौड़ा चाहिए। मैं बहुत चुदासी हो गई हूं. सेक्स की गोली मुझे असर देने लगी थी और मेरा लंड लोहे की तरह टाइट हो गया था.

लंड निकलने से कोमल को भी चैन मिल गया और वो अपनी उंगली गांड में घुमाने लगी.

मुझे लगा कि राहुल ने मेरे बारे में इसे सब कुछ पहले से ही बता रखा है जबकि मैंने उसको मेरे बारे में बताने से मना किया हुआ था. वैसे तो हर कहानी अपने-आप में सम्पूर्ण हैं, फिर भी पुरानी कहानियों पहले पढ़ लेने से पाठक नयी कहानी को … कहानी के पात्रों को क़दरतन बेहतर तरीक़े से आत्मसात कर पायेंगे. मैंने ब्रा तो पहनी ही नहीं थी, तो एक खलासी चिल्लाया- गुरू … इसने ब्रा नहीं पहनी है.

भाभी ने ऐसा ही किया और मेरे लंड पर कूदने भी लगी।मेरे दोनों हाथ भाभी की पीठ पर घूम रहे थे कभी उनकी गांड को सहलाते तो कभी पेट को कभी उनके दूध को दबाते हुए. जैसे तेरी बहन की चुत को चौड़ी बना दी है वैसे ही तेरी कर देता … आह ले. बस 3-4 मिनट के बाद उनका कामरस मेरे मुँह में आ गया, जो मैंने चाट कर पी लिया.

अगले ही पल मैं चाची की चुत में ताबड़तोड़ धक्के लगाने लगा, जिस कारण थोड़ी देर में चाची का कामरस मेरे लंड पर आ गया और चाची का काम उठ गया.

दूसरा पार्ट तो अभी बाकी है … वो भी तो पूरा करना है कि नहीं करना है!मैं- दूसरा पार्ट?भैया- हां दूसरा पार्ट … अभी तू एक काम कर … वो दारू की बोतल और गिलास उठा ला … और वो रिमोट भी लेकर आ जा. अंदर आते समय जब रोहित की नज़र मुझसे टकराई तो उसने हँसकर मुझे आंख मार दी।रोहित के अंदर आते ही मैंने दरवाज़ा बन्द कर दिया। दरवाज़ा बन्द करते ही जैसे ही में पीछे मुड़ी रोहित ने मुझे कसकर गले लगा लिया और मेरे होंठों को चूम लिया.

हिंदी में हिंदी में बीएफ हिंदी में बीएफ धीरे से मैंने उसकी पैंट को नीचे किया तो उसके कच्छे में उसका लंड अलग ही चमक रहा था. मेरा अनुभव कहता है कि उसने चार पांच रोज पहले चूत के बाल साफ किये होंगे.

हिंदी में हिंदी में बीएफ हिंदी में बीएफ उस पर से रोज़ रोज़ पति से बातों के दौरान, जिसकी चूत गीली होती हो, उसके सामने खड़ा लंड फुफकार रहा हो, तो वो चुदासी औरत क्या करती. अब मैं वो जो पुराना घर है न … गिरा टूटा हुआ है … वहां पहुंच गया हूँ.

अब मैं सीमांशी के गले मे चूमते हुए उसकी गांड दबा रहा था सहला रहा था!मैंने सीमांशी को बांहों में उठा लिया और रोहिताश को बाथरूम में ही रुकने का इशारा किया.

सेक्सी बीएफ देहाती चलने वाली

मैंने एक जोर का धक्का दिया जिससे मेरा आधा लंड उसकी चूत में चला गया और मेरी गर्लफ्रेंड की आंखों में आंसू आ गए।क्रिया- प्लीज़ निकालो इसे … मुझे नहीं करवाना, मैं मर जाऊंगी! मुझे दर्द हो रहा है।मैं पांच मिनट तक रुका रहा, फिर मैंने धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू किए. जब मैं जाने लगा तो उन्होंने मुझे एक बार फिर से हग किया और मेरे गाल पर किस किया. मैंने अपनी उंगली छेद में घुसेड़ दी और काफी तेजी से 35-40 बार चलायी और झड़ गयी.

कविता भाभी- तेरे भाई के आने में अभी टाइम है, लेकिन मैं भाई से कंफर्म करती हूं कि वो कब तक आएंगे. फिर मैं धीरे धीरे मम्मी के मम्मों से नीचे होते हुए उनकी नाभि में जीभ डाल कर चाटने लगा. मुझे तो सोच कर ही डर लगता है, पर क्या करें, हम लड़कियों के लिए हर महीने इस परेशानी से जूझने के अलावा और कोई दूसरा उपाय भी नहीं है.

” …”ना … डर वाली क्या बात है? मैं भरतपुर में भी कई बार फ्लैट पर अकेली ही रहती हूँ.

और समीर और मैं चुदाई करने वाले थे, तभी उनका कॉल आया, बोले- आज क्या पहना है?आज लूज़ टीशर्ट और शार्ट!”अंदर?”सर आज तो कुछ नहीं!”क्यों?”गर्मी है ना!”अच्छा आज पिक नहीं दिखाओगी?”मैंने समीर को कह कर पिक खींच कर भेज दी जिसमें मेरे क्लीवेज़ साफ दिख रही थी. हाँ बोलिये न अंकल?”क्या मैं और तुम अपनी जरूरतों को पूरा कर सकते हैं?”क्या मतलब?”मैंने उनका हाथ अपने हाथों में लिया और कहा- मैं तुम्हें पसंद करने लगा हूँ. वो खामोशी तोड़ते हुए बोली- क्या सोच रहे हो … मुझे प्यार करो, बस प्यार करो.

दीपिका ने एक सिप ली और उसी गिलास को अपने हाथ से पकड़ कर मेरे होंठों से लगा दिया. मैं देखने में एकदम गोरा-चिट्टा और हेल्थी था, पर कोई लड़की मुझे भाव नहीं देती थी. मैं उसके बूब्स को बारी बारी से मुंह में लेकर चूस रहा था और साथ ही साथ अपने हाथों से दबा भी रहा था.

मैंने उसे रोका और उसकी छोटी सी पेंटी को अपनी उंगली में लपेट कर उसे झुका कर वो उंगली उसकी चूत में डाल दी. उसने रमेश की ओर घूम कर अपने चूतड़ों पर एक कसकर थप्पड़ मारा और बोली- दे दो अपना लौड़ा मेरी चूत में डैडी।रमेश भी घुटनों पर आकर रिया के चूतड़ों के पीछे आ गया जिससे उसका लण्ड रिया की चूत से टकरा रहा था। रमेश ने अपने लण्ड पर थूका और पूरा मल दिया। फिर उसने रिया की चूत पर थूका, जिसकी जरूरत ही नहीं थी क्योंकि रिया की चूत पहले से ही काफी चिकनी हो चुकी थी।रिया की चूत का रंग उसके शरीर से गहरा सांवला था.

‘मैं अब उससे कैसे नजरें मिलाऊंगा’ सोच ही रहा था कि मेहंदी वाली से नजर मिल गई।मैंने नजर मिलते ही मुस्कुरा के नाम पूछा तो उसने कहा- सर मेरा नाम हीना है।मैंने नाम दोहराया- हीना! बहुत अच्छा नाम है!बातें करते हुए हम कमरे में आ गए थे. गुलाबी, भयंकर चुदास से गीली, लप लप करती हुई उस प्यारी बुर को देखकर दिमाग झन्ना उठा. पर शायद फिर भी वो अन्दर से तैयार थी … चाहे जो भी हो उसको भी वो पानी चाहिए ही था.

मुझे बतायें कि इस तरह से शादीशुदा जीवन में सेक्स का मजा लेना कहां तक सही है? अपनी राय नीचे दी गयी ईमेल पर भेजें.

” कहते हुए वसुंधरा ने अपनी पकड़ मुझ पर से ढीली की और सोफे से उठने का उपक्रम करने लगी. मैं जानती थी कि वो सब कुछ देख चुका है, तो मैंने एक झटके से अपना टॉप ऊपर उठा कर अपनी नंगी चूचियां उसके सामने कर दीं और कहा- तो टैक्स ले लो. मेरी बेचैनी इतनी बढ़ गयी थी कि मेरा मन भी बेईमान होने लगा और मुझे अपने पति की जरूरत महसूस होने लगी।उनके आपस में चुदाई करने की आवाजें बाहर तक आ रही थी, ऐसे लग रहा था जैसे अंदर कमरे में कोई चीज़ फेंटी जा रही हो। लगातार आँख गाड़ने की वजह से अब मुझे कुछ कुछ दिखने लगा था.

मैंने पलट कर कहा- क्यूट स्माइल!उसने भी आंखें नचाते हुए कहा- थैंक्यू. ” कहते हुए मैं रुक गया और धक्के लगाने बंद कर दिए।नताशा अपनी गर्दन थोड़ी सी मोड़कर मेरी ओर देखने लगी कि मैंने धक्के क्यों बंद कर दिए।मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया और फर्श पर बैठ गया। नताशा के कुछ भी समझ नहीं आया था। मेरा सुपारा तो इस समय फूल कर लाल टमाटर जैसा हो चला था और लंड तो ठुमके पर ठुमके लगा रहा था।नताशा प्लीज … आओ मेरी गोद में बैठ जाओ.

आलस में उठ कर दरवाजे तक गयी और दरवाजा खोला तो सामने ज्ञान जी एक कागज का लिफाफा लिये खड़े हुए थे. हम दोनों भाई बहन में बहुत प्यार था, आमतौर पर भाई बहन के बीच होने वाले झगड़े हमने बचपन में भी नहीं किये थे. कुछ देर के बाद जब मेरी हवस बेकाबू हो गई तो मैंने उसकी तरफ करवट लेते हुए उसकी कमर में हाथ डाल दिया.

कोठे वाली लड़की

मैं दर्द के मारे जोर जोर से चिल्ला रही थी- आंह … फाड़ दी मेरी … छोड़ दो मुझे!मुझे इतनी ज्यादा पीड़ा हो रही थी कि मेरे मुँह से गाली निकलने लगी- साले कुते हरामजादे छोड़ दे मुझे!जीजू ने भी शायद कभी नहीं सोचा होगा कि मैं उन्हें कभी ऐसी गाली दूंगी.

फिर वे बोले- सोने के लिए थोड़े न आए है हम यहां … आज तो हम पूरी रात प्यार करेंगे. आपको मेरी एक्स गर्लफ्रेंड की चुदाई की कहानी कैसी लगी? मुझे मेल करें. तो मैं दूसरे कमरे में चली गई और वो दोनों अकेले रह गए। पर मेरे मन में अभी भी यही चल रहा था कि इनकी रासलीला तो देखकर ही रहूंगी।मैंने उनका कमरा पूरा बंद नहीं किया था और ना ही उनको याद आया कि कमरा बंद नहीं किया है। मैंने गेट को कुछ खुला रख दिया जिससे उनके सेक्स को देख सकूं मैं।फ्रैंड्स, कहानी बहुत लंबी हो गई है तो मैं दूसरे भाग में इस सेक्सी कहानी को पूरी करूंगी।तब तक के लिए बाय.

मैंने जल्दी जल्दी चार छह धक्के मारकर अम्मी की गांड से अपना लण्ड निकाल लिया और रुकैय्या के करीब आते हुए पूछा- गांड मरायेगी?अपने दोनों कानों को पकड़ कर रुकैय्या ने इन्कार कर दिया और बोली- न बाबा न, तुम्हारा लण्ड अम्मी की गांड नहीं झेल पाई, अम्मी चिल्ला पड़ीं, तुमसे गांड मरा कर मुझे सारा मुहल्ला नहीं जगाना है. आंटी ने अपनी साड़ी उतारी हुई थी, ब्लाउज भी नहीं था तो दोनों चूची साफ दिखाई दे रही थी. देसी लोगों की सेक्सीइधर उसकी योनि से निकलते ही ब्लडिंग देखकर मैं डर गया और अपना लिंग बाहर निकाल कर उठ खड़ा हुआ.

वो जाने लगा, तो मैंने कहा- मुझे मेरी मंजिल तक छोड़ दो और मुफ्त में कर लेना. मेरी बहन की सहेली मेरा लंड देखकर चौंक गई- तुम्हारा लंड तो आकाश के लंड से भी बड़ा है.

अम्मी उनसे बोल रही थीं- अब तुम मुझे चोद ही नहीं सकते … पहले वाली बात ही नहीं रही तुममें. उन्होंने थरथराते हुए कहा- आआहहह बेटा … ये क्या कर रहे हो … अपनी माँ के साथ!मैं- आंटी ये आप क्या कह रही हो, आप सुनीता आंटी हो … मेरी माँ सुमन नहीं हो. जैसे ही में झड़ने को हुई तो उसने उंगली करने बन्द कर दिया और पैंटी में से हाथ निकाल लिया।अब मुझे गुस्सा आने लगा तो मैंने उसके लन्ड को जोर जोर से दबाना शुरू कर दिया.

सायरा की चूत गीली हो चुकी थी। मैंने उसके कान को दांतों के बीच फंसाते हुए कहा- सायरा तुमने तो पानी छोड़ दिया।सायरा बोली- आज सुबह से केवल आपके बारे में सोच रही थी। मैं कितना बर्दाश्त करती, जैसे ही आपने मुझे छुआ, मैं गीली हो गयी। प्लीज आप ऐसा करते रहिये, आपका इस तरह सहलाना मुझे बड़ा अच्छा लग रहा है. एक दिन आपको और आपकी बेटी को इसी बिस्तर में एक साथ चोदूंगा।”अरे ऐसा सोचना भी मत! मेरी चुदाई की बात मेरी बेटी को कभी पता नहीं चलनी चाहिये वरना वो मुझे रण्डी समझेगी और मेरी बेटी की भी जिंदगी बर्बाद मत कर देना उससे बाद में शादी कर लेना. वो तो बोलते हैं मैं मिलने आ जाऊं क्या?” …”मुझे लगता है नताशा उस लटूरे को यहाँ बुलाने की भूमिका (बेकग्राउंड) बना रही है। मैंने अपना हाथ उसकी जाँघों के बीच फिराते हुए उसकी चूत के छेद में अपनी अंगुली डाल दी।नताशा के एक हल्की चीख सी निकल गई। …”ओह … कुछ नहीं एक मच्छर ने काट लिया.

तभी उन्होंने एक धक्का मारा और मेरे मुंह से आह्ह … करके हल्की चीख बाहर आ गयी.

फिर जब मैंने अपनी टाँगों को चौड़ी कर उसके लिंग के लिए जगह बनाई तो लगा कि ये क्या?कल जहां तक रणवीर नहीं पहुंच पाया, वहां तक भी इसने कैसे पहुंच बना ली? उसका लिंग मेरी बच्चेदानी के अंदर तक पहुंचने लगा. अब ये तय हुआ कि एक रात शीला विशाल के पास सोएगी और एक रात सुनील के पास.

मैंने उसी के किनारों से सुधा के हाथ और पैर बांध दिए … और ज़ोर ज़ोर से उसकी चूत में उंगली करने लगा. फिर उसने मेरे गाउन को फाड़ दिया और मेरा मुँह पकड़कर मुझे जोरदार किस करने लगा. अआह राम … इतना मजा तो मुझे अब तक मेरी गर्लफ्रेंड ने भी नहीं दिया था, जितना मजा चाची दे रही थीं.

पता नहीं तुम्हारे पास क्या जादू है!यह कह कर दीपिका करवट लेकर मेरे सीने से फिर से चिपक गई. मेरा लंड खड़ा हो गया था और अन्दर की आग बढ़ रही थी, इसलिए मैंने फिर से दरवाज़ा खड़खड़ाया, लेकिन कोई ने भी दरवाजा नहीं खोला. इसका यह परिणाम था कि रोहित और मेरी सांसे पहले से तेज और गरम हो गयी थी।मेरा सारा ध्यान अब रोहित के लण्ड पर था जिससे मेरी काम करने की तेजी भी बहुत कम हो गयी थी.

हिंदी में हिंदी में बीएफ हिंदी में बीएफ उस दौरान एक मेल प्राप्त हुआ जिसमें एक पाठक रोहिताश जो कि दिल्ली के पास से है उसने बीवी सीमांशी को मेरे साथ सेक्स करने की इच्छा जताई. जब मैं बाथरूम में नहाने लगा … तो आज की हसीन रात के बारे में सोचने लगा.

बीएफ वीडियो मूवी हिंदी

इसके बाद उसने अपने लंड का टोपा मेरी गांड की छेद पर रखा और धीरे धीरे अन्दर डालने लगा. अब्बू ने मेरी ओर कातर निगाहों से देखते हुए कहा- एक बार तू अपने लण्ड से अम्मी की गांड का छेद फैला दे. फिर फ्रिज से एक ओर बियर निकाली और दोनों गिलासों में डाल कर एक पैकेट रोस्टेड काजू का खोल लिया.

” कहते हुए वह खिलखिला आकर हंस पड़ी।पर एक समस्या है?”वो क्या?” उसने आश्चर्य से मेरी ओर देखा।यार तुम तो खाना बनाती रहोगी पर मैं किचन में खड़ा क्या करूंगा?”क्यों … तुम भी मेरी हेल्प करना. मैंने अपने एक हाथ से रोहित का हाथ रोककर उससे कहा- बस ऊपर से ही … कपड़े सही करने में भी समय लगता है।रोहित ने कहा- मौसी बस कमर तक ही उठाऊँगा. वीडियो सेक्सी पिक्चर फिल्म वीडियोमेरा लोअर मेरे हिप्स पर से तो नीचे हो गया लेकिन आगे से लण्ड खड़ा होने के कारण इलास्टिक में फंस गया.

उसने धीरे धीरे लंड हिलाना चालू किया और मेरा हाथ अपने लंड पर रखवा दिया.

ये सब सुन के मेरा दिमाग ख़राब हो गया और मुझे लगा लड़की अब नहीं आएगी हाथ में और मेरी उम्मीद अब खत्म हो चुकी थी।अगले दिन पता चला कि मेरी काम वाली की तबियत सही नहीं है तो उसकी बहन काम करने आएगी. ग्रेजुएशन के बाद मैंने ऍम बी ए करनी की सोची और मेरा एडमिशन भी अच्छी जगह हो गया था.

मैंने उसको कभी सेक्स या चूत चुदाई की नजर से नहीं देखा था मगर फिर भी उसके बदन में एक आकर्षण अब मुझे नजर आने लगा था. रिंकी ने सुनील के होंठों पर अपने होंठ रख दिए और फिर चढ़ गयी उसके ऊपर. इन दिनों मुझे जो भी देखता, वो यही कहता कि यार तुझे क्या हो गया है … तू आज कल बहुत दुबला पतला हुए जा रहा है … खाना पीना सही से नहीं खा रहा क्या? पर क्या बताता उनको कि मुझे चुत की भूख प्यास लगी हुई है.

फिर कविता के उसके बेटे के साथ सेक्स रिलेशन को सोच कर मुझे भी अपने बेटे के जवान लंड की चाहत होने लगती.

जब मैं जाने लगा तो उन्होंने मुझे एक बार फिर से हग किया और मेरे गाल पर किस किया. रानी ने अपने चूतड़ ऊपर नीचे हिला हिला के धक्कों में मेरा साथ देना शुरू कर दिया था. कहा मैं इतनी बड़ी, कहाँ तुम मेरे से उम्र में इतने छोटे! कैसे मैं तुम्हारा लण्ड लूंगी यही समझ में नहीं आ रहा था। मगर इस चूत को तो तुम्हारा लण्ड अपने अन्दर लेना ही था तो अब मैं क्या करती, कुछ समझ नहीं आ रहा था।”आंटी जी, लण्ड और चूत में उम्र नहीं देखी जाती है। बस मजे देखे जाते हैं.

ब्ल्यू फिल्म फुल सेक्सीअम्मी नाइटी पहन कर चली गईं और दूध लेकर वापस दरवाजा बंद करके अन्दर आ गईं. मैं सीढ़ियों से उतरते हुए फोन पर ये बोलते हुए उतरी- देखो मुझे कोई भी दिलवाओ लेकिन मेरे पेट में बच्चा होना चाहिए.

न्यू सेक्स ब्लू पिक्चर

रानी के चेहरे पर मुस्कराहट छा गई, आँखें चमक उठीं और मुंह से और भी ज़्यादा लार टपकने लगी. मैंने इसके बाद उसे सोफे पर बिठाया और वाइन की बोतल खोल कर पैग बना कर तैयार किया. जीजा से बात की तो जीजा भी ये सोच कर खुश हो गये कि उनको जैसे कोई बंद लिफाफा गिफ्ट मिलने वाला है.

फिर भी मेरे मन में एक आखिरी उम्मीद बाकी थी … और अब मैंने अपनी समीज को भी निकाल फेंका. उसके बाद उसकी साड़ी को निकाल दी और पेटीकोट उतार दिया।मेरी गर्लफ्रेंड ने अन्दर फ़िरोज़ी रंग की पेंटी पहनी थी, उसे भी मैंने उतार दिया. उन्होंने मेरे लंड को छोड़कर अपने दोनों हाथों से मेरा सर पकड़कर मेरा मुँह अपनी चूत पर रख दिया.

सच में नताशा की गांड देखकर बॉलीवुड की हिरोइन अनुष्का शर्मा की याद आ गई. वो शख्स मुझे देख मुस्कुरा कर बोला- नमस्ते नीरा जी, कैसी हैं आप?मैंने भी जवाब में नमस्ते की. लेकिन दूसरे ही पल खुद को सम्भालतीं और मुझे छूटने के विरोध करना शुरू कर देतीं.

”मैं बोला- हाँ मैं चाट के साफ कर दूंगा नहीं तो यह भी तेरी तरह गुस्सा करेगी कि मेरी चूत को जीभ से क्यों नहीं चाट के साफ किया. तभी प्रिया ने मसाज आयल उसके और अपने मम्मों पर और सुनील की छाती पर उड़ेल दिया.

दीपिका ने अपना फोन उठाया तो मैंने पूछा- फोन से कैसे नापोगी?वो बोली- नापने का ऐप है इसमें.

जैसे ही हम दोनों अन्दर घुसे शीना, संजना को घूर कर देखने लगी कि जैसे उसकी कोई बहुत ही प्यारी चीज किसी ने चुरा ली हो, जो मैं था. भोजपुरी हीरोइन की सेक्सी वीडियो चुदाईफिर उनके ससुर उनके ऊपर चढ़ गए और उन्होंने मेरी बहन को अपने पैर ऊपर उठाने को कहा. गोव्याची सेक्सी व्हिडिओजैसे जैसे मेरे डिस्चार्ज का समय करीब आ रहा था, मेरी स्पीड बढ़ती जा रही थीं. और इस वजह से यश को बहुत गुस्सा आता। कई बार तो वो उससे बातें भी नहीं करता.

तू बहुत बोल्ड लड़की है, मुझे ऐसी लड़कियां चोदने में बहुत मज़ा आता है।फिर उसने मुझे एक कार्ड दिया और बोला- इससे होटल में आज रात को आ जाना.

पहले पॉर्न वीडियो और अपने लंड का दीदार करवाके मैंने उसके अन्दर की वासना और सेक्स की इच्छा को भड़का दिया था. फिर मैंने अपनी जांघों पर ब्लैक स्किन पहन ली … और अपने हाथों पर भी स्किन पहन ली. उन्होंने हाथ पीछे ले जाकर पहले अपनी कुर्ती की चैन को खोला … फिर पीछे से ही अपनी ब्रा का हुक भी खोल दिया.

पर मुझे कोमल को अभी और तड़पाने को मन कर रहा था … इसलिए मैंने खड़े होकर अपनी पैंट और निक्कर निकाल दी. साब अब लड़खड़ाता हुआ खड़ा हुआ और मेमसाब और शीला का सहारा लेते हुए अपने कमरे में जाने लगा. मैं- थोड़ी देर रुक जाओ, दर्द कम हो जाएगा।मैं वापस उसकी चिकनी चूत चाटने लगा तो मेरी गर्लफ्रेंड गर्म होने लगी.

बीएफ भेजें

वो मेरे गाल कान और गर्दन को चूमते हुए बोले- ओह्ह जस्सी, प्लीज अब मत रोको. उसने अपनी उँगलियाँ मेरे लोअर के इलास्टिक में डाली और लोअर नीचे करने लगी. लेकिन दूसरे ही पल खुद को सम्भालतीं और मुझे छूटने के विरोध करना शुरू कर देतीं.

होता भी क्यों नहीं … उसकी यही तो इच्छा थी कि उसकी बीवी की चुदाई कोई दूसरा मर्द करे और वो देखे.

सोनम भी कामुक सीत्कारें करती हुई एक गैर मर्द से अपनी चूत पर लंड रगड़वाने का मजा ले रही थी.

वो बोली- प्लीज, एक बना लाओ ना राज … पिछली का तो अब असर खत्म हो गया है. लंड तो मेरा भी खड़ा हो गया था लेकिन ज्यादा देर वहां रुक कर ये नजारा देखने में भी रिस्क का काम था. एक्स एक्स एक्स सेक्सी मूवी नंगीमौसी फिर से वही राग अलापने लगीं- आह विशाल ये ठीक नहीं है … मुझे छोड़ दो.

जब इतने सारे जोड़े एक साथ इकट्ठा हो रहे हों और सबकी बीवियां किसी और के पति से चुदने वाली हों तो छोटी से छोटी बात भी जिज्ञासा लेकर खड़ी हो जाती है. रिया- क्या बात … मेरे बिना अकेले ही फिल्म देख रहे हो?मैंने कोमल की पीठ पर हाथ रखकर कहा- मेरे साथ दोस्त भी हैं … वो सब छोड़ … कॉल क्यों किया?रिया- क्यों नहीं कर सकती?मैं- रिया एक काम कर … मैं तुमसे बाद में बात करता हूं, अभी मुझे फिल्म देखने दे. अगर तुम्हें बहुत ठंड लग रही है तो अब सारी ठंड भाग जाएगी तुम्हारी।मैंने उनसे कहा- आप घूम कर लेट जाओ.

मैं दो सेक्सी औरतों के बीच नंगा था, दोनों की ठुकाई करने वाला था और वह दोनों मेरा मेरी गुलाम बनकर साथ दे रही थीं. गार्डन का वह भाग जहां हम रुके थे, वह रास्ते से भी नजर आता था, तो हमारी इस हरकत पर लोगों का ध्यान हमारी तरफ आने लगा.

फिर उसने नीचे ही नीचे से हाथ ले जाकर मेरी शर्ट के बटनों को भी एक एक करके खोलना शुरू कर दिया.

फिर मैं धीरे धीरे मम्मी के मम्मों से नीचे होते हुए उनकी नाभि में जीभ डाल कर चाटने लगा. सायरा ने भी मुझे कस कर अपनी बांहों से जकड़ लिया।मैंने सायरा से पूछा- सायरा, तुम तैयार हो?हूम्म!” मेरी पुत्रवधू ने एक संक्षिप्त उत्तर दिया।मैंने धीरे-धीरे सायरा को बिस्तर पर लेटाया और उसके सीने से साड़ी हटाते हुए उसके सीने को चूमते हुए पेटीकोट में फंसी साड़ी को हटाया और पेटीकोट का नाड़ा खोलकर अपना हाथ उसके अन्दर डालते हुए उसकी चूत पर फिराने लगा. मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो यह सारा वाकया अम्मी को बताने के लिए उनके बेडरूम में पहुंचा.

एक्टरनी की सेक्सी फोटो मैंने एक दिन बात ही बात में कह दिया- भाभी, असली मजे तो तुम ले रही हो जवानी के!तो वो एकदम से चौंक पड़ी और उन्होंने कहा- रमा तू भी … छी: तेरी प्यास अभी तक नहीं बुझी क्या?मैंने बिल्कुल भी देर नहीं की और कह दिया- भाभी, और रात को तुम जो मजे लेती हो उसका क्या? आखिर भैया में ऐसी क्या कमी है?उनका मुंह शर्म से लाल हो गया।भाभी ने कहा- अरे रमा, बस जिंदगी ऐसे ही चलती है. मैंने पूछा- क्या?आंटी ने कहा- पहले तुम्हें मुझे चोदने के लिए तैयार करना होगा.

रात की चुदाई के कारण शिवानी भाभी की चूत में जल्दी ही दर्द होने लगा और वो चिल्लाने लगी. कुछ देर गांड मरवाने के बाद पल्लवी ने अपनी चूत में लंड डाला और जोर जोर से उछलने लगी. भाभी ने ऐसा ही किया और मेरे लंड पर कूदने भी लगी।मेरे दोनों हाथ भाभी की पीठ पर घूम रहे थे कभी उनकी गांड को सहलाते तो कभी पेट को कभी उनके दूध को दबाते हुए.

हिंदी बीएफ 18 साल की लड़की

कहानी पर अपनी राय देने के लिए नीचे दी गयी ईमेल आईडी का प्रयोग करें. ”ये क्या भइया भइया लगा रखी है? और क्या बता रही है कि आपका वो बड़ा मोटा है. मैंने पैर फैला कर बेबी रानी की छाती पर एक लात हौले से जमाई- भोसड़ी वाली रांड … इतना टाइट कर देगी तो यह चूसेगी कैसे … हरामज़ादी सिर्फ बाल मुंह पर ना आएं इतना ही कस.

मैं- तुम आम खाओ ना … गुठली के चक्कर में क्यों पड़ी हो?वो- नहीं ऐसे ही. रात में जाकर मैं आंटी चूत और गांड की ठुकाई करके आता। दिन में मैं उनके घर के आस-पास भी नहीं फटकता था ताकि हमारे बीच में पक रही खिचड़ी का किसी को पता न चले।अब तो हम दोनों ने भी दिल भर के चुदाई कर डाली थी.

मैंने उसे बड़े प्यार से उसके माथे की पप्पी ली और उसके आंखों को देखकर उससे ‘आई लव यू सो मच.

मैंने भाभी को सोने की अंगूठी भी दी लेकिन भाभी ने उसको पहनने के लिए मना कर दिया. और तू जब तक यहाँ है, अपने बाप से मजे लेती रह! मेरा क्या है मैं तो यहीं हूँ न।मैंने कहा- भाभी सुनो, बाऊजी तो बहुत स्ट्रांग हैं. वो बोली- कुछ नहीं होता, इस पर कौन सा आपका नाम लिखा हुआ है? आप चिंता मत करो.

मैंने देखा उधर मोनू भी सीमा का टॉप उतार रहा था और हमें देख भी रहा था. बीच बीच में जीजा जी लंड को उसके होंठों तक ले जाते थे और लंड जैसे मेरी सहेली के होंठों को किस करके वापस लौट आता था. अब मेम रानी आगे को झुक कर घुटनों और कुहनियों पर टिकी हुई थी और उसका मुंह गुड्डी रानी की चूत पर था.

तभी उन तीनों ने अपने हाथ आगे कर दिए और उन तीनों के हाथ में डिल्डो थे.

हिंदी में हिंदी में बीएफ हिंदी में बीएफ: मैं भी खुश था कि मुझे आलिया के साथ सेक्स करने का मौका मिलेगा, बस अपने बहन के साथ सेक्स करना मुझे थोड़ा अजीब लग रहा था. वो बार बार सी सी सी सी करती, हाय हाय करके अपनी मां को याद करती,तथाऔर ज़ोर से चोदने के लिये पुकारती हुई चुदे जा रही थी.

चाची उठने को हुईं, मैंने उनको धक्का देकर बिस्तर पर चित लिटा दिया और उनके पैर फैलाकर उनकी चुत की सुगंध लेने लगा. चाची को साड़ी बांधते हुए मैं काम वासना से ऐसे घूर रहा था … जैसे कोई भूखा शेर अपना शिकार देख रहा हो. ”और फिर सानिया ने चाय छानकर थर्मोस में डाल ली और 2 प्लेट्स और गिलास लेकर हम दोनों डाइनिंग टेबल पर आ गए।सानिया दो प्लेटों में जलेबी और कचोरी नमकीन आदि डालने लगी।यार … सानू साथ खाने का मतलब यह थोड़े ही होता है?”क … क्या हुआ?” सानिया ने डरते हुए पूछा।अरे यार ये दो प्लेट में क्यों डाल रही हो?”तो?”आज हम दोनों एक ही प्लेट में खायेंगे.

चित्रा- सुनो अविनाश, मेरे पास एक आइडिया है, जिससे हम हमारी फैंटेसी पूरी कर सकते हैं.

मैं बोली- कहां बिजी हो गया था … कोई गर्लफ्रेंड के साथ लगा था क्या?वो बोला- नहीं आंटी … मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. उसने कहा- चलिए, जल्दी से खाना खा लीजिए … शरीर में ताकत रहेगी तो काम आएगी. जिसका मुंबई में एक छोटा सा बिजनेस है और अपनी इधर वो अपनी फैमिली के साथ रहते हैं.